बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बीपी वीडियो सेक्सी वीडियो बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडीओ गर्ल: बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म, मेरी सेक्सी बीवी की कहानी में आप पढ़ रहे थे कि वो कैसे अपने कामदेव जैसे जेठ से जोरदार चूत चुदाई का मजा ले रही थी.

भगवान कृष्ण की छठी कब है

मैंने आईडी चैक की लेकिन कुछ ज्यादा समझ ना आते हुए भी मैंने एक्सेप्ट कर ली. भगवान जी के फोटोफिर मैंने उसे तुरन्त अपने सामने खड़ा करके उसका कमीज निकाल दिया और एक झटके में उसकी ब्रा खोल कर उसके दोनों दूध आज़ाद कर दिए.

वो सब बहुत दिनों से यही प्लान बना रहे हैं … और उन सबके पास आपकी बहुत सारी नंगी फ़ोटो भी हैं. मटकनी के मटकेकरीब 10 मिनट बाद आंटी झड़ गईं और उन्होंने अपनी चुत टाईट करके मेरे लंड को जकड़ लिया.

एक मिनट में वो मुझे एक रूम में ले गई और कमरे का दरवाजा बन्द कर दिया.बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म: मैंने लोवर के अंदर अंडरवियर नहीं पहना और पूरी तैयारी से नीचे आ गया.

लेकिन घर परिवार समाज सब देखना पड़ता है इसलिए जब मैं 23 साल की हुई, तो मेरे लिए रिश्ते आना शुरू हो गए थे.आपा जब भी मुझसे चुदाई करवाती है, तो ये जरूर कहती है कि अकील तुम्हारी तरह तुम्हारे जीजा भी नहीं चोद पाते हैं.

औरत की योनि कितनी गहरी होती है - बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म

हम होटल के रूम में जैसे ही अन्दर गए, तो मैंने अपने गीले हो चुके कपड़े निकाल दिए और मामी जी ने अपने कपड़े निकाल दिए.इतने में ही ससुर ने अपने पजामा नीचे करके लंड बाहर निकाला और मेरे मुंह में दे दिया.

कुछ ही देर के प्रयास में कुसुम ने अपने बेटे का पूरा लंड मुँह में ले लिया. बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म उन दोनों के मम्मों के मिलन को देखते हुए मैं भी रमेश से हाथ मिला रहा था.

इस बीच कभी उसका हाथ मेरे हाथ से टच हो जाता था, तो उसके बदन में एक झुरझुरी सी दौड़ पड़ती थी.

बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म?

इकबाल- नमस्कार मनीष जी, आपकी नयी फिल्म की शूटिंग के लिए मेरे पास एक माल है. हैलो फ्रेंड्स, मैं मन एक बार फिर से अपनी नई सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ. मैं बोला- अभी तुम ये सारी बात भूल जाओ और मेरे साथ चुदाई का मजा ले लो.

अपने चूचुकों को किसी गैर मर्द के हाथ से मिंजवाने से मैं सातवें आसमान में उड़ने लगी थी. मैंने पूछा- आंटी इतना सज-धज के कहां जा रही हो आप?वो बोलीं कि कहीं नहीं … पास ही गार्डन में घूमने जा रही हूँ. कुसुम अपने बेटे के लंड के स्वाद में इतनी खो गई थी कि उसे पता ही नहीं चला कि रोहन ने कब अपनी आंखें खोल दी हैं.

मैं इस समय अपने पूरे मूड में आ गई थी और सत्यम भी मुझे पूरी ताकत से चोदे जा रहा था. मैं कुछ समझ पाता कि उसने मेरे सर को अपनी तरफ खींचा और अपने निप्पल मेरे होंठों से लगा दिए. जो भी वाकिया एक सच्चाई के साथ मेरे सामने आता है या हो रहा होता है, मैं उसी घटना को लेकर सेक्स कहानी लिखती हूँ.

दोस्तो, मैं रोहित अग्रवाल एक बार फिर से अपनी एक और सच्ची कहानी लेकर हाजिर हूँ. वो बार बार अपना ध्यान अपनी मॉम की गांड पर से हटाना चाह रहा था … पर बार बार उसका ध्यान अपनी मॉम की सेक्सी गांड पर ही चला जा रहा था.

इस ग्रुप के बेवड़े, जिनको हर लड़की या औरत में चुत और उसके मम्मे ही दिखते थे.

मुझसे भी रुका नहीं जा रहा था और मैं मुठ मारे जा रहा था।मीनू भी अब अपनी गाँड को नीचे से हिला रही थी.

मैंने उस दिन अपनी बहन को पूरे कॉलेज में ढूंढ लिया लेकिन वो नहीं मिली. मैंने अभी दूसरी सांस ही ली थी कि जेठजी ने एक उंगली मेरी गांड में डाल दी. अब मैंने मामी से कहा- अब आप बाथरूम में जाकर जल्दी से मेरी दुल्हन बन कर आ जाओ.

उसके बाद मैं एक भाभी के गाउन को नीचे से ऊपर की ओर ले जाने लगा और उनके पैरों को भी छूने लगा, तो वो आंख बंद करके मेरे स्पर्श को महसूस करने लगी. मैं परिमल एक बार फिर से आपसे प्रियंका भाभी की चुदाई की कहानी का अगला भाग साझा कर रहा हूँ. उसने इठलाते हुए कहा- तो किसने मना किया है?अब उसने अपनी आंखें बंद कर लीं.

मैंने बहुत सारा थूक उसकी चूत पर लगा दिया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत की जड़ तक अन्दर डाल दिया.

उसके ब्लाउज से ब्रा की हल्की सी स्ट्रिप नजर आ रही थी, जो यह बता रही थी कि मेरी इस सेक्सी डार्लिंग ने ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई है. आधी रात में मुझे अपने लंड पर कुछ हलचल महसूस होने लगी, जिस वजह से मेरा लंड तन गया था. मैंने अपनी पकड़ थोड़ी ढीली की, लेकिन जेठजी ने मुझे जोर से जकड़ रखा था.

तुम्हारी मम्मी से कहने जा रही हूँ कि आज घर में कोई नहीं है, तो मैं छत पर सोने नहीं आऊंगी. इतना बोलते ही मैं फिर से उसकी चूचियों पर टूट पड़ा और उसकी चूचियों को बुरी तरह से चाटने चूसने लगा. उसके मस्त और भरे हुए चूतड़ों को देख कर मैं खिलौने लेना भूल सा गया और सीमा को वासना भरी नजरों से देखने लगा.

लकी ने उन दोनों को विश किया तो कमल ने उसे चाय के लिए आमंत्रित कर दिया.

पहले तो मैंने दिखावटी विरोध किया लेकिन फिर हार मानने का नाटक करके मैं आराम से लेट गयी. फिर उसकी आंखों में आंखें डालकर मैंने एक जोरदार झटके के साथ अपना पूरा लंड उसकी चूत की जड़ में पेल दिया.

बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म इस बार पहले से ज्यादा अंदर उंगली जाते ही उसकी आवाज भी ज्यादा दर्दभरी हो गयी।उसने अपना हाथ, जो मेरे नीचे से पीछे की ओर था, मेरी पीठ पर मारा और कसकर मांस को पकड़कर नाखून गड़ा दिये।अब मैं उंगली धीरे धीरे अंदर बाहर को करने लगा. मैं उसी हाईवे के किनारे थोड़ा जंगल में जाकर अपने बालों पर, अपने शरीर पर, चेहरे पर खूब सारी मिट्टी लगा ली और इस तरह सड़क पर चलने लगी, जैसे मैं कोई पागल औरत हूँ.

बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म वो अपना पूरा लंड मेरे मुँह में घुसाने की कोशिश कर रहा था और गाली देते हुए ‘आह आह. हम दोनों लोगों की नजरें बचाते हुए कमरे में आए और हमने एक देर वाला लिप किस किया.

मैंने मन में बुदबुदाते हुए खुद के अंदाज को सही ठहराते हुए खुद को शाबाशी दी.

योगी का सेक्सी वीडियो

मेरे जाते ही आंटी ने मुझे एक बहुत मस्त स्मूच किस किया और अपने बगल में बिठा लिया. मुझे लगा कि ये शायद इनसे गलती से हो गया होगा … या इन्हें मालूम ही नहीं होगा कि इधर से मेन स्विच खोलना होता है. ये देख कर ज़रीना ने देर ना करते हुए मुझे नीचे लिटाया और फिर से मेरे लंड के ऊपर आकर चुदाई के मज़े लेने लगी.

एब बार एक सहेली अपने पति के साथ दूसरी के घर आयी तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं रोहित 45 साल का विवाहित पुरुष हूँ. मैंने उसके आँचल को हटा कर बड़े अच्छे से उसकी वक्षरेखा को देखा और उसको छूकर कहा- ये मेरी सबसे पसंदीदा चीज़ है. उसकी जींस जांघों तक उतर गई थी मगर अब मैं उससे नीचे नहीं कर पा रहा था.

फिर मम्मी पापा के आ जाने के बाद मैं किसी नए मर्द के लंड का इंतजार करने लगी.

कोई पन्द्रह मिनट तक मुझे धकापेल चोदने के बाद बसंत ने अपने लंड को चुत से बाहर खींचा और उसका गर्मागर्म माल मेरी चुत के ऊपर झाड़ दिया. उसने अपनी टांगें पूरी तरह से चौड़ा दी थीं और चुत ने नमकीन पानी छोड़ दिया था. भाभी- अरे हमारे ऐसे नसीब कहां, वो तो काम को ही अपना सब कुछ मानते हैं.

मैंने करीब 4 घंटे अच्छे से नींद ली और जब उठा, तो उस समय रात के एक बज रहे थे. ऐसा लग रहा था जैसे कि वो पहली बार किसी के साथ सेक्स कर रही हो।मेरी हालत भी कुछ ऐसी ही थी. मगर मुझे मालूम था कि कुछ समय बाद इन कपड़ों को भी मेरे जिस्म से हट जाना है.

अब मुझसे नहीं रहा गया और मैंने बैग के नीचे से दूसरा हाथ उसकी बुर के ऊपर रखकर टच करने लगा. इंडियन आंटी पोर्न कहानी एक ऐसी महिला की है जिसके पति उससे अक्सर दूर रहते हैं.

शायद यही कारण था कि कॉलेज के शुरुआती साल में ही मेरी सभी सहेलियों के कोई न कोई दोस्त बन चुके थे और वो अपने दोस्तों से चुदाई का सुख ले रही थीं. भाभी की ब्रा में से इतनी मादक खुशबू आ रही थी कि मुझको मालूम ही नहीं पड़ा कि भाभी ऊपर छत पर खड़ी यह सब देख रही हैं. मुझे भी ये जानते हुए बड़ी खुशी होने लगी थी कि इस बार शायद मॉम की चुत चुदाई का मौक़ा मिल गया है.

लेकिन मैं इस बार रुका नहीं और शताब्दी की स्पीड से लवली की चूत में अपने लंड से धक्के लगाता रहा.

मुझे समझ नहीं आया कि मैंने जो आसिफा की अम्मी से साथ किया था, वो क्या वो सब इन दोनों को पता है और शायद इसी वजह से अब आसिफा भाव खा रही है. मेरी उम्र 22 साल है, लेकिन नियमित रूम से कसरत करने और अच्छी सेहत के कारण मैं अपनी उम्र से तीन चार साल बड़ा और हट्टा-कट्टा मर्द दिखता हूँ. उसने मेरी पैंट खोलकर मेरे लंड को हाथ में लिया तो उसके मुंह से आह्ह … स्स्स … करके एक कामुक आवाज निकली.

उनकी आवाज दर्द के कारण वहीं की वहीं दबी रह गई और दर्द के कारण भाभी एकदम से छटपटाने लगीं; उनकी आंखों में से आंसू आने लगे. उसकी पैंटी में से इतनी अच्छी खुशबू आ रही थी कि ऐसा लग रहा था मैं उसकी चुत को ही सूंघ रहा हूँ.

आंखों में गहरा काला काजल लगाया हुआ था और हाथों और पैरों में लाल नाख़ूनी लगी थी. तभी आंटी मेरे सामने आ खड़ी हुईं और उनकी नज़र नीचे मेरे खड़े लंड पर जमी हुई थी. हालांकि मैं भी जवानी के नशे में मुठ मारने लगा था मगर मैंने अभी तक कभी भी अपनी बेहन के बारे में गलत नहीं सोचा था.

बीपी सेक्सी गोली

मगर मेरी बहन को मेरे लंड का स्वाद मिल गया था, तो वो मुझसे चुदवाने के लिए मचलने लगी थी.

दोस्तो, ये थी मेरी आंखों देखी मेरी बहन की चुदाई की कहानी।आपको ये मामा भांजी की चुदाई कैसी लगी मुझे जरूर बताना. मैंने उसकी लैगी और पैंटी को थोड़ा नीचे किया और अपनी उंगली को उसकी बुर में डाल दी. इसलिए 2 दिन से दिन के समय मैं चाची के साथ सोफे पर नंगा ही लेटा रहता हूं.

उसमें से एक सवारी हमारी सीट पर बैठ गई और एक सामने वाली सीट पर बैठ गई. हालांकि मेरी बहन के साथ ये सब हो रहा था फिर भी मुझे उत्तेजना हो रही थी. सेक्सी सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी सेक्सीइसी वजह से अजय के घर वाले अजय को मेरे घर आने से नहीं रोकते थे।चूँकि मेरे सभी घर वाले पास के एक गाँव में रहते थे और मैं आगरा वाले घर में बिल्कुल अकेला रहता था।ऐसे ही दिन गुजरते गए.

हम एक दूसरे से लिपट कर यूं ही लेटे लेटे अपनी सांसें नियंत्रित करने लगे. इस देसी कट्टे को नंगी देखकर मेरा लंड 120 डिग्री में ऊपर की तरफ खड़ा हो गया.

अब मैं उसके कोमल कोमल होंठों को चूमने लगा और उसकी चुचियों को सहलाने लगा. उसी समय मेरी बहन को सेक्स चढ़ने लगा और वो सिसकारियां लेने लगी- आआ आआह … आ यस चूसो आह … और चाटो अपनी बहन की चूत … आह इसका रस पी जाओ आकाश!मेरी बहन वासना भरी सिसिकारियां ले रही थी. बीवी बोली- क्या हुआ … आपको इतना पसीना क्यों आ रहा है?मैं बोला- कुछ नहीं, गर्मी ज्यादा लग रही है.

वो बोली- सिर्फ दबाओगे ही या कुछ करोगे भी?मैं उसके मम्मों को दबाते हुए चूसने लगा. मैंने कहा- मेरे सामने अपनी भाभी से बात कर लो, अगर उसका जबाब सही लगे … तो फैसला कर लेना कि क्या करना है. हम दोनों सोचने लगे, तो आंटी बोलीं- आज तुम मेरी शॉप पर आ सकते हो?मैंने बोला- आज तो आपकी शॉप तो बंद रहती है न!आंटी बोलीं- इसी लिए तो बोल रही हूँ.

आज मैं आपके लिए एक हसीन प्यार का लम्हा, सेक्स से भरपूर चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ … मजा लीजिए.

मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था कि मामा अपनी बेटी जैसी भान्जी मीनू के साथ कैसे ऐसा कर सकते हैं. मैं- भला मैं उसकी क्या मदद कर सकता हूं?बीवी- वो क्या है कि उसकी इंग्लिश बहुत कमजोर है … और आप जानते ही हो कि श्याम फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है.

करीब 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद नाजिया की चूत का पानी निकल गया. नासिर जी दुआ देते हुए बोले- सभी बहनें तेरे जैसी हों तो किसी भाई को कभी कष्ट ही न हो. कभी बाहर किसी धार्मिक स्थल पर भी जाना होता था, तो ग्रुप में लड़कियों और शराब के साथ ही जाते थे.

फिर जैसे ही हमने किस करना शुरू किया तो पीछे से ज़रीना आ गयी और वहीं सामने सोफे पर बैठ गयी. मैं अपनी शादी से बहुत खुश हुआ कि मुझे ऐसी चुदने और चुदवाने वाली बीवी मिली. जैसे ही वो मेरे गले लगी, तो उसकी चुचियां मेरे सीने से दबती हुई बड़ी मस्त प्रतीत हो रही थीं.

बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म देसी सुहागरात Xxx कहानी में पढ़ें कि जब मैंने अपनी नयी बीवी को सेक्स के लिए तैयार किया तो वो कैसे खुल कर सामने आयी. फिर मामी ने पूछा कि अमन घर में बनाने के लिए क्या है और क्या खाना पसंद करोगे?मैं बोला- जो रखा हुआ है वही बना दीजिए.

सेक्सी वीडियो अस्पताल में

पर उन दोनों ने कहा कि एक बार हम तीनों बाथरूम में साथ में नहा लेते हैं, फिर चले जाएंगे. मामी ने पूछा- क्या इच्छा है?मैंने कहा- मैं आपको दुल्हन के रूप में भोगना चाहता हूँ और पूरे मन से आपको दो बूंद जिन्दगी की देना चाहता हूँ. उसने ऐसा पहली बार किया होगा लेकिन उसकी खुशी को अपने समय में कैद कर लिया.

इससे आंटी को जब दर्द होने लगा तो वो अपने होंठों को छुड़ाने लगीं लेकिन मैंने भी बड़ी जोर से होंठ दबा लिया था. एक दिन की बात है कि शाम के 7 बजे एक बहुत ही रोमांचक क्रिकेट मैच आ रहा था. भाई और बहन की चुदाई सेक्सी वीडियोउसके बाद मैं बेड पर पैर सीधा करके बैठ गया और उसको खींचकर उसे अपने लंड पर बैठा लिया.

इस पर सुरीली बोली थी कि कोई बहन अपने भाई से इतना ज्यादा कैसे चुद सकती है.

अब मैं वहीं पर रुक गया क्योंकि लंड मोटा और लम्बा था और आरिफा की चूत बहुत टाइट थी. देसी गांड सेक्स कहानी मेरे मौसेरे भाई के साथ गांड मारने मरवाने की है.

जब मैं घर पहुंचा तो भाभी ने बताया कि सोम का खिलौना नहीं चल रहा है, इसलिए ये रो रहा है. वो मेरी तरफ देख कर बोली- आज मैं तुम्हारे फोन का इंतजार करूंगी … जरूर करना. मैंने शर्म से दोनों हाथों से अपनी आंखें बंद कर लीं क्योंकि मेरी गांड का छेद ऊपर आ गया था.

ये कह कर मॉम ने फिर झट से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और किसी मस्त रांड की तरह लंड चूसने लगीं.

वो कुछ देर बाद बोली- सिर्फ़ निप्पल ही चूसोगे या और कुछ भी करोगे!मैं बोला- करूंगा ना … अभी तो पूरी रात बाकी है. मैंने पूछा- अकेली अकेली?वो बोलीं- मेरे पति और बेटा पैतृक गाँव गए हैं, तो वो आज नहीं आएंगे. वो मस्ती में मेरे बूब्स के निप्पलों को चूस रहा था और निप्पल पर अपने दांत भी गड़ा रहा था.

তেলুগু সেক্স ভিডিও তেলুগু সেক্স ভিডিওएक रात में मैं पढ़ाई कर रहा था कि तभी मेरी दीदी के रूम में से अजीब सी आवाज़ें मुझे सुनाई दीं. दरअसल रमेश एक दल्ला था और उसने इसी लिए मेरी नंगी पिक्चर खींची थी ताकि वो ग्राहकों को मेरे लिए बुक कर सके.

एचडी सेक्सी चालू

सोनू बीच बीच में मेरे लंड के नीचे गोटियों को हाथ से सहला देता था तो मेरा लंड और भी ज्यादा फड़फड़ा उठता. कार्तिक ने साड़ी के अन्दर से ही मेरी पैंटी को थोड़ा साइड में करके मेरी चूत के ऊपर अपनी एक उंगली रख दी और धीरे धीरे मेरी चूत को सहलाने लगा. अभी तो तुमने कहा था कि मैं तुम्हारा लंड मुँह में ले सकती हूं, फिर चूत में लेने से क्या हो गया.

कोई दस मिनट की किस के बाद मेरी बहन के ब्वॉयफ्रेंड ने उससे कहा- अब तुम एक बार मेरा लंड पकड़ो. अगर आप अभी भी कुंवारी होतीं तो इस उम्र में भी मैं निश्चित ही आपसे शादी करके आपको अपनी बीवी बना लेता. मुझे जिन्दगी में आज पहली बार किसी मर्द के होंठों और जीभ का टच अपनी चुत पर मिला था.

उन्होंने मेरी चूत और गांड पर मलहम लगाया और मेरा दर्द कम करने की कोशिश की. लकी ने उससे पूछा- अगर कमल को पता चल गया तो क्या होगा?सारा मुस्कराकर बोली- वो तो यही चाहता था, मगर उसकी गांड फट गयी. रात को फिर से सोने की बारी आई तो मामी कहने लगी कि अगर तुझे ठंड लगती है तो मैं ही नीचे सो जाऊंगी.

उसके बाद जब बारात रवाना हुई, तो मैं और जीजू कार के पास आकर अन्दर बैठ गए. अंकल ने अपनी बाइक किनारे लगाई और हम दोनों भी उसी भीड़ में घुसने लगे.

मुझे नहीं पता था कि मीनू का मामा के साथ ऐसा चक्कर भी चल रहा है।फिर उन दोनों की कुछ बात हुई.

कमल ने कहा कि जॉब करने की कोई जरूरत नहीं है तो सारा के पास दिन में सिवाय मटरगश्ती करने के अलावा काम भी कुछ नहीं होता था. கோவா செஸ் வீடியோमैं बोला- खरबूजा गिरे चाकू पर या चाक़ू गिरे खरबूजा पर, कटना तो खरबूजे को ही है. सेक्सी जबरदस्ती सेक्सीचरम पर आकर मैंने उसकी आंखों में आखें डालीं तो उसने भी मूक भाषा में चुत में रस टपकाने की बात कह दी. क्या लाजवाब टेस्ट था उसकी चूत का!चूत में से पानी आने लगा। मैंने उंगलियों से उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया.

मैं किसी छोटे बच्चे के जैसे उसके निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगा.

किस करते करते मैंने आसिफा का टॉप उतार दिया और नाभि से लेकर गले तक खूब चुम्मियां की. मंजू बड़ी मस्ती से अपनी गांड मरवा रही थी और अंजलि ये सीन देखे जा रही थी. मैंने अपने होंठों को उसके ब्लाउज के ऊपर से उसकी छातियों पर लगा दिए और उनको चूसने लगा.

उसकी तड़प अब इस हद तक बढ़ गई थी कि वो मेरे होंठों को काटने भी लगी थी. उसके आने के कुछ देर बाद मैं अपनी एक बहुत शॉर्ट सी नाइटी पहनी, जिसके नीचे मैंने लाल रंग की पैंटी पहनी हुई थी. वो मेरे सामने गिड़गिड़ाने लगी- किसी को मत बताना मेरे भाई, चाहे तुम भी मुझे चोद लो.

सेक्सी पिक्चर नंगी गाना

दोस्तो, आपको मेरी मामी की चुदाई की ये देसी गांव की चुदाई कहानी अच्छी लगी या नहीं … बतायें जरूर।आगे भी मैं आपके लिएगर्मागर्म सेक्स कहानियांलेकर आता रहूंगा. आपको मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी मुझे मैसेज करके जरूर बताना. इस कहानी की नायिका रूपाली को मैंने पहली बार वहीं मेस में ही देखा था.

अब मैं उसकी चुत में जोर ज़ोर से धक्का लगा रहा था और उसकी चुत ने फिर से गर्म होना शुरू कर दिया था.

मैं रोज़ रात को अश्लील पिक्चर और अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ कर अपनी चूत में उंगली करके अपने आपको दिलासा दे रही थी.

उसने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपने एक स्तन पर रख दिया और होंठ मेरे होंठों पर लगा दिए. मैं उनको वहां से लेकर निकला और रास्ते भर उनके मोटे मम्मों का स्पर्श अपनी पीठ पर लेता रहा. सेक्सी सेक्सी 2020रोमी ने सरिता भाभी से कहा कि आओ अब तुम्हारी गांड और चूत एक साथ चोदते हैं.

जाते समय वो बोला- मैं वैसे भी किसी को तुम्हारी वीडियो फॉर्वर्ड नहीं करता. मॉम मैं जब से चीजें समझने लगा हूं, तब से मैंने सिर्फ आपको ही चाहा है. मैं पीछे से उसके कंधों को चूमने लगा और अपना हाथ आगे लाकर उसके मम्मे दबाने लगा.

मैं लगा रहा और कुछ देर बाद मैंने उसकी टांगों को अपने पैरों के ऊपर करवाकर उसके ऊपर छा गया. वो कुछ पटियाला टाइप की लोअर पहनी हुई थी और ऊपर एक टी-शर्ट थी, जो काफी ऊपर सरक चुकी थी.

उसके पहले कामरस की धार मेरे लंड पर लगी और उसकी इस धार ने मेरा रस भी निकाल दिया.

लंड चुसवाने के बाद सत्यम उठा और उसने मेरी मम्मी को बेड से नीचे खड़ा करके उनकी एक टांग उठा कर बेड पर रख दी और पीछे से मम्मी की चुत को चोदने लगा. बिल्लो की बातों को सुनकर मुझे काफी गर्व सा महसूस हुआ और मैंने जोश में अपने धक्कों की रफ्तार और भी बढ़ा दिया. वो अगली कहानी में!कैसी लगी मेरी देसी आंटी सेक्स कहानी? जरूर बताएं।[emailprotected].

मुस्लिम औरत की सेक्सी वीडियो मैं रात में बहन की चुत चोदता औऱ दिन में आपा जीजाजी से फ़ोन पर सेक्स करती ताकि जीजा जी को लगे कि आपा ने अपनी उंगली से चूत का ये हाल किया है. अब वो ज्यादा मजे लेकर चुदवा रही थी।उसने बताया उसे लंड पर बैठ कर चुदवाने में मज़ा आता है।मैं जल्दी से नीचे लेट गया और उसकी चूत को लंड में रखकर बैठा दिया वो उछल उछल कर लंड लेने लगी।ऐसा लग रहा था जैसे वो मुझे चोद रही हो।आज वो बहुत खुश थी और धीमे धीमे आहह आहह हह ऊईई ईई करते हुए पूरा लौड़ा अन्दर तक ले रही थी.

उसने मुझसे पूछा- यार अनीषा मैडम के यहां जाना है, कौन सा फ्लोर है?मैंने उसे बताया … तो वो कुछ देर मेरे पास रुक कर सिगरेट पीने लगा. अब मैं भी बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था और फिर मैंने जोर जोर से मामी की चूत में धक्के लगाते हुए उनकी चूत में ही अपना वीर्य छोड़ दिया. वो उस किताब पढ़ने में इतनी मस्त थी कि उसे ये भी ध्यान नहीं रहा कि मैं उसके कमरे में आ चुका हूँ.

मारवाड़ी वीडियो सेक्सी मूवी

वो बोली- लेकिन …मैंने उसकी बात काटते हुए कहा- लेकिन वेकिन कुछ नहीं. मैं रात में खाना खाकर जब अपने कमरे में आई, तो अंकल का मैसेज मेरे मोबाइल पर आया कि क्या हो गया?मैंने उनको बताया- कुछ खास नहीं … बस थोड़ा सा दर्द है. मैं भी उठा और एक बार फिर उसे गले से लगा लिया।मैं फ्रिज से ठंडे पानी की बोतल लाया और उसकी चूत व जांघों को साफ करके उसके कपड़े पकड़ाए और पहनाने में मदद की।अब हमारे निकलने का समय हो रहा था और उसके घर वाले कभी भी आ सकते थे।हमने कमरे में फैली अस्त व्यस्तता को थोड़ा सही किया जो हमारी काम क्रीड़ा से काफी बिगड़ गयी थी।उसके बाद हम वहां से निकल गये.

उसके बाद हम एक दूसरे की बहनों के ऊपर लेट गए और उनको ज़ोर ज़ोर से चुम्बन करने लगे. मैंने उसकी जांघों को चौड़ा किया और अपने लौड़े को चूत के निशाने पर लाकर एक करारा धक्का लगा दिया.

मैं दिखने में भी एकएम दूध सी गोरी हूँ, तो क्या जवान क्या बूढ़े, सबकी झांटें सुलगने लती हैं और लंड हिनहिनाने लगते हैं.

मैं तब भी वैसे ही सोया था लेकिन रात को कब मैं घूम गया पता ही नहीं चला. उनका चौड़ा सीना और कड़ियल गोरा जिस्म देख कर मुझे मेरी चुत में चींटियां रेंगने लगीं. लगभग रात 8 बजे अनीषा नीचे केबिन में आयी और मुझसे बोली- मैं बाहर जा रही हूँ.

जब हम दोनों मेल पर मिले, तो बातचीत में उसने मुझे बताया कि वो कानपुर में रहकर पढ़ाई करती है और कमरा लेकर अकेली रहती है. लंड हिलाते हिलाते उसने अपनी चूत पर लंड का सुपारा रख दिया और जोर से लंड पर बैठ गई. मैंने उसकी चुत के रस से सनी उंगली को अपने मुँह में डाला और उसकी कोरी चुत का स्वाद लिया.

उसे ऐसा लगा, जैसे दो फूले हुए गुब्बारे उसके और उसकी मॉम की बीच में दब रहे हों.

बीएफ पिक्चर बीएफ फिल्म: यदि तू मेरे साथ सेक्स करेगी तो मैं तुझे पैसे भी दूँगा और कुछ और फिल्म मेकर्स के पते भी दूँगा, जिधर से तू लाखों कमा लेगी. कार्तिक अपने हाथ को धीरे-धीरे मेरी साड़ी के अन्दर चलाते हुए उन्हें जांघों तक ले गया.

एक बार मेरे एक रिश्तेदार के यहां शादी थी तो घर में सब लोग जाने की बात कर रहे थे. अपने प्लान के मुताबिक पीयूष ने शीना को पीछे से हग कर लिया और ये कहते हुए लेट गया- मेरे साथ लेट जाओ, सब बेचैनी दूर हो जाएगी. मैं किसी भी जवान या बूढ़ी औरत को चोद कर संतुष्ट कर सकता हूं, इतना मुझे यकीन है.

मैंने पूछा- आपको कोई प्रॉब्लम न हो तो मैं भी आ जाऊं!इस पर वो हंस दीं और बोलीं कि कोई प्रॉब्लम नहीं है … चलो.

मुझे औसत साइज की उन औरतों को चोदना बहुत पसंद हैं, जो सेक्स को दिल से समझती हों. उसने अपने बेटे रोहन के लंड के सुपारे पर एक बार जीभ फेरी और लंड के प्रीकम का स्वाद लेकर एकदम भूखी शेरनी की तरह लंड पर झपट पड़ी. एक दो बार किताब पढ़ते पढ़ते मैंने किताब पर भी मुठ मार कर रस की छींटे उड़ा दिए थे.