बीएफ सेक्सी चाची की

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म चोदा चोदी वाला वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो खुलेआम: बीएफ सेक्सी चाची की, फोटो में वो हरामज़ादी कामुकता से भरपूर हुस्न की जीती जागती तस्वीर लग रही थी.

عرب سیکسی

चाची बस ‘अहह … ओहह … आह्ह्ह …’ करती रहीं और उनकी सांसें तेज़ होने लगीं. पंजाबी सेक्सी चोदा चोदी वीडियोमैं बोली- ओके, पर ये तो बता कि इसमें तेरा क्या फायदा है?वो बोली- वो सब मैं बाद में बताऊंगी.

ऐसा पहली बार नहीं हुआ था, लेकिन इस बार सीन ये था कि मैं भी इन दिनों अपने घर आया हुआ था. अतरवासना कहानीवह अपनी गहराती सांसों के साथ कंधों को सिकोड़ कर छुईमुई की तरह बिल्कुल सिकुड़ती सी चली गई.

अब तो उसे भी रहा नहीं जा रहा था, वो तुरंत बोला- पक्का न मेमसाब? किसी को पता नहीं चलेगा?मैं बोली- हां पक्का!इतने में वो मेरे पास आ गया.बीएफ सेक्सी चाची की: कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या सही है और क्या गलत?मन में तूफान सा उठा हुआ था और मैं उसमें फंसता ही जा रहा था.

कंडोम अंकल के पूरे लंड पर फिट नहीं हुआ था, पीछे से अभी भी कभी जगह थी.या यूं कह लो कि उस वक्त मेरे पास कड़की चल रही थी और मेरे पास स्वेटर खरीदने को पैसा नहीं था.

सेक्सी मां की चूत - बीएफ सेक्सी चाची की

बात करते करते मैं उसकी गांड में उंगली डालता और निकालकर अपने मुँह में रख लेता.तूने इतनी मस्ती से खुल कर मुझसे चुदवाया है कि मैं तेरा कायल हो गया हूं.

माँ के पास जाकर मैंने माँ की ब्रा को खोल दिया और उसके चूचों को आजाद कर दिया. बीएफ सेक्सी चाची की उन दोनों बहनों ने एक दूसरे के साथ लुकाछिपी करते हुए अपनी चूतें चुदवा लीं.

रानी ने हँसते हुए मेरी नाक को पकड़ के हिलाया और बोली- राजे यार, तू तो अभी बिल्कुल ही अनाड़ी है … बुद्धूराम बहनचोद लौड़ा पूरा थोड़े ही निकालने को बोली थी मैं … लंड निकालना था लेकिन टोपा बाहर नहीं आना चाहिए … अब ठोक ज़ोर से … एक गहरी सांस लेकर ज़ोर से लंड पेल दे चूत में!रानी ने लंड पकड़ के सुपारी को चूत के मुंह से सटाया और चूतड़ उठाकर लंड घुसाने का इशारा किया.

बीएफ सेक्सी चाची की?

चूची को मसलने के साथ उसकी चुत में फिंगरिंग करने लगा … उसके दाने को मसलने लगा. दिन के समय दोपहर में मेरी बहन नहाने के बाद मेरा हाफ पैन्ट पहने हुई थी. मैं बोली- वो तो आपने दीदी के साथ मना ली है ना!जीजा जी बोले- तो फिर आपके साथ ‘सुहागदिन’ मनाऊंगा.

इस सब को पूरे विस्तार से लिखने का मन है, इसलिए आपको ये सब अगले भाग में लिखूंगा. वो शर्मा कर भागने लगी, पर मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और वो वापस मेरे ऊपर आ गई. मैंने कहा- अच्छा ऐसी बात है क्या?वो बोली- और क्या … जब मैंने अपनी फ्रेंडस को आपको दिखाया, तो कितनी ने आपका नंबर मांगा … मगर मैंने मना कर दिया.

यह तो सब करते हैं किंतु वह तुम्हारी कच्ची उम्र थी जब तुमने हमें संभोग करते देखा। यह केवल एक बार नहीं अपितु बार-बार था।इस उम्र में जब किसी को पॉर्न फिल्म देखने को मिलती है तो उसका हाल भी यही होता है किंतु तुमने तो पॉर्न फिल्म को जीवन्त रूप में देखी थी. जैसे जैसे मेरी उंगलियां पर्वतों के शिखरों के पास, और पास पहुँचती जा रही थी वैसे वैसे वसुन्धरा के मुख से निकलने वाली सिसकारियों में तेज़ी आती जा रही थी- आह … हा. जीजा ने मेरे बालों और कंधों को पकड़ लिया और तेजी के साथ मेरी चूत को पेलने लगे.

सायमा की गीली पैंटी पर मैंने अपनी हथेली से सहलाना शुरू कर दिया और उसकी छाती को भी एक हाथ से दबा रहा था. उन्होंने छोड़ने की जगह एक झटका और दे दिया, तो अंकल का आधा लंड मेरी बुर में अन्दर घुस गया.

मैं घूमते हुए उसकी दायीं तरफ आया और व्हिप से उसके नंगे सपाट पेट पे दे मारा.

आपकी राय के बाद मुझे आगे भी आपके लिए कहानी लिखने के लिए प्रेरणा मिलेगी.

फिर पूजा उस लड़की की तरफ देखा, तो वो भी अपना गाल पकड़ कर हां में अपना सर हिलाते हुए बोली कि तू ऐसे ही खड़ी रहेगी या कुछ कपड़े भी पहनेगी?ये बोल कर उसने आंख मार दी. जब तक सुमिना अंदर घुसी मैंने दूसरी तरफ से जाकर गाड़ी का दरवाजा खोल लिया था. लड़का फौज में मेजर है, बहुत ही शरीफ लोग हैं और ऊपर से अपनी ही जाति के हैं.

आपका देव कुमार[emailprotected]कहानी का अगला भाग:आंटी की प्यासी जवानी मांगे लंड-2. उस दिन हम लोगों ने कोई खेल नहीं खेला क्योंकि जागृति को मनीषा और मेरे बीच में पक रही खिचड़ी के बारे में शक हो गया था. रितेश सब जान चुका था कि मैं चुपके से छिप कर जीजा-साली की चुदाई देख रहा हूं.

कभी अपनी चूचियों को दबाती, कभी अपनी उभरी हुई गांड को हिलाती और कभी अपनी चूत पर हाथ फिराने लगती.

क्या बताऊं मुझे बहुत बहुत खुशी हुई कि उन दोनों ने अपना वादा निभाया और उस बारे में किसी को नहीं बताया. धीरे धीरे मेरा पूरा लंड उसके मुँह में समा गया जिस वो अंदर बाहर करके चूसती रही. दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने सेलिना को फिर से गर्म कर दिया और उसके हाथ फिर से मेरी पीठ को सहलाने लगे.

मेरी बहन सुमिना उसके भाई को देखकर ज्यादा ही उत्साहित हो उठी थी, उसके इस बर्ताव ने मुझे काजल के भाई कुणाल के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया था।अब आगे:मैंने सुमिना से काजल के भाई कुणाल के बारे में पूछा तो सुमिना उसके बारे में बातें करती हुई बड़ी ही रूचि के साथ उसका गुणगान कर रही थी. अब मैं उसके एक मम्मे को चूसने में लगा था … साथ ही दूसरे को मसल रहा था. रबड़ी में खूब किशमिश, बादाम, पिस्ते, अखरोट, काजू और छुआरे पड़े हुए थे.

मैंने अपनी चुटकी में उसके निप्पलों को पकड़ कर मसला और वो चिहुंक गई- आह्ह … आराम से करो … दर्द हो रहा है.

वैसे तो उसकी उम्र अभी 18 की ही हुई थी लेकिन उसके चूचों का उभार बड़ी ही जल्दी खिलने लग गया. जीजा-साली शायद पहली बार एक-दूसरे के जिस्म को भोग रहे थे इसलिए रितेश जीजू के अंदर इतनी उत्तेजना भर गई थी.

बीएफ सेक्सी चाची की मैंने उससे पूछा- डू यू वांट मोर? (और चाहिए?)उसने नशीली आंखों से हां में सर हिलाया. - सोनल तुम्हारे भाई से बिना प्रोटेक्शन के ही चुदने में मजा आता है, तुम टेंशन मत लो, तुम्हें कुछ भी नहीं होगा.

बीएफ सेक्सी चाची की फिर उन दोनों ने मुझे लिटा दिया और जैक और मारव ने चुत … और ओकले ने गांड में लंड डाल दिया. मेरी बीवी नादान थी, उसे नहीं मालूम था कि गांड मारना क्या होता है, उसे तो बस इतना बताया गया था कि छेद में औजार घुसेगा, तो दर्द होता है, तुम थोड़ा सहन कर लेना.

फिर मैंने बोला- मिलवा दे यार इन दोनों से … मुझे तो बस चूत का कचूमर निकलवाना है इनके लौड़ों से.

बीएफ वीडियो मूवी एचडी

कुछ समय बाद मकान मालिक अपने परिवार के साथ कुछ दिनों के लिये बाहर गया. हालांकि मैं अंदर ही अंदर गुस्से में उबल रहा था लेकिन ऊपर से शांत दिखने की भरपूर कोशिश कर रहा था पर लगता था कि वसुन्धरा ने मेरा मूड भांप लिया था तो हाथ में शादी में पहनने वाले कपड़ों वाला मीडियम साइज़ का अटैची-केस ले कर चुपचाप कार की फ्रंट-पैसेंजर सीट पर आ बैठी. मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे.

फिर वो औरत जो मेरे मुँह में अपने चुचे घुसा कर चुसा रही थी, मादक सीत्कार करने लगी. हम दोनों जब भी आमने सामने होते थे तो वो मुझे देख कर मुस्कुराता था और मैं भी उसको देख कर मुस्कुराती थी. किंतु आपसे या किसी अनजाने व्यक्ति से मिलने के ख्याल से मुझे भय भी लग रहा है और यदि मैं ऐसा करती हूं तो रोग-ग्रस्त होने की आशंका भी रहती है। क्या मेरा ऐसा सोचना सही है या मेरे मन की यह धारणाएं गलत हैं? कृपया उत्तर दें.

एक दिन ऐसे ही छुट्टी के वक्त मैंने प्रिया से पूछ लिया कि वह लंच में किनके साथ बैठी रहती है तो उसने बताया कि वह बाहरवीं कक्षा की लड़कियों के साथ लंच करती है.

मैं थोड़ी संभली मगर उसने मेरी टांगों को ऊपर उठा रखा था इसलिए उसी अवस्था में लेटी रही. ”अरे इसमें ऐसी वैसी कोई बात नहीं है। तुम खूबसूरत हो, मस्त चूचियाँ हैं, चिकनी चूत है, ये सब मजे लेने के लिए ही तो हैं. थोड़ी देर में नग्न दृश्य और फिर जब सनी लियोन के सम्भोग दृश्य शुरू हुए तो कसमसाने लगी.

मामी बोलीं- बड़े नाजुक हो यार!मैं मामी के मुँह से यार शब्द सुनकर ज़रा चौंक गया. इतना अच्छा रिस्पोंस मिलने से मेरा उत्साह काफी बढ़ा और उसी प्यार की वजह से मैं फिर से मेरी अन्य हसीन घटना के साथ हाज़िर हूँ. फिर मेरे भाई ने कहा- आशना बस अब तुम मेरा लंड फिर से चूसो और खड़ा कर दो.

इसलिए वो अपनी कमर उचका-उचका कर लंड को जितना अन्दर ले सके, लेने का प्रयास कर रही थी. मुझे लंड चूसना आदि कुछ आता नहीं था इसलिए मैं सही से लंड चूस नहीं पा रही थी.

मेरे मन में तरह तरह की ख्याल उठ रहे थे कि पता नहीं अब मेरा भाई मेरे साथ क्या करेगा. उम्म्ह… अहह… हय… याह… पहली बार किसी लड़की की चूत में मेरा लंड गया था. कि ज़रूर लाएंगे … पर लाते ही नहीं हैंहां बेटी … आज तुम दोनों की चूत की आग जरूर शांत करवा दूंगा.

मैंने आपको कोई और ही समझ बैठी!” मैंने खड़े होकर उन्हें नमस्कार किया और हाथ जोड़कर लजाते हुए उनसे माफ़ी मांगी.

रात को मैं निहारिका के पास गया, तो वो उसी सूट में तैयार खड़ी, मेरा वेट कर रही थी. क्या बताऊं मुझे बहुत बहुत खुशी हुई कि उन दोनों ने अपना वादा निभाया और उस बारे में किसी को नहीं बताया. उसका सांप अंडरवियर से बहुत बेताब लग रहा था, मैंने उसे बाहर लिया और मसलने लगी.

यूं तो हमारे दोनों के ही ब्वॉयफ्रेंड हैं किंतु हम में से कोई भी अपने पार्टनर को इस तरह से शेयर नहीं करना चाहती है. मैं विस्तार से उस हुस्न परी की चुदाई की कहानी बताता हूँ … जिसे चख कर मैं धन्य हो गया था.

राज जी! सब मेरी गलती है जो मेरी बेटी मेरी आँखों के सामने तिल-तिल कर मर रही है. अब तो मुझे भी लगता है कि जब भी जीजा कहीं घूमने के लिए जायेंगे तो मैं उनके साथ ही चली जाया करूंगी. मेरी बात का जवाब देते हुए काजल ने मेरे अगले सवाल का मुंह ऊपर उठने से पहले ही उसको अपने जवाब की जूती से जैसे रौंद दिया क्योंकि मैं इसके बाद यही पूछने वाला था कि घर में कौन-कौन है!खैर, अब जब बात शुरू हो ही गयी थी तो आगे बढ़ानी भी जरूरी थी लेकिन समझ नहीं आ रहा था कि और क्या बात करूं.

इंग्लिश बीएफ दिखाओ वीडियो

अब मैं ज्यादा समय न लेते हुए जल्दी से स्टोरी पर आता हूं।पहले मैं अपने बारे में आप सभी को बता दूं कि मेरा रंग गेहुंआ है और मेरी हाइट 5 फीट 11 इंच है.

अब जब मुझसे रहा न गया तो मैं उठा और दबे पांव गौशाला की तरफ बढ़ने लगा ताकि किसी को शक न हो।मैं जैसे-जैसे गौशाला की तरफ बढ़ रहा था पायलों की आवाज बढ़ती जा रही थी. मुझे भी मज़ा आ रहा था, शराब भी थोड़ी चढ़ी हुई थी, इसलिए मैं और बेकाबू हो रही थी. मेरा पूरा लंड भाबी के मुँह में जाते ही मुझ पर न जाने कौन सा शैतान सवार हो गया, मैंने अपना लंड एकदम से भाबी के गले तक ठांस दिया.

उसकी चूचियों को पीते हुए मैं उसके होंठों को भी चूसना चाहता था मगर अगले ही पल मेरा ध्यान उसकी चूत की तरफ चला गया और मैंने एक हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत पर रख दिया. मैंने उसी वेटर को एक सौ का नोट और दिया, उसने मेरी चुदाई को देख कर हम दोनों को डिस्टर्ब नहीं किया था. స్వాతి నాయుడు తెలుగు సెక్స్मैं बिस्तर पे उल्टा लेट गया और वो बड़े ही प्यार से मेरी कमर दबाने लगे और मुझे गुदगुदी करने लगे.

भाबी जी क्या जम कर मेरे लंड पर कूदीं जिस मैं शब्दों में तो बयान ही नहीं कर सकता. मोनिका- केवल मजाक … या मस्ती भी?यह बात उसने मेरी आँखों में आंखें डाल कर कुछ झुक कर इस तरह कही कि उसके चुचे भी दर्शन देने को उतारू हो गये.

उसी दिन मुझे यह ज्ञान मिला कि बुर का मोती छेड़ने या चाटने से विशेष मजा आता है और तन मन चुदने को मचल उठता है. तभी पीछे से किसी ने बोला- ये सब क्या हो रहा है?यह सुन कर मैं पीछे पलटा और पूजा उठ कर देखा, तो देखा कि रश्मि खड़ी थी और उसकी आंखें और फ़ेस एकदम लाल हुआ पड़ा था और वो कांप रही थी. मेरी पैंटी में खुजली बढ़ने लगी थी और मेरी बुर बार बार गीली होने लगी साथ ही मम्मों में एक अजीब सी कसक, अजीब सी सनसनी मचने लगी, मीठा मीठा दर्द रहने लगा; दिल करता कोई इन्हें अच्छे से मसल डाले और आटे की तरह गूंथ दे एक बार.

पर कुछ में तो मेरे सुबुद्ध पाठकों के वाक़ई में लाज़बाब सुझाव थे या बहुत ही बुद्धिमत्तापूर्वक आलोचन. मैं अपनी बाजू में लेटी सोनल के मम्मे मसलते हुए उसे किस कर रहा था और वो भी मेरा साथ देती हुई अपनी चुत में उंगली घुमा रही थी. दूसरे भाग की कहानी का मजा यहीं से शुरू होता है कि कैसे मैंने अनामिका की गांड भी उसके मना करने के बावजूद भी चोदी और अनामिका के यहां सोनिया भी कैसे मिल गयी और उसकी चूत व गांड कैसे मारी.

उसने पूछा- ये बता तुझे ये सब आइडिया आया कहां से?मैंने कहा- मेरे ऑफिस में एक लड़का है.

शायना बुआ बोली- आराम से डालो मेरी जान, इस चूत ने एक साल से लंड नहीं खाया है. ई … ई … ई!वसुन्धरा रह रह कर दांत किटकिटा सी रही थी और उसके मुंह से निकलने वाली सीत्कारों का कोई ओर-छोर नहीं था.

मैं सोच रहा था कि जागृति की नजरों से बचने का यह अच्छा तरीका है कि मनीषा अंधेरे में चुदाई करवाने का प्लान कर रही है. अब आगे:जीजा का लंड मेरी चूत में अंदर-बाहर हो रहा था और मैं मस्ती से जीजा के लंड के साथ चुद रही थी. मेरी आयु 23 साल है। मेरे घर में चार सदस्य हैं- मेरी मां और पापा, एक बहन और मैं.

नम्रता ने जब मेरी नाक दबायी, तो उसके हाथों से निकलती हुई स्मैल मेरे नथुनों में समाने लगी. जब उनको लगा कि मैं उनको देख रही हूँ तो वो और ज्यादा दीदी को काटने-चाटने लगे. दोस्तो, उसका एक एक बूब आधा आधा किलो का होगा और एकदम गोरे गोरे निप्पल्स भी हल्के भूरे रंग के थे.

बीएफ सेक्सी चाची की मैंने मन ही मन कहा ‘इन दोनों (मां-पापा) को भी अभी टांग अड़ानी थी बीच में।’पांचों के पांचों घर का ताला लगाकर बरामदे में खड़ी कार की तरफ बढ़ चले. एक अठारह साल की लड़की मुझे नहीं हरा सकती थी, इसलिए मेरा नींद का नाटक जारी था.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ वीडियो

अब मेरे दिल में हवस की जगह प्यार उमड़ रहा था। मैंने उसकी आंखों पर किस किया और अपने लण्ड के टोपे को उसकी चूत पर लगाया और उसकी आंखों में आँखें डाल कर देखने लगा. घर के पास पहुंचकर मैंने इधर-उधर नजर डाली और जल्दी से हम दोनों मेरे घर के अन्दर घुस गए. भाभी बोलीं- देवर जी, आज तो तुमने मुझे ऐसा मज़ा दिया है कि मैं क्या बताऊं.

मैंने मैडम के सेक्सी फीगर और गांड के बारे में सोचा तो लंड फटाक से तन गया. आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि रिश्ते में मेरी भाभी लगने वाली अनुषी (काल्पनिक) को उसके घर के पीछे चोदने के बाद मैं बस इन्तजार कर रहा था कि कब अनुषी रात को घर में अकेली हो और मैं अनुषी को पूरी रात जी भरकर चोद सकूँ. స్వాతి నాయుడు సెక్స్ వీడియోలు”तू समझ नहीं रहा अच्छा दूसरी फ़ोटो दिखाता हूँ, ये देख!”अरे ये … इनकी फ़ोटो ब्रा पैंटी में … ये फ़ोटो तुझे कैसे मिली?”यह सुन के अंशु ने मेरी चुचियाँ दबाईं।कामिनी, अब समझ में आया? उपिंदर तेरी मम्मी को मेरे भाई से चुदवाने का प्रोग्राम बना रहा है.

मैं मम्मी के पास गई और बोली- मम्मी अंकल आए हैं … वे नीना को इंग्लिश समझा रहे हैं, क्या मैं भी चली जाऊं?भला इस काम के लिए मम्मी मुझे क्यों मना करतीं.

जीजा-साली दोनों ही एक दूसरे के जिस्म को ऐसे भोग रहे थे जैसे इससे पहले न तो जीजू ने किसी महिला को नंगी देखा हो और न ही मानसी ने किसी मर्द को नंगा देखा हो. मैं- सच बोलूं तो … आज मैं बहुत खुश हूं कि अब मेरे पास तीन हॉट माल हैं.

एक 20-22 साल का बेटा था जो ग्रेजुएशन करके नौकरी की तलाश में था और एक बेटी थी, करीब 18 साल की, इन्टर में पढ़ती थी. फिर मैंने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर आतिशा की चुत के ऊपर सैट किया और सुपारे को चूत की फांकों में फंसा कर अन्दर पेल दिया. धीरे-धीरे पैंट में उसके जिप के ऊपर से ही वह उसका लन्ड बहुत सख्त होता जा रहा था, इधर मेरे होंठों को जब वह चूसने लगा तो मुझे कुछ-कुछ होने लगा, सच में … जो मेरी घबराहट थी,जो मेरा डर था, वह अब कम हो गया।करीब 2 मिनट तक वह मेरे होंठों को चूसता रहा.

तभी मैंने आशीष को बोला- मैं अब फोन रख रही हूं, मैं सुबह बात करूंगी.

”आंटी के इतना कहते ही मैंने आंटी की ओर करवट इस तरह से ली कि मेरा लण्ड आंटी की जांघ से छूने लगा. मैंने वसुन्धरा को ब्यूटी-पार्लर के गेट पर उतारा और उसको जैसे ही आप तैयार हो जायें, मुझे सैल पर कॉल कर दें, मैं आप को लेने आ जाऊंगा. टीचर सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि नम्रता अपने पति से फोन पर बात करते हुए उससे गांड मारने की कल्पना कर रही थी.

xxxગૂજરાતીबाली रानी अंजलि रानी से इतना प्यार करती है कि उसने ज़िद पकड़ ली यह कहानी अंजलि रानी को ही समर्पित हो. इसी तरह यहाँ भी था, भाभी के और उसके पति के बीच सेक्स सम्बन्ध कुछ खास नहीं थे.

बीएफ वीडियो देहात

शाम को बीवी का फोन आया तो मैंने उससे कह दिया- मुझे बहुत काम है मैं देर से घर पहुंचूंगा. मैं वहां इसलिए भी जाने लगा था कि मेरे दोस्त के घर के एक हिस्से में बने एक फ्लैट में नए किरायेदार आए थे. शानदार! जन्नत दिखा दी तूने दीपिका! और चूस बेटा! आह्ह …” रवि ने कामुक सिसकारी भरते हुए कहा.

ये कहते हुए भाबी ने मेरे लोवर में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को बाहर निकाल कर प्यार से लंड को सहलाने लगीं. मेरा यह चिकना नाजुक बदन तुम दोनों के सख्त जिस्म से रगड़ रगड़ कर छिल जाएगा. कुछ देर अपनी चूत को मसलने के बाद उसने अपने एक हाथ से अपनी चूचियों को भी मसलना शुरू कर दिया.

मेरा हाथ जैसे-जैसे उसकी कमर को सहलाता गया उसकी सांसों की गति तेज होती गयी. इस बीच में जब मैं दीदी के घर गई तो मैंने कई बार जीजा जी को तौलिये में देखा था. दिशा- आप अब दीदी के साथ चुदाई का दंगल खेलो, हमें थोड़ा आराम करना है.

लेकिन बुआ और ताऊ जी की वो चुदाई मुझे जब भी याद आती है मेरा लंड तन कर जैसे फटने को हो जाता है. जिस दिन भाभी से मेरी बात नहीं होती, उस दिन मुझे लगता था, जैसे कोई बहुत दूर चला गया हूँ.

अब किस करते करते हमारी जीभ मिल गई और मैंने भाभी की चुत में उंगली डाल दी.

कई मिनट की चुदाई के बाद उसकी चुत फिर फड़फड़ाने लगी और उसने अपना पानी निकाल दिया. हिंदी सेक्सी वीडियो गांव की औरतों कीमेरे मुंह में लंड था इसलिए मेरे मुंह से केवल ऊंह्ह … ऊंह्ह की दबी हुई आवाजें ही बाहर आ रही थीं. कुर्ते की सेक्सीलेकिन पढ़ाई के साथ कुछ और भी हो जाये तो कैसा रहे?वो मेरा इशारा समझ गई और मुझे आंख मार दी. मैंने अपने लंड को उसके मुंह से बाहर निकाल लिया और उसको सीधी लेटा कर उसकी टांगों को चौड़ी करवा दिया.

मैं नीचे आया, तब अंकल ने कहा- अरे उस्मान, तुम एक मिनट देर से आए हो, मैंने अभी चुदाई खत्म की है, तुम होते तो लाइव देखने को मिल जाती.

मैंने उसी समय फिर से एक झटका दे मारा, जिससे कि मेरा पूरा लंड उसकी छोटी सी चुत में चला गया था. दीदी बोली- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- दीदी, अब तो घर में भी कोई नहीं है. लंड घुसते ही वो दर्द से चीख रही थी, पर उसकी चीख मेरे होंठ उसके होंठ पे होने से मुँह में ही दबी रह गई.

इसीलिए मैं अपने काम में लगा हुआ था। उसके चूतड़ों को पकड़ कर अपना पूरा मुँह उसकी चूत में घुसा रहा था। मैं जीभ को अंदर तक घुसा कर उसकी चूत की दीवारों को चाट रहा था।वो जोर-जोर से सिसकारियां ले रही थी- विशाल मेरी जान … तू मेरा भाई नहीं, मेरी जान है। मैं तेरी रखैल हूँ. इसलिए दोपहर में आराम करने के बाद मैं मनोज के साथ उसके दोस्त के घर चला गया. फिर वो रुके ओर उन्होंने पूरा माल मेरी पेंटी ओर पेटीकोट पर झाड़ दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म इंग्लिश वीडियो

उसके बाद वंश बोला- कविता डार्लिंग आज तो मैं पहले अपनी मम्मी को चोदूंगा … कल से गर्लफ्रेंड को चोदूंगा. यह एक साल पहले की बात है, जब मैं ग्रेजुएशन खत्म करके पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए मेरी बुआ के पास दिल्ली आ गई थी. उनसे मुझे ज्यादा कोई मतलब नहीं था, पर मैं उनके घर उनके छोटे बेटे अवि को खिलाने और हमारा घर का टीवी ख़राब हो जाने के कारण टीवी देखने जाती थी.

मोनी शायद सोच रही थी कि मैं अब फिर से उसकी चूत के पास जाने‌ की कोशिश कर रहा हूँ इसलिये मोनी ने जोरों से कसमसाकर अपना एक‌ हाथ अब मेरी गर्दन पर‌ डाल लिया और मुझे ऊपर से पकड़ लिया।एक मिनट म मैं … व व वो … लगा लेता हूं…” मैंने कॉन्डोम‌ का नाम लिये बिना मोनी से कहा मगर मोनी ने मेरी‌ बात का को‌ई जवाब नहीं दिया.

मैंने आंटी से पूछा- कैसी इच्छा?उसने कहा- क्या तुम मेरी शरीर की जरूरत पूरी कर सकते हो?पहले तो मैं चुप रहा.

मेरा अगला विचार है कि कोई मुँह को ढक कर मेरी आगे पीछे से एक साथ चुदाई करके मेरी ब्लू फिल्म बना दे, तो मुझे अपने चेहरे के अतिरिक्त अपनी बॉडी का हर पार्ट आप सबको को दिखाने का मौका मिले. मैंने उसकी जांघों पर हाथ रख कर उनको थोड़ी चौड़ी सी फैलाते हुए उसकी कमसिन कोमल चूत पर मैंने अपने प्यासे होंठ रखे तो मनमीता ने मेरे बालों में हाथ फिरा कर अपने आनंदमयी अनुभव का इशारा दे दिया. बिहारी लड़कियों के सेक्सी वीडियोअन्दर आकर मैंने पूछा- आपका नाम क्या है?बेबी …”बहुत प्यारा नाम है, मुझे बहुत पसन्द है.

निक मुझसे कहता है कि वो जब भी मैं कहूँ, तब मुझे लेने इंडिया आ जाएगा और अपने साथ ले जाएगा. फिर मेरे भाई ने कहा- आशना बस अब तुम मेरा लंड फिर से चूसो और खड़ा कर दो. उसने मेरी तरफ देखा तो मैं बोला- बाबू आई लव यू!उसने तुरंत अपना सर झुका लिया.

मेरे भाई से मेरी अच्छी बनती थी और उसने मुझसे कह दिया कि रात में वहीं रुकने का प्लान बना ले और मजे कर. आज जिस घटना की बात मैं आपको बताने जा रहा हूँ वह उस दिन की है जब मैं भाभी के यहाँ एक शादी अटेंड करने गया हुआ था.

अब आगे:मैंने अपने लंड पर कॉन्डोम पहना था इसलिये मैं एकदम से ही मोनी से अलग नहीं हुआ.

फिर वनिता के ससुर राजेन्द्र कुमार से मेरे पति की पहचान भी अच्छे हो गई. उसकी गांड के छेद से लेकर चूत की छेद तक और फांकों के बीच मेरी जीभ आ जा रही थी. जीजा जी मुझे मजा दे रहे थे और मजे में मैं यह नहीं जान सकी कि लिंग को ज्यादा जोर से नहीं मसलना चाहिए.

సెక్స్ మూవీ తమిళం चूत और गांड तो मैं अपनी बीवी की मार रहा था, पर दिल में अनामिका का ही चेहरा घूम रहा था. उधर काजल की सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं, जिसकी वजह से उसकी दोनों चूचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं.

भाबी की टाइट चुत भी आज मेरे लंड को ऐसे चबाए जा रही थी कि जैसे मेरे लंड को पूरा निगल ही जाएगी. अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते पढ़ते मेरे मन में भी चाह जगी कि कोई मेरी भी सत्य कथा लिखे जब मैं पहली बार शादी से पहले किसी से चुदी थी. यही हुआ, जब उन्होंने धीरे धीरे अपना लंड मेरी गांड में डालना शुरू किया तो मुझे बहुत दर्द होने लगा लेकिन ना ही मैं चिल्ला सका और ना ही हिल सका.

बीएफ चलते हुए दिखाएं

दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी के अगले भाग भेजने में हुई देरी के लिए माफी. उसने मेरी कुर्ती को निकाल दिया और उसके बाद मेरी ब्रा को भी निकाल दिया. वही जो तुम आज ऊपर छत से देख रहे थे?”क्या करूँ मेमसाब, नजर पड़ गई थी.

फ्राक की बैक पर लगी चेन खोलकर मैंने उसकी फ्राक उतार दी, फिर ब्रा और पैंटी. और फिर मैंने उसकी मुलायम झांटों पर अपना लंड टिकाया और फनफनाते हुए लंड से उसकी चूत रगड़ने लगा.

मैंने जब देखा कि वो खड़ी हो कर फिल्म देख रही है, तो मैंने उससे बोला कि इधर आकर बैठ जाओ.

मेरे परिवार में मेरी मम्मी, जो कि एक हॉउस वाइफ हैं, मेरे भैया जो कि 25 वर्ष के हैं और एक अंतर्राष्ट्रीय कम्पनी में काम करते हैं. मैं उसको उठाने के लिए उसके कमरे में गया तो मैंने देखा कि मानसी सो रही थी. मैंने धीरे-धीरे अपनी कमर को हिलाना शुरू किया और उसकी चूत में धक्के देने लगा.

मैंने भी बाथरूम में जाकर बुआ और ताऊ जी की चुदाई के सीन को याद करके मुट्ठ मारनी शुरू कर दी. उसने मुझे बेडरूम का रास्ता बताया और मैंने वहां जा कर भाभी को बेड पर लिटा दिया. मोनिका मेरे सामने झुक कर बैठ गयी जिससे उसके यौवन पुष्प और ज्यादा मुखर होकर प्रकट हो गये.

स्कूल में कुल छह महिला टीचर थीं परन्तु बाली मैडम के बेपनाह हुस्न के क्या कहने! मैडम अपार सौंदर्य की मालकिन तो थी हीं, उनका व्यक्तित्व भी अत्यंत भव्य और प्रभावशाली था.

बीएफ सेक्सी चाची की: वसुन्धरा के दोनों होंठ मेरे होंठों की गिरफ़्त में थे और जैसे ही मैं उसके ऊपर या नीचे वाले होंठ पर अपनी जीभ फेरता, वसुन्धरा का पूरा शरीर तन जाता और सिहरन की लहरें वसुन्धरा के शरीर में उठनी शुरू हो जाती. किंतु आपसे या किसी अनजाने व्यक्ति से मिलने के ख्याल से मुझे भय भी लग रहा है और यदि मैं ऐसा करती हूं तो रोग-ग्रस्त होने की आशंका भी रहती है। क्या मेरा ऐसा सोचना सही है या मेरे मन की यह धारणाएं गलत हैं? कृपया उत्तर दें.

उस वक्त मुझे सेक्स के बारे में ज़्यादा पता नहीं था, बस इतना पता था कि सेक्स होता कैसे है और इसमें क्या क्या करते हैं. सभी लंडधारी भाई अपने लंड को पकड़ कर मुठ मार सकते हैं और जिनकी चुत गर्म हो जाए, तो वो लंड से या खीरा, बैंगन, लौकी, ककड़ी, गाजर, मूली जो भी मिले, डालकर मेरी इस कहानी का आनन्द लें और अपने सुझाव, मत मेल के जरिये भेज कर अपने लंड, चुत से मुझे दुआएं दें ताकि मुझे ऐसे ही नयी नयी चुत, गांड चोदने को मिलती रहे और मैं अपना अनुभव आपको सुनाता रहूँ. मैं फिर से अनुषी के होंठों को चूमने लगा और अनुषी भी मेरे लंड को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी.

क्या बताऊं मुझे बहुत बहुत खुशी हुई कि उन दोनों ने अपना वादा निभाया और उस बारे में किसी को नहीं बताया.

वरूण अभी धक्के लगा रहा था और लंड अंदर-बाहर होते हुए चूत से पच-पच की आवाज होने लगी. निहारिका की सलवार मेरे छूटने से गीली हो गई थी, तो जब निहारिका ने सलवार उतारी, तो उसके चूतड़ों के दर्शन मुझे कई महीनों बाद हुए थे. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी उसके बूब्स चूस लूं, पर में मजबूर था … क्योंकि में सिर्फ मसाज के लिए आया था.