सुहागरात का सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी पिक्चर ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म जंगल लव: सुहागरात का सेक्स बीएफ, वो अपने घर पर काफी सारे लड़को को कोचिंग देते थे।कॉलेज के बहुत सारे लड़के उनके यहाँ पढ़ने आया करते थे।मैं हमेशा किसी न किसी काम से या ऐसे ही अपने घर की छत पर जाया करती थी।शुरू में तो मैंने गौर नहीं किया.

एस ई एक्स वीडियो

भाभी कहने लगी- फिर मुझे चोदते क्यों नहीं?मैंने भाभी को कहा- ठीक है, घोड़ी बनो. ब्लू पिक्चर सेक्सी फिल्ममैंने पूछा- बिकिनी वैक्स क्या होता है?तो भाभी ने कहा कि ब्यूटीशियन सारे शरीर पर से सारे रोवें खत्म कर देती है.

वो लड़का भी अपनी मां की चूत और गांड को देख कर जोर जोर से अपने लंड को रगड़ रहा था. एक्स एक्स एक्स बीपी मूवीअभी मैं सम्भलती कि उसने एक जोरदार झटका दे मारा और एक ही झटके में मेरे भाई के लंड ने मेरी बच्चेदानी की पप्पी ले ली.

और जब तक मैं सम्भलती, उसने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी चूत के आर पार कर दिया.सुहागरात का सेक्स बीएफ: मेरी ओर इशारा करके वे जावेद से बोले- जावेद, इनका मेरे ऊपर बड़ा अहसान है.

मैं अपने दोस्त की बीवी की चुदाई करने के लिए उसे वहां से लेकर निकल गया.उसने अपने कपड़े पहने और मैं अपने सारे कपड़ों को उठा कर नंगा ही सीढ़ियों से ऊपर अपने रूम में चला गया.

ट्रिपल एक्स बीपी हिंदी - सुहागरात का सेक्स बीएफ

कुछ देर बाद सोच कर उल्टा मुझे धमकाते हुए बोली- नहीं मुझे तुम्हारी जरूरत नहीं है.मुझे सिर्फ चैक करना था कि काम ठीक हुआ है कि नहीं और कुछ अधूरा लगे, तो मुझे उसके जिम्मेदार व्यक्ति को आदेशित करना था.

कम से कम तुम अपनी मां को वहशी जानवर की तरह तो नहीं चोदोगे, है न बेटा?मैं- हां मां, मैं सोच रहा हूं कि तुम मेरे मुंह पर अपनी गांड लगा कर मसल रही हो. सुहागरात का सेक्स बीएफ और फिर यार, शहर से क्या मतलब … बस कहानी आप लोगों तक पहुँचनी चाहिए।बहुत समय के बाद मैं फिर से एक कहानी लेकर आया हूँ इसके बहुत से कारण है पहला कारण कि मैं काफी व्यस्त हो गया था दूसरा कारण कि आप लोगों ने मेल करके कोई फीडबैक नहीं दिया.

करीब दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मेरा भी होने वाला था … सो उसको पीठ के बल लिटा कर मैं उस पर छा गया.

सुहागरात का सेक्स बीएफ?

मेरी कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी का गर्भाधान कियाअभी तक आपने पढ़ा कि भाभी को बाबा का आशीर्वाद दिलाने के मामले में जब मैं फंस गया, तो मैंने उन्हें सारी बात साफ़ बता दी और भाभी ने भी मुस्कुरा कर मुझसे चुदना स्वीकार कर लिया. फिर उन्होंने मुझे बैठा कर खुद ही मेरी स्कर्ट और टॉप को निकाल दिया और मेरे बड़े बड़े मम्मों को हाथों से मसलने लगी. वेज, नॉनवेज कुछ भी हो, इतना लज़ीज़ खाना पकाते हैं कि अगर आप खाओगे, तो उंगलियां चाटने पर मजबूर हो जाओ.

राजेश ने उससे कहा कि अगर उसे अपने लिए कुछ भी लेना हो तो वह उसके खाते में लिखवा कर ले ले. मेरा लंड अकड़ और तनाव में दर्द करने लगा, तो मैंने नेहा को थोड़ी देर के लिए खुद से अलग किया और खुद बाथटब के किनारे पर, जहां पहले नेहा बैठी थी, जाकर बैठ गया. सरोज की मम्मी बोली- मैं तो समझी थी तुम कोई बच्चे जैसे होंगे? तुम तो पूरे नौजवान हो, बिल्कुल खिलाड़ियों जैसा बदन है तुम्हारा, जिम जाते हो क्या?मैं- नहीं आँटी, बस मेरा शरीर ही ऐसा है, जब भी मौका मिलता है तो कभी स्टेडियम में थोड़ी एक्सरसाइज या रेस वगैरह लगा लेता हूँ.

इस तरह से अपनी पड़ोसन को गर्लफ्रेंड बना कर मैंने चुदाई के खूब मजे लिये और मैं लड़कियों की चूत चुदाई का आदी हो गया. वहां पर मुझे एक से बढ़कर एक सुंदर और दिलकश वेबकैम मॉडल्स की फोटो दिखाई दीं. फिर मैं उठकर वॉशरूम गया और मुँह हाथ धोकर बाहर आया, तो देखा कि उसने अपने कपड़े पहन लिए थे.

शांति की चुदाई के दौरान उसकी चूचियों से खेलते हुए मैंने उसके निप्पल कचोटे तो चिंहुक गई. कोमल- पहली बार ऐसा ही होता है, वैसे तुम्हारी आवाज़ में कमरे में सुन रही थी.

मैंने फिर से पूछा- कोई चार्ज?वे मुस्करा कर बोले- चाचा को मेरा नमस्कार कह देना, कोई चार्ज नहीं.

एक तो वो अनुभवी होती हैं, दूसरी बात ये कि वो किसी तरह की कोई नखरा नहीं करती हैं … और भरपूर प्यार भी देती हैं.

और कुंवारी चूत! इसके तो क्या कहने!!!जब देखा कि रानी शांत होने लगी है, तो मैंने उसको घुमाकर सीधा किया ताकि उसका मुंह मेरी तरफ हो जाए. अब हमारे केवल होंठ ही नहीं, पूरे बदन एक दूसरे से रगड़ सुख पा रहे थे. बस इसके बाद भार्गव ने कार इतनी तेज भगाई कि उसने जल्दी जल्दी में ऊबड़- खाबड़ वाला रास्ता पकड़ लिया.

एक दिन बुआ फ़ोन पर बातें करते हुए कहा- मां स्वस्थ होंगी तो रीना को पहुंचा देना।पराई बेटी को आखिर कितने दिन … एक दिन भारी मन से वापस अपने घर जाने के लिए तैयार दीदी एक नवेली दुल्हन की तरह मेरे लौड़े में आग लगा रही थी. शायद भैया मुझे नहीं देख पाये थे क्योंकि भैया का ध्यान तो मालिश करने में था।भैया को देखकर ही मैंने अपने लंड की मालिश करना शुरू कर दिया. कुछ दिन के बाद फिर ऐसा ही खुला मौका मिला तो मैंने उसकी कुंवारी गांड की चुदाई भी कर डाली.

पर राजेश ने महसूस किया कि दूसरे कमरे से परदे के पीछे से वो मूवी ही देख रही थी.

मैंने सरोज के टॉप को बाहर निकाल दिया और उसकी स्कर्ट के इलास्टिक में उंगलियां देकर नीचे खींच दिया. मैं अपनी जीभ से उसकी रसीली चूत का रस अच्छे से चाट रहा था। थोड़ी देर चाटने के बाद उसने जबरदस्ती अपने हाथों से मेरा मुंह अपनी चूत से अलग कर दिया. मैं- यार, मेरा हो ही नहीं रहा है … मैं क्या करूं?तब नेहा ने मुझे रोका और मुझे टब से बाहर निकाल कर किनारे में बैठ जाने को कहा.

क्यों, मुझे क्या हुआ? मैंने पूछाअगर रात में आपके पेट में फिर से दर्द हुआ तो दवाई काम आएगी ना! साली जी बोलीं. उन्होंने दूसरा धक्का दिया, तो पूरा लौड़ा सरसराता हुआ अन्दर घुसता चला गया. फिर मैंने एक गिलास में वोडका निकाल कर उसे चूमते हुए गिलास उसके होंठों से लगाया.

प्रीति दर्द के मारे चिल्लाने लगी क्योंकि वो मेरे रॉकेट के एकदम होने वाले हमले से अनजान थी.

मेरी इस जवान सौतेली मां की चुदाई कहानी के पिछले भागजवान सौतेली मां की चूत चुदाई की लालसा-4में आपने पढ़ा था कि मैं अपनी मां को चोद चुका था और उनके साथ बिंदास मस्त जीवन बिताने लगा था. तुझे चोदने के लिए उकसा रही है; इसकी चूत भी पक्का गीली हो चुकी होगी और लंड मांग रही होगी.

सुहागरात का सेक्स बीएफ अब तक मुझे भी उन दोनों ने पूरा नंगा कर लिया था और बेड पर लिटा लिया था. चुदासी हो चुकी भाभी ने एक काला डॉटेड डिल्डो निकाल लिया और उसे अपनी चूत में देने लगी.

सुहागरात का सेक्स बीएफ गीत इससे मचल गयी और मज़े से छटपटाने लगी और कहने लगी- ओह … उफ्फ्फ … यहीं पर पिघला दोगे क्या? ऊंह्ह … सी … सी … आह्ह … उफ्फ!मैंने कुछ देर उसकी चूत को चूसने के बाद उसकी चूत को छोड़ा और एक बार अपने हाथों से उसके जिस्म को मसलने लगा. अब इस उम्र में जवान लड़कियों को चोदना आसान बात नहीं, उनमें दम ही कहाँ बचा होगा अब?रिया की इस बात का रमेश पर उल्टा असर गया.

तो चलिए शुरू करते हैं।दोस्तो, मैंने भाभी की सुहागरात की चुदाई लाइव देखी थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो घचाघच

उसकी खूबसूरती का गुणगान करने के लिए मेरे पास शब्द और स्थान दोनों की ही कमी है. मेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली. अपनी बीवी के बूब्स को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए वो बोला- क्या कर रही हो जानू?रति- आप भी ना! कभी-कभी आप बिल्कुल बुद्धू जैसी बातें करते हैं, देख नहीं रहें हैं कि मैं अपना काम कर रही हूँ?रमेश- चलो ना डार्लिंग, एक बार हो जाए।रति- छी: जब देखो तब शुरू हो जाते हो.

उसकी टीशर्ट के अंदर उसकी गोल गोल चूचियां हिलती हुई आगे पीछे हो रही थी. बीच बीच में मैं उसके मम्मों को भी दबा देता था जिससे प्रीति की सिसकारियां निकल जाती थीं. उसके नंगे बदन से लिपट कर मैंने होंठ से होंठ मिला कर चुंबनों की झड़ी लगा दी.

तो ले मेरी बुलबुल अब देख इस लंड का कमाल!” मैंने कहा और फिर निष्ठा की गांड में बलपूर्वक स्पीड से धक्के मारने लगा.

उस दिन के बाद हम दोनों जीजा साली सेक्स की गाड़ी चल निकली। हमें उस दिन जैसा खुला मौका तो दोबारा काफी टाइम तक नहीं मिला लेकिन हफ्ते में चार दिन तो किसी तरह मैं उसे चोद ही देता था. मेरी गांड भी खूब भरी हुई और मोटी है।यह अन्तर्वासना हिंदी स्टोरी तब की है जब 2 साल ही पहले मेरे पति का देहांत हो गया था। मेरी कम उमर में शादी हुई थी।मेरे पति के जाने के बाद मुझे कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा; ये मेरी आपबीती में पढ़ें अब विस्तार से।दो साल पहले जब मेरे पति का देहांत हुआ तब मेरे पास कुछ भी नहीं था. अब हमारे केवल होंठ ही नहीं, पूरे बदन एक दूसरे से रगड़ सुख पा रहे थे.

कोई दो मिनट बाद जिया दर्द के मारे मुझे गाली देते हुए मुझसे स्लो चोदने की रिक्वेस्ट कर रही थी. सरोज भाभी मेरे बालों में हाथ फिराने लगी तो मैंने पूछा- दिल कर रहा है?वो बोली- दिल तो कर रहा है लेकिन अभी रेड लाइट जली हुई है. निष्ठा की चूत की मजबूत ग्रिप, उसकी पकड़ और चूत के स्पंदनों को मैं अपने लंड पर महसूस करता हुआ उसके बूब्स में मुंह छिपाए लेटा रहा.

मैं जितना उसके बदन का सिप लेता, तो वो गांड उठा कर उतनी मदहोश होके ‘म्ह्न्न न्न्न्न …’ की आवाज के साथ मेरा साथ देती. रानी के मुंह पर एक मुस्कान सी दीखने लगी और बुर में फिर से रस बहने लगा जिससे लंड को भी मज़ा आने लगा.

मगर अगले ही पल वो मुड़ी और बोली- दारू पियोगे?इससे मैंने कभी नहीं पी थी. शुरू में उसने डिल्डो को हल्के से प्रेस किया और फिर धीर धीरे उसने दबाव बढ़ा दिया. और लंड चूसने की आवाजें बाहर आने लगीं- उम्म … चप … चप … आह्ह … ऊंम्म … अह्ह … मच … मच … करते हुए वो लंड को पूरे से मजे से चूसने लगी.

दरवाजा खोलकर दोनों ने ही पहले मुझे बैठने को कहा- मतलब मैं चाहे जिधर से भी बैठूं, बैठना तो मुझे बीच में ही था.

नहा कर लौटा तो देखा निष्ठा भी जाग चुकी थी और मेरे बेड की बेडशीट चेंज कर रही थी. तभी मुझे पकड़ कर चोद देता।मैंने कहा- अगर ऐसा था तो मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से बाहर निकाल कर चूसने बैठ जाती. जब सीत्कारें बाहर शीला के कान में आयीं तो वो दरवाजे में कोई छेद ढूँढने लगी अंदर झाँकने के लिए.

मैंने इस सेक्सी इंडियन लड़के के लंड को हाथ में ले लिया और उसको खींचने लगी. नैन्सी की ये शिकायत रहती ही कि वो आग तो लगा देते हैं हैं पर बुझा नहीं पाते.

हॉट बेडरूम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे पड़ोसन भाभी बहाने से मुझे अपने बेडरूम में ले गयी. इससे ज्यादा भी कुछ सुनना है क्या?मैंने कहा- जान तुम न भी कहतीं, तो भी मैं तुमको चोदे बिना नहीं रहने वाला था. इस तरह मैंने अपने दोस्त की बीवी और भाभी की चुदाई का मजा ले लिया था.

बूढ़ी औरत का सेक्सी फिल्म

मैं एक नितम्ब दबा भी रहा था, सहला भी रहा था और दूसरा वाला चूतड़ चूस रहा था.

तभी वो आता दिखाई दिया और उसके हाथ में एक कंबल था।मैंने मुस्कुराते हुए पूछा- ये कहाँ से ले आए इस मौसम में? इतनी ठंड नहीं है।उसने बोला- इवैंट मैनेजर से बोल के लेके आया हूँ. चूंकि मैं तो चुदाई करने ही गया था और था भी मेरा पहली बार, इसलिए उत्तेजना का तो कोई ठिकाना ही नहीं था. अलग से आलीशान फ्लैट दे दूंगी, साथ में घर में काम करने वाली नई नई लड़कियां जब में नहीं होऊं, उस समय उनके साथ मजा करना.

आज मैं चाहता हूं कि तुम मेरी अकाउंटेंट बनो जो अपने मैनेजर के साथ सेक्स करती है. आंखें बंद करके मम्मी कहे जा रही थीं- आह … कितना कड़क और गर्म लोहे जैसा लंड है तेरा हर्षद … सच में मैं मर गई रे. एक्स एक्स मूवी पिक्चरमैंने लंड को उनके मुँह से लगाया, तो भाभी जी भी मेरा लंड चूसने लगीं.

पर जवाब के बदले कुछ देर बाद उसका कॉल आ गया, मैंने उसका नम्बर सेव कर रखा था. कोई जुर्म तो नहीं कर रहे जिसका पता पुलिस को कैमरा फुटेज देखकर लगेगा जब तेरी शक्ल दिख जायगी.

वो एकदम गर्म हो चुकी थी।मैंने फिर से गिलास में पैग बना कर फिर से उसके होंठों से लगाया. उसने नैन्सी को छोड़ना चाहा तो नैन्सी ने उसे छोड़ा ही नहीं … बल्कि अब वो आकाश को नीचे करके उसके ऊपर चढ़ गयी. उसने मेरी कमर ज़ोर से पकड़ ली।मैं उसके होंठ चूस कर बोला- बस थोड़ा सा रह गया है मेरी जान, बस एक बार और!नहीं कपिल नहीं, उसने मेरा चेहरा दोनो हाथों में लेकर होंठ चूम लिये, मत रुलाओ अपनी रितु को, तरस खाओ, सच मैं बहुत दर्द है उफ़्फ़।बस मेरी गुड़िया देख, बस दो इंच लण्ड बचा है.

प्रीति है ना?”कौन प्रीति?”ओहो … आपको बताया तो था? वो मेरी भाभी की छोटी बहन है ना?” उसने मेरे इस भुलक्कड़ और अनाड़ीपन पर थोड़ा चेहरा सा बनाते हुए कहा।ओह … हाँ तुमने बताया था जिसके सके कई सारे बॉयफ्रेंड हैं? … वही ना?” मैंने बॉय फ्रेंड वाली बात पर ज्यादा ही जोर दिया था।हओ. करीब दस मिनट बाद नैना जोर से चिल्लाती हुई फिर से झड़ गई, झड़ कर शांत हो गई. अब आप सोओगी कैसे?रिंकी- मैं तुम्हारे अंकल के बदन की गर्मी ले लेती हूं और वो मेरी गर्मी ले लेते हैं.

’मैंने भी सूखा लंड बाहर से सूखी और अन्दर से गीली चूत में उतार दिया.

नेहा से वार्तालाप का मेरा बहुत मन था, पर मैंने उसे शांति से लेटे रहने दिया. रिंकी अब बेड पर दूसरी करवट लेकर लेट गयी और उसने सेक्स डॉल को अपनी पीठ से चिपका लिया जैसे उस डॉल ने रिंकी को पीछे से अपनी बांहों में ले लिया हो.

लेकिन कोच फुल स्पीड से मेरी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर कर रहे थे. वानी- सर, इससे पहले की बात आगे बढ़े मेरे पास हम दोनों के लिए एक सॉल्यूशन है. पसरते हुए मैंने उन्हें उनकी जांघों से पकड़ा और चूतड़ों पर थाप मार मार कर अपना सारा माल उनकी चूत में भर दिया.

दोपहर के खाने के बाद आंटी एक नींद की झपकी जरूर लेती थी और इसी वक्त मैं घर के बाहर आकर अपना टाइम पास किया करता था. मेरी जिन्दगी में हुई ऐसी बहुत सी कामुक घटनाएं जो मैं अपनी इन कहानियों के माध्यम से बताऊंगी. मैं घबरा गया और मैंने एकदम से अपने हाथों से अपने लौड़े को छुपा लिया.

सुहागरात का सेक्स बीएफ अब मैंने उसके चूतड़ पकड़े और उसे थोड़ी रफ़्तार के साथ चोदना शुरू कर दिया. तुषार उसके साथ आगे बैठ गया और रुमित जल्दी जल्दी मेरे पास पीछे आकर बैठ गया.

सेक्सी फोटो चूत में

मैंने जल्दी जल्दी से उसके कपड़े उतारने शुरू कर दिये और उसको एक मिनट के अंदर ब्रा और पैंटी में कर दिया. मैं- ये बुजदिल कौन है?विक्की- मैं ही वो नीच बुजदिल हूं जिसको एक आज्ञाकारी दास की तरह सिमरन मैडम की सेवा करनी चाहिए. अरे यार तुम भी ना, देखो निष्ठा ये तुम्हारे मतलब की बात नहीं है, ये प्राइवेट बात होती है.

कुछ ही देर में मामी चरम पर आ गईं और मेरे लंड पर झड़ कर मेरे सीने पर ही गिर गईं. मैं अपनी चूत में एक गर्म सख्त मांस का टुकड़ा फंसा हुआ महसूस कर रही थी और बहुत आनंदित हो रही थी. ब्लू पिक्चर सेक्सी गुजरातीजब भी हम किसी से सेक्स करें, तो अपने गुप्तागों की अच्छे से धुलाई जरूरी है.

सबसे पहले मेरी नींद खुली तो देखा कि मीता आधी मेरे ऊपर लेटी नग्नावस्था में सो रही थी.

मैं हाथ बढ़ा कर टॉवल नीरजा को देने लगा, जिसके लिए नीरजा ने हल्का सा दरवाजा खोला. मुकेश अक्सर अपनी वाइफ निशा के साथ छिंदवाड़ा टूर पर आता और मेरे पास छोड़ कर मेरी बाइक से वर्किग पर निकल जाता.

मैंने कहा- फिर बाद में शिकायत ना करना कि मैंने तुम्हारी प्रशंसा नहीं की. मैं तेजी से चूत के दाने को चाटने लगा। मैं जानता था कि किसी भी पल मुझे अब वो मीठा अमृत मिलने वाला है जिसके लिए मैं इतना तरस गया था. तभी मेरे भाई ने मेरी गांड पर लंड टिकाया और मैं जब तक कुछ बोलती, इससे पहले उसने जोरदार झटका दे मारा.

मैं खुद कपड़े वाला हूँ मैंने अपने लिए कपड़े ले लिए हैं, तुम मेरे लिए कपड़ो पे पैसा खर्च मत करो.

मैंने कमर को थोड़ा झटका दे कर लंड को चूत के अन्तिम भाग तक पहुंचा दिया. मैंने कहा- क्यूं भाभी, ऐसा क्यों बोल रही हो?भाभी ने इस बात का कुछ जवाब नहीं दिया. आहह … थैंक्स सुहानी … आहह।मैं भी अब उसके जोरदार धक्कों से हिलते हुए आगे पीछे होने लगी और ज़ोर ज़ोर से आहह … आहह … स्सी … आई … आहह … करने लगी।ऐसे ही वो लगातार 6-7 मिनट तक धक्के मारता रहा.

xxx www वीडियोरमेश- तो तू नहीं मानेगा?रवि- सवाल ही पैदा नहीं होता।रमेश हार कर बोला- ठीक है, तो फिर मैं ही जा रहा हूं. फिर उस किताब के बहाने से मैंने उसको कैसे पटाया?दोस्तो! मेरा नाम हिमांशु है.

हिंदी हिंदी वीडियो सेक्सी फिल्म

मांग में सिंदूर छोटा सा ही था, पर वो रंगी हुई मांग प्रतिभा के शादीशुदा होने का परिचय दे रही थी. ओरल इंडियन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे अन्तर्वासना से एक लड़की मेरी दोस्त बनी. कुछ काम है आपको?रिंकी- इस खराब मौसम में तुम बाहर मटरगश्ती मत करो, ठंड लग जायेगी.

भाभी जोर जोर से आवाज करने लगीं- आहहह जान … कितना मस्त चूसते हो … आह और जोर से चूसो मेरी जान … उम्मम और जोर से. साथ ही मैं अपनी एक उंगली उसकी गर्म चूत के अन्दर बाहर भी करने लगा था. वो धीमे धीमे से कामुक सिसकारियां भरते हुए मेरे कान में अपनी गर्म सांसें निकाल रही थीं.

मैं बोली- साले तू तो बहनचोद था ही … और अब अपनी बहन को दूसरों से चुदते भी देखना चाहता है. मुझे अपनी चुत में राहत सी मिलनी लगी और मैं मस्ती से जवानी की चुदाई का मजा लेने लगी. मेरी पिछली हिन्दी सेक्स कहानीनई भाभी की सुहागरात मेरे साथआपने दो भागों में पढ़ी.

सुनो, तुम मेरी कमर और जांघों को दर्द निवारक बाम से मसाज कर सकते हो क्या?मैं- हां जरूर, मैं आपकी ऐसी मसाज करूंगा कि आप आज रात को भी सिसकारने के लिए मजबूर हो जाओगी. फिर पैंटी वाले हिस्से को छोड़ कर उसकी नाभि से लेकर चूचों तक भर दिया.

ऐसा पीजी में सब कहते हैं कि कॉलेज लाइफ में उसके कई लड़कियों से सम्बन्ध थे.

मैंने उसके चूतड़ों को अपने हाथों में पकड़ा और उसकी चुचियों को जोर जोर से चूसने लगा. सनी लियोन सेक्स मूवीमैं शिवानी के रूम में गया और उसको नंगी करके भाभी की चूत पर टूट पड़ा. রেন্ডি চুদাইमैं आपको बता दूं कि मैं घर में अकेली ही रहती हूं क्योंकि मेरे पति का काम ऐसा है कि वो कई बार महीनों तक बाहर ही रहते हैं. उसके रूम का दृश्य सुहागरात के जैसा बना हुआ था, मगर मैं उसको अपनी मां के रूप में देखना चाह रहा था.

अपने लंड को हिलाते हुए उसने लड़की के होंठों पर एक दो बार रगड़ा और फिर उसका मुंह खुलवाकर लंड अंदर दे दिया.

गीत सिसकारते हुए झड़ती ही जा रही थी और बोल रही थी- उफ्फ्फ्फ़… आआह्ह्ह्ह… सीसी … सी … सीई … चो. यह जब भी किसी को चोदता है तब उसकी ब्रा और पैंटी को अपने पास रख लेता है. शीला ने चाय नाश्ता मेज पर रखा और बोली- कुछ पहन लीजिये, सर्दी लग जायेगी.

तो मालिकन ने मुझे उसका ध्यान रखने को बोला और दो बजे वो सब चले गये।अब मैंने मालकिन की दी हुए एकदम सेक्सी सी नाईटी पहन लिया. जब मेरा वीर्य निकलने वाला था, तो तुरंत ही भाभी ने लंड को अपनी चुत में ले लिया. और तीसरा सबसे बड़ा कारण यह है कि जो मेरी पुरानी वाली जीमेल आईडी थी उसमें कुछ समस्या आ गयी थी जिससे वो खुली नहीं और मुझे निराश होकर दूसरी जीमेल आईडी बनानी पड़ी.

ब्लूटूथ सेक्सी पिक्चर ब्लूटूथ

मैंने बोला- पहले मैं सोच रहा था कि आपको योग बता दूं, फिर जो भी आप पिलाओगी, मैं पी लूंगा. पर वो बोली- जीजा जी, आपको शायद मालूम नहीं है … जब तक पहली बार मैं एक बार आपका वीर्य नहीं पी लेती, तब तक मुझे आगे खेल करने में मजा नहीं आता. ” कहकर सानिया मंद-मंद मुस्कुराने लगी थी।इसका मतलब तुम मेरी जलन को बिल्कुल ठीक नहीं करगी?”अले नहीं मैंने ऐसा थोड़े ही बोला है.

और फिर झड़ने के करीब भी पहुँच गये।मेरे पूरे जिस्म में आनंद ही आनंद भर गया.

मैं सोचकर हैरान रह गया कि भाभी बिन्दू को अभी तक छोटी ही समझ रही थी.

करीब बीस मिनट की कड़ी चुदाई के बाद मेरा लंड झड़ने को होने लगा, तो मैंने रफ्तार तेज कर दी और जोर जोर से उसके चुचे भींचते हुए और निप्पलों को मींजते हुए उसकी चुत में तेज धार के साथ झड़ने लगा. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की बिना धुली हुई पैंटी उठा ली और उसकी चूत की खुशबू लेते हुए लंड को मसलने लगा. मद्रासी बीपी सेक्सउसने मेरे गालों पर पप्पी ली और कहा- हैंडसम लग रहे हो … हमेशा की तरह.

अपनी बात खत्म करते हुए सुरेश ने कुछ मेडिकल पेपर वैभव को दिखाए, जो कि उन लड़कियों के थे. उसके मेहंदी रचे गोरे गोरे हाथों की नाजुक हथेली में मेरा गहरा काला लंड बड़ा ही मनमोहक लग रहा था मुझे!लंड और उसकी हथेलियों का परफेक्ट कलर कॉम्बिनेशन था. उसकी उम्र बयालीस साल की थी मगर वो पैंतीस साल से ज्यादा की नहीं लगती थी.

उसने स्लीवलेस डीप नेक ब्लाऊज के साथ डार्क स्लेटी रंग की मंहगी चमकिली साड़ी पहन रखी थी. मगर मुझे वहां ऐसा कोई दिख ही नहीं रहा था जिसके साथ मैं मज़े कर सकूँ.

मैं उसे भावनात्मक रूप से पिघला रहा था कि वो मुझे सेक्स का मजा दे दे.

नेहा बोली- थोड़ा सब्र करो, मौका आने दो, मैं कहीं भागी जा रही हूँ क्या?वो बाहर निकल गई. अब तक की इस दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी के पहले भागइंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई का मौका-1में आपने पढ़ा था कि मेरे दोस्त की हसीन बीवी और मैं डांस कर रहे थे और इसी बीच हम दोनों के बीच चुम्बन का दौर शुरू हो गया. खुद को स्वरा के करीब लाकर मैंने अपना लण्ड स्वरा के चेहरे के सामने किया और उसके मुंह में दे दिया.

देहाती सेक्सी चुदाई वीडियो मैंने उसकी ओर देखा तो वो मुझे गहरी नज़रों से देख रही थीकुछ नहीं निष्ठा बस ऐसे ही मन कहीं भटक रहा था. भाभी मुझसे तरह तरह के सवाल करती रहीं और मैं खुल कर उनको अपनी चुदाई की कहानी के बारे में बताता रहा.

पर हमारी शानदार जानदार चुदाई को नेहा की प्यासी जवानी ज्यादा देर तक बर्दाश्त नहीं कर सकी. उसको मज़ा आने लगा, उसने दोनों हाथों से मुझे छोड़ कर चादर पकड़ ली और हाथों की मुट्ठी से कस ली. साथ ही भाभी जहाँ उल्टी लेटी थी वहां से बेड की चादर बड़ी जगह से गीली हो गई थी.

जोधपुर राजस्थानी सेक्सी वीडियो

मुकेश ने बताया कि उसके मम्मी पापा अब दादा दादी बनने का सपना देख रहे हैं. मैं रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था, एक तो ऐसी गोरी चिकनी लड़की, फिर वह लंड की भूखी हो, तो रुकना कौन चाहेगा. फिर मेरी फ्लाइट थी, तो मैं उनका पुणे का नंबर और एड्रेस लेकर दिल्ली के लिए चल दिया.

वो कुछ ही धक्कों में फिर से चार्ज हो गई और हम दोनों मूड के फिर से चरम सीमा पर पहुंच गए थे. वह मदमस्त होकर मेरे लंड का मज़ा ले रही थी। अब वो लंड को पूरा मुंह में लेकर मज़े से चूसने लगी थी। उसकी हर हरकत में एक कामुक प्रेयसी सा प्यार महसूस हो रहा था.

एक बार तो मैंने माथा पटका मगर फिर अगले ही पल सोचा कि अगर अंजू को बुरा लगा होता तो वो ऐसे नहीं मुस्कराती.

भाभी ने मेरे पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड मुँह में ले लिया और लंड चूसने में लग गईं. भाभी जी बोलीं- बातों से क्या ठंडा होना यार!तो मैंने लिख दिया- एक बार फोन पर बात तो करो. उन दोनों ने मुझे जोर से भींचा हुआ है और मुझे बीच में लेकर चोदा हुआ है, बारी बारी से दोनों ने मेरी चूत और गांड दोनों को ही चोदा हुआ है.

अन्दर से कुछ इस तरह की आवाज़ आ रही थी ‘सी … सी … उममह … धीरे करो … सीईई … उईई … फक मी … आहह … आआह … प्लीज चोदो’मैं सुन रहा था. तभी नेहा बोली- उसके लिए हम दोनों ही काफी हैं, गोरी की जरूरत नहीं है. अब रुमित ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मैंने जो चनिया चोली का ब्लाउज पहना था, उसकी गांठ छोड़ दी.

ऊपर प्रिंसीपल सर उन लोगों से बात कर रहे थे और नीचे मैं बैठ कर उनका लंड चूस रही थी.

सुहागरात का सेक्स बीएफ: उसके कुर्ते में से अन्दर पहिनी हुई ब्रा की उपस्थिति भी स्पष्ट दिख रही थी. जो पांचवें नम्बर में सिर्फ गाल को चूम कर चली गई, मुझको उसका चुंबन सबसे अच्छा लगा.

अब मेरे हाथ उसकी पैंटी की ओर चले तो उसके हाथ मेरी कमर पर मेरे अंडरवियर की ओर बढ़े. नेहा मुस्कुराती हुई टब में प्रवेश कर गई और मेरे पीछे आकर टब के किनारे पर बैठ गई. मेरा लंड तो तुम्हारे लिए पहले से ही तैयार है, अब तुम खुद को इसके लिए तैयार कर लो.

काफी देर तक कोशिश करने के बावजूद जब परम अपना लण्ड मेरी गांड में नहीं डाल पाये तो झल्लाकर बोले- तुम्हारी सब सहेलियां मादरचोद हैं, तुमको उल्टा सीधा पढ़ाती हैं.

इसलिए मन की हसरतों को मारकर मैंने खुद को आपसे दूर रखने की पूरी कोशिश की … पर हो ना सका. मैंने भाभी से पूछा- कल तो मैं ऊपर अपने कमरे में सोऊंगा, तो कल कैसे होगा?भाभी- देखते हैं, मैं कोई न कोई रास्ता जरूर निकाल लूंगी, तुम चिंता मत करो. लौड़ा पूरा चूत में पेल के मैंने रानी को दीवार से सटा कर दबा के चोदा.