करीना कपूर की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,वीडियो साली की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

पल पल दिल के पास मूवी: करीना कपूर की सेक्सी बीएफ, कुछ देर बाद रेवती खाना लेकर आ गई और मुझे अपने हाथों से खाना खिलाने लगी.

बायको झवली

उसके कॉलेज पढ़ने के सालों में हमारा प्यार धीरे धीरे लेकिन बहुत मजबूती से परवान चढ़ा और दिन ब दिन साल दर साल हमारे रिश्ते में जो गर्मियां बढ़ी तो उन्होंने हर किनारे हर मर्यादा और हर बांध को तोड़ दिया. न्यू देसी एक्स एक्स एक्समगर तभी मेरी नज़र खिड़की पर पड़ी और हमें अपनी चुदाई बीच में ही छोड़नी पड़ी.

इसलिए उससे रोक भी नहीं पाई। वो चूत खुजाता रहा और मेरी चूत पानी निकालती रही. डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स एक्स हिंदी मेंमेरी हया और हालत इस बात की चीख-चीख कर गवाही दे रही थी कि मैं चुदने आई हूँ।तभी उसने मुझसे कहा- तुम इस हाल में उस कमरे में क्या करने जा रही थीं?मैं हकलाते हुए बोली- कुछ नहीं.

क्यों चिल्ला रही है?आप इस मस्त सेक्स कहानी पर अपने ईमेल भेज सकते हैं.करीना कपूर की सेक्सी बीएफ: लण्ड को तेल लगा कर खड़ा रखा और उसके आने का वेट करने लगा।ठीक 11 बजे का टाइम दिया था.

जिग्नेश और दिपेन के लंड मुझसे काफ़ी छोटे थे और वो सब मेरे लंड को छूने को हमेशा तैयार रहते थे।आलोक हम तीनों से एक साल आगे था और उसने लंड को मुँह में लेने के बारे में सुना था। हालांकि हम में से कोई भी ‘गे’ गांडू नहीं था.मैंने मौका देखकर अपने बॉयफ्रेंड से एक दो बार होटल में जाकर चुदाई भी करवा ली थी.

बीएफ पिक्चर वीडियो में दिखाएं - करीना कपूर की सेक्सी बीएफ

इस वक्त तक फन्नी वीडियो बंद हो चुकी थीं और अब आगे की वीडियो प्ले हो रही थीं.जिससे मुझे भी राहत हुई, नहीं तो मेरा भांडा फूट जाता।अनु बहुत देर तक मेरा लंड देखती रही और करीब 15 मिनट बाद उसने मेरे लंड पर अपना हाथ रखा.

मेरी बुआ जी की स्माइल इतनी सुंदर है कि जब वो हंसती थीं, तो मेरा मन करता था कि उनके होंठों में अपने होंठों को लगा कर चूसना शुरू कर दूँ. करीना कपूर की सेक्सी बीएफ यदि मंजूर हो तो आगे बात करेंगे।वो बोली- क्या?मैं बोला- ये बात किसी और के सामने नहीं आनी चाहिए और दूसरी तुम मुझे उस दौरान किसी बात के लिए रोकोगी नहीं।वो मान गई.

तो वो मेरे लंड को पकड़ कर बोलीं- इसको लण्ड बोलते हैं।जैसे ही उन्होंने मेरा लौड़ा पकड़ा.

करीना कपूर की सेक्सी बीएफ?

अब मैं भी उनसे चिपके-चिपके अपने बदन पर पानी डाल कर नहाने लगा।मेरी मॉम अब मेरे बदन पर साबुन लागते हुए मेरे सीने को मसल रही थीं. मैं तो आपके लिए यह सब कर रही थी कि आपको मेरी चुदाई का मन होगा।मैंने भी ज्यादा प्रेस नहीं किया. हम दोनों कांच के आगे खड़े होकर आपस में एक दूसरे को देखने लगे और मुस्कुरा उठे.

कुछ दिनों के बाद उन्होंने मुझसे फिर से संपर्क करने का प्रयास किया तो मैंने भी उत्तर दे दिया. तब मैंने शॉट मारना शुरू किए। वो चीखती चिल्लाती रही और मैं उसकी गाण्ड को बेरहमी से मारता रहा।अनु बोली- भैया चुदाई के वक़्त पता नहीं आपको क्या हो जाता है. एक तो अँधेरा और ट्रेन की आवाज़ से अब सब आसान हो गया था।फिर उसके मुँह से ‘आअहह.

उधर जीजू ने अपना लन्ड निकाल लिया, इधर रवि ने रवि का लौड़ा देख मैं पागल सी हो गई क्योंकि वो जीजू के लंड से भी बड़ा था. मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन. करीब 5 मिनट के बाद हम दोनों की चुदास जाग गई … तो मैंने उसकी सलवार उतार दी और पैन्टी भी निकाल दी.

मगर मेरी जवानी को पाने के लिए बहुत सारे लड़के मुझे पटाने को लगे रहते और मैं भी पति की बिना कितनी देर रह सकती थी. उफ़्फ़ … आआआह … रहने दो यार … न करो ये सब अब!” कहकर सिसकारी भरती हुई मीता मुझसे एक हाथ दूर जा कर खड़ी हो गयी.

फिर उसकी ब्रा को खोलने लगा। तभी मुझे एहसास हुआ कि उसके ऊपर टी-शर्ट भी पहन रखी है। फिर मैंने उसकी टी-शर्ट उतारी.

अब भैया अपने लंड को भाभी की चुत पर रगड़ने लगे, फिर उनका माल निकल गया.

मैंने ज़्यादा देर ना करते हुए एक धीरे से झटके से अपने लण्ड को उसकी चूत में सरका दिया। वो इतनी टाइट भी नहीं थी इसलिए आधा लण्ड आराम से चूत में चला गया। अब मैं लौड़े को आगे-पीछे करने लगा. लेकिन मैंने कभी उसको चोदने का सोचा नहीं था। बात करीब एक साल पहले की है. मयूरी- पर मैं करू क्या माँ… मुझे चुदाई की बहुत तीव्र ईक्षा होती है कभी-कभी!शीतल अभी भी मयूरी की विशाल और माखन जैसी मुलायम चूचियों की मालिश कर रही है- मैं समझ सकती हूँ… पर तुम्हें अपने मन पर काबू करना होगा… एक बार तुम्हारी पढ़ाई ख़त्म हो जाये फिर तुम्हारी किसी नौजवान लड़के से शादी करा देंगे… फिर जी भर के सेक्स करना… रोज़-रोज़ चुदवाना अपने पति से.

प्रिया बोली- ओके एक काम करो आप यहां क्या करोगे … आप भी मेरे साथ चलो. मैं उससे बोली कैसे तो नायर ने बोला कि जब मैं चाहूँ तुमको मेरे लण्ड के नीचे आना पड़ेगा. न मेरा कोई भाई है और न कोई बहन है।मैं जवान हो चुका हूँ और पढ़ता हूँ। उस दिन भी मैं नियमित रूप से कोचिंग गया था और जब घर आया तो देखा कि मामा जी घर आए थे.

पर दोनों के धक्के एक साथ नहीं लग पा रहे थे जिससे ठीक से बात नहीं बन पा रही थी।तो मैंने कहा- भाभी पहले आप उछल लो.

मैंने कहा- रांड साली … तूने उसके भी मजे ले लिए?वो बोली- मजे कहां लिए … उसके तो हाथ कांप रहे थे मेरी बगल के और चूत के बाल साफ करने में. थोड़ी देर के इस क्रिया के बाद माइक और मुनीर दोनों ही उठे और तारा को लिटा दिया. अब हम दोनों बहुत आगे बढ़ चुके थे, हमारे बीच अब ज्यादातर सेक्स की भी बातें ही होने लगी थीं.

मी समजून गेले, आज त्याचे मित्र माझ्या शरीराच्यावर हल्ला करणार आहेत. इससे मेरे दोनों बड़े बड़े चूतड़ दोनों तरफ फैल गए और मेरी चूत और गांड का छेद विकास के सामने आ गया. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, इसलिए मैंने बहन की सलवार का नाड़ा खोलने के लिए हाथ बढ़ाया और नाड़ा मिलते ही खोल दिया.

वहीं पर लटका दी थी। मैंने भी प्लान के हिसाब से उसकी पैन्टी को सूँघा और उसमें मुठ्ठ मार कर दूसरी जगह लटका दिया। फिर अपना रेड हाफ अंडरवियर धोकर वहीं छोड़ दिया।मैं देख रहा था कि अनु मुझे कुछ दूसरी नज़र से देख रही थी.

थोड़ी ही देर में उसे वो स्थिति भी दु:खदायी लगने लगी। मैंने अपने आगे की सीट का बैक. इसलिए मैंने खुद ही अपने चूतड़ों को थोड़ा ऊपर उठा कर अपनी चूत को दादा जी लंड के ऊपर सैट किया और फिर धीरे धीरे उनके लंड पर अपना वजन डाल कर बैठने लगी.

करीना कपूर की सेक्सी बीएफ गिलास रखा था। सामने हेंगर पर कुछ कपड़े टंगे थे जो चाचा के ही लग रहे थे।मैं पूरे कमरे का मुआयना करके वहाँ चाचा को ना पाकर मायूस होकर कमरे से बाहर आ गई। फिर ना चाहते हुए मैं भारी कदमों से अपनी छत की तरफ बढ़ी ही थी कि तभी पीछे से चाचा के पुकारने की आवाज आई- बहू यहाँ क्या कर रही हो. ’ अनीता दीदी के मुँह से एक हल्की सी चीख निकल गई।‘क्या तू सच कह रही है.

करीना कपूर की सेक्सी बीएफ खैर… मुझे लगा कि इनके साथ कोआपरेट करने में ही भलाई है; और मैंने अपने एक हाथ से सामने वाले के हाथ को पकड़ा और दूसरे से पीछे वाले के हाथ को… और उनके हाथों को अपने बदन पर गाइड करने लगा… इससे उनको समझ आ गया कि अगर हाथ की पकड़ हल्की रही तो मुझे मजा आएगा और मैं जल्दी तैयार हो जाऊँगा. मैं उसे देखते ही रह गया।उसने इशारे से कहा- अन्दर आ जाओ।मैं अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया और वो पानी लेकर आई.

वो अगली बार ही पोस्ट करूँगा।प्लीज़ मुझे ईमेल करें।[emailprotected].

लड़की और सूअर का सेक्सी वीडियो

’अब मैंने अपनी पोजीशन बदली और उसकी कुर्सी पर बैठ गया और उसे अपने लंड पर बैठने को कहा।वो जैसे ही लंड पर बैठी. जिसे देख कर सन्नी के मुँह में पानी आ गया।निधि बिहारी को देख कर एक तरफ़ हट गई. धीरे-धीरे सेक्सी बातें भी होने लगीं।उसने बताया- मैंने झूठ कहा था कि ब्वॉयफ्रेंड है।फ़िर हम दोनों ने कहीं अकेले मिलने का प्लान बनाया और पहुँच गए झांसी का किला.

उसे खोल दिया और उससे बोला- अब आप अपने पैर इस पर रख लो।उसने जब पैर रखे. वो बोला- साले रुक ना…मेरी यहां गांड फटी पड़ी है, तुझे जाने की लगी है। अगर उसने घरवालों को बता दिया तो?मैंने कहा- वो क्यूं बताएगी?वो बोला- तू कमरे में चल मैं आता हूं. वो बोली- रवि मैं मम्मी के कहने पर दूसरे मोहल्ले में सूट की सिलाई सीखने जाती हूं.

मैंने नहाना शुरू कर दिया था।स्वाति ने सोचा कि मैं सफ़र से आया हूँ इसलिए मुझे नहाने में वक्त लगेगा.

शीतल- दरवाजा खुला है… अंदर आ के रख जा…विक्रम ने बाथरूम का दरवाजा धीरे से खोला और अंदर गया. दिखने में मैं भी अच्छा लगता हूँ।मैं घर से बाहर रहता हूँ, मैंने किराये पर रहने के लिए फर्स्ट फ्लोर पर छोटा सा कमरा लिया हुआ था।कुछ समय बाद एक नए किराएदार आए जिन्होंने मेरे सामने खाली पड़ा कमरा किराये पर ले लिया। इनके दो बच्चे थे. वो मुझे यूँ देखते हुए देख कर मुस्कुरा रही थी।मैं उससे बात करने में डर रहा था क्योंकि पहली बार कोई लड़की पटाई थी और पहली बार ही मिलने गया था.

दस मिनट उसकी चुत को चूसने के बाद मैंने अपनी छोटी बहन की चुत में अपना लंड लगाया और एक ही झटके में पूरा लंड घुसा दिया. पर पिछले कुछ सालों से दिल्ली के आस-पास ही मस्ती कर रहा हूँ।मैं पिछले 7 सालों से अन्तर्वासना का पाठक हूँ. प्रिया की चूची का रस पान करते हुए मैंने भी अब अपनी तरफ से धक्के लगाने शुरू कर दिए, जिससे प्रिया की सिसकारियां अब किलकारियों में बदल गईं और उसकी‌ कमर‌ की‌ हरकत और भी तेज हो गयी.

उनके मुँह में मेरा हथियार और भी गर्म हो गया इसलिए मैंने देर न करते हुए उन्हें एक बार फिर से कुतिया बनाया और उनके पीछे आ गया. पूरा डाल दो।मैंने चूसना छोड़ दिया और अपना खड़ा लण्ड चूत के मुँह पर लगा दिया। एक ज़ोरदार धक्का मारा.

मेरी सभी कोशिश बेकार हुए जा रही थीं, क्योंकि अंकल मेरे सर के बाल पकड़ कर मुझे अपने लंड पर दबाए थे. और टॉप उतरते ही विक्रम की नजर उसकी गोल-गोल भारी-भारी चूचियों पर पड़ गयी. मैंने उनका मुँह बंद किया और जोर-जोर से धक्के मारने शुरू किए।मैं झड़ने वाला था.

रोहन सो रहा था तो उसने दरवाज़ा खोलने में जरा देर कर दी। रोहन के दरवाज़ा खोलते ही मैं कमरे के अंदर आई, तब तक रोहन भी वापिस बिस्तर पर लेट गया.

मैं छोटी आयु से ही सेक्स को लेकर उत्सुक था। हमारे आस-पास रहने वाले लड़कों में भी कुछ लड़के ऐसे ही रंगीन मिज़ाज के थे। कई बार हम एक-दूसरे का लंड पकड़ कर सहलाते थे और हिला देते थे।साथ होमवर्क करने के बहाने हम चार दोस्त एक कमरे में बंद हो कर बैठते और एक-दूसरे के लंड हो सहलाते थे। उसी वक्त से मुझे पता चल गया था कि मेरा लंड सबसे स्पेशल है।मुझे याद है मेरे दोस्त आलोक. पिंकी के जाने के बाद मैंने आराम किया मैं भी थक चुका था। मैं बिस्तर पर जाते ही सो गया. लेकिन तुम चाहो तो मैं मना नहीं करूँगा।उसने कहा- ठीक है आज तुम मेरी चूत को.

पुनीत ने लौड़े को गाण्ड पर टिकाया और प्यार से छेद पर लौड़ा रगड़ने लगा।पुनीत- अरे जान. उसके बाद मज़े ही मज़े हैं… तू खुद कहेगी कि रोज गाण्ड मरवाऊँगी।मैं- भाई, प्लीज़ आराम से डालना.

मयूरी उसके एकदम पास उसके बिस्तर पर खड़ी हो गयी, जिससे उसकी चूचियां ठीक विक्रम के चेहरे पर हों. फिर मामी ने अपने हाथ से मेरा लण्ड पकड़ा और अपनी चूत पर रख कर मुझे धक्का मारने को कहा।मैंने एक झटका मारा और 3 इंच लंड मामी की चूत में चला गया।िमामी के मुँह से चीख निकल गई- अहह. वह मेरी कराह देख कर काफी देर तक चूत में लण्ड डाले पड़ा रहा।मुझे ही कहना पड़ा- चोदो ना.

दिवाळी सेक्सी

’ की तेज आवाज करती हुई मेरी मुनिया मूत्र त्याग करने लगी।सूसू करने से मुझे काफी राहत मिली और फिर मैं फुव्वारा खोल कर नहाने लगी.

वो सिर्फ़ ब्रा और पैन्टी में थी।मैं उनके मम्मों को दबाने लगा, उन्होंने मुझे नंगा होने को कहा. बहुत ठंड थी। दोपहर का समय था उसकी बेटी अपनी मौसी के साथ उसके घर गई थी।भाभी घर पर अकेली ही थी. मैं भंडारा का रहने वाला हूँ जो नागपुर से करीब 60 किलोमीटर दूर है। मेरी उम्र 24 साल है और मैं अभी एक निजी कम्पनी में जॉब करता हूँ। मैं आपके साथ अपना अनुभव शेयर कर रहा हूँ.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… उनकी चुत से सारा पानी मेरे मुँह में आ गया था और मैं पी भी गया. मेरे मुंह में देते क्यों नहीं।” वह बिलबिलाती हुई चिल्लाई थी।मुंह में देना ही ठीक था. ਸੈਕਸ ਕਰਨ ਦੇ ਢੰਗवो मुस्कुराते हुए मेरी पीठ पे किस करते और आगे हाथ डालकर बूब्स को मसलते हुए बोले- आज फट जाने दो जान.

फिर करीब दस मिनट की लंड चुसाई के बाद रजत के लंड ने वीर्य छोड़ दिया तो शीतल उसके वीर्य को पी गयी और अपना मुँह पौंछ कर रजत की तरफ देखकर मुस्कुराई और कमरे से बाहर चली गयी. सुमेर भैया से तो मैं इतना नहीं मिल पाता था मगर उनकी पत्नी सुलेखा भाभी, उनके बच्चे नेहा, प्रिया व कुशल बहुत मिलनसार थे.

बस कल हम सब इस मिलन की अलबेली बेला की पूरी दास्तान के साथ मिलते हैं।अपने ईमेल मुझे जरूर भेजिएगा।[emailprotected]. चुपचाप अपनी गाण्ड मराने का मज़ा ले।मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया।‘अहह भाई पहले बहुत दर्द हुआ था. प्रिया को‌ पकड़ने के लिए मैं अब थोड़ा सा उठा ही था कि तभी अपने कमरे की खिड़की पर मुझे नेहा दिखाई दे गयी.

फिर मैंने बात की शुरूआत की- चलो बच गए झंझट से वरना चुदाई भी हो जाती हा हा हा हा. उस दिन दीदी की सहमति से उन्हीं के घर में मैंने जीजू को अपने जाल में फंसा अपनी जिस्म की भूख पूरी की. भाभी ने मुझे उससे पहली बार मिलवाया और बोलीं- पहली बार मिले हो तो आप दोनों बातें करो, मैं अभी आती हूँ.

मैंने पायल की तरफ देखा तो वो सिर्फ वीडियो में सनी लियोनि की चुदाई देखने में मस्त थी.

उसने कहा- भैया मैं अपने कपड़े उतार लूं?मैं खुश हो गया और कहा कि हां बिल्कुल. हम लोग कैसे लग रहे हैं?शीशे में मुझे नंगा और उसमें मेरा खड़ा हुआ लंड और अपने आप को पूरे कपड़े पहना देखकर पूजा पहले बहुत शरमाई, फिर हंसकर वो मुझे कसकर अपने बांहों में भींच कर मुझे चूमने लगी.

मूवी ख़त्म हो जाने के बाद भी हमें नींद नहीं आ रही थी, तो हमने सोचा कुछ बात ही कर लेते हैं. पर मैंने उन्हें नहीं छोड़ा और एक और जोर का धक्का दिया।मेरा लण्ड पूरा अन्दर पहुँच गया और वो छटपटाने लगी. चाची की चुदाई का ये सिलसिला आज भी कायम है, चाची मुझे पूरा संतुष्ट करती हैं.

लेकिन डर लग रहा था कि अगर मकान-मालिक को पता लग गया तो कमरा तो खाली करवाएगा ही. तो मेरी चाची अपने दरवाजे पर खड़ी थीं और मेरी दादी बाल्कनी में खड़ी थीं।चाची बिल्कुल साफ सुथरी खड़ी थीं। मतलब किसी ने उनको अभी तक बिल्कुल भी रंग नहीं लगाया था. लण्ड को प्यार करने लगी और तभी नीचे बैठ कर मेरा लण्ड मुँह में लेकर चूसने लगी ‘आहह.

करीना कपूर की सेक्सी बीएफ मैं अन्तर्वासना पर बहुत सारी सेक्स स्टोरी पढ़ चुका हूँ और आज भी नियमित रूप से सेक्स कहानी पढ़ने के लिए सबसे पहले अन्तर्वासना साईट को ही खोलता हूँ. और क्या चलेगा।मैंने पूछा- ऐसा भी क्या हो गया कि आप इतनी उदास हो।तो वो बोली- यह तो मेरी किस्मत ही खराब है.

चाचा भतीजी की सेक्सी मूवी

5 घंटे मेरे ऑफिस में रुके और मैं बातें करते-करते पूरे समय यही सोचता रहा कि काश यह औरत एक बार मेरे साथ सेक्स के लिए राज़ी हो जाए. मैंने दरवाजा पहले ही बंद कर रखा था। मैंने उसके सोए हुए छोटे से लंड को अपने हाथ में लिया और प्यार से सहलाया। उसके चेहरे से साफ़ जाहिर था कि उसे इस काम में बहुत आनन्द आया।मैंने उसको कहा- जब जब तुम सही जवाब दोगे. उसके बाद उस शाम को मैं उसके घर पर गया और उसके कमरे में गया।मैंने उससे पूछा- मे आई किस यू?उसने कहा- नो.

वो इस वक्त मुझे इतना कस के पकड़े हुए थे कि मेरा हिलना भी मुश्किल था. उसके बाल खुले थे।मैं उसे देखकर पागल हो रहा था। मैंने उसे बैठने को कहा। शायद उस वक़्त वो घबरा रही थी. बीएफ वीडियो बीएफ बीएफ बीएफजिसकी उम्र 20 साल की है।दिल्ली से निकलने के बाद हम लोग तेज़ी से जा रहे थे.

मेरे भैया और रामेसर चाचा का लड़का बातें कर ही रहे थे कि तभी उनकी छोटी लड़की प्रिया हमारे लिये चाय नाश्ता ले आई.

पर मैंने भी ठान रखी थी कि इस परीक्षा का सामना लंड की तरह डट कर करूंगी।उसने मेरी कमर के नीचे तकिया रख दिया और मेरे चूतड़ों को पकड़ कर थोड़ा ऊपर उठा लिया और अपना लंड मेरी चूत से सटाया और फिर आहिस्ता-आहिस्ता अपना लंड मेरी चूत में प्रवेश करने लगा। जैसे ही उसका लंड एक बार पूरी तरह से अन्दर घुस गया. थोड़ी देर बार भाभी झड़ गई और मैं अपनी भाभी की प्यारी चूत का सारा रस पी गया।फिर भाभी ने मेरा लंड अपने मुँह में डाल लिया.

मेरा नाम राहुल है मैं एक अविवहित लड़का हूँ मेरी उम्र 24 साल है। मेरा रंग गोरा है और कसा हुआ बदन है। मैं एक निजी कम्पनी में काम करता हूँ। मैं भंडारा शहर का रहने वाला हूँ. पुरुष को मैं माइक स्यागर कहूंगी और महिला मुनीर नाम से संबोधित करूँगी. यह कहते हुए राजीव अंकल के लंड से बहुत जोर की गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी मेरी गांड में भर गयी, मुझे एक अलग तरह का अहसास मिल रहा था.

उनके घर पर पहले ही पता था कि मैं आने वाला हूँ इसलिये उन्होंने पहले से ही मेरे लिये कमरा तैयार कर दिया था.

मैंने उसके दूध मसलते हुए बोला- आज तूने दिल खुश कर दिया जान, देख सामने कैसे तेरी टांगों के बीच में मेरा मूसल घुसा है. प्रीति आंटी ने दूध मसलते हुए पूछा- अब पहले चुदाई कौन करेगा?मैं बीच में ही बोल पड़ा- आंटी, हम दोनों एक साथ चुदाई करेंगे. में जल्दी खत्म कर दूँगा और आप हो ही इतनी सेक्सी कि पहले राउंड में कोई ज्यादा टिक ही नहीं सकता.

बीएफ सेक्सी सील पैकमार्ग-दर्शन मिलता रहेगा।जैसा कि आपने पूर्व में बताया था कि आप सरकारी नौकरी में उच्च पद पर हैं. लौड़ा चूसने में तो वो एक्सपर्ट है, कभी पूरा लंड अपने मुँह में लेती तो कभी मेरी अंडे चूसने लगती.

जय बांग्ला सेक्सी वीडियो

मैंने इयरफोन अपने कान से निकाला और पूछा- क्या आपने मुझसे कुछ कहा?तो उसने कहा- हाँ … मैं कब से आपको बुला रही हूँ, पर आप सुन ही नहीं रहे?उसने जब मुझसे बात की तो पूरी तरह से मैं पागल सा हो गया कि इतनी अच्छी आवाज़ … मन तो हुआ कि अभी उसके होंठों का सारा रस निकाल लूँ. मैंने कहा- थोड़ी देर में तुम्हें बहुत मज़ा आएगा।मैंने फिर से अपना लण्ड उसकी चूत में डालना शुरू किया, मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया था।तभी मुझे अपने लण्ड पर गर्म पानी सा लगा. अगले दो दिन तक जब मुझे ऐसा कोई भी मौका नहीं मिला, तो एक दिन मैं खुद ही योजना बनाकर कम्प्यूटर क्लास से जल्दी घर आ गया और मेरी योजना लगभग कामयाब भी रही क्योंकि उस समय घर में बस प्रिया और सुलेखा भाभी ही थे.

तुमने दोनों की चुदाई बड़े आराम से देखी है और शायद मज़ा भी लिया है।निधि- नहीं नहीं. हाय … ऐसा रस सिर्फ वोट्रेन में मिली लड़कीअनुप्रिया का था और आज रीतिका तुम्हारी चूत का पिया है।वह भी मेरी चूत को ऐसे खाये जा रही थी जैसे कि खाना खा रही हो. हम फोन पर बातें करने लगे। फिर हमारे बीच में सेक्सी बातें होने लगी। मुझे महसूस होता था कि वो फोन पर ही गरम हो रही है.

लेकिन अंकल मेरे सिर को ज़ोर से पकड़े थे … जिस वजह से मैं कुछ कर नहीं पा रही थी. मुझे उस वीडियो में चल रही क्लिप को देख कर कई दिनों तक ये चिंता बनी रही थी. बहुत दर्द हो रहा है।उसकी चीख ट्रेन के शोर में दब गई।उसे भी दर्द हो रहा था और इस बात का डर भी था कि कोई देख ना ले.

सोफे पर बैठने को कहा।मैं बैठा और वो रसोई में चली गई।वाहह क्या ठुमकती हुई गाण्ड थी. चूचियां बिना ब्रा के भी बड़ी और खड़ी थीं, कमर एकदम पतली और गांड मयूरी की तरह ही बड़ी-बड़ी थी.

उसकी फिगर के लिए लिखूँ तो उसकी गांड इतनी ज़बरदस्त उठी हुई थी कि जो भी उसे एक बार देखे तो बस देखता ही रह जाए.

मैं समझ गया वो उसकी झिल्ली थी।मैंने लण्ड को थोड़ा बाहर किया और एक ज़ोर के धक्के के साथ पूरा लण्ड उसकी चूत में उतार दिया।मेरे इस हमले से वो बेहोश सी हो गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने उसके मम्मों को मसकना चालू कर दिया और उसके निप्पल को चूसने लगा, उसकी आँखें आँसू से भर गई थीं. ऐश्वर्या राय की बीएफचुपचाप अपनी गाण्ड मराने का मज़ा ले।मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया।‘अहह भाई पहले बहुत दर्द हुआ था. देहातीबीएफलेकिन इस बार भाभी को उल्टी नहीं लगी और मेरे वीर्य को अपने मुँह ले लिया और अन्दर जाने दिया।मैं फिर अपने घर आ गया. पर नल को ज्यादा टाइट करने पर वो टूट गया और वो चिल्लाई। मैं दौड़ कर गया तो देखा कि नल टूटने कारण पानी का फव्वारा निकल रहा था और भाभी वो सब बंद नहीं कर पा रही थी।पानी का प्रेशर ही इतना अधिक था.

मगर उसके आँखों से आंसू निकल पड़े।अगले आठ दस मिनट तक हम दोनों बिना हिले वैसे ही पड़े रहे और फिर जब उसने हल्के से कमर हिलाई.

सो अब तक तो मैं भी एक अच्छे दोस्त की तलाश में था। मुझे नहीं मालूम था कि एक दिन ईश्वर मेरी तलाश इस तरह से पूरी करेगा।मैं कक्षा में बैठा पढ़ रहा था कि अचानक मुझे लगा कि कोई पीछे ही बात कर रहा है। मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो पाया कि हमारी कक्षा की एक लड़की जिसका नाम सोनिका था. मैं भी चुप रह गया।मामी अपने हाथ से ही मेरा लंड सहला रही थीं और मैं मामी के एक दूध के बटन को चूस रहा था. नो प्राब्लम।बस लगभग 7-8 धक्कों के बाद मैं भी झड़ गया।उसके चेहरे पर एक मस्त सी मुस्कान थी और संतुष्टि के भाव थे।थोड़े देर बाद हमने एक-दूसरे को किस किया और बाथरूम में जाकर एक-दूसरे के अंगों को धोया। फिर हमने साथ बैठ कर खाना खाया.

प्लीज मुझे गुदगुदी होती है।मैंने वहाँ से हाथ हटा लिया और उसके पेट पर और मम्मों को चूमने लगा। वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी।फिर उसने कहा- अब रहने दो और ऊपर आ जाओ।फिर मैं उसके ऊपर आ गया और उसे समझाया- पहले थोड़ा दर्द होगा सहन कर लेना।रेणु ने कहा- हाँ. चुदाई का मज़ा उतना ही ज्यादा आ रहा था।अब मैंने भाभी की दोनों चूचियों को आगे से पकड़ लिया और मसलना चालू कर दिया और चुदाई की स्पीड को इतनी बढ़ा दी. चाची ने पानी निकल जाने के बाद मुझे गले से लगाया और बोलीं- तेरे चाचा सिर्फ अपना काम करके निकल जाते हैं, मेरी चुत तड़पती रहती है, आज मैं तुम्हारी हो गई.

कल्पना की सेक्सी

रिया भाभी ने मेरे लंड पर कंडोम को पहनाया और कहा- अब जल्दी से करो जो करना है. मैंने उसकी परवाह किए बगैर उसके होंठों को अपने होंठों से क़ैद करके लगातार 3-4 झटके में अपना लण्ड उसकी चूत की गहराई में पेल दिया। उसकी आँखों से आँसू निकल आए और मुझे अपने लण्ड पर कुछ गरम तरल सा महसूस हुआ. उसका लौड़ा लोहे जैसा सख़्त हो रहा था, पायल पेट के बल लेट गई और लौड़े को प्यार से चूसने लग गई।पुनीत- आह्ह.

उससे वो सीट सीधी नहीं हो रही थी तो मैंने बिना कहे ही उसकी सीट सैट करने में मदद कर दी.

अचानक मुझे लगा कि मुझे फिर से सू सू आ रहा है तो मैं अचानक उठने लगा.

कसम से उंगली को स्वर्ग मिल गया था और वो ‘आहहह हहह ओहह हहह…’ करके बोली- दीदी, क्या कर रही हो? निकालो यार आपने तो अन्दर पेल दीं।रीतिका से मैंने कहा- यार, तुम्हारी चूत तो बहुत टाईट है? भाई ने डाल लिया था तुम्हारी चूत में?बोली- क्या दीदी … आप भी मजे ले रही हो!मजा तो बहुत आया होगा … क्यों रीतिका?”वो बोली- हाँ बहुत!कितनी बार किया?”बोली- 3 बार!रीतिका मेरे साथ अब खुल चुकी थी. पर वो कुछ बोल नहीं रही थी।मेरा एक हाथ उसको पकड़े हुए था और मैं दूसरे हाथ से उसकी पीठ सहला रहा था, साथ ही उसी हाथ को उसके चूतड़ों पर फेर रहा था।धीरे-धीरे उसको भी मज़ा आने लगा और वो मेरा साथ देने लगी।जब मुझे लगा कि बाजी मेरे हाथों में है. खलीफा की बीएफफिर मैं तो एक इन्सान था और वो भी अपनी भाभी की चूत का दीवाना।मैंने भी देर न करते हुए उन्हें अपने आप पर खींच लिया और उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उन्हें चूमने लगा। कभी उनकी जीभ मेरे मुँह में तो कभी उनकी मेरे मुँह में.

किन्तु अपनी मस्त झाँटू भाभी को देख कर कुछ भी करने को तैयार था।फिर मैंने उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया. अब फिर कभी आऊँगा तो तेरी गाण्ड मारूँगा।इतना बोल कर उसने अपने कपड़े पहने और चला गया. तो मुझे बहुत घिन आती थी पर आज अच्छा लग रहा था।पता नहीं क्यूँ शायद इतना कुछ हो गया था इस वजह से या समीर के गर्मजोशी की वजह से।फिर समीर ने मुझे बाँहों में उठा लिया और मुझे बिस्तर पर लिटा दिया। फिर उसने मेरे पैर फैलाए और मेरी चूत चाटने लगा। वो एक हाथ से मेरी चूचियों को दबाने लगा, मेरे मुँह से आवाजें निकलने लगीं ‘आह.

सोनू की चूत एक लंड से चुदने वाली चूत थी।उधर जमील मियाँ की कारगुजारियाँ तीसरी सीडी में सामने आईं। क्यों उनकी चारों बीवियाँ उनके लंड से खुश थीं. वो बहुत ही सुंदर था। उसको देख कर किसी भी लड़की का दिल उसकी तरफ हो जाता था। मेरा भी मन उसकी तरफ गया.

लेकिन उसने इस बार भी दरवाज़ा लॉक किया हुआ ही था। इस बार मैंने कोई दरवाज़ा नहीं ठोका और दुखी मन से अपने कमरे में चला आया।अब मैंने सोच लिया था कि अब मैं सच में ही हॉस्टल चला जाता हूँ.

नाभि पर प्यार पर इस तरह का मेरा ये अनूठा ही तरीका था जो मीता को कामातुर कर देता और न चाहते हुए भी वो बिस्तर पर मेरी अंकशायिनी बनने को आतुर हो जाती थी- उफ़्फ़ … इस्सस्स … आआआह … सीईईईई! बस करो जान!कहते हुए मीता धीरे से घूम गयी पीछे की ओर और मेरे होंठ भी इसी के साथ पतली खमदार चिकनी कमर को चूमते हुए पीठ और मादक पिछवाड़े पर आ टिके. साले ने मेरी मेरी चूत फाड़ दी।उसकी बात सुन कर मैं फिर तैयार हो गया और बहन की दुबारा चुदाई कर दी।अब रात में मेरे साथ नंगी सो गई और हमने खूब चुदाई की।अब उसकी शादी हो गई है. मैं भी उनका साथ देने लगी।उन्होंने मुझे बेडरूम में लेकर आईने के सामने खड़ा किया और अलमारी से एक मंगल सूत्र निकाला और मेरे गले में पहनाने लगे।मैं- ये क्यों?भाई- मैं आज तुम्हें अपनी पत्नी बनाना चाहता हूँ.

સેક્સી વિડીયો hd फिर कभी इनकी गाण्ड भी फाड़ डालूँगा।उन दो दिनों में मैंने मामी को 8 बार चोदा।दोस्तो, मुझे बहुत मज़ा आया. बस मुस्कुरा दी।मैंने उसे अपने गले से लगा लिया और उसके होंठों पर किस करने लगा.

मैं एकदम से सोफे पर गिर गई।अब उन दोनों ने थोड़ा रेस्ट किया। अब रात के 3 बज गए थे। उन्होंने फिर दारू पी. जब उसे खोला गया तो डिल्डो तो लगभग वैसा ही था, जैसे मैंने श्यामा को दिया था, मगर रिमोट के चलने के बाद वो आगे पीछे हो कर घूमता भी था, जिससे जब वो आगे पीछे होकर जोर का थप्पड़ मारता था. तो उसने बोला- भाई और पापा बाहर गए हैं और मम्मी बाथरूम में हैं।मैंने गहरी सांस ली.

देसी खेत सेक्सी

शायद उसे पता था कि उस चैन से मैं उसे पहचान लूंगा इसलिये उसने वो चैन पहनना अब बन्द कर दिया था. तो वे तीनों बहकने लगीं।पहले हम सब बाथरूम में गए और अपना-अपना हथियार साफ किया और कमरे में आने के बाद वे सब एक साथ मुझ पर भूखे शेर की तरह टूट पड़ीं।सब नशे में थे. चलो होटल चलते हैं और जो गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड करते हैं, वही आज हम दोनों भी करेंगे.

धीरे-धीरे उसने भी रिस्पॉन्स देना शुरू किया और उसकी आँखें बंद होने लगीं। ऐसा लग रहा था मानो हम एक-दूसरे में खो जाना चाहते थे।कुछ देर बाद मेरा हाथ उसकी कमर से होता हुआ. मैं कुछ बोलती उससे पहले भाई मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे अपनी ओर खींच कर बोले- तुम ऐसी टेबल दो कि मेरी बीवी खुश हो जाए.

पर कुछ देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा।मैं उसकी गाण्ड को चोद रहा था और सरिता उसकी चूचियों को चूस रही थी और उसकी चूत सहला रही थी। बीच-बीच में रीना भी सरिता की चूचियों को चूस रही थी।रीना के एक तरफ़ मैं लेटा था और दूसरी तरफ़ सरिता।मैं उसकी गाण्ड में ही झड़ गया।फ़िर हम साथ साथ नहाए.

इस बात पर मैंने कहा कि इसके लिए पोर्न वीडियोज भी तो हैं, उन्हें देख लिया करो. लेकिन वह अभी कुछ देर पहले मेरे कमरे में आकर पूछने लगा कि क्या सोचा है. अब वो अपने लंड को दिखा दिखा कर नाचने लगा और कभी मालती की और कभी श्यामा की चुचियों को दबाता और उनकी चूत पर हाथ भी मारता.

प्रिया लगातार सीत्कार रही थी- आइया … अह्ह्ह … ऊऊह्ह …लम्बी चुदाई के प्रिया अब अकड़ने लगी और बोलने लगी- बेबी … मेरा होने वाला है …मैंने फुल स्पीड में कुछ धक्के मारे होंगे और प्रिया की गांड में सारा माल डाल दिया. मतलब सब कुछ सही चल रहा था।फिर अचानक कुछ समय बाद भाभी मुझमें ज्यादा इंटरेस्ट लेने लगीं. मैंने उसकी एक टांग उठाई और लण्ड को उसकी चूत के बाहर रगड़ने लगा।अंकिता ने कहा- अब कुत्ते, क्यों तड़पा रहा है.

’मैंने 5 से 10 मिनट तक उसकी गाण्ड मारी और अब मेरा भी माल निकलने वाला था। मैं जोर-जोर से फुल स्पीड से चोदने लगा। लगभग 20 से 30 झटके मारने के बाद मैंने उसकी गाण्ड में ही सारा माल डाल दिया और उसके ऊपर ही लेट गया।एक मिनट बाद दरवाजे की घंटी बजी.

करीना कपूर की सेक्सी बीएफ: प्रीति आंटी ने दूध मसलते हुए पूछा- अब पहले चुदाई कौन करेगा?मैं बीच में ही बोल पड़ा- आंटी, हम दोनों एक साथ चुदाई करेंगे. मैं सिर्फ़ मुँह ताक रही थी, मैं बोली- ये मुझे विकी पहले ही बता चुका है.

स्विमिंग पूल के आसपास कोई सर छुपाने की जगह नहीं थी और इसलिए हम दोनों कमरे की तरफ भागे. एकदम सपाट पेट देखकर मुँह में पानी आ गया।मैंने उसका टॉप थोड़ा और ऊपर उठाया तो हैरान रह गया. आज भैया ने अपना अंडरवियर बिना धोए ही छोड़ दिया और इस वक़्त वो मेरे हाथ में है।मैं- गुड.

सबसे पहले तो ये करना कि किसी भी हालत में वो तुम्हारे कमरे में सोए। उसके साथ बैठकर पढ़ते रहना। उसका अलग बिस्तर अपने बिस्तर के बगल में लगा लेना। फिर पढ़ते-पढ़ते ही बुक पर सो जाना और उसे ये लगना चाहिए कि तुम बहुत गहरी नींद में सोती हो। ढीले कपड़े पहनना.

इसलिए मैंने ज्यादा ध्यान भी नहीं दिया।जब मैं नहा कर बाहर आया तो मेरी बहन को देखा कि वो किताबें देख रही है। उसने मुझे देखा और थोड़ा सा मुस्कुराई। मैंने भी हल्की सी मुस्कान दी और मैं अपने कमरे में चला गया। मैं काफी थक गया था इसलिए बिस्तर पर लेटते ही मेरी आँख लग गई।रात के करीब 11 बजे मुझे मेरी बहन ने उठाया और कहा- खाना खा लो।मैं उठा और हाथ-मुँह धोकर खाने के लिए मेज़ पर गया. मैं बोली- ठीक है!और वह अपने कमरे में जाकर सो गया।मैंने सोचा कि अच्छा मौका है नयी नवेली भाभी के साथ सेक्स करने का!मैं बाथरूम में गई और सूसू करके वापस आ गई और हम दोनों एक साथ लेट गयी. जब पति से चुदकर मेरी चूत को शांति नहीं मिली तो मैं अपने देवर से अपनी चूत शांत करवाने लगी.