इन हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,लड़की के साथ कुत्ते की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात बीएफ सेक्सी: इन हिंदी बीएफ, पूछने पर उन्होंने बताया कि फूफा बस जल्दी जल्दी में चोदकर सो जाते हैं, गांड को तो हाथ भी नहीं लगाया कभी.

बीएफ गाना वाला सेक्सी

जिस्म में ऐसा लग रहा था कि जान तो है ही नहीं, कई पल लग गए यह आभास होने में कि हम दोनों इसी दुनिया में हैं. सेक्सी वीडियो बीएफ देहातबहुत अच्छा लग रहा था लेकिन मैं ही जानती थी कि फर्स्ट क्लास के लिए मैंने क्या कीमत चुकाई थी.

’मैंने कल्पना के माथे और होंठों को चूमते हुए कहा- कुछ भी नहीं होगा, बस दो मिनट में दर्द चला जाएगा. एक्स एक्स एक्स बीएफ हॉट सेक्स20-30 झटकों के बाद वह अपने होंठों पर ज़ुबान फेरने लगी, और सर को इधर-उधर फेरने लगी.

वो कहने लगीं- ये सब क्या बोल रहे हो?मैंने उनसे कहा- मुझे चोदते वक्त गालियां देना अच्छा लगता है.इन हिंदी बीएफ: मैं दिखने में एकदम हीरो जैसा हूँ, हां जरा दुबला पतला हूं, लेकिन लंड 8 इंच का मस्त मोटा है.

वो देखने के बाद मेरा भी बहुत मन अपनी चूत में कुछ डाल कर हिलाने का करने लगा.नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम सम्राट है और अन्तर्वासना की कहानियाँ पढ़कर मुझे भी अपनी सच्ची दास्तान सुनाने की इच्छा हुई.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाली बीएफ - इन हिंदी बीएफ

मैं बस मन ही मन मुस्कुरा रही थी और अपनी स्कर्ट से झांकती टांगें उसको दिखाए जा रही थी.जब पैंट को नीचे करने के बाद वह दोबारा मेरे ऊपर लेटा तो उसके लिंग का दबाव मुझे मेरी योनि पर यहाँ-वहाँ छूता हुआ महसूस होने लगा.

धारा- धत … मेरे जैसी पसंद कैसे हो सकती है तुम्हारी?मैं- क्यों नहीं हो सकती भला, क्या कमी है तुम में? किसी अप्सरा से कम थोड़ी ना दिखती हो. इन हिंदी बीएफ इधर चारु हमेशा मुझे हितेश के नाम से चिढ़ाती और उसकी देखा देखी बाकी लड़कियां भी मुझे हितेश का नाम लेकर चिढ़ाने लगीं.

मेरा लंड अब बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था, मैंने भाभी को लंड मुँह में लेने को कहा, लेकिन भाभी ने मना किया.

इन हिंदी बीएफ?

मैं दूसरी सिगरेट सुलगा कर आराम से लेटे लेटे लंड चुसाई का मज़ा लेता रहा. आजकल सभी लड़कियां शादी से पहले और बाद में भी पर पुरुष से सेक्स करना पसन्द करती हैं. इन सब सेक्सी बातों से माहौल गर्म होने लगा और दूसरी बियर आधी खत्म होते तक तो दोनों पूरे रंग में आ गईं और एक दूसरे का गाउन खींच खींच कर उतार दिया.

मेरे साथ आज हुआ भी ऐसा ही था कि जगत अंकल, छत्तू अंकल और ठाकुर ने शुरूआत तो की मेरे साथ चुदाई की, पर तीनों ने बस थोड़ा थोड़ा करके मुझे छोड़ दिया. तब वह बोला- अच्छा मैं तेरी सहेली सोनम के बड़े पापा का सगा साला हूं. किसी हद तक गुस्से में वह मेरे मम्मे मसलने लगा, निप्पल्स जोर-जोर से चूसने लगा और इस बार बिना किसी खास कोशिश के उसका लंड भी खुद से ही टाईट हो गया।इस बार वह मर्द बना और खुद पहल की.

मामी का भरा बदन तो किसी हिजड़े को भी वासना की ओर धकेल दे, ऐसी है मेरी मामी. मैंने आंटी की चूत को सहलाना जारी रखा और एक हाथ से आंटी के बोबों को भी दबाना जारी रखा. तभी निहाल अब मेरे कान के पास बोला- सोनू तुझे मजा आ रहा है ना?मैं कुछ नहीं बोली तो उसने आगे हाथ से चूत को फिर दबा दिया और बोला कि देखो मैं तेरे लिए पागल हो रहा हूं.

सोच रहा था कि अपने ही जीवन की एक घटना आप लोगों के साथ साझा करूं, मगर एक पाठक की कहानी ने मेरा ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लिया. खाना खत्म होने के बाद मैंने राहुल को गिलास में पानी दिया तो राहुल बोले- भाभी, पहले आप पानी पीओ.

चूत पर लंड का सुपाड़ा टिकते ही लता भाभी ने अपनी आंखें बंद कर ली और तरह-तरह की शी… शी… की आवाज़ निकालने लगी.

जब हम अलग हुए, तो वो कहने लगी- यही प्यास बुझाने आए थे क्या?मैंने कहा- हां जानेमन … यही प्यास बुझाने आया था.

” यह कह कर मैंने एक सिगरेट सुलगाई और लम्बा कश खींच कर सासू के दूध पर छोड़ दिया. मैं आप से कुछ पूछना चाहती हूँ और ख़ास इसीलिए आज मैं आपके पास आई हूँ. प्रीति के होंठों का रस पीने के बाद तो मेरे लंड का कड़कपन और ज्यादा बढ़ गया.

मेरे पड़ोस में एक लड़का रहता है, जो किराये पर कमरा लेकर रहता है और पढ़ता है. वो भाग कर मेरे पास आया और बोला- अरे मुझे बोल दिया होता, मैं बैठा था न … आपको अकेली को आने की क्या जरूरत थी. अंकित मेरे पास आया और जोर से मेरे बूब्स को दबा कर मुझे लिपटा कर बोला- यार, तू धोखा दे रही है.

मैं यह सब आखिर तक देखती रही और न जाने कब मेरा अपना हाथ मेरी चूत को सहलाने लगा.

जब मैं उसके लंड को हिला रही थी, तब वो अपनी आंखें बंद करके मजा ले रहा था. कहते हैं न कि समय का फेर कब किस करवट ले ले, किसी को कुछ पता नहीं होता. मैंने झट से मामी की साड़ी के ऊपर से ही अपनी पैन्ट में से ही लंड को रगड़ने लगा.

अचानक उनकी एक सहेली का भी जाने का मन हुआ, तो उसने मेरी पत्नी से कहा कि आप अपने पति से कह कर मेरी भी अर्जेंट टिकट करवा दें. मैंने पूछा- कितने नलों का पानी पी चुकी है?रिया बिंदास बोली- तू दूसरा ही है. यह मेरा असली नाम नहीं है इसलिए मैंने अपने लिए एक अच्छा सा मॉडर्न नाम चुनकर लिखा है जैसा कि अक्सर गे कम्यूनिटी में देखने को मिलता है.

मैंने अपना हाथ बढ़ाते हुए अपना परिचय दिया, उन्होंने भी हैलो बोला और फिर नार्मल बातें होने लगीं.

मैंने सोचा था कि आज मैं पूनम की चुत फाड़ दूंगा, लेकिन हुआ बिल्कुल उसके उल्टा, मैंने जैसे ही पूनम को बिस्तर पर लिटाया उसने मेरी शर्ट फाड़ दी और पैन्ट उतारने लगी. फ़िर उसके बाद कब तुमसे मुलाकात हो पता नहीं, इसलिये मैं जल्दी से मूड बनाना चाहती हूँ.

इन हिंदी बीएफ मैंने एक हाथ से उनकी साड़ी और पेटीकोट निकाल फेंका और चड्डी के ऊपर से चूत को स्पर्श किया. मोहल्ले के लड़के बच्चे भी नहीं दिख रहे थे, मुझे लगता है जिनके घर पास में थे, वही वहां बच गए थे.

इन हिंदी बीएफ मुझे उस लड़के से चुद कर ऐसा लगा कि जिंदगी का मजा तो सेक्स में ही है. चूत का रस मुझे अजीब सा लग रहा था लेकिन आंटी की मदहोश कर देने वाली आवाज़ के साथ मीठा भी लग रहा था.

इसके बाद अगले भाग में अपनी आपा सारा की जबरदस्त सील तोड़ चुदाई का किस्सा सुनाने वाला हूँ.

राजस्थानी ओपन सेक्सी व्हिडीओ

फिल्म खत्म हुई और सब निकलने लगे मैंने उससे ‘आई लव यू …’ बोला और किस करने को पूछा, पर उसने इस बार फिर मेरा दिल तोड़ दिया. मेरी इच्छा तो बहुत होती है, लेकिन बदनामी के डर से मैं किसी का भी लंड नहीं ले सकता. मेरा नाम सैफ है, मैं एक मिडल क्लास की फैमिली से बिलोंग करता हूँ और मेरी उम्र 21 साल है.

अब तीनों अंकल का काम खत्म हो गया था, पर मेरी चुदाई की प्यास नहीं बुझी थी, क्योंकि मेरी चूत का रस नहीं निकला था. मैं भी आंटी के पीछे-पीछे खेत में घुस गया और पीछे से जाकर आंटी को पकड़ लिया. तब उसने मेरी सीधी टांग को सिर के जोर से दबाया और दूसरी टांग को पकड़ अपने दूसरे हाथ के कांख में दबा कर जोर जोर से उंगली चलाने लगा.

अपने लौड़े से, तेरी सास इस सर्दी में तुझे तन्हा नहीं छोड़ सकती, मुझे अपने बदन से लिपटा कर रख और मेरी चूत मेरी गांड को बस पेलता रह.

मदन की मां- अगर आप बुरा ना माने तो एक एक जाम हो जाए, वैसे भी इतनी दूर बाइक से आते आते आपकी तो उतर भी गई होगी. मैंने धीरे से हाथ नीचे ले जा कर उसके ब्लाउज़ के सारे हुक खोल दिये और उसकी चुचियो को मसलते हुए उसके निप्पलों को खींचने लगा. भाभी एक हाथ से मेरे लंड को सहलाए जा रही थीं और मैं अपने दोनों हाथों से उनके मम्मों को दबाए जा रहा था.

मैंने एक उंगली को आंटी की गांड में चलाना शुरू किया और धीरे-धीरे आंटी की गांड में पूरी उंगली अंदर तक जाने लगी. तब मैंने भैया को देखा … उनका लंड खड़ा हुआ था, तो मेरे मुँह से निकल गया- अरे ये क्या है लम्बा सा. अब मैंने अपना ग्लास उठाकर एक घूँट अपने मुँह में भर लिया और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए.

ऐसे तो मुझे कोई कमी नहीं है, ना ही कभी किसी गैर मर्द की मुझे जरूरत पड़ी है. मेरा लौड़ा पूरा का पूरा एक ही बार में भाभी की चूत में अन्दर घुसता चला गया.

फिर उसने अपनी चूत का मुँह मेरे होंठों पर लगा दिया और मैं भी उसकी मादक खुशबू में मदहोश होकर मुखमैथुन करने लगा. मिशिका की हालत खराब होने लगी थी लेकिन रिशु के धक्के बढ़ते ही जा रहे थे. फिर एक धक्का मारने पर सुपारा पूरा अन्दर चला गया और वह मेरी बीवी की गांड में अपना लंड डालने लगा.

अब करीब रात 10:30 बज रहे थे मैंने वियाग्रा की एक गोली खा लीं और कौशल्या के घर चला गया.

फिर थोड़ी देर हम दोनों एक दूसरे की आंखों में खोए रहे और एक दूसरे को निहारते रहे. आज से मैं तेरी हूँ।तभी मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल से सेक्स करने के लिए तैयार कर लिया. मैंने उसको कोई शक ना होने दिया और उसके बाद वो औरत भी अपने घर चली गई.

मेरे ऐसा कहने पर उसने अपने हाथों को मेरी चड्डी में फंसाया और धीरे-धीरे उसे नीचे सरकाने लगी. वह उनके काम आ जाता था जहां वे रात को काम बना लेते थे।यह अलग बात थी कि मुझे उस संभावित जगह का आइडिया था तो एक कैमरा वहां भी मौजूद था।वैदेही पढ़ाई के सिलसिले में तीन साल वहां रही और लगभग वे रोज ही सेक्स करते… ओरल, वेजाइनल, एनल। कैसा भी, कुछ भी बाकी नहीं रखा था.

वाणी की आवाज़ लड़खड़ाने लगी, सामने वाले के पूछने पर वो बोली- बस आज थोड़ी तबियत ठीक नहीं है. उनको देख कर मैं तो बस पागल ही हो जाता और उनके जाने के बाद मुझे दो तीन बार मुठ मारनी पड़ती थी. इसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की ब्रा की स्टेप खोल दी और मेरी बीवी की 34 साइज की चूचियां हवा में फुदकने लगीं.

तमिल सेक्सी वीडियो फिल्म

रवि मेरी बीवी ऋतु के साथ थ्री सीटर सोफे पे था और मैं बगल के टू सीटर सोफे पे बैठा था.

मैंने पूछा खाला- आपकी तबीयत कैसी है?हम्म …”मैंने प्यार से उनके गुलाबी होंठों को चूमते हुए पूछा- क्या आपको अच्छा नहीं लगा?वे धीरे से बोलीं- अच्छा तो लगा … मजा भी बहुत आया … पर दर्द बहुत हुआ. जब वह खाना खत्म करके जाने लगी तो जाते हुए भी मेरी तरफ ही देख रही थी. फिर मैं कभी रसमलाई तो कभी रसगुल्ला उसकी योनि पर रखकर चाटती व चूसती रही.

उसके मुँह से यह बात सुनते में शर्मा कर मुँह नीचे करके बैठ गया और वह मुस्कुरा रहा था. अबकी बार गांड पर लंड लगाने के बाद मैं उसके ऊपर लेट गया और लंड को थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा. हनी सिंह सेक्सी बीएफमैंने किशोर को चाय का थरमस दिया और धीमे से कहा- फ्री हो क्या?वो बोला- अभी नहीं कल.

आशीष अब मेरे ऊपर आ गया और पेंटी के ऊपर से ही, जहां चुत है, वहां अपने लंड को पैन्ट के अंदर से रगड़ने लगा और मेरी समीज ऊपर करके मेरे मम्मों को चूमने लगा. मेरे ऐसा करते ही वाणी खुद नीचे से अपनी कमर उठाते हुए लंड पर धक्के मारने लगी और मैं उसकी चुची को चूसता रहा.

फिर उन्होंने कहा- आज तुमको हमारे घर आना है शाम को सात बजे और खाना ख़ाकर मत आना. कहकर मैंने फ़ोन काट दिया।मैं डरते-2 उसके घर पर गया और दरवाज़े को खटखटाया तो उसकी मम्मी ने दरवाज़ा खोला. फिर अंत में जब उससे नहीं रहा गया तो उसने मेरे सर को पकड़ लिया और जोर से अपनी चूत पर दबाने लगी.

अब मैंने उसका सिर पकड़ कर लंड मुँह में अन्दर बाहर करने लगा और 7-8 मिनट बाद मैं भी उसके ही मुँह में ही झड़ गया. यह सब सुनके मुझे तो बहुत खुशी हुई कि चलो आख़िरकार ऊपरवाले ने मेरी सुन ली. फिर उसने मेरा पूरा दूध अपने मुँह में भर लिया और दबा दबा के चूसने लगा.

वर्षा बोली- दीदी मैं जब तक जिन्दा हूँ, आपको कुछ भी नहीं होने दूंगी.

ऐसे ही एक दिन नहाने के बाद भाभी ने ब्रा और पेंटी पहनी और फिर पेटीकोट व ब्लाउज पहनकर साड़ी लपेट रही थी तो मुझसे से कंट्रोल नहीं हुआ और मैं रूम में अंदर चला गया. जब मेरी नज़र उन पर पड़ी तो हम दोनों तुरंत एक दूसरे से अलग हुए और अपने-अपने कपड़े पहने.

आंटी ने मुझे सहारा दिया और बोली- आप अन्दर मेरे बेडरूम में चलो, वहीं जाकर सो जाना. पापा ने मुझे धक्का मारा, मैं नीचे फर्श पे गिर गई और उन्होंने मुझे भी लाठी से खूब मारा. सारा तड़फ कर बोली- आज क्या हो गया है तुम्हें? मार ही डालने का इरादा कर रखा है क्या?मैंने धीरे-धीरे शॉट लगाने शुरू किए.

ये तो वही मैडम थी, जिसको मैंने स्टेशन पर अपने फोन से बात करने दी थी. लड़का देखने में काफी अच्छा था और यह पता लगने के बाद भी कि मैं एक लड़का हूँ, जब मैंने उससे मिलने की रिक्वेस्ट की तो वह आसानी से मान भी गया. अब मैंने उसका गाउन उसकी सहायता से उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही चूचियों को दबाने लगा और एक चूची को चूसने लगा और वो मेरे बालों में प्यार से हाथ फेरने लगी.

इन हिंदी बीएफ मेरे बूब्ज़ बिल्कुल तने हुए रहते हैं और मेरे हिप्स मेरा पॉइंट ऑफ़ अट्रैक्शन हैं एकदम गोल और पीछे को निकले हुए, बिल्कुल शेप में! इन्हें देख के बहुत सारे लोग मुझे लाइन मारते हैं और पटाने की कोशिश करते रहते हैं. खैर काफ़ी खत्म करके वाणी बोली- चलो मैं तो नहाने जा रही हूँ … तुम दोनों का क्या प्लान है देख लो.

मराठी महाराष्ट्र सेक्सी व्हिडिओ

कल्पना- क्या मैं अभी आपको वीडियो कॉल कर सकती हूं?मैं- सॉरी मैडम, अभी मैं ऑफिस में हूँ. सीमा ने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच में दबा दिया और मैं उसकी चूत में जीभ को घुसाने की कोशिश करने लगा. कुछ देर तक फिर से चूत के दाने को मसलने के बाद एक बार फिर से ट्राय करने का सोचा और डिसाइड किया कि इस बार पूरा डाल कर ही मानूँगी.

दिन में कभी कभार हमारी थोड़ी बहुत बात हो जाती, पर ज्यादातर समय वो मुझसे दूर ही भागते. मैंने कहा- इसमें थैंक्स की क्या बात है, मेरी जगह कोई और होता तो वह भी यही करता. बीएफ एसएक्सी बीएफअब उसकी पीठ मेरे सीने से लगी थी और मैं दोनों हाथों से उसके चुचे दबाने लगा.

राज अंकल ने कसके मेरे बाल पकड़ कर अपने लंड का गरम गरम लावा मेरी गांड में भर दिया.

जो लोग कहानियां केवल मनोरंजन के लिए पढ़ते हैं, उनके लिए ये कहानी यहीं पर समाप्त होती है. फिर उसने बताया कि आज वो अकेली ही है, उसकी माँ और छोटा भाई नानी के यहां वाराणसी गए हैं.

फिर नीचे की ओर हो कर उसने मेरे जॉकी के ऊपर से ही मेरे लंड पे चुम्बन लिया, फिर मेरा जॉकी खोलने लगी. मैं उसका मुँह अपनी गांड में और तेजी से दबा देती ‘आह्ह किशोर आह्ह्ह … करते रहो आह्ह आह्ह्ह्ह. मेरे जीवन में जो अब मौसी के यहां से आने के बाद दिन आए, उसको अगर आपको एक एक करके बताऊंगी तो आप आश्चर्य करेंगे.

जिसने मुझे ये कहानी भेजी है, वो एक आंटी है, उसने अपना नाम भी बताया है, लेकिन मैंने इधर उसका नाम बदल दिया है.

जहाँ उनके उछलने से मुझे लेटे लेटे ही चुदाई का आनन्द मिल रहा था, वहीं उनकी उछलती हुई बड़ी बड़ी चूचियां लंड में और उबाल ला रही थीं. वैसे तो मैं शाम को अक्सर बाहर निकलता था क्योंकि लक्ष्मी नगर में स्टूडेंट बहुत रहते हैं और शाम को बहुत चहल-पहल भी रहती है तो घूमने में मन भी लगता था और इसी तरह मेरे दिन कट रहे थे. बाकी अगर कोई हरकत करेगी, तो वो मेरे दोस्त सभी को तेरी पूरी झाड़ी के पीछे की करतूत सबको बता देंगे … वो भी तुझे सामने खड़ी करके सबसे कहेंगे.

देसी बीएफ ब्लू सेक्सीमैंने पोज़िशन बना ली और उसकी गांड और चूत के छेद पर अपना लंड फिराने लगा. वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर बोला- तुम तो बहुत प्यासी हो, तुम्हारी आंखें बता रही हैं कि तुम्हारा बहुत ज्यादा मन है बंध्या.

सेक्सी वीडियो जंगली आदिवासी

मेरे तलाक़शुदा होने की बात कुछ साथ काम करने वालों को पता चली, तो मौका पाने पे उन्होंने मुझमें दिलचस्पी लेना शुरू कर दिया. मैं उसके पीछे खड़ा हुआ और उसकी दोनों चुचियों को मसलते हुए उसे नहलाने लगा. उसके बाद सासू माँ ने बोलना शुरू किया:बेटा, तू तो जानती है, हितेश हमारा एकलौता बेटा है … शुरू से ही हमने उसकी परवरिश में कोई कमी नहीं रखी, बहुत ही लाड़ प्यार से पाला है हमने उसे, शुरू से ही मुझे उसकी हरकतें थोड़ी अजीब लगती थीं, तब सोचा कि बचपना है … धीरे धीरे सब सही हो जाएगा, पर जैसे जैसे वो बड़ा होता गया, वैसे वैसे उसकी हरकतें भी बढ़ती गईं.

सबसे पहले वो मेरे माथे को चूमने लगे, मेरे गालों को चूमने लगे, मेरे कानों की लड़ी को अपने होंठों से चूसते तो कभी मेरी नाक को चूसते. मैं बस गिरने ही वाली थी कि जग ने मुझे गोद में उठा लिया और बाथरूम तक ले गया. इनकम टैक्स ऑफीसर के साथ चुदाई के बाद मेरी बीवी का क्या हाल हुआ, ये जानने के लिए आपके लिए इस सेक्स कहानी दूसरा पार्ट हाजिर है.

एकता तो पहले ही लंड के वीर्य के टेस्ट की दीवानी थी, तो उसने पहले अपने मुँह का तो गटक ही लिया. जब मदन की मां मुझसे बात कर रही थीं तो, उनकी सांसों से साफ शराब की महक आ रही थी, शायद उन्होंने अपनी पार्टी में पी हो. भाभी की तबीयत ठीक ना होने के कारण मैंने ही दूध गर्म किया और भाभी और मैं साथ में दूध पीकर सो गए.

गीता की चुचियां बहुत मस्त थीं और अब तक के खेल में उसकी निप्पल भी टाइट हो गये थे. दूसरे फ्लोर में जहां छोटे भैया का कमरा है, उधर ही नई भाभी भैया के साथ रहती हैं, उनके बाजू में हमारा निवास है, ये भी तीन कमरों का है.

चूत? ओह चूत इसे कहते हैं? लड़के अक्सर मुझ से कहते हैं चूत देने को … मेरी समझ में नहीं आता था कि वो क्या मांग रहे हैं.

मैं तो पहले ही चाहता था, अतः यही सोचकर कि कहीं लता को बुरा न लगे, मैं हेमा के साथ पहल नहीं कर रहा था. शेर वाला बीएफहमने सोचा कि मियां बीवी होंगे … क्योंकि वो कर ही ऐसा रहे थे कि कोई भी समझ जाए. सेक्सी चित्र बीएफऐसे ही आहहह … तेरा मस्त लौड़ा तो मेरी चूत में बिल्कुल कस कर रगड़ मार रहा है, आहहहह… अब ज़ोर से चोद … अब लगा अपने लौड़े का ज़ोर. मैंने उसे डॉगी बनाकर उसकी पीछे से लंड लगाया और उसकी चुत में पेल दिया.

मेरी गांड में ऐसा वशीकरण छिपा है कि मैं जिसे चाहूँ उसको उंगली से नचा सकती हूं.

तो मैं वहाँ पता लगाने गया और मैंने घण्टी बजाई तो अन्दर से एक 35-36 साल की शादीशुदा महिला ने दरवाजा खोला. मेरा दर्द जब कम हो गया, तो उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और फिर से मेरी चूत को चोदने लगा. मैं चमोत्कर्ष पे पहुंची या नहीं, मुझे मज़ा आया या नहीं … इन बातों का उसका कोई लेना देना नहीं है.

भाभी कहने लगी- राज, यह तो बहुत मोटा है, मेरे हसबैंड का तो बिल्कुल ही छोटा सा है. ऐसा कहते हुए उसने मुझे और तेज जकड़ा और पीछे से पकड़ कर मेरी गांड से लिपटने लगा. तो हमने हमारी घर की मालकिन को यह समस्या बताई तो उसने हमारे लिए एक नौकरानी तलाश दी.

स्कूल गर्ल सेक्सी डॉट कॉम

मैं लखनऊ से हूँ लेकिन नोएडा में रहता हूँ। मेरी कहानीआंख मार कर की चुदाईऔरइस्मत की किस्मत से चुदाईको पसंद करने के लिए तथा मुझे मेल करने के लिए सभी दोस्तों का बहुत-बहुत धन्यवाद. वह बेचारा सोचता था कि किसी लड़की से बात कर रहा है इसलिए वो भी शुरू में तो पागल हुआ रहता था. दोबारा इस घर में ना आना, ना मेरी बेटी के पास आना, कभी गलती से भी ना दिखना, समझी.

बातों ही बातों में उसने बताया कि उसे मॉडलिंग और एक्टिंग का बहुत शौक है.

उसकी पैंटी को हाथ से सहलाया तो पता चला वह पहले से ही गीली हो चुकी थी.

मैंने भाभी के गाउन को उतार दिया और उनको बिल्कुल नंगी करके बेड पर लिटा दिया. हां तुम से थोड़ी देर हुई है … और मैं इस बात तुमसे जुर्माना वसूलूँगी. देसी में बीएफ पिक्चरतुझे अच्छी तरह से समझने के बाद हमें लगा कि तू ही हमारी मजबूरी समझ सकती है, इसलिये हमने तेरे यहां हितेश का रिश्ता भिजवाया.

मैं अपना लंड निकालने लगा, तो दीदी ने आपने हाथों से मेरी गांड पकड़ ली और कहा- अन्दर ही डाल दे अपना पानी मेरे छेद में … ओह मजा आ रहा है … प्लीज़ अन्दर ही सिंचाई कर दे. इतना सुनते ही जैसे मेरे दोनों कान सुन्न हो गए, समझ में ही नहीं आया कि अभी जो मम्मी जी ने कहा, क्या मैंने वही सुना या कुछ गलत सुन लिया … कन्फर्म करने के लिये मैंने पूछा. जब भी सब सहेलियां इकठ्ठा होतीं, तो सब अपने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बात करना शुरू कर देतीं.

तब दीदी मुझसे बोली- अरे तुझे क्या हुआ … ऐसा लगता है कि जैसे कोई ने अन्दर डाल दिया हो?मैं बोली- हां दीदी, ऐसा ही समझ लो. क्योंकि ज्यादातर पिक्चर्स फेक होती हैं या फिर इक्का दुक्का पिक्चर्स जो पसंद आती थीं उन्होंने अपनी बॉडी को इस तरह से दिखाया होता है कि कामदेव की आखिरी औलाद यही बची है अब.

तूने अभी देखा किस तरह से अभी राज तेरी मम्मी से आगे वाली सीट में चिपके हुए उसके दूध दबा रहा था और अन्दर टांगों में हाथ डाले था.

इतना सुनकर चौबे जी तो एक बारगी सफ़ेद हो गए, परन्तु दोनों लड़कियों के माँ बाप ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. मेरे पेरेंट्स कहीं गए हुए थे साहिल ने कॉल किया कि तुम घर पर हो तो मैं आ जाऊं?मैंने कहा- हां आ जाओ. पहले मेरे एक दो फ्रेंड्स थे, बाद में सभी से लीनियर हो गया और बहुत सारे फ्रेंड्स बन गए.

मोटी आंटी का बीएफ वीडियो मगर किस्मत से मेरा इंटरव्यू अच्छा नहीं गया और मैं उदास होकर वापस आ गया. मैं कभी उसके गुलाबी सुपारे को जीभ से चाटता और कभी उसका पूरा लंड अपने मुँह में उतार लेता.

तब रवि की नज़र ऋतु की गांड पर टिक गयी, जो सिल्क गाउन से साफ़ उठी हुई झलक रही थी. आज मैं आपको सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ, वो मेरी और मेरी कज़िन सिस्टर ममेरी बहन की है. क्या बोलूँ … इतनी सॉफ्ट स्किन और टेस्टी थी कि बस मैं उसे चूमता चला गया.

सेक्सी व्हिडिओ घड्याळ

मैं- तो मैंने यही तो कहा है कि मेरी पूरी कोशिश रहेगी कि आपको परेशानी न हो. ज़ब मैं कश लगा रहा था, तो मैं सोच रहा था कि वो सरप्राईज़ वाली बात तो रह ही गयी. इतना बोलकर उन्होंने अपनी लुंगी उतार दी और मेरे पास आकर अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिए, फिर मेरी लुंगी उतार कर फेंक दी.

वो सोचता था कि इतनी सुंदर और सेक्सी मॉडल लड़की हाथ लग गयी है, इसके साथ जवानी के सारे मज़े ले लूँ. अब बस मेरे तन पर सिर्फ ब्रा और पैंटी रह गए थे, मैंने भी उसके सारे कपड़े उतार दिए.

दीदी ने बोला- ओके मैसेज वर्ड कौन सा?मैंने कहा- क्विक फक … इसका QF रख लेते हैं.

मेरे ऐसा करते ही वाणी खुद नीचे से अपनी कमर उठाते हुए लंड पर धक्के मारने लगी और मैं उसकी चुची को चूसता रहा. अब मैं और डेविड झड़ने वाले थे और फच्च फच्च की आवाज़ बदल कर अब लिक लिक लिक की आवाज आने लगी. कुछ देर बाद गोली ने असर दिखाया और पापा मेरी तरफ़ देख कर मुस्कुराने लगे.

दूसरे फ्लोर में जहां छोटे भैया का कमरा है, उधर ही नई भाभी भैया के साथ रहती हैं, उनके बाजू में हमारा निवास है, ये भी तीन कमरों का है. मैं उसको बस देखे जा रहा था जैसे उसको आँखों ही आँखों में सब कुछ समझाने की कोशिश कर रहा था. मैंने उससे कहा कि बहन सोने का टाइम हो रहा है तो ऐसा कर कि मेरा लोअर पहन ले, तुझे थोड़ा आराम मिलेगा.

उन्होंने मुझे फिर गर्म दूध पिलाया और प्यार से मुझे अपने घर वापस भेज दिया.

इन हिंदी बीएफ: शादी में मिसेज पाटिल की चुदाई का एन्जॉयमेंट का पूरा मजा लेने के लिए आपको मेरी इस चुदाई की कहानी के अगले भाग का इन्तजार करना पड़ेगा. मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ.

उसके बाद हमने होटल छोड़ दिया और ख़ुशी ख़ुशी अपने अपने रास्ते निकल पड़े. आप लोगों को पढ़ कर शायद मज़ा नहीं आया होगा, लेकिन सोच कर देखो असलियत में कितना मज़ा आया होगा. खैर, सिगरेट खत्म हुई, मैंने भी स्कूटर स्टार्ट किया और अपने कमरे पर चला गया.

मेरा लंड फटने वाला था, मैंने कहा- तुम जवान हो और क्या तुमने भाई बहन के सेक्स की कहानियां नहीं पढ़ीं हैं?बोली- हां मगर!मैं कहा- बस कुछ नहीं बोलो … मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ.

’‘तूने चोदा इसकी माँ को?’‘हाँ दोनों छेदों में … मस्त माल है, मोटी चुचियां, भरे भरे चूतड़. उस टेस्ट में उन्होंने न केवल मुझे पास कर दिया था, बल्कि अपना फ़ेवरेट चोदू भी बना लिया था. मेरा बॉयफ्रेंड मुझे एक बार चोदने के बाद मेरी चूत को दुबारा चाटने लगा.