सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020

छवि स्रोत,ऑनलाइन चैट इंडिया

तस्वीर का शीर्षक ,

न्यू हिंदी एचडी बीएफ: सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020, मेरी इस सेक्सी कहानी के पहले पांच भागों में पढ़ा कि मैं क्रोस ड्रेसर हूँ, लड़की बन कर रहना पसंद करता हूँ, मेरी शादी हो चुकी है लेकिन मेरी बीवी और उसका यार मुझे अपनी पत्नी और गुलाम की तरह रखते हैं.

मराठी भाषा सेक्स व्हिडिओ

मैंने उसके कमरे में झांका तो वो शीशे के सामने अपनी जीन्स नीचे सरका के अपने चूतड़ और गांड देख रही थी. zili वीडियोयह कहते हुए शीना अपना घूंघट उठा कर मेरे ऊपर कूद पड़ी और बिल्कुल जंगली जानवर की तरह मुझे नोचने लगी.

उनसे गांड मरवाने की आदत तो लग गयी, लेकिन मरद साला ढिल्ला है … चूत में ही बराबर नहीं करता, तो गांड क्या मारेगा. भीम की सेक्सी वीडियोउसने कहा- अम्मी खुदा के वास्ते ये सब मत कहो … रात को मैं नशे में था.

तभी भाभी जी बोली- सिर्फ देखते ही रहोगे या कुछ आगे भी बढ़ोगे?मैं उनके चढ़ ऊपर गया और भाभी जी के होंठों को चूमना चालू कर दिया.सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020: उसकी सास ने मेरे चेहरे को देखा और बोली- दामाद जी, आपको बहुत पसीना आ रहा है.

उसका लंड वाकई में ही बहुत बड़ा था जैसा कि मैंने बाकी लड़कियों से उसके बारे में सुन रखा था.वो तेजी से मुझे चोद रहे थे और मैं मजे लेते हुए उनकी कामुक बातें सुन कर और भी ज्यादा कामुक हो रही थी.

अंतरवासना मराठी - सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020

उसने मुझे जगह और टाइम बताया मैं अपनी कामवाली को अपने बेबी को कुछ घंटे का ध्यान रखने के लिए कह कर चली गई.अब मोहिनी का हाथ मेरे बॉक्सर के ऊपर मेरे लंड को सहला रहा था और मेरी वाइफ अपने हाथों से मोहिनी को पिलाए जा रही थी.

कहीं न कहीं इसके लिए मानसिक तनाव या मेंटल स्ट्रेस भी जिम्मेदार होता है. सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020 मैंने कहा- तुम बस एक बार मुंह खोल लो और बाकी का काम मैं खुद कर लूंगा.

हमारी बातें बढ़ती गईं और जब वो मुझको अकेली मिलती, तो उसके साथ कुछ ज्यादा देर तक बात होने लगी थीं.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020?

यहाँ मेरी हालत बुरी थी, वहां उसकी, मेरा लंड फटने जैसा हो चुका था, पर मुझे अपने आपको कण्ट्रोल करना था … जो कि बहुत ही मुश्किल काम था. शायद उसको भी मेरे नंगे जिस्म को उजाले में देखने की ललक थी और ऐसा ही मैं उसके बारे में सोच रही थी. मैं देखने में काफी हॉट लगने लगी हूँ और मेरी गांड भी ऊपर की तरफ उठ गयी है।फिर मैंने एक दिन नकली लंड को अपनी गांड में घुसाने की सोची.

पहले तो वो अकेले में मेरे साथ एक मिनट भी नहीं रुकती थी, मगर आज उसने वहां से भागने की बिल्कुल भी कोशिश नहीं की. पर शायद उसे पहले से ही इसका अंदाजा था उसने पूरी ताकत से मेरी कमर को पकड़ कर अपनी तरफ खींच रखा था।वो धीरे धीरे मेरी चुचियों पर हाथ फेरते हुए मेरी गर्दन पर हौले हौले अपने दांत धंसाने लगा। कुछ देर बाद मुझे कुछ आराम हुआ तो उसने हौले से एक और धक्का दिया. मेरे नंगी पीठ पर अपने मम्मों को घिसते हुए शायद वो अपनी चुत में उंगली कर रही थी.

पहले पुलिस वाले ने ऋतु के गालों पर लंड को फिराते हुए मुठ मारनी शुरू कर दी. वो लगातार आवाजें निकाल रही थी और अंकित उसके होंठों को चूस कर किसी तरह रोकने की कोशिश कर रहा था. फिर आंटी ने अपनी ब्रा पेंटी उतारी और खुद को कांच में निहारकर फिर दूसरी पहन ली.

और बोली- तो मैडिकल से दवा लेकर आ।मैं मैडिकल से दर्द टैबलेट लेकर आया और साथ में गर्भ निरोधक गोली भी लेकर आया और उसको खिला दी।उसके बाद कुछ दिन ऐसे ही बिना चूदायी किये हुए निकाले. खुद भी पूरा मजा ले रहे थे और मुझे भी उतना ही मजा दे रहे थे।कहानी जारी है.

इसलिए मैंने सोचा कि ऐसा काम किया जाए, जिससे उसका ध्यान मेरी तरफ आ जाए.

फिर मैंने एक झटके से पेनिस अंदर डाल दिया और भाभी की चीख सी निकल आयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उनकी योनि से भी खून निकल रहा था.

मैंने सीधा उनका नाम ले कर बोला- सलोनी, पागलों जैसी बातें मत करो और मुझे बताओ कि हुआ क्या है?भाभी ने कहा- तुम्हारे भाई की कमियों के कारण में माँ नहीं बन पाती और सब मुझे बांझ बुलाते हैं. इससे भाभी एकदम से तिलमिला उठीं और उनके पूरे शरीर ने एक गहरी सी झुरझुरी ली. पहले मैं पढ़ाई पूरी होने के बाद घर पर ही रहा करती थी, पर अब जॉब करने लगी हूँ.

थोड़ी देर बाद मैंने पोजिशन बदल ली और कुसुम की एक टांग को टेबल पर रखवा कर आगे से उसकी चूत में लंड डाल कर हिलाने लगा. वह भी मेरी चुदास की तड़प को भांप गई क्योंकि थी तो मेरी दोस्त ही, जानती कैसे नहीं … उसने कहा- अगर तुझे विकी का लंड इतना ही पसंद आ गया है तो मुझसे पूछ क्यों रही है. मैं भी चिकन नहीं खाती थी तो चाचा मेरे लिए बाजार से छोले लेकर आते थे.

कहीं इसके दिल में भी तो वो ही घंटी नहीं बज रही है, जो मेरे दिल में इसके लिए बजा करती है.

दोस्तो,आपको मेरी पिछली कहानीमस्ती की एक रातऔरअदल बदल कर मस्तीकैसी लगी. मैंने टाइम पास करने के लिए एक किताब पढ़ना शुरू कर दिया और फिर कुछ ही देर बाद मुझे नींद आने लगी. इस बीच वो दुखी होकर मुझे बोला- यार अजय, इस मामले में तू ही मेरी मदद कर सकता है.

मैं- मैं हर हफ्ते आ जाऊँगा तुम्हें चोदने … अब अभी के मज़े तो ले लो मेरी चाची जान. और दूसरी बात मैं काम में इतना व्यस्त रहती हूँ कि बात करने का समय ही नहीं मिलता. उसकी सास ने मेरे चेहरे को देखा और बोली- दामाद जी, आपको बहुत पसीना आ रहा है.

मेरा भी मजा देखो, घबराओ मत लगेगी नहीं।वे मुझे नए अनचुदे लौंडे की तरह समझा रहे थे जो पहली बार लंड का मजा ले रहा हो.

मैंने उससे चौंककर पूछा- भाभी को देखकर तो मुझे ऐसा कुछ लगा नहीं? और मुझे नहीं लगता कि तेरे में कोई प्रॉब्लम हो!क्योंकि मुकेश एकदम हट्टा कट्टा शरीर वाला था. मुझे सोने के थोड़े देर बाद महसूस होने लगा कि वो मेरे मम्मों को दबा रहा था.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020 दोस्तो, मैं आपका ज़ीशान, आपके लिए इस कहानी का 7वां भाग लेकर आया हूँ. आलिया की चुत में लंड घुसते ही, वो जोर से चिल्ला उठी- ओह माँ … मर गई … निकाल, निकाल इसे …आलिया की चीख सुनकर मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020 मैंने उनकी कमर में हाथ डाल कर उन्हें अपने पास खींच लिया और एक ही सिप में पूरा गिलास पी लिया. चाची- आआई…मर गई … एक बार गांड मरवाक़े चल नहीं पा रही थी मैं … अब अल्लाह जाने क्या होगा.

हम दोनों बातें करते हुए बियर पी रहे थे और थोड़ा आराम करने के बाद दोबारा से चुदाई करने में लग जाते थे.

एक्स एक्स दीजिए

उसी वक्त हेक्टर ने बोला- हां, मैं भी आज रात वेरोनिका को चोदना चाहता हूँ. कुंवर साहब की उम्र 70 साल थी, लेकिन वे इतनी उम्र के लगते ही नहीं थे. इन भाई-बहन की चुदाई के बीच वो दूसरा जोड़ा कौन था जिसको लेकर मुझे अभी तक भनक भी नहीं लग पाई थी!भाई-बहन की चुदाई का वो याराना आपको कहानी के अगले भाग में सुनने के लिए मिलेगा.

उसने शबनम के कूल्हों को जोर से पकड़ा और और उसकी चूत पर लंड को रगड़ते हुए और जोर से धक्के मारने शुरू कर दिए. मैंने निकलने से पहले कुसुम को आने का इशारा किया और मैं अपनी कार लेकर अपने होटल आ गया. वो मेरे मम्मों को अपने मुँह में ले लिया और अपने हाथ मेरी कमर पर फिराने लगा.

मैं- फिर अगर तुम मुझे अपना दोस्त मानती हो … तो प्लीज मेरे प्रपोजल को स्वीकार लो … प्लीज मान जाओ.

ऐसे में तुम्हें मैं उसके साथ सैट कर दूं और उन्हें पता चल गया, तो मेरी खैर नहीं होगी. कुंवर साहब ने कहा- हां बेटी क्यों नहीं … तुम मुझे बाबा बोल सकती हो. जिस दिन वो लोग शादी के लिए निकलने वाले थे, उस दिन शाम को रोज की तरह समीरा दादाजी को खाना देने गई.

मैं हर 2-3 दिन में कई कई बार कॉल लगता हूँ मगर कोई उठाता ही नहीं है. दोस्तो, मेरा नाम रवि साहू है और मैं छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से हूँ. जैसे ही मैंने कमरे का दरवाजा बंद किया, पूजा ने मेरी तरफ बाँहें फैला दीं.

कम्मो बेटा, मेरा लंड खाकर अब तू लड़की से औरत बन गयी अब तो मजा आ रहा है न मेरे लंड का?” मैंने उससे पूछा. मैं भी चिकन नहीं खाती थी तो चाचा मेरे लिए बाजार से छोले लेकर आते थे.

एक दो झटके में ही मेरी चूत ने उसके लंड को सैट कर लिया और मुझे इतना अधिक मजा आने लगा, जैसे मैं ज़न्नत में होऊं. बॉस- ले मादरचोद रंडी … तेरी चूत और गांड दोनों में एक साथ लंड घुसेगा, तब तेरी प्यास बुझेगी … भोसड़ी वाली. यह सुनकर मैंने उसके सिर को अपने गोदी में ले लिया और उसके सर की मालिश करने लगा.

फिर मैंने जहां ब्रा का हुक लगता है, वहां जा कर अपनी जीभ से हल्के से चाटना शुरू किया और हल्के हाथों से ब्रा के ऊपर से मम्मों को दबाने लगा.

हम दोनों दिल्ली में मिले, वह वीडियो में मेरा जिस्म देखकर पागल हो गया था. उसकी चूत ने लंड को सहन कर लिया था और अब रस निकलने के कारण चूत में लंड को आने जाने में सुगमता हो चली थी. भाभी बोलीं- थोड़ा आराम से जान …उनके मुँह से जान शब्द सुन कर मुझे भी बड़ा अच्छा लगा और मैं धीरे धीरे भाभी को चोदने लगा.

मैंने कहा- अच्छा अब समझा कि आप मेरी छोटी गाड़ी की वजह से नहीं बैठ रही हो. मैंने कहा- अरे तकलीफ किस बात की, सासू माँ ने देख लिया, तो वो मुझे डांटेगीं, चलिए मैं ही चाय बनाती हूँ.

मेरी नई नई जवानी को लंड की बहुत जरूरत महसूस होती थी, मैं भी वासना में अन्धी हो चुकी थी. चाचा- अरे जीशान! कब आया तू बैंगलोर से … कैसे हुए एग्जाम?परवीन- उसको पूछने की ज़रूरत भी क्या है? वो तो हमेशा टॉप करता है. ऊपर से शॉवर का ठंडा पानी गिर रहा था और नीचे से कबीर का मोटा गर्म लंड मेरी चूत में जा रहा था.

ಹಿಂದಿ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

मैं अपने मूसल लंड से प्रिया की उस छोटी सी मुनिया के परखच्चे उड़ाने पर उतारू था, तो प्रिया भी अपनी मुनिया की संकरी गुफा में मेरे लंड को दबोचकर मारने का प्रयास कर रही थी.

पीछे से झुका कर मेरी गांड और चूत में थूक लगा कर चाटना शुरू कर दिया. वो बेड पर थोड़ा पीछे खिसकी और अपनी उँगलियों से अपनी चूत के होंठों को खोलते हुए अंकित से कहा- आओ बेटा! डाल दो अब इसको अन्दर! और इंतज़ार नहीं होता! अपने बेस्ट फ्रेंड की माँ की चुदाई करना चाहते थे ना. डिनर के बाद रोज की तरह इशिता ने मुझे उसके कमरे में सोने का आग्रह किया क्योंकि मामी भी आज घर पर नहीं थीं.

तू शादी के बहाने मेरे घर आ जाना और यहाँ से ही उनसे मिलने भी चली जाना. मैडम ने गुस्सा होकर कहा- हां देखा है मैंने तुम्हारा टहलना … संतोष के साथ. বাংলা বৌদি পানুफिर हम अलग हुए और मैंने उसकी फ्रॉक और पेंटी उतार दी और हम 69 की पोजीशन में हो गए.

हां तो एक शहर में तुम्हारे पति जैसे मेरा मतलब जिनको सिर्फ़ गांड मारने या मरवाने में ही मज़ा आता है, वैसे लोग बहुत हो गए और उनकी संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही थी. तो जीजा जी भी तैयार हो गए, वो बोले- मेरा भी मन नहीं लग रहा है यहाँ! मैं भी तुम्हारे साथ चलूँगा.

मैंने मामा जी से कहा- अगर अनिल की इच्छा नहीं तो मैं जबरदस्ती नहीं करूंगा. इस बार मैंने उसकी तकलीफ पर ध्यान नहीं दिया और लंड को अन्दर बाहर करने लगा. उस दोपहर को सभी सुइट में लंच के लिए इकट्ठे हुए तो सीमा राजीव ने सभी को अपने इस नए अनुभव की बधाई दी और सभी ने एक वायदा किया कि कभी कोई अपने पार्टनर से कुछ नहीं कुरेदकर पूछेगा.

सोनिया- रोहन, क्या तुम मुझे देख सकते हो?मैं उसे देखकर मंत्रमुग्ध सा बैठा था. जरा धीरे से … फट जाएगी आ… आ… आ… ब… स… थोड़ा … रूको!पर मामा जी नहीं रुके, वे जोश में थे. वो उस रात अलग तरीके से मुझसे लिपटने लगी, उसने मेरा लोअर उतार दिया और मेरे छोटे लंड को मसलने लगी.

तब मैंने कहा- अगर सब जानती समझती हो तो बताओ जब ये स्टोरी पढ़ती हो तो कैसा लगता है?वो हंस कर बोली- अच्छा लगता है.

उस दिन पहली बार मैंने कबीर के लंड को अपने हाथ में लेकर फील किया था. हम दोनों की जीभ आपस में खेल रही थी जिससे हमारा थूक एक दूसरे के मुंह में जा रहा था.

” महेश ने अपनी बहू की बात को सुनकर कहा।नहीं पिता जी मैं यह नहीं कर सकती. लंड के अन्दर जाते ही वो मचल जाती और गांड उठा उठा कर चुदाई का मजा लेने लगती. क्या मम्मी … जो आये तो मुझे उसके सामने मत बुलाना, मैं सलवार कमीज़ में ही ठीक हूँ, पैंट शर्ट पहनने का मन नहीं है.

और मैं झूमती हुई उठ गयी।सोनम ने कहा- क्या हुआ तुझे? तू बिल्कुल होश में नहीं है. इसके बाद आंटी ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत पर लगाया और बोली- अब डाल!मैंने फिर से धक्का मारा, तो इस बार मेरा आधा लंड आंटी की चुत में उतर गया. अब उसे नशा होने लगा था तो मैंने फिर से उसके चूचों पर हाथ रख दिया तो वो मुझे घूरने लगी और बोली- तुझे क्या लगता है कि मैं तेरी इन हरकतों से खुद सेक्स करने को बोलूंगी? भूल जा… ऐसा कुछ नहीं होने वाला।मैं बोला- कोई बात नहीं कम से कम कोशिश तो करूं मैं एक बार।वो बोली- कर ले, जो करना है कर ले।फिर वो अचानक से कहने लगी- मुझे नींद आ रही है.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020 वो जब बाथरूम से बाहर निकली, तो उसने ऊपर नीचे तक लाल रंग की एक ही ड्रेस पहन हुई थी. मैं दोस्तों के साथ थी और मेरा मन था कि मैं एक बार पी कर देखूं कि कैसी होती है.

सनी लियोन एक्स एक्स एक्स वीडियो सेक्सी

उसने ही बताया कि किसी अच्छे से होटल में तुम दोनों मिल लो और तुझे घर से लाने की जिम्मेदारी भी मेरी।कुछ ही दिनों में सपना के भाई की शादी थी. ’ यह कहते हुए उसने खुद ही अपना लोवर नीचे सरका दिया और अपनी टांगों में से निकाल कर दूर फेंक दिया. कब उसने मुझे किस करते करते अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया, मुझे पता ही नहीं चला.

अब उन्होंने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और चप्प चप्प करके उसे चूसने लगीं. चाची की चूत धीरे धीरे पानी छोड़ती जा रही थी। इतने में चाची उठकर बगल में लेट गई और बोली- मेरी जान बहुत तड़पी हूँ इस लंड के लिए … अब और नहीं, मुझे जल्दी चोद दो।चाचा का लंड मेरे लंड से बहुत छोटा था, ये उन्होंने बहुत पहले ही मुझे बता दिया था. सेक्सी फ्री डाउनलोडजैसे ही लंड चुत में घुसा, भाभी जी ने एक आह निकालते हुए कहा- आह मर गई.

फिर मैंने धीरे धीरे उसका पेटीकोट हटाकर उसे नीचे से भी पूरी नंगी कर दिया और उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए.

हम दोनों शुरू से ही अच्छे दोस्त थे इसलिए मैंने भी बिना किसी विरोध के उसका साथ देना शुरू कर दिया. मैंने उसके मुँह पर किस करके उसकी आवाज़ बंद की और एक और झटका लगा दिया.

अब मैंने लंड को अच्छे से बाहर तक निकाल निकाल कर वापिस चूत में पेलना शुरू किया तो कम्मो को भी मज़ा आने लगा और वो अपनी चूत उठा उठा कर मेरे लंड से लोहा लेने लगी. तब मैडम ने कहा- अब शुरू करोगे भी … या नहीं?ये सुनते ही संतोष ने मैडम को अपनी बांहों में जकड़ लिया और क़िस करने लगा. बाहर आकर देखते हैं कि हनी ने तो रीमा की गांड को चोद कर भुर्ता बना दिया था.

उसने अपनी मैक्सी से उसे पोंछा और लेट कर लन्ड को सहलाती रही।कुछ देर के बाद उसने खुद ही बोला- कर लो जल्दी से, शाम हो जाएगी तो बच्चे आ जाएंगे।मैं तो कब से तैयार ही था बस उसके कहते ही मैंने उसे घोड़ी की तरह झुकने को कहा और उसने झुक कर अपनी गांड उठा दी।इस स्थिति में उसकी चूत कितनी मस्त लग रही थी.

अगर तू ये वादा मेरे साथ कर सकता है तो ही मैं तुझसे मिलने के लिए आऊंगी. भाभी को ही घर का सारा काम करना पड़ता था, इसलिए मैं भी उनके काम में हाथ बंटा देता था. करीब दस मिनट तक जीभ से चूत को चोदने चूसने के बाद भाभी अकड़कर तन गईं और झड़ने लगीं.

मेरी उम्र 12 साल हैमैंने कहा- यहां मुझे आपकी इज़ाज़त है या नहीं?तो उसने हंस कर कहा- आप वहां भी हाथ लग सकते हो, आपको इज़ाज़त है. उसके बाद प्रीति बोली मुझे बाथरूम जाना है तो मैं बोला दोनों साथ चलते हैं.

सुंदर नंगी औरतें

लेकिन नीचे फ़ोन के नेटवर्क की हालत बहुत ख़राब रहती है, इसलिए मैं कई बार ऊपर ही जाकर थोड़ी देर लेटता था. उसके पिता को बताने का नतीजा निकला कि उन्होंने अपनी बेटी को किसी दूसरे शहर में भेज दिया और मेरी एक ट्यूशन जाती रही. रचना शॉक होते हुए कहने लगी- क्या!रोनित- अरे डार्लिंग सारे कपड़े नहीं … ब्रा पेंटी में आ जाओ, तुम मुझे अपनी फिगर तो दिखाओ, तभी तो मैं कोई फैसला ले पाऊंगा.

मैंने एक दो बार मना किया लेकिन नीचे से कबीर की जीभ मेरी चूत में घुस चुकी थी. मतलब उसके हुस्न को सोचते हुए मैं ये कहानी लिख रहा हूं, तब भी मेरा लंड फड़फड़ा रहा है. नेहा अब सहम‌ सी गयी‌ और अआह … ये क्या कर रहे हो? छोड़ो … छोड़ो मुझे!” उसने जोरों से कसमसाते हुए कहा और उठने का प्रयास करने लगी.

मुझे भी एक मस्त लंड मिल गया है, जिससे मैं अपनी चूत को चुदवा कर अपनी चूत की खुजली को शांत रख पाती हूँ. ”नोज, टीथ, हैण्ड, फिन्गल, लिप्स, चिन, हेड, लेग, इअल, आइज, एब्डोमेन साले याद हैं. तभी इतने में हिना आंटी झड़ गयी थीं, उन्होंने एक ज़ोर से चीख मार दी- आहह.

कम्मो ऐसे ही करीब पांच सात मिनट मुझे चोदती रही फिर थक कर उतर गयी मेरे ऊपर से. वहीं दूसरी ओर चाहता भी था कि उन्हें पता चल जाये ताकि कुछ आगे बढ़ा जा सके।जी हाँ दोस्तो … ये हैं मेरा इकलौता प्यार … मेरी सरोज मामी, उम्र 38 साल, हाइट 5’4”, यहीं गुडगाँव में रहती हैं। मैं इनसे पिछले 3 साल से प्यार करता हूँ, इनको पाना चाहता हूँ.

मैं पेटीकोट और ब्रा लेकर बाहर आयी, तो रशीद हल्के हल्के से मुस्कुरा रहा था.

इस समय उसकी उंगली मेरी गांड में चल रही थी, जिससे मुझे डबल लंड का मजा मिल रहा था. पता नहीं जी कौन सा नशा करता है रिंगटोनथोड़ी देर में निशा भाभी लाइट बंद करके सो गई और मैं मुकेश के दूसरी और से लेटकर उसके उठने के इंतजार में जगा पड़ा था. गूगल तेरी मां की छूटकभी कभी वो किस करते करते मेरे पेट पर, मेरी नाभि पर … और कभी निप्पलों को काट लेती. करीब 15-20 मिनट धक्के देने के बाद मैं रुक गया और उसके पैर नीचे लेकर एक पैर नीचे रखकर एक पैर उठाकर अन्दर डाल दिया.

मेरे आफिस में हम दोनों की गर्म साँसों की आवाज़ के साथ सोना की ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आंमम्म … आआ … हाआं … आहम्माम … जैसी आवाजें भी गूंज रही थीं.

वह भी अपनी साड़ी खोलने लगी। शर्ट खोलकर एक ही झटके में अपना लुंगी खोली … वह मुझे कपड़े खोलते हुए देख रही थी और मैं उसे।मुझे जाँघिया न पहने देखकर बोली- मुझे चोदने का इंतजाम पहले से ही कर के आये थे?मैंने कहा- तुमको अब पता चल रहा है … मेरा लंड तुम्हारे बुर में जाने के लिए कल सुबह से ही तड़प रहा है।वह साड़ी खोलकर अपना ब्लाउज खोल रही थी. राहुल का होने वाला था और पिंकी तो पागल हो गयी थी … अचानक एक झटके के बाद पिंकी की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो राहुल के मुँह पर अपना मुँह लगा कर शांत हुई. पूजा- वैसे अगर मैं सच बोल रही होती तो भी कौन सा तुम किसी को बुला सकते थे?मैं- पूजा, मेरी नज़र में एक आदमी है जिसके साथ हम सुरक्षित हैं.

मैंने कहा- अगर तुम अपने कपड़े नहीं उतारोगी, तो मैं अपना औजार तुम्हारे छेद में कैसे घुसाऊंगा. उसके कड़क निप्पल मानो मुझे इन्वाइट कर रहे थे कि आओ और आकर हम झपट पड़ो. उसने मेरी टी-शर्ट पकड़ कर उतार ही दी और मेरी छाती को गौर से देखने लगी.

गांड मारना वीडियो

फिर उन्होंने एक झटके में अपना पैग ख़त्म करके गिलास साइड टेबल पर रख दिया. शीघ्रपतन भी ऐसी ही समस्याओं में से है। आप को यह जानना जरूरी है कि कहीं न कहीं आपकी बचपन की गलतियों के कारण भी कई ऐसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं जिनमें से एक है- हस्तमैथुन।हस्तमैथुन करना एक प्राकृतिक क्रिया है और इसका नुकसान तब तक नहीं होता है जब तक कि हस्तमैथुन करने का सही तरीका और मात्रा आपको पता होता है. अंकित शबनम के स्तनों के साथ इस तरह से खेल रहा था जैसे की एक बच्चा बॉल के साथ खेलता हो.

उफ … क्या कसरती बदन था उसका … चौड़ा भरा हुआ सीना … उसपे छोटे छोटे निप्पल्स, मजबूत बाहें। लगता है रोज जिम जाता होगा, पेट पर भी कोई चरबी नहीं, मजबूत जांघें … एकदम पहलवानों की तरह बदन था उसका।मैंने भी अपनी टीशर्ट उतार दी, नितिन की आँखें जैसे उसके सर से बाहर निकलने वाली थी.

मैंने भी हाथ साफ़ किये और बाहर आ गई,हम दोनों बाहर कमरे में गए तो देखा कि मेरे पति सो चुके हैं।मैं उनको उठाने लगी तो सुखविन्दर ने मना कर दिया और बोले- कोई बात नहीं, रहने दो, उनको सोने दो; मैं अब चलता हूँ।और वो दरवाजे की तरफ चल दिए.

मगर कुछ तो पसंद नहीं आते और कुछ को मैं अपने डर के कारण जवाब नहीं दे पाती थी. अंकित ने शबनम की पैंटी को बिना कोई वक़्त गँवाए निकाल दिया और उसकी टांगों के बीच बसे उस गीले गर्म स्वर्ग को देखने लगा जिसमें वो कुछ ही देर में डुबकी लगाने वाला था. सेकसी विचार mahitiउसके चेहरे पर उसके दर्द का साफ पता चल रहा था।मुकुल राय- क्या हुआ बेटी? ज्यादा दर्द हो रहा है क्या?परीशा- आहह हां पापा … दर्द हो रहा है.

फिर अगले दिन सुबह उसका मैसेज आया कि वह कुछ दिनों के बाद अपने घर वापस चला जायेगा. मैंने अपनी जेब से निकाल कर एक हार उनको अपनी शादीशुदा जिंदगी के पहले नज़राने के तौर पर दिया. एक दिन मैंने उसे मिलने के लिए बुलाया और वो मान भी गयी। मैंने उसके साथ दिल्ली के कनॉट प्लेस में लंच किया और थोड़ी बातें की और फिर हम पास के पार्क में चले गए.

फिर मैंने अपनी नाक उनकी बगल में घुसा दी और वहां से जो उनके पसीने की महक आ रही थी, वो मुझे दीवाना करने के लिए काफ़ी थी. वो बोल रहे थे कि वो मुझे गिरफ्तार करके ले जाएगा, तो ले जाए या फिर तुम जाओ, कहीं से भी पैसा लेकर आओ.

सोनिया- फिर तुमने किया क्यों नहीं?रोहन- क्योंकि मुझे लग रहा था कि अगर मैं तुम्हें मैसेज या कॉल करूंगा, तो तुम समझोगे कि यह लड़का वाकयी चंपू है.

कुछ देर के बाद में वो आई और उसने कल जैसे पेपर अपने दरवाजे पर पड़े देखे, तो उसने इधर उधर देखा और झट से स्टोरी वाले कागज़ उठा कर अपने कपड़ों में छिपा लिए. उसने अपनी बाँहें उसके चारों ओर लपेट लीं और अपने सारे शरीर को उसकी ओर धकेलते हुए गले लगा लिया. मुझे यक़ीन नहीं हो रहा था कि आप मुझे क्या करने के लिए बोल कर गयी हैं.

जानवर वाली सेक्सी फिल्में मैंने कन्फर्म पर क्लिक कर दिया और उसके सामने ही उसका नम्बर डिलीट कर दिया. मेरे घर पर तो दरवाजे में एक छोटा सा सुराख था, जिसका किसी को पता नहीं था.

उनकी भाषा से मुझे लग रहा था कि वो लोग गांव के ही रहने वाले थे और उम्र में भी बड़े थे. साथ ही मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में भी डाल दी ताकि उसे दोनों छेदों का मजा आ सके. हमने दोबारा से अपना मम्मे चूसने का प्रोग्राम कॉलेज बाथरूम में शुरू कर दिया.

ಸನ್ನಿ ಲಿಯೋನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ

फिर वो बोली- अरे मैं तो भूल ही गई कि मैं तो टॉयलेट जाने के लिए उठी थी. वो बोलीं- क्या तुम मुझसे प्यार करते हो?मैं भाभी की बात इस अंदाज में सुनकर एक पल के लिए तो हिल गया. मैं- साली … कमीनी, नीचे पेंटी पहनी ही नहीं क्या तूने?रितिका- नहीं यार, यहाँ आकर निकालना ही था, तो फिर पहनने का क्या फ़ायदा?उसकी इन सेक्सी बातों को सुनकर मेरे लंड का तनाव एकदम से बढ़ गया.

मैंने सविता को कहा कि वो बच्चों को लेकर घर चली जाये और मैं ऑफिस का काम खत्म करके वापस आ जाऊंगा. वो कभी मेरे बाल पकड़ रही थी, कभी फर्श पर हाथ पटक रही थी, तो कभी खुद अपनी चूत उठाकर मेरे मुँह में देने लगती थी.

’ भरते हुए एकदम से अपनी चूत को मेरे मुँह से लगा दिया … और मेरे सर को अपने हाथों में पकड़ कर अपनी चुत को दबाने लगी.

थोड़ा प्यार बचा कर रखना मेरी चाची जान … उम्माह …अगले भाग में उस दिन रात तक कैसे चुदाई चली … सब लिखूंगा … और उसके बाद चाची के दोनों बहनों को मैंने कैसे पटाया, ये भी जानिए. हालाँकि अंकित को किसी निर्देश की जरूरत नहीं थी लेकिन उसने फिर भी कहा- इसको निकालो! और बर्दाश्त नहीं होता अब. सिर्फ़ आप ही हैं, जिससे मैं सभी तरह की बातें कर लेता हूँ क्योंकि मैं भी आपको अपना ही मानता हूँ.

अंकित के हाथ उसकी पीठ से होते हुए उसके कूल्हों तक पहुँच गए थे और धीरे धीरे सहला रहे थे. लेकिन उसके लिए कोई भरोसेमंद अनुभवी पुरुष चाहिये जो मुझे (अमित) आप में (राज) में दिखता है. भाभी की चूत खुली हुई थी और रोज अपने पति से चुदवाने के कारण मेरा लंड आसानी से पूरा अन्दर चला गया था.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को विशू तिवारी का प्यार भरा नमस्कारमेरी पहली सच्ची कहानीमिस्त्री की लाजवाब स्त्रीमें आपने पढ़ा मैंने कैसे मिस्त्री की सेक्सी और सुंदर औरत को पटा कर उसकी चूत की चुदाई की.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी 2020: अपनी चूत पर एक मर्द की जुबान का अहसास पाते ही वो मादकता से सिसकने लगी. एक घंटे में मैंने प्रीति के साथ 3 बार दमदार चुदाई की और अपने कपड़े पहन कर जाने को रेडी हो गया.

यह कह कर वो अपने घर की तरफ जाने लगीं, तो मैं भी उनके पीछे चलने लगा. लड़का मस्त है, मेरा तो दिल उस पर कई बार आया था … मगर उसने कोई घास ही नहीं डाली. उन्होंने गुलाबी रंग का लहंगा और ब्लाउज पहना हुआ था और ऊपर लम्बी सी ओढ़नी का घूँघट किया हुआ था.

उनकी तारीफ़ सुनकर मुझे बड़ा मस्त सा लगा और मैंने सोच लिया कि अब मैं और भी हॉट से दिखने वाली ड्रेस पहन कर आया करूंगी.

अब उसने मेरा बिल्कुल भी विरोध नहीं किया और चुपचाप मेरे साथ बिस्तर पर लेट गयी. उसके बाद वो बाथरूम में अपना हैंडबैग लेकर गई और 5 मिनट बाद बाहर आई तो मैं उसे देखता रह गया. वह सीधे उसकी आँखों में देख रहा था जब वह अपनी लंबी पतली उंगलियों से उसके बालों को सहला रही थी.