बीएफ सैक्स वीडियो

छवि स्रोत,देसी गर्ल बीएफ सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

সাউতের বিএফ: बीएफ सैक्स वीडियो, विक्की ने उसकी नाईटी को निकाल दिया, अब वो सिर्फ़ ब्रा पेंटी में रह गई थी.

बीएफ बीएफ बीएफ चुदाई वाली बीएफ

माँ का पल्लू हटते ही रहमत की आंखें बड़ी हो गई, वो माँ के चुचों को घूरने लगा और माँ का चेहरा गुलाबी पड़ने लगा, पता नहीं शर्म से या माँ की बढ़ रही कामुकता से।माँ के 75% चुचे खुल चुके थे. नेपाली लड़कियों की बीएफ सेक्सीचुदते चुदते मैं बेहोश हो गई मगर वो हवस के पुजारी मेरे बेजान जिस्म से ही अपनी प्यास बुझते रहे और फिर थक हार कर मेरे आजू बाजू नंगे ही सो गए.

इसलिए मैं हर दूसरे तीसरे दिन मुट्ठ मारता रहता था। मुझे एक चीज़ बहुत परेशान करती थी. बलात्कार बीएफ वीडियोइस तरह की चुसाई में उसकी जितनी भी लार निकलती, मैं उसे अमृत समझ कर पीता चला गया.

रागिनी की चुत की दुबार चुदाई के साथ ही मुझे अब उसकी गांड का छेद भी मस्त लग रहा था.बीएफ सैक्स वीडियो: मैंने भी उसके लंड की मालिश की और फिर समीर ने मेरी गांड को निशाना बनाया.

पूजा- जी नहीं मेरे मामू, ये तो सरप्राइज के साथ फ्री है… वो तो अलग है.परंतु मुझे डर भी रहा था कि कहीं आंटी जाग गईं तो डांट ण पड़ जाए इसलिए बेबी के सोने के कुछ पल बाद मैं भी सो गया.

बीएफ सेक्सी 7:30 - बीएफ सैक्स वीडियो

कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?”मैंने कहा- नहीं आंटी! ऐसा कुछ नहीं है!वो किचन में चली गईं और खाना बनाने लगीं.लेकिन अब जबसेक्स की ज़रूरतमुझे है तो कोई चुत, कोई मौसी नहीं मिल रही है.

तभी चाचा मुझसे बोले कि प्लीज आरती किसी से मत बताना!और रूम से भाग गये. बीएफ सैक्स वीडियो मेरे कई पहलवान दोस्त हैं जिनको आप जैसी भारी चूतड़ों और बड़ी बड़ी चूचियों वाली औरतें चोदना पसंद हैं.

मैं हैरान हो गया और उसे देख रहा था- अनु और चुदाई??मतलब वो कभी हिन्दी में अश्लील शब्द नहीं बोलती थी, वो हमेशा इंग्लिश में ही बोलती थी सेक्स करते वक्त! इस लिए मैं हैरान था कि वो हिन्दी में बोल रही थी.

बीएफ सैक्स वीडियो?

फिर उन्होंने सोचा सुमन तो कुछ बोल भी नहीं रही, तो क्यों न कुछ मज़ा ले लिया जाए. माया ने वैसे ही किया और अब वो मस्ती से उस्मान के लौड़े से खेलने लगी. मैंने अन्तर्वासना की कई हिंदी में देसी चुदाई की कहानी में ये सब पढ़ा था.

हास्पिटल ओपनिंग के कुछ ही दिन के बाद मेरे पास एक लेडी रागिनी आई, जिसकी लड़की के पेट में बहुत तेज दर्द हो रहा था. हम तीनों वहीं नंगे ही सो गए, करीब शाम पांच बजे मामी ने हम दोनों को जगाया. जैसे ही उसका हाथ अपनी गर्दन से हटाया वो जाग गयी- ऊंऊं… कहाँ जा रहे हो पापा?उसने मुझे फिर से लिपटा लिया.

” उन्होंने आते ही मुझे ज़ोर से किस किया और मेरे छोटे छोटे मम्मे टॉप के ऊपर से ही दबाने लग पड़े. मैंने उससे कहा- जान, क्या तुम मुझसे प्यार नहीं करती?नेहा बोली- करती हूँ, अपनी जान से भी ज्यादा. जैसे उसने कुछ सुन ही नहीं हो, पप्पू अपना हाथ और रगड़ के पीछे से उससे चिपकते हुए बोला- यार सबको क्या इसी बस से आना था! भाभी सॉरी… आपको तकलीफ हो रही है पर क्या करूँ? फिर हल्की आवाज़ में रूपा के कान के पास आके पप्पू बोला- अरे भीड़ है तो ये सब चलता है.

इसके बाद मैंने दीदी को मंगलसूत्र पहनाया और फिर आखिर में हमने फेरे लिया. मम्मी ने कहने लगीं- यार मोहन, अभी जाने दो, जरूरी काम से जाना है, दो चार दिन बाद का प्रोग्राम सेट कर लेते हैं…लेकिन वो कहां मानने वाला था, मोहन बोला- मैं मान भी जाऊं तो ये भोला और शमशेर कहाँ मानेंगे, ये तो मुझसे कई बार कह चुके हैं तेरे लिए, आज इनको अपनी दिखा ही दे!तभी एक ने इशारा किया कि इसे खेत के अन्दर ले चलो तो उसने मम्मी को हाथ पकड़ लिया और खेत के अन्दर ले जाने लगा.

शायद उसने मेरे चेहरे को देखकर समझ लिया था कि मैं उस पर लट्टू हो गया हूँ.

30 बज चुके थे… हम ने हाथ मुंह धोया और गेट खोल कर खेतों की तरफ निकल पड़े.

नीता ने झट से टावल से वापस अपना जिस्म ढक लिया पर तब तक उसने पप्पू को अपने नंगे जिस्म का पूरा नज़ारा दिखा दिया था. आपको मेरी ये सच्ची देसी सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल कीजिए. बुर की चटाई तो चल ही रही थी कि बोनस में गांड में भी मामी का अंगूठा भीतर बाहर होने लगा था.

जब विनीता पानी ले कर आई तो उसने भी मेरे साथ वो र्स्टाटअप ड्रिंक लिया. लेकिन मिलना हमारे लिए बहुत ज़्यादा मुश्किल था क्योंकि अगर किसी को पता चलता या कोई हमें बात करते हुए देख भी लेता, तो बहुत समस्या हो जाती. माया उस्मान का लंड अपने मुँह से निकालते हुए बोली- चोद बहन के लौड़े, सस्स्स… और जोर से चोद.

एक समय था जब लोग यौन सम्बन्ध, नग्नता, प्रेमालाप के दौरान किये जाने वाले आलिंगन चुम्बन सब कुछ एकांत में या छुप के किया करते थे लेकिन अब नयी पीढ़ी में ये सब कुछ बदल रहा है सभी लोग तो नहीं लेकिन कुछ लोग यह सब खुलेआम करने लगे है, शेयर करने लगे हैं जो कि मैंने ऊपर लिखा है.

मगर एक बात बता देता हूँ तेरी सील टूटने से थोड़ा खून भी निकला होगा, तू घबराना मत. उन्होंने मेरे और उनके घर के बीच में जो लकड़ी का फट्टा रख कर पुल बनाया था, उस पर से चल कर वो मुझे अपने घर की छत पर ले गए. मैंने इस बार कुछ नहीं कहा तो मामी ने मेरे होंठ पे होंठ रख दिए और थरथराती हुई बोलीं- तेरे होंठ तो बड़े सॉफ्ट हैं!मैंने मामी के होंठों से अपने होंठ चिपका दिए और उनका रस चूसने लगा.

एक दिन मैं और जीजू एक-दूसरे से मजाक कर रहे थे और उस दिन जीजू ने मुझसे बोला- पिंकी तुम बहुत सेक्सी हो. उसने अपनी जीभ मेरी क्लिट पर फिराते हुए मेरी चुत को चाटना शुरू कर दिया. पापा जी का लंड चुत से रगड़ खा रहा था, जिससे सुमन को भी मज़ा आ रहा था.

मम्मों को नीचे से ऊपर दबाते हुए पप्पू रूपा का सीना चाटते हुए बोला- वैसे जान…! माना कि बस में ऐतराज़ करती तो तेरी बे-इज़्ज़ती होती… पर ये सच बता कि क्या तुझे ऐतराज़ करना था जब मैं बस में तेरे जिस्म से खेल रहा था?पप्पू साड़ी निकालने लगा तो रूपा उसे थोड़ा दूर करके अपने साड़ी पकड़ती हुई बोली- अरे इतनी जल्दी क्या है जो वीराने में तू सीधे पेटीकोट पे आ गया? पहले अच्छे से गरम तो कर.

थोड़ी देर बाद जब मोना नहा कर आई तो गोपाल उसे खा जाने वाली नज़रों से देख रहा था. करीब 10 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा फिर मेरे बिना कुछ कहे बिस्तर पर टांगें फ़ैला कर लेट गई और कहने लगी कि सारे मज़े तुम ही लोगे या मुझे भी दोगे?मैं उसके चेहरे पर फुद्दी मरवाने की वासना साफ देख सकता था, उसे चुदने की आग लगी हुई थी.

बीएफ सैक्स वीडियो उन दोनों पतियों ने फटाफट खाना खाया और अपने बैग और हेलमेट उठा कर, अपनी चांदी जैसी गोरी और सुन्दर दो बीवियों को चोदने के लिए मेरे हवाले छोड़ कर चले गए. जब पीछे से मेरी चूत में लंड डाल कर जीजू मुझे चोदने लगे तो मैं एकदम से गनगना गई और अपनेजीजू का लंडअपनी चूत में लेकर चुदवाने लगी.

बीएफ सैक्स वीडियो इस जवानी में मज़ा नहीं करेंगे तो क्या बुढ़ापे में जाकर मज़ा करेंगे. मैंने अब जोर जोर से सोनिया को चोदना शुरू कर दिया था, सोनिया की चूत पानी की पिचकारियाँ छोड़ रही थी, उसकी जवानी का गर्म पानी मेरे लौड़े पे गिर रहा था.

मैंने उसकी ब्रा दोनों बाजुओ से निकाल दी और उसकी दोनों चुची को अपने दोनों हाथों से दबाने लगा.

सेक्सी फिल्म कुत्ता वाला

रियल सेक्स स्टोरी का पहला भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-1कहानी का दूसरा भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-2अब तक की रियल सेक्स स्टोरी में आपको मालूम हुआ था कि आज मेरी गैंग बैंग चुदाई की कहानी का खेल शुरू होने वाला है. वो टावल बाँध कर, कपड़े उठा कर ज़रा शर्माते हुए बोली- उफ्फ, इस टावल को भी अभी गिरना था क्या? पर अब ठीक है… क्या करें? ये कपड़े तो पहनने ही पड़ेंगे… नहीं तो टावल बार-बार खुलेगा. अजय के जाने की देर ही थी कि बस जोशना ने मेरा कॉलर पकड़ा और ऐसे किस करने लगी जैसे इसके अलावा उसे कुछ दिख ही नहीं रहा.

मैंने शिवानी को बेड के बीच में किया और मैं ठीक घोड़े की तरह उस की कमर पर एक झटके से चढ़ा और फिर पीछे से शिवानी की चूत में लंड को बिना पकड़े डालने लगा. मेरा 7 इंच का लंड देख कर वो भी लंड पर झपट पड़ीं और लंड को झट से अपने मुँह में ले लिया. मैं एक निप्पल को मुँह में भर के जोर-जोर से चूसने लगा और एक हाथ से दूसरे चुचे को दबाने लगा.

और मैंने उस के होंठों पर एक सनसनी पैदा कर देने वाला कामुकता भरा चुम्बन जड़ दिया.

किरण भाभी के 2 बच्चे हैं लेकिन उनको देखने से बिल्कुल नहीं लगता कि वो 2 बच्चों की माँ हैं. कभी किसी लड़की को बिना कपड़ों के नहीं देखा था, तो बस लड़की के नंगे जिस्म की कल्पना ही थी. मैं पिछले एक साल से इस साईट पर हूँ और मैंने बहुत सी चोदन कहानियां पढ़ी हैं, सभी बहुत पसंद आईं.

मैं तो पहले संजय से चुदवाना पसंद करूँगी, उसके बाद साहिल से गांड मरवाना है क्योंकि टीना ने बताया इसका लंड मोटा है. फिर हम लोग ‘टुंडे कवाबी’ के यहाँ गए और मैंने दो कवाब रोल ले लिए और हम लोग रोल खाते हुए मेरी बाईक की तरफ चलने लगे. मैंने लंड बाहर निकाला और साँस लेते हुए पूछा- निकल गया क्या?उसने कहा- इतनी जल्दी कहाँ बेटा.

अतुल- मैंने कब मना किया, पहले चुत का मज़ा लूँगा और फिर बारी-बारी से तीनों की गांड भी मारूँगा. मैंने उसके सारे कपड़े जल्दी से उतार दिए और उसे बिल्कुल नंगी कर दिया.

भीड़ की वजह से पसीना चू रहा था और वो कॉटन की साड़ी पसीने से कमर और पेट पे चिपकी थी. दोस्तो कैसी लगी मेरी सच्ची कहानी??अगर आपका भी अपनी फैमिली मेम्बर के साथ कोईनाजायज़ सम्बन्धबन गया है, तो मुझे जरूर मेल करें. कुछ देर लंड चूसने के बाद अर्चना बेड पर लेट गई और उसने अपने दोनों पैर फैला लिए और मुझे चूत चोदने के लिए बुलाने लगी.

एक बार मैंने सोचा दबा कर दूध निकाल दूँ, लेकिन तुम बहुत अच्छे से चूसते हो इसलिए सोचा आज तुमसे ही चुसवा लूँ.

मुझे देखना है आपने मेरी चुत का क्या हाल किया है?पापा- हट तो जाऊंगा बेटा. जब वो दूसरे दिन खाना बनाने आई तो मैं सुबह उठकर तैयार हो चुका था और भैया उसके आने से पहले ही जॉब पर चले जाते थे क्योंकि उनको ऑफिस में लंच मिलता था. कितनी हरामी औरत थी यह रूपा जो अपने यार को अपनी नंगी बेटी का जिस्म दिखा कर उसका लंड चूस रही थी.

खैर मैंने भी उससे हाय हैलो किया और उसे बैठने को कहा तो वो मेरे ही बगल में बैठ गई, क्योंकि हमारी टेबल पे कोई और सीट तो खाली नहीं थी. पहले तो फ्लॉरा ने मना किया कि उसको ये छोटी रहेगी मगर सुमन के कहने पर उसने वो पहन ली और दोनों बैठ कर बातें करने लगीं.

अब भाभी को भी चुत चुदाई का मजा आने लगा था, वो मेरा पूरा साथ दे रही थीं- आआहह. पहले तो मैंने दोनों हाथों से विनीता की चूचियों का मर्दन किया, फिर एक हाथ उसकी पैंटी पर ले गया. तो मैं पीने का पानी ढूँढने लगा। जब मुझे पानी की बोतल नहीं मिली तो मैंने लाइट ऑन की.

हॉट सेक्स वीडियो अमेरिका

मैं फिर से उसे किस करने लगा और मैंने उसके मम्मों को दबाना चालू किया.

पप्पू ने सोचा कि कुछ किया नहीं तो भी ये औरत नाराज़गी दिखा रही है तो कुछ करके इसकी नाराज़गी लेना अच्छा है. मैंने अपनी गांड पर थूक लगाया और धीरे धीरे लंड पर बैठने की कोशिश की. फिर मैं उसकी चुत पर टूट पड़ा, उसकी टांगों को फैला कर भाभी की चुत को चाटने लगा.

तभी शिशिर अपना एक हाथ नीचे लाया और मेरी शलवार का इजारबंद खोल कर उसे सरका दिया और मैं नीचे से एकदम नंगी हो गई. हां जी, लेकिन वो ऐसे नहीं मरेगा, उसे किसी मोटे डंडे से दबा कर मारिए. व्हिच बीएफवो एक मादक अँगड़ाई ले कर बोली- अंकल, प्लीज़ छोड़ो मुझे, आप क्यों मेरा जिस्म सहला रहे हो.

उसने कहा- मैं लड़कों में रुचि नहीं रखता और मैंने कभी लड़कों के साथ सेक्स किया भी नहीं है, लेकिन आज तुमने इस अजगर को जगा दिया है तो इसको सम्भालना तो पड़ेगा ही. लेकिन मैंने उसे रिक्वेस्ट की- प्लीज़… ये फोन मुझे दे दे… मैं घर वालों को क्या जवाब दूंगा.

नहीं बुआ… वो राजन जीजाजी का बहुत तगड़ा है ना… बिल्कुल घोड़े की माफिक…”सच में?” बुआ आश्चर्यमिश्रित स्वर में बोली- तुमने लिया है?हाँ बुआ… मुझे तो दो लोगों से एक साथ चुद कर भी उतना मज़ा नहीं आया जितना अकेले जीजाजी के साथ…”दोनों अब पगडंडी पर पहुँच गयी, मैं जीजाजी के बारे सोचते हुए वापिस लौटने लगा. ”कई बार मन ही मन चाहा भी कि आप आओ और मुझ में जबरदस्ती समा जाओ; मैं ना ना करती रहूँ लेकिन आप मुझे रगड़ रगड़ के चोद डालो अपने नीचे दबा के. वो साली भी तो अपने पति से रोज चुदती होगी इसलिए तो उसकी इतनी बड़ी गांड हो गई.

ये सुन कर मैंने भाभी कस के पकड़ लिया और पीछे से उसके चूतड़ों को कस के जकड़ लिया. हम वहीं बैठ कर बातें करने लगे, उसने बताया कि उसका पति सेल्स मैनेजर है और अक्सर आउट ऑफ़ टाउन ही होता है. गच्च से मेरा पूरा लंड उसकी बुर की सील को तोड़ता हुआ पूरा अन्दर हो गया.

इतने में ही बाहर से एक औरत की आवाज़ आई।आरे छोरे…(अरे लड़के)।कित मर ग्या रे…(कहां रह गया रे).

अब मैंने उसकी कमीज को ऊपर कर दिया और निकालने लगा, मैंने उससे कहा- साथ दो मेरा. अपनी कमर आगे पीछे करके रूपा पप्पू से चूत में उंगली करवाती हुई उसका लंड मसलते हुए बोली- देख पप्पू, तू गालियाँ दे या जो कुछ भी करे… मुझे कोई प्राब्लम नहीं, पर मार नहीं खाऊँगी.

वो उसे हाथ में लेकर सहलाने लगीं और फिर अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. उसके बाद उन्होंने मुझे अपने साथ चलने को कहा, मैं उनकी गाड़ी में जा कर बैठ गई. चोद मुझे और जोर से चोद मुझे, ओह मेरे बंदर, ला अपना मोटा लंड और अन्दर डाल.

पिछले तीन हफ्ते में बहन की काया ही बदल गई थी, मेरी बहन के चूतड़ पहले की अपेक्षा भारी हो गए थे और चुचियां बिल्कुल तन गई थीं. एक एक करके सब मुझे बियर पिलाते गए, मगर मैं महेश को नहीं पहचान पाई और सब हंसने लगे. कुछ ही देर में मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ… पर पता नहीं क्यों, मैं उसे ये बता नहीं पाया और उसके मुँह में ही झड़ने लगा.

बीएफ सैक्स वीडियो रात को बाहर क्यों आऊं?मैंने उसी पल अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. प्रिय पाठको, यह कहानी अन्तर्वासना की सबसे पुरानी कहानियों में से एक है.

हिंदी सेक्सी वेदिओ

उसने जल्दी से मेरे सर को पकड़ के मुझे ऊपर उठा लिया और मुझे किस करने लगी. बुआ का केवल एक लड़का था, जिसकी शादी अभी नहीं हुई थी, तो वह ही बुआ की देखभाल करता था. क्यों तू उसकी चुत रोज देखता है क्या?गुलशन- मुझे लगा ऐसा तो बोल दिया.

सुमन- आह… आह… पापा एमेम मेरी जान निकल रही है ओफ्फ… एयेए…गुलशन जी ने सुमन को बहलाया कि वो आराम से करेंगे. उसके बाद मैंने सोनिया को अपने आगोश में लिया और प्यार का एक डीप किस किया. बीएफ चोदने वाली फोटोशायद उसी समय उसके लंड ने उसका साथ छोड़ दिया, उसकी पिचकारी चल गयी, वो तेज़ी से अपना हाथ छुड़ा कर रूम से भाग गया.

मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए और उसके ऊपर चढ़ गया, मैं लंड हिला कर बोला- अब तुम्हारी बारी है.

मैंने उसे माफी मांगी, लेकिन उसने कातिलाना नजरों से मुस्कराकर कहा- यह मेरी गलती है. कुछ ही पलों में वो इतनी ज़्यादा गरम हो गई थी कि नीचे से अपने चूतड़ उछाल रही थी.

पापा बोले- छिनाल कहीं की तूने मेरा नाम मिट्टी में मिला दिया, कितना भरोसा था तुझ पर. धीरे धीरे तेरी चूत को मैं अपने दोस्तों से बड़ी करावाऊंगी, फिर तुझे कुछ नहीं होगा. ओहह आरती हम लोगों की रखैल बन गई आज से!और मेरी चूत फैला कर चूसने लगे, चाटने लगे.

अब अपने को रोक पाना मुझसे मुश्किल हो गया और मैं अनाड़ी की तरह इधर उधर हाथ मारने लगा.

तभी चाचा ने मेरी पैंटी खींच कर उतार दी और मेरी टांगें खोल कर अपना मुंह रख दिया मेरी चूत में और नाक से सूंघने लगे और बोले- क्या खुशबू है आरती तेरी चूत की! तुझे आज फुल रंडी बना कर जम के चोदूंगा. फिर मैंने अर्पिता के होंठों पर अपने होंठों को रख दिए, वो भी साथ देने लगी. एक दिन मैं सुबह सवेरे ही नेट पर अन्तर्वासना की कहानियाँ पढ़ रही थी, जानने के लिए कि जो मैं ने किया कहीं वो ग़लत तो नहीं? पर ऐसा नहीं, काफी सारी औरतें हैं जो अपने बदन की प्यास मिटाने के लिए किसी गैर मर्द की मदद ले लेती हैं.

बीएफ सेक्सी गाने वाली वीडियोवो जानबूझ कर ऐसे बैठी कि उसके मम्मों की झलक गुलशन जी को दिखती रहे और वो उनको सिड्यूस कर सके. तो मैंने उसके होंठों पर होंठ रख दिए। वो हल्का सा विरोध करने लगी तो मैंने उसके चूचों पर हाथ रख दिया और उन्हें दबाने लगा। वो फिर भी नाम मात्र का विरोध करती रही.

कुशवाहा शायरी वॉलपेपर

दोस्तो, आप लोग तो जानते ही होंगें कि ऐसे नामों वाली लड़कियां कितनी सुन्दर और गोरी-चिट्टी होती हैं. मैंने उसको उस दिन बड़े स्टाइल से प्रपोज किया, आरती बिल्कुल नर्वस हो गई और वहां से चली गई. सारा पानी निकल कर मेरी छोटी सी चूत से बाहर बह रहा था, मैं उनकी गोद में ही निढाल हो रही थी.

जय बहुत ही अच्छी तरह से निशा की चुदाई कर रहा था और उसकी गांड मार रहा था. मैंने विनीता के बगल में लेट कर ज्यों ही उसे छुआ वो तड़प कर मुझसे लिपट गई. वो सब जाने दो, देखो अब टीवी ऑन करो नहीं तो मैं आप से नहीं बोलूँगी और रूम में चली जाऊँगी अंकल.

महेश ने अपने लंड को पहले चूत पे रगड़ा, मेरी चूत तो पानी पानी हो रही थी अब उसमें बहुत ज़्यादा खुजली मची हुई थी. मेरी ट्रू सेक्स स्टोरी पर अपने विचार मुझे अवश्य मेल करें![emailprotected]. पीछे से जीजू मुझे चोद रहे थे और आगे से राज ने मेरे मुँह की चुदाई करना शुरू कर दिया था.

पर अब और नहीं हो सकता, वैसे भी तुम्हारे जीजाजी अब 3-4 महीने के बाद आएँगे, तो मैं कैसे 3-4 महीने में लंड के बिना रह सकती हूँ. उस अजनबी का लंड अभी भी टाईट था और उस पर सलमा की चुत का गाढ़ा सफ़ेद रस लगा था.

आखिर उन्होंने चूस चूस कर मेरा पानी निकाल दिया और फ़िर वहीं चादर से मेरा लंड पोंछ दिया और अपने रूम में जाकर सो गईं.

मैं सच में नहीं जानती थी कि औरत की चुत से भी जूस निकलता है क्योंकि आज तक मेरी चुत का जूस कभी निकला ही नहीं था. लड़की और कुत्ते का सेक्सी बीएफइसे आप यहाँ से download करें!बठिंडा पंजाब की सेक्सी लड़की नीलम से हिंदी और पंजाबी में सेक्स चैट करने के लियेदिल्ली सेक्स चैट गर्ल नीलमपर आयें और सेक्स की मजेदार बातें करके मजा लें!. बीएफ वीडियो xxx.comटीना और बाकी दोनों लड़कियां खाने-पीने का जो सामान था, उसको सैट करने में लग गईं. उधर बहूरानी ने एक हाथ नीचे ले जा कर मेरे लंड को पकड़ के सुपारा अपनी रिसती चूत के मुहाने पर रख के लंड को चूत का रास्ता दिखाया.

करीब पन्द्रह मिनट के बाद चाचाजी का कन्ट्रोल छूटा और चाचाजी ने मेरे मुँह में गर्म गर्म लावा छोड़ दिया.

फ़िर मौसी मेरे लंड पे साबुन मलने लगीं और थोड़ी देर में ही ढेर सारा झाग बन गया. गोली के असर के चलते करीब एक घंटे तक दीदी की गांड मारी इसके बाद मेरा माल निकल गया. इसके बाद उसने अपने जींस को मोड़कर एक तकिया बनाया और मेरे सर के पीछे रख दिया और मेरा सर दीवार से टिकाये रखने को कहा.

मैंने सोचा कि अति उत्तेजना में कहीं इसने सच में मूत दिया तो गड़बड़ हो जाएगी. मैं समझ गया कि वो झड़ने वाली है, तो मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और तेज़ी से शॉट मारने लगा. ?वो बोली- आप गंदी मूवी देखते हो और वो भी इतनी तेज आवाज में?मैंने कहा- तो इसमें बुराई क्या है?वो बोली- मैं ये सब मम्मी को बताऊंगी.

ಡಾಗ್ ಸೆಕ್ಸ್

रात को बाहर क्यों आऊं?मैंने उसी पल अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. अपनी बड़ी उंगली मेरे मुंह में डालकर निकाली और घचाक से मेरी कुंवारी चूत में घुसेड़ दी. रूपा अब कोई भी ऐतराज़ किये बिना पप्पू को अपने जिस्म को मसलने देते हुए बोली- हाय रब्बा, कितना बेशरम है तू, बाप रे कैसी गंदी बात करता है? हम पति पत्नी तो बच्चों के सोने के बाद ही करते हैं ये सब… अगर बहुत रात हो जाये तो ये खेल कई दिनों तक खेलते भी नहीं हैं.

वैसे कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता दूँ.

उसको लगा कि शायद अपनी माँ के सुहाग के साथ ऐसा करने से भगवान नाराज़ हो गए, तभी उसकी माँ को उठा लिया.

उसकी कुंवारी रोयेंदार बुर की महक से अब मेरा भय जाता रहा और मैं पूरी तन्मयता से उसकी छोटी सी बुर चाटने लगा. तो मैं उसे किस करने लगा और फिर जोर से धक्का लगाया। इस बार पूरा लण्ड अन्दर चला गया। उसकी चीख मेरे मुँह में घुट कर रह गई. मां बेटे की ब्लू बीएफमैं उठ नहीं रहा था, मौसी ने मुझे बाकी बातें घर में बताने का वादा करके मुझे वापस ले आईंरात को खाने के बाद मैं तुरंत ही मौसी के पास चला गया और पूछने लगा, तो मौसी बोलीं- सबको सो जाने दो फिर बताऊंगी.

इस बीच वो 2 बार झड़ी, मैंने भी उसकी चूत में अपना वीर्य उगला और उसके ऊपर ही लेट गया. ये चूत से निकलती सीटी मुझे सुनने में बहुत मजेदार लगती है और अदिति बहूरानी की चूत तो सू सू करते टाइम ऐसे सीटी निकालती है जैसे कहीं लगातार घुंघरू से बज रहे हों. समय की नजाकत को समझते हुए मामी ने मुझे धीरे धीरे चुदाई करने का इशारा किया.

रंजु ने बताया कि अभी सभी रसोई के काम निपटा कर बुआ को दूध के साथ एक गोली और दी है. मैं उस के गले को किस करने लगा और एक तरह से मैं उस को चाट रहा था।वो जोर से सीत्कार कर रही थी- ओहोहोहोह जान्नऊ.

उसने मुझे वापस बस स्टैंड तक छोड़ा… यहां तक भी पूछा कि भूख लगी हो तो कुछ खा ले… पैसे मैं दे दूंगा.

ये देख कर मुझे बहुत गुस्सा आया और अगले दिन मैंने उससे बात नहीं की और ना ही उसके घर पे गया. इस बीच वो बहुत गर्म हो चुकी थी, जिसका अनुमान उसकी साँसों के फूलने और पैरों के फैलने से लगाया जा सकता था. उसने मम्मी को घोड़ी बना कर खुद घोड़े की तरह मम्मी के पीछे आ गया और अपने मोटे सुपारे को चूत के छेद पर रख कर धक्का मारा कि मम्मी का मुँह तो जमीन पर टिक गया.

सेक्सी ब्लू फिल्म बीएफ सेक्सी बीएफ सच बता कितने लोगों से चूत चुदवाई हो? ऐसे मस्त बूब्स और फूली चूत हम लोगों ने नहीं देखी. बीच में क्या हुआ कितनी बातें हुईं … इन सबको लिखने का कोई मतलब नहीं है अब सीधे चुदाई का मजा लें.

उसमें मैं आप सब पाठकों से एक प्रश्न पूछना चाह रहा था कि सब लड़कों को कोई कुंवारी लड़की चुदाई के लिए मिल जाती है, तो वो खुशी से पागल हो जाते हैं. मैंने झट से उनके बदन से उनकी टी-शर्ट को अलग कर दिया और अपनी टी-शर्ट को भी उतार दिया. कुछ देर बाद चाचाजी ने मेरे कान में धीरे से कहा- मेरी जान चूसोगी नहीं इसे??मैं- नहीं नहीं…चाचाजी- क्यों? तुम्हें अच्छा नहीं लगा?मैं- मैंने कभी ऐसा नहीं किया.

सेक्स व्हिडिओ ओपन सेक्स व्हिडिओ

सुबह 6 बजे पापा को फोन आया, हमारे गांव में मेरी छोटी चाची का देहांत हो गया है. जब से उन्होंने ऑफिस ज्वाइन किया था, तब से ही मैं मन ही मन उन पर मर मिटी थी. दो लोगों के सोने वाली बर्थ हमको मिल गई, इसमें दो आदमी आराम से सो सकते थे.

चल खोल दे अपनी चुत!मामी ने लंड पकड़ कर मसल दिया और कहा- तू ही नंगी कर दे ना. साथ ही आगे हाथ बढ़ा कर उनके मम्मों को दबाने लगा और धपाधप उन्हें चोदने लगा- भाभी.

अब तो आंटी ने अपने गाउन के बाकी बटन भी खोल दिए और आंटी पूरी नंगी मेरे सामने लेटी हुईं, अपने मम्मे मुझसे चुसवा रही थीं.

रहमत ने माँ को पलट दिया, उनकी पीठ को देखते ही रहमत का लंड खड़ा हो गया और वो अपने लंड को मसलने लगा. आज मुझे मज़ा देने का तेरा अपना पक्का वादा याद है ना?सुमन- हाँ याद है. मैंने बोला- भाभी मुझे अपना हज़्बेंड ही समझो और जब तुम बोलोगी, तब मैं तुमको चोदने के लिए दिल्ली आ जाऊंगा.

अरे, मैं इन सब बातों के बीच आपकी इस कहानी के एक जरुरी पात्र से परिचय करवाना ही भूल गया- मोहन लाल. मैं उसे बेड के एकदम नज़दीक ले आया, मेरी वाइफ ने अनजान बनते हुए पूछा- कहां चले गए थे? और अब ये लाइट बंद करो प्लीज़!मैंने कहा- करता हूँ यार… तुम बहुत मस्त लग रही हो, रोशनी में तुम्हें इस तरह पूरी नंगी देखने का मज़ा ही कुछ अलग ही है. पहले तो मैं डर गया कि कहीं अर्चना मुझे पकड़ कर सबके सामने ले जाकर रात वाली बात न बता दे.

और वैसे भी जिसका इतना मस्त लौड़ा हो, उसे शर्माना शोभा नहीं देता। इतना कह कर अंजना ने उसका कच्छा नीचे कर दिया और एक झटके से राहुल का 9 इंची हथियार पट से बाहर आ गया।हे राम ऐसा लल्ल….

बीएफ सैक्स वीडियो: फिर सागर ने जैसे ही मेरी चुत में लंड डाला और मैं बिना दर्द के भी जोर से चिल्ला उठी- ओह राजा. फ्लॉरा- वाउ यार… काश अभी वो आ जाएं तो मुझे उनके बड़े लंड के दीदार हो जाएं.

वो अपने सामने दोनों भाइयों का लंड अपने ही लिए खुला देख कर बहुत ही रोमांचित हो उठी थी. क्या मैं ये ठीक कर रहा था?ये बात मैंने शीला से कही, तो शीला ने मुस्कुराते हुए मुझे जो जबाब दिया, उससे मेरा अपराध बोध कम हो गया. वो बोलीं- अरे मेरे भोलू देवर जी, मैं तो बहुत दिन से इसी का इन्तजार कर रही थी… मगर यहाँ कैसे करोगे?मैं बोला- तो फिर चलिए… नीचे मेरे कमरे में चलिए.

पूरे 20 मिनट की धकापेल चुदाई के दौरान आंटी 3 बार झड़ चुकी थीं, फिर भी मैं आंटी को चोदता रहा.

यह सुन कर मैं लंड को हाथ में पकड़ कर टोपे को लॉलीपॉप (लंडपोप) की तरह चूसने लगा. तभी एक ज़ोरदार धक्के के साथ सलमा उस अजनबी के ऊपर गिरकर उससे चिपक गई. अब मैंने अपनी नंग धडंग पत्नी के दोनों हाथ ऊपर कर दिए और दोनों पैर पूरे के पूरे चौड़े कर दिए इस से उसकी चूत पूरी खुल गयी, वो बहुत ही कामुक अवस्था में पसरी पड़ी थी.