अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,बिहार के बीएफ फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

करीना कपूर बेबी: अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी, हग करते समय संजू की दोनों चुचियां विक्रम की मजबूत छाती से चिपक गई थीं.

सेक्सी सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो बीएफ

जैसे ही दोबारा मैं भाभी की चुदाई करूंगा तो वह कहानी भी जरूर लिखूंगा. हिंदी बीएफ बोलोउसके आने के बाद मैंने भी बाथरूम में जाकर कपड़े उतारे और लंड धोकर एक बाथरोब पहन लिया.

फिर मैंने थोड़ी सी स्कॉच और गिरा ली और वो मेरे दोनों पैरों को चाटने लगा. सी एक्स बीएफउधर भाभी जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आह मार दिया हरामी … साले निकाल ले … मुझे नहीं खुलवानी.

वो बड़ी गर्मजोशी के साथ प्रियंका की चूत को उंगली से चोदने के साथ चूसने में लगी थी.अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी: दूसरों के‌ जैसे मेरे दिल में भी तुम्हारे लिए हवस होती प्यार की जगह … और दूसरों जैसा होता तो तुम भी तो मुझसे प्यार नहीं‌ करती.

अगर किसी तकनीकी वजह से ऊपर वाला लिंक काम नहीं कर रहा तो आप मुझेइस लिंक पर भी कॉन्टेक्ट कर सकते हैं.मैं नहीं जान पाया था कि आखिर में वो एक औरत ही है … और उसको भी अपनी आग बुझाने के लिए कुछ न कुछ चाहिए.

सेक्सी बीएफ वीडियो मां बेटे का - अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी

रवि ने पोर्न मूवी देख और दिखा कर पिंकी को अपनी चूत चटवाने का शौक लगा दिया था.ये एकदम सच है कि जब औरत को मालूम हो जाता है कि अब उसकी कारगुजारी को देखने वाला या रोकने टोकने वाला कोई नहीं है, तब वो बिंदास हो जाती है.

मैंने बोल दिया कि आप आओगे गद्दे चादर लेकर … और वो कॉलेज में बर्थ सर्टिफिकेट लगना है, वो भी लाओगे. अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी बातों बातों में शायरा भूल गयी थी कि उसने कुकर में पकने‌ के लिए दाल चावल रखे हुए हैं … इसलिए मैंने उसे अब याद दिलाया.

आपने पढ़ा था कि मेरे साले के दामाद कमल ने नई चुत चुदवाने का वायदा किया था.

अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी?

उसने लिखा हुआ था- हाय सिमरन! मैं इतनी देर रात मैसेज करने के लिए माफी चाहता हूं. ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो गलती हो जाना स्वाभाविक ही है, प्लीज़ वो सब नजरअंदाज कर देसी सेक्सी लड़की की पहली चुदाई का मजा लीजिएगा. अब उसने धीरे धीरे अपने लंड पर धक्के लगाते हुए उसने लंड को मेरे मुँह में घुसेड़ना चालू किया.

रवि पिंकी को गर्म करने के नए नए प्रयास करता, कई बार रात के अन्धेरे में उसने अनिल को भी बेड पर बुलाया, पर चूमाचाटी और इधर उधर हाथ लगाने के बाद वो किसी न किसी बहाने से पिंकी और अनिल को अलग कर देता. अनामिका उससे छूटते हुए बोली- आह छोड़ कमीनी … मैं अभी तेरे को बताऊँगी साली रुक. मैंने उससे कहा- तेरी शादी के बाद भी तो एक ब्वॉयफ्रेंड है उसका क्या?ये सुनकर वो पहले तो चुप हो गई.

हम दोनों ने फिर किस करना शुरू कर दिया और एक दूसरे की टीर्शट निकाल दी. मैंने होंठों की बजाए गालों पर ही किया था, फिर भी शायरा का चेहरा देखने लायक था. न्यासा के मम्मों के बीच का क्लीवेज इतना गहरा था कि लग रहा था कि ये दो ऊंचे पहाड़ों की बीच की घाटी है.

ऐसा लग रहा था कि मेरे जिस्म की सारी शक्ति अब निकलने वाली है, निकलने वाली क्या … निकल रही थी. फिर हम एक दूसरे को चूमते हुए हम दोनों एक दूसरे की बांहों में कब सो गए पता ही नहीं चला.

अब मैं तेज तेज ठोकने लगा और लंड झड़ने को हो गया तो मैं चाची की कमर चूमते हुए कहने लगा- मीना मेरी जान आहहह!और मैंने कसकर कमर पकड़ ली और चाची ने भी टांगों को कसकर पकड़ लिया.

वो शायद सोच रही थी कि मैं उसे छेड़ रहा हूँ क्योंकि एक तो मैंने कल रात ही गड़बड़ कर दी थी.

मगर उसकी चुत को चाटते चाटते मैं अब खुद‌ ही होश खोने लगा, क्योंकि जैसे जैसे मेरी जीभ शायरा की चुत पर चल रही थी … वैसे वैसे ही मेरी उसकी चुत के प्रति दीवानगी‌ बढ़ती जा रही थी. वो मेरे पास आ गया और हम दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर लिया और बेड पर लेटते चले गये. इस फोटो के जवाब में मैंने पहले तो सॉरी लिखा और कहा कि शायद मुझे ऐसी डिमांड नहीं करनी चाहिए थी … लेकिन अगर मैं नहीं मांगता, तो आपके इतने खूबसूरत कबूतरों के दर्शन कैसे होते?फिर उत्तर में उन्होंने बोला- अच्छा … तो तुम इन्हें पाने के लिए क्या कर सकते हो?मैं बोला- करने को तो मैं दुनिया से लड़ जाऊं … लेकिन फिर फायदा क्या, जब बिना लड़े ही तमन्ना पूरी होती दिख रही है.

मैं जान गया कि इसकी चूत को मजा आ रहा है।फिर मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के लगाने लगा।वो मेरी पीठ को सहलाते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी और मेरे मुंह में जीभ देकर मेरी लार को पीने लगी. उसके बाद फिर लगातार मुझे मौका नहीं मिल पाया और वो पूरा हफ्ता ऐसे ही निकल गया. अब आगे की इंडियन देसी गर्ल गांड कहानी:अब मेरी चाचा जी से सारी शर्म खुल गयी थी.

तो हेतल बोली- तुम दोनों सच में किस्मत वाली हो जो तुम दोनों के पास इतना अच्छा और बड़ा लंड हमेशा साथ में रहता है.

वो- तुम्हें मेरा खाना सच में पसंद आता है … या मुझे खुश करने के लिए ऐसा बोलते हो?मैं- मेरी मां की कसम, अब तक खाया हुआ बेस्ट खाना है ये!शायरा मेरे तारीफ करने से खुश हो गयी. मैं उसके निप्पल पर जीभ से चाट रहा था और बीच बीच में काट भी लेता था. मैंने ज़ोर लगाया तो बिन्नी बोली- ये जरूरी है क्या?तो मैंने कहा- तुम्हारी मर्जी है? यदि इतना ही मज़ा लेना है तो जाओ और पूरा मज़ा चाहिए तो … पूरा मज़ा दूँगा क्योंकि मैं रोहन नहीं हूँ।बिन्नी- रोहन तो बेवकूफ़ है.

जब उसने डिल्डो से मुंह हटाया तो वो उसकी लार में पूरा सन कर चमक उठा था. पर जैसे ही मैं उठी, मेरे पैर डगमगा रहे थे।मेरे बगल में बैठे हुए डेविड ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींचते हुए मुझे अपनी गोद में बिठा लिया।उसकी इस हरकत से मैं समझ गई थी कि इसको पिछली रात की पूरी बात पता चल गई है. अब दोनों ही एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे।मीनू मुझे जोर जोर से किस करने लगी और मैं भी उसका साथ देने लगा.

फिर बात ही बात में उसने अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया और हल्के से सहलाने लगा.

वापी आने वाला था तो डॉली ने कहा- कुछ देर यहीं रुकते हैं और कुछ हल्का चाय नाश्ता करते हैं. आपने पढ़ा था कि मेरे साले के दामाद कमल ने नई चुत चुदवाने का वायदा किया था.

अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी उसकी हालत देख मैंने उनके होंठों पर होंठ लगाए और उनके ऊपर लेटकर होंठों को पीने लगा. मैं- हम‌ दोस्त हैं और दोस्ती में क्या लड़का … और क्या लड़की! दोस्त तो सब एक जैसे ही होते हैं.

अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी उसका भोसड़ा पूरा फटा हुआ था। मगर उसके उस फटे हुए भोसड़े को चाटने में मजा बहुत आ रहा था. लंड अन्दर लेते ही मेरी सिसकारियां निकलने लगीं और मेरे मुँह से जोशीली आवाज में ‘उफ्फ आह आह आई उह ईईई आह.

अब जब मेरा उतावला मर्द मेरे ऊपर आ गया था और उसका बदन मेरे बदन पर था तो मैंने भी अपनी बांहें खोल दीं और उनके बदन को हाथों से सहलाते हुए प्यार देने लगी.

कार्टूनों का सेक्स

उसने चार पानी अपने लंड का पानी मेरे तीनों छेदों में निकाला और एक बार का पानी मेरी चूचियों और मेरे चेहरे पर मल दिया. इतने में ही मैंने एक और धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. न्यासा के 34D के गोल और ठोस चुचे दबाने में ऐसी फीलिंग आ रही थी जैसे मैं सख्त बॉल्स को दबा रहा होऊं.

शायद उस बिल्डिंग का मेन दरवाज़ा अभी नहीं खुला था … क्योंकि वहां का चपरासी दूसरा था. शायरा के साथ चुदाई करते हुए मुझे कोई जल्दी नहीं थी … इसलिए मैं अब धीरे धीरे ही अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा … और लगभग दो तीन मिनट तक ऐसे ही आराम आराम से लंड को हिलाता रहा. तुम्हारे साथ ड्रिंक करने का मूड है मगर मैं ऐसे बाहर नहीं पी सकती हूँ, तो हम किसी होटल में रूम ले लेते हैं.

पर मेरी चूत इतनी टाइट थी कि लंड एक सेंटीमीटर भी नहीं घुस पा रहा था.

मैंने अपने बैग से एक मोटी जैकेट निकाल कर पहन ली और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चली गयी. बियर की कैन ख़त्म हो गयी थी तो मनीषा किचन में गयी और बियर ग्लास्सेज में कर लायी. अजय ने अब मनीषा को नीचे किया और घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में घुस गया.

मेरे कहते ही उसने अपने होंठों और दांतों के भिंचाव को मेरे निप्पल्स पर चलाना शुरू कर दिया. वो पागलपन में कभी कभी अनामिका की गांड में दांत से काटने लगी … लव बाईट देने लगी. उसके कुछ दिन बाद लॉकडाउन लग गया और इस दौरान हम दोनों ने बहुत बार चुदाई का मजा लिया.

मैं- तुम दुनिया वालों की वजह ऐसा बोल रही हो?वो- नहीं, मैं हम दोनों के लिए ऐसा बोल रही हूँ. जब मैं सोफे पर बैठी तो उसमें मेरे चूतड़ लगभग नंगे ही दिखाई दे रहे थे.

जी में आ रहा था कि फिर से कविता को अपनी बांहों में भर कर जीभर के उसके रसीले होंठों को चूम लूं. प्रिया भाभी भी बीच बीच में ट्विंकल की चुत के दाने को सहलाती और कभी उसके और मेरे जिस्म को चाटती जातीं. मैं यहां बता देना चाहता हूँ कि उस समय मोबाईल फोन तो आ गए थे … मगर बस पैसे वाले लोग ही इस्तेमाल करते थे.

इसके बाद क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो, मैं चन्दन सिंह एक बार फिर से आपका अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ.

फिर वो डॉली और अन्नू से मेरे बारे में पूछने लगीं कि मैं उनको कैसे और कहां मिला और कितने टाइम से इनके साथ हूं, वगैरह वगैरह. साले सब चुदक्कड़ किस्म के दोस्त थे, जो हर वक्त नई नई जगह घूमने के बहाने अपने लंड की प्यास बुझाने का काम करते रहते थे. कुछ समय बाद जब दर्द कम हुआ तो उसने लंड अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

हम दोनों ही एक दूसरे की बीवियों को पीछे से जब कोई नहीं होता था तो ताड़ते रहते थे. ” मैंने भी मानवेन्द्र की टी- शर्ट को खोलते हुए एक तरफ रखते हुए एक सिसकारी ली.

फिर मेरी चूत ने एकदम से पानी छोड़ दिया और मैं पूरी ढीली होती चली गयी. मैंने नीचे पैंटी पहनी थी जो मेरी चूत के पानी से गीली होती जा रही थी. रवि के टावर में नीचे ही एक उसका दोस्त अनिल रहता था, जो किसी एमएनसी में मार्केटिंग में था.

जी चावला की नंगी फोटो

यूं ही दस मिनट के बाद उसने बोला- विवेक अब मुझसे रुका नहीं जाता, रात को जल्दी आना.

अब आगे:निशि की बात मान कर जैक ने उसकी ब्रा को ऊपर खिसका दिया और उसके एक बूब्स को मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को एक हाथ से दबाने लगा. तो मैंने अपने को हॉट और सेक्सी बनाने के लिए क्या किया?हाय फ्रेन्ड्स, मैं आप सभी लोगों का तहे दिल से शुक्रगुजार हूं कि आप मेरी गर्म व सेक्स कहानी बड़ी रूचि के साथ पढ़ते हैं और आनन्दित होते हैं. उसकी आह आह मर गई की आवाज निकल रही थी मगर मैं लगा रहा और उसकी गांड खोल दी.

एकाएक विक्रम बोला- भाई, एक और काम करा दे, देख मेरे पास तो समय नहीं है … मुझे बुर का दर्शन किए एक साल हो गया. मैंने मामी को अब गाली देना चालू कर दिया- आह ले साली … रंडी बोलती है लंड मुँह में नहीं लूंगी. xxx इंडियन बीएफअगली बार मैंने उसे मिनी स्कर्ट में ले जाकर मूवी दिखाई और बाद में वो अपने कपड़े चेंज करके अपने घर चली गई.

बस इसी वजह से मैं सायरा से दूर रहने की कोशिश करता था … और शायद सायरा भी इसीलिए संयम बरत रही थी. मैं उसके पीछे ही था … इसलिए मैं अब उससे आगे नहीं गया बल्कि उसकी सीट के पास ही खड़ा हो गया.

मैंने अपने चेहरे को शॉवर की तरफ किया और आंखें बंद करके मानवेन्द्र के साथ हुए उस छोटे से पल को याद करने लगा. घर से इतनी दूर तो हम अब आए हैं, जब आपने मेरे साथ यहां आने की हां की, तो मैंने तभी सोच लिया था कि अब मैं आपके साथ अपनी सभी ख्वाहिशें पूरी करूंगी. फिर मैं शीशे के सामने खड़ी हो गयी और अपनी मस्त सेक्सी फिगर को देखने लगी ताकि मेरा ध्यान गुस्से से हटकर दूसरी जगह लगे और मैं थोड़ी शांत हो जाऊं.

कुछ दिन घर पर रहने के बाद जब वापस जाने लगा तो मेरे पड़ोसी मनमोहन जी बोले कि मैं उनके साथ ही रहूं. उसके द्वारा की गयी चोरी की सजा उसे मिल रही थी, वो इसे सही से दिखा रही थी. इसलिए पूजा बुआ को मेरे जैसे 8 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड वाले गबरू जवान की जरूरत थी, जो उनकी कमरतोड़ चुदाई कर सके.

मेरा बॉयफ्रेंड एक कलाकार आदमी था और वो हमेशा मुझे किसी न किसी तरह से सरप्राइज़ करता रहता था.

अब राजू चाचा ने संध्या चाची को अपने ऊपर खींच कर कहा- आज तू मुझे चोद. जल्दी ही वो जवान लड़का ट्रॉली के साथ दरवाजे को धकेलता हुआ अंदर दाखिल हुआ.

वो मेरे सीने पर आकर बैठ गया और अपना लौड़ा मेरे मुँह में डाल कर मुझे लंड चुसाने लगा. मैं चाचा जी के कच्छे में खड़े लंड को अपनी टांगों पर महसूस कर सकती थी. मेरी मां इतनी तेज तेज़ सनी का लंड चूस रही थीं कि सनी जल्दी ही झड़ गया.

जैसे कि मैंने पिछली सेक्सी बुआ Xxx स्टोरी में बताया था कि मेरी बड़ी वाली मीना बुआ तो इतनी बड़ी रांड थीं कि वो तो पैंटी ही नहीं पहनती थीं. मैं तुम्हें कभी किसी चीज़ के लिए नहीं कहूंगी क्योंकि हमेशा से तुम पर पहला हक़ मानसी का ही होगा. ”सायरा रसोई की तरफ जाने लगी तो मैंने उसके हाथ को पकड़ा और बोला- रोज रात को दूध पिला दिया करो.

अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी वो- प्यार?मैं- तुम प्यार नहीं करती मुझसे?वो- पर हमें ये सब नहीं करना चाहिए था. वो- तुम फिर शुरू हो गए!मैं- क्या करूं तुम्हें देखते ही बस तारीफ करने का दिल करता है.

bp पिक्चर चाहिए

उसने अपना दूसरा हाथ मेरी चूची पर पूरी तरह से रख दिया और हल्के हल्के से दबाने और सहलाने लगा. इसके बाद तकरीबन 15 मिनट और रुकी फिर गाड़ी भर जाने के बाद ड्राइवर ने गाड़ी आगे निकाली. वो लंड को निकाल कर हाथ से हिलाने लगा और कुछ ही सेकेन्ड के बाद उसके लंड से सफेद पदार्थ निकला.

मुझे इस तरह देखने से वो मुझसे इशारे से पूछने लगी- अब क्या हुआ?मैं सायरा के समीप गया और बोला- रूई, कैंची और हेयर रिमूवर लेकर आ जा. मेरा मन करने लगा कि काश मैं उसके बदन को छू पाऊं … काश वो अपने कपड़े उतार कर अपने बदन को मेरे बदन से लिपटा दे. शिल्पी राज का सेक्सी बीएफमैंने पूछा कि और लौडों ने भी आपकी मारी होगी!तब वे बोले- वह मोहल्ला ही ऐसा था, उधर हर नमकीन लौंडे की गांड मारी गई थी.

फिर मैंने उसकी एक चुची को अपने मुँह में भर लिया और निप्पल चुभलाने लगा.

मैं खुद को अब सन्तुस्ट और थकी हुई महसूस करने लगी थी, पर मैं कविता का साथ देती रही. मैं धीरे धीरे लंड गांड के अन्दर डालने लगा और साथ में कमली को मसलने लगा.

फिर जैसे ही मैंने अपनी जींस पूरी उतारी, तो मेरी 42 इंच की मोटी सी गांड छलक गयी और मैंने उस लौंडे को अपनी गांड हिलाते हुए दिखाई. मैम के जाने के बाद मैं एकदम प्रफुल्लित हो गयी और मैंने ये चाबी वाली बात मानसी को नहीं बोली. पहले से थोड़ा अलग। उसने भी आहिस्ता से कहा।किस एतबार से?पहले कोई देख नहीं रहा था और अब दो लोग देख रहे हैं कि मेरे साथ क्या हो रहा है।क्या हो रहा है तुम्हारे साथ?बोलने के बजाय वह कुछ शर्मा गयी।शर्माओ मत.

मैं- क्या आपसे कभी उनका साबका पड़ा!असलम- हां वे मेरे से दो तीन साल बड़े थे, क्या मस्त हथियार था उनका … ऊपर से गांड मारने के एक्सपर्ट उन जैसा कोई शायद ही होगा.

धीरे धीरे पूरा लण्ड अन्दर करके पैसेंजर ट्रेन की रफ्तार से चुदाई शुरू की जो बढ़ते बढ़ते राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड तक जा पहुंच गई. मैंने पूछा कि और लौडों ने भी आपकी मारी होगी!तब वे बोले- वह मोहल्ला ही ऐसा था, उधर हर नमकीन लौंडे की गांड मारी गई थी. उसके बाद अचानक से मेरी चुत में एक बाढ़ सी आ गयी और उसका पानी मेरी चुत के पानी के साथ बाहर आने लगा.

बीएफ भेजो फिल्मचूंकि वो गेम पीरियड में ही होना था, तो मेरे क्लास से सिर्फ मैं ही जाने को राजी हुई … क्योंकि बाकी लड़कियां इस पीरियड में बकचोदी करती थीं. कुकोल्ड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक जवान कपल ने मुझसे सम्पर्क किया अपने सेक्स जीवन में कुछ नया करने के लिए! हम एक होटल में मिले और …हैलो अन्तर्वासना रीडर्स, कैसे हैं आप सब!अपनी कुकोल्ड सेक्स स्टोरी के साथ मैं आप सबका दोस्त राज एक बार फिर से हाजिर हूँ.

गंदी गंदी चीजें

मैंने उन लोगों को तुम्हारे बारे में बताया कि तुम एक घंटे बाद आने वाले हो. उन्होंने मेरे पैन्ट के अन्दर हाथ डाल दिया और वो अपने हाथों से मेरे लंड को खूब जोर जोर से दबाने लगीं. एक मेरी सखी, मैं और हर्ष।जब गेम्स का पीरियड आया तो मेरी सखी उसके बॉयफ्रेंड से मिलने चली गयी.

शायरा इसके आगे कुछ कहती कि तभी मैं बीच में ही बोल पड़ा, जिससे वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी. उसके चूसने के अंदाज से ही पता लग रहा था कि वो कितनी चुदासी हो गयी है. अबकी बार अयान का लंड जैसे ही मेरी चुत में सैट हुआ, उसने जोरदार तरीके से अपने लंबे लंड को मेरी चुत में जड़ तक उतार दिया.

उस दिन से आज तक जब भी मैं पंजाब से आता हूं तो भाभी और मेरे बीच चुदाई होती रहती है. वो पागलपन में कभी कभी अनामिका की गांड में दांत से काटने लगी … लव बाईट देने लगी. एकता ने अन्नू और डॉली से हेतल और उनकी महिला मित्रों का परिचय करवाया.

” ये कहते हुए उसने मेरी तरफ हाथ बढ़ाया … और मैं अपना हाथ उसके हाथ में देते हुए उसे ताड़ने लगा. मैंने उसको मेरे फ्लैट पर चलने के लिए कहा क्योंकि यहां पर वो अकेली रहती थी.

अचानक मेरी टोन अब बदल गयी, जिससे शायद शायरा को भी अपने नंगेपन का अहसास हुआ और वो तुरन्त उठकर बैठ गयी.

घर आकर मैंने शायरा को वो सैनेटरी पैड दिए तो वो उछल पड़ी- ये … ये क्या है!मैं- सैनेटरी पैड हैं और क्या है?शायरा को शर्म आ रही थी मगर फिर भी उसने कहा. नई नवेली दुल्हन का बीएफहम दोनों दो बार की चुदाई में काफी थक गए थे इसलिए ऐसे ही नंगे सो गए. झारखंड बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने जब उनके पति रवि के बारे में पूछा, तो भाभी सारी बात संक्षिप्त में बताने लगीं- अरे जोड़ी की तो क्या बताऊं … फिलहाल सीन ये है कि वो काम से दिल्ली गए थे और वहीं पर लॉकडाउन में लॉक हो गए. न्यू स्टोरी ऑफ़ सेक्स में पढ़ें कि मैं अकेला घर में पोर्न मूवी देख लंड मसल रहा था.

आज मैं ही उसकी गर्लफ्रेंड की चुदाई करने वाला था और उसकी गर्लफ्रेंड अपने बॉयफ्रेंड के दोस्त से चुदवाने के लिए तड़प रही थी।पहले मैंने मीनू के टॉप को उतार और उसकी ब्रा मेरे सामने आ गयी.

बात करते करते कब हम एक दूसरे के होंठों का रसपान बड़ी बेताबी से करने लगे, पता ही नहीं चला. फिर वो अपने जीभ से मेरी चुदाई करने लगा और मैं भी इस टंगफक में खो चुकी थी. मीनू भी ऐसा ही करती थी।मैं मीनू और राहुल दोनों का ही अच्छा दोस्त बन गया था।अब मैं आपको मीनू के बारे में बताता हूं.

अहहह … इसमें अपना कामरस गिरा दो जीजू … लंड के रस से मेरी चुत की प्यास बुझा जाओ. वो भी अपना पानी छोड़ कर मेरी प्यास बुझा रही थी मगर वो प्यास थी‌ कि‌ बुझ ही नहीं रही थी. अब पति के दोस्त का ध्यान कभी उसके निप्पलों पर जा रहा था, कभी नीचे से झांकती चूत की दरार पर.

एक्स एक्स वीडियो प्रियंका चोपड़ा

चाहे वो लड़का हो, जिसे गांड मराने का शौक हो … या कोई लड़की या महिला हो. उसके चेहरे के उत्साहित भाव मुझे ऐसे बता रहे थे जैसे कि हम दोनों गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड हों. जैसे ही वो थोड़ा सहज हुई … मैंने पूरा का पूरा मूसल उसके छेद में डाल दिया और उसकी कुंवारी चुत की सील भंग कर दी.

मैं पेशे से एक वैडिंग प्लानर हूँ और ये काम मैं अपनी बचपन की दोस्त नैना के साथ करता हूँ.

अब तुम्हारी हां के चक्कर में यहां किचन में ही खड़े खड़े सुबह हो जाएगी.

सुहागरात सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी मौसी का बेटा मेरे घर आ चुका था. फिर एक पल रुक कर वो मेरे लंड को सहला कर बोली- ऐसे लंड के लिए औरत कोई भी कीमत दे सकती है. बीएफ ब्लू पिक्चर चुदाईवैसे तो मैं किस तुम्हारे गाल पर करता, पर वो हक तो तुमने दिया नहीं, इसलिए हाथ पर ही किस कर दिया.

ऐसे वक्त में खुल कर बात करो तो थोड़ा और मजा बढ़ जाता है। मत सोचो कि कुछ याद रखा जायेगा। हमें बाद में कुछ नहीं याद रहता।मुझे तो रहेगा।तो अच्छा है न तुम्हारे लिये. रागिनी ने बिना कोई सवाल के गांड में लंड लेने के लिए खुद को सेट किया और मैंने उसकी गांड में लंड का जोर लगाया. तो हमने क्या किया?दोस्तो, मेरी कहानी के पिछले भागचूत चुदाई के लिए लंड की तलाश पूरी हुईमें मैंने आपको बताया था कि कैसे मेरे पड़ोसी रोहित के साथ मेरी सेटिंग हो गई और हम लोग लंड चूत का खेल खेलने लगे।अब आगे की पब्लिक सेक्स स्टोरी:चुदाई के अगले दिन रोहित ने मुझे आई पिल ला कर दी.

उसने अपनी जीभ निकाली और बिल्कुल कुत्ते की तरह ही मेरे बदन को चाटने लगा. उन दोनों की पूरी रात चुदाई करके मजा लेता रहता थावायदे के हिसाब से छोटी बुआ ने मुझे अपनी पड़ोसी एक ब्लैक ब्यूटी का चूत चोदने को दिलाई.

कोई दस बारह लम्बे चुम्बन करने के बाद हम दोनों गर्म हो गए और बेड पर चले गए.

मैं रात होने का इंतजार करने लगा।रात को 11 बजे मैं उठा और घर की दीवार कूदकर निकल गया. अपनी चूत के एरिया को सहलाते हुए अपने पेट और चूचियों को भी सहला रही थी. फिर मैं उसके पेट को चूमते हुए उसकी जांघों तक आ गया और उसकी जांघों को चाटने लगा.

सोनाक्षी हीरोइन की बीएफ पूरा मौका देख कर मौसी की गांड में जोर लगा कर पूरे खड़े लंड को जोर का धक्का दे दिया. चाची फिर बोली- बाड़ दे इब त लोले न! आहह हहहह रुका ना जाता … आआ आईईई बाडडड दे।मैं उठा और चाची के ऊपर आ गया और होंठो को चूसने लगा.

मैंने उसको थोड़ा सा स्माइल देकर पूछा- आपको भी जाना है?तो उसने हां में सर हिलाया और मैं बाहर आ गयी. ज़ारा- आ…ह! जान!मैं झटके मारने लगा तो कुछ ही देर में वो क्लिट रगड़ने लगी!तो मैं बोला- क्या कर रही हो?ज़ारा- जा…न मुझे जल्दी झड़ना है!मैं- क्यों?ज़ारा- जान मेरी गांड बाकी है!मैं- लेकिन मुझे चूत में झड़ना है!ज़ारा- तो घुसा देना जब झड़ो! अब प्लीज चोदो!मैं फिर से चुदाई करने लगा तो कुछ ही देर में वो झड़ गयी. बॉयफ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे क्लासमेट यार ने मेरे ही घर में मेरी अनचुदी बुर की सील तोडी.

साईं बाबा कहानी

उसने बड़बड़ाते हुए मुझे शायद गाली दी थी, जिस पर मैंने बाद में ध्यान दिया. अंत में जब उससे रहा गया तो उसने मुझे अपने हाथों से पकड़ कर पीछे की ओर खींच लिया और मेरी चूचियों को जोर जोर से भींचते हुए मेरी चूत में नीचे से धक्के लगाने लगा. ससुर ने बहू को चोदा पूरी नंगी करके उसकी झांटें साफ़ करके! फिर ससुर ने अपनी बहू की गांड भी मारी.

उसने एक बार फिर मेरे मम्मों को दबाना शुरू किया और साथ ही मेरे पिछवाड़े में अपनी उंगलियां चलाने लगा. जींस खुलते ही मेरे घुटनों तक आ गई थी और मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही प्रियंका मेरे टाइट लंड को अपने मुँह में घुसेड़ने लगी.

36 साल तक गणित के अध्यापक के रूप में सेवा करके 60 साल की उम्र में जब रिटायर हुआ तो मैंने लखनऊ में बसने का फैसला लिया.

कितना चोदेगा अपनी बहन को?इतने में सनी मेरी गांड पर हाथ फेरते हुए बोला- मरते दम तक मेरी रानी. रोजी ने अपनी रूचि वहां पर बताई हुई थी कि क्या चीज उसे उत्तेजित करती है, कामुक लड़कों के साथ वह किस तरह से ओपन होकर बात करती है इत्यादि।उसने अपनी कुछ अर्ध नग्न फोटो भी वहां डाली थीं जो बहुत उत्तेजित करने वाली थीं. ज़ारा मेरे कान के पास मुंह लाकर फुसफुसायी- जान!मैं- हूम्म!ज़ारा- चोद दो मुझे!और मेरे कान पर काट खाया और खिलखिलाती हुई लेट गयी!मैं- शरारती लड़की!अब मैं भी उसके ऊपर लेट कर उसे किस करने लगा, उसने एक हाथ बढ़ाकर मेरा लन्ड अपनी चूत पर टिकाया तो बाकी काम मैंने पूरा कर दिया.

अब जब मैं बेड की अपने कपड़े लेने तरफ आयी, तो अभिषेक अभी जाग रहा था और मानसी सो गई थी. वो- यहां बहुत गर्मी‌ है … नीचे चलें?मैं- तुम्हारे बेडरूम में?वो- जब मैं खुद ही तुम्हारी हो गयी … तो फिर वो बेडरूम मेरा कैसे रह गया. बांहों की जगह मैंने सीधा सीधा ही बिस्तर कहा … जिससे शायरा को अब और एक झटका लगा.

मैं अपनी मां के चुचे दबाने लगा और निशु मेरी मां की चुत में लंड डाल कर झटके दे रहा था.

अक्षरा सिंह के बीएफ सेक्सी: उसकी गान्ड देखकर मेरा मन बदल गया और मैंने लन्ड को चूत से बाहर निकाल लिया।मैंने सामने से तेल की शीशी उठाई और उसकी गान्ड के छेद पर तेल गिराया. दो दिन बाहर भेज कर अब ऐसा कोई सामान लाने को नहीं बचा था, जिसके लिए फिर से बाजार भागना बाकी था.

वो बोली- लेकिन वैसा आदमी किधर का होगा?मैंने उसकी प्यासी नजरों के देखकर बोला- बड़े लंड में बड़ा इंटरेस्ट आ रहा है … क्या टेस्ट करना है?वो बोली- धत् बदमाश. उन्होंने कहा- आज तो मैं बड़ी थक कर आई हूं … तू पूरे शरीर की मालिश कर दे. mp3उस लड़के ने मेरे भरे हुए दूध देखे, तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया.

मैं बोला- थोड़ा टच करने दे ना प्लीज, दोस्त और पड़ोसी के नाते इतनी तो हेल्प कर मेरी?उसने कुछ नहीं कहा.

हर किसी की निगाहें बरबस उसके मम्मों को एक बार देखे बिना नहीं रहती थीं. तभी मुझे ध्यान आया कि गेट तो बंद किया ही नहीं, अगर सच में कोई आ गया तो मुसीबत हो जायेगी. वो लंड चूसने से मना करने लगी लेकिन मैंने जबरदस्ती उसके मुँह में लंड डाल दिया.