बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में

छवि स्रोत,इंडियन सेक्सी वीडियो मूवीस

तस्वीर का शीर्षक ,

प्रेग्नेंट कैसे करे: बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में, रूपा के उछलते मम्मे मुठ्ठी में दबाते हुए पप्पू बोला- साली रंडी अब और चोदूँगा तुझे, ये तो नार्मल स्टाइल हुई… अभी तुझे कुतिया बना के चोदना है.

తెలుగు సెక్స్ పిక్చర్స్

उसने आँखें खोलीं और मेरे जिस्म पे नजर डाल कर सीधा लंड को देखने लगी. अंजना सिंह के सेक्सी फोटोजब मैं उसके घर जाती थी और उसकी मम्मी मुझे बहुत मानती थी और मुझे हमेशा कुछ न कुछ खाने के लिए देती थी.

फिर उसने मेरी पैन्टी उतार कर मुझे नीचे से पूरी नंगी कर दिया और मेरी चूत को थोड़ी देर देख कर उस पर किस कर लिया. हिंदी में सेक्सी वीडियो डॉट कॉममैंने कहा- मैं तो बिल्कुल ही खाली हूँ चलिये आपके साथ मूवी ही देख लूँ.

राज उदास हो गए और बोले- उस साले ने 10 दिनों तक मेरी बीवी की चुदाई की और मुझे एकाउंटेंट भी नहीं बनाया.बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में: जब वो बैठ कर तेल साफ़ करने लगीं तो मैंने देखा कि उनके बड़े गले वाले ओपन ब्लाउज से उनकी चूचियों का उभार दिख रहा था और उनकी चूचियां घुटनों से दबकर बाहर आने की कोशिश कर रही थीं.

तब उसके पापा के पूछने पर उसने बताया कि ये मेरा फ्रेंड है, पहले साल में साथ में ही पढ़ते थे.सुमन- ये तो मैंने सोचा ही नहीं था, पापा और उनको हमारे बारे में कुछ पता भी नहीं लगेगा है ना.

ना सेक्सी फिल्म - बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में

राहुल ने उनका एक पैर अपने कंधे पर रखा और अपने लंड को उनकी रसीली चूत के द्वार पर लगा कर धीरे धीरे अन्दर सरकाने लगा.उसके बाद मैं अपना लंड उनकी चुत पे रगड़ने लगा, जिससे वो तड़प उठीं, मौसी बोलीं- करण प्लीज़ अब ज़ल्दी से इसे मेरी चुत में डाल दो, वरना मैं मर जाऊंगी.

लाइट्स ऑन हुईं और मैंने देखा कि वो तीनों सामने वाली सीट पर पैर रख कर आराम से बैठी हुई थीं, उनके शूज खुले हुए थे और हेयर क्लिप भी निकला हुआ था. बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में पर मैंने लंड नहीं निकाला और उसके निप्पलों को चुसकते हुए धीरे-धीरे उसकी बुर चुदाई शुरू कर दी.

नीता जब वो तेरी गांड पे लंड रगड़ते या तू हाथ से उनके लंड मसलती तो तुझे लंड चूत में लेने की इच्छा नहीं होती? अपनी जवानी उनके हवाले क्यों नहीं की? अरे बेटी तेरी माँ का शादी के बाद भी बाहर लफ़ड़ा चलता है.

बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में?

नीता के जवाब से पप्पू का लंड और कड़क हो गया तो वो नीता की एक चूची चूसने और दूसरी को मस्ती से मसलने लगा. पप्पू का मुँह मम्मे पे दबा कर वो बोली- ले मेरे मम्मे चूस कर मेरे दर्द को ज़रा तसल्ली दे. मैंने फटाक से उसके बाल पकड़े और अपने होटों को उसके होटों से मिला दिया.

मैंने तुम्हें समझाया तो था कि हम दोनों करेंगे तो घर की बात घर में रहेगी. इस झटके से मेरा आधा लंड उसकी चुत में जा चुका था, जिससे संगीता दर्द के मारे कराह उठी. मगर किसी भी ऐरी गैरी के लिए तुम मुझ पर ऐसे चिल्ला कैसे सकते हो?संजय- चुप करो टीना.

उसने बताया कि उसका एक दोस्त है जिसने ये दवा का पाउडर दिया था और बोला था लड़की को किसी भी चीज़ में मिला कर पिला दे. उसने मुझे देखा और थोड़ा बगल में हो कर मूतने लगा लेकिन मैं उसके कातिल लंड को ही देखे जा रहा था और उसके नज़दीक पहुँच गया. रसोई में साफ़ सफाई का काम समाप्त करके मैंने अलमारी खोल कर उसमें से रोजाना पहनने वाले सादे कपड़े निकाल कर अलमारी के नीचे वाले हिस्से में रख लिए और बाकी के सभी ऊपर के हिस्से में रख दिए.

नीता जब वो तेरी गांड पे लंड रगड़ते या तू हाथ से उनके लंड मसलती तो तुझे लंड चूत में लेने की इच्छा नहीं होती? अपनी जवानी उनके हवाले क्यों नहीं की? अरे बेटी तेरी माँ का शादी के बाद भी बाहर लफ़ड़ा चलता है. मैं रोज़ की तरह घर से ऑफिस जाती थी तो एक शख्स जो मेरे से कुछ बड़ी उम्र के थे, रोज़ ट्रेन में मिला करते थे, अनजान थे मेरे लिए, उनकी उम्र शायद करीब 40 साल की होगी.

मैंने भाभी से कहा- प्लीज भाभी मेरा लंड भी चूसो ना आप…तो भाभी ने मना कर दिया, कहने लगीं- अब नहीं, फिर कभी.

हमने ऐसा निर्णय इसलिए लिया था कि अगर हम इंकार करते तो उसकी जिंदगी तो ख़राब होती सो होती, बच्चे की जिंदगी तो पक्का खराब होनी ही थी.

अब आप लोग ही बतायें कि मुझे और आशीष को क्या करना चाहिए? आपके सार्थक और सभ्य भाषा में सुझावों का इंतज़ार रहेगा. फिर मैंने उसके पूरे जिस्म को धीरे-धीरे चाटना और चूमना शुरू कर दिया. हाय फ्रेंड्स, मैं नेहा! मुझे मेरे दोस्त ने बताया कि मॉडलिंग ट्राई कर क्योंकि मैं बहुत हॉट एंड सेक्सी हूँ.

लड़का अपना खड़ा लंड उसकी बुर में धीरे धीरे डालता है और फिर चुदाई करने लगता है. रास्ते में उसने बाइक एक रेस्तरां के सामने रोकी और कहा- चलो यार कुछ खा लेते हैं. मेरे दिल में अन्तर्वासना की कई सारी कहानियों के फ़्लैश बैक चलने लगे, मेरे जिस्म में एक गर्मी सी भरने लगी, तनाव सा आ गया, चूचियों में भारीपन आ गया, जांघों के बीच कुछ गीलापन भी आ गया.

तुझे ज़्यादा चोट लग जाती तो क्या करती? ये सब बातें अपने पापा को बताना ताकि वो मोबाइल लेकर दे दें.

जॉन ने धीरे-धीरे पूरा लंड चुत में घुसा दिया और अब वो शांत होकर फ्लॉरा पे लेट गया. उसकी चूत में से जूस निकल कर उसकी जाँघों पर आ गया था और उसकी चूत में से एक मस्की स्मेल आ रही थी. तो उसने सर उठाया और कहा- कहो क्या बात करनी है?मैंने उससे कहा- मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूँ.

शहज़ाद ने दोबारा बोला तो सैफिना ने मेरी तरफ फिर देखा मैंने उसे आँखों से इशारा किया कि वो उतार दे, हालाँकि मेरी समझ में भी कुछ नहीं आ रहा था. लड़की की चुत लड़के के लंड को अपने खून का टीका लगा कर उस लड़के के लंड से शादी कर लेती है. उसने अपनी दोनों टांगों मेरी मेरी टांगों में ऐसे फंसा दिया कि मैं ऊपर होऊं चोदने के लिए तो भी न होए.

उसकी चीख निकल गयी, मैंने उसका मुँह अपने होठों में दबा लिया उसकी चीख मेरे मुंह में ही घुट गयी.

फिर चाहे वो उसके केश हों, आँखें, होंठों, गर्दन, अंडरआर्म्स, ब्रेस्ट, निपल्स, उसकी नाभि, उसकी मुलायम जांघें और उन पर टिकी हुई सुंदर, मांसल, पर्फेक्ट गांड या. संजय को इतना मज़ा दूँगी कि वो टीना और फ्लॉरा को भूल जाएगा और उसके वो दोस्त.

बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में जैसे ही मैंने उसकी नुन्नी अपने मुँह में ली, वो उठ गया और अपना चादर अलग फेंक कर लंड चुसाई के मज़े लेने लगा. दीदी कुछ नहीं बोलीं तो मैंने कुछ देर उनकी जाँघों को सहलाया और उनकी रजामंदी सी दिखी तो उनकी चूची को दबा दिया.

बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में मैंने उसे मना किया तो बोला- ऐसा हो ही नहीं सकता कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड ना हो. डॉली बोली- यार रवि, इतने साल हो गये हैं अब तो सोच नहीं पाती।रवि ने कहा- मेरे पास इसका इलाज है।उसने अपनी जेब से एक पेन ड्राइव निकाली और डॉली के टीवी में लगी दी.

नताशा ने अपनी गर्दन मोड़ कर पीछे, रुस्लान की तरफ देखा और सदाबहार मुस्कराहट के साथ कराहते हुए अपने चूतड़ों को पीछे की ओर चलाना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वि

उनकी पत्नी का नाम नीतू था और वो एक खूबसूरत महिला थीं, उम्र लगभग 52 साल की होगी, पर देखने में 45-46 साल की ही लगती थीं. कई बार मैंने तेरी माँ को तुम्हारे नौकर के साथ बेडरूम मेंचूत चुदाई की रंगरेलियाँमनाते देखा है. जब मैं बाथरूम गयी तो देखा कि मामा अपना सुकड़ा हुआ लंड हाथ में पकड़े हुए थे और लंड का पिंक टोपा बाहर निकाला हुआ था, मैं देखती रही लंड को!थोड़ी देर में पानी की मोटी धारा निकलने लगी जो काफ़ी दूर जाकर गिर रही थी, मैं समझ गयी थी कि मामा जी के लंड में बहुत दम है.

पुरुष के यौनांग के पहले स्पर्श के साथ ही मेरी बुर फिर पानी पानी होने लगी, सैंकड़ों चीटियां सी रेंगने लगी मेरे बदन पे… मेरे हाथ खुद-ब-खुद उस कठोर अंग को सहलाने लगे, कभी आगे तो कभी पीछे!मेरा दूसरा हाथ खुद ही उनके नग्न चूतड़ों पर आ गया और मैं आशीष को अपने पास और खींच कर उनके होंठों को चूसने लगी; उत्तेज़ना के वशीभूत हो मैंने उनके लबों पर काट लिया. सुबह बस हैदराबाद से 30 किमी पहले ब्रेकफास्ट के लिए रुकी, रश्मि ने मुझे उठाया नहीं, बल्कि कंडक्टर को बोल के मुझे उठवाया. मुझे डर था कि कहीं चाची को पता ना चल जाए कि दाल में कुछ मिला हुआ है.

फिर चाची सोने चली गईं तो मैंने भी टीवी बंद की और सोने के लिए छत पर आ गया.

वो अभी उसको कुछ भी बताना नहीं चाहते थे वैसे अगर बता भी देते तो फ्लॉरा बहुत खुश हो जाती. राहुल ने कहा- डर गईं क्या?तो वो थोड़ी शर्मा गईं और अपने घुटनों पर बैठकर राहुल से कुछ बातें करती हुईं उसके लंड को आगे पीछे करने लगीं. मम्मों को दबाती थी साथ में मेरी उंगली भी तुम्हारी चूत में डलवाती थी.

कई बार तो शहज़ाद मेरी टांगों के बीच में बैठ जाता और अपना लंड चूत में डाल लेता लेकिन आगे पीछे नहीं करता और बैठे-बैठे मेरे बूब्स की खूब मालिश करता. मैंने आपको बताया कि मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ और सबको तो पता है दिल्ली में कितने लोग किराये पर रहते हैं. इतना बोलकर सब लड़के हंसने लगे और मेरे अंगों को मसल रहे थे, मैं समझ गई थी कि आज ही लोग बिना चोदे मुझे जाने नहीं देंगे.

कुछ देर के बाद यश ने खड़े हुए ही मॉम की नाइटी ऊपर उठाई और मॉम की बालों वाली चूत को सहलाने लगा. उसके इशारे को समझ कर मैं मेडिकल से 1 प्लेन डॉटेड कोंडोम का पैकेट ले आया ताकि बस में किसी को सुगन्ध न आये.

मैं समझ गया कि या तो मैं जैसा यह कहती है वैसा करूँ, या फिर मुठ मार लूँ. जब सभी कपड़े धुल गए तब मैंने खड़े होकर कपड़ों को नलकूप के पाईप पर रख दिया और उसमें से निकल रही पानी की मोटी धार के नीचे बैठ कर नहाने लगी. तब जाकर उसे थोड़ा सुकून मिला और उसने गरम वीर्य से दर्द में कुछ राहत से लंबी सांस ली.

मैंने उसकीगीली चूत पर लंडरखकर दबाया तो वो उछल पड़ी और थोड़ा डर भी गई.

मगर तू घर आने में इतनी लेट क्यों हो गई?सुमन- वो पापा, मैं अपनी फ्रेंड्स के साथ उसके घर चली गई थी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग :दीदी का सेक्सी जिस्म और हमारी कामुकता-2. मैंने आंटी को सीधा लिटा कर उनके मम्मों के बीच में लंड फंसाया और रगड़ने लगा.

अब मुझसे रहा नहीं गया, मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को चूसने लगा. फिर चूमते हुये नीचे की तरफ बढ़ने लगा, उसके गालों को चूमा, होठों को, चूचियों को, नाभि को चूमते हुए मैं उसके पैरों के बीच में आ कर रुक गया.

मामला क्या है, ये कैसे जानता है उसे, और अगर जानता है तो उसने क्या बताया इसे?मैंने हिम्मत करके बात छेड़ते हुए कहा- अखाड़े में सब पहलवान तुम्हारे ही गांव के थे क्या?वो बोला- नहीं, मेरे गांव के 3 ही थे उनमें. थोड़ी देर में मेरी बहनें और चाची के बच्चे सो गए, पर चाची अभी भी जाग रही थीं क्योंकि गर्मी इतनी ज्यादा थी. जब संजय उसको चूम रहा था, उसके नाज़ुक बदन को अपने हाथों से मसल रहा था.

ड्रेसेस फॉर गर्ल्स

अपने होठों से लगाई हुई बोतल उसने मुझे भी पिला दी जिसे मैं अमृत समझ कर पी गया.

मेरे मना करने के बाद भी उसने लंड को बाहर निकाल लिया और उसे मुँह में लेकर चूसने लगी. बेडरूम के अंदर जा कर मैंने बालकोनी के दरवाजे की चिटकनी लगा दी और पर्दे को थोड़ा सा सरका कर उसमें झिरी बना दी ताकि सैफिना अंदर देख सके. कुछ हफ्तों बाद दादी के बीमार होने की खबर मिली तो मैं और माँ दादी के पास गाँव चले गए.

ऊपर से चूमते चूमते मैंने उसको निर्वस्त्र कर दिया और उसने मेरे भी कपड़े उतार दिये, अब मैं चड्डी में था और वो भी चड्डी में थी. आंटी की आवाजें धीरे-धीरे तेज़ होने लगीं और आंटी की चूत गीली होती जा रही थी. आशा जैस्वाल x.comमैंने चूत चाटकर ही चाची को ठंडा कर दिया और चाची रिलेक्स होकर बेड पे लेट गईं.

जब मैं चलते-चलते उस औरत के बराबरी में आ गया तो देखा कि ये तो भाभी ही हैं. जैसे ही आईने में हमने खुद को देखा तो लगा कि आसमान से कोई सेक्स की मूरत धरती पे उतर आई है.

उसने हैरानी से पूछा- आज सुबह-सुबह क्या हुआ तुम्हें?मैं बोली- बस दिल कर गया. उसने कहा- क्या मेरी चूत मस्त नहीं है?मैंने कहा- चूत तो तुम्हारी ऐसी है कि आज तक नहीं देखी. चूतड़ों पे जो उनकी तेल भरी थप्पियां पड़ रही थी तो उससे चुत गीली हो रही थी.

विनय को कविता के मम्मों को पकड़ने में और निप्पल पर गोल गोल घुमाने में बहुत मजा आया. संजय फिर से मस्ती के मूड में आ गया अब वो दोनों एक-दूसरे को मज़ा देने लग गए. इधर मेरा लंड अकड़ रहा था तो मैंने लोअर उतार दिया और पूरा नंगा हो गया.

तुम्हारी चुत और गांड ने मेरे लंड को अपने खून का टीका इसलिए लगाया क्योंकि तुम्हारी गांड और चुत को मेरा लंड पसंद आ गया था.

किस तरह सविता भाभी ने भी वरुण के साथ अपने चुत चुदाई के अनुभव का सहारा लेते हुए ट्रिपल सेक्स का मजा लिया. वो मुझे देख कर हँस देती थीं, मैं भी भाभी को देख कर मुस्करा देता था.

अब मैंने उसको दीवार से लगाया और टांग ऊपर करके अपने लंड को गर्लफ्रेंड की माँ की चुत पर लगा दिया. मैंने पैंटी के अंदर हाथडाल दिया और उसकी नर्म और मखमली चूत पर फिराने लगा. मामा जी का लंड बहुत गर्म लग रहा था चूत के अंदर, मानो किसी को 102 डिग्री बुखार हो.

श्वेता तो जैसे आज सब कुछ सोच कर आई थी, वो बोली- नीटू, प्लीज आज मुझे जोर से रगड़ो. जैसे आप समझ लो विद्या बालन जैसा… बड़ी बड़ी चूचियाँ, उभरे चूतड़, भरा हुआ चेहरा!एक बार ये दोनों एक ही बस से अपने अपने गंतव्य स्थान की ओर जा रहे थे, स्थिति कुछ ऐसी थी कि राहुल को तो सीट मिल गई थी लेकिन अनामिका जी वहीं उसकी सीट से सट कर खड़ी थीं. बीच पर मैंने चिंटू और परीक्षित को चुदाई के लिये एक इशारा किया क्योंकि मुझे चुदाई की तलब लगी हुई थी, मेरी कामुकता बढ़ रही थी, मुझे चुदे हुए 12-13 हो चुके थे.

बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में फिर वो धीरे से मेरे पास आईं और मेरे लंड को निक्कर के ऊपर से सहलाने लगीं. फिर कैसे हो!”मैंने जवाब दिया- मैं पढ़ने जा रहा हूँ ना कि लड़कियां देखने!फिर मैंने फोन बाहर निकाला और इयर फोन गाने सुनने लगा.

सेक्सी वाला गेम

वो भी उत्तेजना में मेरा लंड चूसने लगी और थोड़ी देर बाद में भी झड़ने लगा. मैंने सोचा कि दरवाज़ा खुला था शायद कोई बिल्ली आ गई होगी इसलिए मैं नंगी ही उठ कर हाल में आई तो देखा कि ये तो दो टांगों वाली बिल्ली यानि की सैफिना थी जो बेडरूम के दरवाज़े के थोड़ा साइड में ही अपनी सलवार खोल कर अपने दाने को मसल रही थी. उस सुनसान बीच पे लड़कियों की आहें और मर्दों की गुर्राहटें गूंज रही थी.

लेकिन मैं उसे इग्नोर करते हुए निकल जाता था और वो अपने रूम के लिए निकल जाती थी. मैं आपके लंड को प्यार से चुसूंगी, काटूंगी नहीं, बस जल्दी से मेरे मुँह में आप अपना लंड घुसा दो. ஆண்ட்டி ஹாட்अब तो गुलशन जी धीरे-धीरे झटके भी मारने लगे थे, उनकी उत्तेजना बहुत बढ़ गई थी.

मैं बड़े प्यार से कभी उसके निप्पलों को चूसता, कभी पूरी चूची मुँह में भर लेता.

करीब एक साल पहले हमारे हॉस्पिटल में डायग्नोस्टिक डिपार्टमेंट में एक नई आंटी की ज्वाइनिंग हुई थी. मैंने कौतूहल वश जब उस अलमारी को खोल कर देखा तो पाया कि उसमें तीन भाग थे जिसमें से एक भाग में किसी छोटे बच्चे के लिए बहुत ही सुन्दर कपड़े रखे थे और दूसरे भाग में किसी स्त्री के कपड़े रखे थे.

कुछ ऐसा ही हाल मेरा था शायद आशीष का भी!मैं झुक कर उनके लबों को चूसने लगी… आशीष ने पूरी तरह समर्पण कर दिया, वो कुछ नहीं कर रहे थे बस मुझे पकड़ कर रखा था. पप्पू का हाथ नीता की आँखों, होंठ, गाल, गर्दन, मम्मों से भर सीना, नंगा पेट, नीता की गोल और गहरी नाभि सहलाते हुए अब नीता की बिना झाँटों की चिकनी चूत पर आया. सुमन- पापा, अब साफ सफ़ाई का प्रोग्राम खत्म हो गया ना… अब तो मेरी चुत की आग शांत कर दो प्लीज़!पापा- ठीक है मेरी जान तेरा इतना ही मन है, तो कर देता हूँ.

मेरी इच्छा होती थी की तरुण अपना लिंग को योनि में डाल कर मेरी उत्तेजना को शांत करे लेकिन ऐसा कैसे सम्भव हो यह नहीं जानती थी.

एक दिन फ्लॉरा ने रात को अपने हाथ पे मेहँदी लगाई, आज उसका इरादा कुछ और ही था. मुझे उसकी गांड मारने में चूत मारने से भी ज्यादा मजा आया और उस दिन मैंने उसकी तीन बार गांड मारी और उस दो बार बुर की चुदाई की. अब उस लड़की की चुत से जो खून निकलेगा और साधु का वीर्य, जो एक आशीर्वाद होगा, उन दोनों को मिलाकर मुझे माँग भरनी होगी.

சென்னை காலேஜ் செக்ஸ் வீடியோएक दिन मैं अपने दोस्त की मम्मी के बारे में सोच कर मुठ मार रहा था, जिनका नाम आरती है. लखनऊ पहुँचने के बाद होटल में गए, रूम लिया, सामान रखा और घूमने निकल गए.

गांव की लड़कियों की एक्स एक्स एक्स

सुमन- कौन से काम पापा… ज़रा आप मुझे भी तो बताओ?पापा- सब बताऊंगा… पहले खाना तो खालो. मैं गुड़िया से बोला- जिस तरह से तुम आइसक्रीम चूस रही थी उसी तरह तुम मेरे लंड को चूस कर उसका माल पी जाओ तो मैं तुम्हारी मम्मी से कुछ नहीं कहूंगा।गुड़िया बोली- ठीक है. फिर वह बोली- ओ मिस्टर, कहाँ खो गए… सब कुछ यहीं करने का इरादा है क्या?मैं बोला- सॉरी मैडम, मैं घर जा रहा हूँ, ऑफिस में लेट हो गया था, अब कोई कन्वेन्स नहीं मिल रहा है.

अनुराधा को देखे काफी समय बीत गया, ना मैंने उससे देखा था, ना बात की थी. मेरे पति फौज में हैं इसलिए मैं सेक्स की कमी से परेशान रहती हूँ।मेरे बदन का आकार 36-34-38 है, घर में मेरी बेटी 18 साल की, ननद 26 साल की और सास 59 साल की है।मेरी सास के साथ मेरे लेस्बियन सेक्स की कहानीआप पढ़ चुके हैं लेकिन यह घटना जो मैं आज बता रही हूँ, उससे भी पहले की है. और अपनी दीदी के साथ कोई ये सब करता है क्या!और सुरेश को भी थप्पड़ मार दिया.

मैंने मामी से पूछा- मामी, मामा आपका पूरी तरह ख्याल तो रखते हैं ना?मामी थोड़ी उदास होकर बोलीं- नहीं. मगर ये ऐसे क्यों चल रही है और तेरी आँखें भी सूजी हुई हैं, जैसे पूरी रात जागी भी हो और रोती भी रही हो. मैंने एक जोर का शॉट मारा और मेरा लंड उनकी गांड फाड़ता हुआ पूरा अन्दर घुस गया.

तभी रजनी बोली- आराम से भाई… अभी तो तेरी बहन की चूत का उद्घाटन हुआ है. मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया, उनके दोनों पैर उठाए और फुद्दी में लंड का सुपारा फंसा कर उनके ऊपर लेट गया और चूची चूमने में लग गया.

तीन दिन बाद तुझे जाना है, तो अब तीन दिन तक तू मुझे रोमांटिक स्टाइल में चोदेगा.

फिर मैं नेहा की तरफ देखता हुआ बोला- आ साली, अब दिखा फिर अपनी चूत की झांट…वो खड़ी होती हुई बोली- मेरी झांट देखकर आपकी बोलती बंद हो जाएगी जीजू, आप पहले अपनी पुरानी रांड की झांट देखो न. राजस्थानी सेक्सी फिल्म चालूभीड़ की वजह से वह भी मेरे काफ़ी करीब आ चुका था और अब मेरी पीठ में उसकी छाती का उभार महसूस हो रहा था जिसका थोड़ा अहसास शायद उसे भी था लेकिन भीड़ भी इतनी ज्यादा थी कि वह चाह कर भी मुझसे दूर नहीं हो पाता. सेक्सी व्हिडिओ पिक्चर हिंदीवो बोली- मिल कर क्या करना है? मैं तुमसे डेली बात तो करती हूँ ना!फिर एक दिन मैंने उससे हॉट चैट करना स्टार्ट किया और बाद में चुदाई की बातें की. लंड पे मुँह आगे पीछे करते हुए लंड बहुत मस्ती से चूसते हुए रूपा बोली- अब मुझे लंड चूसने देगा या नहीं गाँडू? अब मेरी बेटियों के बारे में कुछ मत पूछना जब तक तू मेरी चूत में अपना पानी ना डाले.

इतनी देर में मैं अपने होश खो बैठा और अब मेरे हाथ संगीता के मम्मों को अच्छे से सहलाने लगे थे.

करीब तीन घंटे उसको चोदने के बाद मुझे तसल्ली हुई कि आज बड़ा आनन्द आया. जो लड़की भी लंड को देखे उसे बिना हिचक के मुँह में लाकर खाने को हो जाए. चाची का पेटीकोट अभी तक कमर के ऊपर था और ब्लाउज के बटन भी खुले हुए थे और उनके चूचे बाहर निकले हुए थे.

मैंने कहा- काहे का दर्द… तुम्हारी चुत तो खुली हुई है, फिर तुझे क्यों दर्द हो रहा है. तू तो ऐसे बोल रही है जैसे तूने ऐसे किसी के लंड के साथ मजा किया हो?टीना- हाँ यार. हाथ फेरते फेरते मेरे हाथ उस के पेट पर घूमने लगे, संगीता को अब और मजा आने लगा था और अब मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था और ना जाने कब कब में मेरे हाथ संगीता के कूल्हों को सहलाने लगे, पता ही नहीं चला.

दोस्त के बीवी की चूदाई

उसी वक्त सविता भाभी के ऑफिस से उनके बॉस मिश्रा जी का फोन आ गया और भाभी की मजबूरी हो गई थी कि पहले अपने बॉस के पास जाकर उनकी सुनतीं. साथ ही गांड में लंड पेल कर कैसे मस्ती से उनकी गांड मारते हुए कहता है कि सविता भाभी इससे आपके चूतड़ सुडौल हो जाएंगे. हो सकता है कि कोई मुझे अपनी बीवी और ज्यादा दिनों के लिए देने के लिए तैयार हो जाये.

वह अब सेक्स में पागल हो चुका था… मैंने भी अपना हाथ टीशर्ट के ऊपर से ही उसकी छाती के कड़क उभार पर रख दिया और उसकी कसरती छाती को सहलाकर मुआयना करने लगा.

रीना बोली- मैं इसको अकेला नहीं छोडूंगी, अगर ये यहाँ नहीं रुकेगी तो जब तक इसकी शादी नहीं होगी मैं भी इसके पास रहूँगी.

कविता कुछ सकुचाई तो रीना बोली- ये तो साड़ी पहन कर मसाज कराएगी कमीनी. दोस्तो मुझको मजा आ रहा था क्योंकि खरबूजा चाकू पर गिरे या चाकू खरबूजे पर. बिलू फिलम सेकसीजब तक तेरी माँ नहीं आ जातीं तब तक खुलकर चुत लंड का खेल करेंगे और उसके आने के बाद छुपकर चुदाई हो जाएगी.

तुझे कैसे पता?”जब वो (सपना) ईधन लेने के लिए जा रही थी, तो मैंने देख लिया और सोचा अब घर पर कोई नहीं होगा, चलो अब बात करते हैं वो नाराज भी होगें. इतना सुनते ही अनु ने अपनी पेंट उतार दी और उसके साथ में ही उसका अंडरवियर भी निकल गया. अब आगे:मुझे वो एक बड़ी सारी खड़ी कार के पास ले गया और मुझे अपने कंधे से उतारा। उसके साथ बाक़ी सब भी आ गए.

लंड क्या लट्ठ था वो… करीब 7 इंच का लंबा और 3 इंच का मोटा… उसके लंड को चाटने के साथ ही मैं उसकी खुशबू में खो गया और वो अपनी भारी सी गांड को मेरे मुंह की तरफ धक्के देते हुए फ्रेंची को फाड़ने वाले लंड को मेरे मुंह पर फेरने लगा. आज पहली रात को मेरा ये हाल है तो आगे नौ दस रातें कैसे गुजरेंगी?न जाने क्या सोच कर मैंने अपनी टी शर्ट और लोअर चड्डी के साथ उतार कर दीवान पर फेंक दिए और पूरा नंगा हो गया.

मुझ पर तो कुछ ज्यादा ही ये लोग मेहरबान थे, मुझे हमेशा छेड़ते रहते थे और मेरी जवानी पर गंदे गंदे कमेंट करते रहते थे जो कि मुझे भी अच्छी लगती थी.

लड़का भी रिया के बदन को मालिश करते करते अपना लंड रिया के मुँह के अंदर बाहर करने लगा. पापा- हमें बहुत सोच कर कदम उठना पड़ेगा; और हाँ, तुमने वो टीना के भाई के बारे में बताया था ना. मैं नहीं मानती अगर ऐसी कोई बात है, तो मैं अपनी किसी फ्रेंड को बुला लूँगी मगर मैं आप से नहीं लगवाऊंगी.

हिंदी में ब्लू मूवी सेक्सी उसने मेरी टीशर्ट उतारी और मेरी छाती पर हाथ फेरती हुई बोली- बंदे में दम तो है. जगह कम होने की वजह से हम लेट नहीं पाते थे, कभी कभी तो मैं किस करते हुए ही मोनिका का लोवर पैंटी उतारता और उसकी एक पैर उठा कर अपने कंधे पर रखता.

मैं दिन में चूल्हा-बर्तन, झोंपड़ी की सफाई करती और खाली समय में खेतों की रखवाली करने में तरुण की सहायता करती थी. फिर जब मैं घर आया तो गर्लफ्रेंड की चुदाई करने एक महीने की कसर निकालने अगले दिन मैं गर्ल फ्रेंड के घर चला गया. उधर रुस्लान पूरी मस्ती में लहरा-लहरा कर मेरी धर्मपत्नी की गांड में अपना खतना लंड पेलने में लगा हुआ था.

ओपन बीपी सेक्स

तो उसने कहा कि वह अब मजाक नहीं करेगी।मैं चलने को खड़ा हुआ तो उसने मुझे बैठने को कहा और पूछने लगी कि उस रात रचना ने मुझे चांटा क्यों मारा था।मैंने उसे बताने से मना कर दिया तो वह बोली कि वह किसी को नहीं बताएगी। तभी मेरे दिमाग में एक ख्याल आया और मैंने उससे कहा कि तुम नाराज हो जाओगी. लेकिन अभी मेरे बदन की हालत ऐसी नहीं थी कि मैं उसकी चूत का मजा ले सकूं. तभी अनाउंस हुआ कि ट्रेन 12 बजे आएगी और मैं फिर परेशान हो गई, मगर सिर्फ़ इन्तजार करने के अलावा करती भी क्या.

उस पर उसने बड़ी बेरुखी से कहा- हुन्न देखते हैं, तुम घर पहुँचो… हम वहां बात करते हैं. वो ऊपर से इतना दबाव लगा रही थीं कि मेरा साँस लेना मुश्किल हो रहा था.

तुम किसी तगड़े मर्द को मेरी चुदाई के लिए भेज सकती हो?गहरी हंसी के साथ मेरी ‘यस मैडम’ कह कर उलटे पैर लौट गयी.

उस बात का अहसास मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती।बीच पे कई जगह बहुत से लोग नंगे ही घूमते मिले। कहीं जोड़े तो कहीं ग्रुप में सेक्स क्रीड़ा चल रही थी. मैं उठा और चाची के पास गया पर कुछ करने से पहले मैं ये सुनिश्चित कर लेना चाहता था कि चाची पूरी तरह सो चुकी हैं या नहीं. अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहु की झांटें शेव करके उसकी चूत को चिकनी कर दिया.

तेरी माँ हम दो दोस्तों के साथ मस्ती करती थी और तू 3 लड़कों के साथ करती है. खास कर मेरी जान बरखा को भी ये पसंद है तो मैं कभी ना कर ही नहीं सकता बल्कि ये तो बहुत अच्छी बात है. जब सिंडी का दर्द कम हुआ तो परीक्षित ने उनके लंड से कंडोम निकालकर दूसरा कंडोम लगाया और फिर से उसकी चूत में लंड डाल दिया.

उसके तने हुए निप्पल नाइटी के भीतर से अपनी उपस्थिति जता रहे थे साथ ही मुझे आभास हुआ कि नाइटी के नीचे उसने ब्रेजरी नहीं पहनी हुई थी, तो क्या बहूरानी ने पैंटी भी नहीं पहनी थी? नाइटी ओढ़ कर पूरी नंगी बैठी थी मेरे सामने?उफ्फ्फ, अभी कुछ ही देर पहले मन को कितना समझाया था कि बेटा ‘अब और नहीं’ लेकिन बहूरानी का वो रूप देख कर मन फिर बेकाबू होने लगा.

बीएफ सेक्सी चाहिए एचडी में: वो मेरी चूत को चाटने लगे, और मैं 69 की पोजीशन में उनके लंड को चूसने लगी. थोड़ी देर ये चलता रहा जब दोनों ने साधु के लंड को चूस चूस कर एकदम गीला कर दिया तो साधु ने मोना को कहा- ज़मीन पे दो बिस्तर पास पास लगाओ ताकि आख़िरी क्रिया ठीक से हो पाए.

तब से जब भी मौक़ा मिले, हम दोनों खूब चुदाई करने लगे, हमारा यह अनैतिक यौन सम्बन्ध काफी लम्बे समय तक चला लेकिन अब हम दूर हो गए है, मिल ही नहीं पाते हैं. कह कर वो उठ गया और उसके साथ मैं भी पीछे पीछे कमरे से बाहर निकल गया।साथ वाले कमरे में घुसे तो सामने पलंग था और साथ ही सोफे रखे हुए थे। पलंग के ठीक सामने मेज पर टीवी चल रहा था जिसमें समाचार चल रहे थे. दोस्तो इसके बाद मैं अपने घर आ गया और दूसरे दिन शाम को 4 बजे ही ऑफिस से निकला और डॉक्टर को लेकर सुमन के घर आ गया.

मेरे द्वारा उसकी बात का उत्तर नहीं देने पर उसने मेरी नाइटी के खुले बटनों में से अपना हाथ डाल कर मेरे स्तनों को सहलाते हुए मुझसे पूछा- तुमने मेरी बात का उत्तर नहीं दिया.

ऐसे बात करते-करते एक बज गया तो वे बोले कि हम लोग खाना खाने जा रहे हैं. माँ की अन्तर्वासना ने अनाथ बेटे को सनाथ बनाया-1इससे पहले कि मैं अपने लिए गए निर्णय पर पुनर्विचार करने की चेष्टा भी करती मुझे बेटे के रोने की आवाज़ सुनाई दी. अब की बार लंड पर कंडोम दीदी ने चढ़ाया और मैंने उनको कुतिया स्टाइल में होने को बोला.