बीएफ एचडी भेजिए

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स बीपी वीडियो देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

राजस्थानी सेक्सी एक्स: बीएफ एचडी भेजिए, पहले तो उसने गुस्सा दिखाया, फिर जब मैं उठकर जाने लगा … तो डेज़ी ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे रोका.

ফুল সেক্স ফুল সেক্স

मैंने भी नीट व्हिस्की के लम्बा घूँट भरा और मुँह का स्वाद बदलने के लिए लंड को चूस लिया. देसी सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियोवो बोली- हां शुभम, मैं अपने पति से इतनी परेशान हूं कि मैं तुम्हें सारी बात बता भी नहीं सकती.

एक स्त्री हमेशा ये सोचती है कि उसकी इज्जत पुरूष की नजर में तब तक है, जब तक कि पुरुष ने कामरस नहीं त्यागा हो. మరాఠీ సెక్స్ బిఎఫ్अब मैं दिन भर किससे बातें करूंगी हर्षद!ये कहते हुए उनकी आंखों में आंसू आ गए.

लंड से चुत की लड़ाई ने किस तरह से अपनी मंजिल हासिल की … इस सबका बखान में पूरे जोश से इस दोस्त की वाइफ की चुदाई कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.बीएफ एचडी भेजिए: … अंकुश … चोद दो मुझे … ऊउंह ऊम्मंह … बड़ा सुख दे रहे हो … आह … ऊउन्न्ह.

वह कटाई के लिए आने वाले मजदूरों की लड़कियों और औरतों को भी मौका मिलने पर नहीं छोड़ता था.मैंने नेहा को खुद से दूर करते हुए रूखे स्वर में कहा- नेहा तुम अपनी सीमा लांघ रही हो.

एचडी की ब्लू फिल्म - बीएफ एचडी भेजिए

मेरे प्यारे चूत और गांड के शौकीन भाइयों को और उन बहनों को नमस्कार जो कामुकता से भरपूर अपनी रस भरी जवानी को रोज नए लंड पर लुटाने को बेचैन रहती हैं।माफी चाहता हूं कि इस कहानी को लाने में मुझे बहुत देर हो गयी.मुझे अहसास हुआ कि मैं जितना ज्यादा चूत चूस कर सुख पहुंचाता हूँ, भाभी भी लंड को उसी तेजी से चूस कर मेरा जवाब देती हैं.

वो लगातार गांड मारे जा रहे थे और बोल रहे थे- आह लवली … और ले साली … आज से तू मेरी रखैल है … जब तुझे चाहूंगा … तब चोदूंगा. बीएफ एचडी भेजिए जैसे ही तू सोई, तेरे पति ने चुपके से मुझे गोद में उठाया और मेरे बेडरूम में ले गया.

मैं थॉमस के लंड को लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी और थॉमस भी हल्की हल्की आहें ले रहा था.

बीएफ एचडी भेजिए?

करीब 15 मिनट बाद कल की तरह वो कपड़े उतारकर नंगी हो गईं और साथ लाई चादरों पर लेट गईं. मम्मी अस्पताल जाएगी भाभी और बाबू को लेकर!”ओह … पर क्यों?”बाबू को टीका लगवाना है. जब बॉस ने देख लिया कि मेरी गर्लफ्रेंड को मजा आने लगा है, तो उसने अपने होंठों से मेरी गर्लफ्रेंड के होंठ आजाद कर दिए और खुल कर धक्के लगाना जारी कर दिया.

मैंने कुछ देर बाद फिर से अपनी आंखें मूंद लीं और अपनी मैक्सी ऊपर को कर ली. उस दिन मामी चली गईं … मगर मुझे अभी भी नहीं मालूम था कि मामी दिल्ली रहने आ गई हैं. उधर पूजा भी खिलाड़ी निकली, उसने पैंटी को नीचे खिसकाया और घुटने से नीचे खींच कर पैरों तक हिला हिला कर उतार दी और हल्का सा नीचे झुक कर उसने अपनी पैंटी बाहर निकाल कर पैरों के नीचे से मेरे हाथ में थमा दी.

उसका कहना है कि इस पोजीशन में लन्ड बिल्कुल अन्दर तक जाता है।आज की कहानी की ओर … यह कहानी मेरे और मेरी तहेरी भाभी के बीच की है, यानि कि मेरे सगे बड़े ताऊ जी की बहू।चोदना तो मैं भाभी को बहुत पहले ही चाहता था लेकिन परिवार की भाभी हैं इसलिए कुछ भी करने से डर लगता था. मैंने धक्का मारके अपना पूरा लंड स्वीटी की चूत में डाल दिया और उनको हचक कर चोदने लगा. मैं उसके कान के नीचे ऊपर तेज तेज चूमने लगा, तो धीरे धीरे उसने भी विरोध करना बंद कर दिया.

नेहा ने अपनी टांगें बहुत ज्यादा खोल रखी थी जिससे उसकी चूत का छेद पूरा खुला हुआ था. अंकल ने मुझे अपनी कुवारी बुर में ऊँगली करते देख लिया था और मुझे सेक्स के लिए मानसिक रूप से राजी कर लिया था.

थोड़ी देर के बाद वेटर आया और खाने के साथ ही एक कॉन्डम का पैकेट भी लेकर आ गया.

मगर उन औरतों के पति तो जैसे मुझसे बात करने के लिए मरे ही जा रहे थे.

भाईसाब ने मुझे सम्भालते हुए कुछ ऐसा किया कि मैं उनकी गोद में बैठ गया. चुदाई में दर्द तो बहुत हो रहा था लेकिन मजा उससे भी ज्यादा आ रहा था. दोस्तो, कालगर्ल चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, अपने कमेंट्स और मेल के द्वारा जरूर बतायें.

उसके बाद मैंने नीचे आकर थॉमस का शॉर्ट्स भी उतार दिया और थॉमस के ऊपर आकर उसे चूमने लगी. आःह्ह मां… आआआ आअ आह … और जोर से चोदो मेरे राजा … बुझा दो मेरी प्यास … आह्ह्ह!” मेरे मुँह से ऐसे मादक जोश दिला देने वाले बोल निकल रहे थे।अर्जुन ने मुझे जिम की डेस्क पे लिटा दिया और मेरे पैरों को अपने कंधों का सहारा दे दिया. पर मामा बोले- नहीं नहीं … दीदी ऐसी कोई बात नहीं … सूरत में भी तो मैं किराए पर ही रहता था.

अब तुम मजबूती से खड़ी रहना और हिलना मत!” मैंने निष्ठा को समझाया और लंड को फिर से उसकी गांड के मुहाने पर सेट कर दिया.

मेरे दोस्तों ने बहुत ही विश्वास के साथ कहा कि दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट किसी वेबकैम मॉडल के साथ सेक्स और गंदी बात करने के लिए एक बेहतरीन साइट है. तुम बहुत ड्रिंक भी किये हो, क्या हुआ?मैंने रोहन से कहा- हां सॉरी रोहन … मैं दरअसल अपनी फ्रेंड्स के साथ डिस्को चली गयी थी, इसलिए वहां मुझे पता ही नहीं चला कि आपने मुझे फ़ोन किया है. उनकी लंबी लंबी सुंदर गोल, पतली और मांसल उंगलियां जिनके ऊपर सुंदर नेल पॉलिश लगी हुई थी, बहुत ही सेक्सी थी.

मैं लंड पर वैसलीन लगा कर फिर से पोजीशन में आया और उसकी चुत में लंड डाल कर जोर जोर से चोदने लगा. अन्दर जाते ही भाभी भैया के कमरे में चली गई और मैं भाभी के बेडरूम के बाथरूम में पेशाब करने चला गया. क्यूंकि वो लड़का हमारे हॉस्टल में चाय देने और लड़कियों के कपड़े प्रेस करने के लिए ले जाने की वजह से आता रहता था.

मैंने इतना सुनते ही बिन्दू को अपनी बांहों में उठा लिया और उसकी चूत के नीचे लण्ड लगा लिया.

मैं बोला- मीता तुम आज इतनी खूबसूरत और सेक्सी लग रही हो कि मेरा मन डोल गया. पानी भरने की वजह से उसे सांस लेने में तक़लीफ़ हुई, तो उसने खुद अपने हाथ से लंड सहलाना शुरू कर दिया.

बीएफ एचडी भेजिए वो मादक सिसकारियां निकाल निकाल कर कहे जा रही थीं- आंह … आह … हां पी ले … आम का रस जितना पीना है … चूस ले. उसने मेरी हामी सुनकर कहा- तो दो पैग बनाओ और आज की डील के लिए हम लोग चियर्स करते हैं.

बीएफ एचडी भेजिए रश्मि की चूत दर्द से बिलबिला उठी जिसके भाव रश्मि के चेहरे पर साफ साफ दिख रहे थे. मैंने उसे रोका और बोली- क्या कर रहा है? तमीज से कर ना! हम भागी थोड़ी ना जा रही हैं?तो वह बोला- माफ करना दीदी.

उस दिन उससे वीडियो चैट भी की और हम दोनों ने एक दूसरे के लंड चुत का रस निकाल दिया.

नेपाली सेक्सी दो

इस बात का अंदाजा शायद मामी को हो चुका था, तो फिर मुझसे बोलीं- निकाल दिया पानी?मैंने हैरान होते हुए पूछा- आपको कैसे पता चला?वो बोलीं- तेरी सांसें बता रही हैं कि तुमने अभी ही अपना पानी निकाला है!इस पर हम दोनों हंसने लगे. जल्दी ही हम दोनों शिखर पर पहुँच गए और उसकी चूत से भलभला कर रस छूटने लगा इधर मेरे लंड ने भी लावा उगलना शुरू कर दिया. शेफाली और मैंने देखा कि आज तो पूरा इंस्टीट्यूट खाली खाली लग रहा था.

फिर धीरे से उसने अपने थूक में लसड़ी एक उंगली मेरी गांड में डाल दी और मेरे से धीरे से कान के पास अपना मुँह ले जाकर बोला- शुरू में थोड़ी लगेगी … सह लेना भैया. साढ़े नौ के करीब निष्ठा ने खाना के लिए पूछा तो मैंने कहा- यहीं बेडरूम में ले आओ. फिर मैडम ने मेरा एक हाथ अपने चूचों पर रख दिया और दबाने के लिए कहने लगीं.

कॉल नहीं लगने के कारण वो रात में नीचे आकर मेरे दरवाजे को नॉक करने लगी.

मैंने प्राची भाभी को एक दो बारे उठाकर देखा, पर वो गहरी नींद में चली गई थीं. तभी धीरेन्द्र उठा और बोला कि अगर तेरे नाम की दो बार मुठ नहीं मारी होती, तो आज मैं तुझे पूरे मज़े देता. अमन के जाते ही मैं किचन में गया और नीरा की गोरी पीठ पर किस करने लगा.

फिर बहुत धीमे स्वर में मिठास भर कर अनुरोध भरे स्वरों में बोला- भैया. वो- सोच लो पूरी रात का मौका है और इस बार मज़े करने का पूरा इंतज़ाम भी रहेगा. मैंने कहा- टाईम तो बताओ?उसने कहा- वो ग्यारह बजे तक आ जाएंगी, तुम जल्दी तैयार हो जाओ.

मैं अपना मुँह ऊपर उठाकर बोला- क्या हुआ अदिति … तुम्हारी आंखों में आंसू कैसे हैं?मां बोलीं- मुझे दर्द हो रहा है हर्षद … मैं पहली बार इतना बड़ा लंड मेरी चुत में ले रही हूँ ना … इसलिए. और मैं सोफे पर ही आराम से पसर गया।मेरा मन तो पीहू नामक उस फुलझड़ी का भी प्रोजेक्ट इसी प्रकार कम्पलीट करने का कर रहा था पर यह सब कहाँ संभव हो सकता था। हे लिंग देव मैंने जो चाहा और जो माँगा तुमने अपनी रहमत के सारे खजाने मेरी झोली में डाल दिए हैं।कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी कैसी लगी आपको?[emailprotected]कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी जारी रहेगी.

जैसा कि आप जानते है मैं रायपुर छतीसगढ़ से हूँ, लेकिन मैं अभी कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली में रहता हूँ. रश्मि सिसकारने लगी- आह्ह डैडी… आह्ह… चूसो … चाटो… आह्ह!रमेश- ये ले रवि, इसने तो सच में तुझे अपना बाप बना लिया!रश्मि- रमेश सेठ, जब तू अपनी बेटी समान लड़की की चूत चोद कर मजा ले सकता है तो फिर ये अपनी बेटी समान रंडी की चूत नहीं चोद सकते क्या?रवि- बात तो सही कह रही है रमेश ये।रमेश- हां बहुत ही चुदक्कड़ लग रही है. वैसे भी सुमीना के हग करने से उसकी चूचियों का स्पर्श पाकर मेरे अंदर सेक्स की प्यास जाग गयी थी.

कोई पांच मिनट लंड चुसाई के बाद रॉबर्ट ने अपना दुबारा माल मेरे मुँह में निकाल दिया.

उसका एक हाथ मेरे टॉप के अंदर घुस चुका था और उसकी उंगलियां मेरे बूब्स को छू रहीं थीं. या यूं कह लो कि हम दोनों के कमरों के बीच में एक ही दीवार थी, बस कमरे दो थे. उस वक्त मैं सपना को चोदने का प्लान बना ही रहा था कि सपना ने बाहर से मुझे आवाज दे दी.

मैंने कहा- मैंने तो सोचा था कि जब पहली बार तुमने मेरी कहानी पढ़ी होगी और तुम्हें मेरी कहानी अच्छी लगी होगी. तो दोस्तो, मेरी मामी की सेक्स स्टोरी पर आप अपना सुझाव मुझे जरूर भेजें.

और मैं चूतड़ भींच भी रहा था और मरी सी आवाज में कह भी रहा था- यार जल्दी निकाल लो … बहुत लग रही है. बाहर आकर अंकुश मुझसे बोला- कैसी लगी तुम्हें … मेरी ओर शेफाली की ये चुदाई … मजा आया देख कर! लगता है तुम्हारी चूत भी गीली हो गई होगी … हुई या नहीं … सच सच बताना. उसने नाश्ता पकड़ाया और कहा- मैडम कुछ भी सामान की जरूरत हो तो आप लोग बता देना.

सेक्सी हॉट क्सक्सक्स वीडियो

कहानी पर अपने कमेंट भी करें और बतायें कि आपको कहानी पढ़ कर कैसा लगा.

सपना के मम्मी पापा ने दो महीने बाद ही उसकी शादी करने का फैसला कर लिया था. अब तक की चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं अपने दूसरे अफ्रीकन क्लाइंट थॉमस के साथ चुदाई के लिए बिस्तर पर आ गई थी. फिर मैंने उनसे पूछा- आप व्हाटसअप पर हो?उन्होंने बोला- क्यों?मैं बोला- नंबर दो … उधर ही बात करेंगे.

दोस्तो, आपको मेरी यह X स्टोरी इन हिंदी कैसी लगी मुझे मेरी ईमेल आईडी पर मेल करके जरूर बताएं. हम आगे आ जायेंगे और तू आराम से अपनी अदिति के साथ ऐसे ही मजा ले सकता है. बाप बेटी की suhagratफिर मैं उठकर अपनी शर्ट को उतार दिया और उसे बैठा कर उसके कुरते को भी निकाल दिया.

मैं सोच में पड़ गयी कि अगर मैं न बोलती हूँ, तो ये नौकरी, घर और ऐशो आराम सब निकल जाएगा … जिसके लिए में हमेशा के लिए तरसती रही हूँ. मैं उन्हें एक बार फिर से अपने बारे में बता देता हूँ कि मेरा नाम सन्दीप सिंह है और मेरी उम्र 26 साल है.

उत्तेजना से मेरा लन्ड इतना तनतना गया था कि जितनी देर में मैं झड़ता था उससे आधी देर में मैंने अपना गर्म लावा प्रिया की गांड में उड़ेल दिया।अब हम एक दूसरे पर निढाल होकर गिर गए और इधर उधर की बातें करने लगे। मतलब कि हम एक दूसरे को कितना पसंद करते हैं और एक दूसरे में क्या पसंद है वगैरह वगैरह बातें होती रहीं. वह लड़का था तो कागजी पहलवान सा ही … लेकिन उन दोनों माँ बेटी पर भारी पड़ रहा था. वो इस बार पता नहीं बाहर से क्या खा कर आए थे कि उनका वीर्य स्खलन ही नहीं हो रहा था.

मैंने मां को बेड पर लिटाया और 69 की पोजीशन बनाते हुए मैं उनके ऊपर आ गया. वे कभी एक लड़के को पकड़ते, कभी दूसरे को … बारी बारी से वे सभी की गांड से अपना लंड छुलाते. दोपहर के कोई तीन बजने वाले थे कि शर्मिष्ठा के पेट में दर्द शुरू हो गए और वो कराहने लगी.

मैं प्रतिभा के रसीले होंठों से कामरस चूसने लगा और मेरे हाथ स्वतः ही उसके उन्नत नोकदार उरोजों को सहलाने लगे.

वो मुझे देख कर मुस्कुराई और बोली- तुमने बाहर क्यों निकाल दिया?मैं- तुम्हारी सेफ्टी के लिए. एक बार मेरे सामने अगर किसी औरत की ब्रा और पैंटी उतर जाती है तो फिर उस पर मेरा अधिकार हो जाता है.

पर आज मुझे उससे बात करने का बिल्कुल मन नहीं हो रहा था।मैंने कहा- आज मैं बात नहीं कर पाऊंगा. अन्दर ब्लू रंग की ब्रा पैंटी ऊपर पिंक रंग की नाइटी और नीचे ब्लू रंग की जांघों में स्किन और पैरों में मैचिंग पिंक रंग की हील्स पहनने के बाद मैं अब एक पोर्नस्टार की तरह रेडी थी. भाभी ने नहाकर गुलाबी रंग का सेक्सी गाउन पहन लिया जो ऊपर से आधा खुला हुआ और नीचे से जाँघों तक था.

पर उसने मुँह से लंड नहीं निकाला … बराबरी से उसने मेरा लंड चूस चूस कर फौलाद सा कर दिया. अगले रोज शाम को मुझे बिन्दू मिली तो मैंने इशारे में उससे कहा कि पार्क में शाम को चलना है. थॉमस और नीचे आ गया और उसने मेरी पैंटी के ऊपर से ही चुत पर एक चुम्मा किया, जिससे मेरे शरीर में आग सी लग गयी.

बीएफ एचडी भेजिए रमेश सँभलते हुए- कम इन।दरवाज़ा खुला और रमेश का मैनेजर राजन अंदर आया।रमेश- बोलो राजन? एनी प्रोब्लम?राजन- सर वो … अब तक राना एंड संस की फाइल क्लियर नहीं हुई है और वह अपना अकाउंट जल्दी क्लियर करने का प्रेशर बना रहे हैं।रमेश- क्यों क्लियर नहीं हुई अब तक?राजन- सर, वह रीता के हाथों में यह सारी बातें हैं. हालाँकि बिन्दू तीसरी बार ही चुद रही थी लेकिन वह इस तरह से आंखें बंद करके और अपने निचले होंठों को दांतों से काट रही थी मानों उसे चुदने का बहुत तजुर्बा हो.

पंजाबी सेक्सी वीडियो चंडीगढ़

उसकी पैंटी मेरी जेब में थी और चुत खुली हवा खाने के कारण बहकने लगी थी. मेरी गर्लफ्रेंड अब तक बहुत ज्यादा गरम हो गयी थी और अपने मुँह से कामुक सिस्कारियां भरने लगी थी ‘आह हहहह हम्म. उसका सूट एकदम चुस्त था, जिसमें वो इस समय मुझ पर मानो बिजलियां गिरा रही थी.

न निष्ठा कुछ बोल रही थी और न ही मुझे कुछ सूझ रहा था कि अब क्या बात करूं. फिर जेठ बहू सेक्स के लिए मेरी छोटी सी प्यासी चूत पर जैसे ही जेठ जी ने अपना मोटा गुल्ला रखा, मेरी चूत का मांस फैलता चला गया. सेक्स मूवी ब्लूबाहर गहन अंधकार था इसलिए मैंने टॉयलेट का दरवाजा सिर्फ आधा बंद किया और पेटीकोट उठा कर खड़े खड़े दोनों पैर चौड़े करके मूतने लगी.

बेकाबू होकर मैंने अपने तने हुए लंड को अपनी अंडरवियर से निकाल कर बाहर कर लिया और उसको सहलाने लगा.

दोस्तो, अब मैं आपको अपने दूसरे अफ्रीकन क्लाइंट थॉमस के साथ चुदाई की कहानी का मजा अगले भाग में लिखूंगी. आह्ह्ह्ह अर्जुन … उम्म्म मेरे राजा … चूसो मेरी चूत को! अह्ह्ह्ह!”उसके लंड मैं को और जबरदस्त तरीके से मुँह में लेकर चूसने लगी.

मैंने प्रतिभा के दोनों पैर हवा में उठा कर अपने हाथों में थाम रखे थे और प्रतिभा के चेहरे की ओर ही झुका रखे थे. कुछ ही देर में मैंने बिन्दू से कहा- मैं अपने कमरे में ही जा रहा हूँ, तुम वहीं आ जाओ. मैं गुस्से में बोली- बस करो अब, उंगली से चोदते रहोगे क्या? इस लंड से अपनी बहन की चूत मारोगे क्या?वो भी तैश में आ गया और उसने मेरी चूत पर लंड लगा दिया.

फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह में देने की कोशिश की, लेकिन उसने लंड चूसने से मना कर दिया.

मैंने थॉमस को गुड मॉर्निंग विश किया, तो थॉमस भी जाग गया और उसने भी मुझे गुड मॉर्निंग विश किया. अभी तक मैंने बिन्दू को कई मजे नहीं दिए थे इस इरादे से मैंने उसे अपने ऊपर से उतार कर बेड पर लिटाया और उसकी चूत की तरफ जाकर उसकी जांघों को चौड़ा किया और उसकी चूत पर अपना मुंह रख दिया. मुझे ऐसे लगने लगा था कि मेरे साथ काम करने वाली लड़की या औरत, एक बार मेरी बिस्तर पर जरूर आ जाए.

ভুতের সেক্স ভিডিওमैं बाहर खड़े होकर उनकी ये बातें सुन रही थी और अन्दर झांकने की कोशिश कर रही थी. कुछ देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद रमेश ने अपने लंड को बाहर निकाल लिया.

फुल सेक्सी नंगी फिल्में

मैंने उसके होंठों पर जैसे ही उंगली फिरानी चाही, उसने भी लपक कर मेरी उंगली चूम ली. फिर धीरे से मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चुत में फंसाया और चुत के दाने को रगड़ने लगा. बिन्दू की नर्म और गर्म चूत मेरे हाथ के छूने से पहले ही पनियाई हुई थी.

दोस्तों सुबह होने से पहले प्रतिभा को रूम में जाना था और हम फोरप्ले का भी काफी मजा ले चुके थे. अभी कल इसके प्रेमी का इमो मैसेज आया था क्योंकि कल इसका जन्मदिन था तो उसने ‘हैप्पी बर्थडे जानू’ लिख कर भेजा है. उससे जब अंतिम बार 28 जून को बात हुई थी तब उसने कहा था कि जब मैं नया फोन और नई सिम ले लूँगी, तब तुमसे फिर पहले जैसे बात किया करूँगी.

मेरे प्यारे पाठको आपने मेरी पिछली कहानीदोस्त की बहन से सच्चा प्यारमें आपने पढ़ा कैसे उसने ही मुझे प्रपोज किया और प्यार करने पर मजबूर किया. उसकी कमर और चूतड़ों को सहलाया और धीरे धीरे अपना लंड उसकी प्यारी चूत में चलाना शुरु किया. उसने लिखा था कि आज मेरा तुम्हारे साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाने का मन है.

मेरी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स में अपनी बात रखें या मुझे ईमेल पर मैसेज करें. मैंने उन्हें हग किया और प्रॉमिस किया कि कभी किसी को पता नहीं चलेगा और ये दुबारा भी नहीं होगा.

मैं मां से बोला- अब तक का सफर कैसा लगा अदिति?तो वो मुझे चूमते हुए बोलीं- हर्षद क्या बताऊं तुझे … मैं तो शब्दों में बयान ही नहीं कर सकती.

अब आगे की देसी Xxx सेक्स कहानी:खैर दस मिनट बाद जेठ जी पेशाब कर करके कमरे में आ गए थे. प्यारी भाभी की चुदाईइसका गला गहरा होने से इसमें से मेरे मम्मों की क्लीवेज भी नज़र आती थी. भोजपुरी xxx वीडियोबाद में पता चला कि उनके परिवार में किसी का देहांत हो गया है।मौसी और मौसा जी दोनों ही जाने की तैयारी करने लगे।तभी जसप्रीत अंकल वहां आ गए उनको वहां देख मुझे फ़ोन वाली बात याद आ गई और मैं अन्दर कमरे जैसे चली गई।मेरे मौसा जी ने उनको सारी बातें बताई. उसी पल उन्होंने बची हुई पूरी चॉकलेट मेरे लंड पर उड़ेल दी और मेरे लंड को चूसने लगीं.

कोई प्रेम से चुदवा रही है, कोई जिगोलो समझकर, तो कहीं किस्मत से चुदाई नसीब हो रही है.

मेरा पूरा का पूरा लंड अंकल की गांड में घुस गया था और मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैंने उसकी तेज आवाज सुनी, तो उसके मुँह में अपना मुँह देकर उसकी जीभ को चूसने लगा. उसने एक जोरदार प्रयास किया ताकि मैं उसकी चूत से जीभ निकाल लन्ड अंदर डाल दूं.

लेकिन खुशी के साथ सच्चे प्यार और रोमांस वाली फिलिंग आती थी जिसे मैं कभी खोना नहीं चाहता था. गुरजीत की कमर पकड़कर मैंने अपने लण्ड को अन्दर धकेला तो टप्प की आवाज हुई और मेरे लण्ड का सुपारा गुरजीत की चूत के अन्दर हो गया, थोड़ा थोड़ा दबाते हुए मेरा आधा लण्ड गुरजीत की चूत में चला गया. बेशक मैंने पिछले 6 साल की अपनी शादीशुदा ज़िंदगी में बहुत सेक्स किया है.

सेक्सी फिल्म मौसी वाली

जिसमें, मेरी पहली चुदाई कैसे हुई, आपको पता चलेगी।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:कुवारी जवान बुर की चुदाई की लालसा-2. वह अपने कमरे में चली गई और मैंने सीढ़ियों में नीचे जाकर नीचे के दरवाजे की कुंडी खोल दी और ऊपर आकर अपने कमरे में सो गया. फरवरी के महीने में भी सुंदर भाल पर पसीने की बूंदें उसका शृंगार कर रही थीं.

अब मैं अपनी सेक्स स्टोरी का अगला भाग लेकर फिर से हाज़िर हूँ।मैंने और अंकल ने रात के खाने के बाद कुछ देर टीवी देखा क्योंकि अभी इस समय तक कोई न कोई आ सकता था।करीब 10 बजे अंकल ने घर का दरवाजा बंद किया।उसके बाद अंकल ने मुझे एक गोली दी.

उनकी बात सुनकर मैं झट से राजी हो गया क्योंकि मुझसे कंट्रोल ही नहीं हो रहा था.

मैं अभी रॉबर्ट के सामने सिर्फ एक छोटी से ट्रांसपेरेंट ब्रा-पैंटी में थी. उसने रश्मि को दीवार के सहारे लगा लिया और अपना लंड उसके हाथ में दिया. पोर्न वीडियो हिंदीकरीब 20 मिनट तक मौसी की चूत को हचक कर चोदने के बाद मुझे मौसी का गर्मागर्म लावा अपने लंड के ऊपर महसूस हुआ.

थोड़ी ही देर के बाद प्रिंसीपल सर ने अपना पानी निकाल दिया जो मेरी चूचियों और मेरे मुंह पर आकर लगा. मैंने ये कहते हुए मुँह फेर लिया और नेहा के जाने की प्रतीक्षा करने लगा. मगर जैसा कि मैंने बताया कि उसकी अपने पति और ससुराल वालों से नहीं बनती थी और वो बहुत परेशान रहती थी.

जब सांसें कुछ काबू में आईं तो मैं निष्ठा की पीठ और नितम्ब सहलाने लगा और मेरी उंगलियां स्वतः ही उसकी गांड की दरार में रेंगने लगीं. अब आगे:मैं यहां एक बात लिखना चाहता हूँ दोस्तो … कि आज की इंटरनेट क्रांति ने उन सभी द्वारों (सेक्स) को खोल दिया था, जो कभी इस उम्र के लड़के या लड़कियों के लिए बंद थे.

पांच मिनट लंड चूसने के बाद थॉमस मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैंने उसका सारा माल पी लिया.

सो हमें डर तो था नहीं किसी का।वैसे भी हम दोनों अपने घर से दूर जयपुर में रह रहे थे. मैं- तो फिर कब चुसवा रही हो?वो- जल्द ही … अब सो जाओ रात बहुत हो गयी है … कल की सुबह तुम्हारे लिए स्पेशल होगी. कुछ देर की दमदार चुदाई के बाद मैंने शाजिया के अन्दर ही अपना सारा पानी छोड़ दिया.

गावठी सेकस अभी तक मैंने बिन्दू को कई मजे नहीं दिए थे इस इरादे से मैंने उसे अपने ऊपर से उतार कर बेड पर लिटाया और उसकी चूत की तरफ जाकर उसकी जांघों को चौड़ा किया और उसकी चूत पर अपना मुंह रख दिया. love का उपयोग करके जुड़ सकते है और फेहमीना से फेसबुक पर जुड़ने के लिए www.

हर्षद आज क्या चुदाई की है तुमने … मैं सोच भी नहीं सकती थी कि तुम एक अनुभवी मर्द की तरह करीब आधे घंटे से ज्यादा समय तक मेरी चुत चुदाई करोगे. मैंने उसको क्लेरिसा और मेरे रिश्ते के बारे में बताया कि कैसे हम दोनों ऑफिस कॉ-वर्कर हैं और वो तलाकशुदा है. फिर मैंने ख्वाबों में ही खुशी के लब चूमे और उसे अपने सीने से लगाकर बहुत प्यार दिया।दूसरे दिन से ही मैं शादी में जाने की तैयारी में लग गया.

इंग्रजी सेक्सी व्हिडिओ दाखवा

आख़िरकार वो दिन आ ही गया कि दिल के एयरपोर्ट पर एक नया प्लेन उतरने वाला था. एक रात में किसी कपल से बात करते वक्त मुझे हेंगआउट्स पर एक मैसेज आया. रवि ने रश्मि के बालों को पकड़ लिया और दोगुनी ताकत से अपनी बेटी की चूत चोदने लगा.

काफी दिन बात करने के बाद वो अब पूरी तरह मेरे कंट्रोल में आ चुकी थी. तुम चिंता मत करो।”अब मैंने अपने हाथ उसके उरोजों पर रख दिए और कुर्ती के ऊपर से ही उन्हें धीरे-धीरे मसलने लगा।आह …” जिस प्रकार से उसके मुंह से आवाज निकल रही थी मुझे लगता है उसे अब ज्यादा दर्द नहीं हो रहा है।अब तो उसे बातों में उलझाए रखना होगा- अरे सुहाना?हम्म?”तुम्हारा जो प्रोजेक्ट है ना?”हम्म?”उसमें एक और करेक्शन अगर हो जाए तो तुम्हारी क्लास का यह सबसे बेस्ट प्रोजेक्ट होगा.

टाइग्रेस तो मैं लड़की का रुतबा बढ़ाने के लिए कहता हूं, दरअसल बनती तो कुतिया है, डॉगी स्टाइल में चुदने के लिए.

फिर जेठ जी ने मुझसे कहा- बहू, आगे घुटनों पर झुक जा और अपनी गांड उठा दे पीछे से. कुछ देर लंड चूसने के बाद उसने मुझे खड़ा किया और मेरी लैंगिंग्स उतार कर मेरी चूत में अपना लंड डाल कर पेलने लगा. मैंने उनसे कहा- मामी, मैं आपको एक दोस्त की हैसियत से कुछ कहूँ?मामी ने हां कहा.

वहां मुझे छोड़ कर उसको एक ढाबे पर रुकना था, जो गुड़िया के गांव के करीब हाइवे पर था. लौडों की माशूकी की उम्र बहुत कम होती है … बस उसका आप अंदाजा ही लगा लीजिए कि किशोरावस्था से जवानी की दहलीज तक. मैंने तो आनन्दसागर में डूबकर आंखें मूंद लीं और उसकी कामुकता से लाल हो चुकी आंखें भी स्वतः मुंद गईं.

मैंने आश्चर्य जताते हुए उससे पूछा- आज पति के साथ यहां कैसे?पूजा- तुम्हें सरप्राइज देने आयी हूँ.

बीएफ एचडी भेजिए: लेकिन मैंने उसका मोती छेड़ना जारी रखा जिससे उसकी चूत मस्त पनियां गई और उसने अपने पैर अच्छे से खोल दिए. थोड़ी ही देर के बाद प्रिंसीपल सर ने अपना पानी निकाल दिया जो मेरी चूचियों और मेरे मुंह पर आकर लगा.

वो पूछना चाह रही थी कि ये हो क्या रहा है, पर मैंने उसके खुलते लबों को उंगली से चुप करा दिया. सासू माँ बोलीं- दामाद जी, जल्दी से इसे हॉस्पिटल ले चलो, डिलीवरी बस होने ही वाली है. मैंने बड़ी उत्सुकता से पूछा- फिर क्या हुआ दीदी?दीदी बोली- हम्म … अपने पति का के कारनामे बड़े मजे लेकर सुन रही है.

अब उसे सच बोलूं तो नीरा के नाराज होने का डर!और मैं झूट बोल दूं औऱ नीरा ने पहले ही सच बता दिया हो तो अमन की नज़रों में झूठा होने का डर!मैं बात घुमाने लगा तो अमन फिर से पूछ बैठा- बताओ न कुछ हुआ रात में?क्या होना था रात में?” नीरा टेबल के पास आते हुए बोली.

वो आगे हाथ करके मेरी चूचियों को मसलने लगा और अपनी गरम सांसें मेरे कान पर छोड़ने लगा. परदे चेंज करके मोटे परदे लगा दिए, जिससे कमरे में काफी हद तक रात का माहौल तैयार हो गया. अतः अपने स्वभाववश मैं अपनी साली से अत्यंत सामान्य संतुलित शालीन व्यवहार ही करता था, बात भी उतनी करता जितनी जरूरत हो बस.