बीएफ मराठी व्हिडीओ

छवि स्रोत,काले घोड़े की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

तीरपल सेक्सी: बीएफ मराठी व्हिडीओ, पुरूष मित्र अपने लौड़ों को हाथ में ले लें और महिला मित्र अपनी चूत खोल लें और मजा लें.

अंग्रेज की सेक्सी मूवी

ये शायद उसकी पहली चुदाई थी। मुझे नहीं पता लेकिन उसने मुझे ऐसा ही बताया था. ब्लू फिल्म नंगी फोटो सेक्सीउसने कहा- ओह्ह … तब तो मैं तुम्हें नहीं जानती थी, लेकिन अब अच्छे से जान गई हूं.

उन्होंने मेरी बरमूडा पैंट भी उतार दी, जिसके साथ ही मेरी चड्डी भी निकल गई. 5 लड़के एक लड़की की सेक्सी वीडियोदोस्तो, जैसे मैंने पहले आपको बताया था कि मीनू एक 19 साल की कमसिन कली थी.

उसने उसको हाथ से साफ किया और फिर नीचे झुककर मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया.बीएफ मराठी व्हिडीओ: अरे बिरजू सुन तो ज़रा!बिरजू- हां मालिक कहिए, क्या बात है?मुखिया- अरे ये शम्भू की छोरी कभी आती है, कभी नहीं.

मैंने पूछा- किस चीज की?भाभी हंस दीं और बोलीं- क्या समझ नहीं आया कि मुझे किस चीज की जरूरत है?मैंने कहा- मैं समझ तो गया हूँ, लेकिन आप अपने मुँह से साफ़ कहोगी, तो मुझे अच्छा लगेगा.मगर बिना रुके उसने फिर से एक धक्का मारा और मेरी गांड में उसका लंड पूरा घुस गया.

भाई बहन की सेक्सी वीडियो चूत - बीएफ मराठी व्हिडीओ

कोई दूसरी नहीं चलेगी क्या?कालू की बात सुनकर बलराम खड़ा हो गया- यार अब इतनी भी छोटी नहीं है.दोस्तो, सिमरन के साथ किस तरह से चुदाई हो सकी, ये बड़ी ही रोचक घटना है और एकदम सच है.

भाभी ने जल्दी से अपनी साड़ी और ब्लाउज ठीक किया और आंखें बंद करके लेट गईं. बीएफ मराठी व्हिडीओ फोन रखते हुए दीदी ने उससे कहा कि मैं तुम्हारा नंबर लेकर तुमसे बाद में बात करूंगी.

अम्मी की बिल्कुल चिकनी चूत देख कर अब्बू बुरी तरह से बौखला गए और अपना अंडरवियर उतार कर अम्मी का पेटीकोट का नाड़ा खोल कर खींचते हुए उतार दिया.

बीएफ मराठी व्हिडीओ?

मेरा हाथ भाभी की चूत पर पहुंच गया था लेकिन फिर वो छुड़ाकर भाग गयी और मैं भाभी को चोद नहीं पाया. अब सुमन भाभी वाले फ्लैट को मैंने किराए पर ले लिया था, जहां पर मैं कभी कभी आकांक्षा को ले आता हूं. फिर जब मैं सांय को ऑफिस से लौटा तो सोनिया के आने का इंतजार करने लगा.

मैंने उसको अपनी बांहों में कस लिया और जोर से उसके होंठों को चूसने लगा. शरीर में अजीब सी मस्ती छा गयी और कमरे में तेज-तेज सांसों का तूफान सा आ गया. रघु तुम एक तरफ़ हट जाओ … और गौर से देखो कि लंड चुत में कैसे डालते हैंरघु- ठीक है बाबूजी, आप जल्दी से घुसा दो.

जाते हुए नीला ने मुझे आंख मारी, मैं समझ गया कि अब ये पूरी रांड बन चुकी है. मैंने उसको एक साइड लिटा कर उसके होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया और उसकी चूत पर उंगलियों से सहलाने लगा. कुछ ही देर में उसके बदन की गर्मी से मेरी आंखों में एक नशा सा छाने लगा था.

मैं ये सोच सोचकर ही चुदासी हो जाती थी कि कोई जवान लड़का जब कामवाली को इतने बुरे तरीके से चोद सकता है तो मेरी चूत की क्या हालत करेगा. मैं उसकी प्यारी मीठी आवाज में खो सा गया और सिर्फ अंडरवियर में आकर पैरों के बीच के उभार पर गमछी लपेटने लगा और फिर लेट गया।वह मेरे पेट पर तेल लगा बड़े आराम से अपने हाथों को छाती से ढोरी तक ससारती जा रही थी.

मुझे मेरे फेसबुक मैसेंजर पर एक मैसेज आया जिसमें एक शादीशुदा आदमी ने अपनी पत्नी की फोटो भेजी हुई थी.

मैंने कहा- तेरे वाले का क्या हाल है, उसको भी तो बाहर लाओ?मैंने उसकी पैंट को खोल दिया और नीचे गिरा दिया.

मैं उसके बहुत नजदीक था और ऊपर से मुझे उसकी चूचियों की गहराई उसकी शर्ट में दिख रही थी. उसको भी पता था कि अब मैं उसे चोदने वाला हूँ, तो वो आगे किचन की स्लैब पर झुक गई. नीचे से उसने ब्रा-पैंटी या पेटीकोट कुछ नहीं पहना था इसलिए साड़ी उतारते ही वो पूरी की पूरी नंगी हो गयी.

मैंने उसे बिस्तर पर चित लिटाया और उसकी बुर पर अपने होंठों को लगा दिया. देसी लंड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे डॉक्टर की बीवी को नए देहाती लंड से चुदाई का मजा लेने का शौक चढ़ा था. मैं तो साला बिना पिए कभी किसी को नहीं चोदता … मगर आज उस मैडम को तो ऐसे ही चोदूंगा.

मेरा लन्ड पूजा भाभी की चूत लेने के लिए बैचेन हो रहा था। धीरे धीरे मेरे हाथ उनके बोबे से टच करने लगे। फिर मैं पानी लेकर पीठ को धोने लगा और रगड़ते रगड़ते मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया.

अम्मी मेरे दरवाज़े के पास आईं, उन्होंने दरवाजा खोला और अन्दर झांक कर देखा. प्यार से मनाकर मैंने उसको नीचे लिटाया और फिर से उसके बदन को सहलाने चूमने लगा. बहू उनके काले काले चूतड़ों, जो पीछे की ओर निकले हुए थे, को सहला रही थी.

जैसे कि मैंने ऊपर ही बताया था कि मेरी भाभी का फिगर साउथ की हीरोइन काजल अग्रवाल की तरह एकदम मस्त है. सुमन- तो क्या हुआ, मैं प्यार भी नहीं कर सकती क्या इसको?सुरेश- कर लो मेरी जान … आह ये तुम्हारा ही तो लंड है. अच्छा रुक, मैं ही अन्दर आता हूँ और वॉल खोल कर वापस बाहर चला जाऊंगा.

मेरे दोनों छेद में ही लंड थे और दोनों में ही बराबर का मजा मिल रहा था.

पिछले भागगाँव के मुखिया जी की वासना- 5में आपने पढ़ा कि गाँव के मुखिया ने नए डॉक्टर की गर्म बीवी को चोद कर उसकी तसल्ली कर दी थी. इधर पीछे से में पेल रहा था, तो आगे के छेद में नीचे से अशोक अपना लंड पेले जा रहा था.

बीएफ मराठी व्हिडीओ वो मेरी अम्मी के एक दूध का निप्पल मींजता हुआ बोला- बड़े मस्त दाने हैं आपके. मगर अब्बू ने ब्लाउज से दूध बाहर नहीं निकाले बल्कि अम्मी की गांड और नंगी टांगों को हल्के हल्के से चूमने और काटने लगे.

बीएफ मराठी व्हिडीओ फिर मैंने अपना एक हाथ भाभी की कमीज के अन्दर डाल दिया और ऐसे ही मम्मों को सहलाने लगा. मैंने उनसे कहा- मुझे कोई दिक्कत नहीं नही, लेकिन आप वहां क्या बताओगी कि मैं कौन हूँ.

मैं भीतर ही भीतर खुश हो गयी थी कि मौसा जी ने मुझे देख कर अपना खड़ा लंड सहला के मुझे जानबूझ कर दिखाया था; इसका सीधा साफ मतलब था कि मुझे फिर से चोदने की तमन्ना उनके तन मन में जाग चुकी थी; उन्हें लुभाने ललचाने के मेरे प्रयास रंग दिखाने लगे थे.

ब्लू फिल्म चाहिए नंगी

मैंने कहा- यह क्या है राहुल?राहुल बोला- मेरी जान, सुहागरात को सेलिब्रेट करते हैं. फिर मैं अपने कपड़े पहन कर उन दोनों को बाय बोलकर अपने रूम में आ गया और सो गया. उसकी आंखों से आंसू निकल रहे और गांड से मेरा पानी और थोड़ा खून भी आ रहा था.

मुखिया- अरे अरे गीता रानी, मैं इतना भी जालिम नहीं हूँ … देख तू मेरी बात मान लेगी, तो तेरी बकरी हमेशा के लिए तेरी. मैं- सच मामी?वो बोली- हां, तु्म्हारे अंदर मुझे कहीं से कोई कमी नहीं नज़र आती. सेक्सी लड़की की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई करता था.

फिर हमने अपने कपड़े ठीक किये और किस करने के बाद फिर से एक एक करके बाहर आ गये.

यह बात भाभी ने मुझे तीन महीने पहले बताई थी … और उसके बाद क्या हुआ, वो आपको इस सेक्स कहानी में आगे पता चल जाएगा. चूंकि अब मैं कमाने लगा था और उम्र भी शादी लायक हो गयी थी तो मेरे पिताजी अब मुझे शादी के लिए टोकने लगे थे जबिक मेरा मन उस वक्त शादी करने का बिल्कुल नहीं था. उस वक्त तक कोई लड़की मेरे से सेट नहीं हुई थी मगर चूत मारने का बहुत मन करता था.

मेरा लंड उसकी गांड को छूते ही कड़क हो उठा और उसकी सेक्सी चूत को टच करने लगा. पहले उनके गोरे चिकने पैर, फिर चिकनी दूध जैसी गोरी जांघें, चूत पर लाल पैंटी, जिसमें से बाल बाहर निकले हुए दिख रहे थे. वो ढीली हो चुकी थी, लेकिन मैंने उसको गर्म किए रखा और उसको किस करता रहा.

ऐसा लग रहा था जैसे वो लंड की भूखी है और मेरे लंड को काटकर खा ही जायेगी. कुछ देर बाद एक नए नम्बर से मेरे मोबाइल पर घंटी बजी, तो मैंने काट कर दुबारा मिलाया.

मैं अपने एक हाथ से उनके चेहरे को पकड़े हुए था और दूसरा हाथ उनके मम्मों पर फेर रहा था. वो जानते थे कि चुदाई घमासान होने वाली है और जगह कम नहीं पड़नी चाहिए. इस तरह अगले दिन ग्यारह बजे के करीब हम मौसा जी की कार से फार्महाउस के लिए चल दिए.

सेक्स लव स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि प्यार के इजहार के बाद दोनों एक दूसरे से सेक्स के लिए आतुर थे पर हिचक रहे थे.

मैं ही तुम्हें नाम बता देता हूं, लेकिन एक रिक्वेस्ट है कि अब हम वही नाम लेकर इन अंगों को पुकारेंगे और हल्की फुल्की गाली-गलौच भी करेंगे, ताकि हर एक लम्हा यादगार और हसीन बन जाए. अब दोनों खुलकर मज़ा करना … क्योंकि तुम्हारी चुत अब ठीक से खुल गई है. फिर मैंने लंड को धीरे धीरे चूत में चलाना शुरू किया और दो-चार मिनट के बाद वो आराम से लंड को चूत में लेते हुए चुदने लगी.

आह … इंडियन हॉट भाभी के मुँह से लंड चुसवाने में बड़ा मजा आ रहा था, पर मैं डर भी रहा था. अब वो खुले रूप से अपनी चूचियों के दर्शन मुझे करवाती थी लेकिन कभी अपनी तरफ से कुछ भी पहल के संकेत नहीं दे रही थी.

चूंकि वे करवट के बल लेटी थीं इसलिए उनकी पतली कमर और विशाल चूतड़ इतने कामुक लग रहे थे कि मैं अपना लंड सहलाने लगा. मुखिया ने गीता को फिर से गोदी में बिठा लिया और उसके चूचे मसलने लगा. फिर हमारी मुलाक़ात जर्मनी में कैसे हुई और कैसे मैंने उसकी गर्म प्यासी फुद्दी और गांड की ठुकाई की.

एक्स एक्स बीएफ देहाती

उसमें कैद उसके 28 के बूब्स मानो बाहर आने को बेताब थे और राहुल को चुनौती दे रहे थे.

मगर मैं अभी शांत नहीं हुआ था।उसने कहा- अब अगर और किया तो मर जाऊंगी मैं! बर्दाश्त नहीं हो रहा है अब!उसने खुद उछल कर मेरा लंड अपनी चूत में से निकाला और तुरन्त कंडोम हटाकर ऐसे ही अपने मुँह में ले लिया। क्या बताऊँ दोस्तो, उसके होंठों का स्पर्श पाकर मैं तो जन्नत की सैर कर रहा था. आपको दवाखाने आ जाना चाहिए था ना!महेश- अरे ऐसा कुछ नहीं है, बस थोड़ी थकान हो गई थी. उसके बाद करीब 11 बजे दिन के वो मेरे पास आई और बोली- 3 दिन की मेहमानी हो गयी.

मामी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि बड़ी मामी की चूत चुदाई के बाद मैं दूसरे मामा के घर गया, वहां छोटी मामी को पटाने की कोशिश करने लगा. इस बात को लेकर मेरी और भाभी की काफी खुली खुली बातें हुई थीं और हम दोनों सेक्स के मामले में चुदाई की बातों तक आ गए थे. क्सक्सक्स हॉट सेक्सी वीडियोसवो पूरी कोशिश कर रही थी मगर कभी कभी मेरे लंड पर उसके दांत लग जाने से मैं कसमसा जाता था.

इकबाल सिंह और धीरज जीत गए और मेरे पति से बोले- अजय, चल आज तू ऊपर छत पर सो जा. सिसकारते हुए मैं बोला- इस्स … जल्दी करो मामी, भाभी की चूत को चूसने के लिए मरा जा रहा हूं.

मैंने भाभी से पूछा- भाभी दूध कहां है?भाभी ने मुस्कुराते हुए कहा- अब कौन सा दूध पीना है?ये कह कर भाभी ने मुझे आंख मार दी. उसका बहुत नेताओं से कनेक्शन भी था, इसलिए पुलिस भी उसके खिलाफ कुछ नहीं करती थी. अब उससे करवाऊंगी, तो बाद में पता नहीं किस किस से … नहीं नहीं मालिक रहम करो.

मैंने उनको तुरंत हाथों में भर लिया और दोनों हाथों से दबाते हुए एक को चूसने लगा. मैं उसकी चूत में उंगली करने लगा और वो मेरे लंड को हाथ से आगे पीछे करने लगी. धीरज हंसने लगा और अपना लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर करते हुए गपा गप मेरी गांड चुदाई करने लगा.

अब तुम बताओ ये सब क्या है?सुमन ने झूठ-मूट की कहानी बना कर सुरेश को बता दी कि आप इतने अच्छे डॉक्टर हो.

धीरे धीरे धक्के देते हुए मैंने चाची की गांड में सुपारे को घुसा दिया. संगीता- हैलो रवि तुम कहां हो? घर पर मेहमान आए हैं और उनको तुम्हें छोड़ने उनके घर जाना है.

झुककर मैंने दोनों हाथों से उनकी नीचे की तरफ लटक रही चूचियों को पकड़कर जोर जोर से भींचना शुरू कर दिया और तेजी से उनकी चूत में लंड को पेलने लगा. मैंने भाभी से कहा- मेरा बहुत खड़ा हो गया है, उसका इलाज तो कर दो भाभी. उसके मुँह से लगातार कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- इस्स राहुल, आह ऐसे ही करते रहो, आह रुको मत और जोर जोर से करो … आहहहह उफ़ आउच अम्मह करते रहो ऐसे ही … मुझे बहुत मजा आ रहा है.

जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने फिर से हल्के हल्के धक्के लगाने शुरू किये. मैंने उससे घोड़ी वाली पोजीशन में आने के लिए कहा और वो उठ कर बेड पर झुक गयी. अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर रगड़ने लगा और सारा थूक मेरी गांड पर फैला दिया.

बीएफ मराठी व्हिडीओ अब्बू ने अम्मी की गांड पर हाथ फेर कर कुछ इशारा किया, तो उसके बाद अम्मी चित लेट गईं. तेरे बाप को कर्जे की माफी के लिए कोई कागज लिखकर नहीं दिए … समझी! अभी भी मैं चाहूँ तो तुम सबको घर से धक्के मार कर निकाल सकता हूँ.

राजस्थानी भाभी का सेक्स वीडियो

अब इन भाई बहन के बीच क्या होता है … और बाकी का रस किस तरह से बहा, ये अगले भाग में लिखूंगी. वो बोली- तुम इतने गंदे कब से हो गये?मैं बोला- जब से तुम्हारी चूची मैंने देखी हैं. मुझे गर्मी लगने लगी क्योंकि बारिश बंद हो चुकी थी और उसके बाद उमस और ज्यादा बढ़ गयी थी.

मैंने धीरज से पूछा- अरे तुझे इस एड्रेस पर क्या काम है?तब धीरज मुस्कुराता हुआ बोला- इस पते पर एक रंडी रहती है, मुझे उसे चोदने जाना है. वो भी कहने लगी- आह जीजू क्यों तड़फा रहे हो, अब जल्दी से अन्दर डाल दो. बिहारी चुदाई सेक्सी पिक्चरसुमन- ये क्या है … मुझे ऐसे क्यों?सुमन आगे कुछ बोलती, हरी ने मुँह पर उंगली रख कर उसको चुप कर दिया.

आंटी आंख चमका कर बोलीं- वो कैसे?अम्मी ने आंटी से कहा- यार, यहां पर कुछ लड़के ऐसे हैं, जो एक बार का एक हजार रुपए देते हैं.

भाभी जमीन पर बैठ गईं और अपने नीचे के ब्लाउज हुक खोल कर अपने मम्मों को बाहर निकाल लिया और मुझे अपनी गोद में लिटा कर दूध पिलाने लगीं. मैं- हां पापा, अभी मेरा फोन बंद होने को है … तो मैं काम खत्म करके घर ही आ जाऊंगा.

मैं उसकी देसी चुतके ऊपर उसकी झांटों वाली जगह पर चूमने लगा जहां पर छोटे छोटे रोएंदार भूरे भूरे बाल थे. दोस्तो, मैं आपका दोस्त सोनू सैम एक बार फिर आपके सामने एक नई हक़ीक़त को सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी के रूप में लेकर आया हूं. मेरी नज़र भी ऐसी ही एक भाभी पर टिकी थी, उनको देख कर मैं लाइन मारता रहता था.

बीच बीच में मैं उसके आंडों के गोलों को मुँह में लेकर चूसता जिससे वो और उतेजित होकर कमर हिलाने लगता.

किससे चुसवाती हो इनको जो इतने बड़े किये हुए हैं?मॉम कोई जवाब नहीं दे रही थी. अधिक सावधानी के लिये मैंने अवनी की गांड के पीछे पैरों से नीचे चादर के अंदर दो तकिया लगा दिये और पैर उन पर चढ़ा लिये. शबाना शायद फिर से चरम पा चुकी थी वो नशीली आवाज में बोली- आह मेरे अन्दर ही निकल जा … मुझे महसूस करना है.

9 सेक्सी वीडियो मेंअरे बिरजू सुन तो ज़रा!बिरजू- हां मालिक कहिए, क्या बात है?मुखिया- अरे ये शम्भू की छोरी कभी आती है, कभी नहीं. फिर 10-12 धक्कों के बाद मेरा वीर्य निकल पड़ा और मैं उसकी चूत में अंदर ही झड़ने लगा.

हिन्द एक्सएक्सएक्स

वो कहने लगी- मुझे जल्दी जाना है वरना मम्मी मारेगी या पूछगी कि कहां गयी थी … तो मैं फस जाऊँगी. मैं बस कामुक सिसकारियां भरने लगी और जोर जोर से बोलने लगी- आह … आह … आह मजा आ गया जान … मजा आ गया आह … और चोदो … जोर से चोदो. इस तरह मैं अपने पति के साथ खुश रहने की खूब कोशिश करती, जो है जैसा है जितना है उसी में संतुष्ट रहने का प्रयास करती.

इसके बाद राहुल ने कहा- जान, कैसा लगा सरप्राइज … काट दूँ केक!मैंने कहा- राहुल जो भी करना है, जल्दी से करो … मुझे तड़पाओ मत प्लीज. तो गुस्सा तो मुझे आज भी आया, पर मुझे पता था कि ये गुस्सा कहां निकालना है … और कैसे निकालना है. ट्रेन सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक अनजान जवान भाभी को चलती रेलगाड़ी चोद दिया.

मैंने फिर से बियर की बोतल उसकी चूत में डाली और उसके दूध एक हाथ से मसलने लगा. फिर जल्दी से उसके ऊपर आकर मैंने उसकी टांगें अपने कंधों पर रखीं और कमर पकड़ कर लंड चुत पर सैट कर दिया. मैं झड़ने जैसा तो पहले ही फील कर रही थी सो उनके आठ दस धक्कों में ही मैं निपट गयी और उनसे जोंक की तरह लिपट गयी; मेरी चूत से रह रह कर रस की फुहारें छूट रहीं थीं.

उसी समय मैंने सारा माल दीदी की चूत में छोड़ दिया और हांफता हुआ उनके ऊपर ही लेट गया. भाभी- शादी के बाद से मेरी तबियत ख़राब हो गयी थी, इसलिए मैं कॉल नहीं कर पाई.

मैं- मैं अच्छा हूँ, मुझे लगा आप पहुंचने के बाद कॉल करोगी, पर आपने किया ही नहीं.

उसकी चूत पर लंड के टोपे को लगा दिया और अंदर घुसाने की पोजीशन में हो गया. थ्री एक्स हिंदी सेक्सी वीडियोकालू- ये दोनों बाप बेटे बाहर क्यों आए हैं … काम नहीं कर रहे क्या?मुखिया- वही पुराना रोना है इनका … हिसाब कर दो हमारा. अमेरिका न्यू सेक्सीमैंने उसका मुँह पकड़ कर तेजी से झटके मारते हुए उसके मुँह में झड़ गया. मैं पीठ के बल पीछे गिर गया और आंटी के सिर को अपने लंड पर दबाते हुए आंख बंद करके लंड चुसवाने का मजा लेने लगा.

उसके साथ एक बड़ी दिक्कत ये थी कि वो लोग मांसाहार भी करते थे जबकि मेरा परिवार पूरा का पूरा शाकाहारी था.

अब हम दोनों बहुत उत्तेजित हो गए थे, तो बुआ ने मेरा हाथ पकड़ा और बेडरूम में ले गईं. आंह जानू मैं आपकी चुत को पहले प्यार से काटूंगा और अपने दोनों हाथ आपके दोनों चूचों को मसलूंगा. मुझे घूमने में इंटरेस्ट नहीं था तो बोला- यार घूम तो बाद में लेंगे, पहले बोतल का इंतज़ाम करते हैं, घर भी जाना है.

एक दिन आवेश में आकर गांव वालों ने उसे पीट पीट कर मार दिया और उसकी लाश जंगल में फेंक दी. तभी उसने तेज तेज सिसकारते हुए अपना सारा माल मेरी गांड में छोड़ दिया। माल इतना ज्यादा था कि गांड में भरने के बाद कुछ उसकी झांटों पर भी निकल आया. फिर मैं अपने कपड़े पहन कर उन दोनों को बाय बोलकर अपने रूम में आ गया और सो गया.

वीडियो में ब्लू फिल्म हिंदी

अलग अलग तरीकों से, अलग अलग आसनों में, गांड में, मुँह में, सभी जगह लंड डाला. थोड़ी देर में मेरा दर्द मुझे महसूस होना बंद हो गया और अब राजेश के लंड के धक्कों की स्पीड भी बढ़ गयी. जितनी चुदास मेरी चूत में रहती है उतनी ही जल्दी मुझे आपको अपनी चूत की चुदाई की कहानी बताने की भी रहती है.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मैं अपनी चरम सीमा पर आ गया था, मैंने उसे बताया- अब मेरा झड़ने वाला है, कहां लेगा?मगर वो कुछ ना बोला.

ज़रूर आज कोई बहुत उलझे हुए हैं ये सोच कर वो चुपचाप मुनिया के साथ अपने घर चली गई.

फिर मैंने एक जोरदार झटका और मारा जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ उसकी बच्चेदानी से जा टकराया. मैंने थोड़ा फ़्लर्ट किया- मतलब आप हुस्न की परी और मैं हीरो … तब तो हमारे बीच बहुत कुछ हो सकता है. हिंदी सेक्सी वीडियो ट्रिपल एक्सआपकी पिंकी सेन[emailprotected]देसी लंड की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 3.

मैं भाभी के ऊपर आ गया और मैक्सी के ऊपर से ही उनकी चूचियों को जोर जोर से भींचने लगा. इतना बोलकर वो मेरे रूम से बाहर निकल गयी और मैंने रूम को अंदर से बंद कर लिया. भाबी जी के ससुर के मरने के बाद वो अपने पति के साथ रहने दूसरी जगह चली गयी और हम दोनों की चुदाई का सिलसिला वहीं रुक गया। अगली कहानी में मैं बताउगा कि भाबी जी कीछोटी बहन की चूतको मैंने कैसे चोदा।मेरी ये देसी भाबी सेक्स कहानी आप लोगों को कैसी लगी इस पर कमेंट जरूर कीजियेगा.

मैंने करीब जाकर उससे पूछा- क्या हुआ मैम?आप तो जानते है कि मैं होटेलियर हूँ. मेरी अम्मी देखने में हमारी मां कम, बड़ी बहन ज्यादा लगती हैं और वे अपनी उम्र से 8-10 साल कम की लगती हैं.

ओरल सेक्स फ्री सेक्स स्टोरीज में पढ़ें कि गाँव के ठरकी डॉक्टर ने अपनी असिस्टैंट कुंवारी लड़की को कैसे नंगी करके अपना लंड चुसवाया.

कई बार तो केवल लंड चूसने के लिए ही वो मुझे जबरदस्ती अपने घर बुला लेती थी. आखिरी पैग खत्म करके वो फिर से मेरे ऊपर चढ़ गया और एक बार फिर से मेरी गांड में उसके लंड की धक्कम पेल होने लगी. उसके चूचे के दाने उभरे हुए दिख रहे थे और शॉर्ट्स के ऊपर चूत की छाप दिख रही थी.

ब्लू फिल्म वीडियो सेक्सी नंगी वो पूरी कोशिश कर रही थी मगर कभी कभी मेरे लंड पर उसके दांत लग जाने से मैं कसमसा जाता था. मीनू- आह … मुझे भी इतना मज़ा आया कि मैं शब्दों में बता ही नहीं सकती … आह धीरे करो ना जी … आइईइ आह.

मेरी नज़र भी ऐसी ही एक भाभी पर टिकी थी, उनको देख कर मैं लाइन मारता रहता था. ये बात यहीं से शुरू हुई कि जब कोरोना इंडिया में आया, तो हम लोगों को बताया गया कि आप लोगों की छुट्टी हो रही है. भाभी की टांगें हवा में उठ गई थीं और उनके मुँह से मादक सिसकारियां माहौल को और भी मस्त कर रही थीं.

बीएफ पिक्चर नंगी चुदाई वाली

जब मुझसे रहा न गया तो मैंने उसको बेड पर गिरा लिया और उसकी चूचियों पर टूट पड़ा. उसके बाद मेरी गांड के साथ क्या क्या हुआ वो मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा. उन दोनों की मस्त बातें सुनने के बाद हम दोनों ने बुक्स वगैरह रख दीं क्योंकि रात ज़्यादा हो चुकी थी और सोने की तैयारी करने लगे.

मैं उठ कर तेजी से बैठ गया।वह पास पड़े कपड़ों को देखकर बोली- दीजिए, ये सब कपड़ा धो देते हैं।और वह कपड़े लेकर मटकती हुए चली गई।आधे घंटे तक कमरे में आराम करने के बाद मैं नहाने जाने लगा। आंगन में लगे चापाकल (हैंडपम्प) पर नहाने लगा. मैंने एक हाथ से पैंटी को अपने मुँह में भर लिया और दूसरे हाथ से ब्रा को लंड में लटका कर मुठ मारने लगा.

मीता- बाबूजी आज सवेरे जब मैं उठी, मुझे फिर से सीने में दर्द हुआ और मैंने देखा कि आज मेरे सीने पर और भी ज्यादा निशान बने हैं.

उसके हाथ राहुल के सर पर आ गए और वो उसके सर को अपने मम्मों पर दबाने लगी. वो मस्ती में मेरे लंड को चूसने लगी और मैं जैसे जन्नत की सैर करने लगा. टीशर्ट को एक तरफ फेंक कर मैंने उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी मोटी गांड से जीन्स को नीचे खींच दिया.

रुक्मणी भाभी के बेटे की सरकारी नौकरी लग गयी थी और उसकी पोस्टिंग जयपुर हुई थी, तो रुक्मणी भाभी जयपुर चली गयी थीं. वो कभी आंड पकड़ने लगती तो कभी लौड़े को ऊपर नीचे करने लगती। मैं बाहर के गेट को देखता हुआ उसके मोटे चूचों को दबा रहा था। हम अपनी कोशिश के हिसाब से जितना हो सकता था उतना मजा ले रहे थे।फिर अवनी ने रात की बात बताई कि मामी को शक हो गया है. मैंने देरी न करते हुए रागिनी को अपने नीचे लिटा दिया और अपने लौड़े पर थूक लगा कर रागिनी के बिल पर सेट किया.

उसके दो दिन पहले ही भाभी ने मुझसे ये बात कही थी कि भैया उनके साथ सेक्स नहीं करते हैं.

बीएफ मराठी व्हिडीओ: कुछ देर बाद मैंने अपना लंड निकाला, जिसे देख कर उसके आंखें फटी की फटी रह गईं. मैं आपको बता दूं कि मैं एक अच्छी बॉडी का मालिक हूं और मेरे लंड का साइज भी मस्त है.

जब हम दोनों पहली बार मिले थे, तब मेरी उम्र 39 साल और उसकी 37 साल थी. मैं जनता था कि मैं चाहे जो भी करूँ, मौसी किसी को बताने वाली नहीं हैं. उनके गर्भवती होने के कारण मैं केवल उनकी चूचियों के साथ खेल सकता था या फिर उनकी गांड में ही चोद सकता था.

मैं कभी उसकी गांड तक हाथ ले आता था तो कभी उसकी चूचियों को साइड से टच करते हुए मसाज कर रहा था.

उसके मुंह से मैंने हाथ हटाया तो वो जोर से सिसकारते हुए चुदने लगी- आह्ह … आह्ह … यस … आह्ह … संजय … चोद … आह्ह … इतना मजा … आ आ रहा है … आह्ह … चोद दे … तेज-तेज … आह्ह … जोर से फाड़ दे आज!दो-चार मिनट के बाद चाची सेक्स के मजे से सिसकारते हुए झड़ गयी. सुजाता भी अब गर्म होने लगी थी और उसके हाथ मेरे सिर के पीछे आ गये थे. मैं एक बार तो डर गया कि शायद मॉम कल पेटीकोट पर माल गिराने वाली बात के बारे में डांटने आई होगी.