बीएफ इंडियन लड़की

छवि स्रोत,इंडियन बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म दिखाएं ब्लू: बीएफ इंडियन लड़की, हमारे घर अ कर वो सबसे पहले दुपट्टा उतार कर टांग देती, फिर अपना स्वेटर उतार कर रख देती और काम पर लग जाती.

विदेशी सेक्सी वीडियो भेजो

सोचा इस बार अगर सब कुछ ठीक रहा तो इस बार इस रंडी को चोदने का चांस बिल्कुल नहीं छोड़ूँगा. हिंदी की सेक्सी ब्लूहमारे पास दो ही कंबल थे, एक को मौसी ने अपने पैरों से लेकर ओढ़ लिया और मौसा जी ने दूसरे कम्बल को पाने ऊपर ओढ़ लिया और कुछ मुझे दे दिया.

इधर मोहन लाल की उंगलियों और जुबान के लगातार प्रहार से मयूरी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई और और इतनी देर में एक बार झड़ चुकी थी. सेक्सी बीएफ बढ़िया वालीमैं पीछे से जाकर अपना मुँह सीधा ही उसके योनि पर रख दिया और चूमने लगा.

उसका लंड खड़ा हो गया, उसके बाद उसने मेरी गर्दन पकड़ कर नीचे कर दिया और लंड को चूसने के लिए कहा.बीएफ इंडियन लड़की: काजल और मयूरी को अपने बाप का लंड चूसते हुए देख कर फिर से रमेश और सुरेश के लंड खड़े हो गए.

ये सब इस घर में मेरे लिए अनएक्सपेक्टेड था इसलिए मैं सोच में पड़ गई थी.तो इस पर पूनम अब समझ चुकी थी कि मेरा क्या इशारा है, पूनम बोली कि शेखर शादी से पहले ये सब ठीक नहीं है.

ब्लू इंग्लिश पिक्चर दिखाओ - बीएफ इंडियन लड़की

इसे भी चोद दूँ क्या?रश्मि- ऐसा कुछ सोचना भी मत!मैं थोड़ा उदास हो गया तो रश्मि ने मेरे होंठों पे एक जोरदार किस दी.इस कहानी में कोई भूल हुई हो तो माफ़ करना और बताइएगा ज़रूर कि ये चुदाई की कहानी कैसी लगी.

भरी हुई!मैं तो उसकी जांघें ही चाटने लगा, इससे वो और भी गर्म हो गयी और मेरा सिर कस के पकड़ लिया. बीएफ इंडियन लड़की थोड़ी देर बाद हम दोनों का पानी निकल गया और हम नंगे ही चिपक कर लेट गए.

? कल से बहुत एसएमएस कर रहे हो?उधर से जवाब आया कि मैं अवी हूँ और आपसे बात करना चाहता हूँ.

बीएफ इंडियन लड़की?

मैंने और तुम्हारे अंकल ने कुछ नहीं किया।मुझे लगा कि शायद आंटी चुदना चाहती हैं। मैंने आंटी से इसी टॉपिक पर कुछ बातें की. मेरी पिछली कहानियों में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने और रिया ने हरदम धकापेल सामूहिक सेक्स का लुत्फ़ उठाया।मेरी सारी कहानियां पढ़ कर मुझे दो हजार से ऊपर फैन मेल्स आये. ”ये क्या यार मेरी जांघों को क्यों सहला रहे हो?”अच्छा नहीं लग रहा क्या?”ऐसा तो नहीं कहा मैंने.

अब इतना जरूर हुआ कि मैं जब भी उनके पास जाता तो उनको टच कर देता, पर वो कुछ नहीं बोलतीं, बस हल्का सा मुस्कुरा देतीं. (मैं, मेरा हमारा आदि शब्दों का प्रयोग)आप किसी और की घटना बता रहे हैं तो वह, उसका, उनका आदि शब्दों का प्रयोग करके कहानी लिखनी चाहिए. तभी एक जो करीब 25 साल का लड़का था, बोला- अंकल आप अपनी भतीजी को?चाचा बोले- पहले थी… पर इसके हुस्न ने मुझे पागल बना दिया, आज से ये मेरी बीवी है, मेरी रखैल है.

मैंने स्कर्ट पहनी थी, नीचे सर्दी से बचने के लिए काली लेग्गिंग डाली हुई थी. अब हम दोनों शावर के नीचे थे और मैंने शावर ऑन कर दिया और एड्रिआना ने मुझे अच्छे से नहलाया और मेरा लंड चूसते चूसते मुझे एक बार फिर लड़ाई के लिए तैयार कर दिया. तभी मुझे याद आया कि मेरे पास कंडोम नहीं है, मैंने अन्नू से कहा- अन्नू जान, मेरे पास कंडोम नहीं है.

पूजा ने मेरी बहन के बारे में पूछा तो मैंने उसे बताया कि वो घर वालों के साथ बाहर गई है, यह कह कर उसे बाहर से ही चलता करना पड़ा।पर मेरे मन की आस प्यास अधूरी थी।आज भी मन करता है कि कहीं पूजा मिल जाए तो एक बार उसके जिस्म को प्यार जरूर करूँगा।आप सभी का मित्र मयंक।[emailprotected]. अमित- तो बताओ मुझे मिनी को गले से लगाने के लिए क्या करना होगा?मैं- ज्यादा कुछ नहीं.

उसे देख कर मैं सोफे पर से अपनी ब्रा उठा कर पहनने लगी।पर रोहण ने कहा- रहने दो माँ, ठीक है ऐसे ही।मैंने ब्रा नहीं पहनी.

तभी अचानक इंतजार करते करते कब मुझे नींद लग गई मुझे पता ही नहीं चला।करीब 1:00 बजे रात को ऐसा लगा जैसे मेरे ऊपर कोई चढ़ा है पर मैंने आँखें बंद रखी, मैंने पाया कि कोई मेरी पैंटी उतार रहा है पर मैंने आँखें अपनी बंद रखी और सोच लिया कि अब मैं आँख नहीं खोलूंगी, मैं जान गयी ये वही अंकल लोग हैं जो मुझे चोदने आये हैं, पर मैं पूरी सोती बनी रहूंगी.

मैंने उनसे मज़ाक करते हुए कहा- आप तो काफ़ी शरारती किस्म की औरत हैं. उसने मुझे सीधा किया और अपने लंड का जो वीर्य बचा था, वो उसने मेरी क्लीवेज में भर दिया. सालों से जिनके जिस्म को दूर से देख के मुठ मारता था, वो इस वक़्त मेरी बांहों में थीं.

मैं भाभी को सुबह 4 बजे अपने कमरे में आने की बोल कर अपने कमरे में आ गया. मैं उसकी ये सब बातें सुन कर काफी खुश होने लगा और मेरे लंड महाराज तो चूत मिलने के नाम से ही हरकत में आ गए. मैं बड़ी ही खुशनसीब हूँ, जो आपसे मुझे अपने पापा जैसा प्यार मिल रहा है.

फिर 3 साल पहले मेरे डैड का एक्सिडेंट हो गया और वो हमें छोड़ कर चले गए थे.

ऊपर टॉप पहना, पर उसके बटन बंद नहीं किए ताकि अमित को और ज्यादा आकर्षित कर सकूँ. हमने किसी पार्क में 10 बजे मिलने का प्लान बनाया।फिर मैंने ममता से पूछा कि मैं आपको पहचानूँगा कैसे?तो उसने कहा कि वो ब्लू कलर का सूट पहन कर आयेगी. फिर मैंने देखा कि वही लड़का जो मेरी मॉम से स्टेज पर चिपक कर डांस कर रहा था, मॉम को मिला और दोनों ने एक दूसरे को किस किया.

मैंने उसकी गांड के छेद पर जीभ हल्के से बिल्कुल आराम से नीचे से ऊपर तक फेरी. लेकिन जब वो जाने के लिए उठी तो मुझे पता नहीं क्या हुआ और उसे फिर से कस कर अपने बदन को चिपका कर उसके होठों पर किस किया और थोड़ी देर वैसे ही रहे. उम्र तो मेरे जितनी ही है पर दिमाग बच्चों जैसा है बीमार है तो आप उस पर गुस्सा मत करना।रूपिका- ठीक है।रूपिका ने सोचते हुए जवाब दिया.

मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत के अंदर डालना शुरू किया तो मेरी उंगली तो बड़े आराम से उसकी गीली चूत के अंदर जा रही थी पर दिखावा करने के लिए वह चिल्ला रही थी कि मत डालो, मुझे दर्द हो रहा है… मत डालो!पर फिर भी मैंने धीरे धीरे अपनी पूरी उंगली उसकी चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा.

बस मुझे और मेरी मॉम को पता था, लेकिन मॉम को ये नहीं पता था कि वो मैं हूँ, उसको लगा कज़िन है. मैं उसका नीचे का होंठ चूस रहा था और वो मेरा ऊपर का होंठ चूस रही थी.

बीएफ इंडियन लड़की उस दिन उसके घर पर हम दोनों के अलावा कोई नहीं था क्योंकि उसके घरवाले कहीं पार्टी में गए थे. पूरे कमरे में फच फच का शोर था और हमारी साँसें इतनी ज़्यादा फूल रही थी कि वो हम दोनों को साफ़ सुनाई दे रही थी.

बीएफ इंडियन लड़की फिर मैंने धीरे से उनकी साड़ी निकाली और उनके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. वहाँ रोहण विदेशी गोरी और काली लड़कियों को बिकनी में देख रहा था।फिर रोहण ने अपने कपड़े उतार दिए और फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए, मैं ब्रा पैंटी में आ गयी और फिर हम पानी में खेलने लगे.

बात करते करते मीतू मेरी जांघ पे हाथ रखते हुए बोली- भाई पैर ऊपर कर लो!इतना सुनते ही मेरा हाथ उस की जांघ पे चला गया और सहलाने लगा, उसे भी ऐसा करवाने में मजा आ रहा रहा था, परन्तु अचानक वो खड़ी हो गयी और पंखे की स्पीड बढ़ा कर मेरे पास में ही खड़ी हो गयी.

यूपी का सेक्सी

मेरे सीने से चिपक गई और उस ने अपने नाखूनों को मेरी पीठ में चुभा दिया. दर्द होता है।उनके रसीले मम्मों को चूसते हुए मैंने उनके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और अपना हाथ उनकी चूत पर ले गया और चूत को सहलाने लगा। आंटी की चूत पर बाल नहीं थे, साफ़ चिकनी थी. यह ही सोचते सोचते मैंने दस मिनट लगा दिए और वो मेरी शर्ट सुखा कर ले आईं.

दीदी खुद यही चाहती थी कि मेरे लिप्स उनके लिप्स से दूर नहीं हों, मैंने भी लिप्स को फिर से दीदी के लिप्स से जकड़ लिया और एक बार फिर से पागलपन से और मस्ती से भरपूर किस शुरू हो गई थी साथ ही मैंने हाथों को बेड पर रख के बेड का सहारा लिया और स्पीड और भी ज़्यादा तेज कर दी और साथ ही लंड का धक्का भी पूरा जोरदार कर दिया जिस से लंड पूरी तेज़ी और जोश से चूत की दीवारों से टकराने लगा था. मेरी चूचियां इतने जोर से दबाने पर दर्द सी करने लगी थीं और जो मेरी पैंटी में लग गया था, वो उस समय इतना ख़राब लग रहा था कि मैं क्या बताऊँ. तो ठीक है पापा जी, मैं बंगलौर-निजामुद्दीन राजधानी में ऐ सी फर्स्ट क्लास का दो बर्थ वाला कूपा रिज़र्व करवा लेती हूं आप छह तारीख को यहाँ आ जाना.

उनकी दो लड़कियां थीं, एक की शादी हो चुकी थी और वो इलाहबाद अपनी ससुराल में रहती थी.

भाभी बोलीं- तू किस मांग कऱ ये क्या कर रहा है, रुक तेरी मम्मी को बताती हूँ. इससे मेरी थोड़ी हिम्मत बढ़ गयी, ऐसा मैंने फिर से एक दो बार और किया, पर इस बार वो वहाँ से भी चली गयी और अपने कमरे में जा कर पढ़ने लग गयी. [emailprotected]आप मुझे फेसबुक पर भी मिल सकते हैं मेरी फेसबुक आईडी है.

अब मैंने पूनम को पलटाया और उसको लिप किस करने लगा और लिप किस करते हुए उसके गले को चूमते हुए उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मस्त मम्मों पर मेरा मुँह आ गया. इसके बाद वो मेरी ये बात जान कर बहुत खुश हुई और उसने मुझको फ़ोन पर पहली बार किस दी- ऊम्माह…मैंने भी उसे उत्तर में किस की. अब तक की इस हिंदी सेक्स कहानी में आपने जाना था कि मेरी शक्ल देख कर शायद मेरे भैया के बॉस का मन फिसल गया था तो उन्होंने भैया को एक बड़ी पोस्ट का ऑफर दे दिया था.

तो मैंने भाभी से कहा- भाभी इसमें तो कोई छेद नहीं है?भाभी बोलीं- पगले जब इसमें अभी तक कोई लंड घुसा ही नहीं. वो रोटी बना रही थी, तभी मैं चाय पीते पीते वहीं पर उससे कुछ बातें करने लगा.

मैंने कहा- सब कहां गए हैं?तो बोलीं- तुम्हारे मामा तो दुकान पे है और सास ससुर उनके दूसरे लड़के के घर गए हैं, घर पे मैं और मामा ही हैं. पड़ोस की सीमा भाभी (नाम बदल दिया है) एक मस्त रापचिक माल हैं, गठा हुआ बदन, मस्त 5 फीट 4 इंच की हाइट, उनके 36डी के बड़े बड़े चुचे. इधर काजल की बाँहों में पड़े पड़े थोड़ा सा आराम करने के बाद रमेश का लंड फिर से चुदाई के लिए तैयार हो गया.

और सच में आज वो दिन वो पल मुझे नजर आने लगा।और अब तो मेरा लंड है भी या नहीं… मुझे पता भी नहीं चल रहा था, उधर आंटी और भी भयानक होती जा रही थी, आंटी ने अपनी गति के साथ ही अपनी हरकतें भी बढ़ा दी.

यह मेरी सच्ची कहानी है मेरी चचेरी बहन अंजलि की, जो अब एक विधवा औरत है. करीब दस मिनट मेरी गांड चोदने के बाद सर ने लंड बाहर निकाला और मेरी स्कर्ट को भी निकाल दिया. मैंने अब लंड को थोड़ा सा बाहर निकाला और फिर से अन्दर किया और आराम आराम से आगे पीछे होने लगा.

पार्टी में मेरी सहेली ने भी मेरी बड़ी तारीफ़ करते हुए कहा था कि तू खुशनसीब वाली है जो इतना सेक्सी और हॉट जिस्म पाया है. तो सागर- क्यों दीदी, ऐसा क्यों कह रही हो मेरे जीजू के बारे में?मीना- भैया उनका लंड छोटा है सिर्फ 4 इंच का और वीर्य भी 5 मिनट में ही निकल जाता है.

उस समय वो क्या माल लग रही थी दोस्तो! मेरा दिल कर रहा था कि साली को यहीं पटक कर चोद दूँ, पर डर भी लग रहा था. मैंने एक टाइट टी-शर्ट पहनी थी, जिससे मेरा कसा हुआ शरीर दिखता था और शॉर्ट्स पहना हुआ था. उतने में मेम ने अपनी गांड खोली और फिर क्या था मैंने एक ही झटके में अपने पूरा लंड मेम की गांड में पेल दिया.

आलिया भट्ट का सेक्सी फोटो

जब मैंने जोर से बहन की चुची मसली तो वो कहने लगी- भाई धीरे से मसलो… दर्द होता है मुझे.

!मैंने लंड को हाथ से पकड़ कर चूत पर रगड़ने लगा और वो सिस्कारियां लेने लगी. शिवानी मुझसे बोली- यार ये मेरा ससुर है… मैं इस से भी चूत चुदवाती हूँ. रिया ने अपना लंड मेरी सास की चूत से निकाला और सास की चूत चाटने लगी.

वो लंड पेलते हुए बोला- भाभी आप सच में बहुत ही हॉट माल हो… आपका फिगर, आपकी सेक्सी स्टाइल किसी को भी दीवाना बना दे. टेक फर्स्ट ईयर में एडमिशन लिया था मेरी सुंदरता और मेरे फिगर को देख कॉलेज के सभी स्टूडेंट मुझे आँहें भर कर देखते थे. हिजरा वाला सेक्सी बीएफउसने अपनी सलवार का नाड़ा खुद ही खोल लिया और सलवार पूरी उतार कर एक तरफ रख दी.

मैं विल्स क्लासिक पीता हूँ, तो वो उसके लिए थोड़ी अलग और हार्ड थी, लेकिन हम इस सिगरेट वार्तालाप पर काफी करीब हो गए थे. ऊं हूं… आप लंड बाहर निकाल लोगे!” वो बोली जैसे उसने इसी बात के डर से मुझे अपने से बांध लिया था.

मैंने पूछा- ज्यादा तो नहीं लगी?वह पैन्ट पहनते हुए बोला- लगबे की ऐसी तैसी. सलमा गाल पर चुम्बन पाकर मस्त हो गई और खड़ी होकर शिशिर से चिपक कर उसके होंठ चूमने लगी. इस बार तो मैंने अपने हाथ की उंगली भी उसकी योनि में डाल दी।तनु का शरीर दूसरे राऊंड के लिए जल्द ही तैयार हो गया और उसने मेरे लिंग को भी दूसरे राउंड के लिए तैयार कर लिया था।अब मैं तनु के दोनों पैरों के बीच बैठ गया, उसके पैरों को अपने कंधे पर रख लिया, इसके पहले ही मैंने तनु को एक बार चुम्बन करके आई लव यू जान कहा.

मैं- अच्छा तुम मेरे बॉयफ्रेंड हो और तारीफ उसकी कर रहे हो और मुझसे ही उसे गले से लगाने की सिफारिश भी करवा रहे हो. मैं बोर हो रहा था तो मैं उनकी काम में मदद करने के बहाने अपनी रांड को देखने लगा. फिर बोली- धत बदमाश!मेरे ज़ोर देने पर उसने शरमाते हुए मुझे बता दिया कि जब मैं सो रहा था, तब देखा.

मैं भी अपनी छत पर खड़ा था, वो ऊपर आई, उन्होंने मेरी तरफ देखा और लेट गयी.

मेरा बड़ा भाई लगातार मेरी चुदाई में लगा हुआ था, लगभग 10 मिनट होने को थे, वो लगातार मुझे चोद रहा था और मेरी गांड लाल करने में लगा हुआ था, उसके थप्पड़ मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहे थे तो मैंने नीचे हाथ डाल कर उसके आंड को दबा दिए. तभी वो साला ठरकी बूढ़ा अपनी हरकत पर आ गया और उसने भाभी से उनका ब्लाउज उतारने को कहा.

फिर कैसे ना कैसे करके हम सब एक दूसरे पे से अलग होकर खड़े हुए और जैसे ही मैं उन पर से हटने लगा कि ड्राइवर ने फिर से ब्रेक लगा दिया. मैं भी बड़े प्यार से अपने दोनों हाथों को दीदी की पीठ पर हल्के हल्के घुमा रहा था, दीदी के लिप्स एकदम साफ़्ट थे जो बटर की तरह मेरे लिप्स में घुलते जा रहे थे, दीदी ने अपनी ज़ुबान को मेरे मुँह में घुसा दिया और मैं भी दीदी की ज़ुबान को चूसने लगा मैंने दीदी की ज़ुबान को अपने दाँतों से पकड़ लिया और बड़ी मस्ती में दीदी की ज़ुबान को चूसने लगा. मैं अब मैं अपनी ही सैटिंग करने जा रही थी, इतना नशा मुझ पर छा गया था, मैंने कहा- मुझे क्या मिलेगा तो मैं बताऊँ बोलो?अमित- क्या चाहिए बताओ तो हां एक बात और है कि मैं मिनी को फिर से एक बार गले से लगाना चाहता हूँ.

फिर क्या था मैंने अपना हाथ उसकी टॉप के ऊपर से ही उसके बोबे पर रख दिया, उसने मेरे पास आकर अपने होंठ मेरे होठों के ऊपर रखे और किस करने लग गई. मैं बोर हो रहा था तो मैं उनकी काम में मदद करने के बहाने अपनी रांड को देखने लगा. ऐसा मैंने इसलिए कहा कि सच में ये इते पैसे देगा भी या नहीं?अमित- मैं दे दूंगा.

बीएफ इंडियन लड़की मुझे देख कर वो लेट गईं और फोन रखकर बोलने लगीं- मेरे सर में दर्द है मुझे सोने दे. करीब बीस मिनट तक मैंने सरिता की चुत की चुदाई अपने अनुभव के आधार पर रुक रुक कर की और अंत में अपना लंड का रस उसके मम्मों पर निकाल दिया.

लाइट टॉर्च

”बोलो बेटा क्या बात है?”पापाजी मैं भी चलूंगी शादी में… एक ही तो भाई है मेरा!”ठीक है बेटा, तू फ्लाइट से दिल्ली आ जाना, मैं यहाँ से ट्रेन से पहुंच जाऊँगा. शांत होने के बात वो उठी और मेरे लंड पे आइसक्रीम लगाके मेरा लंड चूसने लगी. उन लोगों ने अलग अलग अपने मोबाइल वीडियो रिकॉर्डिंग चालू करके रखे और मेरे बिस्तर पर आ गए, मेरे टॉप को जैसे ही ऊपर किया तो देखा कि मैंने ब्रा नहीं पहनी थी.

सविता ने धीरे धीरे मेघा के कपड़े उतारने शुरू किए और बस ब्रा पेंटी छोड़ी. मैंने फिर हाथ से इशारे से ही अपना लंड बुर पे फिट किया और धक्का दिया, लंड का एक हिस्सा बुर में चला गया, साक्षी कसमसा गयी और मुझे धक्का दे के हटाने लगी. सेक्सी बीएफ एक्स एक्समैंने धीरे से उनकी पेटीकोट का नाड़ा खोल कर उसे उनके जिस्म से अलग कर दिया,वो काली ब्रा और पैन्टी में क़यामत लग रही थीं.

साथ ही साथ अपने हाथों से रेणुका भाभी के कूल्हों को भी मैं मसल रहा था.

मैंने उसकी कमर पकड़ी और जोरदार धक्का लगाते हुए अपना लंड उसकी गांड की जड़ में पहुंचा दिया. फिर मैं अपना हाथभाभी की पैंटीके अन्दर डाल कर अपनी उंगलियां उनकी चूत के अन्दर डाल कर उसे सहलाने लगा.

ऊपर टॉप पहना, पर उसके बटन बंद नहीं किए ताकि अमित को और ज्यादा आकर्षित कर सकूँ. उसने पूछा- और सुनाओ भाई … क्या हाल चाल हैं?मैंने कहा- मैं तो मस्त हूँ लेकिन दिव्या यार, तुम भी तो खूब मस्त हो गयी हो. सच में क्या मज़ा आ रहा था, जब वो जीभ को मेरी चूत के अन्दर डाल डाल के जीभ की नोक से चोद रहा था.

मैं घर आकर पैन्ट उतारने लगा तो अंडरवीयर नीचे खिसक गया, जीजाजी का लंड खड़ा हो गया, उन्होंने मुझे फिर अंडरवीयर नहीं पहनने दिया.

उसने एक किसी छोटे पेड़ को पकड़ा था और वो लड़का उसे डॉगी स्टाइल में लगा हुआ था. अब मैं धीरे से उसके ऊपर लेट गया और मेरा तना हुआ 6 इंच का लंड उसकी चूत के ऊपर आ गया जो उसे फील हो रहा होगा. आख़िर वो दिन आ गया, उसी दिन मेरी पहली परीक्षा थी और दूसरी तीन दिन बाद.

भाई-बहन का बीएफ वीडियो मेंमुझसे उसकी चुत को देख कर रहा नहीं गया, मैंने उसकी टांगें फैलाईं और अपनी जीभ से उसकी चुत को चाटने लगा. मेरा बड़ा भाई लगातार मेरी चुदाई में लगा हुआ था, लगभग 10 मिनट होने को थे, वो लगातार मुझे चोद रहा था और मेरी गांड लाल करने में लगा हुआ था, उसके थप्पड़ मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहे थे तो मैंने नीचे हाथ डाल कर उसके आंड को दबा दिए.

वीडियो ब्लू पिक्चर सेक्सी

फिर मैंने अपने लंड को उससे चुसवाया और उसकी चुत में डालने की कोशिश करने लगा. महेश- क्यों देख ली हिम्मत या तुम्हें और कुछ भी दिखाऊं?मैं- इसमें क्या था… कुछ ऐसा कर के दोखाओ ना कि जिसमें लगे कि हां हिम्मत वाला काम है. अब मैं लंड को चूत में वैसे ही फँसा कर उस पर लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा.

अन्तर्वासना हिन्दी सेक्स स्टोरीज के मेरे प्यारे पाठको, कैसे हैं आप सब!आपने मेरी पहली कहानीचाचा दुबई में. एंट्री फीस देकर मैं अन्दर आया तो देखा बहुत सारी कामुक सुन्दरियां भड़कीले और अर्धनग्न लिबासों में वहां ड्रिंक्स पेश कर रही थीं. बहुत प्यारी है रे तू… तेरी जैसी कच्ची गांड मारने में बहुत मज़ा आता है.

मैं सारा दिन सोचती रही कि इस वर्षा का अकड़ घमंड उतार कर ही दम लूँगी. मेरा साढ़े 6 इंच लम्बा और ढाई इंच मोटा लंड उसकी चूत की गहराइयों को नापने के लिए तैयार था. मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ कर थोड़ा सा ऊपर किया और छोड़ दिया, जिससे उसे अच्छा लगा क्योंकि लगता था कि इस तरह से चुदाई का ये उसका पहला अनुभव है.

वो काफी सेक्सी लग रही थी और अब मुझे भी सेक्स के बारे में बहुत कुछ पता चल गया था. नौकर गंगाराम अन्दर आया और उसने महंगी शराब की कुछ बोतलें गिलास टेबल पर रख दिए.

मैंने देखा कि सुष्मिता मेम ने क्लीन शेव किया हुआ था; मैंने जैसे ही उनकी चूत पर हाथ फिराया तो वो एकदम से चिहुंकते हुए सिसक गईं और मेरे हाथों को अपनी चूत पर दबाने लगीं.

वो फिल्म मैं भाभी के साथ देखूँ, फिल्म देखते हुए हम दोनों एक दूसरे के हस्तमैथुन कर सकें!14. बीएफ मूवी कैसे देखेंमुझे लगता था कि वो सिर्फ अपनी कामवासना और चुदाई के शौक के कारण मुझसे चुदती है. हिंदी में ब्लू पिक्चर बीएफमेरे लेटते ही मॉम वहां बेड से उठीं और सीधे रूम का दरवाजा खोल कर वहां से भाग गईं. उसने मेरे ब्लाऊज को उतारा और मैंने ब्रा नहीं पहनी थी, वो मेरी चूचियों पे साबुन लगाने लगा।अचानक उसकी नजर मेरे पेटीकोट पर गयी वो बोला- भाभी, यह गीला चिपचिपा सा क्या है?‌‌मैंने बेशर्म होकर कहा- यह मेरा रस है जो मेरी चूत से निकला है.

वो वॉशरूम में जाने लगी तो मैं भी पीछे वॉशरूम में घुस गया वो सूसू करने लगी मैंने पीछे से उसकी चुत पर हाथ रखा, जिससे उसको सूसू नहीं हुआ.

मैंने पूनम का पल्लू नीचे गिराया और ब्लाउज के ऊपर से पीठ को चूमते हुए पूनम के मम्मों को मसलने लगा था. मैं शर्मा कर वहां से अपने घर चला गया और भाभी के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. सोचा इस बार अगर सब कुछ ठीक रहा तो इस बार इस रंडी को चोदने का चांस बिल्कुल नहीं छोड़ूँगा.

मेरी इच्छा है कि मेरा लंड मेरी भाभी के मुंह में हो और मेरा वीर्य निकल जाये. रमेश ने एक झटका लगा दिया और उसका लगभग आधा लंड काजल की चूत में चला गया. वो हिल भी नहीं सकती थी क्योंकि उसकी एक चुची उसके बच्चे के मुँह में थी.

सेक्सी फोटो प्रियंका चोपड़ा

अब तो ये उसके बस की बात नहीं रह गई थी, वो बोली- सैम, मेरी चुत में लंड डाल कर मेरी प्यास बुझा दो।मैंने उसकी एक ना सुनते हुए उसे बेड पर बैठने को कहा। रमन अपनी पत्नी के नीचे लेट गया और अनामिका की चुत चाटने लगा। अनामिका रमन के चेहरे पर बैठी चूत चुसवा रही थी और मैं अपना लंड चुसवा रहा था, वो रंडी की तरह गुर्राते हुए चुपड़ चुपड़ करके लोड़ा चूस रही थी. मैंने उसके चुचों को दोनों हाथों में पकड़ा और उसकी रसभरी चुचियों को दबाने लगा, चूसने लगा. फिर थोड़े टाइम के बाद मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने कहा- सुमन, मेरा वीर्य आने वाला है.

मैं बोली- बोल तो सही, तुझे प्रॉब्लम क्या है?वो गुस्से से बोली- तू छिनाल थी और छिनाल ही रहेगी.

हुआ यह कि पीछे की सीट पर लेफ्ट विंडो पर मेरे पापा फिर मैं और मम्मी और राइट विंडो पर काजल बैठी थी कार मेरे चाचा ड्राइव कर रहे थे और उनके बगल में दूसरा चाचा और मेरा भाई बैठा था.

एक दिन मैं रसोई में पानी लेने गया था तभी भाभी भी वहां आ गईं, तो मैंने हिम्मत कर के भाभी के गाल पर चुम्मा करते हुए भाभी के मम्मों को भी छू दिया. उसने घर का दरवाजा खोला और अन्दर आकर हॉल में घुसते ही देखा तो… यह क्या…? उसे तो अपनी आँखों पर यकीन ही नहीं हुआ कि उसके घर में ये कामुकता का खेल चल रहा था. सैक्स विडीयौएक दिन उन्होंने अपने घर का पता दिया और कहा कि मिनी तुम शाम को 7 बजे अकेली आना.

मेरा नाम विशाल (बदला हुआ) है, उम्र 22 साल, कद 6 फुट और मैं भंडारा (महाराष्ट्र) से हूँ. सब मर्द उसे ललचाई नज़रों से घूर रहे थे।विक्रांत यह सोचता हुआ आगे बढ़ रहा था कि गले मिलूँ, हेलो करूँ या सिर्फ हाई से काम चला लूँ. काजल भी रमेश का लंड चूसना छोड़ कर पीछे पलट गई और मयूरी की तरफ देखने लगी.

’कुछ देर की चुदाई के बाद उसने मुझे बेड पर अपने नीचे ले लिया और खुद ऊपर आकर मुझे चोदने लगी. बात जब की है सर्दियों की छुट्टियों के चलते मेरी पत्नी बच्चों को लेकर अपने मायके गई हुई थी.

गांव में इतने दिनों बीच में मैंने कई बार फोन पर किशोर से बात की थी.

बाहर आने के बाद मैं उसे पढ़ाने लगा पर अब मेरा मन उसे पढ़ाने में ना लग कर उसे चोदने के ख्यालों में लग गया. राजस्थान में हमारी बिरादरी में लड़की की शादी के बाद लड़का ससुराल में ही रुकता है और वहीं पर सुहागरात मनायी जाती है. थोड़ी देर बाद मेरा दोस्त अमित झड़ने को था, उसने नीना को कहा- मैं झड रहा हूँ, कहाँ लेगी मेरा माल?मेरी बीवी बोली- माँ के लौड़े, अपना लंड बाहर निकाल के मेरे चूतड़ों पर अपना माल निकाल दियो.

बफ इंडियन बफ हम जैम में फंसे होने के कारण पानी हमको भिगोने लगा और कुछ ही देर में हमारे कपड़े पूरी तरह भीग चुके थे. ”तो अब क्या होगा आज रात यहाँ फॉर्म हाउस पर?”मैंने अपनी ब्लू फिल्म बनवाने का पांच लाख में कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है.

मैं- यार डर लगता है कि कुछ गलत ना हो जाए, अभी उसे इतना नहीं जानती हूँ तो जाकर कैसे मिल लूँ?दिव्या- यार तुम भी… इतनी स्मार्ट हो, आज के युग में हो और डरती हो. मंजरी ने अपनी जांघें भींच ली, शायद उसे बहुत मज़ा आया, या गुदगुदी हुई. मैं झुक गई और उसने मेरी चूत पर थूक लगाया और एक ही झटके में पूरा लौड़ा पेल दिया.

वीएफएक्सएक्स

मेरी मम्मी ने उस नीग्रो के लंड को अपने उंगलियों से धीरे से पकड़ा, उसकी आगे की चमड़ी को पीछे को किया, तो फूला हुआ. मैंने भाभी माँ को करीब 15 मिनट तक चोदा और उन की चूत में अपना गरम गरम लावा छोड़ दिया. पर मेरी किस्मत खराब निकली, जब रात को 10 बजे के लगभग हम खाना खाते हुए बात कर रहे थे, तब मैंने उनको अपने दिल की बात बोली.

आंटी बिल्कुल नंगी हो गई थीं। उनकी आँखों में मस्ती छाई हुई थी। मैंने भी अपने कपड़े उतारे और अपना लण्ड उन्हें चूसने को कहा।आंटी ने हिचकिचाते हुए कहा- मैंने ऐसा कभी नहीं किया. उसके इतना कहते ही मैंने उठ कर सरिता के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा.

उसके बाद जब भी मुझे मौका मिलता तो मैं भाभी के घर में आ जाता और हम दोनों चूत चुदाई के मजे करने लगते.

पुलकित बोला- मैंने कहा सुनती हो! अपने पति का लंड चूसोगी क्या?और वो हंसा. ”यह क्या कह रही है तू बहू? मुझे ट्रेन से बंगलौर आने में पच्चीस छब्बीस घंटे लगेंगे और फिर हम दोनों बंगलौर से दिल्ली जायेंगे ट्रेन से. जब मेरी बीवी से अपनी कामुकता बर्दाश्त नहीं हुई तो उसने अमित को गाली देते हुए कहा- मादरचोद, अब घुसा भी दे अपने डंडे को मेरे छेद में!लेकिन अमित अब भी अपना लंड मेरी बीवी की कलित पर और चूत की दरार में ही रगड़ रहा था.

पर अचानक…जैसे अंजलि दीदी की खुशियों को किसी की नजर लग गई, शादी के 3 साल बाद भरे यौवन में 29 साल की जवान और हसीन औरत अंजलि विधवा हो गयी. क्या तुम मेरे साथ चलोगी घूमने?मैंने उसको मना कर दिया और बोला कि आकाश हम दोस्त सिर्फ़ कॉलेज में हैं बस. फिर एक दिन आकाश ने बोला कि विशाखा मैं यहाँ पास ही में लेक पर घूमने जा रहा हूँ.

तभी सामने वाले यंग लड़का भी जोर से अपना मस्त लंड मेरी चूत में एक ही झटके में पूरा डाल दिया, मुझे लगा कि मर जाऊंगी, मेरी आँखों से आंसू निकलने लगे, बहुत दर्द हो रहा था, मुंह में लंड घुसा था इसलिए चिल्ला भी नहीं पा रही थी।अब मेरी चूत में गांड में और मुंह में तीनों जगह एक साथ लंड अन्दर बाहर हो रहे थे, बहुत तेज दर्द हो रहा था, सबके लंड बहुत बड़े और मोटे थे। जोर जोर से मुझे तीनों एक साथ चोदने लगे.

बीएफ इंडियन लड़की: क्यों ना ऐसे ही किया जाए कि पैसे वाले लड़कों को पटाया जाए और उनसे पैसा कमाया जाए. फिर मैं धीरे धीरे उस के रसीले होंठों पर किस करने लगा, इस बाद वो भी साथ देने लगी.

तभी बस की स्पीड स्लो हुई तो मैंने थोड़ा नज़दीक जाकर बोला कि आंटी आप थोड़ा इधर हो जाओ. मैं पहले से ही चुदी हुई थी, पर यकीन मानो मेरा कभी कोई आशिक़ या बॉयफ्रेंड नहीं था. तीनों उसी अवस्था में नग्न ही सोफे पर बैठ गए और मयूरी के वापिस आने का इंतज़ार करने लगे.

अब मेरी मम्मी मेरे ससुर से बोली- अब मेरी चूत को चोद कर इसका मजा लो!ससुर जी ने लंड ऊपर चढ़ कर उनके लंड को अपनी चूत पे सेट किया और ऊपर नीचे करके चूत की दरार में लंड रगड़ने लगे।ससुर जी बोले- आआह निर्मला, कितनी गर्म चूत है तेरी!और यह कह कर ससुर जी ने अपने चूतड़ों का झटका गला कर मेरी मम्मी की चुत में पूरा लंड घुसा दिया.

भाभी रोने जैसी सूरत बनाते हुए बोलीं- मुझसे क्या चाहते हो राक्षस… मैं हाथ जोड़ती हूँ… अब मुझे बक्श दो…मैं हंसा और बोला- शाम को बड़ा सरप्राइज़ दे रही थीं, अब क्या हुआ मेरी जान?वो बोलीं- ग़लती हो गई मुझसे… अब माफ़ कर दो मुझे… और सो जाओ…मैंने कहा- ठीक है लेकिन पानी तो पी लो बाबा…तो उन्होंने पानी पिया और बोलीं- मुझे बाथरूम जाना है. मैं- यार, मेरी समझ में नहीं आ रहा कि उसमें ऐसा क्या है जो इतना पैसा खर्च कर रहे हो?अमित- ये तुम ना जानो बस बताओ मेरा काम हो जाएगा कि नहीं?मैं- हो जाएगा पर खर्च ज्यादा लगेगा. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी पैन्टी पहन रही हों, तब मैं उनके पीछे जाकर उनकी चड्डी थोड़ी नीचे सरका कर उनकी गांड में अपना लंड डालूं और गांड में ही मेरा वीर्य छोड़ दूँ!37.