बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर

छवि स्रोत,लड़की और घोड़े की

तस्वीर का शीर्षक ,

सपना की सेक्सी चुदाई: बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर, मैंने भैया के बारे में पूछा तो भाभी ने बताया कि वो तो एक दिन पहले ही काम के लिए निकल गये थे.

सेक्सी वीडियो सेक्सी पिक सेक्सी वीडियो

साफ होने के बाद मैंने ध्यान से देखा तो वो अंदर से लाल थी लेकिन बाहर से उसकी चूत के होंठ काले थे. अंग्रेजी सेक्सी फिल्म फुल एचडी मेंअगले मैं उस कमरे में बीस मिनट पहले ही आ गया और उसके आने का इन्तजार करने लगा.

वो बोली- वो कैसे?मैंने कहा- जब मैं तुम्हारी चूत की फांकों को हाथ से हटा कर उसमें उंगली करता था तो आराम से उंगली चली जाती थी लेकिन जब मैं उसमें अपना मोटा लंड डालता था तो झांट आपस में उलझ कर लंड को रोक लेते थे. सेक्सी टू सेक्सी टूमेरा मन उसकी गांड की चुदाई करने का भी कर रहा था लेकिन अभी ये हमारा पहली बार था तो अभी मैं उसकी गांड में लंड डाल कर उसको डराना नहीं चाहता था.

मैंने उसे पीछे से झुका दिया और लंड को चूत के छेद पर सैट करके सीधा अन्दर पूरा का पूरा घुसा दिया.बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर: फिर मैंने उससे कहा- तुम पहले बाहर जा कर देखो कि कोई देख तो नहीं रहा है.

मैंने उससे किसी होटल में रुकने के लिए कहा तो उसने कहा कि नहीं उधर मेरा दोस्त रहता है.कुछ पल यूं ही रुके रहने के बाद मैंने आराम आराम से लंड को अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

देसी देवर भाभी की सेक्सी - बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर

वो मेरे लंड बाबा का गोरा रंग देख कर मोहित हो गयी और उसकी चुम्मियां लेने में लग गयी.यह बात आज से पांच साल पहले की है जब मेरे बड़े ताऊ के लड़के की शादी थी.

इतना कहकर मैंने अपना पजामा खोल दिया और अपना लंड दीदी को दिखाते हुए कहा- आज मैं इसकी मलाई तुझे पिलाऊंगा साली. बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर मैंने पूछा- क्या हुआ मैडम?तो सोनू ने कहा कि कुछ नहीं, थोड़ा परेशान हूं।मैंने पूछा- क्यों, क्या हुआ आपको?पहली बार सोनू ने खुलकर बात करना शुरू की, बोली कि जिंदगी में सब कुछ है मेरे पास एक अच्छा पति, एक प्यारा सा बेटा लेकिन फिर भी मैं अकेली हूं.

सबने पहले ही बहुत पानी मदिरा और ठंडा पिया था, इस वजह से हम सबको ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ रही थी.

बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर?

उनकी गांड को सहलाते हुए चुचे चूसते और काटते हुए चुदाई की गति को तेज से तेज करने लगा. तब निधि नंगी ही बिस्तर से उठी और उसने अपने आप को बाथरूम में जाकर साफ किया।थोड़ी देर बाद कुणाल आ गया. कहानियों के साथ साथ लड़कियों की हर गुप्त से गुप्त बातों का भी आपको पता चलता रहेगा। कई लोगों को यह जिज्ञासा रहती है कि लड़की की सेक्स लाइफ कैसी होती होगी.

शुरूआती बातचीत के बाद हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करते समय अडल्ट जोक और सेक्स के टॉपिक पर भी बात करते रहते थे, इसलिए हम दोनों लोग एक दूसरे का साथ अच्छे से दे रहे थे. थोड़ी देर बाद मेरी साली भी काम ख़त्म करके मेरे कमरे में आ गई और उसने मुझसे पूछा- जीजा, आपका मूड कुछ सही नहीं लग रहा है, क्या बात है?मैंने उसको बोला- मेरी लाइफ बिल्कुल नीरस हो गई है, मेरी बीवी और बेटा मुझसे दूर हैं और मैं यहाँ अकेला पड़ा हूँ. मैं झड़कर उसकी गोद में ढीली होने लगी और कमलनाथ भी अपने हाथ छोड़ सोफे पे हांफता रहा.

मैं क्या कहता, मैंने और उसने चाय पी और हम दोनों में थोड़ी बहुत बातें हुईं हमने चाय खत्म की. मैं अभी भी वहीं पर देख रहा था और मैंने महसूस किया कि मामी जी के चेहरे पर हल्की सी मायूसी सी दिखाई दे रही थी. मैंने भी झट से उसकी जांघों पर हाथ रख दिया और बोला कि अब बता के क्या फायदा? अब तो आपकी शादी हो गयी है.

मैंने जल्दी से उसके सूट को उतरवा दिया तो अंदर से उसकी लाल ब्रा सामने आ गयी. मैं उसके जोर के आगे कुछ समझ ही नहीं पाई और कमजोर महिला की भांति उसके अनुसार बिस्तर पर पेट के बल लेट गई.

जब मैं आया था तो घर का मेन गेट खुला हुआ था और घर पर भी कोई नहीं था.

मेरी ये नंगी गर्ल की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, अपने कमेंट्स मुझे मेल जरूर करें दोस्तो.

लंड पूरा का पूरा चूत में उतर गया था और भाभी अब बल्लू के लंड पर उछलने की तैयारी कर रही थी. मेरे लंड में तनाव आने लगा था और मैं जान बूझ कर मौसी की गांड के छेद तक पहुंचने की कोशिश करने लगा. फिर भाबी ने नीचे बैठकर मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको जोर जोर से चूसने लगी.

मैं बोला- अम्मा मैं तुझे अपनी चुत में उंगली डाल के सोते हुए देखता था. उसे दर्द भी हो रहा था मगर वो आवाज नहीं कर सकती थी क्योंकि बच्चों के उठ जाने का डर था. मैंने सोचा कि यही मौका है उसको सांत्वना देने के बहाने उससे प्यार करने का!तभी मैंने उसको चूमना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूमने लगा.

वो बोली- तुम इतना डरते क्यों हो? वैसे भी तुम्हारी उम्र में ये सब वीडियो, पॉर्न देखना तो सामान्य सी बात है.

चाहती तो मैं बहुत समय से थी कि कोई शानदार मर्द मुझको मिले, मगर वो शानदार मर्द मेरे घर में ही मुझे मिल जाएगा, इसका पता नहीं था. आज से मैं तुम्हारी जान नहीं, तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूँ … उफफ्फ़ …दोस्तो, उसकी चुचियों को चोदते हुए मुझे दो तीन मिनट ही हुए थे लेकिन चूंकि ये मेरा पहली बार था … इसलिए मुझे लगा कि मेरा अब निकल जाएगा, इसलिए मैंने जल्दी से अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को चोदने लगा. फिर मैंने उनको दीवार से लगाया और उनके होंठों पर एक जोरदार से किस कर दिया.

मैंने अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसकी गांड के छेद पर रखकर एक झटका दे मारा. गहरे गले के ब्लाउज में से उनकी चूचियां ऐसी नजर आती हैं मानो बाहर निकलने को मचल रही हों. सम्भोग के बीच में अंतराल होने का मतलब था, अब कांतिलाल ने इससे पहले जित्तनी देर सम्भोग किया था, उतनी ही देर संभोग वो बिना झड़े फिर से कर सकता है.

उसके होंठ खुल गये और मुंह से सिसकारी निकल गई- आह्ह … आराम से करो।मगर मुझे आराम कहां था.

आंटी एक बहुत ही सुन्दर शरीर की मालकिन है आंटी का फिगर 34-32-36 है आंटी जब चलती है तो उनकी गांड और बोबे हर किसी को अपना दीवाना बना लेती है।मैं शुरू से ही आंटी को बहुत पसंद करता हूँ आंटी हमारे घर आती जाती रहती थी इस कारण मेरी भी उनसे अच्छी बात-चीत होती थी. वो थके हुए स्वर में बोलने लगी- आह … काश तुम पहले मिल जाते, तो मैं इतना नहीं तड़फती … आज मुझे नया जीवन मिल रहा है.

बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर उसके उठने से मेरी जांघों को बड़ी राहत मिली और मेरी योनि, जांघें, चूतड़ों को भी राहत सी मिल गई. जैसे ही बल्लू को पता चला कि वीजू सो चुका है तो पीछे से आकर उसने भाभी को अपनी बांहों में लपक लिया और उसकी गर्दन पर चूमने लगा.

बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर अम्मा को मानो चैन आ गया था, वो बोल रही थीं- ओह आह … घुसा अपने पाइप को और अन्दर घुसा, मेरी बावड़ी के अंत तक घुसा दे. वो मेरे लंड को ऐसे प्यार करने लगी जैसे उसने इतना बड़ा लंड पहली बार देखा था.

मेरे पास आकर किरण मुझसे कहने लगी- जब भी तुम्हारा मन हो तुम यहां पर मेरे फ्लैट में आकर बेझिझक मुझसे मिल सकते हो.

चूत चाटते हुए बीएफ

चार पाँच घंटे तक इन्तजार के बाद मेरा नम्बर आया तो मैं अन्दर पहुंची. फिर उन लोगों के जाने के बाद हम दोनों ने समुद्र किनारे बैठकर एक बियर मंगवाई. मैंने उसको पटा कर उसकी चूत की चुदाई करनी चाही लेकिन …अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार.

इसके तुरंत बाद ही काव्या ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला- कैसी लड़की चाहिए तुम्हें?मैं समझ गया कि ये साली बहुत चालू माल है. कुछ देर चूत चाटने के बाद उन्होंने मुझे खड़ा किया और मुझे होंठों किस करने लगीं. तो राकेश उसके पास गया और उसे गुस्से से देखने लगा, काव्या को लगा कि अब तो वो बहुत बुरी फंस गई.

जबकि कुछ देर पहले उसने मुझे न सिर्फ नंगी देखा था, बल्कि अपने मित्रों के साथ कामक्रीड़ा में संलग्न भी देखा था.

उसने मेरी तरफ देखा और गिलास को मुँह पर लगा कर एक झटके में एक पूरा पी गयी. मेरा लंड भाभी की चूत में था और भाभी की उंगली मेरी गांड के छेद को सहला रही थी. कॉलेज को खत्म हुए काफी वक्त हो चला है और अब मुझे ऐसी ही किसी गर्म बुर की तलाश है.

नज़मा तड़फ कर बोली- चाटो न भाईजान … क्यों रोक दिया?मैं- साली रंडी, भाई मत बोल … और कुछ बोल ले … नाम ले ले या जान बोल ले. वो बोली- मेरी एक प्रॉब्लम है कि मैं जिम नहीं आ सकती … क्योंकि मेरे घर पर मेरा एक साल का छोटा सा बेबी है … मुझे उसकी देखभाल करनी होती है. हमने मिलने की जगह एक रोज़ गार्डन का वो हिस्सा रखा था, जिसमें कोई नहीं जाता था.

लेकिन उन्होंने अपनी आवाज को होंठों से बाहर न आने दिया और अंदर ही दबा लिया. फिर तो मेरा भी मूड बन गया और मैंने उसको कमर से पकड़ कर पीछे एक दीवार से सटा दिया.

जैसे मैंने बताया कि रुचि के बूब्स 34 इंच के हैं, जिससे उसके बूब्स टी-शर्ट के बाहर निकलने को होते हैं. फिर धीरे-धीरे हम दोनों की सांसें एक दूसरे से टकराने लगीं और मैंने ही पहल करते हुए उसके सिर के पीछे से हाथ ले जाकर उसके कंधों पर रख लिया. लेकिन जिस दिन मुझे ये लगता कि आज काम की वजह से देर हो सकती है उस दिन मैं कार लेकर चला जाया करता था.

क्योंकि जब आप गोवा जैसी जगह जा रहे हों और आपका बॉयफ्रेंड साथ न हो तो गोवा सेक्स, मस्ती अधूरी रह जाएगी.

अब उसका एक हाथ मेरे बाबा (लंड) पर था और मेरा एक हाथ उसके बोबे पर हरक़तें कर रहा था. मैंने अपने हाथ से लौड़े को उनके भोसड़े के खांचे में रखा और एक तेज सांस लेकर एक ही धक्के में लौड़े को उनके भोसड़े में अन्दर तक घुसा दिया. लेकिन हर रोज ऐसा करना संभव नहीं हो पा रहा था क्योंकि कई बार मैं सवेरे जल्दी नहीं उठ पाता था.

तुम्हारे साथ मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन जो बाहर वाले हैं वो कौन हैं?मैंने कहा- मेरे दोस्त हैं. फिर मैंने दीदी से कहा- दीदी, अन्दर ही निकल जाऊं?उन्होंने आंखें खोलीं- साले … दीदी भी कह रहा है और दीदी को चोद भी रहा है.

मैंने खेलना चालू किया, जिससे में खेलते खेलते दो हजार से बीस हजार तक पहुंच गई. थोड़ी देर में अम्मा ने एक गाजर को निकाला और अपनी चुत में डालना शुरू कर दिया. इसमें लोग जिस किसी का किरदार चुनते हैं, उसका अभिनय करते हुए खुद को संभोग क्रिया में पालन करते हैं.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत की चुदाई

बिस्तर पर जब भी जाता हूं तुम्हारे बदन की वो याद और महक लेकर ही सोता हूं, तुम ही हो जो मेरे सपनों में आकर हमेशा वो नॉटी वाली तकलीफ दे कर मेरी नींद हराम कर देती हो.

आपको मेरी बहन की चुदाई और चूत की सील टूटने वाली सेक्स कहानी कैसी लगी, जरूर बताना. मगर जब लंड डालने की कोशिश करता था तो जैसे लंड बीच में ही कहीं अटक जा रहा था. गांड में दस बीस ठोकरें खाने के बाद नमिता बोली- बहुत दर्द हो रहा है जीजू, अब बस करो!नमिता की गांड से अपना लण्ड बाहर खींचकर मैंने उसे गोद में उठा लिया और बेडरूम में आकर बेड पर लिटा दिया.

मैं उनको देख कर एक बार तो घबरा सी गई और फिर अपने बदन को छिपाते हुए कहने लगी- आप कब आये?वो बोले- बस कुछ ही देर पहले आया हूं. उसकी गोल बड़ी बड़ी चुचियाँ और 36 इंच की कमर मेरे अंदर वासना का तूफान पैदा कर रही थी।वो बोली- मैं सब्जी लेकर आती हूँ. ब्लू सेक्सी सेक्सी हिंदीउसने बड़ी तसल्ली से अपने लिए ब्रा पेंटी खरीदी और पैक करवाके मेरे साथ वापस आ गई.

आह्ह् … स्स्स … उम्म… मैं भी अपना लंड उसकी चूत पर लगा रहा था तो मुझे बड़ा मजा आ रहा था. उसने मुझसे कहा- प्लीज़ अब अपने लंड को मेरी बुर डाल दो … मुझे जल्दी से चोद दो … आह मुझसे अब और नहीं सहा जा रहा है … मुझसे बर्दाश्त नहीं हो पा रहा है.

उनके जिस्म का दूध सा गोरे रंग पर ये लाल रंग की सजावट बड़ी कामुक लग रही थी. दरअसल मुझे तुमसे किचन के लिए बाजार से कुछ सामान मंगवाना था अभी और कितना टाइम लगेगा?मैं बोला- भाबी बस अभी निकल ही रहा हूं।और इधर मेरी बुरी हालत हो रही थी. फिर मैंने उसका पेटीकोट खोलने की कोशिश की, पर मुझसे नहीं खुला, तो उसने अपने हाथों से खुद का पेटीकोट खोल दिया.

वही दूसरी महिला राजेश्वरी, राजशेखर की पत्नी थी और वो भी लगभग निर्मला से मिलती जुलती ही थी. मैं- इसमें कहीं तुम्हें लगता है कि मैंने इन लड़कियों के साथ कोई ज्यादती की है, दोनों पहले से ही दारू और सिगरेट पी रही थीं, दोनों गंदी गंदी बातें कर रही थीं. मैंने अपने लंड बाबा को एक हाथ से पकड़ा और नीचे चूत की फांकों में सैट करने लगा.

जब वो नहा कर आई तो मैंने उसको कहा कि मैं तुम्हारी चूत के ऊपर से इस घोंसले को हटा देना चाहता हूं.

ये सब देख के मैंने भी अपना लंड पकड़ लिया और वहीं पड़ी एक कुर्सी पर बैठ गया. मैंने अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसकी गांड के छेद पर रखकर एक झटका दे मारा.

[emailprotected]चुदाई स्टोरी का अगला भाग: चुदाई स्टोरी:खेल वही भूमिका नयी-10. यह बहन की चुदाई की कहानी तब की है जब मैंने उसे एग्जाम के लिए दूसरे शहर ले गया. उधर कमलनाथ पूरा संतुष्ट दिख रहा था और वो मदिरा का स्वाद लेने में मग्न था.

मैंने उस दिन तय कर लिया था कि आज रात अपनी मॉम को अपना बना लूंगा उन्हें अपनी पहली पत्नी का दर्जा दूंगा. फिर भाभी बोली- लेकिन इतने पैसे देगा कौन?मैंने कहा- वो सब बात मैंने कर ली है. उन दोनों ने मेरी बीवी को दरवाज़े की तरफ मुँह करके घोड़ी बना दिया और उसकी गांड के छेद पर थूकने लगा.

बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर उनके चूचों को देखते ही उस वक्त भी मेरा लौड़ा तो जैसे फटने को हो रहा था. आपको इस बात को पढ़ कर कुछ अंदाजा तो हो ही गया होगा कि मेरी कहानी किस तरफ जाने वाली है.

गार्डन बीएफ

मैंने अपना लम्बा और गज़ब के मोटे लंड से परी की चूत के दरवाज़े पर दस्तक दी और हल्का सा झटका दिया. इस पर कांतिलाल ने कहा- भाई देखो रमा और मुझमें कोई ऊंचा नीचा नहीं है, अगर रमा को अच्छा लगे, तो साथ समय बिताने में क्या बुराई है. भाभी की चूत से गर्म पानी का मानो फुहारा सा निकल पड़ा, जिससे मेरा लंड एकदम सटासट अन्दर बाहर होने लगा.

मीहा भाबी की आयु करीबन 24 साल, 34″ के चुच्चे और बाहर निकली हुई उसकी मस्त गांड किसी को भी पागल कर सकती थी. लेकिन उसने मुझे देख कर एक स्माइल दी और फिर मुझसे कहा- मेरे बैग को ऊपर रख दो. सेक्सी फिल्म डांसमैंने फिर अपनी जीभ को मौसी की चूत से निकाल लिया और मौसी से कहा कि जैसे मैंने चूत में किया है आप भी मेरे लंड को चूस लो.

मन तो गंदी अन्तर्वासना से लिप्त था ही, सो लगे हाथ में उस दिन बुधवार पेठ भी चला गया.

कोई एक घंटे तक दीदी की चूत को दो बार चोदने के बाद रोहण अपने कपड़े पहन कर चला गया. मम्मी बोलने लगी थीं- आह … चोदो बेटा और जोर से चोद दे … आह और जोर और जोर से चोद … पेल दे पूरा लंड फाड़ दे मेरी बुर.

पांच दिन बाद मुझे जानकारी हुई कि मम्मी को अभी दो तीन दिन और लगेंगे. सर ने बहुत बार मुझसे इंग्लिश ट्यूशन चालू करने के लिए कहा था, लेकिन मैं किसी न किसी बहाने टाल देता था. राजेश्वरी ने भी धक्के लगने के साथ ही अपनी टांगें उठा हवा में उठा दिया और कमलनाथ की कमर को पकड़ कर धक्कों को झेलने लगी.

रात भर राज की चाची मेरी आखों के सामने आती रहीं और मेरे लंड ने मुझको सारी रात सोने नहीं दिया.

उसके बाद कुछ देर तक मेरे भाई ने मेरी चूत को चाटा और फिर उसने मेरी टांगों को फैला दिया. मैंने झट से आंटी को पूरी नंगी कर दिया और उसको मेरे तने हुए लंड पर बैठने के लिए कहा. फिर भाभी बोली- मैं उस दिन तुम्हारे वीर्य की धार देख कर ही समझ गई थी कि तुम ही मेरे बच्चे के बाप बनोगे।उसके बाद भाभी टांगें फैला कर लेट गईं और बोली- मेरे राज, अब डाल दे अपना हथियार मेरी कचिया चूत में!मैंने लन्ड के अगले हिस्से पर थोड़ा थूक लगाया और चूत से भी काफी नमकीन पानी टपक रहा था.

ইন্ডিয়ান ব্লু ফিল্মवो बोली- लेकिन मैं आपसे कुछ और भी पूछना चाह रही हूं जिसकी वजह से मेरा दिमाग काफी उलझन में है. मगर क्या करता, हर बार बीवी साथ थी, तो तुमसे अपने दिल बात कहता तो कहता कैसे?वो बोली- तो अब कह दो; अब तो आपकी बीवी भी आपके साथ नहीं है।मैंने अपनी कमीज़ खोली, अपनी पैन्ट, बनियान चड्डी सब उतार दी, और रूपा के सामने बिल्कुल नंगा हो गया।लो मेरी जान!” मैंने रूपा से कहा- आज मैंने अपना सब कुछ तुम्हें सौंप दिया.

बीएफ फिल्म गंदी फिल्म

कुछ देर तक मामा जी लेटे रहे फिर उठ कर एक तरफ होकर चादर तान ली और सो गये. धीरे धीरे ऐसे चूमते सहलाते हुए कांतिलाल ने मुझे अपने ऊपर चढ़ा लिया और फिर से लंबे चुम्बन और आलिंगन का दौर शुरू हो गया. जब भाई मजे ले रहा है तो मैं क्यूं पीछे रहूं?मैंने कहा- तो मुझमें ऐसा क्या खास लगा तुमको?वो बोली- तुम काफी समझदार लगे मुझे.

अंधेरे में कुछ दिखाई तो नहीं दे रहा था अंदर मगर अपने हाथ से मैंने उसकी पैंटी को खींच कर उसे पूरी नंगी कर दिया. आज से मैंने पहले कभी सेक्स किया नहीं था, इसलिए उसका मोटा लंड मेरी चूत के अन्दर नहीं जा रहा था. उसने फुसफुसाते हुए कहा- मेरे पति आ गए हैं … अब हम अन्दर फंस चुके हैं.

अम्मा ने कहा- हां बेटा सब दिखाऊंगी … लेकिन कल … अब तू रुकना मत और मेरी जम के गांड मार … मैं काफी टाईम से सेक्स की प्यासी हूँ. निधि को वाइल्ड सेक्स और रफ़ सेक्स भी पसंद है।मुझे कुणाल ने यह भी बताया था कि निधि के पहले भी कई सेक्स अफेयर रह चुके हैं और पहले भी बहुत लण्ड ले चुकी थी. उन्होंने मुझसे कहा- क्या करता है? तेरा लंड इतना मोटा कैसे हो गया है? ये मेरे अन्दर जाएगा, तो मेरी पूरी चूत को छील देगा.

रोहण ने दीदी के कमरे में आते ही उसे पीछे से झटके से पकड़ लिया और होंठों को जबरदस्त चूसने लगा. उसके टी-शर्ट के अंदर भरे हुए उसके गोल-गोल चूचे देखने में बड़ा मजा आ रहा था.

अनचुदी बूर की चोदाई कहानी में पढ़ें कि पड़ोस की दो बहनें मुझसे चुद चुकी थी.

उसके बाद मैंने दूसरे निप्पल को मुंह में लिया और पहले वाले को चुटकी में लेकर भींचने लगा. न्यू गोल्डन बॉसकुछ देर बाद मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसके उरोजों को ब्रा के बाहर से ही दबाने लगा. ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಕನ್ನಡमामी जी लेट गई और मामा जी मिशनरी पोजिशन में आकर उन्हें चोदने लगे और 7-8 धक्कों के बाद ही मामा जी का निकल गया और वह चुपचाप लेट गए. मैं जब उसे एक्सरसाइज करवाता था, तो मेरी नज़र कभी कभी उसके मम्मों पर जाती थीं.

मैंने दीदी की चूत को टटोला और अपने लंड को दीदी की योनि पर फेरते हुए रख लिया.

तो मैं उनकी पीठ पर साबुन लगाने लगा।शायद बुआ को मेरा मोटा लंड याद आ रहा था और शायद उनका मुझसे चुदाई का मन बन रहा था जिसके लिए वो मुझे उत्तेजित कर रही थी।क्या मुलायम बदन था बुआ का … जी कर रहा था कि उसी वक़्त उनको चोद दूँ. उस पुलिस वाले की बात सुनकर मेरी गांड फट गई कि अब अपर्णा का क्या होगा. रवि के धक्के आराम और धीमी गति के थे, जिससे मैं समझ गई थी कि थकान की वजह से जोश और उत्तेजना दोनों ही कम हो गए थे.

उसके चूचे मेरे सीने से लगे थे और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने में लग गए थे. फिर मैंने उससे कहा- यहां से बाहर कैसे जाएंगे … आपके पति बाहर बैठे हैं. मैंने मेरी बीवी को देखा, वो ग़ुस्से में थी … क्योंकि वो फुल मूड में थी.

रानी सेक्सी बीएफ वीडियो

मैं अपने भाई एक साथ ऑफिस जाती थी और अपने भाई के साथ ऑफिस से आती थी. फिर उसने अपनी कुर्ती और पजामी उतारी और जब पजामी पहनने के लिए वो नीचे झुकी तो फिर से उसका ध्यान शायद चौकी के नीचे गया लेकिन उसने अनदेखा कर दिया. मेरे पास आकर किरण मुझसे कहने लगी- जब भी तुम्हारा मन हो तुम यहां पर मेरे फ्लैट में आकर बेझिझक मुझसे मिल सकते हो.

मैंने उसके होंठों से अपने होंठों को हटाया और फिर अपने एक दोस्त को फोन लगाया.

मैंने आज तक जिस भी लड़की या औरत के साथ सेक्स किया है … वो मेरी दीवानी हो गई है.

वो बोली- भैया रहने दो ना प्लीज़।मैं कहाँ रुकने वाला था, आगे बढ़ते हुए मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के दाने पे लगा दी।इतना कुछ वो बर्दाश्त नहीं कर पाई और मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी। जबकि उसने पहले ऐसा कभी नहीं किया था। वो पास में खड़ी होकर मेरा लंड चूस रही थी जबकि मैं लेटे-2 उसकी चूत को चाट रहा था।काफी देर तक हम दोनों इसी हालत में एक दूसरे के साथ मजे लेते रहे. अब रवि ने अपने एक एक हाथों से उसकी दोनों जांघों को पकड़ा और अपनी कमर से दबाब देते हुए पूरा का पूरा लिंग रमा की योनि में उतार दिया. लव यू सेक्सी वीडियोउसने मेरी आंखों में देखता हुआ मेरी रानों, बांहों, कमर और चूतड़ सहलाने शुरू कर दिया.

वो अपने हाथ से लौड़े की टोपी को सहलाने लगीं और बूंदों को अपनी उंगली से लेकर बहुत ही उत्तेजक तरीके से मुँह में लेकर चाटने लगीं. राज अकेले घर में बोर रहा है तो उसके साथ कंप्यूटर पर गेम खेल रही हूँ. अब जब भी साराह मैम का फोन आता तो ज्यादातर बात गर्लफ्रेंड को लेकर ही होती और वो मुझे समझाती रहती थी.

मेरे दिमाग में अब ये था कि कांतिलाल कैसे इतना उत्तेजित हो जाए कि वो सीधा संभोग करने लगे ताकि झड़कर वो भी सो जाए और मैं भी आराम कर सकूं. खैर … गाड़ी को शोरूम पर छोड़ने के बाद मैं और श्रुति होटल में खाना खाकर मूवी देखने चले गए.

एक बात मुझे अचंभित करने वाली ये लग रही थी कि इतनी देर के बाद भी हम 5 औरतों को नंगा देखने, छूने और छेड़ने के बाद भी किसी के लिंग में कोई तनाव नहीं दिख रहा था.

आखिरकार कमलनाथ जोर से गुर्रा उठा और एक जोरदार झटके में अपना सम्पूर्ण लिंग राजेश्वरी की योनि में अंत तक धंसा कर रुक रुक झटके खाने लगा. शायद वस्त्रों का एक अलग प्रभाव पड़ता है और इसी वजह से मर्द स्त्रियों को कामुक वस्त्र में देखना पसंद करते हैं. ’मैंने भी हाय बोला और पूछा- आप कौन?उधर से जबाव आया- आई एम गुड़िया और आप कौन?चूंकि मैं थोड़ा शरारती लड़का हूं, तो मैंने मजाक में बोल दिया- मैं गुड्डा.

ఫొటోస్ సెక్స్ ये नजारा देख देख कर मेरा लंड लोअर के अन्दर ही हरकत करने लगा और गर्म होने लगा. उन्होंने नीचे से अपने चूतड़ उचकाये कि लंड अंदर घुस जाए लेकिन ऐसे कैसे लंड अंदर घुस जाता… जब मैंने ऊपर से एक झटका अंदर को मारा तो गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुस गया जैसे मक्खन में गर्म छुरी.

चुदाई के दौरान मर्द इनको मुंह में लेकर चूसता है और जब बच्चा पैदा होता है यहीं से दूध निकलता है. मैं बुरी तरह थक चुकी थी और ऐसा लग रहा था, जैसे मेरी योनि की नसें सुन्न हो गई हैं. अंदर देखा तो उसकी जांघों के बीच में सफेद पैंटी के पीछे काली सी चूत बाहर आने के लिए जैसे तड़प रही हो.

बीएफ सेक्सी चालू वाला

मेरा मन भी अब भी उत्तेजित था, सो मैंने निर्मला से तौलिया माँगा और अपनी योनि से वीर्य साफ कर राजशेखर से कहा- मेरे साथ आ जाओ, राजेश्वरी बहुत थक गई है शायद. मैंने फिर से उसकी चुचियां मसल दीं और बोला- साली, इतने दिन से अपने पति से चुद रही है और अभी भी तुझे दर्द हो रहा है … नाटक करती है. कुछ दिन के बाद साराह मैम के पति का 10 दिन का ट्रेनिंग का प्रोग्राम लग गया तो साराह मैम ने मुझे बताया- मेरे हसबैंड दस दिन के लिए आउट ऑफ़ स्टेशन जा रहे हैं, अब मौक़ा अच्छा है, तुम आ जाओ.

इधर राजशेखर ने अपनी अवस्था बदल ली थी और अब कविता उसका लिंग चूस रही थी. साँसों के नॉर्मल होते ही सोनू बिस्तर से उठी और मुझे जोरदार किस करते हुए थैंक्यू कहने लगी.

वहीं कविता भी उसका पूरा सहयोग दे रही थी और किसी भी तरह से कांतिलाल का जोश न कम हो, इसके लिए वो बारबार उसके होंठों, गालों, गले और छाती को चूमती हुई उसका उत्साह बढ़ा रही थी.

सुबह 4 बजे के करीब मेरी आंख खुली और मैं रेनू को फिर से उठा कर ले गया. दोस्तो, मैं एक फिटनेस ट्रेनर हूं और देश विदेश घूमते हुए अपना बिजनेस करता हूं. फिर भाभी ने अपनी टांगों को फैलाते हुए बल्लू के तने हुए लौड़े पर अपनी चूत को सेट किया उसके तगड़े लंड को अपनी चूत में लेते हुए बैठती चली गई.

मेरी नाभि के अन्दर जीभ डाल कर चूसने लगा, फिर और आगे बढ़ते हुए उसने अपनी जुबान मेरी चूत के ऊपर लगा दी और चूत चाटने लगा. कुछ देर के बाद जब अचानक से स्क्रीन पर एक डरावना सीन आया, तो उसने अपना हाथ मेरे हाथ पर रख दिया. पीछे से उसकी बड़ी सी काली चूत में अपने लंड को पेल दिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी.

अब मैंने भी मां की नाइट ड्रेस को निकलवा दिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा.

बीएफ सेक्सी ओपन पिक्चर: हम दोनों को रोमांटिक गाने बहुत पसंद हैं तो हम रोमांटिक गाने देख रहे थे. वो तो आपका लंड किसी के मुँह से चुसे न, तब आपको लंड चुसाई के मजे का अंदाजा हो सकता है.

तब तक के लिए आप मुझे इस मसाज़ सेक्स कहानी के बारे में अपनी राय भेजें. मेरा बॉयफ्रेंड जगेश मुझे बिस्तर पर ले गया और मेरी चूची को चूसने लगा. रमा ने उसे धकेलने का प्रयास भी किया, पर कांतिलाल ने रमा की दोनों टांगें अपने कंधों पर रख कर उसके दोनों हाथ पकड़ लिए और धक्के देने लगा.

वो वैसे तो मेरे नाप के ही थे, मगर मैंने ऐसे कपड़े कभी नहीं पहने थे … सो मुझे बहुत कसाव सा महसूस हो रहा था.

आगे बढ़ने से पहले मैं रेनू चाची सास के बारे में बता दूं कि वो रंग की थोड़ी सांवली थी. इस पर उछलो ना …भाभी बोली- आह्ह बल्लू … तुम मेरे मन की बात कैसे जान लेते हो. हम दोनों एक दूसरे में डूब चुके थे कि तभी राकेश की आवाज़ आई- काव्या, ज़रा मेरा तौलिया देना.