हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी बीएफ सॉन्ग

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो आजा आजा: हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ, साथ ही में वो मुझे अपनी ओर खींचने लगी, जैसे वो मुझे अपने में समा लेना चाहती हो.

घोड़ा और औरत की बीएफ

फिर अंकल जी ने मेरी यूनिफोर्म की सफ़ेद सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसे उतारने लगे तो मैंने उनका हाथ पकड़ कर उन्हें रोकने का दिखावा किया. सेक्सी बीएफ फिल्म सेक्सी मेंइसका असर यह हुआ, जो लंड अभी तक नम्रता की जांघों के बीच सोया हुआ था.

तब भी मैंने उसकी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो उसने मुझसे बोला- मैं तुमको पसंद करने लगा हूँ. चाइना की बीएफ वीडियो[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मौसेरे भाई बहन के साथ थ्रीसम सेक्स-2.

मैं कुछ देर के लिए रुक गया, लेकिन वो दर्द के मारे अभी भी बहुत जोर जोर से चिल्ला रही थी.हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ: रात साढ़े दस बजे के आस-पास डिनर-टेबल पर वसुन्धरा के पापा ने बताया कि वसुन्धरा की मां ने अभी-अभी वसुन्धरा को फोन लगा कर आपके यहां होने की खबर दी तो वसुन्धरा ने कहा है कि वो कल सवेरे 12 बजे तक यहां पहुँच जायेगी.

मैंने फिर अपने हाथों से उसकी चुत को खोलकर लंड को सैट करके फिर एक जोरदार झटका मारा.मेरी भी नहीं?”मेरी इस बात पर वो हंस पड़ी और उसने मेरे सीने में मुक्का दे मारा.

मुसलमानी बीएफ चुदाई - हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ

इसी क्रम में मुझे एक पाठिका सोनम सिंह का मेल मिला जिसमें उन्होंने मेरी कहानियों की तारीफ़ के साथ साथ अपने बारे में भी बहुत कुछ बताया.हर तरह से चोदा, हर स्टाइल में चोदा, यहां तक कि मैंने मौसी की गांड भी मारी … और हर बार मौसी ने भी मेरा खुल कर साथ दिया.

उसने बताया कि उसके हस्बैंड दुबई में बिजनेसमैन है और वह गुडगांव में फ्लैट लेकर अकेली रहती है. हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ मैंने उससे कहा- मुझे पता है तू मुझसे नाराज है, लेकिन मैं सॉरी बोल रहा हूं.

उसकी इसी प्यारी प्यारी चिकनी बातों से उसने मेरे घरवालों का दिल और भरोसा जीत लिया.

हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ?

मैं- दिशा चल उठ, बाथरूम जाना है … तुम मेरे साथ नहाना पंसद करोगी?दिशा- हां जीजू, चलिए. उसके बाद मैंने उसको पलटा कर उसकी ब्रा के हुक खोल दिये और उसकी ब्रा को निकाल कर बेड पर फेंक दिया. कुछ देर तक ताऊ जी ने बुआ जी की मस्त चुदाई की और फिर ताऊ जी की सांस थोड़ी भारी हो गई तो वो बेड पर लेट गये.

मैंने उसके मुंह से चुन्नी निकाली और पूछा- कैसा लग रहा है?वो बोली- बस अब मुझे चोद दो, मुझे तड़पा कर तुम्हें क्या मिलेगा. वो हंसा और उसने खुल कर कहा- आशना, क्या तुमने कभी हकीकत में मर्द का लंड देखा है कि बस सिर्फ़ मूवी में ही देखा है?मैं उसकी इस खुल्लम खुल्ला बात से बहुत शर्मा गई और बोली- तुम ये क्या कह रहे हो?उसने कहा- बोलो ना यार … मुझसे शर्मा क्यों रही हो?मैंने कहा- नहीं मैंने कभी नहीं देखा. यह देख कर मेरे अंदर सेक्स जग गया और मैंने धीरे से अपनी माँ के चूचों पर हाथ रख कर उनको आहिस्ता से दबाना शुरू कर दिया.

मैं मौसी को देख कर बेबसी का दिखावा कर रहा था … पर मज़ा मुझे भी आ रहा था. मुझसे अब रुका नहीं जा रहा था, उसको वहीं पर सोफ़े पर लेटा कर उसकी सलवार को खोल कर उसकी बुर को पैंटी के ऊपर से चूसने लगा. मैंने टाइम देखा, तो शाम के सात बज रहे थे, मैंने कहा- अब मुझे घर जाना चाहिए.

आह … क्या माल लग रही थी, वो साड़ी में थी … लेकिन तब भी एक नंबर का कांटा माल लग रही थी. चूंकि उसने घुटनों को मोड़ लिया था इसलिये मेरा हाथ उसकी चूत के पहुंच से दूर था.

मैंने हल्के से पलट कर देखा, तो मुझे दिखा कि मेरे पापा मेरी माँ की जांघों के पास बैठे हैं.

वो भी उसके बालों को सहलाते हुए मस्ती में अपनी गांड को आगे-पीछे करते हुए उसको अपना लंड चुसवा रहा था.

उपिंदर ने स्पीकर ऑन किया- और मालिनी कैसी है, बड़े दिनों से तेरी सवारी नहीं की, कब आ रही है?तुम्हें मेरे ऊपर चढ़ने की पड़ी है, यहां बड़ी गड़बड़ हो गयी. तो वो बोली- मरवाओगे के … तने पता है घर में कोई न कोई रहता है बाकि कभी टाइम मिला, तो पक्का बुला लूँगी. कुछ देर बाद मैं सारा से उसकी तबियत पूछने गया तो वह मुझसे लिपट गयी फिर मुझे चूमने लगी.

वह कैसे हमारे इस कामुक जाल में फंसती है और क्या रोमांचक घटित होने वाला है जानने के लिए जुड़े रहिए अंतर्वासना से और पढ़ते रहिए ‘याराना’। अगर कहानी पसंद आ रही है तो मेल पर याराना बनाए रखें।[emailprotected]. मैं एक बॉडी मसाज पार्लर में औरतों की बॉडी मसाज करता हूँ और कोई औरत सेक्स की प्यासी होती है, तो मैं उसको सेक्स का मजा देकर सैटिस्फाइड भी करता हूँ. तीसरे फ्लोर को 2 परिवारों को किराये पर दिया हुआ है … जिसमें दो बहुत ही खूबसूरत भाभियां रहती हैं.

कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि सुमिना की कॉलेज की दोस्त काजल के लिए मेरे मन में आकर्षण का एक अंकुर फूट कर धीरे-धीरे पौधा बन गया था। फिर जब काजल ने अचानक ही हमारे घर पर आना बंद कर दिया तो मेरे अंदर की बेचैनी बढ़ने लगी.

लेकिन मुझे डर था कि गई उनका मोबाइल कोई देख न ले इसलिए मैंने उनका आईडी और पासवर्ड ले लिया. कोई पांच मिनट की चुदाई के बाद वो फिर से झड़ गईं, लेकिन मैं नहीं रुका … मैं खूब जोर जोर के धक्के लगते हुए उनकी चुदाई कर रहा था. ’मैं उसके बालों को पकड़ कर खींच ले गया और उसे ले जाकर डाइनिंग टेबल पे पटक दिया.

वसुन्धरा पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगड़ से इंग्लिश लिट्रेचर में पी एच डी थी और डगशाई में किसी हाई-फ़ाई इंग्लिश स्कूल में वाईस-प्रिंसिपल थी. पिताजी जिस दफ्तर में नौकरी करते थे उसी विभाग की पूरी कालोनी बसी थी जिसमें फोर्थ क्लास के क्वार्टर में हम सब रहते थे. फिर जब सब कुछ सामान्य हो गया तो मैं फिर से उसके दर्शन करने अपनी बालकनी में आकर उसके रूम में झांकने लगा.

एकांत देख कर मैंने कहा- विक्की रात जो हुआ, उसको तुम भूल जाओ … और जाओ निहारिका को बुला के लाओ.

उसकी बात पर एक बार तो मेरी बोलती बंद हो गई कि अचानक बर्थडे की बात से एकदम ये लंड पर कैसे उतर आई?मगर मैंने भी हिम्मत करते हुए कह ही दिया- उस दिन जो नजारा दिखाई दे रहा था उसके मजे लूट रहा था. आज मेरे ममेरे भाई से मेरी पहली सीलतोड़ चुदाई की कहानी रंग लेने जा रही थी.

हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ मोनिका की चुत पहले ही गीली थी तो ज्यादा परेशानी नहीं हुई; लंड फिसलता हुआ अंदर घुस गया. मैंने उसका सामान पकड़ने के लिए पूछा तो मेरे कहने पर उसने अपना सामान मुझे दे दिया.

हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ मैंने उसे डांटा तो दिलिया बोली- देखने दो ना … इनसे क्या शर्म?सारा बोली- दिलिया देख … अब इसी लंड से तेरी भी चूत फटेगी. अब मेरे दिल में हवस की जगह प्यार उमड़ रहा था। मैंने उसकी आंखों पर किस किया और अपने लण्ड के टोपे को उसकी चूत पर लगाया और उसकी आंखों में आँखें डाल कर देखने लगा.

’ और मेरे कंठ से निकलती ‘आअह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आउउऊ उउउ …’ की गूंजें फ़ैल गई थीं.

हिदी सेकशी

उसकी गांड की मुलायमियत और उसकी चूत से निकलती हुई गर्माहट से लंड में कुछ तनाव आने लगा. तब भी मैंने उसकी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो उसने मुझसे बोला- मैं तुमको पसंद करने लगा हूँ. एक अठारह साल की लड़की मुझे नहीं हरा सकती थी, इसलिए मेरा नींद का नाटक जारी था.

हालांकि कुछ ही करारे धक्कों के बाद मेरी गांड ने मस्ती करना शुरू कर दिया था. उसकी कार में बैठकर हम लोग स्कूल पहुंचे, जहां वोटिंग बूथ बनाया गया था. एक हल्की सी रुकावट और फिर फचक की आवाज़ से लंड पूरा जड़ तक मेरी कुंवारी दुल्हन की बुर में समा गया.

उसका नेचर मुझे बहुत ही अच्छा लगा तो हम दोनों की बातें होती ही चली गईं.

हमें किस करते हुए दस मिनट से ज्यादा हो गया था, पर काजल अभी भी मुझसे छूटने की कोशिश कर रही थी. मेरी चूत से पानी बहना शुरू हो गया था जो उस लड़के के हाथ की हथेली को चिकना कर रहा था. मालूम हुआ कि मैडम जी के सास और ससुर किसी सत्संग में एक हफ्ते के लिए अमृतसर गए हुए हैं और उनका पुराना नौकर मोहन दास अचानक बीमार हो गया तो छुट्टी पर था.

अगले दिन भी भाभी मुझे फिटनेस सेंटर में मिलीं और हल्की सी मुस्कराहट के साथ हैलो कहा. अनामिका से मैंने कहा- क्या तुम मुझे अब भी याद करती हो?उसने कहा- जब तक तुमको देखा नहीं था, तब तक तो मुझे तुम्हारी कुछ भी याद नहीं आती थी. जब कमरे में पहुँचा … तो देखा बाकी सब मस्त सो रहे थे बस मौसी जाग रही थीं.

इसलिए हेतल की गदराई हुई गांड चोदने में मुझे कुछ ज्यादा ही मजा आ रहा था. फिर वहां खड़ी चार औरतों में से तीन ने अपनी सलवार और एक ने अपनी साड़ी उतार दी.

दोपहर में हम घर में ही रहते थे, तो वनिता मेरे घर आ जाती थी या मैं उसके घर चली जाती थी. मैंने कहा- फुल बॉडी मसाज में ये भी करना होता है … क्योंकि बॉडी के हर हिस्से को तेल की जरूरत होती है. जब सब कुछ हमारे बीच में होने लगा था तो फिर अपने मन के भावों को छिपाने की कोशिश करने में क्यों लगी हुई थी यह बात मेरी समझ से बाहर थी.

अब मैं फिटनेस सेंटर में एक्सरसाइज के लिए रोज़ भाभी की हेल्प करने लगा और धीरे धीरे हम फ्रेंड्स बन गए.

मैं- हां तभी तो जब तक पूरा चाटकर साफ नहीं कर लेता, तब तक तुम्हारी चूत को छोड़ता नहीं हूं. मैंने उससे उस फेक आईडी के बारे में उससे जानकारी ली, तो उसने मुझे वो आईडी और उसका पासवर्ड मुझे दे दिया. इसके बाद मैंने अपने पर्स से ट्रिपल फाइव सिगरेट का पैकेट निकाला और एक सिगरेट सुलगा ली.

फिर भी मौसी ने 2-3 बार अपनी कमर आगे पीछे करके मुझे आगे बढ़ने का संकेत दे दिया. कहानी की मांग तो उत्तेज़क और कामुक होना होती है, अश्लील होना तो क़तई नहीं.

मेरी उंगली लेने में स्वीटी को दिक्कत हुई … उसकी चीख निकल गई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मतलब स्वीटी पहली बार चुदने जा रही थी, वो बिल्कुल सीलपैक माल थी. मैंने वैसा ही किया और उसने मेरे पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे और अपने लंड पर थूका और मेरी गांड के छेद पर लगाया. मैंने दोनों को हैलो बोला और थोड़ी देर बात करने के बाद हम सब होटल में रूम लेने के लिए निकल गए.

रंडी सेक्सी मूवी

वो बोला- अगर तेरी मां को ये बात चलेगी कि तू अपने बाप से चुद रही थी तो क्या होगा फिर?वह मेरे पास आया और बोला- तेरे पापा कुछ ही देर में वापस आने वाले हैं.

फिर जिस औरत ने मेरी मौसी को चाकू लगा रखा था, उसने अपने कपड़े और मेरे कपड़े उतरवाए और फिर चुत चुसवाई कराने के बाद के बाद मेरे मुँह में अपने चुचे ठूंस कर कहा- ले दूध चूस चिकने. उसके मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकलने लगीं और मेरे माथे से पसीना बहना शुरू हो गया. मेरे पेट तक का ऊपर का हिस्सा वसुन्धरा के पेट और वक्ष के ऊपर और टाँगें वसुन्धरा के शरीर के बायीं ओर साथ साथ.

जब आंटी से रहा नहीं गया, तो उन्होंने अपनी गांड उठाते हुए कहा- अब डाल भी दो यार … क्यों मुझे तड़पा रहे हो. चूंकि मामी झड़ चुकी थीं, तो बस शिथिल होकर पड़ी थीं और मेरे लंड को बस लिए जा रही थीं. सेक्सी पिक्चर भेजिए बीएफउनका काम नहीं हुआ था और तीन हफ्ते तक रुकने का कार्यक्रम निरस्त हो गया था.

मैं फिर से आपका सबका धन्यवाद करना चाहता हूँ और नए अंक के प्रकाशन में देरी के लिए क्षमा चाहता हूँ. बड़ी कयामत लग रही थी उसका ये सूट बहुत फिटिंग का था, इसलिए उसकी चूचियों का उभार मस्त दिख रहा था.

वो फिटनेस सेंटर में नई थीं, तो उनसे एक्सरसाइज ठीक से नहीं हो पा रही थी. निहारिका की सलवार मेरे छूटने से गीली हो गई थी, तो जब निहारिका ने सलवार उतारी, तो उसके चूतड़ों के दर्शन मुझे कई महीनों बाद हुए थे. दिशा- ओह आह प्लीज जीजाजी … रहने दो यार … बहुत दर्द हो रहा है … अपना लंड बाहर निकालो … जल्दी.

आपने मेरी पिछली तीन सेक्स स्टोरीजसाठा पे पाठा मेरे चाचा ससुरशादी में चूत चुदवा कर आई मैंशादी का मंडप और चुदाईको बहुत प्यार दिया, उसके लिए आपका धन्यवाद. जैसे ही जीजा ने दरवाजा खोला, वहां पर पहले से ही दो लोग और खड़े हुए थे. वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ खा जाओ मेरी चुत को … ऊऊहह … जल्लदीईई … डालो अपना लंड.

… मुझे बहुत मज़ा आ रहा है … यू आर अ लवली सकर … आआह … आआह … बस करते रहो … आह रुकना नहीं.

मामी ने मुझसे लिपटते हुए कहा- मैं तुम्हारे साथ काफी पहले से ये सब करना चाहती थी, पर मैं बदनामी से डरती थी. उन दोनों बहनों के साथ लुक्का-छिपी का ये खेल मैंने काफी दिनों तक खेला और फिर मैं अपने घर आ गया.

झड़ने के बाद वह मुझे दोबारा से किस करने लगा और मैं भी बदले में उसको किस करने लगी. बस वही हुआ … जो होने वाला था और उसकी चुत से पानी रिसने लगा, वो भलभला कर झड़ने लगी और ऐसे साँस लेने लगी, जैसे वो तृप्त हो गई हो. मैंने फिर से उसकी चूची मुंह में ले ली और उसकी चूत सहलाने लगा और उसका हाथ पकड़कर अपने लण्ड पर रख दिया.

मैं हौले हौले से उसकी चुत पर हाथ घुमाने लगा और धीरे धीरे करके मैंने अपने पूरे लंड को उसकी चुत में घुसेड़ दिया. बाहर आने के बाद भाभी शालू को समझाने लगीं- देखो शालू, अगर तुम ऐसे ही चिल्लाओगी, तो काम कैसे बनेगा. यह सोच कर मैं जानबूझ कर फिसल कर आंटी पर जा गिरा। आंटी पूरी की पूरी मेरे साथ लग गई, आंटी की गांड पर मेरा लण्ड लग गया। वाह … बहुत ही मजेदार पल था। मेरा लंड आंटी की गांड पर सटा हुआ था.

हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ मगर उस दिन के बाद से मेरे मन में हर लड़की के लिए अलग ही इज्जत का भाव अपने आप ही पैदा होने लगा था. दीदी जीजाजी की चुदाई की कामुक आवाजें सुनकर वैसे मैं भी गर्म होना शुरू हो गई थी.

xxx हिन्दी विडीयो

मैंने उसकी आँखों में देखा, उसकी आँखें कह रही थी ‘प्लीज दर्द होता है. और मुझे कपड़े पहनने को कह कर उन्होंने अपने भी कपड़े पहने और फिर मुझे अपनी कार से घर छोड़ने चल दिए. उसके जाते ही घर पर खुद को अकेला पाकर अपने सारे कपड़े उतारकर अपनी चुचियों को दबाने लगी और अपनी चूत में उंगलियां डालने लगी.

उसके बाद उसने मेरी छाती पर सिर रख लिया और मेरे सिकुड़ रहे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी. ”मैं एक सोफे पर बैठ गया और चारों तरफ नज़रें घुमाकर ड्राइंग रूम का मुआयना करने लगा. मोटी लड़कियों के बीएफसुमन ने अपने हाथ बाथरूम की दीवार से पीछे की तरफ सटा लिये और उसकी चूत आगे की तरफ मेरे मुंह की तरफ आने लगी.

मेरी पुष्ट जांघें और उभरा हुआ गोलमटोल पिछवाड़ा मुझे बेहद सेक्सी लुक देता है.

जैसे ही उसे समझ आया कि मैं भी तैयार हूँ, तो तुरंत ही उसने अपने हाथों से मेरी पेंटी को नीचे की ओर खींच दिया. लेकिन अभी भी हम दोनों का मन नहीं भरा था, वो मेरे निप्पलों से खेल रही थी, जबकि मैं उसकी टांग़ को अपने ऊपर करके उसकी गांड में उंगली डाल निकाल रहा था.

बहुत ज़हीन, बहुत ज़्यादा पढ़ी-लिखी और आर्थिक तौर पर आत्मनिर्भर लड़कियों की ये प्रॉब्लम बहुत आम है. पर मैं उसे बर्बाद नहीं होने देना चाहती थी, तो मैंने हाथ बीच में लगा लिया और धीरे धीरे पूरा माल गटक गयी. उसके बाद उन्होंने पूनम को छोड़ दिया और उन्होंने मुझे दूसरे केबिन में चलने के लिए कहा.

तभी मैंने उन्हें पलट दिया और डॉगी स्टाईल में चोदना शुरू कर दिया क्योंकि मैं उनकी गांड पे चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना चाहता था.

आधे घंटे में मुझे बॉक्सिंग प्रैक्टिस के लिए वापिस स्कूल जाना है … प्रैक्टिस के बाद ही कुछ खाता हूँ … कुछ चाय नाश्ता कर लिया तो बॉक्सिंग नहीं की जायगी. टॉप को हटाने के बाद मैंने अपनी बहन की ब्रा को खोला जो कि काले रंग की थी और उसकी भरी हुई चूचियों पर बड़ी मस्त लग रही थी. मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ उंगलियों को चलाना शुरू कर दिया और उसके मुंह से स्स्स… आह्ह … अम्म… ओह्ह जैसी मधुर आवाजें निकलने लगीं.

बीएफ सेक्सी छोटी लड़की कामेरी पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के पहले भागपड़ोसन लड़की के चूतड़ों का दीवाना-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी पड़ोस में रहने वाली जवान कुंवारी लड़की को पटाया और उसकी चुदाई की. मैंने सोचा कि आंटी की चूची इतना चिकनी हैं तो पूरी की पूरी नंगी आंटी कितनी चिकनी होगी!मगर जल्दी ही मेरे अरमानों पर आंटी ने तब पानी फेर दिया जब उन्होंने मुझे उनकी चूचियों को घूरते हुए देख लिया.

सनी लियोन एक्स एक्स वीडियोस

अपनी उंगलियों पर ढेर सी क्रीम लेकर अपने लण्ड पर और डॉली की चूत पर मल दी. ?नम्रता ने बड़े इत्मीनान से पूछा- टाईम क्या हुआ?जब पति देव ने टाईम बताया तो बोली- देर रात तक नींद नहीं आने के कारण नींद नहीं खुली. जैसे उसकी जान में जान आ गयी हो। उसकी आँखें वासना के नशे में एकदम लाल हो चुकी थीं.

घर के पास पहुंचकर मैंने इधर-उधर नजर डाली और जल्दी से हम दोनों मेरे घर के अन्दर घुस गए. कुछ देर बाद मैं बात करते हुए उनके पीछे खड़ा हो गया, जिससे मेरा लंड उनकी गांड को छू रहा था. पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था.

भाभी की गुलाबी चूत देख कर मेरी लार टपक गई … उनकी चूत पे एक भी बाल नहीं था. चूंकि मैं देखने में अच्छा था और मेरी बॉडी भी काफी फिट थी इसलिए लड़कियां जल्दी ही मुझे पसंद कर लेती थीं. मुझे सॉफ्ट ड्रिंक्स या शरबत पसंद नहीं … सेहत के लिए बुरे होते हैं … और तुमको तो मुक्केबाज़ी भी करनी है इसलिए ताक़त वाली चीज़ें हैं सब … और हाँ अगर आँखें पूरी तरह से हरी न हुई हों तो मैगज़ीन गिर गयी है, उठा लो और मज़े से देखो अपनी फेवरिट हीरोइन को!” मैडम की मीठी आवाज़ सुन के यूँ लगता था जैसे दूर कहीं हल्के हल्के से घंटियां बज रही हों.

जैसे-जैसे दोनों का माल बाहर आ रहा था, दोनों की ही एक-दूसरे पर पकड़ ढीली पड़ती जा रही थी और जैसे ही नम्रता की बांहों का बन्धन खुला, मैं लुढ़कते हुए उसके बगल में लेट गया. चूंकि मामाजी का बिज़नेस है, इसलिए उनको अक्सर रात में बाहर रहना पड़ता है.

रानी ने बाद में बताया कि मेरा झड़ने का समय बढ़ाने के लिए उसने ऐसा किया था, बोली- राजे लंड जब चूत में घुस कर तुनक तुनक करता है तो मुझे उसकी ताल से अंदाज़ लग जाता है कि तू अब झड़ने के करीब है तो उस वक़्त मैं तुझे धीमे कर देती हूँ.

एक दिन उसने मुझे मैसेज किया मगर मैंने उसके मैसेज का रिप्लाई नहीं किया क्योंकि मैं सोच रही थी कि मेरे भाई का दोस्त है तो इससे क्या बात करूं. बीएफ फिल्म अच्छीशाम करीब साढ़े-सात बजे मैं, वसुन्धरा के पापा के साथ उनके घर चला गया. बीएफ अंग्रेजी ब्लूवनिता बोली- ओके बाबू जी, वैसे मेरी सहेली का टेस्ट कैसा है?तो वो बोले- मस्त है. उसकी मादक सिसकारियों से पता चल रहा था कि अब वो लंड लेने के लिए तैयार है.

लेकिन एक पल बाद ही खुद को सयंत करते हुए भाबी ने फिर से मेरे लंड को चूसना चालू कर दिया.

कभी तो सुबह-सुबह ही मेरे लंड को चूसकर मेरी नींद तोड़ देती थी और टांगें फैलाकर चुद जाती थी. चूत रस से लबाबाब भरी हुई थी इसलिए लंड फिसलता हुआ पूरा भीतर जा घुसा जब तक कि सुपारा बच्चेदानी से लग के रुक नहीं गया. फिर उसने मेरे कंधों से मुझे पकड़ कर ऊपर उठाते मुझे अपने ऊपर गिरा लिया.

घर के पास पहुंचकर मैंने इधर-उधर नजर डाली और जल्दी से हम दोनों मेरे घर के अन्दर घुस गए. मुझे काफी दर्द हो रहा था मगर पहली बार चूत में लंड लिया था तो जल्दी ही मजा भी आने लगा. लंड जब पूरा का पूरा भाभी की चूत में उतर गया तो मैंने उनकी चूत में लंड के धक्के देने शुरू किये.

मसाज वाली चुदाई

जिन औरतों ने अपनी गांड चटाई होगी, उनको इस सुख कर पता होगा कि गांड चटाने में कितना मजा आता है. वो चाहे कितना भी चीखे या चिल्लाए, तुम अपना पूरा का पूरा लंड अन्दर घुसा देना. उस दिन मैं बिल्कुल एक प्रोफ़ेशनल रंडी की तरह अपने सगे भाई का लंड चूस रही थी.

तो मैंने धीरे से उसके ओंठों को चूमा और धीरे धीरे सारे फूल हटाने लगा.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… आंटी की चूत पर हल्के बाल थे जो उसने कुछ दिन पहले ही शेव किये थे.

हाँ … हाँ यही बात है!” वसुन्धरा के बारे में सोचते हुए और ख्यालों में उलझे हुए मेरे मुंह से ये शब्द निकल गए. बारह बजे तक पढ़ने के बाद कुलजीत ने लाइट बंद कर दी और हम लोग लेट गये. हिंदी फिल्म बीएफ फुल एचडीअपने लंड को अपने हाथ में लेकर ताऊ जी ने बुआ को हिला कर दिखाया तो बुआ मुस्कुराने लगी और बोली- बहुत दिनों बाद आज इस औजार से मुझे प्यास बुझाने का मौका मिला है.

निहारिका ने मेरा सर दोनों हाथों से पकड़ रखा था और अपनी छाती से चिपका रखा था. उसने मुस्कराते हुए जवाब दिया- हां, अपने मम्मी-पापा और भाई के साथ रहती हूं. इसी खेला खेली दोनों के अन्दर का वीर्य रूपी ज्वार निकलने को मचलने लगा.

जब मुझसे लंड चुसाओगे तो और क्या होगा?” मैं तेज आवाज में बोली।वो पास आ गया. तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपनी हब्शी लंड को मेरे मुँह में घुसा दिया और थोड़ी देर ऐसे ही मेरा मुँह चोदने लगा.

फिर मैंने अपनी पैन्ट खोली और लंड निकाल कर उनके पेट के पास लगा दिया.

मैंने बोतल बेबी को पकड़ाई और बाथरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- बाथरूम इधर है. मैंने अपने भी कपड़े उतार के साइड में रखे और मनीषा की ब्रा और पेंटी भी उतार दी. थोड़ी देर बाद मैंने सुना अर्पित के रूम से टीवी से अजीब सी आवाजें आ रही थीं- आहह अहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… यासस … याअसस्स.

करिश्मा कपूर का बीएफ सेक्सी जैसे ही शर्ट उतार कर फेंकी तो मैंने देखा कि भोला सिंह की छाती बहुत चौड़ी थी. क्या बताऊं दोस्तो, उस 20 मिनट के सफर में मैं आनन्द के सागर में गोते लगा रहा था.

भाई ने ये कहते कहते मेरी टांगें फैला दीं और अपना लंड सैट करके मेरी चूत में डाल दिया. मैंने पूछा- तो फिर आपको डर नहीं लगा कि कहीं पापा को इस बारे में पता चल जाता तो?मां बोली- उस लड़के ने बस दो या तीन बार ही मेरी चुदाई की थी. मैंने जब अपनी पैन्ट और चड्डी को हटा कर लंड को निकाला, तो मेरी बहन अपने भाई का लंड देखकर दंग रह गई.

बीएफ सिनेमा वीडियो

मैं उसकी बुर चाट रहा था और वो ऊपर मस्ती से चिल्ला रही थी- आह … प्लीज़ मन्नी … डोंट बाईट हार्ड … डू इट सॉफ्टर … आई लव इट. हमारा आफिस हमारे रूम से तकरीबन 2 किलोमीटर लम्बा पड़ता है … और वहां लाईट की व्यवस्था नहीं थी. मोनी प्रतिक्रया में अपने दोनों घुटनों को मोड़ कर नीचे वो दूसरी तरफ मुड़ गई.

इस बारे में मैं आगे खुलासा करूंगा, आप मेरी कहानी पढ़ते रहिये और मजा लीजिये. स्स्स … आह आह अह्ह … हय … !उसकी गोरी, चिकनी, मखमली चूत को चोदते हुए इतना मजा आया कि पांच-सात मिनट में ही मेरे अंदर का जोश मेरे लंड के वीर्य में उबाल ले आया और मैंने उसकी चूत में वीर्य की पिचकारी मार दी.

गाँव जाकर क्या खाने लगी है?निहारिका ने कहा- सब पति देव की मेहरबानी है … सुहागरात से ही गांड की चुदाई शुरू कर दी थी.

फिर उसने मेरे पास आते हुए पूछा- क्या तुम्हारे एग्जाम चल रहे हैं?तो मैंने हां में जवाब दिया. मेरे सामने ताऊ जी की गांड थी इसलिए मुझे बुआ के चूचे दिखाई नहीं दे रहे थे. वो अपनी बुर को पैंटी के ऊपर से रगड़ने लगी और मेरी गोलियों को भी दबाने लगी.

तुम्हारी बेटी भी कैसी है … दुनिया में इतने सारे लंड हैं लेकिन इसने अपनेबाप से ही चूत चुदवा ली. मैंने उसकी चूत पर मेरी जीभ रख दी और काजल की चूत का अमृतरस पीने लगा. जैसे ही घर से निकल कर सब अपनी-अपनी गाड़ियों में बैठे, वसुन्धरा मैडम ने हंगामा खड़ा कर दिया.

फिर भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने बताया कि मेरा ब्रेकअप हो गया है.

हिंदी फिल्म बीएफ व्हिडिओ: मुझे होश तब आया, जब उन्होंने मेरे एक बूब को अपने मुँह में ले लिया- मूऊऊऊआह …अंकल ने मेरे बूब के निप्पल को हल्का सा काटा, तो ‘उईई ईई … आह अंकल छोड़ दो … कोई आ जाएगा. लंड बुर से बिल्कुल चिपक के अंदर बाहर हो रहा था। मैं आअह आअह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह्ह ऊऊऊ उईई ईईई उफ अह कर रही थी.

मैंने आहिस्ता से रानी को बिस्तर पर टिकाया और नीचे ग़लीचे पर बैठ कर रानी के पैरों को पालतू कुत्ते की तरह चाटने लगा. जब मुझे पता चला तो मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे दिल पर किसी ने वार किया हो. अब आगे:भाभी ने मुझे समझाते हुए कहा- इस बार बहुत ही धीरे धीरे उसके छेद में घुसाना, नहीं तो मैं बहुत मारूंगी.

मोनी ने अपना मुँह अब दूसरी तरफ किया हुआ था जिससे मेरा उत्तेजित लंड अबकी बार तो सीधा ही उसके नितम्बों की गहराई में अन्दर घुस गया था.

मेरे भैया को ये बात पता भी नहीं थी कि उनका एक दोस्त उनसे मिलने आता है तो मुझे देखता रहता है. हाथों में आने के बाद उसकी जांघें ऐसे लग रही थीं जैसे वह कोई रबड़ की गुड़िया की तरह है बिल्कुल नर्म और मुलायम. सर्दी का मौसम शुरू हो चुका था, सुबह और शाम के समय हल्की हल्की सर्दी होने लगी थी.