2017 बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी का फोटो सेक्सी: 2017 बीएफ, मेरी बनियान को उतार दिया और अपने मम्मों को मेरी छाती से रगड़ने लगी.

रंडी की चुदाई बीएफ

उंगली से क्या किसी और वस्तु से?’‘कभी कभी उंगली से एक दो बार मोमबत्ती घुसा के भी…’ वो बोलकर चुप हो गई. टीचर का बीएफउसका तगड़ा शरीर, उसका सेक्स करने का जोश देख कर मैं उसका गुलाम हो गई थी, उसके लंड की, उसके गंदे बोलने की मुझे लत लग गई थी.

यह हिंदी सेक्सी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसे सीधा लिटाया और उसकी चुची चूसने लगा. बीएफ लड़की वालाउसकी चूत के दर्शन अब होने ही वाले थे, मेरे दिल की धड़कन तेज हो गई वो नज़ारा मेरे सामने अब आने ही वाला था जिसकी कल्पना कर कर के न जाने कितनी बार मैंने मुठ मारी थी, कितनी ही बार मैंने इसी चूत की सोच सोच के अपनी बीवी को चोदा था.

मैं तेल लेकर अभी आता हूँ।वो चली गई और मैंने अपने लंड पर अपना हाथ पैंट के ऊपर से ही फेरते हुए अपने मन में कहा- अए मेरे शेर.2017 बीएफ: चलो तब तक किचन में ही बातें करते हैं।और हम दोनों किचन में आ गए। इधर बहुत देर बात करने के बाद भाभी ने कहा- तुम्हारी फैमिली यहीं पुणे में है ना?तो मैंने भी कहा- हाँ।भाभी ने पूछा- तो तुम खाना रहना बाहर ही क्यों खाते हो.

कभी उसकी सहेलियों के कमरे पर चुदाई हो जाती है।आपको मेरी ममेरी बहन की सील तोड़ चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल कीजिएगा।[emailprotected].उसकी तो जैसे जान निकल गई हो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गई थी लेकिन मैं उसे अभी और तड़पाना चाहता था.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी - 2017 बीएफ

कुछ देर के बाद वो थक कर पीठ के बल लेट गया और मुझे ऊपर बुला लिया, उसको शक ना हो इसलिए मैं उस पर सवारी करने लगी, मुझे दर्द हो रहा था फिर भी जोर से ऊपर नीचे हो रही थी, मेरी स्पीड के वजह से उसने अपना वीर्य मेरे अंदर, कंडोम में उड़ेल दिया.और ऐसे अचानक पानी आता है तो अजीब लगता है। हाँ अगर पता हो पानी आएगा.

जिसे पूजा ने गटक लिया। जब उसने मुँह हटाया तो थोड़ा वीर्य और निकला, जिसे देख कर पूजा ने अपनी उंगली पे ले लिया।पूजा- ओह मामू आपका ये रस कितना वाइट और गाढ़ा है।संजय- हाँ ये ऐसा ही होता है. 2017 बीएफ फिर चूतड़ को फैलाते हुए बोला- अशोक आ जा!मैंने अपना लंड माँ के गांड पर फिराया, फिर लंड को माँ की गांड के छेद पे लगा दिया.

पर वो इस दर्द का मजा लेने लगी और मुझे तेज करने को उकसाते हुए कहने लगी- और जोर से करो.

2017 बीएफ?

कल्पना नींद में थी और वो मेरे सीने से ढलक कर बगल में सोई हुई थी।मैंने घड़ी पर नजर घुमाई, इस वक्त रात के एक बजे थे और मेरा मन था सोने का… कल्पना तो पूरी ही गहरी नींद में थी लेकिन आभा ने लंड के साथ अपना स्खलन नहीं किया था और शायद इसीलिए उसकी तड़प ने उसे जगा दिया था।हमें सोये हुए एक डेढ़ घंटा हुआ होगा।आभा मेरे साथ बगल में आई. पर व्हिस्की पीने के कारण मेरा माल निकल ही नहीं रहा था।अब मैंने अपनी देशी स्टाइल ट्राइ करने का सोचा। मैंने सोनम को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से अपना लंड सोनम की चूत में पेल दिया, जिससे सोनम को बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी।अगले 5 मिनट में मेरा माल छूटने वाला था तो मैंने सोनम से पूछा कि कहाँ निकालूँ?तो सोनम ने जवाब दिया कि इतना कीमती प्यार किया तुमने. मुझे तो खूब मजा आ रहा था, अब मेरे मुँह से भी सिसकारियां निकलने लगी, मैं अजय का लंड मुँह से निकाल कर हाथ से हिला रही थी और उसके दोस्त को और जोर से करने को बोल रही थी- और जोर से चोद मुझे!और वो जोर जोर से मुझे चोदने लगा.

प्लीज़ अपना बरमूडा और फ्रेंची भी निकाल दीजिए।मैंने अपना बरमूडा और फ्रेंची निकाल दी. लौड़े के अन्दर जाते ही उसकी जोर से चीख निकली- बहनचोद हरामी कुत्ते के बीज, उम्म्ह… अहह… हय… याह… फाड़ दी मेरी कुंवारी चूत, तू जानता है इस चूत पर कितने लौड़े फ़िदा थे और तू इतनी बेरहमी से बर्ताव कर रहा है. आपसे मिलाने के लिए माला और बालक को मैं थोड़ी देर बाद घर जा कर ले आऊंगी.

साहब को प्रणाम किया। मेरे साथ की महिला पुनः तैयार हुईं। हम सबने साहब के साथ डिनर लिया. उन्होंने मेरी बात को काटते हुए कहा- ना का मतलब ना… एक पल के लिये भी नहीं!‘मैं शौच करने जा रही हूँ!’ मैंने थोड़ा गुस्से में कहा. दोस्त की बहन की चुदाई में दीदी ने मदद की-1मुझे सुरभि दीदी की चुदाई का यह अवसर बहुत दिनों के बाद मिला था। मेरी और बहन की चुदाई की कहानी आपने मेरी पहले की कहानियों में पढ़ी होगी।इस वक्त दीदी ने कैपरी और केवल टी-शर्ट पहन रखी थी.

मैं जमीन पर घुटनों के बल बैठ गई और मैंने रोहन के गीले लण्ड को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया… वीर्य के कारण लण्ड का स्वाद काफी अच्छा लग रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बिस्तर पर लेट गए, रोहन मेरे ऊपर आकर आकर 69 की पोजीशन में लेट गया… फिर रोहन ने मेरी चूत को चाटना और चूसना शुरू कर दिया. तो बालकनी में खड़े होकर मैं यही सोचने लगा कि दो दिन क्या करूँ?तभी मेरी नजर सामने वाली खिड़की पर पड़ी, वहाँ करीब 25-27 साल की लड़की सफाई कर रही थी.

‘समीर… आआआ ससस मेरी चुत का हलवा बना दिया तुमने!’हमारा पानी साथ निकल गया, हम 69 में आकर एक दूसरे का पानी चाट गए, बहुत मजा आया.

रोहित तो दस बजे से सो रहा है और भईया को हम पूरी बोतल दारू की पिला के सुला आए हैं।मैंने अपना मोबाइल निकाला और वीडियो बनाने लगा। इतने में पवन अंकल ने अपने लौड़े पर थूक लगाया और माँ की गांड के छेद में लगाकर एक झटका मार कर कहा- बोल कितना अन्दर गया सरिता रानी?माँ थोड़ी दबी आवाज में बोलीं- पता नहीं, खुद ही देख लो।फ़िर उन्होंने एक और करारा झटका मारा तो माँ के मुँह से ‘आआ.

उसने लंड टिका दिया।बोला- लगाने को कुछ चिकना नहीं है।मैंने कहा- नई गांड नहीं है. राजू ने मेरी बीवी यानि अपनी भाभी के मुझ की चुदाई करने की कोशिश में उसने एक बार जोर लगा कर लंड को पूरा नताशा के गले में उतार दिया, जिससे नताशा चकरा गई और मुश्किल से लंड को मुख से निकाल कर अपना गला पकड़ कर हांफने लगी, उसकी आँखों में आंसू आ गये और मुँह से लार टपकने लगी. थोड़ी देर के बाद मैंने आंटी की चुची पर अपनी गांड रख कर उन्हें अपना लंड चूसने के लिए कहा, आंटी भी मस्ती से मेरा लंड चूस रही थी.

चाची को ये सब अच्छा लगा तो वो अपने हाथ को मेरे लंड पर ले आई और बाहर निकालने के कोशिश करने लगी. दोस्तो, जितनी होट भाभी है, शायद ही कोई औरत हो!फिर मैंने भाभी के कपड़े उतार दिये और खुद भी नंगा हो गया और मैंने नीचे बैठ कर भाभी की चुत को मुंह लगा दिया. भाई मेरी तो आदत है एक बार में कम से कम 3 या 4 बार चुदाई ना करूँ तो मज़ा नहीं आता।मोना- मन तो मेरा भी यही है मगर हाथ पैर जवाब दे गए। आपकी चुदाई इतनी लंबी होती है क्या बताऊं।काका- अरे अभी थोड़े करूँगा.

गे सेक्स स्टोरी: गांड की चुदाई के शौकीन-1अब तक आपने मेरी इस गे सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि मेरा एक वकील दोस्त मिल गया था जो मेरी गांड की चुदाई करने में झिझक रहा था।अब आगे.

नताशा मेरी इस प्रक्रिया से पागल हो उठी और मुंह से घू-घू की आवाज निकालते हुए स्वान के टोपे को अपने हलक में घुसेड़ कर चूसने लगी. जब उसके बेटे को यह पता चला कि कमी उसमें है तो वह बहुत दुखी हुआ और माला को किसी अन्य पुरुष से सम्भोग करके संतान पैदा करने के लिए मनाता रहा. फुन्नी छोटे बच्चों की होती है। अब तू बड़ी हो गई है मगर किसी और के सामने नहीं बोलना, बस मेरे सामने ही.

अचानक उसने मुझे गाली दी- बहनचोद पता नहीं क्या ख़ाता है इतना नमकीन माल छोड़ दिया मेरे मुंह में…मैं गिर सा गया बेड पे!10 मिनट हम दोनों यों ही लेटे रहे. रीना रानी ने अपनी माँ को बोला कि मेरे अंडे हौले हौले सहलाती जाए और स्वयं फिर से माँ की चूचियों को मचल मचल के यूँ चूसने लगी जैसे कोई शिशु माँ की चूची से दूध चूसता है. तो वो भी आपकी तरह मजबूत होगा, गोपाल के जैसा नामर्द नहीं होगा। उसकी बीवी आपको दुआ देगी सारी जिंदगी के कैसा मर्द पैदा किया है।काका- अच्छा जरूरी थोड़े ही है.

किसी भी मस्त लड़की को देखकर मेरा लंड फुंफकार मारने लगता था।बारहवीं क्लास के 6 महीने बीत चुके थे और मेरा लंड अब चुत की तलाश में था। कोशिश करने पर एक पटाखा मुझे पट गई, बस फिर क्या.

अपनी इज्जत के साथ साथ मुझे उसकी इज्जत, मान सम्मान का भी पूरा पूरा ध्यान रखना था. !स्मूच करते-करते उनकी लिपस्टिक का भी टेस्ट मुझे मिल रहा था। फिर मैंने अपना मुँह खोला और उन्होंने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी। मैं उनकी ज़ीभ चूस रहा था। फिर उन्होंने मेरा नीचे वाला होंठ हल्का सा काटा और फिर उसे चूसने लगीं।लगभग दस मिनट तक हम दोनों यही करते रहे।क्या बताऊँ दोस्तो मुझे कितना मजा आ रहा था।फिर मैं भाभी की साड़ी को खोलने ही जा रहा था कि तभी भाभी बोलीं- इतनी जल्दी क्या है.

2017 बीएफ फिर रोहन का एक और झटका लगा, और हम दोनों के मुख से एक साथ आहहह इस्स्स्स निकल गई, जो दर्द और आनन्द का मिलाजुला रूप था. सुन्दर का तगड़ा लंड अब चूत को दनादन पेल रहा था और वो ऊपर मेरे स्तन को चूस रहा था.

2017 बीएफ तभी मैंने बाइक के मिरर में देखा कि अंजलि किसी को तो हाथ से कुछ इशारे कर रही थी। तो मैंने मिरर को थोड़ा एडजस्ट किया और देखा तो वो आंटी को इशारे कर रही थी।आंटी भी उसे बेस्ट ऑफ़ लक कर रही थीं. तब उसने स्लीवलेस टीशर्ट पहना था और ट्राउज़र्स!मैं भी हाफ पैंट और टीशर्ट में था.

स्वाति का पति अक्सर काम के सिलसिले में दिल्ली से बाहर ही रहता था लेकिन मैंने कभी इस बात का मौका उठाने का नहीं सोचा था।हम दोनों आपस में काफी बात करने लगे थे, स्काइप पे वीडियो चेट, व्हाट्सऐप हर वक़्त हम लोग टच में रहते थे.

हनीमून वीडियो सेक्सी

पर मेरा लंड उनकी चुत से फिसल गया।तब भाभी ने लंड को पकड़ कर अपनी चुत पर रखा और कहा- अब धक्का मारो।मैंने वैसा ही किया. इस उम्र में भी इतने तने हुए थे और बहुत सॉफ्ट थे।मैंने मम्मों को चूसना शुरू किया। बड़े ही मज़ेदार चूचे थे. ऐसा मैं क्यों क्यों बोलूंगी?मैंने कहा- तुम्हें बुरा तो नहीं लगता।वो बोली- नहीं.

वैसे मैं जब 19 साल की थी तब बिजली जाने से नहीं डरती थी लेकिन एक दिन मेरे सगे भाई ने मेरी चूत के अंदर अपना लंड, जब बिजली गई, तब घुसा दिया, पता नहीं क्यूँ उस दिन से मैं बिजली जाने से डरने लगी हूँ. आपको मेरी मामी की चुत की चुदाई की सेक्सी कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करें![emailprotected]. ‘हम्मम म्मम मम्म आहहह…’ सोहन ने मुझे अपने से उठाया और जल्दी से कॉन्डम हटाया और अपना लंड मेरी मुँह में डाल कर झर गया, मैं भी उसका पूरा पानी पी गई।अब पवन भी आ गया, उसने भी कॉन्डम उतार कर अपना रस मेरी मुँह में डाल दिया.

अभी तो बहुत फाड़ना है तुझे।तो उसने कहा- मुझे दूसरे काम भी हैं तो आज नहीं कर सकती।उसकी बात को अनसुना करके मैं पानी पीकर आया और उसे अपना खड़ा लंड थमाते हुए कहा- अब इसका क्या करूँ?तो वो बोली- आज चूस के शांत कर दूँगी कल नीचे डाल लेना.

शायद मेरे सोने के बाद उनमें से किसी के टॉयलेट जाने के कारण उनकी जगह आपस में बदल गई थी. हम मिलते और खूब मजे लूटते।कैसी लगी आपको मेरी यह आपबीती शादीशुदा गर्लफ्रेंड की चूत में लन्ड की कहानी? आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा. क्योंकि मैंने उनको कमर से कस कर पकड़ रखा था।वो बोलीं- प्लीज़ छोड़ दो।मैंने उनके कान में हल्के से कहा- छोड़ तो दूँगा.

मैं रोज की तरह ही बाहर होटल में खा लूँगा।तो भाभी ने कहा- नहीं आज मेरे घर पर कोई नहीं है. मैंने देखा कि वो पूरी नंगी है, उसने नंगी ही मेरे लिए दरवाजा खोला था. जल्दी से निकाल बाहर।लेकिन उसने अपना लंड नहीं निकाला। कुछ देर बाद उसने मुझे चोदना शुरू कर दिया। अब मुझे भी मजा आने लगा तो मैं उसे और जोर से करने को बोलने लगी। मुझे वो चुदाई जन्नत की सैर लग रही थी।उसने मेरी फुद्दी चोदने की रफ्तार तेज कर दी और कहने लगा- मुझे लगा तू पहले से चुदी होगी.

मुझे कुछ पाठकों ने मेरे और अनुभवों को लिखने की गुज़ारिश की तो इस कहानी में मेरा रीना से मिलने के पूर्व अनुभव को बता रहा हूँ कि कैसे मैंने एक भाभी की चुदाई की थी उसके घर जाकर!मेरा नाम विक्रम है, जयपुर में रहता हूँ. मैं उनकी भी शिकायत प्रिन्सिपल से कर देती थी, इसलिए मेरी कोई सहेली नहीं बनती थी। बस एक ही लड़की थी जो शुरू से 12 वीं तक मेरी बेस्ट फ्रेंड रही और अब वो भी मुझसे दूर हो गई। उसका एड्मिशन हमारे कॉलेज में 12 वीं में नो काम आने से नहीं हो पाया।टीना- अच्छा कौन थी वो.

साहिल ने अब उसको चोदते चोदते उसके संतरे चूसना शुरू किया और रेशमा भी अब कमर उचका कर उसके लंड को अपनी चूत में और गहरा ले रही थी. उससे रहा नहीं गया और उन्होंने मेरा अंडरवियर नीचे खींच दिया, मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर कसकर पकड़ा और उसे चूसने लगी. यह मेरे जीवन का सबसे अच्छा समय था जिसको मैंने बहुत मज़े के साथ बिताया.

तब मैंने पूछा- आपके दोस्त का नाम क्या है?उन्होंने बताया- संजय… और उसी का लंड सबसे बड़ा है.

ताकि सोते वक्त आराम से सोएं और किसी को अन्दर का कुछ दिखे ना।बस मैं अब उनकी सलवार को जैसे नीचे की ओर करता जा रहा था। साथ ही उनके निचले हिस्से के हर कोने पर चूमता जा रहा था। बीच में चूत को पेंटी के ऊपर से ही चूमता हुआ. फिर टापते रहना कमीनो!सुल्लू रानी हूँ हूँ करते हुए उठी और बाथरूम की ओर चल दी. चची की एक बेटी 6 साल की… मेरे चाचा विदेश मे जॉब करते हैं तो साल में एक बार दो हफ्ते के लिए आते हैं, चची गाँव में मेरे दादा दादी के साथ रहती है.

उस दिन से मुझे मेरी तनहाई को मिटाकर प्यार और सेक्स का आनन्द देने वाला साथी मिल गया. फिर भाभी मुझे आँख मारते हुए हंस कर बोलीं- आज रात भर में मेरा दर्द दूर कर दो.

मेरे बॉस दुकान के मालिक मुझे छोटू बुलाते थे, उनकी उम्र करीब 36 या 37 साल थी. उसके चेहरे पर बहुत ही हल्का सा मेकअप था लेकिन उसके गालों पर मुहाँसों ने दस्तक देनी शुरू कर दी थी और हल्के हल्के चिह्न उसके गालों पर उभर आये थे. बालक सो गया है मैं इसे नीचे लिटा दूँ फिर आप को दोनों तरफ का सारा दूध पिला दूंगी.

देसी सेक्सी जबरदस्ती वीडियो

[emailprotected]आगे की कहानी :दार्जीलिंग में मस्त चुदाई भरा हनीमून.

30 बजे किस करके जगाया दादी माँ बाथरूम में गई हुई थीं। तो मैंने नीनू को पकड़ लिया और बिस्तर पर खींच लिया।वो बोली- भैया स्कूल ड्रेस खराब हो जाएगी प्लीज़ मुझे अभी स्कूल जाना है।मैं खड़ा हो गया और उसको रसोई में ले गया. अब चिंटू रानी की गांड को चोदने के उसके पीछे आ गए और रानी जो कुतिया बनी हुई थी, उसे घोड़ी बनाया और परीक्षित ने मुझे घोड़ी से कुतिया बनाया और परीक्षित ने तुरन्त ही उनके लंड को मेरी गांड के छेद पर लगाया और थोड़ा सा ही लंड अंदर गया कि दर्द से मेरी सिसकारी निकल गई- सीईई सीईईई आअह्ह ह्हह. यह मेरी पहली कहानी है आंटी की चुदाई की… अगर मुझसे इसमें कोई भी गलती हुई हो, तो प्लीज मुझे आप सभी माफ करना।दोस्तो, कैसे हैं आप? आशा करता हूँ कि सब ठीक होंगे.

इधर सुहाना का हाथ भी अपने रस से गीला हो गया था, वो अपने हाथ को मेरे मुंह के पास लाई, मैं समझ चुका था कि वो क्या चाहती है, मैंने उसके हाथ को चाटकर साफ किया।जब दोनों ने एक दूसरे का चाटकर साफ कर लिया तो मैं और सुहाना फिर एक दूसरे के अगल-बगल लेट गये, सुहाना ने मेरे पैरों पर अपने पैर चढ़ा लिए. तभी उसने मेरा टावेल खींच लिया, नीचे कुछ पहना नहीं था मैंने, उसने अपने मुंह पर हाथ रखते हुए बोला- हाय दैया… कितना बड़ा है!और साथ ही मुंह में लेकर चूसने लगी. बीएफ एयरटेल बीएफमैं आंटी के पेट को चाट रहा था और धीरे धीरे उनकी झाँटों को चाटने लगा, आंटी मस्ती में आवाजे निकाल कर हिल रही थी.

तुम रुको मैं बाहर ही आ रहा हूँ दो मिनट में!’ मैंने कहा और फोन काट दिया. थोड़ी देर बाद मैं उसको वहाँ ले कर गया जहाँ ऑल-आऊट जल रहा था ताकि उसको करीब से देख सकूं.

मैं थोड़ा सुस्ता लूँ, उसके बाद जब उठूँ तब चाय बना देना।मोना- इसका मतलब तुम सो रहे हो क्या गोपाल. पिछले एक वर्ष से माला ही मेरा एवम् घर का सारा काम करती है और अपने बालक के साथ मेरे ही साथ रहती एवम् सोती है. समझी कुतिया?सुल्लू रानी ने पहले तो रीना रानी को धक्का देकर हटाया, फिर धीरे से आधी उठी.

मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके पेलने की कोशिश करने लगा। लेकिन उसकी चुत टाइट होने के कारण मेरा लंड घुस नहीं रहा था और बाहर निकल गया।वो चुदास से तड़फती. उम्म्ह… अहह… हय… याह… हा हा हा हा।वीरू- अरे इसको तो चूचे देखते ही छूने का मन हो जाता है. इससे वो बहुत खुश हो गई।करीब 5 मिनट बाद मुझे डीप किस करके स्कूल चली गई। उसको ये कभी नहीं मालूम हुआ कि उसको वो चिट्ठी में लिख रहा था.

बस एक बार मैं भी उनको मज़ा देना चाहता हूँ।काका- तू अपनी औकात भूल रहा है और तेरे जैसे नामर्द से वो खुश नहीं हो सकती.

मैं अपने सेंटर के टीचर के साथ काफ़ी फ्रेंक था इसलिए मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे लाइक करता हूँ लेकिन वो बोला- ये ठीक नहीं है, ज़्यादा भाव खाएगी क्योंकि वो काफ़ी सुंदर थी. रयान तो निष्ठा के मम्मों का पहले ही दीवाना था तो आज तो वो उन्हें खा ही जाना चाहता था.

मेरी टांगों के बीच बैठकर मेरी चूत में अपना लंड सैट किया, और कहने लगा- कविता, तुम्हें शायद दर्द हो सकता है, तुम तैयार हो ना. इन्हें खोलो ब्लाउज से बाहर निकाल लो और मेरे इन प्यासे चूचों को अच्छे से चूस कर प्यार करो।मैंने उसके ब्लाउज को खोल दिया. दोनों के कपड़ों में रेत चिपटा था तो दोनों बाथ टब में घुस गए, शावर खोल दिया.

हाँ पर हम लोगों की परेशानी बढ़ जायेगी।माँ ने कहा- कैसी परेशानी जी?तो बाबूजी ने बताया- तीन साल पहले ही तो दो नये शिक्षक आये थे, अब वो स्कूल का काम समझने लगे थे पर उनका तबादला हो गया है और इधर काम भी बढ़ गया है। अब देखो उनकी जगह कौन आता है।माँ ने हम्म्म करके सर हिलाया।पर मैं पूरी तरह हिल गई. अब नताशा ने अपने चूतड़ों को पीछे की ओर उभार दिया था, जिससे वो आराम से एंड्रयू और स्वान नामके दैत्यों के भयानक लंडों को अपनी छोटी सी चूत में ले सके. ‘देखो स्नेहा, उस वीडियो को तुमने कई कई बार देखा होगा और देखते देखते हर बार तुम्हारी जाँघों के बीच में तुम्हारी सू सू करने वाली जगह गीली हो गई होगी और उसमें सनसनाहट भरी खुजली सी मची होगी, है ना?’ मैंने उसकी जांघों के बीच उसकी चूत की तरफ इशारा करके कहा.

2017 बीएफ मैंने कबर्ड में से एक टॉवल निकाला और अंजलि की बुर के नीचे एक तकिया लगा कर उस पर बिछा दिया. जैसे-तैसे 6 बजे और बस अपने निर्धारित स्थान पर आकर लग गई और हम बस में बैठ गए.

गुड़िया की सेक्सी मूवी

कोई गड़बड़ हो गई तो तू मुझे भी पिटवायेगी और तुझे भी यहाँ से कमरा खाली करना पड़ेगा. मैंने अब दरवाजे पर ज़ोर से हाथ मार दिया और जिसकी वजह से दरवाजा खुल गया और मैं मैडम से बोला- क्यों आपकी तबीयत तो ठीक है ना?मैडम बोली- हाँ क्या हुआ? मैं तो एकदम ठीक हूँ. फिर उन्होंने मुझे गले पर किस किया और फिर मेरी पीठ पर चूमते हुए मेरे ब्लाउज का धागा खोल दिया.

यह सेक्स स्टोरी मेरे एक प्रशंसक की है, उसने कैसे एक साथ दो स्कूल गर्ल के साथ सेक्स किया. थोड़ी देर में निशा भाभी उसे ढूंढते हुए आई और बोली- यह यहाँ है और मैं परेशान हो रही थी!यह बोल कर वो अपने बेटे को उठाने की लिए झुकी, आय हाय… क्या बोबे थे मस्त 36″ के… देख कर मेरा लंड एकदम कड़क… मैं तो देखता ही रह गया और निशा भाभी ने मुझे पकड़ लिया, बोली- क्या देख रहे हो?मेरा तो दिमाग ही काम नहीं कर रहा था, हड़बड़ा कर मैं बोला- कुछ नहीं, कुछ भी तो नहीं…भाभी बिना बोले अपने बेटे को लेकर चली गई. बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म सेक्सीफिर टापते रहना कमीनो!सुल्लू रानी हूँ हूँ करते हुए उठी और बाथरूम की ओर चल दी.

ये इतना स्मार्ट लड़का है, इसके पीछे तो न जाने कितनी लड़कियां पड़ी हैं.

चोदो मुझे बहुत मजा आ रहा रहा है, बड़े दिनों बाद लंड मिला है, ऐसे ही चोदते रहो आह्ह… फक मी! आह्ह्ह… फआह्ह्ह… मीईईई आह्ह्ह!इसी तरह चोदते चोदते मैं जेसिका को किस भी कर रहा था, वो इतनी गर्म हो रही थी कि 3-4 मिनट में ही उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, और मेरी कलाइयों को भी!उसके चेहरे पर एक सुकून था. वो उठा और उसने मेरा सिर पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया। उसका लंड मेरे मुंह में चला गया। मुझे ये बहुत बुरा लगा.

शायद वो सोच रहा था कि भाभी को कुछ पता नहीं चला!सुबह उठते ही मैंने अपने पति को सारी बात बता दी. इधर अंजलि भी पीछे नहीं थी, उसके हाथ में मेरा लंड था, वो उसको मसल रही थी, आगे पीछे कर रही थी, लंड पूरा तना हुआ खड़ा था अपनी ड्यूटी को निभाने को तत्पर!अंजलि- आपका ये तो बहुत मस्त है लगता नहीं कि आपकी उम्र हो गई है!मैं- क्यों तुमने पहले किसी का देखा है?‘हाँ, पिक्स में और पोर्न में देखा है. पिंकी के दिल की धड़कन अब तेज हो गई थी और साँस भी तेजी से चल रही थी… डर व घबराहट के मारे पिंकी ठीक से कुछ बोल तो नहीं पा रही‌ थी, बस धीमी आवाज में कराह‌ सी रही थी‘इश्श… च.

ऋषि एक शरीफ लड़का था तो उसने मुझे समझा और उसने इसलिए भी मुझे समझा क्योंकि वो मेरे बारे में सब जानता था.

अब जीजू मेरी बाहों में आये और उन्होंने अपने लंड को जानबूझ के मेरी चूत की पलकों के ऊपर रख दिया. तो चूत से घप-घप की आवाज आती थीं।इस बीच मेरा भी लंड फिर से खड़ा हो गया था। दस मिनट इस पोज में चोदने के बाद गुप्ता जी संजना को डॉगी स्टाईल में ले आए और उसकी चूत में पीछे से अपना मूसल लंड घुसा दिया। लंड घुसते ही संजना के मुँह से एकदम से ‘उई. क्यों पाठकों क्या कहते हैं आप लोग?तभी जूसी ने आकर राजे के चूतड़ों पर ज़ोर से च्यूंटी काटी- राजे माँ के लौड़े, मेरी सौत से ही चिपका रहेगा या मेरी चूत का हाल चाल भी लेगा… कमीने… कुत्ते की औलाद!उसके बाद मैंने जूसी की ज़बरदस्त चुदाई इतने करीब से देखी, जूसी की चूत से रस की वर्षा भी देखी.

सनी लियोन की बीएफ फिल्म एचडीमैंने हाथ हटाना चाहा तो वो बोला- क्या हुआ? पकड़ ले ना डंडा… तुझे गिरने नहीं देगा ये!मैंने कहा- भैया, आप गलत मत समझना लेकिन मेरे मन में अब ऐसा कुछ नहीं है. मैं हक्का बक्का उसे ऐसे ही देखता रहा और वो भी कामुकता भरी नजरों से कुछ देर ऐसे ही देखकर फिर से मुझे किस करने लगी, मैं फिर से उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही मसलने लगा.

फुल सेक्सी पिक्चरें

पता है जब मैं उसके साथ थी तो वो बार बार तेरी तरफ ही देख रहा था और उसका लौडा भी तुझे देख तना हुआ था. रवि को इन सब से कुछ लेना-देना नहीं था, वे बेफिक्र होकर मेरी चुदाई कर रहे थे।उत्तेजना के कारण मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैं झड़ने लगी… मेरी चूत से रस की धार बाहर बहने लगी पर रवि का लंड अभी भी मेरी चूत के अंदर बाहर हो रहा था. धीरे धीरे हम दोनों ही मूड में आने लग गए थे, मैंने उस कोऊपर किया और उसके साड़ी के पल्लू हटाने लगा.

उसने बिना पलक झपके सीधा मेरी बेल्ट खोली और मेरी जीन्स को मेरे बदन से अलग करने का प्रयास करने लगी. अब मैं आंटी को सीधा करके उनकी चुची चूसने लगा और अपनी उंगली से उनकी चूत सहला रहा था, आंटी भी मेरा लंड पकड़ कर हिला रही थी. रानी जैन नाम है इसका… अच्छी यूनिवर्सिटी से एम बी ए कर रखा है इसने फायनेंस में, वो जॉब करना चाहती है लेकिन ये लोग करने नहीं देते.

पड़ोस वाला जीजा साली सेक्स के लिए बेचैन-1अगले ही दिन नीलेश जीजू का फ़ोन आया, उन्होंने मुझ से कहा- रोमा, आज मैंने ऑफिस से छुट्टी ले ली है और पायल भी हॉस्पिटल जा चुकी है, मैं घर में अकेला हूँ, आज तुम किसी तरह मेरे घर आ जाओ. सुमन- दीदी मैं मॉंटी के सामने कैसे नंगी हो सकती हूँ और फिर चुत चटवाना. पर उन्होंने रानी की बात पर कोई ध्यान नहीं दिया और तेज गति से धक्के देने लगे, कुछ ही देर में चिंटू भी उनके लंड को निकाल कर मेरे मेरे मुँह को चोदने लगे, मेरी भी गांड बहुत दर्द कर रही थी.

कहीं कुछ गड़बड़ तो नहीं है। मैं जल्दी से उठी और नीचे भाई के रूम की तरफ़ जाने लगी।मैंने देखा वहां लाइट भी ऑफ है और कुछ अजीब सी आवाजें आ रही हैं।मैं जल्दी से कमरे की तरफ़ जैसे ही जाकर गेट खोलने वाली थी तो अन्दर से मुझे ‘अहह हह उउउ उउउ. नीचे ठंड लगेगी।चूँकि रूम में एक ही रजाई थी। मैं सोते वक्त ट्राउजर व टॉप पहन कर सोती थी। कुछ दिन ऐसे ही बीते.

बस मैं समझ गया और भाभी को बोला- भाभीजान, आप मेरी प्यास बुझा सकती हैं.

मैंने थोड़ी वेसलीन अपने लंड पर लगाई और मानसी के पैरों के बीच में जा बैठा. सास और दामाद की बीएफएक दिन काम समाप्त करके रात को घर जाने के समय जब अम्मा को देर हो गई थी तब माला मेरे घर आई और उसने मुझे देखा था. बीएफ हिंदी वीडियो एचडी मेंसबसे पहले मैंने उसकी कमीज़ की जिप को खोला और साथ साथ उसकी गर्दन को सहलाते हुए उसकी गाल और होंठों को चुसना शुरू किया और फिर कसमसा कर एक अंगड़ाई ली और अपनी कमीज़ को उतार दिया, वो मुझे पूरा सहयोग कर रही थी. एक दिन भाभी ने मुझे बुलवाया, मैं उनके घर गया तो देखा कि उस वक्त मालविका भाभी बर्तन साफ़ कर रही थीं.

करना ही है तो आराम से करो ना।उसे मेरी इस बात से रिलॅक्स हुआ और वो मेरे से गले लगती हुई बोली- भाई आप बहुत अच्छे हैं आई लव यू.

तो वो मुझसे बोलीं- चुत में ही पानी छोड़ दिया।मैं हैरान होकर खड़ा हुआ तो देखा कि कन्डोम फट कर लंड के ऊपर चढ़ गया था और मेरा लंड पर भाभी की चुत का पानी लगा हुआ था। भाभी की चुत से मेरे लंड का पानी निकल रहा था।वो उठीं और उन्होंने अपनी सलवार उठा कर उससे अपनी चुत अन्दर तक साफ की और मेरे लंड को भी साफ़ करके भाभी बाथरूम में नहाने चली गईं।मैं अपने कपड़े पहन कर घर आ गया। उसके बाद भाभी को जब भी मौका मिलता है. ’उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी तो मैंने उसे रोका और नीचे पीठ के बल लेट गई, वो अपने जंगली तरीके से मुझको चोदने लगा और मेरी चूत के अंदर ही पिचकारी मार दी, उसके साथ ही मैं भी फिर से झड़ गई. काफी देर तक इसी प्रकार चुदाई चलती रही, फिर नताशा को सांस देने के लिए हम रुके, और मैंने मौके का फायदा उठाते हुए राजू के लंड द्वारा भक्काड़ा हो चुकी गांड को कब्जाते हुए उसमें लंड घुसेड़ दिया.

दोनों को नंगी हालत में सामने देखकर शर्माने का नाटक करती हुई, आँखें नीचे किये मैं राजे के पास जाकर बैठ गई. रानी जैन नाम है इसका… अच्छी यूनिवर्सिटी से एम बी ए कर रखा है इसने फायनेंस में, वो जॉब करना चाहती है लेकिन ये लोग करने नहीं देते. जीना हेज़ की ट्रिपल एक्स पॉर्न मूवी डाल दीं और ‘द ट्रेन’ मूवी की गीता बसरा और इमरान हाशमी के स्मूचिंग वाले सीन्स डाल कर उसको फोन दे दिया.

गावरान सेक्सी मराठी व्हिडिओ

मैं भी उसको चूस और चाट रहा था, चॉकलेट का स्वाद अच्छा लग रहा था और उसकी चुत की गर्मी से चुत में से भी चॉकलेट पिघल कर बाहर आ रही थी. मेरा विचार है कि तुम अपने मायके चली जाओ और जैसे बने अपने नाकारा पति से तलाक ले लो और कोई अच्छी जॉब ट्राई करो. धीरे से उसकी पेंटी उतार कर मैं उसकी चूत को चाटने लगा, उसकी चूत एकदम लाल और बिना बाल की थी, चूत चाटने से वो झर गई और उसकी चूत का सारा नमकीन पानी मैं पी गया.

अगर तूने उसको बहकाया ना होता, वो ऊपर ना जाती और उसके बाद अपना पानी निकलवा कर हरामी भाग गया तू.

मेरे पास बैंक का मैसेज भी आ गया था और हिम्मत ने यह भी बताया कि अभी बिमलेश घर में फ्री है, हो सकता है खाना बना रही हो, तुम चाहो तो कॉल कर लो।मैंने पहले अपने मोबाइल में 250 का फुल टॉकटाइम डलवाया फिर बिमलेश को फोन किया.

दो मिनट चुसवाने के बाद विवेक नीचे उतरा और रूबी को घोड़ी बना कर पीछे से उसकी चूत को लगा फाड़ने… उसके दोनों हाथ उसके मम्मे मसल रहे थे. वैसे तो हम दोनों को फोरप्ले और सेक्स करते अब तक बहुर देर हो चुकी थी, मानसी का शरीर अब अकड़ने लगा था और उसके धक्के भी तेज़ हो गए थे. वीडियो में एक्स एक्स एक्स बीएफवो अपने पैर पूरे खोल करके मुझे और चुत के पास खींच रही थी। मैं भी इस मूमेंट को पूरा एंजाय कर रहा था।कुछ मिनट बाद उसने कहा- अब मत रुको अपना लंड पेल दो.

कल से ये मुझे रोज अपनी फुद्दी में चाहिए।इतना कहते ही उसने मेरी फ्रॉक को पेट तक ऊपर उठाया और मेर ऊपर चढ़ गया।अब उसने एक और बार अपना लंड मेरी फुद्दी के मुँह पर रख कर एक झटके में लंड अन्दर पेल दिया। झटके के समय कुछ दर्द हुआ, पर अबकी बार फुद्दी खुल जाने के कारण मेरा दर्द बहुत कम हो चुका था।अब मैं भी उससे बोलने लगी- तेजी से करो. सचिन का लंड एकदम तना हुआ 6 इंच लंबा और मोटा लंड देख कर मैं डर गई थी. चलो कुछ नहीं करूँगा, मुझ पर विश्वास करो।मैंने बोला- ठीक है अंकल चलो।हम दोनों उनके घर पर चल दिए। वो किसी बिल्डिंग में रहते थे, उनका घर भी बहुत अच्छा था।फिर उन्होंने मुझे बैठने को कहा और में उनके सोफे पर बैठ गया। वो मेरे लिए एक गिलास पानी लाए और बोले- कैसा लगा घर?मैंने बोला- अंकल आपका घर तो बहुत अच्छा है.

‘ठीक है, बताता हूँ, लेकिन वादा करो कि मेरी किसी बात का बुरा नहीं मानोगी और जो बातें हमारे बीच होंगी उनके बारे में तुम कभी भी किसी को नहीं बताओगी?’ मैंने थोड़ा जोर देकर कहा. मेरे पति मुझसे पूछने लगे- क्या हुआ?तो मैं बोली- शायद उसका काम हो गया!इतने में बाथरूम का दरवाजा खोलने की आवाज़ आई तो मैं और मेरे पति वैसे ही लेट गये, जैसे लेटे थे!वरुण आया, कमरे की लाइट जला कर देखा, सब सो रहे हैं तो लाइट बंद कर के मेरे बगल में लेट गया.

फिर मैंने उनके कानों के पास किस करना स्टार्ट किया तो वो लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी, मैं उन्हें उत्तेजित कर रहा था.

5 इंच है और मैं इससे संतुष्ट हूँ।मैं अपनी इंजीनियरिंग के तीसरे साल में था और तब तक मैंने कोई भी सेक्स एक्सपीरियेन्स नहीं किया था। बस मैं अन्तर्वासना पर आप लोगों की कहानियां पढ़ता रहता था जिनमें कुछ गे सेक्स स्टोरीज भी थी. पूरा माल निकल जाने के बाद निशा ने अपनी जीभ से मेरा लंड अच्छे से साफ किया और हम दोनों नहा कर बाहर आ गए. लंड को पूरी लम्बाई तक अपनी योनि में घुस जाने तक नताशा बहुत धीमे से, बिना हिले अपनी बाल रहित, गुलाबी चिकनी चूत को खड़े लंड पर पहनाती रही.

बीएफ 18 साल लड़की का मेरे मम्मों को खा जाओ।फ्लॉरा के कहने की देर थी कि विक्की और वीरू उसके मम्मों पे चिपक गए और साहिल उसकी चुत को चूसने लगा। इधर अजय ने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया।मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी जवान लड़की की चूत की सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं. मुझे बहुत बुरा लगा कि मेरा ही बॉय फ्रेंड और मेरी ही मम्मी… सोचा सामने जाऊं और खूब सुनाऊँ उन दोनों को… मगर चुप रही और सोचा कि देखूँ तो सही आगे क्या क्या करते हैं.

अचानक मेरी आँख खुली, मैंने महसूस किया कि कोई मेरी चूत पे उंगली कर रहा है. राजू ने अपना लंड निकाल कर खुद को थोड़ा पीछे खिसका लिया, उसके बाद पहले मैंने और पीछे-2 राजू ने नताशा की गांड में लंड पेल दिया. ‘ठीक है, बताता हूँ, लेकिन वादा करो कि मेरी किसी बात का बुरा नहीं मानोगी और जो बातें हमारे बीच होंगी उनके बारे में तुम कभी भी किसी को नहीं बताओगी?’ मैंने थोड़ा जोर देकर कहा.

मराठी सेक्सी देवर भाभी

मुझे तो बस हफ्ते में एक दो बार सेक्स मिल जाए, मुझे और कुछ नहीं चाहिए. उसने झट से मेरा लंड अपने मुँह से बाहर किया और सुपारे को चुचियों के पास ले जाकर लंड की मुठ मारने लगी। मैंने ‘अया अया. वो अव्वल नंबर का शराबी और जुआरी था तभी तो बीवी उसे छोड़ कर चली गई थी.

भड़की हुई कामोत्तेजना में चूत खूब गर्म हुई पड़ी थी और अच्छे से रस से लबालब भरी हुई भी थी. सलोनी के कहे मैंने सलोनी को नीचे उतारा, वो सोफे पर बैठ गई और अपनी चूत को सहलाने लगी और जोर-जोर से आह-ओह करने लगी- आओ रवीश, आओ मेरी चूत का रस निकल रहा है!मैंने देखा, सफेद रंग का गाढ़ा सा पदार्थ बूंद रूप में टपक रहा था.

मैंने मानसी की पैंटी को दोनों हाथों में कस कर पकड़ा और एक झटके में उसके दो टुकड़े करते हुए उसको पूरा नग्न कर दिया.

‘अंकल जी सिर्फ देखे ही नहीं हैं, अपने हाथों में ले के दबाये मसले और चूसे भी हैं मैंने!’ वो धीमे से शर्माती हुई बोली. मेरी तो जान ही निकल दी तूने और ये जलता सरिया मेरी चूत में भोंक दिया. उसने लंड मम्मी की चूत से बाहर निकाला और सारा माल मम्मी के मुख में छोड़ कर कहा- आई लव यू मेरी रानी… मेरी डार्लिंग!तो मम्मी ने भी बदले में आई लव यू मेरे यश मेरा राजा कहा.

सुल्लू रानी ने एक ज़ोर की झुरझुरी ली और ढेर सा चूतरस मेरे मुंह में आ गया. यह सेक्सी स्टोरी उन दिनों की है जब मैं 12वीं क्लास में पढ़ रही थी। मेरा नाम अलीशा है. सुल्लू रानी पहली बार किसी को अमृत पिला रही थी इसलिए वो ज़्यादा कण्ट्रोल नहीं कर पाई.

उनको तना हुआ देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था।उसके घर में उसके मम्मी-पापा और उसकी दो बहनें और एक भाई था।पता नहीं क्यों मैं कोमल पर कभी भी पटाने के हिसाब से ध्यान नहीं देता था क्योंकि में सोचता था कि इतना मस्त माल मेरे नसीब में कहाँ हो सकता है।बात सर्दी की है.

2017 बीएफ: मैंने उसको अपनी तरफ घुमाया और उसके नर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिए और किस करने लगा. मैं लौड़े से सुल्लू रानी का मुंह, जीभ से उसकी चूत और उंगली से उसकी गांड को एक साथ चोद रहा था.

तो चलो मैं तुम्हें बहुत से टास्क बताता हूँ, तुम खुद चाय्स करो इनमें से कौन सा तुम्हारे लिए आसान होगा।सुमन- जी आप बताओ, मैं कर लूँगी।संजय- क्लास में जो भी सर पहले आएं, उसको थप्पड़ मारना है या वो सामने मोटू दिख रहा है उसके पेट पर एक जोर का मुक्का मार दो, ये भी नहीं तो वो कोने में जो खड़ा है. बहुत मस्त तरीके से लंड चूस रही थी, वो अपनी मम्मी से भी मस्त लंड चूस रही थी।फिर वो बोली- अंकल, अब आ जाओ, चोद दो, अब रुका नहीं जाता!मैंने कहा- लेट जाओ… जैसे तुम्हारी मम्मी को चोदा था, वैसे ही चोदूँगा!मैं उसको लिटा के उसके ऊपर चढ़ गया, पहले सेट करके झटका मार लंड आधा गया, उसको दर्द हो रहा था, उसने बोला- लंड बड़ा ज्यादा है आपका… इतना बड़ा नहीं लिया मैंने कभी!दूसरे झटके में पूरा लंड अन्दर था. रीना- चोदो चोदो मेरे राजा! आह! यही तो गिफ्ट चाहिए था… इसलिए तो मैं स्कर्ट टॉप में आई थी मेरे राजकुमार आह! मस्त चोदते हो!मेरा लण्ड उसकी बच्चेदानी पे टकरा रहा था और एक एक ठोकर पे वो जोर जोर से चीख रही थी- चोद! चोद! चोद! चोद! मेरे चोदू!इतने में एक जोरदार सा झटका मैंने मारा और सारा वीर्य उसकी बच्चेदानी में भर दिया.

थोड़े ही धक्कों में मेरा रस निकल गया और मैं उसके ऊपर ही लेट गया।उसके बाद मैंने दो बार उसको और चोदा।मेरी गर्लफ्रेंड की चिकनी चुत की चुदाई की कहानी पर आपके विचार आमंत्रित हैं.

निश्छल नताशा अपना गुस्सा भूल कर देवर की हंसी में साथ देने लगी तो मैं भी सबका साथ देते हुए हँसने लगा. जिन्हें देखकर मैं पागल सा हो गया और उसके मम्मों को पूरी दम से मसलने और चूसने लगा।दुशाली- अह आह. मैं कहाँ शुरू हुई? यही मुझे चुभ रहा था, जिससे मेरी आँख खुल गई, फिर मैंने सोचा इसको भी गुड मॉर्निंग बोल दूँ।संजय- हा हा हा… ये सुबह ऐसे ही अकड़ता है। इसको जाने दे और तू नीचे चली जा.