सविता भाभी के बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी एक्स एक्स वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मूवी चुदाई दिखाओ: सविता भाभी के बीएफ, उसके चूतड़ों के नीचे तकिया लगा दिया ताकि चूत थोड़ा ऊपर हो जाए और लंड डालने में आसानी हो.

बीएफ ओपन वाला

जब नंदा के मोबाइल ने आवाज की, तो उसने मेरे मैसेज को पढ़ कर लिखा कि कोशिश करो कि ये एक दो पैग और पी ले. राजस्थानी xxxवीडियोमैं उसकी चूत पर टूट पड़ा और वो भी मेरे लंड को बहुत अच्छे से चूस रही थी.

मेरी नजरें उसके नीचे गईं तो उसकी गोरी गोरी चिकनी जांघें देख कर मेरे लंड में हरकत शुरू हो गई. बीएफ फुल सेक्स हिंदीलगभग 5 दिन बाद जब मैं वापस आया, तब पता चला कि हमारी कॉलोनी में पटाखा माल आयी है.

परन्तु उस रात में कुछ ऐसा हो गया कि मैंने उसके साथ जमकर सेक्स किया.सविता भाभी के बीएफ: गांव से 4 किलोमीटर पर बाजार था, तो वहां जाकर एक बढ़िया सी अंडरगारमेंट्स की दुकान पर बाइक रोकी.

तब राज बोला- ओ माय गॉड … इतना लंबा और मोटा … मामी आप लोग कैसे लोगी?दूध वाला बोला- बेटा, ये दोनों बहुत बड़ी वाली चुड़क्कड़ हैं, आराम से ले लेंगी.तभी उसका मैसेज आया- रवि आई लव यू टू … मैं उसी दिन से आपको प्यार करती हूँ, जिस दिन से मैंने अपने पति से आपके बारे में जाना था.

पंजाबी बीएफ सेक्सी - सविता भाभी के बीएफ

मैंने ध्यान ही नहीं दिया कि कब मेरी मकान मालकिन ललिता भाभी कमरे में आ गईं.क्या मैं कल तुमसे मिलने की उम्मीद कर सकता हूँ?उसने कहा- कल की कह नहीं सकती.

मैं बोला- मेरी ओर त बेफिक्र रहो … बात तुम्हारे और मेरे बीच की है और दोनों के बीच ही रहेगी. सविता भाभी के बीएफ चूत में लंड और चूत के दाने पर मेरी उंगली का खेल करते हुए मैं रेशमा को ट्रेन के कूपे में पूरी नंगी करके कुतिया बनाकर ताबड़तोड़ चोदे जा रहा था.

उस दिन मन में चुदास पहले से ही चढ़ी थी तो मुझे उसके दूध छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था.

सविता भाभी के बीएफ?

मैंने कराहते हुए उससे कहा- आंह भाई … बड़ा दर्द हो रहा है … प्लीज़ लौड़ा बाहर निकाल लो प्लीज़. वो बोली- यहां के लिए मना किया था न मैंने!मैंने कहा- यार ,मैंने आज तक रियल में नहीं देखी है, प्लीज सिर्फ दिखा दो, मैं करूंगा कुछ नहीं. चूतिया हस्बैंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरा पति मुझे चुदाई का पूरा मजा नहीं देता था.

फिर पहले मैंने अनीशा की चूत में अपना लंड डाला और 5 मिनट बाद जब लंड चिकना हो गया तो मैंने लंड उसकी गांड में पेल दिया. मेरे मम्मों में दर्द होने लगा था लेकिन चुदास के चलते मैं सब सहती रही. मैं अभी बलदेव को ही देख रही थी कि तभी सामने वाले मर्द ने मेरे बालों से पकड़ा और खींच कर गाल पर थप्पड़ लगा कर बोला- साली रंडी मुँह में ले हमारा बाबूलाल.

अर्चना दीदी को वो चुदाई की काली रात भारी पड़ गई थी जो उन्हें ता-उम्र याद रहने वाली थी. मेरी पिछली कहानी थी:पड़ोसन भाभी ने मुझे पटा कर चूत चुदवाईआज मैं आपको अपनी चाची की गांड कैसे मारी, वो बताने जा रहा हूँ. मेरे निप्पल पर घूमती उसकी जीभ की चमक सीधे मेरे लौड़े की तरफ बढ़ने लगी थी.

कभी भाभी एकदम से झुक जातीं, तो कभी नाइटी उठा कर अपने चूचों में फूंक मारने लगतीं. उसी वक्त मैंने एक जोर का एक झटका दे मारा और मेरा लंड उसकी बुर के अन्दर घुसता चला गया.

कभी उसके चूचुक चूसते हुए, काटते हुए, तो कभी उसकी गर्दन और कान की लौ चूसते हुए मैंने रेशमा को जोर जोर से रगड़ना ज़ारी रखा.

मगर दोस्तो, अगले दिन दोपहर में मेरे फोन पर उसने मैसेज किया और दिल्ली से अपने शहर तक आने जाने की टिकट भेज दी.

थोड़ा आराम करने के बाद सीमा उठी और मेरे ऊपर आकर लेट गई और मुझसे कहने लगी- मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ, तुम मेरा बहुत ख्याल रखते हो. तब मैंने उससे पूछा- सुनीता आज तुम्हारे अन्दर इतना सेक्स कैसे जाग गया?उसने कहा- ऐसा नहीं है यार कि मुझे अच्छा नहीं लगता, लेकिन आपके आने का कारण मैं समझ रही थी इसलिए मैंने सोचा कि आज आपको खुश करके ही भेजूंगी. उसने अपनी नाईटी के ऊपर से ही चूत को सहलाया और बोली- नीता हर्षद, अरे अन्दर भी आ जाओ.

मेरी आंखों के सामने उसके दोनों तने हुए चुचे थे जो मेरे पूरे शरीर में वासना का सागर तूफान मचा रहे थे. राकेश ने ये सब बात करते करते मेरा लंड पकड़ लिया व दो तीन बार सड़का भी मारा. मैं समझ गया कि यही गांड की छेद है और इसमें ही अपना लन्ड डालना है।जब पहली बार दीदी के गांड में मेरा लन्ड गया तो मुझे बहुत दर्द हुआ.

मेरी बीवी एक हाथ से अपना दूध पकड़ कर मेरे मुँह में निप्पल ठूँसे जा रही थी और दूसरे हाथ से मेरे सर को अपने दूध पर दबाती हुई सहला रही थी.

उन्हें पता नहीं कि मैं गांडू हूं, मेरी गांड लंड लेने को तड़पती है पर कोई मारने वाला नहीं मिलता. मैंने जोश में आकर आंटी की चूचियों को काटना शुरू कर दिया तो वो ऊई ऊई ऊई करके चिल्लाने लगीं. मैं- हां साली रंडी … तू अपनी ये चुदाई कभी भूल नहीं पाएगी, मैं आज तुझे ऐसे चोदूंगा.

मैंने उसे समझाया और बताया कि मैं अपनी गारंटी पर अधिकतम 30 लाख तक का लोन पास करवा सकता हूँ लेकिन ब्याज की दर थोड़ी बढ़ जाएगी. वो बोली- यह कभी नहीं होगा क्योंकि उसे मैं अपने शौहर के लिए ही अनटच रहने दूंगी. मुझे पाकर सविता ने अपने सारे दोस्तों से रिश्ता तोड़ लिया है और अब वो केवल मुझसे चुदती है.

मैंने पूछा- अगर तुम प्रेग्नेंट हो गई तो?उसने मुझे बताया- मैं कभी मां नहीं बन सकती क्योंकि मेरी बच्चेदानी निकली हुई है.

शैली मामी धीमी-धीमी आवाज में कंट्रोल करती हुई चेतना को अपने आगोश में दबा कर रखने की कोशिश कर रही थीं. पर सवाल यह था कि क्या हमारी बीवियां तैयार होंगीं?जब हमने अपनी अपनी बीवी से बात की तो मालूम हुआ कि वे भी पतियों की अदला बदली करना चाहती हैं।अब तो मज़ा ही मज़ा आएगा।बस अगले दिन मैंने अपने घर में ही एक डिनर पार्टी रख ली।मैंने जब यह बात अपनी बीवी रेखा को बताई तो वह ख़ुशी के मारे उछल पड़ी और फ़टाफ़ट सारा इंतज़ाम करने लगी।उसने कहा- डिनर का आर्डर तुम कर देना और ड्रिंक्स का इंतज़ाम मैं कर लूंगी.

सविता भाभी के बीएफ उनके 36 के भरे हुए उरोज, बलखाती और मटकती हुई 30 की कमर … और 38 इंच की भरी हुई गांड देखकर इधर मेरे लंड महाराज ने पैंट के अन्दर से ही सलामी देनी शुरू कर दी. मैंने कहा- ओह … फिर आपकी रातें कैसे कट रही हैं?उसने कहा- अब तो उंगली ही सहारा है.

सविता भाभी के बीएफ हम दोनों की कामुकता इतनी अधिक बढ़ गई थी कि दोनों एक दूसरे में खो रहे थे. मम्मों पर मेरा हाथ जाते ही वो और कामुक हो गई और मेरा सर पकड़ कर अपने मम्मों पर दबाने लगी.

आप विश्वास नहीं करेंगे, मुझे खुद भी भरोसा नहीं हो रहा था कि इतनी देर से मैं भाभी को चोद रहा हूँ.

बीएफ इंडियन सेक्स वीडियो

नीरजा ने कहा- मामा, मैंने भी मेरी फ्रेंड्स से सुना था कि चुत चटवाने में काफी मजा आता है. अब मैं उसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके बीच में बैठ गया और पूरी संजीदगी से बुर में जीभ घुसेड़ कर चूसने लगा. मैंने उठकर उसके सर के नीचे तकिया लगा दिया और एक तकिया उसकी गांड के नीचे रख दिया.

उसे याद ही नहीं रहा था शायद कि चूत की फांकों में लंड का टोपा फंसा पड़ा है. मेरी फ्रेंड वाइफ सेक्स कहानी पर अपनी राय व्यक्त करने के लिए आप कोमल की ईमेल पर मेल कर सकते हैं. मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी यह Xxx कुकोल्ड हस्बैंड सेक्स कहानी पसंद आयी होगी.

जीजा अपना फनफनाता लंड आरजू की चुत पर रगड़ने लगा, तो महीनों से प्यासी चूत पनियाने लगी और पूरी गीली होकर लंड लेने के लिए फुदकने लगी.

धीरे धीरे मैं गांड के छेद की तरफ बढ़ा और उसकी टांगों पर बैठ कर पीछे से उसकी गांड को दबाने लगा. खटर-पटर की आवाज से खाट हिल रही थी इसलिए उसने दोनों टांगों को कंधे पर रख मेरे बाजू पकड़ लिए और मैंने उसे अपने लंड पर टांग नीचे फर्श पर लिटा दिया. वो अपने घुटनों के बल बैठकर मेरा लंड अपने हाथ में पकड़कर बोली- अब मुझे तुम्हारे इस अमृत को पीना है हर्षद.

जब मैं उससे फोन पर बात करता था तो मैंने उसे बताया था कि मेरा लंड उंगली जितना है. मेरा हाथ अपने हाथों में लिए वो ट्रेन से ऐसे उतरी जैसे कोई औरत अपने पति का हाथ थाम कर चलती है. वो दोनों काफी देर तक वहां नहाते रहे और मैं किनारे पर बैठे हुए सविता के बदन को देखे जा रहा था.

उसने अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ते हुए कहा- नहीं, मुझे शर्म आती है हर्षद. मैं अपना लंड बुर से निकालने लगा तो आयशा ने कहा- अभी निकालो नहीं अंकित … मुझे अच्छा लग रहा है, अभी और करो ना भईया.

फिर आहिस्ता आहिस्ता नीता की चूत मेरे लंड को अन्दर लेने के लिए जगह बनाने लगी थी. थोड़ी देर बाद नीता अपने हाथों से मेरी पीठ और कमर सहलाने लगी तो मैंने अपना सर उठाकर उसे देखा. मेरी पिछली प्रकाशित कहानी थी:जीजाजी ने मेरी जवानी को मसल दियाआज की कहानी मेरे एक ऑनलाइन दोस्त विनय वर्मा की है.

वो भी कामुक आहें भरने लगी और अपने दोनों पैर मेरी कमर में लपेटकर चुदवाने लगी.

अब वो अपनी सगी बहन की रसभरी चूत की पहली बार चुदाई करने के लिए तैयार था. मैं ऊपर वाले से प्रार्थना करने लगा कि हे कामदेव आज मिहिका का पति नहीं आना चाहिए. मेरी चूत ओर गांड एकदम टाइट थी क्योंकि मैंने आज से पहले अपनी गांड में कभी लंड नहीं लिया था और चूत इसलिए टाइट थी क्योंकि मेरे दोनों बच्चे सर्जरी से हुए थे, तो चूत ढीली नहीं हुई थी.

मिहिका बोली- तो फैर के इरादा है!मैं बोला- मेरा तो नेक इरादा है, तुम बताओ. सच बताऊं तो मेरी गांड भी बहुत फट रही थी कि कहीं कोई लफड़ा हो गया तो रायत फ़ैल जाएगा.

वो बोली- अब पापा आप ही अन्दाज लगाओ कि शादी के इतने साल मैंने कैसे काटे होंगे. मैंने उसके सभी कपड़े धीरे-धीरे ऐसे उतारने लगा जैसे सुहागरात में एक दूल्हा अपनी दुल्हन के साथ करता है. पर मैं अंदर झाँकता रहा।मुखिया जी माँ को अपनी जाँघों पर बैठने का इशारा करने लगे.

लड़की बीएफ सेक्सी वीडियो

मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने फिर से पूछा- भाभी क्या हुआ बताओ तो सही?भाभी- मैं आपको क्या बताऊं भैया.

उसने अपनी दीदी के दोनों पैर हवा में उठा दिए और अपने हाथों में थाम लिए. डांस जब अपनी पूरी रफ़्तार पर था तो किसी को भी अपने तन बदन का होश नहीं था. तुम मेरी मदद करोगे ना बाबू … तुम मुझे चोदोगे ना?मैं ये सब भाभी के मुँह से सुन कर एकदम से शॉक्ड हो गया था, पर अन्दर से खुश भी था.

[emailprotected]हिंदी कॉलेज सेक्स कहानी का अगला भाग:गांडू लड़के ने अपनी बहन को चुदवाया- 2. वो जल्दी से एक और भटूरा बना कर चिल्लायी- दो और बना लूँ ना!मैंने कहा- नहीं नहीं, मेरा हो गया. बीएफ दिखाइए वीडियो में बीएफहम दोनों ही बहुत थक गए थे और दोनों ही निढाल होकर एक दूसरे की बांहों में समा गए.

मेरी पिछली कहानी थी:उम्रदराज भोसड़े की ठरकये बात दिसंबर के मध्य की है, जब मेरी सेक्स कहानी पढ़कर एक पाठिका ने मुझे ईमेल किया कि मुझे आपकी सेक्स कहानी पसंद आयी है. उसने एक सिगरेट होंठों से लगाई और ऐसे पीने लगी, जैसे उसे रोज पीने की आदत हो.

जब वो घर का काम कर रही होती थी, तब उसके मम्मों को देखने के लिए मैं उसके आस पास ही मंडराता रहता था. दीदी मेरा लंड पकड़ कर बोली- भाई, अपनी बड़ी बहन को आराम से चोदना … मैं पहली बार चुदा रही हूँ. �� बच्चों को सुला कर आई और मेरे सोफा के पास लगे अपने बिस्तर पर लेट गई.

मैंने पूछा कि क्या गिफ़्ट लाई है?शनाया ने कहा- ये सरप्राइज है … और इस गिफ़्ट को लेने के लिए मुझे सुबह घर से बाहर रहना होगा. उसके बाद तो फिर मैंने ऐसा सिलसिला बनाया कि आज मुझे चोदने वाले 10-12 लोग हैं और मैं इन सबसे अक्सर चुदवाती रहती हूँ. मैंने उन्हें पलट कर अपनी गोद में भर लिया, तो हवस की देवी के उठे हुए चूचों पर टंके हुए गुलाबी निपल्स के दाने किसी पहाड़ी की चोटी की तरह खड़े हो गए.

उन्होंने फ्लैट का ग्रिल वाला दरवाजा खोलाकर, मुझे अन्दर आने के लिए कहा और अन्दर जाते हुए वो महिला उर्वशी से फोन पर बोली- सुनो, आज रात का खाना मैं बना रही हूँ, अब तुम आकर मत बनाना.

एकदम परफेक्ट वैक्सिंग की हुई एकदम चिकनी … और इतनी मुलायम सफेद कमर कि देख कर ही खड़ा हो जाए. इससे उसकी चूत की कलियाँ खुल गई थी, अंदर का गुलाबी गुलाबी दिखने लगा था.

कुछ देर बाद चाची की सांसें तेज तेज चलने लगीं और उनकी कमर कुछ ज्यादा ही तेजी से मेरे लंड को रगड़ने लगी. मुझे रह-रहकर अपने शौहर की याद आ रही थी और उनका मासूम चेहरा मेरे सामने आ रहा था. शबाना जान बूझकर अब वीरू को गर्म करने लगी।घर में उसके और वीरू के अलावा कोई नहीं था।वीरू के जवान बदन से अपने जिस्म की भूख मिटाने को वो मरी जा रही थी.

9 महीने बाद मम्मी को एक बेटी हुई वो मेरी बहन भी थी और मेरी बेटी भी!तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्सी फॅमिली की चुदाई कहानी?कमेंट्स में बताएं. उस दिन मेरे भाई ने मुझे हचक कर चोदा, तब जाकर मेरी चुत को ठंडक मिली. दूध में वो कुछ मिलाकर लाई थी, पता नहीं क्या … पर उसको पीने के बाद वो मेरे लटके हुए लंड को चूसने लगी और लंड खड़ा हो गया.

सविता भाभी के बीएफ पहले नीता अन्दर गयी तो गीता ने उसे अपने गले लगाकर कहा- कितने दिन बाद घर आयी हो नीता. अब उसने बाजू में रखी अपनी नाइटी उठा कर कहा- मुझको कपड़े चेंज करने हैं.

अंग्रेजी सेक्सी बीएफ चुदाई

तभी वहाँ गाँव के डॉक्टर साहब आये वो मुझे देख पहचान गए और बोले– अरे तू तो वो चंदा का लड़का है ना? यहाँ क्या कर रहा है?तो मैं बोला– वो मुझे मुखिया जी से कुछ काम था इसलिए उनसे मिलने आया था।डॉक्टर साहब ने मुखिया जी से कुछ खुसुर पुसुर की. Xxx चूत की कहानी मेरे पति के भतीजे से मेरी चूत की चुदाई की है, मेरी वासना की पूर्ति की है. अब मैंने कहा- भाभी आपके पास एक और चीज भी है, जो मैंने आज तक किसी के पास नहीं देखी.

’‘अरे तेरे से कैसी शर्म जान?’सर ने नंगे रह कर ही चाय पी और मेरे साथ बैठ कर किस करने लगे. माँ- मुखिया जी, हम लोग इतनी जल्दी इतने पैसों का इंतजाम नहीं कर पाएंगे. बीपी सेक्सी वीडियो भोजपुरीउसे थैंक्यू बोल कर मैं बेसमेंट में बने ड्रेसिंग रूम में पहुंचा लेकिन वहां कोई नहीं था.

अब दीदी और नीरजा बहुत खुश थेमैंने उस रात दीदी को एक बार ओर चोदा सो गया.

मैंने बोला- ठीक है मैं चला जाऊंगा, लेकिन तुम अभी कहां हो?तो उसने बोला- अभी मैं अपने भईया भाभी घर फ़रीदाबाद आई हूँ. मैंने उसे साहसिक निर्णय लेने के लिए बधाई दी और कहा- कल उसी समय मेरे घर आना.

तब तक नितिन आ गया, मैं उसे मार्केट से कुछ सामान दिलाने उसके साथ बाजार चल दिया. अब वीरू का हाथ शब्बो की पीठ सहलाते हुए उसकी भरी हुई गांड की तरफ आया और शब्बो भी सिसकारने लगी. उसने अच्छे कपड़े पहने हुए थे और उसके होंठ लाल गुलाब की तरह खुले हुए थे.

उसने अपने दोनों हाथों में मेरे लंड को पकड़ लिया वो लंड की लंबाई और मोटाई नापने लगी.

इसके बाद उस रात हमने 3 बार चुदाई की और कई तरह के पोज़ बनाकर चुदाई के मजे लिए. आमोद कुमार[emailprotected]नंगी लड़की सेक्स फोरप्ले कहानी का अगला भाग:दोस्त की सहेली संग चुदाई युद्ध- 3. चाची ने इठला कर पूछा- बोलो क्या चाहिए?मैंने उन दोनों की चूत की तरफ देख कर आंख दबा दी.

हिंदी बीएफ खेतों वालीजब मेरे धक्के तेज़ हुए तो वो मेरे सीने पर गिर गयी और अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ देने लगी. मैं बोला- हां यार जस्सी, मुझे भी ऐसा करने की इच्छा थी, जो तूने पूरी कर दी.

सेक्सी बीएफ वीडियो मस्त मस्त

मां बोली- आप ये क्या कर रहे हैं?पापा को मां के आने का पता ही नहीं चला. ’‘सर अब तो आप कई बार मुझे भोग चुके हो, क्या पहले से ही मुझे चोदने प्लान बना रखा था आपने … या बस ऐसे ही हो गया. पोर्न स्टूडेंट सेक्स इन कॉलेज में एक टीचर और उसकी छात्रा के सेक्स की कहानी है.

अब बारी थी उसकी दुल्हनिया से मिलने की … उसकी बीवी का नाम स्नेहा था. मैंने कहा- इतनी जल्दी क्या है जान?वो कुछ नहीं बोली और मेरे सीने से अलग हो गई. मेरे लंड से वीर्य की धार उसकी चूत में गिरने से पहले मैंने उसे झटके से नीचे लिटा दिया.

मैंने कॉल उठाई तो उर्वशी ने मुझसे कहा- आमोद एक हेल्प चाहिए मुझे!मैंने पूछा- क्या हुआ और क्या हेल्प?तो उर्वशी ने पूछा- क्या तुम्हें कार चलानी आती है?मैंने कहा- हां, मैं कार चलाना जानता हूँ, लेकिन हुआ क्या है?ये उर्वशी से पूछा तो उसने बोला कि ऊपर वाले फ्लैट वाली सोनम भाभी के हसबैंड आज रात की फ्लाइट से बॉस और ऑफिस स्टाफ के साथ बिज़नेस सेमिनार पर ऑस्ट्रेलिया जा रहे हैं. मैंने नाटक करते हुए अंकल से कहा- ये क्या कर रहे हो आप … इसको बाहर निकालो … अंकल ये सब गलत है. तो भाइयो, कैसी लगी मेरी ये सच्ची हॉट इंडियन भाभी की चुदाई कहानी?यह मेरी पहली कहानी है, जो मैंने यहां बड़ी मेहनत से लिखी है.

उन्होंने साड़ी पहनी हुई थी, मैंने उनकी साड़ी को ऊपर उठाना शुरू कर दी. उसने सवालिया नजर से देखा, तो मैंने अपनी इच्छा जाहिर की कि मैं आपकी गांड को अपनी जीभ से चाटना चाहता हूँ.

थोड़ी देर तक उंगलियां गांड में घुमाता रहा, फिर मैंने कहा- हां, अब तैयार?बस ये कह कर मैंने राकेश की गांड पर लंड टिका दिया.

फिर से एक बार मेरे होंठों पर किस किया और फिर से केक को लेकर मेरी गर्दन से लेकर मेरी छाती पर फैला दिया. इंडियन ब्लू फिल्म देहातीडांस करना और गाना गाना भी लड़कियां सीख जातीं हैं जैसा कि इस शहर का कल्चर है. नंगी नंगा नंगीफिर भी जो काम नजदीक होकर हो सकता था, वो दूर होने के बाद थोड़ा मुश्किल लग रहा था. मम्मी चाची की चूत चाटने लगीं और चाची के कंठ से सेक्सी सिसकारियां ‘आह आह ऊह ऊह हाय आ मजा आ गया आह …’ निकलने लगीं.

मुझे ऐसे परेशान देखकर वंदना ने बताया कि उसके पीरियड कल ही खत्म हुए हैं.

अब मैं भाभी के दूध दबा दबा कर बारी बारी से दोनों चूचों को चूसने लगा. और आनन्द ने कहा- यार मेरी बीवी तो ख़ुशी ख़ुशी तैयार हो गयी। वह तो शायद खुद ही यह बात मुझसे कहना चाहती थी।दरअसल दो दिन पहले जब हम तीनों आपस में बैठ कर दारू पी रहे थे तो ख्याल आया की क्यों न हम लोग ‘वाइफ स्वैपिंग’ करें और एन्जॉय करें?सबने हां कह दी थी. कुछ देर बाद जब मैं थोड़ा शान्त हुई तो साले हरामी ने फिर से एक जोरदार झटका मार दिया और अपना पूरा गधे जैसा 8 इंच का लंड मेरी चूत के अन्दर उतार दिया.

कुछ देर बाद ऊपर वाले बाबा ने मेरे मुँह से अपना लौड़ा निकाला तो मुझे राहत सी मिली. फिर उसने स्लीवलैस गोल्डन ब्लाउज में से हाथ ऊपर करके अपने अंडरआर्म्स आगे कर दिए और थोड़ा दूसरी तरफ झुक गयी. मैं बोली- मोनिका, अगर मैं राज को ही पटा लूं तो?वो बोली- नहीं भाभी अगर उसने मेरे पति को बता दिया तो?मैं बोली- चल देखती हूँ.

देसी देहाती हिंदी बीएफ

वीरेन्द्र सर- मजाक नहीं, इस बार मैंने देखा, कोई और होता तो न जाने क्या हो जाता. मेरी चूत के आसपास और गोरी जांघों पर उनका मिश्रित वीर्य बहने लगा था. उनकी आंखों से आँसू निकल रहे थे और वो मुखिया जी को अपने से दूर करने की कोशिश करने लगी.

मैंने अचानक गाड़ी रोक कर उसकी तरफ देखा, वो मेरे गले लग गई और हमारे बीच पहला किस हो गया.

अर्चना दीदी का फिगर यही कोई 34-30-36 का था और कद भी पूरे 170 सेंमी का था.

उसका शरीर उस स्खलन से बेजान होने लगा और रेशमा बर्थ पर आगे की ओर सरकने लगी. कुछ देर बाद होंठों को छोड़ कर अञ्जलि मुझे गर्दन पर चूमते हुए, मेरे निप्पलों पर पहुंची और बारी बारी से दोनों निप्पलों को मुँह में लेकर चूसने लगी. बीएफ सेक्स ब्लूअनीशा ने हरे रंग का टॉप और नीली जींस पहनी थी और काले रंग के बूट पहने हुए थे.

जब तुम गुब्बारे लगा रहे थे, तब मैंने तुम्हारा लंड अपनी हाथों से रगड़ा था. हम दोनों बिल्कुल नंगे आमने सामने थे और सिर्फ एक दूसरे को देख रहे थे. चाची मुझे अपनी चूचियां दिखाती हुई बोलीं- थोड़ा बोल्ड गेम है … मगर बड़ा मजा आता है.

देसी माल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मामा के घर गया तो वाहना मामी की सहेली मिली. इंडियन न्यूड कपल लाइव सेक्स देखने का मजा लिया मैंने! असल में मेरे दोस्त ने मेरे सामने कालगर्ल की चूत मारी। मुझे अच्छा लगा.

कैसे अपनी सरिता भाभी की बरसों की प्यास बुझायी और उसकी इच्छा के अनुसार उसे अपने बच्चे की मां बना दिया.

फिर उसने मुझसे पूछा- आप तो इतने स्मार्ट हो, आपकी तो कई गर्लफ़्रेंड रही होंगी?मैंने कहा- हां रिलेशनशिप तो कई से रही है, पर अब तो लॉकडाउन की वजह से मेरी भी तुम्हारे वाली ही हालत है. वो साला जानवरों की तरह मुझ पर टूट पड़ा, मेरे होंठ चूसते हुए मेरी कुर्ती को उतार फैंका. कुछ देर मेरे गालों को चूमने के बाद उन्होंने मेरे चेहरे का दोनों हाथों से थामा और मेरे होंठों पर अपने होंठ लगा दिए.

ट्रिपल एक्स वीडियो इंडियन फिर ऊपर गई और उधर का काम देख कर जब मैं वापस निकलने लगी तो मैंने देखा कि एक बलिष्ठ सा मजदूर बाहर लुंगी पहनकर नहा रहा था. जब तक मैं उनके सवालों के जवाब देने लगा तब तक साबिरा ने मेरे लिए पानी का गिलास ले आयी.

एक दिन रात को मैं अपने कमरे में लेटा अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रहा था और नंगा लेटा अपने लंड को सहला रहा था. कुछ पल बाद एक खूबसूरत सांवली महिला ने फ्लैट का भीतरी दरवाजा खोला लेकिन बाहर लगा ग्रिल वाला दरवाजा बंद ही रखा. उसके निप्पल को अपने दांतों के बीच लेकर हल्के हल्के से काटने लगा और खींचने लगा.

मुंह में डालने वाली बीएफ

फिर मैंने उसे दीवार से सटा दिया और उसका चेहरा दीवार से चिपका कर हार्ड सेक्स शुरू कर दिया. अब मैंने और नेहा भाभी मिलकर उनको किसी तरह सहारा देकर बिस्तर पर सुलाया. हम दोनों ही पूरे जोश में थे और एक दूसरे का साथ देते हुए चुदाई का मजा ले रहे थे.

इसके लिए तुम जाकर एकदम दुल्हन की तरह तैयार होकर आ जाओ, बाकी पूजन की तैयारी हम करते हैं. विलास दर्द से कराहते हुए बोला- यार आहिस्ता आहिस्ता डाल … हर्षद बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने बातों बातों में उससे पूछा- मेरा हाथ पकड़ना तुम्हें अच्छा लगता है क्या?उसने कहा- हां बहुत अच्छा लगता है.

अगली सुबह संजना का फोन आया- आज घर पर कोई नहीं है, ऑफिस ओपन होते ही भईया से कोई बहाना करके घर आ जाना, मुझे तुमसे मिलना है. फ्रेंड्स मैं क्या बोलूं … वो मास्टर भैन का लौड़ा बहुत ही अनुभवी चोदू किस्म का इंसान था. राखी- क्या आपकी बीवी सुंदर नहीं है?मैं- है, पर उसके पास ना आपके जैसी ना तो अदा है और ना ही नजाकत!वो बोली- आपको लगता है ऐसा … आपको पता है कि शादी के समय ही ऐसा लगता है.

इस बार मैं लंड डाला और अपने हाथों से खिड़की की रॉड को पकड़ कर खूब ताकत के साथ लंड चूत में पेल दिया. दूसरी तरफ ज्योति चाची अपनी चूत को मम्मी के मुँह के सामने रखी और बोलीं- स्वाति दीदी, चाटो न इसे … आंह चाटो. अब मैंने अपने एक दोस्त के मेडिकल स्टोर से ड्यूरेक्स का स्ट्राबेरी वाला स्प्रे और सेक्स की गोलियां ले लीं.

पहली बार दो अजनबी मर्दों के साथ सेक्स करने में मजा आ रहा था और ऐसा लग रहा था कि ये पल यहीं ठहर जाए.

सविता भाभी के बीएफ: अब दो पैग मेरे अन्दर भी थे और न जाने कब से मैं भाभी के अमृत कलश देख कर गर्म हुए जा रहा था. उसने मुझे कुतिया बनाकर करीब 20 मिनट तक मेरी गांड चुदाई की जिससे मेरी सारी खुजली मिट गई थी.

हम दोनों ने 12 वीं तक एक साथ पढ़ाई की थी और उसके बाद दोनों का साथ छूट गया था. उसके बाद 31 दिसम्बर 2019 सेलेब्रेट करने चले गए।फिर दूसरे दिन हमने मोहक की ब्लू फिल्म वाली फंतासी को पूरा किया. मेरा नाम रवि कुमार साहू है और मैं छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से हूँ.

सुबह चाची ने मुझसे बात की और उसी रात को चाची की चूत का काम तमाम हो गया.

सोनाली बोली- वो कैसे?मैंने उसके होंठों को चूमते हुए पूछा- तुम्हारे पीरियड्स कब आए थे?उसने जवाब में कहा- अभी दस बारह दिन हो गए हैं हर्षद. कुछ देर तक उसने नीचे मेरे ससुर से बात की, फिर वो ऊपर की मंजिल पर आ गया. उस कमरे में एक आलीशान पलंग बिछा हुआ था और उसमें एक महंगा मोटा सा गद्दा बिछा था.