बीएफ चुदाई लड़की की

छवि स्रोत,बीएफ मोटा मोटा

तस्वीर का शीर्षक ,

अच्छी फिल्में सेक्सी: बीएफ चुदाई लड़की की, करीब दस मिनट बाद वो बोलीं- अब तुम जोर जोर से नीचे से अपना लंड मेरी चुत में अन्दर बाहर करो.

बंगला सेक्स बीएफ

मुझे लग रहा था कि उससे अब कल ही बात हो सकेगी इसलिए मैं अपने रूम की लाइट ऑफ करके सिर्फ शॉर्ट्स पहन कर लेट गया और फोन चलाने लगा. बीएफ मध्य प्रदेशमैंने नीचे झुक कर उसकी चूत की फांकों को अलग किया और उंगली डालने के साथ साथ चुत चाटने भी लगा.

थोड़ी ही देर में उसका लंड खड़ा हो गया और झटके मारने लगा।उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गान्ड को सहलाना शुरू कर दिया. भगवान बीएफदोस्तो, इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको मदमस्त सेक्स विथ बेस्ट फ्रेंड विस्तार से लिखूंगा.

मॉम अपने दोनों छेदों में एक साथ दो लंड लिए हुई थीं और अब वो लौड़े के ऊपर अपनी कमर को हिलाती हुई ऊपर नीचे होने लगीं.बीएफ चुदाई लड़की की: हम दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसने लगे और धीरे धीरे दोनों गर्म होने लगे.

तभी उस लड़की ने फिर से कहा- तुम बस हमें हमारी कार से छोड़ दो, या वो सामने खड़ी हमारी कार इधर ले आओ.इसी तरह से मॉम मुझसे चुदवाती रहीं और दस मिनट बाद मैं झड़ने वाला था तो मैं अपनी मॉम की चुत में ही झड़ गया.

इंग्लिश बीएफ बीएफ सेक्सी बीएफ - बीएफ चुदाई लड़की की

देसी भाभी देवर सेक्स स्टोरी के पहले भागलाइव चुदाई शो का नजारा आँखों के सामनेअब तक आपने पढ़ा था कि मेरे भैया की अगले हफ्ते से दिन रात वाली पूरे एक हफ्ते की ड्यूटी शुरू होने वाली थी और मैं भाभी के साथ मजा लेने का इन्तजार कर रहा था.अब मैं थोड़ा रुक और मैम की चूत से लंड निकाल कर मैम को बैठा दिया और खड़े खड़े उनके मुंह में लंड डाल दिया.

राहुल अंदर आया और उसने पूछा- मम्मी, मेरा कंप्यूटर किसने चलाया था? मेरा कंप्यूटर खुला रखा था. बीएफ चुदाई लड़की की पहले तो उन्होंने कुछ नहीं कहा पर थोड़ी देर बाद उन्होंने पीछे देखा … तो हमारे पीछे बहुत भीड़ थी.

रास्ते में दीदी को नींद लगने सी लगी या वो सोने का ड्रामा करने लगीं.

बीएफ चुदाई लड़की की?

वो कई सालों से हमारे घर पर काम करती थीं और साथ में मेरी देखभाल भी किया करती थीं. मैंने पहले भाभी की प्यासी कली को सूंघा, तो उसकी मादक महक ने मुझे उसका दीवाना कर दिया. तभी मैंने फटाफट शिवानी को नीचे लेटा दिया और जल्दी से फिर से उसकी सलवार के नाड़े को खोलकर सलवार और पैंटी दोनों एक साथ निकाल दिए.

अब भाभी भी चुदाई के मज़े ले रही थीं और उनकी मादक सिसकारियां बाहर आने लगीं- आह आह उई ई … मज़ा आ गया उई उई उह और जोर से पेलो!भाभी की आवाजों से साफ़ समझ आ रहा था कि वो गैर मर्द के लंड से चुदाई के मज़े लेने लगी थीं. मॉम ने मुझसे अपनी चार सहेलियां चुदवा ली हैं मगर मेरे दोस्तों से चुदने में मॉम को कुछ बदनामी का डर था. राजेश ने हंसते हुए लिखा- आप डिस्टर्ब तो नहीं हो रही हैं?दीदी- जी नहीं, पर बोर बहुत हो रही थी.

अब आगे देसी वर्जिन सेक्स कहानी:शिवानी- आह आह अहह … हह ओह आह … धीरे धीरे दबाओ यार. यह एक्स हॉट गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी तब की है जब मैं भोपाल में काम करता था और हॉस्टल में रहता था. उसने कहा- तुम्हारे अब्बू बहुत किस्मत वाले हैं कि उनको इतनी खूबबसूरत औरत मिली है.

मैं भी उनके साथ बाहर निकला और उनसे कहा- व्हिस्की मत लाना; मैं स्कॉच ले कर आया हूँ. थोड़ी ही देर में वह उठ कर बैठ गयी और मुझसे बोली- चल अब जल्दी से लेट जा.

पर इस दौरान मैंने उनके मम्मों को नहीं छोड़ा था, उनके बड़े-बड़े मम्मों को मैं पूरी मस्ती से मसल रहा था.

लंड चुत में लेने से उसकी आस पूरी हो गई थी … कुतिया को तो लंड के रूप में पॉवर मिल गया कि दोनों हाथ बंधे होने के बाद भी उसने अपने पैर मेरी कमर के चारों ओर बांध लिए और लंड पर उछलने लगी.

हालांकि विजय ने जंप सूट के लिए भी टोक दिया और बोला- कोई फ्रॉक डाल लेतीं!पर सीमा बोली- नहीं, बाहर तुम्हें छोड़ने जाऊँगी, गेट बंद करूंगी, फिर खोलूँगी, इसलिए ये ही ठीक है।वो ब्रा पहन रही थी तो विजय ने नहीं पहनने दी।खुद विजय ने भी अपना कसरती बदन दिखने वाला ट्रेक सूट पहना, बॉडी स्प्रे लगाया. मैंने उससे लंड मुँह में लेने को कहा तो उसने थोड़ा इंकार सा किया लेकिन बाद में वो मेरा लंड पकड़ कर हिलाने लगी. वो मेरे हाथ की हरकत को महसूस करने लगीं और उनके चेहरे पर वासना की लकीरें खिंचने लगीं.

इस समय मॉम की टी-शर्ट कमर से ऊपर उठी हुई थी और टाईट लैगीज के अन्दर मॉम की गांड बहुत सेक्सी लग रही थी. जब कशिश की तरफ से कोई विरोध नहीं आया तो मैंने अपना लंड लोअर के ऊपर से ही धीमे से उसके चूतड़ों के बीच में फंसा दिया. चाचा जी अब अपना बड़ा सा लंड मेरी गांड की जड़ तक डालकर मुझे चोदने लगे.

मैंने कहा- तो बताओ कब लेना है और मुझसे ही क्यों लेना है … साफ़ साफ़ कहो!शाजिया ने अब खुल कर कहा- सुधीर, मुझे तुम पसंद आ गए हो और मुझे तुम्हारा लंड अपनी चुत में लेना है.

अब आगे कामुकता सेक्स स्टोरी:मेरा सारा ध्यान पीछे से उसकी गांड की थिरकन पर ही टिका था. मैंने अपना लंड अंडरवियर से निकाला, दूसरी सीढ़ी पर उसका पैर रखा और चुत में लंड सैट करके एक हल्का सा धक्का मारा. इतने में ही चाची बोलीं- अब हो गया न … चलो कपड़े पहन लो और जाओ बाहर!मैंने कहा- चाची अभी वो भी तो करना है.

इस बार वह इतनी जोर से चीखी कि उसकी चीख से पूरा कमरा गूंज उठा … लेकिन मैंने उसकी चीख पर कोई खास ध्यान नहीं दिया और मैं धक्के लगाता रहा. उसकी मोटी मोटी गदराई हुई मांसल जांघों को मैं अपने हाथों से रगड़ने और सहलाने लगा. मैंने कुछ देर सोचा फिर काशिफ का लंड देख कर उसे रिप्लाई किया- ये रियल में है … या फेक है!काशिफ बोला- लंड के लिए तू रात में मेरे घर आ जाना और अपनी चुत में लेकर देख लेना.

वो धीरे से बोली- भैया आप रात में क्या कर रहे थे?मैंने बोला- कुछ नहीं.

अब अम्मी और बहन ने अपनी अपनी ब्रा से दोनों के लंड साफ किए और फिर से चूसने लगीं. मैंने उसके हाथ चेहरे से हटाए और उसके होंठों को चूमने लगा; साथ साथ उसके चूचे दबाने लगा.

बीएफ चुदाई लड़की की मैंने उनके आंसू पौंछ दिए और उनको दिलासा देते हुए कहा- सब ठीक हो जाएगा भाभी … किसी दूसरे अच्छे डॉक्टर को दिखा लीजिए. एक बार फिर से उन्होंने मुझे ‘आई लव यू रवि …’ कहा और मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा कर किस करने लगीं.

बीएफ चुदाई लड़की की फिर बाद में कल्पना भाभी से बात हुई, तो वो मुझसे मिलने के लिए कहने लगीं. मोतीलाल और इब्राहिम ने मुझे दोनों के बीच में बैठा दिया और मेरे मम्मों को दबाने लगे.

उसे लंड चूसते हुए देख कर ऐसा लग रहा था मानो वो लंड चूसने में माहिर खिलाड़ी हो.

ચૂદાઈ કી કહાની

उसके बाद हम दोनों ने काफी बातें कीं। हमने पाया कि हमारे विचार मिलते हैं. मैंने उसकी चुत में ताबड़तोड़ लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और बीस मिनट तक उसे चोदता रहा. उसका घर मेरे रूम के नजदीक ही था और घर के बाहरी हिस्से में ही था, तो उसके मम्मी पापा को भी पता नहीं चला.

इसके बाद उसको खड़ा करके ऊपर पाइप के सहारे से दूसरा हाथ भी बांध दिया, उसके दोनों हाथ ऊपर की ओर हो गए थे और वो दीवार से टिककर खड़ी हो गई थी. मैं जोर-जोर से हॉर्न बजा रहा था, पर वो दोनों हटने का नाम ही नहीं ले रहे थे. अपनी दीदी के मुँह से बच्चों जैसी बात सुनकर मुझे हंसी आ गई और मैं बोला- ठीक है दीदी … चलो आज ही सिखा देता हूँ.

भाभी हंस कर बोलीं- मेरी जैसी क्यों चाहिए?मैं बोला- क्योंकि आपसे ज्यादा खूबसूरत मैंने किसी किसी और को देखा ही नहीं है.

फिर वो अपने पेटीकोट का नाड़ा खोलने लगीं और पेटीकोट उतार कर साइड में रख दिया. अब मैंने दो उंगलियां आंटी की गांड में डाल दी और अंदर-बाहर करने लगा. मैंने दीदी के होंठों पर होंठ रख दिए और अपना हाथ दीदी की चूची पर ले गया.

बाकी कमाल जेनी के दबाने और चूसने का था।जेनी ने कहा- आज शाम तक हम दोनों कमरे में ही हैं. फिर हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए और वापिस उस सोफ़े पर आकर बैठ गए. जैसे ही मैंने अपना लंड भाभी की चूत से निकाला, तो चूत ऐसी खुल गई थी मानो ये भाभी की चूत नहीं किसी सांप का बिल हो गया था.

दस मिनट तक चुत चुदाई करने के बाद मेरा वीर्य झड़ने लगा तो मैंने लंड निकाल कर उसके पेट पर ही झाड़ दिया. मुझे उनकी बात सुन कर बुरा लगा और ‘जैसा आपको ठीक लगे …’ बोल कर वापस आ गया.

मैं किसी अच्छे से लड़के की खोज में थी अपनी कुंवारी बुर में लंड डलवाने का मजा लेने के लिए. सुनील ने कहा- चूस … ले … यार!मैंने कहा- बिना कंडोम के नहीं!उस रात हमारा कुछ नहीं हो पाया, बस मुठ मारकर सो गए।अगले हफ्ते तीन दिन की छुट्टी थी. मैंने देखा कि उनकी नाईटी एकदम जालीदार थी और उन्होंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था.

मुझे वो पहचान गई थी और उसने पहला अकेला मौक़ा पाते ही मुझे ‘गुलाब की पत्ती वाले बाबू …’ कह कर मुझे चिढ़ा भी दिया था.

वो मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड थी, इसलिए मैं अपने आपको थोड़ा कंट्रोल में रख कर बात करता था. उमैय्या मेरी तरफ़ देखती हुई कुछ अलग से अंदाज में बोली- वही तो डर है. पापा बोले- यदि हम उसकी शर्म खत्म नहीं करेंगे तो वो कहीं और ये सब करेगा.

और मेरी जीजू ने सबके सामने मेरी बुर खूब मजे से चोदी।हम दोनों बहनों ने एक दूसरे के चोदू से रात भर खूब झमाझम चुदवाया।दूसरे दिन हम चारों नाश्ते की टेबल पर बैठे थे।जीजू बोला- रेहाना, तुम बहुत खूबसूरत हो. अब आगे सेक्सी मॉम Xxx कहानी:थोड़ी देर बाद सोने के लिए मॉम और विकी फिर से ऊपर जाने लगे.

फिर मैंने भाभी की साड़ी को खींचा और उनके पेटीकोट समेत साड़ी को उतार कर अलग कर दिया. मैंने सलईका से कहा- रुको यार … मैं कपड़े उतार देता हूं और तुम भी अपना सलवार सूट उतार लो. दूसरे दिन मेरे मोबाइल पर फोन आया कि तुमने मेरा नम्बर किसको किसको दे दिया है, कल से दिन रात अलग अलग अनजान नम्बरों से फोन आ रहे हैं.

भोजपुरी बीएफ ओपन

मतलब उसका फिगर इतना कंटीला है कि उसे कोई बस एक बार देख भर ले … तो उसका उधर ही पटक कर चोदने का मन हो जाए.

मेरा गीला लंड सटाक से गांड के अन्दर घुसता चला गया और मैं आंटी की क़मर पकड़कर दे दनादन चोदने लगा. कविता बोली- क्या कर रहे हो जीजू?तो मैं बोला- कुछ नहीं … बस कुछ पिक्स एडिट करनी थी, वो ही करने लगा था. अब फिर से मौका पाकर मैंने पूरे जोर से धक्का लगा दिया और इस बार पूरा का पूरा लंड चुत के अन्दर डाल दिया.

अबे माँ के लौड़े … तुझे बुर चोदने में शरम नहीं आती? अपनी बहन की बुर चोदी है कभी?हां हां यार … मुझे अपनी बीवी की तरह चोदो. उसने मेरी नजर बचा कर अम्मी की शर्ट के दो बटन खोल दिए थे ताकि अम्मी और सेक्सी लगें और हर आदमी जगप्रीत से जले. अमेरिकी सेक्सी बीएफकई बार तो मैंने तुम्हें सपने में मेरे नाम से मुठ मारते हुए भी देखा है.

भिड़े के चेहरे पर उड़े रंग से माधवी जान चुकी थी कि सोनू ने उन दोनों को चुदते-चुदवाते देख लिया है क्योंकि वो भिड़े के लंड पर बैठी थी और उसकी ब्रा पहनी हुई पीठ सोनू के सामने थी, जबकि वो नीचे से पूरी तरह नंगी थी. उसी समय मेरा पिस्टन उसकी चूत में राजधानी की स्पीड से अन्दर बाहर होने लगा.

कुछ देर बाद प्रीति फिर से झड़ने को हुई और उसने मेरे सिर को पकड़ कर मेरा मुंह अपनी चूत पर दबा दिया. मैडम ने पूछा था कि क्या मैंने सच में इतनी सारी लड़कियों के साथ सेक्स किया है. अब स्नानागार में बिल्कुल अंधेरा हो गया था और खिड़की से चाँद की हल्की रोशनी ही आ रही थी.

सुनील ने बताया कि वह कभी कभी पड़ोस की भाभी की गांड मारने की कल्पना में हस्तमैथुन करता है. पहले उन्होंने साड़ी उतारी और फिर बाकी के कपड़े प्याज के छिलकों की तरह उतरते चले गए. जल्दी ही आंटी ने मुझे नंगा कर दिया और मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगीं.

आंटी ने लंड पर कंडोम लगाया और अपनी चूत में लन्ड सेट करके बोली- राज अब अंदर डालो!मैंने जोर से धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड अंदर चला गया.

जब मैं उसकी इस तरह से चुदाई करता था, तब एक छेद में डिल्डो पेल देता था और दूसरे छेद में मेरा लंड कलाबाजी खाता था. मैंने अपने लौड़े को भाभी की चूत में डालकर जैसे ही चोदना शुरू किया, तो मुझे मजा आ गया.

अब थप थप थप थप की आवाज़ तेज होने लगी,आंटी अपनी गांड तेज़ी से आगे पीछे करके लंड को लेने लगी थी।अब हम दोनों एक दूसरे को टक्कर दे रहे थे और थप थप थप थप थप की आवाज़ पूरे केबिन में गूंजने लगी थी।आंटी ने अपनी चूत टाइट कर ली. तभी उस लड़की ने फिर से कहा- तुम बस हमें हमारी कार से छोड़ दो, या वो सामने खड़ी हमारी कार इधर ले आओ. थोड़ी देर बाद मैंने आंटी की चुत से लंड निकाल लिया और दोनों चिपक कर लेट गए.

अब आगे नोनवेज सेक्सी स्टोरी:सावी- अरे मेरी जान देखो ना … कैसे तन कर खड़ा है. मेरा लंड अभी भी पूरी मजबूती से अपने अंतिम दौर में था मगर चुत के रस छोड़ देने से लंड ‘फच्च फच्च …’ करके अन्दर बाहर होने लगा. कुछ देर बाद जब स्वाति ने खाना बना लिया, तो वो मेरे कमरे में बोलने के लिए आई.

बीएफ चुदाई लड़की की दिन में बहुत सारी सवारियों को अपनी बाइक पर बिठाकर उनको उनकी मंजिल तक पहुंचाता हूं. कहानी के पिछले भागबीवी की वासना जगाकर चुदाईमें आपने पढ़ा कि दो दोस्त आपस में योजना बनाकर एक दूसरे की बीवी को पटाने की कोशिश कर रहे थे.

रोमांटिक सेक्सी बीएफ

मैंने अपना लंड अंडरवियर से निकाला, दूसरी सीढ़ी पर उसका पैर रखा और चुत में लंड सैट करके एक हल्का सा धक्का मारा. बॉस वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे कम्पनी के मालिक की शादी के बाद उनकी बीवी भी ऑफिस सम्भालने लगी. ’भाबी एकदम से उछल पड़ीं और खुद को आगे को करती हुई गांड में लंड निकालने की चेष्टा करने लगीं.

उसके मस्त चूचे और उसकी गुलाबी चूत, जोकि मैंने उसे मुठ मारते समय देखी थी. मैंने उसके नीचे से निकल कर उसके पैरों को पकड़ कर खींचते हुए उसे बेड के एक कोने पर लेकर आ गया. एक्स एक्स बीएफ अंग्रेजों कीउनकी चूची को मैंने मैक्सी से ऊपर से बाहर निकाल दिया और उनको चटाई पर लिटा कर चूची पीने लगा.

मैंने कहा- तो?फिर उसने आगे कहा कि धीरे धीरे मुझे प्यार की जरूरत महसूस होने लगी.

भाबी को गालियां देते हुए मैंने कुछ देर बाद अपना लंड बाहर निकाल लिया. उसके बाद से मुझे अपनी गांड की खुजली मिटवाने के लिए खुद से आए दिन लंड की जरूरत पड़ने लगी.

लेकिन मैं अपनी सेक्सी बीवी को किसी गैर मर्द के नीचे देखना चाहता था. उसके बाद ससुर जी ने मेरी कमर को पकड़कर मेरी चूत पर अपनी नाक लगा दी और बहुत तेज-तेज अपनी सांसों को अन्दर की तरफ खींचने लगे।अञ्जलि!”हाँ बाबूजी?” मैं अपनी आँखें खोले बिना बोली. मेरी बुआ के घर में नीचे के रूम में बुआ-फूफा सोते है और ऊपर के कमरे में विकी और उसकी बहन सोती है.

अब मेरे हाथ शिवानी के मस्त कड़क शानदार कसे हुए एकदम अमरूद के जैसे टाइट चुचे पर पहुंच गए.

दरवाजा खुला तो भाभी मेरे सामने लाल रंग के जोड़े में दुल्हन बनी खड़ी थीं. अब राजेश जी ने गद्दे के नीचे से कंडोम का पैकेट निकाला, लेकिन फिर वापिस रख दिया. घर आकर वो मेरे सामने ही कपड़े बदलने लगी थीं और ब्रा पैंटी में मेरे सामने थीं.

साउथ की बीएफ मूवीइसी तरह से मॉम मुझसे चुदवाती रहीं और दस मिनट बाद मैं झड़ने वाला था तो मैं अपनी मॉम की चुत में ही झड़ गया. थोड़ी देर में गेम खत्म हो गया और मामाजी ने बड़ी दीदी की शादी की सीडी लगा दी.

sixवीडियो

मैंने कहा- मजा आ रहा है संगो रानी!वो बोलने लगी- हां सूरज अब तुम रुको … मैं धक्के लगाती हूँ. मैंने सावी भाभी को सीधा करके लौड़ा चुत में डाला और उनकी चुत को जोर जोर से चोदने लगा. लेकिन जब से उसने दारू पीना स्टार्ट किया, तब से वो मेरे साथ बदतमीज़ी करने लगा था.

फिर मैं भाभी की चूत में अपना मुँह लगा कर जीभ से उनकी चूत चाटने लगा. इस पर लक्की मेरे फूले हुए लंड को देखती हुई बोली- तुम पूरा भीग गए हो, अन्दर आ जाओ, जब बारिश बंद हो जाए … तब चले जाना. उस वक्त जब डॉक्टर ने उसे चोदा था, तब मेरी बहन का फिगर 34-32-36 का था, अब तो उसका फिगर 38-36-40 का हो गया है.

इस तरह मेरी मॉम ने अपनी चूत में उंगली करके उसका पानी निकाला और नहाकर साड़ी पहन कर बाहर आ गईं. दोस्तो, याद रखना लड़कियां कोई लॉजिक नहीं देखतीं, उनको लड़कों की कब कौन सी बात पसंद आ जाए, कोई नहीं बता सकता. भिखारी- मुँह में लेकर साफ करो ना!मॉम- नहीं, ऐसे ही कर देती हूं, बहुत बदबू आ रही है.

हनीमून मनाने मनाली गए तो मैंने उसे लंड चूसने को कहा तो …दोस्तो,मेरी कहानी के पहले भागमुझे चुदी चुदाई बीवी मिलीमें आपने पढ़ा कि मैं समीर अपनी चुदी चुदाई बीवी के साथ शादी कर चुका था और नई दुल्हन की चुदाई करके सुहागरात का मजा भी ले चुका था. चूंकि आज की रात मॉम को ये मालूम था कि घर में कोई नहीं है इसलिए शायद उन्होंने अपने कमरे के दरवाजे की कुंडी लगाना जरूरी नहीं समझा था.

नफीसा आंटी आगे आ गईं और मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगीं, उन्होंने लंड को चूस कर साफ़ कर दिया.

मैं उसको कोहनियों के सहारे बिठाते हुए उसके पीछे आ गया और उसकी गेंदों को चूमते सहलाते हुए अपना लंड पीछे से चूत में धकेल दिया. भेजना सेक्सी बीएफशिवानी की चूत बहुत ज्यादा चिकनी और टाइट थी इसलिए थोड़ा सा ही लंड अन्दर घुस पाया. घोड़ा लड़की के बीएफ वीडियोमैंने सलईका से कहा- रुको यार … मैं कपड़े उतार देता हूं और तुम भी अपना सलवार सूट उतार लो. उस टाइम वो शायद मेरे लिए ऐसा सोच रही थी कि मैं पहले का सब कुछ भुला चुका हूं और आगे बढ़ गया हूं.

इस बात मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने आंख दबा कर फिर से मुस्कान बिखेर दी.

लेकिन जब उसने करवट बदली तो मैं हैरान ही हो गया था क्योंकि रचना के बूब्स भी बहुत बड़े हो चुके थे. इतनी थकान हो गई थी कि हम दोनों में से किसी में इतनी हिम्मत नहीं बची थी कि उठ कर एक गिलास पानी भी ले सकें. मैं उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके बड़े-बड़े मम्मों को दबा रहा था और साथ में उन्हें किस भी कर रहा था.

पूजा रेखा को खींच कर मधु के पास ले आयी और उसने रेखा का हाथ पकड़ कर मधु की चूचियों पर रखवा दिया. पीछे से मेरी मॉम की उठी हुई गांड देख कर ऐसा लगता है कि अभी उन्हें औंधी करके उनकी गांड मार लूं. एक मॉडल की तरह अपनी कमर पर हाथ रखकर और पैरों पर क्रॉस खड़े रहकर सोनू ने पूछा- मैं कैसी लग रही हूं बाबा?‘अप्रतिम …’भिड़े का उत्तर माधवी ने देते हुए कहा.

सिंपल हाउस

इतना मजा मुझे आज तक नहीं आया था, जितना मजा मुझे आंटी की चुत और चुची को मसलने में आ रहा था. https://thumb-v2.xhcdn.com/a/VOi8W33xjpUTEBhlmzoq9w/010/001/942/526x298.t.webm. उसे दर्द हुआ लेकिन जैली ने अपना काम किया और मेघना की गांड में कार्लोस का पूरा लौड़ा घुस गया.

वहीं दूसरी सुबह वाली लड़की आगे की सीट पर आकर बैठ गई और रास्ता बताने लगी.

प्रीति ने उस समय काली जीन्स जो टाइट फिट थी, ब्लैक स्वेटर और ऊपर से लाल रंग की जैकेट डाली हुई थी.

उस समय विकी वहां नहीं था तो मॉम ने बुआ से पूछा- विकी दिखाई नहीं दे रहा है … वो कहां है?बुआ ने कहा कि वो ऊपर अपने कमरे में है. जिस स्लीपर बस में हम चढ़े, उसमें बैठने की एक ही सीट मिल सकी और जाना भी जरूरी था।अपनी सास को मैंने नींद की गोली दी, वो खाकर चादर ओढ़कर सो गई।मैं पास की सीट में गांड सटाकर खड़ी हो गई।मैंने पीठ से खुली गुलाबी कुर्ती पहनी हुई थी जिसमें लाल ब्रा से मेरी चूची बाहर निकलने को हो रही थी।नीचे लाल पैंटी और काली पजामी पहनी हुई थी. बीएफ वीडियो सेक्स वीडियो सेक्स वीडियोचाचा जी ने कमरे में मुझे बिस्तर का किनारा पकड़ कर डॉगी पोज़ में लिया और पीछे दे अपना लंड मेरी गांड में सैट करके एक जोर का झटका दे दिया.

मुझे बहुत दर्द हुआ क्योंकि मैं बहुत टाइम बाद अपनी गांड मरवा रहा था. उन्होंने होंठों को दांत से चबाया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगीं. मैंने उसको उसके घर छोड़ दिया और घूमने जाने का प्रोग्राम कैंसल करके हम दोनों ने मूवी देखने का प्लान बनाया.

इसलिए मैंने उसे सीधा लेटा दिया और लंड उसकी चूत में डाल कर जोर-जोर से धक्के लगाने लगा. प्रीति भी अपनी जीभ को मेरी जीभ से लड़ाने लगी जिससे हम दोनों का थूक लार बन कर बहने लगा.

उसके निप्पल एकदम खड़े हो गए थे और वो तड़प रही थी कि कब मैं उसको चोदूंगा.

बॉस वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे कम्पनी के मालिक की शादी के बाद उनकी बीवी भी ऑफिस सम्भालने लगी. दोस्तो मेरी एक आदत है कि रोज रात को मैं अपने लंड पर देसी घी से मसाज करता हूँ. अगर उसका एक ब्वॉयफ्रेंड रहा होता तो भी वो काफ़ी समय से मोनिका की चुदाई करता रहा होगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी जबरदस्ती चुदाई वो मेरी मुस्कान देख कर भांप गई कि उसने क्या दबाने और क्या हो जाने के लिए कह दिया था. कुछ देर बाद मैंने भी झड़ने वाले था, तो मैंने कहा- स्वाति मैं झड़ने वाला हूं.

उनके घर पर मेरी बुआ, उनकी बेटी और उनका 19 साल का बेटा व मेरे फूफा रहते हैं. उसी समय शिवानी की कमर हिली, तो मेरे लंड का पूरा रास्ता साफ हो चुका था. मैंने भी आराम से लंड को चूत में डालना चालू कर दिया और धीरे धीरे करके अपना पूरा मोटा लंड सासू मां की चूत में जड़ तक पेल दिया.

हॉट बीएफ सेक्सी वीडियो

दोस्तो, मैं असलम अपनी बहन और अम्मी की चुदाई कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. करीब 20 मिनट तक मेरी गांड मारने के बाद उन्होंने अपना गर्म लावा मेरी गांड में छोड़ दिया और निढाल होकर मेरे साथ ही लेट गए. ये सुनकर इब्राहिम मुझसे बोला- चल मेरी रंडी अब तू अपनी गांड मेरे मुँह पर रख कर बैठ जा!मैं अपनी मखमली गांड इब्राहिम के मुँह पर सैट करके बैठ गयी और मोतीलाल आगे से मेरी चूत चाटने लगा.

मैंने उन्हें अपने नीचे ले लिया और ताबड़तोड़लंड चुत मेंअन्दर बाहर करने लगा. मेरे सामने सुहागरात जैसा बिस्तर सजा हुआ था और सावी भाभी किसी दुल्हन की तरह सज संवरकर बैठी थीं.

मेरे चुत पर किस करते ही वो ऐसे उछल पड़ी मानो कह रही हो कि पैंटी भी उतार दो.

फिर शायद पछताएगी भी … पर अपनी कामना के आगे विवश होकर वो कुछ नहीं कर सकेगी. मैंने लंड बाहर निकाला तो चुत की सील टूटने की वजह से थोड़ा खून बाहर निकल आया. मैं उसकी इस अदा से बेहद उत्तेजित हो गया और उसका दूसरा दूध पकड़ कर मसलने लगा.

तभी उसके मुँह से एक हल्की सी आवाज़ निकली- प्लीज़ अभी रूको मत … जल्दी करो … कोई आ जाएगा. तभी भाभी अपने हाथ को अपनी चूत की तरफ ले गईं और धीरे धीरे से चुत को सहलाने लगीं. कुछ देर बाद पापा ने मम्मी की चड्डी के अन्दर उंगली डाल दी तो मम्मी की एक आह निकल गई.

वो किसी परी से कम नहीं लग रही थीउसके तन पर सिर्फ पैंटी बाकी थी जो कि वो मुझे चिढ़ाने के लिए आधी उतरी हुई पहने पड़ी थी.

बीएफ चुदाई लड़की की: वो लंड की सरसराहट अपनी गांड की तरफ पाकर चिहुंक गई मगर मैंने उठ कर लंड फिर से चुत पर टिका दिया था. जो एक बार उनकी इस मादक जवानी को देख भर ले, मेरा दावा है कि वो बिना मुठ मारे रह ही नहीं पाएगा.

वासना इतना जोर मार रही थी कि जल्दी ही वो समय भी आ गया, जब मेरा लंड पिचकारी मारते हुए वीर्य को बाथरूम की दीवारों पर फेंकने लगा. मैं- हां मामीजी, मैं भी तो शिवानी को यही समझाने की कोशिश कर रहा हूँ. वो आ रही होगी, तो उसे भी लेकर तेरे रूम पर आता हूँ, फिर तीनों चलते हैं.

उसने मेरी नजर बचा कर अम्मी की शर्ट के दो बटन खोल दिए थे ताकि अम्मी और सेक्सी लगें और हर आदमी जगप्रीत से जले.

अब स्नानागार में बिल्कुल अंधेरा हो गया था और खिड़की से चाँद की हल्की रोशनी ही आ रही थी. मैंने चुत से लंड निकाल लिया और नफीसा आंटी की गांड में रगड़ना शुरू कर दिया. मैं- भाभी जी, पहली बार में आपको मजा आया था!भाभी- हां बहुत जब तुम बहुत तेज तेज चुदाई कर रहे थे, तब मुझे बहुत तेज दर्द भी हो रहा था और मजा भी आ रहा था.