बिहारी लोकल बीएफ

छवि स्रोत,एचडी बीएफ एचडी बीएफ बीएफ एचडी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी साड़ी वाला एचडी: बिहारी लोकल बीएफ, श्वेता मैडम की चूत कांपते हुए पानी छोड़ने लगी, चूत की गर्माहट की वजह से मैंने भी पानी उनकी चूत में छोड़ना चालू कर दिया.

लड़कों की बीएफ वीडियो

”उसके लंड से मेरी गांड में भूचाल सा आ गया था, लेकिन कुछ ही पलों बाद मेरी गांड की खुजली मिटनी शुरू हुई तो मुझे गांड मराने में मजा आने लगा. सेक्सी बीएफ बुर चोदने वाला बीएफचूंकि दिशा (साली) जीत गई थी, इसलिए नियमानुसार मुझे उसका टास्क पूरा करना था.

एक तो ये प्यासी जवानी और उस पर अंकल ने बदन में लगाई हुई आग, मुझे व्याकुल कर रही थी. सेक्सी बीएफ एचडी में फुल एचडी मेंयही नहीं मेरे में उत्तेजना भरने के लिये वो बड़ी स्टाईल से चल रही थी, इससे उसकी गांड ऊपर नीचे हो रही थी.

अम्मी की आंखें मज़े से बंद थीं, वो अंकल के लंड की एक एक इंच को महसूस कर रही थीं.बिहारी लोकल बीएफ: मुझे तैयार होने में आधा घन्टा लगेगा … ओके रखती हूँ, मुझे तैयार होना है.

मैंने उसको बड़े प्यार से देखा, तो वो फिर वो बोली- डू यू लव मी?मैंने उसके हाथ को चूमते हुए उससे कहा- यस आई लव यू टू.चूंकि आज आंटी के चूचे मेरी पीठ पर टच हो गये थे इसलिए लंड बार-बार उनके बारे में अहसास करके खड़ा हो रहा था.

इंग्लिश पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर - बिहारी लोकल बीएफ

उसने एक पल की देरी नहीं की और मेरा मूसल सा फूला हुआ लंड अपने मुँह में भर लिया.वो मेरी पकड़ से छूटने की नाकाम कोशिश कर रही थी या यूं कहें कि शायद वो भी यही चाहती थी.

- 9×××××××××मुझे उम्मीद की एक किरण नजर आई मैंने तुरंत अपना सेलफोन लिया और बोर्ड पर लिखे नंबरों को डायल कर दिया और घंटी जाने लगी, सामने से कॉल रिसीव हुआ और एक मर्दाना आवाज आई- हेलो. बिहारी लोकल बीएफ सीमा के मुंह से कुछ बूंदें बाहर आ गयी थी और एक दो बूंद उसके मम्मों पर टपक गयी थीं.

मैं अन्दर आकर यही सोच रहा था कि क्या मस्त लड़कियां है, पट जाएं तो मजा आ जाए.

बिहारी लोकल बीएफ?

नीला ने मुझे डिनर करके जाने के लिए बोला, तो अदिति के ज़ोर देने पे मैं भी रुक गया. बिल्कुल फिट स्पोर्ट्स कैपरी में उसके उभरे हुए चूतड़ और गदरायी हुई जांघें तो क़यामत लगती थीं. एक बार तो लंड पर हाथ लगते ही वह दो पल के लिए रुकी मगर फिर उसने मेरे अंडरवियर के कट को टटोलते हुए मेरे अंडरवियर के अंदर अपना हाथ पहुंचा दिया.

तभी तो वो मेरा साथ देने लगी थी और बोलती जा रही थी- और तेज़ करो … हय … आआह … हह … हहह … मज़ा आ रहा है! डोंट स्टॉप … हार्डर हार्डर!मैं धक्के पे धक्का देता जा रहा था. हर शनिवार को तो मैं सुबह 8 से शाम के 5 बजे तक उनके ही बेडरूम में रहता था. और हंसने लगी।मैं भी मुस्कुरा दी।फिर हम दोनों ने मेकअप किया और बाल स्टाइल किए और जाने के लिए तैयार हो गयी। अब हम दोनों एकदम हॉट लग रही थी। किसी को शक न हो इसलिए हम दोनों ने ऊपर से एक कोट पहन लिया और कैब का इंतज़ार करने लगी।थोड़ी देर में कैब भी आ गयी तो हम दोनों ने रूम लॉक किया और नज़र बचा के बाहर आ के गाड़ी में बैठ गयी। अब तक कैब वाला भी मुझे पहचानने लगा था, वो मुस्कुराया और गाड़ी चलाने लगा.

उसने मेरे होंठों को काट लिया मगर मैंने शरीर का भार उस पर डालते हुए उसकी चूत में लंड को घुसाना जारी रखा. उसके हाथों को मैंने उसके चेहरे से हटाया तो देखा कि आज सचमुच चांद मेरे सामने था. क्या मज़ा आता था दोस्तों, उसकी गांड को भी मेरे लंड की आदत हो चुकी थी.

मैंने कहा- लेकिन मैं देखूंगा कैसे?तब मैडम ने अपने ब्लाउज के नीचे के दो हुक खोल दिये और ब्रा ऊपर कर ली और दोनों चुचे बाहर निकाल दिए. मैंने उसके निप्पल को होंठों में दबाया और एक छोटे बच्चे की तरह उसे चूसने लगा.

मैंने लंड बाहर निकलवा दिया और बिस्तर पर अपनी टांगें खोल कर मुँह के बल लेट गयी.

आप मुझे धर्मपुर उतार दीजियेगा, वहां से मैं डगशाई चली जाउंगी और आप आगे अपने शहर चले जाना.

मैं उनको आवाज लगाने को हुई, उसी समय मुझे उनके बेडरूम से ‘अउम्म … अहह … ‘ की आवाजें आ रही थीं. दूसरी चूची को उसने 8-10 बार ही चूसा, फ़िर पीछे हो मेरी केले के खम्बे सी चिकनी रानों को चीर दिया. वो पढ़ कर मेरा लंड खड़ा हो गया और उसी वक्त मैंने उसको चोदने की सोच ली.

उसके बाद ज्योति उठी और बोली- बस, अब अंदर डालो, मैं और नहीं रुक सकती. अपनी चारपाई को खींच कर मैं खिड़की के पास ले आया और नेहा को मैंने उस परगिरा दिया. मैंने अपने गर्म लंड को भाभी की भट्टी में घुसा दिया और उसके चूचों को अपने हाथ में भर उसकी चूत को पेलने लगा.

मैंने पाना पकड़ा और उसके पैन्ट के अंदर खड़े लंड की ओर देखते हुए मुस्कुरा कर बोली- चिंता मत करो, मेरी पकड़ बहुत मजबूत है, मैं एक बार पकड़ने के बाद छोड़ती नहीं.

पूरा लण्ड उसकी चूत में जा चुका था। मैं उसकी गांड पर हाथ रखके लगातार उसको चोद रहा था।वो चिल्ला रही थी- आह … आआ … उम्म … हह!अब की बार वो पूरी रंडी लग रही थी, वो गालियां निकल रही थी- मादरचोद मेरा पति … ऐसे क्यों नहीं चोदता है?मैं भी फुल स्पीड से उसकी गांड पर मारते हुए उसे चोद रहा था. उसके तुरंत बाद ही मैं बाथरूम में जाकर उसके नाम की मुठ भी मारने लगा. उसके मुंह से सिसकारी निकल रही थी और चूत पानी निकाल रही थी।कुछ देर सहलाने के बाद उन्होंने मेरी मां की पैंटी भी निकाल दी.

वैसे उसने कभी मुझे इस बात को लेकर शिकायत भी नहीं की कि मैं उसकी तरफ क्यों देखता रहता हूँ लेकिन वो इससे ज्यादा मुझे घास नहीं डालती थी. तो उसने कहा- मैडम, सर्दी उड़ाने का इलाज है मेरे पास कहो तो?मैंने कहा- क्या?तो वह अचानक रूम में आया और अलमारी में से वोदका की बोतल और गिलास लेकर आया और बोला- लीजिए शालिनी जी, उड़ाइये अपनी सर्दी।मैंने उसके हाथ से गिलास और बोतल पकड़ी, वो भी बोतल पकड़े रहा और हम दोनों के हाथ एक दूसरे के हाथों से टच हुए. सोना को भी लड़की से साथ सेक्स करने में मज़ा आता है … ये देख कर मैं भी दंग रह गया.

अक्सर हमारे घर आने लगी, मुझसे बातें भी करती और लटके झटके भी दिखाती.

वहां मैंने उसे किसी फूल की तरह लेटाया और उसके ऊपर खुद भी लेट कर किस करने लग गया।मैं किस करते-करते नीचे की ओर जाने लगा. मगर जब मेरे आस-पास इतने सारे लंड मौजूद थे तो मुझे उंगली से मेहनत करने की क्या जरूरत थी भला?मालिश करवाने के बाद मैंने सोचा कि क्यों न कुछ देर पूल में जाकर स्वीमिंग ही कर ली जाए! मैं उसी लाल ब्रा और पैंटी को पहन कर स्वीमिंग पूल में चली गई.

बिहारी लोकल बीएफ चुदक्कड़ हसीनाओं से विशेष निवेदन है कि बिना दोस्ती किये ही मुझे मेल करके चुदाई के लिए ऑफर मत करना, सिर्फ उत्साहवर्धन करने के लिए मेल करना. सीमा ने एक बड़ा तौलिया राहुल को दिया और एक तौलिया से उसने अपने बदन को सुखाया.

बिहारी लोकल बीएफ हमारी बोगी में एक चाय वाला आया तो उसने चाय का कप लिया और सीधी बैठ के चाय पीने लगी. पढ़ाई कम्पलीट करने के बाद मैं जॉब सर्च कर रहा था, तभी मेरे एक दोस्त ने मुझे इंदौर में एक शेयर मार्केट की एडवाइजरी कंपनी के बारे में बताया.

मुझको मज़ा आया, तो मैं उसे लिफ्ट देने के लिए अपनी चूचियों को उभार देते हुए उसकी तरफ ललचाई और मदभरी आंखों से उसकी ओर देख कर बोली- ओह्ह अंकल.

डब्लू डब्लू सेक्स बीएफ हिंदी

अब मैंने परवीन का मुँह अपने खड़े लंड की तरफ किया, तो उसने थोड़ी नानुकुर के बाद मान लिया. अगर आपको मेरी सेक्स कहानी अच्छी लगी हो, तो कमेंट बॉक्स में मुझे कमेंट जरूर करें. मैं- चाची, आप हो ही इतनी सेक्सी कि आपको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया.

उसके बाद मौसी ने मेरे उफनते लंड को अपने गर्म मुंह में भर लिया और तेजी के साथ मेरे लंड को चूसने लगी. मैंने उससे यात्रा का कार्यक्रम पूछा और कह दिया कि मेरी बोर्डिंग जयपुर से रख देना. भाबी- मुझे ऐसे देखते हुए तुम्हें शर्म नहीं आती क्या? ऑश … सॉरी में तो भूल ही गई थी … शर्म और तुम्हें … जो कि अपने भाई की वाइफ को ऐसे चोदता हो, उसे शर्म किधर से आती होगी.

मैं दर्द के मारे दीवार से सट गयी और लंड को गांड से बाहर निकाल दिया.

मैं अमित की शर्ट में लगे परफ्यूम की हल्की हल्की खुशबू को एंजाय कर रही थी. वंश बोला- छिनाल बोतल से क्या तेरी चूत में व्हिस्की डाल कर पियूंगा … भोसड़ी की साली जाके गिलास ले के आ कुतिया. साहिल ने धक्के देने बंद कर दिये तो हीना समझ गई कि साहिल का माल उसकी चूत में खाली हो चुका है.

यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, अगर कोई गलती दिखे, तो प्लीज़ माफ कर दीजिएगा. लेकिन रेखा ने लंड पकड़ लिया और चूत के मुहाने से रगड़ने लगी और अपनी कमर उचकाकर लंड को अन्दर लेने का प्रयास करने लगी. उस दिन के बाद से तो मुझे रात दिन भाभी की सफेद कच्छी में छिपी हुई चूत की याद सताने लगी.

सात दिन तो जैसे तैसे निकल गए, उसके बाद मेरी चूत और गांड लंड के लिए तड़फने लगी. मेरी सील टूटी नहीं थी पर पता नहीं क्यों इतनी तीव्र वेदना हुई कि मैं चीख पड़ी.

शिशिर मुझे नंगी करने के बाद मेरी चूत को चाटने लगे और मेरी चूत को चाटने के बाद वो मेरी चूत में उंगली करने लगे. उसके लंड की गोलियां भी इतने मस्त लग रही थीं, जैसे चोदने के लिए ही बनी हों. जिसके लगते ही भाभी की चीख उसके गले में ही दब कर रह गयी तथा उसका सीना उठकर ऊपर की तरफ हो गया.

उसने पीछे मुझे देखा, बोली- आराम से … पूरी रात के लिए तुम्हारी ही हूँ.

इसलिए समीरा के जाते ही वह साहिल की टांगों के बीच में जाकर नीचे जमीन पर बैठ गई. मैंने उसकी एक टाँग उठा कर अपने कंधे पर रखी और एक नीचे … और लंड को उसकी चूत के छेद पर टिकाया. मुझे लगा शायद आज कुछ बन जाये! लड़कों का दिमाग हमेशा वहीं लगा रहता है.

औरत चाहे जैसी भी हो जब उसके बदन का स्पर्श मिलता है तो लंड अपने आप ही उत्तेजित हो उठता है. वो बोली- आप तो उस दिन के बाद ऐसे गायब हुए कि आज 2 महीने बाद मिले हो.

फिर भोला ने नौकर से कहा- अब खड़ा-खड़ा क्या देख रहा है, निकाल ले अपनी पैंट और दे दे अपना लंड बंध्या के हाथ में. वह भी नीचे से अपनी गांड को उठा कर जोर लगा रहा था जिससे उसका लंड मेरी चूत को फाड़ने लगा. कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिये यारो …मिल गई तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत।मैने अपने सभी साथियों (लंड, आँखें, होंठ-मुँह-जीभ, कान-नाक, हाथ, दिल और दिमाग) की आपातकालीन बैठक (एमर्जेन्सी मीटिंग) बुलाई.

एंटीक बीएफ

आपको तो पता ही है मुझे वीर्य पीना तो बहुत ज्यादा पसंद है इसलिए मैंने उनके वीर्य का एक एक कतरा अपने मुंह में गटक लिया और लंड को चाट चाट कर साफ कर दिया.

मुझे नहीं पता कब मैं नंगा होकर उसके करीब जा पहुँचा और उसकी चुची को सहलाने लगा. उसके काले चमकीले बाल उस टॉप पर उसकी खूबसूरती में चार चांद लगाने के साथ-साथ कितने ही तारे भी साथ में जोड़ रहे थे. मैं- आई प्रॉमिस यू चाची … ये बात हमारे बीच में ही रहेगीचाची- अच्छा … चल बेडरूम में चल.

मेरा मन भाभी की गांड मारने का था तो मैंने भाभी को बोला, तो वे बोलने लगीं कि मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है. बेबी ने मेरी टी शर्ट उतारी, फिर लोअर उतार कर मुझे नंगा कर दिया और पास रखी कुर्सी पर बैठकर मेरा लण्ड चूसने लगी. बीएफ गोपा गोपीफिर देखते ही देखते अजय का लंड पूरा तन गया और उसका आकार बहुत बड़ा हो गया.

क्योंकि कॉलेज की लड़कियों के कमेंट्स के हिसाब से मैं भी कुछ कम नहीं दिखता था. एक तरफ आंटी को खुश कर दिया था और दूसरी तरफ मुझे चोदने का प्लान बना लिया था.

मैंने थूक ले के लंड के सुपारे पर चुपड़ा और उसे नैना की चूत पर टिका दिया. अब उसके एक हाथ की दो उंगलियां चूत के अन्दर-बाहर हो रही थीं, तो दूसरे हाथ की एक उंगली गांड के अन्दर बाहर आ जा रही थी. उस रात मैंने पत्नी के मना करने के बाद भी उसे दो बार चोदा और जोश में उसे काट काट कर जख्मी भी कर दिया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:प्यासी चूत और भूखे लंड की कहानी-2. पिछले 36 घंटे के बाद मेरे सीने में एक बार फिर से उंगली चली, तो स्वाभाविक रूप से मेरे लंड महराज फुदकना शुरू हो गए. फिर मैं उनके पैरों में आ गया और बोला- आज मैं आपकी दासी हूँ, मुझे अपने पैर चूसने दीजिये.

मैंने इस बात को ऐसे महसूस किया कि जो सीमा भाबी बिना मतलब के मुझसे बात नहीं करती थीं, आज वो मुझे अकेले पाकर कैसे कमेन्ट मारने लगी थीं.

वो आंखें बंद किये अपने तेज चलती सांसों को नियंत्रित करने की कोशिश कर रही थी. मैंने कहा- हाँ भाभी, जब भी आपका मन मेरा लंड लेने को करे तो मुझे बुला लेना, मैं हमेशा तैयार रहूंगा.

उसकी आंखें लाल हो गई थी। जब प्रिया को राहत मिली तो मैं धीरे धीरे से चोदने लगा. लगभग 5 मिनट की चूत चुसाई के बाद परवीन का सब्र जवाब दे गया और अपनी चूत मेरे मुँह से उठाकर मेरे लंड पर बैठ गयी. मैं अपनी दोस्तों के साथ खाने के पंडाल में थी तो संजीव भी वहां आ पहुंचा.

आपने मेरी पहली सेक्स कहानीमस्त गदरायी लड़की संग सेक्सी मस्तीपढ़ी होगी. उन्होंने मेरी गांड को पकड़ कर अपनी चूत में धक्के लगवाना शुरू कर दिया. मैं उसे किस करते हुए ऊपर को जाने लगा और उसके हिप्स से होते हुए पीठ तक जा पहुंचा.

बिहारी लोकल बीएफ फिर जब सब हो गया, तो उन्होंने मेरी छाती पे किस की और नीचे को किस करती हुई फिर से लंड तक पहुँच गईं. मैंने बहाने से पीछे हाथ किया तो मेरे हाथ पर कुछ तनी हुई आकार वाली चीज़ छू गई.

हिंदी में वीडियो में बीएफ

इसी मौके का फायदा उठाते हुए मैंने अपने लंड को एकदम से उसकी योनि के प्रवेश द्वार पर रख दिया और उसकी चूत के दाने पर रगड़ते हुए उसकी चिकनी चूत के स्पर्श का मजा लेने लगा. मैं हमेशा भाभी के सेक्सी बदन को ताड़ता रहता था और अपनी नजरों से ही उसके जिस्म का नाप लेता रहता था. आज से 2 साल पहले सीमा भाबी और विकास भैया को रूम की तलाश थी, इसलिए हमने उनको कमरा रेंट पर दे दिया था.

वो ‘आह हम्मम्मय सीसीईई हम्ममम हम्म…’ की आवाजें निकलते हुए जर्क लेते हुए झड़ रही थी … इस वक्त वो कांपते हुए झड़ रही थी. मौसी ने अपने गाउन को जांघों तक ऊपर कर रखा था और वो तेजी से अपनी चूत पर हाथ चलाते हुए कभी किताब में देखती तो कभी दूसरी तरफ करवट लेकर सोई मानसी की तरफ देख रही थी. सेक्सी बीएफ इंग्लिश वीडियो एचडीइसलिए अंदर ही अंदर दबी हुई सिसकारियों के साथ साहिल के लम्बे और मोटे लंड से चुदते हुए मजा लेने लगी.

कुछ ही देर बाद भाबी गांड उठा उठा कर अपनी चुत मेरे होंठों पर रगड़ने लगीं.

उसका लौड़ा उसकी पैंट में तना हुआ था और बार-बार मुझे उछलता हुआ दिखाई दे रहा था. भाभी की चूत ने हल्का रस छोड़ दिया था, जिस वजह से जल्दी ही मेरे लंड ने उसकी चूत में जगह बना ली.

मैं परवीन के पास बैठ गया और उसके होंठों को मुँह में भरकर किस करने लगा. उसकी मदमस्त चूचियों को सहलाते और देखते ही मेरे लंड में सनसनी पैदा हो गई. न जाने कैसे अपने आप ही मेरी उंगलियों की पकड़ उस विशाल लंड के इर्द गिर्द पड़ गयी.

आंटी अब जोरों से कंपते हुए चिल्लाने लगी थीं- बहनचोद अब क्या जानलेकर रहेगा … चोद दे कमीने … फाड़ दे मेरी चुत … आह लौड़ा ठोक इसमें … अपनी कुतिया रांड पर लौड़े की दया कर … मेरे देव राजा, मेरे मालिक … चोद दे प्लीज़.

मैंने कहा- तो तुम शादी में क्यों नहीं गयी?सुमन बोली- मेरी तबियत ठीक नहीं है आज!मैंने कहा- सुमन क्या हो गया तुम्हारी तबियत को आज?सुमन बोली- बुखार हो रहा है. मैंने मुँह बनाया, तो उसने इशारा करके पूछा कि कहां और कब?मैंने इशारों में ही बताया कि पीछे खेत में रात को एक बजे … तो वो हंस दी. यहाँ तक कि हम दोनों लोग कपड़े खरीदने जाना होता था, तो हम अपने पति के साथ नहीं जाते थे.

घोड़ा और लड़की का बीएफ पिक्चरजैसे ही मैं कार से उतरा तत्काल ही वसुन्धरा सीढ़ियों से नीचे उतर कर बिल्कुल मेरे पास आ गयी. एक दिन मेरे चाची पर और मेरे परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा, जब एक हत्या के अपराध में मेरे चाचा और उसके दोस्तों को उम्र कैद की सजा सुनाई गई.

मराठी सेक्स बीएफ एचडी

एक बार तो उन्होंने मना किया,लेकिन मेरे दोबारा बोलने पर मेरी रज़ाई में आ गईं. एक दिन की बात है जब भाभी मुझे पढ़ा रही थी और भैया अपने कमरे में लेटे हुए थे। रात के दस बजे का समय हो रहा था। इतने में भैया ने आवाज दी- कंचन और कितनी देर लगेगी? जल्दी आओ न!भाभी भी मेरे पास से जाना नहीं चाहती थी लेकिन भैया के बुलाने पर उनको जाना पड़ा।भाभी उठते हुए बोली- बाकी पढ़ाई कल करेंगे क्योंकि तुम्हारे भैया आज ज्यादा ही उतावले लग रहे हैँ. क्योंकि मैंने नशे में उन्हें गले तो लगा लिया था, पर अब मुझे उनकी सांसें मेरी छाती पर महसूस होने लगी थीं.

उसका लौड़ा उसकी पैंट में तना हुआ था और बार-बार मुझे उछलता हुआ दिखाई दे रहा था. फिर मैंने उसके चूचों को जोर से दबाते हुए उसकी चूत को सहलाया तो वो बोली- स्स्स … बस हिमांशु … अब अंदर डालो जल्दी. उसके कहने के बाद भी मैंने हाथ नहीं निकाला और उसके चूचों को दबाते और भींचते हुए उसकी ब्रा के हुक टूट गये.

पर अब सीमा की चूत से राहुल की मलाई बाहर निकल रही थी तो बिस्तर न खराब हो इसलिए सीमा ने बेड की ड्रावर से दो छोटे तौलिये निकाले. विक्रम को मन ही मन गुस्सा आ रहा था पर साथ में उत्तेजना भी होने लगी थी- फिर आगे क्या हुआ, बताओ मुझे पूरा एक-एक शब्द नहीं तो मुझसे बुरा कोई नहीं!रीना डरते हुए- फिर वे मेरी गर्दन पर चुम्बन करने लगे, पता नहीं मैंने विरोध क्यों नहीं किया, उल्टा साथ देने लगी, मुझे उनका स्पर्श अच्छा लगने लगा। वो अपने हाथों से मेरे बूब्स ऊपर से दबाने लगे और फिर अंदर मेरी कुर्ती में हाथ डाल कर पूरा जिस्म सहलाने लगे. बॉस- बस इतनी सी बात!मेरी बीवी बोली- उन्होंने फटाफट मेरे बैंक खाते में दो लाख ट्रांसफर कर दिए। और फिर मैं सब कुछ छोड़कर आपके पास चली आयी। बाकी सब तो आप जानते ही हो। मुझसे गलती हो गयी मुझे माफ़ कर दीजिए। किसी को भी मुँह दिखाने लायक नहीं रही मैं तो!मैं अब पूरा उत्तेजित हो चला था, मैंने बस इतना कहा- अरे रीना, हो जाती हैं ऐसी नादानियाँ! तुम होश में नहीं थी। आगे पूरा जीवन पड़ा है.

उन्होंने भी अपनी बांहें मेरे गले में डाल दीं और मेरे बदन पर झूल गयी. राधिका ने विजयी मुस्कान के साथ कहा- मैं चाहती हूँ सोनल कि अब तुम राज की जांघ पर बैठकर राज को किस करो.

मेरे मन में बहुत डर था कि भाभी ने मॉम को बता दिया तो बड़ी गड़बड़ हो जाएगी.

उसने पाँच छह बार मुँह से लंड को आगे पीछे किया और मैं मैम के मुँह में झड़ गया. रंडी बीएफ हिंदी मेंउसके नाना उसे लेने आये थे, उसके नाना मुझे जानते थे, वो मेरे घर के पास ही रहते थे। हम दोनों नाना के कार से घर आ गए।उसके बाद हम दोनों ने बहुत बार सेक्स किया।मेरे प्यारे पाठको, मेरी कहानी पर अपनी राय मुझे जरूर बताएं ताकि मैं आपको अपनी और प्रिया की आगे की कहानी बता सकूँ।[emailprotected]. बीएफ डेंजरमैं रमित, मेरी पिछली कहानीपड़ोसन भाभी के साथ सेक्स एंड लवअब मैं फिर से एक कहानी ले उपस्थित हूँ. मैंने लंड को सेट करके धक्का लगाया पर लंड अंदर जाने की बजाये फिसल गया.

सोनम बेटा, पहली बार तो ये सब होता ही है, वाशरूम में चलो, मैं तुम्हारी चूत को साफ करके इसकी गर्म पानी से सिकाई कर देता हूं, अभी पांच मिनट में तू एकदम ठीक हो जायेगी.

उसने जीन्स और एक सफेद कलर का टॉप पहना हुआ था जो कमर से थोड़ा ऊपर था तो कमर साफ से देख सकता था. दो तीन दिन बीते तो मेरी पत्नी ने बताया- बेबी भाभी तो बहुत बेशर्म हैं, कैसी कैसी बातें करती हैं. चूचे चूसने के साथ ही वो नीचे से चूत में ज़ोर ज़ोर से धक्के मारे जा रहा था.

मैंने मोनिषा को अपने लंड पर बैठाने की इच्छा जाहिर की, तो मोनिषा उठकर अपनी हुई फूली हुई चुत को मेरे लंड पर टिका कर बैठ गई. वह बोली- बहुत बिगड़ गए हो तुम।मैं बोला- मुझे तुम्हारी ही अदाओं ने बिगाड़ा है।वह हंसने लगी और उसने एकदम मेरे पास आकर मेरी शर्ट को खोलना शुरू कर दिया. वो कहने लगा कि यार तुम्हारे पास एक ब्लैक और एक येलो सूट है ना, जो तुम पहन कर भी आई थी एक बार?मैंने कहा- हां है.

ब्लू पिक्चर विदेशी बीएफ

मैंने उनको बताया था कि मेरा पति मुझे रात में एक बार ही चोद पाता है. शाम को राहुल जब उसकी कोठी पर पहुंचा तो उसको अहसास हुआ कि वो बहुत पैसे वाले लोग हैं. बारिश में ही जैसे-तैसे टायर बदला लेकिन इस सारी कार्यवाही में तक़रीबन चालीस-पैंतालीस मिनट लग गए.

उसने मेरे अंडवियर के कट से मेरे लंड को खींच कर बाहर निकाल लिया और जैसे ही मेरा लंड बाहर आया तो वह मेरे तने हुए 6 इंच के लंड को कई पल तक देखती रही.

तब संगीता भाभी मीना भाभी (दूसरी भाभी का नाम मीना था) से मेरी ओर इशारा करते हुए बोली कि पता नहीं ये मुझसे बात क्यों नहीं करते.

विक्की ने जैसे ही अपना लंड चूत पर रखा, तो निहारिका पेलने से मना करने लगी. मैं आपको तहे दिल से और सभी कन्याओं और भाभियों को लंड खड़ा करके नमस्कार करता हूँ. सनी लियोन बीएफ वीडियो सॉन्गमेरी चूत में जो आग लगी हुई थी उसको भोला का लंड अच्छी तरह बुझा सकने वाला दिख रहा था.

जीजा जी कभी कभी ही घर आ पाते थे और दीदी के साथ चुदाई का मजा ले कर चले जाते थे. फिर एक दिन उसने पूछा- तुम्हारी तो बहुत सारी गर्लफ्रेंड्स होंगी रोमी?मैं- नहीं भाभी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. मौसी ने अपने गाउन को जांघों तक ऊपर कर रखा था और वो तेजी से अपनी चूत पर हाथ चलाते हुए कभी किताब में देखती तो कभी दूसरी तरफ करवट लेकर सोई मानसी की तरफ देख रही थी.

मुझे देख कर सेक्सी भाभियां और आंटियां भी अपनी चूत चुदवाने के लिए तैयार हो जाती हैं। मेरे लंड की लम्बाई 6. मुझे लगा कि बैंक की तरफ से कोई गलती हो गयी होगी।क्यूंकि बैंक अभी होने वाला बंद था तो मैंने अगले दिन पता करना उचित समझा।रात को डिनर करने के बाद मैं और रीना सो रहे थे।तभी मैंने पूछा- रीना क्या बात है आजकल बड़ी गुमसुम रहती हो? पहले तो खूब बोलती थी.

मेरे रूम के बिल्कुल सामने एक कोठी थी, जिम के लिये मुझे वहीं से गुजरते हुए जाना पड़ता था.

उसे भी जीजा जी के कभी कभी मिलने वाले लंड से मेरा मोटा लम्बा लंड ज्यादा पसंद आ गया था. मेरे लंड का पानी निकलने को हुआ तो मैंने उससे पूछा कि पानी कहां निकालना है तो वो बोली कि चूत के अंदर ही गिरा दे अपना माल. नहा कर मैं बाहर आया तो देखा कि पुष्पिका ने ब्रेकफास्ट बना कर तैयार किया हुआ था।मैंने घर में देखा कि कोई भी नजर नहीं आ रहा था तो मैंने पुष्पिका से पूछा कि मामा-मामी कहां गये हैं?पूछने पर उसने बताया कि वो दोनों किसी काम से बराबर वाले गांव गए हैं, शाम तक ही लौटेंगे।यह सुनकर मेरे मन में बैठा शैतान जाग गया। शैतान वैसे कल रात को ही जाग गया था मगर वह घर वालों के डर से बैठा हुआ था.

करीना कपूर का बीएफ फिल्म मैं उससे बात करना चाहती थी। वह काफी हैंडसम और इंटेलीजेंट लड़का था। मैंने उसे देखते ही सोच लिया था कि चुदना तो इसी से है।एक दिन मैडम ने उसको कुछ काम बताया और मैडम ने कहा कि सब छात्रों को भी बता दे और कह दे कि कल याद करके और लिख कर भी लाना है. वहाँ से वापस आने के बाद संजीव ने मुझे होटल में बुलाया और हमने एक बार और चुदाई की.

यही नहीं मेरे में उत्तेजना भरने के लिये वो बड़ी स्टाईल से चल रही थी, इससे उसकी गांड ऊपर नीचे हो रही थी. मैं पिछले कई साल से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ रहा हूँ और मुझे ऐसा लगा कि मुझे भी अपना अनुभव आपके सामने शेयर करना चाहिए, इसलिए मैंने यह मेरी कहानी आपके सामने रखी है. एक दिन सुबह-सुबह मैंने देखा कि मेरी पड़ोसन भाभी एक गाउन पहने हुए अपने घर के बरामदे में खड़ी हुई थी.

इंडियन बीएफ सेक्स सेक्स

दूध पीने के बाद हमने कुछ देर तक टीवी देखा और फिर आधे घंटे के बाद सब लोग सोने के लिए तैयार हो गये. मेरी पिछली कहानी थीहोटल के कमरे में ब्वॉयफ्रेंड का मोटा लंडमैं अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ कर मजा लेती रहती हूँ और इसलिए मैंने सोचा कि आज मैं आपको अपनी मस्ती भरी एक रात की कहानी बताऊं. जब पूरे बदन में तेल लग गया, तो ताऊ जी ने कोमल का हाथ पकड़ के अपने लंड को पकड़ाते हुए कहा कि जब पूरे शरीर में तेल लगा दिया है, तो इसमें भी तेल लगा दो.

भाभी बोली- ये सूसू किसने की है?मैंने कहा- मैडम ये हम दोनों की प्यास का पानी है. भाभी- चल झूठा, मैं कोई हूर की परी हूं क्या जो तू ऐसे मुझ पर लाइन मारने की कोशिश कर रहा है?मैं- भाभी आप सच में बहुत मस्त और एकदम सेक्सी हो, जब से आपको देखा है मेरी नींद गायब हो गई है.

लंड घुसते ही उसकी एक चीख निकल गई उम्म्ह… अहह… हय… याह… उस चीख के साथ ही मैंने बचा हुआ लंड भी अन्दर कर दिया.

मेरी ये सेक्स कहानी आपके लंड में तूफान और चुत में रस की बाढ़ ला देगी. थोड़ी देर चुचे चूसने के बाद मैं खड़ा हो गया और कहा- मैम, अब अपनी चुत दिखाओ. चूत चाटने के बाद मैं उठा और पैंटी को फिर से उसके मुँह में ठूंस दिया.

उसके बाद ज्योति उठी और बोली- बस, अब अंदर डालो, मैं और नहीं रुक सकती. वे बिस्तर पर मेरी बीवी कौसर की बगल में लेट गए। कौसर ने एक कम्बल लिया हुआ था. मैंने पूछा- अच्छा, अब कब मेरे लण्ड की सवारी करोगी? कल फिर आऊं क्या?भाभी बोली- ना बाबा ना … अब तो एक हफ्ते तक मैं किसी से भी नहीं चुदवाऊंगी। मेरा अब मन नहीं है।मैंने कहा- अच्छा जब भी मैं गांव आऊंगा तो मुझे अपनी चूत चोदने का मौका तो दोगी न?वो बोली- हां क्यों नही … अगर मौका मिला तो जरूर दूंगी। चलो अब जाओ यहां से, मैं बहुत थक गई हूं.

तभी फिर उसने अपना घोड़े के लंड जैसा लंड मेरी चुत पर रखा और जोर से धक्का लगा दिया.

बिहारी लोकल बीएफ: वो बोली- चाचू ये ग़लत है आप ऐसा कैसे कर सकते हो यार?मैं- अच्छा तुम कर रही थी, तो सही था. अब आगे:भोला सिंह ने कहा- मुझे अपने बाप की तरह समझ और खुल कर इंजॉय कर … यह जिंदगी मजा लेने के लिए है.

मेरी मां को दर्द हो रहा था लेकिन अंकल को उससे कोई लेना-देना नहीं था। अब अंकल ने अपनी स्पीड बढ़ा दी. अतः मैं अपने प्लान का शुभारंभ करते हुए रीना को हमारे शयनकक्ष में लेकर गया। रीना ने बहुत उत्तेजित करने वाली नाइटी पहन रखी थी जिसे कि मैंने उतरवा दिया और कहा- मेरे पास इससे भी ज्यादा कुछ नया है।रीना को पता नहीं था कि मैं क्या करने वाला हूं।मैंने उससे उसकी नाइटी खोलने की गुजारिश की. मैंने चुत पर अपना 6 इंची लौड़ा रखकर थोड़ा चुत पर रगड़ा और एक ही झटके में पूरा का पूरा आंटी की भोसड़ी में ठोक दिया.

उसने मेरे दोनों मम्मों को 10-15 बार मसला, फ़िर मेरे गाल पर हाथ फेर कर मेरे होंठों को अपने होंठों के बीच ले दबा-दबाकर चूसने लगा.

उस दिन मैंने उनसे वादा किया कि वो अपना दोस्त समझ कर कभी भी मुझसे फोन पर बात कर सकती हैं. चूत चाटने के बाद मैं उठा और पैंटी को फिर से उसके मुँह में ठूंस दिया. मेरा गार्मेन्ट्स का बिजनेस है और मेरी बीवी ऋतु (बदला हुआ नाम) 25 साल की है.