बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो कैसे निकालें

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स मूवी ब्लू पिक्चर: बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार, और तो और … एक दोपहर को एक घंटे का पावर-कट लग गया तो भी जिम्मेवार मैं …हे भगवान! ऐसी खब्ती औरत मैंने जिंदगी में पहले न देखी थी.

राजस्थानी देसी लड़की की सेक्सी वीडियो

उसका हाथ जल्दी ही मेरी चूत पर जाकर पजामी के ऊपर से ही उसको मसाज देने लगा. सेक्सी दीजिए वीडियो एचडीफिर मैंने उसकी शर्ट को उतरवा दिया और उसकी काली ब्रा में उसका गोरा चिकना बदन देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया.

ताऊ जी घुटनों के बल हो गये और बुआ ताऊ जी के लंड के नीचे मुंह लाकर अपने होंठों को खोल कर बैठ गयी. सेक्सी सेक्सी इंग्लिश इंग्लिश सेक्सीभाभी ने कुछ नहीं कहा तो मैंने बड़े रोमांटिक मूड में आगे बोल दिया- मुझे तो कोई और पसंद है.

मैं और मेरे पापा हमेशा एक ही टाइप का पजामा पहनते थे तो माँ को वैसे भी समझ नहीं आने वाला था कि वहां पे मैं सोया हूं, पापा नहीं.बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार: जितनी नम्रता को चोदने की स्पीड बढ़ रही थी, उतनी ही तेजी से मेरे हाथ उसके चूचियों को भींच रहे थे.

राधिका- ओह राज, आह कम ऑन फक मी … आह राज चोद डाल … लाल कर दे अपनी बीवी की चुत को … चोद डाल अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है.फिर मैंने उसकी टांगों से फूलों को हटाया और लिक-किस करके हुए पाँव तक पहुंच गया और जहाँ जहाँ के फूल हटाता था वहां किस करता चला गया.

ब्लू पिक्चर की सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार

उसके बाद जीजा ने भी अपनी जीभ को दीदी की चूत से बाहर निकाल लिय़ा और दीदी को घोड़ी की पोजीशन में झुका लिया.जीजा को मेरी चूत में लंड पेलते हुए चार-पांच मिनट ही हुए थे कि पता नहीं मेरी चूत में एकदम से क्या भूचाल सा आ गया.

उसके हाथ कुर्सी पर रखकर मैंने उसको कुत्ता बना दिया और उसके चूतड़ सहलाने लगा. बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार मौसी की हल्की सी आह तो निकली, पर इस बार उन्हें ज्यादा फर्क नहीं पड़ा.

अब अर्पित ने मुझसे पूछा- क्यों आशना, तुमको तो लंड पसंद नहीं था ना … मुँह में लेना?मैंने कुछ नहीं कहा और बस लंड को चूसने का मज़ा लेती रही.

बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार?

उसने पूछा- ये बता तुझे ये सब आइडिया आया कहां से?मैंने कहा- मेरे ऑफिस में एक लड़का है. मुझे मेल करके जरूर बताएं कि मेरी दीदी के साथ मेरी चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी. मेरी तरफ़ से ग्रीन सिग्नल मिलते ही भाई ने मुझे दीवार से लगा दिया और पागलों की तरह मेरे होंठों को चूसने लगा.

उसकी माँ मेरे दादाजी से कह रही थी कि मेरी बेटी का माइग्रेन अब आपकी दी हुई दवा की वजह से खत्म होने के कगार पर है मगर अब इसकी योनि से पानी निकलने लगा है. फिर भाभी बोली कि क्या तुम्हारे लिए एक गर्लफ्रेंड की व्यवस्था करूं?मैंने कहा- आप हैं ना, काम चला लूंगा. एक बदलाव भी मैंने अपनी बीवी में देखा कि वो अब बहुत अच्छे से मेरा लंड चूसती थी.

वो भी गालियाँ बके जा रहा था- रंडवी साली … तेरे भोसड़े में मेरा लोड़ा … तुझे आज घोड़ी बना दूंगा, तेरी चुत चोद चोद कर फाड़ दूंगा, तेरी गांड मार दूंगा. उसके इस सहयोगी रवैये से मुझे समझ आ गया कि आज तो ये पक्के में लंड लेने का मन बना कर बैठी है. भाई का लंड अब पूरी तरह तन चुका था और मेरी चूत फाड़ने के लिए बिल्कुल तैयार था.

मैंने उसको मनाने की कोशिश करते हुए कहा- देख, पहले मेरी बात तो सुन ले. अब मैंने उसको चेयर पर बैठा दिया और अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया.

मुझे यहां रहते हुए करीब आठ महीने हो गए थे, लेकिन हम लोगों ने कभी बातचीत नहीं की थी.

माँ और भैया के आते ही मैं अपने फ्रेंड्स से मिलने बाहर जा ही रहा था कि तभी सामने से ऊपर किरायेदार भाबी आती दिखाई दीं.

मैं इससे पहले कुछ समझ पाती, मुझे गांड में उम्म्ह… अहह… हय… याह… इतना दर्द हुआ कि मैं रोने लगी. मैं उसे निकालने को बोल रही थी, पर वो पूरे ज़ोर से मेरी गांड मारे जा रहा था. वो इतनी अधिक चुदासी हो उठी थी कि मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत में लगा लिया.

वो एक बड़े गहरे गले का टॉप पहने हुए थी जिसमें से उसकी दूध घाटी मेरे लंड को खड़ा किए जा रही थी. गीतू की चुदाई में कब सुबह के 4 बज गए पता ही नहीं चला।मैंने नाना जी की तरफ देख कर कहा- नाना वो भूत …लेकिन मेरी बात को बीच में काटते हुए नाना जी मुस्करा कर बोल पड़े- बेटा अब तो भूत की माँ की चूत”. मुझे नहीं पता वो दोनों कब से इस तरह एक-दूसरे की प्यास बुझा रहे थे लेकिन दोनों के अंदर सेक्स जैसे कूट-कूट कर भरा हुआ है.

इसके बारे में तुम्हें पता नहीं था। तुमने सोचा घर पर केवल रीना और तुम ही हो। तुमने अपने स्तनों पर टॉवल लपेटकर अपने कूल्हे व स्तन ढक रखे थे। उस वक्त मैं ऊपर वाले कमरे में ही था.

नीचे देखा तो भाभी की झांट रहित सफाचट छोटी सी चूत अपना जलवा बिखेर रही थी. वो बहुत अनमने ढंग से लंड चूसती थी, लेकिन मैं काफी जोश में उसकी चूत चाटता था. मेरी एक सहेली भी उससे बात करती थी और उसने मेरा नंबर मेरी सहेली से ले लिया था.

उसने कहा- आप कौन हैं?मैंने कहा- जी मैं पंकज हूँ राजस्थान से आया हूँ … आपने बुलाया था. उनकी सांस रुकने लगी, तो उन्होंने जल्दी ही मेरे लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल दिया. मैं उसकी गांड के छेद तक पहुंचने की कोशिश कर रहा था लेकिन उसकी गांड का छेद अंदर की तरफ धंसा हुआ था.

एक मसला सुलझा नहीं कि दूसरा तैयार!अब चूंकि घर मेरा था तो क़रीब-क़रीब सब बातों का नज़ला मुझ पर ही गिरता था.

अंदर गए तो एक गलियारा था जिसके दोनों तरफ अलग अलग कमरों में प्रवेश करने के द्वार थे. मेरा लंड उसकी चूत में घुस गया था और मैंने दीवार की तरफ धक्के देते हुए उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार आप बेफिक्र होकर हस्तमैथुन कीजिये परंतु नियमित तौर पर नहीं।अब आपकी तीसरी समस्या के बारे में कहना चाहूंगा कि यदि आपने सेक्स का अत्यधिक मात्रा में आनंद लिया है और आपकी योनि पूर्ण रूप से खुल गई है तो आप हस्तमैथुन करना छोड़ दें. अगले दिन जब मैं स्वाति से मिली, तो उसने बताया कि शनिवार को शाम में आज साथ में पार्टी करेंगे, फिर तू उन दोनों के साथ मौज करना.

बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार उसने मुझे अपने दोनों हाथों से ज़ोर से दबाया और मुझे बिस्तर पर गिरा दिया. जब भाई का लंड मेरी चूत की जड़ तक गया, तो मेरे मुँह से एक जोर की आआअह्ह निकल गयी.

सुमन अपनी चूत को मेरे होंठों पर धकेलते हुए आह-आह करते हुए अपनी चूत चुसाई का मजा लेने लगी थी.

एक्स एक्स एक्स मारवाड़ी

घर के पास पहुंचकर मैंने इधर-उधर नजर डाली और जल्दी से हम दोनों मेरे घर के अन्दर घुस गए. अगर मैंने शराब न पी होती तो शायद मेरा जमीर एक बार के लिए मुझे रोक भी लेता मगर सेक्स और शराब का नशा मेरी आत्मा की आवाज को बाहर नहीं आने दे रहा था. ये मुझे चोदने के लिए अपने शहर से आये हुए बैठे थे और मैं उनसे दूसरे ही ढंग से पेश आ रही थी.

जब कई बार उसकी चूत का पानी निकल चुका तो सुमन का मन भी अब लंड लेने को करने लगा. यह मेरी कुंवारी चूत की पहली चुदाई थी इसलिए उसका लंड मेरी चूत में नहीं जा रहा था. उधर सामने टीवी में चुदाई चल रही थी, इधर में चाची को कुतिया की तरह चोद रहा था.

मैंने झट से रिप्लाई किया- आपसे एक बात पूछना चाहता हूँ, आप नाराज तो नहीं होंगी ना?उसने कहा- पूछो ना … मैं भला क्यों नाराज होऊंगी.

इस बार चुदाई वाली पार्टी रखो, कोई लौंडिया हो, तो बुला लो, उसी के साथ दोनों भाई मस्त दारू पी पी कर रात भर चुदाई करेंगे. उसकी नंगी चिकनी टांगों की तरफ निगाह गई … तो उसने नीचे मिनी स्कर्ट पहन रखी थी. मैं भी मौसी को पूरी तरह तड़पाना चाहता था, इसलिए बीच बीच में लंड को चूत के छेद पर रखता और धीरे से धक्का देता और फिर पीछे करके फांकों में ऊपर नीचे करने लगता.

और फिर मैंने उसकी मुलायम झांटों पर अपना लंड टिकाया और फनफनाते हुए लंड से उसकी चूत रगड़ने लगा. फिर मैं उठा और उनकी सलवार को नीचे खींचकर उतार दिया और साथ में उनकी पेंटी को भी! मैंने देखा कि उनकी चूत गीली थी. मेरे पूछने पर बोली- कुछ नहीं आज पता चला मेरी ननद कितनी नसीब वाली है कि उसे आपके जैसा पति मिला है.

मेरी परेशानियों को भी वे समझने लगी और धीरे धीरे हमारी फ्रेंडशिप बढ़ने लगी. मुझे सॉफ्ट ड्रिंक्स या शरबत पसंद नहीं … सेहत के लिए बुरे होते हैं … और तुमको तो मुक्केबाज़ी भी करनी है इसलिए ताक़त वाली चीज़ें हैं सब … और हाँ अगर आँखें पूरी तरह से हरी न हुई हों तो मैगज़ीन गिर गयी है, उठा लो और मज़े से देखो अपनी फेवरिट हीरोइन को!” मैडम की मीठी आवाज़ सुन के यूँ लगता था जैसे दूर कहीं हल्के हल्के से घंटियां बज रही हों.

पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था. करीब 20 मिनट के बाद वो बाथरूम से बाहर निकली, वो भी सिर्फ एक टॉवल में. मोनी के पैरों को सहलाने में मुझे मजा सा आ रहा था इसलिये उसके पैरों को सहलाते-सहलाते मैंने अब अपने पैर से धीरे-धीरे उसकी साड़ी व पेटीकोट को ऊपर की तरफ खिसकाना भी शुरू कर दिया.

आपको शर्म आती है, इसीलिए हाथ से काम चला रहे हो, वरना आपके लिए तो कोई भी तैयार हो जाए.

दस मिनट तक मेहनत करने के बाद मैंने सुमन के मुंह पर अपनी चूत का पानी फेंक दिया. नम्रता की बात खत्म होने पर मैंने उसकी चूत को सहलाते हुए कहा- यार मजा तो तुम्हारी चूत और गांड में भी है. नीचे की तरफ वाले लड़के ने मेरी चूचियों को मुंह से निकाल दिया और मेरी पैंटी को खींच कर मेरी टांगों से बाहर करते हुए साइड में फेंक दिया.

मुझे समझ आ रहा था कि वो अब झड़ने के कगार पर है, इसलिए ऐसा अकड़ रही है. उसको किस करने के साथ मैं उसे सहलाए जा रहा था और उसके मम्मे मसल रहा था.

उन्होंने पूछा- उसके साथ कभी सेक्स किया था?मैंने बोला- हां 1-2 बार, लेकिन वो बहुत डर डर के सेक्स करती थी. मैं बार बार बाहर की तरफ ध्यान दे रही थी और वो मुझे दबाने में मस्त था. मैंने उसकी झांटों पर हाथ फेर कर उसकी आंखों की तरफ देखा, तो उसने बताया- अभी पांच दिन पहले ही उसने साफ़ किए थे.

desi छुड़ाई

अपने बैग से मैंने अपना व्हिस्की का हाफ निकाला और सीधे बोतल से नीट दारू खींच ली.

नहाकर अपने साथ लाई हुई टी शर्ट व लोअर पहनकर कमरे में आया तो वो सो चुकी थी. आंखें मसलते हुए बोले कि बेटा मेरी आंख में कुछ गिर गया है, जरा देख तो क्या हुआ है. मैंने उसके बोबे अपने हाथ में लिए और उसकी नंगी पीठ से बिल्कुल चिपक गया।मेरे ऐसा करने से वो वासना में डूब गयी। मैं उसी अवस्था में उसके कंधों पर चूमने लगा। उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकली- आहह!मैंने चुंबन जारी रखा.

मुझे भाभी का लंड सहलाना बहुत अच्छा लगने लगा, इसलिए मैं कुछ नहीं बोला. शुरू शुरू में लंड को अन्दर बाहर करने में मुझे भी मौसी के चूत में कसाव महसूस हुआ, पर जल्दी ही मौसी की चूत ने मेरे लंड के लिए रास्ता बना दिया और फिर मेरा लंड आराम से चूत में अन्दर बाहर होने लगा. सेक्सी एक्स एक्स एक्स वीडियो पिक्चरएक दिन मेरा फोन बजा- ट्रिंग ट्रिंग ट्रिंग …अज्ञात नम्बर था। ऐड वगैरह के अनजान नंबर से फोन आते रहते थे.

वह बोली कि उसके कोई रिलेटिव अभी आने वाले हैं तो इसलिए अब तुम्हें यहाँ से चले जाना चाहिए. मैं कुछ देर सौरव से नहीं बोली और बस चुपचाप अपनी गांड की चिनमिनी को मिटाने के लिए गांड सहलाती लेटी रही.

फिर रितेश बिना मेरी तरफ देख हुए आवाज लगाई- साले साहब, आप क्यों अजनबियों की तरह बाहर खड़े हो. मैंने बहन को मैसेज किया- तैयार रहना!मैं घर पंहुचा तो उसने दरवाजा खोला. कंप्यूटर क्लास खत्म होने के साथ मैंने RS-CIT एग्जाम के लिए भी फॉर्म भरा था, जिसका सेंटर मुझे जैसलमेर मिला.

मैंने इस साइट पर प्रकाशित की गयी सभी स्टोरीज़ को पढ़ा है। मैं बहुत दिन से अपनी एक रीयल स्टोरी अपको बताना चाह रहा था पर टाईम न होने की वजह से लिख नहीं पाया. उपिंदर ने उसके होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया- चिंता न कर … सब ठीक हो जाएगा. तभी कानों में मैडम की सुरीली आवाज़ आयी- ओह हो … तो आँखें हरी की जा रही हैं … तुम्हारी फेवरिट है क्या वो?मैं हड़बड़ा के उठा, मैगज़ीन भी नीचे गिर गई.

आस पास के इलाके में कौन सी लड़की का किसके साथ चक्कर चल रहा है … वगैरह वगैरह.

ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई ग़लती हो, तो प्लीज़ माफ़ कर देना. उसने कहा- आप कौन हैं?मैंने कहा- जी मैं पंकज हूँ राजस्थान से आया हूँ … आपने बुलाया था.

जैसे ही घर से निकल कर सब अपनी-अपनी गाड़ियों में बैठे, वसुन्धरा मैडम ने हंगामा खड़ा कर दिया. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपनी बुआ और ताऊ जी के बारे में कुछ बता देना चाहता हूँ. मैंने उसके हाथ को अपने हाथ में थाम लिया, उसने भी कोई ऐतराज नहीं किया.

शायना बुआ कराहते हुए बोलीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… साले हरामजादे … बोला था न आराम से डालिओ … मेरी चूत को फाड़ेगा क्या?मुझे बुआ के मुँह से गाली सुन कर और जोश आ गया. एक औरत ने मौसी का हाथ मेरे लंड पे रखा और मेरे हाथ मौसी के चुचे पर रखवा दिए. जैसे ही आंटी को इस बात की भनक लगी कि मैं उनकी चूचियों को ताड़ रहा हूं तो आंटी ने मुझे देख कर अपनी चूची छुपा ली … बहनचोद बहुत शरीफ़ थी वो.

बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार मौसी भी मस्त आवाज निकाल कर अपनी गांड पीछे करते हुए मेरे लंड से टक्कर ले रही थीं. और वसुन्धरा जी! आप भी ध्यान रखना प्लीज़! हम घर नहीं गए, कोई कारण ही नहीं था घर जाने का.

चूत की चुदाई देखना

उसने मेरी आँखों में देखा और बोली- क्या ये सही रहेगा?मैंने कहा- मैं तुमको प्यार करता हूँ और तुमको पाना चाहता हूँ. मैंने उससे उस फेक आईडी के बारे में उससे जानकारी ली, तो उसने मुझे वो आईडी और उसका पासवर्ड मुझे दे दिया. ”ठीक है बेटा!” वो बोले और मुझे सोफे से उठा लिया और मेरा हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले चले.

बलवन्त ने मुझे घोड़ी बनाया और तेल की शीशी खोल कर ढेर सारा तेल मेरी गांड के छेद में डाल दिया. सोनल- मजा तो भाई आपको हम दोनों की चुत की धज्जियां उड़ाने में आया होगा. सेक्सी वीडियो एचडी 2020 केचाची चिल्लाते हुए गांड उठा कर बोलीं- आह राहुल … मैं झड़ने वाली हूँ.

सरिता और नीना की कामुकता से भरी ये मस्ती को देखकर मेरा मन भी बेकरार हो गया.

मामा के जाने के कुछ देर बाद मामी ने मुझे नीचे बुलाया और बोलीं- मेरा अकेले मन नहीं लग रहा है … आ जाओ टीवी देखते हैं. तुम कितनी देर में पहुंच रही हो?मैंने कहा- ठीक है, अभी तो मैं जीजा के साथ चित्रकूट के लिए निकल रही हूं.

अपनी सारी उत्तेजना को मोनी की चूत में उगलने के बाद मैंने उसे छोड़ दिया और करवट बदलकर अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया।उसके बाद पता नहीं मोनी ने क्या किया और क्या नहीं … मगर शराब के नशे के कारण मुझे कुछ देर बाद ही नींद आ गयी।कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. मेरी चुदाई का आलम यह था कि बीवी को किचन में चाय बनाते हुए, पीछे से साड़ी उठाकर चूत चाटकर गर्म कर देता था और रसोई में ही उसे कुतिया बनाकर चोद देता था. उन्होंने मुझे अब सोफे पे लिटा दिया और मेरी गोरी जांघों को फैला दिया.

अगर आपने मेरी पहली कहानी नहीं पढ़ी है तो पढ़ लीजिएगा ताकि कहानी का पूरा मजा आए.

मेरी चूची को चूसने के बाद वो मेरे निप्पल को चूसने लगा और उसको अपने दांतों से काटने लगा. इस बीच में जब मैं दीदी के घर गई तो मैंने कई बार जीजा जी को तौलिये में देखा था. अब मुझे उससे चुदवाने में डर भी नहीं लग रहा था और हम दोनों लोग आराम से सेक्स कर रहे थे.

भोजपुरी हीरोइन फोटो सेक्सीशुरू शुरू में लंड को अन्दर बाहर करने में मुझे भी मौसी के चूत में कसाव महसूस हुआ, पर जल्दी ही मौसी की चूत ने मेरे लंड के लिए रास्ता बना दिया और फिर मेरा लंड आराम से चूत में अन्दर बाहर होने लगा. मैं उसकी चुचियों को छोड़कर उसके होंठों पर आ गया औऱ एक हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा.

ट्रिपल एक्स सारखे आणखी

राधिका की खेली खाई चूत में लंड पेलते ही मैंने अपने झटकों की स्पीड बढ़ा दी, जिससे राधिका भी गरम आहें भरने लगी- अह आह राज फक मी हार्ड आह ओह!राधिका को पंद्रह मिनट तक चोदने के बाद हम दोनों साथ में झड़ गए. पर उन्होंने मौसी के कपड़े और बैग फेंक दिए थे तो उन्होंने मेरे कपड़े और एक वाइट सूट सलवार दिया, जो बहुत चुस्त था, जिसे पहन कर मौसी की हर चीज़ दिख रही थी. आगरा से ट्रांसफर होकर जब मैं कानपुर आया तो मैंने कानपुर में जो मकान किराये पर लिया.

मामी भी मुझे अपने मुँह से खाने का कौर खिला देतीं, तो मैंने उनके पूरे होंठों समेत निवाले को खाते हुए अपने होंठों से दबाए रहता. मैं उसकी पुत्तियों को भी होंठों के बीच दबाकर आईसक्रीम की तरह चूसने लगा. मैं जब अपने गांव से चला, तो वहां पहुंचने तक भाभी मुझे 15 कॉल कर चुकी थी.

नम्रता- तुमने मुझे बहुत बड़ा सुख दिया है, मुझे जिस सेक्स की चाहत थी, वो तुमने पूरी कर दी. कुछ देर तक उसने मजे से चूत चटवाई और मुझे दोबारा से खड़ा होने के लिए ऊपर की तरफ खींचा. एक बार तो उसको देख कर मैं सकपका गया क्योंकि मैंने अभी अभी तक पैंट नहीं पहनी थी.

एक लड़का मेरी बहन पूनम के बूब्स पकड़ कर दबा रहा था और दूसरा उसकी जांघों को सहला रहा था. शायद गर्मी के कारण मोनी की भी नींद खुल गयी थी‌ जिससे डर के मारे मेरी अब हालत ही खराब हो गयी। मगर मोनी‌ ने मुझे अपने से दूर हटा कर अब एक बार तो मेरी तरफ देखा, फिर करवट बदलकर वो फिर से सो गयी।वैसे मोनी‌ के साथ कुछ गलत करना तो दूर मैंने कभी सपने में भी उसके बारे में गलत नहीं सोचा था.

मैंने पूछा तो बोली- महेश का खड़ा नहीं होता, वो बस मुझे हर रात गर्म करने आता है.

काफी दिन से लोड़ा ना मिलने के कारण मेरा मन बस उस पर ही अटका रहा।2 बजे छुट्टी होने पर मैंने उसे कॉल कर बुलाया और रास्ते में बहुत सी बातें हुईं और उसने मुझे मेरे घर ड्राप कर दिया और मैंने उसे आने जाने का टाइम बता दिया।अगले दिन भी वो टाइम पर आ गया. सेक्सी गुलाबीअब तक की कहानी में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बहन को मूवी हॉल में लेकर गया था. सेक्सी पंजाबी पंजाबी सेक्सीइस कहानी के बारे में आपको कुछ कहना है तो आप नीचे कमेंट करके बता सकते हैं या फिर मेरी मेल आई-डी पर भी मैसेज कर सकते हैँ. इतने में मेरे दोस्त की मम्मी ने हमें खाना खाने बुला लिया और हम जाने लगे.

मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने नए मित्रों को अपना परिचय दे देता हूं.

तब उन्होंने मुझसे लिपटते हुए खुलकर बताया- मैं तुमसे चुदना चाहती थी. मैं उसके पैरों पर अच्छे से मालिश करते हुए उसकी जांघों को चूमने लगा. इस पोजीशन में अच्छी बात ये थी कि लंड चूत में पूरा जड़ तक जा रहा था और स्पीड बढ़ाने पर थकावट भी नहीं लग रही थी.

शादी सर्दियों के दिनों में थी और उस रात मैंने शराब का सेवन कर लिया था. नैना ने लॉन्ग स्कर्ट पहनी हुई थी और ऊपर ब्लाउज़ जैसा टॉप था, जिससे उसका पेट नजर आ रहा था. वो बोल रही थी- प्लीज़, अब मेरे अन्दर अपना डाल के मुझे चोद दो … और मत तड़पाओ.

एक्स एक्स एक्स की मूवी

काजल एकदम से सकपका गई और वो मोबाइल वापस देने के लिए मुझसे कहने लगी. मुझे कुछ सूझता, उससे पहले माँ ने मेरे पजामा में हाथ डालकर मेरा लंड पकड़ लिया. मैं उसके पैरों पर अच्छे से मालिश करते हुए उसकी जांघों को चूमने लगा.

मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो गया था उसकी चूत में वीर्य निकालने के बाद.

जब वह मेरे साथ बाइक पर बैठकर कहीं जातीं, तो उनके चूचों का स्पर्श पाकर लंड कुलांचें भरने लगता था.

उसे देख कर मैं खेत के पीछे से घूमकर धीरे धीरे सीढ़ियों से ऊपर चला गया. मेरे पास एक पुरानी साइकिल थी स्कूल जाने के लिए जो यदा कदा मुझे सताती रहती थी, कभी पंक्चर कभी पैडल टूटना कभी चैन टूट जाना कभी हैंडल ढीला; इन्हीं सब मुसीबतों से जूझते हुए मैंने स्कूल पास किया. बीपी सेक्सी ब्लू इंग्लिशमेरे लिए तो चूत का यह पहला अनुभव था इसलिए पता नहीं चल पाया कि माँ की चूत कितनी टाइट है.

इधर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, मैं अपनी जीभ उसकी चुत में डाल कर जीभ से चोदने लगा. पिछले दो घंटों से अलग अलग तरीकों से गर्म होने के बाद फाइनली मेरी चुदाई होने जा रही थी. हमारी सीट के बगल में कुछ और लोग बैठे थे, जो हम लोगों को बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड समझ रहे थे जबकि हम दोनों तो अभी अभी मिले ही थे.

बड़ी देर बाद जो झड़ा तो मैं तो उसके वीर्य की बरसात से सराबोर होने लगी. मेरे हर धक्के से वो हिल रही थी, तो साथ ही उसकी पाजेब और चूड़ियों की छमछम छमछम की आवाज़ गूंज रही थी.

”सारी बातचीत मैं इसलिये कर रहा था कि मुझसे थोड़ा खुल जाये और साथ साथ मैं उसके शरीर का एक्सरे कर सकूं.

उसने खुद ही उस लड़की के शर्ट उतारी और फिर उसकी पैंट की बेल्ट भी खोलने लगी. चुदाई से पहले हम दोनों को ठंड लग रही थी लेकिन सेक्स करने के बाद हम लोग ठंड को भी भूल गए थे. इसके बाद दो पल की चुप्पी के बाद मैंने कहा- आपको कुछ काम था ना?उसने कहा- हां है ना तुमसे काम.

रंडी रंडी की सेक्सी वीडियो वीर्य को उनकी चूत में खाली करने के बाद जीजा जी कुछ देर के लिए शांत हो गये. उसने मुझे चोदने के लिए एक अलग फ्लैट ले लिया था जो मेरे घर से थोड़ी ही दूरी पर था.

बाप बोला- हां बेटी … उंगली से चुदवाकर अपना छेद फैलवा लो, जिससे जो लड़का तुम्हारी दीदी को चोदेगा, वह तुमको भी तेल लगाकर चोद देगा. लंड को डाल कर मैंने पूछा- पहले भी किसी का लंड ले चुकी हो क्या दीदी?वो बोली- नहीं, बैंगन डाल लेती थी जिससे मेरी सील पहले ही टूट चुकी है. मैं अपनी बाजू में लेटी सोनल के मम्मे मसलते हुए उसे किस कर रहा था और वो भी मेरा साथ देती हुई अपनी चुत में उंगली घुमा रही थी.

चाचा और भतीजी की चुदाई

भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे कहने लगीं- देवर जी, तुम्हारा औजार तो वाकयी बहुत ही बड़ा है और शानदार भी है. अपनी गोदी में लेटा कर उसके चूचों को दबाते हुए उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने उससे पूछा- डू यू वांट इट स्लो डाउन (आराम से करना चाहती हो)वो कुछ नहीं बोली, उसने बस न में सर हिलाया.

वे बोलीं- पति देव, आज तो कमाल कर दिया … अब तो तुझे रोज ऐसे ही चटाऊंगी. फिर मैंने कहा- हिना जी आपको आपकी ब्रा और पेंटी भी खोलनी होगी, नहीं तो मसाज अच्छी नहीं होगी और तेल आपकी ब्रा पेंटी पर लग जाएगा.

वो बोले- तेरी गांड बहुत मस्त है बंध्या, मैं तुझे चोद चोद कर पागल कर दूंगा.

सोनल के हाथ में सिगरेट फंसी थी, जिसे वो बड़े मजे से पीते हुए राधिका के मम्मों पर फूंक रही थी. इस कहानी को पढ़ कर आपको खुद के कुछ किस्से याद आए या नहीं, ये भी लिखना. कुछ ही देर बाद मुझे लगा कि मैं झड़ जाऊंगा, तो मैंने उससे कहा- मेरा निकलने वाला है.

अंडरवियर खिसका कर नीचे देखा, तो उसका 8 इंच मोटा लंड सांप सा लहरा रहा था. जब नम्रता ने पाया कि अभी भी मेरा रिएक्शन ढीला है, तो वो मेरे मुँह से अपनी चूत रगड़ने लगी. मैं बाथरूम के दरवाजे के छेद से ये सब देख कर मुस्कुरा रही थी कि मेरी तरकीब काम कर गयी थी.

मामी बोलीं- बड़े नाजुक हो यार!मैं मामी के मुँह से यार शब्द सुनकर ज़रा चौंक गया.

बीएफ सेक्सी हिंदी बिहार: उसने अचानक नीचे बैठ कर मेरी पैन्ट खोल कर मेरे लंड को बाहर निकाल कर चूसना शुरू कर दिया. जोकि किसी भी लड़की को होना सामान्य था ‘बदनामी का डर’ फिर भी वो मुझ पर विश्वास करके मेरा साथ दे रही थी।मैंने उसके हाथों को आगे करके फिर से उसकी लाल ब्रा से बांधा और ऊपर कर दिया। मैंने उसके होंठ चूसना चालू किया.

उनके जाने की सुनकर मैं तो परेशान हो गई कि मेरा क्या होगा? उनको साथ में फैमिली को ले जाने की परमीशन नहीं थी, तो मुझे मुंबई अपने घर ही रुकना पड़ा. आज अल्लाह के करम से तुम मेरी होने वाली हो!वह और भी शर्माने लगी और मेरे बहुत कहने पर मीठी आवाज़ में बोली- मैं भी आपको प्यार करती हूँ. मैंने दोबारा अन्दर देखा, तो बाप और दोनों बेटियों यानि उन तीनों को बिना कपड़े के देखकर मैं गनगना गई.

फिर एक स्टेशन पे बस रुकी, तो मैं पानी और कुछ खाने का सामान लेने के लिए नीचे उतर रही थी.

मैं सुमन को पूरी तरह से गर्म कर देना चाहती थी और मैं इसमें तेजी के साथ कामयाब भी होती जा रही थी. वो भी उसके बालों को सहलाते हुए मस्ती में अपनी गांड को आगे-पीछे करते हुए उसको अपना लंड चुसवा रहा था. अभी मेरे मन में उसको चोदने का ख्याल तक नहीं आया था लेकिन आज जब उसके स्पर्श को हासिल करने में कामयाब हो ही गया था तो भला ख्याल आने में कहां देर लगनी थी! बार-बार उसकी जांघ से मेरी जांघ टच होने के कारण मेरा लंड तनना शुरू हो गया था.