गंदी बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ अंतर्वासना

तस्वीर का शीर्षक ,

गांव की देसी बीएफ पिक्चर: गंदी बीएफ सेक्सी, अब तक तो हम एक-दूसरे की बीवियों को वैसे ही देख कर इतनी उत्तेजना महसूस कर रहे थे लेकिन जब उनकी ब्रा और पैंटी भीग गई तो आप हमारी हालत के बारे में सोच सकते हैं.

बीएफ फुल वीडियो एचडी

मैं भी अपनी चूतड़ों को स्लैब के सहारे टिका कर उनके धक्कों का मज़ा लेने लगी. बीएफ वीडियो बीएफ एचडीफिर भी पीठ तक आते रेशमी बाल गालों पर आती लटें, दमकता बादामी गोरा रंग, शर्माती लेकिन पलकें झुका कर बिजली गिराती निगाहें, पतले से नाजुक कातिल होंठों की वजह से मुझे देखने वाले लड़कों को अपने पैंट के भीतर ही लंड ठीक करना पड़ रहा था.

उस दिन मैंने भाई को बोल दिया था कि अब और ज्यादा चुदाई नहीं करेंगे तो भाई ने भी मेरी बात मान ली और वो अब केवल पढ़ाई में ध्यान दे रहे थे. बीएफ बीएफ बीएफ देहाती बीएफसाकेत भैया समझ गए कि ये खुद से नहीं उतारेगी … उन्हें ही कुछ करना होगा.

वो बोला- तो फिर ठीक है बंध्या, तुम तो जानती हो कि 24 तारीख को शादी है और आज 18 हो गई है.गंदी बीएफ सेक्सी: सोनिया- ओह्ह्ह रोहन अपनी आंखें बंद करो … मेरे बारे में सोचो, इमेजिन करो.

लंड चूसते चूसते मैंने अपनी आंखें ऊपर की ओर शान की तरफ देखा, तो वो अपनी आंखें बंद करके लंड चुसाई का मजा ले रहा था.पापा ने पूछा- मगर तू क्या कर रहा है?भाई ने कहा- आप लोग बस देखते जाओ और मजे लो.

दिल्ली की बीएफ एचडी - गंदी बीएफ सेक्सी

तभी राजीव फ्लोट करके नायरा के पास आ गया और मुश्ताक फ्लोट करके पिंकी के पास चला गया.सोमवार को माल में घूमते समय शबनम बोली- यार आज तो एक मिनी स्कर्ट और छोटा सा टॉप लेना है.

क्योंकि अब अगर मैं तुम्हें लेकर ऊपर गया तो वो सब मिलकर तुम्हारी बुर का भोसड़ा बना देंगे. गंदी बीएफ सेक्सी मेरा लंड अच्छे से खड़ा हो गया तब मैंने बैग से स्पेशल क्रीम निकाल कर लंड पर और मेम की गांड के छेद पर लगा दी.

चूंकि हम दोनों ने अब तक कभी सेक्स नहीं किया था, तो आप सोच सकते हो कि सेक्स करने की कितनी बेसब्री होती है.

गंदी बीएफ सेक्सी?

धीरे-धीरे भाभी मुझे इस तरह सैट कर रही थीं कि मेरा लंड उसके मुँह पर आ गया था. सारिका यशिमा के पास आई और उसके मम्मों को दबा कर बोली- रानी, कैसा लगा मेरे राजा का लंड?यशिमा सारिका की तरफ आंख मार कर बोली- साला बड़ा बेदर्दी है … रहम ही नहीं करता. अब जब चुत तो वो खुद चटवा रही थी, तो मैंने भी अपने दोनों हाथ ऊपर ले जाकर उसके दोनों चुचों को पकड़ लिए और उन्हें ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा.

पर अभी तक जेठजी न ही अपने कमरे से निकले और ना ही मुझे खाने के लिए आवाज दी. एक दिन जब मैं कॉलेज के लिए निकल रहा था तो उन्होंने कहा- आरव, आज तुम्हारी भाबी ने तुम्हारे लिए कुछ खास प्रोग्राम बनाया है, तुम्हारा रात का डिनर आज हमारे यहां ही होगा. मुझे नहीं पता था फोन पर बात करके भी झड़ने में भी इतना ज्यादा मजा आ सकता है.

उसके चूचों पर उसके निप्पल दाखी रंग के (ब्राउन) ऐसे मस्त लग रहे थे, जैसे मिट्टी की गोल गुल्लक के ऊपर उनकी मुंडियां लगी हों. फिर मेरे हस्बैंड हम सबके लिए कुछ ठंडा लेकर आए और हमने फिर आराम किया. मेरी पिछली कहानीप्यासी विधवा औरत से प्यार और सेक्सजब प्रकाशित हुई थी तो मेरे पास काफी सारे मेल आये.

मैं उसके होंठों को एक बार फिर से चूसने लगा और हाथ से उसकी चूचियों को सहलाने लगा. केवल इस ख्याल ने कि अंकित उसकी टांगों के बीच में है, उसको वो चरमसुख दे दिया जो बहुत मेहनत के बाद भी मुश्किल से ही मिलता है.

चाची के साथ मैंने आगे क्या क्या मजे लिए और कैसे मैंने उनकी गांड मारी, वो सब अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

नित्या जल्दी से उठ कर निधि के पास आई और निधि को किस करने लगी और बूब्स को दबाने लगी।निधि की आंखों से में आंसुओं की धारा बहने लगी थी.

संजू उसे सहलाते हुए बोली- अब क्या फिर से करने का इरादा है बाबू?रोहित हंसा और बोला- नहीं भाभी … भाभी आई लव यू. दीदी- क्या? तुम पागल हो क्या?श्वेता दीदी- क्यों क्या दिक्कत है?दीदी- किसी ने देख लिया, तो क्या होगा है … पता भी है तुम्हें?श्वेता दीदी- अरे वो दिन में थोड़ी ना आएंगे … वो तो रात में आएंगे. मन और लंड दोनों ही उसके बारे में सोच कर बेचैन रहे लेकिन दो दिन तक उसका कॉल नहीं आया.

मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता हूं, लेकिन यह आपकी परमीशन के बिना संभव नहीं है. मेरी चीख निकल गई … लेकिन अभी चीखने चिल्लाने से किसी बात का कोई डर नहीं था. मैं- तो मुझे डराया क्यों?वो- मैं देखना चाहती थी कि तेरी गांड में कितना दम है?मैं- तो कितना है?वो- बहुत है रे, तू मुझे भा गया!हम दोनों वहां से फिर से पार्टी में वापस आ गए.

वो मेरे सामने आ गया और मेरी गालों पर हाथ रख कर बोला- मेरी जान बंध्या, मेरे सामान को ऐसे मत घूरो, यह तुम्हारा है.

”पी रखी थी … ओ हां कल रात मैं पार्टी में थी फिर!”चल ज्यादा जोर मत डाल दिमाग पर … उठ जा, कॉलेज नहीं जाना क्या?”नो दीदी आई एम नॉट फीलिंग वेल. अब उससे रहा नहीं गया और उसकी चूत से एक तेज धार फूट पड़ी जिसका गीलापन मैंने अपनी उंगली पर लगाया और उसको चटा दिया. तुम्हारे जाने के बाद रात को ही मैंने इसे फोन किया और सारी बात जानी, तो यह बोली कि भाभी आपकी चुदाई देखकर और दोस्तों से उसकी चुदाई की बातें सुनकर मैं बहुत उत्तेजित हो गई हूँ.

अगर उनको मिलना है तो उसी होटल में मिल सकते हैं, जहां पिछली बार मिले थे. जब मैंने उसके लंड को अपने मुँह में भर कर चूसना शुरू किया, तो उसने भी 69 में आकर अपनी जीभ मेरी चूत पर रख दी और वो मेरी चूत से निकल रहे कामरस को नमकीन शहद की तरह चाटने लगा. उसने हल्का मेकअप भी किया हुआ था और उसका चेहरा चौदहवीं के चांद की तरह चमक रहा था.

मगर मेरे दोस्त की उत्तेजना इतना बढ़ गई कि उसने मेरी बीवी को बीच में ही अपनी गोद में उठा कर पानी से ऊपर कर दिया.

मैं उनके पास आकर बैठ गया और उनकी जांघ पर हाथ रखते हुए कहा- चाची जी, ये क्या कर रही हो आप?चाची जी एकदम से डर कर उठीं और हाथ बाहर निकाल कर भागने लगीं. बाद में हम मयूर के कमरे में चले गए उसने कमरा एकदम बहुत ही अच्छी तरह से सजा रखा था.

गंदी बीएफ सेक्सी कॉलेज में वो साला मुझे बहुत लाइन मारता था, लेकिन मैं उस पर कभी ध्यान नहीं देती थी. कुछ देर तक शान्त बैठे रहने के बाद मैंने फिर से सबा को खींच कर अपने करीब बैठाया.

गंदी बीएफ सेक्सी उसी समय चाची के मुँह से बहुत जोर से सिसकारी निकली- हाय माँआआआ मर गई … आह आह ओह मेरी जान श्श्श्श्श्श यस उन्ह आंह …चाची भी लगातार मेरे लंड को पूरा मुँह में ले कर चूसने लगीं. उनके जाने के बाद मैंने लंड को बाहर निकाल कर मुठ मारी और फिर सो गया.

दोस्तो, इसके आगे की कहानी मैं आपको सोनम की जुबानी बताऊँगी क्योंकि उसकी चुदाई सुनकर आप लोगों को और ज्यादा मजा मिलने वाला है.

सेक्सी ओपन फुल मूवी

मेरे कपड़े गंदे हो जाते।अब मेरे पास इसके आगे कहने के लिए कुछ नहीं था. चाची को एक पल के लिए बुरा लगा, मगर उन्हें अगले ही पल अच्छा लगने लगा. … बड़ा मस्त चूसता है मादरचोद … मेरी दो बहनों की गांड मारी है तूने, चुत भी चोदी है.

मनोज ने सिगरेट जला कर उसे वाशरूम में ही दी क्योंकि सुनील आने वाला था. मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरी चूत में अपना पूरा लंड अन्दर तक डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था और मैं अपनी गांड उठा कर अपने ब्वॉयफ्रेंड का लंड अपनी चूत में जड़ तक ले रही थी. मगर उनके सामने अब एक और समस्या थी कि दोनों के सामने ही गैर मर्द थे, वो भी अर्धनग्न अवस्था में, थोड़ी शर्म आनी तो जाहिर सी प्रतिक्रिया थी.

पहले तो वो सामने से आती थी तो हंसी मजाक हो जाता था लेकिन अब ऐसा कुछ नहीं था.

खासकर वैसी महिलाओं को, जिनके पति बिजनेस के सिलसिले में शहर या देश से बाहर रहते हैं. थोड़ी देर और चोदने के बाद सुहास भी झड़ गया और हम दोनों बेड पर नंगे ही लेट गए. लंड के फंसते ही मैंने पहले धक्के में उसकी चूत में आधा लंड अन्दर कर दिया था.

जैसा कि मैंने पहले भी कहा था कि शान दिखने में ज्यादा हैंडसम नहीं था. बगल में टेबल के ऊपर एक ट्रे रखी थी, उसको एक कपड़े के अन्दर छिपाया हुआ था. दोस्तो, मैं राजवीर सिंह दोबारा से अपनी नई गाँव की भाभी सेक्स कहानी के साथ आपके सामने हाजिर हूँ.

जब मैं अंडरवियर पहन कर गेट खोलने गया, तो देखा कि सामने के घर में रहने वाली भाभी थीं. उसको लगता कि इन सारी चीजों की वजह से शायद अंकित को कुछ समझ में आ जाये और वो अपनी तरफ से पहल करे.

जेठजी कुछ देर तक मेरे चेहरे को देखते रहे और उस दौरान मैं हल्के हल्के से मुस्कुराती रही. इसके बाद भैया ने मेरी जीन्स को भी उतार दिया और मेरी चड्डी को फाड़कर फेंक दिया. वो बोले- बंध्या, जो भी तुम्हारी चूत को पा लेगा, वह उसके लिए लाइफ का सबसे बड़ा अचीवमेंट होगा.

जब पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया तो वो बोली- अब धीरे धीरे इसको बाहर निकालो और दोबारा से ऐसे ही ट्राई करो.

दीपा ने पूरे मन से मनोज का लंड चूसना शुरू किया और वो मनोज को जल्दी ही इस स्थिति में ले आई कि मनोज चीखने लगा- मेरा निकलने वाला है. अब मैं मन ही मन में जेठजी का जल्दी पानी निकलने की प्रार्थना करने लगी थी. मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में लेकर चूसा और उसका नीचे वाला होंठ काट भी लिया.

साथ ही वो मेरा सर दबा रही थी कि मैं उसके मम्मों को और जोरों से चूसूं, जिससे उसकी चूत में चुदास बढ़ने लगे. तब मैं समझी कि कुमार और विक्की मिल कर मुझे फंसाए हुए हैं और उन दोनों को सब पता है कि मैं दोनों से चुदवाती हूँ.

मैंने उसको अपने ऊपर जकड़ लिया … और ज़ोर ज़ोर से धक्के नीचे से मारने लगा. फिर महेश ने ज्योति के मुँह से लंड निकाला और उसके होंठों को चूमते हुए कहा- ज्योति मेरी जान, अब अपनी प्यारी चूत को चोदने दो. अब आगे:बॉस को देखते हुए मैंने अपने बेडरूम में जाकर एक मिनी टॉप और छोटी सी स्कर्ट पहन ली.

लौंडिया लंडन चलाएंगे रातभर डीजे बजाएंगे

सबा पहले तो कोशिश कर रही थी कि वह बड़े आराम से मेरा पूरा लंड अन्दर ले लेगी, लेकिन जब थोड़ा सा और अन्दर घुसा … तो वह दर्द के वजह से छटपटाने लगी और उसने मेरे होंठों पर दांत से काट लिया.

उनका लंड नीचे से कमाल दिखा रहा था और वो ऊपर अपने हाथ और मुँह से मुझे मजा दे रहे थे. खाना गर्म करने के बाद मैंने फिर से रसोई से झांक कर देखा, पर अभी भी जेठजी नहीं दिखे. कुछ देर तक चोदने के बाद उसके पिताजी ने अपना लंड ज्योति की चूत से बाहर खींचा और उसके मुँह में डाल दिया.

फिर मैंने उसे सर की तरफ से हाथों को पकड़ा और पैरों को भाभी ने पकड़ लिया. मैंने अपना सारा मूत मेरी बहन की चुत के ऊपर धार मारते हुए गिराने लगा. बिहार का हिंदी बीएफ वीडियोइस वक्त साधना भाभी नीचे को हुईं और एक धक्का देते हुए मेरे खड़े लंड को पूरा अन्दर ले लिया.

सुबह मेरी ननद और भाभी ने बताया कि तुम्हारी आवाज तो बाहर तक आ रही थी. मैंने पूछा- और आपका भी मन है क्या? आपको प्रिन्स के नये यंग लंड से एंजाय करने का मन है क्या?वो बोली- जैसा आप बोलो.

मैंने सरोज भाभी के पीछे आकर उनके चूतड़ों को पकड़ा और उनकी पैंटी को साइड में करके चूत में पीछे से ही लंड पेल दिया. मासी का ब्लाउज काफी गहरे गले और पीछे से छोटी सी एक इंच वाली पट्टी का ब्लाउज डाला था. एक दिन उसने मुझे पार्टी के लिए बुलाया- मेरे पास पार्टी के लिए दो टिकट्स हैं, तू चलेगा?मैं- लेकिन मैं अभी तक पार्टी में गया नहीं हूँ.

ससुर ने भी थोड़ा सा रास्ता दिखते ही लंड चुत में पेल दिया, जिससे मेरी दीदी की चीख निकल गयी और वो लंड बाहर निकालने को कहने लगीं. चाची ने कहा- दीपू ऐसा नहीं है, मैं सिर्फ तुम्हारे चाचा से ही प्यार करती हूं और उनके अलावा मैंने किसी की तरफ नहीं देखा. इस पर वो हंसने लगी और बोली- वो तो फिलहाल नहीं मिल सकता है … लेकिन उनके बर्तन जरूर मिलेंगे.

और यही हुआ, आधे घंटे बाद जब सब तैयार होकर निकले तो दीपा के देख कर लग ही नहीं रहा था कि अभी कोई ऎसी बात हुई है.

मोसी लंड को देखते हुए बोलीं- अनी, तुम्हारा लंड तो तुम्हारे मौसा जी से भी बड़ा है … मुझे तो इससे चुदवाने से बहुत मजा आएगा. दीदी की बड़ी बड़ी गोल गोल चूचियां भी ब्रा से थोड़ा थोड़ा बाहर दिख रही थीं.

नित्या- जानू मेरी चूत वीर्य से भर दो। कई दिन से मेरी चूत सूखी पड़ी है।फिर मैं अपना सारा वीर्य चूत में भर कर उसी के ऊपर सो गया।थोड़ी देर बाद नित्या उठ कर पेशाब करने बाथरूम में चली गई।अब जो मैं लिख रहा हूँ, ये पूरी बातें मुझे नित्या ने बताई. 5 इंची डंडे को।अब तक मामी ने लंड को पकड़ा नहीं था तो मैंने अपनी साँसें काबू में रख के धीरे से उनकी कान में कांपती आवाज़ में ‘प्लीज …’ कहा. मैंने भी उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ लिया और कहा- तुम्हारे हाथ दूध की तरह गोरे और रेशम की तरह नर्म हैं.

आपका प्यार मिलता है तो मैं फिर से अपना एक्सपीरियंस लिखने के लिए मजबूर हो जाता हूं. मैं सब जानता हूं, अब मुझे तुझ पर गर्व है और खुद पर भी, आज तुझे रगड़ कर मजे दूंगा. वो बस बेड पर लेट कर टीवी देख रहे थे और उन्होंने मेरी चूत को छुआ तक नहीं.

गंदी बीएफ सेक्सी उसने कहा- तो क्या तुम अब अपनी बात को साबित करना चाहोगी?मैंने उसकी तरफ देखा और अपनी कोहनी मारते हुए उससे कहा- अच्छा तुम्हें इतनी जल्दी है. अब पहली बार हमने उसके लंड के जड़ पर घुंघराले बालों को देखा, उसके नीचे एक ही थैली में भरे दो बड़े नींबू जैसी गोलियां लटक रही थीं, जिसे आंड या गोली भी कहते हैं, ये बात हम पोर्न देख कर सीख चुके थे.

1992 में प्रधानमंत्री कौन था

काफी देर तक वो भाभी के चूचों को दबाता रहा और फिर उसने चूचों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. फिर मैंने कहा कि किसी को चाहती हो … या चाहती थीं?उसने मेरी इस बात पर कुछ नहीं कहा, बस चुप हो गई. लड़कों से हमारी दोस्ती कम ही थी, पर कोमल के कुछ लोगों को लिफ्ट तो देनी ही पड़ती थी.

उधर वो लंड के साथ खेलने में मस्त हो गई थीं … इधर मेरे बदन में जलन जैसी होने लगी थी. बस इसी बीच सारिका ने मुझे यशिमा के बारे में बताया कि उसने लव मैरिज की थी, पर उनकी शादी के 4 साल बाद ही दोनों में तलाक हो गया. सनी लियोन की सेक्सी बीएफ चुदाईमैं उसके करीब बैठा और उससे कहा- इस तरह याद करो … हहे, लिबे, बकनोफने, नामगा, अलसीपसकलारका.

चूंकि वो अभी तक नहीं झड़ी थी और अभी भी अपने कूल्हे उचका कर लंड को ले रही थी.

ये सुनते ही मैंने यशिमा की चुत से लंड को सुपारे तक बाहर निकाला और फिर से अन्दर डाल दिया. शुरूआत के कुछ धक्कों में उसको दर्द हुआ लेकिन फिर वो सामान्य होती चली गई.

मैंने अपनी गांड पर भैया का लंड महसूस किया तो मैं घबरा गया- आ … आप ये क्या कर रहे हैं भैया?भैया- अरे कुछ नहीं रे … बस देख रहा हूँ कि तुझ गांडू की गांड ज्यादा प्यारी है या इस टके टके पर बिकने वाली रंडी की. जब कौसर मेम नंगी खड़ी होकर सिंक में बर्तन साफ कर रही थीं, तो मैं पीछे से गया और उनको अपनी बांहों में लेकर किस करने लगा. उनके दोनों मम्मों को अलग करके मम्मों के बीच के स्थान पर चूमना चालू किया.

उधर वो चुदास की आग में जल रही थी, इधर मेरा लंड तन कर उफान मार रहा था.

सोनिया- एक बात बोलूं जानू, मैं अपनी जिंदगी में कभी इतनी जल्दी नहीं झड़ी, तुमने मुझे बहुत ही ज़्यादा एक्साइट कर दिया था. इससे पहले कि मैं और दबाता, उन्होंने मेरे हाथ को धकेल के हटा दिया। मेरी दुबारा कोशिश पर भी उन्होंने मुझे बूब्स दबाने नहीं दिए। मेरे धक्कों में तेजी आने लगी थी पर मैं बाकी लोगों के डर से थोड़ा कण्ट्रोल भी कर रहा था।अब जबकि वो मुझे वक्ष पर हाथ नहीं रखने दे रही थी, मैंने थोड़ा सा नीचे होकर चादर के अंदर से ही उनकी साड़ी को ऊपर खींच दिया. मेरा लंड अच्छे से खड़ा हो गया तब मैंने बैग से स्पेशल क्रीम निकाल कर लंड पर और मेम की गांड के छेद पर लगा दी.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर बीएफ वीडियोहर बार मैं ही वहाँ जाती थी मगर अब मेरा जॉब लगने के कारण वो यहाँ आई थी. ये दृश्य उसके लिए इतना कामुक था की अनजाने में ही उसका हाथ उसकी टांगों के बीच चला गया.

जुदाई पिक्चर अनिल कपूर का

उषा बोली- प्रीति, जीवन में औरत को जब पूरा प्यार नहीं मिलता तो किसी ना किसी से प्यार पाने की इक्षा मन में जाग जाती है. कुछ दिन पहले दिल्ली में बारिश हुयी थी और ओले भी पड़े थे, जिससे ठंड बढ़ गई थी. इस वक्त मेरा ध्यान भाभी की चुदाई से ज्यादा उनके मुँह से निकलने वाली चीखों पर था.

कुछ ही देर में उन्होंने अपने दांतों से पकड़ कर मेरी पेंटी भी उतार दी और फिर खुद भी पूरे नंगे हो गए. मैंने आप लोगों को अपने परिवार के बारे में बताया था कि मेरा परिवार ज्यादा बड़ा नहीं है. वो 1-2 घंटे रहेंगे … फिर चले भी जाएंगे, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा.

मैंने ही आगे बढ़ते हुए पूछा- क्या हुआ मोना? इतना क्यों शरमा रही हो?ये कह कर मैंने उसे आंख मार दी. मैंने अपनी शंका को दूर करने के लिए उसकी चूत को सहलाते हुए पूछा- दिस? (इसमें?)उसने अपने हाथ को अपनी गांड के छेद पर रखते हुए बता दिया कि उसका मन अब गांड चुदवाने के लिए कर रहा है. कोमल ने फिर से फिकरा कसा- जा परमीत जा … अपनी सहेलियों की बात मान, अभी बड़ों वाले चैलेंज लेने की हिम्मत तुममे नहीं है.

मेरे घर वाले भी जानने लगे थे कि ये मेरे ऑफिस में काम करता है और इसी लिए मैं उसको बुलाती हूँ. इसी वजह से मुझे हल्का दर्द भी महसूस होने लगा था लेकिन इस सब पर ध्यान न देते हुए मैं रीमा की चुत चूसना देख रही थी.

चाची ने कहा- हरामखोर मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और खुद ने कुछ ना निकाला.

अमित ने भी मौके की नजाकत को देखते हुए मुझे नीचे लेट जाने को कहा और पूजा को ऊपर से चढ़ने को इशारा किया. सनी लियोन के साथ बीएफमैं उत्तरप्रदेश के एक गांव का रहने वाला हूँ और नजदीकी शहर गोरखपुर में रह कर पढ़ाई करता हूँ. सेक्सी बीएफ मूवी एचडी मेंक्योंकि उसने रिकॉर्डिंग बटन ऑन कर दिया था।अब आपको तो पता ही है आगे क्या होना था, मुझे थप्पड़ पड़े … पर घर की बात घर में दबा दी इज्ज़त के खातिर।मेरा फोन हमेशा के लिए बंद करवा दिया इसलिए काफी दिन तक किसी से कोई रिश्ता नहीं रहा। विकी और शरद भी अब सिर्फ दिखाई देते हैं, घर के पड़ोस में है इसलिए; पर बात नहीं होती. अब उससे रहा नहीं गया तो उसने मेरी पैंट के ऊपर से ही लंड पकड़ लिया और मसलने लगी.

परमीत की गोरी पीठ से नजर फिसल भी जाए, तो थोड़े बगल को झांकने पर उसके कयामत ढहाती पहाड़ियां, जो कि परमीत के घुटनों से दबकर बाहर की ओर निकलने को हो रही थीं … वे सबकी जान निकाले जा रही थीं.

लेकिन नेहा ने मुझे विराट से चुदने की कह कर मुझे रास्ता दिखा दिया था. उसने संजना की उस टांग को, जो अब तक उसके कंधे पर थी, को नीचे रखा और संजना के ऊपर चढ़ कर उसे पूरा कस लिया. खुले आसमान के नीचे जांटी (खेजड़ी के पेड़) के नीचे बालू मिट्टी में उन दोनों भाभियों की चूत मार कर मुझे मजा आ गया था.

वो उसी अवस्था में लंड को चूत से बिना बाहर निकाले आगे पीछे करने लगी. डिनर लेते समय अचानक सुनील बोला- ये सतपुड़ा हिल्स कितनी दूर हैं?मनोज ने बताया कि 5-6 घंटे का रास्ता है. मैं- क्या देख रहे हो … यहां कोई खज़ाना छुपा है क्या?मेरी आवाज सुन कर एक बोला- यहां ही तो असली खज़ाना है भाभी जी.

अंग्रेज लोगों का सेक्सी वीडियो

नमस्कार दोस्तो, मैं राकेश अपनी कहानी दो बहनों के साथ थ्रीसम का अगला भाग ले कर हाजिर हूँ. थोड़ी देर बाद सुधीर सर ने पीछे से मेरी चूत में अपना लन्ड डाल दिया और राजेश्वर सर मेरे मुख में अपना लन्ड पेलने लगे. भाभी ने सब कुछ वही बताया जो मेरी पड़ोसन के भाभी के बारे में मैं जानता था.

जिस्म भरा हुआ था जिसे देख कर मेरा लंड मानो पैंट में ही हड़ताल करने लगा और बाहर आने को बेचैन सा होने लगा।मैंने अपनी पैंट में से लंड को हाथ लगा कर ऐडजस्ट किया और फिर हल्की सी स्माइल के साथ उसको अपना परिचय दिया। उसकी आंखों की चमक देखते ही बन रही थी.

जब पंडित जी ने बुलाया, तो प्रतीक मुझे लेने आया और मयूर के पास ले गया.

बहुत दिनों से मैं दीदी को बिना कपड़े की देखने की कोशिश कर रहा था, पर देख नहीं पाया था. फिर मैं उससे धीरे से बोला- इतना क्यों शर्माती हो … तुम्हारा भी तो बॉयफ्रेंड होगा ही … तुमने भी तो ये खेल किया होगा. बीएफ गुजराती हिंदीमेरे कंठ से मदमस्त आवाजें निकल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… सुहास … तेरा लंड मेरी बच्चेदानी तक जा रहा है … मेरे दूध चूसो भोसड़ी के … आह आह बेबी मुझे चोदो.

उसकी चुत के रस का स्वाद बड़ा ही अच्छा था, एकदम नमकीन मलाई की तरह टेस्टी था. मैं बस अमृता के मौसा के बाहर जाने का इंतजार करता रहता था ताकि उनके घर में ही उस कुंवारी चूत की चुदाई कर सकूं. तो चलें ड्रॉयिंग रूम में प्रिन्स के पास?” वो बोली- अगर वो सो गया हो तो उसको डिस्टर्ब नहीं करेंगे.

मैं चाची के चूचों को छोड़ कर धीरे धीरे उनके सूट को ऊपर करने लगा और उनके नंगे पेट पर हाथ फेरने लगा. मैं सोच में पड़ गया था कि कोई बुआ अपने ही भतीजे के लंड से अपनी चूत की चुदाई क्यों करवाना चाहेगी.

उन्होंने मुझे देखा, हमारी आँखें मिली और मेरे लंड से एक और पिचकारी निकली जो फिर से उनकी चूत पर लगी.

उधर स्पष्ट नजर आती लंड की उभरी नसें दिख रही थीं, तो इधर भी चूत पनियाने लगी थी. वो बोली- देखते ही रहोगे या अंदर भी आओगे?जैसे ही उसने मेरे अंदर आने के बाद दरवाजा बंद किया मैंने उसको गोदी में उठा लिया और सीधा उसको बेड रूम में ले गया. आशीष ने पूछा- क्यों, ऐसा कैसे हुआ?मैं बोली- किस्मत से उसी वक्त मवेशियों को चारा डालने के लिए चरवाहा वहां पर आ गया था.

साली की चुदाई बीएफ मैंने भाभी के मम्मों की घाटी को निहारते हुए पूछा- भैया कहां हैं?उन्होंने बोला- बस वो कुछ सामान लेने गए हैं … आते ही होंगे. मैंने उससे मेरे बारे में पूछा तो वो कहने लगी कि उसको मेरा नम्बर मेरी एक दोस्त से मिला है.

हम दोनों को इधर उधर की बातें कर रहे थे कि कॉलेज में किसका क्या चल रहा है और किसकी ज़िंदगी कैसी चल रही है. मैं बोली- नहीं, मुझे जानना है कि क्या बात है?वो बोला- मेरी मां कह रही थी कि बंध्या का परिवार पूरे गांव में बदनाम है. फिर धीरे धीरे नीचे आते हुए उसने मेरे ऊपरी होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच में दबाया और मेरे होंठों को चूमने लगा.

चौथ माता की कहानी भादवा की

उनके होंठों के रस को पीने लगी और वो मेरे होंठों को काटने लगे तो कभी गर्दन पर काटने लगे और चूसने लगे. विनय मेरी गांड में जीभ डाल कर दो उंगलियों को मेरी गांड में घुसा रहा था … जिससे मेरी गांड मुलायम हो रही थी और लंड के लिए रेडी हो रही थी. मैंने उससे बात की, तो मालूम हुआ कि वो श्रीनगर की रहने वाली थी, पर दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रही थी.

दीपा मनोज से बोली- तुम दोनों एक साथ नहा लो, अपनी पुरानी यादें ताजा कर लो, मैं रसोई संभाल कर अपने वाशरूम में तैयार होती हूँ. मैंने विक्की और कुमार से ब्रेकअप कर लिया था … तो अब मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं था.

जब मैं अंदर आया तो देखा कि उषा की चूत से सारा वीर्य टपकते हुए गिरा था.

इसके बाद भैया ने हम दोनों के ऊपर अपने मूत की बारिश कर दी और हम दोनों को अपने गर्म गर्म मूत से नहला दिया. बाक़ी बीस प्रतिशत भी इतनी अधिक मनोरंजक होती हैं कि लंड खड़ा हो ही जाता है. रोहित ने मेरी बीवी की चूत से अपना लंड निकाला तो उसके लंड में खून का धब्बा लगा हुआ था जो संजू की चूत से निकला था.

अपने बाल खिंचने पर शायद उन्हें दर्द हो रहा था और वो जोर जोर से चिल्ला रही थीं. कुमार- अन्दर मत जाओ, मैं तुम्हें लेने आ रहा हूँ … हम दोनों कहीं घूमने चलते हैं. हमारी आंखों के सामने पत्नियों के बदन की मालिश होते हुए देखना भी सुखद अनुभव था.

लंच लेकर बाहर आते समय पिंकी ने चार बियर की केन ले लीं क्योंकि इस बृहस्पतिवार चंडाल चौकड़ी उसी कि घर इकट्ठी होनी थी और यह शबनम की फरमाइश थी कि चिल्ड बियर होनी चाहिए उस दिन.

गंदी बीएफ सेक्सी: जैसे ही बाहर के गेट के खुलने की आवाज आई, तो मैं जोर जोर से गाना गाने लगा ताकि उनको पता लगे कि बाथरूम में हूं. अगर वह होश में रही तो उसको पति की मौत की खबर शायद बर्दाश्त नहीं हो पायेगी.

” समीर ने अपने पिता के जाने के बाद बेड पर अपना माथा पकड़ते हुए कहा।डार्लिंग, ज्यादा मत सोचो, वरना सर में दर्द हो जायेगा। सच्ची में मुझे तो आज पता चला है कि चुदाई का असल मजा क्या होता है और बापू के साथ तो मुझे इतना मजा आया कि पूछो मत। मैं तो अपने ससुर की दीवानी हो गई। असली मर्द है वह. चुदाई के बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और मैं उसके साथ ही उसकी सहेलियों की तरफ आ गया. इस तरह हम फिर एक बार इस बात को बेपर्दा होने से बचा लेंगे कि कौन किसके साथ था.

आपको कहानी के बारे में कुछ कहना है तो नीचे दी गई मेल आईडी पर मेल करें.

उसकी गांड को अच्छी तरह से देखा और जांचा कि गांड कहां-कहां से और कितनी फटी हुई है. मैंने भाभी के मम्मों की घाटी को निहारते हुए पूछा- भैया कहां हैं?उन्होंने बोला- बस वो कुछ सामान लेने गए हैं … आते ही होंगे. ?सीमा- अभी तक मैं वो … क्या हूँ?मैंने आंख दबा कर कहा- सीलपैक!सीमा- हां.