बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो

छवि स्रोत,एक्स एक्स हिंदी बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

रानी बीएफ वीडियो: बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो, कुछ धक्के मारने के बाद निशा ने अपना मुँह दबा लिया और वो हिलती हुई शांत हो गई.

एक्स एन एक्स एक्स ब्लू फिल्म

मगर उसकी इस बनावट में उसका शरीर बिल्कुल भी उसका साथ नहीं दे रहा था. क्सक्सक्स वीडियो desiफिर जीजू ने धीरे धीरे अपने लंड को मेरी चूत में भीतर बाहर करना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे अपनी प्यारी साली को चोदने लगे.

शायद उन्हें लग रहा था कि मैं गहरी नींद में सोया हुआ था और उसी के चलते ऐसा हुआ है. ब्लू सेक्सी वीडियो राजस्थानीइस बार वो मुझे अपनी बांहों में भरके हल्की हल्की आवाजें निकाल रही थीं और बीच बीच में बोल रही थीं कि पेट में नाभि के पास दर्द कर रहा है थोड़ा आराम से पेलो.

उसके दोनों हाथ अब अपने आप ही मेरी कमर पर से रेंगते हुए मेरी पीठ पर आ गये थे और उसने अपने दोनों हाथों से मेरी पीठ को सहलाते हुए मेरी जीभ को हल्का-हल्का चूसना शुरू कर दिया.बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो: हालांकि मेरे मन में सेक्स के प्रति काफी रूचि है … या ये भी कह सकते हैं कि मेरे बदन में हवस की आग जल रही थी.

मैंने कहा- मैंने जिस दिन से आपको देखा है, उस दिन से मैं आपको प्यार करता आया हूँ.कुछ देर बाद मेरी बहन जोर जोर से बोलने लगी- आंह भैया … अब नहीं सहा जा रहा है … प्लीज़ जल्दी से अपनी बहन को चोद डालो.

गूगल पर सेक्स वीडियो - बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो

उसकी इस बात पर मैंने उसे मेरे साथ ऊपर सोने के लिए बोला तो उसने मना कर दिया और बोली- अगर किसी ने देख लिया तो कोई गलत सोचने लगेगा।तभी मैंने उठकर सीढ़ियों का मेन गेट बंद कर दिया और रूम का गेट भी बंद कर दिया और बोला- अब अगर तू मुझसे चिपक कर भी सोएगी तो भी कोई नहीं देखेगा।मेरे ये बोलते ही भावना का चेहरा लाल हो गया और मुझे गुस्से से देखने लगी.ऐसा करते हुए उनका लंड मेरे मुंह तक पहुंच रहा था जिसको मैं मुंह लेने की कोशिश करती तो वह मेरे मुंह में चला जाता था.

हॉट बहू की चूत चुदाई कहानी में पढ़ें मेरे शौहर के इन्तकाल के बाद मैं अकेली हो गई। कुछ समय बाद मेरी प्यास बढ़ने लगी। तो मेरी नजर मेरे जेठजी पर गई।यह कहानी सुनें. बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो अब मुझे अनंत सुख का एहसास होने लगा और 2-4 काफ़ी तेज धक्कों के बाद मेरे लंड में बहुत तेज दर्द हुआ.

उसके कंधे मैंने अपने हाथों से पकड़े हुए थे, क्योंकि मुझको पता था कि क्या होने वाला था.

बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो?

मेरे चूतड़ पीछे से पूरी तरह से उठ जाने की वजह से उसका लिंग अब हर धक्के पे मेरे गर्भाशय तक जाने लगा. मैं- ले चोदता हूं तेरी गांड … आह … ले!बीवी की गांड चोदते चोदते जब उसे दर्द होने लगता, तो वो अपनी गांड से मेरा लंड निकाल देती, गांड से लंड निकालते ही मैं अपना लंड उसकी चुत में घुसेड़ देता था. उसके पांच दिनों बाद मैं उससे बोलने लगा- यार अब एक दिन संडे को तुम मेरे रूम पर आ जाओ.

मैंने भी परी के चूचों और उसकी हवस भरी हस्तमैथुन के बारे में सोच कर मुट्ठ मारनी शुरू कर दी. कपिल- आज तू मुझको जब तक गन्दी-गन्दी गालियाँ न बकने लगेगी तब तक तेरी बुर को चचोरता रहूँगा साली. नम्रता ने मेरी तरफ देखा, मैंने अपने हाथ झटक कर चुप रहने का इशारा किया.

वे अचकचा गए- नहीं नहीं …पर मैंने उनके अंडरवियर में हाथ डाल ही दिया और लंड को बाहर निकाल लिया. मैंने आंख दबा कर हल्के स्वर में कहा कि उसका मैंने वीडियो बना लिया है. उन्होंने मेरी नाक को बंद कर दिया था, तो उनका वीर्य सीधा मेरे पेट में चला गया.

हमने कई बार मोहल्ले की आंटियों के बारे में सोच सोच कर साथ में मुठ भी मारी है. फिर एक ही वक़्त मैंने और शैली ने अपनी टांगें उठाईं और दोनों भाइयों ने लौड़े घुसाए.

वैसे तो मुझे ब्रा पहनने की जरूरत ही नहीं है, बिना ब्रा के ही मेरी चूचियां तन कर खड़ी रहती हैं.

पिंकी अमर को खाना देने उसके कमरे में आई तो अमर ने पिंकी के हाथ से खाने की थाली लेते हुए ही हरकत कर दी.

इसलिए कपड़े भी छोटे पहनती थी पर प्रोड्यूसर और डायरेक्टर को वो ज्यादा हॉट नहीं लगी. मेम ने मुझे कंडोम पकड़ाते हुए जल्दी से चुदाई करने को बोला और अपना पजामा खोल दिया. उसने अपने हाथ से लंड को चूत पर सैट किया और मुझे आंखों से इशारा किया.

जिससे मेरा प्री कम निकलने लगा तो मूत वाले कट के ऊपर चड्डी एकदम गीली हो गई. मैंने उसको इम्प्रेस करने के लिये उसके सब्जेक्ट्स में अपना इंटरेस्ट दिखाया और बस बड़ी मेहनत से उसके सब्जेक्ट का अध्यन करने लगा. फिर मैं अपने दोनों पैर बीवी के कमर के दोनों बाजू रखकर उसकी गांड के छेद पर लंड लगा कर बैठ गया.

अमर की छाती की दोनों घुंडियों को चूसते हुए ही उसने अमर के लोवर को भी नीचे कर दिया.

सर बोले- किसी को भी मतलब?मम्मी बोलीं- मतलब जैसे अगर मेरे जैसी औरत आपको मिले, तो आप मुझे भी प्रेग्नेंट कर दोगे. झट से मैं उसकी गोद में से नीचे उतर गई और अपने सलवार और पैन्टी अपने हाथ में लेकर बैठ गई. जब पापा के लंड का टोपा मेरी चूत की गहराई में जाकर लगता था तो मैं पापा को अपने ऊपर खींच लेती थी.

मैंने उसकी टांगों के बीच में आकर अपने लंड को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा, तो वो गनगना उठी और जल्दी लंड लेने को उतावली सी होने लगी. तभी एक आवाज आई- सन्नी, तुमने कपिल अंकल को देखा क्या? और शारदा जीजी भी नहीं दिख रही हैं?मैंने सोचा- अब ये कौन है साला? आराम से बात भी नहीं करने देते. अमर ने पूछा- मतलब?पिंकी बोली- दीदी ने मुझे बताती थीं कि आप उनको काफी देर देर तक चोदते हो.

हमारे कॉलेज में यह कोर्स तो काफी सालों से चल रहा था, मगर मेरे बैच के शुरू होने के साल से ही अकेले हमारे कोर्स के लिए नई बिल्डिंग का इन्तजाम किया था.

दूध जैसी गोरी-चिट्टी, लाल-गुलाबी होंठ वाली वो अप्सरा शरमाते हुए और भी हसीन लग रही थी!मैंने उसके कान में कहा- तुम तो बेहद हसीं हो हो मेरी जान …धीरे से मैंने उसके चेहरे को ऊपर किया. रास्ते भर वो मुझसे प्यार से बात कर रहे थे तो मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ.

बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो वो ये सब देख कर डर गई थी, पर फिर मैंने उसे समझाया कि पहली बार ऐसा होता है. शारदा चाची- और ज़ोर से चोद मुझे, बहन की बुर को चोदने वाले बहन के लौड़े हरामी, और ज़ोर से मार, अपना पूरा लंड मेरी बुर में घुसा कर चोद कुतिया के पिल्ले … सीई … ईईई मेरा निकल जाएगा.

बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो तभी उन्होंने दूसरा झटका मारा, तो मैं दर्द से बिलबिला उठी, मेरी आंखों के आगे अँधेरा छा गया, मुझे कुछ नहीं दिख रहा था, मेरी आंखें बंद हो चुकी थीं. अगले दिन मैं उम्मीद कर रहा था कि वह अपनी खामोशी को तोड़ कर मुझसे इस बारे में अब कुछ बात जरूर करेगी.

मेरे 12वीं के पेपर खत्म हुए, तो गर्मी में अपने मामा के घर घूमने गया था.

डब्लू डब्लू मारवाड़ी सेक्सी वीडियो

कहकर मैंने शिखा की चूत पर लंड को फिर से सेट कर दिया जो पहले से ही गीली थी. फिर मैंने भाभी को वहीं आंगन में लेटा दिया और उनके पूरे बदन को सर से पैर तक चाटने लगा. मगर रात तो वो मेरे कमरे में आकर अपने लंड पर मुझ से राखी बन्धवा कर मेरी चूत को चोदता था.

तुम मेरे मम्मी पापा तो मनाओ तो फिर तुम आरती की मम्मी से मिलकर कुछ ऐसा करो कि वो बिना झिझक के मान जायें. उसने मुझसे कहा- यार प्रवीण, मुझे तुम्हारा इन्तजार करते करते तीन साल हो गए. फिर मैं अपनी जीभ को कल्पना की चूत के दाने के पास ले गया, जो नीचे की तरफ था.

वैसे ही मैं बहुत हॉर्नी था, तो मैंने जल्दी से लंड को गले गले तक लेकर चूसना शुरू कर दिया.

ऐसे ही पांच छह जोर के धक्के मारते ही मुझे लगा कि अब मेरी पिचकारी छूटने वाली है. फिर मैंने फ़ुद्दी के दोनों होंठों को टच किया और अपनी एक उंगली से उसकी फ़ुद्दी को दबा दिया. मुझे लगा कि सुषी कुछ नहीं बोलेगी लेकिन बदले में सुषी ने भी अपनी माँ पर चिल्लाना शुरू कर दिया.

उसने मेरे परिवार के बारे में जानकारी ली और मेरे परिवार की हैसियत जानकर वो मुझसे प्रभावित हो गई, लेकिन तब भी उसने मुझसे मेरे डैड से बना कर चलने की सलाह दी. मैं उसके चूचों को और ज्यादा जोर से काटने लगा और बच्चे की तरह पीने लगा. सोनू कहने लगी- राज, मेरी मम्मी की चूत तो पाव रोटी सी है और उनका गुलाबी छेद भी थोड़ा चौड़ा है, तो उनके लिए तो तुम्हारा लौड़ा फिट रहेगा.

मैंने हिम्मत करके कमरे में कदम रखे और जोर से चिल्लाई- चाची, ये क्या कर रही हो मेरे भाई के साथ?मुझे देख कर दोनों की ही हवाइयां उड़ गईं. जब मैं शाम को छह बजे वहाँ गया और मैंने जाकर वहाँ देखा तो वो पहले से ही मौजूद थी.

मैं हंसने लगा और मैंने सोनू से कहा- अब देखना, एक दो महीने बाद तुम्हारे ऊपर पूरा निखार आएगा और तुम्हारा शरीर और सुंदर होगा. मैं उससे बोली- यार नीलू कहते हैं कि मर्द के साथ सोने से पेट में बच्चा आ जाता है. मैंने उससे पूछा- तुम्हें पता है तुम यहाँ क्यों आयी हो?वो- हां दीदी मां बनने वाली है, इसलिए मैं उनकी मदद के लिए आई हूं.

उसकी बातों से उसके व्यवहार से लगा कि अपने रंग के कारण उसमें एक हीन भावना सी है, इस वजह से वो अपने व्यक्तित्व को अपने अंदर ही समेटे हुए थी.

मुझे अब अपनी चूत में उसकी उंगलियों से ज्यादा उसके लण्ड की जरूरत थी. यह कहते हुए जीजू ने पीछे से ही मेरे दोनों बूब्स पकड़ लिए और मेरी गर्दन पर किस करने लगे. ऊपर वाले से बस यही दुआ करता था कि जल्द से जल्द कोई आइटम चोदने को मिल जाए.

मोनी का पति बहुत अधिक शराब पीता था जिसकी वजह से वो कुछ करने की बजाय सो जाता होगा और वैसे भी मोनी अपने पति के साथ इतना रहती भी तो नहीं थी, तभी तो मोनी को अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ था … उसकी शादी को दो साल से भी ज्यादा का समय हो गया था मगर अभी तक उसको कोई बच्चा नहीं था. कुछ 7-8 मिनट तक ऐसे ही धीरे धीरे झटके मारने के बाद मम्मा ने कहा- आह मेरे राजा, अब तुम मेरी ओखली में अपने मूसल को जितनी तेज़ी से चाहो … ठोक सकते हो.

”अच्छा … गेट टुगेदर … और कौन कौन आने वाला है?”उन्होंने तो कुछ बताया नहीं … शायद वो उनकी पत्नी और हम दोनों ही रहेंगे. मैंने कहा- हां मेरी जान, अब मैं तुम्हारी चूत को कभी प्यासी नहीं रहने दूंगा. मैं मामी को खींच कर अपने ऊपर ले आयी और अपने ऊपर लेटा लिया और उनकी दोनों चूचियों को बाहर निकाल लिया.

सेक्सी लंड चूत की चुदाई सेक्सी

मैं बोली- क्या?तो उसने मेरे कंधे पर हाथ रखा और अपना चेहरा मेरे चेहरे के नजदीक लाते हुए मेरे होंठों के पास अपने होंठ ला दिया.

आज आशीष पहला लड़का हुआ मेरी जिंदगी का, जिसने मेरे होंठों को ऐसे चूमा कि मैं उसी की हो गई. हां स्कूल में जब कभी मौका मिलता था, तो मैं उसके मम्मे दबा देता था और वो मेरे लंड को दबा देती. हॉल में डाइनिंग टेबल पर बिल्कुल नंगी बैठी हुई मेरी बहन मुझसे अपनी सेक्सी चूत चटवा रही थी.

करीब 10 मिनट तक दोनों एक दूसरे से दंगल लड़ते रहे और फिर एकदम से ही वह ढीली और सुस्त हो गई. मैं अपने शरीर पर के इन कामुक अंगों को छेड़ने लगी, तो उसका परिणाम तुरंत मेरी जांघों के बीच होने लगा. स्कूल गर्ल पोर्न वीडियोचूंकि हम दोनों एक पब्लिक प्लेस पर थे, इसलिए इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकते थे.

एक दिन भाभी मुझसे बोली- आप भी इंजीनियर हो, तो सुरभि को कभी कभी किसी सब्जेक्ट में हेल्प कर दिया करो. थोड़ी देर बाद वहां पर एक लगभग 30 साल की औरत आई, उसने पहले इधर उधर देखा और फिर मेरे पास ही थोड़ी सी जगह में बिस्तर डाल कर सो गयी.

सुबह की हवा मुझे बहुत अच्छी लगी तो मैं अपने घर के आगे ही टहलने लगी. मैंने बात को संभालते हुए कहा- ठीक है, मगर तुमने मुझे पहले क्यों नहीं बताया ये सब?वह बोली- मैं तुमसे यही बात करना चाहती थी लेकिन तुमने मुझे बताने का मौका ही नहीं दिया. 10 मिनट तक ऐसे से चोदने के बाद वो उठा और मुझे खींच के बिस्तर के बाहर ले गया मेरे होंठों को चूमते हुए उसने मेरे दोनों हाथ अपने गले में फंसा लिए और झटके से मेरे दोनों पैरो को पकड़ के उठा के अपनी कमर में फंसा लिए और लंड चुत में टिका कर एक बार में पूरा लंड अंदर पेल दिया.

उस रात सुबह तीन बजे तक हमारी चुदाई चली।उसके बाद पूजा की चूत की पूजा करने के लिए मेरे वासनामयी लौड़े ने कौन-कौन से जतन किये वह सब मैं आपको आगे की कहानियों में बताऊंगा. उसकी चुत एकदम गीली हो गई थी और वो अब खुद की जीभ मेरे मुँह में घुसा कर मेरे किस का जवाब देने लगी थी. मैंने उसकी बुर में अपनी उंगली डाल दी तो वह जोर से चीख पड़ी ‘आआआह हहहह.

हालांकि पहले मुझे पता नहीं था कि इनका इधर पड़े होने का कारण क्या है.

उसे इस बात के लिए तैयार कर लिया कि वो लंड घुसने के समय गांड का छल्ला न कसे. मगर मुझे नहीं पता था कि वह मुझसे चुदाई करवाने के लिए और ज्यादा बेचैन हो चुकी है.

जमाई बाबू बदन पर पानी डालने के बाद अंधेरे में शायद साबुन ढूंढ रहे होंगे. वो उठ कर मेरे उपर बैठ गई और अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर पर लपेट लिया. मगर एक बात है कोई भी लड़की शादी के बाद अपने पति को किसी दूसरी से चुदाई करते हुए नहीं देख सकती और यही बात आरती में भी है.

मैं पेशे से एक कम्प्यूटर इंजीनियर हूँ और एक कंपनी में जॉब करता हूं. उसने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर ले लिया और मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत में लगा लिया. जैसे ही मेरा हाथ उसके कोमल चुचे पर गया, उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई.

बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो बस मस्त हो के चुदवा … अगर कुछ हो भी गया तो मुझे देसी दवा पता है; आयुर्वेदिक मेडिसिन है वो, सब ठीक हो जाएगा, बस तू एन्जॉय कर!”डॉली ने मुझे हिम्मत बंधाई. मौसी और मौसा का तलाक 2008 में हो गया था और तब से मौसी अपने बेटे बंटी के साथ एक घर में रह रही थीं.

सेक्सी वीडियो कपड़ा उतार

मैं- हां ले मादरचोद … तेरी मां की चूतरंडी की औलादभड़वी साली … तेरी मां भी चोद दूंगा भैन की लौड़ी लंड की प्यासी भोसड़ी वाली. मैंने सोचने लगा कि अगर सफल हो गया, तो मौसी की चुत मिल जाएगी और अगर फेल हो गया था, तो देखा जाएगा. मैंने कहा- शिल्पा ने देख लिया तो?निशा बोली- उसकी फिक्र मत करो और मुझे प्यार करो, जितना कर सकते हो.

मेरी चाल लड़खड़ा रही थी, तो दीपक अंकल ने मेरे को पकड़ के बाथरूम तक पहुंचा दिया. उसके बाद मैंने भाभी को सोफे पर बैठाया और खुद नीचे बैठ कर उसकी टांगों को ऊपर उठा दिया. सेक्स मूवी एक्स एक्स एक्सरवि भी मेरी बात से सहमत हो गया और उसने सुषी को मेरे साथ मेरे घर पर भेजने का फैसला कर लिया.

उन्होंने भी अपनी पीठ ऊपर उठाकर मेरा सहयोग किया, जिससे मेरा काम थोड़ा आसान हो गया और मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया.

अंकल का रंग एकदम गोरा, मोटा सा शरीर, बड़ी बड़ी काली मूछें, चेहरा बिल्कुल फूला हुआ और चमकदार था और वो बहुत प्यारे लग रहे थे. बाली रानी काम क्रिया में बहुत सिद्धहस्त थी, ताड़ गयी कि कब मेरा नियंत्रण हो गया, और तभी उसने अपनी कमर को गोल गोल घुमाना शुरू किया.

एक बार तो मेरा दिल किया कि मैं रात को ही तुम्हारे कमरे में आ जाऊं, परंतु फिर सोचा कि कहीं कोई उठकर देख लेगा तो मुझे ढूंढेंगे, बड़ी मुश्किल से रात काट कर आई हूँ. मैं तुरंत ही उस स्टॉल पर चला गया और हिम्मत करके भाभी के नजदीक आ गया. मैंने भाभी से पूछा, तो भाभी बोलीं- जानू मेरा पानी शुरू से ही बहुत ज्यादा छूटता है … और आज तो मैं जीवन में पहली बार लगातार दो बार झड़ी हूँ.

कुछ देर तक भैंस यूं ही गर्माती रही और भाभी उसे काबू करने के चक्कर में मेरी तरफ देख कर 4-5 बार मुस्कराईं.

फिर देखते ही देखते गप से मेरे खड़े लंड को भाभी ने अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं. मैं बहुत बिगड़ चुकी हूँ दोस्तो … दारू सिगरेट सब कुछ पीने लगी हूँ मैं! मेरे बहुत सारे बॉयफ्रेंड भी हैं कॉलेज में. ‘आह्ह … ओह्ह … जान … यस … आह्ह … मजा आ रहा है … चोदो … और तेज अंश … फाड़ दो….

हिंदी में बफ चाहिएताई के मुँह से हल्की हल्की आवाजें निकलने लगीं- पूरा गिलास दूध पी तो लिया है … अब क्या पी रहे हो?ताऊ हंसे और बोले- तेरे दूध चूसे बिना मेरा खड़ा नहीं होता. हम दोनों मुस्कुरा उठे और एक दूसरे की आंखों में काफी देर तक देखते रहे.

18 वर्ष का सेक्सी

उसने मेरे शर्ट के बटन तोड़ डाले, वो अपनी एक्साइटमेन्ट को हैंडल नहीं कर पा रही थी।उसने मेरी गर्दन और कंधे पे काटना शुरू कर दिया. रानी ने लौड़े को एक थपकी लगायी और हँसते हुए बोली- ये लो … ये मछँदर तो फिर से तैयार हो गया राजे … माँ के लौड़े तेरा लंड बड़ा मादरचोद है … अभी अभी चूत की खबर लेकर आया है और अभी फिर खड़ा हो गया … चिंता न करिये लंड महाराज जी … अपने अपनी माशूका चूत को बहुत आनंद दिया इसलिए चूत की मालकिन आपको एक ऐसा इनाम देगी कि आप भी याद रखेंगे … बोलो लंड देव की जय …. थोड़ा प्रयास करने के बाद आखिरकार उसके लिंग के सुपारे ने मेरी योनि का द्वार भेद ही दिया.

मिनी ने ये सुनते ही खुशी से मेरे दोनों आंखों और गालों पर किस किया और मुझे टाइटली जकड़ कर लेट गई. चाची का लड़का एकदम रंडीबाज है और मैं जानता था कि अगर उसे मौका मिलेगा तो वो खड़े-खड़े तीनों ही मां- बेटियों को चोद डालेगा. मैंने भी अपनी टी-शर्ट को निकाल फेंका और भाभी की चुचियों पर टूट पड़ा.

बार बार मुझे उनके शब्द याद आ रहे थे कि नाभि के नीचे का बाकी रह गया है. लेकिन तुम्हारा ये लौड़ा इतना लम्बा और मोटा है कि मेरी जान ही निकाल देगा!मैंने कहा- ठीक है मेरी रानी, अब मैं थोड़ा आराम से ही चूत की चुदाई करूंगा. यह थी मेरी जिंदगी की पहली लड़की की चुदाई की कहानी … आशा करता हूं आपको मेरी हॉट गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी पसंद आई होगी.

मगर मैंने तो अपने पर काबू रखना ही सही समझा, पर इस भोसड़ी वाले लंड को को कौन समझाए … उसने तो फिर से खड़ा होना चालू कर दिया था. मैंने अपना एक पैर बीवी घुटने के बाजू बाहर रख दिया, फिर बीवी को आहिस्ता से मेरे साथ पीछे आनेके लिये कहा.

कभी टोपे का साइज नापने लगे तो कभी तोप के नीचे के दो बड़े गोलों को छूकर वापस तोप के ऊपर फिसल जाते.

सलोनी- पर आज तक मेरे से किसी ने कहा क्यों नही? मेरा भी दिल करता था कि कोई मेरी तारीफ करे. एक्स वीडियो पंजाबीदेसी कॉलेज सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की बहन मेरे कमरे के पास ही कमरा लेकर रहती थी. सिक्स वीडियो बीपीबीस मिनट बाद प्रिया बाथरूम से निकली तो क्या कमाल लग रही थी वो!उसने काली साड़ी पहनी थी और बॅकलेस ब्लाउज पहना था, अपने बाल खुले रखे थे. मैंने भी अपनी सलवार की गांठ खोल कर उसको ढीला ला कर दिया और विलियम ने उसको अपने हाथों से खींच कर नीचे उतार दिया.

मित्रो, मैं आपका अर्जुन फिर से आपके लिए एक सच्ची ओल्ड आंटी सेक्स कहानी लेकर आया हूँ.

कल तो रात भर छोड़ नहीं रहे थे, अब मैं यहाँ रुक भी नहीं सकती?मैंने उससे कहा- मुझे कोई एतराज़ नहीं है, परन्तु तुम्हारे रहते, तुम्हारी बहन के साथ मैं कुछ कर नहीं पाऊंगा. भले ही मीरा ने अपने प्रेमी से पहले कई बार चुदवाया था और कई बार अपनी जवानी में ग्रुप सेक्स भी किया था. मुझे इन बातों में मजा आ रहा था लेकिन मैं नखरे दिखाती हुई बोली- जीजू कुछ तो शर्म करो, बहुत हो गया … प्लीज छोड़ो मुझे!जीजू- शिवांगी, तुम बहुत सेक्सी हो, तुम्हारी चूची कितनी प्यारी है.

मीरा ने कुछ नहीं कहा तो रितेश ने उसे अपनी गोद में उठा कर उसके घर नीचे ले गया. कभी हम उनको तो कभी अपने घर को देखते हैं!जूली शरमाते हुए बोली- अंदर आने के लिए नहीं बोलोगे?मैंने कहा- सॉरी … अंदर आ जाओ! आज तक तुम इतनी सुन्दर नहीं लगी. वह बोली- क्या?मैंने कहा- हाँ, जैसे मैंने तुम्हारी चूत को चाटा है वैसे तुम भी तो मुझे मुंह में लेकर मजा दो.

ब्लू पिक्चर सेक्सी डाउनलोडिंग मूवी

उसके कोमल मुलायम बदन से टच होने के बाद तो हालात मेरे काबू से बाहर हो गये. वो फिर से मजा लेकर चुदने लगी।मैं उसे कंधे पर किस करते हुए उठा और हाथ में रखी रस्सी को उसके गले में फंसा कर अपनी तरफ खींचा. मुझे और तेरे भैया आशीष को बात करना है, तो जब तेरी मम्मी घर में ना रहें, या वो कहीं जाएं, तो ऐसा कोई जुगाड़ कर दे.

मन कर रहा था कि अंजलि को अभी चोद दूँ, पर कुछ सोच कर छोड़ दिया और सो गया.

मैंने झिझकते हुए कहा- नहीं नहीं अंकल कोई परेशानी नहीं है, मैं तो बस ऐसे ही यहां घूमने आया था, तो सोचा थोड़ा रिलेक्स हो जाऊं.

जीजू- शिवांगी, तुम घबराओ मत, आराम से डालूंगा तुम्हारी चूत में … तुम को जरा भी परेशानी नहीं होने दूंगा. यह सोचते ही मेरी धड़कन और सांसें तेज हो जा रही थीं और नीचे मेरी पैंटी बार-बार गीली हो जाती. ब्लू फिल्म बताएं वीडियोमैं अपनी पढ़ाई के चलते गांव छोड़ कर अपने मम्मी पापा के साथ दिल्ली आ गया और यहीं रहने लगा.

मेरा सेक्स करने का मन तो इतना ज्यादा है कि बिना सोचे समझे किसी अंजान मर्द के साथ मैं लेटने को आ गई हूं. तो एक मेरे पास आकर मुझसे लिपट कर मुझे वहीं गिरा कर मेरे ऊपर चढ़ गया. अमीषी भी पूरी मस्ती में अपने पैर मेरी कमर पर लेकर ‘अअअह अअअह अअअओह … आप पहले क्यों नहीं मिले … इतना मजा मुझको पहली बार मिला … अअअअअ ईईई ओईई … डालते रहो डालते रहो … फ़क मी फ़क मी.

आप प्लीज अपनी कहानी बताइये ना!अंकल बोलने लगे- अरे बेटा अभी रहने दो, फिर कभी देखते हैं. मैंने कहा- आपको शर्म नहीं आयी?वो बोलीं- नंगे तुम थे, मुझे क्यों शर्म आएगी?उनकी इस बात पर मैं चुप हो गया.

कुल मिलाकर वो एक भरे पूरे बदन की मालकिन थी, किसी भी उम्र के पुरुष का लन्ड एक झटके में खड़ा करने का माद्दा था उसके जिस्म में!लाल रंग की कुर्ती और क्रीम कलर की सलवार में कयामत लग रही थी।थोड़ी देर तक हम एक दूसरे को देखते रहे.

दोस्तो, मेरा नाम रवीश कुमार है और मैं रांची झारखंड का रहने वाला हूं. कुछ पल बाद मैं अपने मुँह में सरिता एक चुची लेकर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरी चुची मसलने लगा. हम दोनों के पानी के मिलने से दिलिया के चेहरे पर एक अजीब सा सकून था.

टीचर के साथ सेक्स वो पूरा मेरे ऊपर झुक गया था, एक हाथ मेरी कमर में डाल के मुझे सम्हाला हुआ था. उसके घर में आते ही मैंने गेट बंद कर दिया और हॉल में ही उसे स्मूच करना चालू कर दिया.

इस पर सुखबीर खुश हो गया और बोला- सारिका जी बस आप उसे अपनी तरह बना दो, मैं आपका हमेशा ग़ुलाम रहूंगा. मेरे भाई बहन स्कूल चले गए और चाचा ऑफिस चले गए और दादी अपने कमरे में ही रहती हैं तो उनकी कोई चिंता ही न थी. उसके बाद कई बार जब विशाल भाई घर पर नहीं होते थे तो मैं भाभी को सामान वगैरह के लिए मार्केट भी लेकर जाने लगा.

सेक्सी लड़की डांस

मैंने सुषी से पूछा कि तुम्हारे माता और पिता को भी तो वह लड़का उम्र में बड़ा लगा होगा न. मैं अपने दोनों हाथ सुखबीर के सीने पर रख घुटने बिस्तर पर टिका लिंग के ऊपर बैठने लगी. हालांकि मुझे आज मिनी को चोदने का मौका मिल गया था, तो मैंने प्राची के बारे में सोचना छोड़ दिया.

तभी उन्होंने मेरे हाथ अपने हाथ से कस कर पकड़ लिया और नीचे जाने से रोक दिया. मगर मैं कभी उसके ऊपर के होंठ को चूम रहा था तो कभी नीचे वाले होंठ को.

तो उसने बताया कि भाभी को बहुत अच्छा लगा, वो तुझसे बहुत खुश हुई, दो दिन बाद तुझे फिर से बुलाया है।मैं दो दिन बाद फिर गया और भाभी को चोद के आया और मेरे एक दोस्त को भी भाभी का मज़ा दिलाया।एक दिन मैंने उस आदमी से पूछ ही लिया- तू उसका पति है ना?उसने बताया- हाँ।और बोला- मुझे बहुत अच्छा लगता है कि मेरी बीवी किसी और से चुदे.

ओह्हो … तो ये बात है!” मेरे ज़हन में अब बच्चे का ख्याल आते ही मेरी सब कुछ समझ में आ गया. मैंने भी देर न करते हुए उसको पीछे से पकड़ कर उसकी कमर को दोनों हाथों से पकड़ लिया. भाई बहन या मां बेटे जा रिश्ता सिर्फ सामाजिक रिश्ते होते हैं, जो सबके सामने दिखाने पड़ते हैं.

उसकी चुत के छोटे-छोटे होंठों को मैं अपने होंठों में लेकर खींचने लगा. मैंने रिया की टी-शर्ट निकाल दी और उसकी ब्रा के अन्दर कसे हुए मम्मों को दबाने लगा. फिर मैंने भाभी को घुमाया और उनकी पूरी पीठ को धीरे धीरे करके चूमने लगा, चाटने लगा.

तभी मेरे अण्डों में मुझे ऐसा लगा कि कोई विस्फोट हुआ हो और धड़ाम … धड़ाम … धड़ाम … लंड से लावा तेज़ पिचकारी जैसे रानी की चूत में छूटा.

बीएफ चुदाई सेक्स वीडियो: थोड़ी देर बाद वहां पर एक लगभग 30 साल की औरत आई, उसने पहले इधर उधर देखा और फिर मेरे पास ही थोड़ी सी जगह में बिस्तर डाल कर सो गयी. कई बार देखा जाता है कि मर्द अपना वीर्य निकालते ही एक तरफ गिरकर सो जाते हैं.

बस 10-12 धक्के लगाने के बाद सुखबीर का चेहरा देखने लायक था, वो पूरे जोश से भर गया था और उसे बहुत मजा आ रहा था. मेरी इन हरकतों से उत्तेजित हो कर जूली एक बार फिर बोली- आमिर, खुजली और बढ़ रही है!मैं समझ चुका था कि अब उसे मेरे लंड के धक्के चाहिये. अचानक पिंकी जाग गई, मैंने फटाफट अपना हाथ बाहर निकाला और दूसरी तरफ मुँह करके सोने का नाटक करने लगा.

अब मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने अपना चेहरा उसके चेहरे के पास ले जाकर हल्की सी किस करके हट गया। फिर भी उसका कोई रिएक्शन नहीं था.

उसने मुझे अपनी बांहों में दबा लिया और बहुत देर तक हम ऐसे ही पड़े रहे। करीब 10 मिनट के बाद मैं उठा, किचन में गया और पानी की बॉटल फ्रिज से निकाल के पानी पिया और उसे भी दिया।पानी पीने के बाद वो एक बार फिर से मेरे लन्ड को पकड़ के हिलाने लगी. तभी मेरे अण्डों में मुझे ऐसा लगा कि कोई विस्फोट हुआ हो और धड़ाम … धड़ाम … धड़ाम … लंड से लावा तेज़ पिचकारी जैसे रानी की चूत में छूटा. उसने बोला- तुमको मुझसे बात करने में कोई ऐतराज तो नहीं होता है?मेरे मन तो किया कि उससे कह दूँ कि मैं तुमको ही अपनी गर्लफ्रेंड बना लेता हूँ.