हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं

छवि स्रोत,छोटी सी बच्ची का बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मियां खलीफा हिंदी बीएफ: हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं, वन्दना ने शर्म से अपनी आंखें झुका ली और बोली- ये पता नहीं कैसे यहां रह गयी.

बीएफ सेक्सी नंगी पिक्चर हिंदी में

अब मनोज ने दीपा की टाँगें चौड़ी की, दीपा ने तौलिये से अपनी चूत साफ़ करी. काजल की चुदाई बीएफ” मैंने सिर झुकाकर कोर्निश के अन्दाज़ में सलाम बजाया तो दोनों हंस पड़ी।आप भी तैयार हो जाओ फिर सेलिब्रेट करते हैं.

मैंने उनके पास जाकर उनको पीछे से पकड़ लिया और अपना लौड़ा उनकी गांड पर रगड़ने लगा. बीएफ पिक्चर चुदाई चुदाई वालीमैंने फिर से चार पांच झटके दिए और अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर जोर का धक्का लगा कर एक ही बार में पूरा लंड गांड की जड़ में पेल दिया.

तो चलें ड्रॉयिंग रूम में प्रिन्स के पास?” वो बोली- अगर वो सो गया हो तो उसको डिस्टर्ब नहीं करेंगे.हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं: मैंने ध्यान दिया तो ये वही औरत थी जिसको मैं सुबह अपनी बाइक पर लेकर गया था.

तभी मैं सोनम को बोली- मेरे बॉस से सेक्स करेगी क्या?वो बोली- नहीं यार, वो इतने बड़े हैं.तभी पीछे की खिड़की खुली और अंदर से एक हाथ ने मुझे भी अंदर आने का इशारा किया.

सेक्सी बीएफ खुला सेक्सी - हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं

मेरे मकान मालिक करीब 38 साल के खूबसूरत और बलिष्ठ मर्द थे और मालकिन 33 साल की बहुत ही सुंदर और सेक्सी भाभी थीं.उसने लिखा था- क्या तुम इसे ले पाओगी … इसको खुश कर पाओगी?उसका लंड देख कर मैं एकदम से गरम हो गई थी और मेरी चुदास ने मुझे कुछ अलग ही करवा दिया.

मगर वो साले बड़े प्रोफेशनल थे, साले सब के सब ‘सॉरी मैम … सॉरी मैम!’ करके निकल जाते। किसी मादरचोद ने हमारी फुद्दी नहीं मारी।जब कोई जुगाड़ नहीं बना और हम दोनों को नशा भी बहुत चढ़ गया तो हम दोनों एक दूसरी को ही अपनी बांहों में भर कर बेड पर लेट गई। पहले तो एक दूसरी को देखा, और फिर कविता ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये. हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं वॉयलेट- अरे वाह … तुझसे मिले 6 महीने हो गए हैं … और तुझे मैं आज खूबसूरत दिख रही हूँ.

अब हम दोनों वापिस आए और नीचे बिछे हुए गद्दे पर चादर डाले एक दूसरे को बांहों में नंगे ही लेट गए.

हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं?

आगे परिवार में सेक्स की स्टोरी में पढ़ें:ओह्ह्ह्ह … अब समझा बेटी मेरा लंड बहुत लम्बा और मोटा है इसीलिए पहली बार लेने में तुम्हें तकलीफ हो रही होगी मगर जैसे ही तुम अगली बार मेरा यह लंड अपनी चूत में ले लोगी तुम्हारा दर्द ख़त्म हो जाएगा क्योंकि फिर तुम्हारी चूत में यह अपनी जगह बना लेगा. मैंने अपनी जीभ उसकी चुत में घुसा दी और मैं चॉकलेट से सनी चूत चाटने लगा. वो समझ गई कि यही वो रणभूमि है, जिधर लंड चूत की कुश्ती होने वाली है.

मैंने हामी भरते हुए लंड को चूत में पेलने के लिए मोना के मुँह से निकाल कर हिलाया. अब तैयार रहना तुम!” ऐसा बोल के अपने मुँह से मेरे मुँह को बंद कर लिया. फिर पापा कहने लगे- बेटी, अगले हफ्ते में तेरा जन्मदिन है तो मुझे कुछ गिफ्ट देना चाहता हूं.

मेरे हाथ उसके पैरों से चल कर उसकी जांघों से होते हुए उसकी पैंटी तक पहुंच रहे थे. वो शर्म से सिमट गई और पैंटी में छुपी अपनी चूत को पैरों से छुपाने की नाकाम कोशिश करने लगी. उनके सात इंची मूसल लंड का गर्म सुपारा जब मेरी चूत पर लगा तो मैंने खुद ही उनको अपनी तरफ खींच लिया.

ये कहते हुए मैंने अपना लंड गांड से निकाल कर खूबसूरत गीली चूत में घुसा दिया. दरवाजा खोलते हुए उसने मेरी तरफ देखा और मुस्कुरा कर हाथ हिलाकर बाय कहा और चली गई.

बाद में मैं नहा कर तैयार हुई और उसके नाम का और मेरे पहले पति दोनों के नाम का सिंदूर मांग में भर लिया.

सुनील ने चाहां कि वो अपना लंड दीपा की चूत में कर दे पर अचानक दीपा को जाने क्या हुआ … वो तेजी से बाहर आ गयी और अपने वाश रूम में जाकर दरवाजा लॉक कर लिया.

मयूर ने मेरे दूध दबाते हुए कहा- अन्दर बाहर का खेल रहने भी दो, तो कम से कम इनसे तो खेलने दो ना. बहुत ही सेक्सी गन्दी गन्दी गालियां दे रही थी। अभय मेरे होंठों को छोड़ कर मेरे दूधों पर टूट पड़ा. कुछ देर बाद मैं उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा तो परी मैम ने अपनी पेंटी भी निकालने का कह दिया.

लंड में हल्का सा तनाव आते ही वो फिर से नीचे बैठ गई और मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी. मैंने मुस्कुरा कर कहा- हां तुम बाजारू तो नहीं हो, लेकिन कुंवारी भी नहीं हो, भोसड़ा बन गया है तुम्हारा छेद … मुझे सब पता है कि तुम गांव के कई लौंडों के लंड ले चुकी हो. चाची की गांड में लंड पेलने से पहले मैंने उंगली पर तेल मला और उनकी गांड में रास्ता बनाने लगा … ताकि चाची को ज्यादा दर्द न हो.

मेरी मम्मी मालिनी बोली- मेरे दोनों दामादों … बिल्कुल चिंता मत करो। थोड़े दिनों में जब ये मायके आएगी, मैं इसे अपने आप तुम्हारे पास ले आऊंगी.

अब मेरे यानि विरत की मॉम निशा के शब्दों में:मैं कमरे के बाहर खड़ी थी. उसने भी एक पीस खुद खाया और दूसरा वाला खूब चबाकर मेरे मुंह से मुँह लगाकर दे दिया. हाँ, पर अब तक केवल जीजाजी के साथ ही सेक्स किया था किसी और के साथ नहीं.

परी मैम का साईज 36-30-38 का था … जो मुझे बाद में खुद उन्होंने ही बताया था. जैसे ही मेरी उंगलियों ने उसके होंठों को छुआ, ऐसा लगा जैसे उसके बदन में कोई करंट दौड़ गया हो. हाइट में तो मेरी बुआ लगभग मेरे ही बराबर की है मगर उसके फीगर का आकार 36-30-40 का है.

मैंने उसको बोला- बिना ब्रा के टीशर्ट में से मेरे निप्पल साफ दिखेंगे.

रिया भी जॉली के हाथों से अपनी गांड पर हो रहे प्यार के इजहार से शर्मा गयी. इतना बोल कर जेठजी फिर से चुप हो गए और उन्होंने फिर से अपना सर नीचे कर लिया.

हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं तो शबनम तो बाथरूम में घुस गयी शावर लेने … पीछे पीछे नायरा ने भी दरवाजा पीटना शुरू कर दिया … जबरदस्ती शबनम से दरवाजा खुलवा कर वो भी अंदर घुस गयी. मैंने नीचे से अपनी उंगली उसकी चूत में चलानी शुरू की और ऊपर से उसकी गांड की ठुकाई जारी रखी.

हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं आज रात का खाना मैं उनके साथ ही खाऊंगी … प्लीज!मेरे काफी मनाने के बाद माँ मान गईं. बस फिर क्या था सुहास ने मुझे अपनी गोद में उठाया और मुझे पूल में ले गया.

रोहन- अच्छा, वो कैसे?सोनिया- पहले ये बताओ, अभी क्या पहन रखा है तुमने?रोहन- एक बनियान और अंडरवियर.

भोजपुरी बीएफ ब्लू फिल्म

मैंने उसे बुलाया वो भी खुश हो गयी लेकिन उसने ऐसे जताया कि नहीं आना चाहती है. श्वेता दीदी- अरे … तुम बात करो … मैं यहीं पास में ही हूं ना … कोई दिक्कत नहीं होगी. जैसे ही चड्डी नीचे की, लंड महाराज बाहर निकलते ही उनके चेहरे से जा टकराए.

शान ने कहा- अरे लेकिन वो तो है न!मैं- अरे तुम चिंता मत करो उसके होने से हमें कोई प्रॉब्लम नहीं होगी. इस घूमने और मस्ती को चुदाई तो नहीं कह सकते हैं, लेकिन इस सब में थोड़ा बहुत चूमना-चाटना तो हो ही जाता था. एक दिन उसने मुझसे कहा- मेरे दोस्त का फ्लैट खाली है, कल तुम कॉलेज मत जाना, हम उसके रूम पर चलते हैं … रात भर वहीं रहेंगे.

दीपा को सुनील के सामने देखना अच्छा नहीं लग रहा था, वो उठ कर बेड पर लेट गयी.

जब भाभी रसोई में गई, तो पिंकी बोली कि अंकल आपके होंठ को क्या हो गया?मैंने बोला- हां … लगता है शायद किसी कीड़े ने काट लिया. मैंने अपना नम्बर उसे देते हुए उसका नम्बर मांग लिया लेकिन उसने अपना नम्बर देने से मना कर दिया. भाभी जी ने ओके कह दिया और कहा कि चलिए कुछ और फोटो निकाल लीजिएगा, फिर सारी एक साथ भेज देना.

”ओह!”हम दोनों ब्रा पैंटी में हो गए।अंशु बोली- अच्छे लोग अपनी बहन बेटी की चुदाई नहीं देखते. मनोज ने दीपा से चाय बनाने के लिए कहा और खुद सुनील के रूम में जाने लगा. मेरी माँ ने शान का हाथ पकड़ लिया था और वो उसको गुस्से से देख रही थीं.

तब से ही मैं समझ गया कि मेरी इन तीनों की ही चूत की प्यास कितनी ज्यादा है. प्रतीक- अच्छा तुम बताओ कि तुम क्या चाहती हो?मैं- सिर्फ मुझे माफ कर दो और इस नन्हीं सी जान को इस दुनिया में आने दो.

घर वालों को इस बात की चिंता होने लगी और उन्होंने मेरी टयूशन लगवाने की सोची. फिर मैंने अपने धक्के तेज़ करने शुरु किये और गप गप करके लंड उसकी चूत की चुदाई करता रहा।आअह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… मम्म्म्मीईईई ओह्ह्ह्ह मर गईइईई आआअह्ह्ह!”उसने भी अपनी गांड उचकाना शुरु कर दिया, अब हम दोनों ही चुदाई का मजा ले रहे थे. साकेत भैया ने दीदी का हाथ फिर से पकड़ा और अपने लंड पर रख दिया, पर दीदी ने फिर से हाथ हटा लिया.

फिर तो मामी और भी मेरे बांहों में मदमस्त होती चली जाएंगी और हम दोनों कामुकता के सागर में डूबते चले जाएंगे.

मैंने धीरे से पूजा के लोअर में हाथ डाल दिया और उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से मसलने लगा. वो भी अपने दोनों हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगी।मैंने कसकर उसे अपने सीने से लगा लिया।अब मैंने लंड पर थोड़ा दबाब देना शुरू किया. मैं बुआ की तरफ देखने लगा तो बुआ बोली कि मेरे बदन के दो अंगों को तो उस दिन तूने छुआ भी नहीं था.

मुझे सेक्स बेहद पसंद है, अपने अनुभव से अब मैं अपने लंड के झड़ने के समय को काबू कर लेता हूँ, सामान्यतया कभी भी 25-30 मिनट से पहले नहीं झड़ता हूँ. इस तरह मुझे मेरे दोस्त के द्वारा ही धीरे धीरे सेक्स का पता लगने लगा.

मेरी वाइफ दूध जैसी गोरी है इसलिए निप्पल भी एकदम गुलाबी और छोटे-छोटे हैं मेरी बीवी के. अब मुझसे खुद भी सहन नहीं हो रहा था, तो मैंने उसे उठाया और बाथटब में ले गया. और फिर अपनी स्कर्ट उतारी और चड्डी भी; आगे को झुक कर एक टेबल का सहारा लिया और अपनी फुद्दी उस लंड से लगाई.

हिंदी बीएफ सेक्स सुहागरात

थोड़ी देर बाद वो चरम सीमा पर आ चुकी थीं और मेरी झमाझम चुत चटाई के बाद झड़ गईं.

इसके बाद चाची जहां कहीं भी जातीं, मेरी नजर सिर्फ उस तरफ ही घूम रही थीं. वो बोला- मैं तो मान लूंगा लेकिन पूरे गांव के लोग तुम्हारे बारे में यही बात करते हैं. गोली खाने के कुछ समय बाद ही मेरी चूत से गन्दा खून निकलना शुरू हो गया.

पर ज़ायरा बोली- यार प्लान कैंसिल हो गया है … अब हम लोग नहीं जा रहे हैं. ”तू एक काम कर धीरे-धीरे अपने पैर पीछे करले इससे तेरे को आराम मिलेगा।”एक बार बाहर निकाल लो बाद में जब दर्द ठीक हो जाए तब कर लेना. टीचर बीएफ पिक्चरराखी ने मेरे नंगे लंड को अपने हाथ से दोबारा से सहलाना शुरू कर दिया था.

मैं टैग को निकालते हुए बोला- ओ माय गॉड इसे उतारने में कैसे भूल गया!सोनिया- इसीलिए तो मैं तुम्हें चम्पू बुलाती हूं. उसी कहानी को आगे बढ़ाते हुए आज मैं एक और सच्ची घटना पर आधारित सेक्स कहानी लिख रहा हूं.

लेकिन जालिम मर्द को मेरे दर्द के साथ जरा भी सहानुभूति नहीं हो रही थी. कभी वो लंड पर नीचे ऊपर तक जीभ फिराती, तो कभी वो सुपारे के चारों ओर जीभ घुमाती. नेहा अपने घुटनों के बल मेरे सामने बैठ गयी और मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

कुछ देर मेरी पुसी को सक करने के बाद वे मेरी चूचियों पर आ गए और उन्हें खूब मसल डाला।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, वह बहुत बुरी तरह से गीली हो गई थी. फिर उपिन्दर … उसने शैली की छातियाँ ओढ़नी के ऊपर से हल्के हल्के दबाईं- मैं भी आज कुछ नहीं कर रहा … नहीं तो तेरी लिपस्टिक खराब हो जाएगी. मेरा हाथ लगते ही मानो वो और कड़क हो गया हो।वो बोला- अपने मुँह में लो ना!मैं बोली- छी मैं नहीं लेती हूं।उसे क्या पता कि यह लंड चूसना तो मेरा शौक बन चुका है।लेकिन इस वक़्त लन्ड की जरूरत मुँह से ज्यादा चूत को थी।फिर उसने अपनी जेब से लिप गार्ड निकाला और अपने लन्ड पर ढेर सारा लगा लिया.

हर जगह से मेरे जिस्म को चूमा-चाटा था लेकिन पूरा सेक्स नहीं किया था.

लेकिन भैया ने मेरे दोनों हाथ पकड़ रखे थे और भाबी ने मेरा सिर अपनी बुर में घुसाया हुआ था. उस रूम में कॉलेज का टूटा हुआ फर्नीचर ओर कबाड़ का सामान था मगर उन लोगो ने मुझे चोदने के लिए साइड में जगह बना रखी थी.

खुले बाल, सनग्लास और ओरेंज कलर के नेल पेंट, लिपस्टिक और मैचिंग बेली. ”अपना हाथ दो!”मैंने हाथ आगे बढ़ाया तो उन्होंने अपना लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. इतने भी बेरहम न बनो जी!वो बोले- क्या मेरा लंड लेने के लिए मेरी बीवी की चूत मचल रही है?उनकी बात पर मैंने कहा- मचल नहीं रही, बहुत बुरी तरह से तड़प रही है.

साकेत भैया ने फिर से दीदी की दोनों टांगों को फैलाया और उनके बीच लेट गए. वो कई महीनों के बाद घर पर आते हैं और इसी कारण मेरी मां ने अपने कुछ दोस्तों को मदद के लिए रखा हुआ है. खुद मैंने भी यह बात नोट की थी कि जब वे हमारे घर किसी फंक्शन या पार्टी में आते थे तो वे मुझे बहुत देखते थे.

हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं एक दिन मैंने उससे पूछा- तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड बना है या नहीं?उसने शर्माते हुए कहा- नहीं. फिर मैंने धीरे से दूसरी बार धक्का मारा और लगभग पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

बीएफ बॉयफ्रेंड

रात को सोते वक्त उसके टॉप से ज़ायरा के मम्मे साफ़ तने हुए दिख रहे थे, जो मुझे उत्तेजित कर रहे थे. किसी मर्द का लंड चूसने में आज तक इतना मज़ा नहीं आया था उसे जितना अपनी गांड की गंध से सना अपने बाप का लंड चूसने में आ रहा था. ज्योति ब्रा उठाने के बाद जैसे ही सीधी होकर उसे पहनने लगी उसकी नज़र अपने पिता पर गयी, जो अपने हाथ को अपनी धोती में डाले हुए था.

ये बात आज से 4 साल पहले की है उस समय मैं 12वीं में था और ताजा ताजा जवान हो रहा था. क्योंकि एक तो इस होली में मैंने स्वीटी आंटी के साथ मस्त होली खेली और होली खेलने के दौरान हीं हम दोनों ने संभोग किया. बीएफ फिल्म चूत मारने वालीकहानी के इससे पहले वाले भाग में मैंने बताया था कि मेरे जीजा ने मेरी चूत को गर्म करके छोड़ दिया था.

मैं तो प्यार के मारे मयूर से लिपट गई और उसको अपनी बांहों और टांगों में जकड़ लिया.

वो अपने भरे हुए दूध मेरे सामने दिखाने में वो कोई शर्म महसूस नहीं करती. मैंने अपने कमरे में जाकर दरवाजा बंद कर लिया और बेड पर लेट कर साकेत भैया के आने का इंतजार करने लगा.

मैंने उससे कहा कि तुम मुझे यहीं उतार दो, मैं तुमको 7 बजे के करीब फोन करूँगा. मैंने खाना बनाया, उस लड़के के साथ में खाना खाकर मैंने उसको दूसरे वाले कमरे में बिस्तर लगा करके एक कम्बल दे दिया और मैं अपने कमरे में आकर सो गया. मैंने अपने लन्ड का टोपा उसकी चूत पर सेट किया और एक ही झटके में पूरा लन्ड उसकी चूत में उतार दिया.

मैंने तेज तेज 8-10 झटके और मारने के बाद लंड को उनकी चुत से निकाला और उनके मुँह में दे दिया.

अंत में चाची ने हाथ जोड़ लिए और बोलीं- मेरे बाप … अब तो छोड़ दे मुझे … अब मुझसे चला भी नहीं जाएगा. अब नीरू फिर से चुदासी हो गयी और अपनी गांड को उठा उठा कर लन्ड को अंदर लेने लगी. वीडियो दस मिनट का था और इन्हीं दस मिनट में मैंने उसको गांड चुदाई के लिए तैयार करना था.

बीएफ वीडियो इमेजमैंने विनय का हाथ पकड़ कर ऊपर खींच लिया और उसका लंड थोड़ी देर मुँह में लेकर चूस लिया. मेरी माँ ने शान का हाथ पकड़ लिया था और वो उसको गुस्से से देख रही थीं.

घड़ी मे बीएफ सेक्सी

अब आगे की कहानी:लेडी डॉक्टर दुभाषिये से संवाद करते हुए स्थिति को समझने लगी. इधर में उसके नीचे दबा हुआ अपनी नाक उसके चुत में डालने में लगा हुआ था. मसाज पार्लर में फीमेल टू मेल मसाज और मेल टू फीमेल मसाज सर्विस उपलब्ध होती है.

तो चाची बोलीं- क्या बात है लाड़ले … अभी भी दिल नहीं भरा क्या? इतनी जबरदस्त चुदाई करने के बाद भी तू जोर लगा रहा है … मेरा तो एक एक अंग डोल गया है. मैंने ही उसको संभाला और इस दौरान हमारी नजरें मिलीं और हम दोनों वहीं पर स्मूच करने लगे. मैं उठा और उसको सोफे पर पटक कर उसकी चिकनी चूत पर लंड को रगड़ने लगा.

एक अच्छे परिवार से आने की वजह से उसके अन्दर शिष्टाचार की खूबी भी थी. मैंने उनकी चोटी पकड़ ली और उनके चूतड़ों पर चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना शुरू कर दी. जब हम पहले दिन कॉलेज कैंपस में पहुंचे, तब सबकी निगाहें हम तीनों पर ही आकर रूक जाती थीं.

कोई 20 मिनट बाद मेरा रस निकलने वाला था कि मैंने उसकी चुत से लंड खींचा और उसके मुँह में लगा दिया उसने भी किसी रंडी की तरफ मुँह में मेरा लंड भर किया और चूस कर सारा रस उसके मुँह में ही छोड़ दिया. वो बोली- देखते ही रहोगे या अंदर भी आओगे?जैसे ही उसने मेरे अंदर आने के बाद दरवाजा बंद किया मैंने उसको गोदी में उठा लिया और सीधा उसको बेड रूम में ले गया.

इस वक्त मोसी एकदम बिंदास लेटी हुई थीं, उनकी गहरे गले की मैक्सी से उनकी चूचियों का पूरा नजारा दिख रहा था.

उसने ही पहली बार मुझे मुट्ठी मारना सिखाया और जब मेरा पानी निकला, मैं आप लोगों को पता नहीं सकता दोस्तो कि कितना मजा आया. सेक्सी बीएफ अंग्रेज वालापूरे विधि विधान के हिसाब से मूहर्त निकाला, जो कि एक हफ्ते के बाद का था. हिंदी एक्स एक्स बीएफ फिल्मऔर ये बोलते हुए उसने नीरू के हाथ से अपनी पेंटी ले ली।नीरू उसका चेहरे को अपने दोनों हाथों में लेते हुए बोली- मेरी प्यारी बहना … हम यहां मस्ती करने तो आये हैं. श्वेता दीदी- अरे … पागल डर क्यों रही हो … मैं हूं ना! पहले तुम रिलैक्स हो जाओ.

उसका पति प्रत्येक सप्ताह एक दिन शहर से टूर पर बाहर जाता था तो मैं उस दिन अलसुबह उसके शहर पहुँच गया.

मैं उसके गले लग गई, उसने भी मुझे गले से लगा लिया और बोला- मेरी जान, क्या माल लग रही हो अब!तो मैं शर्मा गयी।फिर वो मुझे एक जगह ले गया. उनके हाथों में लाठियां थीं और उन्होंने कुछ कपल्स को पकड़ रखा था … जिनसे वह सवाल कर रहे थे. उन्होंने धीरे से अपने पैरों को हिलाते हुए नीचे से अपनी पैंट और अंडरवियर दोनों को ही निकाल दिया था.

नीरू के चूसने से मेरा लन्ड बिल्कुल तन गया था जिसे देख कर वन्दना के मुंह में पानी आ गया. फिर महेश ने ज्योति के चूतड़ों को पकड़ कर चौड़ा किया और अपनी बेटी की गांड के छेद के चारों ओर जीभ फेरने लगा. मैंने मोसी की चुत का नमकीन अमृत पूरा पी लिया और उनकी चूत को चाट कर साफ कर दिया.

इंग्लिश बीएफ पिक्चर चाहिए

सच! ज़िंदगी में किसी मर्द से चुदवाने में ज्योति को इतना मज़ा कभी नहीं आया था. आंटी ने मेरी तरफ मलाई चाटने के बाद बिल्ली की तरह से देखा और मुस्कुरा दीं. साकेत भैया- क्या हुआ? कहां गई?श्वेता दीदी- भैया कुछ नहीं हुआ, वो टॉयलेट गई है.

मगर फिर सोचा कि नाम और जगह में फेरबदल करने के बाद कुछ पता नहीं लगेगा.

फॉर्म जमा करने के बाद मैं कॉलेज से निकल रही थी तो अचानक से किसी ने पीछे से मेरी आँखें बंद कर दी.

अन्तर्वासना की फ्री सेक्स कहानी साईटनयी हिंदी सेक्स स्टोरीज़ साईटआशा करता हूँ कि आपको मेरी रियल सेक्स स्टोरी आपको पसंद आई होगी. कमरे में घुप्प अँधेरा हो गया तो दीपा बोली- वाशरूम का दरवाजा हल्का सा खोल दो, थोड़ी रोशनी आ जाएगी. तालिबान के बीएफमैंने पानी पिया और जैसे ही वापस बाहर आने लगा, मुझे झोपड़ी के पीछे से कुछ आवाज ऐसी आई जैसे कोई फसल में से जा रहा हो.

ये सब रोहित सहन नहीं कर पाया और उसका बदन भी ऐंठने लगा, वो बोला- आह भाअअ. जब रिया को यकीन हो गया कि जॉली अब पूरी तरह शांत हो गया है और उसका मोटा लंड बिल्कुल कोई भी रस नहीं छोड़ेगा, तब उसने धीरे से लौड़ा बाहर निकला और एक बार उसे नीचे से ऊपर तक चाट लिया. उनमें से मैंने उतने ही मेहनताना रखा जितना कि मुझे पार्लर में मिलता है और बाकी उसको वापस कर दिये.

तो सलीम बोला- साली रंडी, तेरी चूत में बड़ी आग है … अभी शांत करता हूँ. और मैंने बाथरूम से सुमन को कॉल किया तो उसने एकदम पूछा- अरे मेघा, मेरे भैया ने तुझे चोद दिया क्या?हाँ यार … बहुत मस्त … अभी भी बाथरूम में नंगी खडी तुझे फोन कर रही हूँ.

मैंने पास रखी दारू की बोतल का मुँह दीदी के मुँह में लगा दिया और उनसे दो बड़े घूँट ले लेने के लिए कहा.

हम दोनों की ही साँसें तेजी से चल रही थी।कुछ देर में जब पूजा सामान्य हुई तो वो उठकर अपनी चड्डी पहनने लगी. इतने मोटे लंड दो मर्दों के एक साथ मैंने अपनी चूत और गांड में कभी नहीं लिये थे. मेरे सर के बाल उसने पूरी मजबूती से पकड़ रखे थे कि कहीं मैं उसकी चुत से अपना मुँह न हटा लूँ.

सी पिक्चर हिंदी बीएफ मैं कब झड़ गई थी मुझे पता भी नहीं चला।सुखविन्दर ने तुरंत ही 3 ग्लास शराब फिर बना ली और फिर मुझे भी पिला दिया. पर वो चुदास से तड़प रही थीं, तो मैंने मेरा 5 इंच का मोटा लंड मोसी की चुत के अन्दर एक झटके में ही घुसा दिया.

रोहन- हाय यह बात सुनकर तो मुझे प्यास लगने लगी है … मेरा गला सूख गया है. चाची बोलीं- मैं अब तुम्हारी हूँ … गांड भी मार लो, पर मैंने पहले कभी गांड नहीं मरवाई … इसलिए धीरे धीरे करना. हम दोनों कभी कभी लाइब्रेरी में, कभी कभी पार्क में, कभी कैन्टीन में मिलते रहते थे.

कुत्ता वाला बीएफ पिक्चर

इसके आगे क्या हुआ, वो अगली चुदाई की कहानी में मैं आप सभी को लिख कर बताऊंगी. श्वेता दीदी- अरे … पागल डर क्यों रही हो … मैं हूं ना! पहले तुम रिलैक्स हो जाओ. ड्रिंक की एक चुस्की लेने के बाद वन्दना ने अपनी ड्रिंक मुझे पकड़ाई और अपनी टीशर्ट उतार दी.

मैंने उससे पूछा- आंटी आपकी फैमिली के बाकी और सब कहां हैं?तो शीला ने बताया कि उसके हस्बैंड दुबई में जॉब करते हैं और घर में वो उसका बेटा और उसके गांव का एक नौकर रहता है और ये ड्राइवर. ये दृश्य उसके लिए इतना कामुक था की अनजाने में ही उसका हाथ उसकी टांगों के बीच चला गया.

फिर धीरे-धीरे वह भाभी से अलग हुआ तो राहुल का वीर्य भाभी की चूत से निकलकर उनकी जांघों पर बह निकला.

मैंने भी आंख दबाकर कह दिया- यार मुझे पता नहीं क्यों … अब भी ठंड सी महसूस हो रही है. मर्दों को तो सुहागरात में अपने मन और अपने लंड की शांति के लिए जो भी करना होता है वो सब करते हैं. महेश ने अपना लंड हाथ में पकड़ा और उसका मोटा सुपारा ज्योति की चूत के मुँह पर टिका दिया.

मैं अपने एक हाथ की दो उंगलियों से छेद सा बनाया और दूसरे हाथ की एक उंगली को छेद में डालने का इशारा करते हुए कहा- चुदाई …मोना मुस्कुरा दी. ”पी रखी थी … ओ हां कल रात मैं पार्टी में थी फिर!”चल ज्यादा जोर मत डाल दिमाग पर … उठ जा, कॉलेज नहीं जाना क्या?”नो दीदी आई एम नॉट फीलिंग वेल. उसका जिस्म मस्त भरा हुआ है और वो पहाड़ी इलाके की मतलब बर्फीले इलाके की है तो वो इतनी गोरी थी कि लाल दिखती है.

मैं समझ गयी कि हो ना हो जेठजी अभी थोड़ी देर पहले जो कुछ हुआ, उसी के बारे में सोच रहे हैं और शायद जेठजी बुरा महसूस कर रहे हैं.

हिंदी बीएफ देखना चाहते हैं: उन्होंने मुस्कुरा कर मुझे देखा और पूछा- दो दो लंड एक साथ लगी रंडी?मेरी ख़ुशी का तो ठिकाना ही नहीं था. कुछ देर बाद मैंने लैपटॉप बंद कर दिया और फिर उससे बात करने की कोशिश की.

दो मिनट के बाद उसने जब लंड को बाहर निकाला तो उसकी लार से पूरा लौड़ा चमक उठा था. जिससे उसका लंड भी गर्मी महसूस करने लगा और पैंट के ऊपर से दिखने लगा. मुझे इस वक्त ये सोच कर बहुत अच्छा लग रहा था कि मुझे देख कर दो मर्दों के लंड खड़े हैं.

मैं मोना की नजरों को उसी वक्त नोट कर लिया था, जब वह भाभी के गेट की तरफ आ रही थी.

राहुल ने रिसोर्ट को बता रखा था कि सुइट को ये लोग कॉमन इस्तेमाल करेंगे इसलिए पहुँचते ही नाश्ता सूट में लगवा दिया गया. आज वो हद से ज्यादा ही सेक्सी दिख रही थी और मेरे मन को ललचा रही थी।मैं उसे एक टक देखता ही रहा तो उसने बोला- क्या हुआ? लो तुम्हारा दूध तैयार है. वीडियो में भी वो आदमी एक औरत की गांड चुदाई जबरदस्त तरीके से कर रहा था और वो औरत मजा लेकर उस चुदाई का आनंद ले रही थी.