गोरखपुर के बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,संगीत वाला सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी हॉट्स वीडियो: गोरखपुर के बीएफ सेक्सी, नेट की ब्रा में से दीदी की चूचियों के आधे से अधिक दर्शन भी हो रहे थे.

गंदे गंदे

दो पल बाद मैंने उसके कान के पास फुसफुसाते हुए कहा- अब तो दर्द कम हो गया होगा? यार मुस्कुरा तो दो. سکس انڈینमम्मी भी मस्त होने लगीं, उन्हें भी मज़ा आने लगा था इसलिए उन्होंने विरोध करना बंद कर दिया.

ममता जी को घोड़ी बनाकर मैंने पहले तो उनके दोनों चूतड़ों पर एक एक थप्पड़ मारा. पंजाबी आंटी सेक्सी पिक्चरअब उसने मुझको घोड़ी बनाया और पीछे से अपना कड़क लौड़ा मेरी गांड में दे दिया.

दोनों चिकनी जाँघों के बीच हल्के कोमल काले बालों से ढका हुआ स्वर्ग मार्ग, उसकी गुलाबी चूत … जो अभी भी कुंवारी लड़कियों जैसी छोटी और माँसल थी.गोरखपुर के बीएफ सेक्सी: मैंने लगातार चार पांच शॉट लगाए तो चूत से पच … पच फुच फुच … की मस्त आवाज आने लगी थी.

चाचा मुझे बहुत प्यार करते थे, कहने लगे- कोई बात नहीं, जब दीवान आ जायेगा तब देखेंगे, तब तक यह हमारे साथ ही सो जाएगा.लेकिन जैसे-जैसे डिल्डो अंदर जा रहा था धीरू अंकल की जान हलक में आ रही थी.

बिहारन की सेक्सी वीडियो - गोरखपुर के बीएफ सेक्सी

मैंने उसकी दोनों टांगों को चौड़ी करके अपना लंड उसकी चुत की फांकों में ऊपर से नीचे तक कई बार घिसा और उसकी व्याकुल निगाहों को देखते हुए एक ही बार में पूरा लंड जोर से चुत से डाल दिया.तू भी कोई पसंद कर ले इन्हीं लौड़ों में से एक लौड़ा … जो तेरी चूत को ठंडा कर सके.

वो हॉट लेडी सेक्स कहानी इस प्रकार से थी, आप भी सुनें:हमारा परिवार एक तीन बेडरूम के घर में रहता था. गोरखपुर के बीएफ सेक्सी खैर … जैसे तैसे पांच मिनट निकले और भाभी ने पॉलीथिन निकाल दी और उसे बाहर कहीं रख आईं.

फिर उन्होंने अपना तेल में डूबा हथियार मेरी गांड पर टिकाया और धक्का दे दिया.

गोरखपुर के बीएफ सेक्सी?

मैंने पूछा- आपकी और अमितेश की इतनी बहस क्यों होती है?श्वेता बोलने लगी- यार, वो मेरा ध्यान नहीं रखते हैं. उसे देख कर मैंने भी खड़े होकर अपने कपड़े उतारे और अगले ही पल मैं सिर्फ एक अंडरवियर में था. लम्बाई लगभग 5 फुट 3 इंच, रंग तो दूध जैसा गोरा था ही!शरीर भरने से चाची की चूचियों का साइज भी 34 से ऊपर और गांड तथा चूतड़ों का साइज 36 हो गया था.

अचानक यामिना ने अपनी टाँगों को छत की ओर उठा कर चौड़ा कर लिया और मुझे बोली- जोर … जोर से करो, चोद चोद … कर फाड़ दो … मेरी चूत को, हाय सर … पहले … कहाँ थे … मेरी तो जिन्दगी … ही सँवार दी आपने. सामने से पैंट इतनी टाइट थी कि चाची की चूत उसमें से फूलकर बिल्कुल बाहर दिखाई दे रही थी. फिर एक दिन ढूंढते ढूंढते मुझे राहुल नाम का एक लड़का मिला।उसकी उम्र 30 साल थी.

तुम बस थोड़ी ढीली रखना, कॉपरेट करना … इतने माशूक लौंडे की मिलना किस्मत की बात है. 10-15 मिनट टीवी देखने के बाद धीरे-धीरे मैं उसके पास गया।वह उतना सहज महसूस नहीं कर रही थी।मैंने उससे पूछा कि तुम शायद सहज महसूस क्यों नहीं कर रही हो न? क्या तुमने पहले भी किया है किसी के साथ?वो बोली- नहीं, सिर्फ किस किया था। जब मैं बाहरवीं में थी तो मेरा एक बॉयफ्रेंड था. मैं इस समय पूरे जोश में धक्के लगा रहा था, जिससे ममता जी की कामुक आवाजें ही मुझे सुनाई दे रही थीं.

हम दोनों ने कुछ ही समय बाद भाभी की गांड और चुत में एक साथ लंड पेल दिए और उनकी मदमस्त चुदाई करने लगे. तो कृपया मुझसे हर बार यह सवाल ना करें कि मेरी कहानी सच्ची है या झूठी!और लड़कों से खासतौर पर एक निवेदन है कि कृपया अपने लंड को थोड़ा सा काबू में रखें, मुझे चोदने के सिर्फ सपने देखें क्यूंकि हकीकत में ऐसा होना बहुत मुश्किल है।तो आइए Xxx बस सेक्स कहानी की शुरुआत करते हैं.

लेकिन लंड महाराज आगे हो रहे थे, पीछे निकालने में अभी भी चुत बहुत टाइट महसूस हो रही थी.

हर्ष के उनके जीवन में आने के बाद भी रेणु और शेखर की प्रेम लीलाएँ चलती रहती थीं, हाँ उनमें थोड़ी कमी ज़रूर आ गयी थी.

तन्वी ने हंसते हुए माहौल को ठीक करने का प्रयास किया- हां, उसकी बात सही है. अब दीदी कुछ नहीं बोलीं और न ही उन्होंने मेरे हाथों को रोकने का प्रयास किया. पर रनवीर मचल गया- सर, क्या मैं शामिल हो सकता हूं … सर सर प्लीज!सर मान गए और मैं बाजार चला गया.

इधर श्वेता मेरा अंडरवियर धीरे धीरे नीचे खिसकाने लगी और जैसे ही मेरा अंडरवियर थोड़ा नीचे हुआ तो मेरा लम्बा और मोटा लंड सीधा लहराता हुआ बाहर आ गया. उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, मैं आपको एक पत्नी की चुदाई की प्यास की कहानी बता रहा था. ऐसा लग रहा था कि उसका हर अंग शहद से भरा हो।रेनू की पैंटी आगे से गीली होने लगी थी.

तब मामी ने बोला- ठीक है, मैं कोशिश करूंगी लेकिन तुम पहले मेरी चूत को चाटो.

यामिना- मैं पूरा कर दूँगी, बताओ कौन चाहिये, लिली … ?मैं- लिली तो साली पहले से ही चुदी हुई है, उसे तो बस कानी करने के लिए चोदना है?यामिना- लिली, चुदी हुई नहीं है, उसका आदमी तो मन्द बुद्धि है, तभी तो वह सब पर भड़कती रहती है. पहले तो मुझे लगा कि ये सब बकवास है ऐसे कोई लड़की कैसे चुदवा सकती है?फिर मुझे लगा कि हवस के आगे तो सब हार जाते हैं तो शायद वो लड़की भी हार गयी होगी. उसके साथ मेरा खून का रिश्ता तो पहले से ही था मगर आज हमारे बीच एक जिस्मानी रिश्ता भी बन चुका था.

खाना सभी लोग एक साथ खाते थे और फिर कुछ देर बातचीत करके अपने अपने कमरे में चले जाते. अब मेरा पूरा लंड अंदर था और अब चूत को रगड़ने की बारी थी।उसकी आँखों से आंसू आ रहे थे लेकिन फिर भी वो लंड धकेलने का इशारा करने लगी. धीरे धीरे हम दोनों में प्यार भी हो गया। हमने एक ही रूम में शिफ्ट कर लिया और अच्छे से रहने लगे.

भाभी जी- नहीं आरुष, अब से तो मैं तुम्हारी और भी ज़्यादा दीवानी हो गई हूं.

उनकी चूमा चाटी देखते हुए मुझे पांच सात मिनट हो गये थे और अब मेरा लंड फिर से तनाव में आने लगा था. मैंने पूछा- तो आपसे जो मैंने पढ़ने के लिए कहा था, वो पढ़ा आपने?वो बोली- हां, मैंने पढ़ा.

गोरखपुर के बीएफ सेक्सी भाभी ने अपनी नाइटी को उतार कर बाथरूम में डाल दी और 5-7 मिनट तक भाभी टब में बैठी रहीं. तुम्हारी ये बात मुझे बहुत पसंद आई कि तुमने बिना सेक्स किए भी मुझे तीन बार ऑर्गेज्म करवाया है.

गोरखपुर के बीएफ सेक्सी उसने हंस कर मेरा लंड पकड़ा और बोली- इससे मेरी हमेशा चुदाई के लिए आप जो भी बोलोगे … मैं राजी हूँ. मैंने उसको पूरी नंगी कर दिया और उसकी सांवली सी चुत के अन्दर मैंने उंगली डाल दी.

दोनों ने सेक्स को लेकर अपनी-अपनी पसंद और अपनी ख़्वाहिशों के बारे में बताया.

कैमरा ओपन करना

दो मिनट में ही वो गर्दन को पटकने लगी और फिर बोली- डाल दो अब … इतनी देर मत करो, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है और मेरा बेवड़ा पति कभी भी आ सकता है. आगे बताते हुए अंकिता कहने लगी- मैंने सर को बोल दिया कि सर जैसा आप कहो, मैं वैसा ही करने के लिए तैयार हूं. वो घटना तब हुई थी, जब अनु दीदी ने मुझसे बुआ के घर जाने की ख्वाहिश जाहिर की थी.

मैं श्वेता के करीब आ गया और उसके बोबे उसकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा था. मैंने उसे चुदाई की पोजीशन में करके लंड सैट किया और एक ही शॉट में लंड चुत में उतार दिया. स्नेहा ने जब उनकी बातें सुनी, तो उसने अपने मुँह पर हाथ रख लिया और सोचने लगी कि दीदू को हुआ क्या है आज … ये मॉम डैड के लिए इतनी गंदी गंदी बातें क्यों कर रही हैं.

तो हम लोग भी मना नहीं कर पाये और सोचा कि इसी बहाने साक्षी का ससुराल भी देख आयेंगे.

एक दो पल भाभी की नाभि को चूमने चूमने के बाद मैं दुबारा नीचे भाभी की टांगों के बीच आ गया. आगे बताते हुए अंकिता कहने लगी- मैंने सर को बोल दिया कि सर जैसा आप कहो, मैं वैसा ही करने के लिए तैयार हूं. सास की चुदाई के बाद मैंने उसको उसकी बेटी लोलिशा की नंगी तस्वीरें दिखाईं और उसको लंड चूसती हुई की एक वीडियो भी दिखाई.

चाची- शर्मा क्यों रहे हो, बताओ न!मैं- हां एक है, जिसे मैं बहुत चाहता हूँ. स्नेहा- अपनी किस्मत ऐसी कहां है यार … जो ये निगोड़ी चूचियां किसी मर्द के हाथों दब जाएं. रंजू भी मेरे साथ-साथ अपनी कमर नचा नचा कर मेरे हर धक्कों का जबाब बदस्तूर दे रही थी.

मैंने उस फ़ोटो को ज़ूम किया तो देखा कि सामने से निक्कर के अंदर से फ़लक की चूत की दोनों मोटी फाँकें अलग से दिखाई दे रही थी. मैं आपका ये अहसान कैसे उतारूंगी? आप जो कहोगे मैं बदले में करने के लिए तैयार हूं.

कुछ देर के बाद उसका कॉल आया और उसने सॉरी बोलते हुए कहा- थैंक्स यार, तुमने पब्लिक प्लेस में मुझे रोका. मैंने भी उनकी गाल की चुम्मी लेकर पूछा- और क्या करने को राजी है मेरी कप्पो रानी?मामी- राहुल, तूने तो मुझे ऐसे ऐसे चीजें सिखा दी हैं कि मैं तो तेरी दीवानी हो गयी हूँ. उसकी चुत में जब भी लंड अन्दर रुकता था, तो मुझे लगता था कि मेरा लंड उसकी चुत के अंत में जाकर टकरा रहा है.

वो इसलिए होने लगा था क्योंकि एक बार जल्दी जल्दी में लंड मम्मी की गांड में घुस गया था और वो दर्द से चिल्ला उठी थीं, तो पापा पूछने लगे थे कि क्या हुआ.

मैं अपनी दोनों टांगों को चौड़ा करके अतितीव्र गति से सधे हुए झटके लगाने लगा; साथ ही रीना बहन की दोनों चुचियों को मसलने लगा. किंजल की चूत में जैसे ही लंड झटके से घुसा, वो जोर जोर से चीखने लगी. आपको मेरी बड़ी बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी आप इसके बारे में अपनी राय जरूर दें.

मैं और प्रमोद बारी बारी से देखते रहे जब वह चिपक कर रह गया, तो समझ गए कि अब ये झड़ने वाला है. ममता जी को घोड़ी बनाकर मैंने पहले तो उनके दोनों चूतड़ों पर एक एक थप्पड़ मारा.

हल्के से कसे हुए आलिंगन के साथ उसकी पीठ पर पीछे से अपनी हथेलियों से धीरे-धीरे हाथ घुमाने लगा।मैं उसके कान में बोला- तुम बस इस पल में अपने आप को रखो और ज्यादा मत सोचो. पापा मेरा एक दूध हाथ में पकड़ कर दबाते हुए बोले- अरे मेरी जान, अगर तू गालियां नहीं देती … तो तुझे चोदने की मेरी कैसी हिम्मत होती और पता नहीं कब तक मुझे तेरी पैंटी पर ही मुठ मारनी पड़ती. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने अपने कपड़े निकाल दिये और उसके हथफूल भी!मैं उसका लहंगा उतारकर 69 की पोजीशन में आ गया!ज़ारा ने झट से लंड को मुंह में भर लिया और मैंने चूत को!मैं उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा और वो मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

इंग्लिश हॉट सेक्सी

हम सभी अभी खाना खा ही रहे थे कि अचानक से बहुत तेज बारिश होने लगी और तूफान आ गया.

कैसे संभाल रही होगी इसके दूधों को!यही सब सोचते हुए मैं अपने लंड को सहला रहा था. यामिना- आप में तो फ़लक की फ़ोटो देखकर नया जोश भर गया, अब जान ही निकलोगे क्या?मैंने यामिना की ऐसी चुदाई की कि यामिना का पोर पोर रस में भीग गया. माँ Xxx कहानी के पिछले भागबेटे और उसकी गर्लफ्रेंड की चुदाई देखीमें अब तक आपने पढ़ा था कि निखिल ने मेरी चुत में लंड पेल दिया था.

भाभी की चुत पहले ही रस निकलने की वजह से पूरी गीली हो चुकी थी तो मेरा लंड एक बार में ही पूरा अन्दर घुस गया और इसी के साथ भाभी की जोरदार चीख निकल गई. वो उखड़ी हुई सांसों से बोली- सर, आप तो बहुत जबरदस्त तरीके से फ़किंग करते हो, आह … आज तो मजा आ गया जिंदगी का … ओह माई गॉड … आह … आह … फ़क मी हार्ड … ज़ोर से चोदो. भाभी की सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्सगोल गोल चूची, मस्त शेप वाली गांड किसी को भी उसे चोदने के लिए मजबूर कर सकती थी.

मैंने भी हाथ से लंड को ठीक से सैट किया और अगला पैग बना कर दारू पीते हुए उन चारों की चुदाई का आनन्द लेने लगा. पहली बार मैंने उसके नंगी चूची को पकड़ कर दबाया, तो उसके मुँह से सिसकारी निकल गयी.

पर मैं शादीशुदा हूँ और इन्हें धोखा कैसे दे सकती हूँ?मैंने कहा- आप मुझे बेहद पसंद हैं और आपको मैं … और इसमें हम दोनों की रजामंदी भी है। अब इससे ज्यादा आपको क्या चाहिए। पर इंसान को अपने अंदर की लड़ाई खुद लड़ना चाहिए इसलिए यह फैसला मैं आप पर छोड़ता हूँ क्योंकि जिंदगी में जो भी काम करो पूरे मन से ही करना चाहिए. आखिर वो वक्त आ गया जिसका मुझे इंतजार था, पायल ने मेरे लण्ड को चूमते हुए कहा- विजय मुझे ये चाहिए, यहां. सिगरेट के दौरान ही दीदी ने मुझसे ड्रिंक के बारे में पूछा तो मैंने ना में सर हिला दिया.

मैं- तो तुम्हारा दोस्त कैसा है?वह- अरे वो मेरा दोस्त है और मेरी ही उम्र का है. मैंने भाभी की गांड में अच्छे से घी लगाया और छोटी उंगली से गांड के अन्दर घी लगाया, जिससे उनकी गांड चिकनी हो जाए. पहली बार इतनी करीब से किसी और की योनि को देखा था मैंने।हल्के भूरे और काले रंग में अंदर की दोनों छोटी भगोष्ठ और भीतर एकदम गुलाबी और रस से भरा चिपचिपा योनि द्वार और उसके ऊपर हल्के काले बाल।मैं बहुत ही प्यार से उसको छू रही थी और सहलाने का, लेस्बियन लव का मजा ले रही थी.

ये जीजा साली Xxx कहानी लॉकडाउन से पहले जनवरी की एक सच्ची घटना पर आधारित है, जो मेरे साथ हुई.

जिसका मतलब साफ था कि मेरा पति अपने वाहियात दोस्तों के साथ उनको कंपनी देने के लिए गया हुआ है।मैंने मोबाइल फोन निकाला देखने के लिए कि उसने कहीं कोई मैसेज न छोड़ा हो।मुझे उसका मैसेज मिला- जान, मैं अपने दोस्तों के साथ आया हुआ हूं. फिर मैंने कहा- अभी और मजा आएगा … देखती जाओ जान!भाभी ने बोला- ठीक है दिखाओ अब … मैं तो कब से कह रही हूँ.

उस फिल्म को देखने के बाद मेरे अन्दर की भावना गंदे सेक्स से भर चुकी थी. इसके बाद विदेशी आदमी आया और मेरी बीवी की जांघों के बीच में बैठ गया. मैं बोली- इतना दर्द झेलने के बाद क्यों जाना, अब तो हमारी तनख्वाह भी बढ़ जाएगी.

दोनों मकानों के बीच लकड़ी का बड़ा दरवाजा था, अन्दर जाते समय उसे बंद कर दिया, जो नए मकान से पुराने मकान को अलग करता था. कुछ ही देर में लंड से चुत की दोस्ती हो गई और मोना भाभी ने अपनी गांड हिला कर इसका संकेत भी दे दिया. शाम को कमोवेश यही होता है बस उस समय मॉम भी दीदी के साथ काम करती हैं.

गोरखपुर के बीएफ सेक्सी वो विदेशी भी पूरा पसीने पसीने हो गया था लेकिन उसने चूत मारनी बंद नहीं की. तभी प्राची अपने बच्ची को सुलाकर बाहर आयी और मुझसे पूछने लगी कि और दूध चाहिए हो तो मांग लेना.

मारवाड़ी सेक्स ऑडियो वीडियो

लॉकडाउन में मैं घर में सिंगल रूम होने से मैं मुठ नहीं मार पा रहा था. मैंने एक तकिया उसकी कमर के नीचे रखा, तो वो बोला- यह क्यों?मैंने कहा- अब तेरे चूतड़ बड़े हो गए हैं और काफी मस्त हो गए हैं. अगर आप भी कुछ उत्तेजक, कामुक और निजी पल दिल्ली की इस हसीना तान्या (फोटो ऊपर दी गयी है) के साथ बिताना चाहते हैं तो उसकी प्रोफाइल चेक करने के लियेयहां क्लिक करें.

कुल मिलाकर तीनों ही बहनें बहुत ही हॉट माल हैं और तीनों को ही देखकर चोदने का मन करने लगता है. मगर पापा नहीं माने और उन्होंने मम्मी की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. लेडीस वाला सेक्सी वीडियोमिशैल- अपनी डार्लिंग के लंड से माल निकलवाने के लिए मैं कुछ भी करने के लिए तैयार हूं.

मेरे सामने मामी के भरे हुए रसीले आम और ताजा ताजा साफ की हुई चिकनी चुत थी.

करीब पांच मिनट की घनघोर चुदाई से अनु दीदी दूसरी बार झड़ते हुए पीठ के बल तख्त के ऊपर गिर पड़ीं. मैं दिल्ली में रहता हूं और पार्ट टाइम में नर्सिंग यानि इंजेक्शन देने का काम करता हूं.

मैंने अपना लंड दीदी के चुचों के बीच रगड़ते हुए दीदी को बूब फक का मजा देने लगा. चारों तरफ अच्छी तरह से देखा तो कुछ भी नजर नहीं आया, जिससे उस पर कोई शक़ कर सकता था. तभी मामी बोलीं- कोई दिक्कत नहीं तू जोर लगा कर दम से चोद!इतना सुनने के बाद मैं और जोर से अपनी कमर को हिलाते हुए झटके मारने लगा.

उसने उस रबर की चूत को अपने हाथ में ले लिया और अपनी उंगली उसमें घुसाने लगा.

मैंने उसी वक्त भाभी को पीठ के बल बेड पर लेटा दिया और उनके ऊपर चढ़ गया. कभी चूचियां मेरी पीठ से रगड़ीं … तो कभी मेरी गर्दन पर गर्म सांसें छोड़ीं, बस लंड ही नहीं पकड़ा और सब हरकतें कर लीं. बाद में उसी पोजीशन में दोनों बारी बारी एक दूसरे को किस करने लगे थे.

सेक्सी गर्ल्स हॉस्टलवो जोर जोर से कामुक सिसकारियां लेती हुई कह रही थीं- आह प्लीज डाल दो ना अब … क्यों सता रहा है. फिर मैंने डिपार्टमेंटल टेस्ट दिए और अपनी मेहनत के दम पर एक ऑफिसर बन गया.

इंग्लिश सेक्स पिक्चर सेक्स

वो लण्ड को मुँह के हर कोने में ले जाती और जीभ लिंगमुंड के ऊपर फिराती. फिर मेरे मन में भी लालच आ गया कि शायद क्या पता ये भी चुदना चाह रही हो और इसीलिए मुझे रात को अपने घर रोक रही हो?उसने मुझे खाना लाकर दिया. फिर उसने मेरी चूत में लंड डाले ही मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मेरे होंठों को चूमने लगा.

चाची- लेकिन मेरे इनसे तो दूध आता ही नहीं है, जब तुमने पिया… तो आया था क्या?मैं- आया तो नहीं, परन्तु अच्छा लगा. ‘अरे … फिर!’‘फिर क्या … वो तो उसी समय मेरा लंड पकड़ कर मसलने लगी थी. फिर मैं उसे ये खाने का डब्बा कैसे दूंगा?मगर मैं मकान मालकिन को मना नहीं सकता था, इसलिए मैं वो डब्बा लेकर ऊपर आ गया.

बेड पर जिस तरफ चाची थी उस तरफ जगह ज्यादा होने के कारण मेरा फोल्डिंग पलंग लगाया गया था. बेबी Xxx कहानी में पढ़ें कि सर्वे कंपनी के फिल्ड के काम में मेरी दोस्ती एक लड़की से हुई. अभी दो महीने पहले की बात है, हमारे फाइनल एग्जाम हुए तो मैं मैथ्स में फेल हो गया.

फिर मैंने अपने छोटे भाई (मेरे लंड) की खातिर पोर्न वगैरह देखना बंद कर दिया. मेरी बीवी की दो बेस्ट फ्रेंड थीं और उन दोनों को मैं पहले से ही जानता भी था.

अपनी कमर को नचा नचा कर रीना दीदी अपनी चुत के हर कोने में लंड की चोट लगवा रही थीं.

मैं तुमको एक जगह बताता हूं, वहां पर तुम दोनों हाथ पर कोई रंगीन कपड़ा बांधकर खड़े हो जाना. सेक्सी विडीयो मराठीफिर तैयार होकर नीचे गई और नाश्ते की टेबल पर उसने अपने भाई और पापा से कहा- गुड मॉर्निंग पापा … गुड मॉर्निंग भाई. சீனா செக்ஸ்इसके लिए कोई आदमी या लड़का रखो वरना रात की रखवाली अगर औरत या लड़की करेगी तो दिक्कत होगी उसको।पति से पूछने के बाद अब मैं ऐसा ही कोई लड़का देखने लगी. फिर एक दिन अमन किसी तरह से मेरी बहन रीना को मनाने में कामयाब हो गया.

मैंने खड़े लंड को गांड के छेद पर लगा दिया और चाची को गांड ढीली छोड़ने को कहा.

मेरे हाथ से पानी का गिलास सर की पैंट पर गिर गया था और उनका लंड उस गीली पैंट में साफ दिख रहा था. अब मैंने उसकी क्लिट को रगड़ना शुरु किया और कुछ ही देर में उसे भी झाड़ दिया. तो वह समस्या भी हल हो जायेगी।ऐसे ही हमारे बीच बातों का सिलसिला चलता रहा.

हमारे पीछे पीछे पिंकी भाभी और रोमिल आ गया।वापस आकर सबने एक एक पैग पिया और बिस्तर पर आ गए।भाभी रोमिल का और दीदी मेरे लौड़े को चुसने लगी और हम दोनों उनकी चूचियों को मसलने लगे।अब शर्म तो जैसे किसी कोने में छुप गई थी।अब हमने दोनों को लिटा दिया और ननद भाभी की चूत चाटने लगे. मैं- तुम्हें मजा आया कि नहीं … लगी तो नहीं … कोई तकलीफ तो नहीं हुई?प्रभात- नहीं मुझे कोई तकलीफ नहीं हुई. एक दिन मुझे अपने स्कूल में साथ पढ़ने वाली फ्रेंड की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई.

जानवर में सेक्सी पिक्चर

मुझे ज़रा भी होश नहीं था कि कामोत्तेजना में मैं खुद ही अपनी योनि का रस चूस रही थी।ऐसी हालत तो किसी मर्द के लिए भी नहीं हुई थी मेरी!अब मुझे समझ आ रहा था कि कविता एक अनुभवी खिलाड़ी रही होगी. जैसे ही भाभी को पता चला कि मैं उनकी चुत में झड़ गया तो भाभी मुझसे लड़ने लगीं और गालियां देने लगीं- बहन के लौड़े, हरामजादे, मादरचोद अन्दर क्यों झड़ा. जब तक मैं कुछ सोच पाता … तब तक मेरे लंड ने रूपाली की चूत में लावा उगलना शुरू कर दिया था.

मैंने सोचा साली उंगली तक इसकी चुत में नहीं जा रही है, तो मैं मोटा लंड चुत में कैसे डालूंगा.

अब मैं उसको किसी और नजर से देख रही थी और उसको अपनी तरफ आकर्षित करना चाहती थी.

वो सटासट अपनी चूत में एक हाथ से उंगली करने लगी और दूसरे हाथ से अपनी निप्पल नौंच डाले. अब मैंने चाची को बिस्तर पर चित लिटाया और उनके मम्मे दबाने लगा, चूसने लगा. हिंदी सेक्सी सूट सलवार वालीतभी फिर से जोर से बिजली कड़की, तो उसने मुझे फिर से अपनी बांहों में खींच लिया.

एक मिनट बाद मैंने किंजल की पैंटी भी हटा दी और उसकी चुत के दीदार किए. इस बार जब हम दोनों सो कर उठे तो भाभी जी व्हिस्की की एक और बोतल ले आई थीं, जिसे देख कर मैं थोड़ा हैरान था कि भाभी कितनी बड़ी पियक्कड़ हैं. दीदी चिल्ला पड़ीं- आआह मर गई … मम्मी रे … आह मेरी फाड़ दी साले इतना बड़ा लंड एकदम से पेल दिया हरामी उउउफ्फ मर गई.

” मैंने कहा।मैंने उसके लंड को ऐसे थाम लिया जैसे मैंने रस्सी पक़ड़ी हुई है और मैं उसके सामने जा खड़ी हुई. काफी देर तक मैंने उसके स्तनों को दबाने का मजा लिया और फिर उसकी ब्रा के हुक खोलकर ब्रा को भी हटा दिया.

ये हॉट चाची के साथ सेक्स कहानी हमारे पड़ोस में रहने वाली रमिला आंटी के साथ मेरी चुदाई की कहानी है.

पापा ने आह करते हुए अपने पूरे लंड को मेरे मुँह में ही निचोड़ा और धीरे से अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल लिया. बुआ की आवाज़ शांत होते ही मैंने उनके चूतड़ों पर थोड़ी पकड़ बना कर एक आखरी धक्का लगाया जिससे मेरा पूरा लंड उनकी गांड में घुस गया. फिर जल्दी से घर वापस आ गया और गुलाल, रंग आदि सब लेकर भाभी जी के घर की तरफ चल पड़ा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो में ब्लू मैंने लंड चलाते हुए कहा- बस यार ऐसे ही ढीली किए रहो, अभी निपटे जाते हैं. अब तो मुझे प्राची का दूध उसके मध्यम आकार के उभारों से पीने मिल रहा था.

किंजल की पैंटी छोड़कर उसे पूरी नंगी कर दिया और उसके पूरे जिस्म को चूमने लगा. लेकिन मैं ऐसे किसी अनजान के रूम में नहीं जाना चाहती थी क्योंकि वहां पर ज्यादा खतरा हो सकता था इसीलिए मैंने उनको रूम में जाने से मना कर दिया. हम दोनों ने खुद को साफ किया और जल्दी से मामी ने खाना बना कर मुझको खाना परोस दिया और मैं खाना खाकर मामा के लिए खाना ले कर चला गया.

ஷகிலா செக்

मैंने उसे चोदने से पहले काफी सेक्स वीडियो देखी थीं, जिनमें लड़कियों को कैसे उत्तेजित करते हैं … वो सब समझा था. मैं- ये क्या … तू एक कॉल गर्ल है?सीमा- हां, पर तूने प्रॉमिस किया है कि तू किसी से कुछ नहीं बताएगी. दोस्तो, मेरा नाम राम है, मैं सूरत का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 35 साल है.

उन्होंने अपनी आंख से पट्टी उतार दी और बोली- यह क्या कह रही हो?मैंने कहा- मैं यह करना चाहती हूं, यह मेरी बहुत बड़ी इच्छा है. दोनों भाभियों के पति शहर में काम करते थे और साल में केवल दो बार ही घर आते थे.

मैं कामुकता से अपनी आंखें बंद करके उसका आनन्द ले रहा था।और मैं उसके शरीर पर हाथ फिराता रहा.

जब मैं बाहर आया तो उसने मेरी चुटकी ली- हाथ धो आए जीजू, चलो गर्म गर्म भजिया खा लीजिए. मैंने उसकी गांड एकदम लाल कर दी थी।अब मैंने उसकी गांड के छेद पर ढेर सारा थूक लगाया और थूक लगाकर अपना अंगूठा उसकी गांड में डाल दिया जिससे उसको और मज़ा आने लगा. वो बोली- हां मैं जानती हूं एक अच्छी जगह, आप चलाते रहो मैं जगह आने पर बता दूंगी.

उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और जैसे ही उसके हाथ ने मेरे लंड का अहसास किया वो हैरानी से बोली- तेरा तो बहुत बड़ा है. अब आगे Xxx भाभी चुदाई कहानी:अब भाभी मेरा विरोध भी नहीं कर रही थीं और बिना कुछ बोले चुपचाप लेटी हुई थीं. यार स्नेहा कुछ कर ना!स्नेहा- ला मैं ही अपनी होने वाली भाभी का दूध पी लेती हूँ.

यामिना मेरे ऊपर झुक गई और मेरे पाँव से अपनी चूचियों को रगड़ते हुए मेरे पटों और जांघों पर अपनी चूचियाँ रगड़ने लगी.

गोरखपुर के बीएफ सेक्सी: दोस्तो, अगर मैं चाहता तो मौके का फायदा उठाकर भाभी की गांड भी मार लेता और वो मना भी नहीं करतीं. अगली बार आपको नेहा की चाची चाचा की चुदाई की कहानी का लाइव टेलीकास्ट पढ़ने को मिलेगा.

नंगी भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एक बार भाभी ने मुझे अपने घर बुलाया. फिर उसी पल लंड को थोड़ा सा दबाव दिया, तो लंड का टोपा गांड में अन्दर घुस गया. उसके ऊपर आधे इंच के खड़े निप्पल, जिसमें से बीच में ही दूध की एकाध बूंद निकल रही थी.

नेहा अब झड़ने के करीब थी, तो उसने भी नीचे से अपने चूतड़ उठा उठा कर उसके धक्कों का जवाब देना शुरू कर दिया.

भाईजान ने पहली रात में ही न सिर्फ उसे पटा लिया, बल्कि उसकी गांड भी मार दी. गांव में मेरे परिवार में मेरे अलावा मेरे मम्मी-पापा और मेरी दादी रहते हैं. मैं- अरे यार … मेरे हीरो को ऐसा जोड़ा?प्रभात- तभी तो सर … उस दिन पिता जी सकपका गए थे.