बीएफ हिंदी में फुल एचडी में

छवि स्रोत,एचडी बीएफ फुल वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

पड़ोसन आंटी की चुदाई: बीएफ हिंदी में फुल एचडी में, मेरे पास आते हुए उसने अपना गाउन निकाल दिया और जब तक वो बेड पर मेरे पास पहुंची उसके बदन पर ब्रा और पेंटी ही दिखाई दे रही थी.

बीएफ फिल्म सेक्स हिंदी

मैंने दरवाजे के पास कान लगाकर सुना तो अंदर से सेक्सी आवाजें आ रही थीं. बीएफ सेक्स खुला सेक्सअरे बेटा, डरो मत …ये काटेगा थोड़े ही!” वे बोले और मेरा हाथ पकड़ कर अपने लण्ड पर रख दिया और मेरी उंगलियां लण्ड के लपेट दीं.

सर्दी का मौसम शुरू हो चुका था, सुबह और शाम के समय हल्की हल्की सर्दी होने लगी थी. बीएफ हिंदी में सेक्सी सेक्सीमैंने कहानियां तो बहुत पढ़ी हैं, पर सभी सच हैं या नहीं … ये मुझे नहीं लगता.

मैंने आशीष से पूछा- तुम कब आओगे मुझसे मिलने के लिए?वो बोला- मैं जल्दी ही प्लान करूंगा.बीएफ हिंदी में फुल एचडी में: मन तो बहुत करता था मगर जीजा जी ने वादा किया था कि वो खुद ही मेरे साथ सुहागदिन मनाएंगे इसलिए मैं बस उस दिन का इंतजार कर रही थी.

उसकी गांड की गर्मी से पूरा आइस क्यूब पिघल गया।मैंने उसके चूतड़ों को दांतों से काटना चालू कर दिया। मेरे हर एक वार से वो चिहुँक जाती। उसके मलमल से गद्देदार चूतड़ … हाय! मैं उन्हें काटता-चूमता हुआ चाट रहा था। मेरी बहन के चूतड़ मेरे सबसे फेवरेट हैं। मैंने दूसरी आइस क्यूब ली और उसकी कमर से होते हुए ऊपर पीठ की तरफ बढ़ने लगा.वो जोर जोर से रोने लगी, कुछ बोलना चाहती थी, लेकिन बोल ही नहीं पा रही थी.

बीएफ सेक्सी चोदी चोदा चोदी चोदा - बीएफ हिंदी में फुल एचडी में

मैं उसके होंठों पर लगे उसके चूत के रस को चाट रहा था।पट्टी बंधी आंखों में उसके चेहरे का सबसे कामुक भाग उसके होंठ थे जो चाटने के बाद कमरे की रोशनी में चमक रहे थे। मैं उसके दाईं तरफ के गाल पर किस करते हुए उसके कान से होते हुए नीचे गर्दन पर पंहुचा। मौसम ठंडा था और कमरे में ए.थोड़ी देर तक तो ऐसे ही चला, फिर जैसे-जैसे एक-दूसरे की गर्माहट एक-दूसरे के जिस्म में सामने लगी, दोनों की ही पकड़ एक-दूसरे पर ढीली पड़ती गयी.

कुछ देर चोदने के बाद उसने अपना लंड चूत से बाहर निकाल लिया और मेरी चूत को चाटने लगा. बीएफ हिंदी में फुल एचडी में मैंने उसके सेक्सी बदन से उसकी साड़ी निकाल दी और उसके ब्लाउज और ब्रा खोलकर उसके 34 डी नाप के मम्मों को चूसने लगा.

मैंने तुरंत चाची को बेड पर लेटा दिया और दोनों टांगों को फैला कर लंड चूत के मुँह पर सैट करने के बाद जोर जोर से चोदने लगा.

बीएफ हिंदी में फुल एचडी में?

पूरा एक हफ्ता हो गया था, अब मुझसे सौरव के बिना बिल्कुल ही रहा नहीं जा रहा था. वो हँसने लगी और बोलीं- तो छोड़ क्यों दिया … क्या तुम उसे आगे भी कुछ कर सकते हो?मैं यह सुन के एकदम सन्न रह गया और खुशी में पागल भी हो गया. वो मेरे लंड को इतने ज़ोर से आगे पीछे करने लगी, जैसे वो मेरी लंड को उखाड़ लेना ही चाहती हो.

राधिका ने सोनल तरफ देखकर कहा- हां तो तुम दोनों ने क्या डिसाइड किया, क्या रात को चुदने के लिए तैयार हो?सोनल- सिर्फ एक राउंड की बात तय हुई है … वो भी स्लोली स्लोली …तभी राधिका मेरी ओर देखकर मुस्कराने लगी, मैंने भी उसको स्माइल दे दी. उसके मुँह से इतनी जोर से चीख निकली उम्म्ह… अहह… हय… याह… कि बता नहीं सकता. मैंने पूछा- आप क्या करोगी?वो बोली- कुछ भी, पर तुम मुझे मना नहीं करोगे.

उसकी बात सुन कर मुझे जरा राहत सी मिली और मैं फिर से उसके दूध को चूसने लगा, मेरा लंड फिर से झटके लेने लगा. निक मेरे से थोड़ा ही दूर आ कर बैठ गया और पूरे समय मुझे ही ताड़ता रहा था. ’वह दूसरी बार मेरी गांड में ही झड़ गया और मैंने जैक को मना किया, तो उसने मेरे बाल खींच कर अपना लंड मेरे मुँह में भर दिया और झड़ गया.

रात के अंधेरे में मैं हेतल दीदी के बेड पर लेटी हुई तुम्हारा इंतजार कर रही थी. उसके बाद मैंने उसको अपनी बांहों पकड़ा और उसकी गांड को दबाने लगा, उसके कान में कहा- पहले खाना खा लेते हैं उसके बाद करेंगे.

तुम जरा अपने फोन में ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर कुछ देख कर बताओ तो आजकल कौन सा ट्रेंड चल रहा है.

मेरे पैरों पर जमी धूल की उन्होंने जरा भी परवाह नहीं की और पांवों की उंगलियां मुंह में लेकर चूसने लगे.

अंकल ‘मूऊऊऊऊ … मूऊ … पुच पुच … मूऊऊ … पुच आह ओह उईईई …’ करके मेर दूध निचोड़कर चूसने लगे. वो मेरी चूत को चोदते-चोदते अपनी स्पीड बढ़ाने लगा और कुछ ही देर में हम दोनों का पानी निकल गया. मैंने उसकी झांटों पर हाथ फेर कर उसकी आंखों की तरफ देखा, तो उसने बताया- अभी पांच दिन पहले ही उसने साफ़ किए थे.

कारें तो कई खड़ी थी लेकिन समस्या ड्राईवर की थी, ड्राइवर कोई नहीं था. मुझे सॉफ्ट ड्रिंक्स या शरबत पसंद नहीं … सेहत के लिए बुरे होते हैं … और तुमको तो मुक्केबाज़ी भी करनी है इसलिए ताक़त वाली चीज़ें हैं सब … और हाँ अगर आँखें पूरी तरह से हरी न हुई हों तो मैगज़ीन गिर गयी है, उठा लो और मज़े से देखो अपनी फेवरिट हीरोइन को!” मैडम की मीठी आवाज़ सुन के यूँ लगता था जैसे दूर कहीं हल्के हल्के से घंटियां बज रही हों. मेरी बात का जवाब देते हुए काजल ने मेरे अगले सवाल का मुंह ऊपर उठने से पहले ही उसको अपने जवाब की जूती से जैसे रौंद दिया क्योंकि मैं इसके बाद यही पूछने वाला था कि घर में कौन-कौन है!खैर, अब जब बात शुरू हो ही गयी थी तो आगे बढ़ानी भी जरूरी थी लेकिन समझ नहीं आ रहा था कि और क्या बात करूं.

वो भी गालियाँ बके जा रहा था- रंडवी साली … तेरे भोसड़े में मेरा लोड़ा … तुझे आज घोड़ी बना दूंगा, तेरी चुत चोद चोद कर फाड़ दूंगा, तेरी गांड मार दूंगा.

अभी मेरे मन में उसको चोदने का ख्याल तक नहीं आया था लेकिन आज जब उसके स्पर्श को हासिल करने में कामयाब हो ही गया था तो भला ख्याल आने में कहां देर लगनी थी! बार-बार उसकी जांघ से मेरी जांघ टच होने के कारण मेरा लंड तनना शुरू हो गया था. उसकी चूची दबाने की वजह से मैं कामुक हो गयी थी और मुझे चुदवाने का मन करने लगा. फिर वरूण का हाथ भी आंटी की गांड के नीचे से आगे की तरफ आकर उसकी चूत पर फिरने लगा.

उसी तरह मैंने एक बार फिर नम्रता को अपनी गोद में लेकर लंड उसकी चूत में डाला और चूत की मथाई शुरू कर दी. उसकी चुत पूरी तरह से गीली हो चुकी थी और उसकी वजह से उसकी पेंटी भी गीली हो रही थी. मैंने लंड को पैंट के अन्दर किया, अनुषी को दूसरे दरवाजे से बाहर किया और खुद मैं अन्दर मां के पास आ गया.

फिर वो खुद ही कहने लगी कि उसको ये डिल्डो उसकी एक ऑफिस की सहेली ने दिया था.

मैं बी-टेक के फाइनल ईयर में था, तो मैंने सोचा क्यों ना पार्ट टाइम में कोई जॉब कर लिया जाए. मगर उनकी आवाज इतनी ज्यादा तेज नहीं थी कि बाहर आकर बच्चों के कानों तक पहुंच पाये.

बीएफ हिंदी में फुल एचडी में थोड़ी देर बाद मैंने सुना अर्पित के रूम से टीवी से अजीब सी आवाजें आ रही थीं- आहह अहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… यासस … याअसस्स. उसके बाद उसने कहा- तुम बार की लोकेशन ही सर्च कर रहे थे न? तुम्हें भी बीयर बार जाना है क्या?मैंने कहा- हां इधर बैठ कर क्या करूंगा.

बीएफ हिंदी में फुल एचडी में लंड को हाथ से मुठिया कर मैंने सोनल की चुत के ऊपर ही अपने लंड को झड़ जाने दिया. इसलिए सिर्फ मुझे उसकी चौड़ी पीठ और उसकी गोरी सी गांड ही दिखाई दे रही थी.

सर्दी का मौसम शुरू हो चुका था, सुबह और शाम के समय हल्की हल्की सर्दी होने लगी थी.

हिंदी में बफ चाहिए

स्वीटी से उसके बारे में पूछने से पता चला कि वो सायन्स कॉलेज की स्टूडेंट हैं और अभी उसकी छुट्टियां चल रही हैं, तो उसने गरबा क्लास ज्वाइन किया है. अखबार में कभी कहीं कोई शिमला की या डगशाई की कोई ख़बर होती तो मैं सारी ख़बर बहुत ध्यान से पढ़ता … जाने क्यों!और फिर करीब एक साल बाद एक दिन:नवंबर महीने का दूसरा हफ्ता चल रहा था … दोपहर करीब बारह-सवा बारह का टाइम रहा होगा कि वसुन्धरा के पापा मेरे ऑफिस आये. चूंकि सुमिना घर पर ही रहती थी इसलिए मैंने सोचा कि आशा शायद दरवाजे को यूं ही ढाल कर चली गई होगी.

आगे भी मैं इसी तरह की घटनाएं जो मेरे साथ होती रहेंगी, मैं अपने अन्तर्वासना के पाठकों के साथ बांटती रहूंगी. सुबह जब मेरी आँख खुली तो मेरी गांड पर हाथ पड़ा क्योंकि माँ गुस्से में मेरे सामने खड़ी थीं. भोला के कहने पर मेरे जीजा ने मेरी गांड से अपना लंड निकाल लिया और मेरी कमर को पकड़ कर थोड़ा ऊपर करके मेरी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रख लिया और एक जोर की चुम्मी मेरी चूत में ली और बोले- क्या गजब चूत है तेरी बंध्या.

अतः गांड मरवाने में रीना काफी अनुभवी हो गई थी।विक्रम ने धीरे-धीरे करके अपना पूरा लिंग रीना की गांड में घुसेड़ दिया तथाशुरूआती धीमे धक्कोंके बाद जोर जोर से रीना की गांड चुदाई शुरू कर दी। रीना की कसाव भरी गांड के कारण विक्रम ज्यादा देर रीना की गांड चुदाई में नहीं टिक सका.

एक मिनट ही बीता था कि डॉली खिसककर मेरे पास आई और अपना हाथ मेरे सीने पर फेरने लगी, थोड़ी देर में उसने मेरा हाथ पकड़कर अपनी चूत पर रख दिया. स्वीटी ने अपनी कैपरी के अन्दर पेंटी नहीं पहनी थी, तो मैंने उसकी गीली चूत में बड़ी वाली उंगली घुसा दी. दोस्तो, मेरा सेक्स से परिचय काफी कम उम्र में हो गया था और मैंने मुठ मारना, पोर्न देखना तभी से चालू किया था.

मेरा आनंद बढ़ रहा था तो मैं मजे में कामुक सिसकारियाँ ले रही थी जो काफी तेज हो गई थी. जो कि कालांतर में मेरे लिए बहुत प्रॉफिटेबल और परमानेंट बिज़नेस की आधारशिला बनी. उसे देख कर मैं खेत के पीछे से घूमकर धीरे धीरे सीढ़ियों से ऊपर चला गया.

सोनल- मजा तो भाई आपको हम दोनों की चुत की धज्जियां उड़ाने में आया होगा. मैंने उसे ये बताया कि मैं एक मेल एस्कॉर्ट भी हूँ … और एक मेल एस्कॉर्ट क्लब चलाता हूँ.

बियर खत्म होने पर मैंने उसकी उस कोमल चूत को चाटने लगा और साथ ही साथ उस प्री-कम रस का भी मजा लेने लगा, जो शायद उसके ज्यादा उत्तेजना के कारण निकल आया था. हैलो फ्रेंड्स, ये मेरी पहली और सच्ची कहानी है और मैं ये सच्ची कहानी सबसे पहले आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी फ्रेंड के साथ एक ही बेड पर दोनों के साथ एक ही समय में सेक्स किया है और उसके बारे में मैंने अपनी पहली कहानीपहला आनन्दमयी अहसासमें जिक्र किया है। मुझे तो बेहद आनन्द आया था और उस आनन्द की कल्पना करूँ तो कई बार मन में आया भी कि काश एक बार फिर से वैसा ही करने का मौका मिले।5.

तब वो ऊपर आयी और बोली- शर्मा जी, क्या बोर हो रहे हो?मैंने कहा- हाँ, अकेला जो हूँ!मोनिका बोली- हाँ आपकी चारों सहेलियां जो नहीं हैं.

मुझे सबसे पहले दिशा को चोदना था, इसलिए अगली बार मुझे सावधानी रखनी थीअब मुझे तीनों की पीठ सहलानी थी. मैं- एक बात तो पक्की है सोनल और दिशा … आज तुम दोनों की आवाजें पूरे कमरे में गूंजने वाली हैं. वो मुझे अपने साथ टॉयलेट ले गए और मेरी टी-शर्ट को ऊपर करके मेरी ब्रा को ऊपर खिसका दिया.

नागिन की तरह मुझसे लिपटे लिपटे उसने मेरा लोअर नीचे खिसकाना चाहा तो मैंने अपना लोअर और टी शर्ट उतार दिये और दोनों फिर से लिपट गये. उसके लंड से मुझे मजा नहीं आ रहा था बल्कि अब मेरी चूत में दर्द होने लगा था.

इस बार मैं आपको एक हसीन हादसा, जो मेरे साथ हुआ, उसके बारे में बताना चाहता हूँ. फिर मेरा लंड भी जवाब देने लगा और मैंने तीन-चार धक्के पूरी ताकत के साथ लगाये और उसकी चूत में अपना गर्म-गर्म वीर्य भर दिया. मैं बस उसके साथ बेड पर लेटा रहा और कभी उसके होंठ चूसता और कभी उसकी चुचियों को पीता.

एक्स एक्स एक्स सेक्स फिल्म

मैंने उससे पूछा- कैसा लग रहा है?उसने कहा- मैं बहुत दिन बाद चुद रही हूँ.

अभी मुझे दिशा को चोदने का मन कर रहा था, लेकिन अभी दिशा चुदने की हालत में नहीं थी. गुप्ताइन लगभग 45 साल की थी लेकिन अच्छी मेन्टेनेंस और सजी संवरी रहने के कारण लगभग 40 साल की लगती थी. नम्रता बोली- चलो पहले मूत के आते हैं, या फिर अगर मेरी मूत पीने का मन है तो मैं तुम्हारे मुँह में ही मूत दूँ.

जब मैंने अपनी जीभ तुम्हारी गांड में टच की, तो एक अजीब सा स्वाद लगा और उसके बाद जब मैंने तुम्हारी गांड को अपने थूक से गीला करके चाटा, तो और मजा आया. मानसी ने पूछ लिया- लेकिन दीदी तुमने राज के साथ शुरूआत कैसे की, बताओ तो, मैं तो सुनने के लिए बहुत उत्साहित हो रही हूं. वीडियो मे बीएफ ब्लू फिल्महम लोगों ने खाना खाया, साथ में एक एक पैग भी पिया और फिर से चुदाई की तैयारी करने लगे.

अंकल ने कोल्ड ड्रिंक लेते टाइम अम्मी का हाथ टच कर दिया, जिस पर अम्मी ने हल्की सी स्माइल पास कर दी. मैंने कहा- ठीक है, लेकिन मेरी भी एक शर्त है कि तुम मेरी बहन के साथ कुछ नहीं करोगे.

मैंने वसुन्धरा को ब्यूटी-पार्लर के गेट पर उतारा और उसको जैसे ही आप तैयार हो जायें, मुझे सैल पर कॉल कर दें, मैं आप को लेने आ जाऊंगा. ज्योति आंटी को चोदने के लिए मैंने अपने दोस्तों की मदद लेने की सोची. उसकी चूचियों की निप्पल उसके शर्ट में से साफ दिखायी दे रही थी और शर्ट में से बाहर आने को बेचैन थे। उसकी चूचियों के तने हुए निप्पल देख कर मेरा लंड तो मेरे पजामे में ही खड़ा होना शुरू हो गया.

वो मेरे पास आया और बोला- आशना … मुझे पता है कि अभी तुम मेरे रूम के बाहर खड़ी थीं. हम दोनों फ़ोन पे बात करने लगे कि न्यू ईयर का क्या प्लान है, पार्टी करते हैं. यह सुनते ही वो मेरे सामने हंसने लगा, उसने कहा- क्या बोल रही हो यार … इतना सब कुछ होने के बाद तुम ना बोल रही हो.

मानसी रितेश के लंड को सहलाते हुए बोली- जीजू, कुछ दिन और रुक जाते!रितेश जीजू ने कहा- साली साहिबा, ऑफिस का काम भी तो देखना है.

इधर मैं कभी उसकी चूत को पैन्टी के ऊपर से चाटता, तो कभी उंगली से पैन्टी के एक हिस्से को किनारे करके चूत को चाटता या फिर जांघों को चाटता. उनके मन में ये था कि उन दोनों को सेक्स करते उनकी जवान सेक्सी साली देख रही है.

वो भी दूध चुसवाते हुए आहें भरने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं एक हाथ से उसके एक बूब को दबाता रहा और दूसरे को चूसता रहा. मैंने उसके हिलते-डोलते चूचों को अपने हाथ में बारी-बारी से भर कर दबाना शुरू कर दिया और कुछ ही मिनट के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. एक बार मेरे पड़ोस में एक आंटी रहने आई। कुछ दिन के बाद उनसे जान-पहचान हुई तो पता चला कि उनका नाम ज्योति था.

उसके बाद भाभी की चूचियों का साइज देख कर मेरे मन में ख्याल आया कि उनसे थोड़ा फ्लर्ट कर लिया जाये. मुझे लंड चूसना आदि कुछ आता नहीं था इसलिए मैं सही से लंड चूस नहीं पा रही थी. मैंने उससे पूछा- कैसा लग रहा है?उसने कहा- मैं बहुत दिन बाद चुद रही हूँ.

बीएफ हिंदी में फुल एचडी में उसने मुझे नीचे बैठने के लिए अपने हाथों से मेरे कंधे पकड़ कर नीचे की तरफ धकेला. मैं काजल से चिपक गया और वापस उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा.

देवर भाभी का सेक्स हिंदी

उसने खुद ही मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर लगा दिया और मैंने बिना देर किये उसकी चूत में लंड को धकेल दिया. उसके हॉस्टल में मुझे उसने अपने ममेरे भाई के रूप में एंट्री दिलाई थी. मामी ने मुझसे कहा- तुम पढ़ाई करना और अर्पित आ जाए, तो दोनों खाना खा लेना.

जब लंड पूरे तनाव में आ गया तो मैंने सायमा को अपनी वाली जगह पर बैठाया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत पर लगे केक को चाटते हुए उसकी चूत में जीभ घुसाने लगा. बेबी पानी लेने गई तो गुप्ताइन ने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, वो टीवी देखने में मस्त थी, मैं कुछ सोच नहीं पाया. सुरजापुरी बीएफ वीडियोभाभी अपनी गुदगुदी गांड लगभग एक फुट तक उठा कर मेरे मुँह की में देने लगी.

हम दोनों सहेलियां बाथरूम में नंगी होकर एक दूसरे के जिस्म को चूमने लगीं.

फिर हमने एक रूम ले लिया, वहां जाकर मौसी बिस्तर पे बैठ कर बोलीं- तू कुछ खाने के लिए ले आ. कैसे हो दोस्तो? मैं सपना कंवर राठौड़ आपके सामने फिर से एक नई कहानी लेकर हाजिर हूँ.

मैंने उसकी चूत पर पेंटी के ऊपर से ही किस किया और ऊपर से ही चूत को रगड़ने लगा. जब तक मैं उसका लंड मुँह से निकाल पाती कि उसके पहले ही मेरा मुँह उसके वीर्य से पूरा भर गया. मैंने सोचा अब ये सही मौका है, इसलिए मैंने बिना देर किए अपना लंड सोनल की चुत पर रख दिया.

आप सभी दोस्तों ने मेरी चुदाई और कहानी में दी गयी तफसील की तारीफ की है और कुछ दोस्तों ने पूछा क्या खाला की चुदाई मेरी पहली चुदाई थी.

आह … क्या बताऊं दोस्तो, उस वक्त मुझे अपने आप पर काबू करना मुश्किल हो जाता था. दस मिनट तक मेहनत करने के बाद मैंने सुमन के मुंह पर अपनी चूत का पानी फेंक दिया. मैं तो बस ये सब लिखते समय भी अपनी वो मस्त भाभी के मम्मों को दबाने, निचोड़ने, चूसने, पूरा दूध निकाल कर पीने की सोच रहा हूँ.

बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चर भेजोलगभग दस मिनट की शांति के बाद रवि बॉस ने मेरी जांघों पर फिर से हाथ फेरना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैंने अपने लंड को उसकी गांड के द्वार पर रखा और धक्का देते हुए पूरी तरह अन्दर डाल दिया …इससे भाभी पूरी तड़प उठी और चिल्लाने लगी.

सनी लियोन एक्स फोटो

कैसे भी करके मिलो न!रीना- आप पागल हो गए हो? शादी के पहले तक तो बिल्कुल नहीं. रानी मेरे सर को सहला सहला के मेरे मुंह को कभी एक चूची पर फिर दूसरी चूची पर लगा रही थी. रानी तब तक बेल्ट खोल चुकी थी और पैंट को ढीला करके ज़िप भी खोल दी थी.

वे भी मेरा साथ दे रही थी और नॉर्मल हो चुकी थी और मेरे लंड मज़ा ले रही थी. मैं अपनी कहानी शुरू से कहूं तो मेरा जन्म एक साधारण निम्न मध्यम परिवार में हुआ, पिता जी एक सरकारी दफ्तर में चपरासी थे, मेरी माँ, एक बड़ी बहिन, दो बड़े भाई; बस यही मेरा परिवार था. मेरी चूची को चूसने के बाद वो मेरे निप्पल को चूसने लगा और उसको अपने दांतों से काटने लगा.

मैं उसके बड़े बड़े सफ़ेद मोमे देख कर पागल हो गया जो उत्तेजना से लाल हो रहे थे. कुछ टाइम के लिए मैं फिर से रुक गया और मौसी की हालत ठीक होने का इंतजार करने लगा. बिना चुदे उससे रहा नहीं जाता।मैं आपको बता दूँ कि मेरी बहन एक बहुत ही गर्म माल है। उसके मम्मे उभरे हुए 32 के साइज के हैं.

मैंने किस खत्म करने के बाद उसे बेड पे लिटा दिया और खुद अपनी शर्ट उतार कर उसके ऊपर आ गया. उसकी गांड की गर्मी से पूरा आइस क्यूब पिघल गया।मैंने उसके चूतड़ों को दांतों से काटना चालू कर दिया। मेरे हर एक वार से वो चिहुँक जाती। उसके मलमल से गद्देदार चूतड़ … हाय! मैं उन्हें काटता-चूमता हुआ चाट रहा था। मेरी बहन के चूतड़ मेरे सबसे फेवरेट हैं। मैंने दूसरी आइस क्यूब ली और उसकी कमर से होते हुए ऊपर पीठ की तरफ बढ़ने लगा.

थोड़ी देर में मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी, आंटी की चूत मेरे वीर्य से भर गई लेकिन मैंने चुदाई जारी रखी, धकाधक पेल रहा था.

मैं वनिता से बोली- अकेली आई हो, तुम्हारा ठोकू किधर है? मुझे क्या करना है?वो बोली- हां यार, वो आने वाला है. हिंदी बीएफ छोटी वालीवही हुआ, मैंने उसका नाड़ा खोला और उसको अपने ऊपर लेटा कर लंड पिछवाड़े में डाल कर धकापेल में लग गया. एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी पिक्चरअब अजय ने मेरी गांड में लंड डाला, फिर जब तक वो गांड में झड़ नहीं गया, मुझे चोदता रहा. जैसे ही मैंने आतिशा की चुत के ऊपर हाथ रखा, तो वो बोली- भैया, प्लीज़ ये मत कीजिए.

फिर मैं वासना के नशे में शर्म छोड़ कर ऐसे ही टावल लपेटकर बाहर आ गयी.

मैंने भी अपनी दो उंगलियां उसकी चुत में झटके से अन्दर डालीं और उसके मम्मों को दबाने लगा. नैना ने अपनी चाबी से दरवाज़ा धीरे से खोला और मुझे इशारा करके खुद दबे पांव अन्दर चली गई. नम्रता बोली- यह क्या कर रहे हो यार?मैं- मजा ले रहा हूं और जब मजा लेना है, तो पूरा मजा लेना है.

शुरू में तो वो दर्द से तड़फ रही थी, मगर बाद में जब लंड ने अपना काम शुरू कर दिया, तो वो भी मज़े लेने लगी. चुदाई की चरम सीमा पर पहुँचने के बाद मैं उसकी चूत में ही खाली हो गया. वसुन्धरा के वक्ष पर मचलती मेरी उँगलियों की जुम्बिश और वसुन्धरा के मुंह से निकलने वाली सिसकारियों की तेज़ी में ग़ज़ब का तारतम्य था.

हिनदीबीएफ

अब मैंने जान-बूझकर उसको सांत्वना देने के बहाने से उसकी चूचियों को दो बार और टच कर दिया. मैंने बहुत प्यार से उसके हाथों को हटाया और उसकी चुचियों को अपने मुँह में लेकर जोर से चूसने लगा. उसने नीचे सिर्फ चढ्ढी से थोड़ा बड़ा सैटिन का लेस लगा हुआ शॉर्ट पहना था और ऊपर पतली स्ट्रैप वाली बनियान सी पहन रखी थी.

मौसी मुझसे बोलीं कि अब और कोई ट्रेन नहीं है तो सामने उस होटल में रुक जाते हैं और कल कुछ कपड़े लेकर चलेंगे.

मैं यूं ही कमरे की बालकनी में चला गया और वहां लगे झूले पर बैठ के किशोर कुमार का ‘मेरे सपनों की रानी …’ वाला गाना गाने लगा.

कसम से मॉम के वो बड़े बड़े मम्मे और उनके ऊपर वो काले चूचे देखकर ऐसा लगता है कि बस उनको पकड़ कर चूस लो. वह ऐसी हालत में था कि जैसे उसके सारे शरीर की मर्दानगी और ताकत मेरी चूत में ही चली गई हो. बीएफ 10:00 वालीमैंने उसकी जुल्फों को हटाते हुए कहा- कहां चल दीं जानेमन?मेरी नाक को दबाते हुए नम्रता बोली- फ्रेश होने जा रही हूं, उसके बाद तुम्हारे घर चलना है.

मैंने तुरंत चाची को बेड पर लेटा दिया और दोनों टांगों को फैला कर लंड चूत के मुँह पर सैट करने के बाद जोर जोर से चोदने लगा. मैं दर्द से चिल्ला उठी- भोसड़ी के मार डाला मुझे, निकाल बाहर अपना लंड … मुझे नहीं चुदवाना है. मोनिका की चुत पहले ही गीली थी तो ज्यादा परेशानी नहीं हुई; लंड फिसलता हुआ अंदर घुस गया.

निहारिका अपनी भाभी के साथ घूम रही थी और मैं मेरे दोस्तों के साथ था. इसने मुझे नीचे आकर बताया था कि एक कमरे से एक लड़की की सेक्स की आवाजें आ रही हैं.

अब मुझे उससे अपने मतलब की बात शुरू करनी थी।मैंने बोल दिया- ऐसे मुझे घूरोगे तो एक्सीडेंट हो जाएगा.

जैसे ही मेरी जीभ उनके लिंग को टच हुई तो जीजा जी उछल पड़े और मेरी चूत को और जोर से चूसने लगे. राधिका ने कहा- क्यों ना चुदाई से पहले हम सब थोड़ा थोड़ा कुछ खा लें, फिर बाद में हम चुदाई का दंगल शुरू करेंगे. मैंने उसको उसी समय फ़ोन किया, तो उसने फ़ोन उठाया और हम लोग बातें करना शुरू कर दी.

सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर मूवी हम दोनों कार से वापस सर्विस सेन्टर गए, वहां जा कर अपना अपना मोबाइल लिया. पर मैंने मना कर दिया, तो वो सब कहने लगे- अबे साले आज पीके तो देख, रात को भाभी की मस्त चुदाई करेगा.

‌उसकी साड़ी व पेटीकोट शायद कुछ ज्यादा ही दबे हुए थे इसलिये अब जैसे ही मैंने उन्हे हाथ से खींचने की कोशिश की तो मोनी पहले तो हल्का सा कसमसाई फिर एकदम से उसके बदन का तापमान बढ़ गया‌।शायद मोनी की‌ नींद खुल‌ गयी थी इसलिये मेरा हाथ अब जहाँ था वहीं का‌ वहीं रुक गया और पहले की तरह ही मैं आज फिर से सोने‌ का‌ नाटक करने‌ लगा।मेरी तरफ से कोई हरकत नहीं हो रही थी. वसुन्धरा को कुदरत ने या फिर खुद वसुन्धरा ने, दबंग और बद्तमीज़ बना दिया था लेकिन इस में एक लोचा था. रात के अंधेरे में मैं हेतल दीदी के बेड पर लेटी हुई तुम्हारा इंतजार कर रही थी.

भोजपुरी में भाभी की चुदाई

एक बार तो उसको देख कर मैं सकपका गया क्योंकि मैंने अभी अभी तक पैंट नहीं पहनी थी. उसकी चूत में मैं उंगली चलाने लगा और एक हाथ ऊपर की तरफ उसके चूचे को भी दबाता रहा. अब मेरे दोस्त महेश ने उसकी ब्रा को उतार दिया था और गीतू के गोरे-गोरे बड़े चूचे ब्रा की बेड़ियों से आज़ाद हो चुके थे.

उसके नंगे जिस्म को देख के इतनी उत्तेजना बरस रही थी कि कोई भी झड़ जाए. मैं अंडरवियर में ही था और मेरी पैंट भी रजाई में ही निकली हुई कहीं पड़ी थी.

’ उसका लंड जैसे ही मेरी चूत के अन्दर गया, तो मेरे मुँह से चीख निकल गई.

अगर टेंडर समय की पाबंदगी के साथ ठीक 4 बजे भी खुलता जो सरकारी दफ्तरों में कभी होती नहीं तो भी शाम 7-8 तो मुझे मिनिस्ट्री में ही बज जाने थे. बयालीस वसंत पार कर चुकी खूबसूरत, विवाहिता, दो बेटों की माँ, सभ्रांत और बैंक अधिकारी महिला के साथ सेक्स करने का का वो अनुभव भी कमाल का रहा; पर वो सब बातें मेरी कहानी का विषय नहीं हैं. लंड को चूत पर सेट करके बुआ ने अपना पूरा वजन ताऊ जी के लंड पर धीरे-धीरे छोड़ना शुरू कर दिया और ताऊ का लंड लेटे हुए ही बुआ की चूत में उतरने लगा.

हम लोग रोज ऑफिस के बाद मिलते और किस तो करते, लेकिन इससे आगे और कुछ करने का मौका नहीं मिल रहा था. थोड़ी देर बाद मेरा दर्द कम होते ही उसने बातों ही बातों में मेरी चूत में अपने लंड से और एक ज़ोर से धक्का दे दिया. अब मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दीं और तेजी से उसकी चूत को अपनी उंगलियों से चोदने लगा.

उसने देखा कि दिशा की चूत से खून निकल रहा था- दिशा तुम्हारी सील टूट चुकी है, अब तुम एक औरत बन चुकी हो.

बीएफ हिंदी में फुल एचडी में: मगर मेरे लंड का माल निकलने के लिए तो आंटी कोई जुगाड़ कर ही नहीं रही थी. मुझे अच्छा लगेगा और मैं आप लोगों के लिए कोई और किस्सा या घटना लेकर वापस आऊंगा.

उसके मुँह से हल्के स्वर में आवाज निकल रही थी- हाय अमीषा मेरी जान … तेरी क्या मस्त चूचियां और गांड है, मन करता है कि तुझे रात भर चोदता रहूँ. पहले जब मैं कभी सेक्स स्टोरी पढ़ता था, तो सोचता था कि लोग कैसे चूत चाट लेते हैं. उसने मेरी तरफ देखा और फिर हम दोनों एक दूसरे के होंठों को दशहरी आम की तरह चूसने लगे.

मैंने उनकी तरफ डिब्बी बढ़ाई, तो उन्होंने कहा- एक ही जला लो, उसी से ले लूंगी.

मैंने अपने लंड को उसके मुंह से बाहर निकाल लिया और उसको सीधी लेटा कर उसकी टांगों को चौड़ी करवा दिया. शायद रितेश जीजू यह सोचकर हेतल के कमरे में आए होंगे कि यहां पर हेतल की चूत चुदाई करेंगे लेकिन पता नहीं उन दोनों के बीच में क्या बातें हुईं. उपिंदर ने उसके होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया- चिंता न कर … सब ठीक हो जाएगा.