औरतों का बीएफ

छवि स्रोत,एचडी सेक्सी जानवरों की

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी चुदाई चूत: औरतों का बीएफ, मेरी गांड मारके उसे पूरी ढीली कर देना … आह और तू क्या मुझे चुदक्कड़ बनाएगा, मैं ही तुझे पूरा चुदक्कड़ बना दूंगी … बेटे तुझे क्या लगता है, एक बार चोद कर तू मेरी प्यास बुझा पाएगा.

ब्लू सेक्सी देहाती हिंदी में

वो भले कुछ नहीं कह रहा था, पर उसकी आंखों से लग रहा था मानो मुझसे कह रहा हो कि बस थोड़ी देर और साथ दो … मैं अपना प्रेम रस तुम्हें देने ही वाला हूँ. ఫుల్ సెక్స్ బి ఎఫ్मैंने सोचा था कि उसकी कुँवारी चूत आज ही चोदने को मिल जायेगी लेकिन मेरे सारे सपने टूट गये।उस रात को मैंने अपनी साली को सोच कर दो बार मुठ मारी और अपनी वासना शांत कर ली.

लेकिन अगली सुबह मेरी वासना फिर मुझे सीढ़ियों में लाकर खड़ा कर देती है. रेखा सेक्सआंटी मचलने लगी, वे बोली- क्या कर रहा है, इतनी गंदी जगह को इतनी मस्ती से क्यूं चाट रहा है.

उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया था जिसकी मदहोश कर देने वाली खुशबू मुझे मेरी नाक में मिल चुकी थी.औरतों का बीएफ: एक दिन मैं रूपा के घर गया। रूपा रसोई में थी तो मैं सीधा रसोई में गया, अपने साथ लाये गर्मागर्म समोसे मैंने रूपा को दिये और मौका देख कर उसको पीछे से ही अच्छी तरह से अपनी बांहों में भर लिया.

कई लंड लिये हैं, लेकिन तुम्हारे साथ चुदाई करवा कर मुझे अपनी जवानी के दिन याद आ गये.मैं उसको लड़की ही की तरह देखता था और उसकी गांड मारने के बारे में सोचता रहता था, पर वो इस सबसे अन्जान था.

गीता रबारी के गाने - औरतों का बीएफ

ये हम दोनों औरतों के लिए शर्म की बात थी कि हम दोनों एक मर्द को तृप्त नहीं कर सकी थीं.एक बार जब वह जोर लगा रहा था तो उसका हथियार जो तना था, मेरी गांड के छेद पर अड़ा था, उसके जोर लगाने से एक दो बार तो मेरी गांड में पूरा सुपारा घुस गया.

करीब और 5 मिनट उसकी बुर को ठोकने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया. औरतों का बीएफ मैंने मां को ये इच्छा बताई तो वो कहने लगी- मैंने कभी गांड नहीं मरवाई है.

मेरे मोबाइल में पोर्न पहले से ही था क्योंकि मेरे ऑफिस में जो लड़की मेरी सहेली बनी थी, वो मुझे हमेशा पोर्न भेजती रहती थी.

औरतों का बीएफ?

मुझे शुरू में दर्द हो रहा था लेकिन जब उसने अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया तो मैं जोर जोर से सिसकारियाँ लेने लगी. अब मैं समझने लगी थी कि मेरी सहेलियों ने अपने ब्वॉयफ्रेंड क्यों बना रखे थे. मुझे भी लगा कि ऐसा मौक़ा बार बार नहीं मिलेगा, मैडम की चूत मिलनी तो निश्चित ही थी, मैंने भी अपने ट्रेवल एजेन्ट से कह कर स्लीपर का टिकट बुक करा दिया और तय तारीख और समय पर मेरी ट्रेन मुम्बई पहुँच गई.

अबकी बार उसने और शिद्दत से मेरा लंड चूसा और पांच मिनट तक चुसवाने के बाद मेरे लंड का पानी छूट कर उसके मुंह में गिरने लगा. मैं इस समय चुदाई का शैतान बना हुआ था और डॉली की चूत की चटनी बना रहा था. उनकी इस बात को सुनते ही मेरे दिल में भाभी को चोदने का ख्याल आने लगा.

मैंने बोला- बेबी, जब तेरा पति तुझे खुद मेरी गोदी में बैठा रहा है, उसमें ज़्यादा मज़ा है. हम एक कमरे के घर में रहते थे तो मुझे अम्मा अक्सर नंगी दिख जाती थी तो …हाय, मेरा नाम समीर है. लेकिन निधि का मन नहीं भरा था, निधि ने मुझे फिर से उसकी चूत चूसने को कहा.

वो अब निढाल हो गई थीं, उन्होंने जैसे ही अपनी गांड के छल्ले को थोड़ा ढीला छोड़ा, मैंने जोर मार कर अपने लंड को चाची की गांड में घुसा दिया. आखिर मैंने उसका एक हाथ अपने हाथ में ले लिया और उसे धीरे-धीरे सहलाने लगा.

इसी बीच मैंने उस कमरे से दूसरे कमरे में खुलने वाली खिड़की को हल्का सा खोल दिया ताकि मेरी पत्नी भी हमारी चुदाई का आनन्द ले सके.

मुझे खुद पर बहुत शर्म आयी और जब वो मेरी तरफ आईं, तो मैं उनसे नज़र नहीं मिला पा रहा था.

वह मेरे साथ जमकर सेक्स करती है।एक बार मैं उसे दुकान में चोद रहा था. तीन चार विजिट के बाद डॉक्टर साहब मुझसे इतना खुल गये कि मौका मिलते ही मेरी चूचियां और चूतड़ दबा देते. और आपको देखकर मुझे लगा कि मुझे अपनी इच्छा आपसे पूरी करवा लेनी चाहिए।यह कहते हुए रिहाना ने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर ले लिया।वह मेरे लंड की सकिंग करने लगी.

उसने लंड पर दबाव देते हुए उसे मेरी चूत के अन्दर डालना आरंम्भ कर दिया. मुझे कविता ने छोटी सी बोतल में कुछ दिया और कहा कि शराब नहीं पी सकती, तो कम से कम फ्रूटबियर तो पियो. अब आगे:वो कुछ देर तक हंसती रही और मैं बेबस हैरान सा चुपचाप उसे देखता रहा.

5 इंच मोटे लंड को पकड़ कर अपने मुंह के हवाले कर दिया जिससे मेरा लंड लोहे की रॉड जैसा तन गया।लेकिन मुझे मजा नहीं आ रहा था.

मैं दिखने में गोरा हूँ और लंड का साइज भी ठीक है … लेकिन ये थोड़ा सा मोटा ज़्यादा है, जिससे आम तौर पर चूत चुदने के बाद बेहाल सी हो जाती है. अब भी मैं रोज़ उसे एक्सरसाइज करवाने उसके घर जाता और मौका देख कर उसे चोद देता. मैं आपको बता दूँ कि मुझे गोरी लड़की जब ब्लैक ड्रेस पहनती है, तो बहुत सेक्सी लगती है.

उषा- अरे तेरी बीवी की चुत का भोसड़ा बन जाएगा … उसका क्या?मैं बोला- मौसी चुत तो होती ही है चुदने के लिए … उसे एक चोदे या हजार … क्या फर्क पड़ता है. मुझे मेरी एक सहेली ने ही सुझाव दिया था, इस साईट के बारे में बता कर मुझे कहा था कि यहाँ पर अपनी समस्या लिख कर भेज. उसके बाद फिर मेरी जॉब दिल्ली में लग गई थी तो मैं दिल्ली में आ गया था.

वहां पहुंचने के बाद देखा कि भाभी नीचे सो गई थीं और नलिनी ऊपर अकेली पैर मोड़ कर बैठी थी, क्योंकि लास्ट वाली सीट थी और ऊपर के दोनों लोग सो गए थे.

अम्मा ने कहा- बेटे मैं थोड़ी देर के लिए शीला चाची के पास जा रही हूँ, तू सो जा, मैं अभी आती हूँ. चूत में पूरा लौड़ा घुसते ही डॉली जोर से चिल्लाने लगी- आआअह्ह … मर गई … उईईई … मम्मी रे फट गई मेरी चुत … आह निकाल ले … मर गई रे मम्मी.

औरतों का बीएफ दो मिनट बाद दीदी कमरे में आ गईं- हां बोलो … क्या हुआ, किस सवाल में दिक्कत आ रही है?मैं- ये सवाल सॉल्व नहीं हो रहा है, प्लीज़ बता दीजिए. एक बंद कमरे में अपनी बीवी या गर्लफ्रेंड की चुदाई तो कोई भी कर सकता है, मगर जब हर तरफ से पूरा खुला हुआ हो, तो चुदाई करने की हर किसी की हिम्मत नहीं होती.

औरतों का बीएफ मैं उसकी चूत को चूसने लगा और वो मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी. वापस उसके ऊपर आकर मैं उसके चूचों को पीने लगा तो वो भी फिर मजा लेने लगी.

फिर मैंने उससे कहा- यहां से बाहर कैसे जाएंगे … आपके पति बाहर बैठे हैं.

बीपी सेक्सी बीएफ एचडी

यहां तक कि मैं तो शोभा की चूचियों को चूसने के बारे में भी सोच रहा था. फिर कुछ दिन बाद मैं भाभी के घर गया तो …मेरा नाम राकेश है, मैं सोनीपत का रहने वाला हूँ. कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको अपने घर के बारे में बता देता हूं ताकि आपको कहानी को समझने में ज्यादा आसानी हो सके.

सब सोचने लगे और अपनी अपनी बात सामने रखने लगे, पर किसी की बात मजेदार नहीं लग रही थी. बीच पर हम दोनों में कुछ ऐसे घटनाएं हुईं, जिसमें हम दोनों में आंखों ही आंखों में इशारे हो गए कि चुदाई के लिए दोनों तैयार हैं. मेरा दावा कि अगर कोई बूढ़ा भी उसको देख ले, तो मेरा दावा है कि उस बुड्डे का लंड भी खड़ा हो जाएगा.

रात को मैंने कई बार कोशिश की कि उनकी चुदाई की आवाजें मेरे कानों में आये लेकिन उनके कमरे से कभी कोई ऐसी आवाज नहीं आती थी.

कुछ ही देर में मेरा दर्द कम होने लगा और फिर वो मेरी गांड में अपने लंड को आगे पीछे करके मेरी गांड की चुदाई करने लगा. मजा तो मुझे भी बहुत आ रहा था, मगर शायद अंकल को मुझसे ज्यादा मजा आ रहा था. रवि ने पूरी लय पकड़ ली थी, उसकी धक्के मारने की तरकीब और ताकत से मैं समझ गई थी कि अब ये झड़ने वाला है.

इस बार मैंने थोड़ी जोर से ट्राई किया और मेरा लंड का सुपाड़ा उनकी चूत के अन्दर चला गया. बेड पर तीन लड़के पूरी तरह नंगे बैठे थे और अपने अपने लंड सहला रहे थे, पर अंतरा कहीं नजर नहीं आ रही थी. फिर मैंने दीदी को भी नंगी कर दिया और ऊपर लेट कर दीदी के बोबे चूसने लगा.

अब शायद दोनों ही भाई बहन उन पुराने दिनों की यादों को फिर से ताज़ा करने के लिए तैयार हो गये थे. इतना बोलकर मैंने क्वीन पर पूरे बीस हजार लगा दिए मेरी किस्मत आज मेहरबान थी और मैं अब चालीस हजार रुपये जीत चुकी थी.

और एक दिन सोनाली को नहाते हुए देख ही लिया। वो हमेशा बाथरूम में नहीं नहाती थी. कमलनाथ ने फिर से कविता को लिटा संभोग शुरू कर दिया और थोड़ी ही देर में कविता ने उसे हाथों से पकड़ लिया. पांच मिनट बाद ही मेरे लंड से चुदते हुए वो सिसकारने लगी- आह्ह विक्की … आई लव यू … जोर से करो … मजा आ रहा है … आह्ह … आह्ह … उफ्फ … आह्ह। जानू चोद दे … आज से मैं तेरी हूं.

मतलब ये कि ये सेक्स कहानी तो एकदम सच है लेकिन कहानी में मसाला मस्त हो तो चुदाई की कहानी को पढ़ने में और भी मजा आ जाता है.

जब वो चीखती तो मैं अपने लंड को बाहर निकालता … और फिर कसके झटका मार देता. जब भी कभी मेरे पति की नाईट ड्यूटी होती थी, तो मैं पहले से ही सुरेश को बता देती थी. दीदी की निखरी जवानी देख मुझे पुराने दिन याद आ गये जब मैं दीदी की चुदाई करता था.

लेकिन जिस वक्त की बात मैं आपको बता रहा हूं उस वक्त सेक्स को लेकर बहुत ही कम बातें होती थीं. मैंने धीरे से मामी के तन से चादर को हटाया और उनके बदन पर हाथ फिराने लगा.

उसके लिंग में उतना कड़कपन नहीं था, जैसे आम मर्दों में होता है और न ही उसके धक्के में इतनी ताकत थी. उस वक्त मेरा दिल तो करता था कि इसे यहीं पकड़ लूं और उसको यहीं चोद डालूं … पर फिर सोचता कि नहीं यार किसी दिन इसको खुद मौका देने की इंतज़ार करता हूं, फिर इसे अच्छे से पेलूँगा. जिससे वो गर्म हो गई और तरह तरह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … हह की आवाजें निकालने लगी.

बीएफ वीडियो एचडी फुल सेक्सी

मेरी बात पर उसने प्रश्नवाचक लहजे में कहा- मतलब कि चोदने के बाद!उसके मुंह से ऐसे कामुक शब्द मुझे हर पल बेकाबू किये जा रहे थे.

मुझे देख कर प्रिय पाठिकाओं, तुम सब भी अपनी चूत में उंगली कर सकती हो … क्योंकि ऐसा मुझे बहुत सी लड़कियों ने और औरतों ने कहा है. मैं लाइट जाने का बहाना करके तुम्हारे पास आ जाऊंगी और तुम्हारी बांहों में खुद को सौंप दूंगी. बल्लू भी उठ कर अपने कपड़े लेकर दरवाजे की तरफ भागा तो वीजू ने लैम्प बल्लू की गांड पर फेंक कर मारा.

तू सेटिंग करवा दे मेरी।दीदी ने कहा- पागल है क्या तू?नीरा ने कहा- यार जब चुदने का मन करता है रात में तो सच में मुझे मनीष का ही चेहरा दिखता है और मैं उंगली करती हूँ उसे ही सोच कर! काश वो मेरा भाई होता तो मेरा तो घर में ही जुगाड़ हो जाता।तब दीदी ने कहा- बना ले भाई उसे, मैंने कब रोका है।नीरा ने कहा- मुझे तो बनाना पड़ेगा. वो एक हाथ से मेरी एक स्तन को मसलते हुए मेरे दूसरे स्तन का पान करने लगा. गांव की हिंदी सेक्सी चुदाईउसके होंठों को चूसते हुए मुझसे रहा न गया और मेरा हाथ उसकी जांघ पर फिरता हुआ उसकी चूत को टटोलता हुआ उसकी पजामी के अंदर घुस गया.

[emailprotected]आंट सेक्स स्टोरी हिंदी का अगला भाग:उम्रदराज आंटी की चूत चुदाई का मजा- 2. भाभी की चूड़ियों की खन-खन सुन कर उसको शक हो गया ये आवाज कहां से आ रही है.

’ बोला और कहा- मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि कोई मेरे साथ इतने प्यार से सेक्स करेगा और मुझे इतना एन्जॉयमेंट मिलेगा. दीदी की चूत को चोद कर मैंने बुआ की बेटी की चुत चुदाई की प्यास को बुझा दिया. इस तरह अब उसकी चूत की प्यास बुझने लगी और मुझे भी एक टाइट चूत का मजा मिलने लगा.

इसके बारे में शुरू करने से पहले मैं आपको बता दूं कि यह मेरे साथ हुई एक सत्य घटना है. काव्या ने जैसे ही राकेश को देखा, वो तुरंत उठ कर खड़ी हो गयी और अपनी साड़ी ठीक करते हुए बोली- सॉरी राकेश … प्लीज़ तुम मुझे ग़लत मत समझना, ये सब बस जोश जोश में हो गया. मैं अपने भाई के सामने पूरी की पूरी नंगी लेटी हुई थी और उसके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर जोर से सहलाते हुए मजा ले रही थी.

फिर उसने मुझसे कहा कि मैं अभी कुछ देर कमरे में आराम कर लूं, फिर जब वो मुझे बुलाएगी, तब बताए हुए कमरे में जाना.

मैं भी तुम्हारा रस मुँह में ही ले लूंगा।वो पहले तो मना करती रही फिर मान गई।कुछ ही देर में मुझे झटके लगने लगे व उसकी चूत से भी कुछ बहने लगा. वो हंसने लगी- हां कमीने … मैंने देखा है ब्लू फिल्म में!फिर मैंने उसके बालों को पकड़ा और अपनी तरफ खींचा.

उस पर शारीरिक दबाव भी होता है और मानसिक भी … पहली डिलीवरी के समय तो मानसिक तनाव बहुत ज्यादा रहता है क्योंकि स्त्री प्रसव में होने वाले दर्द से भयभीत रहती है. कोई दस मिनट तक ऐसा ही चला, फिर भाभी की चूत चुदाई के लिए बेचैन होने लगी तो वो मुझसे अलग होते हुए बोलीं- चलो, रूम में चलते हैं. रात में वो बेचारी अकेले दूसरे कमरे सोई हुई थी, जब मैं अपनी बीवी को रात में चोद रहा था, तो मुझे लगा कि कोई मुझे छुप कर देख रहा है.

मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं, इतने नुकीले चूचे मैंने जिंदगी में कभी नहीं देखे थे. बस फिर क्या था, मैं एक तरफ अपने दिनों हाथों से उसके उभारों को दबाता रहा और उसकी बुर को ठोकता रहा. मैंने उसके गांड पर कसके एक हाथ मारा, तो उसकी गोरी गांड पर मेरे हाथ का निशान बन गया.

औरतों का बीएफ दूसरी बार में अंतरा बिना कपड़ों के थी क्योंकि हमें अब किसी का डर नहीं था. मैंने अपनी कोहनी से उनकी चूची को दबाने का प्रयास किया, तो भाभी ने खुद को दूसरी तरफ सरका लिया.

देहाती बीएफ बीएफ एचडी

करीब 20 मिनट तक इसी रफ्तार से संभोग के बाद रमा ने उत्तेजना भरे स्वर में कहा- अब मेरी बारी है, मैं तुम्हारे लंड की सवारी करूँगी. राजेश्वरी- क्या करते हैं?कमलनाथ- मेरे भइया तुम्हारी दीदी को घंटों तक चोदते हैं. मैंने लंड के धक्के मारने शुरू कर दिए … साथ ही साथ चूत में उंगली भी कर रहा था.

मम्मी मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोल रही थीं- आह … पी जा बेटा … अपनी मम्मी की चूची को पूरा पी जा … खा जा इनको. लेकिन मैंने अपनी उंगली नहीं डाली।मैंने उससे कहा- एक बात बताओ कि उस दिन मैं जब स्कूल आया था, तुम्हें कुछ याद है?उस हॉस्टल गर्ल ने कहा- याद नहीं बल्कि मैं सब देख रही थी कि कैसे तुम मेरे चुचे देख रहे थे और मेरी चूतड़ों को देख कर तुम्हारा नाग कैसे उफान मार रहा था. सेक्सी कैसे करते हैं दिखाइएमैं भाभी की चूत या किसी आंटी की चूत चोदने का कोई मौका अपने हाथ से नहीं जाने देता हूं.

कुछ देर के बाद बाद मैंने साराह की पैंटी भी निकाल दी और साराह को बेड पर लेटा दिया.

बीवी की चुत में उंगली डाली और बोला- इस बार के हफ्ते के बदले … ये दस दिन पोलिस स्टेशन रहेगी. आफिस मैं उसे देख कर कोई नहीं कह सकता कि वो सेक्स मैं इतनी वाइल्ड हो सकती है। वो एक अच्छी पत्नी थी पर उसकी अपनी भी कई इच्छाएं थी जो उसने अपने पति से शेयर की थी पर उसका पति अपने बिज़नेस अपने काम की वजह से उससे वक़्त नहीं दे पाया।जिसका परिणाम हमारे बीच यह सेक्स सम्बन्ध बना।दुनिया की नज़रों में यह सम्बन्ध अनैतिक या अवैध हो सकता है.

पर मैंने वापस पल्लू ऊपर किया और बोली- कुछ भी मुफ्त में नहीं मिलता साहब. दूसरी तरफ रमा और रवि अपना खेल शुरू कर चुके थे और दोनों ही अब नंगे हो चुके थे. भाबी सेक्स स्टोरी के पहले भागज़िप में फंसा लंड-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी ससुराल गया हुआ था और मेरी सलहज अकेली मेरे साथ सोयी थी.

मुझे उनके ब्लाउज से ही उनके मोटे मोटे बोबे नजर आ रहे थे, जो उनकी सांसों के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे.

उन्होंने अपनी मोटी गांड को उठा करके अपने पैरों से पेटीकोट निकाल दिया. मैं उसको नंगी करके चोदने की फिराक में था लेकिन पता नहीं था कि वो दिन कब नसीब होने वाला है. कुछ देर तो वो छूटने की कोशिश करती रही लेकिन फिर थोड़ी सी देर के बाद वो भी मेरी चुम्मी का जवाब देने लगी.

हिंदी सेक्सी वीडियो हिंदी देहातीजैसे ही अम्मा ने अपना पल्लू हटाया, उनके बड़े बड़े मम्मे मुझे दिखाई दिए, जो ब्लाउज के आधे बाहर थे. अब मेरा भी होने वाला था, तो मैं उसको किस करने लगा और साथ में तेज तेज धक्के लगाने लगा.

बीएफ काला

पास में ही एक सुन्दर सी भाभी रहती थी जो बहुत ही हॉट लग रही थी देखने में. कभी योनि में नमी न होने की वजह से … या कभी मन न होने की वजह से … तो कभी गलत तरीके या अत्यधिक ताकत के धक्के से. कमलनाथ का लिंग भी इस तरह से चूसे जाने की वजह से कठोर हो कर पत्थर सा दिखने लगा था.

मैं इसको खा जाऊंगी … आह्ह् … चोदो मुझे मेरे राजा … आह्हह …दोनों ही मस्ती में सेक्स का मजा लेने लगे. अन्दर सलमा की अम्मी थी … उसने पीले रंग का एक चुस्त सलवार कमीज पहना हुआ था. कमलनाथ ने झट से राजेश्वरी को रोका और उसे पीठ के बल चित्त लिटा दिया.

भाबी बोली- निखिल, तुम्हारे मोटे और लंबे लंड की कीमत एक औरत ही जानती है. दोस्तो और सहेलियो, मैं आपसे सच कहूँ तो मैंने अन्तर्वासना सेक्सी कहानियां पर बहुत सी सेक्स कहानी पढ़ी हैं, ये सब मुझे बहुत पसंद आती थीं. मैंने थोड़ा सा बाहर झांक कर देखा और फिर उसके गालों को पकड़ कर उसके होंठों पर होंठ रख दिये तो उसकी आंखें बंद हो गईं.

5 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड से अपनी बुर की चुदाई का मज़ा ले रही थी. उसका लिंग सच में बहुत मस्त आकार में था और लंबाई और मोटाई एकदम सही थी.

फिर मैंने उसी रात अपने पति के साथ में सेक्स करते हुए उनसे कहा- क्या मैं रोशनी से तुम्हारे लिए बात करूं?ये सुनकर उनका तो खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा.

वो बार बार सिसकती हुई, सिर उठा कर अपनी योनि का स्वाद लेते हुए उसे देखने लगी. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो नंगी पिक्चरउसकी वो पतली छोटी छोटी आंखें, पतले होंठ, छोटी सी नाक जो कि थोड़ी दबी हुई थी. देसी सेक्सी वीडियो गांड मारने वालीफिर मैंने उनको दीवार से लगाया और उनके होंठों पर एक जोरदार से किस कर दिया. एक बार तो मैं घबरा गया … लेकिन मामी जगी नहीं थी शायद … इसलिए मैंने दोबारा से कोशिश करने के लिए सोचा.

राजशेखर जितना जोर ऊपर से लगा रहा था, उतना ही जोर मैं भी नीचे से लगाने का प्रयास करने में लगी थी.

अब हम एक दूसरे को उत्तेजित कामुक नजरों से देखते हुए हस्तमैथुन करने लगे थे. इतने में उन्होंने कहा- मुझे ये भी पता है तुम्हें मुझमें क्या पसन्द है. अबकी बार उसने और शिद्दत से मेरा लंड चूसा और पांच मिनट तक चुसवाने के बाद मेरे लंड का पानी छूट कर उसके मुंह में गिरने लगा.

मैं जल्दी आकर विशाखा से हंसी मजाक करके उसको पटाने के चक्कर में रहता था. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पसंद करने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मैं एक कहानी लेकर आया हूँ. इस पर वो सुझाव देती है कि उसके पति यानि जो रिश्ते से मेरे देवर की भूमिका में था, उसके साथ संभोग करके अपनी कामेच्छा की पूर्ति कर ले.

भोजपुरी सेक्स बीएफ सेक्सी

आज तुझे मैं बहुत बुरी और बेदर्द तरीके से चोद चोद कर तेरा भोसड़ा और गांड दोनों को अपने लौड़े के पानी से भर दूंगा. दो गिलास पेप्सी मतलब दो पेग व्हिस्की अन्दर हो गई तो मैं नमिता को लेकर बेडरूम में आ गया. मम्मी हंस कर बोलीं- अच्छा बच्चू … अब तू इतना बड़ा हो गया है, जो अपने पापा की कमी पूरी कर देगा … और तू कैसे करेगा अपने पापा की कमी पूरी, जरा बता तो?इस बात पर मैंने अपने होंठों को मम्मी के होंठ रख दिए और उनको जोरदार किस करने लगा.

वो इतना अधिक उत्तेजित था कि उसने एक बार भी मुझे लिंग चूसने को नहीं कहा.

रमा ने रवि का सिर दोनों हाथों से पकड़ लिया और टांगें हवा में लहराने लगी.

मां ने पूछा- वो कहां मिलेगी?मैंने बताया- यहीं पर मार्केट में ही मिल जाती है. तो वो बोली- मैं पहले से ही प्रेगनेंट हूँ, बस अभी एक महीना ही हुआ है. मधु सेक्सी भोजपुरीवो बोली- भैया रहने दो ना, रात में जो मर्जी कर लेना पर अभी काम करने दो।मैंने एक लिप किस किया और जाकर टीवी देखने लगा।रात में उसने खाना बनाया और दोनों ने एक साथ बैठकर खाना खाया।उसके बाद दोनों एक ही बैड पे लेट गये.

कोल्ड क्रीम की शीशी व कॉण्डोम का पैकेट बेड पर रखकर मैंने अपनी टीशर्ट उतार दी, अब मैंने सिर्फ़ लोअर पहना था. सारे कपड़े पहनने के बाद जब वो फर्श पर पड़े हुए अपने गीले कपड़े उठाने लगी तो मैं सरक कर खुद को अच्छी तरह छिपाने की कोशिश करने लगा और इस सुगबुगाहट में उसका ध्यान शायद मेरी तरफ चला गया. लेकिन क्या करूं, जब मेरी चूत में खुजली होती है, तो अपने किरायेदार से ही चुदवाने की सोचने लगती हूँ.

मगर यह उन दिनों की बात है जब मैं सेक्स को लेकर इतनी बेसब्र नहीं रहती थी. फिर उसके बाद उस पर्दानशीं भाभी की चुदाई मैंने कैसे की?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार.

तो ये खेल ऐसा था कि हम सबको किरदार में रहकर संभोग को परिभाषित करना था.

मैं उसे पहले की तरह देखने लगा, पर वो रोज की तरह अब मुझे नहीं दिखती. वो पूछने लगी कि आप रूम पर खाना नहीं बनाते हो क्या?मैंने बताया कि आज राशन खत्म हो गया है. मैं खुद ही अपनी पूरी जांघें खोल कर उसे भरपूर जगह देने लगी कि वो आराम से मुझे धक्के मारे.

हिंदी सेक्सी वीडियो सील तोड़ने वाला 5 इंच मोटे लंड को पकड़ कर अपने मुंह के हवाले कर दिया जिससे मेरा लंड लोहे की रॉड जैसा तन गया।लेकिन मुझे मजा नहीं आ रहा था. मैंने अपना कौमार्य अपने होने वाले पति की अमानत समझ कर बचा कर रखा था.

मजा लें!इस हॉट सेक्स स्टोरी के पहले भागफैमिली सेक्स की हॉट स्टोरी-1में आपने पढ़ा:अम्मा की चुदाई के बादफिर मैं अम्मा पर चढ़ गया. वो शरमाते हुए कहने लगी- सर, चूत के बारे में तो मालूम था लेकिन लंड के बारे में नहीं पता था इसलिए पूछा. मैंने जैसे ही अपनी जीभ उनकी चूत पर लगाई, उन्होंने मेरा सर चूत में घुसा दिया.

सेक्सी बीएफ फिल्म खुला

वो जोर से भाभी के चूचों को पीने में लगा हुआ था भाभी के मुंह से सीत्कार फूट रहे थे. सच में दोस्तो, कल्पना करो कि एक मस्त गोरी लड़की, जिसकी चुचियां 36 की और गांड 38 की हो, तो वो क्या लगती होगी. जब भाभी ने मेरा लंड देखा, तो वो बड़ी हैरानी से बोलीं- हायल्ला इत्ता बड़ा.

दोनों अब एक दूसरे को पूरी ताकत के साथ पकड़ कर लंबी लंबी सांस ले रहे थे. तो दोस्तो, यह घटना मेरे साथ मेरी जिंदगी में वास्तविक रूप से हुई थी.

बिल्डिंग बन जाने के बाद में हम लोग फिर से हमारे इसी घर में ही रहने वाले थे.

मैं उसके साथ किस में इतना अधिक खो गई थी कि मुझे पता ही नहीं चला कि उसने मेरी साड़ी निकाल दी. वो बोली- कैसे?तो मैंने कहा- जैसे शादी की पहली रात होती है, वैसे ही हम दोनों सुहागदिन मनाएँगे. तभी रमा भीतर आ गई और बोली- ठीक है … वहां के बाल केवल ट्रिम कर शेप कर दो.

राजशेखर भी अब अन्तिम क्षण के लिए पूरे जोश में दिख रहा था और मेरी जांघों को पकड़े हुए पूरी ताकत से मुझे धक्के मार रहा था. आह्ह … पहली बार नंगी चूत को छूकर ऐसा तूफान उठा कि मुझसे रहा न गया और मैंने दीदी की योनि में उंगली ही डाल दी. मेरे ख्याल से इस बमपिलाट धक्के से रवि का लिंग उसकी योनि में अंत तक चला गया होगा.

कोई पंद्रह मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत में ही अपना सारा वीर्य छोड़ दिया.

औरतों का बीएफ: उसका पति वीजू भी घर में ही था इसलिए वह ज्यादा गुस्सा हो रही थी और उसने बल्लू से बात करने लिए दुकानदार को फोन लगवाकर बल्लू को बुलाया. वंदना भाभी- सच्ची बल्लू, मेरे नॉटी बल्लू… गुन्डाराज … मैं भी तुम्हें और तुम्हारी गर्माहट को मिस जो कर रही हूंबल्लू- ओह भाभी, तुम भी ना… आज रात तुम्हारे घर पर आता हूं मैं.

वो गर्म होते हुए मेरे लंड पर तेजी से हाथ चलाते हुए उसके टोपे को ऊपर नीचे कर रही थी. अब मेरा भी होने वाला था, तो मैं उसको किस करने लगा और साथ में तेज तेज धक्के लगाने लगा. वे जब भी हमारे घर आतीं या मुझे कोई काम के लिए बुलातीं, तो वह मुझे बहुत प्यार से और हंस कर बात करती थीं.

लेकिन कभी-कभी मां भी चुद जाती है, अगर लन्ड मोटा हुआ और चूत का छेद छोटा होता है तो वहां गांड फटने में समय नहीं लगता.

हम मेस में पहुँचे- कुछ मिलेगा?मेस वाला दारू में धुत्त था पर उसकी लड़की बोली- दाल चावल मिल जाएंगे!हम खा रहे थे, तभी अनिल के हाथ से लड़की के मम्मे जब वह परोस रही थी, छू गए. जब उन्होंने मुझे यह बात बताई कि मुझे ही भाभी को एग्जाम के लिए लेकर जाना है तो मेरे मन में तो जैसे लड्डू फूटने लगे थे. अभी देखना कैसे तू अपने हाथ से लंड हिलाता रह जाएगा और मैं तेरे सामने तेरी बीवी को अपनी बीवी बना कर पेलूंगा.