बीएफ मां बेटे की चुदाई

छवि स्रोत,ചെറിയ പൂറിൽ

तस्वीर का शीर्षक ,

బాయ్ సెక్స్ బాయ్ సెక్స్: बीएफ मां बेटे की चुदाई, यह कहानी मेरे प्रथम सेक्स अनुभव की है, मेरी सभी भाभी के साथ की है और अन्तर्वासना पर मैं यह मेरी पहली चुदाई स्टोरी लिख रहा हूँ.

ब्लू फिल्म बीपी ब्लू फिल्म

फिर भाभी बोलीं- मेरे पूरे बदन पर किस कर और मेरे दूध को दबा दबा कर पी, फिर मेरी चूत चाट. सनी देओल बीएफवो मुझे देखती तो ऐसा दिखावा करती कि सब नॉर्मल है, मैं भी क्यों उसे पूछती कि तुम्हें क्या हो रहा है, वो खुद बताएगी, मैं नहीं पूछूंगी.

जाते जाते मुस्कुरा कर वो बोली- कुछ गलतियां इंसान अक्सर करता रहता है. सेक्सी बीएफ वीडियो फुल एचडी हिंदी मेंमैंने इसके लिए भाभी से सेक्स की पहले से पूरी तैयारियाँ कर लीं, वियाग्रा की गोली भी लेकर आ गया और उनके लिए एक अच्छा सा गिफ्ट भी ले आया.

अब मैं ट्राँसपेरेन्ट रेड ब्रा पैन्टी में थी जिससे मेरी चूत साफ़ दिख रही थी.बीएफ मां बेटे की चुदाई: अब क्या आगे मैं अकेला और पीछे तुम अकेली बैठोगी?मैं आगे बैठ गई और वो चल दिए.

आआ!उन्हें अगले स्टेशन पर उतरना था, वहाँ पर ट्रेन का स्टॉप 5 मिनट का था और मैं आरजू को एकदम नंगी करके चोद रहा था.जल्दी ही बहूरानी अच्छे से मस्ता गयीं और अपनी चूत उठा उठा के मेरे मुंह में देने लगीं.

बिल्कुल नई बीएफ - बीएफ मां बेटे की चुदाई

वैसे मेरा भाई कई बार रात में सोते वक्त कामुक आवाजों में सीत्कार सी करता था, शायद वो नींद में कुछ चुदाई के सपने देखता होगा.अब रमेश और काजल, दोनों भाई बहन बिल्कुल नंगे चुदाई की मुद्रा में थे.

मेरे चेहरे की राहत देखकर चचा जान भी समझ गए कि कोई दिक्कत नहीं है और खुश होते हुए मेरी चुत पे हल्की किस करके धीरे धीरे चुत चाटना शुरू किया. बीएफ मां बेटे की चुदाई उसकी पेंटी और ब्रा दोनों इम्पोर्टेड थी, गोर रंग पर काले रंग की ब्रा पेंटी बड़ी ही अच्छी लग रही थी.

फिर धीरे से उसने अपना बुर हिलाया तो मैं समझ गया कि अब बुर की चुदाई शुरू करनी है, मैं धक्के लगाने लगा और उसे भी अब मजा आने लगा, उसका एक हाथ मेरे कूल्हों पे था और दूसरे से वो मेरे बालों को सहला रही थी.

बीएफ मां बेटे की चुदाई?

मैंने मामी के मम्मों को बहुत दबाया और मेरा हाथ सीधा उनकी नीचे चूत पे आ गया. कहा, तभी गीतांजलि ने मेरे पजामे में से मेरा लंड निकाल लिया और सिमरन से पकड़ कर चेक करने को कहा. दोनों हाथ और कंधे और पीठ और पेट के बीच वाली जगह पूरी नीचे तक खुली थी.

अपने घर ला कर दरवाजा खोला और वो अन्दर आकर सोफे पर धम्म से जैसे कूद ही गई. मैंने हाँ में सर हिला दिया, तभी लाइट आ गई तो भाभी बोलीं- चल यहाँ गर्मी बहुत है. उसकी मस्त जवानी को चाट कर मैंने उसकी गांड और चूत दोनों को गीला कर दिया.

उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी और उसकी नाईटी चूंकि सिल्की कपड़े की थी तो उसके मम्मों का पूरा आकार उसके निप्पल समेत दिख रहा था. लगभग 15 मिनट तक मेरी सासु माँ को रिया ने चोदा और फिर मेरी सास चिल्लाई और आहहह हहह यहहह हहहह करके झड़ने लगी. सागर- दीदी ये क्या कर रही हो तुम?मीना- भैया आज मुझे तुम्हारे लंड की सवारी करनी है.

उसने अब अपनी एक और उंगली बहन की चूत में डाल दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए अपनी उंगलियों से ही बहन की चूत की चुदाई करने लगा. मैं बोला- प्लीज एक बार डालने दो!बहुत बोलने के बाद वो तैयार हुई।मैंने क्रीम निकाली और अपने उंगली पर लगा कर उस की गांड में अंदर लगाई, मैंने खूब सारी क्रीम उस की गांड के अंदर और अपने लंड पर लगाई और दोनों हाथों से उस की गांड को फैला कर लंड उस की गांड में डालने लगा.

मैंने उससे अपना अंडरवियर उतारने को बोला तो वो शर्मा गई, बोली- तुम खुद उतारो.

फिर रिया ने मेरी पैन्टी और सास ने मेरी ब्रा उतार दी, अब हम तीनों एक दूसरे के सामने नंगे थे कि तभी मेरी सास ने मेरी चूत में उंगली पेल दी और मैं चिल्ला उठी- ऊई… यूययू यूयययु ऊफफ आहहह क्या कर रही हो बस्स्स करो न!तभी मेरी सास ने रिया का लंड पकड़ा और कहा- मेरी जान, इतना बड़ा कैसे किया?और चूसने लगी.

एक पीस माला को बहुत पसंद आया, लेकिन वह शॉपिंग करने के मूड में नहीं थी. ” बोल कर पार्टी में कभी किसी दोस्त के घर में बुलाना और फिर कभी मेरी लेग्गिंग तो कभी सलवार तो कभी स्कर्ट के नीचे से चड्डी निकाल कर मुझे बारी बारी से चोदना. मम्मी राधिका ने उसे अपने मुँह के पास किया, सूंघ कर देखा, पति की मौत के एक लम्बे अरसे बाद लंड की जानी पहचानी खुशबू पाते ही, उनकी गदराई हुई चूत पसीजने लगी.

अमित कॉल पिक करता है- हेलोसन्नी- हेलो…अमित- जी, कौन बोल रहा है?सन्नी- अमित सर मैं सन्नी बोल रहा हूँ… आपके कॉलेज से!अमित- कौन सन्नी?सन्नी- जी, आपके जूनियर क्लास वाला. एड्रिआना का फिगर तकरीबन 36-30-36 का था और उसकी हाइट तकरीबन 5 फुट 9 इंच. मैं- महेश, बोलो ना क्या हुआ, मुझे ऐसे यहां क्यों लेकर आए हो?महेश- यार हम प्यार करते हैं मगर मिल नहीं पाते.

भाभी रोने जैसी सूरत बनाते हुए बोलीं- मुझसे क्या चाहते हो राक्षस… मैं हाथ जोड़ती हूँ… अब मुझे बक्श दो…मैं हंसा और बोला- शाम को बड़ा सरप्राइज़ दे रही थीं, अब क्या हुआ मेरी जान?वो बोलीं- ग़लती हो गई मुझसे… अब माफ़ कर दो मुझे… और सो जाओ…मैंने कहा- ठीक है लेकिन पानी तो पी लो बाबा…तो उन्होंने पानी पिया और बोलीं- मुझे बाथरूम जाना है.

उस वक्त दीवाली का समय था और सभी लोग अपने अपने घरों की सफाई में लगे हुए थे, तो मैं पीछे के गेट पर चला गया और अपने पालतू डॉग के साथ खेलने लगा. उसने मुझे टेबल पर बैठाया और अंडरवियर उतार कर मेरा लंड दोनों हाथों में भर लिया. अब विवेक मेरे पास आया और मुझे चूमने लगा, तो मैंने कहा- यार रवि आ जाएगा.

अब मेरी सुमीना से अच्छी दोस्ती होने लगी, हम सेक्स की बातें भी करने लगे. वो बोलीं- बस सेवा ही करना, मेवा मत खा जाना…भाभी ये कहते हुए हँसने लगीं. अब क्या आगे मैं अकेला और पीछे तुम अकेली बैठोगी?मैं आगे बैठ गई और वो चल दिए.

मैं- साली रंडी भाभी पहले ही बता देती तो अब तक तो मैं तेरी चुत का भोसड़ा बना चुका होता.

हालाँकि हमारे ग्रुप में और भी एक लड़की थी, मगर इतनी मस्त आंटी को देख के उसको मैं इग्नोर कर रहा था. उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और मेरी पीठ पर और सिर पर हाथ फेरने लगी, इसका मतलब था कि अब उसको भी मस्ती चढ़ने लगी थी.

बीएफ मां बेटे की चुदाई भाभी ने मेरे लंड की गोटियां सहलाते हुए लंड को जबरदस्त चूसा और मेरे पानी के एक एक बूंद को गटक गईं. फिर मैंने रेखा को भी लंड चूसने का इशारा किया, दोनों मेरा लंड चूसने लगीं.

बीएफ मां बेटे की चुदाई और मैंने भाभी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए, भाभी के ब्लाउज के ऊपर से चुचे दबाने लगा. तुमने बोला कि तुमने कभी सेक्स नहीं किया पर मुझे लगता है कि तुम ने सेक्स किया हुआ है?तो वह बोली- नहीं, कसम से… मैंने कभी नहीं किया सर!वो मुझे सर बोली… पता नहीं क्यों? पर मुझे क्या मतलब था, मुझे तो उसकी चूत को अच्छे से चोदना था.

एक दिन की बात है कि कॉलेज में छुट्टी थी और इस छुट्टी में दिव्या भी घर नहीं गई थी.

सेक्सी अंग्रेजी वीडियो दिखाइए

होटल के रिसेप्शन पर एक सुन्दर सा लड़का, जो ब्लैक सूट में था, उसने गुड मॉर्निंग कहा और रजिस्टर में नाम लिखने लगा. ऑफिस के बाद दारु पीना और लेस्बियन सेक्स करना इतना ही काम बचा था हमारे पास. भाभी बोलीं- तेरे भैया में तो दम ही नहीं है क्योंकि उसका लंड तो खड़ा ही नहीं होता है.

मैंने वैलंटाइन वाले दिन उसको कान पर फ़ोन लगा कर कहा- आई लव यू, इफ यू लव मी. मैंने उठकर फ्लास्क में से निकाल कर उसे कॉफी दी, जो थोड़ी ठंडी हो गई थी पर हमने पी ली. मैंने उसके घर वालों को उस को मारने की धमकी दी और कहा- उसके फ़ोन में कोई मैसेज है या कॉलरिकॉर्डिंग है.

उसने आते ही मुझसे पूछा- कोई दिक्कत तो नहीं हुई दीदी?मैंने भी हंस कर कहा- नहीं.

वाह आह्ह्ह उम्म्म उईईईई माँ मर गई उफ… आआआः आआः माअर ले आज तू मेरी आआ आआआआः माआआर ले साआले… मेरा पति तो नामर्द है फ़ाआआड़ देईई तू ऊ… आआअज मेरी ईईई चूत साआले हराम की ईईई औलाद… कुत्ते कमीने… आज तू अपनी माआआआँ की गाअंड माअर ले. सजा… सजा तो मुझे मिली है… तो क्या मैं बुरी हूँ।मैं हड़बड़ा गया मेरे पास जवाब नहीं था, लेकिन एक विक्षिप्त इंसान से बात करते हुए उसे बच्चों जैसा बहलाने फुसलाने की कोशिश कर रहा था- नहीं छोटी, तुम तो बहुत अच्छी हो, उन दुष्टों को सजा मिलेगी जिन्होंने तुम्हारी ये हालत की है और वो भी बहुत भयंकर सजा मिलेगी।तो उसने अचानक ही रोते हुए कहा- कब मिलेगी सजा. लेकिन सबसे पहले ये एडमीशन फॉर्म फिल अप करना पड़ेगा उसके बाद ही आप क्लास जॉइन कर सकते हैं.

इतने सारे एसएमएस किए फिर भी एक तो रिप्लाई कर दिया करो, ज्यादा बिजी थीं क्या?मैं- नहीं बिजी नहीं थी बस मेरे मोबाइल में एसएमएस पैक नहीं है इसलिए नहीं किया. पर अचानक…जैसे अंजलि दीदी की खुशियों को किसी की नजर लग गई, शादी के 3 साल बाद भरे यौवन में 29 साल की जवान और हसीन औरत अंजलि विधवा हो गयी. साथ ही मैंने दीदी की गांड को अपने हाथों से कस के पकड़ हुआ था और दीदी की चूत को अपने लिप्स पर दबाया हुआ था, मेरा हाथ दीदी की गांड के छेद के पास था, मैं मेरी एक फिंगर दीदी की गांड के होल पर चलाने लगा था और दीदी की गांड का छेद भी मस्ती में अपने आप थोड़ा खुल और बंद होने लगा था.

कभी मैं ज्यादा दुखी होती तो उनके कंधे पे सर रख कर रो लेती और वो मुझे प्यार से समझा कर चुप करा देते. काफी देर इंतजार के बाद वो धीरे से अंदर आया और मेरे सीने से लिपट गया और मेरे एक एक कपड़े को खोल कर उतारने लगा.

स्टीव ने मेरी जांघ से हाथ सहलाते हुए चड्डी में डालकर मेरी गर्म छोटी सी चूत को सहलाना चाहा. बस अगले कुछ मिनट में मैंने उसको सीधा किया और उसकी चूत खोल कर अपना लंड लगा दिया. उसके दूसरे दिन कि बात है कि मैंने एक लड़के को टीवी सही करने के लिए घर बुलाया तो उसने आने से मना कर दिया.

चोदो मयंक चोदो मज़ा आ रहा है…’अब वो अपनी गांड को हिला हिला कर चुदवा रही थी.

उसके इतना कहते ही मैंने उठ कर सरिता के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा. वो 24 साल का है, उसका नाम किशोर है और वो काफी हैंडसम दिखता है और अच्छा चोदता भी है, साले का लंड तन बदन की नसें खोल देता है. अब शिशिर सलमा की चुचियों को मुँह में लेकर चूसते हुए तेजी से चुदाई कर रहा था.

मैं एकदम से उछल पड़ी और चचा जान के बालों में हाथ डाल के उनके होंठों को जोर से काटने लगी. वीडियो में एक नीग्रो एक गोरी मेम की चुदाई कर रहा था, उसका लंड एकदम घोड़े जैसा था.

थोड़ी देर में उसने मुझे आवाज़ दी और कहा- शेखर, प्लीज़ आँखें बंद करके मेरे पास आओ, आपको मेरी कसम है आँखें मत खोलना. वो बोली- जीजा जी, मेरी चुत में डालो, मैं आपका पानी महसूस करना चाहती हूँ. पहले वो मेरी तरफ गुस्से से देखती रहीं और फिर भीड़ के कारण मेरे पास आकर खड़ी हो गईं.

हिंदी सेक्स राजस्थानी

मैंने पिंकी के मुँह से हाथ हटाया और उस हाथ से लंड पकड़ कर फिर से एक ज़ोर का धक्का लगाया, एक ही धक्के में मेरा आधा लंड पिंकी की कुँवारी गांड में घुस चुका था.

होली का दिन था, होली पे भाभी के कज़िन्स के कुछ दोस्त भी आए थे, सो मैं भी वहां होली खेलने चला गया था. इसलिए मैंने सोचा जो अंजू ने किया था या उस लड़के ने जो मेरे पैरों के बीच में करके वाइट चिपचिपा निकाला था, वही होता होगा. थोड़ी देर तक मैं शराफ़त से लेटा रहा, लेकिन नीचे लंड मानने को राजी नहीं हो रहा था.

मैं जल्दी से फ्रीज़ में से बर्फ लेकर आया और उसके मम्मों पे धीरे लगाने लगा. कुछ देर बाद मैंने देखा कि सुष्मिता मेम की चूत पानी छोड़ रही थी, तो मैंने धीरे से अपनी उंगलियाँ बाहर निकाल लीं और अपनी जीभ को उनकी चूत पर रख दिया. हिन्दी ब्लू फिल्मेंवो आँख दबा कर बोली- तो ऐसे ही काम चला रहे हो?फिर मैं बोला- क्या बोला तूने?वो ‘कुछ नहीं.

वो दोनों हाथों से बस का ऊपर वाला डंडा पकड़ कर खड़ी हो गईं और उनका लड़का हमारे बीच में आ गया. मुझे बहुत मजा आ रहा था और अनुष्का के मुख से सिसकारियाँ निकल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…कुछ मिनट बाद मेरा भी होने वाला था, मैंने बोला- मेरा रस निकलने वाला है.

आख़िर वो समय आ गया, भाभी को वापस जाना था और उनको छोड़ने जाने के लिए मुझको बोला गया. एक तो वो बिल्कुल नंगी थी, ऊपर से वो अपने बड़े भाई का लंड चूस रही थी और अपने दूसरे भाई से अपनी चूत चटवा रही थी. तुम मेरी गांड भी फाड़ोगे ना? तुम मेरी चूत, गांड सब फाड़ डालोगे, तुम मुझे मत चोदो…तभी उसकी माँ ने उसे चुप कराने की कोशिश की, तब मैंने उसकी माँ से कहा.

अगर आपको मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल ज़रूर कीजिएगा. मेरी माँ अपनी गांड पीछे धकेलती हुई बक रही थी- साले तू कुतिया तो मुझे पहले ही बना चुका है और क्या बनाना चाहते हो? मेरी बेटी को भी नहीं छोड़ना चाहते?पूरी कहानी मंजू की जुबानी सुन कर मजा लीजिये. उसने भी समझा कि टाइम ज्यादा नहीं है और दोनों का फुल मूड चुदाई का है.

मैंने दीदी के दोनों हाथों को पकड़ा और मोड़ कर दीदी की पीठ पर रख दिया और दीदी के हाथों पर अपने हाथ रख के वापिस ऊपर उठ गया जिससे मेरे वजन की वजह से दीदी को हाथ हिलना मुश्किल हो रहा था और मेरी स्पीड भी तेज होने लगी थी.

एक दिन मैं कॉलेज नहीं गया और रूम में ही था और मैंने मन बना लिया था कि आज भाभी जी को चोद कर ही रहूँगा. अगले दिन अपने घर में मैंने अन्दर खड़की के कांच से छुप कर देखा, जिसमें से अन्दर से बाहर का सब दिखता था, पर बाहर से अन्दर कुछ नहीं दिखता था.

मौसा जी पूरे गर्म होकर मेरे से चिपक गये और उनके सांसें तेज होकर चलने लगी, मुझसे चिपके होने से मुझे मौसा के गर्म होने का अहसास हो रहा था इसी लिए मैं उनके सीने से अपने पीठ को सटा लिया और अंकल का हाथ मेरे बगल से होता हुआ मेरे मम्मों को टच करने लगा. जैसे ही मैंने उनकी सलवार में साइड से हाथ घुसाना चाहा, तभी उन्होंने हाथ को रोकते हुए हाथ हटाया और रज़ाई से उठ कर चली गईं. मेरा नाम राहुल है (नाम बदला हुआ) मैं दिखने में सामान्य हूँ, मेरी लम्बाई 5 फुट 7 इंच है और मेरा शरीर स्लिम है और मेरा लंड लगभग 6 इंच का है और 2 इंच मोटा है.

फिर 8-10 झटकों के बाद उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मुँह खोल कर ज़ोर ज़ोर से साँस लेते हुए आवाजें निकालने लगी. 29 साल की इस जवान औरत अंजलि के करीब 40 इंच के टाइट, चौड़े, गदराए, चर्बी चढ़े भारी नितंबों को उसकी छोटी सी पैंटी संभाल पाने में असफल हो रही होगी. मैंने अपनी तैयारी की और ट्रेवल एजेंसी में एक सीट बुक करा कर सुबह की बस से मैं जयपुर निकल गया.

बीएफ मां बेटे की चुदाई आज से छह महीने पहले एक रात को मैं फेसबुक पर ऑनलाइन था और हमेशा की तरह उस दिन भी लड़कियों को रिक्वेस्ट सेन्ड कर रहा था. जब वो बस में चढ़ी और सीट तक गईं, उतनी देर तक सब बुड्ढे उनकी गांड और हिलते हुए मम्मों को देख कर मजा कर रहे थे.

यारी तोड़ दे

अब सुभाष की हालत ऐसी थी कि उसको सिर्फ़ बेड पर ही लेटा रहना पड़ रहा था. जब ये भाभी उन्हें बोलेगी कि क्या देखते हो, तब तुम उठना और पैर फैला कर बैठ जाना ताकि वो तुम्हारी चड्डी देख सके. वो काफी सेक्सी लग रही थी और अब मुझे भी सेक्स के बारे में बहुत कुछ पता चल गया था.

दोस्तो मैंने देखा पूनम ने ब्लैक कलर की नेट वाली पेंटी पहनी हुई थी और पेंटी की नेट पूरी चुत के पानी से गीली हो रही थी. उसकी बात सुन के माया को होश आया के वो क्या कर रही थी और उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया. ভালোবাসা সেক্সमैंने सिगरेट जलाई और पार्किंग में टहल रहा था कि किसी ने बहुत ही मधुर आवाज में मुझे ‘एक्सक्यूज़ मी.

और उसको नंगी करते ही मैं तो गंगा में डुबकी मारने कूद गया और उस के बूब्स को इस बार जोर जोर से दबा रहा था, हम दोनों होंठ एक हो चुके थे, मैंने अपना एक हाथ धीरे से उस की चुत तक ले गया और उसे बड़े ही प्यार से सहलाने लग गया और फिर थोड़ा सा थूक लगा कर मैंने एक उंगली अंदर डाल दी.

हम दोनों अपने पुराने शहर में एक दूसरे की गांड मारा करते थे, एक दूसरे से मरवाते भी थे. एक दिन बारिश हो रही थी, मेरी गर्ल फ्रेंड मेरे कमरे के सामने से निकली, वो भीगी हुई थी.

अब हमें ठण्ड सी लग रही थी तो मैंने हम दोनों के ऊपर रज़ाई को ओढ़ लिया. अब मैंने उसकी जीन्स पर हाथ डाला, जींस के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा. रात को खाना खाने के बाद दिव्या सो गई, पर मुझे नींद नहीं आ रही थी और मैं यही सोच रही थी कि अमित से बात करूँ क्या?अब धीरे धीरे मेरे मन में भी अजीब अजीब से ख्याल आने लगे थे और यही सब सोचते सोचते काफी रात हो गई थी.

भाभी ने अलमारी में से कॉंडम निकाला और मेरे लंड को हाथ में लेकर पहले उसे किस किया और वो कॉंडम मेरे लंड पर चढ़ा कर मेरे ऊपर चढ़ गईं.

आदाब अर्ज़ है दोस्तो, मैं महबूब अहमद खान 29 वर्षीय युवक हूँ और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश से हूँ. बहूरानी ने भी मिसमिसाकर अपनी चूत और ऊपर उठा दी और अपने नाखून मेरी पीठ में गड़ा दिए. शनिवार को जाऊँगी मतलब 4 दिन बाद सन्डे को बुला लो और दुबारा माफ़ी मांगने के लिए 2 दिन बाद मंगलवार को बुला लो लेकिन बुलाना दुबारा तो ऐसे.

सेकसि मुवीतो पहले मना करने लगी लेकिन मेरे ज़ोर देने पर लंड को अपने मुँह में लेके चूसने लगी. ब्रा उसके जंबो साइज़ के मम्मों को सम्भालने की बेकार कोशिश कर रहा था और पट्टीनुमा पेंटी तो जैसे उसकी चूत और गांड की दरारों में खो ही चुकी थी.

राजस्थान लड़की की सेक्सी वीडियो

मैं जानती थी कि मम्मी बहुत ज्यादा किसी कॉफ़ी शॉप या रेस्टोरेंट तक ही जाएँगी. अब तक एक बार मेरा पानी भी उनकी चूत के अन्दर गिर चुका था लेकिन मैं धक्के मारे जा रहा था. तभी मुझे गीतांजलि को चोदना उचित लगा क्योंकि उसकी चूत फटी हुई थी जबकि सिमरन की सील पैक माल थी जो मुझे अपने लंड से फाड़नी थी.

अब मैं रोज़ उसको लाइन देता था और मेरी मेहनत रंग लायी।एक दिन मैं किचन में पानी पी रहा था और वो आँगन से बर्तन लेकर आई, उसने बर्तन अंदर लाकर रखे तो हम दोनों एक दूसरे के बेहद करीब खड़े थे और मैंने उसकी आँखों में आँखें डाल कर देखा. मैं मेरी जीभ उसके मुँह में डाल कर अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा, जिसमें मैं सफल हो गया. उसके पीछे उसके दोनों बेटों में से एक अपनी बहन की चूत चोद रहा था और दूसरा अपनी भाभी की चूत मार रहा था.

मेरी गांड फटने लगी कि कहीं भाभी ने ये सब बातें भाई को बता दीं, तो मेरी तो वाट लग जाएगी. उसने लाल रंग का टॉप पहना हुआ था और नीचे जीन्स थी, वो बहुत ही हॉट लग रही थी. मेरा हाथ अपने आप से मानो मेरी चूत पर पहुँच गया और उसे सहलाने लगी, मैं इतनी बेखबर थी कि मम्मी आकर पीछे खड़ी हो गईं, मुझे पता ही नहीं चला.

रूचि ने पहले तो मेरे लंड के सुपारे को जीभ से चाटा, होंठों से किस किया और फिर धीरे धीरे पूरा लंड मुंह में लिया. फिर हमने ऊबर ली हुई थी, कुछ ही देर में कैब एक सुनसान सड़क के बाद फॉर्म हाउस में जाकर रुकी.

एक दिन मेरे मम्मी पापा और भाई बहन सब लोग 7 दिनों के लिए नानी के घर गए हुए थे.

मैंने स्कर्ट टॉप निकाल दिया लेकिन इस समय मैंने ब्रा नहीं पहनी थी तो मेरी नंगी चूचियां उसके सामने आ गईं. காதலர்கள் செக்ஸ் வீடியோवो बर्फ देख कर चिढ़ने लगीं और बोलीं- अब क्या चाहिए तुम्हें…?मैं बोला- अरे मैं तो बस तुम्हारी गांड और चूत को आराम दिलाने के लिए लाया था, तुम्हें जलन हो रही होगी ना…!वो बोलीं- हाँ, दर्द तो हो रहा है, पर तुम रहने दो… मैं खुद ही लगा लूँगी. भोजपुरी विडिओ सेक्सीअचानक उन्होंने मेरी पीठ के पीछे से मेरे कंधे जकड़ लिए और मेरे ऊपर पूरा झुक के अपनी स्पीड बढ़ा दी. मूवी शुरू हो गयी और उसमें सिर्फ चुदाई और किसिंग सीन ही थे। रोहण गर्म हो गया था और उसने अपना हाथ मेरी नंगी जांघ पर रख दिया था, वो मेरी जांघ पर हाथ फेर रहा था और फिर मूवी खत्म होने पर हम वहाँ से बीच पर गए.

यह कहानी मेरे और मेरे मामा की बड़ी लड़की दिव्या (बदला हुआ नाम) के बीच उस समय घटी, जब वो अपनी छुट्टियों में कोटा से दिल्ली अपने घर आई हुई थी.

फिर ब्रा निकाल कर टेबल पे रखी और ब्लाउज का हुक बंद ही कर रही थी कि दरवाजे पे दस्तक हुई. मैं- सुनो दिव्या वो 10 मिनट में आ रहा है तो?दिव्या- तू फुल टॉप और जींस या फिर कोई सिंपल सूट पहन कर तैयार हो जा. लेकिन जब वो जाने के लिए उठी तो मुझे पता नहीं क्या हुआ और उसे फिर से कस कर अपने बदन को चिपका कर उसके होठों पर किस किया और थोड़ी देर वैसे ही रहे.

इधर रमेश ने अपनी बहन काजल को सोफे पर लिटा दिया और उसके बगल में बैठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. तभी रश्मि मुझसे बोली- भाई साहब आज खाना खाने मेरे यहां ही आ जाना, वैसे भी दीदी घर पर नहीं हैं. जब देखा कि वो गर्म हो चुकी है तो मैंने उसकी सलवार को खोल कर उसे नीचे कर दिया.

जानवर आदमी का सेक्सी

उसके जाने के बाद मुझे मेरी ग़लती का एहसास हुआ और मैंने उसे पीछे से आवाज़ देकर वापिस बुलाया और उसे सॉरी बोला. मैंने वैलंटाइन वाले दिन उसको कान पर फ़ोन लगा कर कहा- आई लव यू, इफ यू लव मी. मैंने मना कर दिया क्योंकि मेरा मंन आज किसी कॉलगर्ल को बुलाने का था.

जब पुलकित ने देखा कि मंजरी अपनी आँखें बंद किए उसका लंड चूस रही है, तो वो भी घूमा और उल्टा हो कर मंजरी के ऊपर ही लेट गया.

ये तो मैंने खुद अपनी आँखों से देखा तुझे, कोई कहता तो मैं यकीन नहीं करती, तभी तो सब मोहल्ले की औरतें और लड़कियां सब अन्दर ही अन्दर कहती हैं कि तू चालू है.

जब मैं पुराने टायर को वापस रख रहा था, तब उन्होंने कहा- चलिए, मैं आपको छोड़ देती हूँ, आपके दोस्त को तो वक़्त लग जाएगा. यह सुन कर मैं भी थोड़ा उदास सा हो गया, पर फिर सोचा कि क्यों ना भाभी की ननद को भी पटाने की कोशिश की जाए और पट गई तो ननद भाभी को साथ में चोदा जाए. हिंदी बीएफ देखने वालापर मेरी गांड समझ गई कि ये दोस्त की उंगली नहीं है, किसी मजबूत मर्द की उंगली है.

सरिता का भीगा बदन और उसकी तनी हुई चूचियाँ मेरी पीठ को पीछे से छूकर अन्दर ही अन्दर मेरी सेक्स की भावना को भड़का रही थीं. मैं पागलों को तरह मामी को किस पे किस करने लगा था, वो भी मुझे किस कर रही थीं. तो सागर- क्यों दीदी, ऐसा क्यों कह रही हो मेरे जीजू के बारे में?मीना- भैया उनका लंड छोटा है सिर्फ 4 इंच का और वीर्य भी 5 मिनट में ही निकल जाता है.

लेकिन मैंने ब्लाउज को पकड़ लिया और कहा कि पूनम अब आपको ब्लाउज ऐसे ही नहीं बंद करने दूँगा. मैंने अन्धेरे में ही टटोल कर उसकी सलवार का नाड़ा खोला और धीरे से सलवार को उतार दिया.

मैं अन्तर्वासना की सेक्सी स्टोरीज का बहुत बड़ा फैन हूँ, मेरी ये चुदाई की कहानी एक जवान भाभी शीतल (बदला हुआ नाम) के बारे में है और उसी ने मुझे यह कहानी अन्तावासना में लिखने के लिए कहा है.

इसलिए मैंने सोचा जो अंजू ने किया था या उस लड़के ने जो मेरे पैरों के बीच में करके वाइट चिपचिपा निकाला था, वही होता होगा. मेरे यूं उससे दूर हटते ही बहूरानी जी को जैसे हिस्टीरिया कर दौरा पड़ा हो, उसका सिर बर्थ पर दायें बायें होने लगा… उसके मम्में सख्त हो गये और निप्पल फूल कर भूरे अंगूर की तरह नज़र आने लगे. शाम को मैं और दिव्या कोचिंग जा रही थे तो अमित रास्ते में आया और तब मैंने गौर किया कि अमित बातें तो दिव्या से कर रहा था लेकिन देख मुझे गौर से रहा था.

ब्लू फिल्म दिखा दो वीडियो उन्होंने मुझसे सीधे पूछा- तुम शिवानी से बड़ा कंडोम क्यों मांग रहे थे? क्या सच में तुम्हारा लंड काफी बड़ा है. कहने का कुल मतलब ये कि यह सेक्स का virtual world आदि काल से ही किसी न किसी रूप में विद्यमान रहा है.

मैंने मधु भाभी की चुत पर सीधे बोतल से ही वोड्का डाली और लपलप करके भाभी की चुत चाटने लगा. भाभी फिर से छटपटाने लगीं, पर मेरी पकड़ इतनी मजबूत थी कि वो कुछ ना कर सकीं और अपने आपको मेरे हवाले कर दिया. मैंने सोच लिया था कि भले ही उसकी चुत मारते वक्त पिंकी पर रहम किया था लेकिन अगर गांड मारने में रहम किया तो पिंकी चीख चीख कर पूरा घर सर पर उठा लेगी.

छ से लडकों के नाम 2022

उसकी चूत में अपने लंड को डाल कर मेरी आँखें आनन्द से बंद हो गई और हम दोनों की आहह निकल गई। थोड़ा सा और लंड उसकी गुलाबी चूत में जाने के बाद अनामिका ने मुझे धीरे धीरे डालने को कहा।मैंने उसके होंठों को चूमते हुए पूरे जोर से धक्का देकर पूरे लंड को उसकी चूत में उतार दिया. विक्की ने यहाँ मुझे तैरने के लिए कहा तो मैंने कहा- इस ड्रेस में कैसे?विक्की ने कहा- मैं स्वीमिंग ड्रेस लाया हूँ. फिर उसके मुड़े हुए पैर सीधे किए, उसकी चूत देखी बेचारी की छोटी सी चूत, जिस पर अभी पूरे बाल नहीं उगे थे.

फिर मैंने उसकी चूत को देखा, जिस पर छोटे छोटे बाल उगे थे, उसे चाटना चालू किया. मैंने उनकी चूत पे मुँह लगाया और जोर जोर से जीभ डाल कर चूत चाटने लगा था.

मेरी मॉम का बदन थोड़ा गदराया हुआ है तो आज भी कोई कमसिन जवान लौंडा या कोई अधेड़ावस्था का पुरुष यानि किसी भी उम्र का मर्द मेरी मॉम को देखता है तो देखता ही रह जाता है और उसका हाथ उसके लंड पर पहुँच ही जाता है.

अमित- ठीक है और?मैं- मिनी सन्डे को इस समय बहुत बिजी रहती है तो वो बाद में आने को जरूर आने को कहेगी. माया दीदी दो दिन से मेरा चैन चला गया है, दीदी मैं खून के आंसू रोती हूँ. वो बहुत ही कामुक हो गई थी, वो बोली- भाई, ऐसे कपड़ों के ऊपर से क्या मजा आयेगा, मेरी नाइटी उतार कर मेरी चुची को सहलाओ, मसलो, चूसो!मैंने उसकी नाइटी उतार दी.

एक लंबे किस के बाद महेश ने मुझे बिस्तर पे गिरा दिया और मेरे कपड़ों के ऊपर से ही मेरे मम्मों को चूसने लगा. उसने आरजू को वहीं चोदना शुरू कर दिया। आरजू की मादक आवाजें मुझे मदहोश कर रही थी, ऐसा मन कर रहा था कि अभी मैं आरजू को पकड़ कर चोद दूँ।आरजू की चुचियाँ हवा में झूल रही थी, और वो इतनी तेज आवाजें निकाल रही थी कि दूर वाला भी कोई सुन सकता था पर मैं और रीनू मामी एकदम शांत होकर उनकी चुदाई देख रहे थे. ” रूपिका ने मन में सोचा।रूपिका- गुड इवनिंग पापा।विक्रांत- गुड इवनिंग बेटा। तो तुम रश्मि से मिल चुकी हो.

मम्मी खेत में चली गयी, हमें पता था कि मम्मी शाम को देर से आएगी, फिर मैं मोबाइल पर कुछ करने लग गया और मीतू पढ़ने लग गयी.

बीएफ मां बेटे की चुदाई: अब मैं साबुन उठाया और अच्छे से झाग बना कर भाभी के मम्मों पर… चूत पर… और गांड को अच्छे से साफ करने लगा. फिर एक दिन आकाश ने बोला कि विशाखा मैं यहाँ पास ही में लेक पर घूमने जा रहा हूँ.

जब मैंने हाथ रखा तो मतलब मॉम को ऐसा महसूस हुआ होगा कि कजिन ने हाथ रखा है. अब वो लड़का मेरी मॉम के कामुक जिस्म के फुल मजे ले रहा था, वो कभी मेरी मॉम के बोबे दबाता, तो कभी गांड. फिर दूसरे एग्जाम में मैं थोड़ा सेक्सी बन के गई तो उन्होंने देखा और कहा- अच्छी लग रही हो.

इस देसी कहानी के पिछले भागसेक्स स्टोरी ससुर बहू की चुदाई की-1में आपने पढ़ा कि:मोहन लाल ने मयूरी की गांड के छेद को अपने दोनों हाथों से चौड़ा किया और उसको अपनी नाक नजदीक ले जाकर सूंघने लगा.

मैं बस मौके के इन्तजार में था कि कभी न कभी तो भाभी की चूत का फल मुझे मिलेगा ही और वो कहते हैं न कि सब्र का फल मीठा होता है. पता नहीं विनीत को क्या हुआ, उसने आरजू के कान में कुछ कहा और वो मुस्कुरा दी, ऐसा होने के बाद आरजू ने अपना फेस हमरी तरफ कर लिया और बात करने लगी, अब विनीत उसके पीछे आ गया और उसकी जीन्स को भी उतार दिया और उसकी चूत को किस करने लगा, जिससे आरजू की आवाज़ और ज्यादा आने लगी और वो रीनू से भी बात कर रही थी. भाभी बोलीं- अब सर ही हिलाता रहेगा या अब मुझे गरम भी करेगा?मैंने भाभी से कहा- मुझे नहीं आता आप ही बताओ?भाभी ने अपना माथा पकड़ लिया और बोली कि मैं किस अनाड़ी के चक्कर में पड़ गई?मैं उनकी तरफ चूतियों सा मुँह बाए खड़ा था.