बीएफ ट्रिपल वीडियो

छवि स्रोत,भोजपुरी में बीएफ ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली लड़की सेक्स: बीएफ ट्रिपल वीडियो, तो शरमाती हुई पद्मिनी बोली- वह मैं नहीं उतारने वाली, उसे आप ही उतारो.

एक्स एक्स एक्स बीएफ राजस्थान

वो अपने होंठों को दांत से दबा कर खड़ी हो गईं, फिर झटके से नाइटी उतार कर मेरे मुँह पर फेंक दी. देहाती ससुर बहू की बीएफमुझे भी कलसी और चकराता में थोड़ा काम था तो मैंने कहा- ठीक है अगर मैं जल्दी फ्री हो गया तो तुमको यहीं मिलूंगा.

पापा जी कुछ चाहिये तो नहीं न आपको?” अदिति बहूरानी की आवाज ने मुझे चौंकाया. बीएफ सेक्स दिखाओ वीडियो मेंअंकित की नज़रें अब मुझ पर थीं, वो घूर घूर कर मेरे मम्मों को देख रहा था.

अभी तक मैं बहुत ज्यादा बिज़ी चल रहा था, लेकिन आप लोगों के प्यार ने मुझको फिर से मजबूर कर ही दिया.बीएफ ट्रिपल वीडियो: इस तरह पूरा खाली होकर मेरे ऊपर मनोहर बेहोश की तरह लेट गया, जैसे उसे कुछ होश ही ना हो.

चाचा बोले कि पिछले पचास साठ वर्षों में मुझे इतना मजा कभी नहीं आया, तू लाजवाब है वन्द्या.मैंने पूछा- पैसे?वो बोला- हां…लेकिन पैसों की तो कोई बात ही नहीं हुई थी हमारे बीच में?” मैंने कहा।वो बोला- तो इतनी मेहनत मैंने वैसे ही होती है क्या? आप भी कमाल करती हो।कहकर वो हंसने लगा।मैंने कुछ पल सोचा और पूछा- अच्छा कितने पैसे चाहिएँ तुम्हें…उसने कहा- 5 हज़ार.

वीडियो बीएफ फिल्म एचडी - बीएफ ट्रिपल वीडियो

और वह बहुत मस्त हॉट सेक्सी लड़का है, अंकित का लंड तो मेरे से भी मस्त है, तुझे उससे चुदना हो तो बता, मैं बुला लूंगा.उसके कानो की लौ, गर्दन पे चूसा, तो उससे खड़ा नहीं रहा गया, वो आँख बंद करके पलंग पर लेट गयी.

थोड़ी देर बाद चाय नाश्ता लिये रज़िया भी आ गयी। मैंने हस्बे आदत गहरी निगाहों से उसका अवलोकन किया।चौबीस-पच्चीस से ज्यादा उम्र न रही होगी उसकी. बीएफ ट्रिपल वीडियो ’आंटी को करीब दस मिनट तक चोदने के बाद वो और मैं एक साथ झड़ने को हो गए। आंटी झड़ीं तो मैंने लंड को बाहर निकाला और सारा पानी उनके मुँह के पास ले जाकर छोड़ा। आंटी ने मेरे लंड को मुँह में रख कर साफ किया और हम दोनों नंगे ही सो गए। जब आँख खुली तो तीन बज चुके थे.

रात के करीब 12 बजे मेरी नींद खुली तो देखा कि उनकी टांग मेरी टांग के ऊपर रखी है और वो गहरी नींद में थी.

बीएफ ट्रिपल वीडियो?

फिर मैं अपने हाथ से मामी जी के बदन को सहलाने लगा, जिस से वो नॉर्मल होने लगीं. इस वजह से मैं सिर्फ अब आंटियों की चूत लेने की ही फिराक में रहता हूं, लेकिन अभी तक मैंने किसी आंटी की चूत नहीं ली है. ओह अम्मी…” खाला के मुख से निकला, खाला के स्तन ऊपर की ओर उठ गए और शरीर एंठन में आ गया.

उसका लौड़ा बहुत ही तगड़ा औजार था, साला मेरी मुठ्ठी में समा ही नहीं रहा था. पहली नज़र में तो वो पहचान में ही नहीं आई; घुमक्कड़ बंजारिनों जैसे कपड़े पहन रखे थे उसने… लहंगा चोली ओढ़नी और मैचिंग चूड़ियां वगैरह और उसके होंठो पर सजती वही मीठी मुस्कान. डर से तो गांड फ़टी जा रही थी लेकिन इस आनन्द के सामने मुझे इस डर में भी मज़ा आ रहा था।कुछ देर ऐसे ही सहलाने के बाद अर्चना के निप्पल कड़े होकर तन गए और अर्चना ने भी थोड़ी हरकत की.

तुम्हें अब रोज चुदाई करवानी जरूरी है, इसमें कितना मजा है यह तुम आज ही जान जाओगी. मैं इस वक्त ये जो भी बोल रही थी, बिल्कुल मदहोशी में बोले जा रही थी. दूसरे ड्रिंक पर हम दोनों ने बातचीत करना शुरू किया और दूसरे ड्रिंक के बाद रितु डिनर की तैयारी शुरू करने के लिए चली गयी.

सुजाता ने पहले कभी गांड नहीं मरवायी थी तो उसे काफी दर्द हुआ और वो बिदकने लगी. उनकी चूत का रस लेने के बाद मैं उनके ऊपर आ गया और उन्हें चूमते हुए अपना लिंग उनकी योनि से रगड़ने लगा.

फिर बाहर के सब लोगों के जाने के बाद हम दोनों भी सोने के लिए चल दिए.

उन्हें इस समय कुछ भी याद नहीं था कि वे घर में हैं, वे सगे भाई-बहिन हैं, उनके बीच खून का रिश्ता है.

मैंने उसे पलट कर देखा और पूछा- अब इतनी बारिश में कहाँ से लाओगे? ऐसे ही कर लो. आह मनोहर अपना पूरा लौड़ा अन्दर मेरी चूत में घुसा दे और घुसा आहहहह वोहहहह मनोहर मुझे बिल्कुल तेरे जैसे लंड की जरूरत थी, तुम तीनों बहुत मस्त हो. एक बार मैं रेलगाड़ी से अपने पति के पास असम जा रही थी, मेरा रिजर्वेशन राजधानी एक्सप्रेस में लखनऊ से 5.

पर वो मुझसे बोलने लगी- इतनी मस्ती आ रही है, तो अपनी वाली के दबा ले ना. मेरी बड़ी बहन प्रीति की शादी हो चुकी है, अब उसके पास एक लड़की भी है जो बहुत सुंदर है. मैंने मम्मी की एक अच्छी सी साड़ी निकाली और उन्हीं का ब्लाउज और पेटीकोट, मेकअप का सामान निकाल कर मेकअप करने लगी.

दोस्तो, मेरी ये देसी चुदाई कहानी आपको पसन्द आई या नहीं, मुझे अपनी राय[emailprotected]पर जरूर लिखें.

जैसे ही मैंने उसके बूब्स देखे तो मेरी आँखें उन्हें देखती ही रह गई। क्या बूब्स थे उसके… एकदम गोरे और एकदम टाइट और उन पर ब्राउन कलर के निप्पल क्या लग रहे थे।मैंने उसके एक निप्पल को मुंह में लिया और चूसने लगा और पागलों की तरह काटने लगा. दोस्तो, मेरा नाम प्राची है और मेरा नाम तो आपने पहले सुना ही होगा! तो मैं आज आपको एक बहुत ही ख़ास इंसान के लंड के बारे में कहानी सुनाने वाली हूँ. मैंने जूली को कहा- जो होना था सो हो गया, आज तुम्हें मैं जन्नत की सैर करवाऊंगा और जब तुम कहोगी, तभी तुम्हारी चूत में लंड डालूँगा.

कुछ देर बाद वो भी मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलने लगा, लेकिन मैं उसका लंड चूसने से मना करने लगी. और आप खाने की बात कर रहे हैं, तो मैं आपको बता दूँ कि कल रात से सुबह तक आपके लंड का पानी पीकर मेरी प्यास तो अपने बुझा दी और आपने मेरी गांड में पानी छोड़कर मेरी भूख भी मिटा दी है. अब में सिर्फ़ अपने सुपाड़े को ही धीरे-धीरे उनकी गांड में अन्दर बाहर करने लगा था.

और यही हुआ, मैं अनुप्रिया के घर पहुँच गई, वहाँ उसकी मम्मी, पापा और वो थी.

ये बात पिछले साल की है, मैं जहां जॉब करता था, वहीं पास में एक ब्यूटी पार्लर था. उसके जाने के बाद मैं फिर से नहाई, लेकिन मुझे चलने में बहुत मुश्किल हो रही थी.

बीएफ ट्रिपल वीडियो बारिश की वजह से घर भी नहीं जा सकती थी और स्कूल का टॉयलेट मैं इस्तेमाल नहीं करती थी. मुझे तो पता था वही हैं, मैंने उनका हाथ पकड़ के जोर से अपने तरफ खींचा और अपनी बांहों में जकड़ लिया और जल्दी से उनके होंठों को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

बीएफ ट्रिपल वीडियो थोड़ी देर बाद जब मुझे लगा कि मेरा माल निकलने वाला है, तो मैंने उसे रोका और लंड उसके मुँह में से निकाल के खुद का भी रस निकलने से रोक लिया. हम तीनों का ही स्खलन हो चुका था, लिहाजा हम तीनो हो थक गए थे! मेरी बीवी तो अभी भी हांफ रही थी.

कोमल उठी और अपने कपड़े ठीक किए और ठीक से बैठ गए, क्योंकि कोमल को विकास नगर उतरना था.

चुदाई चुदाई सेक्स वीडियो

मैंने इस बार कसकर धक्का मारा और उनके मुँह से एक दर्द भरी आवाज निकली. मैंने बिना समय गंवाए उसके पैर फैलाते हुए ऊंचे कर दिए ताकि उसे ज्यादा दर्द न हो. लेकिन भाभी किसी तरह पूरा लंड अन्दर ले गईं और मैं आराम से भाभी की चुदाई करने लगा.

मैं आज सबको हाज़िर नाजिर जान कर यह कसम ख़ाता हूँ कि ए चूत मैं तेरा सेवक बन कर रहूँगा पूरी जिंदगी भर. उसने इस बार मुझे इतना ज़ोर से और इतनी देर तक चोदा कि मैं अधमरी कुतिया जैसी हो गई. उन्होंने मेरी बात को जैसे सुना ही नहीं और कहने लगीं- कपड़े चेंज कर लो, पूरे गीले हो गए हैं.

तुम वहाँ पर एक मासूम सी लड़की बन कर रहना और अगर कोई अच्छा लड़का तुम्हारी नज़र में हो, तो पहले मुझे बताना.

तो जैसा कि मैंने लिखा कि मेरी कहानी पर ढेर सारे ईमेल आए थे, उन्हीं ईमेल में से एक ईमेल एक महिला का भी था, वो भी पुणे से ही थीं. मैं बुआ के बेटे को दूर करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उसने मुझे कस कर गले लगाया हुआ था, इसलिए मैं उससे अलग भी नहीं हो पा रही थी. क़रीब साढ़े पांच फुट का कद और घने काले बाल जिन्हें उसने चोटी से कस के बांध रखा था.

फिर न जाने क्या हुआ कि मेरी आवाज मेरे हलक में ही अटक कर रह गई मेरी आँखों के सामने अँधेरा छा गया. निक्की- हां मैं भी यही सोच रही थी, दस दिन के ऊपर हो गए, कुछ हुआ नहीं. वापिस आते हुए उसने कहा- तुम बहुत अच्छे हो, मेरा हो मन है कि तुम्हें ही अपना दोस्त बना लूँ.

चाचा ने होंठ के बाद सीधे मेरे मम्मों को पकड़ कर तेजी से दबाया और बोले- वन्द्या, ये तो बहुत कड़क हैं, पर क्या गजब के हैं. अब बाकी के मर्दों की नज़र पद्मिनी की जवानी पर पड़ने लगी और सब मर्द उसके साथ सोने की इच्छा करने लगे.

दीदी अपने स्तनों को टेबल पर रखकर लेटी हुई थी और उनकी टांगें टेबल पर नीचे आई हुई थी. वो अपने धंधे का कुछ सामान यहां एक हिस्से में रखता था और बाकी का मकान हमको किराए पर दिया था. उसका मस्त गोरा रंग, मदमस्त बदन, गुलाबी होंठ, शर्माती आंखें, पतली कमर, वाह क्या माल थी वो.

ये कहते हुए अनीता दीदी ने लैपटॉप पे चुदाई वाले फोल्डर को मेरे सामने ही ओपन कर दिया.

उस रात तब तक भाभी मेरे लंड को ही चूस पायी थी कि अचानक उसके पति रवि के आवाज लगाने के कारण वह वहां से चली गई और मैं सो गया. उसने मेरे हाथों को रोका, मेरे बाल पकड़ कर मुझे खड़ा कर दिया- पहले तेरी पैन्ट निकालूंगी. आपको मेरी एक सच्ची देसी चुदाई कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल जरूर करें और बताएं.

एक दिन वो मेरे साथ ही जिम से निकलीं, मैं भाभी के बगल से गुजरा तो भाभी बोलीं- हैलो गुड मॉर्निंग. इस चुदाई के खत्म होने के 10 मिनट बाद मैंने भेज दिया।अब अगर आप को ध्यान दिया होगा तो मैंने कहानी के शुरू में कहा था कि ‘आपका प्यार अंधा हो सकता है, लोग नहीं।’दो बार चुदाई की भरपूर मस्ती हम दोनों को तड़पाने से बाज़ नहीं आ रही थी.

उनके कड़क हो चुके मम्मे एकदम से जैसे आज़ाद हो गए और उनकी ब्रा लटक गई. उन्होंने तुरंत फिर से अपने हाथ से मेरा मुँह बंद किया और अपनी अंडरवियर मेरे मुँह में डाल दी. मैंने अभिलाषा को फोन नंबर मिलाया, तो अभिलाषा ने कहा- जूली जरूर आपके पास आएगी, उसने मुझसे वादा किया था.

एचडी सेक्सी ब्लू वीडियो

फिर मैंने उसे अपने पास खींच लिया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए.

हम लोगों को ये भी नहीं पता था कि कौन सा स्टेशन है, कौन सा आगे आने वाला है. मेरी उससे ऑफिस के काम को लेकर कई बार बाहर से ही उससे बात भी हुई थी, जिस वजह से आस पास रहने वाले भी इस बात को जानने लगे थे और हमारे मिलने को कुछ गलत नहीं समझते थे. उससे सेक्स की इतनी खुलकर बातचीत होती थी कि यहाँ तक बता देती थी कि उसको चूत चटवाना अच्छा नहीं लगता है.

मैंने एक दिन हिम्मत करके उनके कमरे में झाँक कर देखा, तो हक्का बक्का सा रह गया. बता!”मैं उनके पास बेड पैर जा के बैठ गया और उनके गालों को हाथ में लिया, उन्होंने अपनी आंखें बंद कर लीं. सी वीडियो बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफवो मना करने लगी, पर अब मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता था कि वो क्या चाहती है.

मेरा एक पैर उसने ऊपर किया और ठीक से बैठ गया, साथ में वो मेरे होंठों को चूसने लगा. मैं अपने पाँव उनकी जाँघों पर और मेरे पैर का अंगूठे और उंगली में लेकर उनकी अंगूठे को पकड़कर घिसने लगा.

मैंने उसके मुँह से हाथ हटा दिया, उसकी कमर पकड़ के तेज़ी से चोदने लगा. तब हमारे पड़ोस के भैया की नई नई शादी हुई थी और उनकी बीवी यानि मेरी भाभी एक परी की तरह थीं. मैं उसकी बुर को चाटने लगा, कभी उसकी बुर में जीभ घुसा देता तो कभी बुर के दाने को दांतों से काट लेता.

मामी की हवस भरी नज़रों ने यह बात नोटिस कर ली थी और वो थोड़ा सा मुस्कुराई भी!उस दिन मैं यह बात समझ गया कि आग दोनों ही तरफ लगी है, मेरी कामुक मामी पहले से ही मेरा शिकार करना चाहती हैं पर उनको यह नहीं पता था कि मैं भी बहुत बड़ा शिकारी हूँ, मुझे तो तलाश ही रहती थी चूतों की… जो कि अब मुझे मिल चुकी थी, वो भी ऐसी कि जहाँ मैं जब चाहूं तब शिकार कर सकता हूँ. लेकिन जैसे ही राहुल के होंठ मेरे होंठों से अलग हुए, मैं राहुल को धक्के देकर अपने घर की तरफ़ भाग गई. हम एक दूसरे को अपनी बांहों में लिये वैसे ही लेटे रहे और हमारी आँख लग गयी.

निशा ने एक अंगड़ाई ली और बोली- बड़े शरारती हो, ठीक से सोने भी नहीं देते.

इतना कहते ही उसने मेरी बनियान भी निकलनी शुरू कर दी और मुझे ऊपर से नंगा करके मेरी छाती के बालों पे अपने गाल फिराने लगी. जब उसकी समझ में आया तो बोला- ठीक है मगर मैं जब तक अपनी बहन को इसके लिए राज़ी ना कर लूँ.

पिता को पद्मिनी को अपने गोद में बैठाकर बात करने की आदत थी, तो उसको अपने गोद में बिठा लिया. मैंने उसे चूमा और कहा कि अगर तुम न चाहो तो मैं ये सब यहीं पर रोक सकता हूँ. हम दोनों इसके बाद भी एक दूसरे के कान्टेक्ट में रहे और मैंने उनके घर जाकर भी उन्हें कई मर्तबा चोदा है.

मैं मस्त हवा में उड़े जा रही थी मेरी चूत और गांड के दोनों छेद लंड से चुदाई कर रहे थे. स्खलन के बाद मैं बेड पर साईड में होकर लेट गया और वो बाथरूम में जाकर फ्रेशअप होने लगी. मनोहर ने अपनी जात दिखाई और लंड सहलाते हुए बोला- आप कहीं ऊंच-नीच का फर्क तो नहीं लगाओगे?चाचा बोले- अबे तू आ… कोई दिक्कत नहीं, आ जा.

बीएफ ट्रिपल वीडियो आंटी बोलीं- कोई आ जाएगा?पर मैंने बोला कि आप जल्दी से कुर्ता नीचे करके सोने का नाटक करने लगना और मैं चला जाऊंगा. मेरी चूची को चूसने के बाद वो मेरे निप्पलों को अपने होंठों में दबा कर काटने लगा.

सेक्स दिखा

उस समय 6:30 बज चुके थे तो थोड़ा अँधेरा भी हो गया था तो मैंने सबके सामने उसके हाथ पर किस किया. दूसरी बार की चुदाई में तो वे दोनों एक साथ बारी बारी से मेरे लंड का मजा लेती रही थीं. कुछ समय बाद मैंने भाभी को अपना फोन नंबर और व्हाट्सैप नम्बर भी दे दिया.

’ बोला और उनकी चूचियों से चिपक कर लेटा रहा और पता ही नहीं चला कि हम दोनों कब सो गए. तो मेरा मन तो बंजारिन को चोदने के लिए मचल उठा था वरना अदिति बहूरानी की चूत की गहराई तो मेरा लंड कई कई बार पहले ही नाप चुका था. निशा मधुकर का बीएफमैं उसके लंड को चूस ही रही थी कि उसके लंड ने पानी छोड़ दिया और एक बार फिर से मेरे मुँह में उसके लंड का सारा पानी आ गया था.

शायद रात निकल जाए या टीवी देखते देखते मुझे नींद लग जाए क्योंकि मुझे अकेले में नींद भी नहीं लगती है.

वो मुझसे बार बार बोल रही थी- सरताज़ प्लीज जल्दी कुछ करो!मगर मैं उस वक़्त उसकी एक बात भी नहीं मानने वाला था, अगर मैं जल्दबाज़ी करता तो उसे दर्द होता फिर वो कभी दुबारा राज़ी न होती. उसका लहंगा भी घुटनों से कुछ ही नीचे तक था जिससे उनकी गोरी गुदाज मांसल गुलाबी पिंडलियां जो बेहद सेक्सी लुक दे रहीं थीं और पैरों में बंजारिनों जैसे मोटे मोटे चांदी के कड़े.

यहां मैं उसके लौड़े के लिये मरी जा रही थी और वो वहां मेरी तड़प बढ़ा रहा था. हमारा कार्य अन्तर्वासना पर अपनी कहानी भेज कर आप पाठकों की सेवा करना है. एकदम असली चुदाई की कहानी है, लेकिन अगर आप पसंद करेंगे तो ही लिखूंगा.

तभी फिर मुस्कान ने मुझसे बोला- सरताज, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ! आई लव यू सरताज!उसने मेरा हाथ पकड़ा और फिर रोने लगी.

मैं उसका पूरा लंड मुँह में लेने की कोशिश करने लगी, लेकिन लंड मोटा और लम्बा होने के कारण सिर्फ़ आधे से थोड़ा ज़्यादा ही ले पायी. उसका मस्त गोरा रंग, मदमस्त बदन, गुलाबी होंठ, शर्माती आंखें, पतली कमर, वाह क्या माल थी वो. पूरे दिन उन्होंने मुझसे बात नहीं की, मेरी गांड फट रही थी कि वो किसी को रात के बारे में कुछ बता ना दें!शाम को बहुत गर्मी हो रही थी तो मैं नल से नहा रहा था, मैं जानबूझ कर पानी इधर उधर फैला रहा था ताकि वो मुझसे बोले और मेरी तरकीब काम आई, मौसी मुझसे बोली- पानी मत फैलाओ!मैं ख़ुश हो गया और मैं जल्दी जल्दी नहाया.

सोनाक्षी सिन्हा की सेक्सी बीएफदोस्तो, मैं राज सिंह कानपुर के पास के जिले का रहने वाला हूँ, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैं अन्तर्वासना की कोई भी कहानी नहीं छोड़ता हूँ। मैंने सोचा क्यों न अपनी कहानी अन्तर्वासना पर लिखूं।आपका ज्यादा समय न लेते हुए कहानी पर आता हूँ।बात उन दिनों की है जब मैं 12वीं के इन्तहान देकर कानपुर घूमने चला गया था. तो सर बोले- शरमा रही हो, बस ये बता दो कि मैंने पढ़ने को कहीं खराब चीज तो नहीं दी थी?तब मैं बोली- नहीं सर.

सनी लियोन सेक्सी फिल्म वीडियो

धीरे धीरे धीरे बात कुछ ऐसी बनी कि मैं उनकी सेक्स लाइफ में पूछने लगा. कुछ देर बाद मेरा छूटने वाला था, मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके पेट और चूत के ऊपर गिरा दिया. जैसे ही उसने मेरी बॉडी पे तेल डाला मेरे शरीर में अजीब सी लहर उठी और उसके बाद जैसे ही उसने मसाज़ शुरू की, मैं तो जैसे जन्नत में पहुँच गयी.

मैंने उसका फोन नम्बर मांगा, उसने तुरंत दे भी दिया और हम जुदा हो गए. थोड़ी देर बाद काजल को नींद आने लगी, तो वो बाजू में बिछाए गए एक गद्दे पर सो गई. मैं गया तो देखा कि वो एक डब्बा उतारने की कोशिश कर रही हैं, वो डिब्बा कुछ ऊंचाई पे रखा था.

लेकिन उस दिन के बाद उसके बात करने के तरीके में चेंज आना शुरू हो गया. वरुण- क्या तुम पोर्न देखती हो? या सेक्स स्टोरीज पढ़ती हो? और क्या ज्यादा पसंद है सेक्स स्टोरीज या पोर्न?स्मिता- मुझे सेक्स स्टोरीज ज्यादा पसंद हैं, उनमें ज्यादा एक्साईटमेंट रहता है. वल्लिका के हाथ में एक पर्स था, जो उस शिष्या ने माँग लिया और वहीं पड़े एक टेबल पे रखते हुए कहा कि जाते समय ले लीजिएगा.

वापस आकर सबसे पहला काम मैंने कोमल को फोन किया और उसको बोला कि तुम वहां से डाकपत्थर आ जाओ, यहीं मिलते हैं. उन्होंने मुझे पूरी तरह से गीला किया और मुझे उलटा करके मेरी गांड को अपने सामने कर दिया.

फिर भी दिनेश और ताकत लगा रहा था कि उसका पूरा लौड़ा मेरी गांड में घुस जाता.

हम दोनों एक दूसरे के ऊपर नीचे नहीं थे, बल्कि साइड बाइ साइड थे और हम जो भी कर रहे थे धीरे धीरे कर रहे थे. बीएफ ब्लू सेक्सी पंजाबीअगर पूनम दीदी आ गईं तो क्या होगा?दीपक पिंकी को चोदते हुए बोला- अगर उसने कुछ कहा. जो की बीएफउसी शाम आंटी ने मुझे अपने यहां रात के खाने पे बुलाया तो मैं चला गया. इसके बाद मैंने उनको चित लिटाया और अपना मूसल उनकी चूत में एक झटके में ही अन्दर तक पेल दिया.

मैं उन्हें देखने में खोया हुआ था, मुझे उनकी आवाज़ दूर से आती सुनाई दे रही थी.

अन्दर भाभी ने ब्लू ब्रा पहन रखी थी, जिसमें से उनकी गोरी चुचियां चमक रही थीं. ऐसे ही स्कूल के बारे में बातें करते करते उन्होंने मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो मैंने कहा कि हां मेरी गर्लफ्रेंड है. मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने कहा- अब तो आपको मैं मिल सकता हूँ ना?मैंने कहा- मिल तो रहे हो.

आपको मेरी एक सच्ची देसी चुदाई कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल जरूर करें और बताएं. वो किचन में जाने लगी, उसका किचन अंदर था, मैं उसे देखते देखते उसके पीछे चलता चला गया और उसे देख रहा था. बिना कुछ सोचे-समझे मैं बोली- चाचा मैं जिंदगी भर आप जो कहेंगे सब करूंगी, आपका पूरा साथ दूंगी गॉड प्रामिस, मम्मी की कसम चाचा, बस मुझे आज बचा लो और किसी को मत बताना बस.

सेक्सी चुदाई बताओ

फिर मैंने अपने दोनों हाथों को उसकी पीठ के नीचे से ले जाकर उसके बाल पकड़ लिए और धक्के लगाने लगा. वो इसलिए, जो लड़कों और लड़कियों की लाइन थी, दोनों एक ही तरफ मुड़ी हुई थीं. इसी दौर में ऑडियो कैसेट्स भी मिलते थे जिन्हें कैसेट प्लेयर में चला कर लड़की लड़के की चुदाई की आवाजें और बातचीत सुन लेते थे.

वह मेरे हट्टे कट्टे और भरे बदन के सामने एक छोटी बकरी की तरह लग रही थी.

फिर मैं धीरे धीरे उंगलियों को दोनों तरफ घुमाना शुरू कर दिया, साथ ही साथ अन्दर बाहर भी कर रहा था, जिसके कारण गांड में थोड़ी सी जगह बन गई.

जब वो नार्मल हुई तो मैंने एक जोर का झटका मारा जो उसकी बुर को फाड़ते हुए उसकी जड़ तक चला गया और वो मुझे नोचने लगी, धकेलने लगी, उसकी आंखों से आँसू आ गए. मैं पागलों की तरह उसे किस कर रही थी, उसका एक होंठ मैंने अपने दांतों में लेकर उसे मस्ती से काट रही थी. बीएफ हिंदी में फुल एचडी बीएफमैंने मम्मी को कहा कि आप लोग तो मुझसे बोली थीं कि आप लोग शाम को आ जाओगी?तो मम्मी बोली कि क्या करूँ बेटा शादी का घर है न.

एक तो मुझे मेरे मोटे और बड़े लंड की प्रॉब्लम होती है, क्योंकि कुँवारी लड़की मेरे लंड को पहले दिन लेने से घबराती है. उसने अपना पूरा मुंह खोल कर मेरे लंड को अपने मुंह से चूसना शुरू किया, लंड का टोपा उसके मुंह में फंस गया था, अतः वह धीरे-धीरे अपने होंठ और जीभ उसके ऊपर चला रही थी. मैं- ओह शबनम भाभी, लव यू भाभी, लव यू सो मच भाभी, आई वान्ट टू लव यू, आई वान्ट टू किस यू भाभी, आई वान्ट टू फक यू भाभी, वान्ट टू फक योर पिंक पुसी, वन्ना फक योर ऐसहोल.

मम्मी ऐसा लगता है कि कमर के पास हल्का मोच आ गई है, मुझे दर्द हो रहा है इसलिए लेटी हूं. और आप खाने की बात कर रहे हैं, तो मैं आपको बता दूँ कि कल रात से सुबह तक आपके लंड का पानी पीकर मेरी प्यास तो अपने बुझा दी और आपने मेरी गांड में पानी छोड़कर मेरी भूख भी मिटा दी है.

जब भी वो बाल्कनी में आतीं तो हम सभी फ्रेंड्स आकर खड़े हो जाते और उनको प्यासी निगाहों से घूरते रहते कि बस एक बार भाभी की मिल जाए.

तो मैंने उनसे पूछ लिया- आंटी यह शराब कौन पीता है?उन्होंने बिंदास कहा- मैं पीती हूं. कभी कभी तो मैं उनकी चुचि और गांड को भी छू देता था, जिस पर वो कुछ नहीं बोलती थीं. इस काम में कितनी सफलता मिलेगी, वो तो मैं नहीं जानती थी मगर उसको चुदाई में पूरी ट्रेनिंग देती रहती थी.

न्यू बीएफ न्यू बीएफ थोड़ी देर तक यूं ही मजे लेनें के बाद मैंने एक झटके में अपना लिंग उनकी योनि में डाल दिया, अन्दर डालते ही उनके मुँह से जोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज निकली. फिर उसने अपने हाथ से मेरे लन्ड को अपनी बुर के छेद पर सेट किया और इशारा किया कि धक्का लगाओ!मैंने अचानक जोर का धक्का लगाया जिससे मेरा आधा लन्ड उसकी बुर में चला गया और वो जोर से चिल्लाई- उई माँ … मर गयी।मैंने तुरंत अपने होंठों से उसके होंठ बन्द कर दिए और उसके बूब्स दबाने लगे ताकि वो जल्दी नॉर्मल हो जाये.

दो पल बाद वो मुझे होंठों पे गाल पे किस करने लगीं और बोलीं- थैंक्यू बेबी. मैंने कहा- आज कर भी लो!फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गई और एक दूसरी की चूत को चूसने लगी. फिर पीयूष फोन पर बोला कि मैंने बोला था ना कि मैं तुझे वन्द्या मौसी की चूत दिलाऊंगा, अब तुम भी अपनी कजिन निकिता की चुत दिलाने का इंतजाम कर लो.

एक्स वीडियो कॉम हिंदी में

उसने पूछा- कौन सी लोगे?मैंने उसे रिपीट इसी ड्रिंक को लाने और और पंजाबी खाना लाने को कह दिया. अगले दिन रात के नौ बजे थे, मेरी दरवाजे की बेल बजी, देखा तो आंटी सामने थी. आज सुबह मैं जब कपड़े सूखने डालने के लिए गई तो मैंने जानबूझ कर एकदम शॉर्ट और स्लीवलैस टॉप.

मैंने खाला को एक बार फिर से अपनी बाहों में भर लिया और हम दोनों एक दूसरे की आँखों में देखने लगे. अपने आप मेरे हाथ दिनेश के बालों में चले गए और उधर मेरे पीछे रोहण चाचा अपना लौड़ा मेरे गांड में घुसाने की कोशिश कर रहे थे, पर घुस नहीं रहा था.

मैं समझ गया कि अब यह लड़की गर्म हो चुकी है, फिर मैंने आधे उतरे हुए कुर्ते को उसके जिस्म से अलग किया, फिर उसकी ब्रा उतारी.

लेकिन धीरे-धीरे पता नहीं मुझे उनके प्रति कैसी फीलिंग आने लगी।एक दिन मैं अपने कमरे के दरवाजे पर खड़ा था और वो झाड़ू लगा रही थीं। उस समय मैं घर में अकेला था।उन्होंने मुझसे कहा- अभिषेक दरवाजे पर ऐसे क्यों खड़े हो?मैंने कहा- कुछ नहीं बस यूं ही. इससे इंटरेस्टिंग कोई सब्जेक्ट ही नहीं लगेगा, वन्द्या ये बहुत मजेदार है. अचानक से सुरेश जी एकदम से अकड़ गए और मेरी सूखी गांड पर जो बरसों से लंडरस की प्यासी थी.

यह खास तुम्हारे लिये हैं क्योंकि अहाना पहले भी देख चुकी है।ब्लू फिल्म. अरुण ने उसको लिफ्ट दी, करीब 5 किलोमीटर तक का सफर था, अरुण ने उस औरत से उसका नाम पूछा. फिर वो धीरे से मेरे गाल पर हाथ घुमाने लगा और मैं उसकी प्यारी सी गुड़िया बन कर उसकी बाँहों में खेलने लगी.

यह तय हुआ कि शादी की बाद हम लोग बाकी की छुट्टी अपने अपने साले रितेश के घर पर बिताएंगे.

बीएफ ट्रिपल वीडियो: चाची भी मस्त आवाजें करते हुए चिल्लाए जा रही थीं और मेरा पूरा साथ दे रही थीं. मुझे वो बहुत ही सेक्सी लगती थी लेकिन चूंकि वो मेरी बहन थी इसलिए मुझे उसके साथ ये सब करने की हिम्मत नहीं होती थी और मौका भी नहीं मिल सका था.

ड्राइवर ने कहा- तुम अपनी बहन को अपनी टांगों पर बिठा लो, मैं एक और सवारी को आगे भेज रहा हूं. इधर मेरी हालत खराब हुई जा रही थी, कभी वो मेरे लंड को चाटती, तो कभी आंडों को चाटती. मयूरी चाहती थी कि शीतल को पूरी तरह से यह लगे कि उसने अपने बेटों के लंड का शिकार खुद किया है और विक्रम और रजत को यह लगे कि वो अपनी माँ की चूत तक खुद अपने बलबूते पर पहुंचे हैं.

उसने कहा कि कल जब मैं अपने कॉलेज जाऊंगी, तो तुम मेरे साथ बाइक लेकर चलोगे.

उन्होंने मुझे फंसा लिया था और अब वे चित लेट कर अपनी हवस शांत करवाने का मजा ले रही थीं. मुझे देख कर उसने एक हल्की-सी स्माइल देकर हैलो कहा और अपनी सीट पर अपनी बेटी को चढ़ा कर खुद भी चढ़ गई. कुछ देर तक शांत हो गया जैसे मानो एक बड़े युद्ध के बाद सन्नाटा छा गया हो.