बीएफ लंड बुर

छवि स्रोत,लड़कियों की बीएफ दिखाएं

तस्वीर का शीर्षक ,

देवर भाभी की भाभी: बीएफ लंड बुर, आज वो मंदिर जाने वाली थी तो उसने लाल रंग की साड़ी और उसी रंग का मैचिंग ब्लाउज़ पहना था क्योंकि उस दिन वटपूजा थी.

सेक्सी बीएफ पॉर्न

कोमल भाभी का कसा हुआ 36 नम्बर का ब्लाउज, होंठों पर सुर्ख लाल लिपस्टिक, उसके ऊपर गहरा लिपलाइनर एक अलग ही छटा बिखेर रहा था. महाराष्ट्र में बीएफतो उसने गर्दन घुमाकर मुझे देखा और ऐसे मुँह बनाया, जैसे वो मुझसे खुद को छोड़ने की मिन्नत कर रहा हो.

कुछ देर ऐसे ही मजा लेने के बाद मैंने उन्हें बेड पर लिटा दिया और मैं उनके ऊपर चढ़ गया. बीएफ सेक्सी व्हिडिओ बीएफ सेक्सचाची बोलीं- मतलब? क्या वो नहीं किया है, साफ़ साफ़ बोलो न!मैंने कहा- मैंने चुदायी नहीं की है.

मेरी ये नंगी लड़की देसी कहानी आपको कैसी लगी दोस्तो, मुझे जरूर बताना.बीएफ लंड बुर: मैंने उसकी दोनों टांगे खोली और अपना लंड लगाया उसकी रसीली झांटों से भरी बुर पर … जो पहले से ही फटी थी.

उनके और मेरे अब्बू के बीच कुछ बातें हुईं, मैंने देखा कि मेरी अम्मी ने जलालुद्दीन के पैर पकड़ लिए और मेरे अब्बू ने उनका हाथ चूम लिया.घर में इसके साथ सास ससुर रहते हैं तो वो किसी किसी से चुदाई नहीं करवा पाती है.

नोट द्वारा बीएफ - बीएफ लंड बुर

दोनों ने मिलकर एक सरप्राइज बर्थडे पार्टी का आयोजन किया है।पार्टी में दोनों लड़कियां स्कूल यूनिफार्म में हैं.मैं उससे बोला- कोई बात नहीं, इसमें क्या दिक़्क़त है?और इतना बोलकर मैं उसके बेड पर लेट गया.

उसने कहा- तुम भी तो मुझे ऐसी नजर से देखते हो?मैंने कहा- नहीं, वो तो मैं बता रहा था कि तुम कैसी लगती हो. बीएफ लंड बुर मैंने अपने मुंह से पहले तो पान की पीक उनके मुंह में गिरा दी फिर अपना चबाया हुआ पान भी उनके मुंह में थूक दिया.

मगर तब भी मैं बहुत खुश था कि चलो मोबाइल चार्जर की वजह से अब मेरा टांका माधुरी से भिड़ जाएगा और मेरे लंड को भी एक नयी चूत का स्वाद मिल पाएगा.

बीएफ लंड बुर?

मैंने चाची के मोबाइल से उनके फोन नंबर का जुगाड़ किया और उनको फोन लगा दिया. जलालुद्दीन साहब काफी देर तक मुझे पीछे से पेलते रहे और गोली के कारण उनका सामान अभी तक पहले जैसा ही तना हुआ था. जलालुद्दीन ऐसे ही तेज तेज धक्के मारते रहे और मेरे नीम्बू हर धक्के के साथ उछलते रहे.

ये सुनते ही सलीम ने मुझे गोदी में उठाया और बेड पर लेट जाकर गिरा दिया. पढ़ाई के दौरान हम दोनों कॉलेज की लौंडियों को अपने कमरे पर लाकर चुदाई का मजा लेते रहते थे. वो बोला- साले, अपनी सैटिंग बना ले फिर दूसरे की देखकर तुझे सब समझ आ जाया करेगा.

छेद पर लंड सैट होते ही मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया मगर उसका छेद बहुत छोटा सा था. अगर तुम्हारा चार्जर मेरे पास ही रह गया और तुम चले गए तो मैं तुम्हें कॉल करूंगी. अब आगे नंगी भाभी फोरप्ले सेक्स कहानी:मैं माधुरी की बात सुनकर इतना खुश हुआ कि पूछो मत.

अब बस मैं इस इंतजार में था कि बस पापा जल्दी से जाएं और मैं मां चोदने का अपना सपना पूरा करूं. अब वो चिल्लाए जा रही थी- आह … आहकुछ देर बाद मैं भाभी को कुर्सी पर ले गया, जो मेरी फंतासी का एक हिस्सा थी.

दोस्तो, मैं प्रियंका परिहार आप सभी का फ्री सेक्स स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत करती हूँ.

मैं उनके घर गया था तो वहां आशू भाभी अभी नहा कर निकली थी, उसके बाल पूरे गीले थे.

ऐसा लग रहा था कि अब अगर साक्षी इसी तरह मेरे लंड पर अपनी कमर घुमाती रही तो मेरे लंड का लावा साक्षी की पूरी गांड को भर देगा. मैंने एक जोर का धक्का लगाया, तो पूरा लंड दनदनाता हुआ अन्दर चला गया. माधुरी की पैंटी और लेगिंग्स को मैंने अभी तक पूरा उतारा नहीं था, सिर्फ उन्हें जांघों तक नीचे करके मैं इतनी देर से उसे चूस रहा था, मसल रहा था.

उसके बदन में जोर जोर के झटके लगने लगे और उसके लंड का पानी मेरी चूत में छूट गया. कुछ पल बाद मैंने अपनी एक उंगली उसके ब्लाउज के हुक के बीच में डाली और दरार को महसूस किया. और तुम्हें कोई और पोजीशन पता हो तो हम ट्राई करें?‘ओके मैं बताता हूँ, वैसे करो.

दरअसल कसूर मेरा नहीं है, तुम लगती ही इतनी कातिल हो कि कोई भी तुम्हें देख क़र खुद पर काबू नहीं क़र सकता.

अब मुझे नींद नहीं आ रही थी; मेरे दिमाग में बस वो सेक्स सीन चल रहा था. लेकिन फिर भी मैं कॉपी में लिखने का नाटक करने लगा लेकिन मेरा ध्यान उनकी तरफ ही था।अब मैडम ने मम्मी को बांहों में भर रखा था और उन दोनों के स्तन आपस में टच हो रहे थे. लेकिन इस हवस के मारे आदमी पर कोई असर नहीं हो रहा था; वो बिना रुके मुझे पेले जा रहा था.

‘आह बहन जोर से चूसो उह आह चूस ले प्रीति … आज चूस साली सारा रस खा ले … बहुत दिन से इसी पल का इंतजार था आह …’ऐसे ही सिसकारियां लेते लेते मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और अपना सारा माल उसके मुँह में ही डाल दिया. पोर्न चाची फक स्टोरी के अगले भाग में मैं लिखूंगा कि चाची की चूत के बाद गांड कैसे मारी और उसके बाद क्या क्या हुआ. उनके जाने के बाद मैंने भाभी को देखा तो भाभी ने दरवाजे बंद किए और मेरे पास आकर मेरे लंड को सहलाने लगीं.

भैया मेरे बाजू में लेट गया और अपने लंड को मेरे हाथों में पकड़ा दिया.

वो बस आंखें फाड़ कर लंड देखती ही रही क्योंकि उसने कभी वास्तव में लंड देखा ही नहीं था. मेरे हर थप्पड़ पर मोहित के मुँह से चीख निकल रही थी क्यूंकि मैं थप्पड़ बहुत जोर जोर से मार रही थी.

बीएफ लंड बुर उसके बाद उन्होंने लंड सैट किया और एक ऐसा करारा झटका मारा कि उनका पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में समा गया. कुछ देर बाद मैंने मामी की गांड में लंड को निकाल लिया और मैं मामी की चूत फिर से चोदने लगा.

बीएफ लंड बुर मगर थोड़ी देर बाद मेरी चूत में भी खुजली होने लगी तो मैंने सबको चुदाई करने से रोका. उसने अपने नर्म हाथों से मेरे लौड़े को मेरी पैंट के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया.

’ की आवाज निकली और वो मेरे बालों में हाथ घुमाते हुए मुझे दूध पिलाने लगी.

सेक्सी पिक्चर खुला चुदाई

हालांकि मैंने उसे दो बार चोद चुका था पर वो सब अँधेरे में ही हुआ था तो वो थोड़ा शर्माई. तभी पापा के उठने की आवाज आई तो वो मेरी गोद में से उठकर अपने बिस्तर पर जाकर लेट गई. मगर तब भी मैं बहुत खुश था कि चलो मोबाइल चार्जर की वजह से अब मेरा टांका माधुरी से भिड़ जाएगा और मेरे लंड को भी एक नयी चूत का स्वाद मिल पाएगा.

कोई गलत कर दिया क्या?चाची- मुझे क्या … मगर नशा करना अच्छी बात नहीं होती है. वैसे ही मैं कुछ मिनट तक लगा रहा और लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करते हुए चूत में जगह बना रहा था. कोमल के गोल गोल रसदार आम, जिनको पाने की हरसरत पहली नजर से थी, वो मुझे काफी देर से आमंत्रित कर रहे थे कि आओ और चूस लो हमको, पी जाओ सारा रस.

फिर जब भी हम मिलते हैं, हम अच्छी तरह से चुदाई का मजा लेते और अपनी प्यास को शांत करते हैं.

अब मैं बिस्तर पर लेटी थी तो जलालुद्दीन साहब मेरे ऊपर चढ़ गए और मेरी चूत में अपना लण्ड घुसा कर एक बार फिर धक्के मारने लगे. मैं नहीं समझा कि आप क्या कह रही हैं?’‘जैसे तुम मुझे देख रहे थे अभी वो … वैसे किसी मर्द का किसी औरत को देखना नैचुरल है. फिर तुम जितना चाहे दूध पी लेना और साथ ही मेरी गांड भी अब तुम्हारी अमानत है, तो तुम उसे भी मार सकते हो.

com/antarvasna/x-bhabhi-ki-hindi-kahani/में आपने पढ़ा कि मैं भाभी की जवानी को लेकर उसे चोदने का सपना देखने लगा था. अब आगे Xxx हिंदी भाभी की चुदाई का मजा:मेरा काला लंड एकदम से उछल कर ऐसे बाहर आ गया मानो किसी ने लंड में स्प्रिंग डाला हो. व्हिस्की के नशे में बीवी भी जोश में आ गयी और उसने फटाक से ब्लाउज उतार कर फेंक दिया.

मैंने भी सोचा कि क्यों न अपना भी अनुवभ आप सभी चुदाई के प्रेमियों के साथ साझा करूं. मैं नाश्ता और भोजन दोनों बाहर ही करता था इसलिए खाना बनाने आदि का कोई चक्कर ही नहीं था.

मैंने कुछ पल रुक कर उसे डॉगी स्टाइल में किया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल दिया. दोस्तो, इस प्रकार मैं सात साल की लगातार मेहनत के बाद एकमास्टरनी की चूतलेने में सफल हुआ था. वो ठंड का मौसम था और उस ठंड में मुझे गर्मी एक रसमलाई जैसी आंटी ने दी.

जलालुद्दीन ने मेरा मुंह देखा तो मेरा हाथ पकड़ा और अपने औजार पर रख दिया और पूछा- पता है क्या कहते हैं इस चीज को?मैंने शरमाते हुए कहा ‘सु सु’फिर आलिम साहब ने मेरी गुच्छी पर उंगली रखी और पूछा- इसको क्या कहते हैं?मैंने कहा- गुच्छी.

मुझे भाभी को चोदने का मौका एक दिन अनायास ही मिल गया, जब एक दिन मैं मित्र के घर गया था. थोड़ी देर बाद चाची का दर्द थोड़ा शांत हुआ तो वो फिर बोलीं कि सागर थोड़ा और अन्दर डालो. छोटी वाली चाची भी अब मुझसे मजाक करने लगी थीं क्योंकि अब उन्हें ससुराल में आए हुए काफी समय निकल गया था और वो अच्छे से मुझे जान भी गई थीं.

मैं उनकी छाती पर बैठ गई तो वो बोले- छाती पर नहीं बल्कि लण्ड पर बैठना है. मैं दस मिनट उनसे जुबान लड़ाने के बाद उनकी चूत पर आ गया और उसे देखने लगा.

लम्बी चुदाई के बाद मेरे लंड का माल कंडोम में निकल गया और शालू के ऊपर ही लेट गया. अब वो ऐसे खुश ही गई थी, जैसे खिली हुई कली पर कोई भौंरा आकर बैठ गया हो. वो आज एकदम सेक्स की देवी लग रही थी जो लाल रंग की साड़ी पहने अपनी खूबसूरती में चार चांद लगाए बिल्कुल किसी दुल्हन की तरह लग रही थी.

सेक्सी गाने की सेक्सी

मेरा सारा थूक जीजू ने अपने लंड पर लगा कर उसको चिकना बना लिया और फिर एकबार धक्का मारने का प्रयास किया.

चूत खुल कर सामने आई तो मैंने उसकी चूत को अपनी उंगलियों से सहलाना शुरू कर दिया. ज्यादातर लोगों की निगाहें मेरी उठी हुई गांड और तने हुए मम्मों पर ही टिकी रहती हैं. जीजू ने मुझसे लंड चूसने को कहा तो मैंने मना कर दिया लेकिन जीजू ने जबरन मेरा सर पकड़ कर अपना लंड मेरे होंठों पर टिका दिया.

एक तो साले का लंड पूरा कड़क था और ऊपर से उसकी चीते सी फुर्ती … मगर कमाल तो ये था कि उस बार उसका लंड बड़ी आराम से मेरी बुर में चला गया. मैंने कहा- मजा आ रहा है चाची?चाची बोलीं- हां … पर थोड़ा और अन्दर डाल … पर ज़रा धीरे धीरे पेलना. बीएफ सेक्सी मोटी मोटी चूत वालीमैं एक जवान खूबसूरत भरे बदन वाली लड़की हूँ जिसको देखकर मर्दों के ईमान डोल जाते हैं और औरतें जलन के मारे मर जाती हैं.

मैंने जब भी चुदाई की है, तब भी चुदने वाली को कम से कम चार बार से कम नहीं चोदा होगा. हारून ने हंसते हुए कहा- भाभी जी डर तो नहीं लग रहा है न आपको … आज हम दोनों आपको बहुत प्यार करेंगे.

मैंने देखा तो वहां कोने में पहली मंजिल पर माधुरी की शॉप का बोर्ड दिख गया. मैं सोच रहा था कि वो और सोनी हॉस्टल के एक कमरे में रहते थे, एक और दोस्त तापोश बाजू वाले कमरे में रहता था. वो बोली- यह क्या कर रहे हो आप?पर मुझे पता था कि उसको मन ही मन में अच्छा लग रहा है.

क्यों ना हम इस चारदीवारी के अन्दर समझौता करके अपना मामला यहीं रफा-दफा कर लेते हैं. आखिर मैंने उसकी चूचियां कसके पकड़ीं और उसके मुँह में अपनी जीभ डाल कर जोर का धक्का दे मारा. मैं उसे बस देखता ही रह गया और इस अफ़सोस से सोचता हुआ आगे चला गया कि उसका नंबर नहीं मिला और ना ही और कुछ बात हो पायी.

मेरे मन में यह बात सुन कर ऐसा लगा मानो जैसे भाभी सामने खुद से चोदने का इशारा दे रही हो.

मैंने प्यार से पूछा- ये सब तुम क्या कर रही थी कविता?‘कुछ नहीं साहब जी, वो गलती से हाथ फिसल गया. ग्यारह बजे मैंने हिम्मत करके अपने लंड को बाहर निकाला और मीना की गांड से सटाने लगा.

वो मेरी बुर को सहलाने लगा, मुँह में बुर की फांकों को लेकर चाटने लगा. शुरू से ही सेक्स के प्रति मेरी रूचि कुछ ज्यादा ही रही है, तो मैं पूरे दिन सेक्स कहानी पढ़ता और बाथरूम में जाकर मुठ मारता. दोस्तो कैसी लगी मेरी Xxx गांड पोर्न स्टोरी, कमेंट करके मुझे जरूर बताना ताकि मैं फिर से आपके लिए आगे की गे सेक्स स्टोरी लेकर हाजिर हो सकूं.

फिर उसी रात को या फिर कहें कि अगले दिन सुबह मेरी आंख फिर 4:30 बजे के आसपास खुल गई थी. उसकी कमर को पेड़ से सटाकर मैंने अपने होंठों को उसकी गर्दन पर लगा दिया और गर्दन के साथ साथ कान के नीचे चूमना शुरू कर दिया. जब भी वो अपनी चाल चलने को नीचे झुकती, तो उसके टॉप से उसके गोल स्तन साफ दिखते थे, जो उसकी हलचल पर उसके साथ ही झूलते और हिलते थे.

बीएफ लंड बुर मैं उसके पैरों के पास आ गया और मैंने कोमल की एक टांग को उठाकर अपने नंगे बदन पर रख लिया. मेरे हाथों और पैरों पर लाल रंग से डिज़ाइन बनाए गए, खूबसूरत तरीके से मेरे बालों को संवारा गया.

जीजा साली की सेक्सी वि

मैं गरिमा से मज़ाक़ में बोला- फिर मुझसे करवा लेती, मैं कुछ हेल्प कर देता. कुछ देर बाद मैंने बुआ को फिर से उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उनके पैर उनके चुचों पर कर दिए. मैं नीचे से साक्षी की गांड में अपना फंसा हुआ लंड ढीला होता देख रहा था.

मैंने उसके साथ हाथ लगा कर उसका टॉप अलग किया और एक बार फिर किस किया. एक बार जब उसने मुझे अपने क्लीवेज से शुरू करते हुए पकड़ा तो वह थोड़ा मुस्कुरा दी. वेस्टइंडीज बीएफ सेक्सीमैंने उसे समझाने के लिए उसके पास गया और बोला कि देख सिंपल खेलने में कोई मजा नहीं आएगा, कुछ ट्विस्ट तो होना ही चाहिए.

माधुरी ने मुझसे कहा- मुझे तुम क्या ऐसा देखते हो … मैं तो तुम्हें बहुत अच्छा समझती थी, लेकिन तुमने तो सारी हदें पार क़र दीं.

फिर मॉम अपनी कमर पर हाथ रख कर एकदम नंगी खड़ी होकर बोलीं- ले देख ले … क्या देखना है. थोड़ी देर बाद मैंने नीना से पूछा- अब दर्द कम हुआ?नीना के हां कहने के बाद सोनी ने पूरा लंड नीना की गांड में पेल दिया.

अब मॉम की चूत चोदने के बाद मैं काफी थक गया था तो मैं मॉम से चिपक कर उनके साथ ही लेट गया. मैं थोड़ी शर्माने लगी और अपनी अधनंगी चूचियों को अपने हाथों से छुपाने की कोशिश करने लगी. हम दोनों रंग में रंगे हुए थे इसलिए सोफे पर या बेड पर नहीं बैठ सकते थे इसलिए हम सब कुछ खड़े खड़े ही कर रहे थे.

उन्हें कोई नहीं देख रहा है, इस विश्वास के साथ दोनों एक बार आलिंगन बद्ध हुए और थोड़ी देर एक दूसरे से चिपके रहे.

जब मैं उसे उठा कर चोद रहा था तब उसका पानी निकल गया और कुछ ही पल बाद मैंने भी अपना माल उसके अन्दर छोड़ दिया. फिर जब थोड़े टाइम बाद दोबारा देखा तो फिर से उस कपल की मेल आई हुई थी. काफी देर तक मेरे बदन पर लेप लगाने के बाद उन्होंने मुझे जमीन पर लेटाया और एक हिजड़ा मेरे चूत के बाल साफ़ करने लगा.

मोटी औरत सेक्सी बीएफ वीडियोदोस्तो, मैं सागर एक बार फिर से पानीपत में मैदान में चूत की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. फिर जब थोड़े टाइम बाद दोबारा देखा तो फिर से उस कपल की मेल आई हुई थी.

सेक्सी देसी भोजपुरी

वह मुझे एक ही नज़र में भा गयी।उसकी मस्त जवानी देख कर मेरा दिल उस पर आ गया। मैं उस सेक्सी लड़की की देसी चुदाई करना चाहता था. उनका हल्का सा पेट भी था, जो उनकी ख़ूबसूरती को कम करने की जगह बढ़ा देता था. वो गर्म हो गई थी और मादक आवाजें निकालने लगी थीं- ओ … आहहह!फिर उन्होंने मुझसे कहा- ऐसा मजा मुझे पहले कभी नहीं आया.

मेरी कहानी पढ़ने के बाद उनको भी लगा कि उनको भी कुछ नया करना है।और वो मुझ से मिलने के लिए बोलने लगी. कमरे में अंधेरा था इसलिए मैं उसके सेक्सी बदन को देख नहीं पा रहा था, पर उसे महसूस कर सकता था. मैं बारी बारी से साक्षी के दोनों निप्पल्स को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा था.

शबाना दूर नंगी खड़ी, भाभी को चुदते हुए देख रही थी और यह समझ रही थी किचुदाई में दर्दहोता है. मेरा तो कुछ टाइम बाद फिर से रस निकल गया और मुझे दर्द भी होने लगा था. खैर … मुझे क्या, मैं तो अभी शिखा भाभी के ही सपने देख रहा था और इयरफोन लगाए हुए गाने सुन रहा था.

फिर तेल की बोतल उठाकर उनकी गांड पर आधी खाली कर दी और कुछ तेल लंड पर लगा लिया. मुझे लग रहा था कि पता नहीं वो मेरे बारे में क्या सोचेगी लेकिन मुझे ऐसा लगा कि उसे भी मेरे लंड का अहसास अच्छा लग रहा था.

मेरी खून से भरी टांगें देख कर अम्मी खुश होकर बोली- अरे ये रोने की नहीं बल्कि खुश होने की बात है.

रास्ते में मोबाइल की सैटिंग के बारे में वो मुझसे कुछ पूछने लगी और मैं उसे बताने लगा. सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी भाषाभाभी ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और हम दोनों काफी देर तक एक दूसरे को प्यार करते रहे. करीना कपूर के सेक्स बीएफसिस्टर बॉयफ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि घर पर मैं और मेरी बहन ही अकेले थे. वो बिन पानी की मछली जैसे छटपटाने लगी और उसकी आंखों से आंसू बहने लगे, उसके नाखून और मेरी पीठ में और अन्दर घुस गए.

काकी ने बापू के लंड को देखा तो उनकी आंखें चमक उठीं और उन्होंने मेरे बापू का लंड अपने हाथ में पकड़ लिया.

हमारी आपकी प्यारी सविता भाभी ने अपनी नई साड़ी के लिए नया ब्लाउज सिलवाना है. अब उसकी नजर मेरे लुंगी पर बने तंबू पर पड़ी जिसे देखकर उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई और वो चेहरा दूसरी तरफ करके मुस्कुराती हुई मालिश करने लगी. मैंने मन में सोचा कि आज नहीं तो कल मैं इसे चुदाई के लिए पटा ही लूंगा.

उसके बाद मैंने अपनी दूसरी उंगली डाली और अपनी उंगली की गति को थोड़ा तेज किया. तो दोस्तो, साक्षी ने इस तरह से मेरा सपना पूरा करवाया और वर्जिन ऐस फक़ के अपने वचन का भी पालन किया. पुलकित ने कहा- हां बहनचोद, तू नाम बता उस बहन के लंड का … आज मैं उसके मुँह में लंड दे दूंगा.

બીએફ મુવી

इस बात को कभी आप गौर करना, जब आप ड्राइव करते हुए बहुत उत्तेजित अवस्था में होते हो या गुस्सा होते हो, तो गाड़ी की स्पीड तेज करने लगते हो और आपको पता भी नहीं चलता. उसके चूचे तो सामान्य ही थे मगर उसकी गांड बहुत बड़ी थीऐसा लगता था कि साली हर वक़्त गांड में लंड लेकर घूमती है. मुझे भी अच्छा लगने लगा और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने में मशगूल हो गये.

चाची ने मुझे अपने चूचे ताड़ते हुए देख लिया और पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने सकपकाते हुए कहा- कुछ नहीं चाची.

मैं निप्पल के चारों तरफ अपनी जीभ फिरा रहा था, जो खाला को बहुत मदहोश कर रहा था और वो सिसकारियां ले रही थीं- उम्म … आह … ओह या बेबी … मेरे निप्पल चूस लो … आहह … कितना मजा आ रहा है.

लगभग 5 मिनट बाद उसके लंड ने पानी छोड़ दिया तो मैंने उसने लंड से निकला अमृत पी लिया. मोहित- बस कर आआहह बहन की लौड़ी … माँ चोद दी तूने मेरी … साली रंडी चुड़ैल हरामजादी … और मोम मत डाल वर्ना तेरी बहन चोद दूंगा … आंह साली कुतिया. बीएफ सेक्सी डाउनमामी ने पहनी तो वो उस ब्रा पैंटी में मस्त रांड लग रही थीं, उनके मम्मे मियां खलीफा से भी बड़े लग रहे थे.

मैं शर्मा गई और बोली- मेरे सरताज, आप कोई पहली बार थोड़े ही देख रहे हैं मुझे. शेखर बहुत मस्त दिखता था इसलिए मेरी नजर बार बार उसकी तरफ उठ जाती थी. फिर कुछ समय बाद मैं अपना चेहरा छिपाकर अपने बदन के अंग उनको दिखाने लगी.

मैं गरिमा से मज़ाक़ में बोला- फिर मुझसे करवा लेती, मैं कुछ हेल्प कर देता. मैं- है, आपको कैसे पता चला?जीजू- अरे तुमने गलती से पर्दा हिला दिया था और मुझे पता चल गया.

मुझे यह जान कर बहुत अच्छा लगा कि जीजू को मेरी चूत की खुशबू अच्छी लग रही है.

मैं भी मज़ाक़ मज़ाक़ में बोल देता था कि आंटी आपके जैसे कोई मिली ही नहीं, जो मुझे अच्छी लगे. कुछ दिनों बाद मेरे दोस्त नितिन ने मुझे बताया कि उसकी नौकरानी ने किसी लड़की से बात की है और वो काम करने के लिए तैयार है. अगले दिन कॉलेज में मैंने उसकी सहेली से उसके बारे में सब मालूम किया.

बीएफ खुली बीएफ मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरा आलिम साहब से निकाह हो गया है और आज हमारी सुहागरात है. मैं छुपकर निशा के पीछे खड़ा हो गया और धीमे से बोला- ये अब नहीं रुकने वाले.

अमन ने जाकर रिया की चूत से अमित का लंड निकाला और रिया को उठाकर मेरी जगह ले आया. वो सेक्स कहानी बाद में बताऊंगा, पहले आप इस सेक्स कहानी पर कमेंट करके बताएं कि आपको ये कैसी लगी. लेकिन इस चक्कर में जलालुद्दीन साहब का लण्ड मेरे मुंह से बाहर आ गया था.

सेक्सी अंग्रेजों का

मैं घबरा उठी कि आखिर ये लोग मेरे साथ करना क्या चाहते हैं?आखिर मैं आज तक किसी के सामने नंगी नहीं हुई थी. मेरे घर के बिल्कुल सामने ही एक दीदी रहती है, यह उसकी चुदाई की कहानी है. उसने तुरंत लंड को मुँह में ले लिया और एक प्रोफेशनल रंडी की तरह चूसने लगी.

फिर हम बातें करने लगे लेकिन बीच बीच में मेरी नजरें बार बार माधुरी के गले के अन्दर उसकी ब्रा में कैद चूचियों पर आकर रुक रही थीं. वो नमकीन रखकर वापिस जाने को मुड़ी तो मैंने उसे रोका- सोनू, एक मिनट रूकना.

फिर सामने खड़े होकर उसकी गांड में मेरे लंड को घुसेड़ दिया और चोदने लगा.

मैं उससे बोला- कोई बात नहीं, इसमें क्या दिक़्क़त है?और इतना बोलकर मैं उसके बेड पर लेट गया. रिश्तों में चुदाई की कहानियां पढ़कर मैं पहले भी अपनी चाची की चुदाई की कहानियां लिख चुका हूं, जो आप सबने बहुत पसंद की थीं. मैंने चाची को उठाकर घोड़ी बना दिया और चूत में लंड लगाकर जोर से धक्का लगा दिया.

अब मैं चाची के साथ ही लेट गया और कुछ देर तक हम दोनों ने सेक्स की बातें की. आज मॉम का जन्मदिन था तो मॉम काफी खुश थीं इसलिए वो शराब के लम्बे लम्बे घूँट भर रही थीं. जब मैंने उससे कहा कि जोर-जोर से ऊपर नीचे करो, तब उसने जोर से ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया.

ये सुनकर पुलकित बोला- सालियों तुम हमें कैसे चोदोगी?मैंने कहा- डिल्डो से तुम्हारी गांड मारेंगी मेरी जान.

बीएफ लंड बुर: मेरी मोहब्बत कब जवान होने लगी और कब हम दोनों के दिलों पर राज करने लगी, कुछ पता ही नहीं चला. मेरे वालिद मुझे उधर नहीं छोड़ना चाहते थे लेकिन मेरी जान बचाने के लिए बेचारे मान गए.

कुछ 15-20 मिनट तक पूरी शिद्दत से मेरे लंड की चुसाई करने के बाद वो उठा और उसने अपनी चड्डी निकाल दी. ’‘सब कुछ क्या बेटा?’उनका बार बार मुझे बेटा बुलाना मुझे और भी उत्तेजित कर रहा था. उनको 100 नम्बर की पैंटी आती है मतलब उनकी चूतड़ों का नाप सौ सेंटीमीटर का है.

मेरा बदन ठंडा पड़ चुका था, दिमाग शांत हो चुका था और मुझे बहुत ही हल्का लग रहा था.

दरअसल हमारे घर के इस बाथरूम के दरवाजे में कुंडी नहीं है, इसलिए दरवाजे के पीछे बाल्टी अड़ा कर नहाना पड़ता हैउस दिन घर में कोई नहीं था, इसलिए वो ऐसे ही बिना बाल्टी अड़ाए नहा रही थी. मैं तो चादर में लिपटा हुआ था लेकिन शबाना को जन्मजात नंगी देखकर वह सब कुछ समझ गई- ये क्या किया तुमने?शबाना को कोई जवाब नहीं सूझ रहा था इसलिए चुपचाप मुँह लटकाकर बैठ गई. हर जवान लड़का मुझे बस एक बार पा लेने की दुआएं मांगता है और हर जवान लड़की मेरे जैसा बदन चाहती है.