काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी मराठी में सेक्सी मराठी में

तस्वीर का शीर्षक ,

सोनी की चुदाई: काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ, सच में दोस्तो, कल्पना करो कि एक मस्त गोरी लड़की, जिसकी चुचियां 36 की और गांड 38 की हो, तो वो क्या लगती होगी.

छोटी बहू की सेक्सी फिल्म

जब उसने ये बताया कि उसका पति उसे वह सुख नहीं दे पाता है, जो उसे मिलना चाहिए. bhai सेक्सी मूवीफिर मैंने उनसे इसका कारण पूछा।राजेश ने बताया कि उसकी पत्नी भले ही पैसे लेकर सेक्स करती है लेकिन वो खुद सेक्स के काबिल ही नहीं है.

मैंने अपनी आंखें बन्द कर रखी थीं और होंठों को राजशेखर के होंठों से चिपका रखा था. सेक्सी वीडियो करीना सेक्सीरात के आठ बजे थे, बहुत दिन हो चुके थे वंदना भाभी ने बल्लू से ठुकवा कर चुदाई नहीं करवाई थी.

मैं बेड पर गया, तो काव्या ने मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिया और फिर खुद ही चूत फैला कर लेट गयी.काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ: इसका कारण यह था कि उत्तेजना के मारे मेरे लंड से बहुत मात्रा में कामरस निकल रहा था और लंड पूरा चिकना हो गया था.

फिर एक घंटे की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद आखिर मेरा लंड झड़ने वाला हो गया था.मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड भी नहीं था इसलिए मेरे अंदर लंड को लेकर काफी जिज्ञासा हो रही थी.

ब्लू सेक्सी हिंदी आवाज में - काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ

मैंने पूछा- इंशा, किस से सील तुड़वाई?वो बिंदास बोली- अपने मामू के बेटे से.हाय फ्रेंड्स, मैं मोहित मेरी पड़ोसन आंटी के साथ सेक्स की मेरे जीवन की सच्ची कहानी आपके सामने लेकर आया हूँ.

लेकिन हम दोनों को ही भाई बहन का रिश्ता एक अनजानी सी डोर से बांधे हुए है. काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ बाहर से पति चिल्लाया- क्या हुआ?उसने अन्दर से खुद को सम्भालते हुए कहा- कुछ नहीं हुआ, मैं जरा फिसल गई थी.

आप इस बात को समझ ही सकते होंगे की मेरी मां की गांड कितनी शेप में होगी.

काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ?

मुझे उसका पता नहीं चला कि वो झड़ी या नहीं लेकिन मैंने तो अपना माल छोड़ दिया था. एक सप्ताह तक मैं दिल्ली में ही रहा और मैं वहां पर खूब मौज मस्ती की. मैं भी अपने किरदार के मुताबिक गर्व भरे भाव दिखाते हुए मुस्कुराने लगी और नेताजी को लुभावनी अंदाज में मदिरा का गिलास दिया.

कई बार तो मुझे डर भी लगता है कि कहीं कुछ हो न जाये लेकिन मैं खुशनसीब हूं कि अभी तक कुछ नहीं हुआ है. उसका किस करना मुझे कहीं न कहीं अच्छा लग रहा था, जिस वजह से मैं चुप बनी रही. यह सुनकर के साराह मैम हैरान होते हुए बोली- ये सब फोन पर कैसे हो सकता है.

अंकल ने मेरे दूधों को अपने हाथों में भर लिया और उनको दबाने सहलाने लगे. दोस्तो, जब वो काम खत्म करके गई तो बिल्कुल सामान्य सी दिख रही थी लेकिन जब वो मेरे बुलाने पर बन-ठन कर आई तो मैं उसको देखता ही रह गया. पहला कारण यह कि मेरी मां की शादी छोटी उम्र में ही हो गई थी और इस वजह से उनको बच्चा भी जल्दी हो गया.

तब उसने बताया कि ये गहराई वो है, जो रेत में पेशाब की तेज धार से बनी है. मैं कुछ संयत हुई, तो वो फिर से हल्के हल्के से मेरी चूत में धक्के मारने लगा.

फिर उसने अपना लिंग बाहर निकाल कर मुझे उठाया और अपनी तरफ घुमाकर मुझे अपने ऊपर चढ़ने को कहा.

मैंने अपनी दोनों मोटी मोटी जांघों को फैलाया और टांगें रवि के अगल-बगल कर अपनी योनि को उसके मुँह के सामने अड़ा दिया.

करीब 20 मिनट तक इसी रफ्तार से संभोग के बाद रमा ने उत्तेजना भरे स्वर में कहा- अब मेरी बारी है, मैं तुम्हारे लंड की सवारी करूँगी. वो जोर जोर से चिल्ला रहे थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह्ह ऊऊह्ह हाहा हा!उसने अब मेरा सिर में अपनी उंगली फेरनी शुरु कर दी।5 मिनट तक चूत चाटने के बाद वो अब मेरा सिर अपनी चूत पर दबा रही थी। मैं समझ गया था कि ये झड़ने वाली है तो मैंने उसे और जोर चूसना शुरू कर दिया। वो इतनी जोर से झड़ी कि मेरा मुंह उसके कामरस से पूरी तरह भीग गया था।वो अब शांत हो गई थी. सिगरेट और शराब की बू उसके मुँह से आ रही थी, मगर मैं तो खुद सब कुछ पीता था, तो मुझे तो और भी अच्छा लगा.

दीदी की गांड फैलने लगी और धीरे-धीरे करके लंड को आगे धकेलते हुए मैंने उसकी गांड में लंड को घुसा दिया. दूसरे हाथ से राजशेखर का लिंग पकड़ कर उसने मेरी योनि में प्रवेश करा दिया. घर पर खाना बनाने के लिए कोई नहीं था इसलिए नीलू मौसी को ही बुला लिया था हमने। जब वो हमारे घर पर आई तो मैंने उन पर इतना गौर नहीं किया.

उस महीने में अम्मा ने दुल्हन जैसी साड़ी भी पहनी और मैं शादी के हार भी लाया.

मैंने उसके बूब्स खूब चूसे क्योंकि ज़िन्दगी में पहली बार कोई ऐसी लड़की मिली थी जिसके बूब्स इतने टाइट थे. उसके अन्दर आते ही मैंने टॉयलेट का दरवाजा बंद किया और उस पर टूट पड़ा. सामान्य डिलीवरी में भी थोड़ी बहुत चीर फाड़ सामान्य बात है, उसमें भी टाँके लगते हैं तो इस केस में भी तीन महीने का समय कम से कम बिना सेक्स के निकालना अनिवार्य है.

फिर जब मां ने दूसरा सेट पहना तो कहने लगी- इसको देख कर बता कि ये कैसा लग रहा है?मैंने देखा तो मां की चूत पर आये हुए बाल उनकी पैंटी से बाहर की तरफ झांक रहे थे. मैं हकलाते हुए बोला- हां … हां … बिल्कुल! हम आज उसी टॉपिक के बारे में बात करेंगे. फिर मेरे बहुत कहने के बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने मुंह में भी ले लिया.

मैं उसको फोन पर ही नंगी करवा देता था और खुद भी नंगा होकर मुठ मारा करता था.

सभी पाँचों मर्द मुझे ऐसे देख रहे थे मानो पहले कभी कोई औरत न देखी हो. मेरा चेहरा देख कर राकेश हंसने लगा और बोला- हाहहाहा … इतना पानी तो काव्या कभी नहीं निकालती … तेरा तो पूरा चेहरा ही भीग गया है.

काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ मैंने उसके चेहरे को अपने चेहरे के सामने किया और उसके होंठों के करीब अपने होंठ ला दिए. खाना खाने टाइम अचानक इत्तफाकन मुझे मेरी बहन के मम्मों के दर्शन हो गए.

काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ मम्मी की चूत पर बहुत बड़े बड़े और घने बाल थे और धीमी रोशनी में उनकी चूत बिल्कुल नजर नहीं आ रही थी. मैंने उसकी आवाज को कम करने के लिए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

एकदम गोरी, योनि की फांकें चिपकी हुईं और किनारे फूले हुए … मानो उसने कभी संभोग किया ही नहीं था.

डॉग सेक्सी डॉग सेक्सी

अब मैं अम्मा की चुत में उंगली डाल कर सोया था और अम्मा मेरा लंड को पकड़ कर सोयी थीं. मैंने उसके देखते हुए बोला- ऐसे क्या देख रही है … उठ जा यहां क्या सोने आई है?उसने मुझसे पूछा- तू कमरे में कब आई?मैंने उससे बोला- मैं तो बस अभी ही आई हुई हूँ … और ये क्या हालत बना रखी है. वो जोर से भाभी के चूचों को पीने में लगा हुआ था भाभी के मुंह से सीत्कार फूट रहे थे.

फिर वह सो गए, लेकिन मुझे तो राहुल से चुदने को को लेकर नींद ही नहीं आ रही थी. यह घटना मेरे साथ तब हुई थी, जब मेरी बड़ी बहन की सहेली ने मुझे नंगा करके मेरे साथ सेक्स किया था. मगर उसकी इज़्ज़त का ख्याल आते ही मन बदल गया और सोचा चलो थोड़ा इंतज़ार और सही.

थोड़े इंतजार के बाद उसने मेरी योनि के मुख से सुपारा रगड़ा और फिर जोर के झटके के साथ लिंग फिसलता हुआ मेरी बच्चेदानी से जा टकराया.

राज मुझसे करीब पाँच साल छोटा है और उसका शरीर व शक्ल एकदम लड़की के जैसा है. लेकिन अब मेरे मन में हमेशा दीदी की गांड ही रहती कि क्या मैं कभी दीदी के साथ सेक्स कर पाऊंगा या नहीं. चूत पर क्रीम लगाने के बाद मैंने कुछ देर इंतजार किया कि ताकि चूत के बाल नर्म हो जायें.

पॉर्न देखते हुए मेरा आकर्षण अपने से बड़ी उम्र की औरतों की तरफ होने लगा था. थोड़ी देर में मैंने उसे तेज़ी से चूसना शुरू कर दिया और हाथ से भी तेजी से हिलाना शुरू कर दिया. बल्लू ने बिजली बंद कर दी और भाभी ने बल्लू को दूसरे रूम में जाने के लिए चुपके से बोल दिया.

मेरी नजर उसके बदन को नाप रही थी लेकिन मैंने उसको इस बात का अहसास नहीं होने दिया कि मैं उसके बदन को निहार रहा हूं. संभोग में केवल पीड़ा स्त्री को नहीं होती … बल्कि पुरुष को भी होती है.

हां दोस्तो … मैं बात कर रहा हूँ एक ऐसे वाकिये की, जो मेरे साथ मेरी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दूसरे साल में घटा था. मगर उसकी एक बात मुझे बुरी भी लगती थी कि उसे चुदाई करवाना ज्यादा पसंद नहीं था. मैं इतना गर्म हो गई थी कि मेरी चूत गीली हो गयी थी, मेरी चूत से पानी निकल रहा था.

मामी जी से मेरी बहुत ही अच्छी दोस्ती है और मैं उनसे अपनी हर बात शेयर करता हूं लेकिन उनसे मैंने कभी भी सेक्स वगैरह के बारे में बात नहीं की थी। मैंने कभी भी मामी जी को गलत नजरों से नहीं देखा था।अब मैं असली कहानी पर आता हूं.

वे अपनी सहेलियों के बच्चों को बाहर वाले कमरे में बिठा कर कमरे में चली गईं. यह मेरी रियल स्टोरी आपको कैसी लगी मुझे जरूर बताना। मैंने अपनी मेल आईडी नीचे दी हुई है. तब भी मैं किसी तरह से अंतरा की चूत में लौड़ा घुसाने लगा और कामयाब भी हो गया.

आंटी मेरी रखैल जैसी बन गई थीं, उनके साथ मैंने हर तरह की चुदाई के मजे लिए. करीब 10-15 मिनट के बाद मुझे लगा कि मेरी भांजी को नींद आ गई है, वह मेरी तरफ पीठ किए हुए थे.

मुझे अब तक बहुत मजा आ रहा था लेकिन अब मेरी गांड भी फटने लगी थी कि कहीं भाई देख न ले और प्रिया को छेड़ने का सारा इल्जाम मेरे सिर पर आ जाये. एकदम गोरी, योनि की फांकें चिपकी हुईं और किनारे फूले हुए … मानो उसने कभी संभोग किया ही नहीं था. जिसे मैं एक साल से सिर्फ सोचता आया, वो मेरे सपनों की तरह नंगी पूरी जोश में भरी हुई मेरी बांहों में थीं.

एक्टर नेम

अब मेरी बेचैनी इतनी बढ़ गई कि मैं पूरा जोर लगा पलटकर सीधी हो गई और वो मुझे भूखे शेर की तरह घूरने लगा.

हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीया और जब हम वापस से अलग हुए तो वो भी हांफ रही थी और मैं भी. लंड की हालत लोहे के सरिया जैसी हो गई थी और वो उसे नीचे उसकी चुत में चुभ रहा था. कविता की योनि की दरार को कांतिलाल ने हाथों से फैला कर जहां तक संभव था, अपनी जीभ को उसमें घुसाने का प्रयास किया.

फिर उसे ऊपर उठाने में मदद करने के लिए वो जब ऊपर को आती, तो मेरे लंड पर अपने चूतड़ थोड़ा कुछ ज्यादा दबा देती. उन्होंने अपने होंठ जबरदस्ती मेरे होंठों से छुड़ाए और मुझसे कहा- मुझे वाइल्ड सेक्स में बड़ा मजा आता है. देहाती सेक्सी पिक्चर मूवीपहले तो ब्रा और कुर्ते के ऊपर से उसके दूध दबाए, फिर सलवार के अन्दर हाथ डाल कर बहन की चूत को मसलने लगा.

कॉलेज की लड़की की पहली चुदाई कथा में पढ़ें कि मैंने पढ़ाई के लिए कमरा लिया तो कैसे मुझे एक गर्म लड़की मिली, उससे दोस्ती हुई और मैंने उसकी अनचुदी बुर को चोदा. मैंने एक बार प्रिया को देखा, तो वो दूसरी तरफ देख रही थी कि कोई आ ना जाए.

उनका असली स्वार्थ ये था कि उनके व्यापार में किसी स्थानीय नेता हस्तक्षेप कर रहा था. कांतिलाल ने सब लोगों को भीतर बिस्तर वाले कमरे में जाने को कहा और नीचे फ़ोन कर कुछ मंगवाया. वो बोली- सर, क्या आपको यहां छूने से बहुत मजा आता है? उसने मेरे लंड के टोपे को मसलते हुए कहा.

वो मुझसे बोलने लगी- तुम क्यों नहीं पहन रही हो?वैसे निर्मला इन कपड़ों में थोड़ी थुलथुली दिख रही थी और स्कर्ट उसके लिए बहुत अधिक छोटा था, जिसके वजह से उसका आधे चूतड़ दिख रहे थे. मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]सिस्टर ब्रदर इन्सेस्ट स्टोरी का अगला भाग:लॉकडाउन में फिर से दीदी को चोदा- 2. मैंने बोला- मुझे अब जाना है और ज्यादा रात हो गई, तो मैं जा भी नहीं पाऊंगी, करना है, तो बोलो.

जब दोनों ही शांत हुए तो मैंने उसकी टाइट चूत से अपना सोया हुआ लंड खींच लिया.

जब उससे रहा न गया तो वो आंखें बंद किये हुए मेरी गांड को पकड़ कर मेरे शरीर को अपनी तरफ खींचने लगी. उन्होंने मुझे देखा और पूछा- क्या हुआ राज?मैंने कहा- दीदी एक सवाल का आंसर नहीं आ रहा है.

वो हाथ में मेरा लंड महसूस करके बोलने लगी- या अल्लाह … कितना लंबा और मोटा है. इस पर राजशेखर ने पहले हां किया और सामने मेरे आकर घुटनों के बल बैठ गया. मैंने देखा कि उसकी पैंटी चूत के पास से उससे निकले रस से पूरी गीली हो चुकी थी।तभी निधि ने मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

अन्दर आकर उसने अभी बॉटल को खोला ही था कि मैं भी बाथरूम से बाहर आ गया. मैंने गिनना शुरू किया तो पाया कि रवि के 1 2 3 से 4 सेकंड के बीच धक्के लग रहे थे. मैं एक पल चिहुंक उठी और पूरी ताकत से राजशेखर को पकड़ कर अपने चूतड़ों को उठाते हुए योनि एकदम ऊपर करके बोल पड़ी- आईईई.

काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ हां यह बात अलग है कि हर कोई मुझे एक बार देखता है, तो देखता ही रहता है. राज का घर तो काफी बड़ा था, लेकिन रसोई में फ्रिज की वजह से बहुत तंग जगह हो गई थी.

दुनिया का सबसे बेवकूफ आदमी कौन है

मैं शुरू में तो थोड़ा शरमाई, पर बाकी औरतों के कहने पर मैंने हां बोल दिया. मैं भी तुम्हारा रस मुँह में ही ले लूंगा।वो पहले तो मना करती रही फिर मान गई।कुछ ही देर में मुझे झटके लगने लगे व उसकी चूत से भी कुछ बहने लगा. अब मैं उठा और उसके दुपट्टे से अपने लंड को साफ़ करके सोफे पर बैठ गया.

फिर मैडम ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर रखा और बोलीं कि फाड़ दे मेरी चूत को अब. मैं जिस सोफे पर बैठा था अब अंगिका वहीं मेरे पास आकर बैठ गई और थोड़ी बहकी बहकी बातें करने लगी. कुत्ता और लड़की की सेक्सी दिखाओवो मेरे लंड को कभी हाथ में भर रही थी तो कभी उसके टोपे पर उंगली फिरा कर देख रही थी.

इधर राजशेखर ने अपनी अवस्था बदल ली थी और अब कविता उसका लिंग चूस रही थी.

मेरी देसी फुद्दी की चुदाई कहानी के तीसरे भागकॉलेज गर्ल चुदी पड़ोसी अंकल से- 3में मैंने आपको बताया था कि कैसे मेरे पड़ोसी अंकल ने मुझे गर्म करके मेरी चूत पर लंड लगाया. फिर उसने मेरे बालों को पकड़ लिया अपनी साड़ी के पल्लू को नीचे गिरा दिया और मेरे मुंह को ऊपर उठा कर अपने चूचों की दरार दिखाने लगी.

मैंने धक्का मारकर अपना लण्ड नमिता की गांड में ठोकना चाहा लेकिन उसके दर्द को ध्यान में रखते हुए देसी घी का डिब्बा खोला और अपने लण्ड व नमिता की गांड पर मलकर अपना लण्ड निशाने पर रखा. आंटी भी मुझसे खुश हो गई और बोली- अब तुम जब चाहो मेरे घर पर आकर मेरी चूत को चोद सकते हो. फिर अपनी गोटियों को छूने के लिए कहा तो वो मेरी गोटियों को छेड़ते हुए उनको सहलाने लगी.

उसी वक्त उसने अपनी मम्मी को कॉल लगाया और कहा कि मॉम मैं थोड़ी देर से आऊंगी.

काम के बोझ से सच में तनाव पैदा होता ही है, सो एक अलग समय निकाल अगर कुछ मौज मस्ती कर ली जाए और किसी को कोई परेशानी न हो, तो क्या गलत है. आगे से अमन ने मेरी बीवी का मुँह पकड़ा हुआ था और वो श्रुति के मुँह में लंड पेलने में लगा था. मुझे तो पहले से पता था कि आज की रात क्या होने वाला है, सो मैं बस इन्तजार में थी.

किश सेक्सीमुझे उससे और कोई दिक्कत नहीं थी, वो बाकी कामों में वो एकदम परफेक्ट थी. फिर 5 मिनट बाद जब मेरा लंड थोड़ा शांत हुआ, तो उसने फिर से अपने हाथ से मेरा लंड खड़ा कर दिया और मैंने फिर से उसकी चूत में डाल दिया और उसे चोदने लगा.

बिहारी औरत की सेक्सी

तब भी मैं किसी तरह से अंतरा की चूत में लौड़ा घुसाने लगा और कामयाब भी हो गया. अगले मैं उस कमरे में बीस मिनट पहले ही आ गया और उसके आने का इन्तजार करने लगा. उसको मैंने पूरी गहराई तक चोदा, मेरा पूरा 6 इंच का लंड उसके अंदर था.

फिर उसने मेरी टी-शर्ट में हाथ डालकर मेरे मम्मों को दबाते हुए कहा- आज बहुत दिन बाद हाथ में आए हैं … थोड़ा ऊपर कर लो टी-शर्ट … मुझे मम्मे पीने हैं. उम्म्ह … अहह … हय … ओह … उसकी चूत में लंड को डालने के बाद मुझे पूरा यकीन हो गया कि इसके पति ने तो सच में इस जन्नत के मजे नहीं लिये हैं. फिर मैं साइड होकर लेट गया तो अरशी ने मेरे सोये हुए लंड को हाथ में लेकर मेरे सीने पर अपना सिर रख लिया.

फ़िर उसने मेरे हाथ छोड़ दिए और सिर मेरे सिर के पास रख मुझे कंधों से पकड़ लिया. फिर मैंने जबरदस्ती उसके हाथ को अपने लंड पर रखवा लिया और उसके हाथ को अपने लंड पर रगड़ने लगा. वो निर्मला के पीछे जाकर अपना लिंग उसकी योनि में प्रवेश करा के किसी दुश्मन की भांति उसे धक्के मारने लगा था.

वर्तमान समय में पांचों की शादी हो चुकी है मगर हम सब ने शादी से पहले ही चुदाई का भरपूर मजा ले लिया था. हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीया और जब हम वापस से अलग हुए तो वो भी हांफ रही थी और मैं भी.

अब शर्माओ मत और तुम अंदर कमरे में आ जाओ।मैं एक हाथ से अपनी पैंट को पकड़कर और एक हाथ से अपना लंड पकड़ कर कमरे में जैसे ही दाखिल हुआ तो भाबी की नजर तुरंत मेरे लंड पर गई वह देखकर एकदम से चौंक गई और बोली- हाय राम … कितना खून निकल रहा है!मेरी हाथ भी खून से सना हुआ था और मेरी पैंट पर भी खून के धब्बे लगे हुए थे.

एक पल के लिए मैं चिहुंक उठी, पर उसके बाद कमलनाथ ने एक लय में मुझे धक्का मारना शुरू कर दिया. राजस्थानी की सेक्सी पिक्चरनिर्मला के चूतड़ों को पकड़ कर वो तब तक लिंग धकेलता रहा, जब तक उसके लिंग से आखिरी बूंद वीर्य की न टपक गई. सेक्सी मूवी चुदाई काशाम को शैली ने कॉल करके पूछा- आज रात को दीदी आना चाहे तो?वो हमारी साली साहिबा हैं, उनका स्वागत है. कुछ देर के लिए दीदी चुप हो गयी और फिर कहने लगी कि मुझ पर लाइन मारने का कोई फायदा नहीं है.

मेरे प्यार दोस्तो, मेरा नाम मुस्तफा खान है, मैं बरेली के पास एक छोटे से कस्बे में रहता हूँ। मेरी उम्र 27 साल है, मैं शादीशुदा हूँ, मेरे निकाह को चार साल हो चुके हैं.

उसका दो इंच लंड प्रिया की चूत में घुसता चला गया, जिससे प्रिया बहुत ऊंचे स्वर में चिल्ला उठी- उई मां मर गई … मुझे बचाओ उम्म्ह … अहह … हय … ओह …उसकी आंखों में आंसू आ गए थे. फिर मुझे महसूस हुआ कि काफ़ी देर हो चुकी है, कोई इसे खोजता हुआ आ ना टपके, तो मैंने सोचा कि क्यों ना बाकी का भी काम निपटा लिया जाए. पति ने मेरे गाल दबाए तो मेरा मुँह खुल गया और महाशय ने अपना लंड मेरे मुँह के अन्दर डाल दिया.

फिर जब मैं फारिग हुआ, तो दोनों लड़कियों की गांडों पर अपना माल गिराया. हम सब आपस में बहुत अच्छे दोस्त थे, तो कोई परेशानी होने वाली नहीं थी. ये दोनों इतने अधिक झीने थे कि उनमें से उसकी ब्रा और पेंटी का रंग भी दिख रहा था, उसने काले रंग की ब्रा और काले रंग की पेंटी पहनी हुई थी.

सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी सेक्सी सेक्सी

अब मैं परी की चूत चाट रहा था और चूस रहा था और परी मेरा लंड चूस रही थी. लेकिन जिस वक्त की बात मैं आपको बता रहा हूं उस वक्त सेक्स को लेकर बहुत ही कम बातें होती थीं. राजशेखर और मैं दोनों ही बहुत गर्म थे और शायद इस बात की कोई फ़िक्र नहीं थी कि हम किस अवस्था में सम्भोग कर रहे हैं.

आरम्भ में मुझे बिल्कुल नहीं पता था कि वे दोनों हमारे साथ यात्रा में होंगे.

फिर दोनों ने एक दूसरे को सजह तरीके से पकड़ कर धक्कों की गति को बढ़ाने लगे.

ये सिर्फ एक चुदाई कहानी नहीं है बल्कि वो सच्चाई है जो कहीं ना कहीं आप लोगों ने भी महसूस की होगी या हो सकता है कि कई लोगों के साथ तो ऐसा हुआ भी होगा।दोस्तो, मेरा नाम राज है और मैं इंदौर में रहता हूँ। मेरी लम्बाई 5 फीट और 11 इंच है. वो- अरे आप तो आते ही जाने कहां खो गए, अभी भी गुस्सा हो क्या? बात भी नहीं करोगे?मैं- सच कहूँ तो तुम्हारी आंखें देखकर गुस्सा काफूर हो गया. इंडियन सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी आवाज मेंमैं अपनी ही धुन में धक्के मारे जाने से मस्ती में और अधिक खोई जा रही थी.

उसकी चूत को चाटते हुए मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैंने उबलते दूध को छू लिया हो. उसने मेरी ब्रा फाड़ दी और मेरे बड़े बड़े मम्मों को अपने मजबूत हाथों से दबाने लगा. मेरा लंड ज़ोर ज़ोर से उसके मुँह में झटके ले रहा था और थोड़ी देर बाद जब मेरा पूरा माल निकल गया, तो मैं काव्या के ऊपर गिर गया.

मैंने थोड़ी देर तक उसने दूधों को पीना जारी रखा तो वो बोली- अब यही करते रहोगे क्या? या फिर बेडरूम में भी चलने का इरादा है?वो जैसे मुझे राह सी दिखा रही थी. कई बार मैं इसकी गर्म और देसी बुर चोदन कहानी पढ़ कर लंड को भी हिला लेता हूं.

उनका साड़ी बदलना और रात को उंगली चुत में डाल कर सोना … ये मैं हमेशा सोने की एक्टिंग करके देखने लगा.

अब तक 3 पैग हो चुके थे और जब मैंने चौथा पैग बना कर दिया, तो नेताजी बोले- रमा जी, कोई एकांत कमरा नहीं है क्या? काम की बातें कर बहुत थक गया हूँ. आशा करता हूं कि आपको मेरी चुदाई कहानी पसंद आएगी।बात आज से 2 साल पहले की है. मैं काजल की पूरी बॉडी को चूम रहा था ताकि उसे वो सेक्स के आनन्द से ऐसे भर सकूं, जो उसकी पूरी लाइफ में यादगार रहे … और वो चाहकर भी ना भूल सके.

16 साल की लड़की का सेक्सी वीडियो एचडी इतने में वो पलट गई और मुझे अपने पैर और ऊपर तक दबाने के लिए बोलने लगी. सोने से पहले मौसी ने मुझे याद दिलाया कि पापा ने मालिश करने के लिए कहा था.

ऐसे ही किस करते करते अभी हमें पांच मिनट ही हुए होंगे कि उसने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपने एक बोबे पर लगा दिया. यह बोलकर उसने मुझे कमर से पकड़ अपनी ओर खींचते हुए अपने सीने से मुझे लगा लिया. उसकी लार मेरे मुंह में आ रही थी और मेरी लार उसके मुंह में जा रही थी.

b.a. सेकंड ईयर पिक्चर

मुझे बहुत आनन्द आ रहा था, मगर मुझसे कहीं ज्यादा आनन्द राजशेखर ले रहा था. राजेश्वरी की योनि पहले से इतनी गीली थी कि 2-3 बार के धक्के में ही समूचा लिंग भीतर पहुंच गया. मैंने भी उसको बोल दिया- लाओ मैं अच्छे से तेल लगा कर मालिश कर देता हूं.

बहुत दिनों से मुझे मेल प्राप्त हो रहे थे जिनमें पाठकों की शिकायत थी मेरी कहानियां काफी समय से प्रकाशित नहीं हो रही हैं. मैंने भाभी से उस लेडी के बारे में पूछा तो भाभी ने बताया कि ये उनकी चाची है.

मेरा सुपारा दीदी की चूत में उतर गया तो दीदी चीख पड़ी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मर गई हरामी.

उनके वजह से मुझे भी हवाई जहाज में सफर करने का आज अवसर मिलने वाला था. रमा सबको खाने के लिए बोल बाहर चली गई और उसने मेरे लिए कमरे में ही व्यवस्था कर दी. मैंने मामी के पूरे बदन को चूसा और चाटा और फिर उनकी चूत में उंगली दे दी.

मैंने उससे आखिरी बार कहा- प्लीज मुझे छोड़ दो … उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैं झड़ रही हूँ. अपनी प्रतिक्रियाएं भेजना न भूलें और कहानी के नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में अपने कमेंट्स भी छोड़ें ताकि मुझे आप लोगों के विचार पता लग सकें. उसने अपनी उंगली को निकाल कर देखा कि मेरी बहन खुद ही चुदाई को उतावली हो रही थी.

थोड़ी ही देर के बाद वो मेरी योनि तक पहुंच गया और मेरी योनि को चूमने और चाटने लगा.

काजल राघवानी का सेक्सी बीएफ: मेरा लंड बहुत मस्त है, इसकी तारीफ़ मैं नहीं इसका शिकार हुई लौंडियों और भाभियों ने की है. मैं और ज्यादा जोश में आकर सिसकारियाँ भरने लगी उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और उसके बालों में अपनी उंगलियाँ घुमाने लगी.

मैंने हमेशा की तरह ये सब इग्नोर कर दिया क्योंकि मेरी बीवी का गोरा रंग, उसकी मटकती गांड और तने हुए बोबे देख सब उसे ताड़ने लगते थे. पूरा बिस्तर पानी से गीला हो ही चुका था और अब वीर्य के दाग भी लग गए थे. क्योंकि शुरू में मैं बहुत शरमाता था … जिसके चलते मैं उनके साथ कुछ कर ही नहीं पाया.

मैं 5 मिनट तक मॉम को किस करता रहा और उनके मुँह का सारा पानी अपने मुँह में ले लिया.

एक पिचकारी ऊपर हवा में जाने के बाद बाकी का माल युक्ता के हाथ से होता हुआ उसकी उंगलियों में भर गया. पढ़ें मेरी भाबी की चुदाई सेक्स कहानी में! भाबी के साथ रोमांस करने का मजा ही अलग है. उनके कमरे में जीरो वाट का बल्ब जल रहा था जिसकी रोशनी में बहुत ही कम दिख रहा था और मैं गेट की सांस(दरार) में से यह सब देख रहा था.