देसी वीडियो बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,मारवाड़ी वीडियो चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

नेपाली बीएफ सेक्स वीडियो: देसी वीडियो बीएफ सेक्सी, कहकर वो मेरी तरफ घूम गया और उसके लंड पर बस अड्डे की तरफ से आ रही लाइट पड़ने लगी.

व्हिडिओ बीएफ सेक्सी फिल्म

मैंने अपने हाथ मानसी के चूचों पे रख उनको मसलना चाहा पर उसने मुझे पीछे धकेलते हुए अपना विरोध जाहिर किया. मां बेटी की चूतमैं कभी दीदी की जीभ को चूसता तो कभी उनके मुँह में अपनी लार डाल कर उन्हें गर्म कर रहा था.

प्यार के बदले में रानी भी प्यार देने के लिए मजबूर हो जाती है और राजे को भरपूर आनन्द देने की चेष्टा करती है. देसी देसी एक्स एक्स एक्सतो मम्मी नंगी ही दिख जाती हैं।मम्मी की चूचियां अभी भी छोटी-छोटी और खड़ी-खड़ी दिखती हैं और मम्मी की चुत तो मेरी चुत से बहुत मोटी है। शायद उस में मामा का लंड आसानी से घुस जाता।मेरी स्पोर्ट ब्रा में मेरी चूचियां नुकीली दिख रही थीं.

मैं झिझकते हुए एक बार फिर बाथरूम में घुसा तो देखा की माला ने अपने शरीर को अपनी गीली साड़ी से ढक लिया था जो उसके जिस्म से बिल्कुल चिपकी हुई थी.देसी वीडियो बीएफ सेक्सी: तुम्हारे मम्मों की तुलना में तस्वीर वाली के कुछ भी नहीं है। मैं तुम्हारे मम्मों को देखकर इस बात की तसल्ली करना चाहता हूँ।’वह अब भी पोर्न तस्वीरें देखने में तल्लीन थी.

रात के करीब 11 बज गए थे, इस वक़्त तक हमें एक भी ऐसी लड़की नहीं देखी जो नशे में धुत्त अकेली बाहर निकली हो.मैं कुछ समझी नहीं?गुलशन जी कुछ बोलते इससे पहले सुमन ने सारी कहानी बता दी।अनीता- उह अच्छा.

हिंदी बीएफ वीडियो दिखाओ - देसी वीडियो बीएफ सेक्सी

फिर अचानक मेरी रफ़्तार तेज करने के लिए भाभी बोली तो मैंने भी रफ़्तार बढ़ा दी.मैंने देखा कि फूफा जी अब भी वैसे ही पड़े हैं जैसे मैं लिटा कर गई थी.

मगर काका की उम्र को देख कर उसको थोड़ा शक हुआ तो वो काका को उकसाने के लिए बोली- रहने दो काका. देसी वीडियो बीएफ सेक्सी जो सीधे मुद्दे की बात करते हैं। तो मैं तुम्हें बता दूँ मैं प्योर टॉप हूँ।’‘ओके ग्रेट!’‘और मेरे पास प्लेस नहीं है। यदि तुम्हारे पास हो तो चल सकते हैं।’‘यार प्लेस तो मेरे पास भी नहीं है। हाँ मेरे फ्रेंड की कार में चल सकते हैं और हम दोनों ही इच्छुक हैं।’‘ओके कोई दिक्कत नहीं है।’मैं बाइक से उतरा और उसके साथ उसके फ्रेंड की कार की तरफ चल दिया। हमारे बीच कुछ सामान्य बातें हुईं.

शायद उसके मन में यही चल रहा होगा कि भभूति जी भी उनके सुडौल एवं मुलायम स्तनों को दबायेंगे, चूसेंगे, उसकी निप्पल को काटेंगे, जैसे हर बार लड्डू के भैया करते हैं.

देसी वीडियो बीएफ सेक्सी?

मैंने मैडम के गिलास में बीयर डाली फिर बीयर का बोतल नीचे टेबल पर रख कर एक हाथ मैडम की चूची पर रखा और बोला- मैडम चोद दूँ क्या?मैडम ने मेरी ओर देखा और मुस्कुरा कर हां में सर हिला दिया. फिर खिड़की भी बंद कर दी और कमरे की लाइट भी बुझा दी। उसके बाद सामने आराम कुर्सी पर जाकर बैठ गया।संजय- आ जाओ पूजा मेरी गोदी में बैठ जाओ. आप काम के लिए किसी दूसरी कामवाली को रख लीजिये अथवा अगर आप सहमत हों तो मैं अपनी मंझली बहू को आपके यहाँ काम के लिए लगा देती हूँ.

झड़ने के बाद ऋतु उठी और फिर हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे की किस ली. वो ठीक है मगर जल्दी उसको कुछ होने वाला है इसी लिए मैं आपके पास आई हूँ. मेरी एक उंगली दीदी की गांड की गहराइयों में घुस चुकी थी और मैं उनको स्मूच करे जा रहा था.

नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और यहाँ पर अपनी चुदाई कहानी प्रस्तुत करने वाला आपका नया दोस्त हूँ।वैसे तो कई कहानी पढ़ने में लगती हैं कि झूठी हैं, पर मजा तो आता ही है।मैं अब अपना परिचय दे दूँ. फिर मैंने आबिदा से पूछा- तुम ये सब कब से करवा रही हो और क्यों करवाती हो?तो उसने बताया कि वो लगभग एक साल करवा रही है. मैं तभी गाँव से आई थी, तो मुझे शहर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी.

और वो सारे पानी को पी गई। उसने मेरे लंड को चाट कर साफ कर दिया।अब वो मेरी तरफ अपने होंठों पर जीभ फेरते हुए देख रही थी, बोली- यार, तुम्हारे लंड का स्वाद बहुत अच्छा है।यह कह कर कामुकता भरी मुस्कान के साथ वो एक हाथ से अपनी चूत को खुजाने लगी।मैं समझ गया कि ये क्या चाहती है।उसने अपनी टी-शर्ट निकाल दी फिर जींस भी निकाल दी. समझी कुछ?मोना- वाउ यार तो तूने उससे बात की?मीना- उसकी भाभी को तो मैंने पहले ही पड़ोसी के यहाँ लगा दिया था मगर वो अपनी भतीजी को काम पर नहीं लगाना चाहती थी.

उधर सामने से जग्गी अपना लंड मेरे मुंह में पेले जा रहा था और मदमस्त हो रहा था.

मैं तो पागल हो गया था, मैं एक हाथ से मम्मों को दबा रहा था और दूसरे हाथ से मुट्ठी मार रहा था।फिर मैंने बिना देर किए उसकी सलवार उतार दी.

2-3 मिनट तक ऐसे ही मुंह चुदाई करते रहने के बाद एकाएक उसकी स्पीड कम होना शुरू हो गई और उसके मोटे लौड़े से वीर्य की गर्म पिचकारियां सीधे मेरे गले में टकराती हुई नीचे उतरने लगीं और 5-6 झटकों के बाद वो शांत होकर रुक गया. उसका लंड मुझे ऐसे महसूस होने लगा कि जैसे पायजामे से बाहर हो मुझे बहुत मजा आने लगा था. पर क्या करें साली को वासना की आग लग चुकी थी। इस वक्त मैं हीसाली की चुत की चुदाईकरके उसकी चुदास को बुझा सकता था।मैंने उसकी पेंटी को खोल दिया और उसकी टांग उठाई और फैलाकर जीभ से चूत को चाटने लगा। फिर अपने जीभ को चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा, पर उसकी चूत काफी टाइट थी।उसने कहा- जीजू अब देर मत करो.

उसकी जीभ ने तो जैसा जादू कर दिया और मुझे तुरन्त आराम मिलना शुरू हुआ. आंटी सारा वीर्य पी गई और अपने कपड़े ठीक करके बाहर अपनी चेयर पर जा बैठी. चाची की चुत तक का सुहाना सफ़र-1चाची की चुत तक का सुहाना सफ़र-2अब तक की इस चाची सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि चाची भी मुझसे चुदने को मचल उठी थीं पर चाचा के कारण उन्होंने दूसरे दिन चुदाई का कार्यक्रम तय कर लिया था.

जब वो झड़ कर बैठ गया तो मैं बोली- बस अब चलें?तो वो मुझे गाली देने लगा.

मेरा पूरा लंड उनकी चूत में समा गया और वो अह्ह्ह… अह्ह्ह्ह… अह्ह्ह्ह… चोदो… अह्ह्ह. फिर भाभी को अपनी बांहों में जकड़ कर उनके रसीले मदमस्त मम्मों को दबाते हुए उन पर किस करने लगा. पर मैंने अपने दोस्तों के बीच अपनी इज्जत बचाने के चक्कर में हाँ बोल दिया।राकेश बोला- मुझे एक मस्त रंडी के बारे में मालूम है.

वो और जोर से चीखीं लेकिन मैंने धक्के देना शुरू किया, पहले कुछ 15-20 धक्कों में थोड़ी परेशानी हुई लेकिन इसके बाद मेरे साथ उन्हें भी मजा आने लगा. अब मैं उसकी चुत में अपना लंड आगे-पीछे करने लगा…जिसे वो अपनी गांड उछाल उछाल कर अपने अन्दर लेने लगी- ऊऊहह. बेचारी न जाने कितने वर्षों से इंतज़ार में थी, मगर जब मैंने उसका आलिंगन किया तो घबरा गई.

इस पर लिखा है- जाखोद खेड़ा, रामदेव मंदिर के पास!वो बोला- अच्छा… अच्छा… तू रामबीर के छोरे रवि की बात कर रहा है.

मामी ‘आ हह हां आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अहह हह हा’ की आवाज़ कर रही थी. ‘देखो, मैं तुम्हें डांट तो नहीं रही, मगर फिर भी मैं पूछना चाहती हूँ कि तुम ऐसा कैसे कर सकते हो? वो तुम्हारी बहन है.

देसी वीडियो बीएफ सेक्सी मैंने मामी से पूछा- मैं कहाँ सोऊँ?तो मामी बोलीं- तू निधि के कमरे में सो जा. कैसी मस्त चुदाई करते हैं वो। अरे जब उन्होंने अपनी सग़ी बहू को नहीं बख्शा.

देसी वीडियो बीएफ सेक्सी ग़लती मेरी है जो मैंने इसकी खुजली पर दवा लगाने के लिए इसकी लली को टच किया. जो उसने नहीं कराया था।मैंने कहा- मैं एक अच्छे डॉक्टर को जानता हूँ, तुम जीजाजी से बात कर लो तो तुम दोनों चेकअप फ्री में हो जाएगा।फिर मैं अपने घर वापस आ गया।दो दिन बाद मुझे जीजाजी का फोन आया और मुझसे डॉक्टर के बारे में पूछने लगे। मैंने उन्हें डॉक्टर अग्रवाल के बारे में बताया, जो कि शहर के बड़े डॉक्टरों में से थे। उनके यहाँ 2 दिन तक अपायंटमेंट नहीं मिलता था। जीजाजी के घर वाले बड़े कंजूस किस्म के हैं.

वो भी मुझे देखकर कभी-कभी हंस दिया करती थीं। इस सब से मुझे लगता था कि ये लोग मेरा मुँह देखकर हंस रही हैं क्योंकि मैं चूतिया सा लगता था ना.

क्या खाने से आदमी पागल हो जाता है

और वाकयी था भी उसका भारी भरकम लंड जिसने उस लड़की को बस में उसे अपने मुंह में लेने पर मजबूर कर दिया. काफी देर से लंड हिला रहा है।मुझे आश्चर्य हुआ कि इससे पहले वो इतनी जल्दी यह सब स्वीकार नहीं करती थी। ऐसा लगने लगा था जैसे वो फैन्टेसी में पूरी तरह डूब गई थी।मैंने चुत में धक्का मारते हुए कहा- लो रानी. सुलेखा के मुंह से एक चीत्कार निकली और उसने मचल के लौड़े को मुंह में ले लिया.

पर मैंने अपने दोस्तों के बीच अपनी इज्जत बचाने के चक्कर में हाँ बोल दिया।राकेश बोला- मुझे एक मस्त रंडी के बारे में मालूम है. राधा की चुत का स्वाद तू भी ले ले भोसड़ी के।राजू- हाँ काका, अब तनाव आने लगा है मगर मोना को चोदूंगा. ऐसा एक साल चलता रहा, पर एक दिन मेरे पापा पता चल गया कि यह दोनों गलत काम करते हैं.

मैंने उनकी टाँगें खोल दीं और मेरा चिकना 7 इंच का लंड आंटी की चुत पर रगड़ने लगा।आंटी- ओईई.

मेरी प्यारी सी भाभियों और आंटियों की प्यारी-प्यारी चूत पर प्यारी सी ढेरों चुम्मियाँ. ओय… क्या कर रहा है… छोड़ ना… प्लीज… कैसा हो रहा है… तु क्या क्या करता रहता है… तु बहोत बदमाश है… नहीं …न नन्. इसे लगा कर लंड अन्दर डालूँगा तो तेरी बुर में जरा भी दर्द नहीं होगा.

मैंने कहा कि नया रास्ता खोजने के चक्कर में एक शॉर्टकट से जल्दी पहुँच गया (कोचिंग से 2 किमी, दूर से)!तो उन्होंने पूछा- कहाँ से आते हो?और पानी ऑफर किया. फिर दीदी ने मुँह घुमा कर मेरे लंड को देखा और बोली- ओह माय लव, सच में तुमने मुझे बहुत सुख दिया. ’ की सिसकारियाँ फूटने लगीं।मैं उसकी चूत को 5 मिनट तक चूसता रहा। फिर कुछ देर में वो झड़ गई और उसने अपनी चूत का पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया.

जल्दी ही संजय तुझे आज़ाद कर देगा, फिर तू हमारे ग्रुप में नहीं रहेगी. ऊऊहह…’थोड़ी देर बाद फिर हम 69 की अवस्था में आ गए और मैंने उसकी बुर को चाटना शुरू किया.

फिर थोड़ी देर में उनका बदन अकड़ा और वो झड़ गईं। मैंने भी और 8-10 धक्के लगा कर उनकी चुत की गहराई में माल झाड़ दिया और आवेश में आकर जी भर के भाभी की चूची चूसी।हम दोनों की साँसें फूली हुई थीं, भाभी आँखें बंद किए एक मुस्कान लिए लेटी थीं और मैं उनके वक्ष पर सिर पटक कर हाँफ रहा था।वो मेरे बालों में उंगली फिरा रही थीं। भाभी- आई लव यू सओ मच अक्की. अचानक से मामा किचन में आ गये और मुझे पीछे से दबोच लिया, मेरी गांड में पेंटी के ऊपर से मामा का लंड चुभ रहा था, मैं समझ गयी कि मामा नंगे आ गये हैं. यह कहानी सिर्फ मनोरंजन के लिय लिखी गई है, इससे किसी व्यक्ति और नाम से कोई सम्बन्ध नहीं है.

ये कहते हुए उसने मुस्कुराते हुए एक और जोर से झटका मारा, मेरी बहन ने जोर से सिसकारी लेते हुए कहा- आह.

उनके होंठों को देखा तो लगा कि जैसे उसने पूरी रात सिर्फ मेरी बहन के होंठों को ही चूसा है. मैंने चड्डी पकड़ी, अपना लंड उसकी चूत से निकाला, पहले अपना लंड साफ किया, फिर उसकी चूत. वो आंखें बंद करके लड़की का हाथ अपने लंड पर रखवा कर आनन्द ले रहा था.

पता नहीं अम्मा की बात सुन कर मुझे उन दोनों पर क्यों तरस आ गया और मैंने उन्हें कह दिया- ठीक है अम्मा, ऐसा करो, आप आज ही अपना और माला का सभी सामान ले कर यहाँ आ जाओ. चूसो मेरी बुर को… पी जाओ मेरा रस… माआआ…फिर तो जैसे एक सैलाब आया और मैं दीवानों की तरह उसकी बुर में अपनी जीभ और दांत से हमले करता चला गया.

वो रिंग लेकर उस शराबी के पास जाकर बैठ गई। सुमन को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था।सुमन- ये आप क्या कर रही हो. साथ में मुझे भी मार दिया। आप ही बताओ देवर जी, ये जवानी अब मैं कैसे संभालूँ?ये कह कर राधा मेरे गले से लग कर रोने लगी, उसके जिस्म का स्पर्श पाकर मेरा लंड खड़ा हो गया। मुझसे रहा ना गया तो मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया। वो भी यही चाहती थी।बस फिर क्या. अगर तुम चाहो तो?पूजा- वो कभी भी नहीं तैयार होगा इस पागलपन के लिए… ये सिर्फ मेरे मन के विचार हैं और कुछ नहीं इन्हें ज्यादा गंभीरता से मत लो.

खेसारी लाल का सेक्सी गाना

मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था, मैंने अपने होंठ उसके सूखे होंठों पर रखे और चुम्मा लिया, फिर होंठों को चाटने लगा.

‘अब क्या बताएं सक्सेना जी, अम्माजी का फ़ोन आया था, बोल रही थी कि लड्डू के भैया के बिसनेस पर संकट मंडरा रहा है. राजे ने मेरे पति की तरफ देख के पूछा- क्यों मेजर साहिब… आ गया मज़ा अपनी वाइफ को मुझसे चुदवाती देख के? कोई कसर तो नहीं न रह गई?सुमित और फरीदा की आँखें हमारी तरफ ही लगी थीं, सुमित का लौड़ा खड़ा था और फरीदा उसे सहला रही थी. मैंने उनसे चाबी मांगी तो वो उसी अवस्था में उठीं और टेबल के ड्रावर से चाबी निकलने नीचे झुकी, जिससे गीला पेटिकोट उनके पिछवाड़े से चिपक गया, उनके बूब्स बहुत बड़े थे, ब्लाउज़ में कसे हुए थे.

रस खत्म होने के बाद फिर से उसने बुर में डिल्डो घुसाया और निकाल कर फिर चाटने लगी. और फिर उसके दोनों मम्में मुट्ठी में दबोच के लंड को धकेल दिया उसकी चूत में. बीएफ सेक्स डॉट कॉम वीडियोबिना ब्रा और बिना पेंटी के हमने उसे वहीं छोड़ कर वापिस अपने घर आ गए.

सारा बोझ निप्पल्स पर आ गया और ऐसा लगा कि निप्पल चूची से अलग हो जायेंगे. मैं पहले भी हंसी थी पर अकेली हंसी थी पर उस दिन मैं रोहन के साथ हंस रही थी, मैं रोहन को ऐसे हंसता देख कर बहुत खुश थी।वही मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था, जिसका जिक्र मैंने कहानी की शुरुआत में ही किया था।जब बड़ी मुश्किल से हंसी थमी तो रोहन ने कहा- कविता हम ऐसा कब करेंगे?उसने ये बड़ी मासूमियत से कहा था.

अब तुम्हारा कुंवारापन ख़त्म हो गया, अब तुम्हें चुदने में कम दर्द होगा।इस पर वो हल्के से मुस्कुराई, और मैं अपने लंड को आगे-पीछे करने लगा। उसकी चुत से खून निकल रहा था तो मैंने अपना लंड उसकी चुत में ही रख कर उसकी ही चड्डी से खून साफ़ किया।फिर लंड आगे-पीछे करके उसे ट्रेन के इंजन की तरह चोदने लगा। करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गई, उसकी चुत पानी से भर कर और भी मस्त हो गई।मैं अभी बाक़ी था. मैं उसके बारे में ही सोच रहा था, तभी मैंने रात को जब शिवानी बहुत गहरी नींद में थी. मैं उस आनन्द को महसूस करने लगी जो पहली चुदाई में होता है।मैं मस्त होने लगी.

बस साफ सफ़ाई ही करवानी है।थोड़ी देर दोनों बातें करते रहे, फिर मोना ने कहा- तुम सो जाओ. धक्के के साथ ही मैडम की ज़ोर की चीख निकली और मेरा पूरा लंड अब चूत के अंदर था. साले को कौन सा ये सच में उसका जबरन चोदन करेगा हा हा हा हा।वीरू- क्या यार, तूने ही तो कहा था कि आज चुत का इंतजाम हो गया।संजय- साले मैंने आज का नहीं कहा था, बस इंतजाम हो गया ये कहा था, अब उसको पटाने तो दो.

कोई खास बात जो साधु की बात की तरफ़ इशारा करे।काका- नहीं मोना, उस दिन के बाद तो वो छुट्टियों में भी नहीं आता.

तेरी चूत अब तक कितने लंड ले चुकी है?मैं उस पर चिल्लाई और फ़ोन काट दिया। मुझे बहुत गुस्सा आया, पर अगले दिन एग्जाम होने के कारण मैंने सब कुछ इग्नोर कर दिया।अगले दिन जब मैं अपना पेपर देकर घर आई. ऋतु बोली- अब मुझे भी तुम्हारा थोड़ा रस और चखना है… तुम अपना लंड अपने हाथ में पकड़ो.

थोड़ा सहन कर लो।मैं भी मुँह से लंड बाहर निकाल कर रोती रही।मैं बोली- मुझे नहीं करना. याद है या भूल गए? लो खुद देख लो।शाम को खाने के बाद सुमन ने अपनी माँ से मोबाइल ले लिया कि उसको कुछ काम की बात नेट से देखनी है और उसको लेकर वो अपने कमरे में चली गई।सुमन स्टोरी रीड करने के लिए बहुत ज़्यादा उत्सुक थी। उसने जल्दी से अन्तर्वासना साइट ओपन की और कहानी पढ़ने लगी।जैसे-जैसे सुमन सेक्स स्टोरी पढ़ रही थी. मैंने डॉक्टर को इस पोजीशन में इतना चोदा कि उसके पसीने निकल गए और मुझसे छोड़ने को कहने लगी.

चाची की दूसरी चुदाई करने के बाद चाची की सांसें अभी भी तेज चल रही थी. आप सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!मेरा नाम सैम चौहान है, मैं चंडीगढ़ में रहता हूँ. लेकिन मैं धक्के दे रहा था और चूची पी रहा था।आंटी कुछ देर बाद लंड का मजा लेने लगीं। जबरदस्त चुदाई हुई और बीस मिनट में आंटी अपनी चुत से दो बार रस छोड़ चुकी थीं।फिर मैं भी आंटी की चुत में झड़ गया और उन पर ही ढेर हो गया।इसके बाद आंटी मेरे लंड की दोस्त बन गई और अंकल की अनुपस्थिति में मेरा लंड आंटी की चुत का सेवक बन जाता था।आप सभी कोमेरी सेक्सी आंटी की चुदाई स्टोरीकैसी लगी.

देसी वीडियो बीएफ सेक्सी मैंने अंडरवियर पहना हुआ है।टीना- ले भाई तभी ये खुजली हो रही है। अरे मेरे सोना रात को सोते समय अंडरवियर मत पहना कर, पसीने से ये खुजली होती है और इससे तेरी नुन्नी भी घुटी हुई रहती है, उसको भी थोड़ा आराम दिया कर, उसे ऐसे दबा के क्यों रखता है?मॉंटी- दीदी आप बहुत गंदी हो, कुछ भी बोल देती हो, जाओ मैं आपसे बात नहीं करता।टीना- अब ऐसा क्या बोल दिया मैंने? चल अब नखरे मत कर, निकाल कैप्री. यह देखने के लिए की वह कौन सी वीडियो देखने में इतनी लीन थी, मैं कंप्यूटर के सामने गया तो मेरे होश उड़ गए और मेरा सिर चक्कर खाने लगा तथा मेरा शरीर पसीने से भीग गया.

सेक्सी वीडियो देहाती गाने

उन्हें सीधा किया तो उनकी चुत पूरी तरह क्लीन थी। मैं भाभी की सफाचट चुत को देखते ही पागल हो गया और भाभी को की टाँगें अपने कंधों पर रख के सीधा चुत पर चुम्मा किया।भाभी एकदम से कांप गई और कहने लगीं- यह मत करो. मोना- अच्छा कितने साल की है और दिखने में कैसी है? गोपाल को पसंद तो आ जाएगी ना वो लड़की. नहीं तो तुम्हारी मॉम आ गई तो सुबह सुबह शुरू हो जाएगी।फ्लॉरा- ओके पापा उठती हूँ मगर आप अन्दर कैसे आए डोर तो बंद था?जॉय- तेरा सर बंद था.

ऋषिका के सर में बहुत दर्द था, रयान ने उसके बहुत मना करने पर भी उसका सर दबा दिया और उसे सुला दिया. मैं उसकी इस बात पर हंस दी और उसे प्यार से एक थप्पड़ मारकर सोने चली गई. 16 साल की लड़की के बीएफ6-7 मिनट में ही मेरा भी पानी गिर गया, मैंने भी उसकी चूत के अंदर ही अपना माल गिराया.

सुबह जब फ्लॉरा उठी तो उसके मम्मों में दर्द था और होगा भी क्यों नहीं.

जितनी रफ़्तार से मेरे बदन में न जाने कैसी नशेवाली तरंगे उछल कूद मचा रही थीं, मैं स्खलन से बहुत नज़दीक थी. कुछ देर में दीदी भी मजा से सिसकारने लगी- ओह चोद, मेरे हरजाई कुत्ते भाई और ज़ोर से चोद, ओह कस कर मार मेरी चूत… और ज़ोर लगा कर धक्का मार, ओह मेरा निकल जाएगा, सीईईईई, कुत्ते, और ज़ोर से चोद मुझे… बहन की चूत को चोदने वाले बहन के लौड़े हरामी, और ज़ोर से मार, अपना पूरा लंड मेरी चूत में घुसा कर चोद कुतिया के पिल्ले… सीई… ईईई मेरा निकल जाएगा.

मॉंटी ने अपना हाथ सुमन के गले पर रखा और वहां से धीरे-धीरे सहलाना शुरू किया. थोड़ी देर मुँह की चुदाई करने के बाद वो वापस नीचे उतरा और पूजा के पैरों को मोड़ कर लंड को पूजा की चुत में पेल दिया. ऐसी ही लेटी रहने दो मुझे!’‘लेकिन अभी मेरा पानी तो निकला ही नहीं ना’ मैंने शिकायत की.

उसके दोस्त ने मुझे लिटा दिया और अपने लंड को मेरी चुत पर रख कर अन्दर पेल दिया.

अब माँ नोर्मल हो गई- अरे अशोक क्या कह रहे हो… भूल जाओ, मैंने कुछ नहीं देखा है… पापा से कुछ मत कहना!मैं- ठीक है, नहीं कहूँगा!मैं चाय पीने लगा. और उनकी देखभाल को कोई नहीं था। सो भैया के बड़े भाई की वाइफ वहां रहने आई थीं।मेरी उनकी फैमिली के साथ अच्छी बनती थी।मेरा कमरा छत पर था और दिन में मैं ज़्यादातर अपने कमरे में ही होता हूँ। एक दिन शाम को मैं छत पर टहल रहा था। गर्मी के कारण मैं अधिकतर कॅप्री या टी-शर्ट में ही होता था।हुआ यूँ कि बड़ी भाभी शाम को कपड़े सुखाने के लिए डाल रही थीं. सुमन- माँ आप पापा को समझा देना और टीना का घर कौन सा दूर है?हेमा- बेटा बात वो नहीं है.

फुल एचडी हिंदी ब्लू फिल्ममैं उसके लिए एक ब्लैक कलर की नाइटी लेकर आया था और पिंक कलर की ब्रा और पेंटी भी लाया था. और 2 गवाह खड़े करके उसको जेल की हवा अलग खिलवा देंगे, सोच के बता दे कि क्या करना है?यह सुनकर मेरे होश उड़ गए। अब मुझे सब बात समझ में आ गई थी कि थानेदार ने मुझे चोदने के लिए ये सब किया है। मेरे पास अब कोई रास्ता नहीं बचा था। थोड़ी देर सोच कर मैंने सरेंडर कर दिया।उसने कहा- रात को 7 बजे जीप आएगी.

नाक मोटा होने का कारण

मॉंटी उसके पास जाकर बैठ गया, अब सुमन को समझ नहीं आ रहा था कि उसको कैसे कहें और क्या कहें. मैं- आहाह… तुम्हारी चूत भी मजेदार है, उईई लो न… चोद तो रहा हूँ… पूरा लंड पेल रखा है, अब कितना चाहिए इईई ले मेरी रानी उईई. मेरी रंडी बहनिया, मेरी कुतिया!और ऐसा कहते हुए मैंने अपनी जीभ उसकी बुर में ठेल दी.

यूं कहें कि 36-28-32 की उसकी मादक फिगर किसी की भी कामोत्तेजना को बढ़ाने वाली थी. जब वाइब्रेटर रिया के चुत में घुसाया था तो उसके चहरे पे काफी सेक्सी हावभाव दिख रहे थे. वैसे तो वो लोग रात को शिफ्ट हो गए थे, मगर मेरी मुलाकात उनसे सुबह हुई।टीना को अभी भी संजय की बात समझ नहीं आ रही थी मगर उसने सोचा दोबारा पूछेगी तो संजय गुस्सा होगा इसलिए वो चुपचाप बैठी थी।संजय- सुबह हमने साथ नाश्ता किया फिर गप्पें लड़ाईं और दोपहर लंच तक सब कुछ ठीक था। उसके बाद मैं अपने कमरे में आराम करने चला गया बाकी सब नीचे बैठे बातें कर रहे थे।टीना- अच्छा फिर क्या हुआ?संजय- फिर क्या होना था.

उसके थोड़ी देर बाद रोहन ने अमन और रोहित को कुछ बोला और आयेशा के पीछे बाथरूम में जाने लगा. मैं अपने कंप्यूटर पर पेन ड्राइव लगा कर मुंबई में खींची हुई मामा, मामी और मेरी फोटो और वीडियो चाची को दिखाने लगा और वह मेरी मामी की सुन्दरता की तारीफ़ करती रही. मैंने उसे तुरंत मना कर दिया कि मैं शादीशुदा हूँ और मैं इन सब चक्कर में नहीं पड़ती, अब मेरा पीछा छोड़ दो, अब मेरे पीछे मत आना!मगर वो माना नहीं- भाभी, जी मुझे पता है आप शादीशुदा हैं, पर कौन से पंडित ने कहा है कि शादी के बाद आप किसी से दोस्ती नहीं कर सकती.

उसका लंड अब पूरा टाइट था- नाउ बेबी… थिस बुल विल राइड ओन यू… आर यू रेडी नाऊ?और वो मेरे करीब आया, मेरे दोनों पैरों को उसने उठाया और दोनों को एक दूसरे से दूर कर दिया, इसकी वजह से मेरी चूत काफ़ी खुल गई थी. थोड़ी देर काम करके बहाना बना के बाहर निकल लिया और स्नेहा को मिस्ड कॉल दी.

अब वो ब्रा तो पहनती नहीं थी, उस टाइम उसके चूचे भी बड़े वाले संतरे जितने होंगे.

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि रात को फ्लॉरा अधनंगी हालत में दरवाजा खोल कर ही सो गई थी और उसके पापा जॉय उसे जगाने के लिए उसके कमरे में जा रहे थे।अब आगे. बीएफ सेक्सी हिन्दीमैंने लंड पर चुम्मी ली और सुपारे पर जीभ घुमाई, फिर लॉलीपॉप की तरह लंड चूसने लगी. पॉर्न व्हिडीओ पॉर्न व्हिडीओमैंने भी एक राह चलते अधेड़ उम्र के आदमी से पूछा- अंकल, मुझे रवि के घर जाना है. मैं बैठ अपने लंड को सहला रहा था, और एक हाथ से कीकू के कभी बोबे तो कभी उसकी जांघ को सहला रहा था.

इसको तू चाहे तो फ्लॉरा की तरह कब का तैयार करके चोद सकता है, मगर तूने ये टास्क-वास्क का क्या नया चक्कर चलाया.

खाना खा कर मैं बेड पे लेट गया क्योंकि अब दो दिन बाद पेपर था तो मैं पेपर की तैयारी अगले दिन भी कर सकता था. जैसा मैंने बताया कि मेरा कोई दोस्त नहीं है तो मैं वहां भी एक टेबल पर अकेला ही बैठता था, अकेला ही आता जाता और सिर झुकाकर चलता था. जब मेरी चूत ढीली हो जाएगी।मामा भी समझ गए कि मेरी चूत का छेद बहुत छोटा है.

अगले दिन शायद मैं कुछ ज्यादा लगभग 15 मिनट पहले ही पहुँच गया तो वो बोलीं- आज सर थोड़ी देर बाद आएँगे, तुम थोड़ा ज्यादा जल्दी आ गए हो. दूर से ऐसा लग रहा था जैसे कैटरीना कैफ़ हो। उसके तने हुए चूचे भी 36″ के होंगे. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि संजय ने घर के सभी लोगों के सो जाने के बाद अपनी भांजी पूजा की चुत चोदने का मन बना लिया था और अब वे दोनों चुदाई का खेल शुरू करने वाले हैं.

जानवर सेक्सी इंग्लिश

मैं उसको तेज तेज चोदने लगा और वो हर झटके में आह जैसी कामुक आवाज निकालने लगी और साथ ही नीचे से अपनी गांड उछाल उछाल कर चुदने लगी. कल रात जब मैं तुम्हारे कमरे का दरवाज़ा खोलने लगी थी तब तुम फोन पर शायद अपनी मामी से ही यौनक्रीड़ा की बाते कर रहे थे. मैं भी नीचे से उसके मम्मों को चूसने लगा और चूतड़ों पर हाथ फिराता रहा.

अब आगे देखो क्या होता है।राजू ने शाम को राधा को थोड़ा सा इशारा दे दिया था कि आज तुझे ज़बरदस्त चीज दिखाऊंगा, तू रात को सोना मत!राजू नीचे गया और राधा को अपने साथ ऊपर ले आया, जहाँ का नजारा देख कर राधा की साँसें थम गई थीं।राधा- हे राम.

उसके बाद भी उसकी आग न बुझी तो कुत्ते ने नहाने के फ़ौरन बाद ही एक बार फिर से चोद डाला.

मेरे नहाने के बाद जैसे ही माला ने शावर के बंद होने की आवाज़ सुनी तो वह मुझे तौलिया देने के लिए एक बार फिर बाथरूम के दरवाज़े मुस्कराते हुए खड़ी हो गई. अब तू भी मुझे प्यार कर मेरे लंड को सहला, उससे खेल… क्योंकि आज के बाद तुझे उसी से सुकून मिलेगा. हिंदी में एचडी सेक्सी बीएफमुझे इन्तजार था कि जैसे ही उसका दर्द कम हो और मैं उसकी चुत में झटके मारने स्टार्ट कर सकूँ.

तो मॉम ने उसको मना किया और अपने साथ ले गईं।पूजा की बात सुनकर संजय के दिमाग़ में शैतानी प्लान आ गया. उसने मुझे सीधे बेड रूम में चलने को कहा तथा मेरे लिए एक टेबलेट तथा पानी का गिलास लाई और कहा कि इसे खा लो. जो आमतौर पर सबके घरों में नहीं होता है। उसका पति मरते वक्त इतना भी छोड़ नहीं गया था, जिससे वह सुख साहबी का ऐसा जीवन व्यतीत कर सके।प्रताप ने प्यार के नाम उसके साथ धोखा किया था। उसने सारंगी को पैसे की मदद की थी और बदले में उसके यौन शौषण का परवाना प्राप्त कर लिया था। इतना ही नहीं.

तो कब दिखा रही हो?मैंने अपने पति को बोला- कैसे दिखाऊँ? आकाश तो मुझे बाहर कहीं ले जायेगा और मैं तुम्हें अपने साथ नहीं ले जा सकती. उसके पास जाकर मैं झुका और उसकी टांगों पर हाथ रखकर उन्हें ऊपर उठाया और उसे पीछे की तरफ धक्का दिया.

बहन का रिएक्शन देख कर मैं उसी वक्त समझ गया था कि अब कुछ होने वाला है.

मैंने अपनी उंगलियों से उसकी काली-काली झाटें साइड करी और उसकी पिंक चूत को बाहर निकाला. मुझे एक टंच माल चाहिए, जितना भी खर्च लगेगा मैं दूँगा।मेरे पास यही मौका था, मैंने बोला- समझिए कि काम हो गया।वो खुश होकर बोले- क्या?मैंने बोला- एक लड़की है. संजय चुपचाप उन सबकी बातें सुन रहा था मगर टीना से रहा नहीं गया- पागल हो गए हो क्या? ज़बरदस्ती से काम बिगड़ जाएगा.

साड़ी वाली भाभी की सेक्सी फोटो उलटे लेटे होने के कारण मैं उनकी चूत नहीं देख सकता था फिर भी कभी थोड़ा ऊपर बढ़कर उनकी चूत को छू लेता था जिससे उनकी उत्तेजना भी बढ़ रही थी. कमसिन कली स्नेहा का नंगा जिस्म मेरे नंगे जिस्म के आगोश में होगा, अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो!अगले दिन मैं स्नेहा से मिलने को तैयार हुआ.

इसके बाद पूजा भाभी ने मुझसे कहा- चल पायल, तू अभी इस समय चल बाथरूम में… मैं तेरी भी मदद कर देती हूँ. फिर मैंने सोचा कि अपनी बहन से खुल कर बात करने में फ़ायदा है, मैंने बात की और बात बन गई. मेरा आधा लंड भाबी की चूत में उतर गया।भाबी के मुँह से जोर की चीख निकली और उनकी आँखें दर्द के मारे चौड़ी हो गईं। उन्होंने मुझे धक्का देकर अपने ऊपर से हटाने की कोशिश की लेकिन मेरी पकड़ इतनी मजबूत थी कि वो चाह कर भी मुझे हटा न सकीं।भाबी दर्द के मारे वो रोने लगीं और बोलीं- प्लीज़ बाहर निकालो इसे.

प्रलय मूवी

उसका लंड अभी भी उसकी पैंट में ही तना हुआ बाहर निकला हुआ था और बाइक एक कोठरी की तरफ बढ़ रही थी जिसके अंदर एक धीमी सी रोशनी थी. वो बोला- साली रंडी, अभी चुदाई हुई कहाँ है, तुझे चुदने के लिए मुँह मांगे पैसे दिए हैं और तू बस एक बार में ही जाने को बोल रही है? अभी तो तुझे और चोदूँगा, अपने पूरे पैसे वसूल करूँगा, तब यहाँ से जाएगी तू!मैं तो अभी सही से झड़ी भी नहीं थी तो मैंने सोचा ‘चलो फिर एक बार चुदाई कर लेती हूँ, मेरा क्या जाता है, मज़ा ही आएगा. मैं भी मान गया, फिर मैंने शालू को बोला- तुमने मेरे साथ चीटिंग की है.

अब उसका दोस्त खड़ा हुआ और मेरे मुँह में लंड डाल के लंड चुसवाने लगा. कुछ देर बाद वो बोली- एक बात कहूँ तुझसे?मैं- हाँ कहो?‘तू शादी करेगा या नहीं?’मैं- करनी तो पड़ेगी घर वालों के लिए!नौकरानी- अपनी औरत को चोदेगा कैसे इस 3 इंच के लंड से जो ठीक से खड़ा भी नहीं होता?मैं- नहीं, मैं उसके साथ सेक्स नहीं करूँगा पर हाँ, दुनिया की हर ख़ुशी दूँगा उसको!नौकरानी- अरे बावले, औरत बिना चुदाई नहीं रह सकती, अगर तू नहीं चोदेगा तो वो किसी और के पास जायेगी.

उसने भी मौके का फ़ायदा उठाया और अपने लंड को मेरे चूतड़ों की दरार में दबा कर आगे झुका और कहा- हाँ न्यूज़ पेपर ही है.

उसकी ब्रा भी खोल दी और अपने पूरे कपड़े उतार कर चड्डी में आ गया। मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके शरीर के ऊपरी भाग पर तथा कांख में जीभ से चाटना चूमना शुरू कर दिया।वो मदहोश होकर सीत्कार करने लगी- उउन्न्न आह्ह्ह आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स्स ह्हम्म उउफ्फ़ किसलय चोदो न मुझे. मैं बहुत खूबसूरत लग रही थी।फिर भैया मेरे पास आए और काम के बहाने से मुझे छत पर ले गए। छत पर पहुँचते ही वो मुझे पीछे से पकड़ कर मेरे मम्मों को मसलने लगे। मैंने काफ़ी कोशिश की. वो एक पंजाबी लड़की है… थोड़ी सांवली जैसे पुराने जमाने की एक्ट्रेस रेखा हुआ करती थी.

ये लड़कियाँ भी ना… जरा सा अपनापन होते ही कसम दे दे के इमोशनल ब्लैकमेल करने लगतीं हैं. मेरा काफी लम्बा और मोटा है, जैसा कि आप लोग जानते हैं कि सभी औरतें लम्बा और मोटा लंड पसंद करती हैं. डॉक्टर आंटी के क्लीनिक में रिसेप्शन पर एक 18-20 साल की गोरी चिट्टी, सेक्सी, बड़े चुचों वाली नर्स बैठी होती थी, जो सफ़ेद टाइट शर्ट और काली टाइट पैंट की यूनिफार्म में होती थी.

फ्लॉरा एकदम घबरा गई और जॉन को ढूँढने लगी, उस वक़्त जॉन किचन में नाश्ता बना रहा था.

देसी वीडियो बीएफ सेक्सी: अंत में आंटी एकदम से गरमा गईं और उन्होंने अपनी चुत का माल गिरा दिया. चाची बोली- बेटा अशोक, सब ठीक है न?मैं- हाँ चाची, सब ठीक है… कुछ दिन में ठीक हो जायेगी आप!फिर मैंने सीमा को कहा- सीमा दीदी, अब चाची को घर ले जाओ, मैं शाम में आकर देख लूँगा, और इंजेक्शन दे दूँगा!मैं रिक्शा ले आया और चाची और सीमा को घर भेज दिया.

सुड़क सुड़क… सुड़क सुड़क… सुड़क सुड़क…चूतरस पी राजे रहा था, हवस मेरी उड़ान भरने लगी थी, मज़े से मैं कांपने लगी थी. अब लण्ड निकाल के मैंने तीनों को फर्श पर बिठाया और सबीना से मुठ मारवाई तो सबीना ने मेरे टट्टे चूसे और लण्ड हिलाया जिसने एक ही मिनट में पिचकारी मारना शुरू कर दिया जिसको तीनों ने मिलकर चाट लिया. कोई सूसू थोड़े था जो घिन आती, वो तो मज़ा रस था उसमें बड़ा स्वाद होता है।पूजा- सच्ची ओह मामू आप सारा अकेले पी गए.

और मामाजी उन दोनों आमों को निचोड़-निचोड़ कर रस पी रहे थे।मॉम के मुँह से निकलती कामुक सिसकारियां मुझे सुनाई दे रही थीं। मॉम को भी बड़ा मज़ा आ रहा था, मॉम अपना हाथ मामाजी के चड्डी में डाले हुए थीं। कुछ देर बाद शायद मॉम से रहा नहीं गया तो मॉम ने खुद मामाजी जी की चड्डी निकाल दी और मामाजी का लंड को हिलाकर मुँह में घुसेड़ लिया।अब मेरी मॉम मामा जी का लंड जोर-जोर से चूसने लगीं.

फिर दोनों ने साथ में लंच किया और जब गुलशन जी ने सुमन को अपने साथ चलने को कहा. पर मैंने देखा कि कोई मेरी तरफ आ रहा है।मैं बुदबुदाया- अरे ये तो सविता है. ये समझ के बाहर है?संजय- सालो, इसे चोदना मेरा मकसद नहीं है, मैंने कहा ना इसको ऐसी रंडी बना दूँगा कि दिन रात ये लंड लंड करेगी, तब जाकर मेरे दिल को सुकून मिलेगा।विक्की- मगर क्यों यार ऐसा क्या किया इसने जो तू इसे रंडी बनाने पे तुला है?संजय- ये आज की नहीं बहुत पहले की भड़ास है.