bhabhi सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो खून निकलने वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्स चुदाई का: bhabhi सेक्सी बीएफ, उस रिश्तेदार ने ट्रेन में बैठाने से पहले उनसे ये भी नहीं पूछा था कि वो लोग कहाँ पर उतरने वाले हैं.

चलती बस में बीएफ वीडियो

मगर मैंने जोर लगाते हुए उसकी चूत के ऊपरी फूले हुए भाग को ही धीरे-धीरे सहलाना शुरू कर दिया. सेक्सी वीडियो बीएफ जीफिर उन्होंने मुझसे कहा- कल फिटनेस सेंटर के लिए तुम मुझे मेरे घर से पिक कर लेना.

’ (फिर से कहो)उसने एक झटके में जल्दी से बोला- वंस मोर मास्टर (एक और मास्टर). सेक्स वीडियो बीएफ फोटोमेरी चूची को चूसने के बाद वो मेरे निप्पल को चूसने लगा और उसको अपने दांतों से काटने लगा.

फिर धीरे-धीरे उनकी शैली को अपनाने की कोशिश भी की लेकिन ज्यादा खा नहीं पाता था.bhabhi सेक्सी बीएफ: रात को सोते समय मैंने अनजाने में हुई जागृति की गर्मा-गर्म चुदाई के बारे में सोचकर मुट्ठ मार डाली.

मगर मोनी‌ की‌ नींद शायद अब फिर से खुल‌ गयी थी क्योंकि जैसे ही मैने अपना लंड उसके नितम्बों की दरार में घिसा उसने हल्की झुरझुरी सी ली और उसके‌ बदन‌ का‌ तापमान अचानक से बढ़ सा गया। मगर चर्म पर आकर अब मैं भी अपने आपको रोक नहीं पाया और न चाहते हुए भी कपड़ों में ही मेरा स्खलन होना शुरू हो गया.ऐसे ही तीन दिन निकल गए, चौथे दिन रविवार था और मैं जल्दी उठ गया, लेकिन बुआ पहले ही उठ चुकी थीं.

बीएफ नंगी वीडियो सेक्सी - bhabhi सेक्सी बीएफ

धीरे-धीरे करके पूरा का पूरा लौड़ा गीतू की कुंवारी गांड में उतार दिया मैंने.तब तक आप मेरी इस सेक्स स्टोरी पर अपनी राय सविता जी की मेल पर कीजिएगा.

इस बार मैं लंड पेलने के बाद उसे धीमे धीमे चोद रहा था, जिससे वो मजा ले ले कर सीत्कार करने लगी- आह आह अह ओह भाई चोद आह चोद डाल … अपनी बहन की चुत … आई लव यू भाई!उसकी मीठी कराहें सुनकर मैंने भी अपनी रफ्तार बढ़ा दी और सोनल भी मेरे साथ गांड उठा कर चुदाई का मजा लेने लगी. bhabhi सेक्सी बीएफ अब आगे:उत्तेजना के वश मैंने ये सब कर तो दिया था मगर मुझे अब अपने आप पर पछतावा सा हो रहा था कि मैंने ये क्या कर दिया.

भाबी के इस तरह झपटने से मेरा लंड अचानक ही भाबी की चुत को चीरता हुआ थोड़ा अन्दर घुस गया.

bhabhi सेक्सी बीएफ?

”तू समझ नहीं रहा अच्छा दूसरी फ़ोटो दिखाता हूँ, ये देख!”अरे ये … इनकी फ़ोटो ब्रा पैंटी में … ये फ़ोटो तुझे कैसे मिली?”यह सुन के अंशु ने मेरी चुचियाँ दबाईं।कामिनी, अब समझ में आया? उपिंदर तेरी मम्मी को मेरे भाई से चुदवाने का प्रोग्राम बना रहा है. उसने मेरी चूत को चूसा-चाटा और फिर अपना लंड मेरे मुंह में देने के लिए तैयार होने लगा. ”मैं! कैसे? ”थोड़ा जोर देने पर वसुन्धरा के पापा ने इसरारपूर्वक कहा कि अगर मैं, (मैं … बोले तो राजवीर!) वसुन्धरा से इस बारे में थोड़ा बात करे तो शायद वसुन्धरा मान जाए क्योंकि छोटे ने (प्रिया के पापा ने) बताया था कि प्रिया को शादी के लिए भी मैंने ही राजी किया था और ऊपर से वसुन्धरा मेरा मान करती है, ये उन सबने प्रिया की शादी में देख ही लिया था.

रवि ने अपना लंड अंडरवियर से निकाला और थोड़ा सा थूक अपने लंड पर लगा कर मेरी चूत में डाल दिया. लेकिन भाभी डर गयी और बोलने लगी- अभी तक मैंने गांड नहीं मरवायी है … प्लीज उधर रहने दो, बहुत दर्द होगा. डॉली ने गुप्ताइन को बताया, इसी बीच मैंने फोन ले लिया और गुप्ताइन को तसल्ली दे दी कि कल बारह बजे तक हम लोग वापस पहुंच जायेंगे.

उसे वैसे ही उठाए हुए मैं हॉल में ले आया और डाइनिंग टेबल पे लिटा दिया. मैंने पूछा कि क्यों आपके घर में और कोई नहीं है?उन्होंने बताया कि घर पे सिर्फ उनकी सास ही हैं और उनके ससुर की काफी साल पहले डेथ हो चुकी है. फिर मौका देख कर मैं बात करते हुए ही उनके चूचे और चूतड़ को छू ले रहा था.

मैं सोनल को छोड़कर बेड पर लेट गया और वो दोनों फ्रेश होने के लिए चली गईं. फिर मैं घुटनों पर खड़ा हो गया और भाभी को घोड़ी बना कर लंड मुँह में दे दिया.

उसके बाद वो दोनों अपने कपड़े पहन कर केबिन से बाहर चले गये और मैं उठ कर अपने कपड़े उठा ही रही थी कि दूसरे दो लड़के केबिन में आ घुसे.

नम्रता भी धक्के लगाते हुए काफी थक चुकी थी, पर लंड पर विजय पाने के बाद वो मेरे ऊपर लेट गयी.

मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी और उसे चूम कर शोरूम में एसी चला कर सोफे पे लिटा दिया. बाद का किस्सा-ऐ-मुख़्तसर तो यह रहा कि प्रिया की शादी बहुत धूमधाम से हुई और शादी के बाकी के समारोह में वसुन्धरा का सब के साथ व्यवहार आश्चर्यजनक रूप से शालीन और मधुर रहा. फिर मैं राधिका की ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा, जिससे वो भी मजा लेते हुए जोर जोर से सिस्कारियां भरने लगी.

मैं पुत्तियां को ऐसे सक कर रहा था मानो नल्ली के मटेरियल को अन्दर से बाहर निकाल रहा हूं. पेशे-ख़िदमत है एक अद्धभुत प्रेम-कथा के बीज के सालों पहले धूल-धूसरित होने और फिर कालांतर में उसमें से अंकुर पल्लवित होने से लेकर फ़ल के पकने और उस फ़ल की अद्धभुत लज़्ज़त चखने तक की … कच्चे-पक्के जज़्बातों और आधे-अधूरे अहसासों की पूरी दास्तान. कई बार उनका लंड ढीला होता है, मगर आधा आधा घंटा तक लंड चूस कर मैं उसे बड़ा बना ही लेती हूँ.

मैं चीखना चाहती थी, लेकिन मुँह में लंड होने की वजह से मेरी चीख ही नहीं निकल पाई.

जब वो अपना लंड तेरी चुत में डालता है, तब तो उससे बड़े मज़े से चुदाई करवाती है. रात को अनामिका के साथ दारू का मजा और उसकी मचलती जवानी का मजा किस तरह उठाया गया, ये सब बहुत ही रसीली कहानी है, जो मैं आप सभी के मेल के बाद लिखूंगा. मगर वरूण ने आंटी के चूचों को जोर से दबाते हुए उनकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया.

झड़ने के बाद मैं उसके ऊपर गिर पड़ा, वो भी मेरे कमर से पैर लपेटे झड़ रही थी. उसके मुँह में जैसे ही मेरा लंड गया और वो खड़ा हो कर अपनी साढ़े आठ इंच की औकात में आ गया. उसने पूछा- फिर कब मिलोगे?मैंने कहा- फिर कभी किस्मत में तुम्हारी संगत होना होगी, तो हम दोनों जरूर मिलेंगे.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोलीं- बस वैसे ही मैसेज किया है … क्योंकि बड़ा बोर हो रही थी.

मैं धीरे धीरे उसकी नाइटी ऊपर करने लगा और उसकी चुत को पेंटी के ऊपर से ही मसलने लगा. मैडम मेरे सामने वाले सोफे पर बैठ गयीं और एक टांग दूसरी टांग पर टिका कर आराम से हो गयीं.

bhabhi सेक्सी बीएफ जब वो साड़ी पहनती हैं तो उनका पेटीकोट नीचे गिर जाता है और उनके मम्मे उछल कर बाहर आ जाते हैं. कुछ मिनट लंड चुसाई करने के बाद उसने अपनी ब्रा पैंटी भी उतार दी और मेरे सीने के दोनों तरफ अपनी दोनों टांगें डाल कर अपना एक निप्पल मेरे मुँह में डाल दिया.

bhabhi सेक्सी बीएफ बस फिर क्या था, मेरे हाथों ने उसके चुचे को दबा लिए और कस-कस कर मसलने लगे. कितनी ही देर वो मुझे चूमते चाटते रहे, कभी गाल कभी गर्दन कभी होंठ कभी ये कभी वो!फिर अंकल जी ने मुझे वापिस सोफे पर बैठा दिया और मेरी पैंटी उतार डाली.

मैंने तेजी के साथ जीभ उसकी चूत में चलानी शुरू की और थोड़ी ही देर के बाद सायमा की चूत ने अपने पानी का फव्वारा मेरे मुंह पर मार दिया.

हिंदी बीएफ छोटी लड़की की

ताऊ ने बुआ की टांगों को अपने हाथों से थोड़ा और फैलाया और फिर तेज-तेज जोश भरे धक्के लगाने लगे. मॉम थोड़ा इमोशनल हो गयी थीं, तो मैंने उनको बताया कि मैं एक फ्रेंड के घर पे हूँ और कुछ ही दिनों में घर आ जाऊंगा. उसने दोबारा से कोशिश की और पूरा जोर लगा कर मेरी चूत में लंड को डाल दिया.

कुछ देर के बाद जब मैंने पीछे मुड़ कर देखा, तो पाया कि आतिशा रूम के दरवाजे पर खड़ी होकर फिल्म देख रही थी. जल्दी ही वो अपना लैपटॉप लेकर मेरे रूम में आ गया और रूम का दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया. डॉक्टर आयी, सीधा चूत पे हाथ रख के दबाया- खूब मज़े लिए?जी, आपका मतलब?”अरे जब गर्भ ठहर गया है तो चुदाई के मज़े तो लिए ही होंगे। वैसे एक लण्ड लेती हो या एक से ज्यादा?”देखिए आप ऐसी बातें मत करिए, मैं वैसी नहीं हूँ.

और इतना ही नहीं, जब दीदी झुक कर झाडू लगाती थी तो मैं उसके चूचों को देखने के लिए ललायित रहता था.

मैंने उसको मनाने की कोशिश करते हुए कहा- देख, पहले मेरी बात तो सुन ले. यह मेरी रीयल स्टोरी है आप को कैसी लगी, मुझे बतायें।[emailprotected]. मुझे विकी का बुरा नहीं लग रहा था, पर शरद के साथ किया उसका ज्यादा बुरा लग रहा था.

उसको इस रूप में देखते ही मेरे अंदर का हवसी शैतान जाग उठा और मैंने उसको खींच कर बिस्तर गिरा लिया. अब मैं एक हाथ से उनके एक मम्मे को मसल रहा था और दूसरे से उनकी बुर को रगड़ रहा था. वो दरवाजे छेद पर आंख लगाकर झुकी हुई थी और मैं उसकी गांड के छेद पर अपने लंड को लगाकर रगड़ने लगा.

वो बोला- अरे डार्लिंग … अभी तो मेरा लंड सिर्फ़ आधा ही अन्दर गया है. लगभग नंगे होकर मैंने मामी को वहीं बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर बेतहाशा चूमने लगा.

कुछ देर तक मैंने दीदी को लंड चुसवाया और फिर हम दोबारा से बेड पर आकर 69 की पोजीशन में आ गये. जीजा जी ने फिर से पूछा- कुछ और चाहिए क्या आपको?पड़ोसन समझ गई कि जीजा जी उसको वहाँ से जाने के लिए कहना चाहते हैं. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपनी बुआ और ताऊ जी के बारे में कुछ बता देना चाहता हूँ.

” मैडम के सामने टेबल पर एक मोटा सा करीब चालीस पचास कापियों का बंडल पड़ा था.

उस पर से मोनी का अब करवट बदलकर अपना मुँह मेरी तरफ कर लेने से मैं और भी बेचैन सा हो गया।मैंने अब एक बार फिर से अपना मुँह दूसरी तरफ करके सोने की कोशिश तो की लेकिन मुझे चैन नहीं मिल रहा था। अजीब सी कश्मकश में उलझ गया था मैं. इसलिए साल में दो बार दीपावली और गर्मी की छुट्टियों में ही गांव जाता हूं. एक बार निक मेरे बोबे दबाने लगा, तो मैंने उसको डांटा और ऐसा ना करने को कहा.

कुछ ही देर की चुसाई के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और मैं उसके सारे पानी को चाटते हुए पी गया. यह सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना न रहा। मैं सोच रहा था मेरी गैरमोजूदगी में मेरी गीतू ने अपनी चूत का रस महेश को ही पिलाया होगा.

मैंने अपना वीर्य मामी की चुत में ही निकाल दिया, जिससे मामी की चुत भर गई. मैंने जीजा को अपनी बांहों में भर लिया और उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये. मैंने धीरे से अपने लंड का टोपा उसकी चूत के मुंह पर रखा और फिर अपने होंठों में उसके होंठों को भर कर ऐसा झटका मारा कि आधा लंड उसकी चूत में उतर गया.

बांग्ला बीएफ चोदा चोदी वीडियो

नीचे से उसने मेरी चूत पर अपनी हथेली से सहलाना शुरू किया तो मेरी टांगें खुलने लगीं.

एक मसला सुलझा नहीं कि दूसरा तैयार!अब चूंकि घर मेरा था तो क़रीब-क़रीब सब बातों का नज़ला मुझ पर ही गिरता था. मैंने अपना लंड उनकी चूत के पास ले गया और उनकी टांगें उठा कर अपना लंड अन्दर डालने लगा. सारा परिवार अब्बा हज़ूर के दोस्त के बच्चों की शादी में दो दिन के लिए बाहर चला गया.

मैंने सुमिना के कमरे की तरफ कदम बढ़ाने शुरू किये तो आवाजें और तेज होती जा रही थीं. जब भी गुजरा वाकिया याद आता, बाथरूम में शावर चालू करके मुँह पर हाथ रख कर रोने लगती. हिंदी हीरोइनों का बीएफतभी भाभी ने रोक कर मुझे एक किस किया और बोली- कैसी लगी नयी गर्लफ्रेंड?मैं बस मुस्करा दिया.

वैसे तो इंस्टिट्यूट में कोई नहीं था मगर चपरासी तक की निगाह से बचने के लिए एहतियात बरतना जरूरी था. इसी तरह फट्ट-फट्ट की आवाज करते हुए ताऊ ने बुआ की चूत को पांच मिनट तक चोदा और फिर लंड को बाहर निकाल लिया.

कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि सुमिना की कॉलेज की दोस्त काजल के लिए मेरे मन में आकर्षण का एक अंकुर फूट कर धीरे-धीरे पौधा बन गया था। फिर जब काजल ने अचानक ही हमारे घर पर आना बंद कर दिया तो मेरे अंदर की बेचैनी बढ़ने लगी. मौसी की हल्की सी आह तो निकली, पर इस बार उन्हें ज्यादा फर्क नहीं पड़ा. मुझे लगता था कि उसकी तेज आवाजें आसपास के नजदीक फ्लैट तक सुनाई पड़ी होंगी.

महेश ने मुझसे मदद मांगी कि मैं उसके घर का सामान शिफ्ट करवाने में अनामिका की हेल्प कर दूँ. फिर पीछे से दो लड़के आये और मेरी गांड पर हाथ फेरते हुए बोले- रानी, क्यों परेशान हो रही हो? देखो, हमारे लंड भी प्यासे हैं और तुम भी यहाँ अकेली हो. मैंने अंडरवियर पहना हुआ था और उसके उभरे हुए चूचों के बीच में तने हुए उसके निप्पल देख कर मेरा लंड मेरे अंडवियर में फिर से खड़ा होना शुरू हो गया.

थोड़ी देर बाद उसने मेरी आंखों पर मेरी ही ब्रा की पट्टी बनाकर बांध दी और मुझे बेड पर बिठा दिया.

”रात की बेड की बात तो मैं समझ सकती हूँ … मगर ये बाथरूम में डिल्डो कहां से आया?”हहहहहा …” करके सरला हंस पड़ी. मैं ये सोचता हुआ कदम आगे बढ़ा रहा था कि जो मेरे मन में ख्याल आ रहे हैं वैसा मुझे कुछ न मिले.

स्टडी में हम फर्श पर कालीन पर या कभी कुर्सी पर, कभी लव सीट पर बैठ कर, तो कई बार खड़े खड़े चोदन करते थे. कुछ ही देर बाद मुझे लगा कि मैं झड़ जाऊंगा, तो मैंने उससे कहा- मेरा निकलने वाला है. मैंने भी पूरी ताकत से उसकी चुत में उंगली की और गांड में लंड मारने लगा.

मैंने सोचा अब ये सही मौका है, इसलिए मैंने बिना देर किए अपना लंड सोनल की चुत पर रख दिया. इस बार मेरा पूरा लंड मेरी बहन सोनल की चूत में जा रहा था, जिससे सोनल की आंख में आंसू आ गए थे. मैंने दोबारा अन्दर देखा, तो बाप और दोनों बेटियों यानि उन तीनों को बिना कपड़े के देखकर मैं गनगना गई.

bhabhi सेक्सी बीएफ झड़ने के बाद मैं उसके ऊपर गिर पड़ा, वो भी मेरे कमर से पैर लपेटे झड़ रही थी. भाभी ने लंड को एकदम कुल्फी की तरह चूस चूस कर पूरी मलाई खा ली और मेरे लंड को चाट कर एकदम साफ़ कर दिया.

तेलुगु तेलुगु बीएफ

हम लोग पहले साथ में काम कर चुके थे, लेकिन मैं बाद में वहां से काम छोड़कर चला गया था. वह गुप्ताइन की भतीजी नहीं बल्कि बेटी है जो पैदा होते ही गुप्ताइन के निसन्तान भाई ने गोद ले ली थी. दोपहर को जब वो उठी तो मैंने कहा मैं बाहर कुछ शॉपिंग करने के लिए जा रहा हूं.

मेरे लंड में लोहे जैसी सख्ती आ चुकी थी और वो अपने विकराल रूप में अब नैना की जांघों को ऊपर की तरफ उठा रहा था. फिर अपना लंड उसके चूतड़ों के छेद पर लगा कर उसकी कमर पकड़ कर जोर से धक्का दे मारा. बीएफ सेक्सी ब्लू बीएफ सेक्सी वीडियोवो सीत्कार भरने लगी और बोली- जल्दी से डाल दीजिए न अंदर!मैंने आव देखा न ताव … एक झटके में लंड को चुत में पेल दिया.

चूंकि सुमन को सेक्स का अनुभव नहीं था इसलिए वो वहीं तक आगे बढ़ रही थी जो मैं उसके साथ कर रही थी.

मेरे ख्याल से वह अपनी चूचियों को छिपाने के लिए उठी थी मगर अब मैं उसके ऊपर आ चुका था इसलिए वह बस कंधे सिकोड़ कर रह गयी. उसने मेरी टांगों को ऊपर उठा लिया था और मेरी गांड के छेद को छेड़ रहा था.

चूंकि उसने घुटनों को मोड़ लिया था इसलिये मेरा हाथ उसकी चूत के पहुंच से दूर था. दूसरा बोला- हां, मैंने तो कई बार अखबारों में पढ़ा था लेकिन आज देख भी लिया. मैं भाभी को पैरों से ले कर होंठों तक चूमता गया, फिर होंठों पर किस करने लगा.

मौसी बोली- अन्दर मत निकलना, बाहर दूर को ही निकालना अपना माल, वरना साड़ी खराब हो जाएगी.

भाभी बेड पर चित लेट गईं और बोलीं- अब थोड़ा सा तेल अपने लंड पर लगा लो और आ जाओ. मौसी बोलीं- किसे देख कर मुठ मारी है?मैं चुप रहा तो बोलीं कि अब क्यों शर्मा रहा … जब तू मेरी गांड बड़े मज़े से मार रहा था तब तेरी शर्म किधर थी. फिर उसके बाद उसने अपने पैटीकोट का नाड़ा खोल दिया और इतने में ही मेरा लंड खड़ा होकर मेरे अंडरवियर के साथ लड़ाई करने लगा.

बिहारी सेक्सी बीएफ दिखाओमेरी सहेली मेरे घर आती हैं तो हम सब लोग एक दूसरे से खूब बात करते हैं और हँसी मजाक भी खूब होता है. पहले तो वो मुस्कुराई, फिर बोली- तू परेशान मत हो … मेरे पास एक तरीका है.

हिंदी व्हिडीओ हिंदी बीएफ

तीनों बाहर की तरफ चले ही थे कि मां ने पूछ लिया- कहां जा रहे हो?सुमिना बोली- माँ, मैं काजल के साथ मार्केट जा रही हूं. वो थोड़ा सा नर्वस सी थी, तो मैंने कुर्सी के नीचे से ही उसका हाथ पकड़ लिया. अब बुआ नीचे आ गई थी और ताऊ जी उनकी टांगों को अपने हाथ में पकड़ कर अपने कंधों पर रखवा लिया और लंड को चूत पर सेट करके फिर से अंदर घुसा दिया.

दोनों बहनें बड़ी खूबसूरत थीं, पर चूंकि दक्षिण से थीं … इसलिए उन दोनों का रंग काला था. चाची चिल्लाते हुए गांड उठा कर बोलीं- आह राहुल … मैं झड़ने वाली हूँ. शुरू में थोड़ा मजा लेने के लिए मैंने निक के करीब आयी थी, पर आज वो मेरे दिल पर राज कर रहा है.

आज जीजा जी भी मुझे उन दोनों का सेक्स दिखाने के लिए जोर से आवाजें निकाल रहे थे. थोड़ी देर बाद मैंने दाने को मेरे मुँह में लिया और खींचते हुए चूसने लगा. वो मेरे पास आया और बोला- आशना … मुझे पता है कि अभी तुम मेरे रूम के बाहर खड़ी थीं.

मैंने पूछा- तुम तो सिर्फ कॉफ़ी लायी हो?यह कहानी अभी अगले भाग में जारी रहेगी। आशा करता हूँ कि कहानी अंतर्वासना के प्यारे पाठकों को पसंद आयी होगी. करीब 4 से 5 बार धीरे-धीरे यह कार्य करने के बाद रीना ने अपनी गति बहुत तेज कर दी और वह अपनी गांड को विक्रम का लंड अपनी चूत में समाहित किए हुए जोर-जोर से उठा कर गिराने लगी।रीना के कूल्हे और विक्रम की जांघों के बीच टकराने के कारण पूरे कमरे में पट-पट की जोरदार ध्वनि आने लगी। यह ध्वनि इतनी तेज थी कि बगल के कमरे में चुदाई कर रहे राजवीर और वीणा भी आसानी से सुन सकते थे.

फिर मैंने उसकी टांगों से फूलों को हटाया और लिक-किस करके हुए पाँव तक पहुंच गया और जहाँ जहाँ के फूल हटाता था वहां किस करता चला गया.

मां ने पूछा कि मजा आ रहा है तो मैंने कहा कि हाँ बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है. सेक्सी बीएफ लड़की को चोदाउसे फ्लैट के सामने वाली दिवार पर चिपका कर खड़ा कर दिया। मैंने पैंटी उसके मुंह से निकाली. एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्समैं उसको चोदता रहा और बीस मिनट की जोरदार चुदाई के दौरान वह दो बार झड़ गई. यूं मेरा इरादा मेरे हक़ में पलटी इन परिस्थितियों का कोई फायदा उठाने का क़तई नहीं था लेकिन किसी लड़की का … किसी गैर लड़की का अपने प्रति ऐसा अनुरागात्मक रवैया मन में कहीं गुदगुदी सी तो कर ही रहा था.

ऊपर से मोहतरमा तहज़ीब से ऐसी कोरी कि मैं और सुधा जैसे ही एकांत में बैठते तो घड़ी-घड़ी बिना दरवाज़ा नॉक किये दनदनाती हुयी बिना मतलब कमरे में आ घुसती.

एक दिन उसने मुझे मैसेज किया मगर मैंने उसके मैसेज का रिप्लाई नहीं किया क्योंकि मैं सोच रही थी कि मेरे भाई का दोस्त है तो इससे क्या बात करूं. मैं क्या जवाब देती … मैंने लाज के मारे अपना मुंह हथेलियों में छिपा लिया. उफ्फ्फ … क्या मस्त 32-29-36 का फिगर था भाभी का … मेरे से तो रहा ही नहीं जा रहा था.

काफी देर तक मैं यूं ही सोचता रहा और शावर का पानी मेरे ऊपर गिरता रहा. उसकी बात सुनकर वो महिला भी उससे पूछने लगी- और मेरा फोन कितनी देर में मिलेगा?उस कर्मचारी ने उस महिला के फोन के लिए देखा और कहा आपका फोन भी तीन घंटे में ही मिल पाएगा. अचानक याद आया कि तुम भी अकेली ही हो, तो सोचा चलो तुम्हारे साथ कुछ गपशप करके जरा वक्त बिता आऊं.

हिंदी सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

जब भी कोई छोटा सा गड्डा आता, तो वे मेरी पीठ पर अपनी चूचियों को कुछ ज्यादा ही रगड़ देती थीं. उसका शौहर दुबई में किसी बैंक में मैनेजर है, जो 6-7 महीने में 10-15 दिन के लिए ही आता है. एक बार निक मेरे बोबे दबाने लगा, तो मैंने उसको डांटा और ऐसा ना करने को कहा.

मैं थोड़ा हेल्पिंग नेचर का हूँ, इसलिए मैंने उन्हें बता दिया कि आप गलत कर रही हैं.

ये सुनकर वो जोर से हंसने लगीं और उन्होंने मुझसे कहा- मुझसे छुपाने की कोई जरूरत नहीं है.

ये मेरा पहला अवसर है इसलिए मुझसे कोई ग़लती हो जाए तो प्लीज़ माफ़ कर देना. राधिका ने सोनल से मजा लेते हुए कहा- अब पता चला कि राज कैसे चोदता है?सोनल अधचुदी मस्त लेटी थी. बीएफ पिक्चर राजस्थान कीमैं भी कभी उसकी फैमिली से नहीं मिला था, इसलिए सोचा कि चलो आज मिल लेते हैं.

घर के एक तरफ हमने एक गैलरीनुमा बरामदा बना रखा है जिसमें हमारी गाड़ी खड़ी रहती है। उसी गैलरी में घर का मेन दरवाजा लगा हुआ है जो घर के अंदर जाने का द्वार भी है. उसके मुँह में जैसे ही मेरा लंड गया और वो खड़ा हो कर अपनी साढ़े आठ इंच की औकात में आ गया. मैं कपड़े लेकर वापस बाथरूम में घुस गया और कुछ ही मिनट में शावर लेकर नहा कर बाहर आ गया.

अगले एक मिनट के अंदर ही ताऊ जी ने बुआ की चूत पर लंड लगाकर उसको पूरा चूत में उतार दिया. उसने मुझे चोदने के लिए एक अलग फ्लैट ले लिया था जो मेरे घर से थोड़ी ही दूरी पर था.

उसके मुँह से हल्के स्वर में आवाज निकल रही थी- हाय अमीषा मेरी जान … तेरी क्या मस्त चूचियां और गांड है, मन करता है कि तुझे रात भर चोदता रहूँ.

मेरे जीजा ने मुझे बीच अधर में छोड़ दिया था तो मैं अमन ही मं च्चने लगी थी कि ये मुझे चोद दे. उनके एक खेल के अनुसार मुझे आंख पर पट्टी बाँध कर तीनों के बारी बारी से मम्मे मसल कर ये तय करना था कि पहले दूसरे तीसरे क्रम के अनुसार मैंने किस किस के मम्मे दबाए थे. चलो कोई बात नहीं गुड़िया रानी, जैसी तुम्हारी मर्जी!” अंकल जी बोले और मुझे बेड पर लिटा कर मुझसे लिपट गए.

मेहरारू वाला बीएफ सेक्सी मैंने कहा- फिटनेस सेंटर नहीं जाना क्या?उन्होंने बताया कि मैं अपनी सास को पास में ही रिलेटिव के यहां कार से छोड़ कर आई हूँ, सो थोड़ा लेट हो गयी हूँ. मैंने उनके ब्लाउज के हुक खोले और उसको निकाल दिया और उनके मदमस्त मम्मों को आजाद कर दिया.

मगर मेरी हेतल दीदी ने उसे अपने रूम में भेज दिया और खुद उसके रूम में आकर अपनी चूत चुदवा ली. बात तब की है जब हम काफी दिनों तक एक ही प्रकार की चुदाई करके बोर हो गए थे। मेरी बहन को कुछ नया करना था। वो मेरे साथ बी. पहली कहानी (जिस्म की आग बुझाई जिम वाले के साथ) लिखते समय मैंने सिर्फ टॉवल पहना था.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई

मैंने उसके पेट को चूमा और उसके चूचों को दबाते हुए उसकी पैंटी के ऊपर ही उसकी चूत को किस करने लगा. मैं जैसे ही उसे अपने पास बुलाता, तो वो दूर भाग जाता था या रोने लगता था. नीचे बैठते ही दीदी का फ्रॉक उसकी चूत के सामने फैल गया और मुझे सच में कुछ भी दिखाई नहीं दिया.

उसके पूरे बदन में ही कयामत भरी थी, उसकी हल्की नीली और भूरी आंखें गजब की कातिलाना नशा बिखेरती हैं. फिर वे मुझे होटल के पास ही एक पार्लर ले गए और मुझे वहाँ फुल बॉडी हेयर रिमूवल करने को बोला.

सभी आंटियों, भाभियों और जवान कड़क लौंडियों को मेरे खड़े लंड की तरफ से नमस्ते.

मुझे लगने लगा था कि हम दोनों का रिश्ता अब खुलने लगा है मगर वह पहले की ही तरह अपने आप में ही सिमटी लग रही थी. मैं तो बस ये सब लिखते समय भी अपनी वो मस्त भाभी के मम्मों को दबाने, निचोड़ने, चूसने, पूरा दूध निकाल कर पीने की सोच रहा हूँ. फिर हम दार्जीलिंग गए हनीमून मनाने जो आप पहले ही मेरी कहानीदार्जीलिंग में मस्त चुदाई भरा हनीमूनमें पढ़ चुके हैं.

तीसरे नम्बर के लड़के ने मेरे कंधों को पकड़ा और मुझे फिर से नीचे लेटा दिया. मुझे काफी दर्द हो रहा था मगर पहली बार चूत में लंड लिया था तो जल्दी ही मजा भी आने लगा. मैं फरुखाबाद में कोचिंग ले रहा हूँ और मैंने फरुखाबाद में ही एक कमरा किराये पर लिया हुआ है.

मैंने कहा- तो अब तुमको मुझ पर विश्वास हो गया या नहीं?वह बोली- हाँ, मुझे तुम पर विश्वास है.

bhabhi सेक्सी बीएफ: उसने मेरी तरफ देखा, मैंने भी हामी में सर हिला दिया।तो राकेश बोला- तो मैं बाहर घूम आता हूँ. मैं ये सोचता हुआ कदम आगे बढ़ा रहा था कि जो मेरे मन में ख्याल आ रहे हैं वैसा मुझे कुछ न मिले.

फिर मैंने बहाने से उन सब का नाम पूछा तो पता चला उस खूबसूरत सी लड़की का नाम मनमीता (बदला हुआ) था. नींद में ही मैंने उसकी तरफ करवट ली तो मेरा लण्ड उसको जांघ से छूने लगा. नम्रता ने जब मेरी नाक दबायी, तो उसके हाथों से निकलती हुई स्मैल मेरे नथुनों में समाने लगी.

मैंने उसको अपनी तरफ घुमाया और उसके चूचों को देखते ही मैं उन पर टूट पड़ा.

मैं इस चुदाई में इतनी मस्त हो गई कि ‘आह ऊऊ आआ अंकल … ऐसे ही … हां दे दो झटका. अगले ही पल जोर का धक्का देते हुए उन्होंने दीदी की गांड में लंड को पूरा का पूरा उतार दिया. करीब पांच मिनट बाद मेरी चूत ने अंकल के लंड को अपने अन्दर सैट कर लिया और मुझे अंकल से चुदने में मजा आने लगा.