सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ

छवि स्रोत,सनी लियोन एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ चुदाई दिखाएं: सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ, मैंने भी उसे गालियां देनी शुरू कर दीं- हां साली रंडी आज तुझे जी भरके चोदूंगा … तुझे रखैल बना दूंगा साली … तेरी मां की बुर भी चोद दूंगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो पंजाबी एचडी

मैंने अपनी आंखें खोलीं और झूठमूठ का गुस्सा दिखाकर कहा- नीता, सोने दो ना मुझे. मधुबाला का बीएफमैंने पूरी रात सोचा कि अगर फातिमा चली गयी तो मैं क्या करूंगा, मेरा सच्चा प्यार अधूरा रह जाएगा.

पाटिल जी ने भी उसको अपनी बाजुओं में कस लिया और उसकी चूचियां चूसते हुए वो भी नीचे से धक्के लगाने लगे. बीएफ चले वालीअब अगले दिन मैंने एक साइबर कैफे पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया जिसके एक महीने बाद लिस्ट में मेरा नाम आ गया और मैं अकेले ही वहां एडमिशन लेने गयी.

मगर भैया कुछ उठे तो समझ मैंने देखा कि भैया का लंड भाभी की चूत के अन्दर नहीं गया था, वो बुर को चोट देता हुआ फिसल कर साइड में हो गया था.सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ: उसने मुझे अपने हाथों से रोका, नहीं तो मैं वास्तव में उससे टकरा जाता.

आदमियों की संख्या बढ़ी, तो उसे पीछे होना पड़ा और वो धीरे धीरे मेरी तरफ को खिसकने लगी.वो कमाल लग रही थी उस नाइटी में!आगे मैंने कैसे उसे चोदा, ये आप अगले भाग में पढ़िएगा.

पंजाबी बीएफ इंग्लिश - सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ

मैं फातिमा के प्यार में इस कदर डूबा था कि मैंने कहा- नहीं, सॉरी मैं तेरी बहन से प्यार करता हूँ और उसके अलावा किसी और के बारे सोच भी नहीं सकता.और वो मेरी उनकी मुलाकातों का पहला और आखिरी दिन बन जाता।मेरी तलाश जारी रहती!अब आगे मेरी Xxx सेक्सी हिंदी कहानी:ऐसी ही कुछ मुलाकातों में मैं एक आदमी से मिली, जिसका नाम नीरज था.

मगर भैया कुछ उठे तो समझ मैंने देखा कि भैया का लंड भाभी की चूत के अन्दर नहीं गया था, वो बुर को चोट देता हुआ फिसल कर साइड में हो गया था. सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ मैंने सुमैत्री से कहा- शायद ज़्यादा पानी होने की वजह से कार में पानी चला गया है.

मुझे यह बाद में पता चला कि मेरे खाने की व्यवस्था भी उसी घर में कर दी गई थी.

सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ?

मैंने अपने हाथ से उसके बुर की दरार को फैलाया और उसकी बुर का छोटा सा छेद सामने आ गया. वो मॉम से बोले- चल मैंने बहुत सीख लिया, अब सुन … मैं 3 दिन के बिज़नेस ट्रिप पर अपनी सेक्रेटरी के साथ जा रहा हूँ. मेरे लंड की लंबाई औसत है लेकिन मोटाई अच्छी होने के कारण आज तक मैंने अपनी बीवी के अलावा जितनी भी लड़कियों को चोदा है, वो सब मेरे लौड़े की फैन हैं.

और उन दिनों इंटरनेट पर एमएमएस बनाए जाने की खबरों की बाढ़ भी आई हुई थी, जो हमारे डर को और भी ज्यादा बढ़ा रही थी. भाभी ने कहा- अरे यार शर्माओ मत, कोई बात नहीं, इस उम्र में ऐसा होता है. कपड़े उतार कर भैया बिस्तर पर बैठ गए और फिर से भाभी के गुलाबी होंठों का रसपान करने लगे थे.

ससुर जी को मुझे चोदते हुए अभी तक आधा घंटा हो गया था और मैं दो बार झड़ गई थी लेकिन उनका पानी नहीं निकल रहा था. मैंने उससे पूछा- क्या तुम अभी मां नहीं बनी हूँ और तुम्हारी मुख्य समस्या क्या है. मैं धीरे से स्टूल पर खड़ा हुआ और रोशनदान से कमरे के अन्दर देखने की कोशिश की.

मैंने उससे मैसेज करके लिखा- तुम आज क्यों नहीं आई?मैं उससे काफी गुस्सा हो गया था तो मुझे मनाते हुए उसने लिखा- शादी के दिन जी भरके मिल लेना. धारा की नज़रों से वो दृश्य बच नहीं सका और उसने शेखर की ओर अपनी हवस भारी आँखों से देख कर मुस्कुराते हुए अपने होंठों पर अपनी जीभ फिरायी … मानो वो उस बूँद को अपनी जीभ से चाट कर खा जाना चाहती हो.

नंदा बोली- खैर ये बताओ वन्दना ने तुम्हें स्वीकार तो किया या नहीं?मैंने कहा- ये बात तुम ही पूछो तो ठीक रहेगा.

गीता बहुत ही हंसमुख थी, वो खुलकर ऐसे बातें कर रही थी, जैसे वो मेरी बहुत पुरानी दोस्त हो.

मैंने पूछा- कुंवारी का मतलब शादीशुदा नहीं है या कुछ और बात है?उसने कहा- नहीं, वो बिल्कुल सीलपैक माल है. देविका के मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थीं- उफ्फ उई उई ऊह हा हा स् स् स्ह स्ह!मैं और जोश में आकर लगातार धक्के देते हुए अपने मोटे लंड से उसकी चूत का भोसड़ा बना रहा था. उसके टॉप के निचले हिस्से से अपना हाथ घुसा कर उसके पेट को सहलाने लगा.

इधर मैंने भी उसका मुँह दबा कर रखा था, मगर तब भी वो ऐसे चीखी कि पूरे होटल वालों ने उसकी चीख सुन ही ली होगी- या अम्मी जीईई मालिक!तेज पुकार लगाते हुए रेशमा का बदन अकड़ने लगा. कुछ देर बाद अञ्जलि मेरे ऊपर से हटी, उसने वहां पर पड़े तौलिये से अपनी चूत पौंछी और मेरे मुँह पर अपनी चूत लगा कर बोली- चूसो मेरी चूत, आज ये तुम्हारी है, इसको पी जाओ. रूपा इसी साल बारहवीं पास करके हमारे शहर में अपनी कॉलेज की पढ़ाई करने आई थी और एक किराए के रूम में अपनी सहेलियों के साथ रहती थी.

अब इस उम्र में मेरे पति से तो कुछ होता नहीं है और जीजू तो बस तुझे ही चोदते हैं.

फिर मैंने कूल्हों और हिप्स पर पैड लगाकर पैंटी पहनी, जिससे मैं एकदम किम किर्दिशियान जैसी फिगर वाली माल लौंडिया लगने लगी थी. काम नहीं निपटा … और ज्यादा देरी हुई, तो हम दोनों ऑफिस में ही रुकेंगे. पाटिल जी- आज तो आपने हमें अपनाकर हमारा जीवन खुशियों से भर दिया रेशमा जी … और मुझे यकीन है कि आपको इस फैसले से कभी पछताना नहीं पड़ेगा.

ससुर जी ने मेरे एक हाथ को ऊपर की तरफ उठा लिया और मेरे अंडरआर्म को चाटने लगे. उसे लगा जैसे अभी थोड़ी देर पहले जिस छेद को देख कर उसे चूसने और चाटने की तमन्ना जगी थी उसकी पूर्ति धारा के होठों से ही कर लिया जाए!लेकिन उसकी ये तमन्ना भी अधूरी रह गयी … क्यूँकि धारा ने अपने होठों को शेखर के होठों की जकड़ से छुड़ा लिया और अपनी एक उंगली शेखर के मुँह में डाल दी. मैं बोला- ये क्या कर रही हो?तो लुच्ची बोली- रात को तुमने सोनी के साथ खेला था ना … वो ही खेल खेलना है.

दोस्तो, उम्मीद करता हूं कि मेरी जिंदगी की ये दास्तान आप सभी को पसंद आई होगी.

उसके बाद आसिफ भी मेरी गांड में झड़ गया और मुझे आगे गिरा कर मेरी पीठ पर ही लेट गया. मुझे ऐसा आनंद आ रहा था कि मैंने उसका सिर पकड़ कर अपने लंड को उसके गले तक डाल दिया और तभी उसको उल्टी हो गई क्योंकि उसने शराब भी ज्यादा पी ली थी.

सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ अंग टकराने की आवाज़ तेज़ होने लगी और आंटी मस्ती से लंड की सवारी करने लगीं. मैं उससे बोला- मुझे सब पता है, बस मैं जानने की कोशिश कर रहा था कि तुम्हें भी इन सब के बारे में पता है या नहीं, लेकिन लगता है तुम तो इस खेल को खिलाड़ी हो गई हो.

सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ दोस्तो … ये मेरे लिए बड़ी मुश्किल की घड़ी थी क्योंकि मैं किसी भी महिला की मर्जी के बिना उसके साथ सेक्स की बात नहीं कहता था या करता था. कुछ देर बाद मॉम अपने रंग में आ गईं और किसी पेशेवर रंडी की तरह लंड पर कूदने लगीं.

उस वक्त मैं अपने आपको बेहद कमजोर आदमी समझ रहा था कि अपनी पत्नी को ऐसा सुख नहीं दे सकता.

एक्स एक्स video

आपको मेरी फार्म हाउस विलेज़ सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें. अब उसको आनन्द आ रहा था,वो कामुक सिसकारियां लेने लगी- अंम्म्म आह हहहह ओह … आह मेरे भैया आज से मैं आपकी हो गई हूँ … पूरी रात से इन्तजार कर रह थी इसलिए कपड़े भी निकाल कर सोई कि भैया कब चोदेगें … आह भैया आज तो आपने मस्त कर दिया, बस चोदते रहो भैया अपनी छोटी जान को ईईईई … यस … आआह कितना बड़ा लंड है भैया और इतना मोटा … मैंने सोचा भी नहीं था. पहले तो मैंने लच्छो की चूत की दो बार जमकर चुदाई की उसके बाद तीसरी बार मैंने उसकी गांड भी चोद दी.

वजन में वो बेहद हल्की सी थी, पता नहीं वो मेरे शरीर का वजन कैसे झेलने वाली थी. एक दिन दोपहर में जब मैं सर के साथ बैठकर कम्प्यूटर सीख रहा था, तभी एक बहुत ही खूबसूरत लड़की भी वहीं पास में आकर बैठ गयी और सर से बात करने लगी. अञ्जलि के पैर कांपने लगे, उसने मेरे दोनों अण्डों को अपने मुँह में पूरा भर लिया और चूसने लगी.

बेचारी वो भी तो तड़प रही थी, उसका शौहर भी तो कब से दुबई में था और वैसे साबिरा की अम्मी अभी बूढ़ी तो थी नहीं, तो स्वाभाविक है उसकी पुरानी भोसड़ी भी अब लौड़ा मांगने लगी थी.

शाम को मैं कॉलेज के बाहर आसिफ के पास गया और बोला- हां बता, क्या हुआ?आसिफ बोला- अभी हुआ कहां है, चल आज रात मेरे साथ बिताना. शुरू शुरू में मुझे स्कूल में परेशानी हुई … यहां मेरा कोई दोस्त या कोई जान पहचान वाला नहीं था. शर्ट के ऊपर से मैंने एक फॉर्मल जैकेट डाल ली और आईने में अपना सेक्सी रूप देख कर मस्त हो गई.

मेरी नींद रात में खुली, तो मैंने पाया कि मौसी दूसरी तरफ मुँह करके सो रही थीं. चूंकि मैंने अब तक कभी किसी को चोदा नहीं था तो मुझे बड़ा अजीब लग रहा था. ऑफिस से घर और घर से ऑफिस बोर भी हो गया था क्योंकि बहुत दिनों से किसी को चोदा भी नहीं था.

सबको जताता हुआ मैं भी अपने कमरे में कुछ पहले ही आ गया ताकि सबको लगे मैं थका हुआ था इसलिए जल्दी सो गया हूँ. मैं आमोद कुमार आपको अञ्जलि के साथ होने वाली चुदाई कहानी के इस भाग में आनन्दित करने हाजिर हूँ.

भैया ने तुरंत मुझे चुदाई की पोजीशन में लिटाया और मेरी चिकनी गुलाबी बुर में अपना मोटा काला लंड पेल दिया. ये कौन है सर?सर मुझे देखकर मुस्कुराते हुए बोले- वही, जिसे कल तुम घूर रहे थे और आज जिसका इंतजार कर रहे हो. साबिरा अपने भाई की ये हरकत देख कर हंसने लगी क्यूंकि उसको भी पता चल चुका था कि शिराज अब जिंदगी भर ऐसे ही रहेगा.

साबिरा का थूक देख कर मैंने शिराज को गालियां देते हुए कहा- तेरी मां का भोसड़ा साले, मेरी बेगम के मुँह में झड़ गया कुत्ते? अब चाट ये फर्श, तेरे अम्मी की भोसड़ी हिजड़े, तुझे आज इसकी सजा मिलेगी.

शिराज वैसे ही अपने बहन की कच्छी हाथ में लेकर साबिरा का नंगा बदन घूर घूर कर देख रहा था. इतना कह कर उसने मुझे फिर से दबोच लिया और कंधों से दबा कर नीचे बैठा दिया. उसकी फूली हुई चूचियां पाटिल जी के सीने में पूरी तरह से धंसी हुई थीं.

मेरे घर पर मैं और मेरा नौकर गोपू ही है, मेरी बेटी कभी कभी ही घर आती है. फिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी.

जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था, तब मैं और मेरे साथी हॉस्टल के रूम में रहते थे. कहानी के पिछले भागदोस्त की बहन की चूत चाट कर मजामें आपने पढ़ा कि मैंने अपने दोस्त की शादीशुदा बहन को उसकी चूत चाट कर परमा आनन्द दिलवा दिया था. अपनी गांड में पूरा लंड और चूत में उंगलियां लेकर रेशमा अपना होश खो बैठी थी, पर मुझे पता था कि कैसे रेशमा को फिर से गर्म करना है ताकि ये खुल कर गांड चुदवाने का मजा ले सके.

टीचर ने चोदा

फिर वो वहीं खिड़की के पास ही कुर्सी लगा कर बैठ गयी और उसने अपना मोबाइल खिड़की पर रख दिया, जिससे कि मुझे लगे कि वह मोबाइल में देख रही है.

ये नंगी भाभी सेक्स कहानी मेरे मकानमालिक की पुत्रवधू के साथ मेरी पहली चुदाई की है. तभी यशवंत भैया ने कहा- सौम्या बाथरूम का लॉक ख़राब है, वो बंद नहीं होगा. मैं झट से उसके ऊपर चढ़ गया और लंड सैट करके एक ही झटके में पूरी ताक़त से अपना लंड उसकी फुद्दी में उतार दिया.

पर पता नहीं कैसे मुझे गहरी नींद आ गई और जब उठा तो हमारे स्कूल की छुट्टी का टाइम हो चुका था. एक दिन बात करते वक्त उसने मुझसे फिजिक्स के नोट्स मांगे, तो मैंने कहा- सिर्फ नोट्स ही लेने है? न्यूड्स में दिलचस्पी नहीं है?वो समझ तो गई थी, पर उसने बात टालने की कोशिश की. बीएफ हिंदी आवाज में चुदाईउसने अपना लंड मेरी चूत में पीछे से घुसा कर धक्के देना शुरू कर दिया, साथ ही मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर मसलने लगा.

बहन ने बोला- उनका क्या फंस गया था?भाई ने बोला- कुछ नहीं, तुम अब आराम करो. वो वहां की लड़कियों से बोली- ये लो लड़कियों … इसे भी पूरी तरह से अपने जैसे ही तैयार कर दो, इसकी पेमेंट आ गयी है, ये आजकल के चिकने लौंडे हम रंडियों के पेट पर लात मारने लगे हैं.

साथ में वो मेरे होंठों को चूसने लगी थी, तो मैं भी उसके होंठों को चूसने लगा था. जैसे ही नाड़ा खुला तो साबिरा ने ख़ुद अपनी कमर उठा ली और अपने हाथ से सलवार को नीचे की तरफ कर दिया. जैसे ही शिराज ने अपनी बहन की चूत साफ की, वैसे ही मैंने फिर से अपने धक्के चालू कर दिए.

जल्दी घर जाने से ये था कि उस समय सभी रहते हैं तो सोचा थोड़ा घूम लिया जाए, थोड़ा लेट चलेंगे. कुछ देर बाद मैंने उसके मुँह में जीभ डाल दी तो वो मेरी जीभ को चूसने लगी और हमारी आंखें मुंद गई थीं. अब तो भाभी जैसे पागल सी हो गई, उन्होंने मुझे 69 पोजीशन में आने को कहा.

पाटिल जी का और मेरा लौड़ा सरपट रेशमा की चूत और गांड फाड़ने में व्यस्त हो गया.

जब मैं रसोई में दोपहर का खाना बना रही थी, उस वक्त ससुर जी बाहर कमरे में बैठे हुए मुझे देख रहे थे. मैंने उनकी बात पर ध्यान न देते हुए धीरे धीरे अपने लंड को अन्दर घुसाना शुरू कर दिया.

आसिफ कर लंड मेरी नकली चूत में घुसा तो मुझे अपने लंड और गांड के बीच में रगड़ता सा महसूस हुआ, जिससे मुझे गुदगुदी सी होने लगी. उस किताब में तो काले नीग्रोज के बड़े बड़े लंड गांड में घुसे हुए दिख रहे थे. वेटर तो तुरंत ही अपना लन्ड धोकर आ गया।उसके लन्ड को देखकर प्रिया बोली- कितना प्यारा लन्ड है। मेरे पति से बड़ा भी है।प्रिया ने जैसे ही लन्ड पीना शुरू करा, इस बेचारे वेटर की तो हालत खराब हो गई.

मैं रात दिन बस सेक्सी पंजाबी भाभी चुदाई के सपने देखता रहता और लंड हिला कर कब सो जाता, कुछ पता ही नहीं चलता. उसे लग रहा था कि मैं उसे नहीं देख पा रहा हूँ क्योंकि उसके घर में थोड़ा अंधेरा था. वो मुझे मोबाइल देती हुई बोलीं- दीपक जी, आप तो छुपे रुस्तम निकले!मैंने पूछा- क्या हुआ भाभी?मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि उन्होंने मेरे मोबाइल में कुछ स्पेशल देख लिया है.

सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ आंटी छटपटाने लगी थीं और उनके बंद होंठों से घूघू घूघू की आवाज़ आ रही थी. वो तो बस आंखों में आंसू लिए चुपचाप मेरे लौड़े से अपनी गांड मरवाये जा रही थी.

सेक्सी चालू सेक्सी

”ख़त का एक एक शब्द शेखर के जहन में गूंजने सा लगा और वो कैब के बाहर शून्य की ओर देखता हज़ारों सवाल और कुछ मीठी यादों के साथ अपने रूम की तरफ़ बढ़ गया. नेहा ने मेरा कच्छा नीचे उतारा और बोली- आज तेरा लौड़ा खड़ा नहीं होना चाहिए … वरना मालिक बुरा मान जाएंगे. साबिरा ने अपने दोनों हाथों से अपने चूँचे पकड़ लिए और जोर जोर से उसको मसलने लगी.

अब मेरी नजर बार बार उन्हीं पर जा रही थी और उन्होंने शायद मेरी चोरी पकड़ ली थी. मॉम मेरे लंड पर ‘आहह आहह सीईई उईईई …’ करके अपनी गांड पटकने लगीं और चुदाई का भरपूर मजा लेने लगीं. नंगा बीएफ दिखाएंपैंटी के अन्दर हाथ होने की वजह से मेरे हाथ को वो आजादी मिल नहीं पा रही थी जो मुझे चाहिए थी.

उसने खींचते हुए मेरी शर्ट के बटन खोलने की जगह तोड़ना शुरू कर दिए और मेरी शर्ट को मेरे शरीर से अलग कर दिया.

मैं भी चुदासी हो उठी थी और मुझे लंड की सख्त जरूरत होने लगी थी इसलिए मैंने भी संजीव भैया को उकसाते हुए उनका साथ देना शुरू कर दिया था. आपको मेरी लंड गांड की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल व कमेंट्स करके जरूर बताएं.

मेरे सामने ही मेरी पत्नी एक अधेड़ आदमी के नीचे दबी हुई चुदाई करवा रही थी. फिर मैंने उनको समाझाने की कोशिश की- मैं तो आपके दोस्त जैसा हूँ, आप बिना झिझके अपनी कोई भी प्रॉब्लम मुझे बता सकती हैं. मेरा हाथ सरकता हुआ उसकी चूचियों को टटोल रहा था और उसके हाथ मेरी पीठ से धीरे-धीरे मेरे लंड तक पहुंच गए.

वो खुश हो गयी और ऊपर आकर चूत पर अपना लंड सैट करके धीरे धीरे अन्दर तक लेने लगी.

मैंने- हां मेरी रांड, चूस ऐसे ही मेरा लंड कुतिया, देख कैसे तेरा गांडू भाई तेरी गांड चाट रहा है बहनचोद साला … पूरा मुँह में भर ले साबिरा रंडी … आंह साली तू भी गांडू की बहन है कुतिया मादरचोदी. जितना अभी तक हम दोनों के बीच में हुआ था, मैं उतने में ही बहुत खुश था. मुझे हमेशा एक बार का डर लगा रहता था कि कहीं मेरी इस कमजोरी के कारण मेरी पत्नी किसी गलत आदमी के चक्कर में न पड़ जाए.

एक्स बीएफ देहातीतभी बच्चे ने अपना हाथ कुछ इस तरह से फिराया कि मौसी की कुर्ती एक तरफ से पूरी उठ गई, जिससे मुझे उनकी पूरी चूची दिख गई. मैं प्रेम नील लंबे अरसे बाद एक बार फिर आपके समक्ष प्रस्तुत हूँ अपनी नयी कहानी के साथ!अन्तर्वासना के पाठकों को के लिए परिचय:मेरा नाम प्रेम नील है, और मैं नागपुर का रहने वाला हूँ.

भाभी की चुदाई सेक्स

दोस्तो, मैं आशीष पुन: अपनी पड़ोसन लौंडिया के साथ हुई अपनी चुदाई की कहानी आपको सुना रहा था. कुछ ही देर में मेरे लंड से सारा पानी निकल गया और मेरी बहन ने उसे न केवल पूरा पी लिया, बल्कि मेरे लंड को चाट चाट कर साफ़ भी कर दिया. उसके मुँह से जैसे ही मैंने सुना कि वो अभी दुधारू माल है … मेरा लंड टनटन करने लगा.

ससुर जी ने नीचे से मेरे चूतड़ को एक हाथ से थामते हुए मुझे सहारा दिया और मुझे चूमने लगे. उसमें से भाभी का पानी निकल रहा था व चूत पूरी गीली हो रही थी जो इतनी मस्ती के बाद भी जायज भी थी।मैंने अपने होंठ भाभी की चूत पे लगा दिए व चूत के दाने को सहलाता हुआ, चूत से छेद में अपनी जीभ अंदर बाहर करने लगा. रात को कमरे में एक अलग ही तरह से पलंग जमा हुआ था।मैं– क्या है यह सब?प्रिया- हमारे सोने की व्यवस्था।मैं- मगर तुम्हारे तकिया मेरी कमर के पास क्यों लगा है?प्रिया– आप सिर्फ नंगे होकर मेरी तरफ मुंह कर के से जाइए।मैं– ठीक है जैसा तुम बोलो.

अब पाटिल जी किरण की तरफ बढ़े और उन्होंने किरण के बाल खींच कर उसका मुँह रेशमा के मुँह पर लगा दिया. मैं पूरी ताकत से धक्के लगाने लगा और उसे गालियां देने लगा- हां मेरी रंडी, तुझे तो मैं बीच चौक पे चोदूंगा मां की लौड़ी साली कुतिया. जिससे वो बिलबिला उठी और एक सीत्कार के साथ उसने गाली देना शुरू कर दिया- आंह कमीने … कहीं भाग नहीं रही … आराम से करो.

मुझे ऐसा आनंद आ रहा था कि मैंने उसका सिर पकड़ कर अपने लंड को उसके गले तक डाल दिया और तभी उसको उल्टी हो गई क्योंकि उसने शराब भी ज्यादा पी ली थी. मैंने आगे बढ़ना शुरू किया और उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसकी चूचियों को मसलता रहा.

मेरी बातें सुनकर साबिरा ने आंखें खोल कर अपने भाई जान की तरफ देखा और हल्के से हंसकर उसको चिढ़ाने लगी.

पर उसके शरीर से सलवार को अलग करने के लिए भी मुझे सोनी के सहायता की ज़रूरत थी. बीएफ वीडियो सेक्सी चोदा चोदी वालावो भी अब उठ कर मेरे पीछे से आकर मुझसे सहारा देने के बहाने मेरी गांड से एकदम सट गए. आदिवासी चुदाई बीएफचूत बिल्कुल क्लीन शेव थी जैसे उसने आज मेरे लिए ही साफ़ करके तैयार की हो. अब धारा ने अपने मन में कुछ सोचा और एक बार झुक कर शेखर के होठों को ज़बरदस्त तरीक़े से चूस कर वापस से सीधी हो गयी और बिल्कुल पोर्न फ़िल्मों की रंडियों की तरह पूरे जोश में भर कर अपनी गांड को ऊपर उठा कर लंड को सुपारे तक बाहर निकल कर एक ही बार में पूरा जड़ तक अपनी गांड में डालने लगी.

मैं भी कभी पहले न तो किसी लॉज में और ना ही किसी होटल में गया था और ना ही मुझे इन सब के बारे में कुछ मालूम था.

उसके बाद उस अस्पताल वाली नर्स और मेडिकल स्टोर वाली मोहतरमा की चुदाई को भी लिखूंगा. इसके बाद तो मैं रोज ही पूनम को रूम पर जाकर उसकी दो तीन बार चुदाई कर देता था. मरता क्या न करता, मेरे पास उनकी बात मानने के अलावा कोई रास्ता नहीं था.

वापस आते समय मोतीझील के पास जब कार मेरी पहुंची, तो एक महिला ने मुझे लिफ्ट का इशारा किया. मैं उठ कर मोहन बाबू के लोवर के ऊपर से उनके लंड पर हाथ रख सहलाने लगी. मैंने अपना हाथ पैंटी के अन्दर ही थोड़ा ऊपर उठाया और हथेली को एक कप सा बना कर, जिसमें मेरी चारों उंगलियां नीचे की ओर थीं, सोनी की तपती चूत पर रख दिया.

सेक्सी ब्लू हिंदी फिल्म

वो समझ चुके थे कि मेरी तरफ से हर चीज की इजाजत मिल गई है।अपनी बांहों में लेकर उन्होंने मेरे चेहरे को अपने हाथों में लेकर ऊपर उठाया मेरी नजर नीचे की तरफ थी।पहले उन्होंने अपनी उँगलियों को मेरे गालों पर चलाया और फिर अपने होंठों को मेरे होंठों के करीब लाते चले गए।जल्द ही उनके होंठ मेरे होंठ से टकरा गए और उन्होंने मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया।सालों बाद आज किसी मर्द ने मेरे होंठों को चूमा था. जैसे ही लंड ने छेद को फैलाया, रूपा ने अपनी आंखें बंद कर लीं और होंठों को अपने मुँह में दबा लिया. इससे वह उत्तेजित होने लगी और आहउच … आहउच… आहउच … जैसी आवाज निकालने लगी।मौके का फायदा देखकर मैं उनके कान के पास गया और उनसे बोला- मैडम, आपका नाम क्या है?तो मैडम ने अपना नाम निधि बताया.

उन्हें पता चला कि कि वो गुलाबी गुलाबी जो था, वो उनके बेटे के लंड का सुपारा था.

उसके बाद रितिका वहीं खड़ी सब सुन रही थी तो उसने भी हां कर दी और अगले दिन से मैं उसको अपने साथ ले जाने लगा.

उसने अपने लंड के सुपारे से मेरे होंठों को धीरे से खोला और अपना लंड धीरे धीरे मेरे मुँह में घुसाना शुरू कर दिया. जब पेपर खत्म हुआ तो मैं जल्दी से रूम से बाहर सा गया ताकि भाभी से दुबारा मिल सकूं. कंडोम लगाकर सेक्सी बीएफरेशमा की जीभ मुझे मेरी गांड में छेद पर जैसे मजा दे रही थी, उससे मुझसे रहा नहीं गया.

हफ्ते में दो तीन दिन तो बाहर ही रहते हैं और पन्द्रह दिन में कभी कभार एक बार चोदते हैं. चूत के सहारे हवा में उठी उसकी गांड को चोदने में मुझे बड़ा मजा मिल रहा था- चुप कर मादरचोद, आज तो साली तू रंडी बनकर ही रहेगी बहन की लौड़ी. आपको मेरी फार्म हाउस विलेज़ सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें.

अब आल पोर्न गर्ल सेक्स कहानी का मजा लीजिए :मैंने दोनों हाथों से उसकी चूचियां को दबाया, दोनों के निप्पलों के चारों तरफ, बारी बारी जीभ से घुमा कर दांतों से निप्पल पकड़ कर खींचते हुए मजा लिया. किरण को वहीं पर छोड़ कर मैंने अपना मोर्चा रेशमा की तरफ बढ़ाया और छलांग लगा कर बिस्तर पर चढ़ गया.

पर अब लगभग आधा लंड घुसने से रेशमा को पीड़ा होने लगी, दर्द से बिलबिला कर उसने मुझे रोकने की कोशिश की पर मैंने उसका हाथ थाम लिया.

थोड़ी देर में मॉम बोलीं- तनु आज नहीं चुसाएगा क्या?मैंने कहा- नहीं मॉम … आज मेरा मूड नहीं है. कुछ देर चूत चाटने के बाद मौसी मेरे लंड पर दांत लगाने लगीं जिससे मुझे दिक्कत होने लगी. आज इस बात को लगभग डेढ़ साल हो गए लेकिन मैंने मेघना को कुछ भी नहीं कहा.

बीएफ सेक्सी एचडी एक्स एक्स जब वो जाने के लिए खड़ी हुई, तब मेरे दिमाग में बस एक ही बात आई कि आज ही इसको जी भरके देख लेता हूं, पता नहीं आज के बाद ये हसीना फिर कभी मिले या ना मिले. अब मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया कि क्यों ना मॉम को वो वीडियो भेजूं, जो मेरे पास थी.

ट्रिपल सेक्स के बाद अब हम तीनों बहुत थक चुके थे, सो हमने थोड़ा आराम किया, ड्रिंक के साथ कुछ खाया और बातें करने लगे. अब मेघना के मुँह की तरफ बॉस का लंड था और बॉस के मुँह की तरफ मेघना की चूत थी. लगभग एक पैग के बराबर शराब अपने लन्ड पर डाल दी थी जो निधि आराम से पी गई.

नौकर और मालकिन की सेक्सी वीडियो

वो मेरे लिए पानी और बिस्कुट लेकर बाहर आया तो मैंने उससे बात करते हुए इस तरह से पानी पिया कि सारा पानी अपनी चूचियों पर गिरा लिया. कुछ देर बाद मेरा भी लंड पानी छोड़ने वाला था, तो मैंने उससे पूछा- किधर लोगी?वो बोली- अन्दर ही आ जाओ देवर जी. आज की कहानी मेरे एक ऐसे ही पाठक ने मुझे भेजी है, जो निश्चित रूप से आप सभी को पसंद आएगी.

एक दिन मेरा फोन ऑफ हो गया था तो मैं सुबह चार्जिंग में लगा कर कोचिंग चला गया. पर उसकी चूत बहुत टाइट थी जिससे मुझे ज़्यादा ज़ोर लगाना पड़ रहा था और उसे भी तकलीफ़ हो रही थी.

मैंने कहा- जान मैं आने वाला हूँ आह आए उह्ह्ह्ह … कहां निकालूं?वो बिना कुछ बोले बस लंड चूसती गई और कोई एक मिनट बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

लखनऊ पहुंच कर और लखनऊ की ट्रेन में क्या हुआ, वो मैं आपको अपनी चुदाई की कहानी के अगले भाग में लिखूँगी. मैंने कहा- कोई बात नहीं पागल, फ्लैट पहुंचने की देर है, मैं तुझे ढेर सारा प्यार दूंगी. मैंने अपने दोनों हाथों की उंगलियों से चूत की दोनों फांकों को खींचकर चूत की दरार को चौड़ा कर दिया.

मैं बोला- अब खाना खा लिया जाए, अगर इच्छा होगी तो बाद में फिर पी लेंगे. इस पोजीशन में दस मिनट तक चोदने के बाद मैं अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया था. लंड के चारों ओर फिराए जा रहे हंटर की नोक ने अपना कमाल दिखाना शुरू किया और शेखर के मुँह से दबी-दबी गुर्राने की आवाज़ निकलने लगी.

उस महिला की उम्र करीब 45 साल के आस-पास रही होगी, वो नीली साड़ी पहने हुए बला की खूबसूरत लग रही थी.

सेक्सी सेक्सी फुल एचडी बीएफ: पर मैं गलत था, थोड़ी ही देर में सोनी ने कॉल करके बताया कि वो मेरी बिल्डिंग के नीचे है. अभिषेक के लंड में जान ही नहीं थी कि वो अपनी पत्नी को मैरिड सेक्स में खुश कर पाता.

वैसे भी आज सर ने कह ही दिया कि हम दोनों पति पत्नी हैं और बधाई भी मिल गयी. और दूसरा यह भी था कि ना मैं आंटी में दिलचस्पी ले रहा था ना आंटी मुझमें!फिर भी पेमेंट के लिए तो मुझे रुकना ही था. मैं- तू चिंता क्यों कर रही है डार्लिंग … तुझे तो मैं बहुत प्यार से चोदूंगा.

’‘क्या अन्दर तक चला जाता है?’वो हंसी और बोली- आपका वो!मैंने कहा- मेरे वो का कुछ नाम भी रख दे.

भाभी की चूत का पानी इतना गर्म था कि जल्द ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया. वो बोले- क्यों?मैंने उन्हें अपनी दास्तान बताई कि मेरे पति के लंड में दम नहीं है कि वो मुझे मां बना सके. अपने मालिक की गांड चाट चाट कर उसने पाटिल का लौड़ा भी मुँह में भर कर चूसना चालू कर दिया और लंड का सुपारा अपने मुँह में भर के लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.