सनी लियोन के बीएफ दिखाएं

छवि स्रोत,छोटी छोटी लड़कियों की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

कुंवारी लड़की का चुदाई: सनी लियोन के बीएफ दिखाएं, ’ मत करो जैसी आवाजें निकलने लगीं, वो मेरी चूत में अपने मस्त लंड की ठोकरें लगता हुआ बोलने लगा- साली पहली बार फुद्दी मिली है.

सेक्सी मोहम्मद

इस तरह हम दोनों की अलग-अलग जगह पर चुदाई होने लगी।एक बार मैं उसके लिए साड़ी ले कर गया, ये मैंने चुदाई के बाद उसको साड़ी गिफ्ट में दी।उस वक्त उसने कहा- उसके पति जो साड़ी खरीद कर लाते हैं. सेक्सी नया मालआंटी- चल आज तेरे को सिखा देती सेक्स कैसे करते हैं।आंटी मुझे लेकर बिस्तर पर आ गईं, इधर आकर आंटी ने मेरे कपड़े उतार दिए और मैं बिल्कुल नंगा हो गया।आंटी बोलीं- अभी तू मेरे कपड़े उतार दे।मैं पहले आंटी को बांहों में लेकर उनके होंठ चूसने लगा, आंटी भी मेरे होंठों का रस पीने लगीं। इसी चूमाचाटी को करते करते मैंने आंटी के पूरे कपड़े उतार दिए।अब हम दोनों ही नंगे हो चुके थे।आंटी बोलीं- अब देर मत कर.

’ करने लगीं।अब मेरा हाथ भाभी के पेटीकोट पर था और मैंने पेटीकोट का इजारबन्द खोल दिया। इजारबन्द खुलते ही पेटीकोट नीचे गिर गया. नया लड़की सेक्सी वीडियोउन बालों को हाथ लगाने में बड़ा मजा आ रहा था।फिर आंटी अपनी चूत साफ करवाने के बाद बोलीं- कभी सेक्स किया है?मैं बोला- नहीं.

और इसी के साथ मुझे एहसास हो गया कि सच्चे प्यार में ही ये सब जायज़ है।मेरे जीवन का एक अच्छा सफर उसके साथ चला.सनी लियोन के बीएफ दिखाएं: वह इस दौरान एक बार झड़ चुकी थी, पर मेरा छूटना अभी भी बाकी था।फिर मैं जोर-जोर से चोदने के बाद उसकी चुत में ही झड़ गया और मैं निढाल होकर उसके ऊपर ही गिर गया।बाद में जब मैं खड़ा हुआ तो देखा कि बिस्तर पर उसकी चुत से निकले खून के दाग लगे थे, तो मैंने चादर को साफ किया।जब सुमन बिस्तर से उठी, तो दर्द के कारण उससे ठीक तरह से चला भी नहीं जा रहा था। मैंने उसको एक दर्द की टेबलेट दी.

बहुत लप लप कर रही है इतनी गीली और रसीली… यस… मेरे… चोदू राजा यह हमारा पूरी तरह प्राइवेट प्यार की चुदाई की पार्टी है।नोरा हंस कर रवि को चूम रही थी और अपने बड़े बड़े चूतड़ उठा कर धक्का मार रही थी। रवि का 7 इंच का लंड जड़ तक घुसा था।रवि नोरा की हरकत पर हंस पड़ा- हाय भाभी, ऐसे नहीं.मुझे उम्मीद है कि आप सभी को मजा आया होगा।आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा।.

सेक्सी पिक्चर देखने ब्लू पिक्चर - सनी लियोन के बीएफ दिखाएं

यहीं मेरे और बेबी के साथ सो जाओ।मैंने तुरंत ‘हाँ’ कर दी।फिर हम दोनों सोने के लिए बिस्तर पर आ गए। आंटी को और मुझे नींद नहीं आ रही थी.मुझे भी काफ़ी परेशान कर रखा था उसने!ये सुनकर आंटी चौंक गईं और पूछने लगीं- आपको कुछ कहा क्या उसने? क्या बात है?तब मैंने अचकचा कर बहाना बना दिया नहीं.

उसको देख कर तो मेरे होश ही उड़ गए। रोशनी मेरे कमरे में आई और जैसे ही उसकी नजर मेरे लंड पर पड़ी, वो थोड़ी देर तो वहीं खड़ी रही, बाद में वो थोड़ी देर मेरे मुँह को ताकती रही कि मैं सो रहा हूँ।यह कन्फर्म होते ही वो आहिस्ता से मेरे बिस्तर के पास आई. सनी लियोन के बीएफ दिखाएं की आवाज़ आ रही थी, मैं भी पूरे जोश में लंड चूस रही थी। कुछ ही देर में उसका पानी निकल गया, मैंने उसके रस को बाहर थूक कर कुल्ला किया और सीधी खड़ी होकर उससे लिपट गई।ना वो कुछ बोला.

शायद उसकी छोटी सी चूत में मेरा हब्शी लंड फंस गया था। मुझे भी अपने लंड में दर्द महसूस हो रहा था।तभी मैंने एक झटका और मारा, तो मेरा पूरा लंड रजिया की चूत में समां गया। रजिया मुझे धक्के देकर हटा रही थी और रो रही थी।उसकी हालात देख कर बिल्लू भी बोला- रहने दे खान.

सनी लियोन के बीएफ दिखाएं?

नींद नहीं आ रही है क्या?मैं डर गया और कहा- नहीं चाची मैं तो पानी पीने को उठा था।फिर मैं पानी पीकर वापस जाकर लेट गया। मुझे इसके बाद पूरी रात नींद नहीं आई. अन्दर जा रहा है!बस अब सर ने मोटा लम्बा लंड उसकी गांड में बेरहमी से पेल दिया। टोपा अन्दर जाते ही सर ऊपर चढ़ गए, अपने दोनों हाथ पीछे से कैलाश के बगल से निकाल कर आगे कस लिए। फिर लंड के जोरदार धक्के से उसे पूरा का पूरा गांड के अन्दर कर दिया और कैलाश से चिपक कर रह गए।एक-दो पल बाद सर ने उसके गालों के चुम्मे लेने शुरू कर दिए. तो वहाँ एक और नजारा देखने को मिला। एक बन्दर एक बंदरिया पर चढ़ रहा था। थोड़ा देर सेक्स करने के बाद बन्दर का माल निकल गया तो उसने हाथ में लगा सब खा लिया।मेरी चिकित्सक बुद्धि से मैं ये खेल देख रहा था। मैंने सब अपने कैमरे में कैद कर लिया। यह सेक्स कला बंदरों से ही अनुदानित है.

लेकिन गाजर टस से मस नहीं हुई।फिर मैंने सोचा थोड़ा हिला डुला कर खींचती हूँ। मैंने इतनी तकलीफ के बावजूद गाजर को हिलाने के लिए उसे और अन्दर धकेली और फिर बाहर खींचने लगी, मेरी तो जान ही निकल गई, फिर भी गाजर को निकालना तो जरूरी था।मेरे जोर लगाने से गाजर बीच से टूट गई… हाय राम. पति के दोस्त योगी से मेरी आँख लड़ गई थी और अब उसका लंड लेने के लिए मेरी चुत मचल उठी थी।अब आगे. प्लीज मेरी बन जाओ।कुछ ही पलों बाद उसने जबाव मैसेज कर के कहा- तुम पागल हो क्या। मैं तम्हारी टीचर हूँ और तुमसे बड़ी भी। ये सब ठीक नहीं। मैं ये सब नहीं कर सकती। तुम बचकानी हरकत करोगे तो क्या मैं भी करती रहूँ। मुझे तुमसे कोई बात नहीं करनी।उसके बाद न मैंने कुछ बात की.

कोई सपना पूरा नहीं हुआ।बात आज से 3 साल पुरानी है। मैं फिर अकेला दर्शन करने गया था। माता के दर्शन करके सुबह 7 बजे की बस से वापिस भुज आ गया और अपने रहने के लिए होटल ढूँढ रहा था क्योंकि मेरी वापसी की बस की बुकिंग रात के 9 बजे की थी।मेरी कमनसीबी ने यहाँ भी पीछा नहीं छोड़ा। क्रिसमस की वजह से सारे होटल पैक थे।आख़िरकार एक होटल में सिंगल बेड कमरा मिला. वंदना ने मेरे बालों को अपनी उंगलियों में जकड़ कर खींचना शुरू कर दिया और अपनी गर्दन इधर-उधर कर अपनी बेचैनी का परिचय देने लगी. एकदम शेप्ड और कसे हुए मम्मे और उसकी उन्नत छातियों के बीच की गहरी खाई.

पर उसे देख कर कोई भी उसकी उम्र 20 साल से कम नहीं समझता है। वो दिखने में किसी मॉडल से कम भी नहीं लगती है, इसी के कारण मैं भी उसकी सुन्दरता का कायल था।एक दिन की बात है. किसी को पता भी नहीं चलेगा!हर्षा भाभी पूरे गुस्से में आ गई और बोली- अच्छा ठीक है.

मैं वैसी लड़की नहीं हूँ।मैं- तो मैं भी उन जैसी लड़कियों से इतनी बात नहीं करता।मुस्कान- बड़े गंदे हो आप!यह कहकर और मुस्कुरा कर वो चली गई।मैं अब पूरी तरह समझ चुका था कि वो मुझे मन ही मन चाहने लगी है। अब मेरा दिमाग़ भी पता नहीं कैसे, उसकी तरफ जाने लगा था। वो जब भी घर आती मुझे अच्छा लगता.

हाँ उसने बिल्कुल सही कहा था क्योंकि मेरे निप्पल मुलायम थे और सर्कल थोड़ा काला सा था मगर छोटा था।खैर रेशमा ने कहा- भाई अभी तक आप अंडरवियर में हो? इतना कैसे बर्दाश्त कर लिया?तब सैम ने मुस्कुरा के कहा- खुद ही देख लो.

मेरे करीब आ जाओ।मैं आंटी के पास जाकर उनका घूँघट उठाया और उनके होंठों पर किस करने लगा। कुछ मिनट तक मैंने किस किया तो आंटी के शरीर में अजीब किस्म की कंपन सी होने लगी।अब मैंने अपने कपड़े उतारे और आंटी के पूरे शरीर को चूमने लगा।मैंने आंटी के ब्लाउज का हुक खोल दिया आज आंटी ने अन्दर फुल नेट की ब्रा पहन रखी थी. मामी के कपड़े मेरे हाथ में ही थे।तभी मामी बोलीं- क्या देख रहे हो?मैं ‘कुछ नहीं. तब उसने मुझे नीचे लिटाया और खुद ऊपर आकर मुझे चोदने लगा और मेरी चुची चूसने लगा.

इस वजह से मेरा रोब अपने दोस्तों पर जम गया था। उन्हें कोई भी काम होता. उनके पति की 2009 में एक रोड एक्सिडेंट में मौत हो गई थी, तब से वो इस होटल में काम करती हैं।आंटी का फिगर साइज़ 40-38-42 का बड़ा ही मादक है. इसलिए वो अपने हाथों को तो नहीं हिला पा रही थीं मगर अब भी भाभी पैरों को हिलाकर छटपटा रही थीं और कंपकंपाती आवाज में यही दोहरा रही थी कि मुझे छोड़ दो.

मेरा हाथ उसके बालों में चला गया, मैं बाल खींचते हुए उसे अपनी ओर खींचने लगी और उसने यंत्रवत मेरे निप्पल पर अपना मुंह टिका दिया।मेरी सिसकारियाँ निकल गई.

और क्या-क्या कराओगे मुझसे!इतना ही कह कर वो मेरे लिंग पर जीभ फिराने लगी. उसके कुछ देर बाद मैं उसे उठाकर बाथरूम में ले गया, वहाँ हम दोनों साथ में नहाए. आई एक सॉरी!उन्होंने मुझे बहुत खरी-खोटी सुनाईं और शर्मिंदा कर दिया।एक मिनट पहले जो लंड फुंफकार मार रहा था, वो अब ना जाने कौन से बिल में छुप गया था।मैं जाने लगा.

बस कभी कभी टोपा चुदाई में मजा आता है।’‘पर भाभी, कभी कभी जब मैं पूरे जोश में होता हूँ, जैसे आज था. हिंदी सेक्सी स्टोरी पसन्द करने वाले मेरे प्यार दोस्तो, लंड के राजाओं और चूत की रानियो. पर वो अभी तक लगा हुआ था। उसका काम अभी नहीं हुआ था।वो मेरी रसीली चूत में अब और जोर-जोर से लंड पेलने लगा और बोल रहा था ‘साली रंडी है तू.

उसकी बगल में बाल आने लगे थे।भूमिका अब काफी कामुक दिखने लगी थी।उसका सुन्दर गोरा चेहरा और गदराया शरीर देखकर अच्छे अच्छों का लंड खड़ा हो जाता था। मेरे दोस्त भी मेरे घर जानबूझ कर आते थे ताकि वो मेरी बहन को आँखों से चोद सकें।पर किस्मत वाला मैं था.

बहुत गर्म है यार!सरला भाभी अपने आप धीरे-धीरे अपने चूतड़ों हिला कर चुदाई करते हुए उसके ऊपर झुक कर अपनी चूचियों को कमल के सीने पर रगड़ रही थीं- हाय…राम कमल, यह तो बहुत कड़क हो रहा है यार. उसकी छाती लाल हो गई थी। वो अभी भी पागलों की तरह चिल्ला रही थी- आह्ह.

सनी लियोन के बीएफ दिखाएं ’मैं और जोर से चुत चूसने लगा।आंटी ने कहा- आह मैं झड़ने वाली हूँ।अभी मैं कुछ जबाव देता कि वो झड़ गईं. जैसे मैंने ये किया, उसने मुझ फिर से कस लिया, 8-10 धक्के मैंने और लगाए कि मेरा शरीर भी पिघल कर उसके शरीर में समाने लगा, इसके साथ मैं भी निढाल सा उसके ऊपर ही लेट गया.

सनी लियोन के बीएफ दिखाएं यह कहती हुई सारिका अपनी चूत से रस धार अंकुर के लंड पर छोड़ने लगी।अंकुर भी गालियाँ देते हुए चोदे जा रहा था- आह सी. आप जितने हैंडसम लड़कों की तो चार-पांच होती हैं, आपकी भी जरूर होंगी।मैं- मामी आपसे झूठ न बोलूँगा.

पर उसने कुछ नहीं कहा, तो मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई। हम दोनों यूं ही सहलाने का मजा लेते हुए बातें कर रहे थे।फिर मैं अपना हाथ उसकी कमर से उसके आगे मम्मों पर ले आया.

जानवर जानवर वाली सेक्सी

उसकी आँखों से आँसू टपकने लगे। मैं उसके करीब बैठकर उसे समझाने लगा- इसमें रोने की क्या बात है?मैंने उसके आँसू पोंछते हुए कहा. उफ़… नंगी करके भी कर लेना राजा… जब मौका मिलेगा। मैं खुद आ जाऊँगी राजा तुझे मजा देने के लिए. तब आपको मुझे खुश करने के लिए आना पड़ेगा।मैंने पैसे जेब में डाल लिए और अपने रूम पर आ गया।अब जब भी भाभी को टाइम मिलता है.

सोचा कहीं गीता को कोर्इ दिक्कत न हो।तब मैंने चाची को चुप कराते हुए कहा- नहीं चाची गीता का आपरेशन में कोर्इ दिक्कत नहीं आई. (जो जयपुर में ही हैं) लेकिन बारिश हो रही है, तो वो बोल रहे हैं कि कल चले जाना. बस मैं भगवान से प्रार्थना कर रहा था कि सुबह बचाना मुझे।सुबह सब सामान्य था, मैंने नाश्ता किया और मामी को बोला- मैं चलता हूँ।मामी आज गुमसुम थीं.

इसलिए मैंने भाभी की जाँघों के बीच से अपना सर निकाल लिया और रेखा भाभी की तरफ देखने लगा।उन्होंने आँखें बन्द कर रखी थीं, उत्तेजना के कारण उनके होंठ कंपकंपा रहे थे और गोरा चेहरा बिल्कुल गुलाबी हो रखा था।जब कुछ देर तक मैंने कोई हरकत नहीं की.

पर रह-रह कर वो अपनी गांड हिला-हिला कर अपनी बुर की दरार से मेरे खड़े लंड को अलग करने की कोशिश कर रही थी, पर हो उसका उल्टा रहा था। उसकी गांड हिलने से मेरा लंड रोमा की बुर में कपड़े सहित धंसता जा रहा था।अभी हम करीब 3-4 किलोमीटर ही गए होंगे कि मेरे लंड को गीला-गीला सा महसूस होने लगा, शायद रोमा की बुर ने पानी छोड़ दिया था। उसका बदन भी कंपकंपाने लगा था. तो मैंने भी लंड का सुपारा चुत के मुँह पर रखा और एक जोर का धक्का मार दिया।मेरा लंड सरसराता हुआ चुत में घुसता चला गया और सीधा उसकी बच्चेदानी से टकराया। वो इस अचानक हुए हमले से चिल्ला उठी. मैं तो चाय के लिए इंतज़ार कर रहा था।‘हाय सच्ची कमल…’ भाभी के चहेरे पर शरारती मुस्कान थी- कुछ नहीं हो रहा कमल.

पर मैं कुछ नहीं बोलती थी।इससे उसकी हिम्मत बढ़ गई और उसने बात करते-करते ब्लैंकेट के नीचे मेरे पैरों पर हाथ रख दिए और धीरे-धीरे सहलाने लगा। इसी के साथ हम दोनों ने बातें करना भी जारी रखा।मेरे तरफ से कुछ भी विरोध न पाते देख उसने हाथ धीरे-धीरे ऊपर की ओर खिसका कर मेरे नंगे टाँगों को घुटनों तक सहलाना चालू कर दिया।मेरा तो मन कर रहा था कि जाऊँ और उसकी गोद में बैठ जाऊँ. मैं चुदास से भर उठी थी और मस्ती में ना जाने क्या-क्या बड़बड़ा रही थी। मैंने आँखें बंद कर ली थीं. इतनी मुलायम चुची थी कि बता नहीं सकता…मैं दोनों चुची हाथ में लेकर मसल रहा था.

तो कुछ लड़के गिट्टी बालू का सहारा ले कर हॉस्टल की फर्स्ट फ्लोर पर चढ़ने में कामयाब हो गए। ये सब देख कर एक सिक्युरिटी गार्ड आकर सबको रोकने लगा। इतने में सुपरिटेंडेंट आ गया. ’पूरा कमरा उसकी मद्धिम स्वर की कामुक आवाजों से गूँज रहा था। इस माहौल में मेरा जोश बढ़ रहा था।फिर मैं नीचे उसकी पेंटी पर आया और उसे भी उतार दी। क्या पकौड़ी सी फूली गुलाबी चुत थी.

इतना अच्छा लग रहा है… गया… गया!’रवि ने जोर से झटका मारा और उसकी गर्म गर्म पिचकारी निकल कर नोरा की स्कर्ट के नीचे जांघों पर दूर तक गीला कर गई।नोरा ने रस अपनी जांघों पर मल दिया- वाह मेरे राजा… वाह. बस!मैं- तुम्हें ऐसे देख कर तो खाना छोड़ तुम्हें खाने का मन करने लगा है।निक्की- बहुत उछलो मत. आंटी के पति 3 दिन के लिए बाहर गए थे, आंटी घर पर अकेली थीं। मैं खाना खाकर बाहर घूमने के लिए निकला ही था मेरे पास आंटी का फोन आया- मेरी कमर में मोच आई है और सोहल के पापा भी घर पर नहीं हैं.

वो ये बातें मुझे जलाने चिढ़ाने के लिए बोल रही थी।पर असलियत वो नहीं जानती थी कि दरअसल मैं खुद ही अब सेक्स के लिए तैयार थी पर उससे होने वाले दर्द का अंदाजा लगाने के लिए मैंने ऐसी शर्त रखी थी.

मैं तुम्हारी चाची हूँ।मैंने बोला- जो भी हो, फिलहाल तो मुझे अपने मन की करने दो।फिर मैंने उनके मम्मों पर अपना हाथ फेरा और उनको किस करके उन्हें देखने लगा।तो चाची मुझे मस्त निगाहों से देखने लगीं और बोलीं- और करो ना. मेरी पकड़ ढीली होते ही वो एक झटके से मेरे ऊपर से उठ गई और रूम से बाहर जाते हुए मुझसे बोली- जल्दी उठिए. ’ की रट लगाने लगी, मैं अपने ही काम में व्यस्त रहा।जब मैंने उसके कंधों, कान और गाल को चूमा तो वो सिहर उठी। उसने मुझे जकड़ना चाहा और तभी मैंने उसके मुंह में जीभ डाल दी। मैं उसे उत्तेजक चुंबन देना चाह रहा था और वो मेरे हर हमले का जबाव मुझसे बढ़ कर दे रही थी।उसने मेरे कानों में कहा- संदीप अब देर किस बात की.

!उसने नीचे बैठते हुए मेरा खड़ा और रस छोड़ता हुआ लंड अपने मुँह में ले लिया। रवीना के मुँह में लंड क्या गया, मैं तो सातवें आसमान पर उड़ने लगा था।रवीना टंडन के मुँह में मेरा लंड… मुझे यह सोच कर ही उत्तेजना हो रही थी।उसके चूसने से मैं जल्द ही झड़ गया. इसलिए सिर्फ अच्छी बातें करने वाले लोग ही मुझे कमेंट या फिर मेल करें।[emailprotected].

लेकिन ज़्यादातर वो फेक सी लगती हैं। मैं जो इन्सिडेंट आपके साथ शेयर कर रहा हूँ. और मुझसे कुछ कहा क्यों नहीं?मम्मी बोली- मैंने तुझसे पहले भी कई बार बोला था कि सेक्स के बारे में मुझसे कुछ भी बेहिचक पूछ लेना।फिर मैंने मम्मी से बोला- मम्मी… सेक्स करने से पहले नुनू पर कंडोम क्यों लगाते हैं?तो मम्मी बोली- यह एक तरह की सेफ्टी होती है. 30 बजे थे। मैं काफी गर्म हो गया था और मैंने सोच लिया कि आज कुछ भी हो जाए, बाजी की बुर चुदाई ज़रूर करनी है।रात के 2.

ससुर और बहू की सेक्सी फिल्में

चिकनी चूत होने के कारण उसकी गर्म वादियों में मेरा लंड घुसता चला गया।उसके मुख से निकली एक जोरदार चीख.

तू यार खामखां मुझपर शक कर रही है। अगर कोई होता तो पगली मैं तुझे न बताती? तुझसे मेरी कोई बात छिपी है क्या??सरोज- साली. वो अपनी पुरानी छुपम छुपाई खेलेंगे।’मैंने हंस कर उसको अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसके मुलायम चूतड़ों को दबाने लगा। वो अपने बूब्स मेरे सीने में दबा रही थी और मुझे चूम चूम कर प्यार कर रही थी।‘अच्छा चल आ जाऊँगी. यक़ीन मानिए कुछ हालात ऐसे बन गए थे कि लिखने का मन नहीं कर रहा था! पर फिर किसी चाहने वाले से किए हुए वादे की याद आ गई!अमूमन मैं वादे तोड़ता नहीं… अपने वादे को पूरा करते हुए इस कहानी को आगे बढ़ा रहा हूँ!उम्मीद है कि रेणुका के साथ बीती सुबह ने आप सबका भरपूर मनोरंजन किया होगा.

तो उसके 34 साइज़ के दोनों चूचे उछल कर बाहर आ गए। उसके मस्त मम्मों को देखकर मैं पागल हो गया और उसके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा, साथ ही उसके दूसरे चूचे को हाथ से मसलने लगा। उसके मुँह से कामुक सीत्कारें ‘आआ. मैं थोड़ी पतली दुबली थी, कूल्हे ज्यादा नहीं निकले थे पर सीने के उभार स्पष्ट कठोर कसे हुए नुकीले और उभरे हुए थे, 30-32 के बीच के रहे होंगे क्योंकि 32 नं. सासु मां का सेक्सी वीडियोमुझे अकेले डर लगता है।मैं बोला- मम्मी से बोल दो।मम्मी बोलीं- चले जाओ।मैंने सोचा कि आज शायद मेरी लॉटरी लग गई है, रात के 7.

मानो हफ्ते भर पहले ही बनाई हों।मैं अब पूर्ण रूप से वासना के आवेश में था. ’मैं उसकी कामुक आवाज सुन कर और भी जोश में आ गया और देर ना करते हुए उसकी बुर में अपना लंड डालने लगा। पर मेरा लंड उसकी बुर में नहीं घुस रहा था।मैं समझ गया कि दीदी ने अब तक किसी से नहीं चुदवाया है, मैंने दीदी को जोर से बांहों में पकड़ लिया और अपना लंड दीदी की बुर पर लगा कर जोर से एक धक्का मारा, मेरा आधा लंड एक बार में ही दीदी की बुर को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

भाभी ने मुझे अपने घर बुलाया और अपने पति की बदसूरती के कारण संतान पर आए हुए असर को बताने लगी थीं। साथ ही वो दूसरे बच्चे के लिए सोच रही थीं और उन्होंने मुझे इसी लिए बुलाया था।अब आगे. !’मैंने बहुत जोर का धक्का चाची की चुत में लगा दिया। अब तो चाची की चुत भी बहुत बड़ी हो गई थी, इसलिए मेरा लंड एक ही बार में पूरा अन्दर चला गया।चाची ने धीरे से सिसकारी भरी- उम्म्म्म. तो दूसरे दिन जल्दी उठने की चिंता नहीं थी।उस रात हमने एक बजे तक बात की।कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा।एक दिन मैंने उसे एक अश्लील मैसेज भेज दिया.

एक चौथाई हिस्सा हमें दे देते हैं।गाँव में मेरा दिल तो नहीं लगता है. दबा दे राजा!सरला भाभी ने अपना ब्लाउज खोल दिया और चूचियों को आज़ाद कर दिया। कमल मस्ती में सरला भाभी की चूचियों को दबाने लगा और निप्पलों को गोल-गोल घुमा कर मींज रहा था।भाभी सिसिया रही थीं- सी. लेकिन मुझे भी जुनून सवार था।अब मुझे कल सुबह का इंतजार था। अगली सुबह सब प्लान के हिसाब से ही हुआ, मेरा फ्रेंड बाहर खड़ा हो गया और हम दोनों क्लास रूम में अन्दर चले गए।मैंने छवि की तरफ प्यार से देखा भर था.

यस बस अब तो अपना भी झड़ने वाला है।’कमल ने चूत चोदने की रफ़्तार थोड़ी तेज़ कर दी।इस तरह करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद पहले गीता अपनी चूत भींच कर चूतड़ उठा कर झटके मारते हुए फिर से झड़ गई। फिर कमल ने भी उसकी चूत में अपना रस छोड़ दिया और लंड बाहर निकाल कर उसके पेट और चूची पर अपने रस की बूँदें टपका दीं।गीता ने उसके लंड को अपनी चूचियों में दबा कर भींच लिया- ओह…माय.

तो जानते हो, मेरे पति मुझे घर से निकाल देंगे!इस बात को कह कर वो चिंता करने लगी।मैं चुप बना रहा।हर्षा भाभी- अगर उसे पता चल गया और ऐसा हो गया. तो आंटी की सेक्स की भूख बहुत बढ़ गई थी। अब तो खैर अंकल भी बहुत जल्दी पानी छोड़ देते थे। ये सब मुझे इसलिए पता चल गया था क्योंकि एक दिन आंटी फोन पर अपनी बहन से बात कर रही थीं, तो फोन पर उनकी बहन ने सलाह दी कि चुदाई करने का कहीं और जुगाड़ फिट कर लो.

दोस्तो, मेरा नाम रॉनित है। मैं गुजरात का रहने वाला हूँ। मुझे शुरुआत से ही अन्तर्वासना की हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ने का बड़ा चस्का लग गया था।ये बात उन दिनों की है. सपाट पेट और नाभि की फोटो ले ली थी, वो भाभी के कड़े निप्पलों को गोल-गोल घुमा रहा था और मरोड़ रहा था। उसे मालूम था कि सरला भाभी को यह बहुत अच्छा लगता है और इससे भाभी की चूत खूब गर्म और गीली हो जाती है।‘जालिम चोदू यार. उसके बाद सोचा था कि पढ़ लिख कर कुछ मस्त तगड़ा गबरू प्यार करने वाला जवान मिल जायगा.

अब मैं चुप हो गया और थोड़ी देर बाद उनकी तरफ देखा और ‘सॉरी’ बोला।उन्होंने सेक्सी स्माइल देकर कहा- कोई बात नहीं।ऐसे ही हमारे बीच कुछ देर इधर-उधर की बातें चलती रहीं।अब रात के 12 बज चुके थे और कुछ देर बाद मनमाड़ स्टेशन पर गाड़ी रूक गई। मैं चाय लेने के लिए गाड़ी से नीचे उतरा और चाय ली।मैंने उनसे पूछा. हम दोनों की व्याकुलता और उत्तेजना बढ़ती गई क्योंकि हम दोनों हॉस्टल में थे और सिर्फ कॉलेज खत्म होने के बाद मिल पाते थे। धीरे-धीरे हमारे बीच मिलने के बाद बातें कम होने लगी और प्यार ज्यादा होने लगा। भगवान भी हम दोनों का साथ दे रहा था। भीषण गर्मी का मौसम था। क्लास खत्म होने के बाद ना तो टीचर लोग कॉलेज में रुक पाते थे. फिर मैंने कहा- करो… अंदर डाल कर मेरी प्यास बुझा दो!उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया, धक्का दिया और पूरा लंड मेरी चूत में चला गया एक बार में!मेरी जान निकल गई क्योंकि उसका लंड बहुत मोटा और लंबा था.

सनी लियोन के बीएफ दिखाएं उनका साइज 34-30-32 का एकदम जानलेवा है। इस फिगर में वो बहुत ही गर्म माल लगती हैं।श्रेया भाभी को नाइटी में देख कर मेरा उनको चोदने को मन करने लगा।दो दिन बाद भाभी ने लड़के को अपने मायके में छोड़ दिया. तब भी मैं तुम्हारे बच्चे की माँ ही बनना पसंद करूँगी।इसके बाद मैंने उसे कई बार चोदा।दोस्तो, मैं अपनी जिन्दगी में आज तक 7 लड़कियों को चोद चुका हूँ और उन सभी का यही कहना है कि मैं बहुत प्यार से चोदता हूँ।आप सभी में ईमेल का मुझे इन्तजार रहेगा।[emailprotected].

सना खान की सेक्सी

तब उसने मुझे नीचे लिटाया और खुद ऊपर आकर मुझे चोदने लगा और मेरी चुची चूसने लगा. तो मैं पागल हो गया।उसके संतरे जैसे चूचे और चिकनी नंगी चूत साफ़ नज़र आ रही थी।मैं बोला- क्या हुआ. हर मर्द अपनी बीवी को देता है।’मैंने उसको लेटा दिया और अपना लंड उसकी चुत पर रगड़ने लगा.

क्योंकि सैम मेरी योनि के सामने अपना मुंह रखकर अपना चेहरा थोड़ा सा ऊपर की ओर रखकर आँखें बंद करके मुंह थोड़ा सा खुला रखकर कुछ सूंघने की मुद्रा में था, जैसा हम लजीज भोजन या फूल या परफ्यूम को सूंघते हैं।अब तक मेरी योनि ने रस बहा दिया था और मेरी पेंटी गीली हो चुकी थी। मैंने जाकी की नार्मल कट सफेद पेंटी पहन रखी थी. लेकिन वो बार-बार ना में जवाब दे रही थी। लेकिन मना करते समय उसके मुस्कुराने से उसकी ‘ना’ में भी ‘हाँ’ दिख रही थी।फिर मैं बेड से उठा और भाभी के करीब जाकर उसके होंठों पर किस कर दिया. ब्लू पिक्चर वीडियो दिखाएं सेक्सी’ बोल रही थीं, पर मैं जान गया था कि ये ‘ना’ नहीं है, ये बस ‘करता जा.

वो अब बिल्कुल ठीक है। मैंने मशीन से उसकी नली खोल दी है। अब कोर्इ परेशानी की बात नहीं है। गीता से घर जाकर पूछ लेना।तभी एक मरीज मेरे क्लीनिक आ गया, कहने लगा- डाक्टर साहब कहाँ गए थे.

किसी को पता नहीं चलेगा।पहले मना करने के बाद चाची ने कहा- देख किसी को बताना मत और सिर्फ एक बार ही किस करेगा ना!मैंने कहा- हाँ ठीक है. क्या लोगे, जूस या बियर?कहते हुए उसने म्यूजिक चला दिया।आशु भी खड़ा हुआ और उसने सपना के दोनों हाथ थाम लिए और उसे अपने नजदीक खींचा। सपना ने भी आगे आकर उसके होंठ से अपने होंठ लगा दिए, दोनों काम की आग में जल गए, आशु ने सपना को कस के भींच लिया.

फिर पता नहीं इससे अच्छा कब मौका मिलेगा।मैंने मौके पर चौका मारने के सोची और अपना हाथ उसके कंधे पर रख दिया। उसने हाथ रखने पर मुझसे कुछ नहीं कहा तो मेरी हिम्मत बढ़ गई।मैं धीरे-धीरे उसके मम्मों को टच करने लगा. इसका अहसास ही नहीं हुआ।उसका बच्चा सो रहा था। मैं उसे गोद में उठा कर कमरे में ले गया और उसे लिटाकर पागलों की तरह चूमने लगा।वो भी अपने होश खो बैठी और उसका हाथ मेरे लंड को सहलाने लगा। कब हमने एक-दूसरे के कपड़े उतार दिए. सैम ने अपना बाल खुजाते हुए कहा- यार, मैं अभी जवानी की दहलीज पर कदम रख रहा हूँ और दो-दो नंगी लड़कियों के साथ रहकर खुद को कब तक संभाल पाता इसलिए चड्डी पे ही माल निकल गया.

क्या कर रहे हो!मैं उठा और अपने शिश्नमुंड को उसकी योनि पर रगड़ कर उसकी योनि रस से गीला किया.

मामी मेरे ऊपर बैठ कर पेशाब करता। हम दोनों ही पोंछते नहीं हैं। हम दोनों सारा दिन वैसे ही पेशाब से नहा कर बने रहते. ओर वो और जोर से आवाज़ें निकालने लगी। उसकी मादक आवाजें मुझको और उत्तेजित कर रही थीं।हालांकि मुझको चुत चाटना पसंद नहीं है. आपकी परेशानी को दूर करने के लिए मैं जरूर कुछ करूँगा। मैं गांव और किसान परिवार से हूँ और मैं अपना गठीला और भरा हुआ शरीर आपको दे सकता हूँ.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी व्हिडीओ डॉट कॉमपर अभी नहीं है।ये सुन कर मामी मुझसे शादी की बात करने लगीं- कैसी लड़की पसंद करेगा?मैंने छूटते ही बोला- बस कोई आप जैसी मिल जाए।मामी हंस कर बोलीं- अच्छा. शायद इसलिए जल्दी ही घुस गया।फिर मैंने लंड बाहर निकाल कर फिर अन्दर डाला तो वो दर्द से चिल्ला उठी- प्लीज मुझे छोड़ दो.

नया सेक्सी वीडियो 2022

’फिलहाल मेरा लंड बहुत जोश में था, मैं चाची की चुत को चोदे जा रहा था। चाची की चुत से मेरे लवड़े की ठोकरों से मस्त आवाजें आ रही थीं. भाभी की हरी झंडी पाकर मैं भाभी की रसीली चूचियों पर टूट पड़ा। मेरी जीभ उनके कड़े निप्पलों को टटोल रही थी. उम्म्ह… अहह… हय… याह… ही सुनाई दे रही थीं।पहली बार होने के कारण ज्यादा समय रुक नहीं सका और कुछ मिनट में ही माल निकलने को हो गया। मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और उससे कहा- मेरे अन्दर से कुछ निकलने वाला है.

’ करके मेरे लंड का रस चूस रही थी।अचानक उसने मेरे लंड को बाहर निकाला और चिल्लाई- साला तू झड़ता क्यों नहीं है. बताना मत भूलना और प्लीज आप लोगों मुझसे उम्मीद मत रखना कि मैं आप लोगों को अपनी चुदाई करने का मौका दूँगी क्योंकि अब मेरा पति मेरी मज़े से चुदाई करता है और मुझे अब किसी और लंड की तलाश नहीं है. और उनके बच्चे जिनमें 16 साल का लड़का राहुल और 19 साल की लड़की शिल्पा थे।उनकी लड़की शिल्पा मेरे ही साथ पढ़ती थी और लड़का 10वीं में था। पति महोदय और लड़का नोएडा में रहते थे.

उन पर नीली ब्रा क्या मस्त लग रही थी, ऊपर से उनका गोरा और चिकना बदन इस नजारे में चार चाँद लगा रहा था।मैं उनके गालों को चूमने लगा और गाल चूमते-चूमते मैंने एकदम से उनकी ब्रा का हुक खोला और निकाल फेंकी। अगले ही पल उनके गोल-गोल नरम-नरम गोरे नंगे चूचे मेरे हाथों में थे, मैं उन्हें मस्त दबा रहा था। फिर मैं उन्हें आम की तरह चूसने लगा। मामी भी इस चूची चुसाई का भरपूर आनन्द ले रही थीं और आज वे ‘बस बस. आप इस साड़ी की जगह कुछ हल्का पहन लो।तब उन्होंने मुझे अपनी मेहँदी दिखा कर कहा- अभी तक ये सूखी नहीं है… तो मैं कैसे चेंज करूँगी।मैंने कुछ नहीं कहा और आइस क्रीम खाने लगा।तभी माँ ने कहा- मेरे पल्लू में पिन लगी है. तो वो बेडरूम का अंदाजा ले रही थी। मैं वापस चला गया और 5 बजे लौटा। अब बुक्स ठीक से रख दी गई थीं।वैशाली अब सामान्य दिख रही थी। अब मैं रोज वहाँ पर एक इसी तरह की किताब रखने लगा और उसे तड़पाने लगा। इसका मुझे आगे जाकर फायदा हुआ क्योंकि किताब में सब तरह की तस्वीरें थीं.

जब मैं घुटने के पास पहुँचा तो उसे हाथ से सहारा देकर उल्टा होने का इशारा किया जिसे वो समझ गई और पलट कर उल्टी लेट गई. शायद उसका घर था, ये बहुत बड़ा था।उसने मुझे अन्दर लाकर सोफे पर बिठाया और पूछा- कुछ खाना वगैरह खाओगे?मुझे भूख तो लगी थी.

जब वो पापा की फुनिया चूसती हैं।फिर मैंने उसको पूछा- अच्छा अब तू वो करेगा ना.

वो बिल्कुल वैसे ही दिख रही थी।मैंने पूछा- सो रही थी क्या?उसने धीरे से कहा- हाँ. सेक्सी वीडियो पंजाबी ब्लू फिल्मऔर मेरी चूची उनकी छाती से दब गई थी… उनकी और मेरी सांसें एक दूसरे को उत्तेजित कर रही थी।यह मेरा पहला पुरुष स्पर्श था।तभी मुझे मेरी बुर से कुछ निकलता प्रतीत हुआ, मेरी पेंटी गीली होने लगी. इंडियन सेक्सी वीडियो भाई बहन कीउनके पेटीकोट ऊपर करते ही एक हल्का सा भभका उनके पेटीकोट के अन्दर से बाहर निकला और मानो एक हल्की सी गर्म खुशबूदार भांप मुझे महसूस हुई।चाची का पेटीकोट उनके घुटने पर था, मैं उनकी जांघें एकदम साफ देख सकता था, मैंने डरते-डरते चाची की जाँघों को हाथ लगाया और मुझे ऐसा लगा मानो मैंने जन्नत छू ली हो. मैं इंजीनियर हूँ, मैंने अपनी वाइफ को अपने ही दोस्त से चुदवा दिया था.

पर खुशी के भी थे क्योंकि उसके आँखों में कुछ पा लेने वाली चमक थी।उसकी गांड में लौड़ा आधा घुसा था और उसने मुँह में रखे रूमाल को भींचते हुए और जोर लगाया। उसकी आँखें बड़ी हो गईं.

शालू मेरा ही इंतजार कर रही थी।जैसे ही मैं उसके घर के अन्दर गया तो वो मुझसे कहने लगी- मैं तुम से आज के बाद बात नहीं करूँगी।तो मैंने पूछा- क्यों?वो कहने लगी- मेरे फैमिली को गए 5 घंटे हो गए है और तुम अब आ रहे हो।यह कहते-कहते वो अपने भाई के बेडरूम में चली गई। मैंने उसके पीछे जा कर पकड़ लिया और गर्दन चूमते हुआ उसे प्यार से सॉरी कह कर धीरे-धीरे उसकी गर्दन को किस करते-करते मम्मों को दबाने लगा. पर अब मुझे बिना गांड मारे रहा ही नहीं जा रहा था।उस रोज के बाद मैं हर रोज लंड चूसने वाले की. चाची के मुँह से उनकी लिपस्टिक की खुशबू और हम दोनों की गरम साँसें आपस में टकरा रही थीं।धीरे-धीरे हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना शुरू कर दिया।मैं चाची को बुरी तरह से किस किए जा रहा था.

तो वो खुशी-खुशी राज़ी हो गई। हम दोनों ‘जन्नत-2’ मूवी देखने गए।मूवी चालू हुई. ’ बोला और मेरा हाथ पकड़ लिया।उस दिन पूरी शाम 3 घंटे वो मेरे साथ बात करती रही, उसने मुझे किस भी किया।अब रात हो गई और फिर खाना खा कर मैं सोने चला गया। आधे घंटे के बाद उसका फ़ोन आया। मैंने फ़ोन उठाया तो देखा उसका कॉल है. मेरी हाइट 6 फुट है। मैं एक औसत और मजबूत शरीर का मालिक हूँ। मेरा औजार (लंड) कोई बहुत बड़ा नहीं है.

सेक्सी महिलाओं

’ करके जोरों से मेरे कूल्हों को भींच लिया।मगर अगले ही पल फिर से मेरा लिंग योनिद्वार से निकल गया। मैंने भी हार नहीं मानी। मैं फिर से अपनी कोशिश में जुट गया. ठीक उसी जगह पर मैं अन्नू के साथ जाकर बैठ गया।अब हम दोनों दुबारा बातचीत करने लगे। मैं और वो स्टडी की बातें कर रहे थे कि आपने कौन सा सब्जेक्ट ले रखा है वगैरह वगैरह. तो अंधेरे का फायदा उठाकर मैंने अपना पजामा थोड़ा नीचे सरका कर अपना लंड बाहर निकाल कर सामने की ओर झुका दिया.

मेरे रूम के ऊपर एक भैया और भाभी रहते हैं, उनके बच्चे नहीं हैं। भाभी के पति कहीं जॉब करते हैं। एक बार भाभी को अपने घर जाना था, भैया को छुट्टी नहीं मिल रही था, जिससे वो बहुत परेशान थीं।एक दिन भाभी मुझसे बात करने लगीं- मुझे घर जाना है और तुम्हारे भैया को छुट्टी नहीं मिल रही है।भाग्यवश मुझे भी काम से भाभी के शहर जाना था, तो मैंने कह दिया- मेरे साथ चली चलो.

मैं इसका एहसान कभी नहीं चुका सकती।मैंने कहा- ये मेरा एहसान नहीं है.

कोमल को बाथरूम में भेज दिया और गेट खोला।संध्या कमरे में अन्दर आई और मुझसे मजाक करने लगी ‘लगता है रात भर सोये नहीं. वो कुछ नहीं बोलती थी।हम लोग एक ही बिस्तर पर सोते थे। धीरे-धीरे मेरी हिम्मत बढ़ने लगी, एक रात जब वो सो रही थी तो मैंने उसकी टी-शर्ट के अन्दर से उसके पेट पर हाथ रखा। फिर हाथ को धीरे-धीरे ऊपर उसकी छाती की ओर सरकाने लगा।मेरा दिल जोर से धड़क रहा था, धीरे से मेरा हाथ उसके उभार की ओर चलने लगा। मुझे ऐसा लगा मुझे मानो जन्नत मिल गई हो। फिर जैसे ही मेरा हाथ उसके निप्पल पर पड़ा. समाधान सेक्सीइस बार अगर तुमने कुछ किया तो मैं तुम्हें और तुम्हारे खानदान को बरबाद कर दूँगा.

चलो चलते हैं।मैंने मामा जी से बाइक ली और उन दोनों को बिठा लिया। मैं आगे था, मेरे पीछे पारो और फिर कोमल बैठ गई। हम तीनों लोग चिपक कर बैठे थे। पारो की चुची मेरी पीठ से चिपके पड़े थे। उसकी चुची कोमल से थोड़े बड़े थे। उसे बैठने में दिक्क्त हो रही थी, मगर वो कुछ नहीं बोली।थोड़ी देर बाद उसने अपना एक हाथ आगे करके मेरी जाँघ पर रख कर मसलने लगी।कुछ देर में पार्लर आ गया, कोमल ने कहा- इसे घुमा ला. अब तुझे ज़िंदगी भर कोई छुड़ा नहीं पाएगा मेरे से, रोज चोदूँगा ऐसे ही. ’ की मादक आवाजें निकाल कर मेरा लंड और कड़क किए जा रही थी, साथ ही मुझे और भी पागल कर रही थी। वो बार-बार कह रही थी- अब आगे भी बढ़ो.

आपको कॉल करके ही आऊँगी और आपके साथ ही आऊँगी।मेरे मन में अभी भी भाभी को कैसे करके रोक कर ऑफिस में ले जाकर भाभी की चोदा चोदी करके इस सफ़र को यादगार बनाने की जुगत चल रही थी।मैंने उनको बताया कि आज ऑफिस में मैं अकेला हूँ और कुछ खास काम भी नहीं हैं. मैंने कहा- हाँ डोंट वरी।फिर आराम से मैं अपना लंड उसकी गांड में डालने लगा। मेरा लंड काफ़ी बड़ा और मोटा था.

मैंने अपना एक हाथ उसके पूरे जिस्म पर फिराया और अब मैंने उसको बिस्तर पर लिटा दिया। अब मैं अपने होंठों से उसके गाल और कान चूसते हुए धीरे-धीरे नीचे की ओर जाने लगा। फिर उसकी गर्दन के आस-पास उसे खूब चूमा.

मैं मान गई।मगर कुछ दिनों बाद मैं अपने घर में मेरे बॉयफ़्रेंड के घर वालों को अपने घर में देख सकपका गई।माँ ने कहा- देख. सो मैंने थोड़ा सा अपनी भावनाओं पर काबू पाने की कोशिश की।मैं- पर यह तो बताओ कि निकालूँ कहाँ?निक्की- मेरे अन्दर छोड़ देना. जैसे कि मैं जन्नत में हूँ।उसके होंठों से जैसे अमृत टपक रहा था, हम दोनों मदहोश हो चुके थे।अब मेरा हाथ उसकी टी-शर्ट को उठा रहा था.

ससुर बहू की सेक्सी सेक्स साथ ही उनका हाथ भी मेरे कूल्हों से लेकर मेरे सिर तक घूम रहा था।मैं भी एक हाथ से भाभी के भरे हुए मखमली नितम्बों व जाँघों सहलाने लगा। मेरा साथ मिलते ही भाभी ने मुझे जोरों से भींच लिया था और जोरों से मेरे होंठों को चूमने-चाटने लगीं. मेरी इस चुदाई की कहानी में आप सभी का स्वागत है। मेरा नाम करण है, मैं इंदौर का रहने वाला हूँ। मैं अभी 20 साल का हूँ.

उसने अपना लंड साथ पड़ी प्रिया के मुँह की तरफ कर दिया और उसकी पिचकारी सीधी प्रिया की नाक और गालों को भिगो गई।प्रिया का माल से सना चेहरा देख कर मैंने कहा- वाओ अब हुआ है प्रिया का मेकअप. मेरा नाम राकेश है। मेरी उम्र 21 साल की है। मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ और जो कहानी मैं आज आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ. मेरा गाउन उतार दे ना, ताकि मलहम आराम से लग सके, वैसे भी कोई घर में नहीं है।इतना सुनते ही मैंने मामी का गाउन उतार दिया। अब मामी मेरे सामने केवल ब्रा और पेंटी में लेटी थीं और औंधी हो कर अपनी मदमस्त गांड दिखा रही थीं।मैं मामी के कूल्हों के पास बैठ गया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म पंजाबी

रस की नदी जांघों पर बह आई, दूध और उसका रंग एक ही था इसलिए कितना बहा. जब वो किसी कारण से मेरे घर पर मेरी माँ से मिलने आई, लेकिन उस वक्त घर पर मेरे अलावा कोई नहीं था।जब घर पर आकर उसने पूछा- तेरी मम्मी कहाँ हैं?मैंने बताया- वो किसी काम से बाहर गई हैं। थोड़ी देर में आ जाएंगी. यह भाभी की बुर थी।भाभी ने पेंटी नहीं पहन रखी थी और मेरा लंड का सुपारा उनकी झांटों में घूम रहा था। मेरे सब्र का बाँध टूट रहा था.

वो अब मेरी कमर पर आ गया और भाभी ने मेरे सिर व कमर को पकड़ कर मुझे जोरों से अपनी तरफ खींच लिया। साथ ही भाभी ने खुद भी मुझसे चिपक कर अपने दोनों उरोजों को मेरी छाती में धंसा दिए।मेरी जीभ को भाभी इतने जोरों से चूस रही थी कि मुझे अपनी जीभ खींच कर भाभी के मुँह जाती सी महसूस हो रही थी। दर्द के कारण मैं छटपटाने लगा मगर भाभी छोड़ने का नाम ही नहीं ले रही थी। तभी मैंने भाभी के एक होंठ को दांतों से काट लिया. मुझे भी मज़ा आ रहा था और रोमा को भी मज़ा आने लगा था।करीब 5-7 मिनट बाद अचानक वो कस के मेरे होंठों को चूसने लगी और अपनी गांड को भी जल्दी-जल्दी और ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगी, जिससे उसकी बुर से ‘पुच्छ.

कैसे बनाते हो?मैं- चलो किचन में चलते हैं।फिर हम दोनों किचन में चले गए।मैंने किचन में पिज़्ज़ा बनाने के लिए सामान निकालने के लिए फ्रिज खोला तो उसमें बियर रखी थीं।भाभी ने मजा लेते हुए कहा- राहुल बेटा मम्मी-पापा गए नहीं.

वैसे संजू ने मुझे अपनी गोद में खींच लिया और मेरे मम्मों को प्रेस करने लगा. और उसकी मस्त जवानी के जलवे दिखाने से लगता था कि वो मेरे साथ सेक्स करना चाहती है।मुझे भी उसकी मस्त गोरी-गोरी चिकनी-चिकनी गदराई जवानी को देखना बहुत अच्छा लगता था और वो भी दिल खोल कर दिखाती थी।कभी कभी तो हम दोनों में लपट झपट चुम्मा चाटी भी हो जाती थी और मैं उसके चूतड़ या कमर मसल देता था।और वो गालियाँ देकर हंस देती!एक दिन शाम को मैं ऑफिस से चाय बना कर बैठा भाभी का इंतज़ार कर रहा था. कुछ पल बाद मामी मुझसे बोलीं- थोड़ा और ऊपर तक लगाओ ना!मैं धीरे से अपने हाथ उनके चूतड़ों के पास ले गया। मामी भी बिंदास मेरे हाथों का मजा ले रही थीं, उन्होंने अपने पैर घुटनों से उठा लिए थे ताकि मेरे हाथ उनकी नंगीं टांगों का ढंग से मर्दन कर सकें।थोड़ी देर में मामी और मुझे दोनों को मजा आने लगा.

ऐसा करते करते वो धीरे धीरे ऊपर उठा और मेरा टॉप ऊपर उठा दिया और ऊपर तक किस करता चला गया, मेरी क्लीवेज पे, मेरी दोनों चूचियों के बीच!मैंने पर्पल कलर की ब्रा पहनी थी, उसने ब्रा के ऊपर से दबाया मेरे मम्मों पे किस किया और चूसा. पर मेरी साँस रुक गई। मैंने सोचा कि शायद जीनत को मेरे इरादे मालूम हो गए। मैं बाहर चला गया। कमरे में जीनत ने अपने कपड़े बदलने शुरू कर दिए।उस पर वोदका का नशा चढ़ चुका था. झड़ जाऊंगा।उसने ये कहते हुए मेरा हाथ हटा दिया। फिर अपना मस्त लंड मेरे सामने ही लौंडे की गांड में पेल दिया। मैं उस लौंडे की गांड में लंड जाता हुआ देख रहा था। देखते ही देखते धीरे-धीरे पूरा लंड उस लौंडे की गांड में समा गया।अब कैलाश धक्के देने लगा.

तो वो चिल्ला पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह…कुछ पल बाद मैंने कहा- अपनी इस महारानी का मुँह थोड़ा खोलो ना.

सनी लियोन के बीएफ दिखाएं: शायद मामी कुछ और ही चाहती थीं, उन्होंने मुझसे बोला- रोहित तुम बड़ी अच्छी मालिश करते हो, जरा मेरी कमर पर भी मालिश कर दो ना!मैं इस मौके को गंवाना नहीं चाहता था, सो मैंने झट से कहा- मामी कर तो दूंगा पर आपका गाउन बीच में आ रहा है।मामी बोलीं- तो तू एक काम कर. जहाँ मैं रहता हूँ। मेरे पास वाले फ्लैट में एक भैया-भाभी रहते हैं, उनके दो बेबी भी हैं। भाभी की फिगर की तो आप पूछो मत.

वो बहुत जोरदार और सेक्स से भरी हुई मस्त फिगर और मस्त रंगत वाली पूरी सेक्स बम थी।थोड़े दिन बाद हम दोनों ने मिलने का प्रोग्राम बनाया।वो मुझसे मिलने आई तो एक बहुत सेक्सी माल लग रही थी। वो साड़ी और स्लीवलेस और बैकलेस ब्लॉउज पहन कर आई थी।जैसे ही मैं उससे मिला. वे अभी कुछ करतीं कि मैं एकाएक उनकी चुत चाटने लगा।मामी इसके लिए वास्तव में तैयार नहीं थीं. तो मैंने कई बार लिपकिस किया था, तो मैं भी मान गया।मैं कुर्सी पर बैठा था.

लेकिन मैं भी आपकी और उसकी चुदाई की वीडियो देखना चाहती हूँ।मैंने कहा- ठीक है.

मेरा लंड बहुत फड़कता है।हम दोनों हँस कर फिर से एक-दूसरे से लिपट गए और फिर से गुडमॉर्निंग चुदाई शुरू हो गई।[emailprotected]. तो मेरा आधा लंड मौसी की चूत के अन्दर घुसता चला गया।मौसी जोर से चिल्ला उठीं और उन्होंने मुझसे कहा- थोड़ा धीरे और आराम से करो. आज मैं बिना चुदाई का सेक्स करते हुए दो बार झड़ा था।एक शांति का अहसास था.