बीएफ सेक्स चूत लंड

छवि स्रोत,जानवर कैसे संबंध बनाते हैं

तस्वीर का शीर्षक ,

हमारी लड़कियों की बीएफ: बीएफ सेक्स चूत लंड, भैया अब अपनी जीभ मेरे होंठों के चारों तरफ घुमा कर मुझे उत्तेजित करने लगा.

सेक्स व्हिडिओ मराठी एचडी

कुछ देर तक घिसने के बाद उन्होंने धीरे धीरे जोर लगाया और लण्ड मेरी गांड के अंदर दबाने लगे. साउथ के सेक्सी वीडियोवो नीचे झुक कर मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर सहलाने लगीं और उसे मुँह में लेकर आराम आराम से चूसने लगीं.

मैंने चाची से पूछा- कहां निकालूँ?चाची बोलीं- अपना सारा माल मेरी तीती में भर दे. सेक्सी भाभी की सेक्सी पिक्चरथोड़ी देर बाद मैंने चाची का ब्लाउज खोल दिया और ब्रा को नीचे करके उनके दोनों मम्मों को बाहर निकाल लिया.

भैया का लंड अब कड़क होने लगा था और मुझे मेरी जांघों और बुर के आसपास महसूस होने लगा था.बीएफ सेक्स चूत लंड: चाची ने रूम से बाहर निकल कर मम्मी से कहा- जीजी, मैं छत की सफाई कर रही हूं, कुछ काम है क्या?मम्मी बोलीं- नहीं, मैं खेत जा रही हूं.

मैंने रात में दीदी को मेरे दोस्त के भाई के साथ देखा कमरे में! मैंने उनकी पूरी चुदाई देखी.मैंने हंसते हुए माधुरी की चूत को थोड़ा चौड़ा किया और उसमें झटके से एक उंगली डाल दी.

दिल्ली का लाल किला वीडियो - बीएफ सेक्स चूत लंड

पानी छूटने से पूरे कमरे में फच-फच की आवाज गूँजने लगी।फिर एकदम से निखिल के लंड के धक्कों की स्पीड बढ़ गयी और मेरी चूत की चुदाई बहुत जोर से होने लगी.लेकिन न तो उसका कुछ रिप्लाई आया था और न ही कोई मिस कॉल का मैसेज आया था.

फिर मैं उससे चिपक कर बैठ गया और दोनों जांघों के बीच में हाथ डाल कर सहलाने लगा. बीएफ सेक्स चूत लंड अब दोनों की चुदाई अंतिम चरण पर पहुंच गई थी और हर झटके से दोनों की आहहह आह की आवाज तेज होती जा रही थी.

अब ड्राइवर ने मेरी ब्रा और पेंटी भी फाड़ कर उतार दी और मुझे मादरजात नंगा कर दिया.

बीएफ सेक्स चूत लंड?

फिर एक हिजड़े ने मेरी कुर्ती खोली तो मैंने उसको रोकने के लिए कस कर उसका हाथ पकड़ लिया. इस बार मैंने उनकी चिल्लपौं को नजरअंदाज किया और हल्के हल्के धक्के देना शुरू कर दिया. मैं ऐसे ही नंगा उठ कर किचन में गया और फ्रिज से मक्खन की कटोरी लेकर आ गया और भाभी की चूत में लगा कर उसे मलने लगा.

लेकिन वह कहां मानने वाला था … एक तो वियाग्रा का असर और दूसरा व्हिस्की का नशा. मैंने हाथ उठाकर उनकी सलवार के अन्दर डालने की कोशिश की लेकिन सलवार का नाड़ा बहुत टाइट था तो मैंने आराम से नाड़ा ढीला करने की कोशिश की. अमन ने कहा- ठीक है, हम सब गांड मरवाने के लिए रेडी हैं मगर हमारी एक शर्त है कि तुम ये बात किसी से नहीं कहोगी कि तुम लोगों ने हमारी गांड मारी है.

मैंने उत्सुकता से पूछा- कैसे समझाया होगा?बीवी बोली- मैंने कहा कि तुम्हारे फूफा जी व्हिस्की के नशे में थे. फार्म हाउस में आने से पहले मैंने अपने शरीर के अनचाहे बाल इलेक्ट्रोलिसिस से हरदम के लिए साफ़ कर दिए. वो तो सारा दिन लड़ता रहता है और जब अन्दर करता भी है, तो पांच मिनट में झड़ कर सो जाता है.

मैंने उनके बगल में लेटकर अपना एक पैर उनकी जांघों पर रख दिया और एक हाथ से उनके चेहरे को अपनी तरफ किया. अन्दर जाते ही उसने मुझे अपने गले से लगा लिया और एक टाइट सा हग किया.

मेरा होने को था; मैंने लंड का माल उसकी गांड में निकाल दिया और बाथरूम में जाकर लौड़ा धोकर वापिस आ गया.

कुछ देर में जीजू मेरी आपा के ऊपर से हट गए तो मैंने देखा कि आपा कि चूत से सफ़ेद सफ़ेद निकल रहा है और मेरी आपा मुस्कुराते हुए आँख बंद कर के लेटी है.

इसके बाद में उन्होंने अपना हाथ मां की साड़ी में डाल दिया और मां की पैंटी भी उतार कर फेंक दी. मैं- अगर तुम्हारी मर्जी हो तो आगे चलें?उसने मेरे चेहरे को नजर भरके देखा और मेरी आंखों में एकटक देखती रही. अपनी अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगी कि मेरे आम तरबूज में कैसे बदल गए और मैंने अपनी चुदास की बीमारी का इलाज किन किन तरीकों से जारी रखा.

कोमल मेरी इस बात पर मुस्कुरा उठी और बोली- आप बहुत चालाक हैं, चलिए आपके साथ ही सही. ’‘सब कुछ क्या बेटा?’उनका बार बार मुझे बेटा बुलाना मुझे और भी उत्तेजित कर रहा था. मैंने अपना लंड नीना के मुँह में डाल दिया और नीना का मुँह चोदने लगा.

अपनी इन भाभीजी से मेरा थोड़ा परिचय तो शादी से लौटते समय कार में ही हो गया था.

कुछ मिनट बाद मैंने दीदी से पूछा- अब दर्द कैसा है?वो बोली- भाई पहली बार दर्द होता ही है. जब वरमाला हो गई तो कविता मेरे पास आई और बोली- सुनो 15 मिनट में मेरे घर पर आकर मुझसे मिलो … और हां कंडोम लेकर ही आना. तभी मैंने देखा कि एक लड़का जिसका नाम अमन था, वो आयेशा को रंग लगा रहा था.

वो जैसे ही काउंटर पर अपनी हाथ की कोहनियां रख कर झुकी, उसके टॉप से गले के अन्दर की ब्रा और उस ब्रा से उसकी आधी चूचियां दिखने लगीं. शुरुआत में तो मैंने भी यही सोच कर बात करनी चालू की थी कि इस बार छुट्टी पर जाऊंगा, तब उसे चोद कर आऊंगा, जैसे कि सब सोचते हैं. मेरे होंठ कोमल के सेक्सी होंठों से चिपके हुए थे और मेरी जीभ कोमल मुँह के अन्दर चली गई थी, जिससे कोमल की लार मेरे मुँह में आने लगी थी.

अब तक मुझे यही समझ आया था कि मेरे जिस्म पर किसी चुदास वाले जिन्न का कब्ज़ा है जिसको अपना बदन मसलवा कर और चुदाई करवा कर भगाया जा सकता है.

उसके होंठों के छूने से मेरे बदन में वासना एकदम से भर गयी।देर न करते हुए उसने मेरी ब्रा को निकाल दिया और मुझे ऊपर से नंगी कर दिया. अगले ही पल मेरी एक गोटी को भाभी ने अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

बीएफ सेक्स चूत लंड आंटी- हैलो जी, मैं आशिमा बोल रही हूं बरेली से, जो आपके पास दवाई लेने आई थी … याद है न आपको?मैं अपनी खुशी दबाता हुआ बोला- जी हां याद है. मैं इतने दिन तक जलालुद्दीन के साथ रहते रहते यह भूल ही गई थी कि एक दिन मुझे लौट कर भी जाना होगा.

बीएफ सेक्स चूत लंड तब अपनी उसी उंगली को चाट कर बोले- पिछवाड़े में भी खुशबू आ रही है, मतलब जिन्न को मुंह से खींच कर निकालना होगा. करीब आठ बजे जब मैं उठी तो देखा कि पति देव जी चाय की चुस्की ले रहे हैं.

उसने आज नीले रंग का कुर्ता पहना था और सफ़ेद रंग की टाइट लेगिंग्स थी.

बिल्ला वाला गेम

तब से हॉस्टल में किसी का भी बर्थडे होता था तो केक के साथ मुझे भी एन्जॉय किया जाता था. जैसे ही मैं उनके कमरे में पहुंचा, अमन मुझे देख कर बहुत खुश हुआ और सिमरन की आंखों में एक अलग सी चमक आ गई थी. उधर जाने के लिए मैं रोज़ सुबह क़रीब साढ़े छह बजे अपने गांव से बस पकड़ कर रोहतक निकल जाता था.

सोनी सेक्स से पहले मेरे होंठ चूसता, मेरे चूचे दबाता, चूचे और निप्पल चूसता. छेद पर लंड सैट होते ही मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया मगर उसका छेद बहुत छोटा सा था. अब चाची ने और चुदाई करने से मना कर दिया पर लंड को शांत करना भी जरूरी था.

कभी कभी बाथरूम में स्प्रे आदि करते समय मुझे ब्रा पैंटी दिख जाती तो स्मेल कर लेता था.

अब जैसे ही मस्ती का सुरूर उतरा, वैसे ही मैंने लंड बीवी की चूत से बाहर निकाला और कमरे के अन्दर हो लिया. कुछ मिनट बाद वो खाना आ गया और हम दोनों खाकर चुदाई के लिए रेडी हो गए. मैं जीजू कि तरफ देखते हुए बोली- सच जीजू, आप सिखाएंगे क्या मुझे? लेकिन कैसे सिखाएंगे, घर में किसी को पता चल गया तो हम सबको जूते पड़ेंगे.

मैंने मन में सोचा कि ये जब इतना खुल कर बता रही है तो शायद यही सही मौका है, जिससे इसे पाया जा सकता है. मैंने नीना की गांड पिचकारी से भरकर साफ़ की, नीना ने अपनी गांड ढीली की. मीना दिखने‌ में साधारण थीं लेकिन उनकी मोटी गांड और भरी हुई 34 नाप की चुची ‌‌देख कर मेरी नियत खराब हो गई और मैं देसी आंटी की चुदाई की ‌सोचने‌ लगा.

Xxx वर्जिन मेड सेक्स कहानी मेरे चाचा के घर की जवान कामवाली की पहली चुदाई की है. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, तो मैंने उसका मुँह पीछे से पकड़कर अपनी गांड में और ज्यादा अन्दर तक घुसवाना शुरू कर दिया.

उसने कहा- मैं हमारी शादी की बात नहीं कर रही, मैं तो तुम्हारे लंड और मेरी चूत की शादी की बात कर रही थी. फिर मैंने साक्षी को डॉगी स्टाइल से थोड़ा और नीचे झुकाया और उसकी गांड में लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. तुम बोलो तो मैं कल ही अपना थोड़ा सामान लेकर तुम्हारे साथ रहने आ जाता हूँ?मैं- हां, कल से ही आ जाओ.

वो हम दोनों का पहला सेक्स था और उस सेक्स को मैं आज तक नहीं भूल पाया.

नीना और मैंने रवि के कमरे में सेक्सी ब्रा पैंटी और राजकुमारी वाला गाउन पहना, मेकअप किया. मैं अपना लंड आधा बाहर निकालकर जोर से अन्दर ठोंकते हुए मम्मी की दोनों चूचियां अपनी मुठ्ठियों में दबोचते हुए चोदने लगा. मेरे मुँह से ऐसा सुनकर वो बहुत खुश हुए और मेरे सपने को पूरा करने का वादा करके मुझे मिलने के लिए मेरठ बुला लिया.

मोहित ने उससे वो पट्टियां लेकर सबको एक एक दे दी और उसने कहा- अब हम ये पट्टी तुम सबकी आंखों में पहना देंगे. मुझे अपनी वाइफ को किसी और लंड से चुदते हुए देखना है और वो भी मेरे सामने.

खुद राजकुमारी की पोशाक पहनकर सोनी को गुलाम बना कर उसके साथ वीडियो के समान मजा लूटा. शाम 5 बजे मैं तैयार होकर खुद कार चलाती हुई सुरेंद्र जी को लेने के लिए एयरपोर्ट के लिए निकल गई. ये सुनकर मैं अन्दर ही अन्दर खुश हो गई और मेरे अन्दर से घबराहट और बेचैनी भी मिटने लगी.

कंडोम किसे कहते हैं

अब मैंने सलवार के ऊपर से उनकी फुद्दी पर हाथ रखकर महसूस किया तो समझ आया कि भाभी ने भी चड्डी नहीं पहनी थी.

चाची जब तक सम्भल पातीं, मैंने एक तगड़ा धक्का दे मारा, जिससे मेरे लंड का टोपा अन्दर घुसता चला गया. मैंने एक हाथ साइड वाली मेज पर रखा हुआ था, जिससे मुझे एक टांग पर खड़े रहने में आसानी हो रही थी. दो साल पहले जब मैंने कॉलेज पूरा करके काम शुरू ही किया था, यह तब की ही घटना है.

मैंने फर्श पर खड़े होकर नीना का स्कर्ट कमर तक उठा दिया और नीना की कमर और चूतड़ की मालिश करते हुए कहा- अपनी गांड को ढीला करो. छोड़ दीजिए मुझे!मुझे उसकी बात उचित लगी और मैंने उसे उस वक्त जाने दिया. सेक्सी फिल्म दिखाएं एचडी मेंमेरे लंड पर भी खिंचाव पड़ रहा था और मेरा लंड भी पूरी मस्ती में आ चुका था.

मैंने चाची को उठाकर घोड़ी बना दिया और चूत में लंड लगाकर जोर से धक्का लगा दिया. मैंने उसके बूब्स दबाए और उसका हाथ उसकी बुर पर से हटा दिया, अपना लंड की उसकी बुर के ऊपर रखा और धीरे-धीरे उसको अन्दर करने लगा.

मैं समझ गया और बहुत खुश हुआ कि चलो अब तो ये आज नहीं तो कल जरूर देगी. इसी बीच मैंने एक और घातक प्रहार किया और शेष लंड शबाना की चूत में पेल दिया. इतनी देर में राजा हिंदुस्तानी मूवी में करिश्मा कपूर और आमिर खान का किस सीन चालू हो गया.

मैंने बिना एक पल की देर किए अपनी उंगली उसकी गांड के छेद में डाल दी. मेरी उंगली के चूत के अन्दर चलने से कोमल सिहरने लगी और उसकी गांड उठने बैठने लगी. खींच खींच कर … क्यों तेरा हबी खींच खींच कर नहीं चूसता है क्या?वो हंस दी.

मैंने इसके पहले कभी भी अपनी खाला के बारे में ऐसा सब कुछ नहीं सोचा था.

मैं समझ गया कि शायद मैंने ये वही वाली चूची मुँह में ले ली है, जिसे मैंने पहले खाली किया था. मैं आंटी को आगे बताता गया कि उनके बदन में मुझे क्या क्या सुन्दर लगता है.

मुझे गाली देते देते वो बोले- तू भी तो कुछ बोल!मैं भी शुरू हो गई, हर धक्के के साथ हम दोनों चिल्लाते थे- ये ले रंडी, चोद मादरचोद जोर से चोद. लेकिन मुझे एक अजीब सा डर भी लग रहा था कि कहीं मॉम को कुछ पता चल गया तो वो मेरी टांगें ही तोड़ देंगी. कुछ देर में जीजू मेरी आपा के ऊपर से हट गए तो मैंने देखा कि आपा कि चूत से सफ़ेद सफ़ेद निकल रहा है और मेरी आपा मुस्कुराते हुए आँख बंद कर के लेटी है.

मुझे भी आभास हो गया था कि भैया ने मुझे देख लिया था, मैं उससे नजरें नहीं मिला पाती थी. बीवी ने भी हां में सर हिलाते हुए गिलास लिया और बोली- हां जी, गर्मी ने तो सारा दिमाग गर्म कर रखा है. अब जलालुद्दीन ने मेरे बाल पकडे और एक बार फिर तेजी से मेरा मुंह चोदने लगे.

बीएफ सेक्स चूत लंड मैं अकेले में बैठी सोच रही थी कि शायद यही कारण होगा कि पहले जमाने में जल्दी शादी कर दी जाती थी. उसकी गुलाबी ऐड़ी को अपनी छाती की घुंडी पर रगड़ता हुआ मैं उसके पैर के तलवों को अपनी ठोड़ी पर घिसने लगा.

श्रीनगर सेक्स वीडियो

मज़े की बात ये है कि उन्होंने मेरे घर से चार मकान छोड़कर अपने स्थाई निवास के लिए एक मकान खरीद लिया है. पापा ने अपनी जीभ मेरी चूत में घुसा दी और मैं ऊई ऊई ईईई सीईई ई सीईई ईईई करके चिल्लाने लगी।अब पापा ने अपनी जीभ निकाल ली और अपना मोटा लंड मेरे मुंह में घुसा दिया. अभी मेरी तकलीफ समझो और कुछ अभी चाहो तो मांग लो मैं मना नहीं करूंगी तुमको, बोलो क्या चाहते हो?मैंने उससे कहा- सच बताऊं तो मैं हमेशा से ही अलग अलग औरतों को चोदना चाहता हूँ.

मुझे कमेंट्स करके बताएं कि आपको ये Xxx स्टेप मॉम सेक्स कहानी कैसी लगी. सुधा तो देखने में 25-27 साल की लड़की लगती थी जबकि रम्भा का बदन थोड़ा सा भरा पूरा था. जापानी तेल की कीमत कितनी हैमैंने कहा- साला काहे का मर्द … भोसड़ी का जो जन्नत की हूर को छूता नहीं हो, वो मादरचोद कैसा मर्द.

’‘सच में उस दिन चौधरी के ट्यूबबैल पर पेला था, उसके बाद से खुजली नहीं मिटी.

व्हिस्की के नशे में बीवी भी जोश में आ गयी और उसने फटाक से ब्लाउज उतार कर फेंक दिया. आप मुझे बताएं कि आपको मजा आया मेरी हॉट गांड Xxx कहानी पढ़ कर?nagmakhanfro[emailprotected].

अमित अभी भी आयेशा की चूत मारने में लगा हुआ था और मैं सोफे पर नंगी बैठकर सबको चुदाई करते हुए देख रही थी. ब्रा में कैद मेरी मोटी चूचियां एकदम तनाव में आ गई थीं जो ब्रा को फाड़कर बाहर आने को बेताब हो रही थीं. ऐसे ही मैं अपने मुँह में दूसरी चूची को लेकर चूसने लगा तो देखा कि मेरे जोर जोर से दबाने से मसलने से माधुरी की चूची का निप्पल कड़ा हो गया था और एकदम नुकीला होकर उसका निप्पल सीधा खड़ा था.

हाथ से कपड़े धोने की वजह से उसके बूब्स भी काफ़ी हिल रहे थे और उसके कपड़े गीले होने की वजह से उसके बूब्स सही आकार में दिख रहे थे.

मैंने सबसे पहले चाची की चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर करना शुरू की. जैसे ही ब्रा नीचे को सरकी, मैंने अपने होंठों से माधुरी के होंठों को अलग किया और माधुरी की चूचियां उछल कर ब्रा की कैद से आज़ाद होकर मेरे सामने आ गईं. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मुँह में डाल दिया.

सेक्सी छोटे बच्चों कीआज मैं आप सबको बताऊंगा कि मैंने अपने उसी दोस्त की भाभी को कैसे चोद कर रेन सेक्स का मजा लिया. फिर मुझे समझ में आया कि शायद रम्भा नहाने गई है क्योंकि जब सब लोग उठ जाते थे तो बाथरूम 10 बजे तक खाली नहीं रहता था.

नंगा फोटो लड़की का

छोड़ दीजिए मुझे!मुझे उसकी बात उचित लगी और मैंने उसे उस वक्त जाने दिया. शुरुआत कुछ ऐसी हुई कि मैं उस समय अपनी जवान चाची को छेड़ने की कोशिश करता था. मैंने जैसे ही उसको क्रॉस किया, मेरा लंड उसकी चूत पर लग गया और एक सेकंड के लिए मुझे ऐसा महसूस हुआ कि में जन्नत में हूँ.

उन्होंने अपने शरीर को छिपाने का ज़रा भी प्रयास नहीं किया और मुस्कराकर मेरी ओर देखती रहीं. मेरा लंड पूरा खड़ा था जिसे देखकर चाची के चेहरे पर चमक बढ़ने लगी थी. मोहित ने लगभग घिघियाते हुए कहा- यार बस कर … अब और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता.

मैंने मामी की चूत को धकापेल चोदना शुरू कर दिया और उनकी चूत में ही झड़ गया. मैं उसकी तरफ देख रहा था वो किसी पोर्न ऐक्ट्रेस की तरह मेरी आंखों में देखती हुई घुटनों पर बैठ गई और मेरे लंड को चूसने लगी. अब जलालुद्दीन साहब ने मेरे होठों पर अपने होंठ रखे और बहुत ही प्यार से और बहुत धीरे धीरे मेरे होठों पर अपनी जीभ फिरानी शुरू कर दी.

तब तक एक बात मैं जरूर कहना चाहूँगा कि सोशल मीडिया पर दोस्ती करने से पहले बहुत सजग रहने की जरूरत है. अब चाची भी धीरे धीरे अपनी गांड आगे पीछे करके मस्ती से लंड लेने लगी थीं.

फिर सबने एक दूसरे की तरफ देखकर इशारा किया और डिल्डो का टोपा लड़कों की गांड में पेल दिया जिससे सभी लड़कों की एक साथ चीख निकल गयी.

उसके बूब्स 32 इंच के थे और चूत भी सांवली थी, जिस पर हल्के-हल्के बाल थे और कसम से ऐसे लग रहा था कि वो वर्जिन ही हो. पंजाबी सैकसमैंने ऐसे लेटे हुए साक्षी की गांड में नीचे मेरे लंड को धक्का देना शुरू कर दिया. इंग्रजी सेक्सी फिल्ममैं उनके पास जाकर बेड पर बैठ गया और जो जो उन्होंने पूछा, सब बता दिया. मैं उससे बातें कर रही हूं, अगर आपको कुछ चाहिए हो, तो मुझे कॉल कर देना.

मैं तो एकाएक उसकी चूत पर हमले कर रहा था और वह भरपूर मेरा साथ दे रही थी।मेरे आंड उसकी गांड पे प्रहार कर रहे थे और उसके मुंह से मधुर आवाज आ रही थी।अब मैं उसके बाल को पकड़ के चोदने लगा.

शुरुआत में तो मैंने भी यही सोच कर बात करनी चालू की थी कि इस बार छुट्टी पर जाऊंगा, तब उसे चोद कर आऊंगा, जैसे कि सब सोचते हैं. शायद वो मेरी भावनाओं को समझ रही थी और उसका भी कुछ कुछ मन हो रहा था. मैंने उसकी चूत में पहले एक उंगली डाली और बहुत देर ऐसे ही अंदर बाहर करने लगा.

उस समय मेरे घर वाले शादी में कुछ 14-15 दिनों के लिए गांव जाने वाले थे. चाची को दर्द से थोड़ी राहत मिली, तो मैंने लंड को गांड से बाहर निकाल लिया और नीचे झुक कर अपनी जीभ से उनकी गांड के छेद को चाटने लगा. वो मुझे मना करने लगी- राहुल, ये क्या कर रहे हो? कोई आ गया तो गड़बड़ हो जाएगी।मैं बोला- गेट बंद कर लो जाकर पहले!तो उसने मना किया.

लड़कियों की बुर की चुदाई

लेकिन मैं उठा और मैंने अपना झांट से भरा हुआ लंड उसके मुंह के आगे रख दिया।उसने अपना गंदा से मुंह बनाते हुए कहा- कम से कम अपनी झांटें तो साफ कर लेते. थोड़ा मक्खन अपने लंड के सुपारे पर लगाया और लंड को भाभी की फुद्दी पर टिका दिया. दोस्तो ये था मेरी Xxx हिंदी भाभी की चुदाई का मजा!आप सबको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

फ्रेंड्स, मैं संजू पंडित एक बार फिर से आपको अपनी चचेरी बुआ की चुदाई के बारे में बता रहा हूँ.

कुछ देर बाद चाची ने अपनी रफ़्तार तेज़ कर दी और ज़ोर ज़ोर से लंड पर कूदने लगीं.

कॉलेज गर्ल बट्ट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लास की एक लड़की के चूतड़ मुझे पसंद आ गये. अमन ने जाकर रिया की चूत से अमित का लंड निकाला और रिया को उठाकर मेरी जगह ले आया. सईया अरब गइले नामैंने अब उसे उल्टा कर दिया और उसकी गांड के छेद में अपनी जीभ डाल दी.

मैं मीठे दर्द से कराह उठा।कभी कुतिया बन कर चुदी हो क्या?”नही, फिल्म में देखा है बस!”चल आज तुझे कुतिया बना कर चोदता हूँ रम्भा रांड!”वह खिलखिला कर हंस दी।मैंने उसको घोड़ी बनाया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. मैं भी मुस्कुरा कर पास में लगी एक गोल टेबल के बाजू में रखी कुर्सी पर बैठ गया. थोड़ी देर चिपके रहने के बाद प्रिंस ने अपनी पैंट पहनी और बाहर आकर नल से पानी निकाल अपने हाथ मुँह धोए और बाहर ही पड़ी कुर्सी पे बैठ गया.

सलवार सूट पहनकर और पूरा मेकअप करके जब मैं तैयार हो चुकी थी और मीठे मीठे सपनों में खोई थी कि तभी दरवाजे की घंटी बज उठी. फिर इतनी चिंता क्यों, अपने पर भरोसा नहीं है क्या? और इस टाइम है ही कौन हमारे अलावा, जो देखेगा.

फिर हम बातें करने लगे लेकिन बीच बीच में मेरी नजरें बार बार माधुरी के गले के अन्दर उसकी ब्रा में कैद चूचियों पर आकर रुक रही थीं.

मैंने आगे बोलना शुरू किया- फिर जब तुम अपने बाल सुखाने के लिए झुकीं, तो तुम्हारे टॉप के गहरे गले से मुझे अन्दर का नजारा देखने को मिला. किसी मर्द ने आज पहली बार मेरे होंठों पर अपने होंठ रखकर उनके रस को पिया था. डिंपी- ओह, फिर तो बहुत लकी हो तुम, मेरी किस्मत में तो वो भी नहीं है.

बाहुबली २ उसकी बात से फिर से लगा कि मुझे हर हाल में एक चूत सैट कर लेनी चाहिए. करीब 15 मिनट तक चूत चाटने के बाद वो झड़ गई और मेरे मुँह पर ही उसने अपना सारा पानी छोड़ दिया.

लेकिन मैडम ने मेरे बात नहीं सुनी तो मैं खड़ा हुआ और मैडम का हाथ मम्मी की चूत से हटा दिया. मैंने कहा- मैं घर आ तो जाऊंगा, पर मुझे इनाम में क्या मिलेगा?वो बोली- मैं इनाम लेने के लिए बुला रही हूँ, देने के लिए नहीं. मैं उस समय की अपनी सच्ची कहानी बता रही हूँ जब मैं मुंबई के एक कॉलेज में सेकंड सेमेस्टर में थी, तब मैंने जंगल सेक्स का मजा का मजा लिया.

सेक्सी लड़कियों का नंबर

अब मेरी नियत खराब हो गई, मेरे दिमाग़ में बस उसे चोदने का ख्याल आ रहा था. मेरा तो कुछ टाइम बाद फिर से रस निकल गया और मुझे दर्द भी होने लगा था. अभी करीब 4 साल से बाहर रह कर मैं पढ़ाई कर रहा हूँ और घर से दूर ही रहता हूँ.

हालांकि मैंने ज्यादा देर नहीं करते हुए चूत से मुँह हटाया और अपने लंड पर कंडोम लगा लिया. मैं सोच रहा हूँ, क्या हम दोनों साथ रह सकते हैं? मैं खाना अच्छा बना लेता हूँ.

मुझे उससे बात करने में थोड़ा अजीब सा लग रहा था इसलिए मैंने उससे ज्यादा बात नहीं की.

उनके निप्पलों से हल्का हल्का दूध मेरे मुँह में आ गया, जैसे रसमलाई में अलग से मलाई डाल दी हो. दूसरे हिजड़े ने मेरी जांघों पर तेल डाला और मेरी जाँघों को मसलने लगा. वो मेरे पास आयी और उसने कहा- क्या तुम्हारे पास मोबाइल का चार्जर है … मेरे मोबाइल की बैटरी खत्म हो गयी है.

मैंने इशारा किया तो भाभी ने लौड़े को किस करते हुए उसे मुँह में ले लिया. मैंने धीरे धीरे अपना हाथ ब्लाउज के अन्दर डालने की कोशिश की तो चाची जाग गईं और उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया. मैं भी उसकी गांड पर हल्के हल्के से थप्पड़ मार रहा था जिससे उसकी चूत और भी टाइट हो रही थी.

जीजू ने मेरा सर पकड़ रखा था तो मैं लंड बाहर नहीं निकाल पा रही थी और मजबूरन मुझे लंड चूसना पड़ गया.

बीएफ सेक्स चूत लंड: मैं अपने हाथों से कोमल के माथे पर अपनी उंगलियों को फेरता हुआ उसकी भवों को सहलाता हुआ हाथ नीचे लाता गया. उसके जिन सुंदर मम्मों की मैंने बहुत दिनों से कल्पना की थी, वे अब पूरी शान से मेरे सामने थे, निप्पल खड़े थे.

मैं बोला- भाभी, लन्ड जा नहीं रहा है।भाभी बोली- साले कोशिश कर चला जायेगा। पहली बार गांड में लन्ड ले रही हूं।बहुत कोशिश करने पर मेरा लंड भाभी के गांड में घुस गया पर भाभी पूरा दर्द सह गयी. जब उसकी चीख ‘इस्स काटो मत मेरी जान आह …’ करके निकली, तो मैंने पूरी चुची को मुँह में लेकर जोर जोर से उसका दूध पीना शुरू कर दिया. थोड़ी देर तक उसकी चुदाई करने के बाद मैंने अपने हाथ उसके दूध पर रखे और चुदाई के साथ उसके दूध भी दबाने शुरू किए.

अब आगे हॉट गांड Xxx कहानी:आलिम साहब मेरे मम्मों को निचोड़ते रहे और निप्पल चूसते रहे.

जैसे ही कविता बाथरूम के अन्दर गई और दरवाजा बंद किया, मैं तुरंत उठा और अपनी बीवी को देखने गया. कुछ देर बाद वो मेरे लौड़े के ऊपर आ गयी और गांड उछाल उछाल कर चुदने लगी. तो मजा लें इस अंकल पोर्न स्टोरी का!जो नए पाठक मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे हैं, उन्हें मैं अपने बारे में बता देती हूँ.