सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी

छवि स्रोत,सेक्स व्हिडिओ ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की का सुसु: सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी, मैं दीदी पैंटी की इलास्टिक में हाथ को फंसाया और नीचे करते हुए उसे उतार दिया.

जीजा और साली की चुदाई वीडियो

आंटी मेरे 6 इंच लंबे व 3 इंच मोटे लन्ड को देखते ही रह गई, फिर वो बोली- मेरे पति का बस 4 इंच का ही है. ब्लू सेक्सी हॉट वीडियोकुछ क्लाइंट्स मुझे सेक्स के लिए उकसाती हैं लेकिन मैं उनको मना कर देता हूँ.

क्यों अच्छे खासे हो, हैंडसम हो, फिर कोई गर्लफ्रैंड क्यों नही है?”उसका सवाल बिल्कुल सीधा सटीक था. हिंदी सेक्सी बफ हदफिर उस दिन फोन पर बातें करते हुए मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा और मैंने चाची को बोल दिया कि आज मेरा बहुत मन कर रहा है.

कांतिलाल तो मजे से यूं तिलमिला उठा कि उसने झट से उठकर कविता के स्तनों को मुँह में भर चूसना शुरू कर दिया और दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को दबाने लगा.सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी: मैं खुद भी नीचे से अपने चूतड़ों को उठाना चाह रही थी, मगर मैं उसके दबाव के आगे असमर्थ थी.

उन्होंने मुझसे कहा- क्या करता है? तेरा लंड इतना मोटा कैसे हो गया है? ये मेरे अन्दर जाएगा, तो मेरी पूरी चूत को छील देगा.कोई 20 मिनट तक धक्के रमा को लगते रहे और मेरी गिनती 400 तक पहुंच गई.

पंजाबी ऑंटी सेक्स - सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी

लेकिन जिस दिन मुझे ये लगता कि आज काम की वजह से देर हो सकती है उस दिन मैं कार लेकर चला जाया करता था.उसने रमा का हाथ पकड़ उसे बिस्तर के बगल नीचे जमीन पर बिठा दिया और अपनी पैंट उतार रमा के मुँह में अपना लिंग डाल दिया.

फिर मैंने जानबूझकर एक दो रंडियों से पूछा- तुम्हारा ये साइज कैसे बढ़ता है?उन्होंने बताया कि हमारी दिन रात चुदाई होती है … तो किसी भी लड़की का साइज चुदाई से बढ़ ही जाता है. सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा और पैंटी को उतार कर उसको पूरी नंगी कर दिया.

मैं इस वक्त एकदम डिप्स मारने जैसी कसरत कर रहा था, उसके दोनों मम्मों को मैं अपने दोनों हाथों में दबोचे हुए लगातार चोदे जा रहा था.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी?

उनके आने के बाद मां ने पैकिंग करनी शुरू कर दी और मैंने भी मां का हाथ बंटाया. मेरा तो ये सोच कर ही सिर में दर्द होने लगा था कि अभी 1 बज गए थे और अगर फिर से ये चारों संभोग करना चाहेंगे, तो हमसब औरतों की तो हालत खराब हो जाएगी. अचानक से कुणाल को कुछ काम आ गया और उसे निधि को मेरे रूम पर छोड़कर जाना पड़ा।अब मैं और निधि घर पर अकेले थे तो मैं निधि से बातचीत करने के लिए रूम में गया। कमरे में से कंडोम की सुगंध आ रही थी। बिस्तर की चादर की सिलवटें चुदाई की दास्तां बता रही थी।निधि रूम में बेड पर लेटी हुई थी, वह थोड़ी उदास लग रही थी।हम दोनों बात करने लगे.

हम आपस में एक दूसरे के साथ फोटो, बियर और बाकी बातें शेयर कर रहे थे. मैंने कहा- ठीक है भाबी!तभी भाबी अपने रूम से थोड़ी सी रुई और एक पट्टी लेकर आ गई। उन्होंने मेरे लंड के चारों तरफ रूई लगाकर ऊपर से पट्टी बांधी और बोली- घबराने की कोई बात नहीं, तुम कुछ देर यहीं आराम करो. इधर मैं मादक सिसकियां भरने लगी थी और समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ किसे पकड़ूँ और किसे छोड़ूँ.

दो गिलास पेप्सी मतलब दो पेग व्हिस्की अन्दर हो गई तो मैं नमिता को लेकर बेडरूम में आ गया. उसने पहली बार खुलासा किया कि उसने और कांतिलाल शुरुआत में कभी दो मर्द और कभी 2 औरत वाली संभोग क्रिया करते थे. मैंने फिर से उनको पकड़ लिया और एक कोने में ले जाकर पीछे से अपना तन्नाया हुआ लंड उनकी चुत में घुसा दिया.

वर्तमान समय में पांचों की शादी हो चुकी है मगर हम सब ने शादी से पहले ही चुदाई का भरपूर मजा ले लिया था. मुझे पता था कि अगले धक्के पर वो चीखेगी इसलिए मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे लंड के टोपे को चूत में धीरे धीरे आगे पीछे सरकाने लगा.

चाची की आवाज सुन कर ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मैं पैंट के ऊपर से ही अपने लंड को मसलता रहता था.

मेरी हॉट हिंदी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कॉलेज में मेरी जवानी मुझे चूत चुदाई का मज़ा मांग रही थी.

मैंने सोचा था कि उसकी कुँवारी चूत आज ही चोदने को मिल जायेगी लेकिन मेरे सारे सपने टूट गये।उस रात को मैंने अपनी साली को सोच कर दो बार मुठ मारी और अपनी वासना शांत कर ली. रात के 9 बजे का समय हो चुका था और गांव में सब लोग 9 बजे तक सो ही जाते हैं. मम्मी बोलीं- बेटा निकाल दे अपना पानी मेरे मुँह में … मैं इसे पीना चाहती हूं.

लेकिन मैंने कई बार आपको सिग्नल देने की कोशिश की लेकिन आप मेरे इशारों को समझ ही नहीं पाये. तभी रमा भीतर आ गई और बोली- ठीक है … वहां के बाल केवल ट्रिम कर शेप कर दो. मैंने उससे कहा- अपूर्वा मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूं … तुम मुझे बहुत अच्छी बहुत हॉट और बहुत सेक्सी लगती हो … मैं तुम्हें चोदने के सपने देखता रहता हूँ.

मैंने उसकी चूत के बालों को हटाते हुए उसमें उंगली डाल दी तो वो कराह उठी.

भाभी ने बल्लू के गले में बांहें डाल दीं और बल्लू के लंड पर उछलना शुरू हो गई. उसके बाद मैंने मॉम को अपनी बांहों में जकड़ा और उन्हें लिप किस करने लगा. एक दिन ऐसे हुआ कि मेरी बीवी और बच्चे मेरी ससुराल में छुट्टियों में गए हुए थे.

सबको ही सबके ही बारे में पता रहता था कि किसने किस लड़के पर लाइन मारी, किस लड़के ने कौन सी सहेली को कहां पर ले जाकर चोदा, किस सहेली ने नया लड़का पटाया है और कौन सी सहेली दो दो लंड एक साथ ले रही है, कौन सी अपने बॉयफ्रेंड के साथ साथ उसके दोस्तों से भी चुदवा रही है. एक पिचकारी ऊपर हवा में जाने के बाद बाकी का माल युक्ता के हाथ से होता हुआ उसकी उंगलियों में भर गया. उसका रंग एकदम गोरा ऐसा है जैसे वो कोई फिरंगी की औलाद हो और विदेश से आयी हो.

रात के 9 बजे का समय हो चुका था और गांव में सब लोग 9 बजे तक सो ही जाते हैं.

इसलिए वो जब जब ऊपर आती, तो वो मेरे लंड को अपनी गांड में लेने के लिए थोड़ी उत्सुक लगती. उस दिन पहली बार ऐसा हुआ था कि मैं उसकी मां के साथ घर पर अकेला ही था.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी गोवा सेक्स की कहानी में पढ़ें कि हम चार सहेलियों ने मिल कर अपने बॉयफ्रेंडज़ के साथ गोवा घूमने का प्रोग्राम बनाया. आंटी अपनी टांगें खोल कर बोलीं- आह मजा आ रहा है … और चोदो और ज़ोर से चोदो!जब मेरा वीर्य निकलने वाला हुआ, तो उसी टाइम आंटी ने भी अपना पानी छोड़ दिया.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी इधर जैसे ही मेरे हाथ आज़ाद हुए, मैंने पहले तो उनको उसके पेट पर रखा, उसकी नाभि में उंगली डाली, उसकी कमर को सहलाया और फिर मेरे हाथ धीरे धीरे ऊपर आने लगे. अब हमारे एक ग्रुप में मैं पीहू, अल्पना और सनी और वरुण साथ थे और दूसरे ग्रुप में सोना, रुचि, वरुण और राज थे.

हॉट आंटी की काली चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी बिल्डिंग की लिफ्ट में एक आंटी मुझे मिली.

बीएफ डॉट कॉम एचडी

फिर मैं उसको धीरे से गोदी में उठा कर बाहर ले गया और उसे सोफे पर पटक कर एक बार फिर से उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत पर लंड लगा दिया. मैंने लंड बाहर निकालते हुए कहा- अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है. तब तक के लिए आप मुझे इस मसाज़ सेक्स कहानी के बारे में अपनी राय भेजें.

हालांकि मुझे अब भी ये नहीं मालूम था कि औरतों को क्या चाहिए होता है … या लड़कियां कैसे खुश होती हैं. अगर तुम चाहती हो क़ि मैं परेशान ना रहूं तो मुझे अपनी दीदी की कमी महसूस ना होने दो, मेरे प्यार को अपना लो।अब उसका विरोध कम हो गया और वो मेरी बांहों में लिपट गई. कुछ देर बाद रोहण ने प्रिया की चूत के होंठों पर अपना दस इंच का लंड रखा और धक्का दे मारा.

यह मेरी पहली पोर्न स्टोरी हिंदी भाषा में है, मैं आशा करता हूँ कि आप लोगों को मेरी पोर्न स्टोरी पसंद आएगी.

मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सबको ये पड़ोसन की चुदाई की गंदी कहानियां पसंद आएगी. मैंने अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसकी गांड के छेद पर रखकर एक झटका दे मारा. सच में दोस्तो, कल्पना करो कि एक मस्त गोरी लड़की, जिसकी चुचियां 36 की और गांड 38 की हो, तो वो क्या लगती होगी.

फिर एकदम से आंटी दरवाजा खोल कर अंदर आ गई और उन्होंने मुझे ब्लू फिल्म देखते हुए अपने लंड को हिलाते हुए देख लिया. उनके कमरे में जीरो वाट का बल्ब जल रहा था जिसकी रोशनी में बहुत ही कम दिख रहा था और मैं गेट की सांस(दरार) में से यह सब देख रहा था. फिर मैंने सोनू को डॉगी स्टाइल में होने के लिए बोला तो वह बेड पर डॉगी स्टाइल में आ गयी.

मैंने पूछा- क्या हुआ? तुम इतना शरमा क्यूं रही हो? अब तो हम दोनों बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड बन गये हैं।उसने मेरी बात का कोई जवाब न दिया लेकिन मेरे लौड़े ने अपना जवाब दे दिया था. मैंने कहा- अब मुझसे मुँह से नहीं हो रहा है … तू कहे तो लंड डाल दूं?वो बोली- डाल दे.

मैं उनके घर की तरफ गया, तो देखा एक लड़की किसी को मेंहदी लगा रही थी. वैसे भी आजकल अधिकतर सीजेरियन विधि द्वारा ही बच्चे का जन्म होता है तो कम से कम तीन महीने तो टांकों पर कोई जोर नहीं पड़ना चाहिए. मेरे हाथ उसकी कमर पर थे और वो तैरने के लिए हाथ-पैर मार रही थी। उसी बीच मेरा हाथ उसकी छाती पर चला गया तो उसने कुछ नहीं कहा। मेरा हाथ उसके बूब्स पर लग रहा था जो कि बड़े आकार के संतरे के साइज के थे.

मगर जैसे ही मैं वापस जाने के लिए मुड़ा, मुझे अन्दर से श्रुति की कुछ आवाजें आईं … मैं उसे आवाज देने ही वाला था कि पर ये अजीब सी आवाजें सुनकर मैं रुक गया और चुपके से अन्दर जाने लगा.

उसने अपना लिंग जोर से एक बार आगे पीछे किया और फिर उसे मेरी योनि की छेद पर सटा कर आसन ले लिया. जैसे ही मैं राहुल के पास जा कर बैठी, तो मेरे मन ने सोचा कि अब यह क्या करेगा … मुझे छू लेगा या एकदम से कुछ करने लग जाएगा. सिर पकड़ कर जोर से दबाते हुए उसके गले तक लन्ड को डाल दिया और मैं झड़ गया.

आपको हर लड़की के बारे में पता चलेगा कि उसकी चुदाई की शुरूआत कैसे हुई थी और वर्तमान में वह जीवन के किस मोड़ पर है. अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत के मुँह पर सैट किया और हल्के से धक्का लगा दिया.

कुछ औपचारिक बातें हुईं हम दोनों के बीच और मैं अगले दिन से अपने काम पर जाने लगा।शुरुआत के कुछ दिन तो ज्यादा बातचीत हम दोनों के बीच नहीं हुई लेकिन मेरा ध्यान काम में कम रहता था और पूरे समय मैं बस सोनू को ही देखता रहता था. कुछ औपचारिक बातें हुईं हम दोनों के बीच और मैं अगले दिन से अपने काम पर जाने लगा।शुरुआत के कुछ दिन तो ज्यादा बातचीत हम दोनों के बीच नहीं हुई लेकिन मेरा ध्यान काम में कम रहता था और पूरे समय मैं बस सोनू को ही देखता रहता था. कुछ पोर्नसाइट्स और अंतर्वासना स्टोरीज पढ़कर मेरी कामोत्तेजना आज पूरी जवान है.

दूध पीने वाली बीएफ

लगभग 5 मिनट के बाद उसने मुझे एक बहुत ही जोर का धक्का मारा और मैं चीख पड़ी- ओह्ह … म म.

तीन-चार मिनट के भीतर उसको गांड चुदाई करवाने में मजा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी. उसकी गर्म और गहरी सांसों के चलते उसकी चुचियां और तेजी से ऊपर नीचे हो रही थीं, जिसे देख के मेरा लंड पूरा टाइट हो गया. फिर मैंने बिना सोचे समझे ही नीचे बैठ कर उनकी चूत को चाटना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से उन्हें बहुत मज़ा आ रहा था.

उसकी टांगों के बीच में बैठकर अपनी हाथ की उंगलियों से उसकी चूत की दरार को फैलाया. भाभी ने जिद करते हुए कहा- बताओ ना यार?मैंने बोला- आपका फिगर … आपका फेस सब कुछ मस्त है. इंडियन bf.xxगेम खेलते खेलते कभी कभी मैं उसकी जांघ पर अपना हाथ रख देता … तो वो मुझसे और भी सट जाती.

फिर मैंने उसकी टांगों को चौड़ी किया और अपने लंड को उसकी कसी हुई छोटी सी चूत पर रख दिया. उसके बाद फिर मेरी जॉब दिल्ली में लग गई थी तो मैं दिल्ली में आ गया था.

मैं औंधा था, वह मेरा लंड पकड़ने की जिद पर उतारू था, मैं उसके मजे ले रहा था।खैर उसने हाथ डाल कर मेरा लंड पकड़ ही लिया, बोला- यह तो बहुत मोटा है, दिखा तो!मैं औंधा लेटा था, वह भी मेरे से चिपका था. तभी दीदी ने आवाज लगायी- अब शुरू भी हो जाओ यार!मैंने दीदी के शॉर्ट्स को उतारा, तो उसकी रेड पेंटी गांड के अन्दर घुसी जा रही थी. वो कहने लगी कि तुम्हें इतने बड़े घर में छिपने के लिए और कोई जगह नहीं मिली?उसको शायद शक हो गया था कि मैं झूठ बोल रहा हूं.

सबने मेरा फोन नम्बर लिया और फ़िर शाम को 7 बजे मुझे हवाई जहाज से धनबाद छोड़ दिया. यह जरूर है कि मेरे पति के साथ में उनके मोबाइल फोन में पॉर्न वीडियो वगैरह उनके साथ देखती रहती हूं और काफी रोमांस और मस्ती करती रहती हूं. उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैंने एक हाथ से पीछे सहारा लिया और उसकी चूत में अपनी गांड के सहारे से लंड को धकेलते हुए उसकी चूत की चुदाई करने लगा.

आपको ससुर बहू की चुदाई की गंदी कहानी के बारे में कुछ प्रतिक्रिया देनी हो तो मुझे मेल करें या फिर गंदी कहानी के नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में कमेंट करके मुझे बतायें.

राजेश्वरी इतनी अधिक गर्म हो उठी थी कि वो लिंग इस प्रकार चूसने लगी थी कि मानो वो कितनी भूखी है. मैंने अपनी लोअर को भी निकाल कर एक तरफ डाल दिया और मैं केवल अब अपनी चड्डी में आ गया था.

उसका सीधे सीधे ये कहना था कि हम पाँचों में कविता की योनि सबसे कसी हुई थी. मैंने भी तुरंत ही लोवर निकाल दिया।भाबी ने एक रजाई मुझे दे दी और दूसरी रजाई में खुद और अपनी बिटिया के साथ लेट गई।सोने से पहले भाबी ने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था और नाइट बल्ब जला दिया था जिससे कमरे में अंधेरा था और बहुत हल्का सा आस पास दिखाई दे रहा था. मैंने मम्मी की नीचे तकिया लगाया और उनके पैरों को अपने कंधे पर रख लिया.

इसी बीच मैंने जानबूझ कर अपना मोबाइल नीचे गिरा दिया और उसे उठाने के लिए जब मैं नीचे झुका, तो मैंने टेबल के नीचे से ही काव्या की साड़ी हल्की ऊपर करके उसकी टांगों को हौले से चाट दिया. कुछ देर चूत चाटने के बाद उन्होंने मुझे खड़ा किया और मुझे होंठों किस करने लगीं. क्योंकि मैडम एक नाइटी में थीं, जिसमें से उनकी मोटी मोटी चूचियां बहुत ही मस्त लग रही थीं और चूत की शेप भी साफ़ साफ़ दिखाई दे रही थी.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी इतना मैं समझ चुका था कि यहाँ किसी को मसाज नहीं चाहिए, ना ही शायद मुझे मसाज जैसे काम के लिए बुक किया गया है. एक कमरे में मेरे मां और पापा सोते हैं और दूसरे में मैं और भाई सोते हैं.

2021 बीएफ हिंदी

अगर कोई लड़का होता तो खुल कर बात हो जाती लेकिन वो लड़की थी तो मुझे भी लिमिट में रह कर ही उसकी शंकाओं का समाधान करना था. मामी जी ना बोला कि रोहित तुम हमारे साथ ही सो जाओ, आज तो मामा जी भी नहीं है. फिर भाभी बोली- मैं उस दिन तुम्हारे वीर्य की धार देख कर ही समझ गई थी कि तुम ही मेरे बच्चे के बाप बनोगे।उसके बाद भाभी टांगें फैला कर लेट गईं और बोली- मेरे राज, अब डाल दे अपना हथियार मेरी कचिया चूत में!मैंने लन्ड के अगले हिस्से पर थोड़ा थूक लगाया और चूत से भी काफी नमकीन पानी टपक रहा था.

रंग एकदम दूध के जैसा बिल्कुल सफेद है और घर में साड़ी पहनती हैं लेकिन जब चलती हैं तो उनकी साड़ी में उनकी गांड में फंस जाती है. उसके गले पर चूमा लेने लगा और बोला- शराब क्या पीऊँगा अब … तेरी इस बीवी में तो इससे भी ज़्यादा नशा है. हिंदी ब्लू नंगी फिल्मअब पहले तो मैंने उसके उरोजों को ज़ोर ज़ोर से काफी देर तक दबाया और खूब चाटा.

हम दोनों के चेहरे आमने सामने थे और मेरे दूध उनके सीने पर दबे हुए थे। मैंने अपने दोनों हाथों से उनके गले को पकड़ा हुआ था। अंकल ने अपने दोनों हाथों से मेरी गांड थाम रखी थी।अब उन्होंने मेरी गांड को पकड़ कर मुझे आगे पीछे करना शुरू किया.

हैलो फ्रेंड्स, मैं फिर से आपको जुबैदा और उसकी दोनों बेटियों सलमा और नजमी की चुत चुदाई का रस चखाने आ गया हूँ. हमारे उत्तर प्रदेश में बिजली की कमी के कारण अक्सर बत्ती गुल ही रहती है.

इसी बीच मैंने जानबूझ कर अपना मोबाइल नीचे गिरा दिया और उसे उठाने के लिए जब मैं नीचे झुका, तो मैंने टेबल के नीचे से ही काव्या की साड़ी हल्की ऊपर करके उसकी टांगों को हौले से चाट दिया. भाबी सेक्स स्टोरी के पहले भागज़िप में फंसा लंड-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी ससुराल गया हुआ था और मेरी सलहज अकेली मेरे साथ सोयी थी. कमर पतली, जांघें व बांहें थोड़ी मस्कुलर है, पेट सपाट!इसके लिए बड़ी कोशिश करना पड़ती है.

कोई दो तीन मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद राकेश का पानी निकल गया और वो वहीं बेड पर लेट कर हांफने लगा.

छोटे बाल, गदराया बदन, मखमली गोरी जांघें, भरा हुआ चेहरा, भरे भरे गाल. मैं उसकी चूत तक हाथ नहीं पहुंचा पा रहा था वरना उसकी चूत में उंगली देकर उसको अभी गर्म करके चोद देता मैं. उसकी संभोग क्रिया की तकनीक और चेहरे के आव भाव से लग रहा था कि उसे बहुत ज्यादा आनन्द आ रहा था.

देहाती ब्लू फिल्म दिखाओमैं भी कोई आवाज नहीं कर रहा था क्योंकि साथ में ही बच्चे भी सो रहे थे. उसके बाद मैंने उस रात कुछ नहीं किया और हम सो गये।अगले दिन हम दोपहर में टी.

सनी सनी लियोन के बीएफ

मैं नहा धोकर तैयार हुई और सच बताऊं, तो मुझे आज से पहले इतना आरामदायक स्नानागार नहीं मिला था. जब मैंने महसूस किया कि अब यह पूरी गर्म हो चुकी है, तो मैंने धीरे से उसके कान में कहा- चलो बगल वाले कमरे में चलते हैं. लेकिन घर आने के बाद भी पत्नी के साथ सेक्स करने का मौका नहीं मिला।2 दिन रुकने के बाद मैं वापस आ गया और मैंने जानबूझ कर शाम की ट्रेन पकड़ी, रात को लगभग 2 बजे मैं ससुराल वाले घर पहुँचा.

पता नहीं उसके मन में क्या चल रहा था लेकिन वो अभी भी मुझसे से ऐसे ही लिपटी हुई थी. उसका दो इंच लंड प्रिया की चूत में घुसता चला गया, जिससे प्रिया बहुत ऊंचे स्वर में चिल्ला उठी- उई मां मर गई … मुझे बचाओ उम्म्ह … अहह … हय … ओह …उसकी आंखों में आंसू आ गए थे. वहीं कांतिलाल भी पहली बार शारीरिक सुख पाने के लिए उत्सुक दिख रहा था.

उसने ये भी बताया कि शुरुआती समय में इस तरह के वातावरण में आने से पहले उन्होंने मजे के लिए पुरुष तथा महिला वेश्याओं का सहारा भी लिया था. मैंने जल्दी से उसके सूट को उतरवा दिया तो अंदर से उसकी लाल ब्रा सामने आ गयी. मैंने उससे पूछा कि कालेज कब जाओगे?वो बोला- सुबह आठ बजे और शाम को चार बजे वापस आऊंगा.

इस पर उन्होंने कहा- तेरे अंकल को तो यह सब दिखता ही नहीं, तो यह सब किस काम का है. मैंने दूसरे हाथ से अपनी पैंटी एक किनारे कर उसे अपनी योनि के स्पष्ट स्पर्श दे दिया.

सीमा जी ने अन्दर रूम में चलने का इशारा किया और हम दोनों एक दूसरे की बांहों में बांहें डाले अन्दर रूम में आकर बेड पर बैठ गए.

15 मिनट तक मैंने गांड की चुदाई की और फिर दोबारा से लंड को निकाल कर चूत में पेल दिया. गुजराती सेक्सी वीडियो साड़ी वालीउन दोनों ने भी मेरे रस को साफ नहीं किया, बल्कि वैसे ही अपने अपने घाघरे नीचे कर लिए और बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गईं. ब्लू फिल्म भाई बहन कीमैं दो पल उनकी जवानी को याद किया और उनके मम्मों को अपने ख्यालों में मसला … तो मेरा मूड बन गया और मैं उनके घर पहुंच गया. भाभी को भी डर हो गया था कि अगर लाइट जली तो सारा मजा खराब हो जायेगा.

अम्मा के मुख से रिश्तों में चुदाई की बातें सुन कर मैंने भी कहा- ठीक है.

मुझे इसका ज्ञान ही नहीं था कि लड़के की भी कोई सेक्स की चाहत होती है तो वो हस्तमैथुन कर लेते हैं. मैंने अपनी खिंचाई होते देखी तो बात बदलने की कोशिश करने लगी- अच्छा सुनो … अब शाम हो गई. राकेश बोला- उफफ्फ़ … तेरी इन्हीं रसीली बातों ने तो मुझे और मेरी बीवी को तेरा गुलाम बना दिया है.

मैं अपने भाई का लंड अपने हाथ में लेकर उसकी लोअर के ऊपर से ही सहला रही थी. मुझे मालूम है कि काव्या का ये रूप सोच कर ही आप लोगों का लंड खड़ा हो गया होगा. उस दिन जब मैंने लंड की मुट्ठ मार कर वीर्य निकाला तो मैं बता नहीं सकता कि मुझे कितना मजा आया.

साल लड़की का बीएफ

उसका ऐसा कहना था कि मैं फिर से काव्या के ऊपर टूट पड़ा और उसे दीवार से लगा कर उसके पल्लू को हटा कर उसके ब्लाउज खोलने लगा और उसे किस करने लगा. उसने अपने घुटने को जांघों तक मोड़ लिया था और मैंने भी अपनी टांग उसकी जांघों पर चढ़ा दिया था. मैं उठा तो भाभी ने मेरी लोअर में तना हुआ मेरा लंड देख लिया और फिर टीवी की तरफ देखने लगी.

भाभी की गांड को छूते ही बल्लू का मोटा लंड तनना शुरू हो गया और भाभी की मोटी गांड के बीच में अपनी जगह तलाशने लगा.

यह सुन कर तो मेरा लंड पैन्ट फाड़ कर बाहर आने को हो गया … क्योंकि उतनी देर राज की चाची घर में अकेली रह जाने वाली थी.

लेकिन बाद में रात में सोते हुए जब मुझे बहन का नंगा जिस्म याद आता है तो अपने ऊपर शर्मिंदगी भी होती है कि मैं ये क्या कर रहा हूँ. अब उस लड़के का सुनो, जिसका लंड अंतरा चूस रही थी, उसके मुँह से एकाएक आह की आवाज निकली और उसने अपना गाढ़ा सफेद वीर्य अंतरा के मुँह में छोड़ दिया. सेक्सी फॉकिंगमेरा लंड उसकी बुर पर जाकर टच होने लगा और मैं अरशी के होंठों को चूसने लगा.

मैं जल्दी से उसकी गोद में बैठ कर लिंग को योनि में प्रवेश कराते हुए उसकी गोद में उछल उछल कर संभोग को आगे बढ़ाने लगी. मैंने पूछा- क्या तुमको इसके बारे में भी विस्तार से जानना है?वो बोली- हां सर, प्लीज!मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ को रख दिया और उसमें जीभ घुसाते हुए उसको चूसा और फिर दोबारा बाहर निकाल कर कहा- मर्द इसको इस तरह से प्यार करता है. फिर वो अन्दर चेंज करने के लिए चली गई और जाते हुए बोली- तुम एक मिनट और रुकना, बस मैं अभी तैयार होकर आयी.

मैं जानती थी कि जब तक पुरुष लय में नहीं होगा, झड़ने में उतना आनन्द नहीं आएगा. उन्होंने मुझसे कहा- क्या करता है? तेरा लंड इतना मोटा कैसे हो गया है? ये मेरे अन्दर जाएगा, तो मेरी पूरी चूत को छील देगा.

साफ होने के बाद मैंने ध्यान से देखा तो वो अंदर से लाल थी लेकिन बाहर से उसकी चूत के होंठ काले थे.

सारिका कंवल[emailprotected]कहानी का दूसरा भाग:खेल वही भूमिका नयी-2. मैंने मौके का फायदा उठाया और मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू कर दिया. इस पर राजशेखर ने पहले हां किया और सामने मेरे आकर घुटनों के बल बैठ गया.

సెక్స్ వీడియో హిందీ సెక్స్ వీడియో హిందీ धीरे धीरे कांतिलाल मेरे नजदीक आ गया और तकिए पर सिर रख बातें करने लगा. आपको मेरी क्सक्सक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं … प्लीज मुझे मेल कीजिए.

मेरे स्तनों से जैसे ही दूध की तेज पिचकारी छूटी, मुझे एक अनोखा अनुभव हुआ, जो इससे पहले कभी नहीं हुई थी. अब तो मेरी कामवासना मचल उठी लेकिन उसकी चूत ज्यादा प्यासी थी!सभी काम प्रेमियों को विहान राजपूत की प्यार भरी राम राम!दोस्तो, आज मैं आपके सामने अपनी लाइफ की एक सच्ची चुदाई-घटना का वर्णन करना चाहता हूं, आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं बताता हूं कि बात करीब 2 साल पहले की है. मैं जल्दी आकर विशाखा से हंसी मजाक करके उसको पटाने के चक्कर में रहता था.

हिंदी बीएफ जीजा साली

मैंने बोला- देख राकेश … ये तुझे चिढ़ा रही है … जाकर इसको पकड़ कर ले आ और मेरी गोदी में बैठा दे. फिर वो मेरी तरफ देख कर बोला- क्या यार निहाल … कम से कम मेरे आने तक तो रुक जाते, मुझे भी तो मज़ा लेने देते. कहानी लिखने का हमारा उद्देश्य भी पाठकों को मजा दिलाना ही है किंतु हमने किसी कल्पना का सहारा नहीं लिया है.

सच में मैं बहुत सुंदर और आकर्षक दिख रही थी और मैं अब अपनी बराबरी प्रीति से कर सकती थी. मैं पहली बार मम्मी के स्कूल गया था इसीलिए मम्मी ने मुझे सबसे मिलवाया … उस लड़की से भी!वो मुझे देखकर मुस्कुराई, मैंने भी स्माइल दी।वो मेरी मम्मी की सबसे चहेती छात्रा थी और मम्मी को क्लास भी लेनी थी इसलिए मम्मी ने उससे मुझे स्कूल दिखाने को कहा.

फिर कुछ सोच कर बोली- लेकिन किसी को पता चल गया तो?मैंने कहा- किसी को पता नहीं चलेगा.

इस घटना के बाद अब जब भी हम लोग आपस में सेक्स करते, तो कुछ ना कुछ दूसरे कपल और गैर मर्दों या महिलाओं की बात करते रहते, इससे हमारे सेक्स करने में कुछ ज्यादा ही मजा आने ला था. कविता के आग्रह पर राजशेखर ने कविता की योनि से अपना लिंग बाहर निकाल लिया और उसे सोफे पर थोड़ा आराम करने दिया. ऐसे ही बातें करते हुए उन्होंने मुझे बाध्य कर दिया कि मुझे शादी में पक्का आना है.

तुरंत ही काव्या एकदम ज़ोर से चिल्लाई- आअहह … माँआ … मर गयी मैं … आहह … मैं आई. खैर … उसकी विनती करने के बाद भी मैं मुस्कुराते हुए अपनी योनि को छुपाने के प्रयास करती रही. फिर मैंने बिना अंडरवियर के ही लोअर पहन लिया और नीचे जाकर खाना खाया और कुछ देर बाद फिर ऊपर आकर अपने कमरे में लेट गया।भाबी भी नीचे सारा काम निपटा कर दादी को खाना खिला कर और अपनी छोटी गुड़िया को और अपने आप खाना-वाना खाकर मेरे लिए एक गर्म दूध का गिलास उस में हल्दी डालकर लेकर आई.

लड़की के हाथसे लंड सहलवाने में मुझे भी मज़ा आने लगा था, मैंने भी जींस के ऊपर से ही निधि की चूत को सहलाना आरम्भ कर दिया। अब तक निधि बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल सेक्सी: उस कामवाली की सहेली की चूत चुदाई की कहानी मैं आपको अगली कड़ी में बताऊंगा. आखिरकार मेरे लंड ने दम छोड़ दिया और मैंने पूरा का पूरा वीर्य उसकी चुत में छोड़ दिया.

मेरा ध्यान बस अब उसकी चूत की रसीली फांकों के बारे में ही जा रहा था. मैं उसकी कमर पर लेट गया और उसके चूचों को अपने हाथों में भर कर उसकी बुर को चोदने लगा. मुझे लगा उन्हें दर्द हो रहा है … क्योंकि मैंने पहले कभी सेक्स नहीं किया था.

राजशेखर जितना जोर ऊपर से लगा रहा था, उतना ही जोर मैं भी नीचे से लगाने का प्रयास करने में लगी थी.

दर्द में मेरी आंखें बंद होने लगीं मैं बोली- आह्हह … नहीं अंकल … आह्ह … मत करो।उन्होंने मेरी कराहटों पर ध्यान नहीं दिया और मेरी गांड को अपनी उंगली से ही चोदने लगे. ज्यादातर लोगों को लगता है कि केवल कौमार्य भंग के समय लड़कियों को पीड़ा होती और खून आता है. मैंने पूछा कि नम्बर कैसे मिला आपको?वो बोली- तेरी भाभी से ही लिया है.