एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पिक्चर चित्र: एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली, डॉक्टर बोला- क्या!मैं बोली- तुम्हें अपना स्पर्म मेरी चूत में ही डालना होगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म

फिर भाईजान एक बरमूडा उठा लाए और देते हुए बोले- लो इसे पहन लो … जब तुम्हारी सूख जाए, तो बदल लेना. एचडी बीएफ सेक्सी वीडियोइसलिए मैं घर के माल को घर में ही खुश रखूं, यही सोच कर पहली बार उनकी सील पैक चुत चोद कर दीदी को मैंने मज़ा दे दिया.

मैं मन में बुदबुदाई कि मुझे पता है आप क्या देखने की सोच रही हो थैंक्यू चाची. गांव की लड़की का बीएफवो अपने दोनों होंठ काटने लगीं और मेरे हाथ को पकड़ कर अपने बूब्स पर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगी.

मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा सारा लोड एकदम से छूटकर कंप्यूटर स्क्रीन पर जा लगेगा.एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली: सुबह पापा मम्मी से कह रहे थे- कल रात बहुत मजा आया न?मम्मी ने हां में सिर हिला दिया.

मैं, भाई-भाभी और भाई का 9 महीने का बेटा वेदांत पुणे के अपने फ्लैट में रहने चले आए.नेहा भी तेज़ तेज़ चिल्लाने लगी- हां और जोर से मेरे साजन क्या चुदाई करता है रे तू … आह मेरे कुत्ते आह मेरे राजा … क्या मस्त लंड है तेरा … मेरे भड़वे उईईई.

हिंदी मे बीपी व्हिडिओ - एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली

करीब दस मिनट तक चुदाई करने के बाद मैं झड़ गया और मैंने अपना वीर्य चाची के चूतड़ों पर उड़ेल दिया.एक मिनट बाद तो दीदी इतना अधिक झुक गईं कि उनकी चूचियों के निप्पल भी दिखने लगे.

मैंने थोड़ा और ललचाया लंड को चुत की दरार पर थोड़ा रगड़ा फिर चुत में डाला. एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली एक गेस्ट रूम था और एक बेड रूम।तो सर बाहर बैठे और मैं बेड रूम में आ गई.

उस दिन के बाद से मैं और परी, जब भी मन करता … प्लान बना लेते और दोनों दिल खोल कर चुदाई का मजा ले लेते थे.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली?

मैंने अपनी गोद में भाभी को उठा लिया और नीचे उनके बेडरूम में लाकर लाकर बेड पर पटक दिया. रोज नये नये लंड … और उनका पानी पीकर मेरा चेहरे की चमक देखते ही बन रही थी. मैंने धुंआ उड़ाते हुए उससे पूछा- तुझे कोई परेशानी है क्या?वो- हां … मगर कैसे बताऊं चाचा जी!मैं- बताओ … ये सब हमारे तुम्हारे बीच ही रहेगा.

अगले दिन मैं नियत समय पर पहुंच गई और निरीक्षण के बाद जब वापिस जाने लगी. अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों को पढ़ने के बाद ही मैं अपनी सच्ची घटना को एक मस्त रसीली हिंदी फैमिली सेक्स स्टोरी में पिरोकर आप लोगों के समक्ष रख रहा हूँ. मेरी अन्तर्वासना की कहानी में पढ़ें कि मेरी चूत की आग ने मुझे किस किस से चुदवा दिया.

मैंने मामी को देखा, तो वो छटपटाने लगीं और उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे थे. चलो दूध पी लो।दिव्या ने फटाफट से अपने कपड़े पहने और दूध पकड़ लिया।वो हम दोनों के साथ नजरें झुकाए बैठी थी। कुछ भी नहीं बोल रही थी।अब माहौल को सामान्य करने की जिम्मेदारी मेरी थी।मैंने जानबूझकर शशि को छेड़ते हुए कहा- यार दिव्या सच में तुम्हारी तरह ही सेक्सी है।तो शशि बोली- मेरी तरह नहीं, मुझसे भी ज्यादा!दिव्या नजरें झुकाए बैठी थी. पूनम बुआ ने मेरे को वो सुख दिया था, जो कोई और आज तक नहीं दे सकी थी.

आप अन्तर्वासना की हिंदी देसी सेक्स कहानी की इस साईट से जुड़े रहिये और मुझे मेल जरूर कीजिएगा. जब मैं भाभी की चूत को तेज तेज मसलने लगा तो वो भी मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करने लगीं.

कश्मीरी गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस की जूनियर स्टाफ कश्मीरी लड़की को मैं चोदना चाहता था पर साली नखरे कर रही थी.

मैं बिस्तर में लेटी हुई थी और मेरी चुत में मेरे बेटे के लंड के धक्कों को बौछार हो रही थी.

मेरे दिमाग को वैसे भी उसके घर जाने का कोई भी आईडिया नहीं आ रहा था, तो सोचा शायद इस फोन से काम बन जाए. कश्मीरी गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस की जूनियर स्टाफ कश्मीरी लड़की को मैं चोदना चाहता था पर साली नखरे कर रही थी. थोड़ी देर बाद वो फिर से बूब्स दबाने के लिए हाथ आगे लाया तो मैंने उसका हाथ रास्ते में ही रोक दिया और उसकी तरफ झुककर उसको बोली- ऐसे कोई देख लेगा.

मामी अब बड़े ही मस्त अंदाज में लंड को बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह से जोर जोर से चूस रही थीं. अब उसने मुझको घोड़ी बनाया और पीछे से अपना कड़क लौड़ा मेरी गांड में दे दिया. मैंने कहा- अब कब बुलाओगी?भाभी ने बोला- पहले जल्दीो से घर की लाइट ठीक करवाओ, किसी इलेक्ट्रीशियन को बुलाओ.

दो मिनट बाद वो भाभी जी एक मेडिसिन बॉक्स लेकर आईं और उसमें से कोई क्रीम निकाल कर उन्होंने मेरे पूरे लंड पर लगा दी.

उसने जल्दी से मेरे हाथ से सिगरेट खींची और लम्बा सा कश खींच कर अपने मुँह का कसैलापन ठीक किया. कुछ ही चुसकों के बाद मैंने फ़लक को गोद में उठाया और बाहर ला कर बेड पर लिटा दिया. कुछ ही देर में मैंने भाभी को लेटा दिया और उनके ऊपर आकर कभी उनके गालों को चूमता, तो कभी उनकी गर्दन को जोर जोर से चूसता चूमता, जिससे मोना भाभी को भी बहुत अच्छा लग रहा था.

वाशबेसिन के संगमरमरी पत्थर पर उसके चूचे और निप्पल रगड़ रगड़ कर फिर से फूल गए थे. फिर अपने बच्चे के सोने के बाद रोज़ रात में एक बजे के बाद मेरे कहे अनुसार चूड़ी और पायल दोनों निकाल कर आ जातीं. शायद वो सोच रही थी कि ये सब वो सपना देख रही है, जिससे उसकी आंखों में आंसू भी निकल आए.

शायद साक्षी ने इससे पहले चुदाई नहीं करवाई थी इसलिए उसको अपने पति के लंड में ही मजा आ रहा था.

संगीता- ठीक है … रात को तुम दोनों अपने पापा से पूछ लेना, मुझे कोई एतराज नहीं है. मैं मिशैल के कामुकता भरे डांस के कारण लंड में उठ रही लहरों का विरोध नहीं कर पा रहा था और खुद को मुठ मारने से रोक नहीं सकता था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली चूत के बीचों बीच ऊपर की ओर बहुत ही सुंदर क्लिटोरियस चूत के रस से चमक रहा था और नीचे सुन्दर गुलाबी पंखुड़ियों के साथ चूत का गीला छेद दिखाई दे रहा था. इस समय नेहा पूरी तरह नंगी थी और नीचे बैठ कर निखिल के लंड को चूस रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली पर रनवीर मचल गया- सर, क्या मैं शामिल हो सकता हूं … सर सर प्लीज!सर मान गए और मैं बाजार चला गया. जिंदगी में आज पहली बार किसी ने सोनम की संगमरमर सी चुत की ये हालत की थी.

मैं भी मीठे दर्द के साथ नसीम भाईजान का मशहूर लंड अपनी गांड में लेकर पुरानी यादों में खो गया था.

अभी सेक्सी ब्लू पिक्चर

अब संजना भी मूड में आ चुकी थी। वो मेरे के लंड के ऊपर बैठ गयी और उसे अपनी चूत में कर लिया।मैं हालांकि नशे में था मगर हुस्न के जलवे के सामने नशा काफ़ूर हो जाता है।विजय और मैंने दोनों ने मिलकर संजना को जमकर चोदा।बाद में संजना ने पूछा कि क्या अनीता भी इस खेल में शामिल होगी तो मैंने कहा कि उसने विजय को सुबह ही मना कर दिया था. तो मैं सीधे उसके बेडरूम में चला गया और जो नजारा मैंने देखा, उसके बाद तो मेरा प्राची को देखने का नजरिया ही बदल गया. भाभी मेरी बांहों में सिमट गई थीं और अपने होंठों से मेरे कान की लौ को चूमने लगी थीं.

चचेरी बहन की चूत पर हल्का सा हाथ लगते ही मेरे पूरे बदन में बिजली सी दौड़ गयी. मैंने प्राची की लगभग नंगी चूचियों को देख लिया था, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया था. मेरी बीवी की भोसड़ी और गांडआज मैं उसी कहानी के आगे की घटना की बताने जा रहा हूं.

मैं तो अभी ज्यादा से ज्यादा लोगों का स्पर्म लेने के मिशन पर थी इसलिए मैंने भी उस डॉक्टर का पूरा साथ दिया.

भाभी जी- आर यू श्योर … क्या तुम्हारा इरादा पक्का है?मैं- जी भाभी जी. मामी ने कहा- क्यों झूठ बोल रहे हो!मैंने कहा- कसम से … कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. जीभ को अंदर-बाहर व ऊपर- नीचे उसकी चूत पर चलाते हुए सेक्सी बहन की चूत के रस को चाटने लगा.

ख़ैर दूसरे दिन यानि रविवार की रात क़रीब 10 बजे दोनों फिर से चैट रूम में मिले और इस बार शेखर ने अपनी असमंजसता को दूर करने के लिए उससे फ़ोन पर या फिर वीडियो चैट पर आने को कहा. मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डाल कर घुमाने लगा, तो प्राची ने भी मेरी जीभ को पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. मैं- क्या फंतासी है?वो- यहां पर नहीं, सर आप अपना मोबाइल नम्बर दो, फिर कॉल पर बात करते हैं.

स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी के पहले भागजवान लड़कियों की कोरी बुर का मजामें आपने पढ़ा कि युगांडा की एक अश्वेत लड़की जीनिया मेरे साथ लिव इन रिलेशन में रह रही थी और मेरे बच्चे की माँ बनने वाली थी. लगता तो नहीं तुम्हारे लिए मुश्किल काम है। कोशिश करोगे तो कोई न कोई मिल ही जायेगी.

उसकी चुत एकदम टाईट थी तो उसे तकलीफ हो रही थी लेकिन उस तकलीफ में भी उसे बड़ा सुकून मिल रहा था. दूसरे दिन हर रोज की तरह मैं जब सुबह उठा, तो आज भी मेरा लंड पूरा खड़ा था. पापा बोले- लव यू मेरी जान … क्या बदन है तेरा … हहहह आआ आह ले लंड ले अपने बाप का आह … मैं न जाने कब से तुझे चोदने के लिए बेचैन था.

जब जब बिजली के चमकने से लाइट आती … निखिल और मैं पूरी तरह दिख जाते थे.

मैंने पूछ ही लिया- कहीं बाहर जा रहे हैं?अमितेश बोला- हां मुझे अफ़िस के काम से एक सप्ताह के लिए बाहर जाना है. लंड अन्दर पेलने के बाद गगन जया की चुचियों को पकड़कर उसे चोदना चालू कर दिया. मैं मस्ती से उसके बदन की महक कर मजा लेते हुए तौलिया से अपना शरीर सुखाने लगा.

इतने से उसका मन नहीं भरा तो वो उठ कर चुदने की पोजीशन में आकर मेरे लंड पर चुत सैट करके बैठ गई और मेरा पूरा लंड चुत में डलवा कर ऊपर बैठ गई. जिसमें से उसकी गोरी गोरी जांघें साफ़ चमक रही थीं उसने ऊपर पिंक कलर का स्लीवलैस टॉप पहना था, जिसकी डोरियां कंधे पर थीं और बगल से ब्रा के स्ट्रेप बाहर दिखाई दे रहे थे.

इस सेक्स कहानी के पहले भागअफसर की बीवी को चपरासी का लंड पसंद आयामें अब तक आपने पढ़ा था कि साहब की बीवी सोनम अपनी चुत चुसवा रही थी और अब वो चुदाई के लिए कहने लगी थी. फिर थोड़ी देर मेरे रुकने के बाद वह झुका और मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया. मैंने परेशान होकर तुम्हारे अंकल से कहा कि यदि ऊपर वाला कमरा किराये पर न दिया होता तो मैं बच्चों के साथ ऊपर छत पर सो जाती.

मामा की शादी कब होगी

मैंने उससे प्यार से बोला- तेरी चुत को मैं फिर से चाट लेता हूँ … ताकि थोड़ी राहत मिल जाए.

वो इतने गुस्से में थी कि बस अपने पति को गालियां देकर ही उसकी बातें करती जा रही थी. इस बार उसने दांतों को थोड़े हल्के से दबाया था तो मैंने भी गुस्से में आकर प्राची के सर को पीछे से पकड़ कर अपना पूरा लंड उसके मुँह में ठूंस दिया. मेरा लंड लम्बाई में 6 इंच के करीब है और उसकी मोटाई है 2 इंच से थोड़ी सी ज्यादा।मैं 38 साल का हूं.

वो भी कपड़े उठा कर बाथरूम में चली गईं, फिर कपड़े पहन कर बाहर निकल गईं. वे दोनों अपने अपने बूब्स दबाने लगी और मचलने लगी।तब हम दोनों दोस्त बिस्तर पर सीधे लेट गए और पिंकी भाभी रोमिल के और दीदी मेरे लंड पर बैठ गई. बीएफ बीएफ फुल एचडीउसके सामने ही मैंने उसकी चूत का रस लगे अंगूठे को मुंह में लेकर चूस लिया.

उसकी 34 नाप की चुचियों की नोंके उसके टॉप में से ऐसी उठी हुई लग रही थीं, जैसे टॉप कप फाड़ कर उसमें छेद ही कर देंगी. शायद उसका वहां खड़ा रहना मुश्किल हो रहा था, इसलिए भी हो सकता था कि वो नीचे बैठ गयी हो.

मैं- ठीक है, आप बाहर आराम करो और यदि दिल करता हो तो हस्बैंड को बुला लो और छुट्टी मार लो, कहीं बाहर घूम कर आओ, मूड ठीक हो जाएगा. हालांकि दर्द अब मेरे लंड में भी पहले से ज्यादा हो रहा था और वो उस संकरी चुत में इस तरह फंसा हुआ था कि हिल भी नहीं पा रहा था. मैंने मैम की ठुकाई शुरू की तो मैम भी रिवर्स गेयर लगाकर जवाबी धक्के मारने लगी.

आठ लोगों ने बारी बारी से जया की चुत गांड में लंड पेला और उसे हचक कर चोद दिया. बार-बार की-बोर्ड से अपना एक हाथ हटा कर लंड को मसलना शेखर की मजबूरी बन गयी थी. अब वो वहां से इसलिए भाग आया क्योंकि वहां सबको मारा जाता था और खाना भी ठीक से नहीं दिया जाता था।मैंने उससे पूछा कि अगर तुम मेरे घर में रह कर यहां काम करो तो मैं तुमको पैसा, खाना और रहने को घर और कपड़े सब दूंगी। क्या तुम मेरे घर में काम करना चाहोगे? तुम्हें रहने के लिए घर भी मिल जायेगा और कोई तुमको मार पिटाई करके काम भी नहीं करवायेगा.

चुदाई की स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मैं अपने मामा के बेटे के साथ मिलकर मजे कर रहा था.

मैंने यामिना से कहा- केवल ड्राई मसाज ही कर दो, तेल लगवाने की इच्छा नहीं है. साक्षी के लिए मेरे मन में आज से पहले सेक्स के ख्याल नहीं आये थे लेकिन अब मैं उसको एक चुदक्कड़ लड़की के रूप में देख रहा था.

वो फिर से मेरी तरफ आई और उसने मुझे फिर से किस करना स्टार्ट कर दिया. मेरे मुँह से निकला- पापा आप!रूम के बाहर काफी लोग आ जा रहे थे, तो मैं अन्दर चली गई और दरवाजा बंद कर दिया. अब तक मैं ललित को भूल चुकी थी मगर आज उसे देख मुझे उसके साथ गुजारा हुआ हर लम्हा याद आ गया.

मुझे रोहन नाम से एक आदमी ने फ़ोन किया और कहा कि मुझे उनकी बीवी को इंजेक्शन लगाना है. पायल को बेड पर लिटाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और बेड पर आकर पायल से लिपट गया. हैलो साथियो, मैं मानस पाटिल आपको अपने अफसर की बीवी की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली भाभी हंसने लगीं और बोलीं- जैसे क्या ख़ास लगा?मैंने कहा- आप पूरी की पूरी ख़ास हो. भाभी बोलीं- मुझे भी और करना है!मैंने कहा- थोड़ा आराम करने के बाद … खाना खाने के बाद.

नंगी सेक्सी नंगी सेक्सी फिल्म

उस भैन के लौड़े को आज एकदम वाइट रंग और हॉट फिगर वाली लड़की को चोदने का मौका जो मिल गया था. आपसे अनुरोध है कि आप देसी भाभी सेक्सी स्टोरी के बारे में भी बतायें कि आपको ये स्टोरी कैसी लगी. सिगरेट के दौरान ही दीदी ने मुझसे ड्रिंक के बारे में पूछा तो मैंने ना में सर हिला दिया.

मामी बोलीं- पागल है क्या?मैं- जैसा बोल रहा हूँ वैसा कर मेरी कप्पो रानी. अब मैं मार्केट में जाता, तो कॉल करके बोलती- जल्दी आओ, मुझे खुजली हो रही है. पोर्न वीडियोस फुल हदबीच बीच में मैं उनके दोनों चुचों को कभी एक साथ दबा देता, तो कभी उनके निप्पलों को उंगलियों के बीच में दबा कर मसल देता.

मैंने मम्मी की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया और चड्डी के ऊपर से ही पापा का लंड पकड़ लिया और दबाने लगा.

अब उसने मुझे नीचे से चूमना शुरू किया और कमर पर आ कर रुक गयी।जैसे मैंने उसके चूतड़ों को प्यार किया वैसा ही अब वो मेरे साथ करने लगी और नीचे से हाथ डाल कर मेरी चूत को सहलाने लगी।वो मेरे चूतड़ों को अपने अंदाज में प्यार करती हुई बार बार चांटे मारे जा रही थी और मैं कराहती रही।मेरी चूत अब किसी तंदूर की तरह गर्म होकर भभक रही थी. उसके बाद जब भी मेरी बहन रीना को मौका मिलता तो वो दोनों चुदाई कर लेते.

उसका मानना था कि ईश्वर ने जो नायाब तोहफ़ा हम मानवों को दिया है उसमें नारी के सौन्दर्य के समान कुछ भी नहीं, तो फिर इस सौन्दर्य को क्यूँ ना निहारें हम!ख़ैर, शादी के 6 सालों के बाद शेखर और रेणु अपने बेटे के साथ बहुत ख़ुश थे. उन्होंने आगे बढ़ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगे. मैंने बिल्कुल एक ही शेप की ऐसी खूबसूरत चूचियाँ और उनके ऊपर अति सुंदर भूरे गुलाबी रंग के गोले आज से पहले कभी नहीं देखे थे.

ये थी मेरी सेक्स कहानी, आपको बेबी Xxx कहानी कैसी लगी … प्लीज़ कमेंट्स करना न भूलें.

फिर मैंने उसका लोअर उतारा और उसे गोद में उठाकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. तो हम तीनों के बीच हंसी के गुब्बारे फूट पड़े और रूम में खुशनुमा माहौल हो गया. देर से शादी होने का कारण ये था कि बहुत मुश्किल से उनके लिए कोई पसंद की लड़की मिली थी.

काजल वाली बीएफतब आँटी ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मैं आँटी के पेट के ऊपर से होता हुआ उन पर झुक गया. दोस्तो, मेरा नाम मनप्रीत है। मेरी उम्र 21 साल है और मैं खूबसूरत हुस्न की मालकिन हूं.

सेक्सी पिक्चर वीडियो चूत चुदाई

मैंने चाची की पैंट के बटन बन्द करने की कोशिश की तो मेरे हाथ कांपने लगे. मैं अपनी चूत को सहलाते हुए उसकी मांसल और गठीली बॉडी देखना चाहती थी. मैं उत्तेजना में घोड़े की मुद्रा में आ गया और बुआ ने मेरे दोनों चूतड़ों को अलग करके मेरी गांड में अपनी जीभ डाल दी.

कुछ देर मैंने उसके मुंह में लंड चुसवाया और अब मैं चुदाई के लिए उतावला था. भाभी- तो फिर पहले मुझे चोदोगे या पायल को?मैं- जैसे आपकी मर्जी।भाभी- ठीक है, कल बताते हैं. उस रात हम दोनों ने नंगे होकर दारू पी और उस रात को दीदी की चुत में, गांड में,चुचियों में मुँह में … पर सब जगह लंड पेला और ऐसे ही एक हफ्ते तक मैंने दीदी को जमकर चोदा.

कभी बोलते- यार साले साहब, कभी अपनी बहन को बोल ना कि हमें भी आम खिलाएं. अंकल पोर्न स्टोरी कहानी के तीसरे भागपड़ोसी अंकल ने चूत चाट कर चोद दियामें आपने पढ़ा किअब आगे अंकल पोर्न स्टोरी:मैंने देखा मेरी गांड से बहुत सारा पानी निकल रहा है।फिर अंकल मेरी बगल में आकर लेट गए और मुझे देखकर मुस्कुराने लगे. चाची गुदगुदी और मस्ती के मारे कामुक आहें निकाल रही थीं और अपनी गांड मेरे मुँह पर दबाती जा रही थीं.

संगीता नौकर को समझा रही थी, यह ड्रिंक का सारा सामान उनके कमरे में पहुंचा दो … और जो भी मांगे उनको मिलना चाहिए … समझ गए!नौकर ने कहा- जी मैडम, उनको कोई परेशानी नहीं होगी. मैंने बिना किसी हिचक के उसे भींच कर पकड़ लिया और बांहों में भर कर उसके नरम और सुर्ख लाल होंठों को चूसने लगा.

जोक सुनाने में पूरी एक्टिंग करता, हाथ की मुट्ठी बांध कर दूसरे हाथ से कोहनी पकड़ लंड सा हिलाता.

लगभग 15 मिनट के बाद भाभी बाथरूम से बाहर आईं और मेरी तरफ देखकर मुस्कुराते हुए मेरे घर की ओर जाने लगीं. बीएफ व्हिडीओ भेजोउसका बच्चा अम्मा के साथ सो रहा था।फिर से हमारी चुदाई चालू हो गई और रात में तीन बार मैंने उसकी गान्ड मारी और एक बार उसकी चूत में पानी छोड़ा।मैं सुबह जब जागा तो उसका बेटा स्कूल जा चुका था।फिर मैंने उसको किचन में, बाथरूम में, हॉल में और सीढ़ियों में लिटाकर जमकर चोदा और शाम को रूम पर आ गया।उसके बाद जब भी मौका मिलता सपना मुझे घर बुला लेती और अपने बिस्तर पर ले जाती. बीएफ सेक्सी पिक्चर बीएफहम दोनों के घर वालों की सोच सही थी क्योंकि हम दोनों भाइयों ने साथ में मिलकर बहुत सारी लड़कियां और भाभियों की चुदाई की थी. मैं उसकी चूत जोरों से चाट रहा था, वो भी कामुक सिसकारियां भरते हुए मेरे लंड को मस्ती से चूस रही थी.

अब आगे बीवी की सहेली की चुदाई:उससे किंजल मेरे लौड़े से चुदकर इतनी संतुष्ट हो गई थी कि वो प्यार से रोने लगी.

उनके साथ मोहल्ले की अनीशा, गुलनाज, परिणीति, अलीशा, शहनाज़, बिलौरी, चित्रांगदा, फातिमा, सनाया और भी कई परियां शामिल रही थीं. सामने बैठा सुलतान ये सब बड़े गौर से देखते हुए अपने होंठों पर जीभ फेर रहा था. अब हुआ ये कि भाभी को मैं व्हाट्सएप पर ऑनलाइन दिख रहा होऊंगा क्योंकि नेट ऑन ही रहता है.

मैं आपका ये अहसान कैसे उतारूंगी? आप जो कहोगे मैं बदले में करने के लिए तैयार हूं. उसकी तरफ से पॉजिटिव रिस्पांस मिलने के बाद मेरा जोश बढ़ गया और मैंने यामिना की चूत में 10-12 जोर जोर के झटके मारे. करीब पन्द्रह मिनट तक चुत का रसपान किया और फिर वो एकदम से उठ कर एक और व्हिस्की की बोतल उठा लाईं.

फ्लावर इमेज

वे पूरी तरह से गर्म हो गई थीं, बोलीं- जल्दी लंड डाल कर मुझे चोद दे … अब बर्दाश्त नहीं होता. मैंने देखा कि श्वेता अभी-अभी नहा कर निकली थी और उसके बाल भी गीले थे. निर्मला जी निआग्रा फाल्स से भी ज़्यादा गीली हो रही थीं, उनकी चूत भट्टी जैसी गर्म और अपना चिपचिपा माल छोड़ रही थी, जो उनकी कच्छी और और उनकी झांटों को भिगो चुका था.

उसकी आवाज सुन कर मैंने एक बार फिर से झटका मारा और उसकी चुत में अपना पूरा लंड घुसा दिया.

ललित के हिसाब से बतायी गयी बातों को मानें तो इस समय धारा के चैट रूम में होने की सम्भावना थी.

उसका मानना था कि ईश्वर ने जो नायाब तोहफ़ा हम मानवों को दिया है उसमें नारी के सौन्दर्य के समान कुछ भी नहीं, तो फिर इस सौन्दर्य को क्यूँ ना निहारें हम!ख़ैर, शादी के 6 सालों के बाद शेखर और रेणु अपने बेटे के साथ बहुत ख़ुश थे. मेरी बाक़ी की सेक्स कहानियों की तरह इस न्यूड भाभी की मस्त चुदाई कहानी को भी आपने पसंद किया होगा. विदेशी बीएफ हिंदीमैंने भी मौके की नजाकत समझी और उसकी चूत पर लंड का सुपारा टिका दिया.

संगीता- ये क्या ढंग है सोने का … कपड़े की हालत देख जरा, कहां जा रहे हैं. मैंने धीरे से अपने लण्ड को आँटी के चूतड़ों के पीछे निकाल कर गहरी खाई के बीच में लगा लिया. कृष्णा मंदिर, कृष्णा नदी, मंकी पाईंट, मैप्रो गार्डन और मुल्सी झील है … और हां लंच भी वहीं कहीं कर लेंगे.

”जब उधर से ये आवाज़ आयी, तो मेरे मन से उस समय ये ही आवाज़ आयी कि अपनी बहन की चुत दिलवा दे, फिर तू जहां जाने की बोलेगा, वहां चला जाऊंगा. मनीष ने उसकी तरफ देखा, तो उसका पूरा चेहरा लाल पड़ गया था और आंखों में आंसू भर गए थे.

तू जल्दी जा और अस्पताल में दिखवा दे।मैंने कहा- ठीक है, मैं अभी जाता हूं.

भाभी जी- आरुष सॉरी … प्लीज मुझे माफ़ कर दो … मेरी वजह से तुमने इतना गंदा सेक्स सहन किया. नेहा- ठीक है, पर बदले में मुझे क्या मिलेगा?स्नेहा- अंआंआं जब मेरी शादी हो जाएगी … तो मैं अपने पति से आपकी चूत की चटनी बनवा दूंगी. वहां बैठते ही मैंने अपनी साड़ी का पल्लू इस तरह से कर लिया कि मम्मों का दरबार अब पूरी तरह से खुला होकर उसको गर्म करता रहे.

तृषा मधु का बीएफ मैंने मामी के दूध दबाए और कहा- आज आपको एक और मज़ा मिलने वाला है … देखती जाओ. काफी देर तक ऐसे खेलने के बाद मैंने भी अपनी टी-शर्ट और जीन्स निकाल दी।अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था। उसने भी अपने शरीर से बाकी कपड़े निकाल दिए और मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी।फिर मैं खड़ा हो गया और उसने मेरा अंडरवियर निकाल कर मेरा लंड हिलाना शुरू किया।उसके बॉयफ्रेंड के लंड से खेल खेलकर वह शायद सब कुछ सीख गयी थी.

मुझे लगा वह मुझे ही अपनी चुत में घुसा लेगी, तभी मैं भी उसकी चुत में ढेर सारा माल गिराने लगा. अब वो जोर जोर से मोन कर रही थीं- अहह अर्नव … जोर से चूसो खा जाओ इन्हें!वो काफ़ी उत्तेजित हो रही थीं।पर अभी भी उनका आधा जिस्म साड़ी से ढका हुआ था. फिर लगभग 10 मिनट बाद उस लड़के ने, जो सबसे पहले मेरे पास आया था, मेरी कमर में उंगली चलाना शुरु कर दिया.

सेक्सी पिक्चर इमेज

आप लोग पेशेंट डॉक्टर सेक्स कहानी पर आप अपनी राय मुझे कमेंट्स में बताएं. निखिल भी मेरे पीछे-पीछे तेज़ धक्कों के साथ ही अपना परमानन्द को प्राप्त करने में लग गया था. मेरा हाथ तेजी से मेरे लंड को रगड़ रहा था और मेरे लंड में दर्द होने लगा था.

मैंने कहा- रात को मेरे दरवाजे को ग्रीन सिग्नल मिलने लगेगा, जो सुबह के बाद रेड हो जाएगा. फिर हम दोनों एक दूसरे के ऊपर नंगे ही लेट गए और एक दूसरे बहुत देर तक सहलाते रहे, खुली खुली बातें करने लगे.

मुझसे अब ये गर्मी बर्दाश्त नहीं हो रही थी; मैं बोली- निखिल हम दोनों ठंड से मर जाएंगे.

लेकिन मैं इस बात से बिल्कुल अंजान था कि वो मुझ पर इस तरह फिदा हो चुकी है कि वो कैसे भी करके मुझे पाना चाहेगी. उसकी फैमिली में वो, उसकी खूबसूरत बीवी शबाना और एक बेटा शाहिद और एक बेटी हिना थी. मैंने 69 में होकर उनके मुँह में मेरा लंड दे दिया और मैं अब उनकी चूत को जीभ से चाटने लगा.

बीस दिन तक इस तरह की बात करने के बाद मैंने उससे मिलने के लिए पूछा, तो वह सहर्ष तैयार हो गई. उसने पूछा- कौन से एरिया में हो?मैंने कहा- मैं ड्राइव इन एरिया में हूँ. मैं बोला- मामी आपको गाली पसंद नहीं है ना … अब आपने मुझे साले कमीने कह कर मेरा रास्ता साफ़ कर दिया है.

मनीष- आज रहने देते हैं, कल देखेगे आज मीटिंग में मैं बहुत थक गया हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली: दीदी ने अपनी जीभ निकाली और लंड के आगे आते ही उसके सुपारे पर अपनी जीभ फेर दी. एक दिन हम कैंटीन में जूस पी रहे थे तो मैंने हिम्मत करके उससे पूछा- क्या हम फोन पर बात कर सकते हैं?पहले तो उसने मुझे घूर कर देखा लेकिन कुछ बोली नहीं.

मामी- आह टपका दे अपना बीज आह … मैं आज इस चुदाई को यादगार बनाना चाहती हूँ. फिर स्नेहा अपने भाई से बोली- क्या हुआ भैया … कहां खो गए?ज्योति ने धीरे से शर्माते हुए कहा- चुप कर कहीं भी कुछ भी बोलती है. खैर … शायरा के होंठों का स्पर्श इतना कोमल था कि मैं अब कुछ देर के लिए तो जैसे खुद को ही भूल गया कि मैं कहां हूँ … और क्या कर रहा हूँ.

मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उनके बोबों को जोर जोर से निचोड़ने लगा और पीने लगा.

मेरे हाथ में एक काले रंग की पट्टी देखकर वे एकदम चौंक गये और बोले- यह क्या है?तो मैंने कहा- आज मैं जन्नत की सैर करना चाहती हूं. इसके आगे क्या हुआ और अब वो भाभी कहां हैं, ये सब मैं भाभी की चुदाई हिंदी में अगली कहानी में लिखूंगा. वो शायद सोच रही थी कि हम दोनों तो चुदाई करने में व्यस्त हैं, इसलिए उस पर कोई ध्यान नहीं देगा, मगर मैं चुदाई के बीच बीच में खिड़की‌ की ओर देख ले रहा था.