हिजरा बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,चाइना बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो प्रेम: हिजरा बीएफ वीडियो, जब लड़की लंड की राइडिंग करती है, तो को लंड उसकी चुत के अन्दर तक जाता है, जिसका अहसास का मज़ा ही अलग आता है.

बीएफ दिखाइए चोदा

फिर जैसे ही जगह की सहूलियत मिलती, हम दोनों चुदाई का मजा लेने पहुंच जाते. बिहारी बीएफ ब्लूजब मैं दीदी से मिलने पहुंची तो उनकी सास भी वहीं पर थी और उन्होंने मुझे वहीं पर रुकने के लिए कह दिया.

वो बोले- अरे पगली, रो क्यूं रही हो? अगर ट्रान्सफर करवाना है तो पजामी तो तुमको मेरे सामने ढीली करनी ही होगी. विदेशी वाला बीएफमैंने मानसी के फोन पर मैसेज छोड़ दिया कि मैं रात 11 बजे के बाद उसके रूम में आऊंगा और वो दरवाजा खुला ही रखे.

अब आगे जब बेटी ने बाप से गांड मरवाई:गांड चुदाई के लम्बे दौर के बाद रमेश और रिया दोनों थक कर लेट गये थे.हिजरा बीएफ वीडियो: तभी मुझे कुछ सूझा, तो मैंने अपने एक दोस्त से पूछा कि औरतों की टांगों के बीच में क्या होता है.

आओ डिअर … अन्दर आ जाओ!”थैंक यू सर!”मैं दरवाजा बंद करके सुहाना को लिए अन्दर आ गया और उसे हॉल में पड़े सोफे पर बैठने को कहा। सुहाना ने हाथ में पकड़ा बैग और नाश्ते का टिफिन सोफे के पास रखे टेबल पर रख दिया।मॉम ने आपके लिए नाश्ता भेजा है।”ओह … इतनी तकलीफ की क्या जरूरत थी डिअर … थैंक यू.उनके जाने के बाद अब मेरे मामा के घर पर मेरी मामी, उनकी बड़ी बेटी मनीषा और उससे छोटी बेटी जागृति व सबसे छोटा बेटा मनोज रहते थे.

मां बेटे की बीएफ सेक्सी चुदाई - हिजरा बीएफ वीडियो

किचन में घुसते ही रितेश ने, चूतड़ पीछे करके खड़ी मीरा की नाइटी उठाई और पीछे से अपना मुँह मीरा की गीली चुत पे रख कर चुत चूसने लगा.उसके बाद हम थका थका महसूस कर रहे थे तो बाथरूम में जाकर गर्म पानी से नहाये.

मैंने उठकर कॉफ़ी का मग पकड़ा, अब के वसुन्धरा मेज़ के परली तरफ़ बैठने की जग़ह मेरे बाएं हाथ लंबरूप रखी कुर्सी पर बैठ गयी. हिजरा बीएफ वीडियो इन्होंने अपनी बीवियां बदल-बदल कर महीनों तक चुदाई की है, हो सकता है हम भी कल को इस मण्डली में शामिल हो कर जीवन का मजा लें जैसा कि तुम भी चाहती हो.

फिर मैंने अपने हाथ से उनका लंड पकड़ा और अपनी चूत पर लगाया और उसको अंदर लेने की कोशिश करने लगी.

हिजरा बीएफ वीडियो?

मैंने बिछी हुई बेडशीट, पिलो कवर, नैपकिन, सब वाशिंग मशीन में धुलने के लिए डाल दिए. माणिक और मेरा हम दोनों का झगड़ा भी बहुत होता है और प्यार भी बहुत है. उसकी बुर तो बहुत ज्यादा टाइट थी, लंड को उसकी बुर के अन्दर जाने में बहुत मेहनत करनी पड़ रही थी.

अगले दिन जब उन्होंने मेरे साथ छुपा-छिपी खेलने के लिए कहा तो मैंने ये कहकर मना कर दिया कि मेरे पैर में दर्द हो रहा है. मैंने उसकी सलवार नीचे करके उसकी पैन्टी को भी नीचे कर दिया और पहली बार उसकी चुत के दर्शन हुए. मैं उसे होटल के अंदर कमरे में ले गया और अपना 8 इंच लम्बा लंड पैंट की जिप से बाहर निकालते हुए उसके हाथ में दे दिया.

मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाली हुई थी और उनकी जीभ को चूस रहा था. फिर अंकल जी मेरे पास ही आ गए और धीमे से मुझसे बोले- सोनम बेटा, तुझे मेरी कसम है अगर तू नहीं आई तो!अंकल जी की कसम के आगे मैं मान गयी और सोचा कि चलो आखिरी बार मिल लेती हूं; फिर आगे से कभी भी नहीं मिलूंगी चाहे कुछ भी हो. उस दिन हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे से खुल कर बात की और उस दौरान उसने मेरे हाथ को अपने हाथ में लेकर सहलाया.

मैंने दूध की धार अपने लंड के ऊपर छोड़ना शुरू किया, मेरी धार ठीक उसके मुँह के अन्दर जा रही थी. ऐसा घिनौना सेक्स तुमको पसंद है ना?रिया- हां डैडी, इसी में तो असली मजा आता है.

मेरा और उसका कमरा साथ-साथ हैं और मैंने उसके कमरे में देखने के लिए बीच में एक मोरी भी कर ली.

मैंने पूछा- दीदी नहीं आई क्या अभी तक?शिखा ने कहा- नहीं, दीदी आज नहीं आएंगी, उनकी सहेली की केयर करने वाला वहाँ पर कोई नहीं है.

मैं उनके लंड का सारा का सारा पानी पी गयी और अच्छे से चूस चूस के लंड को साफ़ कर दिया. बेशक बैड काफी बड़ा था परन्तु फिर भी छह लोगों के बैठने से पूरा भर गया. राजेश ने मुस्कुराते हुए मेरी नाभि को चूमते हुए मेरी चूत को भी चूमा और फिर मेरी कमर को पकड़ मुझे घुमा दिया.

मैंने उससे पूछा- पहले तुम बताओ कि तुमने किसी को पटाया है या नहीं?इस तरह हम दोनों लोग एक दूसरे के बारे में खुल कर पूछने लगे. अर्चना को धीरे धीरे चुदने में इतना मज़ा आने लगा कि उसकी मदभरी आवाजें ‘आह आह राहुल … और तेज चोदो उम्मह. इस कारण मुझे उम्मीद थी कि जो लड़की कम से कम आठ दस लण्ड खा चुकी हो, ऐसी लड़की को छोड़ना नहीं चाहिए.

!”मैं शर्म से पानी पानी हो रही थी, पहली बार कोई मेरी चुत को नंगी देख रहा था, वो भी इतने करीब से.

… वो लड़का मुझे धोखा तो नहीं देगा … या मेरे साथ बाद में ब्लैकमेल तो नहीं करेगा … या फिर मुझे अपने दोस्तों में या कॉलेज में बदनाम तो नहीं करेगा? जैसा कि लड़कों की आदत होती है, वो अपने दोस्तों में डींग मारते हुए सब खोल देता है. अपने हाथों से ही ब्रा को ऊपर खींच कर उसने दूसरी चूची को भी आज़ाद कर दिया. उसने अपनी साड़ी उतारी और सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में होकर मेरे साथ बिस्तर पर आ गई.

उफ्फ्फ्फ … अपनी चूत पर एक मर्दाना हाथ पाते ही मैं तो समझो, मर ही गयी. दीपाली दर्द और कामुकता के वजह से ‘आऔऊउच स्स्स्स स्स्स्स आआह्ह्ह …’ करके शांत हो गयी. मेरे काम का समय दस से नौ का होने के कारण मैं यहां कोई गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया था.

लूट लो मुझे जी भर के!” साली जी ने मुझे चूमा और तूफानी स्पीड से अपनी कमर चलाई और …जीजू, लगता है धरती हिल रही है, भूकम्प सा आ रहा है आहाआआआ, मुझे कस के पकड़ लो आप!” वो मिसमिसा कर बोलीं और मुझसे जोंक की तरह लिपट गयी.

कुछ ही देर के बाद साना मेरे कमरे में आई और उसने अपने बदन पर लॉन्ज़री डाली हुई थी. एक क्षण … मात्र एक पल और … और सब स्वाहा!फिर न तो राजवीर बचता, न वसुन्धरा बचती और न ही बचती कोई सामाजिक वर्ज़ना.

हिजरा बीएफ वीडियो नम्रता ने भी मेरे सीने पर एक जोर का चुंबन जड़ दिया और मेरी पीठ और चूतड़ को सहलाने लगी. आप सभी को ये सेक्स कहानी में कितना मजा आ रहा है … प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें.

हिजरा बीएफ वीडियो जब नींद खुली तो मेरे शरीर ने कहा कि बेटा चुदाई बहुत हो गई … चल कुछ खा पी भी ले. मैंने पूछा- क्या है?नम्रता बोली- आज मैं अपने आपको आजाद पंछी पा रही हूं.

पांच सात मिनट बाद उनका लण्ड मेरे मुंह में फूलने लगा तो मैं समझ गयी कि क्या होने वाला है; लण्ड से रस का फव्वारा छूट कर मेरे मुंह में भर गया जिसे मैं निगल गयी.

हिंदी में गाना सेक्सी

… सहन नहीं हो रहा … आप जोर से करो … और जोर से चोदो मेरी चुत को, चोद चोद कर पूरी हेकड़ी उतार दो साली की. वह शायद पहले से जानती थी कि मैं अगर उसके साथ बिस्तर पर हूँ तो जरूर कुछ न कुछ करूंगा ही इसलिए उसने अपने एक हाथ को आगे ले जाकर अपनी चूचियों को हाथ के नीचे छिपा लिया. हम दोनों को प्रसन्न देख कर पिताजी बोले- हर्षद क्या बात है … आज तुम दोनों बहुत खुश दिख रहे हो!मैंने उन्हें लैटर दिखाया और मेरे जॉब लगने के बारे में सब कुछ बोल दिया.

करते हुए नम्रता मेरे लंड को चूसने लगी और इसी बीच मैं और उसके पतिदेव दोनों एक साथ खलास हो चुके थे. वह भी झड़ चुकी थी और उसके 1 मिनट के बाद ही मैंने भी अपना माल उसकी गांड में उड़ेल दिया।1 घंटे तक चली इस चुदाई में हम तीनों ही पस्त हो चुके थे और तीनों बिस्तर पर गिर गए. मैंने बात शुरू करने और माहौल को हल्का करने के लिये बोला कि चाय या कॉफ़ी?वो बोली- कॉफ़ी.

मैं उसकी चूची को दबाते हुए कभी गर्दन पर जीभ फेरता, तो कभी कान पर जीभ फेरते हुए उसके कान को चबाता और नम्रता मेरे लंड को पकड़ कर मसल रही थी.

मैंने चाची से कहा- जब आप भीग ही गये हो तो मेरे साथ ही नहा लो!चाची बोली- हट्ट बेशर्म … अगर किसी ने देख लिया तो?मैंने कहा- यहाँ पर कौन है देखने वाला. अब मैं कभी उसके होंठ चूमता था, कभी उसके गाल काट लेता, कभी उसकी गर्दन को चाटने लगता. सोच लो!इतना कह कर वे उठे और बोले- मैं बाहर से एक सिगरेट पीकर आता हूँ.

मेरे हाथ जब उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसकी बगल में गये तो वहां बिल्कुल भी बाल नहीं थे. इस पर उस दुकानदार ने पूछा- क्या हुआ मैडम … आप पूरी बात तो बताएं?मैंने उसे अपनी बात बताई. तभी भार्गव ने धीरे से अपना हाथ मेरी जांघ पर रखा और बोला- यार आशना … एक बात कहूँ … आज तुम्हारे उछलते हुए मम्मों को देखकर और तुम्हारी पतली और लचीली कमर को देखकर मेरा भी मन कर रहा है कि मैं तुम्हें मेरे लंड का स्वाद चखाऊं.

तुषार बोला- क्यों फट गई क्या … बस अभी से डरने लगीं … अरे मेरी जान कुछ नहीं होगा. अगर मैं उसकी गांड पर लंड रगड़ने में थोड़ा सा भी शिथिल पड़ता तो शुभ्रा अपनी गांड हिला-हिलाकर मेरे लंड से रगड़ने लगती.

कुछ देर बाद वो मुझसे आकर बोली- खाना तो केवल आपके लिए ही बनाया था, ये कम पड़ रहा है. पर तभी हीना ने मुझे टोका- सर आप मेंहदी खराब नहीं करोगे … मैं हूँ ना सर!ये कहते हुए उसने मेरा सर उठाया और पीछे एक तकिया और लगा दिया. मुझे चोदने के बाद रुमित ने कार नाश्ता करने के लिए एक होटल की पार्किंग में रुकवाई.

मैं आपको ऐसी मस्त सेक्स कहानी सुनाने वाला हूँ, जिसे आप सुनकर काफी आनंदित हो जाएंगे.

ऐसे ही कुछ दिन बीतने के बाद उसका कॉल आया कि आज मेरे घर पर सभी लोग शादी में गए हैं, दो दिन बाद लौटेंगे. घर आकर हम सभी ने थोड़ी देर बात की और अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए. आसमान की ओर देखते हुए नम्रता बोली- शरद भगवान भी कभी-कभी नाइंसाफी कर ही देता है.

उसकी चीख निकलने ही वाली थी कि मैंने अपने एक हाथ से शलाका का मुंह बंद कर दिया और एक हाथ से उसकी दोनों चूचियों को बारी-बारी से मसलने लगा. उन्होंने कहा- अब मेरी चुत चाटो!तो मैं अपने घुटनों के बल बैठ गया, उन्होंने अपने पैर फैलाये और मैं उंगलियों से दीदी की चुत में अपनी जीभ डाल कर चाटने लगा और एक हाथ ऊपर करके दीदी की चूची दबाने लगा.

उसके जाने के बाद सर ने कहा- तो कहिये सोनल जी, क्या सोचा है आपने? आपका तबादला आपको अपने घर के बगल वाले स्कूल में चाहिए या फिर इस स्कूल से भी 10 किलोमीटर आगे किसी और स्कूल में चाहिए है?मैंने कहा- सर अगर किसी को पता चल गया तो?वो बोले- उसकी चिंता आप क्यों करती हैं, मैं विश्वास दिलाता हूं कि किसी को हमारे बीच की बात का पता नहीं चलेगा. उसने मुझे कमर से पकड़कर उलटा घुमा दिया … और पीछे से अपना लंड मेरी गांड में डालने लगा. तभी भाभी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया और भाभी अलग हो कर बात करने लगीं.

लड़कियों के चुत

यदि नानी में सेक्स की इच्छा अधिक रही है तो उसकी बेटियों में … और बेटियों की बेटियों में भी उतना ही सेक्स होगा, वही रूप और शारीरिक बनावट होगी.

मैंने भाभी से कहा- भाभी सच में जैसी सपनों में आपकी चुत को याद करता था, ये बिल्कुल वैसी ही है. भैया ने कहा- चल अब एक गेम खेलते हैं … मैं तुझे 10 बातें बताता हूँ, जो तुझे नहीं पता हैं … और तू मुझे बताना कि कौन सी सही है और कौन सी गलत है. इसमें मेरे पति नितिन की रजामंदी भी थी और ये बात मुझे नहीं मालूम थी.

हमने होंठों के फासले को मिटाकर दोनों के होंठ आपस में मिला दिया और एक दूसरे का रस चूसने लगे. मेरी पिछली सेक्स कहानीतलाकशुदा का प्यारचार भागों में नवंबर 2019 को प्रकशित हुई थी. बीएफ सेक्सी मूवी देखना हैफिर उसने मेरे अंडरवियर को भी मेरी जांघों से खींच कर अलग कर दिया और हम दोनों के दोनों अब पूर्ण रूप से नग्न हो गये.

मेरी हालत ख़राब हो रही थी और दर्द ऐसा कि कोई यमदूत लेने ही आ गया हो. मेरी दीदी हॉस्पिटल में भर्ती थी और रात में कभी उनकी सास दीदी के पास रहती थी तो कभी जीजा जी वहाँ पर रुक जाते थे.

हमें इस तरह लटक कर चोदते देख डॉक्टर जूली की भी हालत ख़राब हो रही थी. उनके जाने के बाद हम तीनों ने मिलकर ढेर सारी बातें की … और पता ही नहीं चला कि कब लंच का टाइम हो गया. फिर वो खुद मेरी टांगों के बीच में बैठ गयी और मेरी कैपरी उतार कर मेरे अंडरवियर को भी नीचे कर लिया.

पहले मैं उस चूत से आपका परिचय करवा देता हूँ जिसके बारे में यह कहानी मैं बता रहा हूँ. इतना बोल कर वो मुझ पर झपट पड़े और मेरी नाइटी देखते ही अलग करके मुझे नीचे बिठा दिया. हम दोनों भाई-बहन खड़े होकर तिरछी नजरों से वह नजारा देख रहे थे मगर ये जाहिर नहीं होने दे रहे थे कि दोनों की ही नजरें सामने चल रहे कुत्ते और कुतिया की चुदाई के सीन पर हैं.

मैं अभी नहीं झड़ा था सो एक दो पल रुकने के बाद मैं नीचे लेट गया और उसको अपने लंड के ऊपर सैट कर लिया.

हमारी कामुक आवाजों को हमारे अलावा पास में बंधी हुई भैंसें भी सुन रही थीं. मैं अनजान बनते हुए बोली- कब और क्यों?दीदी बोली- इसलिए तो पूछ रही हूं ना कि तुम दोनों का सेक्स रिलेशन कैसा है.

मैंने चाची को बेड पर ले जा कर धक्का दे दिया और उनकी चूत पर हाथ फिराते हुए उनके होंठों को चूसने लगा. आदमियों की टांगों के बीच में लंड होता है, जिसे चुत में डाल कर चुदाई का मजा लिया जाता है. मैंने अपना एक हाथ लंड के ऊपर रखा जैसे मैं अनजाने में उसे सैट कर रहा हूँ और दूसरे हाथ से चीनी का डिब्बा भाभी की तरफ करके बोला- ये पकड़ लो.

कुछ देर के बाद रमेश जोर जोर से सिसकारने लगा- आह्ह आहाहहा … आआहह … लगता है मुठ आने वाला है. अब वो मेरे से कहने लगी- राहुल मुझसे रहा नहीं जाता … अपना ये मेरे चूत में डाल दो. मम्मी इस बात से इतनी परेशान हो गई कि एक रोज वो मुझे एक लेडी साईकोलोजिस्ट डॉक्टर के पास ले गई.

हिजरा बीएफ वीडियो मैं फिर उसकी पिंडलियों को चूमता हुआ उसके चूतड़ों पे पैंटी के ऊपर से ही चूमने लगा. रितेश ने भी मीरा के नजदीक आकर लंड को सैट करके एक जोरदार धक्का दिया और सोफे पर चुदाई के इस आसन का दौर शुरू हो गया.

रियल पोर्न

बाहर आ-जा नहीं सकते थे, सो खिड़की से खड़े होकर हम दोनों बाहर का नजारों का मजा ले रहे थे. फिर वो नीचे आयी और बारी-बारी से अपने दोनों छेद में मेरे लंड को लेती रही और मुझे कस कर चोदती रही. तो उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत पर सैट किया और बोलीं- धक्का दो.

मेरी हरकतों से वो कुछ उत्तेजित होने लगी और मेरे नजदीक आने की कोशिश करने लगी. बाहर की झाड़ू लगा कर मैं अंकल जी से मिलने चल दी और उसी सुनसान जगह पर जा पहुंची जहां हम पहले भी कई बार मिल चुके थे. इंडियन बीएफ इंडियन बीएफ इंडियनजब मेरा सिर्फ बोबों पर ही ध्यान था, तो वो बोलीं- और भी बहुत चीजें बाकी हैंभाभी ने अपनी चूत पर अपना हाथ रख दिया.

मैं खुद को रोक ही नहीं पाया और बस मैं भाबी की चूत को चूसने लगा आह विपुल बहन के लौड़े … अब और नहीं चूस … जल्दी से अन्दर डालो न … बस कर साले अब चोद दे.

करीब 3 मिनट किस के बाद उसके हल्की सी आवाज से मुझे पता चल गया था, यह मेरी बहन सोनल है. मेरी बेटी भी आह्ह्ह ह्हह्ह … आय्ह्ह… अय्य्य्ह ह्ह्ह करके हिल रही थी और अब मस्त चुदवा रही थी.

उसके बाद मैंने बाहर के लड़के और आदमियों को देखना बंद कर दिया और केवल सौरभ से ही जब दिल करता, रंगरलियां मना लेती थी. तुम साहित्यकार हो, इसलिए थोड़े अलग अंदाज में बात कह दी थी कि प्रतिभा निशा के संग आएगी. सारा मुझे कराहते देख दिलिया के ऊपर के होंठ को और जोर से चूसने और काटने लगती थी जिससे चूत और जोर से भींचने लगती थी फिर सारा ऊपर का होंठ चूसते हुए उसकी जीभ भी चूसने लगती थी जिससे चूत लण्ड को भींच कर निचोड़ने लगती थी.

मगर उसकी चूत की मदहोशी ऐसी थी कि पता नहीं कब मेरी जीभ उसकी चूत पर चलने लगी.

नम्रता भी मेरे उत्साह को बढ़ाने के लिए हम्म-हम्म की आवाज निकाले जा रही थी. हर बार उसके स्पर्श से मैं सिहर उठती और मेरे पूरे जिस्म में वासना की लहर दौड़ जाती. लंड बाहर निकला तो रिया की सांसों के साथ ही उसकी गांड के अंदर का हिस्सा भी ऊपर नीचे हो रहा था.

हिंदी बीएफ चुदाई साड़ी वालीउस वक्त मुझे जो मजा आ रहा था उसकी कल्पना करने में भी मेरा लिंग कामरस छोड़ देता है. अभी तक मुझे पेशाब लगने का अहसास नहीं था, लेकिन नम्रता के साथ मूतने का मजा लेना था, सो मैं भी नम्रता के साथ बाथरूम में पहुंच गया.

चोदा चोदी खपाखप

टेबल पर चाय रख कर मैं अंदर वाले रूम में गयी, देखा तो बॉस वहां मेरे कपड़े देख रहे थे. उन्होंने वहीं मुझे फिर से घोड़ी बना दिया और मेरी गांड की छेद में देखने लगे. आपकी खातिरदारी में कोई कमी रह गई, तो हम जीजू को क्या मुँह दिखाएंगे.

अन्दर आकर गुप्ताइन बोली- कल गोलू को पहली सैलरी मिल गई है, हम लोग सुबह मन्दिर गये थे, यह प्रसाद है. फिर उसने मुझे खुद ही धक्का देकर नीचे गिरा लिया और मेरे खड़े हुए लंड पर बैठ कर उछलने लगी. अब हम दोनों बारी-बारी से ऐसे ही एक दूसरे के अंगों के साथ खेलने लगे.

उसके हाथ मेरे पूरे बदन पर रेंग रहे थे जो मुझे उत्तेजना की अलग ही दुनिया में ले जा रहे थे. परन्तु मैंने सोचा कि यदि मैं इसके बारे में बताऊंगा तो ये मुकर जाएगी और मुझे ही झूठा बना देगी. अब तो हर बीतते पल के साथ मेरे लंड का तनाव बढ़ने लगा और देखते ही देखते ही मेरा लंड 8 इंच का होकर उसके मुंह में फिर से भर गया.

पहले तो मैं उसका लंड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी और उसके बाद उसका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. कुछ देर में जब मेरी गांड ने कसमसाना बंद किया और दर्द होने लगा, तो भैया ने अपना लंड हिलाना चालू कर दिया.

मैं यह देख कर रुक गया और शीना की गांड मारने की मेरी स्पीड कम हो गई.

मैं तो पछता रहा हूं कि अब तक तेरी गदराई हुई जवानी पर मेरी नजर गयी क्यों नहीं. सकसी बीएफमेरी आह निकलना शुरू हो गई ‘आआअहह … आअहम्म्म …’उसके दोनों हाथ मेरे मम्मों को बहुत ज़ोर ज़ोर से दबा रहे थे … उसकी उंगलियां मेरी चुचियों को सहला रही थीं. बीएफ हिंदी hdफिर रमेश को देख रिया बोली- ये देखो डैड, तुमको ये देखकर अच्छा लगेगा।रमेश- क्या?रिया ने अपनी चूत फैला कर दिखा दी. तब मुझे मेरे दोस्त ने अपने मोबाइल में एक वीडियो दिखाया और उसने बताया कि औरतों की टांगों के बीच में चुत होती है.

तन्वी एकदम से सीईई… की आवाज के साथ मचल गयी और स्सस्स स्सस्सस्स करके सिसकारियाँ लेने लगी.

मैंने मेरी वाइफ को आईडिया दिया कि एक काम करो, तुम ये सैट अपनी भाभी को दे दो, शायद इसकी फिटिंग तुम्हारी भाभी की साइज की हो. अब रानी ने दोनों हाथों से लंड को जड़ से पकड़ लिया और लंड के नीचे की तरफ वाली मोटी नस को उंगली से ऐसे टंकारने लगी जैसे सितार बजाने वाले सितार के तारों को टंकारते हैं. मैं जानती हूं कि काफी दिन से मेरी कोई सेक्स कहानी नहीं आई है जिस वजह से आप सभी के लंड तने हुए हैं.

अब मैं हवा में उड़ रहा था, वो भी मेरे ऊपर बैठकर ऊपर नीचे अपने शरीर को कर रही थी. उसकी बात मुझे ठीक लगी, हम दोनों नीचे आ गए और बिस्तर पर लेटकर जीभ लड़ाने लगे. अन्दर जाते ही एक दूसरे से पागलों की तरह लिपट गए और एक दूसरे को चूमने लगे.

चोदा चोदी चूत

लेकिन बजाए चूतड़ों पर चपत मारने के मैं उसके ऊपर चढ़ गया और आगे हाथ बढ़ा कर मैंने उसके दोनों कबूतर पकड़ लिया. मैंने अपने एक हाथ से दीपिका के पेट का निचला हिस्सा सहलाना शुरू किया तो दीपिका बोली- आह्ह … स्सस … आई … फिर … चुदवाने का दिल कर रहा है. मैं मौसी के दोनों चुचियों पर बारी बारी से लगा रहा, जिस वजह मौसी की सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ने लगीं.

मैंने कभी चुदाई नहीं की थी मगर इतना तो सब पता ही था मुझे!उसी समय बॉस ने अपनी टांग मेरे टांग से सटा दी, मैं बिल्कुल सन्न् रह गई मगर कुछ नहीं बोली.

न चाहते हुए भी मैंने ना जाने क्यूँ राज का लन्ड मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

चुदी हुई भाभी मेरे बगल में आकर सो गईं, लेकिन मेरी आंखों से नींद कोसों दूर थी. साथ ही साढ़े छह इंच लम्बे मस्त लंड का मालिक हूँ … और सेक्स में बहुत देर तक एक्टिव रहता हूँ. हिंदी बीएफ प्लीजमगर उसकी चूत की मदहोशी ऐसी थी कि पता नहीं कब मेरी जीभ उसकी चूत पर चलने लगी.

एक दिन मेरी ममेरी बहन शुभ्रा ने भी वो कहानियों की किताबें मेरे हाथ में देख लीं और उस दिन के बाद से हम दोनों एक दूसरे के राजदार हो गये. उसने मुझसे मजाक करते हुए कहा- हां हां … मुझे पता है क्या बात करोगे?मैंने रात में अमित से सब बात की. मैंने पहले भी लिखा है कि वो सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज ही पहनकर मेरे साथ सोने आ गई थी और जब वो अपनी साड़ी उतार कर सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में मेरे बाजू में लेटने लगी थी.

मेरा लंड चूत में पूरी तरह अन्दर जाता और हीना की बच्चेदानी पर ठोकर मार कर बाहर आ जाता था. दोस्तो, मैं राजवीर महायाराना का दूसरा भाग आपके सामने पेश कर रहा हूं.

फ़िर उसने मेरे लंड को अपनी चुत पर घिसना शुरू कर दिया और बोली- अजय अब नहीं रहा जाता, पहले एक बार जल्दी से चोद दो.

इधर मौसी के गर्म गर्म हाथों का स्पर्श पाते ही मेरे लंड महाराज और अकड़ने लगे. संतोष जी का लंड बिल्कुल चूत के पानी से सराबोर था, मैं उसे चाटने लगी. मैंने एक टेबल बुक कर ली थी। वहां से मैं उसे सीधे उस रेस्टोरेंट में ले गया जहाँ हमारी डेट थी.

बीएफ सेक्सी हिंदी चुदाई वाली फिर मैंने कहा- दीदी, क्या मैं इन्हें चूस सकता हूँ?तो उन्होंने बड़े प्यार से अपना एक बूब मेरे मुंह के पास लाकर कहा- लो चूसो जितना चूसना है. उन्होंने मेरे गांड की फांकों को पूरा खोला और टांगों को भी जितना दूर कर सकते थे … किया.

मुझे लगा कहीं भैया ना जग जाएं, इसलिए मैंने उसको वापस उसकी खाट पे भेज दिया. मेरे कंठ से आवाज निकलने लगी- गूंगुन्गूउऊऊ …ये आवाज ठीक वैसे ही आ रही थी, जैसे अंग्रेजी ब्लू फ़िल्म में बाल पकड़ कर लड़की का मुँह चोदा जाता है. हैलो, मेरा नाम अजय है और मैं नियमित रूप से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ता आ रहा हूँ.

कैलकुलेटर सेक्सी वीडियो

मैंने उठकर कॉफ़ी का मग पकड़ा, अब के वसुन्धरा मेज़ के परली तरफ़ बैठने की जग़ह मेरे बाएं हाथ लंबरूप रखी कुर्सी पर बैठ गयी. उसके बाद वो भी गर्म हो गया और मुझे लिटा कर मेरी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. तो उसके लिए उसमें इतना दम कहाँ है? ओह … प्रेम! उसका नाम लेकर मेरा मूड अब खराब मत करो.

मेरी जानू ने मेरी नई लायी हुई ब्रा और पैन्टी में से पिंक कलर का साटिन का सैट पहना था. मैंने मौका देखकर पूनम को अपने दिल की बात कह दी और उसने कहा- मैं शाम को बताऊँगी.

आप लोगों के मेरी चाची के मेरी ये मदहोश कर देने वाली चुदाई की कहानी पढ़कर कैसा लगा मुझे इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें.

कभी वह अपनी गर्म गर्म, मुखरस से तर जीभ टोपे पर घुमा घुमा के चाटती और कभी वह दुबारा जीभ को मोड़ के नोक लंड के छेद में घुसा के एक तेज़ करंट मेरे बदन में फैला देती. वह बोली- मैंने आपके लिए बादाम का दूध बनाया था, मैं तो भूल गई थी! एक बार छोड़ो!वह उठ कर नंगी किचन में गई और एक बड़ा गिलास बादाम का दूध लाकर मुझे दिया. सीमा की कामुक सिसकारियों की आवाज से कमरा जल्दी ही गूंजने लग गया।सीमा की चूत को मैंने लगभग 25 मिनट तक अपने खीरे जैसे लंड से रगड़ा.

मैं एक साधारण व्यक्ति हूं … मुझे अपने लिए इससे ज्यादा कुछ भी सुनना पसंद नहीं. बेबी रानी ने कहा- राजे तू कपड़े पहन ले … अभी वो आता होगा न रूम सर्विस वाला … हम दोनों तो नंगी रहेंगी. वो बोली- नहीं यार, कभी न कभी तो ये दर्द सहना ही है … तो आज क्यों नहीं … और फिर मैं तुमसे ही ये दर्द लेना चाहती हूँ.

थोड़ी देर में भाभी पानी लेकर आईं और इस बार वे बड़ी कामुक नज़रों से मुझे देख रही थीं.

हिजरा बीएफ वीडियो: फिर उसने लंड को बाहर खींच लिया और उसकी पैंटी रिया की गांड में ठूंस दी. तभी शुभ्रा धीरे से बोली- भोसड़ी के! जो कहा था वो किया कि नहीं?मैंने हाथ से इशारा करके बताया इंतजाम हो गया है और शीशी भी दिखा दी।शीशी देखकर शुभ्रा बोली- मैं मम्मी के सामने कैसे लूंगी?मैंने प्लान बताते हुए उसे स्टील का गिलास लाने को बोला.

भाभी के कोमल हाथों का स्पर्श मेरी छाती पर हुआ तो मेरे अंदर एक सरसरी सी दौड़ गई. चुदाई के बाद उसने मुझको दूध ये बोल कर ऑफर किया कि आज आपको बहुत मेहनत करनी है. मकान मालिक की पत्नी बड़ी ही आकर्षक दिखती हैं, उनका माप 38-32-40 का है.

जैसे ही वह मेरे पास आया, मैंने अचानक से पैन्ट के ऊपर से ही उसके लंड को पकड़ लिया.

मैं जल्दी ही अपनी दूसरी सच्ची कहानी डालूंगा, जिसमें मैंने अर्चना की फ्रेंड एकता को कैसे चोद कर सील तोड़ दी थी. मैंने चारों ओर की छतों पर नजर दौड़ाई, पर आस-पास की छत पर कोई नजर नहीं आया. मैंने लंड को एक बार फिर से उसकी चूत पर सेट कर दिया और एक झटका मारा.