हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी आदिवासी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

మౌనిక సెక్స్ వీడియో: हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ, कुछ पल रुकने के बाद मैंने भाभी को अपने नीचे किया और धीरे-धीरे झटके लगाना चालू किया.

सेक्सी एक्स एक्स व्हिडिओ सेक्सी

दीदी- जनाब झूठ मुझसे मत बोलो आपके जाने के बाद चाची आयी थीं … और चाची के जाने बाद मैंने तेरा फ़ोन देखा था. सेक्सी वीडियो चुदाई मोटा लंडवो बोली- धत भैया आप भी!फिर मैंने आफ्टर शेव अपनी हथेली में लेकर उसकी बुर पर लगाया, तो वो मचल उठी.

वो पहले तो मना करने लगी क्योंकि घर पर चाचा की देखभाल के लिए कोई भी नहीं था. सेक्सी गर्ल बिग बूब्सउसने मेरे मां के मुंह पर लंड को किसी हथौड़े की तरह चार पांच बार मारा.

मामी मेरे लंड को देखकर अपने होंठों पर ऐसे जुबान फेर रही थीं जैसे वो मेरे लंड को चूसना चाहती हों.हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ: शादी के दो साल बाद ही मेरी पत्नी के साथ मेरा झगड़ा होना शुरू हो गया था.

भाभी ने नीचे बैठ कर मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और फिर मैंने उनको वाशबेसिन पर बिठा कर भाभी की टांगें फैला दीं.अब मैं भाभी की चूचियों को पी रहा था और लंड को चुत के इलाके में रगड़ रहा था.

सेक्सी खून खराबा - हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ

वहां जाने के बाद उसने बात करना कम कर दिया और उसके कुछ दिन बाद उसका नम्बर भी बंद हो गया.लेकिन इनके बावजूद बलविंदर साहब के हाथ में सेजल के बूब्स नहीं आ रहे थे बलविंदर साहब को इतना मजा आ रहा था कि उन्होंने अपने दोनों हाथों को सेजल के बूब्स पर मसलना चालू किया.

और मैंने उसकी नंगी पीठ पर हाथ फेरना शुरू कर दिया … वो मेरे इरादे समझ गयी थी।पर इससे पहले मैं कुछ और करता वो बोली- मुझे लगता है कि पहले हमें बात कर लेनी चाहिए थोड़ी. हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ एक बार चूत को पूरा लंड अंदर तक लेने दो। फिर वह तुम्हें बहुत मजा देगा।कुछ देर के बाद उसका थोड़ा दर्द कम हुआ तो वह मुझे चूमने लगी।बस बेबी, इतना सह लिया थोड़ा और सहना पड़ेगा.

जिस तरीके से आप अपनी पत्नी के साथ सेक्स करते हैं, उसी तरीके से मेरे साथ कीजिए.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ?

दस मिनट की चुदाई के बाद वो कहने लगी- आह मैं भी निकलने वाली हूँ आहा आह … मैं आ रही हूँ. वो सेक्सी ब्रा और पेंटी मुझे अच्छी भी लग रही थी, क्योंकि बहुत हल्की और आरामदायक थी. और तभी उन्होंने मुझसे कहा- मैं इस बार तुम्हारी चूत में ही झड़ने वाला हूं.

इसके बाद हम दोनों ने अपने अपने कपड़े ठीक किए और थोड़ी देर में घर चले गए. उसने मेरी तरफ देख और पूछा- क्या सहलाऊं?मैंने अपने लंड पर उसका हाथ रखा और कहा- इसे लंड कहते हैं. आकांक्षा इस समय पूरी तरह से मदहोश हो चुकी थी और धीरे धीरे मादक सिसकारियां ले रही थी.

ये कहते हुए उसने मेरी कच्छी नीचे खींच दी और अपना हाथ मेरी चूत पर डाल दिया. जैसे जैसे में उसके 34 सी के मोटे चुचे दबा रहा था, वैसे वैसे उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थीं. मुझे अब पहले की अपेक्षा बेहतर लग रहा था क्योंकि पहले लण्ड और चूतड़ों के बीच मेरा लोअर और मम्मी का गाऊन था और अब सिर्फ मम्मी का गाऊन था, वो भी पतला सा.

आज के दिन उससे अपने प्यार का इजहार करने का मेरे पास मौका था और उसी दिन मैंने अपने प्यार का इजहार कर दिया. जैसे ही वापस आकर मेरे स्तनों को सहलाने को हुआ मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे पास खीच कर फुसफुसाई- नीन्द नहीं आ रही तो मेरे सीट पर आ जाओ.

उसने मुझसे कहा- और ना तड़पाओ … पेल कर चोद दो मुझे!मैं भी एक भूखे शेर की तरह उस पर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा.

अगले हफ्ते दीदी घर जा रही है तभी हम मिल सकते हैं।”एक हफ्ते तक जब भी मौका मिलता मैं उसे गर्म करता रहा.

मैंने निशा को इशारा किया और निशा ने मेरा लंड मुँह में लेकर गीला कर दिया. उसके बाद मैंने भी सैम को खुश करने के लिए कहा- ओके डियर आंखें बंद करो. मैं- हमारे लिए? क्या खरीदना है?निशा मोबाइल मेरी ओर करते हुए बोली- देखो बेबी.

मेरी मां भी अपने बेटे को मास्टर की बेटी की चुदाई करते देख खुश हो रही थी. मैंने कहा- ठीक है, तो फिर आज मैं तुम्हारी कुंवारी चूत का उद्घाटन करने जा रहूं. कुछ देर में मुझे लगा कि मेरा होने वाला है, तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

फिर समय न गंवाते हुए मैंने अपनी प्यारी बहन को पूरी नंगी कर दिया और खुद भी सारे कपड़े उतार दिए.

थोड़ी देर बाद सैम ने मुझे ऊपर ले लिया और हम एक दूसरे को जोरों से मजे देने लगे. कुछ देर बाद आकांक्षा शांत हुई … तो हमने कपड़े पहने और कमरे का दरवाजा खोल कर बाहर निकलने लगे. धक्का लगाते ही आंटी की चिकनी चूत में लंड घुस गया और मैंने एक बार फिर से आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी.

मैंने कहा- बहू, मुझे लगा नहीं था कि रात तुम खुद मुझे किस करने करने लगोगी. और उसने फोन काट दिया।जयमाला के वक्त जब स्टेज पर नजर गई तो मैंने देखा कि दुल्हन के साथ सौम्या लाल रंग की खूबसूरत साड़ी में खड़ी थी. उसी समय पीछे से चमन ने धक्का मारा और मैं मोहन के सामने उसके सीने से आ लगी.

मैंने कैसे उसे राजी किया मेरे साथ सेक्स करने के लिए?मेरा नाम सोनू है और मैं दिल्ली में रहता हूं.

वो झड़ गयी और उसका बदन अब धीरे धीरे शिथिल पड़ने लगा … पर मेरा अभी कहां हुआ था. ऐसा कहकर वो झड़ने लगी और मैं उसके दोनों मम्मों को तेजी से चूसने लगा.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ मेरी सिसकारी सुन कर उन्होंने एक धक्का लगा कर मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. फिर मेरा लंड खुद ब खुद ही छोटा होकर उसकी चूत से निकल कर बाहर आ गया और सिकुड़ गया.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ वरना आप बोलोगी कि आप ही चाय पिलाती रहती हो मुझे!अरे ऐसे कोई बात नहीं है. फिर कुछ देर रुक कर मैंने आहिस्ता से उसकी चूत में लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

जैसे ही मैं कमरे में अपना बैग लेने गया तो वहां पर सिम्मी मेरा बैग पकड़े मेरा इंतजार कर मायूस खड़ी थी.

हिंदी पिक्चर सेक्सी वीडियो अंग्रेजी

किधर से वीडियो का फोल्डर खोलते हैं और कैसे कोई वीडियो को कान में ईयरफोन लगा कर देखते हैं. उसके बाद …लगभग 40 साल पहले जब मेरी शादी हुई तो मेरी उम्र 23 साल थी और मेरी पत्नी की 19 साल. भाई की जीभ मेरे होंठों के बीच में घुस गयी और मैंने उसे चूसना शुरू कर दिया.

हेल्प कर!उसने कहा- कैसे?तो मैंने कहा- अब तुझे तेरे हाथ से करना पड़ेगा. ह!और साथ में हाथ के घर्षण के करना मेरा लंड भी शुष्क हो गया और मुझ तकलीफ होने लगी. दस मिनट ऐसे ही मज़े लेने के बाद मैंने उसको फिर नीचे किया और अपना लंड फिर उसकी चूत में डाल दिया.

मैंने उसके मम्मों को हाथ से सहलाया, फिर धीरे से एक निप्पल को अपने होंठों में दबा लिया.

जब तक शादी नहीं होती … मैं सिर्फ तुमसे ही करवाऊँगी इसमें रिस्क नहीं है. मैंने बाकी का आधा लौड़ा मैंने धीरे से रचना की चूत में डाल दिया और धीरे धीरे उसे चोदने लगा. मैंने नसरीन के दोनों पैरों को और फैलाया और लंड का सुपारा गीली हो चुकी दरार पर रख ऊपर नीचे रगड़ने लगा.

रचना की चूत के गर्म पानी के जोश में मेरे लौड़ा से भी लावा निकलने लगा. किचन से निकल कर जब मैं बेडरूम की ओर आया तो मेरा लंड मेरी जांघों के बीच में दायें बायें डोल रहा था. मैंने खेत में मामी की चूत चुदाई कैसे की?रिश्तों में चुदाई की इस देसी कहानी के पहले भागमामीजी को खेत में चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी मामी को नंगी देखा तो मेरा मन उनकी चुदाई के लिए बेचैन होने लगा था.

कल का दिन आज से भी अधिक व्यस्त है।चिन्ना ने कहा- ठीक है, मालिश करने वाले को भेजो।यह कहकर अपने बैडरूम में चला गया और करोना बर्तन समेटने में अटेंडेंट की मदद करने लगी।कहानी जारी रहेगी. मैं उसके दाने को रगड़ते हुए ही धीरे धीरे से झटके देने लगा … उसकी ‘आहहह’ तेज़ होने लगी.

मैंने रीना के गुलाबी होंठों को अपने होंठों में भर लिया और अपनी जुबान अंदर डाल दी. इसलिए चोदा चोदी के खेल में अनाड़ी करोना को झड़ने से पहले यहाँ रोकना जरूरी था क्योंकि चिन्ना हर हाल में लगाम अपने हाथ में रखना चाहता था. उसने पूछा- एक बात और क्या?मैंने कहा- तुझे मेरी बुर नहीं, तुझे मेरी गांड मारनी होगी.

दीदी की चुत चाटने से मुझे ये पता चला चुका था कि दीदी अभी कुंवारी हैं … यानि आज मैं अपनी बहन की चुत का उद्घाटन करूंगा.

उस दिन जब मैं बीच में ही चुपके से वापस आया तो वैसे ही पहले की तरह घर के सभी खिड़की और दरवाजे बंद थे. मैं घर पर ज्यादा कपड़े नहीं पहनती हूं इसलिए मैंने बिना ब्रा के एक स्लीवलैस छोटा सा टॉप पहना था और छोटा सा लोअर, जो सिर्फ़ कूल्हे तक का था. मां बोली- मेरे लाल, अब तुम मेरे चूत को चोदोगे या मेरी गांड का बाजा बजाओगे?तनु बोली- इनकी गांड को चोदो.

फिर मैं तुम्हारी ये जरूरत हमेशा पूरी करूंगा और किसी से कहूंगा भी नहीं. [emailprotected]अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे नवदीप और मैं मिले और हमारे बीच क्या क्या हुआ.

फिर कुछ देर तक इधर उधर की बात करने के बाद वो बोली कि भैया आपका सुसु अब दर्द तो नहीं कर रहा न!मैंने बोला- नहीं. उसके निप्पल बहुत कड़क हो चुके थे और उसकी चूत से लगातार पानी निकल कर उसकी पैंटी को और गीला करता जा रहा था. उसे समझ ही नहीं आ रहा था कि यह उसे क्या हो गया है, ये कैसी खुमारी चढ़ गई है।करोना चुपचाप लेट कर अपने आप को शांत करते हुए सोने का प्रयास करने लगी।अभी करोना को नींद आने ही वाली थी कि बस फिर हिलने लगी.

बीजी सेक्सी

मैं- तो क्या करूं?दीदी- मैंने तुझे बचाया है बच्चू!मैं- तो क्या आरती उतारूं तेरी!दीदी- ठीक है … तो फिर मैं मम्मी को सच बता देती हूँ कि तेरे फोन में ब्लू फ़िल्म पड़ी हैं.

मैं सीधा रूम में आकर पैग खत्म करके बिना उसको बताए उसके घर से निकल गया. रिया की अब शादी हो चुकी है, वह पिछले ही महीने जनवरी में अपने पति के घर से गांव के घर पर आई थी. मैं मन ही मन खुश हो रहा था मैं एक ठकुराइन की चूत चुदाई करने में कामयाब हो गया था.

फिर नीचे बैठ कर मेरी पैंट का हुक खोल कर मेरी अंडरवियर समेत मेरी पेंट नीचे कर दी. फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा थोड़ा सा खोल दिया और हल्की सी सलवार नीचे कर दी. म्हातारा म्हातारी चा सेक्सी व्हिडीओअनिल पेट पर हाथ फेरते फेरते ऊपर मेरे बूब्स पर हाथ ले आया और बूब्स को मसलने लगा.

दोनों मॉम को चूम रहे थे और पुष्पा आंटी वीडियो बना रही थी।फिर एक ने मॉम की टीशर्ट को खींच कर फाड़ दिया. कुछ देर लंड घिसने के बाद उसने मुझे मेरी एक टांग को आगे करने को कहा.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर पकड़वाया और उसको बोला- ऊपर नीचे करो. यह कह कर चिन्ना करोना के पीछे आ गया और करोना को पीछे से पकड़ कर सहारा देते हुए वहां रखे इस स्टूल पर बिठा दिया. मुझे उसके मुँह में अपने लंड के जाने से मजा आने लगा और मैं अपनी शर्ट ऊपर उठा कर उससे लंड चुसवाने का मजा लेने लगा.

ये सुनकर वो हंसने लगी और बोली- हां वो तो दिख रहा है … और पंकज ने भी कहा था. हम दोनों मां बेटे अब भाभी की चूत को पापा से चुदवाने की प्लानिंग कर रहे थे. मैं इस दो तरफा हमले से उत्तेजना की सागर में गोते लगाने लगी और अब मेरा पूरा जिस्म कसमसाने लगा था.

कल्पना तेज आवाज में चिल्ला दी- आह … आह … हां मेरे राजा चोदो … अपनी इस रंडी को आह जोर से चोदो आहा!मैंने भी जोश में आकर लंड बाहर निकाल कर एक और शॉट लगा दिया.

यही वजह थी कि मैंने सोचा कि एक और बार कल्पना को चुदाई के लिए बुला लेता हूँ और एक और बार मजे करता हूँ. कभी वह मेरे लंड को देख रही थी तो कभी मेरे हाथ में लिये हुए सामान को देख कर जैसे कुछ अंदाजा लगा रही थी.

एक दिन मेरे घर के पास रहने वाले एक दूसरे दोस्त ने मुझे कुछ काम से बुलाया था. उसके पूरे बदन में एक झुरझुरी सी दौड़ गई और वो शरमाते झिझकते धीरे से चिन्ना की सख्त गांड पर अपने नाजुक और कोमल चूतड़ टिका कर बैठ गई।क्योंकि चिन्ना की पूरी गांड सख्त काले बालों से ढकी थी और उसने एक पतली से लुंगी ही पहनी थी. क्यूंकि मालिश करने की वजह से करोना को लगातार आगे पीछे होना पड़ रहा था तो पहले से ही पानी सराबोर उसकी चूत अब प्रकृति के नियमानुसार भरभराकर पानी छोड़ने पर मजबूर हो गई और करोना का डर सच हो गया.

यह प्रक्रिया विशु ने चार पांच बार करी और हर बार मां का रिएक्शन एक जैसा ही था. फिर उसने बोला कि मैं नीचे चादर बिछा कर सो जाता हूँ, आप आराम से ऊपर अपनी सीट पर लेट जाओ. एक दिन जब सब लोग कुछ देर टीवी देखने के बाद अपने अपने कमरों में सोने चले गए.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ चाची ने झलक देख ली थी, वो पूछने लगीं कि वो क्या था?मैंने कह दिया- आपको पता नहीं है क्या?चाची बोलीं- नहीं पता … तुम बताओ. उसने मेरे लंड से कंडोम को हाथ में लेकर कहा- आज तो कुछ ज्यादा ही झड़ गए हो.

कमांडो की सेक्सी

मैंने मम्मी को चुदाई की नजर से देखा तो पाया कि 5 फुट 5 इंच कद, गोरा चिट्टा रंग, भरा बदन, मस्त चूचियां, मोटे मोटे चूतड़. मेरी माँ ने मास्टर की बेटी तनु को भी बहाने से हमारे घर बुला लिया था. मैंने बोला- ऐसा नहीं है … तू समझा कर, कुछ साल बाद तो तुझे मुझसे अलग ही सोना होगा क्योंकि तेरी शादी हो जाएगी.

मैं ऐसा कैसे कर सकता हूं?उस पर सेजल ने कहा- आज मैं आपकी बेटी नहीं हूं. उसकी चूत की दोनों फांकों को पूरा मुँह में दबा कर खींच कर चूसने लगा. सेक्सी पोर्न वीडियो चोदा चोदीवो भाभी मुझे ऊपर चढ़ते देख कर बोलीं- ये आपकी बर्थ है?मैंने हां में उत्तर दिया.

मैंने अपने हाथ और लंड दोनों की स्पीड बढ़ा दी … और हम दोनों एक साथ झड़ गए.

मैंने उससे 69 में आकर चुत चाटने की कही, तो वो मेरे कहे अनुसार बिस्तर पर आ गई. मेरे शौहर ने सर झुका कर मुझसे मांफी मांगी और कहा- सोचा कुछ और था हो कुछ और गया.

उधर रहने वाले सभी लोग गरीब घर से थे और सभी मजदूरी करने वाले रहते थे. दिल्ली वाले फ्लैट में उसने बेडरूम में एक पोल भी लगवा रखा है जहां मुझे अक्सर उसके लिए पूर्णतया निर्वस्त्र पोल डांस करना पड़ता है. उसने कहा- बैकलैस में ब्रा नहीं पहन सकते और इन कपड़ों में नाप नहीं हो सकता.

मेरी बहन बेड पर एकदम नंगी पड़ी थी और उसकी रुई सी मुलायम चूचियों का मजा मैं ले रहा था.

हो … इंतजार हो रहा था मेरा!मैं- नहीं … तो बस मुझे घर जाना है, जिसने मेरा एक्सीडेंट किया है, उसे ही मुझे घर ड्राप करना होगा ना! साथ जाते हुए कॉफी भी पी ही सकते हैं. बाहर से हल्की रोशनी आ रही थी जिसमें उन दोनों की हरकत का साफ साफ पता लग रहा था. मैं जान गया था कि इसका मन भी चुदाई के लिए कर रहा है लेकिन शरमा रही है.

भैया भाभी का सेक्सीयह मेरी पहली कहानी है इसीलिए अगर कोई गलती हो लिखने में तो मुझे माफ़ कर दीजियेगा. एक दिन मुझे अवसर मिला तो मैंने उस जवान लड़की की कुंवारी चूत को चोद कर कैसे मजा लिया?दोस्तो, मैं निहाल सिंघानिया अपनी देसी सेक्स कहानीगांव की कच्ची कली-1का दूसरा भाग प्रस्तुत कर रहा हूं.

पंजाबी छोरी का सेक्सी वीडियो

एक सहेली बना ली और उसके बाद …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अरुण कुमार है. तुम्हें अब और ज्यादा दर्द नहीं होगा।यह उसकी पहली चुदाई थी इसलिए मैं वहीं पर रुक गया। मैं उसे प्यार से सहलाने लगा उसके माथे को और उसकी आंखों को चूमने लगा. लेकिन उसने मुझे नीचे किया और मेरे मुँह में अपना लंड डाल दिया और लंड चूसने के लिए कहने लगा.

अब चिन्ना बोला- बिटिया, मेरी तरफ घूम कर जरा अपने अनमोल हुस्न का नजारा तो करवाओ!करोना ने शर्म के मारे बात अनसुनी कर दी. उम्मीद है कि अन्तर्वासना पर लोग इस सेक्स कहानी को काफ़ी पसंद करेंगे. तभी मीनू ने लंड को छोड़ कर बैड पर लेट गयी और कहा- भाई, बस अब आखरी रास्ता यही बचा है कि.

मैंने पूछा- ये क्या लगा रहे हो?उसने कहा- कुछ नहीं, बस इससे मजा ज्यादा आएगा. लेकिन कुछ इंतज़ार के बाद अटेंडेंट ने कहा- सर, आज दूसरी मालिश वाली आई है।अटेंडेंट ने कहा- सर, ये थोड़ी अनाड़ी है. … आह आहा और अन्दर … मेरा पानी निकलने वाला है आर्यन … रुको मत प्लीज … और जोर से आह आहा … आहा … अहा … रुको मत … रुको मत … मैं आ रही हूँ … आह … आहा … मैं आयी.

मैं पीठ के बल लेटा था, वो मेरे ऊपर उलटी होकर आ गई और पैर अलग कर कर मेरे मुँह पर अपनी बुर रख दी. ट्रेन हिलने के कारण मैंने अपने हाथ ढीले छोड़ दिए थे, जिससे मेरा हाथ भाभी की गांड को अपने आप सहलाने लगा था.

मैंने भी अपने पूरे कपड़े उतार दिए और उससे लिपट गया।मेरा लंड उसकी चिकनी टांगों से टकरा रहा था और उसकी चिकनी टांगों पर मैं अब अपने हाथों को फिराने लगा। मेरा हाथ धीरे धीरे बढ़कर उसकी चिकनी चूत पर पहुंच गया जो पावरोटी की तरह उभरी हुई थी।मैं उस पर अपना हाथ फिराने लगा और धीरे-धीरे अपने एक हाथ की उंगली उसकी चूत पर घुसाने की कोशिश करने लगा.

करीब 15 मिनट तक चली इस चुदाई में हम दोनों थक गए और पसीना पसीना हो गए थे. हॉस्टल की सेक्सी लड़कीअम्मी उसे देखते हुए बोलीं- बेटी तू इस मुद्दे पर गंभीरता पूर्वक विचार कर. मारवाड़ी सेक्सी फोटो फोटोया तो डिस्चार्ज बाहर करूँ या डिस्चार्ज अन्दर करूँ और हनी को गर्भनिरोधक गोली लाकर खिलाऊँ. थोड़ी देर में उसने ढेर सारा सफेद गाढ़ा माल छोड़ दिया, जो मेरे बॉल्स और उसकी जांघों से होते हुए बेड शीट को गीला कर रहा था … पर मैं तो जोर जोर से चोदे जा रहा था.

आज मैं तुम्हें बहुत ज्यादा प्यार करने वाला हूं।”मैंने फिर से उसे बांहों में भर लिया और चूसने लगा.

कॉफ़ी शॉप से निशा ने मुझे घर ड्राप किया, तब ही मम्मी और आंटी (यानि मेरी मम्मी की बहन व मेरी मौसी) कहीं बाहर से आ रही थीं. वो बोली- जय आज तक मुझे सेक्स में इतना मज़ा कभी नहीं आया, जो तुम्हारे साथ आ रहा है. और फिर जब हम जागे तो जागने के बाद हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.

मैंने कभी उससे ऐसी बात नहीं की थी, वो मेरे संग काफी कुछ बातें करने लगी. 10 मिनट तक उनके तलवे चाटे मैंने … उसके बाद मैंने भाभी के पूरे पैर चाटे. मेरे पूछने पर उसने बताया कि वो लोग अब घर जा रहे हैं और मुझको बोलकर गए हैं कि तुम आराम से एंजाय करके आना.

wonderwall सेक्सी

फिर भाभी अंगड़ाई लेकर बोलीं- अच्छा जी … और क्या क्या अच्छा लगता है मुझमें. थोड़ी देर आराम करने के बाद में जैसे ही पानी पीने के लिए उठा तो मुझे बहू के रूम से कुछ आवाज आयी. मैंने कहा- बहू, जो तुमने देखा उसी वजह से तुम खाना नहीं खा रही हो?बहू बोली- डैडी जी, आपको शर्म नहीं आती एक काम वाली के साथ ये सब करते हुए?मैंने कहा- बहू, मेरी कुछ जरूरतें हैं.

उसने चमन को कहा- चोली पर दोनों साइड में आधा आधा इंच तुरपाई कर दे, तब तक मैं इसके लहंगे की फिटिंग देखता हूं.

मैं हल्के से चाची को अपनी गोद में उछाल कर अपना लंड उनकी गांड में चुभा रहा था.

वो आज अपने भाई चमन के साथ आया था और वो दोनों ही मुझे चोदने के चक्कर में लग रहे थे. मैंने अपनी बहन से कहा- रिया इस बार मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ. सेक्सी एचडी में चाहिएहम लोगों ने शादी के दिन मिलने का प्रोग्राम बनाया।जिस दिन शादी थी, उसी दिन सुबह सौम्या का फोन आया और उसने मुझे कहा- आज रात मेरे साथ सेक्स करना है.

मैंने बोला- बेटू थोड़ा दर्द होगा, तो मुँह में कपड़ा डाल कर दबा लो … नहीं तो आवाज करोगी. मैं जींस टॉप पहनकर गयी थी तो उसने कहा इन कपड़ों में मेरा नाप नहीं लिया. दोस्तो, मेरी पिछली सेक्स कहानीपेट और चूत की आग ने रंडी बना दियापर मुझे आपके काफी सारे ईमेल मिले लेकिन मैं सबको रिप्लाई नहीं कर पाती हूँ.

मैंने उसके होंठों की तरफ अपने होंठ बढ़ाए, तो उसने मेरा सर पकड़ कर अपनी चुत की ओर धकेल दिया. मैं खाना लेकर जा रही थी, अचानक मुझे चक्कर आ गया मैं दीवार का सहारा लेकर गिरती चली गई और मैं बेहोश हो गई.

वो गुस्से में बोली- क्या कर रहे हो? आराम से नहीं डाल सकते थे क्या? मार ही डालोगे बिल्कुल.

निशा- तारीफ नहीं करोगे?मैं- अरे वो ही सोच रहा था … और तुम लग ही रही हो इतनी खूबसूरत. एक हफ्ते बाद मॉम और डैड को तीन दिन के लिए डैड के दोस्त के बेटे की शादी में जाना था. तभी उसने मेरे बाल पकड़ कर लंड पर मुँह में डाल दिया और अपना पानी छोड़ दिया.

भोजपुरी में देहाती सेक्सी क्या बात है?बाबू, मैंने बहुत बार रात में अपनी दीदी और उसके बॉयफ्रेंड की सेक्सी बातें सुनी हैं. अम्मी बोलीं- बेटा, मैं तेरे जज़्बात और भावनाओं को अच्छी तरह समझती हूँ.

पापा ने दीदी की चिकनी चूत में लंड दे कर धक्का दिया और दीदी की हल्की सी चीख निकल गयी. फिर मैंने उससे पूछा कि अपने भैया का प्यार पसंद आया?वो मुझे किस करते हुए बोली- अब तो मुझे सिर्फ यही प्यार आपसे हर समय चाहिए मेरे प्यारे भैया. अब मुझे उनका रसपान भी करना था … लेकिन किसी के आने के डर से मैंने उसके मम्मों को हाथ से दबाते हुए बाहर की तरफ देखा कि कोई है तो नहीं.

वीडियो सेक्सी भेज दो

कुछ देर लंड घिसने के बाद उसने मुझे मेरी एक टांग को आगे करने को कहा. धीरे धीरे मैं आकांक्षा की चूची को सहलाते हुए अपना एक हाथ नीचे चुत पर ले गया और उसकी चुत को सहलाने लगा. मैंने भी उसे गाली दी और कहा- साली कुतिया है तू … रंडी है मेरी … मैंने पैसे दिए है तुझे … आज तुझे चोद चोद कर अपनी रंडी बनाऊंगा, मुझे कुत्ता बोलती है मादरचोदी … ले और एक ले.

घर पहुँचने पर बुआ के साथ में बिजी हो गयी और शाम को खाना खाने के बाद करीब 10 बजे छत पर आ गयी. दीदी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा और कहा- पहले ये बता कि ये वीडियो तुम्हारे पास कहां से आया?मैंने हिचहिचाते हुए कहा- लैपटॉप में से.

शायद वो भी मेरी तरह पहला वीर्य अपने अंदर ही महसूस करना चाहती थी।वो फिर से झड़ने को हो रही थी और फिर 10-15 झटकों के बाद वो झड़ने लगी और मैं भी उसकी चूत में ही सारा माल छोड़ने लगा। आज तक मेरा इतना माल कभी नहीं निकला था जितना अभी निकला।मैं 2 मिनट वैसे ही उसकी चूत में अपना लंड डाल कर पड़ा रहा … फिर मैं उठ कर उसकी बगल में लेट गया.

इतना सब हो चुकने के बाद भी वह बंदा अब तक भी खुद के कपड़े नहीं खोल रहा था. पापा ने मेरे घाघरे को इतना ही सरकाया था, जहां से मेरे कूल्हे की नाली और आगे से मेरी जांघें दिखने लग जाएं. मैंने भी अपने हाथ उनके कंधों पर रख लिए थे और मैं उनके होंठ चूसने लगी.

मुझे उनकी भतीजी को भी चोदने का मौका मिल गया था, मगर मैंने भाभी जी को ही चोदना ठीक समझा. उन्हें मुठ मारते देखा, तो मैंने भी अपना लंड निकाल लिया और उन्हें देखते हुए मुठ मारने लगा. फ़िर थोड़ी देर चूत पर लंड रगड़ने के बाद उसने मुझे उल्टा घुमाया और मेरे पीछे से चिपक गया.

मैंने भी उसे गाली दी और कहा- साली कुतिया है तू … रंडी है मेरी … मैंने पैसे दिए है तुझे … आज तुझे चोद चोद कर अपनी रंडी बनाऊंगा, मुझे कुत्ता बोलती है मादरचोदी … ले और एक ले.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ: नीलम ने सिर हिलाकर मना करते हुए कहा- नहीं, हनी घर में है और वैसे भी मुझे डेन्टिस्ट के यहां जाना है, टाइम हो रहा है. मैंने जल्दी से उसके मुँह पर हाथ रखा और उसके पैरों को नीचे करके उसके चेहरे की तरफ देखा, तो उसकी आंखों में आंसू छलक आये थे.

फिर मैंने उसको नीचे गिराया और उसके ऊपर आकर उसकी चूत पर अपना लंड घिसने लगा. और इसी बहाने मैं तुम्हें और अच्छे से मालिश करने के नए तरीके सीखा दूंगा ताकि तुम कल भी मेरी मालिश उन नए तरीकों से कर सको।यह कह कर चिन्ना बेड पर से खड़ा हो गया और अपनी लुंगी उतार कर बिल्कुल नंगा हो गया. भाभी ने नीचे बैठ कर मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और फिर मैंने उनको वाशबेसिन पर बिठा कर भाभी की टांगें फैला दीं.

दीदी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा और कहा- पहले ये बता कि ये वीडियो तुम्हारे पास कहां से आया?मैंने हिचहिचाते हुए कहा- लैपटॉप में से.

रिटायरमेंट के समय मिले करीब साठ लाख रूपये खर्च करके मैंने अपनी बेटी अंजू की शादी बड़े धूमधाम से की. झटके दे देकर मैंने अपना सारा माल उसके मुंह में गिरा दिया और वो उसे पी भी गयी. सोनू की बड़ी बहन तो मुझसे उम्र में काफी बड़ी थी इसलिए मैं उसको बहन की नजर से ही देखता था.