सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,डॉग और लड़की का सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदी चोदा वाला बीएफ: सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में, मगर मुझे किसी के लंड से चुदने में बड़ा डर लगता था कि कैसे किसी से चुदने की बात कहूंगी.

मेरी सहेली निबंध

मेरी कामुक मां की चुत चुदने के लिए फड़क रही थी और मैं मां बेटा की चुदाई की कहानी का पूरा रस अगले भाग में लिखूंगा. अनुष्का सेन का फोन नंबरउसने नेहा की मम्मी सरोज को धक्का देकर नीचे गिरा दिया और नेहा से बच्चा छीन कर जैसे ही बाहर जाने लगा तो नेहा जोर से चिल्लाई- हाय मेरा बच्चा …मैंने एकदम उस लड़के का रास्ता रोक लिया और आगे अड़ गया.

जीजा साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी के घर आने की खबर सुनकर मेरी साली उदास हो गयी. फुल सेक्सी मूवी पिक्चरमेरे लम्बे नागिन से काले घने बाल, मेरी गांड तक लहराते हैं मेरी चूत भी हल्की गुलाबी सी है.

मैंने अब तक चार लड़कियों को चोदा है, मगर उन्हें चोदने में भी इतना मजा नहीं आया जितना तुम्हारी चुत चुदाई में मजा आया.सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में: फिर झाड़ू लगाने के बाद खुले जानवरों की नांदों में कुंए से पानी लाकर भर देता था.

नैना चिल्लाते हुए बोली- आह … हां जो चाहो करो मेरी चूत के साथ … आह … फाड़ डालो मेरी चूत को … आह …अ … मैं मर भी जाऊं, तब भी तरस मत करना … इसको इतनी चोदो कि मैं दो दिन तक बिस्तर से नहीं उठ सकूं.जबकि सत्यता ये थी कि सलीम का लंड मेरी जांघों में ही उछलकूद करके झड़ गया था.

छोटे बच्चों के सेक्स वीडियो - सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में

फिर उसने मम्मी को बालों से पकड़ कर उठाया और अपने लंड से उनका मुंह लगा दिया और उनको चूसने को बोला.मैंने बिंदास सोते हुए अपनी करवट ली, तो मेरी गांड उसकी तरफ हो गई और मेरी नाइटी, मेरी चुत और गांड दिखाते हुए काफी ऊपर को उठ गई.

उसके लंड की मोटाई से मुझे अब भी हल्का दर्द हो रहा था मगर जुनैद ने मेरी चूचियों को चूस कर मुझे दर्द की जगह सुख देना शुरू कर दिया था. सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में मैंने उसको तौलिया दे दिया और उसको बाहर वाला बाथरूम इस्तेमाल करने को बोल दिया.

सर ने मेरे बूब्स चूसने के बाद सर ने अपने कपड़े भी उतारे और पूरे नंगे होकर मेरे ऊपर लेट कर मेरे होंठों को पीने लगे.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में?

बाहर की दोनों मोटी सतह साफ, अन्दर चूत के छेद के बाहर दो छोटी गुलाब की कोंपलें सी और पिंक कलर का अन्दर का टाइट छेद. शैली- मम्मी ने दो से तो पहले भी एक साथ प्रोग्राम किया है। ऐसा करो तुम तीनों एक साथ चूत, गांड और मुंह में घुसाओ और मैं और दीदी अपनी मम्मी की सामूहिक चुदाई का नज़ारा लेते हैं. रास्ते भर वे मेरी तरफ देख देख कर मुस्कुराती रही और आंखों आंखों में मेरा शुक्रिया अदा करती रही.

मैंने भी देर न करते हुए उसकी एक टांग उठाई और अपना खड़ा लंड चुत में पेल दिया. ”कैसे?” अब तो सुहाना की आँखों में एक नई चमक सी आ गई थी।मैं उस छोकरे के फादर को जानता हूँ. हम हफ्ते में एक बार तो चुदाई कर लेते हैं … और अब तो हम तीन हो गए हैं.

इसलिए अब तुम बस उसे कैसे भी खुश रखने का सोचो क्योंकि अब तो सब कुछ हो गया है. रमेश- शर्म आ रही है मेरी जान? रमेश उसके चेहरे की तरफ झुकते हुए बोला. प्रकाश भाईसाब ने पहले एक उंगली से मेरी गांड को ढीला किया, फिर दो उंगलियां एक साथ पेल दीं.

पहले तो उसने पूछा- क्या कर रहे हो? खाना खाया या नहीं?मैंने कहा- तुम्हें ही याद कर रहा था. वासना में आकर मैं भी बोलने लगी- हां सर … आज से मैं आपकी रंडी हूँ … अंन्हह चोदिये मुझे.

कुछ ही पलों बाद मेरी टांगें हवा में उठ गईं और बहू सेक्स के लिए उन्हें अपने अन्दर आने के लिए खुद से कोशिश करने लगी.

जैसा कि आपको पहले से ही पता है, वो सब ब्रा-पैंटी मेरे साइज से छोटे थे और पैंटी भी थोंग वाली थी.

थॉमस ने मेरी गांड पर थूक लगाया और मैं समझ गयी कि अब थॉमस मेरी गांड मारेगा. रॉन ने अपने लंड को बाहर निकाला और कॉन्डम निकाल कर उसको एक ओर फेंक दिया. आंखों में काजल, दो अमृत कलश के बीच में साफ़ दिखती गहरी रेखा, गोरे गाल सेव सी गुलाबी रंगत लिए हुए थे.

लेकिन इस घटना से हम दोनों के मन में एक दूसरे को चोदने की ललक जाग गई थी. इस पर वो बोलीं- ना रे बाबा ना … कहीं तुम्हारे मामा को पता चल गया, तो मुझे जान से ही मार ही देंगे. मैं भी जोर-जोर से धक्के मार रहा था और अंकल की जबरदस्त चुदाई किये जा रहा था। 20 मिनट की चुदाई के बाद मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाला हूँ।चोदते हुए ही मैंने अंकल से पूछा- वीर्य अंदर निकालूं या बाहर?वो बोले- अंदर ही निकाल दो।फिर चार-पांच धक्के देने के बाद मैंने अपना सारा वीर्य अंकल की गांड में छोड़ दिया।अंकल का लंड भी पूरा तना हुआ था.

3 अगस्त को फोन उठाया, बोली- आदमी जब किसी को मैसेज भेजता है तो पहले हाय हेल्लो कुछ लिखता है.

com/maa-beta/sauteli-maa-bete-ki-chudai/में आपने जाना कि मैं मां की चुदाई करके बाथरूम में मां के साथ नहाने लगा था. उसको डाउनलोड करके सेटिंग कर दो पूरी और कौन से नम्बर ब्लॉक हैं, देख लो. मैंने पहले उसकी चुत पर हाथ लगाया और उसके चुत की फांकों को मसल दिया.

अब मैं थॉमस के लंड पर उछलने लगी और आहें भरने लगी- आह्ह आह्ह आह … थॉमस फक मी आह बेबी चोदो मुझे आह. मैंने नेहा के माथे को चूम लिया, माथे को चूमने के बाद मैं नेहा के नाक होंठ, ठुड्डी, उसकी गर्दन उसके मम्मों को चूमते हुए उसके पेट, धुन्नी और चूत तक आ गया. पर क्या करता, मैं उसे रोक भी तो नहीं सकता था, आखिर मेरी हैसियत ही क्या थी.

फिर मैंने उसकी चूत अपनी मुट्ठी में भर ली और मसलने लगा और चूत में एक उंगली घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए अंगूठे से उसका क्लाइटोरिस रगड़ने लगा.

निष्ठा डार्लिंग, चलो अब अपने घुटने मोड़ कर ऊपर कर लो और अपनी चूत अपने हाथों से खूब अच्छे से खोल लो. हमने तो सोचा कि हम सेक्स कैसे करेंगी? इसका तो लंड खड़ा होने में भी टाइम लगेगा.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में मैं ये पल कभी नहीं भूलूंगी … आज का ये सुनहरा दिन मेरी जिन्दगी में मुझे हमेशा याद रहेगा. तो मैंने क्या किया?मेरी शादीशुदा चूत में लंड की कहानी के पहले भागशादी की सालगिरह में मिले दो कच्चे लौड़े- 1में आपने पढ़ा कि मेरे घर में मेरे पति के भेजे हुए दो लड़के मुझे नंगी करने को आतुर थे.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में एक दिन हमें मौका मिला गया, उस दिन उसका ईमेल आया और उसने कहा कि घर के सब लोग एक शादी में जा रहे हैं. सच कहूं तो मुझे बहुत डर लगने लगा था और घबराहट भी होने लगी थी कि कुछ अनहोनी न घट जाय.

भाभी बोलने लगीं- प्रकाश मुझे एक लड़का चाहिये … तुम पहाड़ियों की तरह गोरा, मुझे चोद चोद कर मुझे एक लड़का पैदा कर दो ना प्लीज़.

स्त्री जननांग

मैं उसे लाख समझाता कि धीरे धीरे कर लूंगा, तेरे पेट पर वजन नहीं डालूंगा बस चूत में आधा लंड घुसा कर धीरे धीरे अन्दर बाहर कर के पानी निकाल लूंगा बस. आपने मेरी पिछली कहानीजीजू ने दिलवाया मोटे लंड का मजाकाफी समय पहले पढ़ी थी और पसंद भी की थी. जब मेरी चूत ने खुल कर एक मोटी सी बूंद बाहर निकाली, तब अनिकेत ऊपर को उठा.

अब शायद अंकल का दर्द कम हो गया था। अब मैं धीरे धीरे लंड को आगे-पीछे करने लगा. उसका लंड इस बात से ही अकड़ने लगा था कि माल 20 साल का है और कुंवारी है. मगर यहां मौसी फिर से गर्म हो गई थीं और शायद मुझे गर्म करने की कोशिश कर रही थीं.

आप सब आफ्टर-प्ले जानते हैं ना? लो कर लो बात … आफ्टर प्ले नहीं जाना, तो कुछ नहीं जाना.

मैंने उस फोन में नेट का रीचार्ज करवा लिया था और अपनी दिल की ख्वाहिशें पूरी करने लगा था. उसकी गर्दन पर अपनी जीभ की नोक बना कर फिराने लगा और हल्के हल्के से दांतों को गर्दन पर दबाते हुए उसे गर्म करने लगा. अब तो जब तक प्रकाश भाईसाब का लंड पानी नहीं छोड़ेगा, लंड गांड में झेलना ही पड़ेगा.

तुम्हें सहज रूप से एक्ट करना है और पूरे विश्वास के साथ आगे बढ़ना है। एक तलाकशुदा औरत तुम जैसे मर्द को कभी मना नहीं कर पायेगी. कमाल का चोदते हो तुम … और तेज़।सुनील भी पूरी शिद्दत से मुझे हम्म … उम्म … उम्महह … करके चोदता रहा। पूरे कमरे में हम दोनों के जिस्म टकराने की पट्ट … पट्ट … की और आहह … आहह … की सिसकारियों की आवाज आ रही थी।इस स्टोर रूम में शांति से चुदने की कोई जरूरत नहीं थी. उसकी एक टांग उठाकर हाथ में ले ली और लंड को उसकी चुत पर ज़ोर से रगड़ने लगाउसके मुँह से ‘इससस्स … आह.

मैंने मां को बेड पर लिटाया और 69 की पोजीशन बनाते हुए मैं उनके ऊपर आ गया. अब चाहे ये सच हो, या झूठ … मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता … पर मैं आपको चाहने लगी हूँ.

इसके ठीक बाद मैसेज आया- मैं क्या और कितनी क्यूट हूँ?मैं बोला- आप पूरी की पूरी क्यूट हो. आधे घंटे के बाद मैं दुबारा खड़ी हुई और बेड के साइड वाली दराज में से एक कंडोम का पैकेट निकाला. यहां देहरादून में मैं जहां पर रहता हूं वहां पर भी किसी भाभी का मिलना बहुत मुश्किल है.

वो इस बार पता नहीं बाहर से क्या खा कर आए थे कि उनका वीर्य स्खलन ही नहीं हो रहा था.

साथ ही ये उसकी उठी हुई गांड पर एकदम चिपका हुआ था, जिससे उसकी गांड का निखार काफी बढ़ रहा था. मैं- अच्छा … खैर छोड़ो, ये बताओ मेरे लंड को उसकी मंज़िल तक कब पहुंचा रही हो?वो- क्या बताऊं … तुमने आज मेरी हालत खराब कर दी थी. मैं चिल्लाते हुए आगे को हो गयी, जिससे उनका सुपारा छेद में से निकल गया.

मैंने भाभी को बेड पर पटक लिया और उसकी चूत में मुंह देकर उसकी चूत चाटने का मजा लेने लगा. मैंने एक मिस इंडिया टाइप की लड़की बुक कर रखी है जिसको देख कर ही तेरे मुंह में पानी आ जायेगा.

देसी गांड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने ऑफिस की लड़की की गांड मार रहा था. मामी के सिर के बाल मेरी नाक को छू रहे थे … और उनके बदन की खुशबू मानो मुझे पागल कर रही थी. मैं उनके बालों को सूंघते हुए बोला- कसम से आप कमाल हो … आप जैसी गर्म जोशीली लड़की मैंने आज तक नहीं देखी.

বাংলাদেশের সেক্সি গানা

साथ ही चूत में दो उंगलियां डालकर प्रतिभा की वासना को बढ़ाने का पूर्ण प्रयत्न करने लगा.

मैं बेड पर दुल्हन की तरह घूंघट निकाल कर बैठ गई और उनका इंतजार करने लगी. अर्जुन बड़बड़ा रहा था- आह जान … क्या चूसती हो … उम् अह्ह्ह फ़क!ऐसा हो भी क्यों न … मेरे मुँह में जो लंड जाये और आहें न भरे? ऐसा हो ही नहीं सकता. आहह्ह और चुद … लंडखोर रंडी … आह्ह ले चुद … और चुद।रश्मि- आईई … अहाह … आहह … फक मी … और तेज डैडी.

मैं इसमें पीछे रहने वाली हूं क्या?मैं चौंकते हुए बोली- मतलब!दीदी बोली- मेरी छुटकी, मैं तेरे पति को टेस्ट कर चुकी हूँ. मैं भी थॉमस के आगे कुतिया बन कर उससे अच्छे से अपनी गांड मरवा रही थी और आहें भर रही थी. सेक्सी पिक्चर हिंदी में देखने वालीचूचियों पर रमेश के हाथ कसते ही रश्मि का हाथ भी रमेश के गर्म गर्म लोहे की तरह तप रहे लौड़े पर कस गया.

एसी में पसीना तो आयेगा नहीं!मेरा अब किसी भी हाल में लंड लेने का इरादा था. मुझे खुद पर भरोसा नहीं हो रहा था कि जेठ जी का लौड़ा मेरी चूत की सैर करके थक चुका था.

इधर मैं रोज जिओ एप में डिटेल चेक करता था कि किससे कितना बात करती है, कब मैसेज भेजती है. मैं मन ही मन ईश्वर से प्रार्थना कर रहा था कि हे भगवान इस बार शर्मिष्ठा का दर्द हर लो. दोस्तो, मेरी पिछली दो कहानियोंसाले की टीनऐज बेटी की मस्त चुदाईक्लासफेलो लड़की की सील तोड़ कर चुदाईको आपने बहुत ही पसंद किया.

मैंने अपनी पिछली रचनामेरे जीवन का पहला सेक्समें आप सबको बताया था कि किस तरह से मैंने अपनी जिंदगी का पहला सेक्स नीलम नाम की एक टीचर के साथ किया. मुझे मॉम को सेक्स करते देखना था, तो मैंने बोल दिया कि ममा मुझे आपका सेक्स देखना है. ऐसी लगीं कि रुई के गोले हों … मुलायम सा बदन, सिल्की सी उसकी त्वचा … मेरे लंड तो फुल मूड में आ गया था.

ब्रा मेरे साइज से छोटी थी और पैंटी भी नेट वाली थोंग पैंटी थी, जिसमें से हमेशा मेरी चुत दिखती है.

वो बूढ़ा बाबा अपने दोनों हाथों से मेरे निप्पलों को सहलाने और मींजने लगा. इस बार रॉबर्ट ने मुझे लगभग बीस मिनट तक चोदा और उसके बाद वो अपनी चरम सीमा पर आ गया.

मैंने तुरंत उसको अपने मुँह में पूरा घुसाने की कोशिश करते हुए चूसना शुरू कर दिया. कभी वो एक ग्राहक के साथ रात बिताती तो कभी एक साथ दो दो को ले जाती और दोनों को ही झेलते हुए खुद भी चुदाई का मजा लेती और उनको भी अच्छी तरह खुश कर देती. मेरे पति के न रहते हुए ससुर बहू सेक्स ने ही मेरी चूत की प्यास को शांत किया.

इससे अन्तर्वासना से नए लोग भी जुड़ेंगे और मुझे भी नए मित्र मिल जाएंगे. यह सुन कर निष्ठा बहुत खुश हुई पर तुरंत ही उनके चेहरे का रंग उड़ गया और उदासी की रंगत भी उसके मुख पर दिखाई देने लगी. राजू अपने आपको छुड़ाने की कोशिश कर रहा था मगर सनम उसे छोड़ ही नहीं रही थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में तभी सरोज ने मेरे मुंह को अपने होंठों से बंद कर दिया और मेरी चूचियों को मसलते हुए किस करने लगी. दूसरा मुझे पता नहीं क्यों, बाजू में इतनी उंचा उठा होने के बाद भी डर नहीं लग रहा था.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो हद

मैंने अंकुश से कहा- अब तो मैं इस ड्रेस में फ्लोटिंग कर सकती हूं न!उसने कहा- हां क्यों नहीं. क्या? ये कैसी पागलपन जैसी बात कर रहे हो आप, भला वहां गंदी जगह में भी कोई कुछ करता होगा क्या?” साली जी विरक्ति भाव से बोली. चुदना तो अंकुश से मैं भी चाहती थी पर मैं थोड़े नखरे करने लगी- छोड़ो मुझे अंकुश … ये क्या कर रहे हो.

बदले में उसने भी मेरे शरीर को चूमना शुरू कर दिया।मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया, उसकी कुर्ती को ऊपर कर दिया। उसने काली ब्रा पहनी हुई थी। ब्रा को चूचियों पर से हटाते हुए मैं उन्हें सहलाने लगा. साली जी, अब अपनी चूत के होंठ अपने हाथों से खोल दो खूब अच्छी तरह से और फिर मेरी तरफ देखो. गली दिसावर सत्तातभी मुझे फील हुआ कि शायद चूत से कुछ गीला गीला और गरम गरम निकल रहा है.

मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया और पता ही नहीं चला कि कब एक दूसरे के होंठ चिपक गए.

इसके बाद मैंने एक बार फिर से उसकी चूत चोदी और अपने कमरे में आकर सो गया. इन 8 सालों में मैं बस इतना कर पाया कि मुझे उसका नाम पता चल गया और मैं मनजीत कौर मनजीत कौर बड़बड़ाते हुए मुठ मार लेता.

वो बेसब्र सी होकर मेरी शर्ट को खींचने लगी, जिससे नीचे के बटन टूट गए. दो दो लंड की मस्ती में आकर रश्मि ने खुद ही अपनी एक टांग ऊपर उठा ली. फिर उसने मुझे वहीं घोड़ी बनाया और मेरी चूत में पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा.

मूवी खत्म होते होते मैंने गुरजीत के हाथों पर चुम्बन और जांघों पर हाथ फेरने के अलावा पैर के अंगूठे से उसके पैरों पर कुरेदा था.

उसके दोनों पैर फैला कर उसकी पैंटी से ढकी चूत के ऊपर अपना लंड पेंट के साथ से ही रगड़ दिया. तो मैं जल्दी से भाग कर ट्रेन के टॉयलेट में चली गयी और वाशबेसिन के सामने एकदम किनारे सट कर खड़ी हो गयी. अगर वहाँ मौका मिले तो तुम किसी दूसरी लड़की को पटा कर बिस्तर तक ले जा सकते हो।मैंने कहा- नहीं यार, ये मैं कैसे कर सकता हूँ? मेरा दिल तो उस लड़की के अलावा और किसी के लिए नहीं धड़कता.

सागर न्यू गोल्डन मटकामैंने बोला- सर प्लीज आप मेरी गांड मत मारो … आपका लंड बहुत मोटा है … मेरी गांड में दर्द हो जाएगा. चैन तो खोल ली लेकिन लण्ड लंबा होने की वजह से भाभी बाहर नहीं निकाल पा रही थी.

राजस्थान का देसी सेक्सी

फिर वापस घर आने के क्रम में उन्होंने मेरा हाथ गाड़ी में पकड़ा और मुझे अपनी तरफ खींचा. ये बातें वो पुरुष की नजरों में खोजती है … और उसकी बांहों में पनाह खोज कर खुद को सुरक्षित करना चाहती है. सर ने मेरे बूब्स चूसने के बाद सर ने अपने कपड़े भी उतारे और पूरे नंगे होकर मेरे ऊपर लेट कर मेरे होंठों को पीने लगे.

मैंने झटके से लंड नहीं पेला बल्कि मैंने सिर्फ सुपारे को ही कुछ देर चूत के अन्दर बाहर किया, जिससे प्रतिभा और तड़प उठी. मुझे विडियो कॉल पर आने में कोई दिक्कत नहीं है।मैंने फोन को बेसब्री से थाम रखा था. फिर सर जो अपना एक हाथ मेरे कंधे पर रखे थे, उन्होंने उसे वहां से हटा कर मेरे पेट पर रख दिया.

लड़के ने जैसे ही हीरोइन के हाथ को अपने हाथ में लिया, मैंने भी एकदम अपनी हथेली भाभी के हाथ पर रख दी और सहलाने लगा. कमरे का दरवाजा उढ़का हुआ था पर बीच में दरार से अंदर का नजारा साफ़ दिखायी दे रहा था क्योंकि अंदर लाईट जली हुई थी. मैंने पूछा- ये काहे की गोली है?उसने कहा- बाजी, कल आपके अन्दर ही निकल गया था न … कोई लफड़ा न हो जाए, इसलिए ये गोली खा लो.

फिर निष्ठा ने वो क्रीम मेरे हाथ से छीन ली और दौड़ कर वाशरूम में चली गयी. भाभी की पीठ और चूतड़ों पर मैंने हाथ फिराया और भाभी के कान में पूछा- मैं जाऊं?उन्होंने ना में सिर हिलाया और मुझे और जोर से जकड़ते हुए बोली- पिछले एक घंटे से तुमने मेरा बुरा हाल कर रखा है, अब थोड़े ना जाने दूंगी.

लेकिन मैं अभी उसको और तड़पाना चाह रहा था, तो लंड को उसकी चुत में डालने के बजाए बस चुत पर रगड़ रहा था.

इतना कह कर उन्होंने मुझे उठाया और मेरे होंठों पर लंड लगा कर फिराने लगे. त्रिशूल फुल मूवीरश्मि ने खुद-ब-खुद अपने दोनों हाथ हवा में ऊपर उठा लिए और टॉप उसके बदन से अलग हो गया. सेक्स मराठी ओपनमम्मी मुस्कुराती हुई बोली- आप यह क्या कर रहे हैं?तो वो अंकल हंसते हुए बोले- वही जो एक आदमी को एक औरत के साथ करना चाहिए! और क्या?मम्मी बोली- मैं तो आपके दोस्त की बहन हूँ ना … तो आपकी भी तो बहन ही हुई ना? हम दोनों के बीच ये गलत है।तो वो बोला- साली कुतिया … ये क्या नाटक कर रही है?मम्मी हंसने लगी. करीब बीस से पच्चीस मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना सारा पानी मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में छोड़ दिया.

उनके आते ही मुझे दिल से ख़ुशी हुई कि मैं उनको अपनी कला से रूबरू करके उन्हें इम्प्रेस कर लूंगी.

वैसे भी जब से शादी हुई थी, मैंने अमित के अलावा किसी और का लंड नहीं लिया था. उसके दोस्त ने मुझे चुप कराया और मैं उसके साथ उसकी बाइक से हॉस्पिटल आ गयी. अर्पित मेरी जांघों के अंदर चूमता हुआ मेरी चूत के इर्द गिर्द चूम रहा था.

फिर तो हमेशा ही दूसरा लण्ड तलाशती रहोगी आप, ये मेरा अनुभव कहता है।यही अभी मेरे साथ भी हो रहा था। मैं उसका लण्ड चूसते हुए एक अलग ही दुनिया में पहुंच गयी वो भी बहुत मजे ले रहा था. फिर उन्होंने मेरे हाथों को बेड के दोनों ओर दबा लिया और मेरे गाल और गर्दन पर चूमने लगे. मेरे बगल में करीब पैंतालिस साल का आदमी बैठा था, तो वो थोड़ा सा आगे को हो गया और मैं पीछे होकर बैठ गयी.

गुजराती सेक्सी फिल्म हिंदी

वो कहने लगे कि अगर रोशनी बहू चली जायेगी तो यहां घर को कौन देखेगा? सरोज (मेरी ननद) भी तीन-चार दिन के बाद जाने वाली है तो फिर मेरी देखभाल कौन करेगा?ससुर की बात मैं टाल नहीं सकती थी और भाई ने भी यही कहा कि मैं यहीं पर रुक जाऊं. अब मेरी चूत में इतनी चुदास जाग गयी थी कि मुझे जीभ से संतुष्टि नहीं मिल पा रही थी. आप तो जानते ही हैं, फिर भी नए पाठकों के लिए मैं एक बार फिर से बता देता हूँ.

मूवी खत्म होते होते मैंने गुरजीत के हाथों पर चुम्बन और जांघों पर हाथ फेरने के अलावा पैर के अंगूठे से उसके पैरों पर कुरेदा था.

मामी ने पूछा- तुम फोन पर जैसे हो … रियल में वैसे क्यों नहीं लगते?मैंने थोड़ा संभलते हुए कहा कि नहीं मामी … ऐसी कोई बात नहीं है.

उसके बाद स्वीटी मैडम ने बोला- अब मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … मुझसे सहा नहीं जा रहा है. उस दिन स्कूल में ही उन्होंने मुझे नंगी कर लिया और मेरी चूत को चाटने लगे. महाराष्ट्र सेक्सी वीडियो एचडीजिन्होंने नहीं पढ़ी हैं, वे ऊपर मेरे नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।मेरी पिछली कहानियों को पढकर आप लोगों के बहुत सारे ई-मेल भी प्राप्त हुए.

आरूषि ने अपने हाथों को पीछे की ओर ऐसे खींचा जैसे कि वो मेरे अंडरवियर में हाथ डालकर मेरे लंड को पकड़ने की कोशिश कर रही हो. पूजा- बस लंड ही चुसवाओगे … या नीचे लगी आग में भी कुछ कर पाओगे?मैं- तुम लंड चूस कर इसे गीला तो करो … तेरी चुत का भुर्ता तो मैं बना ही दूंगा. मैं चुपचाप उसके बगल से उठा और नित्यकर्म से निवृत्त हो बाहर टहलने निकल गया.

जैसे ही भाभी ने जानबूझकर मेरे लंड को अपने हाथ से टच किया, मैंने भाभी का हाथ अपने लंड पर दबा दिया. बाप रे बाप … ऐसा लग रहा था जैसे किसी इंसान को गधे का लन्ड दे दिया गया हो.

उसके बाद से लेकर और आज तक रश्मि ने फिर कभी अपनी चूत में लंड नहीं लिया था.

वो सीधा अपने केबिन में गया और जाते ही उसकी सेक्रेटरी रीता जो एक 32 या 33 साल की मगर ज़िस्म से गदराई हुई माल थी, पीछे- पीछे वह भी रमेश के केबिन में घुस गई. चूचियाँ भारी भारी गोल होनी चाहिए, गांड भी भरी और गोल होनी चाहिए, चूत भरी और मोटी होनी चाहिए, मुझे सूखी हुई चूत जिसमें से केवल छेद दिखाई दे, वैसी चूत कम पसन्द है. फिर जीभ को न के बराबर बाहर निकाल कर टोपे को छुआ और वापस अन्दर कर ली.

सेक्सी आंटी सेक्सी तीन साल लगातार मायके में रहने के कारण भैया भाभी का बर्ताव बदल गया था. पर हमारा कॉलेज तो जीतेगा ही। और वैसे भी मैं जो चीज़ मांग रहा हूँ, वो कभी खत्म नहीं होगी तुम्हारे पास से। अगर जीत गयी तो तुमसे सब खुश हो जाएंगे, सोचो तुम्हारे दोस्तो में, कॉलेज में, परिवार में कितनी इज्ज़त बढ़ जाएगी.

ईईई ईईई आह्ह ह्ह्ह ओ … राज … आ … ईईईईए … सश्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह बहुत … मजा … आ … रहा … है. थॉमस ने मेरे शूज की चैन खोल दी और उन्हें भी उतार दिया और फिर उसने मेरी स्किन भी उतार दी, जो मैंने पहनी थी. ये बात मैंने सुमीना को बताई तो वो सन्न रह गयी और बोली कि मैं इतने पैसे लाऊंगी कहां से?सच तो ये था कि मैं भी उसकी मदद नहीं कर सकता था क्योंकि मेरे पास भी इतने रूपये नहीं थे.

সানিয়ার সেক্সি ভিডিও

सनम बहुत जोर से चीखती अगर मैं उसे रोकती ना तो!मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया और उधर राजू सनम की चूत में धीरे धीरे धक्के लगा रहा था. अन्दर ब्लू रंग की ब्रा पैंटी ऊपर पिंक रंग की नाइटी और नीचे ब्लू रंग की जांघों में स्किन और पैरों में मैचिंग पिंक रंग की हील्स पहनने के बाद मैं अब एक पोर्नस्टार की तरह रेडी थी. पिताजी ने फोन पर मां से क्या कहा था और घर जाकर मेरी मां के साथ मेरी चुदाई का सिलसिला किस तरह से चला, ये सब मैं मेरी मां बेटा सेक्स स्टोरी हिंदी में लिखूंगा.

जैसे ही मैं निकलने लगी, तो उसका वही दोस्त सामने खड़ा था, जिसने मुझे रात को अपना लंड चुसाया था. ये हुनर रातों रात नहीं आता … पुराना गांडू ही बाद में अच्छा लौंडेबाज होता है.

चूत में कामरस का रिसाव हो चुका था, जो लंड को चिकनाई प्रदान करने लगा था.

उसके मुँह से दीदी सुनकर मेरी हंसी निकल गयी और मैं सोचने लगी कि थोड़े दिन में टू इसी दीदी का बहनचोद भाई बनने वाला है. मैं तो बस उसके मम्मों से खेलता रहा था और साली जी चुदाई की कमान संभाले हुए अपनी मनमानी करती रही … करती रही … करती रही. मैं उछल कर बेड पर आ गयी और रोहन की तरफ अपना चेहरा करके डॉगी पोजीशन में आ गयी.

फिर मैंने उसके बाल लपेट कर चोटी सी बना कर खींच दी जिससे उसका मुंह ऊपर की ओर उठ गया और मैं उसकी चोटी खींचते हुए उसे बेरहमी से चोदने लगा. शाम को हम दोनों थोड़ा मेरठ घूमे औऱ वापस गेस्ट हाउस में आ गए।मैंने उससे कहा- रात की तैयारी कर लो, आज रात हमें खूब मजे लेने हैं।उसने कहा- अब रहा नहीं जा रहा है, एक राउण्ड अभी मार लें क्या?मैंने मना कर दिया. इतने में बस आयी, लेकिन उसमें बहुत भीड़ थी … तो हमने वो बस छोड़ दी … और दूसरी बस का इन्तजार करने लगे.

शाम को राजू शायद जानबूझकर सात बजे आया तो हमने उसे अंदर ले लिया और सनम ने जाते ही उसे किस करना शुरू कर दिया.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बीएफ हिंदी में: मैं भी प्रतिभा के लंड लेने की प्रतिभा पर उसकी जांघें थपथपा कर और चुदाई की गति बढ़ाकर उसकी प्रशंसा कर रहा था. अगले दिन रिया रश्मि से मिली और पूछने लगी- अपने डैड से चुदवा कर कैसा लगा?रश्मि- क्या बोल रही है? मैं अपने डैड से क्यों चुदवाऊंगी?रिया- मुझे मालूम है कि कल तुमको मेरे डैड और तुम्हारे डैड ने जी भर कर चोदा है.

अगले दिन हम दोनों से कोई चलने परेशानी हो रही थी तो हमने स्कूल ना जाने का सोचा और हम दोनों नाश्ता करके सो गयी।उसके बाद अक्सर हम अपनी रात राजू के साथ रंगीन करने लगी. वो इतना कामुक मंजर हुआ था कि उसे याद करके मैं अभी फिर से रिस गई हूँ. सुपाड़ा रखकर मैं बिल्कुल धीरे-धीरे से लंड पर दबाव देते हुए उनकी गांड में आगे पीछे करने लगा।अंकल ने मेरा लंड पकड़ा और अपने हाथ से थोड़ा एडजस्ट किया.

चूंकि नहाने का और कोई साधन नहीं था, इसलिए उधर जाना हमारी मजबूरी थी.

आप तो चोदो जल्दी से चोदो अब!” वो मेरे गले में बाँहें पहिनाते हुए बोली. होंठों से शुरू करके गले को किस करता हुआ मैं उसके चूचों तक पहुंच गया और उसका टॉप खींच कर उतार दिया. कुछ देर तक पीछे से मेरी चूत में लंड पेलने के बाद सर ने मुझे सीधे किया और मेरे सारे कपड़े उतार तक अलग रख दिए.