सेक्सी नर्स बीएफ

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी वीडियो हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

गावरान सेक्सी क्लीप: सेक्सी नर्स बीएफ, मैं उनको बता दूं कि मैं कोई रांड नहीं हूँ, जिससे मेरा मन करता है, मैं उसी से सेक्स करूंगी.

इंग्लिश सेक्सी इंग्लिश सेक्सी वीडियो

फिर मैंने पास रखी क्रीम की ट्यूब उठाकर गांड की छेद में बहुत सी लगाई और हल्की मालिश करते हुए चूत चाटने लगा. राजस्थानी सेक्सी भेजेंवेटर को खाने का ऑर्डर दिया तो वेटर बोला- सर आप रूम में चलिए, खाना वहीं पहुँचा दूंगा मैं.

कुछ समय तक किस करने के बाद मैंने उसकी साड़ी का पल्लू खींचकर उसे कपड़ों से आजाद कर दिया. सेक्स वीडियो फुल सेक्स वीडियोअपना हाथ नीचे करके मैंने भाभी की चूत पर फिराया तो भाभी बोली- राज, ऐसा लग रहा है जैसे मज़े में जान ही निकल जायेगी, तुम्हारे हाथों में तो जादू है.

मुझे उम्मीद है कि आप सब इस तरह से मुझे प्यार और समर्थन देते रहेंगे और मेरी कहानी को पसंद करते रहेंगे.सेक्सी नर्स बीएफ: सर मुझे अब किसी भी लैंड डील के लिए भी अधिकारियों की सेवा के लिए भेजने लगे थे.

मैंने एक सिगरेट सुलगाई और कुछ देर तक सिगरेट का मजा ले कर खुद को जाने के लिए तैयार किया.कुछ ही देर में भाभी ने अपने हाथ की उंगलियों को खोला और मेरे पंजे में फंसा दिया.

कंडोम कैसे उपयोग करें - सेक्सी नर्स बीएफ

मामी मुझे उत्तेजित करते हुए बोलीं- जरा धीरे धीरे कर … मुझे लग रही है.नमस्कार दोस्तो, मैं एक बार फिर से अपनी सखी मन्नत मेहरा की ऑफिस सेक्स स्टोरीज लेकर हाज़िर हूँ.

उसने कहा- नहीं, मैं तो ये कह रहा हूं कि इसमें बहुत सुंदर लग रही हो, बल्कि इसे भी उतार दो तो और ज्यादा मजा आयेगा. सेक्सी नर्स बीएफ मैं बोली- पर उसकी किटी पार्टी तो कैंसिल हो गई थी, उसका मुझे मैसेज आया था और उसने कहा था कि हम शॉपिंग के लिए जाएंगे … इसलिए तो उसने तुम्हें मुझे लेने के लिए भेजा था.

मुझे ऐसे लगने लगा था कि मेरे साथ काम करने वाली लड़की या औरत, एक बार मेरी बिस्तर पर जरूर आ जाए.

सेक्सी नर्स बीएफ?

उसके बाद थॉमस ने अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल लिया और मुझे बेड पर लेटा कर मेरी दोनों टांगें खोल दीं. उसमें भैया कभी किस करते, स्तन दबाते तो कभी भग्नासा को सहलाते भाभी की तो लगातार सिसकारियाँ निकल रही थी।ये सब करते-करते जब थोड़ी देर हो गयी तो भैया ने भाभी को बाथटब में ही घोड़ी बना दिया और पीछे से चुदाई करने लगे. मैं- ठीक है अभी मैं रास्ते में खड़ा होकर बात कर रहा हूँ … तो अभी फोन रख दो.

इस बार मैंने सोच लिया था कि चाहे कुछ भी हो जाए, मैं चिल्लाऊंगी नहीं. प्रतिभा लंड का प्रहार सह ना सकी और उसने लंड मुँह से बाहर निकाल दिया. वो इठला कर बोलीं- एक एक हिस्से की कैसे करोगे?मैंने कहा- मैं देखता जाऊंगा और तारीफ़ करता जाऊंगा.

वो कभी अपने लंड से चूत के दाने को रगड़ता, तो कभी लंड का टोपा चूत के छेद से टच करवाता. बिन्दू को कुछ अच्छा लगने लगा था, उसने नीचे लण्ड पर हाथ लगा कर देखा और बोली- यह तो काफी बचा हुआ है?मैंने कहा- बिन्दू, एक आम लण्ड को तो बुर में इतनी ही जगह चाहिए, लेकिन मेरा लण्ड काफी बड़ा है, जब दुबारा करेंगे तब चला जायेगा, अभी तो तुम इसी से मजा लो. रात को देर से लौटूँगा या फिर सुबह ही लौटूं शायद।रति- बस यही तो है बुरी आदत है आप दोनों बाप- बेटी में! मुझे तो घर में सिर्फ पहरेदार ही बना दिया है आप दोनों ने।रमेश- मेरी जान, यूँ उदास होकर मत विदा करो.

नमस्कार दोस्तो, मैं राकेश आशा करता हूं कि आप जिन्दगी के मजे ले रहे होंगे और अन्तर्वासना की गर्म सेक्स कहानियों का लुत्फ उठा रहे होंगे. मैंने आव देखा … न ताव … बस उनको अपने ऊपर खींच कर उनके चूचों पर झपट पड़ा.

इस अवस्था में प्रतिभा के गोल नितंब बहुत ही आकर्षक लग रहे थे, चिकने चिकने दो घड़े आपस में मिलकर मेरा मन ललचा रहे थे.

उसका ग्रेजुएशन होने के बाद कनाडा में रहने वाली उसकी मौसी आगे की पढ़ाई के लिए उसे अपने साथ कनाडा ले गई.

रीता जाकर अपना काम करने लगी और रमेश रीता की पैंटी को अपनी पॉकेट में रख कर अपने काम में लग गया. कैंडल की पीली रोशनी से कमरा नहा गया … खिड़की पर लगे मोटे परदों ने पहले ही कमरे को दिन में अंधेरा … मतलब रात जैसा कर दिया था. कुसुम का गुड नाइट का मैसेज तो आया पर मैंने उसका भी जवाब नहीं दिया।अब मैं बिस्तर पर ही छटपटाने लगा नींद तो आ नहीं रही थी, तो फिर मैंने अपनी एक अधूरी कहानी को आगे लिखना शुरू किया और लगभग एक घंटे के बाद हैंगआऊट पर नोटिफिकेशन दिखा.

जैसे ही भाभी ने जानबूझकर मेरे लंड को अपने हाथ से टच किया, मैंने भाभी का हाथ अपने लंड पर दबा दिया. ’ बोले जा रही थींमैं आंटी के चूचे पकड़ कर मोटी आंटी की चुत चुदाई करता रहा. जब मैंने खिड़की पर देखा, तो रोहन हमें ही देख रहे थे … पर अब मुझे रोहन के सामने ऐसा करने में कोई शर्म नहीं थी.

वीर्य की आखिरी बूंद तक मैं नेहा की चूत में लंड को पेलता रहा और नेहा मेरे लंड का रस अपनी चूत में सोखती रही.

मेरी चूत के बीच उसने अपना सर रखा और एक बार में पूरे चूत रस को चूस जाना चाहा. तभी रॉबर्ट ने अपने लंड को तुनकी देते हुए मुझसे कहा- मेरे लंड को चूसो और मुझे मजा दो. वो मेरी गांड को किसी नर्म आटे की तरह गूँथने लगा। मेरी गांड से खेलते हुए वह बीच बीच में मेरे निप्पल्स मरोड़ देता, मेरी तो जान ही निकल जाती पर उसी सिसकारी में सेक्स का सारा मजा होता है।मेरी गांड से खेलते हुए उसने मैक्सी को पीछे से ऊपर उठा दिया और मेरी गदरायी हुई नर्म गांड को कसी हुई गुलाबी पैंटी के ऊपर से ही चूमने लगा.

नसीम बार बार उसे मनाते हुए पूछ रहा था कि यार मजा आया कि नहीं … अगली बार और बढ़िया क्रीम लाउंगा. खैर मेरे तो मालिक हो, मैं सोचता भी कि नहीं करूं, पर वह साला मर गया, रुक ही नहीं पाया … चूतिया है साला. पर लौंडा अगर माशूक हो, नमकीन हो, गांड मराने का हुनर भी आता हो, तो सोने में सुहागा जैसा होता है.

ये अब तक जितना भी अपने पति का या बच्चे का सहारा लेकर कहती थी कि उन्होंने ब्लॉक किया है या मुझसे झगड़ते हैं, सब झूठ है.

मतलब हम सभी तालाब के बीच में पानी से घिरी एक पहाड़ी तक तैर कर पहुंच जाते थे. फिर मैंने मामी को चुदाई की पोजीशन में लिटा दिया और उनकी कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे उनकी चुत अब पूरा खुले में सामने थी.

सेक्सी नर्स बीएफ देसी साली की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी साली की चूत को चिकनी करके भोगना चाहता था तो मैंने उसे बाल साफ़ करने की क्रीम लाकर दी. मैंने नीचे देखा- हे भगवान अर्जुन … तुम्हारा लंड अभी भी खड़ा है?उसके लंड को पकड़ के मैंने हिलाया- कितना कड़क है अर्जुन!और वो हंसने लगा- अब जहाँ तुम्हारी जैसी चूत की मल्लिका हो, वहाँ लंड कैसे शांत बैठ सकता है?ह्म्म्म” मैंने बोला- लेकिन मेरे राजा, अभी मुझे एग्जाम के लिए जाना है.

सेक्सी नर्स बीएफ उसके बाद थॉमस ने अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल लिया और बेड पर खड़ा हो गया. भाभी ने पूरे लंड पर आराम से हाथ चलाकर उसकी लंबाई और मोटाई का जायजा लिया और कहने लगी- राज, इतना बड़ा?मैंने कहा- भाभी आप इतनी सुंदर और सेक्सी कैसे हो? शायद यह आपके कोई काम आए?भाभी चुदासी हो कर कहने लगी- बहुत काम आएगा.

आज शाम तक शबाना भी आ रही है, दोनों साथ में रह लेंगी।यह बात मेरे मौसा जी को अच्छी लगी और वो तैयार भी हो गए।और फिर मौसी चले गएकुछ ही देर में मैंने अपने कुछ कपड़े अलग किये और मैं जसप्रीत अंकल के साथ वहां चली गई।मौसी मौसा को तीन चार दिन का समय लगने वाला था.

मद्रासी सेक्सी पिक्चर चाहिए

उन्होंने उसी वक्त मेरी गांड कस कर पकड़ ली और बेरहमी से मुझे चोदने लगे. कमरे में आते ही मैंने उसका हाथ पकड़ कर नहाने के लिए बाथरूम में खींच लिया. बिन्दू से छुपाकर मैंने उसे अपने हैंकी से साफ किया और कई देर तक उसकी बुर के ऊपर हैंकी को दबाए रखा.

मैं चीख रही थी- आह डार्लिंग … मेरी चुत फाड़ दो … आह अहह थॉमस फक मी बेबी … फक मी हार्ड जान. फिर एक जोरदार किस करके बोली- आपने तो आज जन्नत की सैर करा दी … आपने अभी तक अपना लंड भी मेरी चूत में नहीं डाला, फिर भी मुझे इतना मज़ा दे दिया. भाभी की गुदाज़ गोरी टांगें, उनकी गोरी कमर और लगभग नंगे नितम्ब मेरे सामने थे.

” कहकर मैं हंसने लगा।मैं देखना चाहता था कि वह मेरी इस बात पर किस प्रकार की प्रतिक्रया व्यक्त करती है।मुझे लगा वह गौरी की तरह ‘हट!’ बोलकर शर्मा जायेगी पर वह तो मेरी बात सुनकर खिलखिलाकर हंसने लगी थी।थोड़ी देर बाद वह बोली- मुझे भी वह ड्रेस बहुत पसंद है पल.

इस तरह से मेरे ससुर ने मेरी चूत की सील तोड़ी और मुझे सही मायने में शादीशुदा बनाया. मैंने पहले तो शर्म के मारे होंठ नहीं खोले मगर उन्होंने मेरी कमर पर हल्की सी चुटकी काट दी जिससे मेरी सिसकारी निकल गयी और मेरे होंठ खुल गये. एक औरत का मायका तब तक ही होता है, जब जब तक उसके माता पिता जिन्दा होते हैं.

मैंने मौके की नजाकत को समझते हुए एक बार फिर से उसके बदन को चूम लिया और अपने दोनों हाथ उसकी कमर में डालते हुए उसकी नाभि के आस पास सहलाने लगा. वो मेरे पीछे पीछे सीढ़ियों से उतरने लगा। हम टीवी हॉल में पहुंचे और उसे सोफे पर धक्का दे दिया।वो सोफे पर अपने लण्ड को सहलाते हुए बैठ गया।मैंने टीवी ऑन किया और एक गाने पर उसके सामने थिरकने लगी. मम्मी बहुत जोर जोर से ‘आआअह … आआ … ऊऊऊह आआऔऊऊ ईईई करके चीखी क्योंकि शायद मेरी मम्मी बहुत दिनों के बाद चुदाई कर रही थी.

मैंने शरद को बताया और फिर शरद और मैं शाजिया के साथ ईमेल पर बात करने लगे. अब आगे की जबरदस्त चुदाई की कहानी:मुझे समझते देर न लगी कि अब एक्साइटमेंट का एक अलग मजा होने वाला है.

तालाब की ऊंची दीवार से पानी में कूदते, जिसे हम मुटार लगाना कहते थे. मैंने देखा कि मामी सामने ही मिरर के सामने एक स्टूल पर बैठ कर अपने नीचे कुछ कर रही थीं. अब आगे:उसने मुझे देख कर नमस्ते किया और बोला- अरे आंटी, आप यहां कैसे?मैंने बोला कि मैं घूमने आई थी.

मैंने थॉमस की पीठ पर अपने नाखूनों से उसकी पीठ को खरोंच रही थी और अपनी तरफ से थॉमस को जकड़ रही थी.

मैं घूम गई, तो एक पल के उसकी गांड फटी … लेकिन मैंने जब उससे कुछ नहीं कहा, तो उसकी समझ में आ गया कि उसकी बहन चुदने के लिए मरी जा रही है. असल में वो अपने लंड में उठी सुरसुरी को कन्ट्रोल नहीं कर पाता था … शुरू होते ही झड़ जाता. पर अब मेरे पैर कांप रहे थे, मैं सीधे बैडरूम में गयी और बिस्तर पर पड़ गयी.

इस दौरान मैंने गांड के अन्दर उंगली डालना जारी रखी और दो उंगली डालकर थोड़ी गहराई तक क्रीम लगा कर लंड के लिए पर्याप्त जगह बना ली. मैंने घर पहुंच कर सुमीना को सारी दवा बता दी कि कौन सी दवा कितनी और किस टाइम पर देनी है.

अगले दिन रिया रश्मि से मिली और पूछने लगी- अपने डैड से चुदवा कर कैसा लगा?रश्मि- क्या बोल रही है? मैं अपने डैड से क्यों चुदवाऊंगी?रिया- मुझे मालूम है कि कल तुमको मेरे डैड और तुम्हारे डैड ने जी भर कर चोदा है. मैंने उससे बोला- सर यह तो आधी ही डील हुई है और बाकी आधी आपका दूसरा पार्टनर करेगा, जैसा इसमें लिखा है. मैं- तो क्या हुआ?वो- क्या हुआ! तुम जो भी किए … चलो किए … जब तुमने वहां हाथ लगाया तो जैसे मुझमें बिजली सी दौड़ पड़ी थी.

बड़े वाली सेक्सी

तभी एक दिन मन में आया कि क्यों न मेरे पहले बच्चे के पैदा होने के टाइम की वो रसीली बातें वो घटनाक्रम एक कहानी के रूप में लिखा जाय.

अपनी चूत को उसके मुंह पर आगे पीछे और ऊपर नीचे मसलते हुए वो सिसकारने लगी- कमॉन, लिक माई पुसी, यू ब्लडी डॉग। (चल चाट मेरी चूत को, साले हरामी पिल्ले, चाट कुत्ते)श्लोक ने वीना को उठा दिया और फिर एक दूसरे को 69 की मुद्रा में समायोजित किया. हम चारों निकल पड़े और अपने पांचवें साथी के पास पहुँच कर हम पांचों खेतों में घुसकर उन लोगों को तलाश करने लगे. मेरे दोस्त व मेरे से ऊंची कक्षा में पढ़ने वाले लड़के, जब तब कोशिश में रहते थे कि मेरे गालों पर हाथ फेरने का या मेरे चूतड़ सहलाने का अवसर मिल जाए.

com/gandu-gay/pehli-bar-gand-marwane-ka-sukh/पढ़ने और उस पर आपके विचार मुझे मेल करने का बहुत बहुत बहुत शुक्रिया. मैंने कहा- सिर्फ एक बार जाते जाते मिल लेता … और वो भी तो घर में नहीं है. हिंदी आवाज़ में सेक्सी वीडियोफिर पैंटी की लाइन से किस करता हुआ वो मेरी जांघों के अंदर चूमने लगा.

भले किसी बात की कमी न हो, लेकिन पति की जरूरत भला कौन पूरी कर सकता है. श्लोक के लंड को पकड़ कर वीना ने अपनी चूत पर लगाते हुए सेट किया और बैठने लगी.

प्राची भाभी ने अपना मुँह खोल लिया और वो हर बार लंड को मुँह में लेने के लिए बेचैन हो जाती थी. मेरा लंड तो इस तरह से अकड़ रहा था जैसे कि पैंट के अन्दर उसका दम घुट रहा हो. बहुत देर तक मैं बिन्दू के अंगों से खेलता और मसलता रहा तो बीच बीच में बिन्दू अपनी चूत को मेरे लण्ड पर जोर से रगड़ देती थी.

मेरी नजर अब फिर गुरजीत की मां मनजीत पर टिक गई, आखिर मेरा पहला प्यार तो वही थी. ’अब बॉस ने गर्लफ्रेंड के एक दूध को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगा. सलीम ने वहां जाकर मुँह धोया, आंखों पर छींटे मारे … थोड़ा जग से पानी पिया.

फिर उन्होंने कुछ सोचा और किवाड़ खोल कर बाहर से पंचर जोड़ने में बैठने के काम आने वाली एक चौकी उठा लाए.

और मैं इस वार्तालाप के जरिये कुछ नतीजों पर पहुंचा, जैसे वो दोनों बहुत अमीर घरानों से थे, क्योंकि उनके पहनावे ही ऐसे थे कि इस बात को जाना जा सकता था।उन लोगों ने जहाँ बैठकर मुझसे बातें की, वह कमरा भी शानदार था. शाम के समय वहां का नजारा देखने लायक होता है।फिर रात होने के बाद भैया भाभी ने खाना खाया और अपने होटल आ गये.

उधर अम्मी ने मेरी जीभ का टच अपनी चूत पर किया, तो वो और जोर जोर से तड़फने लगीं और अपनी गांड उठाती हुई मादक सिसकारियां भरने लगी थीं. हमारी पीठ पर साबुन लगाने को कह कर पूरी पीठ में साबुन लगाते लगाते चूतड़ों में लंड लगा देते. पूरे पांच मिनट तक मुझे चोदने के बाद आप बोलीं कि हाय ये क्या हो रहा है … आपका लंड तो और भी बढ़ा हो गया है.

लेकिन मैं अभी उसको और तड़पाना चाह रहा था, तो लंड को उसकी चुत में डालने के बजाए बस चुत पर रगड़ रहा था. तभी राजू ने सनम को इशारा किया और सनम ने मुझे किस करना शुरू कर दिया. उसका लंड इस बात से ही अकड़ने लगा था कि माल 20 साल का है और कुंवारी है.

सेक्सी नर्स बीएफ मैंने थॉमस को वापिस बेड पर लेटा दिया और दुबारा खिड़की पर नजर मारी, तो पाया कि रोहन हमें ही देख रहे थे, पर वो कुछ कर नहीं सकते थे … क्योंकि अभी कुछ दिनों के लिए मैं थॉमस की रखैल थी. मैंने एक हाथ से उसके चेहरे को पकड़ रखा था … क्योंकि वो लगातार अपना मुँह इधर उधर कर रही थी.

बिल्लू सेक्सी हिंदी

उसके बाद थॉमस बेड पर लेट गया और उसने मुझसे फिर से लंड चूसने को कहा. पर मैं दिखाना चाहता था कि उसकी हर छोटी-बड़ी बातों से मुझे फर्क पड़ता है. उसने मेरा एक और चुम्बन लिया और बोला- भैया तुम बहुत अच्छे हो … बाद में मेरी मार लेना.

मगर उसका नम्बर नहीं लग रहा था!मैं जिस काम से आया था, वहाँ जाकर अपना कार्य करने लगा. लेकिन दूसरे मर्द शरीर के हर पार्ट की अच्छे से इस्तेमाल करता है … जो चरम सुख का आनन्द देता है. अगले हफ़्ते चंडीगढ़ मौसम कैसा रहेगावो उसकी चूचियों के निप्पलों को खींचते हुए बोला- क्या बड़ा है मेरा?रश्मि- आपका ये हथियार काफी बड़ा है.

मैं सब समझती हूं आपकी चालबाजी!” साली जी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बूब दबाने से रोकने लगी.

उन्होंने पूरे लिस्ट पर क्रॉस लगा दिया और बोले- कल किसी से कोई मुलाकात नहीं होगी. शेफाली- अंकुश ये रोमा है, मैंने तुम्हें बताया था न कि ये मेरे साथ स्विमिंग के लिए जाती है.

बाहर टीनशेड में साईकिल के पंचर जोड़े जाने का सामान बिखरा पड़ा था … व दुकान में अन्दर नई साईकिलें रखी दिख रही थीं. उसका गोल गोल चेहरा और गोरा रंग, छोटी छोटी पहाड़ियों जैसी आँखें थीं. मेरी गर्लफ्रेंड को उधर काम करते हुए समय बीतता गया और मेरी गर्लफ्रेंड के उसके बॉस की हरकतें साथ शुरू हो गईं.

एक रात मैंने विन्नी से कहा- कल मैं श्रीनगर गढ़वाल यूनिवर्सिटी आ रहा हूँ, मुझे कुछ काम है.

जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूरी ताकत झोंक कर उसकी चूत को खोदना शुरू कर दिया. तब भी उसने कुछ नहीं बताया तो मैंने उसे अपनी कसम देते हुए बात बताने को कहा।इस बार उसे झुकना पड़ा और उसने सारी बात बता दी. पकड़ से छूटने के लिए मैं आगे की ओर खिसकी ही थी कि मुझे किसी ने आगे से रोक लिया.

सेक्सी फिल्म चाहिए देखने के लिएवो अपनी गांड उठा उठा कर मेरी चूत में नीचे से लंड के धक्के देने लगा. यह देखते ही एसएचओ को गुस्सा आ गया और उसने उठकर रोहित को तीन चार थप्पड़ जड़े और उसको गले से पकड़कर पूछा- कहां के रहने वाले हो?रोहित ने अपने शहर का नाम बताया.

घोडा सेक्सी घोडा सेक्सी घोडा सेक्सी

कुछ ही देर बाद मैं अम्मी के मुँह में ही झड़ गया और एकदम शिथिल हो गया. जैसे ही वह संभला तो उसने मुझे धक्का दिया और मुझे मारने के लिए अपना हाथ चलाया. अब मैंने अपने दूसरे हाथ से बिन्दू का हाथ पकड़ा और लोअर में तने अपने लौड़े पर रख दिया.

और दूसरी बात ये कि तुमने लिए भी, तो दो क्यों लिए?खुशी ने कहा- अब ले लिए हैं, तो रख लो ना. कुछ ही पलों सर ने मेरी शर्ट को उतार कर साइड में रख दिया और मुझे हल्का सा नीचे को झुका कर मेरी पीठ पर चाटने चूमने लगे. नेहा मेरे लंबे और मोटे लण्ड को पकड़ कर मेरी आंखों की तरफ देखने लगी और धीरे से बोली- इतना बड़ा हथियार? हाय मैं मर जाऊं.

वो- चुप रहो … तुमने तो आज …मैं- क्या क्या … आज क्या?वो- कुछ नहीं … और बताओ?मैं- तुम बताओ?वो- तुम्हें पता है … तुम्हारे जाने के बाद जब मैं घर में जा रही थी, तो मेरे हाथ पैर कांप रहे थे. तभी मैंने देखा कि आंटी ने कुछ देर बाद अपनी नाइटी ऊपर उठा ली थी और वे मोबाइल में कुछ देख रही थीं. उन्होंने तुरंत वहां के एसएचओ को फोन किया और साथ ही बोल दिया कि रोहित और उन पुलिस वालों की अच्छी खबर ले.

मैं भी अपने पति के साथ मेरी सुहागरात को लेकर कुछ ऐसे ही सपने देख रही थी. मैंने धीरे धीरे अपने घुटने को उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर रगड़ना चालू कर दिया.

मेरा एक हाथ उसकी चूचियों को मसल रहा था और एक हाथ उसकी गांड पर घूम रहा था.

फिर मैंने झटके से लंड आंटी की चुत से निकाला और आंटी के मुँह में लगा दिया. पंजाबी सेक्सी इंग्लिशअब तो कभी कभी मैं उसे अपने घर भी ले आती मम्मी से मिलाती और अपने कमरे में ले जाकर उससे काफी देर तक बातें करती रहती. लड़कियों से बात कराओमैंने इस कामुक ड्रेस को पहनने के बाद अपने लम्बे बालों का जूड़ा बनाया और स्कूल के लिए निकल गई. दोस्तो, मैं टेलीविजन चैनल्स की टीआरपी को मॉनिटर करने वाली एक कंपनी में काम करता हूं.

ये लड़कियां भावनात्मक स्तर पर बहुत संवेदनशील होती है; खासतौर पर जब कोई कुंवारी लड़की किसी से शारीरिक सम्बन्ध बना लेती है तो वो उसे अपना मान लेती है और उसपर अपना एकाधिकार समझने लगती है.

फिर थॉमस ने एक झटका और मारा और उसका पूरा लंड मेरी चूत में जड़ तक उतर गया. किसी दूसरे के लंड से अच्छा है कि बॉस का लंड ले लूं … इन्होने मुझे आसरा दिया है और इनका हक भी बनता है. शाम के समय पुणे में ट्रैफिक बहुत ज्यादा रहता है ना!दीदी बोली- ठीक है मां लेकिन मैं अभी चाय बनाती हूँ … आप पीकर जाना.

तब वो बोली- भाईजान … कैसे हैं मेरे बूब्स … अम्मी से अच्छे हैं या नहीं?मैंने कहा- अभी पूरे देखने तो दो, तभी पता चलेगा. वाह क्या मदमस्त जिस्म था मेरी जवान सौतेली मां का … मैं नशीली निगाहों से उनका मस्त जिस्म देखने लगा. आह! क्या खूबसूरत दृश्य था।उसका लण्ड देखकर पृथ्वी की किसी भी स्त्री का मन डोल जाता। मेरा परम सौभाग्य था जो यह लण्ड मेरे सामने बिना कपड़ों के झूल रहा था।मैंने उसके नग्न लण्ड को पकड़ा और आगे आगे गांड मटकाते हुए उसे लगभग खींचती हुई ले जाने लगी.

सेक्सी चोदने वाला हिंदी में

अब मेरी चूत में नीचे से बड़े साहब का लंड जा रहा था और पीछे से मेरी गांड में प्रिंसीपल का लंड चोद रहा था. उसने लिखा था कि आज मेरा तुम्हारे साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाने का मन है. इस चुद चुदाई देसी ग्रुप स्टोरी के पिछले भागगांड मरवाने की तलब- 1में आपने पढ़ा कि मेरी गांड में खुजली हो रही थी, लंड लेने की इच्छा हो रही थी तो लेडी डॉक्टर ने मुझे उसके दूध वाले के पास भेज दिया.

जवाब में मैं भी ऊपर नीचे होकर उसकी चूत में धक्के देने लगा ।मेरे हाथ उसके स्तनों तक पहुंच रहे थे जो कि उसके स्तनों को जोर से मसल रहे थे.

मैंने भी सोचा कि अगर मैं जाता हूँ और उसको पता भी नहीं चलेगा तो भी कह देगी कि मेरे पति को पता चल गया है, मुझसे झगड़ रहा था.

भाभी ने उस दर्द को पी लिया और होंठों को अन्दर करके दांत में दबा लिया. तीन लौड़े मम्मी के अंदर बाहर हो रहे थे।मैं और शैली एक दूसरे की चूचियाँ मसलते हुए अपनी मम्मी की चुदाई देख रहे थे।शैली बहुत गर्म हो गयी थी। उसने मेरा सिर पकड़ के मेरा मुंह अपनी चूत पे लगा दिया, मैं चूसने लगी।और फिर. सेक्स फोटो मारवाड़ीवैसे भी मैं डर के कारण ये काम अकेले नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने शरद को भी उसके मजे देने का वादा किया था.

फिर अंकल ने मम्मी की गांड को फैलाया और गांड के छेद को चाटना शुरु कर दिया. चूत पर रगड़, ऊपर से स्तनों का मर्दन, गले पर चुम्बन … हर तरफ से नीरा के जिस्म पर हमला हो रहा था. लंड बाहर आते ही बरस पड़ा और लंड के फुहारे उसके पेट पर, चुत पर और उसकी जांघों पर गिरने लगे.

लेकिन खुशी के साथ सच्चे प्यार और रोमांस वाली फिलिंग आती थी जिसे मैं कभी खोना नहीं चाहता था. पर बाजार हमारे घर से थोड़ा दूर था और मेरा निकलना भी उचित नहीं था।हमारे घर से एक गली छोड़ कर ही मेडिकल स्टोर था, वो मेरी जान पहचान वाले का ही था.

”आर यू श्योर?”हम्म” उसने हाँ में अपने मुंडी हिलाई।तो मुझे भी एक बार वह पैंटी वाला सीन दिखाना होगा.

जैसे ही मैं गेट बंद करके पलटी राजू ने मुझे उसकी बांहों में पकड़ लिया और मुझे किस करने लगा और टीशर्ट के ऊपर से मेरे बूब्स दबाने लगा. मेरे ये बोलते ही मामी ने मेरा लंड पूरा का पूरा अपने मुँह में ले लिया. कोई एक घंटे के बाद हम दोनों उनको बोलकर वहां से अपने टेंट आने के लिए निकल आए.

पीके मुंबई सट्टा अब मुझे लड़कों को देखना अच्छा लगने लगा और मुझे सेक्स की भी इच्छा होने लगी. दो दो लंड की मस्ती में आकर रश्मि ने खुद ही अपनी एक टांग ऊपर उठा ली.

मम्मी ने मामा को काफी समझाया भी था कि जब घर है ही, तो फिर रेंट पर फ्लैट लेने की क्या ज़रूरत है. बुर को खोल कर देखा तो अंदर के गुलाबी छेद के बाहर दो गुलाब की छोटी पंखुड़ियों जैसी पत्तियां खड़ी थी. मैंने गेट लॉक किया और विन्नी को पीछे से पकड़ कर उसके गालों पर किस करते हुए पूछा- तुम ऐसे क्यों डर गयी? तुम्हें क्या लगा कि मैं किसी और को भी लाया हूँ साथ में?विन्नी मुस्कुराते हुए बोली- नहीं राज, मुझे तुम पर पूरा यकीन है.

जंगल में मंगल देसी सेक्सी

ये स्पोर्ट्स ब्रा बाकी स्पोर्ट्स ब्रा की तरह नहीं थी, ये कुछ ज्यादा ही स्ट्रेचेबल था जिससे मेरी चूचियाँ चलने पे हिल रही थी. वो बिदक भी सकती थी, ये समझते हुए मैंने मोर्चा संभाला और उसको उठा कर पलंग के नीचे खड़ा कर दिया. उसके सर को पकड़ा और होंठ उसके होंठ पर पर रख कर अपना हाथ उसकी चुत पर ले गया.

फिर प्रकाश भाई ने मेरे चूतड़ पर हाथ फेरा और बोले- अगला नम्बर इसका; तीन दिन बहुत हैं. मेरे चूतड़ों को मसलते हुए अमित बोलने लगा- आह … क्या संगमरमरी हुस्न है.

”हम्म … मेरी चूत की रानी, चलो आज तुम्हारी ऐसी चुदाई करूँगा कि तुम मेरे लंड को हर बार चुदते वक्त याद करोगी.

मम्मी ने कहा- थोड़ी देर में मैं अतुल को कुछ सामान देकर भेज रही हूँ … तुम घर पर ही हो ना!मामी ने कहा- हां दीदी जी … मैं घर पर ही हूँ … मैं कहां जाऊँगी. मैंने रास्ते में ही सब स्नाक्स एंड लाइट डिनर कर लिया था ताकि चुदाई के वक्त मुझे भूख की तलब न लगे. इसमें मेरे 32 इंच के चूचों को दूर से ही कोई देख कर मस्त हो सकता था.

मीता धीरे से बोली- पर अंकल ये अन्दर कैसे जाएगा … इतना मोटा है, मुझसे तो उंगली में ही बहुत दर्द होता है. ” उसने मेरी आँखों में झांकते हुए कहा।हे भगवान्! उसकी नशीली आँखों में तो लाल डोरे से तैर रहे थे लगता था जैसे 2-3 रातों से नींद ही ना आई हो। सच कहूं तो इस समय मेरे कानों में भी सीटियाँ सी बजने लगी थी और मेरा तो दिमाग ही काम नहीं कर रहा था।ओह … थैंक यू … डिअर, मैंने सोचा तुम्हें परेशानी होगी. डेजी काफी तेजी से तड़फ रही थी, लेकिन कुछ देर बाद डेज़ी को भी मजा आने लगा था.

जेठ जी मस्ती में आकर मेरी हवा में उठी हुई मेरी टांगों के तलुवे चाटने लगे.

सेक्सी नर्स बीएफ: उन्होंने मेरी चूचियों को ब्रा के ऊपर से ही चूमा और फिर मेरी ब्रा के हुक खोल दिये. अब मैंने बिन्दू को दोबारा बांहों में लिया, उसकी चुचियों को मसला और उसके होंठों पर किस करने लगा.

मैं- घबराओ नहीं, अपनी चूत की इसके साथ दोस्ती करा दो … फिर देखना कैसे प्यार से तुम्हारी चूत इसको अन्दर आने देती है … डरने की कोई बात नहीं है. रात को 9 बजे मैंने इसके व्हाट्सएप में मैसेज किया- क्या कर रही हो? वीडियो कॉल करो. फिर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरी चूचियों को दबाने लगी.

भाभी मादकता से बोल रही थीं- आह धीरे धीरे करो … मुझे भी मज़ा लेने दो.

तब वो बोली- भाईजान … कैसे हैं मेरे बूब्स … अम्मी से अच्छे हैं या नहीं?मैंने कहा- अभी पूरे देखने तो दो, तभी पता चलेगा. मैं- फिर भी उसने पूछा तो होगा कि कौन है … कैसे क्या?वो- उसको सब पता है. तो सनम ने पहले तो मना कर दिया, बोली- अगर इसने किसी से बोल दिया तो सारे में बदनामी हो जाएगी.