छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,एक्सेल वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बीएफ साउथ: छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ, मेरे हाथों की पकड़ बहुत तेज थी और उसकी चूचियां एकदम से लाल हो गयी थीं.

विद्या बालन की सेक्सी फिल्में

जब भी सुपारा थोड़ा छेद को पकड़ता तो बिन्नी अंदर लेने के लिए मेरी तरफ जोर लगा देती थी. हिंदी की सेक्सी फिल्म दिखाओमुझे लगता था कि उसको अगर मुझ पर यकीन होगा तो वो खुद ही अपनी फोटो दिखा देगी.

उधर कामातुर हो चुकी मेरी मां मुझे जांघों के बीच में दबाने लगीं और बोलीं- ओह … मेरे बेटा कहां से सीख कर आया तू यह चुत चाटना … इस्शस … ऐसे ही और चूस … ओ मेरे राजा … तेरा बाप तो कभी चख नहीं पाया ये यौवन रस … अब तेरा नसीब खुल गया है … चाट ले. एक्स एक्स गुजराती सेक्सी पिक्चर‘फिर क्या हुआ दीदू?’नेहा- फिर राजू चाचा ने संध्या चाची को पकड़ कर सीधे लिटाकर 69 की पोजीशन बना ली.

सर, यह मेरी बुर में कैसे जा पायेगा, यह तो बहुत मोटा और लम्बा है, मेरी बुर तो बहुत छोटी है.छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ: कई बार मैंने उसको इशारों ही इशारों में अपने मन की बात जताने की बहुत कोशिश की लेकिन वो इन सब चीजों पर जैसे ध्यान ही नहीं देता था.

दोस्तो, इस घटना के बाद रोहित मुझे रेगुलर चोदने लगा।रोहित के साथ मैंने और किस-किस तरह से मजे लिए यह मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी।कृपया आपके कमेंट[emailprotected]पर लिखें।इंडियन लंड सेक्स कहानी का अगला भाग:पड़ोस के जवान लड़के से चुद गई मैं- 3.भाभी अपने मम्मों को मेरी तरफ तानते हुए मुझसे कहने लगीं- तो आओ न और ध्यान से देखो मेरे बूब्स … और इन्हें चूस लो न!उनके ऐसा बोलने पर मैं उनके और करीब सरक गया और उनका हाथ पकड़ कर उन्हें अपनी ओर खींच लिया.

सेक्सी आगे - छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ

चूंकि अब मुझे भी चढ़ चुकी थी और मालूम था कि अब से कुछ देर में ये सब मुझे नंगी करके मेरी गांड और चूत मार रहे होंगे.उधर वो तीनों मेरी मां को ऐसे चोद रहे थे, जैसे कोई कुतिया चुद रही हो.

जिस पर उसने बोला- अरे दारू पीने का मज़ा अकेले थोड़ी न आता है … और हम लोगों को भी आपका साथ मिल जाएगा मेरे साथ चार दोस्त और भी हैं. छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ उसने बताया कि दो साल पहले मेरे पति की एक्सीडेंट में मृत्यु हो गयी थी.

मैं फिर से चौंकते हुए बोली- तो इससे तेरा क्या फायदा होगा!वो बोला- मेरी जान, उसकी बहन को मैं चोदूंगा और वो मेरी बहन को.

छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ?

फिर मैं बोला- मुझ पर भी नहीं करोगी?वो बोली- यार … तू कैसी बातें कर रहा है, हम दोनों दोस्त हैं, कपल नहीं. वैसे तो मैं केबिन में अन्दर बैठकर बात कर रहा था मगर गर्मी का मौसम था इसलिए गर्मी‌ के कारण मैंने केबिन का दरवाजा खुला रखा हुआ था. डॉक्टर- अगर घर में इलाज करने के लिए होता … तो मैं आपको घर का इलाज बता देता.

मैं धीरे से उसके पास गया औऱ उसके मुँह पर हाथ रख कर उसे जगाया ताकि वो अचानक से किसी अजनबी को देख कर चिल्ला न दे. उसके नैन नक्श तीखे थे और उसकी गांड तो यार तौबा तौबा … क्या गोल मटोल शेप वाली उठी हुई गांड थी. अब जब भी वो हाथ नीचे करता तो मेरी जांघ पर ही रख देता और सहलाने लगा.

हमने हर तरह का सेक्स किया- रफ सेक्स, स्मूथ सेक्स, बाथरूम में भी सेक्स किया. दोस्तो, आपको मेरी दुबई सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं? तो प्लीज़ मुझे मेल करके बताईएगा. मैं- अब तुम तो ये मानोगी नहीं कि तुम्हें भी मुझसे प्यार है … और न ही ये कि तुम खुद मुझसे बात करने वाली थी, तो मैंने ही सोचा कि चलो मैं ही तुमसे मिलकर बात कर लेता हूँ.

उसने उसके चूचे छोड़ दिए और अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत में सीधी दो उंगलियां पेल दीं. कुछ पल बाद मां ने मुझसे धीमी आवाज में पूछा- तुझे कल रात के बारे में याद है कि तुमने क्या किया था?मैंने कोई जवाब नहीं दिया.

पर पिंकी बोली कि अगर चिंटू बीच में जग गया तो!पिंकी ने नीचे ही एक चादर बिछाई और मुस्कुराते हुए अनिल की ओर देखा.

अंकल उसकी गांड में दो उंगलियों से चोद रहे थे और वो पूरे जोश में उनके लंड पर सिर ऊपर नीचे करते हुए उनके लंड को चूस रही थी.

अगर कमी रह गयी न … तो मुझे तेरा दोस्त जो एक नंबर का कमीना है, बाद में मेरी हालत खराब कर देगा. मैं बोली- आहह … स्सी … बस चाचा जी अब तो चोद ही दो मुझे, प्लीज!चाचा जी बोले- ठीक है सुहानी बेटा, चलो बेडरूम में चलते हैं. फलानी-फलानी वेबसाइट पर मुझे आपकी प्रोफाइल बहुत अच्छी लगी थी, जहां तुमने अपना मेल पता लिख रखा था.

बात ही बात में नानी ने मम्मी को बोला कि मुझे उनके वहां घूमने कुछ दिन के लिए भेज दें. जैसे ही मैं खिड़की के पास गया तो देखा कि मेरी मां पड़ोस के लड़के वरुण के साथ चुदाई करवा रही हैं. फिर अपने हाथ को आगे नौशीन के पेट पर लाकर उसे हल्का सा पीछे खींचकर उसके शरीर को मेरे शरीर से बिल्कुल चिपका लिया।मैट्रो में भीड़ होने के कारण लोगों का ध्यान हम पर नहीं था.

उन्होंने मेरी मां का नंबर ले लिया और मेरी मां को मेट्रो तक छोड़ दिया.

मामा लोग अमीर थे और उनका घर भी दो मंजिला बना था जिसमें ग्यारह कमरे बने थे. फिर फोन नम्बर एक्सचेंज हुए … तो हंसी ठिठोली से बातें शुरू होकर मुहब्बत की शायरियों तक मामला आ गया था. मेरी उत्सुकता को देखकर वो भी मेरा साथ देने लगी और मैंने उनके पेटीकोट के नाड़े को खोल दिया.

मैं- तो इसमें क्या है, ये तो हर महीने की बात है, पैड लगा लो … और चलो. थोड़ी देर में उनके दोनों हाथ मेरे सिर पर आ गए थे और वो उसे अपनी चुत पर दबाए जा रही थीं. अब अजय के धक्के राजधानी एक्सप्रेस क्या बल्कि बुलेट ट्रेन की स्पीड से लग रहे थे.

मेरे जीवन में पैसों और लड़कियों की कभी कमी नहीं रही।मैंने कई ऐसी लड़कियों की चूत फाड़ी है जिनको आज के लड़के देख कर ही आहें भरते हैं.

देसी कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी में इसके आगे मैं बताऊंगी कि कैसे मेरी चूचियों ने मस्त आकर लिया और इसके लिए मुझे डॉक्टर के लंड से चुदना क्यों पड़ा. तब मैं बोला- जब ऐसा कुछ नहीं हुआ, तो एक तरफा याद करने से क्या फायदा.

छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ मुझे बहुत मजा आ रहा था और अब मैं गांड उठा उठाकर चूत में लंड ले रही थी. मैंने भी समय ना गंवाते हुए अपनी नाइटी उतार दी और बोल दिया- जिसको जो करना हो … वो कर लो.

छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ मैं आज से सिर्फ तेरी हूं, ऐसे चोद दे मुझे कि मुझे किसी की जरूरत ही ना पड़े. मैंने बाहर आकर एक कार टैक्सी से बात की उसने मुझे कालका स्टेशन छोड़ दिया.

उसके कहने पर मैंने उसे अपनी गांड की फोटो भी दे दी और उसने मुझे अपने लंड की।उसके बाद वो मुझे मिलने के लिए बोलने लगा।मुझे थोड़ा डर लग रहा था इसलिए मैंने एकदम से मिलने के लिए मना कर दिया.

सेक्सी मराठी अनुभव

उसके आने के बाद मैंने भी बाथरूम में जाकर कपड़े उतारे और लंड धोकर एक बाथरोब पहन लिया. चाचा जी बोले- उम्महह … उम्म … बेटा सुहानी मैंने आज तक किसी की गांड नहीं मारी है … हम्म … प्लीज … एक बार पीछे से लंड डलवा लो. अब मैंने उसे नीचे पटका और उसका बनियान निकाल कर उसकी गर्दन और छाती को चूमने लगी.

वो तीनों मेरी मां की चुत में जोर जोर से बिना रुके एक के बाद एक लंड घुसा रहे थे. पूजा बुआ की आदत मुझसे मालिश करवाने की थी, तो उन्होंने कहा- पप्पू, आज मेरा मालिश नहीं करोगे?मैंने कहा- हां बुआ जरूर करूंगा. खैर, सबके ऊपर जाने के बाद पिंकी ने चिंटू को जबरदस्ती सुला दिया और अनिल को फोन करके पहले तो आने को मना किया.

उसकी व्यथा सुनकर मैंने नीरू से कहा- कोई बात नहीं जानम, ये सब आम बात है.

संध्या चाची- हां जानती हूँ, फिर मुझे अपनी अपनी सहेली की मां को तुमसे चुदवाना पड़ा था क्योंकि चाची और सहेली की मां दोनों मोटी हैं और वैसी ही यहां संगीता भाभी भी भरे बदन वाली हैं. कहते हुए मैं उसके चेहरे के एकदम पास आ गयी और उसकी आंखों में आंखें डालकर देखने लगी. आप अपने सुझाव मुझे नीचे दिए गए ईमेल पर लिख सकते हैं। यदि किसी भी प्रकार की गलती हुई हो तो मुझे माफ करें.

उसकी इस बेताबी से मुझे यूं लगा कि जैसे वो मुझे अभी कच्चा चबा जाएगा. मैं नहीं जान पाया था कि आखिर में वो एक औरत ही है … और उसको भी अपनी आग बुझाने के लिए कुछ न कुछ चाहिए. बात तो तेरी सही है … तो चल तेरी चूत को खाता नहीं हूं, बस थोड़ा प्यार कर लेता हूँ.

शायरा मुझसे इतना प्यार करती थी कि वो अपने दर्द को मुझ पर जाहिर नहीं होने देना चाहती थी. मैं उसके पैर फैला कर बीच में बैठ गया और अपने छह इंच के सीधे खड़े लंड को उसकी चूत के मुँह पर रगड़ने लगा.

उनके चेहरे के हावभाव से साफ़ लग रहा था कि वो मुझे जी भरके मारना चाहती हैं. इतने में मैं गर्म दूध में हल्दी डालकर तैयार कर लाया और साथ में पेन किलर दवाई भी प्लेट में रख दी. हैलो फ्रेंड्स, गैर मर्द से रोमांस स्टोरी के पहले भागगैर मर्द की बाँहेंमें मैं सन्नी वर्मा आपको सुना रहा था कि रवि और पिंकी आपस में अनिल को बुलाने की बात कर रहे थे.

एक काम‌ करो तुम भी मुझे थप्पड़ मार लो, तब तो हिसाब बराबर!ये सब बात करते करते हम‌ घर पहुंच गए थे.

वो गांड में उंगली के साथ साथ अपनी दूसरे हाथ से उसकी चूत चोदने लगी … ताकि चूत की गर्मी से गांड का दर्द पता ना चले. वहां मैंने उसकी चुदाई किस तरह से की और उसकी चुदने की लालसा ने मुझसे क्या क्या करवाया, ये सब मैं सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. मैंने कहा- आंटी … आज ये आपकी सेवा में है, जैसे चाहो इससे सेवा करवाओ।आंटी की चूत पर बाल ही बाल थे.

बातों ही बातों में हम दोनों एक दूसरे से प्यार मुहब्बत की बातें करने लगे. एक दिन मैं उसके घर गया तो उसकी सास और वो घर में थी।हम बात करते रहे.

मुझे इस तरह देखते रहने से डॉक्टर बोला- क्या हुआ मिस नंदिनी?मैंने उत्तर दिया- कुछ नहीं. उसने मेरे हाथ से सिगरेट ले कर दो कश खींचे और मुझे सिगरेट वापस थमा दी. हमारी हालत का अंदाजा आप लगा सकते हैं … तो हम सबने उनसे कहा- मालिक, हम भीख मांगते हैं, हमें अपनी रखैल बना लो और रंडियों की तरह हमारी चुदाई कर दो.

देशी सेक्स video

उसी मूड में कविता भाभी ने आगे बोल दिया- क्या आपको सिर्फ़ ये घर ही खूबसूरत लगा है?मैंने खुद को संभालते हुए सामने रखी भाभी की कपल फोटो को देखते हुए कह दिया- नहीं, आपकी जोड़ी भी मस्त है.

मेरी मारने के बाद जब उनकी कभी खुजलाती, तो इशारा करते, तो मैं डाल देता. उसके ऐसा करते ही मेरी आंखें मदहोशी से बंद हो गईं और मैं उस क्षण को शब्दों में बयान नहीं कर सकती. अब मेरे पैरों पर खड़े हो जाओ और मेरी गांड को अच्छे से पकड़ लो ताकि तुम खड़े रह सको।वो स्टाफ बॉय मुझसे हल्का सा लंबा था.

तो मैंने क्या सोचा?दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूं. दो दो पैग होने के बाद मैं तो ठीक थी, लेकिन उसको चढ़ चुकी थी क्योंकि वो पहले से भी लगाए हुए था. देसी लेडीस सेक्सीइस चुदाई के दौरान वो मुझसे बहुत ज्यादा नहीं बोली थी, सिर्फचुदाई का आनन्दलेती रही थी.

अपने दोनों हाथों से उसने मनीषा के मम्मे मसले और धक्कों से उसकी चूत का भोसड़ा बनाया. मैंने कहा- हाँ हाँ … अभी हंस लो … मगर नीचे वाले मोटे औजार ने आपको रुला न दिया तो मेरा भी नाम सैम नहीं.

इस बार हमारे किस से प्यार की बरसात हो रही थी और शायरा मेरे प्यार की बरसात में भीग रही थी. उसके बदन में एक लहर सी दौड़ी और वो सिसकार उठी- आह्ह … भैया!धीरे से फिर मैंने उसकी पैंटी को भी नीचे खींचना शुरू कर दिया और उसकी चूत को नंगी कर दिया. वो चूसने लगी और साफ कर दिया।फिर हम दोनों एक साथ नहाये और कपड़े पहन लिए.

उसने एक हाथ मेरी साड़ी के पल्लू के नीचे से कमर पर हाथ रख कर कुछ फोटो निकालीं. और बार बार जब सुमन उसकी गाँड की छेद को चाटती और जीभ से कुरेदती थी, तब अपनी गाँड को पूरा हवा में उठा कर वो चिहुंक सा जाता था।मैं ये सब देखकर बिल्कुल हैरान था कि आख़िर अब तक मेरी बीबी ने लंड और गाँड चाटने की अपनी कुशलता मुझे क्यूँ नहीं दिखाई भला?इस पल में आकर अब पहली बार मुझे पंकज से ईर्ष्या सी हुई।पंकज के लंड और गाँड को चाटती हुई सुमन अपने दोनों घुटनों और कुहनियों के बल पर स्थित थी. वहीं पर फोटोग्राफर और क्रिएटिव डायरेक्टर भी उसका इंतजार करते करते परेशान हो चुके थे कि कब वो आए और शूटिंग शुरू हो.

उनके बीच किस करना, बोबे दबाना, चूतड़ दबाना खुले आम चल रहा था और हम चार बकचोद लोग बस लंड में हाथ रखकर इनकी ये अय्याशी देख रहे थे.

भाभी की घर में सेक्स की कहानी को मैं आगे लिखता रहूंगा, फिलहाल आप मुझे अपने सुझाव मेरी ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं. सोचा नहीं था तुम्हारी गांड से मुझे इस तरह से भी मजा लेने का मौका मिलेगा.

मेरे कहते ही उसने अपने होंठों और दांतों के भिंचाव को मेरे निप्पल्स पर चलाना शुरू कर दिया. इसलिए उसने अंगड़ाई लेते हुए मेरी तरफ देखा और बोली- आज कुछ ज्यादा ही गर्मी लग रही है … एसी चालू कर दो. मैं- माफ कर दूं? किसलिए? मेरी पैंटी चुराने के लिए या मुझे नंगी हालत में देखने के लिए??कहते हुए मैं उसकी तरफ मस्तानी चाल से चलकर गयी.

दोस्तो, मैं अरमान अपनी गैंग बैंग चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर आ गया हूं. पहले भागक्रॉसड्रेसर दोस्तों के साथ डर्टी गे सेक्स- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि जैक ने निशि का ब्लाउज फाड़ दिया था और वो उसकी ब्रा भी खींच कर फाड़ने वाला था. वो नीचे मेरी पीठ तक लटका था, तो उसने मेरी कमर और पीठ को सहलाते हुए उन दोनों बंधनों को ऊपर किया और बड़े ही प्यार से बांध दिया.

छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ अब उसका दर्द कम हुआ और चूत में लन्ड ने जगह बना ली।फिर मैंने एक धक्का और मारा और उसकी फिर से चीख निकल गयी. कुछ देर तक उसकी गांड चोदी और फिर मैंने रश्मि की गांड पर भी थूक लगाया.

चाइना सेक्सी बीएफ

मैंने उन्हें आवाज लगाई कि भाभी, भाभी कहां हो आप?संगीता भाभी यानि मॉम बोलीं- क्या हुआ संध्या, मैं नहा रही हूं, कुछ काम है क्या?संध्या चाची- हां भाभी … पर आप नहा लो … मैं बाद में आती हूं. जैसे ही वो थोड़ा सहज हुई … मैंने पूरा का पूरा मूसल उसके छेद में डाल दिया और उसकी कुंवारी चुत की सील भंग कर दी. फिर वो अपने पति का बुराई करने लगी- वो मुझे जरा भी इज्जत नहीं देते हैं.

फिर क्या हुआ?हैलो मेरे प्यारे लंडधारियो और चूत की रानियो!!मेरा नाम भावेश है. अब दोस्त के‌ लिए इतना भी नहीं करोगी!वो- बाकी सब ठीक है … पर ये नहीं. ब्लैक कुक सेक्सी वीडियोएक बार फिर से मासी के मुँह से चुदाई की मधुर लहरियां गूंजने लगीं- अह अह अभय … मेरे राजा … मस्त लंड है तेरा मजा आ गया.

उनके जाने के बाद अभिषेक क्लास के अन्दर गया और उसने अपनी शर्ट उतार कर टांग दी.

बैठे बिठाये मिली बीवी को खोना है क्या मुझे?शायरा को मेरी बात एक‌ बार तो समझ‌ में नहीं आई. अब तक हमारे मुँह का पिज्जा खत्म हो चुका था … सो हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे थे.

एक तो ड्राइवर के जैसे मैडम को ऑफिस तक लेकर आना जाना करो, फिर ऊपर से नखरे भी सहो!मेरी बात सुनकर शायरा हंसने लगी- ड्राइवर हो ना … तो फिर ड्राइवर के जैसे ही रहो. काफ़ील और आफ़िया से लगातार चैट होने के बाद मुझे पता चला कि दोनों अपनी शादीशुदा लाइफ से खुश हैं और हफ्ते में 3-4 बार सेक्स करते हैं. सन्नी उसको किस करने में लगा था और मैं उसके चूचों को चूसता हुआ नीचे की ओर बढ़ने लगा.

सनी की मां बोलीं- तो मुझे कौन चोदेगा?मैं सनी की मां को चोदने में लग गया.

अनिल ने तय दिन पर एक बैग में कुछ कपड़े वगैरह ड्राइक्लीनिंग के लिए कह कर रख लिए और उधर पिंकी ने एक झीना सा नाईट सूट और साथ में कुछ साड़ियां ड्राईक्लीनिंग के नाम पर रख लीं. देसी इंडियन मॉडल रोजी की हॉट फोटो देखने और उससे गर्म सेक्सी बातें करने के लिएयहां क्लिक करें. अपने गोल चश्मे को बाएं हाथ से सैट करते हुए मानो कह रहा हो कि जनाब अन्दर तक तो चल लो.

भट्ट की सेक्सीऐसे ही अस्मिता हर बार मेरे सामने एक कॉलेज गर्ल की तरह रहती … और घर पर एक इंडियन हाउस वाइफ की तरह बनी रहती. वैसे तो शायरा किसी को अपने घर नहीं बुलाती थी … लेकिन मेरे लिए अब कोई रोक-टोक नहीं थी.

सेक्स बीपी वीडियो दिखाइए

वो बोलीं- ठीक है … बात करते हैं, साथ में मैं आपकी मालिश भी कर देती हूँ. मेरे कमरे में उन्हें कूलर में लेटने की परमीशन चाहिए थी … तो भूमिका बनाने बैठ गए. अभी तो सिर्फ़ आधा ही लंड अन्दर गया था, पूरा लंड अन्दर जाना अभी बाकी था.

मैंने बुआ को सताने के लिए और हमारी अश्लीलता को और रोमांचकारी बनाने के लिए एक हरकत कर दी. फिर खाने के बाद सबने पैग बनाये और म्यूजिक लगा कर बार में एन्जॉय करने लगीं. चाचा जी बोले- बेटा सूरज, एकदम नहीं धीरे धीरे निकाल और धीरे धीरे डाल.

फिर रवि ने पिंकी से पूछा- क्या अनिल ने तुम्हारे मम्मे पिक्चर हॉल में दबाए थे?पिंकी बोली कि वो कोशिश तो कर रहा था … पर मैंने लिफ्ट नहीं दी. अपनी गांड को चौड़ी करके दिखाते हुए उसके चेहरे पर शर्मिंदगी के भाव थे. सलोनी फुदकने लगी तो मैंने कहा- मैं सौ तक गिनूंगा, तुम फुदकती रहना, रूकना मत.

मगर मैंने उनको कस कर पकड़ लिया और जोर जोर से उनकी बुर में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा. अब मानवेन्द्र मुझे उठाकर बेड की तरफ ले गया और मुझे बेड पर पटक दिया.

मैं बोला- अफसाना तुमने वीर्य अंदर क्यों लिया? कुछ हो गया तो?वो बोली- कुछ गलत नहीं होगा.

यहां तक कि उसने मुझसे ये भी कह दिया था कि तेरे जीजा जी की रूचि सेक्स में न के बराबर है. सेक्सी वीडियो दिखाइए नए-नएफिर मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर रख दिए और पागलों की तरह चूमने लगा. सेक्सी वीडियो राजस्थानीxxxपर वो एक ओर तो रवि से नाराज थी और दूसरी और वासना की जो आग रवि ने उसके अन्दर लगाई थी, वो आज उसे गलत करने को प्रेरित कर रही थी. वो रवि के साथ नाईट क्लब या कहीं भी चली तो जाती है, पर उन सबके लिए पागल नहीं है.

वे अपनी गांड उठाने लगीं, अपने हाथों से मेरा सर अपनी चुत पर दबाने लगीं.

वो भी मेरे कान में सरसरा कर बोलीं- रहने दे भोसड़ी के … अब इधर खुले में ज्यादा न कर. लगा जैसे चूत में किसी ने कोई सख्त चीज ठूंस दी हो!लेकिन लिंग की प्यास तो चूत को भी थी. दोस्तो, मैं रेखा आपके लिए हॉट सेक्स विथ फ्रेंड्स वाइफ कहानी का दूसरा भाग लाई हूं.

वहीं रोनित ने उसकी पैंटी को साइड में करके एक उंगली उसकी गांड में डाल दी. कई बार वो मुझसे कहा करती थी कि उसको भी एक अच्छे हैंडसम लड़के को बॉयफ्रेंड बनाना है. मैं नाक चुत पर लगाकर चुत की खुशबू लेने लगा।फिर मैंने चुत पर जीभ लगायी ही थी कि चाची ने लम्बी सांस ली और सीसीईईईई की आवाज की.

बीएफ मोठी

मगर मैंने उसको चश्मा नहीं उठाने दिया और बोली- तुम उठाकर दिखाओ इसे हिम्मत है तो? मैं तुम्हें खुद को नंगी नहीं देखने दूंगी. पानी पीने के बाद मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया; उनकी पीठ से टपकते हुई पसीने की बूंद पर मेरी नजर गई. न बाबा … आप चाहे जो और मर्जी कर लो, पर मैं आपका लंड गांड में नहीं ले सकती.

फिर उन्होंने मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह अपने मुँह में ले लिया और बड़ी बेरहमी से घुप्प-घुप्प की आवाजों के साथ चूसने लगीं.

पूरा छह फीट दो इंच लंबा-चौड़ा, काफी हैंडसम, ब्लैक जींस और हाफ टी-शर्ट में था.

भाभी बोलीं- क्या बात है बड़ी जल्दी रेडी हो जाते हो? अब क्या मेरी जान लेकर ही मानोगे. ना शायरा मुझसे अलग होना चाह रही थी …और ना ही मैं उसे अपने से अलग होने देना चाह रहा था. फुल सेक्सी वीडियो एचडी हिंदी मेंआपको ये माँ चोद कहानी मेरी मां की चुदाई की, आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल करके बताएं.

क्योंकि उनके पहनने वाले कपड़े या तो वो अन्दर ले जाना भूल गई हैं या रख गई हैं. मेरी चूत और मैं तुम्हारी गुलाम हूं।मैंने कहा- मेरी जान अफसाना … गुलाम नहीं तुम मेरी रानी हो।तब मैंने लंड निकाल लिया और उसे घोड़ी बनाया. मैं अपने होंठों को उनके लंगोट के पास ले गया।और मैंने उनके लंड को लंगोट के साथ ही मुँह में ले लिया.

मैंने पूछा- ऐसे ही करते हो क्या?वो एक बार तो नजर हटाने लगी लेकिन फिर उसकी नजर मेरे लंड पर गयी. मैं बोला- अच्छा कल्पना … ये बताओ आज तक पहले ऐसा मज़ा मिला था!मामी- सच बोल रही हूँ … आज तक मैंने कभी बिना चुदे हुए कभी मेरा पानी नहीं निकाला था … लेकिन राहुल तुमने ऐसा मज़ा दिया है कि मत पूछो.

ये तो मुझे भी पता था कि अब लंड और चूत का मिलन होने वाला है और उस मिलन में दर्द भी होने वाला है.

दोस्त बनाओगी, तो भी तुम्हें हंसी दूँगा … और प्रेमी बनाओगी तो भी तुम्हें खुशियां दूँगा. उसकी आंखें अंदर झांकने की कोशिश कर रही थीं और देखना चाहती थीं कि आखिर मैंने अंदर क्या छुपाया हुआ है. भाभी की घर में सेक्स की कहानी को मैं आगे लिखता रहूंगा, फिलहाल आप मुझे अपने सुझाव मेरी ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं.

मोटी औरत की सेक्सी कहानी भाभी के मुँह से मादक सीत्कार निकल गई और वो मुझे अपने हाथ से दूध पिलाने लगीं. कुछ देर यूं ही लेटे रहने के बाद अनामिका, प्रियंका से सवाल पर सवाल करने लगी.

स्कूल सेक्स की हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सहेली के बॉयफ्रेंड को अपने सेक्सी बदन से रिझाने की कोशिश की. अस्मिता बोली- मुझे फर्क नहीं पड़ता तुम कहीं भी मुँह मारने जाओ, लेकिन मुझे जब भी टाइम चाहिए, तुम्हें देना होगा. उसने एक रोल प्ले वाला गेम मुझे बताया और कहा कि जितना हो सके खुलकर बात करना और ज्यादा से ज्यादा मस्ती करने की कोशिश करना.

ब्लू बीएफ फिल्म

मैं- क्या चीज अच्छी लगी?बिन्नी- हर चीज, आपकी हर बात, आपका प्यार करने का तरीका और आपका वो …मैं- वो क्या?बिन्नी- वही … हथियार …मैं- नाम से बताओ न?बिन्नी धीरे से फुसफुसा कर बोली- आपका लण्ड!मैं- पसन्द आया?बिन्नी- दिल, दिमाग और आँखों में छाया हुआ है. मैंने बिन्नी को हाथ से थोड़ा धकेलते हुए बेड पर लिटा लिया और उसके ऊपर चढ़ गया. वो बोलीं- अब थोड़ा इस चूत को भी चाट लो … बहुत परेशान करने लगी है आजकल.

बात तो तेरी सही है … तो चल तेरी चूत को खाता नहीं हूं, बस थोड़ा प्यार कर लेता हूँ. मुझे लड़कियों के शरीर में सबसे ज्यादा उनके चूचे पसंद हैं और उस पर यदि उनके निप्पल्स बड़े हों, तो सोने पर सुहागा है.

मैंने उसकी पैंट की जिप खोली और उसका बटन खोलकर पैंट को नीचे कर दिया.

वो मेरे चेहरे की ओर देख रही थी और इंतजार में थी कि कब उसकी चूत में लंड उतरेगा. अब मैंने ईयर फ़ोन लगा लिए और खिड़की तरफ अपना सर टिका कर मौसम का मज़ा लेने लगी. मेरे बालों को सहलाती हुई मेरे होंठों को चूमती हुई वो बिस्तर पर चित लेट गयी.

फिर उसी रात को स्वाति का मैसेज आया कि कल उसे मौसी के घर की सफाई करने के लिए जाना है और उसे मेरी हेल्प चाहिए थी. वो साली चुदक्कड़ रंडी मेरे लंड को अपनी चूत की जड़ तक ठुकवाने की कोशिश कर रही थी।मीनू चुदते हुए गाली देने लगी- चोद मादरचोद … आह्ह … जोर से चोद … भोसड़ी के … तेरे दोस्त राहुल का लंड फिसड्डी है. वो मेरी बात मानकर घोड़ी बन गयी और मैंने उसकी गांड पर दो चार थप्पड़ मारे तो उसको बहुत मजा आया.

अब मैंने बिन्नी से पूछा- कैसा लग रहा है, दर्द तो नहीं हो रहा?बिन्नी- नहीं, बहुत मज़ा आ रहा है, करते रहो.

छोटी लड़कियों के सेक्सी बीएफ: जिसके जवाब में मैंने लिखा- क्या आप अपनी रसीली चूत के दर्शन नहीं कराएंगी?वो बोलीं- अभी नहीं, लेकिन अगली बार जरूर करवाऊंगी, अभी सो जाओ. मगर उसके गुलाबी होंठ, उसके आंख में लगा हुआ काजल, उसकी अदाएं मुझे तो पहली ही नज़र में सब घायल कर गए थे.

सभी खाली होने वाले कमरों को पहले सेनेटाइज करवाओ, दो चार नर्स और दो डॉक्टर यहां कमरे के बाहर सैट दो. कुछ देर तक ऐसा करने के बाद मानवेन्द्र ने मेरी गांड के छेद को चौड़ा करना चालू किया. खैर … लंड पेले हुए ही उसे कुछ देर चूमने चाटने से ही वो अब शांत हो गयी थी.

उसने एक बार मुझसे भी इस तरह करने के लिए बोलकर देखा होता, तो मैं उसकी खातिर झट से राजी हो जाती.

चाचा जी ऐसे ही मुझे 6-7 मिनट तक चोदते रहे और अब मुझे बहुत ज्यादा मजा आने लगा. मैंने भी अपनी तरफ से टमाटर सॉस की बोतल, टिश्यू पेपर … ऐयरफ्रेशनर … एक सिगरेट की डिब्बी, दस समोसे का पार्सल बंधवाया और सब सामान लेकर वापस चल दिया. फिर 69 के पोज में आकर बुआ की चूत और गांड के छेद को खूब चाटने में लग गया.