बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती

छवि स्रोत,मारवाड़ी औरतों का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ആന്റി സെക്സ്: बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती, मैंने उसकी तरफ प्रश्नवाचक दृष्टि से देखा तो उसने मेरे गाल को पकड़ा और अपने मुंह की तरफ लाकर बोली- गोलू (मेरा घर का नाम) … मेरी चूत से कुछ निकल रहा है, वहां पर अपनी जीभ मत चला.

गुजराती बलात्कार सेक्सी वीडियो

मैंने उसको खेत की मेढ़ पर सीधा लिटाया और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रख लिया। रंजना को नीचे लेटाने के बाद उसकी योनि मेरे सामने थी. लड़की की पहली चुदाई सेक्सी वीडियोमैं 20 साल का हूँ और मैं आप सभी को आज अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ।कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी भाभी के बारे में बताना चाहता हूँ.

मैंने पहले भी लिखा है कि वो सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज ही पहनकर मेरे साथ सोने आ गई थी और जब वो अपनी साड़ी उतार कर सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में मेरे बाजू में लेटने लगी थी. कटोरी सेक्सी वीडियोलंड तो खुशी से और बढ़ा हो गया था, जो इस उम्र में भी कमसिन कुंवारी बुर फाड़ रहा था.

हम दोनों चुदाई करते करते इतनी मदहोशी में डूब गए थे कि हम दोनों को ये भी पता नहीं चला कि शाम कब हो गयी.बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती: हालांकि बाद में मुझे रेस्टरूम में जाकर मुठ मार कर खुद को शांत करना पड़ता था.

रानी ने फिर सुपारी को मुंह में होंठों से ज़ोर से दबा लिया, अंदर से जीभ से टुकुर टुकुर करने लगी और उँगलियों से टट्टों को हौले हौले से दबाने लगी.उसने मुझे देखा और कहा- जवाब सुनने के लिए इतना सज धज कर आये हो?मैंने उसे कहा- नहीं यार, ऐसी कोई बात नहीं है.

सेक्सी चुदाई खपाखप वाली - बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती

दस मिनट लंड चूसने के बाद उसका लंड भी एकदम खड़ा हो गया और मेरी लार से एकदम चिकना भी हो गया.पर जवान लड़की से चुम्बन … इस विषय पर आर्टिकल नहीं था बल्कि मुझे ‘कुंवारी लड़की के साथ संभोग.

मेरी इस हरकत पर उसने सर पर हाथ रखकर पीछे से मेरे बालों में उंगली घुसाते हुए कहा- हम ज़्यादा देर के लिए नहीं आए हैं … मुझे जल्दी जाना होगा. बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती अब लड़की की चूत की कहानी:मैं एक मकान की तीसरी मंजिल के एक कमरे में रहता था.

उसने मुझे अपनी बांहों में भरा, तो मैंने भी उसके लंड और होंठों पर किस किया.

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती?

उनका मेरे अंगों को छेड़ने से चुत पर से मेरा कंट्रोल छूट रहा था, मुझे तो डर रहा कि कहीं सुसु पैंटी में ही ना निकल जाये. नितिन का लंड 20 मिनट तक सीमा की चूत की खुदाई करता रहा, सीमा के कुँए से तीन बार पानी निकलने के बाद ही नितिन के लंड ने पानी छोड़ा. भैया की तबियत अचानक बिगड़ती ही चली गई और 15 दिन बाद भैया की मृत्यु हो गयी.

नितिन ने आव देखा न ताव, घर में घुसते ही सीमा, जो कि क़यामत की हद तक खूबसूरत थीं … उनको कस कर आलिंगन में भर लिया. कुछ ही देर में कमरे की लाइट बंद हो गई और वह लड़की नीचे आकर बाहर खड़ी हो गई और बार-बार मेरी बालकोनी की तरफ देखने लगी. फिर भैया ने पूछा- कैसा लग रहा है?‘ठंडा!’मेरी बचकानी बात से भैया हंसने लगे और बोले- ठीक है ये ठंडक अब अन्दर तक जाएगी.

फ़िर उसने मेरे लंड को अपनी चुत पर घिसना शुरू कर दिया और बोली- अजय अब नहीं रहा जाता, पहले एक बार जल्दी से चोद दो. कुछ देर और उसने रिया की गांड चोदी और फिर कटोरी रिया के हाथ से ले ली. भाभी सारा रस पी गईं और अब उन्होंने अपनी चूत की तरफ इशारा करके कहा- तुम्हारी बारी.

पिताजी- अच्छा है हर्षद … खूब दिल लगा कर काम करना … किसी को शिकायत का मौका मत देना. मुझे देख कर उनकी आंखें खुशी से चमक उठीं, मेरा हाथ पकड़ कर मुझे घर के अन्दर खींचा और किसी ने देखा नहीं, इसकी तसल्ली करके दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया.

फिर मैंने दीपाली की चूत से अपना लंड बाहर निकाला, तो दीपाली की चुत, मेरा लंड और मेरी चादर खून से ख़राब हो चुकी थी.

मुझे लगा कहीं भैया ना जग जाएं, इसलिए मैंने उसको वापस उसकी खाट पे भेज दिया.

कभी होटल में रूम लेजा कर चोदा तो कभी किसी सुनसान जगह पर क्विक फक किया. मैंने अपनी जुबान से उनकी चुत का दाना भी खींचते हुए चूस दिया, इससे वो बिलबिला उठीं. मैं बोली- मैंने बताया न दीदी हमारे बीच सब कुछ बहुत अच्छा है, लेकिन आप ये बार-बार क्यों पूछ रही हो?फिर दीदी बोली- सुबह जब तू जीजू के पास गयी थी न.

आआईई ईई … अमित …” करके भाभी ने मुझे झटके से अपने से अलग किया और खड़ी हो गईं. मीरा ने उसी शाम को रितेश को खाने पे बुलाया और कहा कि वो रीमा को भी साथ में लेते आए, तभी रात को हम अपने मिलने के बारे में भी सोचते हैं. मैंने सोचा कि यही वक्त है मौके पर चौका मारने का।मैं बोला- सबसे पहली बात तो मैं यहां पर बिल्कुल नया हूं और दूसरा मुझे अभी तक तुम्हारे जैसी कोई हॉट लड़की यहां अमेरिका में मिली नहीं है.

इससे पहले कि मैं कुछ ज़्यादा सोच विचार करता, रानी ने मेरा मुंह चूत पर सेट कर दिया और सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र की आवाज़ करते हुए अमृत की धारा मेरे मुंह में मारी.

रास्ते में मम्मी एक केमिस्ट की दुकान पर गई और एक लिफाफे में कुछ दवाइयां लेकर आईं. कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि अपने शहर वापस आने के बाद मुझे किस्मत ने फिर से रायपुर मोनी के घर पहुंचा दिया. मैं तो पहले से ही चाहती थी कि भैया मेरी चूत को चोद दें मगर अभी तक मौका नहीं मिल पा रहा था.

इसकी चुदाई में जो मजा आ रहा था, वो सीमा जी की चुदाई में कहाँ से आएगा. हेलो, नमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप सब!मैं मनमीत रोहतक से एक बार फिर हाजिर हूँ अपनी नयी स्टोरी के साथ जो बिल्कुल सच है. करीब तीन चार मिनट तक वो मेरे आसपास ही पौंछा लगाती रही पर मैं उतने टाइम में झड़ गया सिर्फ उरोज देख कर.

मैं चाची की बुर में छूट गया और चाची के बुर को मेरे लंड रस ने लबालब भर दिया.

वह बोली- मैंने आपके लिए बादाम का दूध बनाया था, मैं तो भूल गई थी! एक बार छोड़ो!वह उठ कर नंगी किचन में गई और एक बड़ा गिलास बादाम का दूध लाकर मुझे दिया. मैंने रजाई हटाई तो उसका लंड पूरा अकड़ा हुआ था, मेरी भी नियत दुबारा से खराब हो गई और मैंने जैसे ही उसके लंड को टच किया तो पवन ने एकदम मुझे दबोच लिया और अपने नीचे ले लिया और सुबह सुबह एक बार और अपने लंड की सवारी मुझे करवा दी.

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती आप लोग तो जानते ही हैं कि ठंड के मौसम में सफर करना कितना मुश्किल होता है. और उसके बाद मेरी नज़र मेरी बेटी की कोमल चूत पड़ी जिस पर एक भी बाल नहीं था.

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती मैंने अब लंड पर उछलना चालू किया … भैया मेरी गांड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने में लग गए. वो मुझे हमेशा छेड़ते रहते थे और उन्होंने मुझे चोदने की कोशिश कई बार की थी.

इसी आनंद का लुत्फ उठाते हुए मैं उसकी योनि में ही झड़ने लगा और सारा वीर्य उसकी योनि में छोड़ने के बाद उसके ऊपर लेट गया।दो मिनट तक लेटे रहने के बाद हम दोनों उठे और एक-दूसरे को किस किया। काफी देर हो गई थी और खेत में किसी के आने का भी डर था.

सेक्सी मूवी इंडियन देसी

मेरे लंड से वीर्य की धार पिचकारी के रूप में चाची की चूत में पचर-पचर करके अंदर गिरने लगी. फिर चूत से गांड की तरफ, फिर कूल्हों को मसलते हुए कूल्हों को फैला दिया. फिर घर जाने के बाद भी उसके साथ किसी न किसी बहाने से बातें होने लगीं.

उसकी चुचियों को सहलाने से उसका ध्यान दर्द से हटकर उस तरफ हो गया, जिससे थोड़ी ही देर में वो नार्मल हो गयी. मैं बहुत दर्द महसूस कर रही थी और वो बार बार अपनी स्पीड घटाए बढ़ाए जा रहे थे. जब मेरे पति को इस बारे में पता चलेगा तो पता नहीं वो मेरे साथ में क्या करेंगे.

आप सभी को ये सेक्स कहानी में कितना मजा आ रहा है … प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ा और जोर जोर से उन्हें आगे पीछे करके अपने लंड पर मारने लगा. इधर नम्रता ने भी अपने सब्र का बांध तोड़ दिया और उसकी मलाई मेरे जीभ पर गिरने लगी. कान किसी भी स्त्री के बहुत ही ज्यादा संवेदनशील अंग होते हैं और ये एक बहुत ही आदिम नुस्खा है किसी भी लड़की को काम-विह्ल करने का.

तभी भाभी पानी पीने के लिए आईं, तो उन्होंने मुझे देखा कि मैं ठंड से कंप रहा हूँ. मैं- क्या उसके पास रूम वगैरह नहीं है?मीता- नहीं नहीं … मैं उसके रूम में नहीं जाऊंगी. मैंने भी अपनी पोजिशन सही करते हुए कहा- मेरी गांड मारने में मजा आया कि नहीं.

उन बातों को बीते हुए आठ साल हो गये थे मगर आज जब जीजा जी फिर से मुझे बाइक पर बिठाकर ले जाने की बात कर रहे थे तो वही पुरानी यादें फिर से ताजा हो गईं. वो बोलीं- हां मैं यहां हूँ … क्या हुआ आज बहुत खुश दिख रहा है हर्षद!मैं उनके पास जाकर बोला- हां मां … मुझे जॉब मिल गयी है.

बस फिर क्या था, जैसे-जैसे चूतड़ उसके पैन्डुलम की तरह हिलते-डुलते थे, वैसे-वैसे मेरे लंड भी टनटनाने लगता था. रीना ने मेरे लंड पर अंडरवियर के ऊपर ही एक कोमल सा चुम्बन दे दिया और मैं मस्ती में भर गया. वो बोले- अगर तुम्हारी नौकरी पक्की कर दी जाये तो कैसा रहेगा?मैं बोली- ये तो आपके ऊपर है सर, मैं क्या कह सकती हूँ.

इंटरव्यू दूसरे शहर में था तो मैं डॉली के साथ वहां चली गयी और सबकुछ ठीक से निपट गया और कुछ दिनों बाद रिजल्ट आया तो मुझे प्रोबेशनरी अधिकारी की जॉब मिल गयी थी.

मेरे काम का समय दस से नौ का होने के कारण मैं यहां कोई गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया था. वो हंस कर बोला- तो एक काम करते हैं, मैं आपको गर्लफ्रेंड समझ लेता हूँ और शिमला ले चलता हूँ. उनके चूचे वैसे ही 32 साइज़ के हैं और उन्होंने अन्दर ब्रा भी नहीं पहन रखी थी.

मैंने लंड बाहर निकालकर नम्रता को बेड पर पटक दिया और खुद उसके सीने पर चढ़कर लंड को उसके मुँह के पास ले आ गया. उसने मेरे बाल पकड़े और खींच कर मेरा मुंह चूत से लगा दिया- ले भोसड़ी के … ज़ोर से अमृत छोड़ना है … पी कुत्ते पी …तुरंत ही धक्कों में ब्रेक लग गया.

आपको खुश …बीच में टोकते हुए रमेश बोला- एक मिनट … एक मिनट … तुम ये सब जो बोल रही हो, सच में बोल रही हो ना? तुम सच में हमारी बेटी हो ना? मुझे नहीं पता था कि तुझे ऐसे चुदवाने का शौक है। अब तो बस तुम देखोगी कि मैं तुझे जलील करते हुए सस्ती रंडी बना कर चोदता हूं. वह चुदाई क्या और कैसे हुई और इन रानियों की तीसरी वाली सहेली कैसे चुदी उसका वर्णन मैं अगली कहानी में करूँगा. हालांकि लड़की ने अपनी जवानी में कदम रखा ही था परंतु उसकी चुचियों का साइज लगभग 34″ था.

फुकरे सेक्सी

मेरी चूत टाइट थी मगर जीजा का लंड बासी ककड़ी की तरह यहां वहां चला जाता था.

मुझे अपनी गोद में बिठाकर रवि अपने दोनों हाथों से मेरी निप्पल्स को मरोड़ने लगा. कुछ देर में बॉस आये, आते ही मुझे देख कर उनके चेहरे पे एक मुस्कान आ गई, वो बोले- तुम गई नहीं, मतलब तुम तैयार हो?मैं उनकी तरफ देख कर बोली- हां! पर आपको पहले मेरी नौकरी पक्की करनी होगी. मानसी इतनी गर्म लौंडिया थी कि आज भी कभी अगर उसका मूड हॉर्नी हो जाता है.

उसने मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने के बाद मेरी जांघों को खोल दिया और मेरी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया जिससे मेरी चूत खुल गयी. मैं चेंजरूम में चली गई और चेंज करके उसे अन्दर बुलाने के लिए आवाज दी. चोर के साथ सेक्सी वीडियोजब भी मेरी गांड अर्जुन की जांघों से टकराती तो थप थप की मस्त आवाज निकलती और मेरी चूत में उसके लंड के प्रवेश के साथ मेरे चूत रस की मादक खुशबू पूरे कमरे में फ़ैल गई थी।अर्जुन ने मुझे कुतिया बनने को बोला.

सुधा ने अपनी सहेली से कोने में से बाहर आने दिया और उसी को बाहर खड़ा कर दिया. लेकिन अब मैं केवल राज से प्यार करती हूं और मेरे मन में तुम्हारे प्रति कोई गलत विचार नहीं है।इस पर मैंने भाभी को बोला कि आप जैसी ईमानदार लड़की को भाभी के रूप में पाकर मुझे खुशी हुई। जितना हमारे बीच होटल के कमरे में हुआ था कोई उसके बाद भी संभल जाए ये बड़ी बात है।आज के बाद हम भाभी-देवर की तरह ही रहेंगे और बाकी हमारे बीच पुराना जो भी था उसे भूल जाएंगे.

मैंने अपनी पूरी ताकत लगाकर एक ही बार में अपना लंड शीना की चूत के अन्दर पूरा का पूरा पेल दिया, जिससे शीना की इतनी तेज चीख निकली कि वो दर्द से कराहने लगी. अब रास्ता खुल चुका था, सो हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, तो सेक्स का मजा कर लेते थे. मैं बयां नहीं कर सकता उस वक्त चाची के होंठों का रस पीने में कितना मजा आ रहा था.

उनके रूम के बाहर ही आंगन में मेरा बिस्तर लगा था, तो मैं वहीं लेट गया. आप रिसेप्शनिस्ट-कम-अस्सिस्टेंट होंगी और सिर्फ 15 हजार ही मैं आपको दे पाऊंगा. अब मैं रोज किसी ना किसी बहाने नीलम भाभी के घर जाने लगा और कभी उन्हें नहाते या कभी कपड़े बदलते देखने लगा.

मैंने जैसे ही लण्ड का सुपारा चूत के छेद पर लगाया, दीपिका ने अपनी आंखें बंद कर लीं और नीचे का होंठ दाँतों से दबा लिया.

मैंने बिना एक सेकंड की देरी करते हुए संजना के होंठों को चूम लिया … पर तब तक भी उसने मेरा लंड अपने हाथों से नहीं छोड़ा था और वह मेरा लंड हिला रही थी. मेरे मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगीं- आअह्ह … मेरा बेटा आअह्ह … आई लव यू.

दोपहर को मैं जब घर आया तब मैंने देखा कि मिष्टी दी ने एक टीशर्ट और नीचे पजामा पहना हुआ है शायद उन्होंने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी. जब मैं छत पे गया और लाइट फेंक कर मारी, तो देखा की वहां तो दीदी कम भाभी, मेरा मतलब चाँदनी भाभी खड़ी थीं. ”अंकल फ्रिज की तरफ गए और दो टॉफी ले कर मेरे पास आए, उसमें से एक मुझे देखर बोले- ये लो, ये तुम खाओ … जब मैं तुम्हारी चुम्मी लूंगा, तो मुझे मीठा स्वाद आना चाहिए …मैंने उस टॉफी को खोल कर मेरी मुँह में डाला, चॉकलेट मेरी सबसे फेवरेट चीज है.

वो बहुत जोर जोर से मेरे चुचे दबा रहा था मुझे दर्द भी हो रहा था और मजा भी आ रहा था. मैंने एक हाथ से कमर पकड़ी ही थी, दूसरे हाथ से कपड़े के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबाने लगा. आपने मेरी पिछली इन्सेस्ट कहानीचचिया ससुर से चूत चुदाई औलाद के लिएपढ़ी.

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती मैंने अपने कांपते हाथों को स्थिर किया और जमीन पर पड़ा लहंगा हौले-हौले ऊपर उठाना शुरू किया, वसुन्धरा की जांघों के जोड़ के बीच में भी स्पंदन हो रहा था. मैं खुद को रोक नहीं पाई और जोर जोर से चीखने लगी- प्लीज पवन मुझे जोर जोर से चोदो … और जोर से चोदो … ओह्ह फ़क … या ओह्ह गॉड मार डाला रे… हाये हरामी ये क्या कर डाला… आज तो में एक गेरेज वाले से चुद गई अहह.

सेक्सी सेक्सी चुदाई फिल्म

मैं- क्यों क्या हुआ? मजा तो तुमको भी आ रहा था।शुभ्रा- हाँ तब आ रहा था लेकिन पूरी रात मेरी चूत में जलन होती रही और पेशाब करने जब मैं उठी तो लंगड़ा रही थी तो डर के मारे मैं लेटी रही कि कहीं मम्मी ने पूछ लिया तो मैं क्या जवाब दूंगी, इसलिये तबियत खराब होने का बहाना बना दिया।मेरी मानो तो तुम भी ऐसा ही करो. मेरे पूछने पर दीपिका ने बताया कि संजना और वो कॉलेज की सहेलियां हैं और अब शादी के बाद दोनों इस शहर में अपने पतियों की जॉब के कारण यहाँ आ गईं, दोनों के हस्बैंड एक ही ऑफिस में हैं. हाथ लगाओ न इसे … वो तुम्हें खाएगा नहीं … उल्टा तुम्हें उसे खाने का मन होगा.

तो मैंने मेंहदी धोई और हीना को याद करके मेंहदी को चूम लिया और कपड़े बदल कर नीचे चला गया. दस मिनट बाद मेरे माणिक अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूची को चूसते हुए और मेरे होंठ को चूसते हुए मेरी चूत को बड़ी बेरहमी से चोदने लगा था. सेक्सी कार्टून वाली वीडियोथोड़ी देर बाद उसने भी काम ख़त्म कर लिया और उसकी भाभी भी रसोई में जाकर खाना बनाने लगी.

चूंकि रंजना के साथ संभोग करने का यह मेरा पहला अनुभव था इसलिए लिंग चुसवाने और योनि चाटने का मेरा मन नहीं किया और न ही मुझे उसके आनंद के बारे में कोई ज्ञान था.

आखिरकार अपनी टॉप स्पीड पकड़ते हुए अंकल चिल्लाने लगे- आह … नीतू … कितनी टाइट चुत है तुम्हारी … मेरा लंड पूरा छिल गया … अब सब्र नहीं हो रहा … आह … मैं आ रहा हूँ. मैंने उसे उसकी टांगों के नीचे से हाथ डाल कर उठाया और लंड चूत में डाले डाले खड़ा हो गया.

मुझे अजीब सी गुदगुदी हो रही थी उसकी जीभ लगने से मगर उसके गर्म मुंह में जाकर जैसे लंड को राहत सी मिलने लगी थी. मैं और माणिक, हम दोनों जब भी घर में अकेले रहते थे तो हम एक दूसरे से खूब बातें करते थे. नम्रता को इस तरह निप्पल पर जीभ फेरता देख कर मैं भी अपने होंठों के चारों तरफ जीभ फिराने लगा.

हम लोग जैसे ही कमरे में आए, अमित बिना रूम लॉक किए मेरे ऊपर सवार हो गया.

अभी प्रतिभा के आने का समय हो चुका था, तो मैंने जानबूझ कर आंखें मूंद लीं. ये वाचमैन था- ये आपका पार्सल है, कल शाम घर में कोई नहीं था, तो मैंने रख लिया था. मैंने पूछा- मेरा शर्ट क्यों पहना है आपने?तो उसने कहा- बस ऐसे ही आज मन हुआ तो मैंने पहन लिया!मैंने कहा- ठीक है!पर शर्ट में उनके बड़े से बूब्स एकदम मस्त दिख रहे थे और शायद इसीलिए उन्होंने जानबूझकर शर्ट पहना था.

सुहागरात की सेक्सी वीडियो राजस्थानीइस बीच फेसबुक के माध्यम से मेरी बहुत सी सहेलियां बन गई थीं, जो अपने बेटों के साथ सेक्स करती थीं. कभी टट्टों को भी बारी-बारी से मुंह में भर लेती तो कभी फिर से पूरे लंड को मुंह गलप जाती.

16 साल की फुल सेक्सी वीडियो

डॉक्टर ने मेरी मम्मी से पूछा- क्या आपका सेक्स के प्रति आकर्षण कम है या अधिक?मम्मी सोचने लगी. थोड़ी देर बाद उसने भी काम ख़त्म कर लिया और उसकी भाभी भी रसोई में जाकर खाना बनाने लगी. लंड तो मैंने पोर्न फिल्मों में भी बहुत देखे हैं लेकिन तुम्हारे औजार की बात ही कुछ अलग है.

धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करते करते पूरा लौड़ा उसकी चूत में पेल दिया. फिर सोने से पहले मैंने उसके होंठों को चूमा और उसके पेट को हाथ से कसकर पकड़कर सो गया. मैं समझ गयी कि आज मेरी चूत को एक लंड मिल जाएगा, जिसकी मुझे भी जरूरत है.

उसके सोने के बाद मेरा मन था तुमको बुलाने का, पर डर था वो जग जाता, तो जो आज मजा मिला, वो भी नहीं मिलता. हम दोनों लोग सेक्स कर रहे थे और वो मुझे अपने बेडरूम में नंगी करके मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहे थे. मैंने कुछ देर बाद उसकी जींस को भी उतार दिया और उसकी फुद्दी को पैंटी के ऊपर से मसलने लगा.

कहकर मुझे वो किताब दिखाने लगी। फिर अगले ही पल मेरे गाल को प्यार से सहलाते हुए बोली- डर मत, अब हम दोस्त हैं अगर तू मेरा कहा मानेगा, तो मजे में रहेगा।मैं अब कर भी क्या सकता था, क्योंकि वो किताब भी साथ में लेकर चली गयी थी।मामा के कुछ दोस्तों के लिये पार्टी रखी थी इसलिये आज घर में मटन बना था और मुझे पीना ही था. मंजू के बालों को पकड़ कर मैं बेड से नीचे उतरा, बोला- भोसड़ी की चुदाई भी करवानी है और ऊपर से न नुकर कर रही है?उसका मुंह लाल हो गया.

मैंने उसे चोदना चालू रखा, उसने स्पीड बढ़ाने के लिए कहा और बोली- थोड़ा जोर से करो, अब मजा आ रहा है.

वो हंस कर बोला- तो एक काम करते हैं, मैं आपको गर्लफ्रेंड समझ लेता हूँ और शिमला ले चलता हूँ. 12 वर्ष की सेक्सीतुम दोनों तो एक दूसरे में इतना खोये हुए थे कि कुछ होश ही नहीं था तुम्हें!फिर वो जूली को पकड़ कर वॉशरूम में ले गयी और उसे नहलाया. एचडी सेक्सी नंगी फिल्ममैंने उसके दूधों को बारी-बारी से अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. सारा लेट गयी और दिलिया उसके ऊपर लेट कर उसे लिप किस करने लगी और दोनों एक दूसरे की चूचियों से खेलने लगी.

हीना अपनी चुत चूसने से जितनी बेचैन होती, वो लंड को मुँह के उतने ही ज्यादा अन्दर डाल कर चूसने लगती थी.

मैंने भी उसी अंदाज में जवाब दिया- सही कह रही हो, अब तुम्हारी मिलने से रही, तो कहानी ही सुनकर अपने मन को संतुष्ट कर लूंगा. मैंने पहले भी लिखा है कि वो सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज ही पहनकर मेरे साथ सोने आ गई थी और जब वो अपनी साड़ी उतार कर सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में मेरे बाजू में लेटने लगी थी. वंश बोला- ओह मम्मी, आई लव यू टू!हम दोनों अब झड़ने वाले थे और मैं एकदम से चूत से लंड निकाल कर 69 में होकर उसके मुँह पर अपनी चूत रख के बैठ गई और उसका लंड मुँह में डाल कर उसका लंड का जूस पीने लगी.

नाश्ता करके जीजू ऑफिस के लिए तैयार होने के लिए अपने रूम में चले गए और दीदी किचन में कुछ काम करने लगी. मैं भी उसे तेज़ तेज़ चोदने लगा और अगले दस शॉट में मेरा भी काम खलास हो गया. बस फिर क्या था, धक्के लगने शुरू हो गए, मैं थक जाता, तो नम्रता ऊपर आ जाती.

हिंदी सेक्सी सेक्सी चूत

योनिमार्ग के साथ मेरा दाना भी रगड़ खाने की वजह से मेरी चुत फुरफुराने लगी थी. जब भाभी के पास गया तो भाभी बोलीं- इतना क्यों डर रहे हो, मैंने तुमसे कुछ कहा क्या?तो मुझे थोड़ी राहत की सांस मिली. करीब चार बजे मैं उठा और सोचा कि एक बार और दीदी की चूत का चोदन कर दूँ तो मैं उन्हें ढूँढने लगा.

फिर अपना तना हुआ लौड़ा उसके छेद पर लगाया और उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए अपना लंड उसकी गांड में घुसा दिया.

स्नान करने के दौरान मंजू मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

मन करता कि उसको पटक-पटक चोद दूं लेकिन मैं नीचे लेटा हुआ था और जूली को अपने मन की हसरत पूरी करने का पूरा मौका दे रहा था. मुझे पता लगा कि पहले भी कई लड़कियाँ यहाँ काम कर चुकी हैं मगर ज्यादा दिन कोई टिक नहीं सकी. सेक्सी सूत्रफिर मैंने उनका लंड चूसना शुरू किया और इस बार सहेली के पापा मुझे उल्टा कर दिया और मेरे ऊपर चढ़ गए.

मेरी चूत को चोदते हुए भैया के मुंह से आह्ह् … ओह्ह जैसी आवाजें निकल रही थीं. वो बार बार मादक सिसकारियां ले रही थीं, लेकिन कुछ बोल नहीं पा रही थीं. पर खुशी के मन की बातों को जानकर मैं इतना तो समझ चुकी थी कि उसकी चाहत के सामने मेरी चाहत कुछ भी नहीं.

उसने भी लंड को हाथ से पकड़ लिया और मुँह में भरने की कोशिश करने लगी. तभी अचानक मेरी नज़र मेरी माँ के पेटीकोट पर गयी, तो मैंने देखा कि माँ का पेटीकोट ऊंचा सा हो गया.

अब हम तीनों की सिसकारियां फिर से शुरू हो गई थीं और हम तीनों भी अब सातवें आसमान पर पहुंच चुके थे.

मैंने उसकी चूत को हल्के से फैला कर उस पर होंठ जमा दिए और उसे किस करने लगा. मैंने बोला- हां ये तुम्हारे मस्त टच के कारण ही इतना सख्त हो गया है. चाची ने मेरे तने हुए लंड पर हाथ फेरा और मेरे लौड़े ने उछलते हुए चाची को अपनी बेताबी बयां कर दी.

सेक्सी वीडियो में आनी चाहिए वह बार बार अपनी चूचियों के कोमल निप्पलों को अपने अंगूठे और उंगली से मसलती और जोर से आहें भरती. उसके कहने के बाद हम दोनों ने अपनी पोजिशन बदल ली और मैंने अपने अकड़े हुए लंड पर जोर लगाया ताकि मैं मूत सकूँ … लेकिन धार निकलने का नाम नहीं ले रही थी, जबकि नम्रता मुँह खोले पानी का इंतजार कर रही थी.

तब तक चाची की देह और भी ज्यादा निखर चुकी थी और मुझ में काफी बदलाव आ गया था. तो आते हैं दर्द भरी चुदाई की कहानी पर!थोड़ी देर पार्क में बैठने के बाद मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने हाथ के ऊपर रख दिया और उसे धीरे-धीरे रगड़ने लगा. वो रूमाल से अपनी चुत पौंछने को हुई, तो मैंने उसे चुत पौंछने से रोक दिया.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर दिखा दो

अब मेरा मन बेकाबू हो चुका था, मैं पलंग से नीचे उतरकर उसके पास पहुंचा और उसके कूल्हे को कसकस कर मसलने लगा. मैं इतना कुछ बोले उसके लंड को पकड़ कर देखने लगी, फिर घुटने पर बैठ कर मैं लंड सहलाने लगी. पैंटी के उतरने के बाद मैं अपने पैर का अंगूठा चाची की बुर में देकर सहलाने लगा.

आज मैंने अपनी चूत में फ़ूड ग्रेड का डिओ लगाया था, जो चूसने पर बड़ा ही मीठा स्वाद देता था. मन करता कि उसको पटक-पटक चोद दूं लेकिन मैं नीचे लेटा हुआ था और जूली को अपने मन की हसरत पूरी करने का पूरा मौका दे रहा था.

आगे मैं बातऊंगी कि जीजा ने मेरी चूत को चोदने के अलावा मेरे साथ और क्या-क्या किया.

तो कभी दाँत से कूल्हों को काट लेता या फिर कूल्हों को मम्मों की तरह मींजने लगता. अभी तक की कहानी में आपने पढ़ा कि मौसी की लड़की के आने के बाद मेले वाले दिन मैंने उसको पटा लिया और रात में उसके साथ अच्छे से फ़ोरप्ले किया, पर बात चुदाई तक नहीं पहुँच पाई थी … क्योंकि मम्मी जाग गयी थीं. लेकिन मुझे याद है पाँचवें दिन जब मैं सुबह उठा तब मैंने देखा कि दी आज कुछ अलग दिख रही हैं.

कुछ पल बाद वो भी मेरे लंड को चूसने लगी, लेकिन उस अच्छे से लंड चूसना नहीं आ रहा था. कोई बात है क्या?वह रूककर बोली- आपका बिस्तर गन्दा नहीं होगा?मैंने कहा- एक दिन में गन्दा थोड़े होता है. उसके बाद भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और फिर से मेरे लंड के साथ खेलने लगी.

मैंने लंड पेलने के बाद जैसे ही उसका मुँह खोला, वो रोने लगी- अंकल नहीं, निकाल लो इसे, मैं नहीं सह पाऊंगी.

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती: अब इस बार मुझे तीनों के मम्मे दबाकर पहचानना था, जो पहले से थोड़ा मुश्किल था. अब तक आपने पढ़ा था मैंने और नम्रता ने सारी रात चुदाई के बाद एक दूसरे के हस्तमैथुन के द्वारा निकला हुआ रस भी चाटा.

उसकी चूत का द्वार मेरी पहुंच के बहुत करीब था जिसको मैं हर हाल में पाना चाहता था इसलिए मैंने अपने लंड को उसकी चूत के मुहाने पर हल्का सा घिसा और फिर अन्दर की तरफ धकेलने लगा तो मेरे लंड का सुपाड़ा उसकी चूत में घुसते समय कहीं जैसे अटक सा गया. मैंने धीरे से लंड को अपने ही हाथ से गांड के छेद पर रखा और वो धीरे धीरे करके मेरी खुली हुई गांड में सरक गया. तभी वो अपनी सहेली से बोली- तू बाहर रुक जा … यदि कोई आता है, तो बता देना.

चूंकि मैं स्टॉफ रूम में पहले आ जाता हूँ, सो मैं स्टॉफ रूम में आकर अपने लैपटॉप को खोलकर रिजर्वेशन की डिटेल भरने लगा.

मैंने उसकी टांगों को ऊपर उठाकर तेजी के साथ उसकी चूत को पेलना शुरू कर दिया. जब वो फिर से जरा सा नार्मल सी लगी, तो मैंने उससे कहा- बस हो गया सरिता, अब मजा आएगा. आप भी काफी सावधानी से ऐसा करके किसी के साथ इस प्रकार का सेक्स कर सकते हैं.