मुंबई की लड़कियों की बीएफ

छवि स्रोत,मोहन की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चोदा चोदी का बीएफ: मुंबई की लड़कियों की बीएफ, मैंने कहा- क्या हुआ है तुम्हें, तुम कुछ कहना चाहती हो, तो मेरे छत वाले रूम पर आ सकती हो?उस वक्त लगभग दिन के एक बजे थे.

सनी लियोन की फिल्म सेक्सी

इतना कहकर उसने मेरी शर्ट के बटन को खोल दिया और मुझे बिना शर्ट के पलंग पर बिठा दिया. सेक्सी एक्स एक्स हॉट वीडियोथोड़ी देर में मैंने देखा कि उसकी चूत में से पानी निकल रहा है और मेरे लंड पर आ रहा है.

मेरी बहन अक्सर मेरा मोबाइल लेकर गैलरी खोलती और xxx वीडियो देखती थी. हिंदी में बात करते हुए सेक्सी फिल्ममैंने खुले आम लंड और चुत का नाम सुना तो मेरी आंखें शर्म से झुका गई थीं.

जब तक चाची कुछ समझतीं, मैं वीडियो की तरह उनकी योनि को चाटने लगा, एक अजीब से स्वाद और गंध के साथ में उनकी योनि को चूसता रहा वो भी मुझे शाबासी देने लगीं और मेरे बाल पकड़ कर मेरा मुंह अपनी योनि पर दबाने लगीं.मुंबई की लड़कियों की बीएफ: रोशनी ने गोलू को अपनी तरफ खींचा और उसके सिर को अपने खुले आमों के बीच में दबा दिया.

फिर उस पैकेट को अपने पास रखते हुए बोली- मैं रास्ते में जाते हुए इसे फेंक दूंगी.”पिंकी ने मना किया तो गोलू रोते हुए जोर से बोला- पिंकी, तुम्हें मेरे लंड पे किस करना है.

इंडियन ओपन सेक्सी मूवी - मुंबई की लड़कियों की बीएफ

मैं लौड़ा पूरा चूत के बाहर निकलता और फिर धीरे से जड़ तक बुर के अंदर घुसेड़ देता.एक तरफ तो मेरी इज्जत और सास के रुतबे का ख्याल आ रहा था, दूसरी तरफ मुझे मेरी बेटी के भविष्य की चिंता भी हो रही थी.

वो बोला- जानू बहुत दिन हो गए हैं तुम्हारी चुत को देखे, आज पूरी सफाई करके रखना. मुंबई की लड़कियों की बीएफ उसने एक कागज़ पर लिखा और मुझे देते हुए कहा- ओके अब जाओ और ये मेरा नम्बर है.

नीचे से गरमा गरम लंड चूत पेल रहा था तो होली के समय की गुलाबी ठंडक और ऊपर से फव्वारा से गिरता पानी गजब का एहसास दिला रहा था.

मुंबई की लड़कियों की बीएफ?

लेकिन यह भी सच है कित्रिया चरित्रम् पुरुषस्य भाग्यम्, देवो न जानति कुतो मनुष्यम्”देखते हैं कि जिंदगी आगे क्या-क्या रंग दिखाती है?अगर आगे ऐसा कुछ हुआ तो आप सब से अपने अनुभव जरूर बाँटूगा. बिंदु ने पूछा- क्यों तुम्हारी बीवी कहाँ रहती है?वो बोला कि अभी उसकी शादी नहीं हुई. क्योंकि मेरे ससुर बाहर जॉब करते हैं और मुश्किल से महीने में एक बार ही आते होंगे.

दिव्या हंसी- मुझे पता है, उसका दोस्त था उसका बॉस नहीं और तू इतना छिनालपने में बिजी थी कि एक बार घर नहीं आ सकी और कपड़े क्या पहने तूने रंडी. वह मेरे लिए चाय बना कर ले आई और वह मुझको चाय का कप देने लगी तो मैंने कप के साथ उसका हाथ भी पकड़ लिया था. थोड़ी देर में मैं झड़ गया और उसने मेरे लंड से निकला पूरा रस अंदर गटक लिया.

फिर मैं उसकी स्कर्ट उतारने लगा तो उसने अपनी गांड ऊपर उठा के स्कर्ट उतारने दिया. अभी दिन के 2 बजे हैं, तुम्हारी मम्मी तो 5 बजे आती हैं ना, तुम्हें कोई और काम तो नहीं है? क्योंकि झांट काटने और शेप बनाने में मुझे एक घंटा तो लगेगा. जब कभी भी उसको कहती हूँ कि यार बहुत दिन हो गए हैं… तो वो समझ जाती है कि मेरी चुत में खुजली हो रही है और मेरे लिए किसी लंबे और मोटे लंड का इंतज़ाम करवा देती है.

जैसा कि हम दोनों ऑटो की तरफ जा रहे थे, मैं तेज़ी में था लेकिन उसे देखा तो अपनी गति धीमी करके उसके पीछे चलने लगा. जिससे चाची को थोड़ा बुरा सा लगा और वो झल्ला कर बोलीं- ये क्या किया?मैंने कहा- सॉरी चाची मैं अपने आपको रोक नहीं पाया, मुझे माफ़ कर दो.

कमाल की बात ये थी कि उस दौरान हम दोनों मां बेटा के बीच में कोई बातचीत नहीं होती थी और बस खेल खत्म होने के बाद हम दोनों माँ बेटा की तरह सो जाते थे.

पर उससे पहले उसने मुझसे पूछा- फ्रिज में खाने को क्या रखा है?फ्रिज में आइसक्रीम थी, मैं जाकर ले आई.

फ़िर सेजल भाभी ने मुझे कंधों से पकड़ के बैठा कर दिया और अपनी टांगों को मेरी कमर पे लपेट कर धीरे धीरे धक्के लगाने लगीं. ”बहुत गहरी बात थी लेकिन बात तो प्रिया ठीक कह रही थी पर उस की इस बात से मेरे अन्तर्मन को गहरी ठेस लगी. मेरी अन्दर भी पूरी मस्ती छाई हुई थी, तो मैंने सोचा कि इन पलों का कुछ मजा लिया जाए.

अंजलि बोली- तुम मेरी ब्रा का हुक खोल दो! फिर आराम से दबाना!मैंने अंजलि की ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा ऊपर करके उसके निप्पल को हाथ से दबाने लगा; अंजलि को मजा आने लगा और उसने मेरी जिप खोल दी और लन्ड बाहर निकाल कर सहलाने लगी. इस बार उसने मुझे डॉगी बनाया और पीछे से अपना लंड मेरी चुत में सरकाने लगा. वो बोले- चलो रचना… अब जल्दी से घोड़ी बन जाओ… इसी तरह मुझे औरतों को चोदना पसंद है.

पर सुबह उठने से लेकर ही मुझे तो सिर्फ चुदाई की ही याद आ रही थी, पता नहीं ये दोनों मेरी चुदाई कब करेंगे.

अगले दिन मैंने उसे कॉल किया और डायरेक्ट बोल दिया- देखो, मैं सुसाइड कर लूंगा. इसके बाद क्या हुआ वो मैं आपको अपनी अगली चुदाई की कहानी में लिखूंगा. अब मैं आराम से बिस्तर पर लेट गया और दिव्या को अपने ऊपर लेकर उसके लबों को चूमने लगा.

दिव्या हंसी- मुझे पता है, उसका दोस्त था उसका बॉस नहीं और तू इतना छिनालपने में बिजी थी कि एक बार घर नहीं आ सकी और कपड़े क्या पहने तूने रंडी. बालों को लड़कियों जैसे बना कर सिंदूर लगा लेता और गालों पर पाउडर लगाना तो आम सी बात होने लगी थी. हालांकि अर्पिता का पहली बार था, तो उसको थोड़ी उबकायी जैसा लगा, पर फिर धीरे धीरे सही हो गया.

वैसे तो मुझे अपने ससुराल जाना ज्यादा पसंद नहीं है, मैं ससुराल के शहर अक्सर जाता रहता हूँ, पर कभी बिना वजह अपने ससुराल नहीं जाता.

जैसे ही कुसुम वहाँ पहुंची, वो बोला- जानेमन कुछ अपनी जवानी का जलवा तो दिखाओ. मैंने उससे पूछा- सब लोग कहां गए?वह बोली- कोई खत्म हो गया है, सब वहां गए हैं.

मुंबई की लड़कियों की बीएफ मुझे बहुत जोश चढ़ा हुआ था, अपने आप मेरे मुंह से निकल गया- अंकल तू बोला था कि बहुत बड़ा लड़कियों का चोदू है, तेरे लंड के बाद मुझे किसी की जरूरत नहीं पड़ेगी. पर उसका शरीर मेरे लंड के हमलों को सह नहीं पा रहा था और वो उसी पोज़ में पलंग पर गिर गई.

मुंबई की लड़कियों की बीएफ पहले उसे जी भर के इतना तड़फाता हूँ कि वो खुद ही बोलने लगे कि डॉक्टर अन्दर का इलाज कब करोगे?यानि उसकी चुदास भरी हरी झंडी मिलते ही मैं उसकी चूत में मेडिसिन यानि गर्भनिरोधक गोली डाल देता हूँ. आप सभी को नमस्कार और उन सभी पाठकों को बहुत धन्यवाद, जिन्होंने मेरी पिछली कामुकता भरीगर्म सेक्स स्टोरीको सराहा और मुझे मेल किए.

आपने मेरी कहानियांगरम माल दीदी और उनकी चुदासी चूत-1बहन की चुदाई कहानी का अगला भाग :गरम माल दीदी और उनकी चुदासी चूत-2को पढ़ा और उनको सराहा, इसके लिए धन्यवाद.

बीएफ मूवी वीडियो दिखाओ

इसके बाद जब मैं झड़ने को था तो मैंने दिव्या को बताया कि मैं आने वाला हूँ तो उसने कहा- मामा जी, आप मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दो! मेरे पास इसका इलाज है. उसकी चूत में लिसलिसा पानी हो जाने से मेरा लंड अब उसके चूत में आसानी से जा रहा था और उसकी कामुक सिसकारियां सुनकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. कुछ देर बाद सैम आ गया मैं और वो नाइट क्लब गए, वहां सभी बियर पी रहे थे और डांस कर रहे थे.

दोस्तो, आप जानते ही हैं कि जब हम ड्रिंक कर लेते हैं और उसके बाद सेक्स करते हैं तो जल्दी से डिस्चार्ज नहीं होते. मैडम पढ़ा रही थीं कि लंड खड़ा कर रही थीं, किसी को कुछ समझ ही नहीं आ रहा था. एक तेज़ सिसकारी लेते हुए अलका बड़े ज़ोर से छटपटाई, हाथ बढ़ा कर उसने लंड को पकड़ लिया और चूतड़ उछाल के सुपारी चूत में घुसा ली.

वो भी मेरे साइड में बैठ गईं और पूछने लगीं- कौन सी मूवी है?मैंने बोला- हॉलीवुड की है.

हां वो वाली स्पेशल वॉच ज़रूर पहन लेना, जिसमें कैमरा और ऑडियो फिट हो, ताकि पूरी रेकॉर्डिंग की जा सके. जैसे ही मैंने उनका हाथ अपने हाथ में लेकर किस किया तो वो सिहर सी गईं. इससे दो फ़ायदे हो जाते हैं, एक चुत ठंडी हो जाती है और दूसरा पॉकेट में कुछ माल भी आ जाता है.

”मैंने उसे न्यूज़ पेपर के ऊपर लेटा दिया और एक तकिया उसकी कमर के नीचे रख दिया, ताकि रोशनी की चूत थोड़ी ऊपर उठ जाए. पर उसने टांगें उठाते हुए अपने चूतड़ों की तरफ से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत पे रख दिया और एक स्माइल दे दी. उसने भी मेरा भरपूर साथ दिया और ऐसे इजहार किया जैसे वो अपने कपड़ों से मुक्ति पाना चाहती हो.

बड़े भाई के चले जाने के बाद से हमारे घर में अब मैं और मेरी माँ हम दोनों ही रहते थे. दोबारा आवाज़ लगाई… फिर कोई जवाब नहीं!अजीब बर्ताब कर रही थी लड़की!ख़ैर! मैं अपना कॉफ़ी का मग उठा कर प्रिया के दरवाज़े के पास आया और पूछा- प्रिया! ठीक हो?हूँ” की एक मध्यम सी आवाज़ सुनाई दी.

तब नवीन ने अपना लंड कसके मॉम की चुत में धकेला और मॉम के चुचों के कसके दबोच कर मॉम की चुत में ही अपने लंड का माल गिराने लगा. वैसे ही हम बोतल निकालने लगे मगर मेरी नज़र उनकी बड़ी गांड से हट ही नहीं रही थी, मेरा जी करने लगा कि उनकी साड़ी उठा कर उनकी गांड को चूम लूँ. मैंने दूसरे दोस्त को रूम के लिए बोला और बहुत खोजने के बाद होटल में एक रूम मिला.

मैंने उसकी लेगी को पूरी तरह से उतार दिया और उसे खड़ी करके उसके चूतड़ों पर दोनों हाथ रख कर उसकी चूत को चूमने लगा, उसकी खुश्बू सूंघने लगा.

दोस्तों अब मुझे उस लड़के पर बहुत गुस्सा आ रहा था और जलन भी हो रही थी क्योंकि मुझसे ये सहन नहीं हो रहा था कि कोई मेरे सामने ही मेरी बेहद खूबसूरत साली को चोदने जा रहा था और मैं साला कुछ नहीं कर पा रहा था. वो मेरे लिए खाना लाया, मेरी इच्छा नहीं थी तो उसने अपने हाथों से थोड़ा खिलाया. विनय- अच्छा क्या मेरा लंड तुमको पसन्द आया?मैं- वो तो टेस्ट करके ही पता चलेगा.

फिर अपनी प्यास को शांत करने के लिए मुठ मार लेता और अपनी गांड में फिंगरिंग भी कर लेता था. उसने मेरा लंड अपनी ब्रा से साफ़ किया और थोड़ी देर चूस कर मुझे गले लगा लिया.

अगले दिन मैंने उसे कॉल किया और डायरेक्ट बोल दिया- देखो, मैं सुसाइड कर लूंगा. अब तक आपने पढ़ा था कुसुम मुझे अपने ग्राहक के सामने बैठा कर लाइव चुदाई की फिल्म दिखा रही थी. अभी तो हम सब मिल कर तेरी गांड का भुर्ता बनाएंगे, आज तेरी गांड सुजा देंगे साली रंडी.

बीएफ सेक्सी वीडियो मोटी औरत की

आपको मेरी रोमांटिक सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है?मुझे सबकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा.

मैंने उसके मम्मों को उसके साड़ी से और उसके ऊपर के ब्लाउज से अलग कर दिया और फिर मैंने देखा. उसी रूम को पापा ने एक खिड़की भी बनवाई थी, जिससे बाहर वालों को घर के अन्दर का सब साफ़ दिखाई देता था. वो गर्म होने लगी तो मैंने उसके कपड़े उतार दिए और उसके उभरते हुए मम्मे चूसे.

सब लोग अब मेरी तरफ देख रहे थे, रोशनी को भी मेरा लंड फिर से देखने का मन कर रहा था. हाँ जी अब बताओ क्या चीज अच्छी लगी… जल्दी बताओ?”अब हम सब पर थोड़ा थोड़ा नशा तो हो ही गया था तो सब आराम से बातें कर रहे थे. झारखंड आदिवासी सेक्सी वीडियोजिम जाता है?मनन- लंड तो तुम अपनी चुत में लोगी, तब पता चलेगा कितना बड़ा है.

अब मैंने अपने शिकार पर ध्यान दिया… उसकी उम्र लगभग 25 साल होगी, रंग थोड़ा साँवला… देखने में किसी गाँव का लग रहा था, सफ़ेद रंग की शर्ट जिस पर हल्की धारियाँ थी और हल्की ढीली सिली हुई शर्ट जिसकी आस्तीनें ऊपर चढ़ी जिससे हाथों के मर्दाना बाल दिखाई दे रहे थे. मैंने देर ना करते हुए आराम आराम से चुत पर अपनी जीभ फेरना चालू कर दी.

उसको मजा आने लगा और वो जोर जोर से आहें भरने लगी, लेकिन कमरे के अन्दर होने की वजह से उसकी आवाज बाहर किसी को नहीं सुनाई दी. नशे में होने के बावजूद भी उसे बहुत मजा आ रहा था लेकिन उसे यह नहीं मालूम था कि बुर चाटने वाला उसका पति नहीं बल्कि उसके पति का दोस्त है।मुझे बहुत ही मजा आ रहा था, मैंने अगले ही पल उसकी जांघों के बीच अपने लिए जगह बना कर अपने लंड को उसकी बुर के मुहाने पर रख दिया और धीरे धीरे उसे अंदर डालने लगा. मुझे बहुत से पाठकों के मेल मिले हैं और उसमें से कुछ ने चुदाई भरी चैट करने की भी कोशिश की है.

वो बुरी तरह झटपटाने लगी। मैं मधु के कान में बोला- मैं तेरी इसी चूत में अपना लण्ड डालूँगा और तुझे अपना बनाऊँगा. मैं समझ गया कि दीदी के ऊपर भी प्यार का नशा चढ़ने लगा है, मैं भी दीदी की योनि को सहलाने लगा. मेरी बीवी की चुत चुदाई की रियल सेक्सी कहानी के पिछले भागमेरी बीवी गैर मर्द की बांहों में-1में आपने पढ़ा कि मेरी बीवी ने अपने बॉस के बेटे के साथ सेक्स रिलेशन बना रखें हैं.

तभी मैंने उसके झुके हुए होंठों के मौके का फायदा उठाया और उसके बाल में हाथ डाल कर सर दबाये रखा.

अंकल बोले- तू रंडी है और एकदम से पागल हो गई है वन्द्या। तुझसे चुदासी लड़की मैंने देखी नहीं!करीब 5 से 7 मिनट मैं अंकल का लौड़ा चूसती रही।तभी सुरेंद्र जीजा मेरे पीछे मेरे कूल्हों को फैला कर अपना बहुत सारा थूक मेरी गान्ड में लगा कर बोले- आज वन्द्या तेरी मस्त गांड मै चोदूंगा, और अंकल आप वन्द्या की चूत में अपना लन्ड घुसा दीजिए. मेरे स्पर्श से पिंकी की चूत में करंट लगा, फिर उसमें से रसीला जूस निकलने लगा.

तो भाभी बोली- ऐसी बात है तो ले आओ, मैं साथ दे दूंगी!मैंने पूछा- सच बताइये, आप पियेंगी?तो बोली- आज तुम जो पिलाओगे वो पियूँगी!मैंने वेटर को फ़ोन किया और उसको 500 का नोट दिया और अपने रूम में 4 बीयर लाने को बोला. अपने नवीन के लिए थोड़ा सा दर्द सहोगी?उसने बोला कुछ नहीं बस आँखों ही आँखों में देखती रही और मुझे इशारों में ही इजाजत मिल गई. जब पति घर पर नहीं होते हैं, तो अपनी चूत में बैंगन, गाजर और मूली डाल कर खुद को शांत कर लेती हूँ और चूत का पानी निकाल देती हूँ.

बिंदु ये सुनकर बहुत डर गई और बोली- मैं अभी ही तेरे साथ चले चलती हूँ मगर पहले मेरे सामने उस पिक्चर को डिलीट करो और मुझे वो फोन दिखाओ कि मुझको फंसाने के लिए उसमें कुछ और तो नहीं है. अभी एक कुंवारी लड़की की बुर में लंड घुसाया ही था कि मेरे दोस्त की बीवी वहाँ आ गई और थोड़ा नाराज होने के बाद वो भी हमारे चुदाई के खेल में शामिल हो गई. मैंने उन्हें नीचे लेटा कर उनकी चुत पर आइसक्रीम डाल कर चुत में धक्का दे दिया.

मुंबई की लड़कियों की बीएफ करेले की पूंछ पीछे लटक रही थी… ऐसा लग रहा था जैसे कोई मोटा चूहा दीदी की चुत में घुस रहा हो, जिसकी पूंछ बाहर लटक रही हो और दीदी अपने बालों को नोंच कर चिल्ला चिल्ला कर चूहे को अन्दर घुसने दे रही हैं. मेरी नंगी चुदाई स्टोरी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल करके बता सकते हैं।[emailprotected].

हिंदी बीएफ फिल्म नंगी

और यह मेरी पहली और बिल्कुल सच्ची कहानी है।अहमदाबाद में मेरा कंप्यूटर को ठीक करने का काम है और मैं कंप्यूटर की सर्विस लोगों के घरों में जाकर भी किया करता हूँ. मेरी नज़र एकदम उनके चुचों पर पड़ी, मैं तो देखता ही रह गया और मेरा लंड भी खड़ा होने लगा. मैं भी उनके पीछे चला गया और उनको बांहों में भर लिया और उन्होंने मना किया कि तुम्हारे पापा आ जाएँगे.

”सर आप तो बहुत बढ़िया सोचते हैं या शायद रोशनी दीदी की गांड में इस तरह से बाल घुस गए थे क्या?”वो हँसने लगी. मैंने अपना सारा वज़न अपनी कोहनियों पर ले लिया और अपनी कमर को बिजली की सी तेज़ी से चलाने लगा. मराठी सेक्सी फिल्म मराठी सेक्सी फिल्मअब पहली बार मैंने उसको ठीक से देखा था, क्या मस्त सेक्सी लड़की थी वो.

मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ और चंडीगढ़ में रह कर अपनी स्टडी कर रहा हूँ.

शायद मधु ने आज ही झाँटें साफ की थीं।मैं उंगली से चूत के दाने को रगड़ने लगा। मधु को मानो करन्ट लग गया हो. अब अर्पिता तो जल बिन मछली की भान्ति तड़प रही थी, उसकी साँसें तेज़ होने लगी और उसके साथ साथ उसके सीने पर तैनात दूध के तो बड़े बड़े गुब्बारे गुब्बारे भी हिल रहे थे.

अब तो मेरा बुरा हाल हो गया, पहली बार मैंने अपनी चाची को वासना भरी नज़रों से देखा था. मुझे देखने में तो बहुत मज़ा आया मगर मैंने कहा कि ऐसे थोड़ी ना हर किसी के आगे नंगी होकर उसका लिया जाता है. जब मेरे पति आएंगे, उस महीने में हम दोनों सेक्स करके बच्चा पैदा कर ही सकते हैं.

बिना देर करते हुए मैंने अपनी शर्ट और पेंट निकाल दी और अब मैं अंडरवियर और बनियान में था.

मैं ये सब मिंकी को समझा ही रहा था तब तक रेहाना ने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसका सुपारा खोल कर अपने मुँह में भर लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी और उसने मिंकी को एक हाथ से पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया और घुटने के बल बैठा कर उसका मुँह मेरे पोतों पर लगा दिया और कहा- मिंकी, तू इनके पोते चूस!मिंकी मेरे पोते चूसने लगी. आज मैं अपनी बीवी को पक्का चुदवाने वाला था तो मैंने उसे फोन करके बोल दिया था कि जब हम दोनों घर आएं तो वो बिल्कुल नंगी मिले और कपड़े बदलने का नाटक करे. मैं खुद उस दिन बहुत हैरान था इस बात को लेकर… लेकिन जो उस दिन हुआ, वो मैंने लिख दिया.

सेक्सी वीडियो बड़े बूब्स वालीदूसरी तरफ ये भी लग रहा था कि घर में ही माँ की दबी हुई वासना को शांत करके ठीक किया. उसने अपनी बहन को थप्पड़ लगा दिया और बोली- तू मेरी सेवा करने आई थी या मेरी जिंदगी बर्बाद करने आई थी?उसने मुझे भी खूब सुनाई और अपनी बहन को सुबह जाने के लिए बोल दिया.

बीएफ नई दुल्हन की चुदाई

वो मेरे मम्मों को घूरता हुआ बोला- उसका काम तो ऐसा है कि उसको बचाना मुश्किल है. अब मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा था, मैंने कहा- चाची अब मुझे आपको चोदना है. उस एग्जाम में मुन्नालाल सर (मेरे ईको के टीचर) की ड्यूटी लग गई और जब सर सभी स्टूडेंट्स की चैकिंग कर रहे थे तो वे मेरे पास आए और मेरी चैकिंग करने लगे.

मैंने उसे ज़ोर से जकड़ा तो वो कराह दी और अलग होकर बड़े कातिलाना अंदाज़ में बोली- आप मर्द हो कि घोड़ा, इतनी दरिंदगी से कोई चोदता है. मेरे चाचा बहुत शराब पीते हैं, उस कारण से उनकी और चाची की ज्यादा नहीं बनती है. लेकिन मैंने उनको कभी मौका नहीं दिया था।अब मैं थोड़ा पछता रही थी। मुझे पता था कि गांड चूत से कई गुना टाइट होती है।फिर उसी शाम को मेरा भतीजा आ गया, मैंने उसे खाना खिलाया और वो टीवी पर वीडियो गेम खेलने लगा।मैंने सोचा कि वो आदमी तो 35 साल का होगा.

हम दोनों एक दूसरे से बहुत मस्ती करते थे और चुदाई करने को छोड़ कर ऊपर ऊपर से सब कुछ कर लिया करते थे. कुछ देर बाद जब मैं पूरे होश में आ गई तो बोला कि नहाने से पहले मैं इस चुदाई का एक मेडल तुम पर लगा दूँगा. उसका जवाब था कि मैं झिझक रहा हूँ कि कहीं तुम्हारे घर पर कोई कुछ ना बोले.

करीब पांच मिनट की लंड चुसाई के बाद ही मेरे लंड ने तेज धार के साथ अपना लावा उगलना शुरू कर दिया, जिसे भाभी पूरा पी गईं. हमारा किस करने का सिलसिला करीब 15 मिनट चला, उसके बाद मैं उन्हें गर्दन पर चूमने लगा.

हालांकि अर्पिता का पहली बार था, तो उसको थोड़ी उबकायी जैसा लगा, पर फिर धीरे धीरे सही हो गया.

उस दिन की पूरी कहानी वन्द्या से तुम सुन लेना बालू भाई, तभी मैंने और शिवम ने दोनों ने एक साथ इस वन्द्या को चोदा था, और मैं सोच भी नहीं सकता था कि वन्द्या इतनी सेक्सी और हॉट लड़की है, इसने उस दिन आगे चूत में लन्ड और पीछे गांड में दोनों में लन्ड लिए थे और बहुत मस्त आगे पीछे से चुदवाई थी।मेरी चूत चोदन कहानी जारी रहेगी. ट्विंकल खन्ना की नंगी सेक्सी फोटोमैंने उसको चोदे जा रहा था तो सुहानी ने बाथरूम में से पूजा को आवाज़ दी और उसको अन्दर आने को बोला. भवानी की सेक्सी वीडियोपर तभी मुझे ख्याल आया कि मैं भी अपनी साली को चोद सकता हूँ क्योंकि मेरे पास उसकी इस चुदाई का क्सक्सक्स वीडियो भी है. इतने में उसने मेरे लंड को शॉर्ट्स के ऊपर से पकड़ा, जो कि पूरा तना हुआ था और उसे हिलाने लगी.

अब मेरा उससे ब्रेकअप हो गया है और वो जयपुर में रहा कर अपनी पढ़ाई कर रही है.

अब हम दोनों 69 में हो कर लंड और चूत की चुसाई का मजा लेने में लग गए. जो तुमने मेरे लिए अपने शरीर की कुर्बानी की है, उसे मैं कभी भी भूल नहीं सकूँगा. वो भी शर्माते हुए हां में सर हिला देती है और मैं उसे बांहों में भरके क्लिनिक के पिछले कमरे में ले जाता हूँ और उसे चूमता चाटना शुरू कर देता हूँ.

दोस्तो, इस कहानी के बारे अपनी प्रतिक्रिया मुझे इस ईमेल पते पर भेजें और बताएं कि सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है. मैंने उनसे पूछा- पापा आप कब आओगे?तो उन्होंने कल सुबह बोला।घर पर मैं, मेरे कजन की साली, मेरे कजन के बच्चे और दादी थी।हमारे घर में दो पोरशन हैं दादी वाले पोरशन में दादी सो गयी ओर दूसरे में मैं और डिम्पल। मेरा ओर डिम्पल का कमरा साथ साथ था। मैं अपने कमरे में अकेला सोता हूं और डिम्पल के साथ उसकी बहन के बच्चे।उस रात हमारे पास मौका था, मैंने डिम्पल को बोला- रात को कमरे का दरवाजा खुला रखना, मैं आऊंगा. मैं- क्या हम बेस्ट फ्रेंड बन सकते हैं?माँ- फ्रेंड्स तो हम हैं ही!मैं- ऐसे वाले नहीं… बेस्ट फ्रेंड्स जिनके साथ हम कुछ भी शेयर कर सकें… अपनी प्रॉब्लम्स, अपनी फीलिंग्स… चाहें वो कैसी भी हों!माँ- कैसी भी फीलिंग शेयर करने के लिए तुम अभी बच्चे हो.

साड़ी वाली औरत का बीएफ

मैं बोली- अरे मम्मी ऐसे ही कुण्डी दे गई होगी, कहीं कोई और आ गया तो?बालू बोले- आने दो… अब हम मियां बीवी बनने वाले हैं। क्यूं डरें किसी से?वो नहीं गये बंद करने गेट अंदर से!और अब सीधे मेरे चूत को फैला कर अपनी जीभ से चाटने लगे; जोर जोर से चूसने लगे और दोनों हाथों से मेरे दूध दबाने लगे. मैंने उसकी तरफ देखा और कहा- अब क्या ऐसे ही पेल दूँ?उसने कहा- कंडोम नहीं पहनोगे?मैंने कहा- नहीं चाहिए… मुझे ऐसे ही करने दो न. जो उसने हम दोनों के साथ नंगा नाच खेला था, वो सब अब सबूत के तौर पर हमारे पास था.

अब मेरा हाथ उनकी चूत को सहला रहा था और वो आंखें बंद किये पूरा मजा ले रही थी.

मुझे सतर्क रहने की जरूरत थी लेकिन एक चीज़ मेरे हक़ में थी और वो थी मेरा बिस्तर में लम्बा अनुभव.

थोड़ी देर बाद मैंने पूजा को आवाज लगाते हुए बोला तो सुहानी बोली- रुको न जीजू… वो अभी आती है. पहले ये तो मालूम चले?मैंने कहा- मैडम, अपनी प्रोफाइल 101% रियल है, पर आपका तो पता नहीं है. माला सिन्हा सेक्सीमैं उससे बोली कि मैंने सुना है कि फर्स्ट चुदाई में खून भी निकलेगा और दर्द भी बहुत होगा.

ये सुनकर उसके चेहरे पर स्माइल आ गई और वो बोलने लगी- हां कभी कोई भी प्रॉब्लम हो तो अपना अकाउंट नम्बर मैसेज करना. चाय खत्म होते ही मेरा लंड फिर से अपने विशाल रूप को धारण करने लगा तो काव्या को मैंने उंगली के इशारे से अपना लंड दिखाया. फिर वो एक ऑटो में जा बैठी, मैं भी उसी ऑटो में उसके बगल में बैठ गया.

उसका बड़ा बेटा और बेटी कभी कभी उसके घर पर आते हैं, बस दो या तीन दिन के लिए. उसने मुझे पीने के लिए एक शरबत दिया और बोली- डियर अब खुल कर सेक्सी वर्ड्स यूज करना सीख लो.

दो दिन बाद डॉक्टर ने मुझे घर भेज दिया और बोला- इससे कोई छेड़छाड़ ना करना और दो दिनों बाद आकर इसकी जांच करवा जाना.

वो इतनी बेसुध हो गई थी, जैसे वो भूल गई हो कि वो अपने नहीं मेरे रूम में है. फिर वह जल्दी से बाथरूम में गई और मैंने न्यूज़ पेपर और उसकी झांटों को कचरे के डिब्बे में डाल दिया. मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी एक फ्रेंड की संगत के कारण ये मेरी रियल सेक्स स्टोरी बन गई है.

सेक्सी चुदाई ससुर बहू की जैसा कि अस्पताल के बाहर मिले तीन जवान लौंडों ने मेरे दिमाग में हवस और गान्ड़ फाड़ू लंड की भूख भर दी थी जिससे रह रह कर मेरी आंखों के सामने उन जवान लड़कों का कातिलाना जिस्म घूम रहा था और मेरे दिमाग में उन तीनों के अलग अलग साईज़ के मोटे ताज़े लंड और मस्त चुदाई की काल्पनिक कहानी चल रही थी जिससे मेरा लंड भी खडा होकर झटके मारने लगा था. मां जोर जोर से चिल्लाने लगीं- धीरे करो, दर्द हो रहा है…वो दोनों कहां रुकने वाले थे.

मैंने उससे झूम झूम कर कहा- सर, पहले उन पेपर्स पर साइन कर दीजिए, फिर मेरी चुत में अपना लौड़ा डाल कर जो करना है, मजे से करिए. मैं और मेरी सहेली मन्दिर के तालाब में पूरी नंगी होकर नहा रही थी कि राघव जी अपने एक दोस्त के साथ आ गए. पिंकी गांड में भी लौकी घुसाई है क्या?”नहीं सर अभी सिर्फ केला ही जा पाता है.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ बीएफ

मेरे चुप रहने से उसका हौंसला बढ़ गया और वो अपनी उंगली मेरी गांड के छेद में दबाने लगा, उसकी उंगली आधा इंच मेरी गांड में घुस गई, तो भी मुझे अच्छा ही लग रहा था. मेरी क्लास में 4 मैडम और 4 सर अपने अपने सब्जेक्ट पढ़ाने के लिए आते थे. उस वक्त मैं सिर्फ़ पेंटी ब्रा में थी और मुझे इतनी शर्म आ रही थी कि पूछो मत.

मैंने पूछा कि सर आंटी (सर की वाइफ) दिखाई नहीं दे रही हैं?सर ने कहा- वो 2-3 दिनों के लिए अपने मायके गई हैं. दोस्तो, मेरे दूध बहुत सेक्सी हैं… बड़े बड़े, गोल गोल, मुलायम और बेहद नर्म.

ये तो दिन भर के लिए काम पर निकल जाते हैं और मैं दिन भर घर में बोर होती रहती हूँ.

शायद आपने भी यह बात नोट की होगी।अब मैंने अंजलि की शर्ट वहीं निकाल दी और उसकी ब्लैक ब्रा भी निकाल कर बाथरुम में ही में उसके चुचे चूसने लगा; अंजलि मेरे लन्ड को हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगी. इंसान तो क्या कोई जानवर भी वहां होता तो न चाह कर भी उसका लंड खड़ा हो जाता और पीछे से दीदी की गांड पर चढ़ाई करके लंड गांड में घुसा देता. पांच-सात मिनट बाद प्रिया थोड़ा सहज़ हो गयी और मेरी ताल पर अपनी ताल देने लगी, इधर मैं अपना लिंग उस की योनि से बाहर खींचता तो प्रिया अपने नितम्ब पीछे खींच लेती और जैसे ही मैं अपना लिंग उस की योनि में आगे धकेलता, प्रिया अपने नितंब ऊपर को उछालती।हर थाप के साथ मेरा लिंग, प्रिया की योनि में थोड़ा और ज्यादा गहरे समाने लगा.

उसकी सिसकारियाँ निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उसने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद के बीच में रखा और बोली- अब देर क्यों लगा रहे हो? जल्दी से घुसा दो ना एक बार!उसकी वासना की आग को देखते हुए मैंने भी अब देर करना उचित नहीं समझा और मैंने एक झटके में आधा लंड उसकी चूत में पेल दिया. मैंने कुछ दिन बाद जब उससे उसकी चूत की फ़ोटो मांगी तो उसने ये कहते हुए मना कर दिया कि मुझे शर्म आती है. मैंने अपनी जिन्दगी में पहली बार किसी औरत को सेक्स का मजा दिया था, वो भी सिर्फ होंठ, जीभ और उंगली से!करीब में बीस मिनट तक मैं वैसे ही करता रहा था… और वो सेक्स भी क्या सेक्स हुआ जो आधे घंटे में ही खत्म हो जाए.

मैं- इसे मैं रख कर क्या करूंगा?रीमा- तु मुठ्ठी मार लिया कर अपना वीर्य इसमे छोड़ दिया कर.

मुंबई की लड़कियों की बीएफ: अब हम दोनों 69 में हो कर लंड और चूत की चुसाई का मजा लेने में लग गए. वो भी मेरे साइड में बैठ गईं और पूछने लगीं- कौन सी मूवी है?मैंने बोला- हॉलीवुड की है.

आज के बाद हम दोनों की जिंदगी में क्या क्या मोड़ आएं… मैं नहीं जानती लेकिन जो अभिसार अभी आप के और मेरे बीच में होने वाला है, मैं चाहती हूँ कि उसका स्वरूप एक पति-पत्नी के अभिसार का हो… ना कि प्रेमी-प्रेमिका के अभिसार का. फिर नीति मैडम अपनी कोई परीक्षा देने मेरे कालेज आईं और मेरे रूम पर रुक गईं. मैंने अन्दर आकर दरवाज़ा बंद कर दिया, फिर कुछ इधर-उधर की बात के बाद मैं उसको कंप्यूटर के बारे में कुछ कुछ बताने लगा.

अब ये मामा का लड़का कहाँ बीच में आ गया?”यार तुम्हारे ससुराल वाले तुम्हारे मामा को जानते हैं.

अब दोनों हाथों से उसके आमों को पकड़ा और उसके एक निप्पल को मुंह में ले कर चूसने लगा. मैंने उन्हें बिस्तर पर चित लिटा दिया और अपने लंड पर थूक लगा कर लंड को उनकी चुत के मुहाने पर टिका दिया. वो एकदम गरम हो गई थी और मेरी पीठ पर जोर जोर से अपने नाख़ून गड़ा रही थी.