एन एक्स बीएफ

छवि स्रोत,राजस्थान सेक्स वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

सुनीता सेक्सी वीडियो: एन एक्स बीएफ, मेरी प्यासी निगाहें कभी घड़ी पर, तो कभी क्लास के मेन गेट पर ही टिकी थीं.

सेक्स व्हिडीओ डॉट कॉम

उससे मेरी सेटिंग कैसे हुई और मैंने उसे कैसे चोदा? पढ़ें इस कहानी में!दोस्तो, मेरा नाम शैलेश है और मैं भोपाल से हूँ. सेक्स सेवनदोस्तो, इसके बाद भी हम जब भी अकेले में होते हैं, तो एक दूसरे साथ चुदाई कर लेते हैं.

मैंने तेल की शीशी उठाई और उस रण्डी की गांड के छेद में तेल भरने लगा. हिंदी फिल्म सेक्सी चालूकुछ मिनट के बाद मैंने उसकी चूत को छोड़ दिया, उसकी चूत में से बहुत पानी निकल रहा था.

फिर मैंने मुँह हटाया तो चाची मस्ती से ‘आह आह उंम्ह उंम्ह …’ करने लगीं.एन एक्स बीएफ: हालांकि मुझे काफी दर्द भी हो रहा था पर उसके गर्म गर्म वीर्य की बौछार होते ही मैं भी झड़ने लगी, मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया.

मैं- नहीं, मैं तो प्रोमोशन के लिए आयी हूं, जो मुझे सीधे रास्ते पर चलते हुए कम से कम तीन साल के बाद मिलेगी।वाइस प्रेसिडेंट- मेरी कार से निकल रंडी, मेरा टाइम खराब मत कर कुतिया!मैं- ओके, तो फिर मैं तुम्हारा और उस लड़की की चुदाई का वीडियो ऑफिस में सबको दिखा दूंगी।मैंने उसे झूठे जाल में फंसाया.मैं उनका तात्पर्य समझ नहीं पाई, मैंने खुद पढ़ा है ब्रीज़र और बीयर दोनों में ही 4-6% शराब होती है.

youtube वीडियो ऑडियो डाउनलोड - एन एक्स बीएफ

लंड हाथ में लेते ही मेरी माया मॉम का मुँह अपने आप खुल गया और वो आ करके बस लंड मुँह में लेने ही वाली थीं कि मेरी नींद खुल गयी.भैया और भाभी का रोका भी तय हो गया था परंतु रोके वाले दिन आरती किसी कारणवश नहीं आ पाई और मुझे काफी मायूसी हुई.

[emailprotected]नंगी सेक्सी लड़की की कहानी का अगला भाग:प्राइवेट सेक्रेटरी की अदला बदली करके चुदाई- 2. एन एक्स बीएफ हालांकि मेरी भी इच्छा हो रही थी लेकिन मेरे मुँह से आवाज ही नहीं निकल रही थी.

वहां से मैंने अनुराग की दी हुई लोकेशन की मेट्रो पकड़ी और मेट्रो स्टेशन पहुंचकर अनुराग को कॉल किया।करीब 15 मिनट बाद मेरे सामने एक काले रंग की बीएमडब्ल्यू कार रुकी.

एन एक्स बीएफ?

फिर नेहा ने मुझे घुमा कर शीशे की तरफ कर दिया और बोली- देखना तो!मैंने सामने शीशे में देखा तो बिल्कुल हैरान रह गया. मैं चूत के आजू बाजू अपने होंठों से चूमने लगा तो गीता सिहरकर आहें भरने लगी. एक दिन जब मैंने भाभी को पल्लू करते देखा, तो उसका मुँह के साथ साथ भाभी के गोरे गोरे बूब्स देख लिए.

गीता कराहने लगी तो नीता बोली- क्या हुआ गीता?गीता मुस्कुराती हुई बोली- यार, बहुत दर्द हो रहा है नीता. समीर भैया की अब शादी हो गयी थी लेकिन अभी भी वो मेरी चुदाई नियमित तौर पर करते हैं. रेशमा ने भी मेरी बात को समझते हुए अपनी आंखें बंद कर ली और चुपचाप बिस्तर पर अपना सर रख कर लेट गयी.

वो तो अभी जवानी की शुरुआत कर रही थी और उसकी चूत में भी वासना के कीड़े रेंग रहे थे. फिर उसने मेरे बाजू में लेट कर मुझे एक लंबा किस किया और हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर लेट गए और एक दूसरे को सहलाते रहे. मुझे अपने लंड पर पहली बार किसी चूची के दूध की धार बड़ी सुखद लग रही थी.

आज तक कभी उन्होंने चूत को छुआ तक नहीं है, तो चूसना तो दूर की बात है. मैंने भाभी की दोनों चूचियों को फिर से पकड़ लिया और गांड उठा कर धीरे धीरे धक्का लगाने शुरू कर दिए.

बीस मिनट के आराम के बाद दोनों फिर से एक-दूसरे को चूमने लगे और सहलाने लगे.

मैंने अपनी सिम को दूसरे फोन पर लगा दी थी, जिससे मैंने उन दोनों की वीडियो देखने के साथ ही बॉस का फोन उठाया.

नहा धोकर बाहर आने के बाद मैंने रेशमा को मेरे बैग में से निकाल कर एक थैला पकड़ा दिया. आंटी ने बताया कि उन्होंने ललिता जी को मेरे रूम में आता देख लिया था और उनको पता चल गया था कि मैं ललिता जी को चोदता हूं. उस घर में उस वक्त तो मेरे इलावा कोई महिला नहीं थी पर मुझे यकीन था कि यहां जरूर कोई लड़की रहती है क्योंकि टॉयलेट में काफी सारे प्रसाधन थे.

मेरे कमरे में सिर्फ़ तेल और वैसलीन थी तो मैंने वसलीन ली और उसको घोड़ी बनने बोला. मॉम ने अपनी पैंटी पहले ही उतार दी थी इसलिए अब वो मेरे सामने पूरी नंगी लेटी थीं और मस्त माल लग रही थीं. हम दोनों की रफ्तार अचानक तेज हो गई और बिस्तर पर राजधानी एक्सप्रेस दौड़ने लगी.

वो हंस पड़ा और बोला- मेरी गांड कौन से लंड से मारोगी दीदी?मैं बोली- भैन चोद तेरे लिए एक डिल्डो मंगाऊंगी.

Xxx विडो चुत गांड सेक्स कहानी में पढ़ें कि भरी जवानी में विधवा होने पर मुझे सेक्स की जरूरत महसूस होने लगी थी. साबिरा के दोनों पैर मैंने उसकी जांघों को पकड़ कर फैला दिए और शिराज ने भी मेरा लंड अपनी बहन की चूत पर लगा दिया. एक दिन में सबसे ज्यादा 7 बार मैंने उसे चोदा बाकी दिन कभी 3 बार तो कभी 4 बार ही चुदाई होती थी.

मेरी चूत में बिल्कुल भी ताकत नहीं बची थी कि अब वो और पिलाई छेल सके. मैंने एक चुचे में होंठ लगा दिए और मेरी बहन मुझे अपना दूध चुसाने लगी. काफी दुकानों पर घूमने के बाद जब हमें मिलने का मौका नहीं मिला तो मैंने मां से कहा कि मैं और आरती दूसरी दुकान पर जाकर सामान देखते हैं.

एक दिन मैं जैसे ही अपने ऑफिस के लिए निकला, ठीक उसी वक्त मेरे सामने वाले फ्लैट से एक गजब का माल निकली.

पाटिल साहब- अरे बिल्कुल विराज जी, मैं कौन सा भाग रहा हूँ, बस ध्यान रहे इसके बाद आपका सारा बिज़नेस मेरे हाथ में है और मैं कुछ लिए बिना कुछ देता भी नहीं. कुछ समय तक ऐसे चोदने के बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी गांड की तरफ हो गया.

एन एक्स बीएफ उनका बेटा अतुल मेरे साथ ही खेलता रहता था और भाभी से भी मेरी अच्छी दोस्ती हो चुकी थी. मैंने कहा- मैं तो आपको बहुत सती सावित्री समझता था और आप एक ब्वॉयफ्रेंड से बात करती हो!मॉम बस सॉरी सॉरी बोल रही थीं.

एन एक्स बीएफ मतलब वो मुझे सब कुछ करने देते थे मुझ पर किसी तरह की कोई रोक नहीं थी. धारा ने अपनी छोटी सी झीनी नाइटी के अंदर कुछ पहना तो था नहीं, तो जब वो घोड़ी की तरह झुक कर शेखर के लंड को चाटने का मज़ा ले रही थी उस वक्त वो अपनी नितम्बों को मटका-मटका कर शेखर को ललचा रही थी और झुकने की वजह से उसकी चिकनी चूत की झलक भी शेखर को दिखा रही थी.

कुछ तो उसने मुँह से निकाल दिया लेकिन ज्यादातर पानी उसको पीना पड़ गया.

भोजपुरिया में सेक्सी बीएफ

उसने मुझसे छूटते ही मुझे आई लव यू ललित कहा और मैंने जवाब में फिर से स्मूच करना जारी रखा. कुछ कहानियां तो ऐसी कामुक होती हैं कि उसे पढ़कर मैं खुद गर्म हो जाती हूं. ये सब देखने के बाद भी मैंने उसे चोदा लेकिन हमेशा की तरह आज भी मेरे साथ वैसा ही हुआ और मैं जल्दी ही झड़ गया.

मैंने उसे बिस्तर पर पटका और उसकी टांगें खोल कर उसकी सफाचट चूत चाटने लगा. जब वो मेरे बूब्स को मींजते और मैं उछल उछल कर चुदवाती तो बड़ा मजा आता था. उसकी यह बात सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना न रहा क्योंकि अब यह कन्फर्म हो चुका था कि वह भी मुझसे चुदना चाहती है।मैं मुस्कुराते हुए बोला- अच्छा जी, मजाक कर रही थी?वो बोली- हां … और तुम्हारे चेहरे को तो देखो … कितना डर गए थे।मैं एकदम उसके ऊपर झपट पड़ा, एक हाथ से उसका स्तन जोर से दबाते हुए मैंने उसके होठों को कसकर अपने होठों में जकड़ लिया.

तभी माया मॉम ने भी ‘गुड मॉर्निंग मेरा प्यारा बेटा …’ बोल कर विश किया.

मैं पलंग पर आधे घुटने मोड़ खड़ा हुआ और उसकी चूत में लंड डालकर उसके बालों को घोड़ी की लगाम की तरह पकड़ कर, घुड़सवारी करते हुए अञ्जलि की चूत बजाने लगा. गीता की भावुक और कामुक बातें सुनकर मैं पूरे जोश में आ गया और अपने घुटनों के बल बैठ गया. मैंने भी उसका सर अपने हाथों से अपने लौड़े पर दबाना चालू किया और नीचे से रेशमा के मुँह पर अपनी गांड और जोर से दबा दी.

वो मेरे हाथ से एकदम से गनगना गया और उसी पल उसने अपना हाथ मेरी टी-शर्ट के अन्दर डाल दिया. उस रात मैंने निधि के साथ चार राउंड और करे और सुबह 5:00 बजे अनुराग ने मुझे मेट्रो स्टेशन छोड़ दिया और बाय बोल कर चले गए. कुछ तगड़े धक्के मारने के बाद मेरे लंड ने रस की पिचकारियां मारना चालू कर दीं.

उम्मीद की एक मीठी सी लहर शेखर के जहन में दौड़ गयी और उसने ललचायी निगाहों से धारा की ओर देखा जैसे उसे अपनी तमन्ना बात रहा हो. मन तो कर रहा था कि साली को अभी पटक कर चोद दूँ, पर मैंने अपने जज्बातों को काबू में रखा.

उनकी चूचियां मेरे सीने से रगड़ गईं, जिसकी वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया. मैं एक हाथ से उनके चूचे को दबा रहा था और एक हाथ से उनकी चूत में उंगली कर रहा था. यह कहते हुए उसका ध्यान मेरे खड़े हुए लंड पर ही लगा था और वो लंड को ही देख रही थी.

मैंने भी किरण को अब अपने आप से दूर किया और उसे अपनी पैंट की तरफ इशारा किया.

मैंने गौर किया की उसके बदन पर कई जगह काटने के निशान थे, जैसे कि उसके दूध पर पीठ पर और उसके चूतड़ों पर. मैं- मां की चूत तेरी गांडू, आंखें क्यों बंद कर रहा है भड़वे? बड़ी शर्म आ रही है तुझे कुत्ते? गांड मरवाते हुए कहां गयी थी तेरी शर्म बहनचोद. उसका पेट और कमर बिल्कुल सांचे में ढला हुआ लग रहा था, बिल्कुल छोटी सी उसकी नाभि, उसके पेट की खूबसूरती बढ़ा रही थी.

अब मैंने जल्दी से अपनी चूत की सफाई की और किचन में आकर खाना बनाने लगी क्योंकि मेरे ससुर के खाने का समय हो गया था. [emailprotected]न्यू कॉल गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:कुंवारी रंडी की बुर गांड चुदाई का मजा- 2.

मैं एक हाथ से दूध मसल रहा था और दूसरे हाथ से उसकी चूत के दाने को मसलने लगा. मैं आनन्द के सागर में गोते लगाती हुई उनकी पीठ को सहलाने लगी और बालों में हाथ फेरने लगी. ’किरण कुछ नहीं बोल रही थी, पर उसकी आंखों से साफ पता चल रहा था कि उसको भी चूत चुदवानी है.

सेक्सी बीएफ भोजपुरी वाला

हमारे घर के पास ऑटो रुकी तो मैं उसको एक किस देकर उतरी और उसने फिर से मेरी गांड मसली.

तू जिंदगी भर मुझे याद करेगी कि किसी ने बड़े प्यार से तेरी सील तोड़ी थी. मैं- तू चिंता क्यों कर रही है डार्लिंग … तुझे तो मैं बहुत प्यार से चोदूंगा. मैं यही सब सोच रहा था कि वो अचानक फिसल कर मेरे ऊपर गिर गईं और मेरा लंड उनके गांड की दरार में सैट हो गया, जो पहले ही उनके बिना ब्रा की चूचियों के छूने से और उनके पसीने से भीग चुके सेक्सी गोरे रंग को देख कर और सूंघकर जोश में आ गया था.

सुनसान रास्ता होने की वजह से मैं कहीं छुप भी नहीं सकती थी जिस वजह से मैं पूरी तरह से गीली हो गयी थी. लंड की नोक के पास पहुँच कर धारा की जीभ एक बार फिर बाहर आयी और इस बार धारा ने अपनी जीभ से शेखर के सुपारे को अच्छी तरह से सहलाया. दुनिया का सबसे बड़ा जंगल कौन सा हैकोमल ब्रा ठीक करती हुई बोली- तुमने कुछ देखा तो नहीं न!मैं- देखा है.

माया मॉम चहकती हुई बोलीं- पक्का नहीं बोलोगे … मैं जो बोलूँगी, वो करोगे?मैं- हां मॉम आज आप मांग कर देख लो. मैंने कानपुर में किराएदार के रूप में एक पूरा फ्लैट बुक किया और नौकरी की शुरुआत कर दी थी.

भैया और घरवालों को लड़की काफी पसंद आई और हमने अपनी तरफ से उन्हें रिश्ते के लिए हां बोल दी. वो छूटने का ड्रामा करती हुई बोलीं- मैं तुम्हारी चाची हूँ, कुछ तो शर्म करो. वो वासना में पूरी तरह से मदहोश हो गयी थी और उसके मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगी थीं.

वो दिखने में एकदम ऐसी कांटा माल हैं कि उनको देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए. सुमैत्री कीगांड मारने की इच्छाथी मेरी फिर से … मगर उसने मुझे उस रात अपनी गांड को दुबारा नहीं चोदने दिया. मैंने शायद शब्द इसलिए लिखा था क्योंकि मुझे अभी ये नहीं मालूम था कि साबिरा की चूत चुदी हुई है या सील पैक है.

मेघना ने भी एक एक करके बॉस के कपड़े उतार दिए और बॉस ने मेघना को अपने सीने से लगा लिया.

तभी मैंने उसे 69 में आने के लिए बोला और वो बिना लंड को मुँह से निकाले 69 की पोजीशन में आ गई. जिस्म का रंग एकदम गोरा, गुलाबी रसभरे होंठ और नशीली आंखें किसी को भी गर्म कर दें.

शायद इससे ज्यादा उसको अपनी चूत में आसानी से लंड लेने का तरीका समझ आ रहा था. ‘आह ओऊच उफ्फ्फ उफ्फफ ओह्ह मेरे मालिक 1 …’अजय ने फिर दूसरा स्ट्रोक लगा दिया. MILF सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी एक प्रशंसक पाठिका ने मुझे अपने घर बुलाया.

मैं जल्दी से अपने कमरे में आई और अपनी एक रात वाली सेक्सी नाइटी निकाल कर पहन ली. भाभी कहने लगी- थोड़े दिन तक के लिए तुम ऑफिस से छुट्टी ले लो क्योंकि मुझे रोज़ ऐसी ही चुदाई चाहिए. उस दिन के बाद तो मैं लगभग रोज शिराज के घर पढ़ाई के बहाने जाता रहा और हर बार साबिरा मेरे लौड़े के नीचे टांगें फ़ैलाकर चुदवाने लगी.

एन एक्स बीएफ फिर बोलीं- हिम मुझे प्यास लगी है, कुछ है पीने को?मैंने मजाक करते हुए कहा- क्या पिएंगी?वो हंस कर बोलीं- तुमको. वो लंड का मजा लेती हुई बोली- ओह हर्षद … कितनी जोर से रगड़ते हो, मेरे स्तन और निपल्स में दर्द हो रहा है … आह अब नहीं सहा जाता.

हिंदी औरत के बीएफ

निधि ने मुझे एकदम कस के दबोच लिया, मुझे नीचे लेकर खुद ऊपर आ गई और मेरे लन्ड को अपनी गुलाबी चूत पर सेट करके उस पर बैठ गई. मैंने सही मौका देख कर शिराज से कहा- सुन गांडू, देख साले तेरी बहन के बोबे दर्द दे रहे है, चल अच्छे से मसल मसल कर मालिश कर दे. उसकी दीवानगी अभी भी चालू है … उसको हर हफ्ते में लन्ड चाहिए।आपको मेरी पागल सेक्स कहानी कैसी लगी? कमेंट्स में बताएं.

मुझे चुपचाप देखकर मनीष मेरे पीछे आ गया और मुझे पीछे से पकड़कर मेरे दूध दबाने लगा. उसने जैसे ही देखा कि हम दोनों चुदाई कर रहे हैं, उसने कहा- ये तुम दोनों क्या कर रहे हो, तुम दोनों तो सगे भाई बहन हो. बेबी के लिए बेस्ट क्रीमसाबिरा ने भी मेरे सर पर हाथ घुमाते हुए आंखें बंद कर ली थीं- आह उफ्फ्फ्फ़ धीरे मानस … आह.

तब भी मैंने कहा- क्या ललिता जी का?वो बोलीं- मुझे सब पता है कि ललिता रात को तेरे रूम में आती है और फिर क्या क्या होता है.

उससे वो बहुत गर्म हो गयी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं- आह … इनको खा ले आशीष … आंह पूरा खा ले!मैं बारी बारे से उनके दोनों मम्मों को चूसता रहा. उन्होंने ऑफिशियल बातें खत्म होने के बाद रेशमा को कमरे से बाहर भेजा.

मेरे पूछने पर उन्होंने कहा तुम्हारे लिए मैं एक तोहफा भी लायी हूँ, वो तो देख लो. इसके अगले भाग में जस्सी के साथ चुत गांड की चुदाई किस तरह से हुई, वो लिखूंगा. जैसा कि मैंने पिछली CD गांडू सेक्स कहानी में बताया था कि मैं खुद को लड़की फील करने के लिए नए नए प्रयोग करती रहती हूं.

एक दिन मैं कंपनी से अपने रूम आ रहा था तो मेरे पड़ोस में रहने वाली एक आंटी मुझे देखकर मुस्कुराने लगीं.

मैंने जैसे ही आंटी की चूत में हाथ लगाया, वो सिहर उठीं और आह आह आहह करने लगीं. मैं आनन्द के सागर में गोते लगाती हुई उनकी पीठ को सहलाने लगी और बालों में हाथ फेरने लगी. फिर तेरे साथ कौन करेगा शादी साबिरा?मेरी बातों का असर तो अब साबिरा पर भी होने लगा था.

रसोई किचनथोड़ी देर बाद मनीष ने मेरी चूत से लंड निकाल लिया और मेरी गांड के छेद पर अपना लंड को टिका कर धक्का मार दिया. मैंने एक मिनट सोचा और कहा- ठीक है … शिमला पहुंचने के बाद देखता हूँ.

ममता कुलकर्णी की बीएफ

फिर भैया ने भाभी की बुर में भी तेल लगाया और उंगली से चूत के अन्दर तक तेल लगा कर भाभी की चूत को ढीला करने की कोशिश की. कोमल- नितिन और जोर से दबाओ, आज बहुत दिनों के बाद ऐसे कोई दबा रहा है. उम्म म्म …” इधर शेखर को भी अपना लंड किसी बहुत ही तंग छेद में जाता सा महसूस हुआ और उसने भी उन्माद से भरी आवाज़ निकाली.

वो पूरी तरह तड़प रही थी और बोल रही थी- प्रेम जल्दी से अपना अंदर डाल दो, अब नहीं रहा जा रहा!मैंने उसको बेड पे अड्जस्ट किया और धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा. पायल अपने पैरों को मेरी कमर पे बांधते हुए- राहुल … बस ऐसे ही … बस ऐसे ही … थोड़ी देर अंदर ही रह जान!राहुल पायल को चूमते हुए- जैसे कहोगी वैसे ही रहेंगे जानेमन … आज का दिन तेरे नाम है. मैं मनीष को छेड़ती हुई बोली- एक काम करो, अपनी बीवी को कुछ दिनों के लिए मेरे पति के पास छोड़ दो, वो पूरा खोल देंगे.

फिर एक दिन मुझे फोन आया ‘हैलो सुख!’मैंने भी हैलो बोलते हुए पूछा- आप कौन?‘मैं किरण बोल रही हूँ. फुल सेक्स विद फादर इन लॉ का मजा लिया मैंने! ससुर जी का लंड बहुत बड़ा था. मेरी लुल्ली में तनाव आने लगा और वो किसी पतली सी लकड़ी सी सख्त हो गई.

ये सब जानने के बाद मैंने उससे मेल पर ही उसकी फोटो भेजने को कहा और वह मान भी गई. तभी उनके हाथ में मेरी ब्रा का हुक आ गया तो उन्होंने उसे भी खोल दिया और मेरी नंगी पीठ पर वो केक लगाने लगे.

अब मैं देविका के स्तन चूसने लगा और देविका अपने दोनों हाथों से मेरी पीठ, कमर और गांड को सहलाने लगी.

ये सब देखने के बाद भी मैंने उसे चोदा लेकिन हमेशा की तरह आज भी मेरे साथ वैसा ही हुआ और मैं जल्दी ही झड़ गया. भूत कार्टूनजब मेरा लंड पूरा 7 इंच का हो गया तो मैंने लंड उसके मुँह से निकाला और नीचे उसकी चूत के छेद पर निशाना लगा दिया. सेक्सी फिल्म हिंदी में वीडियो सेक्सीपूछने पर पूनम ने बताया कि बहुत दिनों के बाद किसी मर्द में मेरी चूत को छुआ है. मैं अपने होंठ को अपने दांतों के बीच फंसा कर अपनी उत्तेजना को छुपाए थी.

तब भी भाभी को मेरेबड़े लंड की जरूरतपड़ती है, तो वो मुझे मैसेज कर देती हैं.

दोस्तो, आज मैं आपके साथ अपनी एक सेक्स कहानी शेयर कर रहा हूँ जो एक सच्ची घटना है. गीता समझ गई और मुस्कुराती हुई बोली- मतलब?मैंने कहा- मतलब अभी समझा देता हूँ. लेकिन ऐसे कोई लाकर दे दे तो मुझे मजा नहीं आता, पी लूंगी मैं लेकिन मुझे डायरेक्ट लन्ड से रस निकालकर पीना है.

मजे की बात तो ये हुई कि हम दोनों अगल बगल में खड़े होकर बात कर रहे थे. जबकि भाभी की बड़ी बहन अपनी बहन की चूचियों को दबा दबा कर मजा ऐसे लेने लगीं मानो वो भाभी का दूध निकालने में लगी हों. उन्होंने शायद ब्रा उतार दी थी क्योंकि उनके मम्मों का आकार अब कुछ अलग दिखने लगा था और उनके चूचे मस्ती से हिलने लगे थे, जो कि साड़ी ब्लाउज में ब्रा पहने होने के कारण उनकी ब्रा में कैद थे और हिल-डुल नहीं पा रहे थे.

जंगल बीएफ बीएफ

मैंने भी अपनी छाती उसके पीठ पर चिपका कर उसके गर्दन और कान को चूसने लगा. फिर भाभी उठीं और रूम के बगल किचन से सरसों का तेल लेकर आईं और मुझे देती हुई बोलीं- जान, तेल लगा कर चोदो. मेरे डैड का अपना बिजनेस है और वो हमेशा अपने काम में लगे रहते हैं, मॉम को ज़्यादा टाइम नहीं देते हैं.

कुछ देर बाद जब मैं बाहर निकला तो सुनीता का लड़का आवाज देने लगा- अंकल मम्मी ने खाना बना दिया है.

इसकी हिम्मत कैसे हुई?साबिरा ने भी शिराज की पैंट की तरफ देखा, तो उसे भी पता चल गया कि उसके भाई शिराज की लुल्ली खड़ी हुई है.

तभी मैंने उसे 69 में आने के लिए बोला और वो बिना लंड को मुँह से निकाले 69 की पोजीशन में आ गई. फिर हम सब सो गए और सुबह जब 8 बजे मेरी नींद टूटी तो मौसी और मैं नंगे बिस्तर पर थे. सेक्सी एचडी वीडियो फिल्ममैं भी चिल्ला उठी- आंह क्या कर रही है?वह बोली- चुप साली, तुझे पता नहीं था कि आज तेरी चूत की चुदाई होने वाली है और इसे साफ करना जरूरी है.

इसी बीच सोनी ने मौका देखकर अपने होंठ मेरे होंठों से छुआ कर हटा लिए और हंसने लगी. उधर पाटिल जी ने भी रेशमा को अपने ऊपर से नीचे धकेला और वो भी किरण के मुँह के सामने आकर खड़े हो गए. मैंने उससे अनजान बनते हुए पूछा- ऐसी क्या बड़ी हो गई … उतनी ही तो है.

भैया ने आज मेरे मोटे मोटे चूतड़ों को खूब करीब से मटकते हुए देखा और मेरे दोनों चूचों को भी उचकते हुए देखा था. फिर हम दोनों ने कुछ मिनट किस किया और मैंने उनके दूध चूसना शुरू कर दिए.

दोस्तो, कभी किसी लड़की की चूत के साथ गांड चाटोगे तो वो दस मिनट की जगह पांच मिनट में ही चुदने को तैयार हो जाती है.

मैं भी उसके बगल में लेट गया और कब हम दोनों की आंख लग गई, पता ही नहीं चला. मैंने भाभी की दोनों चूचियों को फिर से पकड़ लिया और गांड उठा कर धीरे धीरे धक्का लगाने शुरू कर दिए. दोस्तो, मेरी इस मस्त Xxx जीजा सेक्स कहानी में आगे क्या हुआ, वो मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी.

छोटे वाले वीडियो मैं भाभी की चूचियों को दोनों हाथों में भरकर मसलने लगा और उनकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा. साबिरा के बाल खींचते हुए मैं उसके मुँह अपने लंड को ऊपर नीचे करने लगा.

अन्दर आते ही मैं अपने कपड़े उतारकर नंगा हो गया और मेरा मोटा लंड अब आजाद हो गया. अब वो दोनों ही पूरी तरह से नंगे हो चुके थे और मेघना बॉस के लंड को पकड़ कर आगे पीछे करती हुई कुछ बोल रही थी लेकिन मुझे कुछ सुनाई नहीं दे रहा था क्योंकि कैमरे में आडियो था ही नहीं. पर जब भी आसिफ का मन होता था, तो मैं लड़की बन कर उससे चुदवाने चला जाता था … या कभी कभी ऐसे ही लड़की बन कर उसके साथ घूमने चला जाता था.

सेक्सी बीएफ फिल्म बीएफ सेक्सी

अब मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसकी चूत को देखा, तो लगा जैसे एक फूली हुई पावरोटी हो. इसी लिए मैंने किरण का मुँह भी अपने लौड़े पर जोर से दबाना चालू कर दिया. ‘कोमल, मैं नितिन … पहचाना!’उधर से 2 मिनट बाद जवाब आया- हां बिल्कुल पहचाना.

लगभग आधे घंटे के बाद शेखर की आँख खुली, उसके हाथ खुले हुए थे … शरीर पे कपड़े भी आ चुके थे!शेखर हड़बड़ा कर बिस्तर से उठा और इधर-उधर देखने लगा. खैर उसने लगातार अपना लंड रगड़ना जारी रखा … उसकी इस कोशिश ने अपना रंग दिखाना शुरू किया और अब धारा भी दर्द से राहत महसूस करते हुए शेखर की छाती पर अपनी हाथेलियों का ज़ोर देकर खुद अपनी गांड उठाने और दबाने लगी.

मेरे बिजनेस में 4 वर्कर थे, उसमें से 3 लोगों ने अचानक से झगड़ा कर लिया और मेरा ऑफिस छोड़ दिया.

आंटी ‘ऊईई ऊई आह आह … क्या कर रहे हो अन्दर तक चोट कर रहा है धीमे चोद ना …’ कहने लगी थीं. मैंने कहा- दोनों एक साथ चोदते थे क्या?वो बोलीं- नहीं, दोनों अलग अलग दिन चोदते थे. रेशमा ने फिर से मेरे दोनों गालों पर चुम्मी धर दी और कपड़े पहनने लगी.

उनके मुँह से आह आह की आवाज निकलने लगी और कमर उठ कर लंड लीलने की कोशिश सी होती दिखने लगी. बातों बातों में मैंने उसे घर पर अकेले होने वाली बात को बता दिया और ऐसे ही मज़ाक में उसे अपने घर पर आने को बोल दिया. ’अजय ने एक के बाद एक, रुक रुक कर मेरी गांड पर सटासट 10 बार मारा और अब मेरी गांड दुःखने लगी.

उसका इशारा समझ कर मैं उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही सहलाने लगा.

एन एक्स बीएफ: मेरे नीचे से छूटने के लिए उसने मुझे धक्का दिया पर मेरी ताकत के आगे उसका जोर कमजोर साबित हुआ. उस पोजीशन में ऐसा लग रहा था कि अभी पीछे से उसकी गांड में अपना लंड पेल दूँ.

मैंने उसको समझाया कि आज तेरी चूत अच्छे से खिल गयी है अब कभी खून नहीं निकलेगा. एक बार को तो मेरा मन कर रहा था कि अगर दोनों को पकड़ लूँ, तो कभी छोड़ूंगा ही नहीं. दरअसल मेरे पास उनका मोबाइल नंबर था क्योंकि मेनगेट को रात बिरात खोलने हेतु हम सबने एक दूसरे का नंबर ले रखा था.

उनके जाने के बाद मैंने टीवी पर एक ब्लू फिल्म चला दी और खुद पूरी नंगी होकर अपने दोनों मम्मों को दबाने लगी.

साबिरा- देखो भाईजान, कैसे आपकी वजह से आज घर की इज्जत किसी मर्द के हाथ से बरबाद हो रही है, आपने कहीं का नहीं छोड़ा मुझे … आअहह मानस ईस्स आंह चूसो मेरे दूध मेरे राज्जजाआ. उनकी तो उंगली भी मेरी उंगलियों से मोटी थी तो उसका अहसास भी कमाल का था।उन्होंने कहा- क्या है तुम में, तुमने कोई दवा ली है क्या? तुम्हारी चूत हर चुदाई के बाद कसती चली जाती है, ऐसा क्यों?मैंने मुस्कुराते हुए कहा- मैं काम अप्सरा हूं, पिछले जन्म में मैं काम की देवी थी, हर मर्द से चुदना ही मेरा लक्ष्य था. शिराज को भी पता चला कि अब उसकी बहन उसके सामने गैरमर्द का लंड चूसने वाली है तो उसने शर्म से आंखें बंद कर लीं.