ससुर बहू की चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,सी बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ एचडी फुल एचडी: ससुर बहू की चुदाई बीएफ, इस सबको मैं पूरे विस्तार से लिखता रहूँगा … ये सेक्स कहानी कई भागों में आपको पढ़ने को मिलेगी … मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी.

एक्स एक्स एक्स मारवाड़ी बीएफ

कमरे में घमासान चुदाई के बाद करीब दस मिनट बाद वो तीनों झड़ गए और मैं दो मिनट बाद झड़ गया. भोजपुरी बीएफ चोदने वाला‘आआह्ह …’ पिंकी आनन्द के अतिरेक में कराह उठी और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबा दिया.

अब तक की मेरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं और मनु, परमीत के घर गए थे, जिधर उसने हम दोनों को एक डिल्डो दिखाया. सेक्सी वीडियो बीएफ गांव काउसके बाद बड़ी इत्मीनान के साथ उसने अपने कपड़े पहनने शुरू किया और फिर बाल्टी उठाकर कपड़े सुखाने के लिये बारजे पर आ गयी।फिर रसोई में आकर दोपहर के खाने की तैयारी करने लगी।इस बीच मैं भी बाहर टहलने के लिये चला गया क्योंकि मैं घर में रहता तो उसको देख-देख कर या तो लंड को मरोड़ता या फिर उसको काम से रोककर चुदाई करता.

मैं उसे अपने चोदू प्रीत के फ़ार्म हाउस पर ले गई थी और अपने भाई के लिए मैंने एक कॉलब्वॉय को बुलाया था.ससुर बहू की चुदाई बीएफ: कुछ पल यूं ही चोदने के बाद संदीप मुझ पर से हट गया और उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा.

अब केला आधे से थोड़ा ज्यादा चूत में घुस चुका था और मैंने उसे वैसे ही रहने दिया.मुझे बेबस देखने के अलावा कुछ भी न कर पाने की स्थिति बनाने के बाद उसने अपना ब्लाऊज़, ब्रा, पैंटी और पेटीकोट भी निकाल दिया.

बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी फिल्म - ससुर बहू की चुदाई बीएफ

मेमना दूसरे के घर का था, जो थोड़ा दूर था, वहां आने जाने में समय भी लगता और ये तो हमारे लिए और भी अच्छा था.लगभग एक हफ्ते तक इस कार्यक्रम के बाद एक दिन शैली आई और पढ़ाई शुरू की.

इसके बाद चुचियों को मसलने के साथ ही दीदी की चुत में अपने लंड को अन्दर और अन्दर पेलने के लिए जोर जोर से झटके देने लगे. ससुर बहू की चुदाई बीएफ इस मजेदार सेक्स कहानी के तीसरे भाग में आपने पढ़ा कि शान्ति भाभी अपने साथ एक प्यासी भाभी को लेकर मेरे पास आ गई थीं और हम दोनों ने उसे गर्म करते हुए चुदाई की पोजीशन में ला दिया था.

मनु को देखते हुए उसने कहा- ये रखो … अगर इस उपहार से भी वो ना पटे, तो ये मुझे दे देना … मैं जरूर पट जाऊंगा.

ससुर बहू की चुदाई बीएफ?

जिया- आहह राज ओह याह उम्म्ह… अहह… हय… याह… राज सो हार्ड! प्लीज धीरे चोदो. मैं यही चाहती थी कि विक्की फिर शुरू करे, पर मैं बोलना नहीं चाहती थी. मुश्किल से बीस धक्के मारने के बाद मैंने अपना सारा माल उनकी चूत में ही छोड़ दिया.

तय योजना के अनुसार रात करीब बारह बजे कमरे में जल रहे नाइट लैम्प की रोशनी में मैंने अपनी पत्नी पूजा का गाउन ऊपर खिसकाया और पैन्टी उतारकर उसकी चूत को थोड़ा सहलाया. प्रीति ने तुरंत बैड की चादर हटाई और दूसरी चादर बिछा कर जिस चादर में खून लगा था उसे पानी में भिगो दिया. उसमें लड़कियों की ब्रा और पैंटी के इतने सारे डिजाइन होते थे कि मैं उनको देख कर हक्का बक्का रह जाता था.

रूम ढूंढ कर हम दोनों थक गए थे तो हम जैसे रूम पहुँचे दोनों फ्रेश होकर खाना खाने लगे. मेरे दोस्त लोग मुझ पर कॉमेंट करते थे- यार, तेरी दीदी तो काफ़ी हॉट माल है … बिना शादी के कैसे रह लेती है?कोई बोलता- यार सारी भूमिहार लड़कियां ऐसी ही होती हैं. मैंने एक मिनट तक चाची को अपनी बांहों में जकड़े रखा और उनकी चुम्मियां लेता रहा … दूध मसलता रहा.

उन्होंने मां के हाथों को पकड़ रखा था और वो अपनी गांड को हिला-हिला कर मॉम की चूत को चोदने में लगे हुए थे. निक्कर में मेरा लंड इस तरह तन गया था कि उसके थोड़ा दूर खड़े होने के बावजूद उसको टच कर रहा था.

मैं जब दरवाजे के पास पहुंची, तो मुझे लगा कि दरवाजा अन्दर से बंद नहीं है, तो मैंने दरवाजा धकेल कर देखा.

अब मैं उनकी बात को समझ गया था और उनको हर तरह से साथ देने की बात करने लगा था.

उसके बाद हम लोग वहां से निकल लिये क्योंकि वहां पर रुकने का कुछ फायदा नजर आ ही नहीं रहा था. जैसे ही उसकी उंगली मेरी चूत में गई तो मेरे मुंह से आह निकल गई और मेरा मुंह खुलते ही विवेक ने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी. मुझे देखते ही उन्होंने मुझे साड़ी पहना दी और मुझे बिस्तर पर घूंघट निकाल कर दुल्हन के जैसे बैठा दिया.

मैंने कहा- संदीप अरे ओ संदीप … कहां खो गए?उसने चौंकते हुए कहा- कुछ नहीं. दीदी- अर्णव मुझे अब नींद आ रही है, मैं सोऊंगी … तुम भी अपने कमरे में जाकर सो जाओ … बाकी पढ़ाई शाम में कर लेंगे. इसके बाद मैं फिर से आदी के रूम में गई, तो वो कपड़े पहन चुका था और उसके बेड पर मेरे ब्रा पैंटी पड़े थे.

अंदर जाकर मैंने उसकी आंखों पर पट्टी बांध दी और उसको बेड पर बिठा दिया.

जवान लड़की की नंगी चूचियां जैसे ही मेरे सामने आईं मैं उन पर टूट पड़ा. वो बोली- ट्राई करना चाहोगी?पोर्न वीडियो देखते हुए मैं गर्म हो गयी थी. मैंने कहा- आह जेठजी … बस अब आ जाओ आप!मेरी उत्तेजना चरम पर थी और मैं बिना वक्त खोये अपनी चूत में लंड लेना चाह रही थी.

एक तरफ तो मेरा मुंह उसकी चूत में था और दूसरी तरफ वो मुझे लंड चुसवाने का मजा दे रही थी. पहली बार दीदी को बहुत अजीब फीलिंग हो रही थी, लेकिन उनके पास कोई चॉइस नहीं थी. कुछ देर हम दोनों शॉपिंग करते कॉफ़ी शॉप पर रुक गए, वहां कॉफ़ी पीने लगे.

ठीक है बेटा और पढाई बिल्कुल मन लगा कर करना, अब जाओ, तुम्हें देर हो रही होगी.

दीदी बोली- अरे पी ले, जब तेरी चूत में लंड जायेगा तो दर्द का पता भी नहीं चलेगा. जैसे ही मैंने उसकी चुत को चाटना और चूसना शुरू किया, वो बस अपनी चुत मेरे मुँह में धकेलने लगी.

ससुर बहू की चुदाई बीएफ अब मैंने अपनी चूत को एक हाथ की दो उंगलियों से फैलाने का प्रयास किया और दूसरे हाथ से केले को पकड़ कर चूत में डालने का प्रयत्न करने लगी. तो मैंने सासू माँ से कहा की- मॅमा, आप यहीं रूको, मैं स्कूटी पकड़ती हूँ.

ससुर बहू की चुदाई बीएफ उन्होंने श्वेता की टांगों को फैला दिया और उसकी चूत पर अपना लंड टिका दिया. मैं बोली- नहीं … रहने दो, तुम लेकर आना और ये मत लाना, अच्छे नहीं हैं.

उसने मुझे कमोड पर हाथ रख कर झुकने का कहा और वो पीछे से लंड डाल कर मुझे चोदने लगा.

फ्यूचर मेकर

मेरे झूठे गुस्से का असर जेठजी पर हुआ, अब वो चुपचाप वहीं खड़े खड़े कभी बर्तनों को, तो कभी मुझे घूर रहे थे. मुझे पता था कि मर्द का लिंग जब औरत की योनि में जाता है तो उसको मजा आता है. मैं- क्यों … मैं तुम्हें पसंद नहीं हूँ?आलिया- राज ऐसी बात नहीं है … मुझे तुम पसंद हो, तुम हैंडसम हो, लेकिन में तुम्हारी गलफ्रेंड नहीं बन सकती.

मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मेरी बहन इस समय मेरे ऊपर बैठी है और आज वो मुझसे चुत चुदवाएगी. प्रीति का हाथ मैंने अपने लंड पे जैसे ही रखा, प्रीति ने अपना हाथ हटा लिया और कहने लगी- बहुत मोटा है तुम्हारा!लेकिन मैं माना नहीं, प्रीति का हाथ फिर से अपने लंड पे ले गया और बोला- इसे अब तुमको ही संभालना है, अब ये तुम्हारा है. ”अच्छा ये बताओ, जब मेरा लण्ड तुम्हारी चूत के अन्दर जाता है तो कैसा लगता है?”बहुत अच्छा लगता है, ऐसा लगता है जैसे सारी जन्नत मेरे करीब आ गई हो.

यह लड़का मेरी बेटी ज्योति को बहुत परेशान कर रहा है, इसीलिये ज्योति कॉलेज नहीं जा पा रही है.

वो कुछ ही पलों में गांड को बड़ी मस्ती से आगे पीछे करते हुए जोर-जोर से हिलाने लगीं. मैं भी उसके सर के नीचे से अपने हाथ डालकर उसके सर को अपने मम्मों पर दबा रही थी. ये तुम्हारे लिए ही तने हैं … आह चूस लो इनको … सारा रस निचोड़ लो इनका.

रोहित कहराते हुए- भाभी रहा नहीं जाता, करो अभी कुछ!मैं घुटने के बल फर्श पे बैठ गयी और उसका लोअर नीचे सरका था दिया. थोड़ी देर बाद मैंने जानबूझ कर अपनी कोहनी उसके मम्मों पर दबाई, तो उसने कुछ नहीं बोला … बल्कि चुपचाप मुझसे सटी हुई बैठी रही. उसने अंतिम पल में लंड बाहर निकालना चाहा, तब तक मेरे मुँह को प्रसाद प्राप्त हो चुका था.

चुत का कौमार्य भेदन के लिए यह उत्तम आसन होता है, पर मैंने इसके लिए संदीप को मना कर दिया. अभी मुझे जवानी के और मज़े लेने हैं मुझे 4-5 से और चुदने दो, फिर मैं शादी कर लूँगी.

पर अब संदीप बेरहम हो चुका था, उसने अपने विशाल लंड को वापस खींचा और फिर जोरों से जड़ तक पेल दिया. दीदी ने मुस्कुराते हुए कहा- किसी और दिन क्यों? मुझे तो तुम लोगों से आज ही बात करनी है … और रही घर जाने की बात, तो चलो मैं तुम दोनों के घर पर फोन लगा देती हूँ, फिर तो कोई दिक्कत नहीं होगी. उनका मकान दोमंजिला है, दिलीप और मीना का बेडरूम नीचे है और संगीता का ऊपर.

एक दिन सुबह सुबह रेखा आई और बोली- आगरा में मेरी छोटी बहन मनीषा रहती है.

उस दिन हम दोनों रात में होटल में ही रुके और मैंने उनको पांच बार आगे से बजाया … दो बार चाची की गांड भी मारी. मैंने जीजा को कह दिया कि अगर मैंने ज्यादा चुदाई करवा ली तो फिर मुझे मेरे पति से चुदाई करते वक्त सब कुछ झूठ कहना पड़ेगा. मैं बाहर के कमरे में पढ़ता था और अन्दर के कमरे में चाची सोई रहती थीं.

ऐसी सर्दी में मर्द के आगोश में मुझे जो सुख मिल रहा था मैं बयान नहीं कर सकती. इस पवित्र प्रेम के बीच ही मन में दबी वासना ने भी सर उठाना शुरू कर दिया.

फिर मैं स्नेहा भाभी की कमर में किस करने लगा और हाथ को प्यार से उनकी कमर पर सहलाने लगा, जिससे स्नेहा भाभी को और भी मजा आने लगा था. थोड़ी ही देर में पिंकी निकलने लगी, साथ में मेरा लंड भी पिचकारी छोड़ने लगा. यही थी मेरी मामी की चुदाई की कहानी दोस्तो … कैसी लगी … मेरे ईमेल पर कमेंट करके जरूर बताएं ताकि अपनी दूसरी सच्ची घटना आप लोगों के साथ साझा कर सकूं.

हिरोइन का फोटो

मैं पापा की बात सुनकर अन्दर से बहुत खुश हो गया क्योंकि हमारे घर में मैं और पापा ही रहते थे.

नीरज ने अपनी बहन संजू से कहा- मैं तो न जाने कबसे तुझे चोदना चाह रहा था. वो अधूरा सच कह रही थी, हमने डिल्डो के बारे में थोड़ा बहुत तो सुन रखा था, पर आंखों के सामने लंड जैसी आकृति का खिलौना पहली बार आया था. मैंने चाची को बताया कि चाची मेरा होने वाला है … जल्दी बताओ … रस कहां निकालूं.

पीछे वाले आदमी का दूसरा हाथ मेरी नाभि पर था और उसका खड़ा लंड जो 8 इंच से कम नहीं था, वो एकदम मेरी गांड पे सहला रहा था. कोई 12-15 मिनट की लंड चुसाई के बाद उसने सारा लंड माल मेरे मुँह में छोड़ दिया. हिंदी बीएफ कुंवारी लड़कियों की चुदाईथोड़ी देर में मेरा दर्द कम हो गया था और कहानी में नायक पोजीशन बदल कर चुदाई करने वाला था.

फिर उन्होंने मुझे एक तरफ पटका और मेरी टांगों को खोल कर मेरी चूत पर अपने होंठों को रख दिया. सच में दोस्तो, उसकी चुचियों का साइज बढ़ा था … पर वो एक परसेंट भी लूज़ नहीं हुई थीं, बिल्कुल उसकी छाती पर टेनिस की बड़ी बॉल की तरह उठी हुई थीं.

तभी प्रीत भी बाथरूम में आ गया और हम साथ में नहाने लगेतभी उसका लंड खड़ा हो गया और बाथरूम में ही उसने मुझे चोद लिया. तुम लोग जल्दी चाय बिस्किट खत्म करो, फिर तुम्हें मैं एक राज की बात बताती हूँ. उसने बताया- मेरी जरूरत कुछ ज्यादा ही है इसलिए सैलरी 5,000 कम लग रहा है.

मैं उनकी इस बात को सुनकर हल्के से हंस दिया और लंड को अडजस्ट करते हुए बाहर आ गया. ई … स … अनिकेत करो ना … जल्दी करो!चाची तड़प रही थी और मैं वो तड़प बुझने नहीं देना चाहता था।फिर मैंने चाची के ब्लाउज़ के हुक्स खोले तो उनकी अंदर सफेद ब्रा दिखने लगी. मैं उसकी बात पर पिघल गई और उसे कहा- ठीक है … तुम्हारी यही मर्जी है, तो कर लेना … मैं तुम्हारे लिए हर दर्द सह लूंगी.

मेरी चूत ने एक बार रस बहा दिया था, इसलिए दीदी की हरकतें मुझे धीरे-धीरे आगे बढ़ा रही थीं.

मैं- भाभी आपको पहली बार में जितना दर्द चूत में हुआ था, बस उतना ही होगा. मैंने अपने मोबाइल में एक सेक्सी ब्लू फिल्म को चला दिया और उसको टीवी पर चला दिया ताकि माहौल गरमा जाए.

प्रीत- तो यहां कौन सा डैडी आकर देखने वाले हैं?मैं- हां … लेकिन जब फ्लैट का बिल डैडी के क्रेडिट कार्ड से कटेगा, तो वो पूछेंगे ना. हर रात की तरह एक रात को मैं फ़ेसबुक पर भाभियों और आंटियों की प्रोफाइल चैक कर रहा था. एक बार तो मैं भी हैरान हो गया कि इसे अचानक से क्या हो गया? मगर मुझे पता चल गया था कि वो इस बात से खफा थी कि मैं पूनम को ताड़ रहा था.

कॉलब्वॉय टॉमी ने उसकी गांड पर हाथ से पकड़ लिया और वे दोनों किस करने लगे. ड्राइवर के मुँह से आहह … की आवाज़ निकल गयी और वो अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर मेरे बालों में हाथ घुमाने लगा. मुझे ब्रा पैंटी के सैट उपहार में मिलते थे, इसलिए मैं भी ज्यादा ध्यान नहीं देती थी.

ससुर बहू की चुदाई बीएफ शादी के बाद कुछ साल तो सब ठीक चला … पर बाद में हमारे झगड़े बहुत होने लगे कभी पैसों को लेकर तो कभी बेसिक सुख सुविधाओं को लेकर!मैंने भी और मेहनत करनी शुरू कर दी ताकि मैं और पैसे कमा सकूं और निधि को और ज्यादा सुख सुविधायें उपलब्ध करा सकूं. दीदी और श्वेता दीदी आपस में बातें करते हुए जा रही थीं और मैं उनके पीछे-पीछे चल रहा था.

பிபி ப்ளூ பிலிம்

पिछली सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मैं अपने चार यारों से चुद रही थी तो कॉलेज के दो टीचर ने मुझे अपनी चूत चुदाई करवाती पकड़ लिया था. मेरी तरफ से हरी झंडी मिलते ही दीदी के हाथों की हरकत मेरे पहले से तपते बदन पर एक नियमित गति से तेज होने लगी और उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी कोमल कंचन काया पर रख दिया. घंटे भर पार्क में बैठ कर बातें करने के बाद हम अपने अपने रास्ते हो लिये.

उन आंटी ने मुझे कहा- तुझे विभा खोज रही है।मैंने पूछा- क्या बात है?वो बोली- तेरे लिए नया जुगाड़ लगाया है।मैं भी खुश हो गया. संदीप ने मेरे चेहरे के भाव पढ़ लिए, वो पास आया और मेरे दोनों हाथ अपने हाथों में लेकर मुझे उठाया. सेक्सी बीएफ वीडियो साड़ी मेंवो कुछ सोच में पड़ गई और फिर थोड़ा रुक कर सलवार का नाड़ा खोलने लगी.

मेरे घर पर कोई होता ही नहीं था, तो कौन पूछता कि तुम्हारे कपड़े कैसे बदल गए.

चूत पर लंड लगवाने के बाद उसने लंड को थाम लिया और मैंने एक बार फिर से जोर का धक्का मारा और लंड उसकी चूत में घुस गया. मेरा एक हाथ मेरे मम्में पेट जांघ और चूत को सहला-सहला कर मुझे और उत्तेजित कर रहा था.

अच्छा बताओ, खाना क्या ऑर्डर करूं … क्योंकि बनाने की हिम्मत नहीं बची है. नायक ने नायिका की चूत में लंड आधा ही प्रवेश कराया था कि मुझे मोबाइल छोड़ना पड़ा. वो मेरा हाथ पकड़ कर बोला- मैंने तो आशा ही छोड़ दी थी कि तू मुझे वापस कभी मिलेगी.

लगभग 10 मिनट तक जांघें सहलाने के बाद सर ने मेरी पैंटी उतारी और अपनी 2 उंगली मेरी चूत में चलाने लगे.

मेरे लंड की मोटाई के आधे के लगभग उसकी चूत का द्वार खुल गया था जो करीबन डेढ़ इंच के पास था. जिसमें मैंने कल्पना की है कि मैं शिखा मामी की चुदाई किस तरह से करूंगा. अब की बार उसने मुझे दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और पीछे से मेरी चूत में लंड डाल दिया.

कुकुर वाला सेक्सी बीएफआज जो मैं कहानी सुनाने जा रहा हूं, यह एक वास्तविक सेक्स कहानी है और यह कहानी तब की है, जब मैं 19 साल का था और मेरे व मेरी पड़ोसन की चुदाई की शुरूआत से होती है. सिल्क के मुँह से जोर से सिसकारियां निकलने लगी- ईइ इशश्श शश … अआआह्ह … ईइशश्श शश … अआआहह …सिल्क के बेचैनी खुमारी बढ़ गई मैं धीरे धीरे अपनी जुबान को चूत के दरार में चलाने लगा चूत के होंठों को मुँह में भर कर चूस लेता.

जंगल में मंगल सेक्सी वीडियो देसी

एकदम से लंड घुसने से निधि चीख उठी- आह माँ के लौड़े … मार ही दिया हरामी … आअह आहह चोद दे मादरचोद … चोद ना मेरे को … आह!मैं भी हचक कर चोदने लगा- रंडी निधि चुद साली. मेरा लण्ड पूरे जोश में आ गया तो मैंने संगीता का टॉप उतारा और नीचे के कपड़े भी उतार दिये तो संगीता बोली- क्या कर रहे हो विजय ? दरवाजा खुला है और भाभी आ गई तो?नहीं आयेगी, अब नहीं आयेगी. इस तरह से मेरे कहने पर मेरी बीवी अपनी नाभि, बुर और गांड को मटका कर ऐसे नाचती थी मानो स्वर्ग लोक की अप्सरा नाच रही हो.

मैं- करना कुछ नहीं है, बस सीधे थन से दूध पीना है, मगर तुम हो कि सुनती ही नहीं हो. बस अभी टोपा ही गया था कि उसकी हल्की सी चीख निकली- उउईई मार दिया … मादरचोद … फाड़ डालेगा क्या आआ?फिर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में कसा और ज़ोर से अपना पूरा लंड डाल दिया. दोस्तो, मैं आपका रवि खन्ना फिर से अपनी और मेरी गर्लफ्रेंड मोनिका की स्टोरी के 5वें भाग के साथ हाजिर हूँ.

इसके बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे दोनों पैर अपने कंधे पर रख लिए. मैंने मीना को पूछा- तुम्हें अच्छा लग रहा है ना?वो कुछ ना बोली और हंसने लगी. इस पर उसने कहा- देखिए मैं आप लोगों को काफी समय से देख रहा हूँ, आप लोग दुकानों में गए और निकल आते हैं, ऐसे में आप बिना पसंद या जानकारी के उपहार पसंद नहीं कर सकते.

एक लम्बा किस करने के बाद मैंने दरवाजा बंद करने के लिए जैसे ही दरवाजे की तरफ देखा, वहां मोना खड़ी मुस्कुरा रही थी. भाभी की इतनी कटीली जवानी थी कि वो किसी को भी सिर्फ अपनी फिगर से ही घायल कर सकती थीं.

मैं एक पल के लिए तो हड़बड़ा गई … पर दूसरे ही पल संभलते हुए कहा- आज एक सहेली का जन्मदिन है … आज उससे पार्टी लेनी है, हो सकता है आज कॉलेज से आने में देर भी हो जाए.

पर हां अगर मम्मों की अच्छी तरह से और योग्य तकनीक के साथ अगर मालिश की जाए, तो उनमें सुधार लाया जा सकता है. बीएफ ब्लू सेक्सी वीडियो दिखाओमैंने अपने तने हुए लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए भाभी को दिखाया और कहा- देखो, कैसे उतावला हो रहा है मेरा औजार आपकी इस प्यारी सी मुनिया (चूत) को एक बार फिर से प्यार करने के लिए. बीएफ वीडियो चोदा चोदी बीएफ वीडियोमैंने उस पार्सल को रिसीव किया और अपने कमरे में ले गयी।वहां मैंने उसे खोला तो देखा उसमें दस इंच लंबा और करीब डेढ़ से दो इंच मोटा डिल्डो (प्लास्टिक या काँच का नकली लंड) था।ये तो अच्छा हुआ कि दोपहर का समय था और बाकी सब आराम कर रहे थे। अगर किसी और के हाथ ये पार्सल लग जाता तो मेरी शामत आ जाती।मैंने इनको कॉल लगाया और कहा- ये डिल्डो बहुत मोटा है. आलिया- ये तुम क्या बोल रहे हो, मैंने कभी तुम्हारे बारे में ऐसा कभी नहीं सोचा है.

आखिर मैंने फोन लगाया और गुस्से में बोला- सुन निधि … कहां है तू साली!वो समझ गई कि मैं बहुत गुस्से में हूँ.

मैं और मनु परमीत के यहां उदास चेहरे लेकर पहुंचे, शायद उनके घर वाले आज भी नहीं आए थे, क्योंकि बाहर उनकी गाड़ी नहीं थी. मैंने कहा- आह जेठजी … बस अब आ जाओ आप!मेरी उत्तेजना चरम पर थी और मैं बिना वक्त खोये अपनी चूत में लंड लेना चाह रही थी. जब तक हमारा मिलना नहीं हुआ, तब तक हम दोनों वीडियो कॉल करके एक दूसरे से खुल कर सेक्स की बात करने लगे थे.

मैं अपनी बहन के पास मुम्बई आ गया था और बाथरूम में अपनी बहन और उनकी ननद आलिया के मादक जिस्मों की चुदाई को लेकर सोच रहा था. मैंने तेजी से श्वेता की चूत में जीभ को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. फिर उसने जोर से आवाज लगाकर कहा- कल मैं तुम्हारा इंतज़ार करूंगा, तुम्हें आना ही होगा.

सेक्सी मोडल व्हिडिओ

उसकी चूत एकदम कसी हुई थी और पानी से लबालब भरी पड़ी थी।फिर मैंने उसके सारे पानी को उंगली से चाट लिया और नीचे बैठकर उसकी चूत चाटने लग गया। क्या मस्त स्वाद था, चूत चाटने का मजा पहली बार मुझे मिला था. फिर मैंने चारों लड़कियों को बिकनी पहनने को दी और जीन्स वाली लड़की की तरफ देखा. वो भी मस्त हो चुकी थी और पूरे लंड को आराम से चूत में अंदर तक ले रही थी.

फिर अंकल मम्मी के ब्लाउज को खोलने लगे … कुछ ही पलों में ब्लाउज उतार दिया.

इस लंड राइडिंग करने वाली पोजीशन में मुझे बहुत अच्छा लगता है और मैं एक बार फिर से झड़ गई.

इसलिए उनके कहने पर मैं कभी कभी अपने कपड़ों के शोरूम पर भी चला जाता था. बाहर बेटे ने जिद पकड़ ली कि रात को मूवी देखेंगे और डिनर बाहर ही करेंगे. ब्लू फिल्म सेक्सी फिल्म बीएफ फिल्मदेखते ही देखते उसके लंड ने अपना पूरा आकार ले लिया और वो उसकी पैंट में उछलने लगा.

मैंने अपने कपड़े ठीक किये और थोड़ा सा मेकअप किया और फिर से नीचे आ गयी. जब मीना अपने बालों में शैम्पू लगा रही थी, मैंने बाहर से पानी बंद कर दिया. वो मेरा हाथ पकड़ कर बोला- मैंने तो आशा ही छोड़ दी थी कि तू मुझे वापस कभी मिलेगी.

मेरे गोरे गोरे बूब्स, जो ब्लैक नाइटी में दूध की तरह चमक रहे थे और बाहर आने को मचल रहे थे. इस कारण मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने उसके मुंह में लंड को पूरा घुसा दिया.

लण्ड पर तेल लगाकर उसकी बुर में पेला तो अन्दर चला गया, उसको दर्द तो हुआ लेकिन झेल गई.

थोड़ी देर बाद अपना हाथ उसकी पैन्टी में डाल दिया और और उसकी बुर में ऊंगलियां चलाने लगा. मैंने मन बना लिया था कि दीदी की चूत मैं घर जाकर नहीं बल्कि यहीं पर चोदनी है. उसकी नाभि जैसे किसी गहरी अंधेरी गुफा के समान अंदर तक धंसी हुई थी और चूत का तो कहना ही क्या.

हिंदी बीएफ हिंदुस्तानी मैंने ऐसा रिएक्ट किया, जैसे मुझे कंडोम गिरने का कोई अहसास ही नहीं हुआ. मैं नाम नहीं लिख रहा हूँ, लेकिन आप मेरे कॉलेज का अंदाज़ा लगा सकते हैं.

अब मुझे भी मज़ा आने लगा था उन दोनों आदमियों की हरकतों पर! और मैं भी उन दोनों की इन हरकतों को एंजाय करने लगी।अब सामने वाला मेरे थोड़ा साइड में हुआ और अपनी कोहनी से मेरे बूब्स को दबाने लगा. एक दिन शाम को चार बजे मैं गया तो संगीता और मीना दोनों टीवी देख रही थीं. अब मोना ने डोली की चुत के नीचे एक तकिया लगाया, जिससे उसकी चुत कुछ खुल सी गई.

ஷகிலா தமிழ் செக்ஸ்

संदीप ने पहले तो सभी से हमारा परिचय करवाया, फिर खाना खाने के लिए कहने लगा. मगर मैंने लंड को निकाला नहीं … मैं बस उनके मम्मों को दबाने लगा और उनकी चूत को रगड़ने लगा. … पर भाई से और 8 ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाना … ये तो रंडीपना हो गया न!वो बोली- तेरी बहन में काफ़ी सेक्स भरा है … उसे रोज लंड चाहिए.

वो एक समान ढोने वाला टाटा एस ऑटो था, जिसको पंजाब में छोटा हाथी भी बोलते हैं. मेरी दीदी- अरे श्वेता कैसी हो … इतनी दोपहर में आयी हो?श्वेता- हां यार … कुछ जरूरी बात करनी थी.

फिर जोर जोर से मेरी गांड पर तमाचे लगाते हुए मेरी गांड में लंड को घुसाने लगा.

दुकान वाले को देख कर उस सांवले से बॉडीबिल्डर ने कहा- आ जा पहलवान … सुणा दे. मैं इतनी मजबूर हो गई कि मैंने अपने सामने खड़े हुए विवेक को अपनी बांहों में कस कर जकड़ लिया. मेरे होंठों के पास अपने होंठ लाकर बोला- दीदी, आपको मेरी बात सुननी ही होगी.

इससे मैं और शर्मा गई, पर खुद को सामान्य दिखाने का प्रयास करते हुए कहा- चल रे कुतिया … चने के झाड़ में मत चढ़ा, तू भी तो गजब की पटाखा लग रही है. मैं उसे शांत करने के लिए उसके होंठों को चूसने लगा और धीरे धीरे झटके लगाने लगा. ”मैंने ज्योति से कहा- अब तुम घर जाओगी और फेवीकोल की शीशी लेकर बाथरूम में घुस जाओगी लेकिन मेरा क्या होगा?इतना कहकर मैंने ज्योति का हाथ अपने लण्ड पर रख दिया.

सेक्स के बीच ऐसी रूकावट मन को बेचैन कर देती है, मैं भी दीदी को जल्दी आने के लिए कह रही थी.

ससुर बहू की चुदाई बीएफ: वो बोले- मम्मी, अगर आपको कोई ऐतराज न हो तो मेरे पास और भी ऐसे कई बड़े लोग हैं जो हमारे घर पर आना चाहते हैं. उसकी बात सुन कर मैं बोली- देख बिक्कू, मैं प्यार तो आशीष से ही करती हूं.

लेकिन जब 15 से 20 दिन की चुदाई के बाद जब जॉब का सीन आया तो सोचने लगा कि अब मैं क्या करूंगा … क्योंकि महीना खत्म होने वाला था और जॉब कुछ किया ही नहीं था. उसके बाद जीजा ने मेरी चूत में लंड के सुपारे को अंदर घुसाने का प्रयास किया. मैंने कहा- मुझे घर में इजाजत नहीं है कि मैं किसी लड़के की बर्थडे पार्टी में जाऊं.

मैंने उसकी ब्राउजिंग हिस्ट्री को खोल कर देखा तो मेरे होश ही उड़ गये.

मोना मुझसे बोली- तुम भी अपने कपड़े उतारो … इसने सब कुछ पहले ही देखा हुआ है … अब देर क्यों करते हो?मैंने अपने कपड़े उतार दिए. वो दरवाजा बंद करके आई तो मैंने उसकी पैन्टी उतार दी और अपनी लुंगी सामने से हटाकर उसकी स्कर्ट ऊपर उठाकर उसको अपनी गोद में बिठा लिया. मैंने कहा- ऐसा है, तो फिर आप मेरा भी मेकअप कर दीजिए ताकि मैं भी आपके भैया को प्यार कर सकूं.