सर का बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर सेक्सी बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

करवा चौथ बीएफ: सर का बीएफ, मैंने कहा- यार एक दो मिनट में क्या घिस जाएगा … प्लीज़ मुझे अपने होंठों का रस पिला दो.

जंगल की बीएफ दिखाएं

मैंने कहा- जब बेबी को पैदा किया था तब दर्द नहीं हुआ था?इस पर भाभी हंस दीं और मुझे चूमने लगीं. बीवी का बीएफकुछ देर के बाद मैंने महसूस किया कि वो अपनी चूचियों को हाथ से दबा रही थी.

साथ ही मैं कला में चित्रकला, मेहंदी, रंगोली बनाने आदि में निपुण होने के कारण इसके लिए आस पास के इलाके में काफी मशहूर भी था. मधु का सेक्सी बीएफतुम रात को घर आ जाना और हम दोनों ऊपर की मंजिल पर बने कमरे में मिल लेंगे.

शिल्पा मान गई और बोली- अब नहीं करना ओके … और सुबह भी होने वाली है यार.सर का बीएफ: फाइनली खूब सारी दारू, डांस और मस्ती के बाद घर वापस आने का टाइम हो गया.

मैं मौसी की चूत का सारा पानी पी गया और चाट कर उनकी चूत एकदम साफ कर दी.चाची- अब तेरी मम्मी को बोल कर तेरी शादी करनी पड़ेगी, फिर करना उसके साथ, जो तुझे करना है.

बीएफ भोजपुरी में वीडियो में - सर का बीएफ

उसी समय मुझे चाची के आने की आहट हुई तो मैं मोबाइल रख कर टीवी देखने लगा.उस वक्त तो सच में मुझे कुछ समझ नहीं आया था पर अब जब मुझे वो बातें याद आती हैं तो सब समझ आता है.

हर रविवार डाक्टर रेखा का पति डाक्टर रमेश अपनी बेटी को लेकर डाक्टर रेखा के पास आता है और सोमवार को सुबह निकल जाता है. सर का बीएफ मेरी पिछली कहानीअनकटे लंड से गांड मरवाने का मजा लियाआप सभी ने पढ़ी होगी.

उसने मेरी टी-शर्ट को पूरी तरह से हटा दिया और मेरे कानों को चूमने काटने लगी.

सर का बीएफ?

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. दिन भर मैं ऑफिस के काम में बिज़ी रहता था और घर के सारे लोग नीचे ही रहते थे. मैंने पूछा- सरसों का तेल कहां रखा है?उसने बोला- किचन में सामने से ही रखा है.

मेरी तो बुरी तरह से फटी पड़ी थी कि कहीं मौसी ये सब मम्मी को ना बता दें. मैंने महसूस किया कि उसकी सांसें भारी हो रही हैं क्योंकि उसके दूध ऊपर नीचे होने लगे थे. मैंने कॉल उठाते ही कहा- हां पम्मी आंटी … बस मैं 5 मिनट में आता हूं.

उस समय मैं अधिकांशत: घर पर ही रहता था और अलग अलग साइट पर कहानियां पढ़ता रहता था. मेरा मन तो नहीं था उसे ऐसे घर भेजने का, पर उस पर अपना इम्प्रैशन ज़माने का एक अच्छा मौका था. जो दो लोग मुझसे बात कर रहे थे, उन्होंने अपने दोस्तों को इशारा किया.

और जैसा कि मैंने बताया कि मैं अच्छी खासी मेहंदी बनाता था पर शादियों के वगैरह ऑर्डर नहीं लेता था. रियल फॅमिली सेक्स कहानी मेरे ताऊ की शादीशुदा बेटी के साथ सेक्स की है.

मैंने उनकी चिल्लपौं को नजरअंदाज किया और उनके साथ मस्ती करता चला गया.

मैं भी उसके हाथों के स्पर्श को महसूस करने लगा और अंधेरा होने के बहाने से उसका हाथ पकड़ लिया.

कुछ टाइम तक ऐसे ही रहने के बाद मैं मॉम को किस करते हुए अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा. उन दिनों हमारी डांस टीचर बहुत व्यस्त रहती थीं क्योंकि फेयरवेल पार्टी बहुत नजदीक थी. उसके चाटने से में मछली की तरह तड़प रहा था, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

नव्या भाभी ने तो मार्केट का काम बताया था मगर वो उनकी चुदाई का रास्ता था. एक दिन मेरे दोस्त भावेश का फोन आया कि उसे एक मीटिंग के लिए कुछ दिन के लिए बाहर जाना है, तब तक मैं उसके घर रह कर उसके पापा का ध्यान रख लूं. हॉट देसी आंटी सेक्स कहानी मेरे दोस्त की मामी की है, वो मेरे पड़ोस में रहती थी.

आज जब हम स्कूल बस का इंतज़ार कर रहे थे, तभी स्कूल से मैसेज आया कि आज स्कूल बस नहीं आएगी.

उसमें एक अंग्रेज आदमी और अंग्रेज लड़की किस कर रहे थे, जिसको वो बहुत मजे से देख रही थी. लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी का मजा लें उसी के शब्दों में!मैं जीनी हूँ, मेरी उम्र इस समय बत्तीस साल है. तो मैंने भी सोने का नाटक किया और उनकी गांड पर हाथ रख कर गांड को धीरे से रगड़ने लगा.

वह थैंक्यू बोलकर वापस बाहर आया और मुझसे कहने लगा- मेरे साथ ये क्या मज़ाक़ कर रहा है बे?मैंने उससे कहा- अच्छा, अगर तुझे ये मज़ाक़ लग रहा है, तो पांच मिनट रुक. इसी के साथ मैंने हाथ का कमाल दिखाते हुए उंगलियों को उसकी लैगी के कमरबंद के पास पहुंचा दिया था. मैंने झट से मोबाइल से एक ओयो रूम बुक किया और कुछ ही देर में होटल के कमरे में आ गए.

उसने मुझे बताया कि जब मेट्रो में भीड़ में मेरे पास खड़ी थी, तब वो मेरी सांसों को महसूस कर रही थी.

मैंने दीदी को अपने बिस्तर पर लिटा दिया और बिना रुके उनके शरीर के हर हिस्से को चूमने लगा. उन दोनों ने मुझे किसी काम के लिए बुलाया था तो सोचा दोनों ही काम एक साथ हो जाएंगे।एलिस्टेयर के जाने के कुछ देर बाद मैं केविन और लांस से मिलने चली गई.

सर का बीएफ यह बात सुनकर मैंने चाची से कहा- आप जो मर्जी कह देना, लेकिन फिर आप मेरा मरा हुआ मुँह देखोगी. फिर मैंने कहा- अच्छा एक बात बताओ … अगर तुम्हारे घर में कोई दिक्कत नहीं होती, तो क्या तुम हां बोल देती?शिल्पा बोली- हां तो बोलती, पर पहले उसका व्यवहार देखती.

सर का बीएफ इतने में लाइट आ गयी और अब जो उसका चेहरा मुझे नज़र आया … आह दिल में से आवाज़ आयी. वाह क्या स्वाद और खुशबू थी चूतरस की … मैंने अपनी जीभ बाहर निकाली और अपने मुँह को चूत के मुख पर रखकर बहने वाला चूतरस पीने लगा.

जल्दी से नीचे जाकर मैंने लंड को धोया और सोचने लगा कि अगर अभी फिर से अन्दर चला गया तो शायद बात ना बने.

गोपी के सेक्सी

मैं बोली- हां मेरे धीरू, आज मैं तुम्हारे साथ औरत का पूरा सुख लूंगी. कॉलेज सेक्सी गर्ल की कहानी में पढ़ें कि दो सहेलियां आपस में लेस्बियन सेक्स करके अपनी अन्तर्वासना को कैसे दबाती थी. वैसे तो देखने में मैं हैंडसम था लेकिन छोटे शहर से आने के कारण मुझे शहर के चलन के बारे ज़्यादा कुछ पता नहीं था.

लॉकडाउन के दैरान हमें जब भी मौका मिलता, हम दोनों चुदायी कर लेते थे. उसके बाद अब हार्दिक और मैं बारी बारी से शनाया को एक ही बेड पर चोदने लगे हैं. मगर चुदाई का मजा इतना ज्यादा आ रहा था कि दर्द को हम दोनों ही भूल चुके थे और धकापेल चुदाई चल रही थी.

उसके बाद से जब तक हमारे घर वाले जब तक नहीं आ गए, हम दोनों रोज 3 से 4 बार चुदाई कर लेते थे.

अब हम धीरे धीरे रोज चैटिंग किया करते, पर अब भी मेरा मन उसके लिए साफ था. उनकी तरफ से बेफिक्र होने के बाद मैंने लाइट जला कर देखी तो सौम्या डार्लिंग की चूत खून से लाल हुई पड़ी थी. इसलिए मेरे दोस्त, यहां तक कि अड़ोस-पड़ोस के बच्चों से लेकर बड़ों तक बहुत से लोग मुझसे जलते थे.

तभी निशा भाभी ने मेरे दोनों हिप्स को बहुत सख्ती से पकड़ा और अपने मुँह की तरफ खींचने लगी जैसे वो मेरे लंड को पूरा खा जाना चाहती हो. जब वो कोई टाईट ड्रेस पहनती हैं, तो उनके मम्मे और गांड पूरे उभर कर सामने आ जाते हैं. उससे मेरी सेटिंग कैसे हुई और मिने उसे कैसे चोदा? मजा लें पढ़ कर!दोस्तो, मेरा नाम नवीन है और मैं गुजरात एक प्रख्यात जिले के गांव में रहता हूं.

मैं सोच ही रही थी कि जेठ जी ने मुंह को पकड़ कर लन्ड अंदर डाल दिया।जेठ जी मेरे बालों को पकड़कर मुंह में लन्ड अंदर बाहर करने लगे।मेरे गले में गहराई तक लन्ड जा रहा था और मेरे मुंह लार सी निकालने लगी. फिर अचानक से पीछे घूमकर उसने अपनी गांड को मेरी तरफ कर दिया और कमर में झुककर चड्डी नीचे पैरों में ला दी.

थोड़ी देर में शिल्पा ने मेरी टी-शर्ट को ऊपर करके निकाल दिया और साथ में बनियान भी निकाल दी. हॉट भाबी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेट्रो में एक अमीर भाभी से मेरी दोस्ती हुई. दीदी मेरे एक बगल में बैठी थीं और नीरजा दूसरी बगल में!हम दोनों टीवी देख रहे थे.

रात के 12 बजे हम जाएंगी और न्यूड साइकलिंग करेंगी। और अभी आज की भी रात है तो आज रास्ते का मुआयना भी कर लेंगी।”भैया जी सुनो!” घर वापिस जाते हुए हम उस गैराज वाले के पास रुकी।भैयाजी, आपके यहाँ पर साइकिल भाड़े पर मिलती है क्या?” सीमा ने पूछा।नहीं मैडम!” बिना ही हमारी ओर मुड़े उसने जवाब दिया.

मैं भी जल्दी से उसके नाईट सूट के ऊपर से ही चूचों को दबाने लगा हुआ था. मैं तुम्हें हर वो खुशी देना चाहता हूँ, जो तुमने कभी अनुभव नहीं किया. कहानी के पिछले भागNRI भाभी की गांड मारने की तैयारीमें अब तक आपने पढ़ा था कि फ़लक ने फिर से अपनी गांड मेरे लंड पर टिका दी और गांड में लंड अन्दर लेने लगी तो मैं हैरान रह गया कि ये दर्द होने बावजूद भी गांड मराने को रेडी हो गई है.

मैं उनके नितम्बों को अपनी हथेलियों से उठाता हुआ चूत में लंड चलाने लगा और होंठों को चूसने लगा. मैं जितने ज़ोर से उन्हें दबा कर चोद रहा था, आंटी भी नीचे से उतने जोश के साथ मुझे पकड़ कर चुदवा रही थीं.

मैंने ध्यान दिया कि दीदी जल्दी जल्दी में ब्लाउज में से निकल रहे अपने दूध को अन्दर करना भूल गयी थीं. कहानी के पिछले भागअंग्रेज टूरिस्ट का लंड मेरी गीली चूत परमें आपने पढ़ा कि मैंने एक अंग्रेज टूरिस्ट के साथ चलती बस में सेक्स का मजा ले रही थी. मैंने पूछा- आपकी शादी को कितने साल हो गए?भाभी ने बताया- शादी को 5 साल हो गए हैं.

चोदते हुए सेक्सी पिक्चर

वो उसमें एक वीडियो देख रहा था जिसमें एक लड़का लड़की की स्कर्ट ऊपर करके किचन में चोद रहा था.

आंटी की चूत बहुत टाइट थी पर मेरे लंड पर लगे उनके मुँह के नमकीन अमृत और उनके चूत के पानी ने हमारा काम कुछ आसान कर दिया. उसने मेरे लंड पर रबड़ी लगा कर खूब चूसा और उसकी चूत में रबड़ी वाला लंड डाला, तो उसने उसका भी स्वाद अपनी जुबान से चखा. मैं- हां … तो बताओ सौम्या डार्लिंग … तुम्हें कुछ याद है कि तुमने नसबंदी कब करवाई थी?सौम्या डार्लिंग- ये ठीक ठीक तो याद नहीं है, लेकिन तू अपने जन्म के एक महीने पहले के टाइम पर चले जाना और मुझे नसबंदी से रोक लेना.

अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगी कि विलियम ने कैसे मेरी गांड मारी और उसके दोस्त के साथ मैंने क्या क्या मजे किये. मैं आहिस्ता आहिस्ता चलकर बाथरूम से बाहर आ गया, सरिता से पूछा- अब कैसा लग रहा है?सरिता मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- बहुत मस्त हर्षद … बहुत मजा आ रहा है. ब्लू फिल्म बीएफ दिखाएंरेखा के मुलायम होंठों ने मेरे लंड के सुपारे को कसकर पकड़ रखा था और उसकी गीली मुलायम जीभ मेरे सुपारे पर गोल गोल घूम रही थी.

मेरा एडमिशन कॉलेज में हो चुका था परन्तु अभी वहां जाने के लिए एक महीना का समय था. जैसे लंड टाइट हुआ, चाचा जी ने जरा भी देर नहीं की, वे तुरंत अपना लंड दीदी की बुर में डालने लगे.

उसे न जाने ऐसा क्यों लगता था कि हम दोनों उसके लिए कुछ सरप्राइज प्लान कर रहे हैं. रेखा अपने दोनों हाथों से मेरा सर सहलाने लगी और मेरा सर अपने स्तनों पर दबाने लगी. मेरा लंड जाकर अन्दर किसी चीज़ से टच हुआ, जिससे मॉम को बहुत दर्द हुआ.

मैंने सौम्या डार्लिंग से रुकने को रिक्वेस्ट की और कहा- मैं घर पर अकेले बोर होता रहूंगा. वीना कुछ देर सोचने के बाद बोली- चाचा मेरे पैर और कमर में चोट लगी है. बीस धक्के मारने पर मेरा भी निकलने वाला था, मैंने रेखा से पूछा- वीर्य कहां लोगी?रेखा बोली- तुम अपने लंड का अमृत मेरी चूत में ही छोड़ दो.

चूंकि रिश्ते में उम्र में भी वह मुझसे छोटा था तो उसने मुझसे नमस्ते किया और अन्दर आ गया.

कुछ देर इसी तरह चोदने के बाद जब चूत पूरी गीली हो गई, तो उसे भी अब मज़ा आने लगा. उस समय उनके लिए मेरे मन में ऐसा कोई इरादा नहीं था मगर मुझे भी वो काफी हॉट एंड सेक्सी लगी थीं.

उसने आधा लण्ड मेरी चूत में पिरो दिया था और वापस थोड़ा खींचकर एक जोरदार झटका दिया और एक ही झटके में पूरा का पूरा का पूरा कड़क लण्ड चूत में समा दिया. सौम्या बोली- पागल, ये क्या किया?मैं बोला- अभी मन भरा नहीं था इसीलिए तुम्हारी दोबारा चुदाई करने चला आया. हैलो फ्रेंड्स, मैं गौरव आपको देसी आंटी सेक्स कहानी में अपनी पड़ोसन पम्मी आंटी की चुदाई की कहानी सुना रहा था.

पूरे लंड को अन्दर रख कर मैं उसके होंठों और मम्मों को चूसने सहलाने लगा. मैंने भी देर न की और जल्दी जल्दी लंड हिलाते हुए अपना सारा माल नीचे फर्श पर निकाल दिया और कमरे से निकल गया. मैंने झट से उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए इससे सरिता की आवाज अन्दर ही दब गयी थी.

सर का बीएफ हॉट सिस्टर Xxx कहानी मेरे भाई के साथ शुरू हुए सेक्स के आकर्षण की है. उन्होंने कहा- अरे हर्षद तेरे पिताजी घर में रहते हैं … तो हम वो सब कैसे कर सकते हैं.

सपना चौधरी की ब्लू पिक्चर सेक्सी

मैंने बस कुछ ही देर किस किया और एकदम से उसके कपड़े निकाल दिए, उसे बस ब्लैक ब्रा और ब्लैक पैंटी में छोड़ दिया और मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए. मैं घर आ गया और बाथरूम में जाकर उसको सोचते हुए आंख बंद कर, अपने लंड को हिलाने लगा. मैं बोला- अंकल जी, आप न … मुझे अपनी बीवी ही समझ लो … मेरे कहने का मतलब मेरी तरफ से आपका ध्यान रखने में कोई कमी नहीं आएगी.

देखते ही देखते मैं पोर्न, कामुक किताबें, सेक्सी कहानियां इनका नियमित एडिक्ट बन गया. मेरे परिवार में एक बड़ा भाई, मैं और दो छोटी बहनों के साथ मेरी मम्मी रहती हैं. सरदार जी बीएफमैं उसके दिल के हावभाव अच्छी तरह से समझ रही थी लेकिन मैं सिर्फ मुस्कुराती रही.

ये सुनकर मैंने तुरंत उसकी शर्ट के बटन खोल दिए और उसके नंगे हो चुके दोनों मम्मों को चूसने लगा, जोर जोर से दबाने लगा.

ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, इसमें कोई गलती हुई हो तो मुझे माफ़ करना. थोड़ी देर में दोनों ही साफ होकर कम्बल में घुस गए और अभी भी हम दोनों ने कपड़े नहीं पहने थे.

वो बोली- मैंने अभी तक किसी का लंड तो छोड़ो अपनी उंगली को भी अन्दर नहीं लिया है. मुझे इतनी सारी औरतों को सौम्या के कमरे निकालना था, वो भी इस तरह से कि हम दोनों ही कमरे में बचे रहें और किसी को भी हम पर शक ना हो. तू ये बोल रहा था कि तूने आज तक किसी लड़की को नंगी देखा ही नहीं है, परन्तु आज तूने मुझे पूरा हिला कर रख दिया है.

टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है … मगर सभी से दूर ही रहना, क्योंकि कोरोना की पूरी जानकारी अभी नहीं मिली है कि ये कैसे घात करता है.

फिर उसने अपनी कमर हिलाकर मेरा हाथ अपनी चूत पर अडजस्ट किया और मेरी कमर के नीचे तकिया रख दिया. मैंने कहा- एक चॉकलेट से कोई वजन नहीं बढ़ता और दूसरी बात ये कि तुम अपनी तारीफ सुनना चाहती हो ना … मोटी, अरे एकदम सेक्सी लगती हो. मैं बेडरूम के पास जाकर रुक गई और पलट कर मुकेश की तरफ देखा; उसे आंखों ही आंखों में बेडरूम में आने का न्यौता सा दे दिया.

बीएफ सेक्सी कथाइसके बाद नीरू ने खुद ही अपने मुँह को मेरे लंड पर लगा कर उसे चूमा और कहने लगी कि मेरा कमीना बड़ा प्यारा है. वो इठला कर बोली- जिधर चाहे ले चलो मेरे बलमा … बस मुझे तो तेरे उसका प्यार चाहिए.

सौदी अरब सेक्सी

छत पर जाते ही मैंने चाची के मोटे-मोटे बोबों को याद करते हुए मुठ मारी और सो गया. तब भी मैंने चाची को आंख दबा कर संकेत दे दिया कि हां चाची दूध गर्म कर लो, मैं पियूंगा. वे हंसे- अच्छा बीवी के मारे इधर उधर मुँह मारने में गांड फटती है, कब शादी हुई?रनवीर- छह माह पहले.

जय मेरी चूचियों को पीते हुए मेरी बुर में अंगुली डाल कर सहला रहा था. तो उसने पैर रख दिया कमोड पर!उसके बाद मैं नीचे को बैठा और अपने हाथों से उसकी गांड को फैला दिया और उसकी चूत, और गांड चाटना शुरू कर दिया. कमरे में घुसते ही मैंने गेट पर लॉक लगा लिया और पागलों की तरह उस पर झटप पड़ा.

ऐसे ही एक दिन जब मैं उसे पढ़ा रहा था तो वो मेरा हाथ पकड़ कर अपने पेट के पास लगा कर बोली- देखो मैं मोटी हो गयी हूँ. वो बोला- यार यहां कोई देख लेगा … बाहर गाड़ी में चलें!मैंने बोला- चलो. शिल्पा बोली- ना जी ना … तुम तो मेरी पूरी ही जान निकालने में लगे हुए हो … अब नहीं.

तो हर्ष ने अपनी जीभ से कुछ थूक नीचे सरकाया और अपनी एक उंगली नेहा की गांड में भी कर दी।नेहा कसमसाई पर फिर उसको मजा आने लगा।हर्ष पिला पड़ा था उसकी चूत और गांड के छेद पर!नेहा की चुसाई इतनी असरदार थी कि अब हर्ष को लगने लगा कि अगर उसने अपने को नेहा से नहीं छुड़ाया तो उसका लंड तो नेहा के मुंह में ही खाली हो जाएगा।उसने नेहा से कहा- अब मुझे ऊपर आने दो. हिन्दी चुत चुदाई कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन के दौरान पुलिस से बचता हुआ मैंने एक अनजान घर में घुस गया.

जबकि मैं तो ये सोच रहा था कि कहीं मौक़ा मिला, तो मुझे भी चाची कि जवानी पर हाथ फेरने का मौका मिल जाएगा.

सौम्या ने कुछ देर बाद मुझे बुलाया और बहाने से एक चिट दी, जिसमें उसने मुझसे मिलने का प्लान बताया. भोजपुरी बीएफ साड़ीमैंने ड्रामा करते हुए पूछा- क्या दिखाएगा?वो आंख दबा कर बोला- परफोर्मेंस. दिल्ली कॉलेज की बीएफमुझे राहुल की बात सुन कर कुछ समझ नहीं आया कि मैं अपने घर में क्या कह कर राहुल के साथ उसकी चाची के घर जाऊंगा … और राहुल भी मुझे साथ ले जाकर अपनी चाची को क्या बताएगा कि मैं कौन हूँ और इधर क्यों आया हूँ. उन्होंने जीजा के सामने फॉरमॅलिटी के लिए मुझसे फिर से घर आने को कहा.

फिर हम दोनों ने चैकआउट किया और रीटा को पंजाब में किसी शादी में जाना था तो वो बस से जाने वाली थी.

हालांकि मुझे भी कोरोना का इन्फेक्शन हो चुका था लेकिन बहुत हल्का था, मैं ठीक हो गया था. सरिता भी ये सब चाहती थी लेकिन ना ना करके मेरे लंड को गर्म कर रही थी. यह देखकर चाची बोलीं- क्या बात है आज चाची पर कुछ ज़्यादा ही प्यार आ रहा है?मैंने कहा- चाची, मैं तो आपसे बहुत प्यार करता हूँ.

चूंकि मेरा भाई रोहन समीर से डरता भी था और उसे मेरी कामना के बारे में पता भी था इसलिए रोहन समीर से कुछ नहीं बोला. मेरे बालों को उसने एक साथ करके पकड़ा और खींचते हुए बोला- मेरी जान, मैंने कब से इस समय के लिए इंतजार किया है. दोस्तो मैंने अपने पीहर में एक ही रात में पापा और भैया दोनों के लंड का पानी अपनी चूत में ले लिया था.

देवर भाभी का सेक्सी साड़ी में

सौम्या झड़ गई थी लेकिन उसे आज उत्तेजित होने के लिए ज्यादा समय नहीं लगा. फिर क्या था मैंने एक झटके से अपने हाथ से उसकी एक चूची को पकड़ा और अपने दूसरे हाथ को उसके कंधे के नीचे से ले जाकर उसके दूसरे बूब को पकड़ लिया. मैं भी अपने दोनों हाथ उसके गले में डाल कर चुदाई का पूरा मजा उठा रही थी.

तो फिर उसने भी मुझे जोर-जोर से गोद में उछालना शुरू कर दिया अपने लण्ड पर और जबरदस्त तरीके से मेरी चूत में लण्ड देने लगा.

मुझे मेरे एक दोस्त ने अपने एक जानने वाले फिजियोथैरेपी के डॉक्टर के पास मुझे रखवा दिया.

टीना और नव्या भाभी दोनों की चूत पूरी गुलाबी थीं लेकिन टीना की कुंवारी चूत मैंने चोदी थी तो उसकी चूत एकदम गुलाब के फूल की पंखुड़ियों जैसी मुलायम थी. फिर मैंने एक तेजी से एक और धक्का मारा तो मेरा लंड चुत चीरता हुआ अन्दर तक घुस गया. एक्स एक्स ओपन वीडियो बीएफअब मैं मिनी की ब्रा को खोल कर उसके चूचों को हल्के हल्के दबाते हुए चूसने लगा.

वो मेरे आते जाते समय मुझे घूरते रहते हैं लेकिन मुझे उनमें से कोई भी अच्छा नहीं लगता था. कुछ देर बाद उसने अपना पूरा मुँह मेरी चुत में डालकर मेरे एक स्तन को अपने एक हाथ से पकड़ लिया, दूसरे हाथ से वो मेरे चूतड़ों को दबाने लगा. वो भी आवाज़ देते हुए आयी लेकिन अंधेरे में उसे कुछ दिख नहीं रहा था।मैं एक खाली जगह पे खड़े होकर अपने पैर पटकने लगा जैसे ऊपर चढ़ रहा हूँ।मुग्धा भी ‘दामाद जी’ कहती हुयी आयी.

पत्नी ने एक हाथ पीछे लाकर मेरा लंड मुट्ठी में पकड़ा और मुठ मारने लगी. मैं 23 साल का नौजवान था लेकिन मैंने अब तक कभी भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं बनाई थी.

दोस्तो, ये थी मेरी पहली प्रेग्नेंट होने की सेक्स कहानी, आप लोगों को फ्री फैमिली सेक्स Xxx कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताएं.

इतने में निशा पीछे से बोली- वाह अमित … आपने तो इतनी अच्छी बॉडी बना रखी है. उसने मुझको 4-5 जोरदार थप्पड़ लगाए और गालियां भी भी देना शुरू कर दीं- साले बहन के लंड गांडू भोसड़ी के भड़वे साले … सही से लेता रह भैन के लंड भोसड़ी के गंडमरे भड़वे आज तेरी गांड बहुत रगड़ कर मारूंगा. वो बोली- चूऊऊहाआ …इतने में चूहा भी भाग चुका था … लेकिन फिर भी वो मेरे पास चिपकी रही.

भारतीय इंडियन सेक्सी बीएफ लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं घर में अकेली रहती हूँ, मेरे पति की जॉब दूसरे शहर में लग गयी थी. तुम तो मुझे ऐसे चोद रहे थे, जैसे कोई नई लौंडिया पटाने पर उसे चोदता है कि साली छड़क न जाए.

उसने कहा था कि लास्ट एग्जाम के बाद मैं तुम्हें अपने फ्लैट बुलाऊंगी, वहीं पार्टी करेंगे. वो क्या सीन था … उनके दूध ऐसे साफ दिख रहे थे कि उन्हें देख कर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया और उनको सलामी देने लगा. हार्दिक ने अब अपना हाथ शनाया की चूत पर रख दिया और वो चूत रगड़ने लगा.

mp3 सेक्सी वीडियो डाउनलोड

जिस पर चाची बोलीं- हां ठीक है तुम नहा आओ … बाथरूम किचन के साइड में है. और साथ ही उससे मजाक में टच करने की भी कोशिश करता था ये देखने के लिए कि उसके मन में क्या है. निशा ने आज काले रंग की जींस पहनी हुई थी, उस पर लाल रंग का टॉप पहना हुआ था.

बारह बजे वो वहीं पर पहुंच गयी जिधर उसने मुझे इंतजार करने के लिए कहा था. जिसके बाद वो पराँठे बनाने में लग गई और मैं भी किचन में खड़ा होकर उससे बाते करने लगा.

मैं बोली- मैं भी मम्मी के रूम में जाऊंगी और बोलूंगी कि मुझे यहीं तुम दोनों के साथ ही सोना है.

उसके मुँह से निरंतर आवाजें निकल रही थीं ‘आंह बस कर यश … आहह … ओह … अहहह …’काफी देर तक मैं उसकी ऐसे ही चुदाई करता रहा. गीली चूत में लंड अन्दर बाहर करने से पच पचा पच की आवाजें गूंज रही थीं. अंकल ने मुझे बांहों में भर के सीधा किया और बोले- सन्नो मुझे तुम धीरू ही बुलाओ … और चिंता मत करो.

ऐसे तो मैं अपनी महिला ग्राहकों के भी स्तनों को देखता था, पर वीना मेरी उम्र से 4 साल छोटी थी. उन दिनों त्यौहारी छुट्टी थी और मेरे पास कुछ काम लंबित था इसलिए मैंने घर न जाकर केवल फ्लैट में रहने का फैसला किया।यहाँ रहने का एक और कारण यह था कि मैं काम के लिए कुछ अवकाश चाहता था।मैं फिल्मों का आनंद लेता हूं और यहां-वहां घूमता रहता हूं इसलिए मुझे एक ब्रेक की जरूरत थी।दोपहर के करीब 11. मैं थोड़ी देर सोने का नाटक करने लगा ताकि मुझे सौम्या की फीलिंग्स का पता चल सके.

इससे उनको भी मजा आने लगा और वो मेरे 8-9 झटकों में ही झड़ने को हो गईं.

सर का बीएफ: उस समय हमारे बीच में चुदाई की कोई बात नहीं होती थी, बस किस वगैरह की बात होती थी कि किसने स्कूल में किसको किस किया, कौन किसकी गर्लफ्रेंड है. उनकी बात सुनकर मैं देर ना करते हुए मज़ाक में बोला कि नव्या भाभी आज मेरा लंड शांत ही नहीं हो रहा है.

रवि कहने लगा- आंह और ज़ोर से!उसके बाद रवि को पेट के बल लिटाकर विशाल ने अपना लंड रवि की छेद में डाला और उसके ऊपर लेटकर चोदने लगे. कभी मेरी कमर, कभी जांघ, तो कभी मेरी चूची, नाभि हर तरफ उसकी जीभ चल रही थी. इसके बाद सुबह जब हम सब चाय नाश्ता कर रहे थे तो चाची की नजरों में मुझे एक कामवासना से भरी हुई आग दिखाई दी.

एक दिन मैं अपने काम से शाम को घर वापस आया तो मेरी मां ने बताया- वीना छत पर कपड़े सुखाने गयी थी और वापस आते टाइम उसका पैर सीढ़ियों से फिसल गया.

मैंने कहा- क्या उन्हें नींद की गोली दे दी थी?वो हंस दी और आंख दबा कर वापस चली गई. वो भी बेचारा क्या करता अगर कुछ बोलता, तो समीर उसे और गाली बकता, इसलिए वो चुपचाप जाकर टीवी देखने लगा. मैं बीच बीच में उसकी चुत के दाने को दांतों से पकड़ कर हल्के से उसको काट भी देता था जिससे वो चिहुंक जाती थी.