हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ सेक्सी एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ कैसी: हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी, सभी दोस्तो को मेरा प्रणाम। मैं शुभम कपूर एक बार फिर आपके सामने इंडियन भाभी सुहागरात Xxx कहानी लेकर प्रस्तुत हूं। दोस्तो, मेरी पिछली कहानीमेरी बहनों की चूत चुदासआपने पढ़ी थी।उसके उपरांत आपके ढेरों ईमेल मुझे मिले.

हिंदी ब्लू फिल्म्स एक्स एक्स

हम दोनों ने पेमेंट के काउंटर पर आकर बाकी के सामन का बिल कराया और पे करके घर आ गए. इंग्लिश फिल्म बीएफवो तुरंत उठकर जाने लगी, तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और खींच कर उसे अपनी गोद में बैठा लिया.

न्यूड भाभी चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैंने एक दिन भाभी को नंगी देख लिया. गुजराती सेक्स ब्लू पिक्चरमुखिया- अच्छा … तो उसने क्या कहा?कालू- व्वो मुखिया जी … मैडम जी ने कहा कि आज नहीं, कल सुबह जाएंगे और …और बोलकर कालू चुप हो गया, तो मुखिया को उस पर गुस्सा आ गया.

मैंने उसकी इच्छा समझते हुए कहा- अच्छा ऐसा है … तो कल ही मंदिर में शादी कर लेते हैं.हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी: सुबह तक मैं मौसी के जिस्म से खेलता रहा और वो मेरे लंड से खेलती रही.

मैंने एक मुस्कुराने वाली स्माइली के साथ चुम्बन वाली इमोजी भी भेज दी.मैंने अपने दोनों हाथ उनकी हाथों की उंगलियों में फंसाए और उनको दीवार से चिपका दिया.

जीजा साली का रिश्ता - हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी

दोस्तो, यहां पर रेशमा की तारीफ करना चाहूंगा कि जितना सेक्सी उसका फिगर था, वो मजा भी उतना ही ज्यादा दे रही थी.उसके बाद देखले हमें घर से बेघर भी कर देंगे, हम पर बहुत कर्ज़ा है उनका.

उधर गीता मुखिया से चुद कर बड़ी मुश्किल से लंगड़ाते हुए अपने घर पहुंची. हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी वो मुस्कराने लगी और उसने मेरे लंड पर हाथ से सहलाते हुए मेरे सीने पर सिर रख लिया और चिपक कर सो गयी.

मैं भी अलग हो गया और उससे कहा- अब इस पिस्टन का क्या करूँ? इसे भी शांत कर.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी?

मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ, पर सुनयना भाभी के मुँह से एक जोर से चीख निकली- आइइइइइ मर गई!उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे और बोलने लगीं- आह मार ही दोगे क्या, थोड़ा धीरे धीरे करो ना. मैं भी उसके होंठों को, उसकी गर्दन को, उसके गालों को तो कभी उसकी चूचियों को चूम और चूस रहा था. आशा करता हूँ कि आप लोगों को दोस्त की सिस्टर की चुदाई कहानी पसंद आएगी.

मगर वो लोग मेरे इंतजार में रुके हुए थे क्योंकि लड़की को देख कर आखिरी फैसले में मेरी सहमति भी जरूरी थी. उनको लगा कि मैं शायद उनके गाल पर किस करूंगा, पर मैंने उनके होंठों पर किस कर दिया. बस आखिरी इंच जो बच गया था उसको भी मैंने एक झटका देते हुए पूरा का पूरा अंदर उतार दिया.

एक मिनट में ही उसके चूसने से मेरा पानी जब निकला, तो वीर्य की पिचकारियां कुछ उसके मुँह में, कुछ होंठों पर, कुछ गाल पर जाकर लगीं. दोस्तों उसके बाद जब भी ज्योति मैडम नेपाल से हिसार आती हैं, तो मुझे चुदवाई के लिए जरूर बुलाती हैं. गाँव की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुखिया ने नए आये थानेदार की सेवा के लिए एक गर्म लड़की को भेज दिया.

मैडम मुझे सॉरी सॉरी बोलने लगीं और कहने लगीं कि गलती से मुझसे कैचप की बोतल गिर गयी. निशु से अब मेरी रोज़ बात होने लगी मगर सिर्फ रिया के बारे में ही। हम दोनों अपने लिए कुछ बात नहीं करते थे.

मनीषा से अलग होकर मैं बाथरूम गया, पेशाब किया और अपना लण्ड धोकर वापस बेड पर आ गया.

ये बोले तो कुछ नहीं, पर उस घटना के बाद से उन्होंने मुझे किसी भी पार्टी में जाने के लिए फोर्स नहीं किया.

सीमा मेरे लंड से खेल रही थी और मैं उसके चूचों को तेज़ तेज़ दबा रहा था. मैं भी अपनी चाची को पूरी उत्तेजना से पेल रहा था कि तभी मेरा पानी उनकी चूत में गिर गया. आते ही मैंने उसके सीने पर बांहें फैला दीं और उसके गालों को सहलाने लगा.

अब मैं चाची की दोनों टांगों को फैलाकर उनको चुदाई की पोजीशन में ले आया. पारिज़ा बेड पर लेटी हुई थी … लेकिन मेरी बात सुनकर एकदम से बैठ गई और मेरी ओर चौंककर देखने लगी. राज- अच्छा … मतलब सारे रुपए अपने आप पर ही ख़र्च करोगी?मैं- अरे नहीं … तू भी चलना साथ … वैसे भी तू ही तो मेरा यहां एक सहारा है.

मैंने दीदी से कहा- आप फ़िक्र ना कीजिए … मैं हूं न!चाची की आदत थी और हर औरत की आदत होती है कि रात को सोते समय नाइटी पहन लेती हैं.

मेरा लंड रवीना की चूत में था और नगमा हम दोनों को आंखें फाड़ कर हैबहार से देख रही थी. वो मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बेड पर ले गया और मेरे बालों को हटाकर मेरी गर्दन पर किस करने लगा. मुझे आज अपने मुँहबोले देवर के मोटे और लम्बे लंड से चुत की प्यास बुझाने का मस्त मौक़ा मिल गया था.

चूंकि मौसी पहले भी गांड चुदवा चुकी थी इसलिए हल्का दर्द होने के बाद लंड बिना ज्यादा परेशानी के मौसी की गांड में अंदर उतरने लगा. अब मुझे परेशानी होने लगी कि अगर किसी की नजर मेरे तने हुए लंड पर चली गयी तो बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ेगी. बाल बिखरे हुए, होंठों पर लाइट लिपस्टिक, गले में मंगलसूत्र … जो उनके दोनों बूब्स के ऊपर तक आया था.

मैं- अरे ऐसा क्या हो गया था?सविता- कल मेरे पति अंकित कहीं से बहुत मोटा सा कंडोम लाए थे, मतलब उस कंडोम की लेयर पर बहुत मोटे मोटे उभार थे.

उसके गोल तने हुए मम्मे और खड़े चूचुक मुझे उसकी ब्रा के ऊपर भी महसूस हो रहे थे. ‘हाय दिशू डार्लिंग … तेरे बूब्स को ना ही ये लाल ब्रा संभाल पाती है, ना ही हम.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी अनवरी चाची के मुँह से हल्की सी सिसकारी निकल गई- उईल्ला … मर गई!और उसी दरमियान मेरा आधा लंड चुत में अन्दर घुसता चला गया था. उसे फिर से पकड़कर अपनी ओर खींच लिया और किस करते हुए एक हाथ से उसकी छाती और एक हाथ से उसकी चूत सहलाने लगा। कुछ ही देर में उसकी सांसें तेज़ चलने लगीं और उसका विरोध काफी कम हो गया।मैंने महसूस किया कि अब उसे भी मज़ा आ रहा था.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मैंने चाची की गांड मारते हुए कहा- मेरी सरिता रंडी … बोल कुतिया … तुझे कौन पेल रहा है?तब वो भी कामुकता से बोलीं- मेरा चोदू भरतार मुझे पेल रहा है. टाइट जीन्स, शॉर्ट्स, निक्कर और पता नहीं क्या क्या पहना हुआ था उसने.

जोर जोर से उसकी चूत को पेलते हुए मैंने उसकी चूत में ही अपना माल निकाल दिया.

इंग्लिश चुदाई का वीडियो

एक बार पुनः इच्छा हुई कि मुझे अभी मृत्यु आ जाये और मैं इस शर्मिंदगी, इस जिल्लत से बच जाऊं. तो दीदी ने कहा- तेरे जीजा जी में कुछ कमी के कारण वो मुझे मां नहीं बना सकते. अब आगे की हॉर्नी सेक्स स्टोरी:कुछ ही देर में हम सब लोग रिजॉर्ट पहुंच गए.

पर पापा रोज़ रात में मम्मी की गांड और चूचियों को देख कर मम्मी को जबरदस्ती चोदते थे. 7-8 सालों के बाद आज वो सब कुछ होने जा रहा था जिससे मैं अपने आप को बचाता फिरता था. जब वो फिर से तैयार हुई तो मैंने धक्के के साथ फिर से लंड को सरकाया और जोर लगाते हुए आधा लंड उसकी गांड में उतार दिया.

30 पर मैं घर से निकल गई और 10 बजने में पांच मिनट कम थे, तब होटल पहुंच गई.

फिर अगले ही पल उसका हाथ मेरे पजामे के अंदर था और मेरे अंडरवियर के ऊपर से वो लंड को सहला रही थी. मैंने पारिज़ा को अपनी ओर घुमा लिया और बिना कुछ बोले पारिज़ा के गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रख दिए. अब उसकी याद आ ही गयी है, तो चलो मेरी जिंदगी की मैं आपको वो दास्तान लव सेक्स स्टोरी सुनाता हूँ, जो ज़िन्दगी भर एक साये की तरह मेरे साथ चलती आई है.

लंड हाथ में पकड़ते ही विभा ने झटके से हाथ वापस खींच लिया और अपनी आंखें खोलकर लंड देखने लगीं. आंटी, अंकल और भैया ने मुझे बड़े हक से कहा तो मैंने भी 1 फरवरी 2019 से अपना काम कम कर दिया और दीदी की शादी के कामों में अपना समय देने लगा. एक दिन उनकी अचानक स्कूल में तबियत खराब हो गई जिस कारण मुझे उन्हें उनके स्कूल में लेने जाना पड़ा.

मैंने उसकी कमर को पकड़ा और उसकी चूत की जड़ तक अपने लौड़े को खींच खींच कर मारने लगा. मुझे लिखना न भूलिएगा कि मेरी देहाती चूत की कहानी आपको कैसी लग रही है.

मैंने जल्दी से अपनी चाय खत्म की और उठ कर जाने लगा तो अंकल ने रोक लिया. … क्या हुआ … पसन्द नहीं आई क्या!मैं- तुमने न तो किस की … न बूब्स को छुआ … डायरेक्ट चुत में लंड अन्दर कर दिया … तुम इस खेल के नए खिलाड़ी लगे. अब ये तो पक्का हो गया था कि चाची को बेहद प्यार की जरूरत थी, पर समझ नहीं आ रहा था कि शुरुआत कैसे करूं.

रोड सेक्स की हिंदी कहानी में पढ़ें कि मुझे मर्दों के मोटे लंड से चुदाई का बहुत शौक है.

उसने वहां सबसे मेरा परिचय करवाया और मेरी तुली बिटिया मेरी नज़रों के सामने पराई हो गई. उसकी चूत में मेरा लंड, गांड में उंगली और मेरे होंठों पर दिशा के सॉफ्ट होंठ थे. उसने मेरे लंड को पूरा अपनी चूत में अंदर ले लिया और मेरी जांघों पर बैठ कर ऊपर नीचे कूदने लगी.

आपको इतना कष्ट कैसे दें?”इसमें कष्ट कैसा, सुनील जी? इन्सान ही इन्सान के काम आता है. ब्रा के ऊपर एक छोटी सी बनियान जिसे शमीज कहते थे वो भी ब्रा के ऊपर पहिनना पड़ती थी फिर उसके ऊपर स्कूल की यूनिफार्म और टाई होती थी.

मुझे तो पता था कि मोनिषा को सब समझ आने लगा था क्योंकि दिन में उसने टीवी पर चुदाई और फोन में भी चुदाई देखी थी. फिर मैंने लंड पर भी थूक लगाया और अपना लंड मौसी की गांड में घुसाने लगा. उसकी सलवार उसकी जांघों से सरक कर नीचे जा गिरी और हिमानी मुझसे लिपट गयी.

सेक्सविदेओ

दिशा हमेशा अपनी चूत को क्लीन रखा करती थी क्योंकि मुझे हमेशा चिकनी चूत ही पसंद थी.

शायद इंद्र भगवान भी उसको देख कर इंद्रलोक छोड़ कर आ जाएं … तो अतिशयोक्ति न होगी. पारिज़ा मेरे ऊपर गोद में उछलते हुए चुद रही थीं, जिससे उसके कातिलाना मम्मे बेहद तेजी से उछल रहे थे. फिर मैं उनकी टांगों को फैलाकर अपना देसी लंड चाची की चूत के पास ले गया और लंड के सुपारे को चाची की गरम चूत की फांकों में रगड़ने लगा.

फिर मैंने उन दोनों का काम किया और करीब 1 बजे फ्री होकर मैं अपने घर आ रहा था तो हमारे घर के पीछे एक बहुत बड़ा फील्ड है जिस में लड़के क्रिकेट खेल रहे थे. मैं पारिज़ा को किस करते हुए उसके कातिलाना मम्मों को भी दबा रहा था, जिससे वो जल्दी ही गर्म होने लगी थी. ஆன்ட்டி செக்ஸ் ப்ளூ ஃபிலிம்सेक्सी भाभी की कहानी में पढ़ें कि कैसे मुझे अपनी चचेरी भाभी से प्रेम हो गया.

कुछ देर तक मैं उसकी चुत और चूचियों की कल्पना करते हुए गरमा गया और मैंने उसकी ब्रा को लंड पर लपेट कर मुठ मारी और खुद को शांत करके नहा लिया. मुखिया- बेटी, मैं तुम्हारी खातिर आधी रात को भी तैयार रहूँगा, बस तुम कहकर तो देखना.

सारा खर्चा रोहित ने किया और फिर वादे के मुताबिक उसने मेरा पेमेंट भी दिया. मॉम ने वो दो छोटे छोटे कपड़े बिछाये और बिछाकर उनके ऊपर जमीन पर पेट के बल लेट गयी. धीरे-धीरे मैं उसकी चूत के अंदर तक चाटने लगा और उसके हाथ जो पहले उसके बूब्स पर थे, अब मेरे सिर को नीचे उसकी चूत पर दबा रहे थे.

मैंने भी देर ना करते हुए उसे कसके पकड़ लिया और जोर का धक्का दे मारा. जानू, आज तेरे ये मम्में कुछ बदले बदले से कड़क कड़क से क्यों लग रहे हैं मुझे!” मौसा जी बोले और मुझे चूम लिया. फिर मैंने घुटने मोड़ कर ऊपर कर लिए जिससे मेरी योनि अच्छे से उभर गयी.

मैंने कहा- चाची, अब तुम्हें पेल लूं?चाची बोलीं- खूब पेलो, मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

क्या तुम मुझसे शादी करोगी?वो बोली- हां भैया, यही तो मैं भी कह रही हूँ. अंजू दर्द के मारे अपने सिर को इधर उधर पटक रही थी। थोड़ी देर ऐसे ही रहने से अंजू ने धीरे धीरे लंबी लंबी साँस लेना शुरू किया और तभी मेरे अन्दर भी तनाव महसूस हुआ और मेरे औज़ार ने पिघलना शुरू कर दिया.

मैं उसके पूरे बदन पर हाथ फेरता रहा और वो नागिन की तरह मेरी बांहों में लहराती रही. मैंने उत्सुकता से पूछा- तुम्हारे पास मेरा नंबर कैसे आया?तब उसने एक मुस्कुराने की स्माइली भेजते हुए लिखा- मुझे अपने भाई के मोबाइल से मिला. चाची मुझसे लिपटी रही और कहने लगीं- जाना नहीं होता, तो मैं तुमको अभी खा जाती.

मैंने उससे बोला कि अब क्यों पकड़ रहे हो?तो उसने कुछ नहीं बोला और मेरी पैंटी उतार कर मेरी चूत पर अपना मुँह रख दिया. उसके बाद रवीना ने एक बार पीछे ही मार्च के महीने में मेरे पास फोन किया. लड़की बिकनी में थी, लेकिन लड़का बिकुल न्यूड था और लड़की उसके लंड पर कूद रही थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी भाभी ने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और उसको दबा दबा कर पूरे लंड पर हाथ फेरते हुए जैसे उसकी लम्बाई मापने लगी. मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरे हाथ में ब्रा नहीं मानो चाची की चूचियां हैं.

हिंदी ब्लू पिक्चर भेजिए

वो मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बेड पर ले गया और मेरे बालों को हटाकर मेरी गर्दन पर किस करने लगा. उससे बातें करते हुए मैंने उसकी बुर में एक धक्का दे दिया तो उसके मुंह से चीख निकल गयी. मैंने कहा- तुम उदास क्यों हो रही हो?वो बोली- कल मेरी ट्रेन है, मुझे गांव जाना है.

मैंने उससे पूछा- आ जाऊं?वो हां बोल कर गांड उठाते हुए लंड को तेजी से अन्दर लेने लगी. साकेत में मिलने के बाद उसने बताया- मुझे तुमसे बातें करना अच्छा लगता है … और मैं तुम्हारे साथ अकेले में कुछ टाइम बिताना चाहती थी. बिहार के सेक्सी बीएफ बिहार केअगले ही पल ने रीमा की स्कूटी स्टार्ट कर दी और महक उचक कर पीछे बैठ गयी.

फिर मैंने चुटकी लेते हुए कहा- हां, मैं तुम्हारी भी मस्ती देख रही हूँ … तुम्हें कितना मज़ा आ रहा है … वो सब देखकर! अपना भी तो देखो … कैसे खड़ा हो गया है.

करीब 5 मिनट के बाद उनके मुँह में ही झड़ गया और मैडम मेरा सारा माल पी गईं. हमारे होंठ आपस में मिल गये थे और बीच-बीच में दोनों एक दूसरे को चेहरे की बाकी जगहों पर भी चूम रहे थे.

धीरे से मैंने अपना हाथ उसकी सलवार के अंदर डाल दिया और पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर हाथ फिराना शुरू कर दिया. आपके मेल मिलने के बाद ही मैं इस गर्म चूत की देसी चुदाई कहानी के अगले दौर को लिखूंगी. मैं उसके सूट के कपड़े को पेट से हटाकर उसके नाजुक से पेट पर घुमाने लगा, जिसका अहसास उसकी ऊपर नीचे होती हुई छाती और बंद हुई आंखें भी बता रही थीं.

फिर मैंने उससे पूछा कि सैड स्टेटस क्यों लगाये रहती हो तो वो बोली कि ऐसे ही अच्छा लगता है उसको।वो बोली- आज कैसे मैसेज कर दिया? ऑफिस में मैंने तुम्हें कितनी बार देखा है.

मैं भाभी के ऊपर आ गया और मैंने उनकी साड़ी को पेटीकोट समेत उनकी कमर तक उठा दिया. अंगिका का हाथ मेरे लंड पर जा चुका था जो कि पहले ही लोहे की रॉड के जैसे तना हुआ था. थोड़ी देर बाद वो भी बाहर आ गईं और अपने कमरे में जाकर तैयार होकर किचन में काम करने लगीं.

xxxदेहाती सेक्सी वीडियोमैंने धीरे से उसकी वो फिट लेग्गिंग नीचे सरका दी और उसकी पैंटी भी नीचे सरका दी. आप सभी पाठकों को मेरी स्टूडेंट टीचर सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं? प्लीज़ मुझे ईमेल करके जरूर बताएं.

सेक्सी बुर चोदने वाला

दोपहर में बाजार में थोड़ा कम भीड़ होती है … और हम दोनों को भी उस समय ही फुर्सत रहती थी. मैं भी चुत के सारे रस को पी गया और अनवरी चाची की चुत को चाट चाट कर पूरा साफ़ कर दिया. मैंने अपने लंड को उसके मुँह से बाहर निकाल लिया और उसको सीधा लेटा दिया.

मेरी मेहनत काम आई और अब मेरी सहेली मजे लेकर अपनी जिन्दगी काट रही है. अगर कहीं राहुल उठ गया तो क्या सोचेगा!पापा बोले- राहुल अभी गहरी नींद में है. अब मैं स्खलित होने से पहले प्यासी भाभी की गोरी चुत में लंड डालने का भी काल्पनिक आनंद लेना चाहता था.

वहां पर इसके अंकल हैं, वो जॉब भी दिला देंगे और तुम्हारे रहने की व्यवस्था भी हो जायेगी. मेरे बगल में अल्पना सो रही थी और उसके बिल्कुल पास में ही हम दोनों अपनी रास लीला शुरू करने वाले थे. हम दोनों की थकान इतनी अधिक थी कि आंखें मुंद गईं और कब सो गए कुछ पता ही नहीं चला.

उसके गर्म गर्म मुंह में लौड़ा चुसवाते हुए ऐसा लगा कि जैसे तीन-चार मिनट में ही झड़ जाऊंगा. ऊपर आकर भाभी ने हाथ से लंड पकड़ा और अपनी चुत की फांकों में सैट कर लिया.

जैसे ही वो शांत हुई, मैंने पूछा- बेटू मजा आया?वो बोली- हां भैया … आप वादा करो सारी उम्र मुझे ऐसे ही प्यार करोगे.

मैडम मेरी बॉडी को देख कर बोलने लगीं कि तुमने अपनी बॉडी को काफी अच्छा बना रखा है. हिंदी न्यू बीएफजब कोई मुझे रगड़ता है और कसकर चोदता है तो मैं जैसे स्वर्ग का अनुभव कर रही होती हूं. वीडियो में बीएफ ब्लूपारिज़ा इस समय अपने अब्बू के सामने नंगी हालत में बेड पर चित लेटी हुई थी. ’मैं अपनी महक और दिशा की कहानी में खोया था … लेकिन पायल भाभी पर इस कहानी का कुछ ज्यादा ही असर हुआ था.

वो हाँफता हुआ पीछे हुआ और बोला- कहां निकालना है?मैं- अंदर निकाल दो.

अब मेरे अंदर भी सेक्स की आग बढ़ती जा रही थी और मैंने भी उसके लंड पर हाथ रख दिया. दो मिनट के बाद मैंने पूछा- कैसी लगी जान अपनी सुहागरात?वो बोली- अच्छी लगी, लेकिन दर्द बहुत हुआ. उन्होंने कहा- तो तुम्हें हिरोईन नहीं बनना?मैंने कहा- बनना है, मगर इस तरह से नहीं बनना है और मेरे पति को भी ये तरीका मंजूर नहीं होगा.

मैंने दोनों को किस किया और कहा- जब तक मैं सुबह खुद से न उठूं तो मुझे जगाना मत!इस पर अंगिका बोली- जनाब, आपकी मसाज सर्विस का क्या?उसकी इस बात पर मैं हँसा और कहा- अभी चाहिए क्या मैडम? मैं तो हमेशा ही तैयार रहता हूं. तो चाची पूछने लगीं- भूख नहीं लगी है क्या?मैंने नहीं में जवाब दिया और कहा- एक चाय बना कर दे दो. करीब पांच मिनट बाद जब मैंने लौड़ा निकाला, तो वह जोर जोर से हांफने लगीं.

जी सेक्स वीडियो

इसी बीच मैंने जिप खोल अपना लंड बाहर निकाला और एक हाथ उसकी पीठ पर कोहनी के साइड से रख कर उसे दबाए रखा. लंड लेते ही पारिज़ा के मुँह से आवाज़ निकल गई और मैंने धक्का लगाना शुरू कर दिया. हॉट चाची सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपने दोस्त की अम्मी को चोदा जिन्हें मैं चाची कहता था.

मैंने भी देर नहीं करते हुए अपना लंड सरिता चाची की चूत पर टिकाया और एक जोरदार शॉट दे मारा.

फिर मैंने थोड़ा और खुलने की कोशिश की और राज को बोला कि मैं स्पा जाऊंगी … तुम चलना पसन्द करोगे या फिर तुम्हें कोई सर्विस गर्ल मंगवा दूं क्योंकि तुम्हें इसकी ज्यादा जरूर है.

उस कहानी में मैंने आपको बताया था कि मैंने कैसे उन दोनों कॉल गर्ल की चुदाई की थी. आप शायद ही यकीन नहीं करोगे कि मैंने अपनी जिंदगी में ऐसा हग आज तक नहीं किया था. सनी लियोनी की बीएफ सेक्सीमैं आगे देखने लगी और कुछ पल बाद वो मेरी ओर आये और मेरी गांड पर हाथ मारकर मेरी स्कर्ट को ऊपर किया और पैंटी उंगली से साइड हटाकर मेरी चूत में उंगली दे दी.

वो बोली- तो सोने नहीं दोगे क्या?मैंने कहा- सोने दूंगा लेकिन तुम्हें अपनी चूत में लंड लेकर सोना होगा. मगर दस मिनट बाद मैं भी उठकर दो पैग बना कर किचन में चला गया और देखा कि वो मटर पनीर बना रही थीं. जब मैंने उनके होंठों को छोड़ा, तो भाभी बोलीं- सुमित अब और मत तड़पाओ … जल्दी से डाल दो.

तुम एक काम करो, कल सुबह 6 बजे अपने भैया के साथ जाकर ये कार्ड बाँट देना. दोस्तो, मैंने बताया कि मालिनी के आने से पहले ही हम दोनों शुरू हो चुके थे और अब सुबह के 4.

मेरा काम था फाइल्स को मेन्टेन करना और क्लाइंट्स को अटेंड करना और क्लाइंट्स से पेमेंट भी लेकर आना। मेरा काम अच्छा चल रहा था और साथ में मेरी ओपन से ग्रेजुएशन भी चल रही थी।जिस वकील के पास मैं काम करता था वो केवल एक्सीडेंट के केस लड़ता था तो ऑफिस में रोज़ के बहुत क्लाइंट्स आते थे.

कुछ ही देर बाद मैं सीमा के ऊपर चढ़ गया और उसके होंठों को बेतहाशा चूमने लगा … वो भी मेरा साथ देने लगी. वो बोली- मगर यहां पर ये दारोगा और वकील?मैं बोली- तुम इसकी चिंता मत करो, अगर कुछ काम होगा तो मैं तुम्हें बुला लूंगी. इतनी जल्दी होने से मुझे बहुत बुरा लगा और मैं उसके ऊपर 2 मिनट पड़ा रहा.

हिंदी बीएफ एचडी हॉट वो मना करने लगी मगर मेरी ज़िद के आगे उसको सलवार उतारनी पड़ी।अब मैंने अपने हाथों से उसकी काली पैंटी को उतारा. मीता- ठीक है, मैं बाबूजी किसी को नहीं बताऊंगी … मगर ये सब आप मुझे कब सिख़ाओगे?सुरेश- देखो, इन सब में टाइम लगता है और अभी कोई भी आ सकता है.

तो मेरी गर्लफ्रेंड आते हुए बोली कि इसको भी उतारो … रुक क्यों गए?मैंने कहा- इसे तुम खुद उतारो और अपने कपड़े भी हटा दो. फिर मैंने उसे घुमाया और मेरा सख्त लंड की उसकी कोमल गांड की दरार में सटा दिया. अभी तू पहले मेरी चूत को शांत कर दे, उसके बाद तुझे फिर मैं किसी दिन गांड का मजा भी दे दूंगी.

ટીપલ એક્સ વિડીયો

थोड़े ही धक्कों के बाद विभा भाभी फ़िर से झड़ गईं और उनके दो मिनट के बाद मैंने भी विभा भाभी की चूत में अपना माल छोड़ दिया. तब मैंने पूछा- मजा आया?वो बोली- हां बहुत मजा आया भैया … आई लव यू … तुम मस्त हो. उसकी गांड बीच बीच में मेरी जांघों के बगल वाले हिस्से से टच हो रही थी और मेरा लौड़ा बार बार उछल कूद कर रहा था.

बीच में कभी भी छोड़ सकती हैं मगर आपको 5 लाख हर्जाने के तौर पर देना होगा अन्यथा कम्पनी आप पर और आपके पति पर कानूनी कार्रवाई करेगी. मैं भी उनके शरीर पर पेशाब करने लगा और थोड़ा मूत उनके मुँह में भी डाल दिया.

कई बार जब देर तक ऑफिस में रुकना होता था तो मैं ही उसको घर पर छोड़ा करता था.

मैंने ये सब देखकर नजरअंदाज करने की कोशिश की, लेकिन राज ने मुझे फिर से दिखा दिया- देखो बीच के एन्जॉय हो रहे हैं. हमारा ग़ाज़ियाबाद में संयुक्त परिवार है, जिसमें हम दो भाई और माता पिता रहते हैं. भाभी ने पलटी मार दी और बोलीं- नहीं मैं गांड नहीं मरवाती हूँ, मुझे दर्द होता है.

चूंकि मैं जयपुर में रहकर तैयारी कर रहा था, तो मैंने बोला कि काफी अच्छी चल रही है. मैंने यहाँ वहाँ घूम कर देखा कि पार्क में कितने लोग हैं तो हमें वहाँ कोई दिख भी नहीं रहा था।मै उसको झाड़ियों मे ले गया और उसको किस करने लगा और एक हाथ उसकी सलवार में घुसा कर उसकी चूत में उंगली करने लगा. ये तरीका तो बहुत अच्छा है, ऐसे तो रोज कभी भी जब मन हो, तुम लंड चूस सकती हो.

करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मैं कार से बाहर आ गया और भाभी को भी बाहर बुला लिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी: मैं पागल होने लगी और फिर उसने मेरे मुंह में लंड दे दिया और चुसवाने लगा. तभी मैंने उनको अपनी ओर खींचा और उनके कान के पीछे अपनी जीभ से चाटने लगा.

अब आगे की सेक्सी चाची की चुत स्टोरी:उनकी बात सुनकर मैं दोनों हाथों से उनको बाजुओं में जकड़ने लगा और उनके मम्मों पर अपने दोनों हाथ रखकर उनको अपनी बांहों में भर लिया. रोज़ी बोली- जी मम्मी।फिर जाती हुई सैंडल की आवाज सुनाई दी। मेरे मन में तो जैसे लड्डू फूटने लगे. मैंने कहा- तो क्या मौसा ने भी आपकी गांड चुदाई की हुई है?वो बोली- हां, तुम सब मर्द एक जैसे ही होते हो.

उधर विनी मुझे लगातार छेड़े जा रही थी और मेरी नंगी योनि की दरार में ऊपर से नीचे तक उंगली चला रही थी और साथ में मेरा मोती भी छेड़ रही थी.

थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा तो वो फटाक से झुक गई. उन्होंने कई बार मुझसे कहने की कोशिश की लेकिन बहुत हिम्मत करने के बाद वो ये बात मेरे को बता पाये. पांच मिनट में ही पापा उनके मुंह में ही झड़ गए और सारा माल मम्मी को पिला दिया.