बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म डॉग वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

मॉम सेक्स जापान: बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली, अब उसने अम्मी को सीधा लेटा दिया और अम्मी की दोनों टांगें खोल कर अपना लंड अम्मी की चूत पर सैट कर दिया.

दर्द भरी शायरी सुनाओ

दूसरी ने पहली की बात में हां में हां मिलाई- हां यार … हम लोग तो दिन में चुदाई कर पाती हैं. शेरचात एप्सयह कहकर मोहित ने मेरी चूत में 3 उंगलियां एक साथ डाल दीं, फिर उसने मेरी टांगें हवा में उठा कर मेरी चूत में उंगली करके एक छेद सा बना दिया.

नाभि के पास आते ही उसने मेरे पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और पैंटी के ऊपर से मेरी बुर को चाटने लगा. www.com सेक्सी मूवीमेरे सामने चिकनी नंगी पीठ दिखी और लंड को ढके हुए उनके नागिन से काले बाल.

वो वासना के दरिया में गोते लगाने लगी और बोली- अब अन्दर डालो … प्लीज कुछ करो.बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली: भाभी- अरे अब खड़े क्यों हो, मन नहीं है क्या?पिंकी भाभी- अरे यार आज बहुत दिन बाद लंड लेने का मौका मिला है, मना मत करना.

वहां मौसी ने मेरे और सोनल के बिस्तर तख्त पर लगा दिए, अपना और अपने बेटे का बिस्तर जमीन पर लगा लिया.अलफिया- हाय अम्मी मर गई!इस तरह आवाज करती हुई वो मेरा मुँह अपनी चूत पर दबाने लगी थी और मुझ पर झुक कर अपने हाथ से मेरा लौड़ा दबा रही थी.

केटी लोहमैन्न - बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली

थोड़ी देर तक एक एक करके दोनों चूचियां चूसने और काटने के बाद मैं उसकी नाभि तक आ पहुंचा और मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाल दी.जान साफ़ बताओ तुम्हें मुझसे क्या चाहिए?मैं सुलेमान के साथ सोफे पर बैठ गयी.

रोहित मेरी कहानियाँ का दीवाना हो चुका था और अक्सर कहता- मैं अपनी पत्नी के साथ 3 सम सेक्स करना चाहता हूँ. बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली Xxx पोर्न हिंदी कहानी में मेरी ख़ास सहेली ने मुझे अपने चोदू बॉयफ्रेंड के बड़े लंड से चुदवा दिया.

वो भी सफ़ेद की पैंटी और ब्रा में मस्त लग रही थी लेकिन उसका बदन मेरे जैसा गदराया हुआ नहीं था.

बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली?

जब रोशनी नहीं हटी तो उन्होंने रोशनी के बाल खींच उसका चेहरा मेरी चूत से अलग कर दिया और अपना लौड़ा मेरी चूत में पेल दिया।रोशनी अब दीपक के चोदते लंड के साथ मेरा दाना चूसने लगी।बड़ी ही मादक फोर सम चुदाई चल रही थी।रोशनी और मेरे कारनामे देख दीपक और धीरज बेइंतेहा उत्तेजित थे. मेरे काटने पर वो मुझे मार भी रही थी, लेकिन मैं फिर उसे किसी और जगह पर चूसने लगता. यह सेक्स स्टोरी मेरी और मेरे मौसेरे भैया के बीच हुए शारीरिक संबंध के बारे में है जिसे आज मैं आप सभी के साथ साझा कर रही हूं.

उस वक्त उसने टी-शर्ट और एक ढीला सा हाफ लोवर पहना हुआ था, जो कि उसकी जांघ के काफी ऊपर तक चढ़ गया था, जिससे उसकी गांड का काफी हिस्सा खुला दिख रहा था. इसलिए मैंने भी सोचा कि क्यों न मेरे साथ हुई सेक्स कहानी को आपके साथ साझा किया जाए. उसकी बात सुनकर पहले तो मुझे लगा कि साली लड़कियों की जात का भी धर्म नहीं है.

प्रिया ने एक बार भी होंठ चूमने से मना नहीं किया बल्कि वो खुद अपने होंठ मेरे होंठों से चुसवा रही थी. अब हंस पड़!वो हंस दी और बोली- ऐसे कैसे एक?मैंने कहा- फिर कैसे एक होंगे?वो हंस दी और बोली- एकदम बुद्धू हो क्या?मैंने भी समझ लिया कि जब चूत में लंड घुसेगा तभी एकता होगी. अब मैं उसके सामने अंडरवियर में रह गया था और वो मेरे सामने शॉर्ट में थी.

जब उसकी टीशर्ट उतार रही थी, तभी वो बोली- अरे पागल कर क्या रही है?तो मैंने कहा- चुप कर साली रंडी, खुद तो लंड खाए बैठी है, यहाँ मेरी चूत में आग लगाकर बोल रही है कि क्या कर रही है. भाभी अभी भी गर्म थीं तो वो बोलीं- अरे यार अब ऐसे बीच रास्ते में मत छोड़ा करो.

कई बार मैंने उसकी चूचियां वीडियो कॉल करके देखी थीं और अकेले में उसकी चूचियों को चूसा भी था.

भाभी मुझसे बार बार विनती करते हुए रोने लगीं- अब चोद दो … मैं तुमसे भीख मांग रही हूं.

आज की थ्रीसम सेक्स की कहानी बबली बुआ और उनकी उसी सहेली भाभी की है, जिनको मैं पहले भी दो बार चोद चुका था. मैंने कहा- ठीक है, तो फिर चूस ले मेरे लौड़े को … और कर दे इसे चिकना. यह उसी की गलती के कारण हुआ था क्योंकि उसने जल्दबाज़ी में गलत टच कर दिया.

कविता मेरे साथ पूरे एक हफ्ते तक अकेली रुकने वाली थी क्योंकि अभी मेरी बीवी अपने मायके से एक हफ्ते तक नहीं आने वाली थी. ऐसे ही हम दोनों ने उसे करीब दस मिनट तक चोदा और फ़िर मेरा पानी निकल गया लेकिन नितिन लगातार उसकी गांड को चोदे जा रहा था. विक्रम- रंडी, अब मेरी तरफ पीठ करके मेरे लंड पर बैठ, हम तुम्हारी गांड में दो लंड एक साथ डालेंगे.

थोड़ी बहुत तलाश करने के बाद मुझे अपने एक फ्रेंड का कमरा मिल गया और मैंने समय तय करके अपनी सेक्सी गर्लफ्रेंड को वहां बुला लिया.

मैं ठीक स्टेज के सामने कुर्सी पर बैठा हुआ था और सामने बारी बारी से सभी फ़ोटो के लिए आ रहे थे और वो लड़की मेरी बहू के पास ही खड़ी हुई थी. अब उनका पारा सातवें आसमान पर था; उन्होंने मुझे फोन करके तुरंत आने का कहा. मेरे चूतड़ों को फैलाते हुए उन्होंने मेरी गांड के छेद पर अपना थूक लगाया.

फिर बाथरूम में जाकर लंड को साफ़ किया और उसे भी साफ़ होने का बोल कर मैं फर्श साफ़ करने लगा. मैं समझ गयी कि अभी थोड़ी देर में मुझे टांगें फैलाकर इनके लंड की नीचे लेटना है. मैंने उस व्हाट्सएप वाले की जानकारी ली तो मुझे मालूम हुआ कि वह एक भाभी का नम्बर है.

अरी पगली, मैं चूत चोदने का कोई मौका नहीं छोड़ता। इस टीम की सभी लड़कियां, मुझसे चुदती हैं। हर किसी का दिन तय है। पर तू मेरा खास माल है, तुझे रोज चोदूंगा, जब तक तेरी चूत की प्यास और जिस्म की आग ठंडी नहीं हो जाती!” उन्होंने पलटकर मुझ पर चढ़ते हुए अपना वर्चस्व दिखाते हुए कहा.

मैं भी छूट चुका था और जैसे कोई इमारत धमाके के बाद गिरती है, वो मुझ पर गिर पड़ीं. अगले दिन सुबह मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि आयेशा अभी तक सो रही थी.

बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली जल्द ही मैंने उसको 6-9 की पोजीशन में किया और फिर से उसकी चूत चाटने लगा. भैया भी बड़ी चतुराई से नींद में होने जैसा होकर, ये काम कर रहा था कि अगर मैं नींद से उठ जाती, तो मेरे को लगे कि वो नींद में है.

बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली मैंने अपना मुंह उसके गांड के छेद पर लगा दिया और जीभ से उसकी गांड का छेद चाटने लगी. अब वो मेरे बिल्कुल गोद में ही थी, उसकी जांघों का स्पर्श मुझे पागल बना रहा था.

संजना आह आह करती और अपने हाथों को मेरे बालो में लगातार फेरती जा रही थी.

हिंदी बीएफ गाना वाली

मैंने कुछ बढ़ा-चढ़ा कर नहीं लिखा है, जैसे कि मेरा लंड 10 इंच का है या मैंने एक घंटा चोदा या चाची की गांड मारी. मंजू मेरे बदन की महक से सहम गई लेकिन मेरी मदद के लिए उसने मुझे पूरी तरह उठाया. वे सब नेहा को भी उकसाने की कोशिश करती थीं लेकिन विकास के कारण नेहा आगे नहीं बढ़ पा रही थी.

उसके परिवार से मेरे परिवार के अच्छे संबंध थे तो मैं भी उसी से अपने अच्छे सम्बन्ध बनाना चाहती थी. कुछ पल ऐसे ही बीते थे कि मैंने उसके कंधे पर चूम लिया और ब्रा को ऊपर हटा स्तनों को हल्का सा दबा दिया. इसलिए दूसरों के कारण अपने मन में हीन भावना न पनपने दें।मैंने अन्तर्वासना की कहानियों में भी पढ़ा है कि लोग लिखते हैं कि उनका लिंग 17 सेमी या 7 इंच से भी बड़ा है, मूसल जैसा लंड है उनका परंतु 90% मामलों में यह बात गलत ही लिखी होती है।इससे कहानी पढ़ने वाले के मन में भी एक ही बात आती है कि उसका तो छोटा है.

इसके अलावा जो अफसर या इंजीनियर का समूह उसको फ्लैट पर चोदता था, वो मुझे कीमत दे ही देते थे तो अपने पैसे की पूरी कीमत वसूलते थे.

यह सुनते ही आयेशा ने मुझे गोद में उठा लिया और बोली- अरे मेरी जान, तुझे ऐसे कैसे मरने दूंगी. वो दोनों हाथों से मेरी गदरायी जांघों को सहलाते जा रहे थे और मेरी चूत को मलाई की तरह चाट रहे थे. मैंने भी इसका मजा लेने का सोचा जबकि मुझे इस तरह से किसी पर भी पेशाब करना पसंद नहीं है … सेक्स में भी नहीं.

मैंने हम सबके नाम की पर्ची बनाई और बोला- ये चार नाम लड़कियों के हैं और ये चार नाम लड़कों के. मैं- भाभी, आप कहीं जा रही हैं क्या?भाभी मुस्करा कर, मेरे पास आकर बैठ गईं और कहने लगीं- आज पूरा दिन तुम्हारा है. यह वर्जिन सिस्टर फक़ स्टोरी मेरे और मेरे मामा की लड़की साक्षी के बीच में हुई चुदाई की कहानी है.

मेरा मुँह उसके कंधे से जुड़ गया और इससे पहले कि मैं वापस पीछे होता, मैंने उनके कंधे पर एक हल्का सा किस कर लिया. मैंने भी मोबाइल से वीडियो बनवाना बन्द कर दिया और उससे मोबाइल को यूं ही बेड पर छोड़ देने का कह दिया.

अब बुआ की कमर पकड़कर मैंने उन्हें घोड़ी बना दिया और लंड उनकी गांड में घुसेड़ दिया. यहां हमारा अलग घर था, जिसमें मैं अपनी मम्मी पापा और बहन के साथ रहता हूं. अब वो मेरे बिल्कुल गोद में ही थी, उसकी जांघों का स्पर्श मुझे पागल बना रहा था.

अभी तक जिस बात को सिर्फ वो सोचती थी, उसको उसकी सहेली ने भी कह दिया था.

रोशनी ने उसका सारा वीर्य पी लिया।अब धीरज उठ कर रोशनी और मुझे चूमने लगा।दीपक अब भी मेरी गांड और चूत में उंगली कर रहे थे. मुझे एक एजेंट मिला, जिससे मैंने सीमा की फ़ोटो दी और कहा- एक जवान अफ्रीकन लड़का चाहिए. शायद वो चुद चुद कर एकदम हब्शी हो गई थी और साली को बहुत दिन से लंड मिला नहीं था इसलिए वो प्यासी थी.

अब लंड इससे ज्यादा अन्दर नहीं घुस रहा था क्योंकि मेरी बहन कुंवारी थी. मेरा लंड अभी संजना की गांड में आधा ही घुसा था कि संजना दर्द से आह आह करने लगी.

पेशाब करके मैंने चूत को धोया और उधर टंगी एक साफ़ तौलिया से चूत साफ करने लगी. मैंने मन बना लिया था कि ड्रामा करती रहूँगी और दोनों के लंड का मजा भी लेती रहूँगी. मैं अपने इन चारों पतियों के सामने बंद कमरे में अलग अलग रात संगीता बनकर आ चुकी थी.

राजस्थानी बीएफ सेक्स

मैंने कभी सोचा नहीं था कि विश्वेश्वर जी और बाकी लोग अरुणिमा को अपनी रखैल समझने लगेंगे.

अंत में मैंने उसी से पूछा- मैं कैसे बदला लूँ?आयेशा ने कहा- मोम का बदला मोम से!मैंने कहा- मतलब?आयेशा ने कहा- जैसे उसने तेरी चूत में मोम डाला था, वैसे ही तू उसकी गांड में मोम डाल देना मगर मॉम गांड के छेद में अन्दर जाना चाहिए. मुझे जब भी मन करता, मैं हरियाणा से दिल्ली चला जाता हूँ और वहां एजेंट की मदद से मुझे कई कॉलेज गर्ल और शादीशुदा औरतें आसानी से चोदने मिल जाती थीं. चाची झड़ने के बाद 5 मिनट तो लम्बी सांस लेती रहीं और मैं बौराये लौंडे की तरह उनकी चूत निहारते हुए जांघ सहला रहा था.

मैं अपने होंठ दबाती हुई उसकी चुदाई की कल्पना में अपनी चूत चिपचिपी करने लगी. कुछ देर बाद हम दोनों बुआ भतीजी एक दूसरे से चिपटकर सेक्स का मजा लेने लगी थीं. मछली का चित्र कैसे बनाते हैंवैसे भारत के क़ानून में इसकी मान्यता नहीं है, इसलिए शादी को गुप्त रखते हैं.

हम दोनों के बीच धुंआधार चुदाई चल रही थी कि अचानक से दरवाजा खुला और दो आदमी सामने खड़े थे. अब तो वो आंसू छोड़ने लगी और ‘अअअह मम्मी ईई दीदी … मर गई … आह निकालो जीजू.

मुझे भी उसकी तेज आहों और उत्तेजना से चिल्लाने में बहुत मजा आ रहा था. उस दिन को याद करता हूँ तो आज भी मैं वो नमकीन और कसैला स्वाद अपनी जीभ पर महसूस करता हूँ. उसके अन्दर का वेश्यापना अब जाग गया था और उसने सच में रंडियों वाली हरकतें करना चालू कर दी थीं.

आज जो मैं आपको Xxx साली की बुर चुदाई बताने जा रहा हूँ, वो कुछ टाइम पहले की बात है. मामी ने कहा- एक नंबर का हरामी है तू!मैंने कहा- तू चाहे तो मादरचोद भी कह ले, आख़िर मामी मां समान होती है. एक दिन मदन जी ने रात को दारू पीते समय मुझको दो लड़कों के बीच सेक्स का वीडियो दिखाया.

एग्जाम के बाद छुट्टियां हुईं तो मैंने अपनी मम्मी से कहा कि मैं मौसी के यहां जाना चाहता हूं.

मैं तुरन्त बाथरूम में गई और शॉवर के नीचे खड़ी हो गई, अपने जिस्म पर पानी डाला और शेम्पू से नहाई. कभी वो नहाते समय मुझे बाथरूम में बुला लेती या मेरे बाथरूम में आ जाती.

वह अपने पति को छोड़ चुकी हैं क्योंकि उनका पति उनको शराब पीकर मारता पीटता था और गलियां देता था. अब अंकल ने मुझे बेड के किनारे घोड़ी बनाया और एक ही झटके में पूरा महाकाय लौड़ा पेल दिया. फिर मैंने मस्ती में आयेशा का सर अपनी चूत में दबा दिया और अपनी चूत आयेशा के मुंह पर मारने लगी.

मैंने उसके साथ शादी की और फिर होटल के कमरे को सजवाकर उसे तोहफा दिया. [emailprotected]लेस्बियन्ज़ लव कहानी का अगला भाग:भतीजी के घर में घमासान- 2. उसी समय मैंने जोर का झटका मार कर अपने पूरे लंड को संजना की चूत में गहराई में घुसा दिया.

बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली भाभी अपनी चूत में अब अपनी उंगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी थी. विमल भैया से मेरी अच्छी पटती थी तो वह हर बात मुझसे शेयर करते थे और इसी सब वजह से हमारी अच्छी दोस्ती भी थी.

करिश्मा कपूर के बीएफ वीडियो

आपको गोदी में बैठा देख कर भी तो कोई कुछ कह सकता है, तो गुब्बारे से खेलने में कोई क्या कहेगा. अर्थात बीमारी उनके मन में होती है और साधारणतया यह 2-3 बार की कॉउंसलिंग से ठीक हो जाती है।इन मरीजों में सबसे ज्यादा संख्या उनकी होती है जो अपने पेनिस साइज़ यानि लिंग के आकार लम्बाई, मोटाई आदि को लेकर परेशान होते हैं।पुरुष के लिंग का आकार के चीज़ों पर निर्भर करता है जिनमें मुख्यतः नस्ल या परुष के जीन्स होते हैं. दोस्तो, मैं आपका दोस्त अर्जुन एक बार फिर से हाज़िर हूँ एक और नयी कहानी लेकर!पिछली कहानीपहाड़न गर्लफ्रेंड की कुँवारी चूत चोद दीमें मैंने आपको बताया था कि कैसे मैंने मेरी पहाड़ी एक्स गर्लफ्रेंड दिव्या की कुँवारी चूत चोदी!यह देसी गर्लफ्रेंड फक़ स्टोरी दिव्या के साथ मेरी दूसरी चुदाई की है.

आज कुछ अलग करते हैं ना?इस पर नेहा ने कहा- तेरे दिमाग में क्या चल रहा है कुतिया साफ़ साफ़ बोल?मैंने कहा- चलो एक गेम खेलते हैं. अब आगे फ्री सेक्स पोर्न कहानी में चलते हैं और जानते हैं कि मेरे और प्रिया के बीच आगे क्या क्या हुआ. राजस्थानी लोकल सेक्सी वीडियोएक बार उसने मेरे कान में हल्के से कहा- कैसा लग रहा है?मैंने कहा- काफी मजेदार लग रहा है.

अचानक से मुझे अन्दर देखकर दोनों जल्दी से अलग हो गए और प्रिया ने अपने बदन पर चादर ढक ली.

खोल दे अपनी बुर … और ले ले अपने भाई का लंड अपनी बुर में … और यदि तेरी गांड फटती है तो मुझे बुला ले एक रात. जब कमरे के नजदीक पहुंचा तो मुझे अरुणिमा की मादक सिसकारियां सुनाई दीं.

मगर रिया ने कहा- यार आयेशा, तूने तो इस बेचारे के बिना तेल के गांड मार दी. इस प्रकार मेरे पास चुदाई की बहुत सारी कहानियां हैं, लेकिन सबसे नजदीकी रिश्ते में हुई अपनी Xxx देवर भाभी सेक्स कहानी को मैं आज सुनाने जा रही हूँ. मैंने बाथरूम में जाकर अपनी गांड में पिचकारी से पानी भरा और निकाल दिया.

कुछ देर बाद जया का पैर मेरे पर आ गया तो मैंने उसके पैर को थोड़ा देर रखा रहने के बाद हटा दिया.

मेरा लंड झड़ने वाला था और वहां उसकी चूत में से भी रस निकलना जारी था. थोड़ी देर बाद रूम एकदम ठंडा हो गया था और हम दोनों एक कम्बल में लेट कर सो रहे थे, एक दूसरे की सांसों की महक महसूस होने लगी थी. वो अम्मी से बोला- यास्मीन डार्लिंग, आज तुझे खूब खुल कर सेक्स करना होगा, तभी काला साया शांत होगा.

साउथ इंडियन भाभी का सेक्सदीपक और धीरज दूर खड़े मज़े ले रहे थे।शायद सोच रहे हों कि आज ये सबसे चुदेगी।तभी गाना बजने लगा- चोली के पीछे क्या है …और लड़के पागल हुए मेरी चोली में हाथ डालकर नाचने लगे. मैं राजस्थान के श्री गंगानगर जिले के छोटे से गांव का रहने वाला हूँ.

ऑनलाइन फराक

साला डर भी लग रहा था कि कहीं भाभी ने मां को बता दिया तो न जाने क्या होगा. अगर बनाने वाला भाभी जैसी मस्त चूची और पिंकी भाभी जैसी चूत दे तो वो दुनिया की सबसे मस्त सेक्सी औरत होगी. तब तक मैंने वहां फोन करके बता दिया कि गाड़ी खराब हो गई है, आप लोग मेरी चिंता मत करना.

सच में मैं तुम्हारा आदी बनता जा रहा हूँ!संजना ने मेरी गोद में सर रख दिया. सफर लंबा था, हमें मार्गदर्शक मानचित्र पांच घंटे का रास्ता दिखा रहा था।रास्ते में जलपान, भजन आदि के लिए भी रुकना था तो 2-3 घंटे और जोड़ कर हमने 7-8 का सफर करना था. तो वो बोले- रंडी है अरुणिमा! बेचारे ड्राइवर को रंडियां जल्दी मिलती नहीं हैं, चोदने दे उसको.

चुदाई ज्यों ज्यों आगे बढ़ रही थी, नेहा का दर्द अब आनन्द में बदलने लगा था. वो इशारा कर रही थी- बहन है मेरी … रहम करके चोदो प्लीज़ … मुझमें और उसमे बहुत फर्क है. लंड की चमड़ी मीनू ने पीछे सरकाई तो अंकल के लंड का लाल सुपारा बाहर निकल आया.

मजे की अधिकता ने अपना रूप दिखाना शुरू किया तो नेहा विकास से कहने लगी- आंह फाड़ दो मेरी बुर को …. उसकी 36 इंच की चुचियां और 38 की गांड ने मेरे लंड का बुरा हाल कर दिया था.

उसके बाद मैंने अपने गाउन के ऊपर से कुछ ऐसा किया, जिससे मेरे ठोस मम्मे उसको दिख जाएं.

चूंकि विमल भैया घर पर नहीं रहते थे तो अक्सर भाभी के साथ में ही बाजार जाया करता था. ब्लूटूथ दोस्तमौसी का घर छोटा था, जिसमें केवल एक रूम नीचे था और एक रूम उसके ऊपर था. हाई बीपी लक्षणकुछ आर्टिफिशियल गहने, जैसे चूड़ी, हार, कान के ऐसे वाले बुँदे, जो कान में छेद किए बिना पहन सकते थे. मुझे डर इस बात का लग रहा था कि कहीं वो मेरी गांड में ऐसे ही अपना लंड न डाल दे.

वैसे प्रिया भी मुझसे काफी घुलमिल गई थी और मैं भी उसकी खातिरदारी में कोई कमी नहीं रखता था.

उनके किस करते ही अनायास ही मेरा हाथ उनके मम्मों पर चला गया और मैं आंटी का एक दूध दबाने लगा. नेहा ने झट से उसके तने हुए लंड को अपने मुँह में भर लिया और मस्ती से चूसने लगी. एक दिन जब उसकी सास कहीं गई हुई थी, तो मैं उसके घर गई और उसका सारा दूध अपने मुँह से चूसकर निकाला.

एक बार उनकी मम्मी ने रात में हम दोनों को सेक्स करते हुए देख लिया था. उन्होंने जैसे ही अपनी भाभी के बारे में बताया, मेरी नजर आंटी पर पड़ी. [emailprotected]पबर्टी एंड इन्फेचुएशन कहानी का अगला भाग:बहन भाई का प्यार वासना में बदल गया- 2.

𝚡𝚡𝚡 𝚑𝚍

मैं भी सुबह से रायपुर पहुंच गया और संजना की ट्रेन के आने का इन्तजार करने लगा. आसिफा की अम्मी उसे बातों में उलझाने की कोशिश कर रही थीं लेकिन वो अपनी नजरों से मेरे लंड का वीर्य हटने ही नहीं दे रही थी. आंटी- आंह विकी मेरे राजा … आज मेरी प्यासी चूत की चुदाई कर दो … आंह जोर-जोर से मेरी चुदाई करो.

मैं झड़ा नहीं था इसलिए मैं एक पल के लिए भी नहीं रुका, उनकी चुदाई करता रहा.

चूत दिखाई देते ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में लगा दी और चाटनी शुरू कर दी.

फिर उसके बाद भैया ने डर कर अपनी निगाहें मेरे मम्मों से हटा लीं और अब वो मुझसे नजरें नहीं मिला पा रहा था. कुछ देर बाद उठने के बाद हमने एक बार फिर से चुदाई की और उसके बाद हम दोनों दोस्त के कमरे से निकल गए. సెక్స్ దెంగులాటवह इतनी जोर से चीखी कि उसकी चीख से पूरा कमरा गूंज उठा, लेकिन मैंने उसकी चीख पर कोई खास ध्यान नहीं दिया.

इस कारण वो सिर्फ अपना पानी निकाल कर झड़ जाता और फहीमा को वो कभी भी तसल्लीबख्श चुदाई का मजा नहीं दे पाया था. मैंने भी अपने हाथ से लंड को थोड़ा दबाकर उनकी चूत के छेद पर रखा और अपने सुपाड़े को उसके अन्दर डाल दिया. वो मुस्कुरा कर बोली- कुछ लोगे?अब ‘कुछ लोगे’ का क्या मतलब हो सकता था, मैं समझ नहीं पा रहा था.

मुझे यकीन था कि अरुणिमा यहीं हैं, बस किस स्थिति में है, मुझे उसकी पुष्टि करना था. दो लोगों का लंड एक साथ मिलाने के बाद, चौधरी जी के लंड की मोटाई से थोड़ा सा ही ज्यादा होता.

कभी विकास नेहा के मुँह में पूरा अन्दर तक अपनी पूरी जीभ डाल देता, तो कभी नेहा विकास के मुँह में अन्दर तक दे देती.

मुठ मार कर मैंने अपना माल साक्षी के पेट पर ही गिरा दिया और मैं उसको किस करने लगा. फिर मैंने आधा लंड बाहर निकाल कर धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए, जिससे उन्हें आराम मिलने लगा और वो अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में मेरा साथ देने लगीं. उसने पहले अपनी जीभ को नुकीला करके मेरे सुपाड़े के मुँह में घुसाना शुरू कर दिया, फिर लंड के सुपारे से लेकर लंड की जड़ तक जीभ से चाटने लगी.

इंडियन सेक्स वीडियो कॉम मैं उसकी गांड ही मारता रहता तो शायद गांड में ही झड़ जाता और संजना प्यासी रह जाती. अब आगे गांड X कहानी:मेरी और संजना की सुहागरात रायपुर के एक 5 स्टार होटल में हुई थी.

उनके आने के बाद उसी रात रसिका की चुदाई करके दिन में हम दोनों मियां बीवी अपने घर आ गए थे. सेकंड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी दोस्त को सुहागरात का मजा देने का सोचा. एक दिन पढ़ाई के वक्त उसकी चूचियों को देखकर मेरे मन में ऐसा लगा जैसे अभी उसके नाइटी को फाड़कर उसकी रसीली चूचियों को चूस लूं.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फिल्म

देसी चाची की सेक्स लाइफ मेरे उम्रदराज चचाजान से निकाह से बर्बाद हो गयी. लेकिन मेरे बूब्स पर रंग लगा हुआ था, तो उसने बूब्स चूसे नहीं, बस मेरे बूब्स दबा कर शॉर्ट्स के ऊपर से मेरी चूत सहलाने लगा. उसने मेरे ढीले लंड से चूत पर फट्ट फट्ट मारा और पकड़ कर अन्दर डाल दिया.

वहां क्या क्या कारनामे हुए … वो कहानी फिर कभी।तब तक के लिए विदा लेती हूं, अपना प्यार बरकरार रखियेगा।सेक्स इन बस का मजा आपको भी मिला होगा? कमेंट्स में लिखें. उसने मेरे होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और हमारी किस दो मिनट तक चलती रही.

अब आगे फ्री में चुदाई की कहानी:अगले दिन हमारी नींद गेट पर डोरबेल की आवाज से खुली.

मदन जी और मैंने मिलकर एक प्लान बनाया कि कैसे उन चारों से शादी की बात की जाए और शादी के बाद कैसे रहा जाए. अब हंस पड़!वो हंस दी और बोली- ऐसे कैसे एक?मैंने कहा- फिर कैसे एक होंगे?वो हंस दी और बोली- एकदम बुद्धू हो क्या?मैंने भी समझ लिया कि जब चूत में लंड घुसेगा तभी एकता होगी. हम दोनों करीब दस मिनट तक एक दूसरे के होंठों का रस पीने में खो से गए थे.

ये कहकर आयेशा हंसने लगी तो मोहित ने कहा- यार, क्यूं अभी से गांड फाड़ रही है हमारी?यह कहकर मोहित ने आयेशा के चूतड़ पर थप्पड़ मार दिया. संजना तुरंत अपने हाथ और घुटनों के बल पर बिस्तर में कुतिया सी बन गयी. मैं झड़ा नहीं था इसलिए मैं एक पल के लिए भी नहीं रुका, उनकी चुदाई करता रहा.

ऐसा करते हुए कभी कभी कच्छे के ऊपर से ही वह सुपारे को थोड़ा-सा काट लेती.

बीएफ फिल्म हिंदी में चलने वाली: एक दिन पढ़ाई के वक्त उसकी चूचियों को देखकर मेरे मन में ऐसा लगा जैसे अभी उसके नाइटी को फाड़कर उसकी रसीली चूचियों को चूस लूं. उन्होंने उसके हाथ से सामान लिया और गाड़ी के पीछे के सीट पर डाल दिया.

प्रिया मुझसे एक बार चुदने के लिए तैयार होकर आई थी लेकिन अब वो यहां रुकने के लिए तैयार हो गई. मैं भी उसकी चुत के रस को पीकर तृप्त हो गया और आगे की अपनी इस प्रक्रिया को जारी रखा. उसने मेरे सीने पर अपना सीना रखते हुए मुझे दबा लिया और दनादन मेरी चुदाई चालू कर दी.

ये कहते हुए मैंने अपना लोवर चड्डी समेत उतारा और लंड पर रोमा का हाथ रख दिया.

फहीमा ने भी धार निकलते ही अपना मुँह खोल लिया और जितना हो सकता था, उसने लंड का पानी अपने मुँह को खोलकर लेना शुरू कर दिया था. हाथ उनको पकड़ने के लिए भागे और मन सोच रहा था कि साले चूतिया इनको अभी तक क्यों भूला हुआ था. मेरा एक हाथ उसके सीने पर था और उसके दूध को ब्लाउज के ऊपर से ही सहलाने लगा.