देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,नवीन हिंदी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

गांव की एक्स एक्स एक्स: देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ, नज़रों-नज़रों में एक-दूसरे के अंतर तक उतर जाने वाली निग़ाह से हम दोनों कितनी ही देर दो-चार होते रहे.

शेरों की सेक्सी वीडियो

अम्मी के मुँह से बच्चे की बात सुन वो शर्मा गयी और अपना चेहरा छुपाते हुए बोली- धत अम्मी … आप भी ना. फोटो सेक्सी गानाओह्ह ओह्ह शश्श … ह्ह्ह!मैं- नीरा तुमको गाली दे सकता हूँ मैं?नीरा- हाँ दे दो.

मैंने जब जवानी में कदम रखा, तो गलत संगत में पड़ गया और मैं नशे की गोलियां का नशे करने लगा. इंग्लिश वीडियो मूवी सेक्सीअब उसकी लेग्गिंग उतारनी शुरू की मैंने … इसमें मुझे कोई मुश्किल नहीं हुई.

मैं अब्बू के कमरे के बाहर पहुंचा ही था कि अब्बू की आवाज सुनाई दी- आ गई, मादरचोद.देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ: जब पहली बार मैंने अविनाश को नग्न अवस्था में देखा था, तब मुझे अन्दर से अजीब लग रहा था.

फिर मैंने एक दिन मैंने स्नेहा भाभी से बोला- यार अब कितना इन्तजार करवाओगी?भाभी बोलीं- किस बात का इन्तजार है.फिर जीजा ने नज़मा को नीचे पटक लिया और उसकी चूचियों के बीच में लंड को रख दिया और नज़मा को अपनी चूचियां दबाने के लिए कहा.

अच्छी-अच्छी सेक्सी - देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ

हम साथ में खाना भी खाएंगे। मैं खाना बना कर रखूंगी तुम्हारे लिए।मैं हां बोल कर चला गया.रानी ने इतना कह कर सब घुंघरू खोल के रख दिए- अब खुश? अब छम छम नहीं होगी.

मैंने उसे हाथ से उठा कर अपनी गोद में उठा कर दीवार से सहारे लगा दिया और उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया. देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ उसी के चूतड चौड़े और बड़े बड़े हैं, बिल्कुल तुम्हारी माँ की तरह!उसी वक्त राशि ने मेरा लंड चूसना छोड़कर इधर उधर देखना शुरू किया- वो रहे दोनों.

मैंने लगातार तेल की शीशी का मुँह उसकी गांड और लंड के साथ टपकाता जा रहा था.

देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ?

अगले भाग की प्रतीक्षा करे और तब तक आप मुझे मेल कीजिएगा कि यह गर्म कहानी आपको कैसी लगी?. मेरी इस सेक्स कहानी में मैंने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी को लिखा है. उसने मुझसे पूछा- स्वाद कैसा लगा?मैं हंस दिया और फिर से लंड चूसने लगा.

मेरा सांसों को नाक से लेना मुश्किल हो रहा था, मुँह खुला हुआ था, कलेजा धौंकनी की तरह चल रहा था. फिर मैंने खुद ही मयंक के हाथ को अपने हाथ के नीचे दबा लिया और अपने हाथ पर दबाव बनाते हुए मेरी बीवी के वक्षों को मयंक के हाथों से दबवाने लगा. उन्होंने मेरी चूचियों और चूत को अपने दांतों से काफी खरोंच दिया था और निशान बना दिए थे.

मैंने बिना कुछ बोले चुदाई जारी रखी और झड़ने से ठीक पहले लंड उसके मुंह में घुसा कर पिचकारी दे मारी. फिर रात को रोज की तरह चुदाई का माहौल बन गया और दोनों अंकल ने मम्मी को खूब दबाकर चोदा. कोमल- क्या अब तक रिया के साथ भी नहीं किया?मैं- वो अभी मना कर रही है.

वायग्ररा के असर और दीदी के ब्लो जॉब से मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था. टीवी पर चल रही पोर्न फिल्म की आवाजें कमरे में अगल ही रोमांच पैदा कर रही थीं.

अब संजू ने भी अपनी जीभ रोहित के मुँह में दे दी, तो रोहित बेतहाशा जीभ को चुभलाने लगा.

उसने मेरा लंड हाथ में ले लिया और लंड को मुँह में ले कर स्वाद लेने लगी फिर धीमे से लंड को चूसने लगी.

जब मैं कोमल की गांड को तेजी से पेल रहा था, तभी जिया बाथरूम से बाहर आ गई. प्रिया ने दिन में ही अपनी चूत चिकनी की थी सुनील का लंड लेने के लिए और मजे ले रहा था विशाल. यकायक भावविहल हो कर मैंने अपने दाएं हाथ से वसुंधरा का बायां हाथ जोकि वसुंधरा की गोदी में धरा था … पकड़ कर उस के हाथ की पुश्त को चूम लिया.

उसकी चुत में लंड जैसे ही फिट हुआ, मैंने अगले ही पल जोरों से धक्का मार दिया और मेरा लंड चुत में घुसता चला गया. तभी सुनीता आंटी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझसे कहने लगीं- ऐसे कैसे जा सकते हो समीर … तुम पूरे भीग चुके हो, चलो घर में चाय पीकर जाना. मेरा लंड तेल की चिकनाई के साथ थोड़ा थोड़ा करके अन्दर घुसता जा रहा था.

पीठ पर मालिश करवाते हुए मेरी चूत से आनंद के आंसू बाहर आने ही वाले थे कि ज्ञान ने मुझे पलट कर सीधी कर लिया और मेरी नंगी, साफ, बिना झांटों वाली चूत ज्ञान के आगे पसर कर उसको ललचाने लगी.

तुम्हारा पति मेरी गांड भी ऐसे मार रहा था … मानो कभी पहले कभी औरत देखी ना हो. अम्मी बोल रही थीं- हम्म … बस तुम्हारा हो गया … झड़ गए … मेरी आग अब कौन शांत करेगा?अब्बू कुछ बोले नहीं और वैसे ही पड़े रहे. वो सब लड़के मुझे अपने बिस्तर पर पटक पटक कर चोदना चाहते थे मगर सब बेचारे मन मारकर ही रह गए और पैंट के ऊपर अपना लंड सहलाते रह गए।फिर शालिनी मिली तो उसने मौका देखकर मेरे चूतड़ दबा दिए और कान में बोली- जल्दी से स्टोर रूम में मिल मुझे!उस दिन तनु आयी नहीं थी तो मैंने शालिनी की बात को अनसुना कर दिया और अपने काम में लग गयी.

चलो जल्दी से मिलने आओ, मुझे भी तो तुम्हारे दर्शन करने हैं।मैंने कहा- बस तुम आँखें बंद करो, मैं तुम्हारे सामने अभी हाजिर होता हूँ।मैं बात करते हुए देख रहा था, नेहा का चेहरा कुम्हला सा गया है. मैंने एक प्लान बनाया और एक फेक आईडी से 15 – 16 पॉर्न क्लिप की वीडियो उसके मोबाइल पर सेंड कर दीं. वो चीख पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह… मगर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया.

अम्मी बोल रही थीं- हम्म … बस तुम्हारा हो गया … झड़ गए … मेरी आग अब कौन शांत करेगा?अब्बू कुछ बोले नहीं और वैसे ही पड़े रहे.

हम दोनों किस करते जा रहे थे और बीच बीच में मैं भाभी के गहने भी उतार रहा था. मैंने कहा- चाची अब मेरा भी करवाओ ना!उन्होंने कहा- करा तो मैं दूंगी, पर एक शर्त पर कराऊंगी.

देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ मैंने अपनी जान को बांहों में लपेट लिया और उसे चूमता हुआ तगड़े तगड़े धक्के मारने लगा. उसने मेरी तरफ मुँह करके अपनी पेंटी भी उतार दी और उसे भी मेरी तरफ फेंक दिया.

देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ जिन लोगों को मेरे बारे में नहीं पता है उनके लिए मैं बता दूं कि मेरा नाम शुभम है और मैं नोएडा का रहने वाला हूं. मैं भी उसकी गर्मी को सहन नहीं कर पाया और उससे बोला- आह मेरी रंडी कुतिया … मेरा रस निकलने वाला है … आजा भैन की लौड़ी मुँह खोल दे.

कुछ देर के बाद जब मेरी हवस बेकाबू हो गई तो मैंने उसकी तरफ करवट लेते हुए उसकी कमर में हाथ डाल दिया.

कोरियन सेक्सी वीडियो

भाभी को देखने से ऐसा लग रहा था कि उनकी शादी हुए अभी ज्यादा टाइम नहीं हुआ था. उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाया और एक धक्का दिया और लंड एक बार में ही पूरा अन्दर चला गया. फिर उसने कहा- चलो घर चलते हैं, वैसे भी ये कोई कॉफी पीने का टाइम नहीं है कुछ और पिलाती हूं.

अब तक की देसी लड़की की चुदाई की कहानी के पहले भागदेसी लड़की ने चलते ट्रक में चुत चुदवाई-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने घर तक जाने के लिए एक ट्रक में लिफ्ट लेकर बैठ गई थी. मैं झांट भरी चूत में उंगली डाल कर, थोड़ी देर चाट कर उन्हें 5 मिनट में झड़वा करके घर वापस आ गया. चाय का कप अपने होंठों से लगाते हुए मैंने ज्ञान की जांघ पर हाथ रख लिया.

मेरे पास आकर वो बोली- क्या लेना पसंद करोगे? व्हिस्की या वोडका?मैंने कहा- व्हिस्की ही ठीक है.

मैंने हाथ पकड़े, तो दोनों ने एक एक हाथ से मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया और मुझे ऊपर खींच लिया. उसने इधर उधर देखा, फिर मेरी ओर देखकर बोली- क्या मैं विंडो सीट पर बैठ सकती हूं?ऐसा उसने इसलिए कहा क्योंकि किसी को शक ना हो. अब भी रात रात भर चुदाई होती पर शीला की नहीं बल्कि विशाल की अपनी बीवी रिंकी के साथ और सुनील की अपनी बीवी प्रिया के साथ.

मैंने उसके बांहों को परे किया और कहा- अरे रानी … ऐसे शरमायेगी तो कैसे चलेगा … अभी तो तेरा ये सुनहरा बदन मुझे चूसना है और फिर चूत और गांड दोनों का आनन्द लूटना है. पहले तो वो मेरे लंड को मरे मन से चूसने लगी लेकिन कुछ देर के बाद उसको लंड चूसने में मजा आने लगा. जब आपके घर वाले, पड़ोस वाले भैया के घर आपको अकेला छोड़ दें और भैया का मन आप पर आया हो, तो क्या होता है! जब आप पहली पहली बार किसी देसी मर्द को एंजाय करते हो … तब क्या क्या होता है … यही सब जानिए मेरी सेक्स कहानी मेरे पड़ोसी के साथ, उस रात जब मैंने अपनी गांड पहली बार किसी के हवाले की थी.

इसलिए जब शीला उठ कर चाय बनाने गयी तो सुनील ने विशाल को आवाज देकर बुला लिया और हँसते हुए सारी बात उसे बतायीं. हम दोनों किस करने लगे और जल्दी ही हम दोनों ने एक दूसरे के टी-शर्ट उतार दिए.

हमारा कमरा थोड़ा बड़ा है उसमें हम तीनों भाई बहनों के लिए सिंगल 3 बेड बिछे हैं. रानी ने अपना छोटा सा, सुन्दर सा मुंह खोल दिया और थोड़ी सी गुलाबी गुलाबी जीभ बाहर निकाल दी. उस ग्रुप में कई कपल भी थे जो अपनी चुदाई की कहानी शेयर करते रहते थे.

उसके बाद उसने खुद से कमर उठाकर धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए तो मैं समझ गया कि क्रिया तैयार है.

इस तरह से हम दोनों की इस रासलीला की, चूत चोदने की कहानी की शुरूआत हुई. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी।कुछ ही देर में हम दोनों ने एक-दूसरे के जिस्म से कपड़े अलग कर दिए। वो भी पूरी तैयारी के साथ आयी थी. मैंने अपनी जीभ वहां लगा दी काफ़ी समय तक उसकी चूत चाटता रहा जब तक उसका पानी ना निकल गया।फिर धीरे से मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की गान्ड के छेद में एक उंगली धीरे से डाल दी.

जीजू अब मेरी चूत की फांकों में अपने लंड को आगे पीछे करने लगे थे … जिससे मैं सब कुछ भूल कर उनके लंड से चुत की रगड़ाई का मजा उठा रही थी. उसकी नाज़ुक सी पतली कमर … और उस पर उभरे गुंदाज़ कूल्हे, समोसों से कुछ ही बड़े चूचे … आह … बड़ा ही दिलकश नजारा था.

इस अन्तर्वासना हिंदी स्टोरी पर अपने कमेंट्स के जरिये मुझे बतायें कि मैंने ये फैसला करके सही किया या नहीं? मेरी जैसी समस्या में अपनी ही बीवी को किसी गैर मर्द से चुदवाना कहां तक सही है? मुझे आप लोगों की प्रतिक्रियाओं का इंतजार है. फिर भाई ने मुझे बेड पर बैठा कर अपना लंड मेरे होंठों पर रगड़ना शुरू किया. रीना- देखो, धीरज ने हाँ तो बोल दी है न्यू ईयर पार्टी के लिए! पर मैंने उसे यह नहीं बोला कि आप भी रहोगे.

सेक्सी इंडियन वीडियो

शायद नताशा को इस समय अहसास हो रहा होगा कि क्यों दीदी उस समय मुस्करा रही थीं.

तभी रीना उठी और मेरा लण्ड देखते हुए बोली- कितना बड़ा है तुम्हारा और मोटा भी. रुकैय्या की बात सुनकर मेरा लण्ड जोश में आ गया और दोगुनी ताकत से रुकैय्या को चोदने लगा और वीर्य की आखिरी बूंद निकलने तक चोदता रहा. होंठों पर खेलती हैं तबस्सुम की बिजलियाँ,सजदे तुम्हारी राह में करती है कहकशांदुनिया ऐ हुस्न ओ इश्क़ का तुम ही शवाब हो!मेरी आवाज़ सुनकर या चूचुक में होती सुरसुरी से बेबी रानी की तन्द्रा टूटी, जबकि गुड्डी रानी सिर्फ ऊँऊँऊँ करके रह गई.

वो बोले- अच्छा जी, इतना पसंद करने लगी हैं क्या आप हमें?ज्ञान जी की पैंट में आकार ले चुके लंड पर मैंने हाथ से सहलाते हुए कहा- आप ही बेरुखे से हो रहे थे, मैं तो पहले दिन ही चुदने के लिए तैयार थी. लेकिन कल सुबह और आज शाम के बीच में तो पूरी एक रात अभी भी बाकी थी … मतलब! एक रात की जिंदगी अभी बाकी थी. हिंदी में ब्लू पिक्चर दिखाएं सेक्सीमैं यकीन से कह सकता हूँ कि ये कहानी पढ़ते हुए बीच में ही पुरुषों के लंड पानी छोड़ देंगे और महिला पाठकों की भी कच्छी गीली हो जाएगी.

फिर मैंने सुमन को पकड़ा और वहीं मुझे प्राची भाभी भी नजर आईं, तो मैंने मौका नहीं गंवाते हुए उन्हें भी जम कर हल्दी लगाई और इसी बहाने उसके गोरे नाजूक बदन को अच्छे से सहलाया. गुड्डी रानी भी तो थी ही सुपर हसीन तो उसपर यह सब हाव भाव बड़े मनमोहक लगते थे.

अगर आकाश ने देख लिया, तो उसको जरूर शक हो जाएगा कि मैं किसी और के साथ सेक्स के मजे ले रही हूँ. लेकिन तभी मैंने उसके दोनों हाथ फैला कर ऊपर को कर दिए और रोहिताश को दोनों हाथ पकड़ने का इशारा कर दिया. थोड़ी देर में उसका मैसेज आया- क्या कर रहे हो?मैं- तुम्हारे बारे में सोच रहा हूं.

और समीर और मैं चुदाई करने वाले थे, तभी उनका कॉल आया, बोले- आज क्या पहना है?आज लूज़ टीशर्ट और शार्ट!”अंदर?”सर आज तो कुछ नहीं!”क्यों?”गर्मी है ना!”अच्छा आज पिक नहीं दिखाओगी?”मैंने समीर को कह कर पिक खींच कर भेज दी जिसमें मेरे क्लीवेज़ साफ दिख रही थी. मैंने रीना के बूब्स दबाने शुरू कर दिया और रीना मेरा लौड़ा ऊपर से पकड़ के हिल्ला रही थी. मेरा हाथ पकड़कर चाचा बेडरूम में ले आये और बोले- दरअसल मैं रात से बड़ी उलझन में हूँ.

”मैंने लण्ड को अंदर बाहर करते हुए देखा कि मेरा लण्ड खून से सना हुआ था.

विशाल को भी रिंकी ने बेड पर बुलाया और प्रिया से कहा- तुम विशाल का माल निकाल दो. मेरे दिल ने कहा कि हीना एक बार में ही लिंग गले के आखिरी छोर तक ले जाये.

कहानी के पहले भागछोटे लंड वाले की बीवी-1में मैंने आपको बताया था कि अपनी बीवी की चूत चुदाई करते समय मेरा जल्दी छूट जाता था. आप यह आखिरी इल्तज़ा जैसे अल्फ़ाज़ क्यों बोल रही हैं … वसुंधरा! किसी और ने देखा हो … न देखा हो पर आप ने तो मेरा अंतर देखा है. हम सबने स्कूल टाईम के बाद फिर से उसी गार्डन में मिलने का फैसला किया, जहां हमारी सहेली ने अपने प्रथम मासिक धर्म के बारे में बताया.

धीरे धीरे चारों ने आपस में अश्लील हंसी मजाक या एक दूसरे को चिपटा लेना शुरू कर दिया. तौलिये के अंदर हमला होते ही लंड ने बगावत कर दी और तन गया, टॉवल नीचे गिर गया. यदि कोई हमारे इस रिश्ते को देख लेता, तो हम दोनों की इज्जत का फालूदा बन जाता.

देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ कुछ मिनट बाद स्वीटी आंटी आसमानी रंग की पारदर्शी साड़ी में तैयार होकर नीचे आईं. उन्हें ऐसा लग रहा था कि उनमें सच में दूध भरा हुआ है और वो लोग सच में दूध पी रहे हैं.

ओपन सेक्स वीडियो भोजपुरी

तभी स्वीटी आंटी ने मेरे हाथों को हटाते हुए कहा कि ये क्या कर रहे हो, कोई देख लेगा. हनी ने अपनी आँखें बंद कर लीं और बुदबुदाते हुए भगवान से कुछ कहने लगी. लेकिन आपलोगों को एक बात जरूर कहूंगी कि इसे आप लोग एक बार जरूर ट्राय करें.

मैं कॉटेज़ की चारदीवारी के अंदर लॉन के साइड से बनी राहदारी की लाल बज़री पर से लगभग भागता हुआ कॉटेज़ के दरवाज़े पर पहुंचा. इस देसी सेक्स चैट कहानी में पढ़ें कि गाँव की एक देसी लड़की से मेरी बात होने लगी थी और हमारी बातें चूत चुदाई तक पहुँच गयी थी. साल की सेक्सी वीडियो दिखाएंवो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ हुए सेक्स को मुझे बताता भी था कि कैसे क्या क्या किया.

मैं बोली- मैं सब समझ गई … मैं किसी से कुछ नहीं बोलूँगी … तेरी मॉम से भी … तू सच बता क्या तुझे तेरी मॉम बहुत पसन्द है?वो बोला- हां आंटी … पर वो मेरी मॉम हैं.

चाची भी जोर जोर से सिसकारियां लेते हुए बड़बड़ाने लगीं- आंह … कमीने … अब चोद भी दे यार … क्यों तड़फा रहा है मुझे. उम्म्ममेघा … तू बहुत हॉट है यार… मुझे भी चूसने दे न!”मैं बेड पे लेट गई.

तभी मम्मी ने उसको मुस्कुरा कर देखा और बाय कर दिया।तो दोस्तो आप सबको कहानी कैसी लगी? ये आप सब मेल करके बता सकते हैं।आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]पर आप अपने विचार भेज सकते हैं।और जो लोग मुझसे फेसबुक पर जुड़ना चाहते है वो मुझेhttps://www. दूसरे दिन बहू ने जिद की और अपनी सास के साथ मेरे लंड से चुदाई करवाने की बात कही. प्राची भाभी ने कहा- चलो टाईम बे टाईम मस्का मत लगाओ, जल्दी से नीचे हॉल में आ जाओ.

इसी तरह 25 मिनट चोदने के बाद जोरदार झटके से ससुर जी ने अपना सारा वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया.

बहू बोली- बाबूजी अब ये तो बता दो आप हमारी चुदाई कैसे देखते थे?‘ये मत पूछ बड़की. वो बोला- भाभी आओ ना!संजू मुस्कुराते हुए आई और रोहित के लंड को अपने मुँह में ले कर चूसने लगी. उसने कहा- आंटी फिलहाल तो मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है … लेकिन कुछ लड़कियां जरूर मुझे पसंद करती हैं.

सेक्सी ब्लू फिल्म चुदाई वाली वीडियोएक हफ्ते तक मैंने रीना को भरपूर चोदा, नतीजा यह हुआ कि आज सुधीर बाबू एक सुन्दर से प्यारे से बेटे के पिता हैं. जिया- इस बार मैं तो भाई से नहीं कहूंगी, लेकिन जब भाई को पता चलेगा तब?कोमल- अब ऐसी गलती दोबारा कभी नहीं होगी.

सोनालिका सेक्स

मैंने गर्म पानी से सिकाई की … मगर अभी तो असली मज़ा और चुदाई बाकी थी. मैंने खुद ही चूतड़ आगे करके बाबू के बाल पकड़ कर अपनी चूत के ऊपर रखवा लिया और चूत को उनकी नाक पर रगड़ने लगी. मैं भी ज्यादा देर तक उसकी टाइट चूत के सामने टिक नहीं पाया और पांच-सात मिनट की चुदाई के बाद ही मैंने दीप्ति की चूत में लंड का पानी छोड़ दिया.

भीषण उत्तेजना से उसका सुन्दर चेहरा लाल हो गया था और बदन में कंपकंपी छूट रही थी. वो नीचे से अपनी गांड को उठाकर मेरे लंड को चूत में लेने की कोशिश करने लगी. वो चुदासी सी बोल रही थीं- आंह और चूस … तुझसे सुबह से चुदने को फिर रही हूँ … और तू चोद ही नहीं रहा था.

फिर हंसते हंसते हुए वो पेट के बल लेट गयीं और अपनी गोरी गोरी टांगें हवा में लहराने लगीं. ”मैं बिस्तर पे चढ़ के रानी की बगल में लेट गया और बड़े प्यार से उसके नाज़ुक बदन पर हाथ फेरने लगा. लेकिन जब मेरी ड्रेस खुली तो मुझे अपने देवर से पूछना पड़ा एक नाटक सा करते हुए- यह आप क्या कर रहे हैं?उन्होंने मुझसे कहा- भाभी, मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं.

जीजा जी- उनका नाम अविनाश है, उम्र 30 साल है, दिखने में सुंदर और मस्तमौला व्यक्तित्व. उसके लंड से जो रस निकल रहा था ऐसा स्वाद मैंने इससे पहले कभी नहीं लिया था.

सुनीता मम्मी- आहह समीर बेटे आहह उउउंम्म उउऊइई माँआआ आहह चाट ले अपनी मम्मी की चुत को.

कुछ देर बाद मेरी अम्मी झड़ गईं और थोड़ी देर वो वैसे ही निढाल पड़ी रहीं. शादीशुदा लड़की सेक्सी वीडियोमैंने कुछ ही देर में स्पीड पकड़ ली और ज़ोर ज़ोर से सुधा को चोदने लगा. सेक्सी चित्र साड़ीअब तक मैंने कभी अविनाश से भी अपनी गांड नहीं मरवाई थी और जब राज ने मेरी कुंवारी गांड में लंड घुसाया था, तब ऐसा लग रहा था कि किसी घोड़े का लंड मेरी गांड में घुस गया है. उनके लण्ड की एक झलक मैंने देखी लेकिन शर्म के मारे अच्छी तरह से नहीं देख रही थी.

खाली हुई लिम्का की बोतल एक तरफ को फेंक के रानी ने लौड़े पर हाथ फिराया और लंड को चूमने लगी.

मैं जेठजी से चिपके चिपके ही उन्हें रसोई के स्लैब तक खींच कर ले गयी और स्लैब का सहारा लेकर खड़ी होकर जेठजी का साथ देने लगी. एक पोर्न स्टार की तरह मेरे लौड़े को चाट चाट कर उसने साफ़ कर दिया और हांफने लगी. ज्ञान को मैंने नीचे लिटा लिया और उनकी पैंट को खोल कर नीचे खींच दिया.

कुछ देर तक मैं लंड को आराम आराम से भाभी की चूत में धकेलने की कोशिश करता रहा. मैंने देर ना करते हुए चाची की चुत के दरवाजे पर लंड टिकाया और एकदम से पूरा लंड अन्दर पेल दिया. पर आंचल तो बच निकली थी और मैंने अन्दर आती हुई नेहा को पकड़ लिया था.

सेक्स कॉम वीडियो हिंदी में

आज मुझे एक ऐसी चूत का दीदार हो रहा था, जिसने अब तक लंड का स्वाद ही नहीं चखा था. ”मंगलवार रात को सुधीर चला गया तो बुधवार दिन में हम लोग स्मोकिंग का आनंद लेते रहे और व्हिस्की के साथ स्नैक्स फाइनल किये. किसी और की लिखी काम-कथा को पढ़ कर पाठक अपने उन गुप्त अहसासों को जी लिया करता है जिनको खुल्लमखुल्ला करने से, सदियों से चले आ रहे संस्कारों में वर्जित करार दिया गया है.

निष्ठा की चूत फटते ही भयंकर तेज बिजली देर तक कड़कती रही जिसकी चकाचौंध तेज रोशनी में कमरा नहा उठा और लगा जैसे निष्ठा का कौमार्य भंग देख स्वयं इन्द्रदेव हर्षित हो रहे हों.

मैं सीढ़ियों से उतरते हुए फोन पर ये बोलते हुए उतरी- देखो मुझे कोई भी दिलवाओ लेकिन मेरे पेट में बच्चा होना चाहिए.

उन्होंने सिर्फ सेक्स की पूर्ति को तरजीह नहीं दी बल्कि वो सामने वाले का ख्याल रखना भी खूब जानते थे. अब विशाल ने प्रिया को घुमा कर उसकी पीठ को अपनी छाती से भिड़ाया और हाथ आगे करके उसके मम्मे मसलने शुरू किये. मौसी भांजे का सेक्सी वीडियोसही मौका देखकर मैंने अपना मुँह उनकी चुत पर फिर से लगा दिया और चुत चाटने लगा.

मुझे बाजार घूमने का मौका भी मिल जाता और भाभी को देखने का अवसर भी मिल जाता. थोड़ी गरम तो मैं पहले से ही थी, पर उनकी इस हरकत की वजह से और गर्म हो गयी. फिर रीना ने अपने मायाजाल से कैसे भी वो धीरज को पार्टी के लिए पटा लिया.

मैंने धकापेल चुदाई करके उसकी चुत में रस छोड़ा और उसे लेकर ऊपर आ गया. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था, मैं परेशान होकर सर खुजाते हुए हल ढूंढने का प्रयास कर रहा था.

अब मैं कोमल के करीब हुआ और उसकी गांड को सहलाकर उसको घोड़ी बनने का इशारा किया.

दोस्तो, मेरी पड़ोसन की चूत चोदने की कहानी को मैंने आपके साथ साझा किया, उम्मीद है आपको मेरी सेक्स स्टोरी में मजा आया होगा. कुछ देर बाद रोहित किचन में आया और दरवाज़े पर खड़ा होकर मेरी तरफ देखने लगा।मैंने रोहित की तरफ देखा. रोशन उस लड़की के मम्में दबा रहा था और वो लड़की हल्का सा विरोध करते हुए उसे रोकने की कोशिश कर रही थी.

अंग्रेजी हॉट सेक्सी पिक्चर मैंने उठ कर अपने को रानी के ऊपर जमाया ताकि मेरे घुटने उसकी जाँघों के इर्द गिर्द आ गये और लंड सीधा चूत के ऊपर. उन्होंने हाथ से अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत की छेद पर रख कर दो तीन बार अपना लंड चूत के फांकों में ऊपर नीचे किया.

जिस भी अंग पर मेरे गर्म होंठ लगते तभी दीपिका के मुंह से गर्म आह्ह निकल जाती थी. मेरी आवाजें निकल रही थी-उम्मम्म म्मम्म सस्सस… धीरे! उम्म्म्मआआआ! धीरे धीरे करो न!मैंने अपने यार समीर को नीचे गिरा कर लंड मुँह में ले लिया. और फिर दो दिन बाद मैंने उनकी वो नारंगी रंग की साड़ी पहनी ठीक रात को सोने से पहले.

इंग्लिश शॉर्ट सेक्स वीडियो

मुझे उसकी इस बिंदास अदा से हैरानी तो थी, मगर मेरा भी जोश चढ़ने लगा था. मैं सिमरन, अन्तर्वासना लेखक ज्ञान ठाकुर जी की मदद से अपनी दबी हुई अतृप्त वासना की पूर्ति करने में कामयाब हुई. पूरी तरह से डिस्चार्ज होने के बाद मैं निढाल होकर रुकैय्या पर लेट गया, मेरे बालों को सहलाते हुए रुकैय्या ने पूछा- एक बार और करेगा?मेरे हां कहने पर रुकैय्या ने मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे लण्ड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

दूर बर्फ से लदे पहाड़ों के नज़दीक रह-रह कर कौंधती बिजली अपने आइंदा इरादों का खुल कर ऐलान कर रही थी. अब अरविन्द ने उसकी चूत में अपना लंड घुसाने की नीयत से उसकी टांगें चौड़ी की.

मेरी नयी हिंदी में सेक्सी कहानी भी एक पुरानी क्लासमेट के साथ सेक्स की है.

मैंने उनको अपनी बांहों में ले लिया और धीरे से हाथ आगे करके उनके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. तब तक आंचल अपने हाथों में हल्दी लेकर मेरे सामने आ गई और हाथ आगे बढ़ाते हुए कहा- लीजिए आप भी हल्दी लगा लीजिए. मैं हनी की टांगों के बीच आया तो हनी ने अपने चूतड़ उचका कर गांड़ के नीचे तकिया रखकर अपनी टांगें फैला दीं.

बस इस बार माफ कर दो!”अब माफ तो तुझे एक ही शर्त पर करुंगा कि तुझे मेरी गर्लफ्रेंड बनना पड़ेगा। जब तू उसे फ़्रेंड बना कर यहाँ तक आ सकती है तो मैं तो तेरे गांव का हूँ. वह विक्रम और मुझे देख कर चिल्लाने लगा- ओह्ह … व्हाट ए प्लेजेंट सरप्राइज़! यारों का याराना चल रहा है! मुझे तो लगा था कि यहां केवल राज ही आया हुआ है. आने के बाद भैया ने कहा कि अब जब तक बच्चे की डिलीवरी नहीं हो जाती वो कहीं भी बाहर नहीं जायेंगे.

मैं ही नहीं किसी का भी मन कर जाए इसे चूसने का!और वो फिर से रोहन का लण्ड चूसने लगा।उन दोनों की बातें सुनकर और उन्हें देख देख कर मैं भी उत्तेजित हो रही थी और मेरी चूत भी भीग रही थी.

देहाती ब्लू पिक्चर बीएफ: पिछले दो-तीन दिनों से हो रही मुसल्सल बारिश के कारण वातावरण में धुंध तो नहीं थी लेकिन हवा औसत से बहुत ज्यादा ठंडी चल रही थी और सुबह से ही आसमान में इक्के-दुक्के बादलों के काफ़िले मटरग़श्ती कर रहे थे. यह सब बता रही हो, यह बताओ, आज तक कितने लण्ड खाये हैं तुमने?”कसम से झूठ नहीं बोलूंगी.

उसने भी उसी दिन से लेट्रिन जाने के बाद अपनी गान्ड में वेसलीन लगा कर एक एक दो दो उंगलियां डालनी शुरू कर दी।फिर आया जाने वाला दिन … और हम बस से पुष्कर के लिए रवाना हुए. मेरी वो दोस्त जिसका नाम मायरा (बदला हुआ नाम) है, इस दिवाली पर अपने परिवार से मिलने इंडिया में आई हुई थी. कविता ने मुझे काफी कुछ तरीके बताए थे, मगर ये सब इतना आसान होता, तो शायद मैं इतना न सोचती.

अब मुझे फिर से नहाना पड़ेगा।रोहित ने कहा- मौसी, जबसे मुझे पता चला कि होस्टल लेने से पहले मैं आपके घर रहूंगा, तब से मैंने अपने लण्ड को सिर्फ आप ही के लिये तैयार रखा था.

बाबू के दिमाग में क्या चल रहा था, ये न तो मेरे … और न माई को पल्ले पड़ रहा था. मैं बाहर आ गया और देखा कि सभी सिस्टर्स अपनी कुर्सी पर बैठकर सो रही थीं. अब मैं 69 की पोजीशन में आ गया और गिन्नी की चूत चाटते चाटते अपना लण्ड गिन्नी के मुंह में दे दिया.