हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए

छवि स्रोत,सेक्सी घोडा सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

स्कूल की सेक्सी बीपी: हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए, पास किया है और अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ पर यह मेरी तीसरी कहानी है.

bhai वाला सेक्सी वीडियो

उसका गोरा रंग, छाती पर उठे हुए मम्मे … पूरी गोल और भरी हुई गांड को कोई भी देख ले, तो मुठ मारे बिना रह नहीं पाए. सेक्सी वीडियो में भोजपुरी मेंलगभग 15 मिनट उसे चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही निकाल दिया … क्योंकि मैं पहले से ही 72 घंटे वाली गर्भ निरोधक गोली ले कर आया था.

मुझे उसकी आंखों में तैरती हुई प्यास का आभास हो चुका था, इसलिए थोड़ा सा उसके पास सरक गया और उसका हाथ पकड़ लिया. हिंदी में सेक्सी चोदने वालीविवान भैया मेरी चूत चाट रहे थे तो मैं और भी ज्यादा कामुक हो रही थी.

दादर से गाड़ी निकली और ठाणे स्टेशन से एक लेडी मेरे कंपार्टमेंट में आ गयी.हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए: उसने जैसे ही लंड लिया तो वो चिल्ला पड़ी क्योंकि अब वो कई बार झड़ चुकी थी.

मैं उससे ताकतवर था और उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में घुसा आनंद दे रहा था.दोस्तो, जब लड़का लड़की से 5-6 साल बड़ा हो, तो वो उसे ज्यादा प्यार देता है.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो कॉम एचडी - हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए

थोड़ी देर मेरी चुत को चाटने के बाद सर ने अपना लंड मेरी चुत पर रख दिया … और धीरे धीरे अपना लंड मेरी चुत पर रख कर हिलाने लगे.लेकिन मुझे पहले अपना लंड एक बार खाली करना था … ताकि चुदाई का मस्त मजा आए.

मेरी चूची बहुत बड़ी है और मेरी चूची को वो बहुत मजे से चूस रहा था और दबा रहा था. हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए फिर कुछ देर रुकने के बाद मैंने फिर से एक जोरदार झटका मारा, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में जा चुका था.

तो सीमा चीखी- कमीनी कह दे ना ग्रुप सेक्स करना है?पिंकी बोली- न बाबा न … ग्रुप मस्ती ही ठीक है.

हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए?

” नीलम ने ज़ोर से तड़पते हुए कहा।क्या घुसाऊं बेटी?” महेश ने अपनी बहू से मज़े लेते हुए कहा।ओहहहह पिता जी वह… अपना लंड घुसाओ ना!” नीलम ने भी अपनी शर्म छोड़ते हुए कहा।क्या बेटी, तुम्हें मेरा लंड चाहिए, कहाँ पर, किधर घुसाऊं मैं अपना लंड?” महेश ने इस बार अपनी बहू की चूत के दाने पर अपना लंड घिसकर उसे छेड़ते हुए कहा।पिता जी, मेरी चूत में घुसाओ अपना लंड. कहानी आपको कैसी लगी, आप इसके बारे में कमेन्ट करें और बतायें कि क्या मेरे साथ सही हो रहा था?[emailprotected]. पर मेरा ध्यान तो कहीं और ही था, जैसे तैसे मैं उनसे बात करता रहा। यह डिनर पार्टी केवल अपने कुछ क्लोज फैमिलीज़ के लिए ही दी थी तो मैं सबको पहचानता ही था।मेरे दोस्तों में से मैंने केवल अखिल और प्रिया को ही बुलाया था और वो दोनों अब तक नहीं पहुंचे थे।सभी लोग अपनी अपनी गप्पों में लगे हुए थे कि मेरी नजर कमरे से निकलती हुई मामी पर पड़ी.

मुझे इस बात का अंदाजा लगाते देर नहीं लगी कि मेरे वीर्य ने जो उसकी चूत को भर दिया था तो फिर वीर्य उसकी चूत से बाहर आ रहा होगा और जरूर उसने अपनी चूत को इसी पैंटी से साफ किया होगा. वह मेरे ऊपर बैठ कर चुदाई का आनन्द ले रही थी और मैं नीचे लेट कर उसका साथ उसकी चूत में धक्के मार मार के दे रहा था. ” नीलम ने अपने ससुर से कहा और अपनी साड़ी को अपने जिस्म से अलग करती हुई उतारने लगी। नीलम कपड़े उतारते हुए अपने ससुर की तरफ नहीं देख रही थी क्योंकि उसे शर्म आ रही थी।नीलम ने साड़ी उतारने के बाद अपने ब्लाउज और पेटीकोट को भी खोल दिया। इधर अपनी बहू को सिर्फ एक छोटी सी पेंटी और ब्रा में देख कर महेश का बुरा हाल हो चला था.

क्या मस्त चूचे थे उसके, बिल्कुल गोल-गोल और टाइट।अब मैं उसके दोनों दूधों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और वो इसका मजा लेने लगी. पर थोड़ा रिक्वेस्ट के बाद उसने जब अपने ब्रा पैंटी निकाले, तो उसको नंगा देख कर मेरा लंड ऐसे तन गया कि मानो अभी चड्डी फाड़ के बाहर आ जाएगा. जिंदगी में सेक्स ही सब कुछ नहीं होता, एक दोस्ती का रिश्ता भी मायने रखता है.

मैं खेत में भी उससे सीधे तौर पर नहीं मिल पाती थी क्योंकि खेत में माँ और चाची रहती थी. फिर मैं वहां से आ गया क्योंकि पवन की गैर-मौजूदगी में वहां पर मेरा ज्यादा समय के लिए रुकना ठीक नहीं था.

अब तो राहुल का तम्बू तन गया और उसे लगा कि अब वो कण्ट्रोल नहीं कर पायेगा.

रीना ने कहा- यार मैं थक गई हूँ … कुछ देर सो जाऊं?मैंने कहा- ठीक है सुबह एक बार और सेक्स करेंगे.

आपको मैंने उसका नाम नहीं बताया, उसका पूरा नाम तो मनप्रीत कौर था, लेकिन सब उसको मनु ही कहते थे. मैंने भी अपनी चूत को खोल कर सागर के आगे रख कर बिना कुछ कहे ही बोला- उधर क्या देखते हो … इधर देखो … तुम्हारी ये है. अगर कोई भी अपने पार्टनर न बदलना चाहे तो मुझे या धीरज को अभी कान में बता दे.

तभी मुझे एहसास हुआ कि शायद उसका दूसरी बार भी स्खलन हो गया, क्योंकि उसकी पकड़ मेरे बालों पर कमज़ोर पड़ रही थी. वो बोला- कुछ नहीं होगा मेरी जान … बस ऊपर ऊपर ही करूंगा, पूरा अन्दर नहीं डालूँगा. ”परीशा- हाय पापा, इतना तंग करते हैं हमारे चूतड़ आपको? ठीक है मैं कुतिया बन जाती हूँ। अब ये चूतड़ आपके हवाले। आप जो चाहे कर लीजिए.

मन तो उसका कर रहा था कि सीमा के टॉप के अंदर हाथ डाल दे पर वो सोच रहा था कि कहीं सीमा बुरा ना मान जाए.

फिर मैं उनके लंड को मुँह में लेके चूसने लगा और वो निढाल होकर लेट गए. ” नीलम ने मुस्कराते हुए कहा।बहुत चिंता हो रही है तुम्हें मेरी बहन की? सब समझता हूँ मैं. सासू बोलीं- अभी बकवास सुनने का टाइम नहीं है, जो बोल रही हूँ … वो करो.

मैंने दोनो हाथों से उसकी चूत को फैला कर अपनी जीभ को पूरी तरह से अंदर कर दिया. उस समय रात का एक बज रहा था तो हम लोग एक दूसरे के बांहों में बांहें डाल कर सो गए. साथ ही मैं 2 उंगलियां उसकी चुत में डाल कर अन्दर बाहर कर रहा था, जिससे वो और भी ज्यादा गर्म हो गई थी.

मैंने स्कूली शिक्षा पास कर ली थी, लेकिन मैंने अब तक चूत तो क्या, किसी के चूचे तक नहीं देखे थे.

आज पहली बार उसकी चुदाई की तसल्ली उसके चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी. अब मुझसे और रहा नहीं जा रहा था, पर मौका ही नहीं मिल रहा था कि मैं आगे बढ़ूँ तो कैसे बढ़ूँ.

हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए मैंने पूछा- भैया और अंकल हॉस्पिटल से आ गए क्या?भाभी बोली- नहीं अभी तक नहीं आए. फिर धीरे से सर ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर रख दिया … और धीरे से उन्होंने मेरी गांड के छेद में लंड का धक्का दे दिया.

हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए यहाँ फ्लैट देखते समय उसकी चाहत यही थी कि उस सोसाइटी में कोई बड़ा स्विमिंग पूल हो. तब मुकुल राय का का लंड परीशा की कुँवारी गांड को फाड़ने के लिए तैयार हो जाता है।मुकुल राय- बेटी, पहले तेरी गदराई गांड से तो जी भर के प्यार कर लूँ।वो बस देखने लगता है अपनी बेटी के गान्ड की खूबसूरती … उफफ्फ़ … क्या नज़ारा था.

फिर मैंने उनके स्तनों को दबाते हुए उनकी गर्दन को चूमा और कहा- बताओ ना.

सेक्सी वीडियो ब्लाउज वाली

लेकिन लंड तो उसकी गांड में घुसता चला गया था, इसका एक कारण ये भी था कि उसकी चूत से टपकने वाला रस उसकी गांड को चिकना करता जा रहा था. लेकिन वह छत इतनी पास नहीं थी कि चुदाई के बारे में सामने से देखने वाले द्वारा कुछ अन्दाजा लगाया जा सके. मैंने जोर जोर से कसकर धक्के मारते हुए अपने लंड का पूरा पानी उसकी गांड में उड़ेल दिया.

मैंने मजाक में स्मायरा से कहा- आपको मेरे साथ डर तो नहीं लग रहा?वो बोली- मुझे आप मत बोला करो. बातों बातों में पता चला कि उसके हंसबैंड शहर से बाहर उत्तराखंड में कहीं जॉब करते हैं. मैं उम्र में उससे छोटा जरूर था लेकिन औरतों के बारे में इतना अनुभव तो मुझे भी हो ही चुका था.

वो बोली- तुम हाथ-मुंह धोकर बैठो, मैं तुम्हारे लिये खाना लगा देती हूं.

अचानक एक दिन लंच के समय क्लास में हम दोनों ही बैठे थे कि मैं उसे दोबारा पूछ लिया- तुमने बताया नहीं? तुमने कोई बॉयफ्रेंड बनाया है या नहीं?उसने शर्म से अपनी आंखें नीची कर ली, धीरे से जवाब दिया- नहीं।मैंने कहा- मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?वो कुछ भी नहीं बोली. फिर एक दिन मेरे और मौसी के घर वालों को किसी रिश्तेदार के वहां किसी की मृत्यु हो गई, तो मेरे माता पिता के साथ उन सबको भी वहां जाना पड़ा. मैंने बेडशीट धुलने डाल दी, फिर ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में लेट गए.

सुधीर के साथ तो मैंने सेक्स इसलिए किया था ताकि मेरा तेरे घर आने का रास्ता हमेशा खुला रहे।यह कहकर वो दोनों हंसने लगी. ये तो हुई सुहागरात की लाइव फिल्म … पर दोस्तो, इस कहानी का सबसे बड़ा ट्विस्ट तो रह ही गया था, जो मुझे बाद में पता चला था. उसके बाद लगभग एक महीने के बाद मेरा जन्मदिन था तो हम लोगों ने मेरे जन्म दिन की पार्टी रखने का प्लान किया.

हम चलने लगे तो चलते हुए पीछे से एक आदमी ने कहा कि बहुत मस्त माल है जीजा के पास तो. मैं उन दोनों को मजे से पढ़ाने लगा जिससे वो मेरी तरफ आकर्षित हो जाएं.

इसलिए उसने मुझे मुलाकात के बहाने और घर पर ही पढ़ाई करने के लिए आने के लिए कहा. एक बार लंड से चुदने के बाद मेरी चूत का मुँह उसके लंड के साइज़ में खुल गया था. मगर एक दिक्कत ये थी कि जिस होटल को हमने बुक किया हुआ था, उसमें चेक-इन सुबह के दस बजे का था.

आज सच में मुझे ऐसा लग रहा था, मैं पहली बार किसी मजबूत मर्द के साथ हूँ.

मैंने भी एकदम से उनके लंड को हाथ से टटोल कर उनकी पैंट के ऊपर से ही लंड को पकड़ लिया. फिर एक दिन जब मैं प्रशांत और सुमन के साथ फोन सेक्स करते हुए जोर-जोर से कामुक आवाजें कर रही थी तो अचानक से मेरा सगा भाई सुनील मेरे कमरे में आ गया. मेरी माँ की और हर्ष की माँ यानि शालू आंटी के साथ ज्यादा अच्छी बनती थी।हर्ष मेरी माँ को अपने घर देखकर खुश हुआ और सोचा कि मैं अब अकेली घर पर होऊंगी और वह मेरे घर आ गया।मैं भी जैसे उसका ही इंतज़ार कर रही थी। वह सीधा मेरे कमरे में आ गया और मेरे साथ बेड पर आकर बैठ गया वह काफी मजाक कर रहा था और माजक-मजाक में मुझे छूने लगा.

फिर वो मुझसे बोले- तुम तो गुडलुकिंग हो … फिर भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. जैसे कि मैंने बताया था कि कैसे विशाल सर ने मेरी मस्त रसीली कुंवारी चूत को फाड़ कर मुझेकच्ची कलीसे फूल बना दिया था.

उसके बाद मैंने अपना लंड निकाल कर उनके हाथों में दे दिया, जिसे वो सहलाने लगीं. राहुल ने जिस सोसाइटी में फ्लैट लिया, उस सोसाइटी वालों को उसकी तैराकी और जॉब दोनों भा गए और उसे बहुत रियायती दर पर टू बेडरूम फ्लैट मिल गया. हां, कई बार काम पर आते-जाते लड़कियों की नजर मेरे शरीर को देख कर उन्हें मेरी तरफ आकर्षित कर देती थी लेकिन उनमें वो बात नहीं दिखाई पड़ती थी कि उनको चोदने के लिए लंड मचल उठे.

हिंदी सेक्सी इंदौर

उन्होंने झट से मुझे मैसेज से पूछा- क्या तुम मेरे आधे घर वाले बनोगे?सच बताऊं दोस्तो, तो मेरी तो लॉटरी लग गई थी.

मैं कभी उसकी गांड से खेल रहा था, तो कभी उसकी गांड पर चांटें मार रहा था, तो कभी उसके मम्मों को दबा रहा था. मैंने वहां जाकर पहले तो ऋषि की तबियत के बारे में पूछा और उसकी मेडिसिन लेकर संजना को अपनी बाइक पर बैठा कर उसके घर ले आया. फिर मैं बोला- पहले अपने नशे को और बढ़ा लेते हैं … दो दो पैग दारू पी लेते हैं, फिर मज़ा और दुगुना हो जाएगा.

फिर धीरे धीरे मक्खन नीलम की गांड के अंदर डालने लगा। साथ साथ नीलम की चूत की चुदाई भी जारी थी. जोश में आकर मैं हर्ष के लंड से अपनी गांड मरवाना चाहती थी कि फिर पता नहीं फिर ऐसा लंड कब मिले!हर्ष नीचे बैठ कर मेरी गांड के छेद पर अपनी जीभ डालकर चाटने लगा और काफी सारा थूक मेरी गांड में छोड़ दिया. जाट जाटनी सेक्सी वीडियोमेरा भी पूरा बदन गर्म होकर पसीने में भीग चुका था और वो मेरी चूत को चोदने में लगा हुआ था.

सीमा ने अपनी चूत का दवाब मुश्ताक के मुँह पर बना दिया, जिसकी वजह से मुश्ताक की जीभ यहाँ तक कि उसकी ठोड़ी भी सीमा की चूत सहला रही थी. वो एकदम से जोर से चिल्लाने लगीं कि आह साले फाड़ दी मेरी चूत … आराम से कर मादरचोद … बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ.

उन्होंने मुझसे पूछा- क्या देख रहे हो … पहली बार किसी की चूत देखी है क्या?मैं कुछ नहीं बोला और उनकी चूत चाटने लगा. मैंने उससे कहा- मैं झड़ने वाला हूँ … माल कहां निकालूँ?उसने कहा- मामा, अन्दर ही निकालो, भर दो मेरी चूत को अपने पानी से. तब तक मेरी चूत का पकोड़ा बन चुका था। पर उसका लन्ड फिर भी अच्छा लग रहा था। रॉकी ने चुदाई पूरी करके लन्ड बाहर निकाला.

और फिर कुछ देर जब मेरा जोश ठंडा हुआ तो मेरे लौड़े में बहुत तेज दर्द होने लगा तो मेरी खुमारी टूटी और मैंने देखा कि मेरा अंडरवियर गीला था. फिर थोड़ी देर बाद सर बोले- आशना … बस … अब रूको …मैंने कहा- क्या हुआ सर?उन्होंने कहा- अब पहले मैं तुम्हारी गांड में अपना लंड डालना चाहता हूँ. मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रख कर कहा- आप खुद अपनी चुत के राजा से क्यों नहीं पूछ लेतीं.

उसका गोरा रंग, छाती पर उठे हुए मम्मे … पूरी गोल और भरी हुई गांड को कोई भी देख ले, तो मुठ मारे बिना रह नहीं पाए.

फिर भाभी ने नशीले अंदाज में कहा- ऐसे क्या देख रहे हो … अन्दर आ जाओ. मैं जितनी बार भी अपने लंड को हाथ लगा रहा था तो दीदी अपना मन मसोस कर रह जाती थी.

मैं सोच रहा था कि चाची खुद ही मेरे लंड को मुंह में लेने के लिए कहेगी लेकिन चाची मेरे लंड को मुंह में लेने के लिए पहल नहीं कर रही थी. फिर वो बोलीं- क्या मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूं?मैं हंस कर बोला- गर्लफ्रेंड नहीं हो, तो क्या हुआ … दोस्त तो हम बन ही गए हैं … चलो अब देर हो रही है. फिर शिवानी ने उसको कॉफी दी और बोली- पीजिए … आपका लंड तो बहुत उछल कूद कर रहा है.

मॉम घर का काम खत्म खत्म करके नहाने चली गईं, बाथरूम से निकल कर जब वो अपने रूम में जा रही थीं, तो मैं भी पीछे पीछे उनके रूम में चला गया. मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे इतने जोर से पकड़ लिया, जैसे मैं उसे अपने अन्दर समा लेना चाहता हूँ. मेरी नई मॉम मुझे बहुत प्यार करती थीं और उन्होंने मुझे कभी भी सौतेली मॉम जैसा नहीं समझा था.

हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए वो किसी से बात करते हुए प्रिया को शून्य भाव से देख रही थी।मेरे चेहरे पे एक कुटिल मुस्कान आ गयी और मैंने उन्हें देखते हुए प्रिया के कंधे पे हल्का सा चूम लिया। मेरी इस हरकत को केवल दो लोगों ने देखा और महसूस किया. मैं लंड की लगातार ठोकर देता हुआ उनके कभी होंठ चूसता, कभी मम्मों को दबाता हुआ चुदाई करता रहा.

सेक्सी डबल एक्स एक्स एक्स

झड़ने के बाद मैं उसके बगल में लेट गया और वो उठ कर बाथरूम में भाग गई. मैंने कहा- बिजी रहने का मतलब ये कब से होने लगा कि प्यार भी नहीं किया जायेगा?फिर मैंने दूसरा सवाल किया- अच्छा ये तो बता दो, कितने दिन से नहीं किया है?वो बोली- पिछले एक महीने से. अब समझ में आ रहा है कि तू मुझे और हिना को भी क्यों फार्म हाउस बुला रहा था.

आठ बजने वाले थे, मैंने फोन किया तो डॉली ने कहा- गेट खुला है, अन्दर चले आइये. वो जितना विरोध कर रही थी मेरा लंड उसकी चूत को चोदने के लिए उतना ही बेचैन होता जा रहा था. सेक्सी भाभी की चूत की वीडियोऔर दस धक्के के बाद जब मुझे लगा कि मेरा माल आने वाला है, तो मैंने सारिका की चुत से लंड निकाला और उसके मुँह में माल निकालने को हो गया.

फिर मैंने उसको सीधा करके उसकी मखमली चिकनी चुत पर अपना 7 इंच का लंड रख दिया.

”मतलब?” उसने हैरानी से मेरी ओर देखा। उसे शायद इसका अर्थ समझ नहीं आया होगा।इसका मतलब है तुम खूबसूरत ही नहीं साथ में बहुत अक्लमंद (समझदार) भी हो. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो.

थोड़ी देर बाद उसने मुझे घुमाया और हल्का सा झुका दिया और नीचे बैठ कर मेरे लोवर उतार दिया. मुझे बहुत मजा आ रहा था दोस्तो, मैंने अपनी लाइफ में इतना मजा कभी नहीं लिया था किसी भी चीज में. मैं और मोहनीश हम दोनों लोग होटल में गए और होटल में जाने के बाद उसने होटल रूम लिया.

इसलिए मैं उनकी चुदाई का भी सपना देख रहा था मगर अभी तक वो मौका मेरे हाथ आया ही नहीं था.

कुछ देर लंड चूसने के बाद भाभी ने धीरे से लेटते हुए अपने पैर मेरी तरफ घुमा दिए. मैं एक बॉटल लेकर आया और पास में ही एक मेडिकल स्टोर था, वहां से डॉटेट कंडोम का एक पैकेट ले लिया … क्योंकि मुझे पता था कि आज क्या होने वाला है. उसने मेरी पैंटी में हाथ घुसाया और मेरी चूत को छुआ, मैं चुदास से तड़पने लगी.

भाभी की सेक्सी वीडियो हॉट” ज्योति ने अपने भाई के माथे को चूमते हुए कहा।बहन आप औरत हो, आप ही बताओ कि अगर मर्द का लंड लम्बा और तगड़ा हो और वह बहुत देर तक न झड़ता हो तो औरत को मज़ा आता है या तकलीफ होती है?” समीर ने अपनी बहन की तरफ देखते हुए कहा।मेरा लाला … औरत तो ऐसे मर्द के लिए तरसती है. ” समीर ने अपनी पत्नी की बात सुनते ही गुस्से से उसकी तरफ देखते हुए कहा।वह जानता था कि उसकी पत्नी बस उसके जाने का इंतजार कर रही है.

कुत्ते की सेक्सी विडियो

”अब इससे क्या फायदा … पता नहीं ऐसा मौका फिर मिले न मिले!”सॉरी यार … तुम बोलो मैं तुम्हारी और क्या मदद कर सकती हूं … इस गलती को सुधारने के लिए मैं कुछ भी कर सकती हूं. लंड जब चूत में चला गया तो उसका हल्का फुल्का विरोध भी ढीला पड़ गया और उसने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया. फिर उसने अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया जिससे मेरे लंड का जड़ तक का भाग उसकी चूत से जाकर सटने लगा.

अब धीरे धीरे मेरा लंड किसी को पेलने को उतावला हो रहा था, लेकिन चयन पहले अपने मुँह को मेरे लंड से सन्तुष्ट करना चाहता था. कुछ ही देर में हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे के होंठों को चूसने में मस्त हो गए थे. आंटी सिसयाने लगीं- वरुण आराम से करो … बहुत दिन से नहीं लिया … और तुम्हारा तो मेरे पति से भी बहुत मोटा है.

फिर एक दिन कल्पना ने बताया कि उसकी शादी तय हो गयी है, पर वो मेरे अलावा किसी से भी शादी नहीं करना चाहती है. मैंने खाना खाया और पूछा- फूफा जी कहां हैं?तो पता चला कि आज वो नाइट ड्यूटी कर रहे हैं और सुबह आएंगे. उनका हमारे घर में भी खूब आना जाना था इसलिए मेरी पत्नी उसके घर चली गई.

बॉस ने मेरे मम्मों को इतना ज्यादा मसला, मेरे निप्पलों को इतना काटा और अपनी उंगलियों से दबाया कि मैं उनका दर्द ही भूल गयी थी. वैसे तो मैं उसकी काफी इज्जत करता था लेकिन जब कभी उसके चूचों की दरार दिख जाती थी तो मन बहकने लगता था.

मैंने धक्का लगाया तो लंड फुद्दी की तमाम दीवारों को चीरते हुए आगे निकल गया.

यह बहुत भूखा है … देख लो पैन्ट से बाहर आते ही कैसे उछलना शुरू हो गया है. सेक्सी फिल्म पंजाबी सॉन्गबहुत संकरी चूत थी उसकी; इससे पता चल रहा था कि इससे पहले उसने कभी पहले ज्यादा बड़ा लंड नहीं लिया था. बाथरूम सेक्सी फिल्मउसने अपनी स्कर्ट का हुक खोला और नीचे खिसका दी और अपनी चूत को मेरे लण्ड पर रगड़ने लगी. फिर मैंने बातें बनाते हुए कहा- वो जब से आई हैं, तब से इस छोटे से घर में कैद हैं.

चाची बात कर रही थीं और तभी मैंने लंड उनके मुँह में डाल दिया और उनका मुँह चोदने लगा.

उसने मैसेज किया कि मुझको चूत का तो पता है, पर लंड पहली बार सुना है. यह कह कर मैंने उसे बेडरूम और टॉयलेट वाले किस्से के बारे में सब बता दिया. और जब वो मेरे मम्मों को ताड़ने के बाद मेरी आँखों में देखते तो मैं मुस्कुरा देती।बल्कि एक दो बार तो मैं जानबूझ कर उनकी गोद में भी बैठी ताकि वो मेरी नर्म गांड का और मैं उनके कड़क लंड को महसूस कर सकूँ।और फिर एक दिन मेरी मेहनत रंग लाई, मैं अरविंद सर के सामने जानबूझ कर झुक कर लिख रही थी.

इतने बड़े लंड का अमृत मैं क्या वेस्ट जाने देता! मैंने एक बूंद भी नहीं जाया होने दिया … पूरा का पूरा माल निगल गया. खीरे पर खूब सारा थूक लगा कर उसने वो खीरा सीमा की चूत में घुसा दिया और जोर जोर से अंदर बाहर करने लगी. चूंकि उसने कमीज़ के नीचे कुछ नहीं पहना था, इसलिए उसके मम्मे सागर के हाथों से दब रहे थे.

कुत्ता की लेडीस की सेक्सी पिक्चर

वो बोले- हो गया सविता तेरा?मैंने कहा- हां अंकल जी … पर आप चोदते रहो. अगले दिन शिवानी ने मुझे सब कुछ बता दिया और अपनी कामयाबी पर बहुत खुश थी. क्योंकि सिर्फ रूम लेना ही मेरा मकसद नहीं था, बल्कि मैं अपनी आंखों से हरेक रूम में रहने वाले लड़के के लंड नापना चाहता था और अपनी आंखें सेंकना चाहता था.

इस तरह से आंटी के साथ मेरी नजदीकी और भी बढ़ गई थी क्योंकि जहां पर खाने तक बात पहुंच जाती है तो फिर ज्यादा कुछ और औपचारिकता नहीं रह जाती है.

और इतना कहकर वो परीशा की गान्ड को कसकर अपने दोनों हाथों से भींच लेता है।मुकुल राय- बेटी, मेरा लंड को पूरा खड़ा कर ना फिर मैं तेरी गांड मारूँगा।करीब 5 मिनट तक परीशा मुकुल राय के लंड को पूरा थूक लगाकर चूसती और चाटती है.

उनके लिए नाश्ते में पोहे बना देना और लंच का तुम्हें बता ही दिया है। तू भी खा पी लेना और हाँ … मिर्चें कम डालना. इसके तुरंत बाद कंपनी के काम के सिलसिले में कुछ दिनों के लिए दिल्ली चला गया. फुल एचडी अंग्रेजी सेक्सीमेरा सर ऊपर को उठ गया झटके से और मेरे बाल उछल के कमर पर आकर लटक गए।करन ने बिना मेरी परवाह किए ज़ोर ज़ोर से पट्ट पट्ट चोदना शुरू कर दिया और मैं बेड पर आगे पीछे हिलती रही।अब मुझे ज्यादा दर्द नहीं हो रहा था और मैं ‘आहह … आहह … आ…आह करते हुए मजे से चुदवाती रही। करन ने मेरे खुले बालों को मुट्ठी में पकड़ के पीछे खींच लिया और मेरा सर झटके से और ऊपर उठ गया था.

मैं एक अंजान देश में किसी गैर लड़की के साथ एक बिस्तर पर कैसे लेट सकता था. बॉस अब मुझे हर शनिवार को कहीं ले जाने लगा था और मेरी खूब चुदाई करता था. मैं भी अब होने वाला था, तो मैंने स्मायरा को बोला- मेरा निकलने वाला है.

पापा के मोटे लंड ने परीशा की चूत के छेद को इतना ज़्यादा चौड़ा कर दिया था, ऐसा लगता था कि चूत फट ही जाएगी. भोला ने कहा- साली रंडी, कैसी बेटी है तू? अपने बाप का लंड गांड में नहीं ले सकती है?फिर भोला ने जीजा से कहा- तू चोद साली को, इसकी गांड को ढीली कर दो.

दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार! मैं नितिन उर्फ़ निट्स एक बार फिर आप सभी के बीच में!मेरी पिछली चोदन स्टोरीव्हाट्सैप से बिस्तर तक का सफरआप सभी ने पढ़ी.

फिर उन्होंने अपनी तीन उंगलियां मेरी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. अब मैंने टोका- हो गई साफ?जवाब मेरी बीवी ने कहा- नहीं … नहीं हुई, करते रहो!मैंने पूछा- पूरी तरह से साफ हो जाएगी ना?क्योंकि पानी की धार भी लगातार उसकी चूत में बहुत अंदर तक जा रही थी. मैंने उसकी चूत से टपक रहे उस तरल पदार्थ को अपनी उंगली पर लगाकर ऋतु की चूत और अनिल के लंड पर मल दिया.

देसी गाना सेक्सी वीडियो मेरी पत्नी का नाम है सुधा … जिससे मेरी ज़्यादा बनती नहीं है, शादी के 10 साल निकल चुके हैं लेकिन रोज किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा होता रहता है. मेरे पीछे से कोई कहता कि गीता रानी मुझमें क्या कमी है, कभी मौका तो दे दो … हाय क्या मस्त माल लग रही हो.

”और सुन आज कपड़े धोकर प्रेस कर लेना दिन में। मैं दो बजे तक आ जाऊँगी आज से तुम्हारी नियमित रूप से पढ़ाई शुरू करनी है बहुत छुट्टी मार ली तुमने!”हओ. मैंने उसे एक बगल में लिटाया और उसके पूरे बदन को चूमते चाटते हुए उसकी चूत पर जा पहुंचा. फिर कुछ देर बाद मैंने उसके मुँह में ही पानी छोड़ दिया और वो सब रस पी गई.

गुजराती भाभी सेक्सी मूवी

चुदाई के बाद टेबल के मेजपोश से लंड पौंछ कर बोला- तुम निबटोगे?मैंने मना कर दिया।वह बड़ा थैंकफुल था- अरे यार मजा आ गया! तुमने बड़ी मदद की. तुम्हें उसकी नहीं अपनी पड़ी है क्योंकि तुम मेरे जाने के बाद ही पिता जी के साथ रंगरेलियां मनाओगी. फिर जब चुदास बढ़ी और खुल कर खेल होने लगा, तो हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

खैर कैसे भी मैंने अपने आप को संभाला और कहा- फिर मेजबान और मेहमान दोनों तैयार हैं तो शुरू करें पार्टी?उसने कहा- यहाँ नहीं।फिर कहाँ, कहीं और चलना है क्या?” मैंने पूछा. उस वीडियो में एक 8 इंच के लंड वाला आदमी मेरी उम्र की ही जवान लड़की की चूत को बुरी तरीके से चोद रहा था.

मैंने कहा- ठीक है, अगर दोस्त की बीवी इतना कह रही है तो फिर पी लेते हैं.

सर हल्के हल्के हाथों से मेरे मम्मों को दबा रहे थे … ओर मेरी चुचियों के गुलाबी निप्पलों को मसल रहे थे. उस दिन मनु ने मुझसे कहा- आज तुम बहुत गजब की माल लग रही हो, अपने बॉस से बच कर रहना. मैंने कहा- क्या हुआ भैया, आपकी तबियत ठीक नहीं है, आपको कुछ हेल्प चाहिए क्या?वो बोला- मुझे तुम भैया मत कहो.

एक दिन जब मैं कॉलेज से आया तो वह दोनों अपनी पढ़ाई में लगी हुई थीं। दरवाजा खुला था इसलिए मेरे आने की आहट न हुई। सुमिना का मुंह दूसरी तरफ था. मैंने बोला- उसके लिए तो तेल की जरूरत होगी … वरना तुमको बहुत दर्द होगा. अगर महेश अपनी पूरी ताकत लगा कर उसे शेल्फ पर न झुकाता तो यकीनन वो गिर पड़ती। महेश ने अपनी पूरी ताकत से नीलम को शेल्फ पर दोहरा किया हुआ था.

फिर उसका गर्म मूड बन जाता, उसके बाद वो बेड पर वो घमासान मचाती है कि पूरी रात नशे में हम दोनों एक दूसरे के जिस्मों में कैसे बीत जाती है, पता नहीं चलता है.

हिंदी में बीएफ फिल्म भेजिए: अगले ही पल मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी तो उसकी सिसकारी निकल गई. इसलिए उसे चोदते हुए मैंने उसकी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में मैंने उसके ब्लाउज का हुक खोल दिया और और ब्रा को ऊपर सरका दिया।सच में आज ऐसा लग रहा था कि मानो कोई जन्नत की परी मिल गयी, एकदम गोरे चिकने और गोल-गोल बड़े-बड़े दूध थे उसके और निप्पल एकदम गुलाबी.

लेकिन मुझे यकीन था कि अगर मॉम मना भी करेंगी, तब मैं उन्हें मना लूंगा. अभी तक तो मैं ही उनका सारथी बना हुआ था पर अब वो भी रथ चलाने लगी थी।तभी बाथरूम में फ्लश की आवाज़ आयी तो मामी सीधी खड़ी होकर भागने को हुई तो मैंने उनकी कलाई पकड़ ली. रेखा ने बताया कि वो तो शादी से पहले भी हॉस्टल में स्मोक कर लेती थी.

मैं अपने लंड के सुपारे को उनके होंठों तक ले जाता और जैसे ही भाभी सुपारे को चूसने के लिए होतीं, मैं झट से लंड वापिस पीछे की ओर खींच लेता.

बहू की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे ससुर ने अपने प्यार का वास्ता देकर अपनी बहू को अपने सामने नंगी कर लिया था. कुछ ही देर में मुझे बहुत मजा आने लगा और मैं जोर से आवाजें करने लगी. लंड बहुत अकड़ कर आता है मेरे पास … और पता नहीं क्या क्या बोलता है मेरी चुत में जाने से पहले.